बीएफ चुदाई वाली वीडियो हिंदी में

छवि स्रोत,सेक्सी करूंगा

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ मूव्ही: बीएफ चुदाई वाली वीडियो हिंदी में, महेश ने मुझसे कहा कि बर्थ डे उसके साथ मनाऊं और किसी तरह उसके साथ रुक जाऊं, वो उस दिन कुछ खास करना चाहता था.

संगीत बीपी सेक्सी

खैर मैंने ढेर सारा थूक उसकी बुर पर लगाया और उसके मम्मों के ऊपर लंड लाकर कहा- मेरे लंड को अपने थूक से भर दो. इंग्लिश ब्लू सेक्सी हिंदी मेंअब तक उसकी कामुकता अपने पूर्ण चरम पर आ चुकी थी, वो अपने कूल्हे उचका उचका कर अपनी चूत मेरे लंड पर रगड़ने की कोशिश कर रही थी.

अब दोनों भाइयों ने काजल को सोफे पर बीच में बिठाया और दोनों ने एक एक चूचियों को अपने हाथों से मसलना शुरू कर दिया. नेपाली सेक्सी स्कूलपुलकित ने पहले मंजरी को बेड पे बिठाया, उसके पाँव नीचे ही लटक रहे थे, फिर उसने मंजरी को लेटा दिया.

कुछ मिनट के बाद मेरा भी होने वाला था, मैंने उसे कहा- मेरा निकलने वाला है, बोल कहां निकालूं?वह- रुको, मेरे मुंह में झड़ो!और उसने मेरा पूरा कामरस चाट लिया और पलंग पर लेट गई.बीएफ चुदाई वाली वीडियो हिंदी में: हालांकि मैं गांव में ये सब करने नहीं गई थी, लेकिन मेरे वापस आने के पहले की बात है कि अंजू ने मुझसे कहा- दीदी, आज शाम को अपनी एक ड्रेस मुझे दे देना.

मैंने लेने से मना किया तो उसने कहा- आपने पैसों को लेने से मना किया था इसलिए विनोद और मैं आपको ऐसे धन्यवाद कहना चाहते हैं, प्लीज इसे मना मत कीजिएगा.उसके लगभग एक घन्टे बाद मैं उनके घर पहुँचा तो देखा वो अपने बाल सुखा रही थीं, शायद थोड़ी देर पहले ही वो नहाकर आई थीं.

हब्शियों की सेक्सी मूवी - बीएफ चुदाई वाली वीडियो हिंदी में

मेरे ऊपर जैसे कोई सुगन्धित रेशम का ढेर हो वैसी ही फीलिंग देता बहूरानी का नंगा जिस्म मुझसे लिपटा हुआ था.उन्हें चोट लग गई तो वे ज़ोर से दर्द की वजह से चिल्लाने लगीं कि आलम बेटा मुझे बहुत दर्द हो रहा है, मैं उठ कर खड़ी नहीं हो पा रही हूं, अन्दर आकर मेरी हेल्प करो.

पहले तो धीरे धीरे कर रहा था कि कुछ देर के बाद मेरे कंधों को पकड़ कर मुझे आगे झुका दिया और अब वो लंड को मेरी गांड में जल्दी जल्दी अन्दर बाहर करने लगा. बीएफ चुदाई वाली वीडियो हिंदी में मैंने अन्तर्वासना की बहुत सी रियल कहानी पढ़ी हैं मुझे इधर की चुदाई की कहानी पढ़ कर बहुत मजा भी आया.

प्यारा प्यारा सा…तो यह थीप्रेमिका की चूत चुदाई उसके घर में… मेरी चोदन कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करें[emailprotected].

बीएफ चुदाई वाली वीडियो हिंदी में?

मैं अक्सर ही लोगों की हेल्प करता रहता हूँ, मुझे लोगों की हेल्प करने में खुशी मिलती है. रास्ते में मैंने पूछा- भाभी, आपको क्या हुआ है, क्या तकलीफ है?भाभी ने बोला- कल रात से पेट के नीचे दर्द हो रहा है. मैंने प्रिया के निप्पल को मुंह से निकला और प्रिया के वक्ष से ज़रा सा परे उठ बैठा तो प्रिया को यह बिल्कुल भी पसंद नहीं आया और तत्काल प्रिया ने नाराज़गी की सिलवटों भरे माथे सहित मेरी और देखा.

सुमित ने अपने हाथ ऊपर बढ़ाना शुरू किया और अपनी गर्म सांसें और तेज़ माया के पेट पे छोड़ने लगा. फिर मैं धीरे धीरे अपने हाथ को उनकी चूचियों की तरफ़ बढ़ाने लगा और चुची तक आकर अपने हाथ को रोक दिया, फिर हिम्मत करके उनकी चूचियों को सहलाने लगा. जब अंकित को समझ आया कि माया क्या कर रही है, वो और उत्तेजित हो गया और माया की चुत को बेरहमी से अपने लंड से और गांड को अपनी उंगली से चोदने लगा.

संजय ने मेरे होंठों को चूसते और काटते हुए चार छह धक्कों के बाद अपने गरम लावा से मेरी चुत को भर दिया. मैं भाग कर गया तो देखा वहां पर एक छिपकली थी और चाची उसी को देख कर डर गई थीं. मैंने भी अपनी टाँगें उसकी कमर पे लपेटी और चूतड़ उठा उठा कर उसके हर धक्के का जवाब देने लगी.

” महेश्श्श्श… इईईई… श्श्श्शशश…” कहते हुए ममता जी ने मेरे बालों को जोर से पकड़ लिया, ममता जी को एक झटका सा लगा था जिससे उनका पूरा बदन थरथरा गया और एक मीठी सी सुबकी के साथ उनकी दोनों जाँघे मेरे सिर पर कस गयी।उफ्फ्फ्फ़… क्या गर्म चूत थी, मानो किसी आग की भट्टी पर ही मैंने अपने होंठ रख दिये हों. वैसे एक बात बता तू आजकल मेरे घर क्यों नहीं आता? और न ही मेरा फोन उठाता है.

अब तक आपने आश्रम से जुड़े रहस्यों के बारे में पूर्ण रूप से जान लिया।अब मैं प्रेरणा और छोटी… प्रेरणा के गांव वाले घर में हैं.

थोड़ी ही देर में भाभी को राहत महसूस होने लगी और वो अपनी कमर को उठाने लगीं.

अब मैंने अपनी बहू की की ब्रा का हुक खोल दिया; हुक खुलते ही ब्रा के स्ट्रेप्स स्प्रिंग की तरह उछल गये और मैंने ब्रा को उतार कर बर्थ पर डाल दिया और बहूरानी को अपने सीने से लगा लिया. प्रिया फ़ौरन मेरी मंशा समझ गयी और उसने मुस्कुराते हुए अपने कूल्हे जरा से ऊपर हवा में उठा दिए. मैंने उनकी साड़ी पेटीकोट को जैसे ही ऊपर किया तो देखा कि जैसे उन्होंने मुझसे चुदने की पहले से तैयारी कर रखी थी.

मैं- क्या? ऐसी बातें करते हैं? अच्छा तुम्हें क्या लगता है अंजू?अंजू- आपको देख कर नहीं लगता कि आप छोटे कपड़े पहनती होंगी क्योंकि मैंने आपके सारे कपड़े देखे हैं, वो तो ऐसे ही हैं. मैंने उसको पेट के बल लेटाया और बहुत मस्त तरीके से उसकी मोटी मुलायम गांड चोदी. मैं अपने होंठों पर जीभ फिराते हुए बोला- मेरी जान आज तो मैं तुम्हें थका कर ही दम लूँगा.

मैं घोड़ी बन गई। वो मेरी बैक पर आ गया। उसने अपने लण्ड को मेरी गाण्ड पर एड्जस्ट किया.

दो मिनट बाद मैंने देखा कि अब उसकी पकड़ मेरी पीठ पर ढीली हो रही है, इससे मैं समझ गया कि अब उसे दर्द नहीं हो रहा है. सुरेश अंकल बोले- राजेंद्र, अब दोनों तरफ से रगड़ना शुरू करते हैं! जम कर चोद, दस मिनट में सारा दर्द गायब हो जायेगा आरती का!और दोनों ने बिना परवाह किए लंड को मेरी चूत और गांड में अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. बाँए हाथ से मेरी खुली पीठ पर बांई तरफ कंधे के पास रखा और मुझे अपनी तरफ खींच कर अपने सीने से लगा लिया.

एक कसा सा हग और छोटी पप्पी मीना जी को देकर लहराता हुआ घर की ओर चल दिया. फिर मैं नीचे की ओर बढ़ने लगा और उनके पेटीकोट को सरकाता हुआ लोशन लगाने लगा. ” कहते हुए माया ने अंकित का लंड अपनी चुत पर सैट किया और धीरे धीरे नीचे होने लगी.

पहले उन्होंने मेरे लंड को हिलाया, फिर सुपारे को ऊपर नीचे करके लपक लपक चूसने लगीं.

दोनों पागलों जैसे उससे लिपटने लगे, जैसे चन्दन के पेड़ पर साँप रेंगते हैं. तभी कुछ आवाज हुई, किशोर ने पीछे देखा, मैंने किशोर को धक्का देकर साइड में हटा के देखा तो किशोर का ही एक मजदूर था, गमला हाथ में था, वह हमको देख रहा था, उसका लंड हमें देख खड़ा हो गया था, उसकी पेन्ट में तम्बू साफ दिख रहा था, उसकी उम्र लगभग 45 साल आसपास होगी.

बीएफ चुदाई वाली वीडियो हिंदी में उसने दिल्ली में ही एक होटल में रूम बुक कर लिया, जहाँ हम मिलने वाले थे. अपनी चूत पर मेरी जीभ का अहसास पाते ही वो बहुत उत्तेजित हो गई और उछल उछल कर चूत चटवाने लगी.

बीएफ चुदाई वाली वीडियो हिंदी में सॉरी यार, मैं कुछ लोगों को मेल का जबाव नहीं दे पाई क्योंकि बहुत सारे लोगों ने मुझे मेल किया था और सभी का रिप्लाई कर पाना थोड़ा कठिन होता है तो दोस्तो प्लीज़ इसके लिए माइंड मत किया कीजिए. पिंकी ने अपनी स्कर्ट पहनी और कहने लगी- सॉरी, वो मेरी गांड में कोई कीड़ा काट रहा था.

मीना इस बात पर जरा मुस्कुराईं और बोलीं- तो जनाब की शादी नहीं हुई है, लेकिन कोई तो होगी ना?मैंने कहा- नहीं जी, अभी नहीं है पहले थी.

हिंदी सेक्स बीएफ हिंदी सेक्स

भाभी मेरे पास आईं और मुस्कुराते हुए पूछा- ऐसे क्या देख रहे हो?मैंने झेंपते हुए कहा- कुछ नहीं. मैं चिल्ला उठी- ऊईईईई आहहह…मेरी चीख सुन कर अंकल और जोश में आकर जोर जोर से दोनों चूचे दबाने लगे और फिर अपने मुंह में भर लिया मेरे एक एक बूब को दोनों ने और बदल बदल कर जैसे चूसना शुरू किया, मैं पागल हो उठी ‘ओहहह आहहह…’ करने लगी, मेरे मुंह में भाभी के पापा का लंड था जिसे मैं चूस रही थी और वो मेरे बूब्स को मसलने और चूसने में लगे थे. इसलिए घर में उसके अन्दर आने पर मैं उसको देख कर ज्यादा हैरान नहीं हुआ.

कुछ देर बाद वो कमसिन जवानी उठी और बगल के खेत में अपना पेटीकोट उठा कर मूतने लगी. मेरे चेहरे की राहत देख कर संजय भी समझ गया कि कोई दिक्कत नहीं है और खुश होते हुए उसने मेरी चुत को जोरों से चोदना शुरू कर दिया. अब मैं पहले धीरे धीरे चुदाई कर रहा था, जिससे उनको दर्द भी कम हो और मजा भी आता रहे.

वो दिल्ली में बड़ी पुलिस अफसर थी पर विक्रांत को बहुत साल पहले से चाहती थी.

ये देख कर दीदी ने उन्हें फिर सजा का हुक्म देते हुए उन तीनों को घोड़ागाड़ी में जोत दिया और खुद गाड़ी की सीट पर बैठ गईं. मेरे ऐसा करते ही ममता अपनी आँखें खोलकर मुझे धक्का देने लगी, किन्तु मैंने उसे जोर से अपने से चिपका लिया और लंड को भाभी की चूत में अन्दर बाहर करने लगा. बहूरानी के मुंह से घुटी घुटी सी चीख और दर्द की कराहें निकलने लगीं- मर गयी रे, फट गयी मेरी तो… मार डाला आपने आज तो” बहूरानी ने आर्तनाद किया और मुझे परे धकेलने का प्रयास किया.

इसका मुख्य कारण ये है कि भिन्न भिन्न किस्म लंड उन्हें घर में ही मिल जाते हैं. वो दोनों एक दूसरे को चुंबन करने लगे, उसके बाद आनन्द अपना लिंग मोना की योनि के पास रगड़ने लगा. उसके बाद हमने कई बार एक दूसरे के मुँह पर सिगरेट का धुआं मारा और हँसते रहे। फिर उसने मेरी साड़ी का आँचल थोड़ा सा नीचे को खिसकाया, तो मेरे ब्लाउज़ में से मेरा क्लीवेज दिखने लगा। मैंने उसे और अच्छे से अपना क्लीवेज दिखाने के लिए अपना आँचल हटाना चाहा तो उसने रोक दिया- नहीं, तुम कुछ मत करो, जो भी करूंगा, मैं करूंगा.

मैं कुछ देर परेशान होती रही कि इसे कैसे पहनूं, तब तक स्वाति तैयार हो चुकी थी और वो मेरे पास आई और उसने कहा- मिनी पहनो भी, क्या इतनी देर लगा रही हो?तो मैंने भी कहा- ये कैसे पहनूं?स्वाति ने कहा- आज पहली बार इस तरह की ली है क्या?मैंने हां में सर हिलाया तो उसने कहा- अपने दोनों हाथ ऊपर करो. मेरी जीभ उसके मुख में खेल घूम रही थी और वो भी बीच बीच में अपनी जीभ मेरे मुंह में घुसा रही थी.

अभी मैं उन्हें ये सब समझा ही रहा था कि वो अचानक मेरे गले लग गईं और कहने लगीं कि अब मैं क्या करूँ, तुम ही बताओ?वो यह कहते हुए रोने लगीं. उधर नीचे भौजी ने अपनी साड़ी चोली और मेरे कपड़े बिछाते हुये कहा- जल्दी से मेरी चूत को चोदो, वरना झड़ जाऊँगी. सभी दोस्तों को रौनक का नमस्कार! यारो, मैं अन्तर्वासना की कहानियां कई सालों से हमेशा पढ़ता आया हूँ.

अब दोनों भाइयों ने काजल को सोफे पर बीच में बिठाया और दोनों ने एक एक चूचियों को अपने हाथों से मसलना शुरू कर दिया.

मोना ने कभी इतना लंबा किस मुझसे नहीं किया था पर आनन्द के साथ काफी खुली हुई थी ये सच था. स्वाति ने अपने सारे कपड़े निकाल दिए वो मेरे सामने केवल ब्रा और पैंटी में थी उसका फिगर 34-28-32 का रहा होगा. उम्र के हिसाब से काफ़ी बड़ा और लंबा था, उसके लण्ड पर अभी तक एक भी बाल नहीं था.

विक्रांत को भी समझ नहीं आ रहा था कि क्या कहा जाए और दूसरी तरफ ईशा को तो जैसे सदमा लग चुका था वो सपनों की दुनिया में चली गई. मैंने प्रिया का दायाँ निप्पल अपने मुंह में चुमलाते चुमलाते ज़रा अपने बायीं ओर करवट लेते हुए अपना दायें हाथ नीचे कर के अपने पजामे का नाड़ा खोल कर और पजामा घुटनों तक नीचे सरका कर प्री-कम से सराबोर अपना लिंग प्रिया के हाथ में थमा दिया.

बड़ी मुश्किल से वो अपने घर गई और अगले दिन वो बिस्तर से उठ ही नहीं पायी। यह बात मुझे शिवानी ने बताई थी. ईईई…”ममता जी बुदबाते हुए मुझे पकड़ने की कोशिश करने लगी मगर मैं थोड़ी सी जबरदस्ती करके उनकी रजाई में घुस गया और उनके मखमली नंगे बदन से चिपक गया…मेरे नंगे बदन का अपने नंगे बदन से स्पर्श होते ही ममता जी सिहर सी गयी… न. उस कहानी में आपने पढ़ा था कि कैसे मेरी साली की युवा बेटी हमारे साथ रहने आई और कैसे मेरे और उसके बीच सेक्स सम्बन्ध पल्लवित हुए!प्रिया के और मेरे उस रात के सपने जैसे प्रेमालाप के बाद हमें दोबारा कोई ऐसा मौका ही नहीं मिला और सच मानिये कि मैंने दोबारा ऐसी कोई कोशिश ही नहीं की.

बीएफ पिक्चर सेक्सी हिंदी मूवी

मैं आज तक मुठ मारते हुए लाखों पोर्न वीडियोज देख चुका था, मगर यह चूत उन वीडियोज में दिखाई गई चूतों से कहीं अलग थी.

वो हमें देख कर रुक गए तो हमने उन्हें कहा- तुम लगे रहो, हम जा रहे हैं!और हम बाहर आ गए. फिर मैंने पूछा- भाबी तौलिया कहाँ पर है?उधर से आवाज़ आई- शायद बेड पर पड़ा होगा. जैसे उसने अपना लंड मेरी गांड से निकाला, मैं अपने आप जमीन पे लुढ़क गयी.

कुछ ही देर में दीदी की सिसकारियाँ फिर शुरू हो गई और जो हाथ मेरे बालों को कस के खींच रहा था, उसने मेरे सर को सहलाना शुरू कर दिया था और दूसरे हाथ ने मेरे हाथ को पकड़ कर तेज़ी से चूत में आगे पीछे करना शुरू कर दिया था, दीदी फिर से मस्ती में आ चुकी थी. और जैसे ही मैं ट्रेन से उतरा तो मेरे मोबाइल पे कॉल आया, उठाया तो मस्त लड़की की आवाज़ थी. भोजपुरी सेक्सी पिक्चर नंगीसुरेश ने काजल की टांगों को फिर से फैलाया और उसकी चूत के छेद पर अपना लंड सैट करके धक्का लगाना चालू कर दिया.

मैं थोड़ी देर रुका, थोड़ी देर बाद वो भी गांड उछाल कर मेरा साथ देने लगीं और हम लोग सब भूल कर काफी देर तक चुदाई करते रहे. ”रोशनी बहुत गुस्से में अपने कपड़े पहन कर चली गई, फिर हम सब भी बाथरूम में अपने आपको अच्छे से क्लीन करके चले गए.

उन्होंने मुझे एक लेडी डॉक्टर का नाम बताया और कहा कि उन से बात करके देखो. मैंने एक बार फिर उसके पूरे जिस्म को मसल दिया और शावर के नीचे उसकी चूत लेने का सपना पूरा किया. तो मैंने भी भाभी की कसम की मजबूरीवश केवल 2000 रुपये ही लिए और 8000 उन्हें वापिस कर दिए.

एक दिन यूं ही हमारी सन्डे की छुट्टी थी तो पापा ने कहा- जाओ बेटा, तुम तीनों घूम आओ, उधर मेला लगा है थोड़ा एंजाय भी कर लोगे. मैं थोड़ा बदहवास सा हो चला था… मुझे प्रिया से ऐसी दीदा-दिलेरी की उम्मीद हरगिज़ ना थी. तब मुझ पर रहम नहीं किया, रहम करतीं तो ये अहसास कभी ना होता, दीदी दिल से थैंक्यू.

वैसे मोना भी कम नहीं लग रही थी, वह सफेद टॉप और काली स्कर्ट पहने हुई थी उस पर काले रंग के हाई हील के सैन्डिल उसको एक कातिलाना लुक दे रहे थे.

ऐसा बोल कर मैं कंडोम लेता हुए सैंडी के यहां गया, तो वो बोला- मेरा कूलर उनके घर ले जाओ, या नहीं तो हमारे यहां ही चुदाई कर लो, मुझे कोई तकलीफ नहीं है. जैसे-तैसे खुद को संभाला मैंने… दुनियावी तौर पर प्रिया पर मेरा किसी किस्म का कोई हक़ ही नहीं बनता था और सब से बड़ी बात यह थी कि मुझे अपना परिवार, अपनी बीवी जान से ज्यादा प्यारे थे.

मैंने अपना पानी उसकी चूचियों पर निकाल दिया, जिसे जोया अपनी जीभ से चाटने लगी. जब वो शांत हो गईं, तब मैंने फिर से घोड़ी बनाते हुए एक और झटका मारा. मैंने कहा- अभी शुरूआत भी नहीं हुई और तुम…फिर लंड को उसकी बुर पर जोर से दबा दिया और दोनों हाथों से उसकी कमर को मैंने पकड़ा हुआ था ताकि वो ऊपर ना खिसके.

पर मुझे तो उनके बदन पर हाथ लगाने का नशा हो गया था, मैं फिर उनसे चिपक कर उनके मम्मों पर हाथ लगाने लगा. ऐसी परिस्थतियों में मैं महिलाओं और लड़कियों के बीच काफी घुलमिल जाता रहा, जिससे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों की लड़कियों और महिलाओं को चोदने में सहजता होती है. वहां जाकर दरवाजा बंद करके जीजू ने मेरे होंठों को चूसना चालू कर दिया.

बीएफ चुदाई वाली वीडियो हिंदी में अब हमारा क्या होगा?सुदेश- चल अन्दर चलते हैं और साली को बोलते है कि तेरी सारी रासलीला देखी हमने. मुझे पता था कि मेरा लंड अन्दर जाने में उसे बहुत दर्द होगा क्योंकि मेरे लंड का आगे का हिस्सा थोड़ा ज़्यादा मोटा है.

बीएफ फिल्म वीडियो में हिंदी

मुझे उनकी आँखों में एक अलग ही चमक दिख रही थी, ऐसा लग रहा था जैसे वो किसी आग में जल रही हों और मुझसे उसको शांत करवाना चाहती हों. दिव्या- यार ये मोबाइल 20000 का होगा और ये सारी ड्रेस 15000 की होंगी, तू तो बहुत चालू निकली. मैं उनके बालों को पकड़ कर उनके सिर को आगे पीछे हिलाने लगा और चाची का मुख चोदन करने लगा.

एक 18 साल के गर्म लौंडे के सामने पूरी नंगी हो चुकी थी।वो- चाची जी आपने हाथों. लेकिन वास्तव में तो आज का दिन सफ़ेद पत्नी के मुंह में दो मोटे लंडों का दिन था!थोड़ा विश्राम कर चुकने के बाद दोनों मर्द अपने स्थान बदल चुके थे और जमैका ने मेरी पत्नी को अपने लंड पर गांड रखते हुए बैठा दिया. करते हुए सेक्सी फिल्मउसने होटल का नाम बताया और रूम नंबर बताया और कहा कि यहाँ जाकर 20 हजार रूपये ले आओ बस.

देखा आज तुम्हारा ढक्कन पति खुद तुमको मेरे पास चोदने के लिए छोड़ कर गया या नहीं!वो बोली- ये ठीक नहीं किया यार.

मैंने उसे कुतिया की तरह अपने हाथों और घुटनों पर खडी होने को कहा और मैं पीछे से उसकी बुर में लंड डालने की कोशिश करने लगा लेकिन मेरा लंड उसकी सील बंद बुर में नहीं घुसा और उसके मुंह से हल्की सी सिसकारी निकली।फिर मैंने कई बार कोशिश की लेकिन उसकी बुर कसी हुई थी. बड़ी मुश्किल से वो अपने घर गई और अगले दिन वो बिस्तर से उठ ही नहीं पायी। यह बात मुझे शिवानी ने बताई थी.

मैंने हल्की सी जबरदस्ती की तो ममता जी ने अपने हाथों को भी चुत पर से हटा लिया और अब ममता‌ जी की‌ नंगी चुत मेरे सामने थी. भाभी ने अपने पैरों को फैलाया और मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत पर रगड़ने लगीं. पुलकित ने पहले मंजरी को बेड पे बिठाया, उसके पाँव नीचे ही लटक रहे थे, फिर उसने मंजरी को लेटा दिया.

हम दोनों खाना खाने लगे और वो खाना खाते वक़्त मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछने लगी.

मुझे देखकर कुणाल ने परिचय कराया- ये है मेरा जिगरी दोस्त, बहुत सीधा सादा मानुष है. उसने वर्षा के छोटे से चुचे पूरे मुँह में ले लिए और इतना चूसा कि चुचे सूज कर लाल टमाटर हो गए. आह्ह्ह आह्ह्ह ओह्ह ओह्म्म…” मुझे, मैं स्वर्ग में हूँ” ऐसा आनन्द आ रहा था.

सेक्सी फिल्म भेजो सेक्सी सेक्सी भेजोमैं फिर से उन पर चढ़ते हुए बोला- रात का रात को देखेंगे, अभी मुझे सुबह का नाश्ता और दूध पीना है. मैंने देरी न करते हुए उसकी मस्त गुलाबी चूत को, जो पूरी बालों से घिरी हुई थी, उसको अपने मुँह में डाल ली और आराम से चूसने लगा.

नवरा बायको संभोग

यह देसी सेक्स कहानी है एक भाई बहन के बीच हुए वासना के उस आकर्षण की, जिसने प्रेम का रूप ले लिया. पुलकित तो वैसे ही बहुत गोरा चिट्टा था, तो उसे किसी मेकअप की ज़रूरत नहीं थी. बहूरानी को भी इस खेल में मजा आने लगा तो उसने अपनी पैंटी खुद ही उतार फेंकी और मेरे और नजदीक पैर खोल के बैठ गयी.

मैंने देखा कि टेबल पर शानदार खाना रखा है, जिसमें पूरी, सब्जी और काफ़ी पकवान व खीर… जो मेरी सबसे पसंद की चीज़ है. वो दिल्ली में बड़ी पुलिस अफसर थी पर विक्रांत को बहुत साल पहले से चाहती थी. जरा भी रहम नहीं आया आपको अपनी बहूरानी पर?”अच्छा, अब तू मुझे ही दोष दे रही है? रात को तू ही तो ‘लव यू… लव यू…’ बोल कर कह रही थी- कुचल डालो इसे… फाड़ के रख दो मेरी चूत आज… बहुत सताती है ये!इसका मतलब यह थोड़ी न के आप सच में ही रौंद डालो मेरी कोमल जगह को बेरहमी से; चाहे कोई जिये या मरे; आपकी बला से!”बहूरानी थोड़ा तुनक कर बोलीं लेकिन उनकी आँखें से शरारत झलक रही थी.

वो घुसेगा तो मेरी ही में है न?”अरे वो नहीं घुसेगा तेरी में; अभी तो सिर्फ एन्जॉय करेंगे अलग तरीके से!”अच्छा ठीक है, बताओ क्या करना है?” बहूरानी बोली. मैं बोली- क्या?वर्षा बोली- तुम कैसे अपनी गांड मरवा रही थीं, आराम से सोते हुए. मेरी नंगी छाती उनकी चूचियों की पिसाई कर रही थी तो मेरा उत्तेजित लंड ममता जी की दोनों जांघों के बीच अपनी असली जगह ढूंढ रहा था।ममता ने अपनी दोनों जांघों को‌ जोरो से भींच रखा था और मेरे लण्ड के स्पर्श से बचने के‌ लिये वो कसमसाते हुए मुझे हटाने की भी कोशिश कर रही थी.

जब और सुबह जब मैं उठी तो मेरी हालत खराब हो रही थी, इस चुदाई के कारण मैं दोपहर तक दिक्कत में रही. लेकिन जब मैं उछलने के बाद नीचे आई तो अमित ऊपर उठ गया और मेरी गांड में अमित का पूरा लंड चला गया.

अब मैं भाभी की जाँघों पर बैठकर उनकी गांड को दोनों हाथों से चौड़ी करने लगा.

चाचा मुझे चोदना चाहते थे और मैं भी अब धीरे धीरे चुदवाने के मूड में आने लगी थी. सेक्सी मूवी स्कूल की लड़कीअवी ने कहा- मेरी जान, वो तुम्हारे लिए ही है, तुम्हारे लिए ही लाया था. इंडियन सेक्सी व्हिडीओ हिंदी मराठीउस दिन के बारे में मैंने दिव्या को भी नहीं बताया था क्योंकि वो तो हर शुक्रवार की शाम को घर चली जाती. मैंने कुछ नहीं कहा, तब उसने फिर से पूछा- क्या मैं तुम्हें पसंद नहीं हूँ?मैंने कहा- तुम तो बहुत सुंदर हो, तुम्हें तो कोई भी अपनी जीएफ बनाना चाहेगा.

मैंने शावर बंद किया और चाची को दीवार से सटा दिया, मैं घुटनों के बल बैठ गया और अपना मुँह चाची की दोनों जाँघों के बीच घुसा दिया.

वहीं बातें भी हो जाएंगी, तुम मिलने को कहते थे तो इसी के साथ मिल भी लेंगे. सुबह सात बजे दूध वाला आया तो मेरी नींद खुली, देखा क्या… कि दीक्षा बिस्तर पर नहीं थी. अवी ने कहा- मेरी जान, वो तुम्हारे लिए ही है, तुम्हारे लिए ही लाया था.

उसके बाद तो हम हर महीने इस तरह के चुत चुदाई समारोहों का आयोजन करने लगे थे. मैंने उनको अपनी बांहों में जकड़ लिया और हम दोनों यूं ही चिपक कर सो से गए. मैंने पीछे से लंड उनकी चुत पर थोड़ी देर रगड़ा और फिर लंड को चुत के अन्दर घुसा कर उनकी कमर पकड़ कर धक्के मारने लगा.

सेक्सी दिखाईये वीडियो में

मेरी ओर से भी सॉरी मेरे लौड़े क़ि मैंने अपने भैया के लंड को खाली मुठ मारने पर मजबूर किया. मैंने कहा- ऐसा क्यों?तब उन्होंने बताया कि फेसियल और आई-ब्रो की ट्रीट्मेन्ट में अक्सर मुझे सर दर्द हो जाता है. तभी आनन्द ने उसे कमरे में रखे सोफे पर बिठाया और वो घुटनों के बल नीचे बैठ गया.

निवेदन है कि सभी पाठक गण अपनी अपनी प्रतिक्रिया, सुझाव इत्यादि नीचे लिखी मेरी ई मेल आई डी पर जरूर भेजें.

और जब मेरा गांव आया तो मैंने उसे बाई कहा और उसे नाम पूछा तो उसने नाम बताया ‘पूनम’यह नाम झूठा था यह मुझको बाद में पता चला था.

अब बुआ ताई के पास आ गईं और गुरप्रीत ने बुआ को देखा तो वो उनकी चुचियों को दबाते हुए बोला- रूपा, तुम एक बार रचना की चूत दिला दो. मैं भी दीदी की पीठ पर हाथ को बड़े प्यार से अपनी उंगलियाँ खोल कर सहला रहा था. अच्छे से अच्छे सेक्सी वीडियोआपको मेरी गरम कहानी अच्छी लगी या नहीं, मुझे मेल ज़रूर करें ताकि मैं अपनी अगली गर्म कहानी भी आपके सामने ला सकूं.

किसी कारण से वो स्कूल बंद हो गया तो उसने अपना प्ले वे स्कूल खोल लिया लेकिन वो कुछ ज्यादा अच्छा नहीं चल रहा था. बहूरानी ने अपने होंठों पर उंगली रख के मुझे चुप रहने का इशारा किया; मैंने भी वक़्त की नजाकत को समझा और पास की कुर्सी पर बैठ गया. जब और सुबह जब मैं उठी तो मेरी हालत खराब हो रही थी, इस चुदाई के कारण मैं दोपहर तक दिक्कत में रही.

वो मेरा हाथ अपने हाथ में लेकर आगे बढ़ा, पर मैंने हाथ छुड़ा लिया और अकेले अकेले चलने लगी. वो ब्लैक ब्रा पेंटी में पूरी सेक्स की देवी लग रही थी। मैं उनकी पेंटी के ऊपर से ही उनकी चूत पर किस करने लगा, वो कामुक सिसकारियां निकाल रही थी जो मेरे जोश को और भी बढ़ा रही थी।तब मैंने उनकी ब्रा पेंटी निकाल दी और उनकी बूब्स को चूसने लगा। दोस्तो, मैं सातवें आसमान पर था.

उनकी चुदाई की चाहत ने उन्हें इतना लाल कर दिया था कि क्या बताऊं दोस्तो.

इसके बाद बात में पता चला कि वो मस्त लड़का मेरा सीनियर है और थर्ड ईयर का स्टूडेंट है. मैं भी थोड़ी देर रुक गया और भाभी के होंठ चूसने लगा, चूचे दबाने लगा. भाभी ने झूठ मूठ का नाटक करते हुए कहा- यह क्या कर रहा है?भाभी ने मुझे धक्का दिया और खुद बेड से खड़ी होकर कोने में चली गई- हरामी बताती हूँ तेरी माँ को रुक.

सेक्सी पंजाबी सेक्सी चुदाई अब मैंने उनकी पेन्टी को भी उतार दिया और उन्हें नंगी कर दिया और खुद भी अपने पूरे कपड़े उतार कर नंगा हो गया. शुरू में उन्हें रात में सुबह, मैं बिस्तर छोड़ने से पहले बोनस चाहिए होता था, अगर दोपहर में ऑफिस से आ जाते तो उस समय की भी बोनस चुदाई.

जब मैं उस कार के पास पहुँची तो उस आदमी ने फिर से कहा- मैडम आपको मैं आगे तक छोड़ देता हूँ. जैसे ही चाची के कंधे से मैंने हाथ हटाया, दूसरे हाथ से मैंने अपना तौलिया गिरा दिया. कार को दीदी का बॉस दयाल ड्राइव कर रहा था और पीछे की सीट पर दीदी के ऑफिस के दो बड़े ऑफिसर राकेश और सतीश बैठे हुए थे.

ब्लू पिक्चर करते हुए दिखाइए

भाबी ने मेरी तरफ नशीले अंदाज में देखा और कहा- पूरी रात बाकी है, पहले खाना तो खा लो. हम आपस में बात करने लगे, उसकी बातों से मुझे स्पष्ट लग रहा था कि उसकी जवानी, उसकी कामुकता उबाल ले रही है, अगर मैं पहल करूं तो वो मुझसे चुद सकती है. कुछ देर तक उसकी चूत के दाने को सहलाने के बाद वह फिर से थोड़ी शान्त हुई.

विवेक बोला- राहुल से सुबह चटवा लेना, सूजन कम हो जाएगी मेरी जानउसने बिना रुके लंड पेलना चालू रखा. आओ ना…” प्रिया की गुहार सुन कर मैं बेखुदी के आलम से वापिस पलटा। मैंने बहुत ही नाज़ुकता से प्रिया को अपनी गोदी में बिठा कर आगे-पीछे हिलना शुरू कर दिया.

मैंने कह- भाभी, आप इसे मुँह में लेकर प्यार करोगी?वो बोलीं- नहीं ये सब मुझे पसंद नहीं है जानू.

मैंने कहा- अभी कैसे बुला सकती हूं उसे? वो पापा का मोबाइल दिखा कर बोली- अभी कॉल करके बुलाओ प्लीज दीदी. वैसे तो मेरा परिवार बंगाल से है मगर अब दिल्ली में स्थापित हो चुका है. मेरी चूत का गर्म गर्म रस निकलने लगा और मैं झड़ गई।आज मैं 20 साल में पहली बार संतुष्ट हुई थी, मैं बोली- सुरेश निकाल अपना लंड मेरी चूत से! मेरा काम हो गया आज… अंकल आपने मुझे फुल सटिसफाइड कर डाला थैंक्यू।सुरेश अंकल ने बोला-मेरा काम अभी नहीं हुआ.

चाचा बोल रहे थे- यार पिंकी, तुम्हारी चूत बहुत अच्छी है!और वो मेरी चूत को बहुत देर तक चूसते रहे. मम्मी की कसम, दीदी मुझे पता नहीं जवानी में चूत की तड़प ऐसी भयानक होती है, दीदी तुम चुदाती हो, यहाँ वहाँ मुँह मारती हो. तभी संजय बोला- अरे शहजाद भाई बेचारी भाभी अकेले कितना मैनेज करेंगी, चलो मैं जाकर उनकी कुछ हेल्प कर देता हूँ.

किशोरियों या टीन गर्ल्स जैसी कमनीयता या आभा, ग्लो, दीप्ति या नूर कुछ भी कह लो; उसके जिस्म के अंग अंग से छलक रहा था.

बीएफ चुदाई वाली वीडियो हिंदी में: तभी उसने मुझे धक्का दिया और मैं उससे दूर होकर सोफे पर पेट के बल लेट गया. मेरा सुपाड़ा उनकी गीली चूत की मांसपेशियों के कस बल तोड़ता हुआ गहराई तक जा के धंस गया.

तो बात ऐसी है कि एक दिन मैं और जूही पार्क घूमने गए थे, पता नहीं कहाँ से वो आ धमकी और मुझे जूही के सामने ही गर्म करने लगी. उसे यह सब बिल्कुल भी पसंद नहीं है।बस इतनी सी बात… अरे यार अभी नया नया है इसलिए थोड़ी बहुत तो मुसीबत झेलनी पड़ेगी, धीरे धीरे सब सही हो जाएगा. मैंने उसे पलटा दिया और उसकी थकी हुई गांड में एक ही बार में पूरा 8 इंच घुसा कर बाहर किया.

अब मैं नीचे भाभी की चूत की तरफ मुँह करके लेट गया और वो मेरे लंड के ऊपर मुँह करके लेट गईं.

मैंने दीदी के एक हाथ को लंड से उठा दिया और अपनी बॉल्स पर रख दिया और दीदी को थोड़ा और लंड लेने का इशारा किया. जैसे ही उसका 9 इंच का लंड पूरा अन्दर घुसा, उसे पूजा के गरम रस के छींटे लंड की टोपी पर लगे. मैं थोड़ी देर शांत रहा, फिर एक और शॉट मारा और पूरा लंड उनकी गांड में डाल दिया.