भोजपुरी सेक्सी बीएफ भेजो

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी चित्र

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी 100 वर्ष: भोजपुरी सेक्सी बीएफ भेजो, बस मैं ऐसे ही उसी को सोचते सोचते उसको चोदने का ख्वाब मन में लिए कब सो गया, पता ही नहीं चला.

कामसूत्र पोर्न वीडियो

फ्रेंड्स, मैं आज आपको अपनी रिश्ते में बुआ लगने वाली महिला के साथ अपने सेक्स की कहानी सुना रहा हूँ. औरत के साथ मेंमैं किस कर रहा था … मुझे उसके रसीले होंठ चूसने में बहुत मज़ा आ रहा था.

कुछ ही देर में चाची पूरी गर्म हो चुकी थीं और मेरे लौड़े को सहलाने लगी थीं. आदिवासी सेक्सी बीएफआप सब को मेरी यह वर्जिन गर्लफ्रेंड लव स्टोरी कैसी लगी प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं.

हम तब तक एक दूसरे के होंठ चूसते रहे जब तक कि मेरे होंठों में जलन नहीं होने लग गई.भोजपुरी सेक्सी बीएफ भेजो: दोस्तो, मैं गुड़गांव में रहता हूँ और मेरी विधवा बबली बुआ मानेसर में रहती हैं.

मैं रो पड़ी और बोली- रोहित तुम मेरी चूत चोद लो, जितनी देर पेलोगे, मैं कुछ नहीं बोलूँगी.मैं घबरा कर रोने लगी और दौड़ कर अपनी अम्मी के पास गई और उनको सारा वाकया बताया.

सेक्सी वीडियो बीएफ बीएफ एचडी - भोजपुरी सेक्सी बीएफ भेजो

अब मैंने उसकी चूत पर थोड़ा सा थूक लगाया और एक ही झटके में लंड उसके अन्दर उतार दिया.कुछ देर बाद उसके जाने का समय हो गया था और खुली जगह चुदाई के उतनी सेफ नहीं होती इसलिए हम दोनों वापस घर आ गए.

सच में क्या मलाई सी चूत थी उनकी … एकदम कच्ची कली की तरह, गुलाबी रंगत वाली चूत थी और चूत के ऊपर छोटे छोटे काले बाल उनकी शोभा बढ़ा रहे थे. भोजपुरी सेक्सी बीएफ भेजो उसने मेरे दूध पीने शुरू कर दिए और अपने लंड को मेरी चूत के ऊपर रगड़ने लगा.

मैं अभी अफसोस मना ही रहा था कि तीन आते ही मेरी गोटी मेरे पाले में वापस चली आयी.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ भेजो?

उधर केबिन बने थे, जिधर हम दोनों एकांत में बैठ कर कुछ अलग कर सकते थे. हमारे बीच बातें साफ़ होने लगी थीं और जवानी की तपिश हम दोनों को ही जलाने लगी थी. मैंने उनकी दोनों टांगों को फैलाया और उनकी चूत की फांकों को खोलने लगा.

फिर एक दिन वह मेरे घर आई और मेरे कमरे में आकर मुझसे माफी मांगने लगी. अब मैं उसके सामने खड़े होकर उसके दूध दबा रहा था और हम दोनों पागलों की तरह एक दूसरे की ओर देख रहे थे. अब शेखर की स्पीड तेज होने लगी और उत्तेजना के मारे मेरे हाथ भी शेखर के चारों तरफ कसने लगे.

थक कर मैंने उनको रुकने को कहा और अपने हाथ से उनका लण्ड पकड़ कर खुद ही चूसने लगी. एक जगह 9:30 बजे जाना था, उधर गया और वहीं से 10:30 बजे का काम निपटाया. कुछ दस मिनट तक शॉट मारने के बाद मैं झड़ने को हो गया और लंड बुर से निकाल कर उसके पेट के ऊपर ही अपना वीर्य गिरा दिया.

सबसे महत्त्वपूर्ण काम है मेहमानों के लिए खाना बनाना!उसी के लिए हमने घर में दो खाना बनाने वाली को भी रखा था जो हमारे घर में करीब 15 दिन तक रहने वाली थी।एक औरत का नाम सुधा था जबकि दूसरे का नाम रम्भा था।सुधा की लंबाई मुझसे थोड़ी सी कम थी यानि वह करीब 5 फुट 4 इंच की होगी. तापोश ने नीना को गेस्ट हाउस में बुलाकर कहा- तुम अभी मुझे रवि की गांड मारते देख सकती हो.

अब मैंने मॉम को उल्टा लिटा दिया और उनकी फूली हुई गोल गांड को देखने लगा.

आंटी की सिसकारी निकली और उन्होंने कहा- ओह निखिल, तेरे अंकल के बाद आज पहली बार किसी ने मेरे बूब्स पकड़े हैं.

तब मैंने देखा कि आंटी थोड़ी भीगी हुई थी मानो तुरंत बाथरूम से निकली हों नहा कर!जो कपड़े वे फैला रही थी, वे बहुत गीले थे इसलिए कपड़ों का सारा पानी उनके बदन पर और साड़ी में गिरा हुआ था. पर मैं इस बार नहीं रुका और धक्के लगाता रहाथोड़ी देर बाद चाची भी अपनी गांड को पीछे धकेल धकेल कर लंड को चूत में अन्दर तक लेने लगीं. उसका नाम शुभी है, एकदम गदराया बदन है उसका … और उसके गदराये बदन पर उसकी बड़ी बड़ी 34″ की खरबूजे की तरह की चूचियां बड़ी कमाल लगती हैं.

साक्षी की चूचियां भर गयी थीं और उसके भरे हुए आमों से दूध की सुगंध आ रही थी. माधुरी ने मेरे पास आ कर मुझे गले लगा कर कहा- अरे मेरे राजा, अभी नहीं कहा है, पर बाद मैं तो दूंगी ही न. वैसे मैं आपको बता दूँ कि हिना ने ही हमारी सैटिंग करवाई थी और मेरी पहली चुदाई समीर के साथ हिना के घर पर ही हुई थी.

उन्होंने मुझे आगे बताया कि तुम्हारी सुहागरात मनाने की इच्छा सुनकर मैं बहुत खुश हूँ और तुम्हारे लिए सुहागरात की सुहागी स्पेशल ऑडर पर तुम्हारे नाप की बनवाई है और ये तुम्हारी पसंद की ही है.

मैंने पीठ के बल लेटकर अपने पांव छाती की तरफ करके अपने घुटने पकड़ लिए. माधुरी अपनी ही धुन में बताती जा रही थी- फिर मैं उठ कर बाथरूम में आ जाती हूँ और उंगली से अपने आपको शांत कर लेती हूँ. वो भी मुझे यूं अनायास आया हुआ देख कर शर्मा गई और अपने आपको ढकने लगी.

मैंने चेहरा उठाकर आईने में देखा तो मानो जन्नत की हूर धरती पर उतर आई थी. मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि जिसके लिए मैंने सब कुछ किया, वो आज मेरी बांहों में समाई हुई है. उम्र कम होने के कारण मुझे सेक्स के बारे मैं कुछ भी नहीं पता था लेकिन मेरा रिश्ता पक्का होने पर मेरी शादीशुदा सहेलियों ने मुझसे अश्लील मजाक करना शुरू कर दिया था.

मैंने कहा- चाची, क्या आप मेरे साथ एक बार सेक्स नहीं कर सकतीं?इस बार उन्होंने कहा- नहीं, मगर कोई बात नहीं तुमने अपने मन की बात कह दी.

उन्होंने सामान्य व्यवहार करते हुए मुझसे‌ कहा- बेटा, अब हम लोग पहुंचने वाले हैं अपना सब सामान देख लो. इसी डर से मैं ऑफिस के बाहर आया, तो सामने से उसी वक़्त माधुरी भी झाड़ू लगाने बाहर निकली.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ भेजो गलत तरीके से मतलब सभी कोनों में अपनी गोटियां फैला देना और इंतजार करना!ऐसी तरह खेलते हुए हमें दस मिनट बीत गए. मेरी नुकीली जीभ कोमल की मादक चूत की जितनी गहराई तक जा सकती थी, मैं उतने अन्दर तक जीभ को पेल रहा था.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ भेजो पानी निकलने के बाद होश आया कि ये मैंने क्या किया, एक कुंवारी लड़की प्रेग्नेंट हो सकती है. अब हमें जब भी सेक्स की इच्छा होती है, तो सही मौका देखकर सेक्स कर लेते हैं.

उसने भी मुझे कस पकड़ लिया और उसके नाखून मेरे शरीर में घुस कर मुझे और उत्तेजित करने लगे.

भाभी व्हिडिओ सेक्सी

बातों बातों में मैंने उसकी कमर के पीछे से हाथ फिराया, तो उसके बदन में सिहरन दौड़ गई और वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुराने लगी. भैया के लंड का सुपारा एकदम गुलाबी था और उस पर गीलेपन की चमक आ गई थी. कुछ देर ऐसे ही धक्के मारने के बाद मैंने चूमते हुए उससे पूछा- दर्द हो रहा है?उसने न में सर हिलाते हुए जवाब दिया.

पहले तो जलालुद्दीन साहब ने मेरे थूक को मेरे मम्मों पर रगड़ दिया और फिर उन्हीं मम्मों को चाट चाट कर मेरे थूक का स्वाद लेने लगे. मैंने उससे पूछा- क्या मैं अन्दर आ सकता हूं?उसने कोई जवाब नहीं दिया क्योंकि वह पूरी तरह से मदहोशी में थी, शायद झड़ चुकी थी. मैंने धीरे से अपना लंड उसकी चूत में सरका दिया, गीली चूत में लंड का सुपारा आसानी से घुस गया.

सामने रखे सोफे पर मैं बैठ गया और बुआ मेरी तरफ अपना मुँह करके लंड पर बैठ गईं.

जब पुलकित ने ये कहा कि तुम लड़कियां तो हो ही गांड में लंड लेने के लिए, तो ये बात मेरी झांट में आग लगा गयी. फिर मैंने उससे कहा- मैं तुम्हें एक अच्छी चीज दिखाता हूं, आंखें बंद करो. मेरी बीवी भी उस पर बहुत विश्वास करने लगी थी और उसे घर का सदस्य ही मानती थी.

उस समय अन्दर से मेरी पूरी फ़ट रही थी मगर खोपड़ी पर सेक्स का भूत भी सवार था. काफी देर तक मेरी चूत को फाड़ने के बाद उन्होंने मुझे मेरे ही पैरों को पकड़ा दिया जिससे उन्हें मेरी गांड मारने में आसानी हो जाए. Xxx स्टेप मॉम सेक्स कहानी में पढ़ें कि अपने पापा की दूसरी जवान बीवी को चोदना चाहता था.

थोड़ी देर में अम्मी अब्बू आ गए और मैं भी दोस्तों से साथ खेलने चला गया. ‘अब क्या करोगे पढ़ाई के बाद?’जॉब आदि के बारे में बात करते ‌करते मीना को नींद आने लगी और वो मेरी तरफ अपनी गांड करके सोने‌ लगीं.

मैं सोच रहा था कि मेरी बीवी अपनी भतीजी को पता नहीं कैसे सफाई पेश कर रही होगी. उन्होंने अपनी जेब से दो नीली गोलियां निकाली और दूध के साथ निगल लीं. उन्हें एक कॉलेज में दाखिला मिल गया था और अब उन्हें किराए पर एक कमरा चाहिए था.

नीना- मेरे लिए यह नया अनुभव था, पर सच बात यह है कि मैं हिल नहीं पा रही थी.

कुछ देर बाद मैं महसूस कर सकता था कि उसका बायां हाथ मेरे लंड की तरफ बढ़ रहा है. करीब बीस मिनट तक बहन की चूत चोदने के बाद मेरा पानी निकलने वाला हो गया था. थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाला और उसके मुँह में डाल दिया.

पर यह भी विचार आया कि यदि सच में जरूरतमंद हुआ तो?इतनी रात को कहां जाकर मदद लेगा. अभी हमारी ये बातें हो ही रही थी कि सोनी के मोबाइल पर किसी का फ़ोन आया.

क्या कोमल मेरे साथ सात जन्मों का साथ देने को तैयार हो?आज से मेरा सब कुछ तुम्हारा. थोड़ी देर में मुझे बहुत अच्छा लगने लगा तो अपने दूसरे नीम्बू को मैं भी सहलाने लगी और अपने निप्पल घुमाने लगी. मैं उनके ऊपर आया लेकिन आंटी ने गले से लगाए रखा, उनके पैर अब मेरी कमर पर बंध चुके थे.

हिंदी में सेक्स वीडियो हिंदी में सेक्सी

ये सुनकर अमित ने कहा- हां यार प्लीज और ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे.

मेरी बहन और पापा दिल्ली में रहते हैं, मेरा बड़ा भाई पंजाब में जॉब करता है।घर में मैं और मेरी मॉम रहती हैं. मेरे पास आकर बैठा और मेरे पैरों पर हाथ फिराने लगा,फिर उसने मुझे पकड़ा और मेरे होंठों पर किस करने लगा. मैंने सोचा कि जब इसका कुछ हो जाएगा, तो इसको देख कर अपना भी कुछ हो जाएगा.

मैंने एक जोर का झटका दिया और मेरा करीब आधा लंड चूत को चीरता हुआ अन्दर चला गया. बीवी बोली- जी, शर्मिंदा तो मैं भी हुई थी लेकिन उसे मैंने समझाने की कोशिश की है. बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदीमेरी गुच्छी के ऊपर कुछ बाल उग आये थे, जलालुद्दीन आलिम ने उन बालों पर हाथ फिराया और बोले- हरामजादा जिन्न बालों में छुपना चाहता है.

वहां उनकी एक गर्लफ्रेंड आई हुई थी या यूं कहें कि वो वहीं की थी, तो बेहतर रहेगा. मैंने देखा कि अंजलि ने अपने कपड़े नहीं पहने थे, वो अभी भी सिर्फ पैंटी में ही थी।वो अपने कपड़ों से अपने बदन को छुपा रही थी.

सर्दी की वजह से मैं उनके बग़ल में बैठा था और थोड़ी ज़्यादा सर्दी लगने का नाटक करने लगा. चाची ने मेरे लंड को हाथ लगाया और कहा- दिखा अपना लंड … मुझे अभी देखना है तेरा लंड. मैं समझ गया कि हॉट भाभी वांट सेक्स!परन्तु हम दोनों अलग अलग शहर से थे तो हमारा मिलना नहीं हो पा रहा था।आपको मैं बता देता हूँ कि अंजलि को मैंने अभी तक देखा नहीं था, सिर्फ हैंगआउट पर ही बात होती थी।मेरा एक दोस्त है जिसका नाम राजवीर है।उसका मुझे एक दिन कॉल आया, उसने बताया कि उसको कपंनी के काम से बाहर किसी हिलस्टेशन जाना है.

कुछ ही देर में कविता ने फिर से अपना हाथ लंड पर लगाया और इस बार उसने अपने हाथों से लंड को हल्के से थाम लिया. मामी बोली- तुझे छत पर टहलने की सूझ रही है और इधर हम दोनों अपने रहने को लेकर परेशान हो रही हैं. मैं रात में नंगा लेटकर अन्तर्वासना पर रिश्तों में चुदाई पर चाची की चुदाई की कहानी पढ़ रहा था.

वो पूरी ताकत से धक्के मारते थे और मेरे बदन के सारे पुर्जे हिला डालते थे.

कमाल की बात ये थी कि मेरी मामी और दोस्त की चाची दोनों पक्की सहेलियां थीं और वो दोनों बी. मैंने बोला- अगर नहीं मानी तो?तब वह बोला- तब भी वह किसी से कुछ नहीं कहेंगी.

‘आह बेबी मत करो … मैं मर जाऊंगी …’मगर न तो मुझे रुकना था और न ही कोमल को इस जंग से अपने कदम पीछे खींचने थे. उसने मुझे सैनेटाइजर दिया और पूछा कि वॅक्सिनेशन हुआ है आपका?मैंने हां कहा. मैंने कोमल की टांगें फैला दीं और अपने लंड को उसकी फुद्दी पर रख दिया.

मैंने कहा- मनीषा डार्लिंग, मेरी जान, मेरी गुले गुलजार मैं तुम्हें जमकर चोदूंगा, मेरा लंड जब अपनी रफ्तार पकड़ेगा, तो तुम्हारी नाभि के भी परखच्चे उड़ा देगा. मैंने बबली बुआ से कहा- एक रास्ता है … अगर आप अपनी सहेली रश्मि भाभी से बात करो तो काम बन सकता है. वो मेरा आधा लौड़ा ही लेकर चूस पा रही थी बस!फिर मैं उसकी चूत के पास अपना मुंह ले आया और उसकी चूत में फिर से उंगली डाल दी जो अब तक बहुत ज्यादा गीली हो चुकी थी।मैं उसकी चूत में जीभ घुसेड़ कर चाटने लगा.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ भेजो जैसे ही वो मुझे रंग लगाने के लिए मेरे पास आया तो उसकी खुशबू से मैं उसकी तरफ आकर्षित हो गयी. भले ही इस राजस्थान सेक्स फ्रेंड की कहानी में रोचकता या सेक्स कम मिला होगा परंतु ये एक सैनिक और एक टीचर की सच्ची सेक्स कहानी है.

इंडिया वीएस पाकिस्तान

वो दोनों एक दूसरे के कान में कुछ कह रही थीं, पता नहीं क्या … पर बात तो थी. तो आलिम साहब ने बड़े ही प्यार से एक पान मेरे मुंह में डाल दिया और बोले- आज तो हम अपनी बेगम के मुंह से पान खाएंगे. और मर्दों का तो यह है साहब कि अगर उनसे ज्यादा ढील दे दी तो इधर उधर मुंह मारने लगते हैं।”उस दिन उसकी बातें मुझे बहुत अजीब लग रही थी.

अब प्रिंस ने उसकी कुर्ती को उसके गले तक उठा दिया और उसकी चूचियों से खेलने लगा. तो उन्होंने बताया कि वो इंदौर में ही रहती है।फिर मुझे लगा कि शायद कोई मेरे साथ ऐसा मज़ाक कर रहा है. ट्रिपल एक्स बीएफ ब्लु फिल्मवह दिन में अपने घर में रहती पर रात में पड़ोसी फौजी के घर में सोने जाती थी.

मैंने चाची की एक नहीं सुनी और अपना पूरा का पूरा लंड उनकी चूत के अन्दर तक डाल दिया.

तो मोहित ने कहा- बहनचोद, मुझे क्या तेरी तरह रोज गांड मरवाने की आदत है. हम दोनों में बहुत सारी बातें होने लगीं, पता ही नहीं चला कि कब मुझे उससे प्यार हो गया और हम दोनों रिलेशनशिप में आ गए.

अब उनसे बर्दाश्त नहीं हुआ … उन्होंने कहा- अब अपनेघोड़े जैसा लंडमेरी चूत में घुसा दो और मुझे चोद चोद कर अपनी रानी बना लो।फिर मैंने आंटी को पीठ के बल लेटाकर उनकी टांगों को फैला दिया।अब अपना लंड उनकी चूत पर रगड़ के जोर के धक्के के साथ पूरा का पूरा अंदर कर दिया।वे ‘आआहह … आहह … उहह … हाय मैं मर गई!’ ऐसे जोर जोर से चिल्लाने लगी. मैं बिल्कुल शांत होकर ऐसे नाटक कर रहा था, जैसे कि गहरी नींद में सो गया हूँ. मैंने कहा कि ठीक है, लेकिन कितने बजे आना है … और तुम्हारी नयी शॉप मुझे नहीं पता है.

कोमल को ब्लैक कलर की ब्रा और पैंटी में देखकर मेरा लंड घोड़े के जैसा खड़ा हो गया था.

इतने में मेस का टाइम हो गया तो मैंने सोचा क्यों ना आज ब्रा पैंटी पहन कर ही चला जाए. कई बार उसने मेरे पैरों की मालिश भी की क्योंकि मेरे घुटनों में दर्द रहता था. जब मेरी बात खत्म हुई, तो मैंने उससे कहा- ये मेरी दिली ख्वाईश है माधुरी, जो मैंने तुमसे साफ़ साफ़ कह दी है.

ब्लू पिक्चर प्लेअब मुझे भी कुछ चाहिए था, इसलिए मैंने माधुरी से कहा- चलो न 69 करते हैं. कोई हिजड़ा कहता- तुम्हारे बड़े बड़े मम्मे और कंटीली कमरिया देखकर तो हम छक्कों के ईमान भी डोल जाते हैं.

சினேகா xxx

माधुरी अपनी ही धुन में बताती जा रही थी- फिर मैं उठ कर बाथरूम में आ जाती हूँ और उंगली से अपने आपको शांत कर लेती हूँ. मम्मी- कोई बात नहीं, पर ये किसी को बताना मत!मैं समझ गया कि मम्मी को मेरे लंड से गांड घिसवाने में मजा आता है. अब हम दोनों एक दूसरे के बहुत करीब आ गए थे और एक दूसरे के जिस्म कि गर्मी महसूस कर सकते थे.

आज उसकी पहली बार चुदाई होने वाली है; वर्जिन मेड सेक्स का मजा मुझे मिलने वाला है. उन्होंने एक एक करके मेरे पैर की सारी उँगलियाँ चूस डालीं और मेरे तलवों को किसी कुत्ते की तरह चाटते हुए ऊपर की तरफ आने लगे. फिर उन्होंने मुझसे कहा- अब तो हो गया ना विश्वास? या अभी भी कुछ सबूत दूँ?मैंने हंसते हुए कहा- नहीं भाभी, अब तो विश्वास हो गया.

कोई गलत कर दिया क्या?चाची- मुझे क्या … मगर नशा करना अच्छी बात नहीं होती है. अब मुझे भी कुछ चाहिए था, इसलिए मैंने माधुरी से कहा- चलो न 69 करते हैं. मेरी बुरी तरह फट चुकी गांड अभी भी दुःख रही थी लेकिन गांड के अंदर बाहर हो रहे लण्ड का अहसास इस दर्द को काफी हद तक कम कर रहा था.

उसके बाद जब सब सो जाते तो पापा मुझे कभी छत पर तो कभी किचन में चोदने लगे।जब मैं अपनी ससुराल आई तो कुछ दिन बाद मेरा महीना नहीं आया।मैंने अपनी सास को बताया तो वो बहुत खुश हुई और मुझे गले लगाकर बोली- बहू खुशखबरी है।घर मैं सब बहुत खुश थे. अब मैं उसके सामने खड़े होकर उसके दूध दबा रहा था और हम दोनों पागलों की तरह एक दूसरे की ओर देख रहे थे.

अब हम दोनों ने पास में एक होटल में रूम बुक किया और होटल के वेटर को खाना लाने का बोल दिया.

आंटी की सास आठ दिन बीमार रहीं और मैंने और आंटी ने उन आठों दिन आंटी चुदाई की. सेक्सी बीएफ दो हिंदी मेंमैंने कहा- कहां … यहां?उसने कहा- हां यहीं, क्यों तुम्हें कोई ऐतराज है?मैंने कहा कि नहीं, कोई देख लेगा तो?माधुरी ने कहा कि अभी इस वक़्त दोपहर को दुकान में कोई नहीं आता और मेरे पति दुकान का माल लेने मुंबई गए हैं तो वो नहीं आ सकते. बीपी पिक्चर ब्लू हिंदी मेंमैंने साक्षी से पूछा- दूध क्यों नहीं निकल रहा है?तो साक्षी हंस कर बोली- लगता है इस वाली चूची का दूध खत्म हो गया है. उसकी चूत में से ऐसी जबरदस्त खुशबू आ रही थी कि मेरा पागलपन और बढ़ गया था.

जब वो बाहर निकलती हैं तो सब लड़कों की पैंट में उनका लंड फूल कर तंबू बना देता है.

फिर मैंने उसको उठा कर दीवार से लगाया और पलट दिया, फिर उसकी साड़ी उठाई तो सामने उसकी काले रंग की पैंटी दिखाई दी. मैं सबको बड़े प्रेम से पढ़ाने लगी और उनकी हर तरह से हेल्प करने लगी।नतीजा यह हुआ कि कुछ लड़के और कुछ लड़कियां मेरे घर आने लगीं और मेरी हॉट टीचर कॉलेज सेक्स कहानी बनने लगी. दस मिनट तक चाची ने मेरा लंड अच्छे से चूसा और फिर खड़ी होकर अपने कपड़े उतार कर फिर से नंगी हो गईं.

जब मैं नई नई इस कॉलोनी में रहने आई थी तो वो सभी मुझ पर भी लाइन मारते थे. काफी दिनों के बाद हम मिलने वाले थे मैं काफी उत्तेजित था और गर्म भी हो रहा था. लेकिन वो भी एक सेक्सी और चालू औरत थी तो वो भी अपनी भरी हुई जवानी का दीदार करवाती और सबके लंड खड़े करवाती.

सेक्सी वॉल पिक्चर

मैंने देखा तो मेरे लंड ने शायद रात को माधुरी को सोचते सोचते अपना माल दुबारा भी निकाल दिया था. [emailprotected]हॉट सेक्सी भाभी न्यूड स्टोरी का अगला भाग:शादी में मिली भाभी ने दिया चरमसुख- 3. मैंने चाय की ट्रे कमरे के बाहर ही रखी और सोचा कि‌ लाओ कपड़े डालकर मशीन चला‌ देता हूं‌ … और फिर आराम से बैठकर मैं और आंटी चाय पियेंगे.

कुछ देर में मेरा दर्द कम हो गया तो जीजू ने एक बार फिर जोरदार धक्का मारा और अपना सारा लंड मेरी चूत में उतार दिया.

पैंटी अलग करते ही अमन ने मुझे कहा- वाह मेरी जान, तेरी चूत तो एकदम चिकनी है.

साथ ही उसने सुनहरे रंग का ब्लाउज पहना था जिसमें वह बहुत ही ज्यादा हॉट लग रही थी. तो मैंने रजाई में ही उसके ऊपर चढ़ कर अपना वजन अपने हाथों पर लिया और उसकी चूत में लंड लगा कर रगड़ देने लगा. ब्लू सेक्सी 2000हम लोग देर रात तक बातें करते और एक दूसरे को छूने और गुदगुदी करने का कोई मौका नहीं छोड़ते थे.

मेरे सामने अब मॉम सिर्फ एक लाल रंग की छोटी सी कच्छी में लेटी हुई थीं. बाहर बारिश रुकने का नाम नहीं ले रही थी और मेरे मन के अन्दर सेक्स का सूखापन मुझे आंटी के इस रूप पर मोहित किए जा रहा था. एक दिन चाची ने मुझसे कहा- सागर, मुझे बाईक से क्लिनिक पर छोड़ आ!चाची एक महिला डाक्टर के घर पर नर्स का काम किया करती थीं.

मैंने कहा- फटी हुई को क्या फटना!वो हंस दी और बोली- तेरे अंकल ने मेरे ऊपर चढ़ना छोड़ दिया है. आंटी हंसने लगीं और बोलीं- पता नहीं कब नींद लग गयी, कुछ अहसास ही नहीं हुआ.

मैंने कहा- मनीषा डार्लिंग, मेरी जान, मेरी गुले गुलजार मैं तुम्हें जमकर चोदूंगा, मेरा लंड जब अपनी रफ्तार पकड़ेगा, तो तुम्हारी नाभि के भी परखच्चे उड़ा देगा.

दोस्तो, मैं प्रियंका परिहार आप सभी का फ्री सेक्स स्टोरी डॉट कॉम में स्वागत करती हूँ. मैंने भी जीजू के बदन को चाटना शुरू कर दिया और उनको चाटते चाटते उनके लंड तक पहुँच गई. भाभी ने मुझे उठाया और लंड को हाथ में पकड़ कर बोली- आज मेरी चूत की आग शांत होगी … बहुत मोटा और लम्बा लंड मुझे चोदेगा.

सनी लियोन का सेक्सी बीएफ वीडियो मगर इस मौके से वो दोनों अंजान थे और दोनों ही एक दूसरे को बस सपने में मिल लिया करते थे. एक चालीस साल की अधेड़ उम्र की औरत से ऐसा कुछ सुनकर मेरा लंड फटने को होने लगा.

मेरी दोनों जांघें माधुरी की गांड से टकरा कर थप थप की आवाज पैदा कर रही थीं. फिर मैंने कहा- पानी पियोगी?चूंकि उन दिनों गर्मियों का मौसम था और मुझे उसके पास पानी की बोतल आदि कुछ दिखाई नहीं दे रही थी. उक्त कस्बे में ज्वाइन करने के बाद दो रातें मैंने लोकल के एक होटल में बिताई थीं.

सेक्सी फिल्म एचडी में चाहिए

मालिश के बाद मैं बेड से खड़ा हुआ और चाची को बेड पर ही कुतिया बना दिया. अब जीजू मेरी आपा के ऊपर उछलने लगे और मेरी आपा भी जीजू को अपनी बाहों में भर कर आहें भरने लगी. मैंने आंटी से कहा- पूनम कुतिया बनोगी?‘हां … कुतिया, घोड़ी जो कहो, वो बनेगी तेरी पूनम.

थोड़ी देर में मैंने अपना लंड उसकी मुँह में डाल दिया और चूसने को बोला. सोनी और रवि यदि तुम दोनों की सहमति हो तो मैं नौकरी छोड़कर यहां बसना चाहता हूँ.

अगले दो दिनों तक मुझे कोई दौरे नहीं पड़े तो मुझे लगने लगा कि अब मैं ठीक हो गई हूँ.

फचाक फचाक करके ना जाने कितनी पिचकारियां उसके लंड से निकलीं और मेरी चूत को उसने वीर्य का तालाब बना दिया. तभी उसने अपनी बाजू क्रॉस की और टॉप के निचले किनारों को पकड़ टॉप ऊपर को उठा दिया. फिर वो धीरे धीरे प्यार से चुदाई करता रहा, मुझे भी गांड मरवाने में, बॉटम सेक्स में मजा आने लगा.

तभी आंटी ने एकदम से मुझे उनके‌ दूध देखते हुए देखा और उन्होंने ये भी देखा कि बिना‌ ब्रा के उनके निप्पल ऊपर से ही दिख रहे हैं. पर डर था कि मेरा ऐसा करने से मैं कोमल भाभी को पाने का तो छोड़ो, देखने का मौका भी न खो दूँ. इतना सुनते ही वो एक पल रुक कर बोली- कितनी देर लगा दी, पहले नहीं कह सकते थे क्या? मैं भी तुमसे प्यार करती हूं.

मैंने आंटी की पैंटी के अन्दर जैसे ही हाथ डाला, तो झांटों का बहुत बड़ा जंगल था.

भोजपुरी सेक्सी बीएफ भेजो: उधर मैंने उसके होंठों पर किस किया और उससे कहा- तुझे सेक्स करना था तो इतने नखरे क्यों कर रही थी. फिर अचानक से भैया के होंठों ने मेरे निचले होंठ को अपने होंठों के बीच में ले लिया.

उसकी और मेरी जीभ का मिलन हो रहा था।मैं उसकी गांड को थोड़ा सा उठा के अपने लंड से उसकी चुदाई करने लगा।मेरी चुदाई से वो एकदम पगला गयी और मेरे होंठ पर काट लिया. बहुत सोचने के बाद हमने ये फैसला किया कि आज तो इन्हें छोड़ देते हैं मगर कल सब मेरे घर पर चुदाई का प्रोग्राम रखेंगे … और वहां इनके गांड की माँ चोदेंगे. इस समय मौका भी अच्छा है, तो तुम्हें भी पहली बार सेक्स का मजा मिल जाएगा.

मैंने उसके मुँह में अपनी जीभ ठेल दी और वो भी मेरी जीभ को चाटने चूसने लगी.

मेरी उम्र 28 साल है और अभी तक मैं बहुतेरी रंडियों व लौंडियों को पटा कर चोद चुका हूँ. उनके साथ मेरी मुलाकात एक साइट पर हुई थी जिसमें मैं लड़की बनकर लड़कों से चैट किया करती थी. तभी मॉम एकदम से नशे में बड़बड़ाती हुई बोलने लगीं- आह आह अम्मम ममम आह …मैं मॉम की हालत देखकर कर समझ गया कि मॉम पूरी तरह नशे में हैं और मॉम सुबह से पहले होश में आने वाली नहीं हैं.