हिंदी बीएफ भाई

छवि स्रोत,संभोग फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

मजबूरी बीएफ: हिंदी बीएफ भाई, … उम्म्ह… अहह… हय… याह… भाई पहले मेरी गांड क्यों नहीं मारी … आंह भाई रोज़ मारा करो.

मौसी कि चुदाई

मुझे उनके इस तरीके से बेचैनी होने लगी, मानो शरीर में चीटियाँ रेंग रही हों. काजोल एक्स एक्स एक्समैंने कोमल को बेड पर लेटा दिया और खड़े होकर सेक्स पॉवर की टेबलेट ले ली.

आस-पास की लाइटों की चमक में उसका गोरा बदन दूध के जैसा दिख रहा था कुर्ती के अंदर. गुड नाईट सेक्सफिर एक दिन किस्मत चमकी या कह लो कि ऊपर वाले को हम दोनों पर दया आ गयी.

उसके बाद मैंने अपने खड़े लंड को उसकी चिकनी चमेली गांड पर लंड सैट कर दिया.हिंदी बीएफ भाई: आप लोगों के पॉजिटिव रेस्पोन्स पर मैं जल्दी ही आगे की कहानियों पर काम करना शुरू कर दूंगा.

सुनील और विशाल दोनों की घरवालियों ने बगावत कर दी कि हमें भी साथ रहना है तो दोनों को ही उनको लाना पड़ा.मैं पूरी तेजी से कोमल की चुदाई कर रहा था और वो भी चुदाई का पूरा मजा ले रही थी.

एक्स एक्स एक्स दीपिका पादुकोण - हिंदी बीएफ भाई

उसके पति रोहिताश ने जिसकी आँखों के आगे उसकी कामुक इच्छा पूर्ति हो रही थी.और मैं धीरे धीरे उसके स्तन सहलाते हुए अपना लंड उसकी चूत के अंदर डालने लगा.

मैंने एक बार फिर से भाभी को बेड पर पटक लिया और उनकी चूत को चोदने लगा. हिंदी बीएफ भाई रिंकी और प्रिया दोपहर को फ्रूट्स अपने कमरे में ही लेती, रिंकी ढूंढ ढूंढ कर पोर्न या एडल्ट मूवीज लगाती और दोनों हँसते हँसते एन्जॉय करतीं.

अब तक मेरी और भाभी के बीच सिर्फ नजरों का एग्रीमेंट हुआ था … खुल कर इजहार नहीं हुआ था.

हिंदी बीएफ भाई?

मैंने कहा- जान, चुत चोदूं या गांड?उन्होंने कहा- मेरी जान, अब सब कुछ तेरा है, जिसे तू चोदना चाहे, उसे चोद ले, पर यार प्लीज एक बार मेरी चुत को फिर से शांत कर दे. इतने में स्नेहा भाभी बोलीं- आप क्या करते हो?मैंने कहा- मेरी अभी तो स्टडी चल रही है जी. यह कहानी पूरी तरह से काल्पनिक सोच पर आधारित है, जिसे आप अन्तर्वासना वेबसाइट पर पढ़ रहे हैं.

उसने टी-शर्ट और जीन्स की पैंट पहनी थी, जिसमें उसके दूध कमाल के लग रहे थे. मैंने कहा- चाची अब मेरा भी करवाओ ना!उन्होंने कहा- करा तो मैं दूंगी, पर एक शर्त पर कराऊंगी. मगर ये क्या? अचानक ही मैं चरम सीमा पर पहुंच गया और इससे पहले कि मैं वीर्य वेग को थोड़ा रोकने की कोशिश करता मेरा वीर्य उसकी चूत में निकल गया.

तो मैंने अम्मी की ख़ुशी के लिए क्या किया?आज की माँ सेक्स स्टोरी हिंदी मेरे दोस्त की है. इतना कह कर चाची ने अपनी साड़ी उतार दी और फिर से ब्लाउज और पेटीकोट में आ गयी. मेरा रूम बाकी कमरों से अलग बना हुआ था, तो हम आराम से पढ़ाई कर सकते थे.

हम दोनों के पास सिर्फ आज ही की रात थी और आज की रात हम दोनों ही एक-दूसरे को एक मिनट के लिए भी अपनी आँख से ओझल नहीं होने देना चाहते थे. कोई 2-3 मिनट बाद दर्द कम हुआ, तो उसने फिर एक झटका लगा दिया और इस बार उसका पूरा लंड मेरी गांड में उतर गया.

रिंकी ने सुझाव दिया कि अगर सब चाहें तो रोशनी धीमी और म्यूजिक सेंसेशनल लगा दिया जाए.

पल्लवी के दोनों चूचे राशि के चूचों जितने ही थे मगर पल्लवी की गांड राशि की गांड से चौड़ी और बड़ी थी.

मैंने कहा- बस बहुत दिन से सोच रहा था कि तुमसे कहूँ या कुछ पूछ लूं … इजाजत है क्या?तब उसने राजसी अंदाज में कहा- हां पूछो. उनके मम्में मेरे स्तनों की तुलना में काफी बड़े पर थोड़े लटके हुए हैं. उसने मुझे देखा और पूछा- क्या है?मैंने बताते हुए कहा कि मुझे इस जगह तक जाना है.

चाचा मेरी टांगों के बीच आकर मेरी चूत चाटने लगे, कभी कभी उंगली भी अन्दर डाल देते. अमनप्रीत अपना लंड अपनी पैंट की जिप से बाहर निकाल कर बेड पर लेटा हुआ था. मैं बुदबुदाया- तीन दिन!फिर मुझे याद आया कि आने से पहले वो पापा से मिलने गए थे.

अरविन्द ने उसे चूमते हुए कहा कि अगर उसे पहले से मालूम होता कि इतना खिला गुलाब उसको मिल सकता है तो वो क्यों बासी को चूसता.

मैंने लंड का पानी उनके मुँह में ही गिरा दिया, वो भी किसी भूखी रंडी की तरह सारा वीर्य गटक गईं. अच्छा खिला खिला सा रंग, फिगर एसी कि मॉडल लड़कियां शर्म खाएं, बड़ी बड़ी आँखें, त्वचा बिल्कुल साफ और रेशम जैसी चिकनी. कोमल और में फिर एक दूसरे के आंखों में देखने लगे और फिर एक दूसरे के नजदीक आकर होंठों को चूमने लगे.

एक दिन आपको और आपकी बेटी को इसी बिस्तर में एक साथ चोदूंगा।”अरे ऐसा सोचना भी मत! मेरी चुदाई की बात मेरी बेटी को कभी पता नहीं चलनी चाहिये वरना वो मुझे रण्डी समझेगी और मेरी बेटी की भी जिंदगी बर्बाद मत कर देना उससे बाद में शादी कर लेना. एक चूची को मैंने कई मिनट तक पीया और उसके बाद दूसरी चूची को पीने लगा. देसी पोर्न कहानी में पढ़ें कि कैसे एक न्यूज़ एंकर की चुदाई के बाद बाक़ी दोनों लड़कियाँ भी नंगी होकर उस बेडरूम में आ गयी.

जितनी देर में मैंने नाश्ता खत्म किया, उतने में चाची नहा कर बाहर आ गईं.

फिर कुछ देर बाद वो मेरे ऊपर बैठकर चूत में लंड लेकर बैठ गई और मुझसे बातें करने लगी. मैंने पूछा- क्या अपने हस्बैंड का नापा है?तो उसने एक फोटो दिखाया जिसमें एक मरियल सा काला लण्ड 4.

हिंदी बीएफ भाई इस कहानी की पात्र दीप्ति मेरी ही हमउम्र है और वह मेरे घर के बगल वाले घर में रहती है. नित्या- मैं जानती हूं कि कौन किसे किस कर रहा था या कर रही थी।निधि गुस्से से- हां तो … अगर तू मुझे उस दिन बात करने से मना नहीं करती और झूठ नहीं बोलती तो ये आज मेरे साथ होता तेरे साथ नहीं।नित्या- हां मैं जानती हूं। लेकिन मुझे भी ये पसंद था और तुझे भी। अगर मैं झूठ नहीं बोलती तो क्या करती?निधि गुस्से में दूसरे रूम में चली गई.

हिंदी बीएफ भाई मैंने हीना से कहा- क्या हुआ? तुम ऐसे खड़ी रहोगी तो पैन्ट में ही मेरा काम हो जाएगा।अब हीना पल्टी और सामने आकर घुटनों के बल बैठ गई, मेरा तना हुआ विकराल लंड पैन्ट के भीतर ही अकड़ कर भयानक रूप ले चुका था. मैं- जान तुम गांड मरवाना चाहती हो?कोमल- हां … आ जाओ!मैंने ये सुनते ही अपना लंड चुत से निकाला और तभी कोमल घूमकर डॉगी स्टाइल में हो गई.

और जैसे ही भाभी ने अपनी गांड को हल्का सा ढीला किया तो उनकी गांड से गंदा पानी निकलने लगा.

बीपी सेक्सी मुसलमान की

अम्मी की आंखें बंद थीं और वो मदहोश थीं इसलिए उनको मेरे आने की खबर ही न हुई. मैं देखूँ तो कि तुम चोदते हुए कैसे दिखते हो?”मैंने उठकर लाइट जला दी. मैं उसे चोदने को तड़पा जा रहा था, पर डर भी था कि रमेश को पता चलेगा, तो वो क्या कहेगा.

ये कहते हुए वो थोड़ा सा ऊपर की ओर खिसक गए, जिससे कि मेरा मुँह अब उनके पेट और लंड के बीच में आ गया था. तो मोहित ने एक हाथ उसकी स्कर्ट में घुसा दिया और हाथ हिलाने लगा और मुँह से उसके चूचे चूसने लगा. मैंने एक सिगरेट सुलगाते हुए कहा कि मैं सब विस्तार से सुनना चाहता हूँ.

उन्होंने कहा- जान, दिल तो मेरा भी नहीं भरा है, तेरा ये मूसल मेरे दिल को ही इतना भा गया है कि बस मेरा दिल अब इससे ही बार बार चुदने का करता है.

वो रोहित के होंठों और जीभ को बेतहाशा जंगली की तरह चूसने और खाने लगी. सीमांशी कभी मुझे नोचती, कभी अपने स्तनों को, कभी बालों को!उसकी बहकी बहकी हरकतें उसके जोशीले गर्म स्वाभाव को दर्शा रही थी. आई … फाड़ दी … मेरी चूत।मैंने भाभी के होंठों को कस कर स्मूच करना शुरू कर दिया उसकी आवाज अंदर ही दब गयी.

अब मुझे वो पंच मारना था कि उसकी उंगलियां सीधे उसकी चुत पर पहुंच जाएं. मैं जब भी यहां इंडिया में आऊंगी तो तुम्हारे साथ ही हर बार एक सुहागरात मनाऊंगी. ऐसा कहते ही मैंने अपने दोनों हाथों से उनके दोनों बोबे पकड़ लिए और हल्का सा दबा दिए.

फिर 4-5 हल्के धक्कों में ही जेठजी का लंड पूरी तरह मेरी चूत में समा गया. बात करते करते मेरी बात अमनप्रीत नाम के एक लड़के से होने लगी जो देखने में काफी हट्टा कट्टा था.

मैंने भाभी के होंठों पर होंठ रख दिये और उनके होंठों को कस कर किस करने लगा. मैंने भाभी से कहा कि आप एक बार फोन करके भैया की पोजीशन मालूम कर लो. ”इससे पहले कि मैं कुछ बोलता नताशा के मोबाइल की घंटी बजने लगी।लग गए लौड़े!!पता नहीं किसका फोन है? क्या पता उसकी कजिन वापस ना आ रही हो? हे लिंग देव! अब तो बस तुम्हारा ही सहारा है।नताशा ने करवट बदलकर अपना मोबाइल उठाया और बात करने लगी। अब उसके नितम्ब मेरी ओर हो गए थे। मैं चुपके से उसके पीछे होकर उसके नितम्बों को अपने पेट से लगा लिया और उसके पेट और उरोज को सहलाने लगा।हेल्लो दीदी!” …”हाँ मैं ठीक हूँ.

मैंने पलट कर कहा- क्यूट स्माइल!उसने भी आंखें नचाते हुए कहा- थैंक्यू.

फिर वो भी गुस्से में बोलीं- तुम्हारी उम्र में और मेरी उम्र में काफी अंतर है. ऐसा मन किया कि उसकी गांड में लंड पेल दूं यहीं पर, इतनी मस्त मुलायम और उठी हुई गांड थी उसकी. मैं- तुम आम खाओ ना … गुठली के चक्कर में क्यों पड़ी हो?वो- नहीं ऐसे ही.

बातों ही बातों में मुझे ये पहली बार पता लगा कि उसका पति उससे 9 साल बड़ा है. मेरा हाथ उनके हाथों के ऊपर से होता हुआ उनकी छाती को छू रहा था।मेरी नाक से निकलती हुई गर्म सांसें रवि की गर्दन पर पड़ रही थी और मेरे मम्में उनकी पीठ पर दब रहे थे.

मैं कुतिया की तरह गांड हिलाता हिलाता घुटनों पर चलने लगा और भाई के आगे खड़ा हो गया. रुकैय्या की बात सुनकर मेरा लण्ड जोश में आ गया और दोगुनी ताकत से रुकैय्या को चोदने लगा और वीर्य की आखिरी बूंद निकलने तक चोदता रहा. मायरा को देख कर ऐसा लग रहा था कि उसको लंड चूसने में ही काफी ज्यादा संतुष्टि मिल रही है.

16 साल की लड़की सेक्सी वीडियो हिंदी में

मैंने फोन कटते ही भाभी को चूम लिया और कहा- वाह भाभी, तुम तो कमाल की चीज हो.

”हम्म … क्या बोल रही थी?”अरे यही कि मुझे अकेली को डर तो नहीं लग रहा … गुलफाम से बात हुई क्या … ये … वो …”वो वापस कब तक आयेंगे?”यहाँ से 3 घंटे की ड्राइव हैं अगर सुबह 8-9 बजे वहाँ से निकलेंगे तो 1 बजे से पहले तो नहीं आ पायेंगे. सुनील ये देख रहा था कि विशाल कुछ ज्यादा ही तारीफ़ कर रहा है शीला की. इंटरवल तक तो कुछ नहीं हुआ लेकिन इंटरवल के बाद जीजू ने मेरे हाथ पर हाथ रख दिया, मुझे कुछ भी अजीब नहीं लगा, फिर जीजू मेरा हाथ सहलाने लगे.

उसने मुझे मनाने की बहुत कोशिश की लेकिन मैं अभी भी जिद पर अड़ा हुआ था. मैं- एक बात पूछूँ?कोमल- क्या?मैं- लगता है कि तुम्हारा पति तुमसे बहुत प्यार करता है. सेक्सी कुछमैं बोली- कोई बात नहीं!मेरे बेटे को पता ही नहीं था कि वो अपनी मॉम से ही बात कर रहा है.

लेकिन अंकल सुन ही नहीं रहा था, उसने मम्मी के होंठों को चूसना शुरू कर दिया और साड़ी उतारने के लिए जैसे ही उसने साड़ी को पकड़ा तो मम्मी ने बोला- साड़ी मत उतारो, ऐसे ही ऊपर उठा कर कर लो. निष्ठा की चूत फटते ही भयंकर तेज बिजली देर तक कड़कती रही जिसकी चकाचौंध तेज रोशनी में कमरा नहा उठा और लगा जैसे निष्ठा का कौमार्य भंग देख स्वयं इन्द्रदेव हर्षित हो रहे हों.

उसके दूध मेरे हाथों को इतनी मस्त लज्जत दे रहे थे कि अभी मैं मानो सातवें आसामान की सैर करने लगा था. तू यहां क्या कर रहा है?मैंने भी झट से जवाब दिया- मैंने कल रात को आपके कमरे से कुछ आवाज़ सुनी थीं … और मैंने सब देख लिया था. जब मैं वहां आऊँ तब तुम दोनों आपस में सेक्स करती हुई मिलना जिससे वो चुदाई के लिए मना ना कर सके.

यदि आप एक औरत हो, तो कमेन्ट में जरूर बताएं कि क्या आप भविष्य में अपनी गांड मरवाओगी. वे इतनी तेज चूस रहे थे कि मुझे अब मजा और दर्द मीठा मीठा दोनों हो रहे थे. मैं शर्माते हुए कह दिया- हटो बाबू … तुम जिससे कहोगे, मैं उससे शादी कर लूंगी.

सही मौका देखकर मैंने अपना मुँह उनकी चुत पर फिर से लगा दिया और चुत चाटने लगा.

उँगलियों के बढ़ाये हुए नाख़ून चला चला के मेरी पीठ पर अनगिनत खरोंचें मार डालीं थी. उसका पूरा लन्ड मुँह में लेना और फिर जीभ फेरना मुझे आनंदित कर रहा था.

मैं रोहित को रोहन का लण्ड चूसते हुए तो नहीं देख पा रही थी पर जिस तरह से उसका मुंह ऊपर नीचे हो रहा था; उससे तो यही लग रहा था।थोड़ी लण्ड चुसाई के बाद रोहन ने अपने हाथ से रोहित के सर को अपने लण्ड पर दबा दिया जिससे रोहन का लण्ड रोहित के गले तक घुस गया. तुम्हारी चूचियां, तुम्हारे बदन की खुशबू बदली बदली सी क्यों है?मेरे टनटनाते हुए लण्ड की खाल आगे पीछे करते हुए नीरा बोली- खुशबू नहीं बदली, मैं ही बदल गई थी. ” अभी भी वसुंधरा के बायें हाथ की उंगलिया मेरे दाएं हाथ की उँगलियों में गुंथी हुयी थी और मेरा बायां हाथ वसुंधरा के बायें हाथ की पुश्त मुसल्सल सहला रहा था.

मैंने उससे पूछा कि तुम्हें कैसे पता?तो वो हंस कर बोली- आज सुबह मुझे आशा ने सब कुछ बता दिया, लेकिन आप फिक्र मत करो … मैं किसी को कुछ नहीं बताऊँगी. मैंने कहा- फिर क्या कहना है जी?उन्होंने कहा- सिर्फ और सिर्फ कविता या जानू … जो तेरा दिल करे … पर चाची नहीं कहना. कुतिया बनने के बाद उसमें और जोश आ गया और वो अपनी गांड हिला हिला कर मेरा साथ दे रही थी.

हिंदी बीएफ भाई यही सोचकर मैंने कहा- हीना, एक पर्सनल बात पूछूँ?हीना ने कहा- जी पूछ सकते हैं सर!मैंने कहा- क्या तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है?हीना ने कहा- नहीं है सर!मैंने तुरंत कहा- झूठ, तुम झूठ बोल रही हो।हीना ने कहा- नहीं सर. खाने में उन्होंने खीर, पूड़ी आलू की सब्जी बनाई हुई थी जो मुझे अभी तक अच्छी तरीके से याद है। खाना खाने के बाद भाभी अपने बर्तन उठा के ले गई और मुझसे बोली- तुम उस रूम में चले जाओ.

हॉट हीरोइन सेक्सी वीडियो

वो अपनी साड़ी खोल कर सिर्फ़ पेटीकोट ब्लाउज में नाइट पैन्ट लेकर आ गई थीं. फिर मेरी मदद से पैन्ट बाहर निकल गया।फिर हीना ने मेरी ब्रीफ की इलास्टिक कमर के दोनों ओर से पकड़ी और नीचे खींचने लगी. दोस्तो, मैं राज एक बार फिर से आपके सामने हाजिर हूं अपनी बंगालन भाभी Xxx स्टोरी का तीसरा भाग लेकर.

मैंने उनके सीने पर हाथ घुमाते हुए कहा- अगर आप मुझे इसी तरह पिलाते रहे, तो सुबह सबको पता चल जाएगा कि रात में मैंने वाइन पी है और फिर मेरी गांड सुताई शुरू हो जाएगी. इस दौरान मुझे प्रतिभा की कमर पकड़नी थी, जिसमें मैंने संकोच की जगह बेशर्मी दिखाई. गोल्ड डिजाइन मंगलसूत्रकोमल के चूचे हवा में हिल रहे थे और मैं तेज़ी से उसकी गांड मार रहा था.

अब मेरे हाथ शीना के चूत के दाने को कुरेद रहे थे और पीछे मैंने उसकी गांड में अपनी दो उंगलियां घुसा दी थीं.

वो बोला- अरे आंटी आप मेरी मॉम से मिली ही हो न … वो बहुत सुंदर हैं न … इसलिए मैंने उनके जैसी कहा. मनमाफिक लंड मिलने की खुशी में मैं खुद अपना चेहरा आगे बढ़ा कर जेठजी के होंठ चूमने लगी.

उन दोनों को मैंने अपनी ओर खींच लिया और दोनों को नीचे अपने लंड के पास बैठा दिया. मैंने उससे पूछा कि आपने मेरी कौन सी ऐड देखी थी तो उसने बताया कि मसाज वाली एड देखी थी. अब मेरी बीवी से भी नहीं रुका गया और उसने अमनप्रीत के लंड को अपने मुंह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगी.

मयंक बोला- यार, आज मेरी सुहागरात हो जायेगी क्या?मैंने कहा- हां, होगी क्यों नहीं, मैं अपने हाथ से मनवाऊंगा अपने दोस्त की सुहागरात।तभी सोनम चाय लेकर आ गयी.

मैंने उसकी टांगों को फैलाया और उसकी चूत पर अपने होंठों को रख दिया। मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया. मैं उठा, अपनी टी शर्ट और लोअर उतार कर पूरी तरह से नंगा हो गया और नीरा की पैन्टी उतार कर उसकी टांगों के बीच आ गया. घर में किसी और के ना होने के कारण मेरी सासू ने मेरे देवर को मेरे रूम में सोने के लिए बोल दिया ताकि मैं रात में ना डरूं.

सैकसी विडियोकमरे की लाइट बन्द थी तो मैं धीरे से सोफे से उठी और बिस्तर पर आकर बैठ गयी।मैंने अपने गाउन की चैन खोलकर अपने गाउन को मम्मों तक नीचे किया. जीजा जी के हाथ में स्कॉच की बोतलों का बैग था और मेरे हाथ में मेरा बैग था.

खुली सेक्सी डाउनलोड

मानना पड़ेगा, पल्लवी तुम्हारी जुड़वाँ बहन होते हुए भी तुमसे 5 साल छोटी लगती है, उसकी चूचियां देखो, मेरा भी मन करने लगा है उन दोनों चूचो को चूसने के लिए!फिर वो बोली- तुम आराम से पल्लवी की चुदाई देखो, तब तक मैं तुम्हारा लंड चूसती हूँ. अब उसने शीला को नीचे लिटाया और उसकी टांगें ऊपर कर के चौड़ी करी और पेल दिया अपना मूसल उसकी चूत में. तभी उन तीनों के अन्दर आने की आहट आई और वो हमें पट्टी हटाने को बोलीं.

20 मिनट तक चुदाई हुई, उसके बाद मैंने अपना माल भाभी की चूत के अंदर ही निकाल दिया. लंड घुसते ही वो चिल्लाने लगी- आईई… उफ्फ … ऊई मां, छोड़ दे कुत्ते, मैंने गांड चोदने के लिए कहा था, फाड़ने के लिए नहीं! ऐसे तो मैं मर ही जाऊंगी. फिर पायल और कोरियोग्राफर प्रतिभा के पास गए और उन्होंने कुछ बातें की.

[emailprotected]लेखक की पिछली कहानी:साले की जवान बेटी की चूत चुदाई. मैंने सोचा कि चल कर देखूं कि गांव में क्या-क्या हो रहा है, कौन-कौन सी फसलें लगी हुई हैं. वो सिसकारते हुए मिन्नतें करने लगी- ओह्ह … राज … प्लीज … मुझे अपने हथियार से चोदो न, प्लीज … डार्लिंग। मैं तुम्हारे लंड का स्वाद चखने के लिए मरी जा रही हूं.

मुझे अभी भी कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि मुझे क्या करना है और क्या नहीं. वो शख्स मुझे देख मुस्कुरा कर बोला- नमस्ते नीरा जी, कैसी हैं आप?मैंने भी जवाब में नमस्ते की.

उसने इधर उधर देखा, फिर मेरी ओर देखकर बोली- क्या मैं विंडो सीट पर बैठ सकती हूं?ऐसा उसने इसलिए कहा क्योंकि किसी को शक ना हो.

कई बार तो ये सोच कर कि जब मेरी ही आंखों के सामने कोई और मर्द मेरी बीवी की चुदाई करेगा तो कैसा लगेगा, ये सोच कर मेरी भी लुल्ली खड़ी हो जाती थी. चोपड़ा की सेक्सी फिल्मयह देखकर शीना भी अपने आप से उठने लगी थी, पर मैंने उसके मुँह पर लात मारते हुए उसको नीचे गिराया और उससे कहा कि रंडी साली … वहीं पर पड़ी रह … वरना तेरी गांड में अपना हाथ डाल दूंगा. लैंड बड़ा करने का घरेलू उपायवो बोली- कोई देख लेगा … बाद में सही जगह करेंगे।मैंने उसे जाने दिया और मैं वापस आने लगा तो आंटी (नाईट गॉर्ड की पत्नी) ने मुझे देख कर बुला लिया. कुछ देर बाद जेठजी एकाएक रुक गए और अपना चेहरा ठीक मेरे चेहरे के सामने करके मेरी आंखों में देखने लगे जैसे मेरी आंखों से मेरी मन की बात समझने की कोशिश कर रहे हों.

वैसे नताशा तुम्हारी आवाजें सुनकर भाई और जोर से जोश में मेरी गांड बजा रहे थे.

जैसा तुमने मेरे साथ किया, उसी का बदला मैं तुमको अच्छे से और सूद समेत लौटा दूंगा. फिर उसने झट से अपना चेहरा संजना की तरफ घुमाया और उसके होंठों पर किस करने लगी. लगभग 5 मिनट की चुसाई के बाद मैं चाची का दूध पीने के लिए आगे आया और उनके मम्मों पर टूट पड़ा.

मुझमें जितना दम था, अपना पूरा दम लगा कर मैं अपने बाप का लंड चूस रही थी. तभी उन तीनों के अन्दर आने की आहट आई और वो हमें पट्टी हटाने को बोलीं. ”ह्म्म्म!”तो आज मैं कर लूँसच में?”सर मैं तो आपकी स्टूडेंट हूँ … जो चाहे कर लो!”ओकेउम्म म्म म्मम! बहुत स्वीट!”मुझे शर्म आ रही है!”अच्छा बाबा … अब नहीं करूंगा.

सेक्सी ब्लू सेक्सी हिंदी सेक्सी

मेरे मुँह से अपने आप निकल गया- इतना मत तड़पाओ जीजू … आह … मैं गर्म हो गई हूँ … अब जल्दी से फाड़ दो इस चुत को. कमी मुझमें थी और मैं अपनी बीवी को खुश करने का कोई और तरीका सोच रहा था. ये सुन कर मैंने नीतू को खड़ा किया और पहले उसकी ब्रा उतारी, तो उसके 34 साइज के मोम्मे मेरी आंखों के सामने उछलने लगे.

फिर मैंने मुस्कान की कमीज़ के अंदर हाथ डाल कर उसकी ब्रा के ऊपर से उसके मम्मों को दबा दिया.

जिससे थोड़ा सा लंड कोमल की गांड में घुस गया और उसके मुँह से आवाज निकल गई.

बातों ही बातों में मुझे ये पहली बार पता लगा कि उसका पति उससे 9 साल बड़ा है. मैंने हंस कर पूछा- तो क्या स्नेहा डार्लिंग कहने लगूं?भाभी बोलीं- अभी स्नेहा तक ही रखो. मीनाक्षी का सेक्स वीडियोमैं अब सिर्फ़ लंड के मजे ही लेना चाहती थी … और मैं ऐसा कर भी रही थी.

बहुत से पाठकों ने मेल द्वारा कहानी को पसन्द किया, उसके लिए आप सभी को धन्यवाद. और उसे चड्डी नहीं बोलते हैं, पेटी बोलते हैं।मैंने कहा- ठीक है, आप की पैंटी में ही उतार देता हूं. कुछ क्षणों में मेरे होश हवास काबू आ गए तो मैंने उचक कर सामने पड़ी हुई, चरमसुख में डूबी दोनों रानियों को निहारा.

चाचा ने मेरा हाथ अपने लण्ड पर रखकर सहलाने का इशारा किया तो मैं सहलाने लगी, थोड़ी ही देर में चाचा का लण्ड टाइट हो गया तो चाचा ने मेरे मुंह में डालकर कहा- इसे गीला कर दे. यदि आप भी आगे की कहानी जानने के लिए उत्सुक हैं तो थोड़ा सा इंतजार कीजिये.

वही साफ़-सुथरा बेदाग़ चेहरा, रौशन पेशानी, कमान सी भवें और बिना किसी लिपस्टिक के गुलाबी सुडौल होंठ.

शायद नताशा को इस समय अहसास हो रहा होगा कि क्यों दीदी उस समय मुस्करा रही थीं. अपने नये पाठकों से मेरा विनम्र निवेदन है कि मेरी नई कहानी से ठीक से तारतम्य बिठाने के लिए पहले मेरी पुरानी कहानियों को एक बार पढ़ लें. यह भाव-भरा समर्पण, प्यार था … केवल प्यार! पर देर-सवेर इस में वासना का समावेश तो हो के रहना था.

सेक्सी धारावाहिक तभी डोरबेल की आवाज़ सुनाई दी और जिया दरवाजा खोलने के लिए खड़ी हो गई. अपने पास बुला कर अमनप्रीत मुझसे बोला- मेरा लंड तू ही अपने हाथ से इसकी चूत में डालेगा.

चाची बोलीं कि क्यों … क्या तुझे भी साड़ी बांधनी है?मैं हंसने लगा और बोला- नहीं किसी और की बांधनी है. मैंने एक बार फिर से भाभी को बेड पर पटक लिया और उनकी चूत को चोदने लगा. मैंने सुधा की चूत को रगड़ रगड़ कर और उंगली घुमा घुमा कर उसकी पूरी चूत लाल कर दी.

आजमगढ़ सेक्सी वीडियो

मैंने अपनी रफ़्तार और तेज की और उसकी चीखें और ज़ोर ज़ोर से निकलने लगीं. ड्राईवर ने मेरी जांघें फैला दीं और अपने लंड को मेरी चुत पर टिका दिया. उन दोनों में से एक बाकी स्टाफ को लेकर बहाने साईट पर जाता और इस बात का ध्यान रखता कि कोई ऑफिस की ओर तो नहीं जा रहा.

लाल मैरून रंग का सुपारा अम्मी की गुलाबी गांड में जाने के लिए बेकरार हो रहा था. अब तुझे चोदने के लिए मुझे इन्तजार करना पड़ेगा? मुन्ना का लण्ड तुझे ज्यादा पसन्द आ गया है क्या?अब्बू, आ तो गई हूँ.

पायल ने वहां जाकर बूढ़ी दादी से मेरी शिकायत की- दादी देखो ना … ये कल के संगीत में भाग नहीं ले रहे हैं!दादी ने कहा- क्यों बेटा क्या हुआ? छोरियों जैसे शर्माओगे … तो सबकी हंसी का पात्र नहीं बन जाओगे.

दीपिका की चीख निकल गई और वो बोल पड़ी- उई माँ!! इत्ता बड़ा और मोटा!! असली है क्या?मैंने कहा- छू कर देखो. संजना और शीना के छेद से पानी निकल रहा था, जो उनकी जांघों तक पूरा निकल रहा था और नीचे जमीन पर भी गिर रहा था. मैं इतना ही बोल पायी- नहीं मैम, आपके साथ करना अलग बात है, पर गैर मर्द के साथ हमसे न हो पाएगा.

’ये कहकर उन्होंने मुझे उल्टा लिटाया और खुद मेरे ऊपर लेट कर मेरी गर्दन को, कानों को, पीठ पर चाटने और चूमने लगे. हालांकि सोनम की चूत मेरे लंड से न जाने कितनी बार ही चुद चुकी थी लेकिन मयंक के लंड सोनम की चीख निकाल दी. लेकिन दूसरे ही पल खुद को सम्भालतीं और मुझे छूटने के विरोध करना शुरू कर देतीं.

फिर दीदी ने बड़ी अदा से अपनी ब्रा और पैंटी निकाल दी और मम्मे हिला कर मुझे दिखाने लगीं.

हिंदी बीएफ भाई: कुछ देर बाद जेठजी एकाएक रुक गए और अपना चेहरा ठीक मेरे चेहरे के सामने करके मेरी आंखों में देखने लगे जैसे मेरी आंखों से मेरी मन की बात समझने की कोशिश कर रहे हों. मैं तेजी से जिया की चुत पेल रहा था और वो दर्द को झेलते हुए चुद रही थी … क्योंकि उसे पता था कि एक बार मैंने चुदाई शुरू कर दी, तो मैं रुकूँगा नहीं.

मैंने कहा- देख भाई, अगर अब ज्यादा नौटंकी करेगा या हिलाई-डुलाई करेगा तो दर्द तुझे ही होना है. फिर मैंने उसको सीधी कर दिया और उसकी दोनों को चूचियों को अपने हाथों में भर लिया. उन्होंने मुझे अपने कमरे में सोने का कह दिया था और मैं चड्डी बनियान में ही उनके कमरे में उनके बेड पर बैठ गया था.

कुछ देर बाद अन्नू और रोहित टीवी देखने हॉल में चले गए और कमरे में मैं और रोहन ही थे।मुझे इस विषय में बात करने के लिए इससे बेहतर समय नहीं मिल सकता था। मैंने रोहन से अपने मन की बात बता दी, कहा- मैं वाकयी देखना चाहती हूं कि तुम दोनों क्या करते हो।रोहन मेरी बात सुनकर बोला- मम्मी हम दोनों एक दूसरे को दोस्त से भी बढ़कर मानते हैं.

अब तो मैं अक्सर जानबूझ कर अम्मी के सामने ही बच्चे को चुम्बन करते समय, ज़ेबा की तरफ इशारा करते हुए शरारत से कह देता जाओ- अपनी मम्मी की गोद में. मैंने भी बोल दिया- अगर मुझे भी वो चुत चोदने के लिए मिल जाए, तो मैं किसी को नहीं बोलूँगा. ”ह्म्म्म!”तो आज मैं कर लूँसच में?”सर मैं तो आपकी स्टूडेंट हूँ … जो चाहे कर लो!”ओकेउम्म म्म म्मम! बहुत स्वीट!”मुझे शर्म आ रही है!”अच्छा बाबा … अब नहीं करूंगा.