बीएफ मूवी बढ़िया

छवि स्रोत,हिंदी गुजराती बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

काजल अग्रवाल एक्स वीडियो: बीएफ मूवी बढ़िया, कुछ देर बाद उन सबकी चुदाई खत्म हुई तो गगन ने बताया कि चलो अब प्रिया की चुदाई का खेल शुरू करने का वक्त आ गया है.

बीएफ फिल्म ब्लू ब्लू फिल्म

अनिकेत भैया ने लूसी को अपनी बांहों में ले लिया और उसकी चूचियों को दबाने लगे. इंग्लिश शॉर्ट बीएफउस दूध वाले ने धीरे से मेरे कान में बोला- बीबी जी, एक बात बोलूं?मैंने हां में अपना सिर हिलाया.

अब फरियाल बोली- पंकज अब अन्दर डालो ना … और मेरी चुत का कुछ करो यार!मैंने कहा- ठीक है. बीएफ हिंदी मे बीएफ हिंदी मे बीएफमेरे मुंह से चूत शब्द सुन कर शीना शर्मा गयी और अपने हाथों से अपना चेहरा ढक लिया.

मैं उठ कर खड़ा हो गया और मां से बोला- मुझे माफ कर दो मां, मुझसे गलती हो गई.बीएफ मूवी बढ़िया: आप सभी ने कॉलगर्ल चुदाई कहानी के पहले भागमैं दोस्त की सेक्सी दीदी को चोदना चाहता थामें अब तक पढ़ा था कि मैंने दीदी से सीधे सीधे चुदाई की बात कर ली थी और उन्होंने एक पेशेवर रंडी की तरह अपना रेट बता दिया था.

धीरे धीरे मैं अपना लौड़ा भाभी की गांड में डालता गया और पूरा लंड गांड के अन्दर पेल दिया.आंटी मेरी तरफ वासना से देखते हुए बोलीं- तुम किसी को मत बताना, मैं तेरी भूख मिटाने को रेडी हूँ, पर अभी नहीं.

विदेशी लड़कियों का बीएफ - बीएफ मूवी बढ़िया

उन लोगों को शायद जानकारी नहीं थी इसलिए वो सब रिजर्वेशन डब्बे को खाली देख कर उसमें चढ़ गए थे.उसके मुँह से आवाज निकलती, उससे पहले मैंने उसका मुँह हाथ से बंद कर दिया और लंड को चुत के अन्दर बाहर करने लगा.

फिर मैंने सोचा कि ये ऐसे मुझे चोदने नहीं देंगी, अब मुझे ही कुछ करना होगा. बीएफ मूवी बढ़िया अब मैं उन्हें एक माल के रूप में देखने लगा था, मैं भी अब उनके नाम की मुठ मारने लगा था.

लगभग एक घंटा हुआ होगा, तभी मुझे अहसास हुआ कि कोई मेरे लंड को पैंट के ऊपर से सहला रहा था.

बीएफ मूवी बढ़िया?

हैलो मेरे पति लोगो, मैं आपकी मुँहबोली बीवी मधु जैसवाल एक बार फिर से अपने बच्चे के बाप की सेक्स कहानी में मजा देने हाजिर हूँ. तो मैंने क्या किया?हैलो मैं सबीना आपको सेक्सी औरत की कहानी के पिछले भागबेटी के बॉयफ्रेंड को अपनी जवानी का जलवा दिखायामें अपनी बेटी के यार के साथ मेला घूम रही थी. थोड़ी देर में मैंने उसका कुर्ता निकाला तो उसकी गोरी चूचियां ब्रा में बर्दाश्त नहीं हुयीं और ब्रा भी निकाल दी.

अगर कल रात वो होश में रहता तो शायद धारा से सारी रात बातें हो सकती थीं. मैं उसे जब तक कहता कि दूध पीने का मन है, वो रसोई घर में जाकर कॉफी बनाने लगी. तो मामी ने एक कातिल मुस्कान दी और आगे की तरफ झुक गयी और अपनी गांड मेरी तरफ कर दी.

इतना अच्छा समय बीता मेरा कि मैं बहुत खुश थी।मैंने अजय से बोला- मेरे लिये कुछ खाने को ले आओ. एक दो बार मैंने वैसे ही अपने फ़ोन से ट्राई किया, फिर मोहन से उसका फ़ोन मांगा तो मोहन बोला कि उसका फ़ोन अंदर रह गया है, तुम नीरू के फ़ोन से कॉल कर लो. हर झटके पर चाची आह … आह … मेरे राजा … चोदो … चोदो अपनी चाची को … हाय मेरे बलमा … जोर से करो अब … और जोर से … चूचियों को भी मसलते जाओ … आह … ईईई, बहुत मज़ा दे रहे हो … हाँ मेरे राजा … चाचा की कसर पूरी कर दो.

मैंने उससे खून के धब्बे के लिए पूछा, तो वो बोला- गांड फटेगी, तो खून तो निकलेगा ही. निखिल ने मीरा की चुत के होंठों को फैला कर उसकी चुत चाटनी शुरू कर दी.

तुम दोनों को शर्म नहीं आई! ये तुम कैसे कर सकती हो ममता?ममता- यार अब क्या कहूँ तुझे.

अब तो मेरी भाभी और भी ज्यादा सेक्सी हो गयी हैं … औरमेरे लंड की दीवानीभी.

मेरे भाई की शादी दो साल पहले एक बहुत खूबसूरत लड़की से हुई थी, जिनका नाम स्नेहा है. अब उनके दोस्त ने मुझे फिर से बेड पर पटक लिया और फिर से मेरी गांड में अपना लौड़ा डाल दिया. अचानक हुए इस हरकत से मैं घबरा गया लेकिन मेरा भी मन करने लगा था कि उसको किस करूं.

मानो कोई लॉलीपॉप चूस रही हो।धीरे धीरे स्मृति मेरे लंड को अपने मुँह के अंदर ज्यादा से ज्यादा ले रही थी. लौटने के 5 मिनट बाद ही आशारा का मैसेज आया- परसों रात को तुम फ्री हो क्या? अगर फ्री हो तो हम फिर मिलेंगे. शेखर रोमांच से इतना भरा हुआ था कि उसने लगभग अपनी पूरी ताक़त से धारा की चूचियों को मसल ही दिया.

ये कहने की ज़रूरत नहीं कि शेखर का लंड कितना बड़ा या कितना मोटा था लेकिन इतना तो तय था कि धारा उस लंड को देख कर स्तब्ध थी और एकटक उसे निहार रही थी.

जल्द ही उसे धारा की नाभि मिल गयी और वो अपनी एक उंगली धारा की नाभि में डालकर ऐसे सहलाने लगा मानो वो धारा की नाभि ना होकर धारा की चूत का भगनासा हो. मैं भी गर्म हो गया और उसके सर को जोर से पकड़ कर अपनी चूचियों पर दबाने लगा. मगर मैंने भी एक शर्त रखी थी कि ना तो मैं किसी की नज़र के सामने आऊँगी और ना ही मैं उसे अपनी नज़रों से देखना चाहूँगी.

कुछ मिनट किस के बाद हम दोनों अलग हुए और मैंने उसकी चूचियों को देख कर अपने होंठों पर जुबान फिराई. कुछ भाभियां और फ्रेंड्स, मुझसे मेल में उन लड़कियों और भाभियों की फोटो मांगते हैं, जिनके साथ मैंने सेक्स किया है. खैर उसने अपना काम जारी रखा और अब थोड़ा हल्के हाथों से धारा के विशाल उभारों का मज़ा लेने लगा.

अचानक चाची अईईई … की आवाज से जोर से चीखी और उन्होंने अपनी दोनों टाँगों को मेरी कमर में लपेट कर मुझे जकड़ लिया और मेरा मुँह चूमने लगी.

मैं फ़लक की गांड और चूतड़ों से हाथ फिराते हुए उसकी चूत में पीछे से उंगली डालने लगा. तो दोस्तो, आपको यह सेक्स विद बॉस इन ऑफिस कहानी कैसी लगी?आप अपने विचार[emailprotected]पर सेंड कर सकते हैं.

बीएफ मूवी बढ़िया वे तो बस जैसे आज मेरे गुलाम बन चुके थे, जैसा मैं कह रही थी वे तुरंत वैसा कर रहे थे. आह ब्लैक नेट वाली ब्रा और पेंटी में क्या लग रहा था उसका बदन!मैंने उसकी केले के पेड़ के तने जैसी चिकनी जांघों और टांगों पर हाथ फेरा.

बीएफ मूवी बढ़िया जब मैंने आंटी की क्लिट को अपने होंठों में दबा कर खींचा तो आंटी चिल्ला उठीं- आह मर गई रे … अहह ओहह साले भोसड़ी के आग लगाने में बड़ा मास्टर है मादरचोद … अब क्या कर रहा है कमीने चुत चोद दे. रूपाली और देवर जी ने अभी अभी चुदाई शुरू की है इसलिये मुझे भी चुदने का मन करने लगा तो मैंने तुमको जगा दिया.

मैंने ज़ोर लगाया तो सुपारा चूत की गर्म, चिकनी दीवारों को फैलता हुआ अन्दर जाने लगा.

बीएफ पिक्चर सेक्सी अंग्रेजी

सोनम की धमकी सुन कर उस चपरासी ने अपने हाथ जोड़े और वो सोनम से माफ़ी मांगने लगा- मैडम, गलती हो गयी आगे से नहीं होगा मैडम, प्लीज गरीब की नौकरी पर लात मत मारो, आप जो चाहें, मैं करने के लिए तैयार हूँ … पर किसी को मत बोलो, प्लीज मैडम. मुझे रगड़ कर चोदने के बाद उसने बोला- सुन मेरी रंडी … अब जब भी मैं तुमको बुलाऊं, तो चुपचाप चली आना. मैं- भाभी, कहां हो!भाभी- क्या हुआ रोहित … आज बहुत जल्दी आ गए!मैं- क्या करूं भाभी … आपका दूध पीने का जी किया … तो आ गया.

मैंने उससे खून के धब्बे के लिए पूछा, तो वो बोला- गांड फटेगी, तो खून तो निकलेगा ही. धारा- अच्छा जी… अभी तक तो आपने ना मुझे देखा है और ना ही कभी मिले हैं फिर मेरे ख़्याल कैसे आ गए आपको?शेखर- धारा जी, मैं कल्पनाओं का मुरीद हूँ… और सच कहूँ तो अपनी कल्पना में ना जाने मैं कितनी बार मिल चुका हूँ आपसे. शेखर ने धारा के बदन को थोड़ा सा अलग करते हुए एक हाथ से उसके कंधे पर टिके साड़ी के आँचल को सरका कर नीचे गिरा दिया.

जब आप अपनी पत्नी से एक लँगोटिया यार की तरह मिल जाते हो तो और वो भी तुम्हारे साथ पति से ज्यादा बॉयफ्रेंड वाला व्यवहार कर ले तो सब कुछ हो सकता है.

मैं मन ही मन खुश हुआ और मैंने पूछा- कहां मिलोगी?उसने मुझे जगह के बारे में बताते हुए कहा कि मैं तुमसे वहां मिलूंगी. फिर जब वो मेरा साथ देने लगीं, तो मैंने देर ना करते हुए अपना लंड निकाला और उनकी चुत पर रगड़ने लगा. चाची- राजू, प्लीज थोड़ा रुक जाओ, जल्दबाजी में मज़ा नहीं आएगा, मैं खुद भी मजा लूँगी और तुम्हें भी दूँगी, अभी छोड़ो.

अब मैंने भाभी को घोड़ी बनाकर उनकीचुत में पीछे से लौड़ा पेलाऔर चूत चुदाई में जुट गया. मैं चुदने के लिए अपने हुस्न का दीदार करवाने आयी हूँ … और ये चूतिया अपना सर झुका कर खड़ा हो गया. दो पल रुकने के बाद मैंने फिर से अपना लौड़ा शालू की रसीली हो चुकी चुत में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

मैं चोदना रोक कर मां के ऊपर लेट गया और उनको किस करने की कोशिश करने लगा. इस समय नीतू शून्य की तरह स्थिर थी तो रूपाली ने पहल करने की सोची।रूपाली नीतू के बदन को हल्के हाथों से सहला और दबा रही थी।फिर रूपाली ने धीरे से नीतू की गर्दन को चाट लिया; पहले एक बार, फिर दूसरी बार, फिर तीसरी.

अब डॉक्टर रोहित के लंड की लालसा में मेरी चुत मचलने लगी थी जिसे मैं अगली बार की सेक्स कहानी में विस्तार से लिखूंगी. मैंने कहा- साली रंडी कुतिया चोद तो रहा हूं … अब तो रोज तुझे कुतिया बना कर चोदूंगा साली रंडी छिनाल. भाभी देखने में इतनी मस्त माल हैं कि उनकी मचलती जवानी को देख कर बुड्ढों का भी लंड पानी फैंक दे!यह घटना इसी मार्च महीने की तेईस तारीख की है.

इस इंडियन पंजाबी सेक्स की कहानी पर आपके अच्छे कमेंट्स मिले तो मैं अपनी दूसरी देसी भाभी सेक्स कहानी भी लिखूंगा.

इस तरह नियमानुसार तीन दिन तक प्रियंका ने अपने भाई गगन से चुद कर मजा लिया और चुत गांड की सील टूटने की रस्म पूरी हो गई. उसने अपने सिर को मेरे कंधे पर रख लिया तो मैं भी थोड़ी अपनी छाती फुला कर खड़ी हो गयी जिससे मेरे मम्मों की गहराई एकदम से शहज़ाद की आंखों के सामने आ गई थी. मयंक के तेज धक्कों के कारण संगीता के चूतड़ मयंक की जांघ पर फट फट पटपट की आवाजें निकाल रहे थे और नीचे चूत में से फच फच पूच पूच की आवाज आ रही थी.

आप सब लोगों के मुझे बहुत से मैसेज आये और मुझे बहुत प्रोत्साहित किया, मेरी बहुत सी महिला पाठकों ने भी मेरी कहानियों को बहुत पसंद भी किया. मैंने उससे कहा- तुम अन्दर जाओ और रूम नम्बर 112 की चाभी लेकर कमरे में जाओ, मैं आता हूं.

भाभी की हालत खराब हो गई थी लेकिन ताई ने गांड और लंड के जोड़ पर अपनी जीभ फेरते हुए थूकना शुरू कर दिया था इससे चिकनाहट हो गई थी और लंड गांड में चलने लगा था. धारा- अच्छा जी… अभी तक तो आपने ना मुझे देखा है और ना ही कभी मिले हैं फिर मेरे ख़्याल कैसे आ गए आपको?शेखर- धारा जी, मैं कल्पनाओं का मुरीद हूँ… और सच कहूँ तो अपनी कल्पना में ना जाने मैं कितनी बार मिल चुका हूँ आपसे. मुझे उसके ऐसा करने से बहुत मजा आ रहा था, मैं उसका बाल पकड़कर उसके मुंह पर अपनी चूत को मारने लगी थी.

हिंदी सेक्सी बीएफ मूवी चुदाई

अब मेरी शन्नो रंडी भी अपनी गांड आगे पीछे करने लगी और बोलने लगी- राज चोदो मुझे … और चोदो अपनी शन्नो रंडी को.

चाची ने एकदम आईईई … करके मेरी कमर में अपनी बाँहें डाल दीं और मुझे चूमने लगी- वाह मेरे शेर, तुमने तो किला फ़तह कर दिया, अब पहले धीरे धीरे आगे पीछे होकर चोदो और फिर धीरे धीरे स्पीड बढ़ाते जाओ, जल्दी डिस्चार्ज नहीं करना है, मैं कहूँ तब छोड़ना. [emailprotected]देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी का अगला भाग:जीजाजी ने मेरी जवानी को मसल दिया- 2. एक दिन मेरी पत्नी ने बताया कि उसके स्कूल में एक नई टीचर आई है सितारा.

चाची की चूत ने पानी छोड़ दिया था और उसी वक्त मेरे लण्ड ने अपनी गर्म पिचकारियाँ चूत में छोड़नी शुरू की. अपनी बात खत्म करके वो फिर से मेरे होंठ चूसते हुए नीचे की तरफ आने लगीं और मेरे गले को चूमते काटते हुए मेरे निप्पल पर जीभ घुमाने लगीं. नेपाल सेक्सी वीडियो बीएफफिर मैं धीरे से नेहा की पीठ पर चाटते हुए उसकी कमर पर जा पहुँचा और फिर धीरे धीरे उसकी गाँड पर चूमने लगा.

अब मैंने संभाला मोर्चा और तेज-तेज धक्के देते हुये उसकी क्लिट को रगड़ने लगा. मैंने आगे बढ़ कर भाभी को फिर से अपनी बांहों में ले लिया और एक हाथ से उनकी साड़ी खोल दी.

मैंने कहा- नहीं … अब आपको भी मेरा लंड चूसना पड़ेगा वरना मैं चुदाई नहीं करूंगा. ये सब आंटी को इतना अच्छा लग रहा था कि वो अपनी चुत को मेरे मुँह पर रख कर मूत रही थीं और ओर हाथों से अपनी चूचियां मसलते हुए आह आह कर रही थीं. मैंने अपने लंड पर ढेर सारा तेल लगाया और उंगली में तेल लगा कर आंटी की गांड के अन्दर तेल लगा दिया.

इस बात से उसने मुझसे थोड़ा फ़्लर्ट किया, तो मैंने भी उसके जवाब में बोला- मुझे भी तुम्हारी उम्र के लड़के बहुत ज़्यादा पसन्द हैं … और खास करके तुम मुझे बहुत अच्छे लगते हो. इस पर उसने गांड उचकाते हुए कहा- अरे यार, तेरी तो झांटें सुलग गईं … मैं तो तेरी गर्लफ्रेंड की बात कर रही थी. वो तो आज ही चूत खोल देतीं, मगर मैं उन्हें थोड़ा तड़फा तड़फा कर चोदना चाहता था.

चारों बेड के चारों किनारे पर इस प्रकार लेट गए कि रुचि की चुत मेरे मुँह में, मेरा लंड ऋतु के मुँह में … और ऋतु की चुत चंचल के मुँह में.

जैसे कि आपको शीर्षक से ही पता चल गया होगा और आपने अंदाजा भी लगा लिया होगा कि इस फ़ोरसम सेक्स से मेरे लंड की क्या हालत हुई होगी. कुछ देर बाद मैं उसके मुँह में झड़ गया और वो मेरे लंड का पूरा माल पी गयी.

मैंने उसे किस करते हुए ओके कहा और फिर कुछ ही देर में मेरा और उर्वशी का एक साथ पानी निकल गया. आकाश में अपनी उंगली पर तेल लगाया और धीरे धीरे करके मेरी गांड में अपनी दोनों उंगलियां अन्दर डाल दीं. इसी तरह कुछ समय बीत गया और इस दौरान मैंने महसूस किया कि भाभी मेरे और भी करीब आ रही थीं.

स्नेहा- उई मां … क्या करती हो दीदू?नेहा का पूरा हाथ स्नेहा की चूत के पानी से गीला हो गया, जिसे नेहा ने जुबान निकाल कर चाट लिया और एक चटखारा लिया- आआआह टेस्टी माल है. मेरा हाल उस कामुक कुतिया की तरह हो गया था जो सीज़न आने पर अपने छोटे साइज की परवाह न करते हुए खुद ही कुत्तों की कमर पर चढ़ने लगती है. वो जैसे ही आई, तो मैंने फिल्म बंद कर दी और उसे काम के बारे में समझाने लगा.

बीएफ मूवी बढ़िया मैं अन्तर्वासना पर अपने सभी मित्रों की रचनाएं नियमित रूप से पढ़ता रहता हूं. मैं अकेला इंसान ट्रेन में मौजूद सभी खूबसूरत युवा जोड़ों को देख कर खुद को बोर महसूस कर रहा था.

मां बेटे का सेक्स बीएफ

उसी दिन शाम को विजय और उनके परिवार वालों को जाना पड़ा लेकिन प्रिया बिना सजा के नहीं जा सकती थी. लेकिन मेरी छोटी सी फ्रेंची में तना हुआ लण्ड बाहर निकालना आसान नहीं था. एक तो मेरे लंड की मोटाई ज्यादा थी, दूसरा ये कि बहुत दिन से मां की चुदाई नहीं हुई थी.

भाभी ने भैया के फोन काफी देर तक बात की शायद कोई घरेलू बात चल रही थी. तू कल भी आना कल भी तेरी चूत मारूँगा, आ कुतिया और धक्के दे नीचे से!इसी धकापेल में उसने अपना सारा माल निकाल दिया शिखा की चूत में!माल ज्यादा नहीं था, वो भी दो-तीन बार पहले निकाल चुका होगा।शिखा ने मुसकुराते हुए उसे लिप किस किया और गुडनाइट बोल के टिशू से अपनी चूत पौंछते अपने सोफ़े पर आई।अब जाने का टाइम हो गया था. मेहरारू का बीएफ सेक्सीधारा ने उसे सम्भालने का बिल्कुल मौक़ा नहीं दिया और उसकी जाँघों पर चढ़ बैठी.

जो दूध संगीता की चुचियों पर गिरा था उसको संगीता ने पूरे शरीर पर मल दिया और दोनों गालों पर भी मल लिया.

उन्होंने मुझे जकड़ लिया और कान में धीरे से कहा- मैं जो कर रहा हूँ, वो चुपचाप करवा ले और मज़े ले ले. शीना- क्या अच्छा हुआ अंकल?मैं- यही कि अब शायद तुम्हें पता लग गया होगा कि इस सब में मेरी और तुम्हारी माँ की कोई गलती नहीं है.

मैंने उसकी आंखों में वासना से देखा, तो उसकी आंखें भी चुदास के नशे से भरी हुई थीं. इस भयंकर चुदाई के तीन मुख्य कारण रहे, पहला तो दोहरे कंडोम की वजह से जल्दी स्खलन नहीं हुआ और मैंने दवा भी खा रखी थी. मैंने टाँगों को थोड़ा चौड़ा किया तो चूत का सुंदर गुलाबी रंगत लिए छेद दिखाई दिया.

अब वो भी मचलने तो लगी थीं, लेकिन न जाने क्यों मुझे दूर हटाना चाहती थीं.

धारा- अच्छा जी … तो आपको यक़ीन नहीं हो रहा है कि ये मैं ही हूँ! दो मिनट रुक जाइए फिर आपको यक़ीन हो जाएगा. या तो मुझे भी अपने साथ शामिल करो या फिर मैं इस बात को ऐसे नहीं चलने दूंगा. तो मैं उनको बता दूं कि जिस लड़की या भाभी ने मेरे साथ सेक्स किया है, उसने कुछ सोच समझ कर और मुझपर भरोसा करके ही सेक्स किया होगा.

बीएफ दिल्ली कामेरे मुँह से शराब की गंध महसूस करके बोली- दादू मुझे भी पिलाओ न!मैंने कहा- चल कमरे में चलते हैं … उधर बोतल में बची है, पी लेना. अब तक धारा अपने घुटने पर बैठ कर शेखर के जींस के बटन खोलने में व्यस्त हो चुकी थी.

छोटी लडकी बीएफ

मैंने उनकी तरफ देखा तो बोलीं- पीना है क्या?मैंने कहा- आपको कोई दिक्कत न हो तो!भाभी बोलीं- पी लो … मुझे कोई दिक्कत नहीं है. मैंने उसके मुँह पर हाथ लगा दिया और कुछ देर तक ऐसे ही चुपचाप लगा रहा. यह लॉकडाउन सेक्स कहानी एक भाभी की चुदाई की है जिसका शौहर विदेश में फंस गया था.

मैंने भी अंजू के साड़ी को ऊपर उठा कर उनकी पैंटी के ऊपर से ही चूत पर हाथ रख दिया. वो बोलीं- मेरे राजा, बाथरूम में जाने की क्या जरूरत है, अपने लंड का रस तुम मेरे मुँह में ही गिरा दो ना!मैंने आंखें बंद कर लीं और भाभी को लंड चूसने दिया. मैंने कहा- भाभी जी आप नाराज मत होना … मगर रियली … मैं आपसे प्यार करता हूँ और मुझे लगता है कि मेरा आपके बिना जीना मुश्किल हो रहा है.

तब जो दिल में दिमाग में हो वही आदमी हकीकत में भी करने से पीछे नहीं हटता है. वे मुझे अपने सेक्स के बारे बताती हैं तो मेरी पेंटी गीली हो जाती है. ये देख कर ताई के हाथ से लौड़ा छूट गया और दोनों के मुँह से एक ही बात निकली- हाय राम इतना बड़ा!मैं बस उनकी तरफ देखने लगा.

फ्रेंड’ज़ मॉम सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि एक बार मेरा ऑफिस का कुलीग मेरे घर रुका. तभी उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया और मुझसे बोले- मेरी जान, मेरा लंड सहला!मैं उनका लंड देखकर गर्म हो गई क्योंकि मेरी चूत से पहले ही पानी बह रहा था.

उन्होंने मुझे नीचे बैठा दिया और अपनी डेस्क की नीचे कर दिया ताकि किसी भी आने वाले को पता ही ना चले कि मैं कहां बैठी हूं.

ये सब आंटी को इतना अच्छा लग रहा था कि वो अपनी चुत को मेरे मुँह पर रख कर मूत रही थीं और ओर हाथों से अपनी चूचियां मसलते हुए आह आह कर रही थीं. एचडी बीएफ फिल्म हिंदीएक बोला- मेरी रानी आज पूरी रात हम दोनों मिलकर तेरी चुदाई ही करेंगे. बिहार का बीएफ एचडी वीडियोमैं एक हाथ को धीरे धीरे पेट पर फेरते हुए उनकी साड़ी के अन्दर डालने लगा. रश्मि कह रही है कि वह अकेली कैसे वहाँ रहेगी, उसे डर लगेगा और जाने से मना कर रही है, रश्मि कह रही है कि यदि आप राजू को मेरे साथ भेज दो तो मैं चली जाती हूँ, वह अपनी बुक्स ले चलेगा और अलग कमरे में सो जाएगा और वहीं पढ़ लेगा.

मेरी उम्र अभी 21 साल हो गयी है और मेरी चुचियों का साइज बढ़ कर 36 इंच का हो गया है.

मैंने उसको पलंग पर लेटा दिया और मैं भी उसके ऊपर चढ़ कर उसको चूमने लगा. उसी समय फरियाल ने मुझे अपनी बांहों में लेकर अपने एक बोबे को मेरे मुँह में डाल कर मुझे कसके जकड़ लिया. मैं उसकी इतनी लम्बी बड़बड़ाहट सुनकर खुद चकित था और ताबड़तोड़ लंड अन्दर बाहर अन्दर बाहर करे जा रहा था.

रोहन ने मेरे लन्ड को बाहर कर मुंह में पानी भर लिया और फिर मेरे लन्ड को चूसने लगा।मैं रोहन की लन्ड चूसने की कला का आनंद ले रहा था. अगली कड़ी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे आने वाले भविष्य में संगीता ने हमसे चुदाई करवाई. मैंने आंटी की चुत की फांकों में अपना लंड घिसा तो वो बोलीं- साले अन्दर कर दे भैन के लंड … क्यों तरसा रहा है कमीने.

सेक्सी बीएफ चुदाई एचडी

आपका यश हॉट शॉट[emailprotected]सेक्सी इंडियन भाभी की कहानी का अगला भाग:नयी नवेली पड़ोसन भाभी को चोदने की लालसा- 2. और तू भी तो आकाश से चिपकी हुई थी उसका क्या?स्नेहा- यार मजबूरी थी मेरी, नहीं तो आकाश क्या तन्वी के साथ बैठता. रात में मन नहीं भरा … लगता है।अब दोनों की चुदाई की थप थप थप बढ़ने लगी।रोमिल बोला- मेरी बीवी मेरे सामने मेरे दोस्त का लन्ड लेकर कितनी खुश है।मैंने कहा- भाभी देवर का प्यार है भाई!और मैं जोर जोर से झटके लगाने लगा और उसकी गान्ड में फिर से लावा निकाल दिया।लंड निकाल कर मुंह में डाल दिया वो गपागप गपागप चूसने लगी और साफ कर दिया।हम एक-दूसरे से लिपटकर किस करने लगे.

मैंने उसकी तरफ देखा तो वो बोली- अकेले बैठी बोर हो रही थी, आपसे बात करूंगी तो बोरियत नहीं होगी.

दोस्तो नमस्कार!मैं मधु एक बार फिर अपनी इस सेक्स कहानी में आप लोगों का स्वागत करती हूं.

भाभी लगातर आहें भर रही थीं- आह … आह!कुछ पल बाद मैं नीचे आया और उनके पेट को चाटने लगा, नाभि को चाटने लगा. एक दिन जब वह स्कूल मेरे साथ पहुंची तो पता चला कि आज तो स्कूल में छुट्टी है. सनी लियोन का बीएफ मूवीसंगीता अब मेरी छाती पर चूमने लगी थी, बीच बीच में वह मेरी छाती पर हल्के दांतों से काट भी रही थी.

मैं भी उसके कामुक चेहरे पर आते मादक भाव को देख स्खलित होने के चरम पर था।मैंने पूरी शक्ति से झटकों की गति बढ़ा दी और नेहा के जिस्म को कस कर जकड़ लिया. समीर ने मेरी पीठ पर हाथ रख कर बोला कि मालकिन आप चिंता मत करो, मैं आपका नाम वहां खराब नहीं होने दूंगा. उसके एक बूब को मुँह में लेकर मैंने चूसना शुरू कर दिया … साथ ही उसके निप्पल को भी काटने लगा.

उन दोनों की चुदाई खत्म हो चुकी थी, तो वो दोनों उठ गए और वो अंकल अपने कपड़े पहनने लगा. निखिल चाचा की कुछ नेताओं से पहचान थी और काफी मेहनत के बाद मम्मी की नौकरी जल निगम में पक्की हो गई.

पांच मिनट बाद वह झाड़ियों से बाहर निकली, तो वो स्कूल ड्रेस उतार कर एक अलग ड्रेस में थी.

जिनको मेरे बारे में पता नहीं है, मैं उनको बता दूँ कि मैं हरियाणा में रहता हूं. डैड ने मुझसे कहा कि मुदित तू अपनी भाभी को उनके घर ले जाओ और सी ऑफ़ करने के बाद उन्हें वापस ले आना. उनकी लड़की प्रेग्नेंट हुई, तो मकान मालकिन आंटी को कुछ समय के लिए अपनी बेटी के पास जाना पड़ा.

सोनाक्षी सिन्हा सेक्सी बीएफ अब मेरा पूरा लंड फिर से उस गरम लड़की की चूत की गहराई में घुस गया था. फिर भाभी ने मुझसे मेरे बारे में पूछा, तो मैंने अपना नाम विजय बताते हुए कहा कि मैं कॉलेज अपने भाई से मिलने जा रहा हूँ.

नगर की रीति रिवाज के अनुसार प्रिया के सामने ही नगर के सब लोग चुदाई करेंगे और उसकी चुत की आग को भड़काएंगे. वो भी चुदाई के लिए तरस रही थी तो मेरे थोड़े प्रयत्न के बाद वो सेक्स के लिए तैयार हो गई. तुम्हारी माँ को जब मैं पहली बार चोदने लगा तब भी उसकी चूत पर बहुत बाल थे.

सेक्सी वीडियो बीएफ इंडिया

हम दोनों कुछ मीटर की दूरी पर थे लेकिन हमारे जिस्म एक दूसरे में समा चुके थे. मौसी- आअह्ह्ह … मगर यह सब सच कैसे करेगा मेरे शेरू?मैं- तुमको अपने पास बुलाऊंगा और अपने गले से लगाऊंगा. दोस्तो, आगे की सेक्स कहानी में मैं लिखूंगा कि मेरे और भाभी के बीच क्या क्या हुआ वो सब आगे लिख कर बताऊंगा.

इस पोजीशन में मेरा लंड चूत और गांड के बीच दस्तक दे रहा था और आशारा की मादक सिसकारियां बढ़ने लगी थीं. मेरी सांसें बहुत तेज तेज चल रही थी और मैं पूरा जोर लगा लगा कर चाची के ऊपर आधा झुका हुआ ठुकाई कर रहा था.

अब चंचल ने ऋतु से पूछा- दीदी, क्या आप प्रकाश से चुदना चाहती हो?ऋतु ने नाटक करते हुए कहा- नहीं, मैंने ऐसा कब कहा?चंचल ने कहा- अरे बोलो न दी, आपको चुदना है क्या?ऋतु- मुझे प्रकाश से नहीं चुदना है लेकिन आज मन तो है चुदने का!इस पर चंचल ने कहा- तो दी, प्रकाश से ही चुद लो न … वैसे भी पहचान का भी है और आपका पुराना बॉयफ्रेंड तो था ही.

दोस्तो, इस नगर में पब्लिक सेक्स सिस्टम से चुदाई होती रही … और होती रहेगी. एक दिन हम मंडी में सामान लेने गये थे तो वहां मेरा पैर डगमगाया और समीर ने मुझे संभालते हुए मेरी चूची को दबा दिया. उसने मुझे 10 मिनट तक अलग अलग तरीके से चोदा और अपना माल मेरे अन्दर ही छोड़ दिया.

धारा- क्या हुआ? अब ठीक तो है?शेखर- वैसे तो सब ठीक ही है, बस सर में और बदन में दर्द है. दोस्तो, सेक्स करते टाइम कभी जल्दीबाजी न दिखाओ, जितना आराम से और जितना रिलैक्स करके आप सेक्स करोगे, उतना ही आपको मजा आएगा और आपको टाइम ज्यादा मिलेगा. मेरे दोस्त ने मुझे बताया कि उसके साथ के कुछ दोस्त कार से घर जा रहे हैं, वो भी उन्हीं के साथ अपने घर जा रहा है.

करीब 15 से 20 मिनट बाद लगातार चोदने के बाद मेरी गांड के अन्दर गर्म गर्म महसूस हुआ.

बीएफ मूवी बढ़िया: मैं भी उनके पास जाकर अलग सोफे पर बैठ गयी और अब हम सब एक दूसरे को देखकर स्माइल करने लगे. जब प्रभा ने एकदम से मुझे ना कह दिया, तो मैंने भी उसको कुछ नहीं बोला और वापस अपनी कुर्सी पर आकर बैठ गया.

फिर एक दिन मुझे धोबी से चुदने का मन हुआ तो मैं उस शाम उसके घर कुछ कपड़े धुलने को देने के बहाने गयी. थोड़ी देर बाद भाभी मुझसे अलग हुईं और मुझे बांहों में समेट कर मेरी गर्दन पर किस करने लगीं. उस समय मेरे पापा मम्मी को कोई जरूरी काम था और वो कुछ दिनों के लिए शहर से बाहर गए हुए थे.

मैंने कैसे एक दार्जिलिंग की एकदम कुंवारी लड़की को चोदा, इस सेक्सी ऑफिस गर्ल की चुदाई कहानी मैं आपको उसी चुदाई के बारे में बताना चाहता हूं.

जब तक चुत में लंड न जाए और चुदाई के समय लड़की के दूध हाथ में न हों, तब तक किसी भी तरह से मन को शांति नहीं मिलती है. मैंने उससे बोला कि अगर तुम इधर होते, तो तुम्हारे साथ चल चलती, लेकिन अब मैं जा नहीं सकती. मैंने उसकी गांड पर बेल्ट जोर से मारी तो उसके मुंह से बहुत जोर की चीख निकली.