बीएफ इंग्लिश पिक्चर दाखवा

छवि स्रोत,मॉडल की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

fefe सेक्सी: बीएफ इंग्लिश पिक्चर दाखवा, जब मुझे अहसास हुआ कि साली गांड में मेरे लंड का सुपारा दाखिल हो चुका है तो मैंने थोड़ा सा और जोर लगाया.

हिंदी में ब्लू दिखाओ

मैं अपने ही शरीर को सहलाने लगी और आंखें कब बंद हो गईं … उंगलियां कब चूत में घुस गईं, कुछ पता ही नहीं चला. देसी लड़की की चुदाई की वीडियोएक बार सभी दोस्तों का फ्रेंच किस का कम्पटीशन हुआ तो उसमें भी राहुल-नायरा ने ही बाजी मारी.

तब से ही मैं समझ गया कि मेरी इन तीनों की ही चूत की प्यास कितनी ज्यादा है. सेक्सी वीडियो डॉक्टर के साथआपको मेरी हिंदी देसी सेक्स कहानी पर कुछ कहना हो तो प्लीज़ मेल जरूर कीजिएगा.

घूम फिर के वे लोग थक गए तो एक रेस्तरां में डिनर लिया और होटल वापिस.बीएफ इंग्लिश पिक्चर दाखवा: घूमने जाने से पहले मेरे मन में कुछ शरारत सूझी और मैंने दुकान से जाकर एक डेयरी मिल्क की बड़ी वाली चॉकलेट ले ली.

केवल अशीष ने जब पहली बार चोदा था तो उसने सीधे कहा था कि बंध्या तेरी सील टूटी हुई है.उसके बाद जब अगले दिन हम दोनों उठे तो वो कहने लगी कि उसके सिर में बहुत दर्द हो रहा है.

শাশুড়ি জামাইচোদাচুদি - बीएफ इंग्लिश पिक्चर दाखवा

कुछ देर तक यहां वहां की बातें होती रहीं और उसकी सास ने बताया कि जन्मदिन की सारी तैयारियां हम दोनों के भरोसे ही हैं.फिर नित्या ने भी मेरा सर अपनी चूत में दबा दिया और कहने लगी- ह्म्म्म चाटो … इसे और चाटो… ह्म्म्म्म मम्म … और जोर से … फाड़ दो आज … अपनी जान की चूत.

[emailprotected]मैं अपनी चुदाई की आगे की कहानी जल्दी ही लेकर आऊंगी. बीएफ इंग्लिश पिक्चर दाखवा उसने तो पीले रंग का टॉप लिया, वो चाह तो रही थी थोड़ा लम्बा मतलब पूरे पेट को ढकने वाला … पर शबनम जिससे उसकी ज्यादा ही पटती थी, ने उसे छोटा ही टॉप दिलवाया.

अब तो हम दोनों जॉब की वजह से अलग हो गए हैं, लेकिन छुट्टियों में हम दोनों किसी न किसी जगह घूमने जाते हैं और गांड चुदाई का मज़ा लेते हैं.

बीएफ इंग्लिश पिक्चर दाखवा?

”बहुत अजीब लग रहा है!”अच्छा नहीं लग रहा क्या?”अच्छा तो लग रहा है!”मेरी मिड्डी औरऊपर हो गई. दीदी ने जैसे ही अपने टांगों को थोड़ा फैलाया, तभी उनकी गुलाबी बुर दिखी. यह बोलकर मैंने रानी को जकड़ के उसके चेहरे पर चुम्मियों की बरसात कर डाली.

बॉस- ले साली और तेज तेरी गांड और चूत दोनों में लंड घुस रहे हैं साली रंडी. बॉस- नेहा तुम सिर्फ मेरे लिए ही गिलास क्यों लाई? विनय और तुम नहीं पियोगे क्या?मैं- सर, मैं नहीं पियूंगी. ”उसके बाद …अंशु ने उपिन्दर का लौड़ा पकड़ा और बोली- मालिनी और कामिनी देखो, मेरे प्रेमी का लण्ड कैसे मचल रहा है। इसके भोग के लिए नई दुल्हन को तैयार करो.

आज जो मैं कहानी आप लोगों को बताने जा रही हूं यह कहानी अंतर्वासना पर मेरी पहली कहानी है. मैंने कहा- आप हो ही इतने लाजवाब और सेक्सी कि पूरी रात और दिन आपकी चुदाई करता रहूँ, तो भी दिल ना भरे. कुछ देर बाद मैं भी झड़ने वाला था, मैंने मैम से पूछा- कहां निकालूं?परी मैम ने कहा- मैं तेरा माल अन्दर ही लेना चाहती हूँ.

मेरे यार की ताकत के सामने मेरी छोटी-छोटी कोशिशें नाकाम होती जा रही थीं. मैंने तेज तेज 8-10 झटके और मारने के बाद लंड को उनकी चुत से निकाला और उनके मुँह में दे दिया.

महेश ने लंड के सुपारे को ज्योति की चूत के कटाव पर थोड़ी देर रखा और फिर धीरे से उसकी चूत में दाखिल कर दिया.

मेरी पिछली कहानी थीचचेरे भाई ने मेरी चूत चोद दीअब मैं अपनी लेटेस्ट सेक्स स्टोरी पेश कर रही हूं, मजा लें.

सुखविन्दर ने वो बोतलें फ्रिज में रख दी। उस थैले में एक शर्ट भी था मगर मैंने उस पर ध्यान नहीं दिया और हम दोनों बाहर आकर अभिजीत के पास बैठ गए और बात करने लगे।हम तीनों ही काफी हंसी मजाक की बातें कर रहे थे. मैं तो सोच में पड़ गया कि ये वही सीधी सादी औरत है या उसकी कोई हमशक्ल? उसको ऐसे रूप में देखने के बारे में मैंने कभी सोचा भी नहीं था. अब मैंने उसकी चूत पर किस किया क्योंकि मुझे शराब के नशे में चूत चाटने में मजा आता है.

मैंने बॉस के लंड को अपने मुँह में और जकड़ लिया, जिससे बॉस ने मेरे सर को पकड़ के लंड पूरा मेरे गले तक घुसा दिया. वैसे मैं कुछ नहीं करूँगा … बस जब तक तुम मेरे लंड को महसूस करती हो तब तक मैं अपनी प्यारी बेटी की चूचियों को गौर से देखना चाहता हूं. सबसे पहले मासी ने अपनी जीभ की नोक से लंड के ऊपर के हिस्से पर फिरा दी.

जब मैंने शीशे से उनको देखा, तो वो लगातार मेरे खड़े लंड को देखे जा रही थीं.

वो तड़फने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मुझसे बाहर निकालने को कहने लगी. पता नहीं अचानक उनको कहां से होश आ गया या पता नहीं क्या हुआ था, वो मुझे और आगे करने से मना करने लगीं. सबसे पहले मासी ने अपनी जीभ की नोक से लंड के ऊपर के हिस्से पर फिरा दी.

मुझे इतना मजा आ रहा था कि थोड़ी ही देर में मेरे पैरों में अकड़न महसूस होने लगी. चूंकि उन दिनों मैं अपने एग्जाम की तैयारी कर रहा था, इसलिए उस पर ध्यान नहीं दे पा रहा था. अब दीपा की बला से … जब उसके आदमी को ही फर्क नहीं है तो उसे किसी की परवाह नहीं.

पिंकी ने मुश्ताक के होंठ से होंठ लगाए हुए थे और दोनों पूल की वाल के साथ साथ धीरे धीरे घूम रहे थे.

जब मैं झटका देता तो भाभी की दर्द भरी उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल जाती थी. अब सुनील भी बेड पर आ गया और सीधा अपने होंठ दीपा के होंठ से मिला दिये.

बीएफ इंग्लिश पिक्चर दाखवा महेश ने ज्योति की गांड से उंगली निकाली और नीचे झुक कर अपनी जीभ उसकी गांड के छेद पर टिका दी. फिर धीरे-धीरे मैंने उस लेडी से सेक्स के बारे में भी बात करनी शुरू कर दी.

बीएफ इंग्लिश पिक्चर दाखवा मैंने कहा- जान, ये क्या कर रही हो?तो उन्होंने कहा- मुझे एक बार घर जा कर आना पड़ेगा, मैं जल्दी ही आ जाऊंगी. अभी कुछ दिन पहले ही उसका फोन आया था और उसकी डिमांड पर मैंने उसे फिर से चोद दिया.

शायद कुछ देर के लिए मेरे हस्बैंड हमें डिस्टर्ब नहीं करना चाहते थे क्योंकि वह जानते थे कि कुछ देर के लिए मैं बस उससे ही चुदना चाहती हूं.

हिंदी चूत चुदाई

मैंने अपनी शंका को दूर करने के लिए उसकी चूत को सहलाते हुए पूछा- दिस? (इसमें?)उसने अपने हाथ को अपनी गांड के छेद पर रखते हुए बता दिया कि उसका मन अब गांड चुदवाने के लिए कर रहा है. फोन पर ही बातचीत से मालूम हुआ कि हम दोनों एक ही शहर के अलग अलग कॉलेज में अपनी आगे की पढ़ाई कर रहे हैं. उनको भी बारी बारी से चूस कर सहला कर भाभी को गर्म करने में मैं पूरी तरह से सफल रहा.

चूंकि अभी वो बच्चे को दूध पिला रही थी तो उसके चूचे और अधिक रसीले हो चले थे. उसमें एक बहुत अच्छी ड्रेस थी विद पैंटी … इस ड्रेस में ब्रा नहीं पहनते थे, इसलिए ब्रा नहीं थी. मैंने भाभी को किस किया और कहा कि चिंता मत करो … मेरे रहने तक आपको कुछ नहीं होगा.

हम दोनों ही मर्द उत्तेजित अवस्था में केवल निक्कर में थे और हम दोनों की ही पत्नियां सिर्फ पेंटी और ब्रा में ही हमारे साथ थीं और हम उनके जिस्म से लिपट रहे थे.

उन दोनों ने एक दो दिन तक मुझे कॉल और मैसेज किए लेकिन मैंने उनसे कोई बात नहीं की … और उनसे मिलना भी छोड़ दिया. मैं उन्हें अपने जिस्म से लिपटा कर प्यार करने लगा, किस करते हुए उनके मदमस्त मम्मों को दबाने लगा. फिर साकेत भैया ने अपना तौलिया खोल दिया और तौलिए के अन्दर से मोटा बड़ा लंड बाहर आ गया.

उसका जवाब सुन कर मैंने कोई ऐतराज नहीं जताया, लेकिन मुझे उसके इस ब्वॉयफ्रेंड से थोड़ी दिक्कत थी. अब मेरे सामने मेरी मोसी सिर्फ काली ब्रा और काली पैंटी में चुदने के लिए तड़प रही थीं. फिर बॉस और विनय दोनों ने खड़े होकर मुझे अपने हाथों में उठा लिया और मुझे उछाल उछाल कर मेरी चूत गांड को फाड़ना शुरू कर दिया.

मगर उसकी कोशिशें बेकार हो जा रही थीं क्योंकि मेरी बाजुओं की पकड़ काफी मजबूत थी. भाभी ने अपनी साड़ी और पेटीकोट उठाते हुए अपनी चूत को मेरे सामने फैला दी.

हॉट सेक्सी देसी गर्ल की चूत पर लंड को रख कर मैंने एक शॉट मारा लेकिन लंड फिसल गया. मेरा लंड का सिरा अन्दर चला गया था और मैं रुक कर उसके दूध और चूत को सहला रहा था. अगले कुछ ही मिनट के अंदर हम लोग समुद्र की उफान भरती हुई झाग वाली लहरों के बीच में थे.

मैंने उसको फोटो दिखाई तो वो मेरे लंड की तारीफ करने लगी, कहने लगी कि उसको ऐसा ही लंड चाहिये.

हम दोनों कभी कभी लाइब्रेरी में, कभी कभी पार्क में, कभी कैन्टीन में मिलते रहते थे. तो अमन बोला- यार बताओ अब क्या करें?क्योंकि मेरी बुर में आग लगी थी तो मैंने अमन को कहा- कोई होटल ले लो. मैंने उससे कान में पूछा- कहां निकालूं?उसने अन्दर ही निकलने को बोला- मैं तुम्हारा बीज अपने अन्दर महसूस करना चाहती हूं.

मैंने उससे कहा- आज तुम मुझे ना रोको … जो मेरा मन कर रहा है, करने दो. अब पापा ने मुझे अपने नीचे कर लिया और मुझे जोर से चूमने और काटने लगे.

मैंने खुद से बुदबुदाते हुए बोला कि ये मैं क्या कर रही हूं … एक लड़की की छुअन से मैं कैसे उत्तेजित हो रही हूं. थोड़ी देर में जब मेरी हालत कुछ ठीक हुई तो मैंने कहा, ‘बधाई हो रानी … मेरी चुदक्कड़ कुतिया … आज डेढ़ साल बाद तुझे लंड नसीब हुआ है … यह मान ले कि आज फिर से तेरी नथ खुल गयी … चल मैं कुछ मीठा खिलाता हूँ … मेरी रानी डेढ़ साल बाद चुदी है तो मीठा मुंह तो होना चाहिये न!मैं उठकर गया और अपने बैग से बादाम कतली का डिब्बा निकाला जो मैं इसी के लिए साथ लेकर आया था. मैंने प्रिन्स को वही सोने की व्यवस्था की और हम दोनों बेडरूम आके सोने लगे.

நாட்டுப்புற செக்ஸ்

मुझे लगा कि बेटा अगर अब पीछे हट गया, तो फिर जिंदगी भर इनकी चुत नहीं मिलने वाली.

उसे किस करके, अपने पुराने प्यार को पाकर मेरी हवस बहुत टाइम बाद फिर से जाग गयी। हमने थोड़ी देर चुम्मा चाटी की और निकल गए. संजू रोहित से बोली- अब तुम जाओ … दो घंटे हो गए हैं, तुमको और जगह जाना होगा. मैंने हाथ अपने भीगे बदन पर सरकाते हुए पीछे ले गयी और अपनी ब्रा का हुक खोल दिया.

वह शरमा गई और उसके गालों पर शर्म की लाली सी आ गई और बोली- बातें बनाना तो कोई तुमसे सीखे. जब हम दोनों सुबह 7 बजे जागे, तो फिर से हम दोनों चुदाई के लिए गर्म हो गए. देसी देहाती सेक्स वीडियोमैंने कहा- दर्द हो रहा है क्या जानू?तो उन्होंने कहा- मेरी जान … तेरे लिए तो मैं सब सहन कर सकती हूँ, तू धीरे धीरे कर.

वो जवान आंटी गर्म होने लगीं और मज़े लेने लगीं … सिसकारियां लेने लगीं ‘आह … आह …’मैंने उनके कानों के अन्दर अपनी जीभ नुकीली करके डाल दी. मेरी अभी भी आह्ह्ह् निकल जा रही थी मगर दर्द कम था।उनकी पकड़ भी कम हो चुकी थी और कमर की रफ़्तार तेज़!मुझे भी अब सुखद अहसास हो रहा था, मेरी आहें अब तेज़ हो रही थी.

फिर एक दिन मेरे बड़े पापा की छोटी बेटी के पति जो रिश्ते में मेरे जीजा लगते हैं वो आये हुए थे. अभी कुछ दिन पहले ही उसका फोन आया था और उसकी डिमांड पर मैंने उसे फिर से चोद दिया. यह कह कर जॉली ने रिया की गांड के साथ साथ उसे भी खुद से जुदा कर दिया.

उसका गहरे गले का ब्लाउज एकदम चुस्त था, जिससे उसके मम्मों का लगभग आधा हिस्सा साफ़ दिख रहा था. वो मेरे अंडरवियर को हटा कर अपना टाइट लंड मेरी गांड में लगा कर सोता था. ओए … ओए जनाब अब परमीत के ही ख्यालों में खो जाओगे या मेरे बारे में भी कुछ सुनोगे.

उसने मेरा सर पकड़ कर रखा था, तो मैं उसका लंड बाहर नहीं निकाल पाई और मुझे उसका पानी पीना पड़ा.

मुझे कोर्नर पे ड्रॉप करके वो मुस्कुराते हुये चला गया, मैं भी दिल में मुस्कुराहट लेकर अपने घर की तरफ निकल पड़ी. चूत में घुसा हुआ लंड भी अब अन्दर बाहर हो था और गांड में घुसा लंड भी.

ऐसा नहीं था उसको अपने पति से प्यार नहीं था या वो उनसे नफरत करती थी. बाकी तो वो मुझे होटल और पार्क में लेजाकर चोदते थे मगर सप्ताह में एक या दो बार वो मुझे वहां रूम में ले जा कर चोदते थे. यह आइडिया शबनम का था जिसने अपने साथ चारों के लिए वाइब्रेटर, सिगरेट और बियर रखनी थीं.

मैंने शर्ट के तीन बटन खोल कर उसे मम्मों के नीचे तक सरका दिया, जिससे मेरी ब्लैक ब्रा दिखने लगी. मुझे लगा कि अब मैं बस इसके मुँह के अन्दर ही झड़ जाऊं लेकिन मैंने उसके मुँह से अपना लंड बाहर निकाल कर थोड़ा आराम किया ताकि दूसरी बार डिस्चार्ज होऊं, तो उसकी चूत में ही होऊं. मैंने खाना बनाया, उस लड़के के साथ में खाना खाकर मैंने उसको दूसरे वाले कमरे में बिस्तर लगा करके एक कम्बल दे दिया और मैं अपने कमरे में आकर सो गया.

बीएफ इंग्लिश पिक्चर दाखवा अन्तर्वासना के सभी दोस्तों को बहुत समय बाद एक बार फिर से अरुण का नमस्कार. बेड पर मेरा और मेरे हस्बैंड का किसी दूसरे मर्द का नाम सुनते ही गर्म हो जाना उनका मुझे खूब चोदना और मेरा उनसे खूब चुदना।अब मैं और मेरे हस्बैंड सच में किसी को ढूंढने लगे जिस पर हम भरोसा कर सकें और जो हमारी जरूरत को पूरा कर सके.

ખુલ્લા સેક્સ

आह … मेरी जान … मजा आ रहा है … तुम्हारा लंड तो मेरी चूत की बैंड बजा रहा है … इस्स … मेरी चूत में कुछ कुछ हो रहा है … ऊई मां … तुम्हारा लंड तो मेरे पेट घुस रहा है … अब दोनों निप्पल एक साथ चूसो … आह … मेरी जान आग लगा दी है. ”ओह!”हम दोनों ब्रा पैंटी में हो गए।अंशु बोली- अच्छे लोग अपनी बहन बेटी की चुदाई नहीं देखते. तेरा कोई बॉयफ्रेंड है?वॉयलेट- अभी तो नहीं है … लेकिन पहले था … उससे 6 महीने पहले मेरा ब्रेकअप हो गया था.

उसके एक बाद मैं और मेरे पिता जी कानपुर उनके बेटे के एक साल होने पर उसके जन्म दिन पर पर गए थे. उसका लंड इतना सख्त हो चुका था कि अलग से पता लग रहा कि यह उसका लंड ही है. एक्स एक्स वाई सेक्सी वीडियोमैंने उनके पास जाकर उनको पीछे से पकड़ लिया और अपना लौड़ा उनकी गांड पर रगड़ने लगा.

मैं नाश्ता तैयार कर लूं!मैंने आँखें झुकाते हुए कहा- जी शुक्रिया!पूजा- अब बड़ी शर्म आ रही है? रात को तो जनाब बड़ा जोश दिखा रहे थे?मैं समझ गया कि पूजा अब खुल चुकी है, उसे कोई दिक्कत नहीं है.

मैंने उसके होंठों को छूकर अपनी उंगलियां एक तरफ से दूसरी तरफ तक और फिर वापस उसी तरफ से आते उंगलियों को घुमाते हुए उसके होंठों को सहलाया. एक बार फिर सायरा ने मुझे झकझोरा और बोली- क्या सोच रहे हैं पापा?मैंने अपनी गर्दन न में हिलायी और फ्रेश होने के लिये बाथरूम में घुस गया।नहाने धोने के बाद तौलिया ही लपेटे बाहर आया, सायरा अभी भी रसोई में ही थी, उसने अपने साड़ी के पल्लू को कमर में खोंस रखा था.

वो बोली- ये भी बता दो कि पैसे कितने लोगे?मैंने कहा- मुझे पैसों की कोई जरूरत नहीं है. दूसरा वह पतियों की अदला बदली के खेल में पहले भी अनुभवी थी। अतः उसने बिना कोई नखरे किए यह खेल स्वीकार कर लिया और वैसे भी अकेले में वह नील को अपने स्तनपान का सुख दे चुकी थी तो फिर अब चूंकि उनके पतियों की सहमति भी तो अब किसी भी तरह की औपचारिकता की जगह ही नहीं बची थी. इसी के चलते मैं एक हाथ से निशा के मम्मों को मसल रही थी और एक हाथ को अपनी चुत में डालने की कोशिश करने में लगी थी.

मैं उसको ज्यादा टाइम नहीं दे पा रही थी क्योंकि मेरी जॉब भी थीतो मैंने सोचा कि क्यों न कुछ दिनों की छुट्टी ले लूं.

हो सकता था कि ये मेरा भ्रम ही रहा हो, पर उनकी नजर पड़ते ही मेरे जिस्म में भी हलचल हो जाती थी. उस वक्त तक मैं लेडी बन कर ही बात कर रहा था और मैंने उसको बोला कि मैं तो अपनी चूत में रोज़ उंगली करती हूं. यहाँ पर ज्यादातर पुरुष जो उसके संपर्क में आते थे, उससे उम्र में काफी छोटे थे.

मोबाइल फोंसससुर ने भी थोड़ा सा रास्ता दिखते ही लंड चुत में पेल दिया, जिससे मेरी दीदी की चीख निकल गयी और वो लंड बाहर निकालने को कहने लगीं. उसकी चुत से पानी निकलने लगा, जिसे मैं चाट चाट कर साफ ही कर रहा था कि वो बोली- राज अब रहा नहीं जाता … कुछ करो जल्दी प्लीज … तुम अपना मस्त लंड मेरी चुत में डाल दो जल्दी से … अब मुझसे और इन्तजार नहीं होता प्लीज.

चुदाई सेक्सी वीडियो दिखाओ

” महेश ने अपनी बहू की आँखों में निहारते हुए कहा।नीलम समझ गयी कि उसके ससुर क्या कहना चाहते हैं इसीलिए उसने शर्म से अपना कन्धा नीचे कर दिया।बेटी इसका मतलब अब तुम मुझसे कोई रिश्ता बाकी रखना नहीं चाहती?” महेश ने नाटक करके वहां से उठते हुए कहा।पिता जी आपके सिवा मेरा कौन है यहां?” नीलम ने अपने ससुर के हाथ को पकड़ते हुए उनको रोका।ओह्ह बेटी, मैं तो समझा था कि तुमने मुझसे दूर होने का फैसला कर लिया है. मैंने ध्यान से देखा कि उनमें से एक लड़की तो मेरे पड़ोस की ही थी, उसका नाम अलका था. मैं उसे देख कर उसके अन्दर की चीजों को देखने के लिए बहुत उतावला हो रहा था.

थोड़ी देर बाद वो भी नीचे से धक्के मारने लगा और मेरे अन्दर ही झड़ गया. अब मुझे समझ में आ गया था कि इसको आगे से चुदाई करवाने की बजाय पीछे से गांड को चुदवाना पसंद है. चाची ने कहा- हरामखोर मेरे सारे कपड़े निकाल दिए और खुद ने कुछ ना निकाला.

मैं कपड़े पहन कर चाची के साथ ही सोफे पर उनकी जांघों से जांघें चिपका कर बैठ गया. बहुत प्यासी हूं मैं मेरे राजा।अभय ने अपने लन्ड का गर्म गर्म लावा एकदम से तेजी के साथ मेरी चूत में उड़ेल कर भरना शुरू कर दिया. मैं एक हाथ से उसके मम्मों को सहला रहा था और नीचे उसकी पैंटी के पास अपना मुँह ले आया.

खाना बनाने वाले अलग से बुलाए गए थे और फार्म हाउस के नौकर चाकर भी हमारी सेवा में लगे थे, इसलिए हमें कोई चिंता नहीं थी. वो देख कर हैरान हो गईं कि कैसा हल्का सा टेड़ा और मोटा है … गुलाबी सुपारे वाला.

अब वो चूचों से हट कर नीचे पेट को किस करता हुए नीचे पैंटी की तरफ जाने लगा.

मैं इस निकाह से खुश नहीं थी क्योंकि मुझे खूबसूरत शौहर चाहिए था पर वो नहीं मिला. देसी भाभी की नंगी चुदाईअपने घर आकर मैंने उसको मैसेज करके सब बता दिया कि मुझे सब पता चल गया है कि तुम दोनों ने मिल कर मेरा शोषण किया है, मैं पुलिस में जाऊँगी. एक्स एक्स हिंदी मेंजब तक भाभी घर में रही मैं अपने घर के अंदर नहीं आया और बाहर ही मंडराता रहा. अचानक उसको पता नहीं क्या हुआ कि उसने मेरा हाथ पकड़ा और अपनी लोअर के ऊपर से ही अपनी चूत पर मेरे हाथ को रगड़ने लगी.

तुम लोग कहाँ हो?पार्क में!”पार्क में? क्यों? क्या कर रहे हो?”तेरी दीदी मेरी चूत चाट रही है और तेरी मम्मी उपिन्दर का लौड़ा चूस रही है.

मैं- तुम जैसी खूबसूरत लड़की को छोड़ कर वो चूतिया दूसरी के साथ ऐसा कैसे कर सकता था. मैंने देर ना करते हुए कहा- इस बुरे वक़्त में आपने जो मुझ पर अहसान किया है, मैं कैसे चुकाऊंगा. मैं इससे ज्यादा चुदाई करवाने की हालत में नहीं थी क्योंकि मेरी चूत और गांड दोनों ही सूज गई थी.

उन्होंने धीरे से अपने पैरों को हिलाते हुए नीचे से अपनी पैंट और अंडरवियर दोनों को ही निकाल दिया था. उस वक्त शिखा मामी से मिल कर मुझे इस बात का इशारा मिल गया था कि यदि वो मुझसे चुदने के लिए राजी थीं. तभी शान ने मुझे खींचा और मेरे सर को अपने हाथ से दबाते हुए मुझे घुटने पर बैठने को मजबूर कर दिया.

xxx वीडियो वीडियो

अगर इस कहानी में आपको मजा आया हो तो मेरा उत्साह वर्धन करें और यदि कोई गलती हुई तो मुझे और अमृता को माफ करें. मैंने अपने सर को उठा कर ऊपर किया तो उनकी आँखें आधी खुली थी और उनके चेहरे पर मुस्कराहट थी. मैंने उसकी बनियान उतारी, तो उसके गोल खरबूज़ जैसे चूचे आज़ाद होकर फुदकने लगे.

समीप आने के बाद भाभी ने मेरे होंठों को पहले सूंघा और अगले ही पल अपने होंठ रख कर मेरे होंठों को चूसना चालू कर दिया.

अब मुझे भी अच्छा लगने लगा और फिर पापा ने एकदम से मेरे टीशर्ट के अंदर मेरी चूचियों के अंदर हाथ डालकर उनको दबाना शुरू कर दिया.

तो सलीम बोला- साली रंडी, तेरी चूत में बड़ी आग है … अभी शांत करता हूँ. हम दोनों ही आपसी सहमति से ये रिश्ता बरकरार रखना भी चाहते थे, इसलिए हम लोग जब भी टाइम मिलता, साथ में वक्त गुजार लेते हैं. सन्स वीडियोवो दोनों आपस में एक दूसरे के होंठों को चूसने में लगे हुए थे और लड़के ने उस लड़की की लैगिंग में हाथ डाला हुआ था.

मगर मैंने वो पैसे नहीं चुराये थे बल्कि किसी और लड़के ने चुरा लिये थे. वहां पर उछल-उछल कर तो मैं उसकी चूत की चुदाई नहीं कर सकता था इसलिए बस उसी छुअन का मजा लेता रहा. इस कहानी की हीरोइन मेरी चाची हैं, जो कि दिखने में बहुत मस्त लगती हैं.

मनोज ने दीपा से चाय बनाने के लिए कहा और खुद सुनील के रूम में जाने लगा. ससुर और बहन तो नंगे ही थे, मैंने बहन को रोका और अपना लंड निकाल कर मूतना शुरू कर दिया.

जब तुम मुझसे पहली बार सतना में मिलने के लिए आई थी और तुम्हारी चूत की सील टूटी थी तो उस वक्त वो तुम्हारा पहला सेक्स नहीं था.

मेरी चूत से रस के छींटे यहां वहां मेरी जांघों पर और तख्त पर गिरने लगे. इतनी चिकनी चूत देख कर मुझे लगा, जैसे चाची अपनी झांटों को आज ही साफ़ करके आई हों. ”सल! यह सब किसी हसीं ख्वाब (खूबसूरत सपने) जैसा लगता है। पर मेरी ऐसी तिस्मत तहां? एक ना एक दिन तो मुझे यहाँ से जाना ही होगा.

देसी भाभी हॉट सेक्सी वीडियो अब तो मेरी चूत भी गीली होनी बंद हो गई और इसलिए अब लंड के रगड़ से दर्द होने लगा था. मैं इस वक्त उस किरायेदार के लड़के के बारे में सोच रही थी क्योंकि मैं उसको पसंद करती थी.

पूजा- आ … ओहह … राज तुम्हारा लन्ड तो बहुत मोटा है, मेरी चूत फाड़ देगा ये तो!उसके ये शब्द मेरी हवस को बढ़ाने के लिये काफी थे. हम दोनों का पानी मेरी चूत से निकल कर बिस्तर पर गिर गया और बिस्तर की चादर खराब गई थी. कहानी पर अपनी राय देने के लिए नीचे दिये गये कमेंट बॉक्स में कमेंट करें और मेल आईडी पर भी मैसेज कर सकते हैं.

भोजपुरी सेक्सी वि

हालांकि कॉलेज में प्रथम वर्ष होने की वजह से थोड़ा नियम से रहती थी, पर उसके स्वभाव में कोई खास परहेज देखने को नहीं मिला. और बहुत रोई।फिर उस दिन के बाद से मेरा प्यार से भरोसा उठ गया और मैंने उसी दिन प्यार करने वाली फेहमिना को खत्म कर दिया और एक नया जन्म लिया. गीत ने दोबारा से कहना शुरू किया- अब बीच में टोकना मत, पूरी बात सुनो, अब मुझे भी बताने में मजा आ रहा है.

मैंने हैरान होते हुए पूछा- क्या पता है आपको मेरे बारे में?वो बोली- मैं दो साल से अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़ रही हूं. हम फिर से पाक साफ हो कर अपने देश वापिस आ गई। घर पहुँच कर ऐसे हो गई जैसे हम तो वहाँ सिर्फ घूमने और आराम करने गई थी.

मैं गिगिड़ाने लगा- मुझे माफ़ कीजिएगा … मैंने गलती से आपको कोई और समझ के.

बाद में हम मयूर के कमरे में चले गए उसने कमरा एकदम बहुत ही अच्छी तरह से सजा रखा था. मेरा पानी छूटने के बाद मैं तो इतना मजा नहीं ले पा रहा था लेकिन उसकी चूत में उंगली जा रही थी तो उसको बहुत मजा मिल रहा था. उन्होंने ऐसे ही बातों ही बातों में मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझे अपनी और खींचा.

मैंने सर झुका कर माँ से कहा- मम्मी शान को जाने दीजिए प्लीज़ … उसकी कोई गलती नहीं थी. एक बार हम दोनों ने मिलकर एक लड़की को भी चोदा था, वो कहानी बाद में लिखूंगा. सुनील बेसुध सोया पड़ा था पर बिल्कुल नंगा … उसका लंड देख कर दीपा को मजा आ गया.

हम दोनों यानि मैं और उनके ससुर जोश में आ गए और सेजल दीदी के कपड़े फाड़ कर उनके शरीर के अलग करने लगे.

बीएफ इंग्लिश पिक्चर दाखवा: तभी राजेश्वर सर ने मेरी जांघ पर हाथ रखा और कहा- साली रंडी … अभी तो वहां पर रंडी की तरह चार चार लौड़ों से चुदवा रही थी. उसने अपने होंठों पर हल्की लिपस्टिक लगाई हुई थी और उसने जो दुपट्टा पहना हुआ था, वह उसके सेक्सी कर्व्स को छुपाने की नाकाम कोशिश कर रहा था.

पैकेज टूर में तो आप लोगों को पता ही है कि कई सारे कपल्स हो जाते हैं. मेरी गांड पर तेल अच्छी तरह से मलने के बाद उसने मेरी गांड में उंगली डाल दी. प्रीति के पैर में लग गया तो प्रीति सब समझ गई कि मैंने तुम्हें चोद दिया.

मेरी चूत जैसे फट गई और मेरे मुख से निकला ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मुझे बहुत दर्द हुआ था एकदम.

फिर मैंने लंड को चुत के छेद पर रख दिया और एक ही झटके में लंड अन्दर पेल दिया. आंटी मस्ती से कराहते बोलीं- आह चूस ले … और ज़ोर से चूस … चाट ले इस रसभरी को … आह इस भोसड़ी ने बहुत तंग किया है … पूरी खा जा इसे. उन आंटी के गुलाबी रंग के उरोजों पर हल्की नीली नसें ऐसे लग रही थीं, जैसे कोई नीले रंग के बाल हों.