बीएफ हिंदी वीडियो में दिखाइए

छवि स्रोत,बीएफ चुदाई हिंदी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

मोटी औरत की चुदाई बीएफ: बीएफ हिंदी वीडियो में दिखाइए, मैं और मेरी प्यारी सी फूल जैसी पुस्सी … बेचारे प्यासे ही रह जाते हैं।अब मैंने बोला- अच्छा तो ये समस्या है आपको। अब आप परेशान ना हो मेरी प्यारी सी भाभी … आपकी और आपकी प्यारी सी चूत की बढ़िया मालिश करूंगा मैं!ये बोलकर मैंने भाभी की कमर पर हाथ डाल लिया और उसकी चूची को जोर जोर से पीते हुए दूसरी चूची को अपने हाथ से जोर जोर से दबाने लगा.

बीएफ चाहिए हिंदी वीडियो

कहानी आज से काफी पुरानी है इसलिए जितना मुझे याद है उतना लिख रहा हूं. हिंदी सेक्स बीएफ फुल एचडीउसकी गांड का छेद खुला हुआ ही था, तो उंगली घुसाने में मुझे कोई खास तकलीफ नहीं हुई.

मेरी बुर को भी पेलो न… जल्दी।मैंने कहा- ठीक है मेरी जान, आज मैं तेरी बुर का उद्घाटन कर ही दूंगा. एक्स एक्स एक्स बीएफ ब्लू फिल्म वीडियोउसके इस रिएक्शन पर मैंने उसके मन के विचारों को थोड़ा भांप लिया था, मैं जान गया था कि वो भी मेरे तने हुए लौड़े को ही ताड़ रही थी.

मुझे होश ही नहीं रहा कि कब सर ने परमिशन दी और कब आकांक्षा मेरे ही पास आकर बैठ गयी.बीएफ हिंदी वीडियो में दिखाइए: अगर आपको कहानी पसंद आई हो तो नीचे दी गयी मेल आईडी पर मुझे मेल करके जरूर बतायें.

शकील ने कहा- मामी ने तुम्हारी सारी बात बताई, तुम तैयार क्यों नहीं हो?सुनीता ने कहा- मैं ऐसा नहीं कर सकती.वो चिल्ला उठी- हाय मैं मर गयी … आह्ह्ह आह्ह्ह ऊओह ओह्ह इतना दर्द प्यार में होता है … पता ही नहीं था.

बिहारी बीएफ चुदाई - बीएफ हिंदी वीडियो में दिखाइए

अम्मी यह देख कर हैरान हो गई क्योंकि कभी शकील ने उनकी चूत को नहीं चाटा था.मैंने रुकना उचित नहीं समझा और जोर जोर से अपना लंड उसकी चूत में अन्दर बाहर करने लगा.

इसी के साथ उसने अपने होंठों को खोल दिया और उसी समय मेरी जीभ ने उसके मुँह में हमला कर दिया. बीएफ हिंदी वीडियो में दिखाइए परंतु जब माही को बहुत ज्यादा दर्द होने लगा, तो वो एक बार फिर से चिल्लाने लगी- साले कुत्ते, जान निकालेगा क्या?मुझमें भी जोश आ चुका था.

जब वो आग की रौशनी में मेरे पास आये तो पता लगा कि वो शक्ल से चोर नहीं लग रहे थे.

बीएफ हिंदी वीडियो में दिखाइए?

निशा भाभी ने पूछा- ड्राइविंग के लिए किधर चलना है?मैं- पास वाले ग्राउंड में चलेंगे. फिर मैंने उसे अपने ऊपर से उतारा और उसकी चूत में उंगली डाली … ताकि मैं अपना लंड उसमें घुसाने के लिए जगह बना लूं. ऐसे ही हमारे एग्जाम खत्म हो गए और मैं अपने घर जाने की तैयारी करने लगा क्योंकि अब एक महीने के लिए कॉलेज की छुट्टियां भी हो गई थीं.

इसके बाद मैंने अपने शरीर का सारा भार दी के ऊपर डाला और एक जोर का धक्का लगा दिया. फिर मैंने अपना हाथ मॉम के पेट पर रखा तो मॉम बोलीं- बेटा मुझे यहां से कुछ साफ से दिखाई नहीं दे रहा, सूरज की रोशनी आ रही है. धीरे धीरे अमित मेरे गले की ओर बढ़ने लगा और मेरे निप्पल पे हाथों से सहलाना चालू किया.

नजमा बाजी ने सबको नीचे जाने को बोला तो अम्मी, आसिफा बाजी और नजमा बाजी और मैं और रुबीना वहीं रुक गए. एक तरफ वो मेरे लंड को चूस रही थी और मैं उसके मुंह में लंड को पेल रहा था. मेरी कमर को भैया ने एक हाथ से पकड़ा और मेरी पैंट को एक झटके में खोल दिया.

थोड़ी देर लंड चूसने के बाद मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था तो मैंने बोला- जल्दी से टेबल पर आ जा … मुझे लंड अन्दर डालने दे. भाभी ने आह भरते हुए कहा- आज मुझे खुले दिल से चोद दो पंकज! मैं आज तुम्हारी हूँ.

फिर दो दिन बाद हमारी मैसेज पर बात होने लगी और हम अच्छे दोस्त बन गए.

माँ बहन की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं मेरी बहन के जिस्म का दीवाना था.

फिर एक हाथ उसके नीचे लेजाकर मैं उसकी चूत में उंगली डाल कर उसे चोदने लगा. Teacher Mam Ki Chut Chudaiअब पूरे कमरे में उनकी सिसकारियां गूंज रही थीं, जो मुझे ओर मदहोश कर रही थीं. मैंने गाड़ी रोकी और उनसे पूछा- क्या हुआ मैम, आप यहां क्या कर रही हो?मैम बोलीं- मेरी स्कूटी खराब हो गई है.

वो मेरे कमरे में आई, तो क्या मस्त माल लग रही थी … मैं तो उसे देखता ही रह गया. लगभग साढ़े पांच फिट हाइट, 34 के बूब्स और गांड भी एकदम गदरायी हुई …मैं तो देखकर ही पागल हो गया और मन ही मन सोच लिया कि इसकी तो लेकर रहूँगा. उसने जाते समय दरवाजा उड़का दिया और मैं बिना लॉक किए नंगी ही बिस्तर सो गयी.

अचानक से गांड में लंड पेल देने से एक बार तो यीशा बहुत जोर से चिल्लाई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ फिर शांत हो गई.

मेरी माँ मना कर रही थी; माँ कह रही थी- मत करो ना … यार अब हम कुछ नहीं कर सकते, मेरे बेटा घर पर है। अब तुम जाओ, तुम कल आ जाना, तब हम दोनों पूरी मस्ती करेंगे. हमारी फैमिली का घर से ही व्यापार है, तो बहुत से लोगों का आना जाना लगा रहता था. पिता जी रोज की तरह दारू ले कर आए और मां से चखना और पानी देने के लिए कहने लगे.

एक वक्त के लिए में भूल ही गया था कि मैं शादीशुदा, दो बच्चों का बाप और एक नॉकरीपेशा आदमी हूँ. क्या मस्त लग रही थी मेरी बहन की चुदी हुई चूत! उसकी गांड का छेद भी बड़ा हो गया था, ये साफ पता चल रहा था. फिर उस बच्ची ने मेरी लोअर में पेशाब कर दिया और मुझे वहां बैठने में दिक्कत होने लगी.

मेरी इस बात पर माधवी भाभी तुरंत मान गईं, पर दूसरे ही मिनट में बोलीं- नहीं राज … हमने तय किया था कि तीन दिन तक कोई कपड़ा नहीं पहनेंगे.

प्रिया- आहह हहह हहह सर ऐसे ही कीजिये … मज़ा आ रहा है … आआहह … उह्ह्ह ह्ह हां … और ज़ोर से चोदो न … और ज़ोर से आईईई … सर प्लीज आह … मैं बस तुम्हारी हूं … हां और उह्ह्ह्ह ह्ह ज़ोर से चोद मुझे … उह्ह्ह्ह ह्ह्ह्ह. अब मैंने उसको कुतिया की तरह दोनों हाथ और पैरों पर टॉयलेट तक चलने को कहा.

बीएफ हिंदी वीडियो में दिखाइए कुछ बातें कहने की बजाय लिख कर दिल का बोझ हल्का कर लेना बेहतर विकल्प होता है. लेकिन दूसरी बार खत्मा लगाने से पहले मोनिका ने अपने हाथ से लंड सैट किया और बोली- डालो!मैंने एकदम धक्का दिया और मेरा पूरा लंड मेरी बहन की चूत में चला गया.

बीएफ हिंदी वीडियो में दिखाइए हूर बहुत ही आकर्षक लड़की थी, उसका फिगर 34-28-36 का इतना अधिक मदमस्त था कि जो भी उसको एक बार देख भर ले, मेरा दावा है कि उसका लंड तुरंत खड़ा हो जाएगा और वो मर्द उसको चोदने का मन बनाने लगेगा. बड़ी बुआ मेरे बिस्तर पर चूत पसार कर लेट गईं और मैं उनकी चूत के बाल मशीन से हटाने लगा.

उसका हाथ मेरी लोअर पर आ चुका था और वो मेरे लंड को बार बार दबा रही थी.

प्रियंका भाभी की चुदाई

आज रात को हमें एक ही रूम में सोना था क्योंकि कल शिल्पी और नीता अपनी आंटी के साथ सोयी थी और मैं अंकल के साथ नीता वाले रूम में था।मौका अच्छा था और मुझसे रुका न गया और मैंने नीता को शिल्पी की चुदाई के बारे में कहा. और मैं अपने कमरे में आकर सो गई।अगले दिन सुबह मैं भी सागर के साथ इंस्टिट्यूट आ गयी. उस रात मैंने तीन बार चाची की चूत चोदी और उनको सुबह तक सोने नहीं दिया.

कई बार मैं ऐसा कर चुका था और अब मैं आगे बढ़ना चाहता था क्योंकि जब एक चीज मिल जाती है तो फिर उससे ज्यादा की उम्मीद हो जाती है. जबाव में उसने भी स्माइल की पर उसकी कातिलाना स्माइल में मुझे कुछ गड़बड़ लगी. लंड को चूत पर रखने के बाद मैंने उसकी चूत में लंड को धकेला लेकिन लंड फिसल गया.

वो भी उसके मुँह से सेक्सी आवाज निकलने लगी जिससे मैं और भी जोश में आ गया.

उन्होंने मुझे देख कर स्माइल पास की, तो मैं समझ गयी कि अभी अंकल भी मुझे चोदेंगे. अब मेरा वीर्य छूटने वाला था तो मैंने उनको हटाने की कोशिश की पर वो ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी तो मेरा पानी छुट गया और उनके मुंह में वीर्य चला गया. अब वो छटपटा रही थी लेकिन मैं रूकने वाला नहीं था।वो बेहोश हो गई लेकिन मैं उसे चोदता रहा.

मैं सोच रही थी कि आज संजय अंकल तो है नहीं … तो क्या हुआ … मैं तनिष्क को भी मौका दे देती हूँ. मैंने कहा- आप जवानी में भी ऐसे ही थे क्या?वो बोला- जवानी… जवानी की क्या बात करेगी गुड़िया रानी, जवानी में तो मैंने तेरी मां की चूत की प्यास भी बहुत बार बुझाई है. मैं अन्तर्वासना पर ये माँ बहन की चुदाई कहानी शेयर करना चाहता हूं ताकि आप लोगों की राय ले सकूं.

मैंने मौके का फायदा उठाने की सोची और चाची के ब्लाउज का बटन खोल दिया. भाभी मेरे लंड को मादक निगाहों से घूरने लगीं और अपने होंठों पर अपनी जुबान फेरने लगीं.

कभी कभी किस्मत रहती है तो बहुत ही कच्ची कली भी चोदने के लिए मिल जाती है जो नई नई स्कूल से निकली होती है. अब मेरा लौड़ा सटासट सटासट अंदर बाहर करने लगा।20 मिनट बाद मैंने उसे बिस्तर पर सीधा लिटा दिया और उसकी चूत के अंदर लंड घुसा दिया और गपागप गपागप चोदने लगा।अब चूत लंड का जवाब देने लगी थी और आहह आहह ऊईई ऊईई करके वो अपनी क़मर चलाने लगी थी।उसकी आवाज तेज हो गई और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. अगर कल रात तुम बेड पर सोई थी तो क्या सोफे पर मैंने तेरी बहन को 3 बार चोदा था?इतना बोलकर मैंने जब हंस कर शनाज़ के चेहरे को ऊपर उठाया तो देखा कि मेरी बीवी की आंखों में आँसू थे.

इशा- जीजा जी … आंह … छोड़ो … आप यहां क्या कर रहे हो … और ये सब क्या है?इस बीच राजीव का लंड यीशा की चुत से अलग हो गया था और हवा में एकदम नब्बे डिग्री के कोण में खड़ा था.

फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और अपना हाथ उसकी कमर पर रख कर लंड को चूत में घुसा दिया और उसकी गान्ड को पकड़कर चोदने लगा. थोडे़ देर बाद वो आर पी एफ जवान हमारे कम्पार्टमेन्ट में आया और कम्पार्टमेन्ट का दरवाजा बंद कर दिया. मैंने उनके होंठों से अपने होंठ मिला दिए और उनको लिपकिस करना शुरू कर दिया.

माँ की सुनता हूं तो बीवी नाराज हो जाती है और बीवी की सुनता हूं तो माँ नाराज हो जाती है। क्या करूं … समझ नहीं आ रहा है. अब तो हालत ये हो गए थे कि हम दोनों एक दूसरे से बात किए बिना रह ही नहीं पाते थे.

काफी देर तक कोशिश करने के बाद भी नींद नहीं आई तो मैंने सोचा कि मैं मॉम के रूम में चला जाता हूं. उसकी पैंटी के ऊपर से ही मैं गांड की दरार पर हाथ से दबाव डालकर सहलाने लगा. उन्होंने अपने लण्ड पर ढेर सारा नारियल तेल लगाया और मेरे गांड के छेद पर रगड़ने लगे, फिर एक धक्का मारा लेकिन वो चिकना होने के कारण फिसल गया.

कर्नाटक सेक्स कर्नाटक सेक्स

उसने मेरा सिर पीछे को किया और मेरे गालों पर किस करके मेरे गले को चूमा.

वैसे दोस्तो, मैं बता देता हूँ कि हमारी कपड़ों की बड़ी दुकान है तो उसमें मैं ऊपर वाले फ्लोर पर बैठता हूँ. मैं बोला- पर आपके तो बच्चे हो चुके हैं, तब भी आपकी चूत ढीली क्यों नहीं पड़ी?उन्होंने बताया कि हमारे सारे बच्चे कुछ शारीरिक समस्याओं के कारण ऑपरेशन से हुए थे, इसलिए नीचे की कसावट में फर्क नहीं आया. हम अचानक बाजार में मिले लंबे समय के बाद; तो मैंने इन्हें चाय के लिए घर बुलाया था.

हम दोनों ननदोई सलहज मस्ती से चुदाई कर रहे थे और साथ में एक दूसरे को किस कर रहे थे. कुछ देर बाद वो दोनों मुझे बेड पर ले गए और बारी बारी दोनों ने मेरी चूत और गांड मारी. बीएफ वाला वीडियो चाहिएवो मेरे लंड को किस करने लगी, फिर उसने मेरी आंखों में आंखें डाल कर लंड के सुपारे को अपने मुँह के अन्दर लिया और चूसने लगी.

रात जवान होने लगी थी और हम दोनों ने एक पैग को एक दूसरे के साथ साझा किया फिर टेबल पर रखा खाना खाकर चुदाई की तैयारी करने में लग गए. चाची बस वासना से ओतप्रोत आवाजें निकाल रही थी और मजा लिये जा रही थी.

मगर अबकी बार मैं ज्यादा देर तक होंठों पर नहीं रुका और उसके बदन को जहां तहां से चूमने लगा. इससे सोनिया भाभी एकदम से बौखला गईं और उनकी उत्तेजना अपने शिखर पर आने लगी. मैं समझता था कि मेरी अम्मी एक पतिव्रता औरत हैं, उनकी उम्र अभी 41 साल की है.

फिर मैंने खुद अपने कमीज़ उतार दी और अपनी ब्रा भी।मैंने उसको अपने ऊपर खींचा और उसे अपने बूब्स चूसने का इशारा किया. मैं कुछ देर उसेक ऊपर लेटा रहा और फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया. फिर वापस आ कर बोला- ठीक है, मैं पुलिस स्टेशन जाकर कार का नम्बर दे देता हूं कि ये कार मुझे ठोक कर भागी हुई है.

मैं बहुत से शहर घूमा हूँ, पर पिछले तीन साल से तो गुड़गांव में ही रह रहा हूँ.

थोड़ी देर बाद रुहाना बोली- भाई दर्द हो रहा है लेकिन थोड़ा थोड़ा मजा भी आ रहा है. मेरी यह घटना पढ़ते समय मेरा अनुरोध है सभी पाठक और पाठिकायें भी अपना पुराना ज़माना याद करें और यदि उनके साथ भी ऐसी ही कोई उत्तेजक घटना हुई हो तो उसे मुझे जरूर मेल करें.

पोर्न सेक्स वीडियो में देखते हुए मुठ तो कई बार मारी थी लेकिन असल में चूचियों को पीने का मजा कुछ अलग ही होता है. कभी मेरी जीभ को चूस रही थी और कभी मेरे होंठों को चूस रही थी।मैं गर्म होने लगा था. लेखक की पिछली कहानी:स्विमिंग पूल में दो कोच से चुदीहाय फ्रेंड्स, मेरा नाम माधुरी है.

उसकी बड़ी चुचियां देखकर मुझसे हमेशा से लगता था कि वो किसी से चुदवाती है, पर मैं कभी उसे पकड़ नहीं पाया. एक शाम उसने बातें करते करते मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा तो मैंने कहा कि मुझे कुंवारी लड़कियों में कोई दिलचस्पी नहीं है. सागर ने अपना वीर्य उनकी गांड में ही छोड़ दिया और उनका पैर नीचे करके उनके ऊपर ही लेट गया।अब मामी सागर के बाल सहलाते हुए उसके चेहरे को चूमने लगी और बोली- बहुत मस्त लौड़ा है तुम्हारा! और इतने प्यार से तुमने मेरी गांड मारी कि मुझे बहुत ज़्यादा दर्द नहीं हुआ।सागर भी उनको चूमने लगा.

बीएफ हिंदी वीडियो में दिखाइए मैं भी शनाज़ समझ कर ज़ोहरा आपा की चूची के निप्पल को अपने मुँह में लेकर आपा की जवान चिकनी नर्म चूची का रस पीने लगा. मैं- ठीक है तब सुषमा मादरचोद … अब तू देख … कैसे तुझे रंडियों के जैसे चोदता हूँ.

सन्नी लियोन विडियो

फिर उसके बाद क्या हुआ?रिश्तों में चुदाई की मेरी सेक्स कहानीमेरी आपा की औलाद की ख्वाहिश-1के पहले भाग में आपने पढ़ा कि मेरी बड़ी बहन के निकाह को 6 साल हो चुके थे और उनकी कोई औलाद नहीं हुई थी. मैंने उधर एडमिशन ले लिया, लेकिन मुझे वहां से रोज आना जाना काफी मुश्किल होने वाला था … इसलिए मैं उधर ही एक कमरा किराए पर लेने की सोच रहा था. शांता के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … साब जी … आह्ह … होये … ओह्ह … इतने दिनों बाद चुद रही हूं.

उसके बाद हम काफी दिनों तक नहीं मिल सके थे क्यूंकि उसका पति और बेटा दोनों वापस आ गए थे. कुछ देर बाद उन्होंने मेरे चूतड़ की दरार को ढेर सारा थूक से भर दिया और गांड के छेद में एक उंगली डाल दी. बीएफ वाला वीडियो दिखाएंउसने पूछा- तुम सुबह कहां खो गए थे … जब मैं तुम्हारे कमरे में बुलाने आई थी?इस पर मेरे मुँह से कुछ नहीं निकल रहा था.

मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।फिर मैं झड़ गया और बाजी रुक गई।वो मेरे ऊपर लेट गई।मैंने बाजी को चूमा और हम कपड़े पहनने लगे.

मैंने पूरे नौ महीने तक हॉस्टल में रह कर हर दिन घर की उस वीडियो रिकॉर्डिंग को देखा था और मैं हस्तमैथुन कर लिया करता था. आप नीचे दी गयी ईमेल पर अपने मैसेज भेजें या फिर कमेंट्स में अपनी बात लिखें.

जब तक वो तुम्हें हासिल नहीं हो जाती तो रात दिन, उठते-बैठते बस वो ही खयालों में रहती है. उनकी सिसकारें सुनकर मुझे भी जोश चढ़ने लगा।मैं चूचियों से होते हुए अब हाथ को पेट और नीचे मौसी की चूत के ऊपर तक सहलाने लगा. वो बोलीं- अब नहीं बर्दाश्त होता जी … चोद दो मुझे … चोद कर फाड़ दो अपनी सोनाक्षी की चूत.

अब मैंने खुद को शीशे में देखा, तो मैं खुद को नहीं पहचान पाया कि मैं लड़का हूँ या लड़की हूँ.

इतनी चिकनी चूत होने के बादजूद लण्ड आधा ही घुसा लेकिन मेघा ऐसे चीखी मानो किसी हाथी का लण्ड घुस गया हो उसकी चूत के अन्दर।मैंने किस करते हुए उसकी आवाज रोकी और चोदना जारी रखा. अब तो मुझे खुद पर ही झुंझलाहट हो रही थी कि मैं तो अवनीत को देख देखकर मुठ मारता रहा और वो साला मूल चन्द्र का लड़का मेरी भानजी को चोद कर मजा ले रहा था. मैं बोला- मरवायेगी क्या? शिल्पी और आंटी भी तो है?वो बोली- चाची इस टाइम आराम करती हैं और एक-दो घंटे सो जाती हैं.

सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी दिखाएंये मुझे बिल्कुल भी समय नहीं देते हैं और ना ही मुझसे ठीक से बात करते हैं. अब ज्यादा फोरप्ले का समय तो मेरे पास था नहीं … तो मैंने मीनाक्षी की चूत में अपना किल्ला ठोक दिया.

कुरकुरा कुरकुरा

मैंने अपने धक्के मारने की स्पीड बढ़ा दी और एक हाथ से उसके बोब़े मसलने लगा ताकि उसे भी मजा आने लगे. कुछ देर बाद मैंने भाभी की पैंटी के ऊपर से ही उनकी चुत पर हाथ लगा दिया और चुत को सहलाने लगा. थोड़ी देर बाद मॉम अपनी गांड को मलने लगीं और ये सीन देख कर मैं अपने हाथ की स्पीड बढ़ा रहा था.

उसके दोनों मम्में उछलकर बाहर आ गए। मेरे हाथ कांप रहे थे।जैसे ही मैंने मम्मों को हाथ लगाया तो मुझे अहसास हुआ कि इससे मुलायम चीज दुनिया में कहीं नहीं हो सकती।उसके मम्में एकदम गोल मटोल … दूध जैसे सफ़ेद … तकिये जैसे मुलायम … फुटबॉल जैसे बड़े थे. मगर उनकी फिगर देख कर कोई नहीं कह सकता था कि वो 30 साल से ज्यादा की नहीं हैं. मेरी सच्ची हिंदी सेक्सी चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे बड़े भाई ने छोटी बहन को चोदा.

मुझे वो आफिस वाला लड़का बहुत ही ज़्यादा अच्छा लगा। अब जब भी मैं उसके बारे में सोचती तो मेरी चुत में कुछ होने लगता. मैंने उधर एडमिशन ले लिया, लेकिन मुझे वहां से रोज आना जाना काफी मुश्किल होने वाला था … इसलिए मैं उधर ही एक कमरा किराए पर लेने की सोच रहा था. मैं एक घंटे में आ जाऊंगी, फिर चोद लेना।इतना बोल कर मैं थोड़ी देर के बाद घर से बाहर आ गयी.

उसने बिस्तर को सही किया और मेरे साथ बाहर वाले कमरे में आ गयी।वहाँ पर मैंने अपने कपड़े पहने और उसने अपनी साड़ी और अन्य कपड़े समेट लिए।मैंने उसे वो ब्रा और पैंटी दे दी जो मैं उसके लिए लाया था. मैंने धीरे से कहा- मैं क्यों खाऊंगी?उसने कहा- क्योंकि कीमत वसूले बिना मेरा मुंह बंद नही होता.

रात जवान होने लगी थी और हम दोनों ने एक पैग को एक दूसरे के साथ साझा किया फिर टेबल पर रखा खाना खाकर चुदाई की तैयारी करने में लग गए.

निशा भाभी- ये क्या बोल रहे हो, कोई देख लेगा तो!मैं- कोई नहीं देखेगा. हिंदी बीएफ एचडी सेक्सकपड़े धोने के बाद उन्होंने अपना ब्लाउज खोला, तो उनके 36 साइज़ के चूचे आज़ाद हो गए और इधर उधर फुदकने लगे. गुजराती बीएफ दिखाओउसका कमरा काफी बड़ा था, कमरे के ठीक बीचों-बीच एक राउंड डबलबेड था और चारों तरफ सब कुछ अच्छे से सजाकर रखा हुआ था. मैंने अपने लंड को अंडरवियर से पौंछा और फिर मौसी के मुंह के सामने कर दिया.

शायद रानी ने उसको पहले ही बता दिया था कि वो दोनों क्या करने वाली हैं.

फिर उसने अपने हाथ से पकड़ कर मेरे लंड को खुद ही अपनी चूत के छेद में रख दिया. मेरे शौहर बोल पडे़- कोई लेडीज कांस्टेबल नहीं है क्या?उसने एक थप्पड़ मेरे शौहर को मारा और कहा- लवडे़ के बाल, अब लेडिज कांस्टेबल ढूंढने जाऊं और तब तक तुम दोनों फरार. भाभी- हां … वो थोड़ी देर में ही झड़ जाते हैं और दूसरी तरफ मुँह करके सो जाते हैं.

ऊपर से मैं पिंकी की चूत में जीभ को अंदर तक डाल कर उसकी चूत को जीभ से चोदने लगा था. और जब औरत 30+ हो जाती है तो उसके गर्मी और बढ़ जाती है और अगर वो नहीं निकली तो चर्बी चढ़ने लगती है।मैं- तो पापा को गए हुए तो 12 साल हो गए हैं. मैंने धक्के जारी रखे और अगले कुछ धक्कों में मुझे महसूस हुआ कि जैसे मेरा लंड पूरी तरह से निचोड़ लिया गया हो.

रीता की चुदाई

मैंने उससे दोस्ती करके अपनी गर्लफ्रेंड बना कर उसकी चूत और गांड दोनों को कैसे चोदा?अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज के सभी पढ़ने वालों को मेरा नमस्कार!प्रिय मित्रो और सभी सेक्सी आंटी, लड़कियो भाभियो!अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है, अगर कोई गलती हो तो मुझे माफ़ कर दें।मेरा नाम नीलेश है. फिर मैंने कुछ देर बाद उसे रोककर आराम से बिस्तर पर लिटाया और उसकी कमर के नीचे एक तकिया रखकर उसके ऊपर चढ़ गया. सुनीता ने फोन मिलाया और अपने पति को कहा- मैं आज इकरार के घर पर सो जाती हूं क्योंकि अकेले में मुझे डर लगता है.

कुछ देर बाद अंकल ने अकड़ते हुए एक तेज धक्के के साथ अपना लंड मॉम में मुँह में अड़ा दिया और आह की आवाज करते हुए वो मॉम के मुँह में झड़ गए उन्होंने अपना वीर्य मॉम के मुँह में डाल दिया था.

मैं कजिन को चोद कर खुश था, पर कहीं न कहीं मुझे उसकी कजिन काजल की बड़ी याद आती थी.

फिर भी सेवादार ने हम दोनों को देख लिया था और हमें भीड़ से बाहर निकाल कर मजार के अंदर ले आया. वो चिल्लाने लगी- उई मां मर गई रे … उई भाईजान छोड़ दो … छोड़ दो प्लीज भाईजान आप मेरे सगे भाई हो … आह मर गई मुझे छोड़ दो. xxxसेक्सी वीडियो बीएफमैंने भाभी के सर को लंड से अलग करने की कोशिश की मगर उन्होंने लंड नहीं छोड़ा और वो बदस्तूर लंड चूसती रहीं.

मेरे प्यारे पाठको, आपको मेरी फैमिली सेक्स स्टोरी कैसी लगी?[emailprotected]. मैंने ना में सर हिलाया और उनकी दोनों चुचियों पकड़ कर उनके मंगलसूत्र के अन्दर डाल दिया. मैंने भी जल्दी से अपने कपड़े उतार दिए और अब मैं भी पूरा नंगा ही गया था.

पर लन्ड अंदर नहीं गया तो अभय मेरी बहन को झुका कर उसकी गांड चाटने लगा. अब तो मैं बस चाची की चूचियों पर टूट पड़ा और कभी उनकी एक चूची को तो कभी दूसरी को चूसने लगा, मैं बीच में हल्का हल्का काट भी लेता था जिससे चाची की एक सिसकारी निकल जाती थी.

तो मैंने सोचा कि चलो कोई बात नहीं वह स्कूल तो जाएगी ही मैं बाद में ही ले लूंगा.

तो मैंने भी जबाव में पूछा- हैलो आप कौन?भाभी- मैं सोनिया … पहचाना!मैंने तुरंत उन्हें पहचान लिया और जबाव में उन्हें भाभी जी नमस्ते की. जो मुझे चोद चुके थे, वे भी जब मन होता मुझे बुला लेते और मुझे खूब चोदते हैं. मैंने एक बार मैम की आंखों में झांका, तो मुझे अपने लंड के नीचे एक चुदासी औरत नजर आई जो लंड लेने के लिए मरी जा रही थी.

रवीना टंडन की सेक्सी बीएफ वीडियो तो मामी के मुंह से एक ज़ोर की कामुक सिसकी ‘आहह हह’ मुंह से निकल गयी. कुछ देर बाद मुझे कुछ आराम हुआ, तो सर ने अचानक से एकदम झटका देते हुए लंड को अन्दर ठेला.

पर आज शनाज़ ऐसे अनाड़ी जैसे लंड क्यों चूस रही है?मुझे लंड चुसवाने में मजा नहीं आया तो मैंने अपनी ज़ोहरा आपा के मुँह से अपना लंड निकाला और लंड को सीधा ज़ोहरा आपा की चूत की दरार के बीच में टिका दिया. मैंने किस करते करते ही अपनी पैंट और अंडरवियर को निकाल कर साइड में डाल दिया. मैंने अपनी जीभ को उसकी चुत के छेद में डाल दिया और एक हाथ से उसकी चुत के दाने को सहलाने लगा.

मोनी सेक्सी वीडियो

मैंने मुस्कुरा कर उससे अपने प्यार का इजहार किया और उसको अपनी गोद में उठाकर बाथरूम ले गया. अब मेरी गांड का छेद बड़ा हो गया था, उनका वीर्य मेरी गांड से रिस रहा था. मैं तुझे ऐसे नहीं छोड़ने वाली।मैंने कहा- ठीक है, तेरे लिये तो हमेशा हाजिर हूं मेरी जान।सोने की बारी आयी.

मेरे हाथ स्टेयरिंग पर थे तो कभी कभी भाभी अपने मम्मों को मेरे हाथ के साथ रगड़ देतीं. लेकिन इससे ज्यादा कुछ नहीं होता था और न ही इससे आगे बढ़ने की कभी हिम्मत हुई.

मैंने उठ कर फिर से रात की चुदाई को याद किया और भाभी की सहेलियों की चुत चुदाई मिलने का इन्तजार करने लगा.

एक दिन की बात है, जब मैं और मेरी मां छत पर बिछौना बिछा कर लेटे हुए थे और बातें कर रहे थे. हमारी चुदाई चालू थी और मैं आगे बढ़ाकर भाभी लटकते मम्मों को भी दबा देता, उसकी वजह से भाभी को और जोश आ जाता. मेरा मन करता था कि अपनी गांड में किसी का लंड लेकर चुदवा लूं ताकि वो खुजली मिट जाये.

इसीलिए मैंने इस घटना को आप लोगों के साथ शब्दों के माध्यम से बांटने की कोशिश की है. और उनकी सुनहरी मेहंदी लगी चूत का रस ऐसे लग रहा था जैसे शहद का तालाब हो. [emailprotected]रियल सेक्स स्टोरी का अगला भाग:कजिन की कजिन को चोदा-2.

जब रुका न गया तो मैं एकदम से उठकर बाथरूम की ओर भागा और मैंने उल्टी कर दी.

बीएफ हिंदी वीडियो में दिखाइए: मुझे बड़ा मजा आ रहा था और मोनिका रजाई में मुँह छिपाकर आआआ… कर रही थी. मैं अब यह पक्के तौर पर जान लेना चाहता था कि रात में मैंने शनाज़ की चूत मारी थी या किसी और की … मैंने शनाज़ का हाथ अपने सिर पर रखा और कहा- तू मेरे सिर की कसम खाकर बता कि तू सच बोल रही है?शनाज़ मेरे सिर पर हाथ रखे रखे बोली- आपकी कसम मेरे सरताज … हम दोनों के बीच कल रात एक बार भी सेक्स नहीं हुआ.

वो अपनी चूचियों को मेरे मुँह में देते हुए नीचे से अपनी गांड उठा उठा कर लंड ले रही थीं. थोड़े दिन में मैं एग्जाम के लिए फिर से दिल्ली गई, तो मैंने भाई के साथ खूब मज़े किए. और कुछ ही देर में वो जोर से आह … मम्म की आवाज़ के साथ झड़ गयी और चिल्लाने लगी- कमीने धीरे कर!पर उसके इस तरह के चिल्लाने से मैं और जोश में आ गया और उसके चूतड़ों पर मारते हुए और जोर जोर से चोदने लगा.

जब शाम को मैं रसोई में अकेली थी, तो तनिष्क ने पीछे से आकर मुझे पकड़ लिया.

उसने अपने हाथ से एक बार फिर अपनी चूत में मेरे लंड को टिकाया और लंड को अंदर ले लिया. अचानक मेरी नजर कोने में गई तो मुझे पता चला कि मेरे शौहर कोने से झांक रहे हैं. मैं उसे देखते ही समझ गया था कि इस माल के निप्पल और इसकी चूत दोनों पक्का पिंक कलर की ही होंगी.