हिंदी बीएफ 18 साल की

छवि स्रोत,साउथ के बीएफ पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

टीना की बीएफ: हिंदी बीएफ 18 साल की, ममता एक आंख दबा कर उंगली और अंगूठे से गोल बना कर कह दिया- क्या बात है मां, आज तो बापू गए काम से.

बीएफ दिखाओ भोजपुरी

मैं भी पूरे ज़ोर से अपने लंड को पूरा बाहर निकाल कर ज़ोर-जोर से अन्दर पेलने लगा. ट्रिपल एक्स बीएफ ट्रिपल एक्सवो सब मैं अगली किसी सेक्स कहानी में आगे बताऊंगा, तब तक के लिए अलविदा.

ऐसे ही बातों बातों में मैंने पूछा कि तुम्हारा कोई बॉयफ्रैंड है?उसने मना कर दिया और उसने भी मुझसे यही पूछा, तो मैंने भी कहा कि मेरी भी कोई गर्लफ्रैंड नहीं है. सनी लियोन की चुदाई बीएफवो ऊईई ऊईई ऊईई करने लगी और उसके आंसू निकलने लगे।मैंने अपने लौड़े को आगे पीछे करना शुरू कर दिया और धीरे धीरे झटकों की रफ्तार बढ़ा दी।‘ऊईई ऊईई ऊईई ऊईई ऊईई’ की आवाज आहह आहह आहह में आने लगी और वो धीरे धीरे गांड चलाने लगी.

मामी की गांड देखते ही मुझे बहुत ही मस्त सा महसूस हुआ और मेरा लंड कड़क हो गया.हिंदी बीएफ 18 साल की: क्योंकि हम दोनों ऐसा करते, तो यूं समझो हम दोनों उसके साथ जबरिया सेक्स करते … और मेरे भाई ये हरगिज सही नहीं रहता.

मैं- पर भाभी दूध कहां से लाओगी आप! मुझे तो स्तनों को चूस कर ताजा दूध पीना पसंद है.[emailprotected]हस्बैंड एंड वाइफ सेक्स कहानी का अगला भाग:दो से बेहतर चार- 3.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी मूवी बीएफ हिंदी - हिंदी बीएफ 18 साल की

जोया की चूत इतनी चिकनी और गोरी थी कि उसकी चूत देख कर ही मेरा लंड जैसे फटने को हो रहा था.मैंने मेरी इस जीजा साली सेक्स स्टोरी में मर्द के पहले स्पर्श का अनुभव लिखने का प्रयास किया है.

करीब 25 मिनट की चुदाई के बाद मैं झड़ने वाला था, तो मैंने उनसे पूछा कि कहां छोड़ूं?भाभी ने चुत के अन्दर ही वीर्य छोड़ने को कहा. हिंदी बीएफ 18 साल की शीना वापिस आयी और घड़ी में टाइम देखा तो हमें ये खेल खेलते हुए दो घण्टे हो गए थे.

मेरा लंड मामी जी की चूत की ठुकाई करने के लिए सबसे अच्छी पोज़ीशन में था.

हिंदी बीएफ 18 साल की?

फिर धीरे से मैंने नीचे से हाथ अन्दर डाला और उनके एक दूध को पकड़ कर दबाना शुरू कर दिया. दोस्तो, इस तरह मैंने एक आंटी शन्नो को रात भर चोदा और उसके साथ सुहागरात मनाई. मुश्किल से एक मिनट भी नहीं बीता होगा कि पूनम बुआ मेरे पास आकर मेरे हाथ को थाम कर बैठ गईं.

ये मेरी सेक्स लाईफ में पहली बार हुआ था कि मैं और गीत एक साथ स्खलित हुए थे. मैं उससे चिपक कर लेट गया और मैंने उसके मम्मों पर अपने हाथ रख दिए और उसके दूध दबाने लगा. गोविन्द का लंड अन्दर जाने के बाद जैसे जैसे चुदाई करते हैं, वैसा है.

उसने मेरी तरफ देखते हुए आगे कहा कि उनके पास बहुत पैसे हैं, पर कोई प्यार करने वाला नहीं है. इन ग्यारह वर्षो में बिंदु ओर मैं कैसे तड़पती रही थीं ये साफ़ दिख रहा था. मैंने उसकी चूचियों पर अपने हाथ जमा दिए और अपनी गांड उठा कर उसकी चुदाई चालू कर दी.

बेटा ये रिवर्स काउगर्ल पोज़ क्या होता है, ठीक से समझा कर बता ना? मैंने इस आसन का नाम तो सुना है पर कभी किया नहीं!” मैंने पूछा. साथ में कह रहे थे- हां मेरी कुतिया … फाड़ दूंगा … आज तेरी चूत, मेरी रांड।यह सुनकर मैं चौंक गई।मैं फिर से बोली- ओह्ह मुकेश … घुसा दो … फाड़ दो … बहुत आग लगी है।मैं भी बेशर्म हो गई थी क्योंकि चूत में आग लगा दी थी उन्होंने।जैसे ही मेरी बातों से तनाव आया मुकेश ने झटका मारा और मौसी के सिखाए मुताबिक मैंने जांघों को सिकोड़ लिया.

मुझे अंधेरे में नंगी दीदी की उछलती चूचियों की झलक मिल रही थी मगर साफ़ नहीं दिख रहा था.

मुझे तो वे विदेशी सुंदरियां लुभा रहीं थीं जो किसी पोर्न स्टार की तरह चड्डी नुमा निक्कर और टॉप पहने हुए अपने जिस्म की नुमाइश करती डोलतीं फिर रहीं थीं.

उस दिन के बाद से वो जब भी घर आता, तो जैसे ही मौका मिलता, वो उसी समय मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे चुदाई का मज़ा दे देता. उसने अपनी धुन में आगे कहा- तो भाभी, चलिए हमें अपना दूध निकाल कर दे दीजिए. आज भाभी से बात करते समय मेरा ऐसा मन कर रहा था कि फोन में घुस कर भाभी को अभी के अभी चोद दूँ.

मैंने रात 2 बज़े तक उसके फोन का इंतजार किया लेकिन उसका फोन नहीं आया. मैंने मां से पूछा- मां आज इतनी जल्दी आपने बिस्तर लगा दिया, आपको नींद आ रही है क्या?मां बोलीं- नहीं बेटा, वो तो आज मैंने घर का सारा काम बहुत जल्दी ही कर लिया था … तो सोचा बिस्तर भी लगा ही देती हूं. फिर कुछ देर बाद मुझे घोड़ी बनाकर तेज़ तेज मेरी देसी गांड मारते हुए सुरजन भी झड़ गया।फिर मैं बड़ी मुश्किल से उठी.

उसने उसी समय मुझे चाय पीने आने के लिए न्यौता देते हुए कहा- यदि आप एक कप चाय पीने मेरे घर आएंगे, तो मुझे ख़ुशी होगी.

खैर … इस तरह कई बार मैं राजेश की बांहों में और बिंदु गोविन्द की बांहों में गई. छह महीने से तड़प रही हूँ, इन्टरनेट पर ब्लू फिल्म्स देख देखकर आपके इन्तजार में यह तंदूर की तरह तप रही है. धीरे धीरे वासना का ज्वर उफान पर आता गया और कुछ ही देर में हम दोनों पूरे नंगे हो गए.

जिन लोगों के कॉलेज या स्कूल से टूर जाता होगा, उन्हें ये सब पता होगा. अब एक बार फिर से आपके सामने अपनी न्यू हॉट गर्ल्स सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूं. आपको तो शायद पिछली सेक्स कहानी में मैंने बताया ही था कि अपनी भाभी की चुत चोदकर अब मेरा लंड पूरा शैतान हो गया था.

उनके घर का दो मिनट का रास्ता था तो मैंने भाभी के घर के पहले ही उन्हें मोबाइल पर घंटी दे दी, उन्होंने आकर मेन गेट खोल दिया.

क्या यह मेरा दूध भी पिएगा?भाभी- हां … इसे मेरा दूध तो बहुत पसंद है, तेरा भी पी लेगा. मैंने भी अन्दर आते ही जल्दी से दरवाजा अन्दर से लॉक कर दिया और ममता को बांहों में भर कर उसके होंठ चूसने लगी.

हिंदी बीएफ 18 साल की आआआह उऊऊह ओर जोर मार उईईईई मां साले आज फाड़ दे चूत और निकाल दे आआह कचूमर, साली बहुत तंग करती है. अब आगे बहू सेक्स की कहानी:आधे से ज्यादा मेहमान तो वरमाला होते रात में ही निकल लिए थे; बस वर वव्हू पक्ष के कुछ नजदीकी खास रिश्तेदार ही विदाई होने की प्रतीक्षा में रुके हुए थे.

हिंदी बीएफ 18 साल की वो एकदम से सिसकारने लगी- आह्ह जीजू … आह्ह … ऐसे ही करो … मजा आ रहा है. उसकी आंखों से आंसू देख कर मैं डर गया कि कहीं ये मुझ पर कोई आरोप तो नहीं लगा देगी.

लेकिन उसको क्या पता था कि मीरा तो अपनी चुदाई की प्यास निखिल से पहले ही पूरी करवाती आ रही है.

सविता भाभी कॉमिक्स इन हिंदी

मैं फिर से दर्द का नाटक करने लगी और बोली- बहुत दर्द हो रहा है; आराम से कर!जब गाउन ऊपर तक हो गया तो मेरी चूचियां बगल से निकल गईं जो साफ़ दिख रही थीं।नीलेश मेरी चूचियों को निहार रहा था।थोड़ी देर मालिश के बाद मैं बोली- नीलेश कमर से नीचे भी तेल लगा दे!वो बोला- कहाँ दीदी?मैं बोली- गधे … चूतड़ों पर।मैं चूतड़ों के बल ही लेटी हुई थी।मेरे कहने पर वो पैंटी के ऊपर से ही मेरी गांड दबाने लगा. मैं बोली- ठीक है भाई … तू चोद।अब मैं दोबारा नीचे आ गयी और भाई मेरे ऊपर. वाकई ससुरजी बहुत माहिर थे किसी भी औरत को चोदने में।फिर धीरे धीरे मेरा दर्द कुछ कम होने लगा तो उन्होंने चोदने की रफ़्तार भी बढ़ा दी।अब मुझे भी मज़ा आने लगा था लेकिन इतनी देर घोड़ी बनने की वजह से मेरी टाँगें काँपने लगी थी।मैंने ससुरजी को बताया तो उन्होंने मुझे सीधा लिटा दिया और खुद मेरे ऊपर आ गए और अपना लंड एक ही झटके में अंदर डाल दिया.

अब अफ़रोज़ के लंड को याद करके मैं अपनी चुत में उंगली अन्दर बाहर करने लगी. चलो एक बार फिर से पहले जैसी अपनी टी-शर्ट सही करना!उसने टी-शर्ट ठीक करने की जगह इस बार एक मादक अंगड़ाई लेते हुए कहा- टी-शर्ट को क्या करना है?मैंने एक झटके से उसकी चुचियों को खा जाने वाली नजरों से देखते हुए कहा- कुछ नहीं शमा डार्लिंग … तुम्हारी चूचियां बहुत हॉट हैं. ”मामला गम्भीर है लेकिन इसमेँ मैं क्या मदद कर सकता हूँ?”मेरी भाभी से बात हुई है और भाभी चाहती हैं कि जया को तुम्हारे साथ मिलने का मौका दिया जाये, शायद कुछ बात बन जाये.

मगर मेरी जान, पहले मेरी चूत की आग की कहानी कैसी लगी, एक मेल तो लिख दो.

वो भैन का लौड़ा मुझे ही सुनाने लगा- अबे चूतिया है क्या तू? साले वो गर्म थी, उसे चुत चुदवाने का नशा चढ़ा था. उन्होंने भी उसी पल मेरी शर्ट के बटन खोल दिए और शर्ट को अलग कर दिया. यानि कभी उसके संतरों की तारीफ़ करके देख, क्या कहती है … अगर मुस्कराकर बुरा मानती है, तो समझ ले कि पटाने में ज़्यादा देर नहीं लगेगी.

वो बोले- साली कुतिया, नौटंकी मत कर मादरचोदी … मैं जानता हूँ कि तू छिनाल औरत है. अबकी बार उसने मुझे घोड़ी बना लिया और अपने लंड पर थोड़ा सा थूक लगा कर अपना लौड़ा धीरे-धीरे करके मेरी चूत में डाल दिया. उसने उसी समय मुझे चाय पीने आने के लिए न्यौता देते हुए कहा- यदि आप एक कप चाय पीने मेरे घर आएंगे, तो मुझे ख़ुशी होगी.

मैं भी मर्द के साथ सहवास के लिए बहुत भूखी थी, तो मैंने भी उसे पूरी इजाजत दे दी. राजेश ने मुझे गुडमॉर्निंग कहा, तो मैंने भी शर्माते हुए राजेश को गुड मॉर्निंग की.

इतने में ही इधर राजकुमारी पूजा ने मेरे निप्पल पर हल्का सा काट दिया. मैंने फिर से एक जोरदार और पूरे जोश के साथ प्रभा की बुर में धक्का दे मारा. मगर हम अभी करीब तक नहीं आए थे।जब वो काम करने लगता तो निक्कर सी और बनियान ही पहनता था।दो चार दिन के बाद उसने दूसरी जगह का काम भी ले लिया और मेरे पति से कहा- यहां मैं अकेला संभाल लूंगा बाकी लोगों को दूसरी साइट पर भेज देता हूं.

वो बोली- कोई बात नहीं जान, मैं तुम्हारा भी कुछ देखती हूँ … कुछ जिससे तुम्हारी भी रुपए की प्रॉब्लम कम हो जाए.

पापाजी, वन्स इज नॉट एनफ …यू नो, फिर पता नहीं कब ये समय अपने जीवन में लौट कर आये!” बहूरानी मेरा चेहरा अपने दोनों हाथों में लेकर बोली. मैंने मुस्कुराते हुए कहा- क्यों नहीं … आपको चोदने के लिए तो कुछ भी करूंगा. मैं कुछ बोलती, उससे पहले उन्होंने मेरे मम्मों को दबोच लिया और बोले- शबनम, इन संतरों को भी रंग लेने दो.

कुछ देर बाद लंड को चुत के मुँह पैर रखकर बोली- ले अब मैंने तेरे चाकू को अपने खरबूजे पर रख दिया है … पर अन्दर आने से पहले उस लड़की का नाम बता … जिसको तू बहुत दिन से चोदना चाहता है … और जिसे याद करके मुठ मारता है. बहूरानी भी जैसी किसी प्रेमातुर प्रेमिका की तरह शर्माती हुई मेरे करीब आई और मेरे गले में अपनी बांहों का हार पहिना कर मेरे सीने से लग गयी.

उसकी आंख से आसू निकल रहे थे, खून की कुछ बूंदें उसकी चूत से निकल कर मेरे लंड और वृषण से होते हुए नीचे टपकने लगी थीं. जैसे ही मैं अन्दर आया तो बोलने लगी- बात क्यों नहीं कर रहे हो?मैंने जबाब दिया- मैं अपना रूम शिफ़्ट करने वाला हूँ … इसलिए टाइम नहीं मिला. मगन का नंबर भी नहीं था क्योंकि फोन मुझे इन्होंने लेकर दिया था।टाइमपास के लिए टीवी देख लेती।सासू मां को इल्म था कि उनका बेटा शराबी है और बहू बेहद जवान है। इसलिए वो मुझे दायरे में रखती थी।शादी के बाद एक रात ऐसी नहीं थी जब इनके लंड से मैं झड़ी होऊं।4-5 महीनों बाद सासूजी बोलने लगीं- बहू … पोते का मुंह दिखा दे।तब तक मैं भी सलीके से रहने लगी थी.

पानी के सेक्सी

नगमा जोर से चिल्लाई- आह्ह अह भड़वे … मादरचोद मेरी गांड फाड़ दी तूने … अह्ह्ह्ह रुक जा शैतान के बच्चे!मगर मैं नहीं रुका और उसकी गांड मारता ही रहा.

मेरे कदमों की आवाज सुनते ही कमरे में उन तीनों की गुप-चुप बंद हो गई. मैं आपको अपनी अगली कहानी में बताऊंगा कि मैंने उसकी छोटी बहन के साथ किस प्रकार का मजा लिया. लंड गांड में घुसा, तो चाची कराहते हुए बोलीं- आहहह आह आह ओह … कितना मोटा लंड है मजाहह आ गया आहह ओह.

दीदी बहुत देर तक आनाकानी की मगर किसी तरह से रमेश ने मेरी सेक्सी दीदी को पैंटी उतारने के लिए मना ही लिया. उसको भी आज काफी दिनों बाद निखिल से चुदने का मौका मिला था तो वो भी एकदम गर्म थी. सेक्सी बीएफ मारवाड़ी वीडियोये सब देख कर मेरी भाभी बोलीं- क्यों कैसा लगा मेरा देवर!बंगालिन भाभी- मर जाऊं ऐसे देवर पर … बड़ा मजा दे रहा है.

ये बताओ कि ड्रिंक लेती हो?”कभी कभी, जब हमारे घर में पार्टी होती है तो सब लोग लेते हैं, मेरी मॉम भी. मैं भी झटके लगाकर पूरा लंड मिहिका के मुँह में डालने लगा और तभी लंड ने पिचकारी मारनी शुरू कर दी.

रात में आठ बजे उठी तो कुछ खाने का मन नहीं कर रहा था तो चाय बना कर बिस्कुट खाई और टीवी देखने लगी. अभी इस झटके से सम्भली भी नहीं थी कि उन्होंने एक झटका और देकर पूरा लंड अंदर डाल दिया. हम दोनों किस करने लगे, हमारी जीभें एक दूसरे के मुँह में जा रही थीं.

मेरा गुस्सा अब भी बरकरार था, पर मैंने अपना चेहरा उनकी तरफ किया, तो उन्होंने जैसे अपनी नज़रों से ही समर्पण कर दिया और मेरे हाथ को फिर से अपने हाथों में थामे, दिल पर रख लिया. मम्मी बोलीं- लेट कर पेलेगा या कैसे करेगा?उसने मम्मी को कुतिया बनने को कहा. चाची बोलीं- साले मादरचोद … पी जा सारा दूध … जैसे बचपन में पीता है भोसड़ी वाले आज जमकर चूत मार मेरी!चाची के मुँह से गाली सुनकर मेरे साथ साथ मम्मी की तबियत भी हरी हो गई.

मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected]सेक्स विद सिस्टर इन लॉ की कहानी जारी रहेगी.

मैंने पूछा- अंकल ये किस चीज़ के पेपर हैं?अंकल ने बिंदास कहा- बेटा, इसमें लिखा है कि तेरी मॉम अब से मेरे घर की रंडी है … और उस पर सिर्फ़ मेरा ही हक़ होगा. वो उस पल कहना तो बहुत कुछ चाहती थीं पर शायद उनको अभी अपनी सांसें काबू में करनी थी.

”अगर किसी का दिल तुम पर आ जाये तो?”तो देखना पड़ेगा कि सामने वाला कौन है?”अगर सामने वाला मैं हूँ तो?”हूँ, सोचना पड़ेगा, एक तो तुम जेन्टलमैन हो, फिर तुमने डिनर कराया है और आज तो दारू भी पिलाई है. लण्ड को अन्दर बाहर करने के दौरान मैंने जोर से ठोकर मारी तो उसकी चूत की झिल्ली फट गई. मैं भी समझती थी कि अंकल का मूड बन रहा है मगर मैं सब कुछ देख कर अनदेखा कर देती थी.

खैर उनके जाते ही मैंने भी पेशाब किया, हाथ मुँह धोया और मैं भी बेडरूम में आ गया. टॉप और जीन्स के बीच जो फासला था उसमें से बहू की गुलाबी चिकनी कमर की झलक, उनके चलने से जांघों के जोड़ पर बनते त्रिभुज से उनकी कचौरी जैसी फूली चूत का सहज ही आभास होता था. उस सेक्स कहानी पढ़कर आपके दिल में इससे भी अच्छा रोमांटिक अनुभव होगा.

हिंदी बीएफ 18 साल की कृति अपने हाथों में सजी मेंहदी और कुछ गहनों के साथ एकदम क़यामत लग रही थी. जैसे ही मां सो गईं, मैं बिस्तर पर से उठा और बाथरूम जो कि कमरे के सामने ही था, वहां गया.

सेक्सी हिंदी वीडियो भेज

वो ग़ुस्से में बोली- तूने आज मेरी 8 बार चुदाई नहीं की, तो मैं सबको बता दूंगी कि तुम दोनों के बीच में क्या है. वो अपनी पैंटी उतार कर फर्श पर बिछे कालीन पर ही लेट गईं और मैं भाभी की चिकनी चुत पर अपना मुँह लगा कर लेट गया. [emailprotected]पहली चुदाई का मजा कहानी का अगला भाग:कुंवारी बुर में लंड लेने की लालसा- 4.

मैंने उसको बोला- अगर तुमको कोई भी दिक्कत हो, तो मुझसे मोबाइल पर पूछ लिया करो. शन्नो के साथ मेरी पिछली चुदाई की कहानीदोस्त की अम्मी की मस्त चुदाईमें आपने पढ़ा था कि मैं अब शन्नो को पूरी रात अपने कमरे में सुला कर चोदना चाहता था. बीएफ फिल्म बीएफ दिखाओअब मेरे पैर के पंजे और हथेलियां बिस्तर पर थीं, लंड बहूरानी की चूत में अन्दर बाहर हो रहा था इसके अलावा मेरे शरीर का कोई भी अन्य अंग बहू को टच नहीं कर रहा था.

तभी वो चुत उठाती हुई झड़ गईं और थोड़ी देर बाद मैं भी उनके मुँह में ही झड़ गया.

मैंने अपने हाथों को धीरे से मामी जी के चूतड़ों और गांड की दरार में फिराया और साथ ही नीचे झुकते हुए उनके चूतड़ों को चूमते हुए दबाने लगा. फिर मैंने अपने लंड को मां की चूत पर सैट किया और एक ही बार में पूरा लंड अन्दर डाल दिया जिससे मां की कामुक सिसकारी निकल गयी.

फिर मैंने अपनी पड़ोस वाली भाभी को देखा तो उनको अब सिर्फ एक लौंडा ही चोद रहा था. मेरी मम्मी की चूचियां भी सामन्य आकार की थीं मतलब ज्यादा दबाई नहीं गई थीं … इसलिए बड़ी या ढीली नहीं थीं. अब उन्होंने मेरे सामने ही अपना लंड निकाला और अपने मोबाइल पर लंड का सुपारा रगड़ने लगे.

झड़ जाने के बाद भी दवाई के असर से अभी भी मेरे लंड के तनाव में कोई कमी नहीं आई थी.

बुआ के चुचों में मर्दन के लिए कुछ नहीं था, पर खाली हाथों का चुदाई के समय और क्या काम था तो मैंने एक हाथ उनके बालों में और दूसरा उनके चुचों पर फेरना शुरू कर दिया. वो समझी कि मैं यूं ही गांड में उंगली कर रहा हूँ, तो उसने अपनी गांड का छेद ढीला छोड़ दिया. ‘आप … इतनी रात को यहां!’मैंने कहा- नींद नहीं आ रही थी इसलिए आ गया, थोड़ी देर में चला जाऊंगा.

देसी लड़की की चुदाई बीएफ वीडियोबाकी बचा सेक्स हम दोनों शादी के बाद किसी होटल में या कहीं और अच्छे से कर लेंगे. जहाँ कल मैं उसकी प्यार से चूत चोद रहा था वही आज किसी हब्सी की तरह उसकी चूत चोदने वाला था।धीरे धीरे मैं अपनी कमर को चलाते हुए उसकी चूत में लंड डालने लगा। मेरा आधा लंड उसकी चूत के अंदर जा चुका था तो मैंने उतने लंड से ही चुदाई करनी चालू कर दी।मैं मंद गति से धक्के लगा रहा था लेकिन हर धक्के के साथ लंड को उसकी चूत में थोड़ा और आगे बढ़ा देता.

हिंदी वाला सेक्सी दिखाइए

मैंने भी मां की हां में हां मिला दी, मैं भी अगले दिन कारखाने से जल्दी आ गया और मां को हॉस्पिटल ले गया. भोसड़ी के … बिल्कुल चूतिया समझा है!मैं- एक काम करो अभी तुम हमारा लंड चूसो, चुदाई हम बाद में करेंगे. मैंने अपना लौड़ा थोड़ा सा बाहर निकाला और अगले झटके के साथ पूरा लौड़ा चुत के अन्दर पेल दिया.

उसकी नाइटी में से अन्दर के सारे सामान ऐसे झलक रहे थे मानो मुझे लालच देकर बुला रहे हों कि आओ राजा और मुझे आज़ाद करके प्यार करो. सच बताऊं तो औरतों का सबसे ज्यादा फेवरेट पोजीशन भी यही है, जिसमें उन्हें सबसे ज्यादा आनन्द आता है. वो मुझे निहारता ही रहा।कांपती आवाज़ में होश में आते हुए बोली- जी चाय।गुलाब- रख दीजिए, ले लूंगा।मैं काली साड़ी में क़यामत लग रही थी.

उस औरत ने मेरा स्वागत किया और मुझसे कहा- वेलकम टू माय क्लब … मैं सिर्फ तुम लोगों का परिचय करवा कर यहां से चली जाऊंगी. फिर कुछ देर बाद रुबिका अपने मुँह से तकिया हटा दिया और वो हल्की हल्की आवाजों में मादक सिसकारियां लेने लगी. वो बोला- आप बोलो तो इसे साफ कर दूँ!मैं बोली- सीधे क्यों नहीं कहते कि एक राउंड से तुम्हारा मन नहीं भरा है.

जोया ने कहा- नहीं, अब बहुत हुआ … मैं तुम्हारा लंड नहीं चूसूंगी … मुझे जाने दो. जब उसका फोन आया तो उसने कहा कि घर का गेट खुला है और घर में कोई नहीं है.

उधर गर्म हो रही पूजा और मीना अपने पांवों के बीच अपनी चूत दबोचे एक कामुक तमाशा देख रही थीं.

भाभी जी- आरुष तुम सच में बहुत अच्छे हो … तुम्हारी सर्विस मुझे बहुत पसंद आई. बीएफ हिंदी एक्सकृपया करके अपने सुझाव मुझे मेल जरूर करें और कोई गलती हुई तो क्षमा करें. इंग्लिश बीएफ बीपी वीडियोफिर सोचा भाड़ में जाए सब लोग! इतनी प्रॉपर्टी है, लंड तो मैं ले ही लूँगी।मैं गांव पहुंच गई तो सब बहुत खुश हुए।बहुत दिनों बाद चूत की प्यास बुझवाकर आयी थी इसलिए मैं भी बहुत खुश थी. मतलब करीब एक घंटे तक दोनों भाई बहन एक दूसरे की चूत और लंड चाटते और चूसते रहे थे.

मैंने उसे पीछे से पकड़ा हुआ था तो वह मेरा चेहरा नहीं देख पा रही थी.

कहां से सीखा?मैं- भाभी ये भी कोई सीखने की चीज है! जब सामने आप जैसी परी हो, तो अपने आप हो जाता है. नीतू बोली- आप सिर्फ दीदी की प्यास ही बुझाओगे क्या … हमारी भी बुझा दो. चाची- अब ये मास्टरबेशन क्या है?मैं- ओहो … चाची ये मैं कैसे बताऊं?चाची- वैसे ही, जैसे मैंने तेरा गीलापन देखा था.

अब 12 बज रहे थे, कूपे की लाइट बंद थी और मैं अपने जीजा जी के साथ एक ही कंबल में थी. कृपया करके अपने सुझाव मुझे मेल जरूर करें और कोई गलती हुई तो क्षमा करें. मैंने अपनी गर्दन ‘न’ में हिलाते हुए यामिना को बताया कि फ़लक पढ़ाई-लिखाई में तो बिल्कुल जीरो है बाकी मैं उसे कुछ प्रैक्टिकल ट्रेनिंग देकर तैयार करने की कोशिश करूंगा, शायद बात बन जाये.

रोमांटिक सेक्सी नंगी पिक्चर

यहां निखिल भी मीरा की चुत चाट रहा था और मीरा उसका सर पकड़ कर अपनी जांघों में दबा रही थी. मगर हम एक नहीं हो सकते, उसका कारण तुम भी जानते हो और मैं भी!मैं बोला- कोई बात नहीं, मैं समझता हूं लेकिन अब तो हम साथ हैं न? देखो किस्मत कितनी अच्छी है कि इस वक्त लॉकडाउन चल रहा है और हम दोनों घर में अकेले हैं. चूंकि चाची साड़ी पहनती थीं तो मम्मे बड़े होने के कारण उनका पल्लू ज़्यादा देर तक ऊपर नहीं रह पाता था.

कभी मेरी चुत को किस करते तो कभी मेरी चुत के दाने को अपनी जीभ से चाटते और उसे होंठों से पकड़ कर खींच देते.

कहानी के पिछले भागवासना की आग में रंडी बन गयीमें आपने पढ़ा किआफताब अपनी गाड़ी लेकर शाम को आया, रूपा साहिल को लेकर एक बेग में सारा सामान रखकर, बुर्का डाल कर गाड़ी में बैठ गयी।उसने आफताब से कहा- मुझे बहुत डर लग रहा है.

ये सब मैं बहुत जोर जोर से कर रहा था ताकि भाभी जी जल्दी गर्म हो जाएं और मुझे लंड डालने के लिए खुद ही बोल दें. हमारे ग्रुप में टूर की बात चली तो काफी बातचीत के बाद हम लोगों ने भी फैसला किया कि हम भी टूर पर जाएंगे. हिंदी बीएफ फिल्म सेक्सलेकिन उसकी चूत से अभी भी रस आ रहा था तो मैंने जल्दी से रस को हलक से नीचे गटक लिया।नीतू अभी भी झड़ रही थी इसलिये मैं फिर से उसकी चूत से मुंह सटा कर अमृत पीने लगा। नीतू बहुत देर तक झड़ती रही और मैं उसी तरह उसका रस कई घूंट गटकता गया।थोड़ी देर बाद नीतू पूरी तरह झड़ कर बेसुध हो गई।मैंने भी उसकी जांघों के बीच से अपना सर निकाला और उसकी चूत के पास सर रख कर लेट गया।मेरी कहानी में आपको जरूर मजा आ रहा होगा.

चुदाई का वो प्रेलिमिनरी राउंड ख़त्म होने के बाद हम दोनों कितनी ही देर तक बीते लम्हों का रसास्वादन करते रहे और अपने बेतरतीब धड़कते दिलों को काबू करने का यत्न करते रहे. जीनिया के कहने पर पायल ने कहा- मुझे नॉनवेज तो खाना नहीं है, तुम दोनों चले जाओ. अब मैंने उसे व्हॉट्सैप्प मैसेज किया- आप ही ने फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी थी न … मैंने आपकी फ्रेंड्स रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ली है.

रात में जब मां सोईं, तो मैंने अपनी चड्डी उतार अपना मुठ मां के दूध पर गिरा कर अपना लंड मां के हाथों में दे दिया और सो गया. ममता- लो मां ट्राई कर लो, साईज में कुछ फर्क हुआ … तो भैया से कह कर बदलवा दूंगी.

सादिका ने किंजल की चुदाई की सुनकर अपनी कमर फिर से चलाना शुरू कर दी वो फिर से गर्मा गई थी.

उसी समय उनका लड़का वीरू सिर्फ कच्छे में आ गया और चाची की चूचियां हाथ में लेकर मसलने लगा; फ़िर एक चूची को मुँह में भरकर चूसने लगा. इससे मेरी हिम्मत पूरी तरह से खुल गई और मैं अपनी मौसी को हचक कर पेलने लगा. मैंने मां को अपने लंड की ओर इशारा किया तो मां बोलीं- धत्त पागल, मुझे बहुत काम है.

ब्लू बीएफ वीडियो हिंदी करीब 10 मिनट के बाद अहमद ने चुत में वीर्य भर दिया और मेरे ऊपर गिर गए. [emailprotected]फैंटेसी सेक्स स्टोरी का अगला भाग:मॉम की गदरायी जवानी की काल्पनिक कहानी- 2.

ममता जितना वीर्य पी सकती थी, उतना पी गई … बाकी उसके होंठों के दोनों कोरों से बाहर आ गया. यह दृश्य देखकर मेरी चुत फड़क उठी और मेरा मन दोबारा से सेक्स करने का करने लगा. अब उसकी गान्ड में लन्ड अन्दर बाहर होने लगा और मैं दर्द से चिल्लाती रही.

बूटी सेक्सी वीडियो

दीदी तो लंड लेते ही मानो आपे से बाहर हो गईं, वो दर्द से तड़फ उठीं और बिस्तर की चादर को जोर से पकड़ने लगीं. धीरे धीरे वासना का ज्वर उफान पर आता गया और कुछ ही देर में हम दोनों पूरे नंगे हो गए. मेरी चीर (क्लीवेज) पर टिके मंगलसूत्र को साईड करते हुए सुरजन ने जीभ से चाटना शुरू किया और बोला- साली, जिसका मंगलसूत्र पहना है वो शराबी तो गांडू है, बहुत बड़ा लंड खाने वाला गांडू।मैं बोली- क्या बोल रहे हो तुम ये?वो बोला- हाँ भाभी, वो गांडू है.

शीना जोर जोर से सिसकारियां भरने लगी और अपनी गांड को बेड पर पटकने लगी और आह … आह … ओह … ओह … हम्म … ह्म्म… याह याह करने लगी. मिहिका ने कुछ माल तो गटक लिया पर बाकी का बचा माल उसने उठ कर कमरे से बाहर जाकर थूक दिया.

कुछ देर बाद उसने मेरे लंड को अपने मुँह से बाहर निकाल दिया और मुझसे कहने लगी कि अब बस अब ‘वो …’ करो.

मेरे काफी देर समझाने के बाद वो नार्मल हुई और बोली- आपने भी मेरा दिल तोड़ दिया … अब मैं क्या करूं!मैं रुक गया और उसे दिलासा देते हुए उससे कहा- अच्छा गीत, तुम एक चाय और पिलाओ. ”मामला गम्भीर है लेकिन इसमेँ मैं क्या मदद कर सकता हूँ?”मेरी भाभी से बात हुई है और भाभी चाहती हैं कि जया को तुम्हारे साथ मिलने का मौका दिया जाये, शायद कुछ बात बन जाये. एक रात ऐसे ही मैं खेल कर आने के बाद भाभी के कमरे में कपड़े निकालकर लेट गया था और थकान के चलते मुझे नींद आ गयी थी.

हम दोनों ने भरपूर किस किया और एक दूसरे के मुँह में जीभ डालकर एक दूसरे की लार को पिया. वो मुझे एक मकान में ले गयी और कहने लगी कि तेरे खिलाफ शिकायत आयी है. कहानी के पिछले भागमेरी पुत्रवधू के कामुक जलवेमें आपने पढ़ा कि फटाफट चुदाई के एक दौर के बाद हम ससुर बहू आगरा में ताजमहल देखने चले गए.

मैं- अपना रस आप खुद पीना चाहोगी?चाची कराहते हुए मीठी आवाज में बोलीं- हां पी लूंगी हरामी … मगर जल्दी से मेरी प्यासी चुत में अपना मुँह फिर से लगा.

हिंदी बीएफ 18 साल की: वो जानता था अगर लंड फर्स्ट टाइम सेक्स में इसकी चूत से निकाल लिया … तो ये कभी नहीं चुदवाएगी. पूनम बुआ बाहर बैठक में थीं और बेटा पढ़ाई कर रहा था, जबकि बेटी सो चुकी थी.

उसने मेरे लंड को अपने मुँह में वापस भर लिया ताकि मेरा लंड उसके थूक से गीला हो जाए और उसकी चुत में डालते समय ज्यादा दिक्कत ना हो. बहुत बरस हो गए किसी कच्ची को फाड़े, साली की चूत पर अभी बाल भी नहीं आयें होंगे।चाची बोली- अरे मैंने देखा कहाँ कि उसके बाल आये या नहीं … आप खुद देख लेना. मेरा 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड जो अभी तक सोया हुआ था, वो भी अब अंगड़ाई लेने लगा.

थोड़ी देर तक मैंने मामी जी के होंठों को चूसा, फिर अपने होंठों को अलग कर दिया.

उन्होंने मुझे बांहों में दबोचा और मेरे होंठों को चूमना शुरू कर दिया. साथ ही अपने होंठों को दांतों में भींच कर अपनी गांड को ऊपर की तरफ उछाल कर अपनी चूत को मेरे लंड पटकने लगीं. वो मानी नहीं और मुझसे बोली- मुझे पता है कि मैं तुमको पसंद नहीं हूँ.