कानपुर के बीएफ

छवि स्रोत,बॉस सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स सेक्सी बीएफ मूवी: कानपुर के बीएफ, रूपा की नंगी गीली चूत देख कर उस पे हाथ रख कर मसलते हुए रूपा की साड़ी कमर तक उठा दी.

डॉक्टर सेक्सी वीडियो में

समझ रहे हो ना आप, तो बस वैसे ही गुलशन जी की अंतरात्मा भी बाहर आकर उनसे बात कर रही है. भोजपुरी भाभी की चुदाई सेक्सी वीडियोतो वो बोला- हम आपके रुकने और भोजन और चोदन सब का बंदोबस्त कर सकते हैं। और तुमको तुम्हारा चार्ज भी देंगे.

अजय- हाँ यार, उसकी गांड भी बाहर निकल रही है, कहीं ऐसा ना हो कोई और उसको ठोक कर निकल जाए और हम लंड मलते रह जाए. বাঙালি চোদাচুদিथोड़ी देर बाद ही बहूरानी का भुज बंधन शिथिल पड़ गया साथ ही उसकी चूत सिकुड़ गई जिससे मेरा लंड फिसल के बाहर निकल आया.

नेहा का तो हाल ही बुरा था और वो सिसकारियां ले रही थी और एक जवान लड़की होने का सबूत दे रही थी.कानपुर के बीएफ: मेरा एथलेटिक, कसा हुआ शरीर देख कर उसके चेहरे में मुस्कान थी, मानो उसको उसके पसंद की चीज़ मिल गई हो.

मैंने अपना लंड उसके चुत की छेद पर रखा तो आरती कहने लगी- धीरे करना अभी मैं 18 की ही हुई हूँ.उन्होंने रेणु का हाथ महसूस किया, रेणु का हाथ पतला था, सो पांचों उंगली को सटाते हुए पूरा हाथ कलाई तक अपने चूत में घुसवा ली.

सेक्सी हिंदी वीडियो एक्स एक्स - कानपुर के बीएफ

मैंने हंस कर कहा- ठरकी कहीं की! तुझे ही खुजली थी ना यहाँ आकर ये सब करने की? अब मजे कर!तो रिया ने मुँह फुलाकर कहा- जैसे तू बिल्कुल मजे नहीं कर रही ना कमीनी? थोड़ी देर पहले तो बड़े चूतड़ उठा कर लंड अंदर ले रही थी, गालियां बक रही थी.फिर मैंने शीशे के सामने ही रेखा को एक मेज से सहारा देकर खड़ा कर दिया और अपना घुटने के बल नीचे बैठ गया.

मैं ट्रान्सपेरेन्ट नाइटी पहन के चाचा जी को चुदाई में पागल करने के लिए बिल्कुल तैयार थी. कानपुर के बीएफ उसने बच्चे को दूध पिलाने के लिए अपने ब्लाउज से स्तन बाहर निकाला, जो कि मेरे साईड वाला था.

फिर सास ने उसकी चूत को चाटा, दोनों ने एक दूसरी की चूत चाटी और एक दूसरी की चूत में प्लास्टिक का लंड डाला.

कानपुर के बीएफ?

किस्मत का खेल देखो… ठीक एक घंटे पहले ये एक सामान्य घर में सामान्य से परिवार थे. मेरी जान!फिर मैंने अपना लंड आधा डाला तो उसकी चीख निकल गई और बोली- नहीं करना. मैं कई भाषाओं का ज्ञान रखने के कारण अपने स्कूल और कॉलेज में काफी मशहूर रहा हूँ.

करीब पन्द्रह मिनट के बाद चाचाजी का कन्ट्रोल छूटा और चाचाजी ने मेरे मुँह में गर्म गर्म लावा छोड़ दिया. चाचाजी ने मेरे होंठों को चूसते और काटते हुए चार छह धक्कों के बाद अपने गर्म लावा से मेरी चुत को भर दिया. मैं हंस कर बोला- बहुत फड़क रही है चूत तेरी, क्यों ठरकी हो रही है साली.

चैन से बैठने भी नहीं देती और हाँ तुम निकल जाना, मैं एक घंटे में आ जाऊंगा. हम चाह रहे थे कि वो फ्लैट सिर्फ हमको मिले लेकिन हमारे एड्वोकेट ने हमको कहा कि मेरे पति की बड़ी बहन की N. फिर मैंने अपनी बेटी रेखा को अपने आगे कर दिया और खुद उसके पीछे खड़ा हो गया.

रात को मेरे पति को मैंने यह किस्सा बताया, तब वो बोले तू एक नम्बर की नौटंकीबाज़ है. नीता के कंधे पर हाथ रख कर नज़र उसकी चूत और मम्मों पर बारी बारी घुमाते हुए पप्पू बोला- अरे इतनी क्या जल्दी है बेटा, सब होने के बाद बता दूँगा.

दीदी कहने लगीं- मॉम, देखो भाई का लंड 7 इंच का है और आपकी चूत में बहुत दिन हो गए है.

तुमने तो अभी मेरी चुत में केवल अपना लंड ही घुसाया भर है और मेरी हालत एकदम खराब हो गई है.

बीजू- यार सुना है ये दोनों किसिंग मस्त करते हैं तो उससे तो पक्का ये पहचान जाएगी ना. क्या होगा… ये सोच कर सारी रात जाग जाग कर गुजारी, नींद आने का नाम ही नहीं ले रही थी. थोड़ी देर बाद मैंने उसको अपना लंड चूसने को बोला तो उसने मेरे पास आकर मेरे को बिस्तर पर धक्का देकर गिरा दिया और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

दोस्तो, यह कहानी पब्लिश होने के बाद मैं सोनिया को भी भेजने वाला हूँ. तभी वो वापस आई, तो मैं देखता ही रह गया, उसने स्कर्ट और टॉप पहन लिया था, वो कपड़े चेंज करके आई थी. अगली सुबह मुझे अपने गालों पर एक मीठी सी किस का एहसास हुआ, मैं मुस्कुराया और फिर सो गया.

तभी मेरे दोनों बूब्स जोर जोर से दो अंकल दबाने लगे और मेरे बूब्स को ब्रा से आजाद करके फिर और जम कर दबाने लगे और पेट चाटते हुए मेरी नाभि को चूम कर चाटने लगे.

लेकिन कोई शक न हो इसलिए रात को मेरी औरत को चोदने का नाटक करना पड़ता था. दूसरी बार कोशिश करने पर मेरा आधा लंड चुत में एकदम से घुस गया और आंटी ने एक जोर की चीख मारी, वे तड़फ उठीं और कहने लगीं- छोड़ दो. सुमन- पापा सिर्फ़ लुंगी पहन कर सोते हैं और सोने के बाद उनको होश नहीं रहता… तो उनका लंड देखना आसान है.

प्लीज डोंट स्टॉप!थोड़ी देर में उसने मेरे मुँह में अपना पूरा पानी निकाल दिया और मैं उसे पूरा चाट गया।जो थोड़ा बहुत लगा था मुँह पर. रीतिका भाभी ने पूछा- पूजा, आज से पहले किया है किसी के साथ या आज पहली बार में ही पकड़ी गई?पूजा कहती- नहीं भाभी, आज पहली बार है. मेरा हाथ बगल वाले अंकल के लंड पर था, चाचा का हाथ मेरी चूत में उंगली डाली हुई थी.

मेरा लंड किसी डंडे की तरह अकड़ रहा था और मौसी लंड को हाथ में लेकर बहुत गौर से देख रही थीं.

उसको ऐसे देख कर मुझसे नहीं रुका गया, मैंने मोनिका को उठाया और फिर बेड पर लाकर उल्टा लिटाया. लेकिन आज मैं खुश भी बहुत था क्योंकि मेरी बहन जैसी सेक्सी लड़की किसी तो आसानी से नहीं मिलती.

कानपुर के बीएफ उसका लंड नीता की चूत पर था और नीता के निप्पल से खेलते हुए वो झूठी कहानी बताने लगा- ओके नीता… अब सुन… तेरी माँ को यह खेल मैंने कैसे सिखाया. मैं अपने पैरों से उसके कंधे को जकड़ते हुए उसकी गांड के छेद को कुरेद रही थी.

कानपुर के बीएफ हम सब कॉलेज फ्रेंड्स हैं और ऐसे ही साथ मिलकर ग्रुप सेक्स की मस्ती करते हैं. मैं भी बेताबी से तुझ से एक जंगली जैसी चुदवाने को तड़प रही हूँ साले.

संजय- मैं सोच रहा हूँ अतुल और बरखा हमारे मेहमान हैं, ये फैसला अगर यही दोनों करें, तो अच्छा रहेगा.

इंडियन सेक्स बीएफ सेक्सी

उस के साइज़ का मुझे कोई अनुमान नहीं था, परंतु वह मस्त माल थी, एक दम मलाई कोफ्ता. उसके होंठ इतने गर्म हो रहे थे कि उनकी गर्मी मुझे मेरे होंठों पर महसूस हो रही थी. मैं अर्चना की चूत को चूसने लगा और अपनी जीभ को उसकी चूत के बीच डाल कर काम रस को चाटने लगा.

उनका कोमल स्पर्श मुझे कुछ अजीब सा महसूस होने लगा और मेरी नींद जाती रही. मम्मी भी अब शांत हो गई थीं, उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हो रही थी. तभी माँ ने मुझे अपनी तरफ खींचा और मेरे लंड के ऊपर चढ़कर चुदवाने लगीं.

मैं इन्हीं ख्यालों में था कि उसने कहा- और खाएगा क्या?मैंने कहा- नहीं, मेरा पेट भर गया.

अब भाई मुझे गोदी में उठा के नाचने लगा और मैं गोदी में से ही उसे किस करने लगी. अब अंजलि की टाइट चूचियां मेरे सामने थींमैं एक निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरे को मसलने लगा. मेरा तो अभी हुआ नहीं था, मैंने स्पीड को धीमा किया तो बोली- थक गए क्या?मुझे गुस्सा आया और मैं जोर जोर से चुत में धक्के मारने लगा.

मुझे इस बार का उस दिन एहसास हुआ कि मेरा एटीएम तो मेरी चड्डी में ही है. फिर रागिनी जी बोलीं- सर वो जमीन पर मैं बिस्तर डाली हूं, चलिए वहीं बैठ कर बातें करते हैं. लंड तो खड़ा हुआ है फिर क्या अपनी माँ चुदाने के लिए रुका है?मेरी रंडी के लिए आज का आखिरी तोहफा मेरी तरफ से.

मैंने फिर से लंड चूत में डाला और झटका लगा दिया और हम एक दूसरे की बाँहों में झूल रहे थे, वो मेरी पीठ पर अपने नाख़ून गड़ा रही थी. बरखा की बात सुनकर टीना और फ्लॉरा ने एक-दूसरे को देखा फिर आँखों ही आँखों में इशारा किया.

भैया के घर एक काम वाली सांवली सी लड़की आती थी जिसका नाम चन्दा था।एक रोज भैया कहने लगे- राज, इसे पकड़ कर चोद दे।वह बाथरूम में कपड़े धो रही थी। परंतु भाभी ने एक दम मना कर दिया और वह इस बात से नाराज भी हो गई. पर तभी उसकी नज़र काजल की चूचियों पर गई, जो बड़ी थीं, गोल-गोल थीं और ब्रा के अन्दर अभी भी कैद थीं, पर बाहर आने को मचल रही थीं. उसने फिर से 2 धक्के लगाए और अपना पूरा का पूरा लंड मेरी चुत में घुसा दिया.

मनोज का लौड़ा भी अब जवाब दे चुका था और फिर कुछ ही देर के बाद उसने अपना लंड नेहा की चूत से बाहर निकाल लिया और उसने सीधी पिचकारी नेहा के मम्मों पर मार दी.

फिर क्या था… मैंने बोला- अब लंड डाल कर आगे पीछे कर…‘तुझे कैसा लग रहा है?’‘अब दर्द नहीं, जलन हो रही है…‘जो टूटना था सो टूट गया. मैंने किशोर की तरफ गुस्से से देखा तो उसने अपने कान पकड़े और सॉरी जैसा मुँह बनाया. धीरे धीरे हम आपस में लिपटे हुए ही एक दीवार से दूसरी दीवार पर पहुंच चुके थे.

राहुल- अभी लो, वो किचन में है, बात करवाता हूँ।लता- हेलो राजेश जी, नमस्ते।मैं- नमस्ते लता जी कैसी हो, क्या इरादा है आज रात का?लता हंसती हुई- घर आओ, तब बताऊँगी भी और दिखाऊँगी भी इरादा, पर ये निश्चित है आज रात तुम सो नहीं पाओगे, पूरा निचोड़ दूँगी. तो दोस्तो, ये थी मेरी सच्ची चुदाई की कहानी, आपको मेरी आप बीती कैसी लगी, बताना ज़रूर.

मैंने फोन लिया, अलका बोली- माया कल एक नया लड़का है दिनेश बुलाकर लाएगा, मजा आएगा. मेरी गांडू गे सेक्स कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि रात को मैं अपने यार के साथ दूसरी सुहागरात मना रहा था, जब मैं गांड मरवा रहा था तो मुझे इसके बड़े लंड से बेइन्तेहा दर्द हो रहा था. मामी को पूरा मजा नहीं आ रहा था शायद रेणु का हाथ को देख नहीं पा रही थीं आखिर देखती कैसे होंठ मैं चूस रही थी और उनकी दोनों चूचियाँ को दो हब्शी लड़कियां खा रही थीं.

बीएफ चुदाई बीएफ चुदाई चुदाई

अब आप जानते ही हैं कि जब एक घर में दो लोग दो घंटे रहें तो कुछ न कुछ निजी बातें होंगी ही.

मैंने अब आंटी को बेड पर लिटा लिया और के पैर अपने कंधे के ऊपर रख लिए और लंड को चूत के मुँह पर रख कर झटका लगाया. मॉम कुछ नहीं बोलीं, बल्कि उन्होंने कहा- ब्रा खोल कर पीछे मुड़ जाना और बाहर चले जाना. हम दोनों वासना के नशे में तब तक एक दूसरे के चूतड़, गांड, चुत सब रगड़ते रहे.

बीस मिनट तक पूरे जोर जोर से मामी को चोदता रहा और अर्चना मुझे देखकर मुस्कुराती रही. सुमन- दीदी, आपने कैसे उनकी लाइफ बर्बाद कर दी और आज मेरी बारी आई तो आपकी अंतरात्मा जाग गई ऐसे कैसे?टीना- नहीं सुमन, उस टाइम मैंने बस उन लड़कियों को संजय के करीब किया था. सनी लियोनी एचडी बीपीकल तो तू लुल्ली बोल रही थी और अब बड़े आराम से लंड बोल रही है, इसका मतलब तुझे पहले से पता था इसको लंड कहते हैं क्यों?नीतू ने शर्माते हुए कहा- हाँ दीदी, मगर सच्ची मैंने बस सुना था और एक-दो बार दूर से देखा भी था.

भाभी कामुक सिसकारियाँ लेने लगीं- आआहह… आहह… एम्म… उह… ओह…वो तो चुदास से बस सी पागल होने लगी थीं. चाचाजी धीरे से बोले- जान मैं देखकर आता हूँ कि सब सो गए हैं कि नहीं, तुम इरफान के सोते ही रूम नं 208 में आ जाना.

सुबह उठ कर जल्दी से नहा धो कर सबसे पहले क्लास में 15 मिनट पहले ही पहुँच गया क्योंकि आरती पहले आ जाती थी. दोस्तो, मेरा नाम अमित शर्मा है, मैं जयपुर राजस्थान का रहने वाला हूँ. और हाँ वो वहां फ्लॉरा के घर पर ग्रुप सेक्स अब तीन जगह एक साथ आप कैसे देख पाओगे, यही सोच रहे हो ना.

अब माया नंगी खड़ी उस्मान का लंड चूस रही थी और अमित से अपनी चुत चटवा रही थी. तब तक शिवानी मेरे लिए एक पानी का गिलास ले कर आई, तो मैंने गिलास पकड़ते हुए उस की उंगलियों को थोड़ा दूर तक टच कर लिया था. तो आंटी बोलीं- तो तुम्हारा टाइम पास कैसे होता है?मैंने खुल कर कह दिया- हाथ से.

अपनी ब्रा की साइज़ थोड़ी किसी लड़के को बताऊँगी मैं? वो तो सिर्फ़ मेरा पति ही जानेगा शादी के बाद और अब मेरी मम्मी जानती है.

मैं साथ ही साथ ब्रा के ऊपर से ही उसकी चूचियों को भी बड़े प्यार से दबा रहा था. लेकिन आपने मेम साब की आँखों पे पट्टी क्यू बाँधी है?मैंने कहा- उसे रोशनी चुभ रही थी इस लिए बाँधी है, अब उसे कुछ दिखेगा भी नहीं, तुम चलोगे रूम में?वो हक्का बक्का सा रह गया लेकिन साला तैयार हो गया.

उस दिन मेरा मन नहीं लगा मैं पूरे दिन उसी के बारे में सोचता रहा और मैं ऑफिस से जल्दी निकल गया. पिंकी ने रेखा को उस तरफ देखते हुए देखा तो वो भी मुड़ कर देखने लगी और फिर मुस्कुरा कर रेखा से बोली- क्यों रेखा? क्या देख रही हो?कुछ नहीं. तभी मोहन ने मम्मी की साड़ी खोल डाली और पेटीकोट जांघों तक ऊपर सरका कर हाथ फिराते हुए बोला- वाह भोले, तेरी आज तो हमारी किस्मत चमक गई, वैसे भी मुझे इस साली की चूत मारे कई महीने हो गए हैं.

अजय- साली रंडी पहले तो कहती थी तू गांड बहुत अच्छी मारता है, अब तुझे मज़ा नहीं आएगा. मैंने मौसी से कहा- आप इतने दिन से मुझे नीचे से चोदने को कह रही थीं. रिंग लीडर के इशारे पर सभी लड़कियों ने एक दूसरे के यौवन रस को चूसना शुरू कर दिया.

कानपुर के बीएफ उन्होंने कहा- आज तो तुम मुझसे ही काम चलाओ, कल मैं तुम्हारे लिए पिंकी को तैयार कर दूँगी. कमर भी यही कोई 30 की रही होगी और जब वो आदमी की गोद में बैठ रही थी, तब मुझे उसके उठे हुए चूतड़ों का आकार भी लगभग 38 इंच का लगा था.

कुत्ता औरत का सेक्सी बीएफ

वो उठ खड़ी हुईं और चारों ओर नज़र मार कर उन्होंने ये देख लिया कि कोई आस-पास है तो नहीं… और फिर से बैठ गईं. अल्का ने मेरे हाथ भी पकड़ लिए और बोली- थोड़ी देर दर्द होगा फिर जिंदगी में कभी नहीं होगा. दूसरे ही दिन सुबह पति के काम पर जाने के बाद जब नीता नहाने गई तो रूपा और पप्पू एक दूसरे की बांहों में आ गए.

मैंने अपनी ज़बान अन्दर डाली और वो मेरे चेहरे पर धक्के मार रही थी- ठीक से चाट साले और अन्दर ज़ुबान डाल… पूरा चूस पी कमीने… बीवी का जूस बहुत पिया है ना, आज इस रंडी का जूस पी ले…उसकी चूत से जूस बह रहा था. थोड़ी ही देर में रेणु के बुर से गाढ़ा चिपचिपा रस का बेग से निकला, जिसे रितु ने सड़प सड़प कर पी लिया. मारवाड़ी सेक्सी वीडियो चुदाई वालाकभी उनके करीब आने के लिए मैं उनसे जानबूझ कर कोई ना कोई सवाल पूछता रहता.

उसने मुझे अपना लंड सहलाते हुए देखा तो बोला- लगता है कि आज चुदवाने का इरादा है.

उसने अपनी ब्रा भी उतार फेंकी और अन्दर का नज़ारा देख कर तो मेरा लंड बेकाबू सा हो गया. हम सभी फ्लैट से निकले और एक रेस्टोरेंट में गए जहाँ मनोज ने लंच करवाया क्योंकि उसने कहा कि आज की पार्टी मेरी तरफ से.

रंजु को हम लोग बारी बारी चोदते, लेकिन रीना हम दोनों से एक साथ चुदना पसंद करती. चूंकि मेरी कद काठी ठीक ठाक रही थी, इसलिए लंड कुछ देर बाद अपना आकार लेने लगा था, जिसे देखकर अर्चना बार बार प्रसन्न हो रही थी. फिर मैंने पिंकी को उठाकर शीट के सहारे घोड़ी बना दिया और उसकी चूत में लंड पेलकर बोला, अब जोर से पेशाब करो.

वो उसको ध्यान से देख रहा था और बीच बीच में काजल की चूत को छेड़ रहा था.

मैं बहुत डर गया था। सर से ले कर पांव तक काँप रहा था।आंटी मुझे कमरे में ले गईं और नीचे बैठा कर पूछने लगीं- बोल. वो अपनी जीभ से नाभि के चारों तरफ चाटने लगा और धीरे धीरे अपनी जीभ को लड़की की बुर की फांकों में डाल दिया. फिर थोड़ी देर में वो जैसे ही बाहर निकली तो एक पल के लिए मेरी नजर से उसकी नजर फिर से मिल गई.

maa का पर्यायवाची शब्दअब वह अजनबी उसकी एक चुची को मुँह में लेकर चूसते हुए दूसरी को मसल रहा था और सलमा की कमर को अपने पैरों से जकड़ कर नीचे से धक्का लगा रहा था. वो बोलीं- बहनचोद, मेम क्यों बोलता है… अभी मैं तेरी रंडी हूँ मादरचोद… जितना गन्दा से गन्दा बोल सकता है… बोल हरामी…मेरी तो समझो निकल पड़ी थी.

बीएफ पिक्चर व्हिडिओ पिक्चर

हम वापस गोपाल के पास जाते हैं, आज वहां भी बहुत कुछ मसालेदार होने वाला है. कमरे का दरवाजा लॉक देख कर वो हॉल क्रास करके अपनी माँ के बेडरूम की तरफ़ गई. उसने कहा- साँस अन्दर लो और वजन अपनी गांड पर दो, पैरों पर वजन कम करो.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:जीजू की चचेरी बहन की बुर चोदन की कहानी-2. पप्पू रूपा की कमर में हाथ डाल के कमर मसलते हुए बोला- राम टेकरी में इतनी रात क्या काम है तेरा? किसको मिलने जा रही है तू इतनी रात रूपा. इसके साथ ही मैं झड़ रहा था और तभी उसकी चूत ने भी पानी छोड़ना शुरू कर दिया था.

फिर हम सभी खाना खाने चले गए, वहाँ शानू की गर्लफ्रेंड रिया ने हमारी बहुत खिंचाई की. शिवानी ने मेरी पैंट और अंडरवियर को नीचे जमीन तक खींच कर निकाल दिया. मैंने मन ही मन तय कर लिया कि नहीं नहीं अब मैं ये बिल्कुल भी नहीं होने दूँगी, मैं मेरे शौहर को धोखा नहीं दूँगी.

दिनेश ने अपने लन्ड को पकड़ के आरुषि की चूत के नीचे सेट किया।आरुषि- ऊई माँ… चुभता है।वो लन्ड पर बैठते हुए बोली। वो जैसे अपना वजन लन्ड पर डालती जा रही थी वैसे वैसे लन्ड उसकी फुद्दी में घुसता जा रहा था।उफ्फ… आह कितना मोटा है दर्द हो रहा है. धीरे धीरे तीर निशाने पर लगते देख मैंने कमरे में बैठ कर सेक्सी फिल्म देखने का आग्रह किया.

”अमित माया की गांड की जबरदस्त चुदाई करते हुए बोला- साली छिनाल की गांड सच मैं बहुत टाइट है रे उस्मान.

वो एकदम टूट गई, उसमें अब जरा भी हिम्मत नहीं थी, उसका सर चकराने लगा था. करीना कपूर की वीडियो सेक्सीमैं पिछले एक साल से इस साईट पर हूँ और मैंने बहुत सी चोदन कहानियां पढ़ी हैं, सभी बहुत पसंद आईं. सेक्सी वीडियो गान डाउनलोडइतना सुनते रागिनी एक बार मुझसे फिर लिपट कर चूमने लगी और धीमे-धीमे चूमते हुए मेरे लंड को पकड़ कर मुँह में ले कर सुपारे को चूसने लगी. दोस्तो, मेरा नाम सुनील है, सबसे पहले मैं सब लड़कियों और आंटियों को नमस्कार करता हूँ.

मैंने उसकी आँखों में हैरत से झांका तो उसने कहा- तुम्हारा मुझको देख कर मुठ मारना मुझे अपने लिए कॉंप्लिमेंट सा लगा और मैं इस तरह से धन्यवाद कहना चाहती हूँ.

अगले दिन जब मैं वहां पहुँचा तो मेरी आँखें सिर्फ़ अनुराधा को ही तलाश रही थीं. मंजूर है!मेरी बेटी बोली- ठीक है पापा आज आप जो कहोगे, वह मैं करूँगी. शमशेर ने जैसे लंड बाहर निकाला तो मैंने देखा कि साले का लंड चूत का पानी पी कर तो और भी भयंकर हो गया था.

दोस्तो, मेरा नाम सुनील है, सबसे पहले मैं सब लड़कियों और आंटियों को नमस्कार करता हूँ. मैं कामुक सिसकारियाँ लेकर चुदवा रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह आह जीजू और चोदो आह. नीलिमा तैयार नहीं थी, वो गाली देने लगी- साले गांडू मैं क्या तेरी वाईफ हूँ क्या.

हिजड़ों की बीएफ मूवी

मामी ने मेरे कान में बोला- इनका मजा लेना है तो अपनी बड़ी मामी के पास जा. तूने अगर मुझे सब बताया तो तेरी माँ को हम तीन लड़कों ने कैसे मस्ती से छेड़ा था वो तुझे बताऊँगा. सुबह के पांच बजे तक हम चुदाई करते रहे और फिर ऐसे ही एक साथ नंगे सो गये.

फिर धीरे से उसकी समीज को उठाते हुए दोनों चूचियों को कैद से आजाद कर दिया.

लंड की मिट्टी चूचों की रगड़ से साफ़ हो चुकी थी तो मैंने तुरंत अपना लंड निकाल कर उसके मुँह में पेल दिया और वो अपने हाथ से उसे तेज हिलाने लगी.

जब आंटी से ब्रा का हुक नहीं लगा तो आंटी ने मुझे आवाज़ दी और मैं दो पल रुक कर आंटी के पास चला गया. मैं उसे मॉल लेकर गया उस वक्त वो मांग में सिंदूर और गले में मंगलसूत्र पहने थी. छत्तीसगढ़ी फिल्म सेक्सीमैं उसके रूम में जाने के लिए सेकेंड फ्लोर पर गई तो उसके कमरे में से म्यूजिक बजने की आवाज आ रही थी.

मेरी चुत जब नंगी हुई तो वह अपने हाथ से मेरी चुत पर उगी घनी घनी झांटों को सहलाने लगा. लम्बी चुदाई के बाद जब जय मेरी चुत में झड़ गया तो मैं भी उसके साथ ही साथ चौथी बार झड़ गई. एक दिन जानबूझ कर मैंने चायनीज फिल्म लाकर दे दी, जिसमें नंगा करके चोदना छोड़कर सभी कुछ दिखाते हैं.

चुदाई की मस्ती में मैं यह भी भूल गई थी कि सलमा और एक अजनबी आदमी ऊपर की बर्थ पर लेटे हैं. वो सिसकारियाँ भरने लगी, उसने मेरे मुँह को पकड़ कर अपनी चुत में दबा दिया.

फिर चाय पानी पीकर मम्मी की बुआ का हाल चाल जान कर मम्मी बोलीं- बुआ मैं पैदल चलकर आई हूँ, जिससे मेरी तबीयत खराब हो गई है.

मैंने उन्हें देख कर कहा- जीजू, आप यहाँ मेरे घर की छत पर कैसे आये?तो उन्होंने बताया कि उन्होंने मेरे घर की बिल्डिंग ओर उनके घर की बिल्डिंग के बीच में लकड़ी के दो फट्टों को लगा दिया है जिससे एक ब्रिज बन गया. तो वो हंसने लगी और बोली- मैं तुम्हारे उम्र की तो नहीं हूँ तो मैं तुम्हारी फ्रेंड कैसे हो गई?मैंने कहा- आप मुझसे इतनी अच्छी बातें करती हैं, कुछ प्राब्लम हो तो सलाह भे ले लेती हैं. वो पेशाब करने लगी, मेरे लंड में जब गरम पानी का आभास हुआ तो बहुत मज़ा आया.

गूगल तुम कैसी दिखती हो जहां तक मुझे याद है सबके 7 और 8″ के ही लंड थे और सब बस मजा ले रहे थे. मेरी पिछली कहानीजीजू ने आधी रात में छत पर चोदामें अपने पढ़ा कि मेरे पड़ोस में मेरी मुंह बोली बहन है, उसके पति मेरे जीजू हुए, मुझे जीजू से चुदाई करवाने में मजा आता है, एक रात बारिश हो रही थी और जीजू ने मुझे छत पर बुला कर चोदा.

जरा दिखा तो वो क्या है?” ये कहते हुए वो मेरे पास आ गईंमैंने वो चीज निकाल कर मम्मी को दिखाई तो मम्मी उसे देखते ही चौंक गईं और बोलीं- बेटा, ये तुझे कहां से मिली है?मैंने बताया कि मम्मी यह तो अपने तूड़ी वाले छप्पर के पास पड़ी थी. पिंकी ने रेखा को उस तरफ देखते हुए देखा तो वो भी मुड़ कर देखने लगी और फिर मुस्कुरा कर रेखा से बोली- क्यों रेखा? क्या देख रही हो?कुछ नहीं. आज पहली बार इरफान के अलावा किसी और का लंड मेरी चुत की सैर करने जा रहा था, वो भी मेरे चाचा ससुर का.

औरत और कुत्ता की बीएफ

ठीक है पापा जी, पहले मॉल में चलेंगे मुझे शॉपिंग करवा देना, आप फिर वहीं पर किसी अच्छे रेस्तरां में डिनर भी करवा देना. अब मनोज का लंड नेहा की चूत में घुस चुका था और इधर मैं नेहा की गांड मार रहा था. मैंने देखा कि चूत का दरवाजा काफी खुला हुआ था, उसमें से सफेद सफेद गाढ़ा पदार्थ रिस रहा था.

अब मेरा माल निकलने वाला था कि महसूस किया कि ममता की ज्वालामुखी से लावा निकल कर मेरे जाँघों पर फैल गया. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:जीजू की चचेरी बहन की बुर चोदन की कहानी-2.

उसने मम्मी को घोड़ी बना कर खुद घोड़े की तरह मम्मी के पीछे आ गया और अपने मोटे सुपारे को चूत के छेद पर रख कर धक्का मारा कि मम्मी का मुँह तो जमीन पर टिक गया.

दीदी हंसने लगीं तो मैं दीदी के पास गया और दीदी की पैन्टी उतारने लगा. फिर वो नीचे सरकी और मेरा लंड पकड़ कर बोली- अब ये मेरी गरम चूत में जाएगा…वो धीरे धीरे मेरे लंड पर बैठने लगी. मैं तो डर गई और पीछे पलट कर देखी तो एक अच्छा हट्टा कट्टा आदमी था, जो मेरी चूत को चूस रहा था.

उसके बाद निशा ने अपने कपड़े पहने और मुझसे बोली- दीदी, अब तुम सारा दिन जय से चुदाई का मजा लो. अब मैं भी झड़ने वाला था, मैंने कविता की तरफ देखा तो उसने मुझे झड़ने का इशारा कर दिया और मैं खुशी की चुत में ही झड़ गया. अब मैंने 2 उंगलियां डाल दीं और चुत में फिंगरिंग की स्पीड भी बढ़ा दी.

मम्मी के मुंह से तेजी से कामोत्तेजक आवाजें निकलने लगीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ससुर जी ने उनके कड़क निप्पल को अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगे.

कानपुर के बीएफ: तो वो जाग गई और कहने लगी- क्या कर रहा है?तो मैं उसे बताने लगा- तुम्हारी शर्ट ऊपर हो गई थी और तुम्हारी छाती दिख रही थी।पहले तो वो शरमाई. सलमा को चोदने में वह अजनबी झड़ा नहीं था इसलिए वह शिशिर की गांड में झड़ने को बेकरार था.

इधर उस्मान अपनी गांड उछाल उछाल कर माया को चोद रहा था, लेकिन वो जानता था कि उसे क्या करना है. अब मैंने और जीजू ने 69 पोजीशन बनाई, वो मेरी चूत को चाट रहे थे और मैं उनके लंड को चूस रही थी. मैंने करीब जा कर देखा तो भाभी छत के किनारे जा कर किसी से बात कर रही थीं.

30 पर फोन आया, वो मुझसे बोली- मैं मेरा पता भेज रही हूँ, जल्दी घर चले आओ.

”ये सुन कर मैं चौंका- क्या तुमने अपने शौहर को ये सब बताया?हां उसको सब मालूम है. कमरे में अँधेरा था तो मैंने मोबाइल की लाइट को जला कर देखा तो वहां सभी मेरे ननिहाल से आये लोग सोये हुए थे. दोस्तो, आप जानते ही हैं कि जब हम सेकंड टाइम चुदाई करते हैं तो जल्दी झड़ते नहीं, यही मेरे साथ भी हुआ.