बीएफ आपसे

छवि स्रोत,जबरदस्ती गांड मारने वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स सेक्सी वीडियो फिल्म: बीएफ आपसे, क्रीम लेकर उसने अपने लंड के सुपारे पर लगा ली और कुछ मेरी चुत पर लगा दी.

सेक्सी वीडियो बीएफ गांव की

खुद बाहर निकल आया। सड़क पर गाड़ी पार्क करके कैमिस्ट शॉप पर गया। मैंने एक पैक आई-पिल का लिया। इसके अलावा 2-4 डिब्बे अलग-अलग फ्लेवर के कंडोम लिये और वापिस आ गया।मैंने वो सामान उसे दिया और ड्राइवर सीट पर बैठने लगा।वो बोली- ये क्या है?मैंने बोला- बिना कंडोम के तुम्हें 2 दिनों से चोद रहा हूँ. देहाती सेक्सी बीएफ गाने वालीक्योंकि बाहर के देशों में इससे भी कम उम्र की लड़कियां लंड का मजा ले चुकी होती हैं.

मैं भी थोड़ा इठलाते हुए बोला- जान तुमने अपनी चूत को झांटों के बीच छुपाकर रखा है, कहां से देखूँ?नम्रता- ओह सॉरी यार, मैं तो भूल गयी थी, मैंने जिस दिन से मेरे तुम्हारे आज के दिन के मिलन के बारे में सुना, उस दिन से मैं अपनी झांटें बढ़ाने लगी, जिससे मेरी जान मेरी झांट की शेव करके मेरी चूत को चिकनी कर दे और फिर उस चूत को प्यार करे. सेक्स फोटो बीएफ वीडियोकमरे के बीच में टेबल रखी हुई थी जो सोफे सेट पर बैठने वालो के काम आती थी.

कुछ औपचारिक बातें हुई और ट्रेनिंग का दिन खत्म होने पर हम सभी नीचे आ गए.बीएफ आपसे: अचानक मेरे दिमाग में आया कि क्यों न अहमदाबाद जाने का प्लान किया जाए.

फिर अगले दिन फिर से सुबह के ग्यारह बजे हम लोग प्रशिक्षण केंद्र में मिले.अंकल मेरे स्तन मसल रहे थे और मुझे किस कर रहे थे, इस वजह से मेरी कामवासना भड़कने लगी थी.

बीएफ हिंदी सेक्सी स्टोरी - बीएफ आपसे

मैंने उसकी गांड पर थूक उड़ेला, जीभ अन्दर तक चलाने के बाद गांड की ऊंचाई तक खड़ा होकर लंड को उसकी गांड के अन्दर पेल दिया और धक्के मारने लगा.मौसी ने मेरा हाथ अपने पेट पर रख दिया, मैं भी मौसी का इशारा समझ गया.

उधर से आवाज आयी- मेरी रानी तुम्हारी गांड चाटने का मजा आ रहा था, कहां रखी थी अभी तक अपनी इस गांड को. बीएफ आपसे अब मैं अदिति को पूरे वेग से चोद रहा था और अदिति भी अस्स आह उह कर रही थी.

उन्होंने मुझे देखा तो अपने पीछेपीछे आने का इशारा किया लेकिन मैंने इन्कार में सिर हिला दिया.

बीएफ आपसे?

उसके मुँह से निकल रही सांस और हल्की सी मोन की आवाज सुनकर मुझे यकीन हो गया कि ऐसी आवाज वाली लौंडिया तो सोनल ही है. वो इतनी अधिक चुदक्कड़ हैं कि अगर किसी दिन वो ना चुदें, तो उनको चैन नहीं आता था. लेकिन वैभव ने उसके लिए एक शर्त रखी थी … और वो शर्त ये थी कि वैभव खुशी को स्वैपिंग के लिए कह रहा था.

लेकिन अब मैं क्या करूँ? कैसे शांत करूं इसको?जीजा ने मेरी बात का कोई जवाब न दिया. अमीषी ने अपने हाथ मेरे सीने पर रखे और सिर्फ अपनी गांड हिला हिला कर लंड पूरा अन्दर बाहर करने लगी. वो थोड़ा चिहुँकी, लेकिन फिर सामान्य होते हुए उसने उस बर्तन में पानी लिया और गैस ऑन करके उस पर रख दिया.

अब मैं अदिति को पूरे वेग से चोद रहा था और अदिति भी अस्स आह उह कर रही थी. अरे बेटा, तेरी कोई पक्की सहेली होगी न तू उससे बात कर ले और वो तेरे घर पर बता देगी कि वो तुझे पढ़ाई के लिए उधार दे रही है और बाद में ले लेगी. फिर उसकी कुर्ती को पेट की तरफ उठाते हुए मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया.

उसे मेरे मुँह से एडल्ट जोक्स सुनकर बड़ा अच्छा लगता था और वो मुझे धौल जमाते हुए मजा करती रहती थी. गुस्से में आकर मैं मुठ मारने लगा और बोला- मैं भी सो जाता हूं और तू भी सो जा.

अब वो धीरे धीरे मेरे लंड पर कूद रही थीं- आह … राहुल … इसस्स्स … यस … उहह … मजा आ गया … तेरा लंड बड़ा कड़क और मोटा है … मेरी चूत की खुजली मिटा दे मेरी जान.

इंटरव्यू दूसरे शहर में था तो मैं डॉली के साथ वहां चली गयी और सबकुछ ठीक से निपट गया और कुछ दिनों बाद रिजल्ट आया तो मुझे प्रोबेशनरी अधिकारी की जॉब मिल गयी थी.

मैं नम्रता के पीछे आ गया और उसके दोनों चूचों के पीछे से ही अपने मुट्ठियों में कैद करके भींचने लगा. हीना ने हंस कर कहा- उपहार याद है ना सर?मैंने कहा- हां याद है, मैं इंतजार करूंगा कि कब तुम उपहार मांगो. हम दोनों ही करीब आना चाहते थे लेकिन जागृति और मनोज भी साथ में सो रहे थे इसलिए दोनों ही आगे नहीं बढ़ रहे थे.

”धत पगले, ये तो तेरे प्यार की निशानियां ही मेरे जिस्म पे सुन्दरता को बढ़ा देती हैं. मैं सब कुछ भुला कर हवस की भूखी औरत की भांति उसके लिंग का भोग कर रही थी. फिर भाभी ने अपने दोनों पैर फैला कर अपने पैर मेरे पैरों में फंसा लिए, कैंची सी डाल दी, जिससे मेरा लंड भाभी की चूत की गहराइयों में फंस सा गया.

लगता है मुझको तो निचोड़ ही डालोगे … और ठरकी कहीं के! निशा कोई लड़की नहीं है.

आगे की तरफ दो रिंग एक आकार में बड़ी और दूसरी छोटी, जुड़ी हुई थी।मैंने उससे इशारे से लोकेट के बारे में पूछा तो वो उसे हाथों से छेड़ते हुए मुझे बताने लगी- यह तुम्हारी निशानी है मेरे शरीर पर। यह ये बताती है कि मुझ पे बस तुम्हारा अधिकार है। मैं बस तुम्हारे ऑर्डर्स फॉलो करुँगी।वो मुझे बताने लगी कि कैसे बी. जब थोड़ा सा अंधेरा हो गया तो हम लोग पार्क में एक तरफ पेड़ों के पीछे चले गये. पर मैं तुम्हारे मुंह से सुनना चाहती हूँ।जब उन्होंने यह बात बोली तो मैंने भी बिना किसी हिचकिचाहट के कह दिया- आपके बूब्स बहुत मस्त हैं.

अब जरूरत थी तो बस एक अच्छे से मौके की जो भगवान ने बहुत जल्द दे दिया. अंकल जी अपनी दूसरी बात पर भी खरे उतरे और उन्होंने कभी भी मुझसे सेक्स के लिए नहीं कहा. एक हाथ से उसकी चूत को सहलाने लगा और वो फिर से उसी तरह चुदासी हो गई जैसे वो मेरे लंड पर उछल कर हो रही थी.

मैंने भी अपने होंठ खोल कर उनका स्वागत ठीक वैसे ही किया, जैसे मैंने अपनी चुत खोल कर किया था.

पहली बार लंड मुह में लेने से उसे अजीब फील हुआ और उसने अपने पापा का लंड बाहर निकाल दिया. मैंने कहा- क्या देख लिया था?भाभी हँसते हुए बोली- तुम्हें नहीं पता क्या?मैं- नहीँ भाभी, मैं तो यहाँ इसलिये आया था कि मां ने बताया कि बाजार से आपके लिए कुछ सामान लेकर आना है.

बीएफ आपसे उससे चिकन के लिए पैसे मांगे तो उसने अपने ब्लाउज में पैसे रख कर कहा कि निकाल लो. जब भी मैं किसी अच्छे दिखने वाले लड़के की तरफ देखता था तो मेरा ध्यान सबसे पहले उसकी पैंट की ओर चला जाता था.

बीएफ आपसे क्या तेरे पति ने कभी तेरी सेक्सी कामुक निप्पल्स को नहीं मरोड़ा?” रवि बॉस बोला और फिर बड़ी तेज-तेज मरोड़ने लगा. उसने ब्रा दिखानी शुरू कीं तो चाची ब्रा उलटते पलते हुए मुझसे पूछने लगीं- बता न कौन से रंग की लूँ?मुझे ब्रा को लेकर कुछ समझ नहीं आया कि मैं क्या बोलूँ.

उसका सूट काफी गीला हो गया था और मुझे उसके बड़े बड़े बूब्स साफ़ दिख रहे थे.

शिल्पी राज का वायरल वीडियो बीएफ

वसुन्धरा के नितंबों और मेरे हाथ के बीच में वसुन्धरा की लहंगे में फंसी चुनरी का आवरण मात्र था. पहले मैंने चुंबन करने वाली को बांहों में भर लिया और बिस्तर पर लिटाते हुए उसके चेहरे पर नजर गड़ा कर आंखें खोलीं, तो मेरी बांहों में प्रतिभा ही थी, जिसे देखते ही पहली नजर में ही मैंने ख्वाब बुनने शुरू कर दिए थे. मैं भी उसको बालों से पकड़ कर सारा लंड उसके गले तक उतार देता था और तब तक लंड घुसेड़े रहता था, जब तक कि उसकी आंखें बाहर न आ जाती थीं.

एक दिन मैं भैया के घर गयी थी तो उनकी पत्नी किसी पड़ोस की औरत के साथ बाजार चली गयी थी और भैया घर में अकेले थे. मेरा लंड उसकी चुत को छू रहा था और हम दोनों की गर्म सांसें एक-दूसरे के मुँह पर टकरा रही थीं. ‘आह आह ओह राहुल … उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ वो मुझे किस किए जा रही थी.

मैं कविता दुबे … मुझे आप सभी के बहुत सारे संदेश आये, धन्यवाद सभी पाठकों को.

सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र सुर्रर्रर्र … यह आवाज़ सुन के लौड़ा और भी ज़ोरों से अकड़ गया. फिर जिम खत्म होने के बाद जब वो बाहर निकल रही थीं, तब मैं उनके पास गया और उनको सॉरी बोला. ”वसुन्धरा बोली तो कुछ नहीं … अपितु उस के चेहरे पर हल्की सी मुस्कराहट आ गयी.

फिर कुछ दिन बाद निहारिका की शादी भिवानी के पास किसी गाँव में हो गई थी. वो बोलीं- ऐसे नहीं, पहले थोड़ा किस लिया कर … फिर बोबों पर और फिर नीचे जाया कर. आखिरी झटका बड़ा तेज लग गया था, जिससे उसकी चीख निकल पड़ी और दर्द से रो दी.

यह कहते हुए उसने मेरा लौड़ा फिर से अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी. हाय मर जाऊंगा … आआह्ह आआह्ह!रानी ने मेरे होंठ चूसते हुए फुसफुसाते हुए कहा- राजे, माँ के लौड़े … अभी देती हूँ तेरे संड मुसण्ड को इनाम … तूने अमृत पीकर अपनी रानी को बहुत खुश किया … अब से तू अपनी बाली रानी का गुलाम पिल्ला बन के रहेगा.

उसके इस खेल के आगे थोड़ी ही देर बाद मेरे लंड ने हार मान ली और मेरा वीर्य उसके मुँह में गिरने लगा. अंकल के हाथ हटते ही मैंने जोर की सांस ली और अंकल के ऊपर चिल्लाने लगी- अंकल … आप बहुत बुरे हो … मुझे कितना दर्द हो रहा है. उसके ये बोलने तक मेरा एक हाथ उसकी चूची पर पहुंच गया था … लेकिन उसकी बात सुनकर मैं उसको एकदम से छोड़ कर खड़ा हो गया.

थोड़ी देर में गाँड उसको जगह दे देगी और तुमको मज़ा आएगा।रिया- अरे डैड, मैं अपना सब तुमको दे चुकी हूं और साथ में मज़ा लूटना है ना! आआहह … थोड़ी देर बस लण्ड को गाँड में स्थिर रखो फिर खूब चोदना। तुमने तो लंड ऐसे घुसाया कि लंड को गांड से डाल कर मुंह से निकाल दोगे!रमेश- ठीक है साली रंडी, मगर तूने ही मुझे उकसाया था.

इसके बाद उसने मेरी जिप खोली और मेरा लौड़ा अपने हाथों में लेकर हिलाने लगी और फिर उसे अपने मुंह में लेकर चूसने लगी. दादा दादी के जाने के बाद वो जब भी मुझसे बात करतीं, तो मुझसे डबल मीनिंग बात किया करती थीं. दो तीन धक्के बाद शर्मा सर लंड भी अकड़ने लगा और उनका गर्म लावा मेरी चुत की गहराई में गिरने लगा.

लेकिन हम ज्यादा टाइम यह सब नहीं कर सकते थे क्योंकि जगह इतनी भी ज्यादा सेफ नहीं थी. मैं तुम्हारे जिस्म के एक-एक हिस्से को अपनी जुबान में, अपने दिल में और अपने दिमाग में महसूस करना चाहता हूँ.

फिर नीचे की तरफ बढ़ी और पंजे के बल बैठते हुए उसने अपने दोनों हाथ मेरी जांघों पर गड़ा दिए. मैंने हेतल की चूत में उंगली डाल कर तेजी के साथ उसको अपनी उंगलियों से चोदना शुरू कर दिया. मैंने उसे गर्म करके उसके होंठों पर किस किया, तो वो बोली- यार, मैं ये आपके साथ नहीं कर सकती … आप मेरी बेस्ट फ्रेंड के फ्रेंड हो.

सेक्सी बीएफ मूवी फिल्म

उसने मुझे शादी की मुबारकबाद दी और पूछा- अब सारा को क्या कर दिया? थोड़ा आराम से सेक्स किया करो.

इसका गला भी इतना खुला हुआ था कि उसमें से मेरे मम्मों की क्लीवेज साफ़ दिख रही थी. चूँकि वो पोर्न देखती थी, तो उसे अब लौड़े की जरूरत थी … जो उसे आसानी से बिना बदनाम हुए और बिना मेहनत किए घर पर ही मिल सकता था. साली जी का चुदने से प्रथम स्खलन हो रहा था और उनके मुख से अस्पष्ट सी आवाजें आने लगीं थीं.

मैंने थॉमस के लंड के टोपे के ऊपर से उसकी खाल हटाई और मैं अपना मुँह उसके लंड के पास ले गयी. ” मैंने हंसते हुए कहा।और फिर मैं रसोई से दो कप चाय बना कर ले आया। मेरा मकसद उसे सहज (नॉर्मल) बनाने का था।मुझे लगता था उस दिन मोबाइल का लोक ओपन करने के पासवर्ड वाली बात उसे जरूर याद होगी। और मैं तो इस संबंध में कोई जल्दबाजी करने के मूड में कतई नहीं था अलबत्ता पूरी योजना बनाकर ही इस प्रोजेक्ट को पूरा करना चाहता था।पर अभी थोड़ी देर तो सुहाना के प्रोजेक्ट की बात करनी जरूरी थी।लो भई. हिंदी हीरोइन की बीएफ सेक्सीमैंने भी उसके होंठों को अपने होंठों में ले लिया और उसकी जीभ पर अपनी जीभ रख कर उसे अपनी बांहों में लिपेट कर उसकी चूत से निकल रहे रस को महसूस करने लगा.

”और ये अजय, इसका कुछ नाम रखा?”हाँ, कामिनी!”नाम अच्छा है। वैसे इसके उभारों में इम्प्रूवमेंट तो है। हॉर्मोनल दवाइयां सूट कर रही हैं. फिर जब मैं बाथरूम से बाहर आई, तो वंश मुझे देखता ही रह गया मुझे!उसके बाद हम दोनों बातें करने लगे.

फिर चूत से गांड की तरफ, फिर कूल्हों को मसलते हुए कूल्हों को फैला दिया. ऐसा करते करते चूत में लंड कब पूरा चला गया, न पिंकी को पता चला न नितिन को महसूस हुआ. पहले तो मैंने उसकी फांकों के आस-पास जीभ चलाना शुरू किया, फिर फांकों को फैलाकर अन्दर लालिमा युक्त घेरे पर अपनी जीभ चलाने लगा.

उस पर लड़कियों की नंगी तस्वीरों वाली छोटी मैगजीन भी साथ में देखने को मिल जाती थी।बस एक दिन ऐसा ही हो गया. कोई 10-15 मिनट बाद फिर से मेरे हर अंग को चूसने के बाद वो उठा और मेरी सहेली के बेड के दराज में क्रीम देखने लगा. तो उसने बोला- सर आप भी साथ में चलिए न?मैंने बताया- नहीं आप जाइए, मैं आज टिफिन नहीं लाया.

मैं हमेशा चुदने के लिए तैयार रहती थी और मेरे से ज्यादा अमित मुझे हमेशा चोदने के लिए तैयार रहता था.

कुछ देर चूत पर रगड़ने के बाद अनिता मेरे लन्ड को पकड़ कर खुद ही घुसेड़ने लगी. थॉमस मुझे अब तक 35-40 मिनट तक चोद चुका था और मैं भी पूरे जोश में थॉमस से चुदवा रही थी.

वो अपनी सीत्कारों को काबू करने की भरपूर कोशिश करते हुए बोलने का प्रयास कर रही थी. इधर वो बात कर रही थी, उधर मैं उसकी चूत चाट-चाट कर उसे और उत्तेजित कर रहा था. चाची गर्मागर्म सिसकारियां भरने लगीं ‘उहह आहह इसस्स्सस्स …’पूरा कमरा उनकी मादक आवाजों से भर गया था.

”अब चल भाई शाम के 6 बज गए, घर जाता हूँ, रात में मिलते हैं … ठीक 8 बजे ग्राउंड में बेडमिंटन खेलेंगे. नहाने के बाद मैंने चाय नाश्ता किया उनके साथ और फिर मैं मोबाइल में गेम खेलने लगा और वो नहाने चली गई. सच में दोस्तो … जो मजा चूत चटाई में है वो किसी और चीज में नहीं।बीच-बीच में मैं उसकी चूत चटाई को छोड़ कर उसके चूत के दानों को हाथ से सहला रहा था और कभी कभी तो अपनी अंगुलियों को अन्दर बाहर कर रहा था.

बीएफ आपसे खाने के बाद मैं तो अपना मोबाइल लेकर बैठ गया और वो अकेले खाना खाने बैठ गई. मेरे मामा के लड़के को भी समझ आ गया था कि जब वो झगड़ा करते में मेरी चूची दबाता था, तो मुझे भी मजा आता था इसलिए वो जानबूझ कर मेरी चूची बार बार दबाता था.

कुत्ता लड़की की बीएफ

चूंकि मैं स्टॉफ रूम में पहले आ जाता हूँ, सो मैं स्टॉफ रूम में आकर अपने लैपटॉप को खोलकर रिजर्वेशन की डिटेल भरने लगा. उसके बाद हम थका थका महसूस कर रहे थे तो बाथरूम में जाकर गर्म पानी से नहाये. दूसरे दिन नीता से पिंकी ने बताया कि मैंने अपनी वर्जिनिटी समाप्त कर ली है.

वह बहुत हैरान हो गई थी, उसे उम्मीद नहीं थी कि मैं उसके चेहरे पर अपना वीर्य छोड़ दूंगा. फिर उसने मेरी तरफ देखा और शरमाते हुए बोली- हां उसने मेरे दबाए है, पर मैंने उसका न ही देखा है … न छुआ है. बीएफ सेक्सी चुदाई सेक्स वीडियोसोनल उठकर राधिका के पास चली गई और नीचे झुककर अपनी भाभी राधिका की चुत चाटने लगी.

फिर अचानक से उसने अपने दोनों पैर कुतिया की कमर पर लगा कर उसकी बुर को चोदना शुरू कर दिया.

पति- अच्छा चलो, अब फोन रख रहा हूं तुम दिन ब दिन बेशर्म होती जा रही हो, तुम्हारी दो बात सुनकर मेरा भी खड़ा हो गया है. आज ऊपर कोई नहीं है इसलिए डरने की कोई बात नहीं है, आज हम जो भी करेंगे, खुल कर करेंगे.

लेकिन चाची की मदमस्त चूचियों को चूसने और दबाने से मेरा वो दर्द एक मतवाली लज्जत में बदल गया था. किस्मत को भी शायद यही मंजूर था इसलिए दो दिन के बाद भाभी दोबारा मुझसे उसी जगह पर टकरा गईं. मैंने अपने लंड को अपनी बेटी की चूत से बाहर निकालकर पूरा वीर्य उसकी कमर पर डाल दिया और हम दोनों एक दूसरे चिपक गए.

मैंने उससे पूछा- कितना मज़ा आया डार्लिंग?तो सीमा बोली- बहुत ज्यादा यार!सच में हम दोनों को बहुत मज़ा आया था.

वह पीना नहीं चाहती थी, लेकिन मैंने अपने होंठों से उसके होंठों को बन्द करके रखा था. कुछ देर के बाद रमेश जोर जोर से सिसकारने लगा- आह्ह आहाहहा … आआहह … लगता है मुठ आने वाला है. उसने भी मुझे अपनी कुछ फ्रेंड्स के साथ चुदाई का मजा दिलाने का वायदा किया.

मौसी की सेक्सी वीडियो बीएफवो अब थोड़ा कम ऊपर नीचे हो रही थी क्योंकि वो झड़ गयी थीं … लेकिन मैं चालू था. अंकल ने मुझे अपनी बांहों में जकड़ा और अपने होंठों से मेरे होंठ बंद कर दिए.

सेक्सी बीएफ मोटी औरत

तीन चार मिनट चलने के बाद हम लोग घने पेड़ों और झाड़ियों के बीच जा पहुंचे. अब मैं भी जोश में आ गया था, तो मैंने भी उनके बाल पकड़ कर जोर जोर से लंड को भाभी के मुँह में अन्दर बाहर करना चालू कर दिया. शोना भी अब आंखें बंद करके लेटी हुई थी, शायद इंतज़ार करते करते उसकी आंखें लग गयी थीं.

उसके सोने के बाद मेरा मन था तुमको बुलाने का, पर डर था वो जग जाता, तो जो आज मजा मिला, वो भी नहीं मिलता. मैंने पूछा- घोष बाबू में से कैसी गंध आती है?दीपिका- सुबह आपके पास भेज दूंगी, सूंघ लेना. लंड का सारा माल निचोड़कर पीने के बाद भी चाची ने मेरा लंड चूसना नहीं छोड़ा, इसका नतीजा ये हुआ कि मेरा जवान लंड फिर से उनके मुँह की गर्मी पाकर खड़ा हो गया.

उसने लाल रंग की पारदर्शी नाइटी पहन रखी थी जो कि उसके शरीर को छुपा कम और दिखा ज्यादा रही थी।लाल रंग की जालीदार नाइटी के अंदर गोरे रंग की चमड़ी मेरे शरीर में सिरहन पैदा करनी लगी. जब वो मेरे बदन के साथ चिपक कर लगी हुई थी तो मेरे अंदर की हवस और ज्यादा जागने लगी थी. शलाका ने अपनी जांघ मेरी जांघ के ऊपर चढ़ा दी; उसके गाल मेरे गाल से आकर छूने लगे.

कपड़े बदलने जरूरी थे, गीले कपड़ों में मेरी हालात पहले ही पतली हो रही थी. धीरे धीरे हम एक दूसरे से फ़्लर्ट करने लगे और फ़ोन पर भी बहुत बातें करने लगे.

पर मैं तुम्हारे मुंह से सुनना चाहती हूँ।जब उन्होंने यह बात बोली तो मैंने भी बिना किसी हिचकिचाहट के कह दिया- आपके बूब्स बहुत मस्त हैं.

मेरी हरकतों से वो कुछ उत्तेजित होने लगी और मेरे नजदीक आने की कोशिश करने लगी. साउथ बीएफ फिल्मकुछ देर बाद फुद्दी से चिकना पानी निकला, तो मैंने धीरे धीरे करके पूरा लंड उसकी चूत में घुसेड़ दिया और उसे दनादन चोदने लगा. 18 साल की लड़की का सेक्सी बीएफ वीडियोमैं- आपने कुछ कहा नहीं?दीदी- हां मैं उससे बोली कि ये तुम क्या कर रहे हो … पागल हो गए हो क्या? मैं अभी मधु को बुलाती हूँ. चाची बोली- आराम से कर हरामी, इनको उखाड़ने का इरादा है क्या?मैंने कहा- चाची, इनको तो बस पीने का इरादा है.

आप लोगों के मेरी चाची के मेरी ये मदहोश कर देने वाली चुदाई की कहानी पढ़कर कैसा लगा मुझे इसके बारे में अपने विचार जरूर बतायें.

मैं बयां नहीं कर सकता उस वक्त चाची के होंठों का रस पीने में कितना मजा आ रहा था. कस के लिपटने के बाद भी कटि प्रदेश से ऊपर का शरीर आपस में स्लिप होता था. मैंने अपना हाथ थोड़ा और आगे दोनों नितंबों के बीच की दरार की ओर बढ़ाया और पाया कि वसुन्धरा की चुनरी दोनों नितम्बों के बीच में कहीं नीचे वसुन्धरा की पेंटी में अटकी हुई है.

मैं बोला- जिस तरह अपने पति को गांव से शहर ले आई, उसी तरह यहां आ जा. उसे पता था कि मैं पहले किसी से चुदी नहीं हूँ तो वो जल्दबाज़ी नहीं कर रहा था. अब भाभी ने भी अपने दोनों पैर खोल दिए और उनकी चूत रस से सराबोर हो गयी.

देसी बीएफ सेक्सी भोजपुरी

लंड सूंघने के बाद वो मुझसे बोली- शरद तुम्हारे वीर्य में जो नशा है, वही नशा तुम्हारे लंड को सूंघने में भी है. जीजा ने मेरी टांगों को चौड़ी किया और अपना लंड मेरी चूत पर लगाते हुए कहने लगे- बता कैसे लेगी मेरा लंड?मैंने कहा- आशीष, जैसे तुम्हारा मन करे तुम वैसे चोद दो. उसके ऊपर से थोड़ा सा कपड़ा हटा कर उसके बूब्स बाहर निकाल लिया और उसे चूसने लगा और दबाने लगा.

नम्रता मुझसे बोली- यार अब मेरा भी गला सूख रहा है, मुझे भी अब अपना पानी पिला दो.

वो फिर से तड़पने लगी और मेरे होंठों को चूसते हुए मेरे सोये हुए लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी.

बेड पर गुलाब के फूलों की सजावट होती है मगर मेरी शादी के दिन ऐसा कुछ नहीं था. आपको मेरी कुंवारी बुर की चुदाई कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मेल करके ज़रूर बताना. गधे का सेक्सी बीएफमैंने भी उसकी हंसी में साथ दिया और उसको शिमला चलने के लिए हामी भर दी.

मैंने सोचा कि मानसी आज कुछ ज्यादा ही चुदासी हो गई है इसलिए इसकी आवाज भी अलग रही है. दोस्तो, मैं राजवीर महायाराना का दूसरा भाग आपके सामने पेश कर रहा हूं. उसी समय मेरे दिमाग में ये आईडिया आ गया था कि मुझे भी तो लंड चाहिए है … और उसके पापा को चूत … क्यों न हम दोनों एक दूसरे की कमी पूरी कर दें.

उसने रिया को इतने बुरे तरीके से चोदा जैसे कि वो उसकी बेटी न होकर कोई बहुत सस्ती बाजारू रंडी हो. मेरी उंगलियाँ उसकी चिकनी और सफाचट चूत को केवल सहला रही थीं। अब बाल का नामोनिशान नहीं था उसकी चूत पर.

इधर नम्रता ने भी अपने सब्र का बांध तोड़ दिया और उसकी मलाई मेरे जीभ पर गिरने लगी.

मेरी चूत को सूंघने के बाद वो मेरी चूत को पेंटी के ऊपर से ही सहलाने लगा. अबकी बार मेरी चूत को और भी ज्यादा मजा आ रहा था भैया के लंड से चुदने में. 6 इंच का लौड़ा बिल्कुल खड़ा हो चुका था और लोवर के नीचे उसका उभार साफ नजर आ रहा था.

चोरी चोरी वाला बीएफ उस वक्त मेरी उम्र 23 साल है और मेरे चाचा की लड़की, जिसका नाम मेनका है, उसकी उम्र 19 साल की थी. मेरे मामा के लड़के ने मुझे बहुत देर तक चोदा और उसके बाद हम दोनों का पानी निकल गया.

अब जो तू इतना बेसब्री से मेरा इंतजार कर रही है, तो मैं तेरे दोनों छेदों को इतनी बुरी तरह से रौंद दूंगा कि तू जिंदगी भर कभी भी किसी और का भी लौड़ा लेने के लिए सौ बार सोचेगी. माँ सेक्स की इस कहानी में पढ़ें कि मेरे एक दोस्त, जो थोड़ा मंदबुद्धि है, ने कैसे अपनी माँ को चोदा. डॉक्टर जूली बोली- आमिर एक बार मुझे फिर तुम्हारे लंड का मुआयना करने दो ताकि चुदाई की बाद होने वाले फर्क पता चल सके.

सनी लियोन का बीएफ सनी लियोन

उसके बाद थॉमस को मैंने बेड पर लेटा दिया और उसकी शर्ट के सारे बटन खोल दिए. मुझसे कण्ट्रोल नहीं हुआ, तो मैंने उसे झट से लिटा दिया और उसके ऊपर जाके उसकी चूची चूसने लगा. इस बार जब मैं नीचे आती, तो वो अपना लंड और अन्दर धकेल देता और जब मैं ऊपर उठती, तो वो भी पूरा लंड बाहर निकाल देता.

मैं 20 साल का हूँ और मैं आप सभी को आज अपने पहले सेक्स अनुभव के बारे में बताना चाहता हूँ।कहानी शुरू करने से पहले मैं आप सभी को अपनी भाभी के बारे में बताना चाहता हूँ. आखिरकार अपनी टॉप स्पीड पकड़ते हुए अंकल चिल्लाने लगे- आह … नीतू … कितनी टाइट चुत है तुम्हारी … मेरा लंड पूरा छिल गया … अब सब्र नहीं हो रहा … आह … मैं आ रहा हूँ.

मैंने उसके सामने देखा … और हम दोनों एक दूसरे के सामने मुस्कुरा दिए.

जैसे ही पहला दिन ख़त्म होने को आया, तब क्लास खत्म होने के बाद दीपाली ने मुझसे मेरा नाम पूछा. ऐसे ही एक बार में उसके घर गया, तो मैंने देखा कि वो घर में अकेली है. इसी बीच राजेश ने जोर देकर मुझे अपने ऊपर से उतार दिया, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी.

उसके बाद अमीषी एक हफ्ते तक मुझसे नहीं मिली क्योंकि उसकी चूत जख्मी हो गई थी और सूज गई थी, जो उसने पिक क्लिक करके मुझको दिखाई थी. क्योंकि ये मुझे समझ ही गया था कि मीता की चूत बहुत गर्म हो रही है और ऐसी गर्म चूत को वो मरियल सा लड़का सम्भाल नहीं सकता … जल्दी ही ढेर हो जाएगा. हम दोनों ही करीब आना चाहते थे लेकिन जागृति और मनोज भी साथ में सो रहे थे इसलिए दोनों ही आगे नहीं बढ़ रहे थे.

फिर मैंने देखा कि उसने अपनी एक उंगली से चूची पर से मेरा रस उठा कर चाटा भी था.

बीएफ आपसे: मैंने उसे गर्म करके उसके होंठों पर किस किया, तो वो बोली- यार, मैं ये आपके साथ नहीं कर सकती … आप मेरी बेस्ट फ्रेंड के फ्रेंड हो. इतना बोलने के बाद पैकेट खुलने की आवाज़ आई और थोड़ी देर कुछ सुनाई नहीं दिया.

आआआहह … उसके लंड की रगड़ मुझे बहुत हॉट बना रही थी … मैं अपनी आंखें बंद करके उसके लंड को मेरी चूत पर महसूस कर रही थी. मैंने खड़े हो कर उसे बांहों में भर लिया और खड़े खड़े उसके कान के निचले हिस्से को झुमके समेत अपने होंठों में दबा लिया. दीदी बोली- मैं एक बात कहूं, तुम बुरा तो नहीं मानोगी ना!मैं बोली- अरे बोलो न … मैं भला बुरा क्यों मानूंगी.

अब मैंने सुमन को अपनी गोद के ऊपर बुलाया और वो भी अपनी टांगें चौड़ी करके मेरे लंड के ऊपर बैठ गई और सोफे में ही कूद-कूद कर चुदने लगी.

फिर अंकल जी मेरे पास ही आ गए और धीमे से मुझसे बोले- सोनम बेटा, तुझे मेरी कसम है अगर तू नहीं आई तो!अंकल जी की कसम के आगे मैं मान गयी और सोचा कि चलो आखिरी बार मिल लेती हूं; फिर आगे से कभी भी नहीं मिलूंगी चाहे कुछ भी हो. रमेश ने वो पैंटी उसके मुंह में घुसा दी।रमेश ने फिर लण्ड वापस रिया की गांड में घुसा दिया और चोदने लगा। रिया के मुंह में उसकी चूत के रस से भीगी पैंटी थी जिससे उसकी आवाज़ सिर्फ गूं …गूं …. मैंने कहा- तो फिर इधर आइये!और सोफे पर बैठने का इशारा किया, वो बैठ गई तो मैं भी उसके बगल में बैठ गया और बोला- आपने कह तो कह तो दिया कि बेझिझक कह दूं लेकिन मैं कह नहीं पाऊँगा, बाकी आप खुद समझदार हैं.