ब्लू बीएफ चुदाई वीडियो

छवि स्रोत,कंडोम कैसे पहने

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़की चुदाई सेक्स: ब्लू बीएफ चुदाई वीडियो, उन्होंने मुझको बैठाया और मेरे सामने खड़ी होकर अपनी दो उंगलियों से अपनी चूत को खोलकर कहा- ले देख.

गम भरी शायरी वीडियो में

ऐसा करते हुए मेरा वीर्य निकल जाये और मेरा वीर्य उनके चेहरे पर गिर जाये. नादिया अली सेक्समैंने पूनम से बोला- आपको ब्लैक कलर ज़्यादा पसंद है क्या? जो आप हमेशा ब्लैक कपड़े ही पहनती हो?ये सुन कर पूनम नीचे मुँह करके हंसने लगी और बोली- हाँ मुझे ब्लैक कलर बहुत पसंद है.

थक गयी मैं बुरी तरह से सांस फूल गयी मेरी तो” मेरी रानी ने भुनभुनाते हुए कहा और मुझे परे धकेलने की कोशिश की. देवर भाभी सेक्सी रोमांस वीडियोएक दिन की बात है कि कॉलेज में छुट्टी थी और इस छुट्टी में दिव्या भी घर नहीं गई थी.

मैंने उसके होठों पर अपने होंठ रख कर जोर जोर से किस करना शुरु किया और वापस से एक जोर का झटका दे दिया, इस बार मेरा लंड पूरा उसकी चूत में घुस गया था.ब्लू बीएफ चुदाई वीडियो: मेरा लंड फिर से तैयार हो गया, मैंने उससे उसकी गांड मारने को बोला तो वो मना करने लगी.

इतने मस्त सेक्सी और गोल भरे हुए चुचे मैंने कभी किसी ब्लू फिल्म में भी नहीं देखे थे.मैंने उनसे मज़ाक करते हुए कहा- आप तो काफ़ी शरारती किस्म की औरत हैं.

सेक्सी वीडियो हिट - ब्लू बीएफ चुदाई वीडियो

” उसने खुद से कहा।पर तभी उसे टेबल पर एक कागज़ नज़र आया।अकीरा ने लिखा था:विक्रांत आई लव यू… कल की रात के लिए थैंक्स! मैं अपने प्यार के हाथों ही लड़की से औरत बनना चाहती थी और तुमने यह तोहफा मुझे दिया, इसके लिए बहुत बहुत प्यार। मुझे एक खुफिया मिशन पर जाना था और 6 बजे की फ्लाइट थी.मुझे लगा कि भाभी शायद नाराज़ हो जाएँगी पर उन्होंने बिना कुछ कहे अपना ब्लाउज निकाल दिया.

फिर जैसे ही उसका दर्द कम हुआ, मैंने लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू किया. ब्लू बीएफ चुदाई वीडियो माया ख़ुशी ख़ुशी अपने केबिन में वापस आ गई और घर जाने की तैयार करने लगी.

पहले हमने मेरे लिये बहुत सारी शॉपिंग की उसमें मैंने ज्यादा ब्रा और पैंटी ली, मुझे ब्रा पैंटी बहुत पसंद हैं!रोहण ने मेरे लिये अपनी पसंद की सेक्सी सेक्सी ब्रा पैंटी ली।फिर हमने लंच किया और हम मूवी देखने चले गए!हमने पीछे की सीट ली थी.

ब्लू बीएफ चुदाई वीडियो?

पहले भी पता नहीं क्यों मेरे मन में ऐसे ख्याल आते थे कि मुझे कोई अंकल मिल जाएं तो मैं एन्जॉय करूँ. मैं बोला- बाबू आ तो जाऊंगा, पर मुझसे रुका नहीं जाएगा क्योंकि मेरे नीचे कल ही बुरा हाल हो गया था. या शायद इतने दिनों के बाद मिल रहा था तो शायद मुझे उसका फिगर ज़्यादा ही अच्छा लग रहा था.

बताओ, क्या अगर तुम अपनी बहन के साथ ऐसे रिश्ते नहीं रखते तो क्या कभी समझ पाते कि भाई बहन आपस में क्यों चुदाई करते हैं?रमेश- हाँ, शायद तुम सही कह रही हो. जो ऐसी फ़िल्म देखते हो?तो मैंने कहा- क्या करूँ आंटी… अब मेरी उम्र ही ऐसी है कि इसके बिना गुजारा ही नहीं होता।वो कुछ नहीं बोलीं और बर्तन धोकर चली गईं।उनके जाने के बाद मैं फिर फिल्म देखने लगा. वो भी मेरे चूतड़ों को पकड़ कर अन्दर की ओर धक्का लगा रही थी और हर धक्के के साथ उसकी आहें निकल रही थीं.

पर अब मुझे कहां नींद आने वाली थी, मेरे मन में तो मीतू के बूब्स घूम रहे थे. फिर मैंने पिंकी को कहा कि मैंने उस लड़की को चोदा है, तो वो हैरान रह गई. काफी रात हो गई तो मैंने पूछा- सोना नहीं है आज?तो उसने बताया कि वो ट्रेन में है, लखनऊ जा रही है.

अचानक मेरे लंड ने अपना सारा पानी उनकी गांड के छेद में छोड़ दिया और मैं उनके ऊपर निढाल हो गया. उन्हें भी मज़ा आने लगा था क्योंकि वो जिस तरह मुझे किस किए जा रही थीं, उससे ऐसा लग रहा था मानो मेरे होंठों को पूरी तरह चूस लेना चाहती हों.

rahulउस समय मैं एक प्राइवेट ट्रेनिंग ले रहा था और हमारे उस स्कूल जिसमें मैं पढ़ता था, उसमें हम सभी लड़के लड़कियाँ एक ही साथ ट्रेनिंग करते थे.

इतने पर भी हम दोनों में इतनी हिम्मत नहीं थी कि एक दूसरे को बता सकें कि हम एक दूसरे को प्यार करते हैं.

उनकी बेटियों का नाम भी उसने सुन लिया उनके मम्मी पापा के मुख से कौमुदी और कल्याणी था. दूध जैसी गोरी भाभी सिर्फ काले रंग की चड्डी में बहुत मस्त लग रही थीं. मौसी के कोई बच्चे नहीं थे, शादी को करीब 8 साल हो चुके थे, अंकल एक फैक्टरी में काम करते थे.

मीना ने अपने भाई का लंड मुँह में लेकर पागलों जैसे चूसना शुरू कर दिया. दुबारा में तो आठ दस धक्कों के बाद ही मेरा लंड उनकी चूत के सटासट अन्दर बाहर होने लगा. मेरे मोबाइल में कुछ ब्लू फ़िल्म पड़ी थीं, उन्होंने वो भी देख लीं और मुझसे बोलीं- विशाल तुम ये सब देखते हो?मैंने पूछा- क्या भाभी?वे बोलीं- ब्लू फ़िल्म?मैं हड़बड़ा गया, मैंने सोचा अब क्या बोलूँ और बोला- हां भाभी कभी कभी.

मेरा लंड जो कि रानी की गांड में सैट होने की जुगाड़ में बार बार फुदकने में लगा था.

मंजरी उठ कर गई और बाथरूम में जा कर उसने अपना घागरा भी उतार दिया, पूरी तरह नंगी होकर उसने स्नान किया और बाहर आई. गुस्से में फ़ोन बिस्तर पर पटक कर दीदी बाहर आई और बोली- मेरी सास ने बुलाया है… यहीं शहर में… बोली हैं कि सफ़ेद साड़ी पहन कर आओ. फिर कोई 2-3 मिनट बाद मैंने तीसरे झटके में अपना लंड पूरा अंदर डाल दिया था और अब उसकी सील टूट गयी और खून निकलने लग गया!अब कुछ देर ऐसे ही लेटे रहे जब तक उसका दर्द कम नहीं हो गया, फिर कुछ देर में मैं अपने लंड को हिलाने लगा और ट्रेन की तरह अपनी स्पीड को बढ़ाने लगा अब तो उसको भी मजे आ रहे थे और सिसकारियां ले रही थी.

कामुकता के प्रवाह में काजल बोली- मैं आज बहुत खुश हूँ किमेरे बड़े भाई ने मुझे चोद कर मेरी सील खोलीकाजल उत्तेजना के मारे कुछ भी बड़बड़ा रही थी. अभी मेरी शुरुआत थी इंस्टिट्यूट में तो मैं कोई अपनी इन्सल्ट नहीं कराना चाहता था बल्कि मैं यह देखना चाहता था कि इसका रियेक्शन क्या होगा? यह ही सोच कर ही मैं जाकर मिला तो उसने मुझे पूछा- कहिये आपको किससे मिलना है?तो मैंने जवाब दिया- मैं इंगलिश बोलना सीखना चाहता हूँ, हालाँकि मुझे पढ़ना, समझना और लिखना आता है लेकिन बोल नहीं पाता हूँ. उस की गांड इतनी प्यारी है कि हर कोई बस उसे चोदने के बारे में सोचे और उसके चूचे मानो ब्लाउज से बाहर निकलने को बेताब रहते हैं.

वो मेरी नाइटी को उतार कर ब्रा के ऊपर से ही मेरी मोटी चुचियों को दबा रहे थे.

वो मादक सिसकारियां भरते हुए बोल रही थी- अब नहीं तड़पा राजा भाई… मेरे से रहा नहीं जा रहा है. फिर बहन को बोर्डिंग स्कूल के हॉस्टल में डाला और हम दोनों सूरत के इस घर में रहने लगे.

ब्लू बीएफ चुदाई वीडियो सच बताऊं तो वह भी पूरे मूड में थी, घर से यही सोच कर आई थी कि आज इसका लंड लेकर ही रहूंगी. लेकिन बहूरानी की बातों का अर्थ समझ कर मेरे दिमाग की बत्ती झक्क से जल उठी.

ब्लू बीएफ चुदाई वीडियो माँ और पिताजी कहीं दूर के रिश्तेदार के यहाँ शादी में गए हुए थे, रात को मैं पढ़ाई कर रहा था तो देर से सोया था. मेरा सपना आज पूरा होने जा रहा था और वो अंकल जरूरत से ज्यादा प्यारे थे.

उसने एक दिन लिफ्ट देने के लिए न्यूज़ पेपर में अपनी हैंड राइटिंग से थैंक्स लिखा.

दिल फोटो डाउनलोड hd

हमारे मम्मों की तरफ घूर कर देखते हुए उसने कहा- पैसे तो नहीं चाहिए हमें। बाकी तो आप समझ गयी होंगी।मैंने भी पागलों की तरह शक्ल बनाई और कहा- मतलब?तभी रिया ने मुझे करीब खींचा और ऐसे दिखाया कि कुछ कानाफूसी कर रही है. यह हिंदी सेक्सी स्टोरी कुछ साल पूर्व की तब की बात है, जब मैं गाजियाबाद के एक कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था. लड़का बोला- इसके साथ वाले जागे तो?वो बोली- मैं कह दूंगी टॉयलेट गई है.

ऐसे ही हम दो तीन बार मिले, जब भी मैं दूध को हाथ लगाता वो गुस्सा हो जाती. अब तक मेरा लंड पिंकी की गांड में अपने लिए जगह बना चुका था और मैं जानता था कि पिंकी को जितना दर्द होना था, हो चुका है. शायद उसे मेरी हाजिरी का पता चल गया था इसीलिए उसने पर्दे के सामने थोड़ी स्माइल दी.

बहुत अच्छा लग रहा था, पर मैंने बनावटी ढंग से भाभी को डांटा कि जबरदस्ती मेरा मूड मत बनाओ।भाभी के गाड़ी से उतरते ही एक कातिल मुस्कान के साथ मैं अपनी दुकान पर वापस आ गया।कहानी जारी रहेगी.

मैं फ्राइडे को विजाग से निकला और सुमीना के घर शनिवार सुबह 10 बजे पहुँच गया. अब आगे…अगले दो दिन बाद तनु भाभी की माँ और उसकी बहन (छोटी) आ गये। उन्हें लाने के लिए बस स्टाप पर मैं ही गया था, मुझे पहुँचने में पांच मिनट की देर हो गई, मैंने बस स्टाप में देखा तो बहुत सी महिलाएं इधर उधर नजर आई, पर उनमें से किसी के साथ कोई पागल जैसी लड़की नहीं थी, और ना ही कोई वृद्धा ही नजर आ रही थी. पूजा ने माला की ओर देख कर बाथरूम जाने का इशारा किया, लेकिन माला ने न का इशारा किया तो विकास उसे बाथरूम ले कर चला गया.

फिर थोड़ा संभल कर उन्होंने मुझे पढ़ाना शुरू किया कि रिप्रोडक्शन का हिन्दी में अर्थ होता है प्रजनन. हम दोनों भिलाई स्टील प्लांट के कॉलोनी में रहते थे और बचपन से ही पक्के दोस्त हैं. जब मैंने टांगें चौड़ी कर लीं तो उन्होंने मेरी कई सारी फोटो निकाल लीं.

फिर धीरे से उसने अपना बुर हिलाया तो मैं समझ गया कि अब बुर की चुदाई शुरू करनी है, मैं धक्के लगाने लगा और उसे भी अब मजा आने लगा, उसका एक हाथ मेरे कूल्हों पे था और दूसरे से वो मेरे बालों को सहला रही थी. मैंने भी पंडित जी को एक हजार रूपए अलग से दिए और उनसे कहा कि प्लीज़ किसी को कुछ मत बोलना.

दोस्तो, मैं आपको बता दूं कि साइंस कहती है कि जैसा आंखें देखती हैं, बस मन वैसा जरूर सोचता है तो मुझे पक्का विश्वास था कि मीतू अब चुदने के बारे में सोच रही थी. क्या हमेशा ऐसे ही रहती है?मेरे भैया ने हाँ कहा तो उन्होंने कहा कि इसे थोड़ा मॉडर्न बनाओ तो क़यामत लगेगी. फिर मैंने धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू किये और फिर वो भी मेरा साथ देने लगी.

कुछ देर बाद हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए, मैंने पहले अंजलि की चूत पर पैंटी के ऊपर से ही किस किया, उसमें से हल्की सी खुशबू आ रही थी जो मुझे उत्तेजित करने के लिए काफी थी.

वह रेड कलर में एक वेस्टर्न ड्रेस थी और जैसे हॉलीवुड की हिरोईन पहनती थीं, ऊपर से और पीठ पर पूरी खुली थी मतलब स्लीवलेस एंड बैक लेस, नीचे घुटनों के ऊपर तक. मैंने घिघयाते हुए कहा- मेम जो सज़ा देनी है, दो लेकिन प्लीज़ मॉम को मत बताना. फिर मैंने सरिता से खाने के बारे में पूछा तो बोली- आप खाना तो लाए हो ना.

हम तीनों में से एक शांत हो चुका था। थोड़ा ही सही मगर दिल का सुकून मिल गया जो रात काटने के लिए काफी था।अगली सुबह हम घर आ गये. जब मैं अपने गेट पर गया तब उन्होंने अपनी खिड़की से मुझे एक फ्लाइंग किस किया और होंठ हिला कर ‘आई लव यू.

साथ ही साथ अपने हाथों से रेणुका भाभी के कूल्हों को भी मैं मसल रहा था. मैंने उसकी ब्रा को भी खोल दिया तो अंदर से दो सफ़ेद कबूतर निकले… एकदम गोर और उठे हुए… उसके निप्पल भी उसके होंठों के रंग के थे यानि गुलाबी थे. नी… उम्म म्‍म्माआह…” मैंने लंड डालते ही वापिस स्पीड से चोदना शुरू कर दिया और साथ ही दीदी के कन्धों को हल्के हल्के काटने लगा.

अमेरिका बीपी पिक्चर

कुछ ही पलों बाद मेरी एक चीख के साथ मेरा पानी निकल गया, पर वो अभी भी मेरी चूत को बजा रहे थे.

मैं तो पूरी तरह से अपने भाई की साली के नागे और सेक्सी बदन पर फिदा हो गया था. कुछ देर बाद आंटी चाय लेकर आईं और उन्होंने फिर से फिल्म चलते देखी लेकिन इस बार मैंने टीवी बंद नहीं किया।उस वक़्त फिल्म में लड़की लड़के का लण्ड चूस रही थी।आंटी ने यह देखकर कहा- हाय. रमेश ने काजल की तरफ देखा और पूछा- काजल, तू तैयार है?काजल- भैया, अब मत तड़पाओ प्लीज.

मैं कच्ची उम्र से ही चुदवा रही थी, तो मुझसे चुदाई की आग सम्हाले नहीं सम्भल रही थी. मेरी पिछली कहानीबहूरानी की चूत की प्यासके बारे में मुझे सौ से अधिक ई मेल्स मिले हैं जिनमें अधिकाँश ने मेरे लेखन की प्रशंसा करने के साथ ही उनकी अपनी सेक्स कथा लिखने का अनुरोध किया है; मैं उन सभी प्रशंसकों को धन्यवाद देता हूं और आशा है कि यह लेख सभी के लिए उपयोगी होगा. থ্রি এক্স বিএফलेकिन मैं ऐसे ही लेटा रहा, जब वो थोड़ा शांत हुई मैंने धीरे धीरे लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

पर मजा भी आ रहा था, मैं गांड चलाने लगा, ढीली टाइट… ढीली टाइट…वह बहुत प्रसन्न हुआ, बोला- वाह दोस्त, पुराने खिलाड़ी लगते हो! तुम्हारा दोस्त तो मराने में बड़े नखरे करता है. मेरी मॉम को गांड मराने का भी अनुभव था इसलिए वो धीरे धीरे ‘आहह आअहह.

मयूरी ने अपना गाउन निकाल फेंका और उसके नशीले तनबदन के दर्शन सबको हो गए. [emailprotected]सेक्स कहानी का अगला भाग:भानजी और बेटी की चूत गांड की चुदाई. तो मैंने पूछा- कितना?अंकल बोले- कम से कम एक घंटा!अंकल बोले- तुम्हारा अभी मन है क्या?मैं बोली- ऐसा नहीं है, पर जो आप को ठीक लगे,मैं आपको क्या बोलूं।तभी राजेंद्र अंकल बोले- समझो… बेचारी बहुत चुदासी है, देखो आरती की चूत बह रही है.

जिस तरह से कोई तुम्हारी गर्लफ्रेंड है, वैसे ही वह भी किसी की गर्लफ्रेंड हो सकती है. फिर वो टूट गई- क्या करूँ… पति के पास समय नहीं है, वो अपने काम में लगा रहता है, कभी देखता भी नहीं कि मुझे भी इसकी जरूरत है या नहीं, अपना काम करता है, माल झाड़ कर चलता बनता है. फिर मैं जल्दी से बाथरूम गया क्योंकि तब तक मेरा पजामा पूरा गंदा हो चुका था.

मैं आप सबका थैंक्स करता हूँ कि आपने मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी काफी पसंद की.

हम दोनों भिलाई स्टील प्लांट के कॉलोनी में रहते थे और बचपन से ही पक्के दोस्त हैं. मैंने उसकी बहुत देर तक अपनी जीभ से चुदाई की और फिर कुछ देर बाद हम दोनों ने 69 में आकर दोनों की प्यास बुझाई.

इतनी देर से मैं खुद को शिकारी समझ रहा था, अब मुझे लगा कि शिकार तो मैं हूँ. सन्नी- सर यही तो पंगा है, मैं लड़की की बहुत टेन्शन लेता हूँ… आइ रीयली लाइक हर अमित भाई… लेकिन बात करने से डरता हूँ. उसने मेरी पैंटी उतार दी और मेरी बुर पर हाथ फेर कर कहा- देखो कितनी मस्त छोटी कुंवारी चूत है.

फिर दूसरे एग्जाम में मैं थोड़ा सेक्सी बन के गई तो उन्होंने देखा और कहा- अच्छी लग रही हो. यह सुन कर मेरे दिल में एक लहर चलने लगी और मैं अन्दर ही अन्दर खुश हो रहा था कि आज कुछ कर सकता हूँ. सिमरन सिसकारने लगी और एकदम बिस्तर से उछल पड़ी और मेरे सर को अपनी चूत पर दबाने लगी.

ब्लू बीएफ चुदाई वीडियो थोड़ी देर में काजल का दर्द कम हो गया तो वो अपनी गांड को नीचे से धीरे-धीरे उठा उठा कर रमेश को चोदने लगी. सब फ्रेश होने के बाद नाश्ता करते वक़्त सागर ने मीना को बोला- दीदी, रात को नींद आई ना ठीक से?मीना शर्मा कर नीचे देखने लगी.

राखी पिक्चर

कैमरा जो कि मैंने कमरे में ऐसे एंगल से छुपाया था कि सब कुछ साफ नज़र आ रहा था. मैं अपने बारे में बताता हूँ, मैं 35 साल का शादीशुदा इंसान हूँ और मेरा बदन कसा हुआ है. वो बहुत खुश थीं; उन्होंने मुझे मेरी फीस दी और फिर मैं अपने घर आ गया.

कर…रहा…है…!!?” कहते हुए ममता जी धीरे से फिर से फुसफुसाई मगर तब तक मैंने ममता जी को अपनी बाँहों में भर लिया, मेरी इस हरकत से ममता जी एक बार तो जैसे सहम सी गई, ममता जी को मुझसे इतनी जल्दी इस तरह की हरकत की बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी इसलिये वो‌ बुरी तरह से घबरा गयी थी। डर व घबराहट के कारण कुछ देर तक तो उनके मुँह से आवाज भी नहीं निकल सकी और वो गुमसुम सी हो गयी. इसके बाद भाभी जी से मैं धीरे धीरे खुलने लगा, पहले तो मैं उनके साथ नार्मल बातें ही करता था, फिर धीरे धीरे सेक्सी बातें भी करने लगा. सेक्सी वीडियो बड़ा लंड वालाउसने मेरे लंड को पजामा के ऊपर से ही पकड़ लिया और सहलाने लगी और एक झटके से ही उसने मेरा पजामा खोल कर नीचे गिरा दिया.

फिर जब उसने दुबारा मेरा नाम पुकारा तो मैंने पूरा गेट खोलते हुए कहा- क्यों आई हो यहां?वो मेरे गले लग गई और बोली- मुझे माफ़ क़र दो आर्यन.

और वो लड़के या लड़कियाँ जिन को अपने भाई या बहन को पटाना हैं पर डरते हैं, वो भी मेल के जरिये मुझसे टिप्स ले सकते हैं. मेरा लंड उसकी गांड में फँस गया और वो मेरी तरफ देख देख कर रोने लगीं कि मैं कब उन्हें छोड़ूँगा.

वो फिल्म मैं भाभी के साथ देखूँ, फिल्म देखते हुए हम दोनों एक दूसरे के हस्तमैथुन कर सकें!14. पहले दस मिनट के बाद किसी का भी ध्यान माया की प्रेजेंटेशन पे नहीं था. रोहण मैं दोनों काफी खुश थे।तभी रोहण ने स्पीड बढ़ा दी और वो अपना पूरा माल मेरी चुट में गिराने लगा.

जैसे ही मैं घर पहुँचा, दरवाजा बंद था पर किचन की विंडो थोड़ी खुली हुई थी.

अगर कोई गलती हुई हो तो माफ करना और मेरी कहानी कैसी लगी, मेल जरूर करना. आंटी जी, अब मैं जा रहा हूं, आप आराम से फ्री होकर अपना काम करिए।मैंने आंटी जी के मस्तक में चुंबन करके थैंक्स कहा, तो आंटी भी बोल पड़ी- दर्द सह कर भी जो थैंक्स कहे, उसे ही तो संदीप कहते हैं।और फिर कहा- ठीक है, अब तुम जाओ, पर मुझे तुमसे बहुत सी बातें करनी है, पर अभी शर्म के मारे मुझसे नजरें नहीं मिलाई जा रही हैं।मैं हंसते मुस्कराते वहाँ से लौट आया. वो नीचे से मेरा साथ दे रही थी और ज़ोर ज़ोर से करने को कहे जा रही थी.

टॉप सेक्सतभी बात करते करते मेरा लंड जीन्स के अंदर पूरी तरह से तन गया जिसे उसने अच्छी तरह से देख लिया था क्योंकि टाइट जीन्स में उसका साइज़ भयंकर हो जाता है।वो लड़की थोडा मुस्कुराई और उसने मुझे फीस स्ट्रक्चर समझाया और एक फॉर्म फिल अप करने को दिया. आप लोगों को मैं पुनः बता दूं कि आंटी ने इतने खुले शब्दों का प्रयोग नहीं किया था जितने नग्न शब्दों का प्रयोग मैंने किया था.

जानवर का सेकस

यह सुन कर आकाश ने अपना मुँह बिगाड़ लिया और दुखी मन से मुझे सॉरी बोल कर चला गया. मैं अब उन्हें ज़ोर से चूस रहा था और उसके मुख से अब सिसकारियों की आवाज़ आ रही थी- आअहह उह्ह ह्ह हाँ… और ज़ोर से चूसो, खा जाओ… अह्ह ह्ह्ह मेरी जान… आईई ईईईई… खा जाओ, और ज़ोर चूसो, दबा कर पी जाओ मेरे दोनों बूब्स को… अह्ह आईई. साथ ही हम दोनों किस करते रहे, जब भी मैं ऊपर होता और दीदी नीचे तो दीदी के बूब्स मेरी चेस्ट पर दब जाते और मुझे चेस्ट पर मीठा मीठा अहसास होता.

मम्मी सीधे किचन में आई- आरती क्या हुआ?मम्मी बेसन है और कुछ नहीं मिला, पकौड़े आप बना दो, मेरा थोड़ा सर चकरा रहा है. एक प्रकार से लेकिन सीधे नहीं कहा था बस लेकिन मुझे डर भी लग रहा था कि कहीं दिव्या से बता ना दे. उसके बाद मैं वापिस दिल्ली चला गया और भाभी की चुदाई का सिलसिला जारी रहा.

मैं मेम के मम्मों को बहुत ही प्यार से चूसे जा रहा था और सुष्मिता मेम मज़े लिए जा रही थीं. थोड़ी थकी लग रही हो क्या ज्यादा काम किया क्या?”ही ही ही,,, तुम भी न सविता. उसके निप्पल भूरे कलर के और क़रीबन आधे इंच के होंगे और बिल्कुल छोटे बच्चे की नूनी की तरह थे.

अंजलि दीदी की की चूत मेरी नज़रों के सामने थी जिसको मैं अभी कुछ पला पहले चाट चाट कर गर्म कर चुका था, मेरे चाटने से पूरा चूत लाल हुई पड़ी थी. मेरी बहन सरिता इस तरह उसकी चूत चूसने चाटने से बिल्कुल पागल सी हो गई और ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करने लगी.

वोदका चूत पर डालने से भाभी को वहां थोड़ी जलन भी महसूस हुई लेकिन मैंने अपनी जीभ से चाट चाट कर भाभी की चूत की सारी जलन मिटा दी,भाभी की चुत रो पड़ी और इसके बाद भाभी कामुकता से बोलीं- राजेश प्लीज़ अब मेरे ऊपर आ जाओ… अब नहीं रहा जाता.

मैंने हां कहा और ट्रेन ने अपनी सीट पर बैठ गई और थोड़ी देर बाद सो गई. इंग्लिश पिक्चर ब्लू वीडियोउन्होंने मुझको बैठाया और मेरे सामने खड़ी होकर अपनी दो उंगलियों से अपनी चूत को खोलकर कहा- ले देख. हिंदीxxxwwwअब रमेश और काजल, दोनों भाई बहन बिल्कुल नंगे चुदाई की मुद्रा में थे. एक तो मॉम वैसे ही पूरा दिन बाहर रहती थीं और जब शाम में घर में रहती थीं उस वक़्त उनके साथ बहन ज़्यादा वक़्त बिताती थी.

सच पूछो दोस्तो तो मेरा लंड तो खड़ा होने लगा था अपनी सेक्सी बहन को देख कर! मैंने फटाफट उठते लंड पर कम्बल रख लिया ताकि उस को पता ना चले कि मेरा हीरो सलामी ठोक रहा है.

हां मैं बताना भूल गया, मैं यहाँ से सेक्टर 16 की तरफ जा रहा था तो सोचा देख लूँ कि दिव्या आ गई है या नहीं, पर मैं बहुत भाग्यशाली हूँ. इस सेक्स स्टोरी में अभी तक आपने पढ़ा कि ठरकी ससुर दिनेश ने कामुकता की मारी बहू आरुषि की चूत चोद दी. वो फिर से चीखी, मैंने कोई ध्यान नहीं दिया और उसकी कमर पकड़ के धक्के लगाने लगा.

सिर्फ एक 25-26 साल की लड़की के जो एक रेड कलर की साड़ी में थी, जो बहुत ही कमाल लग रही थी, जिसे देखकर मेरा लंड जीन्स में खड़ा हो गया, मतलब मेरा मन उसे चोदने को करने लगा. मेरी इच्छा है कि मेरी भाभी कभी कभी अपने नंगे बदन पे सिर्फ पारदर्शक सफ़ेद साड़ी बांधें बिना ब्रा और कच्छी के पहने हुए… ताकि जब भी मैं भाभी को देखूँ तो भाभी के बूब्स मुझे साफ साफ दिखाई दें और भाभी के निप्पल भी आसानी से दिखें!8. जो लौंडिया इतनी मुश्किल से फंसी हो, वो इतनी आसानी से थोड़ा ना चुद जाती.

लड़कियों के चुत

मैं उसे सहारा देकर उसके रूम में ले गया जहां उसकी बेटी बहुत चिंतित थी. तभी से मैं उस पर फिदा हो गया थामैं उसको बार बार देखे जा रहा था, ये बात उसने नोटिस की तो उसने मुझे देखा, मैं दूसरी तरफ देखने लगा. मैंने हर रोज सुमन मामी को चोदा और अब जब भी गाँव आता हूं तो सुमन मामी को जरूर चोदता हूंये मेरी दूसरी चुदाई की कहानी है, जो मैंने आपको बताई.

अदिति बेटा तेरे बदन की पोर पोर दुखने लगेगी और बुरी तरह थक जायेगी तू और मेरी तो कमर ही अकड़ जायेगी उठते बैठते.

उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल नज़र आ रहे थे, जैसे उसने अभी कुछ दिन पहले ही चूत की झांटें साफ़ की हों.

शनिवार को जाऊँगी मतलब 4 दिन बाद सन्डे को बुला लो और दुबारा माफ़ी मांगने के लिए 2 दिन बाद मंगलवार को बुला लो लेकिन बुलाना दुबारा तो ऐसे. अब वो भी मेरा पूरा साथ देने लगी थी और मेरे लण्ड को पैंट के ऊपर से ही मसलने लगी और दबाने लगी जो मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था, मैंने पैन्ट खोल कर मेरे लण्ड को बाहर निकाला तो वो पूरी तरह तन चुका था जिसके साथ सोनी खेले जा रही थी. आलिया की सेक्सी पिक्चरजैसे ही मैंने अपना लंड भाभी की चूत से बाहर निकाला तो मेरे लंड के साथ भाभी की चूत से खून भी निकला.

मैं तब 21 वर्ष का था और पिछले एक साल से मैं एक वेबसाइट डेवलप करने वाली कंपनी में मार्केटिंग हेड की पोस्ट पर था. वो मेरे पैरों के पास आकर बैठ गई और मेरा हाथ अपने हाथों में ले कर बोली- आज तक इतने प्यारे और साफ़ तरीके से किसी ने मुझसे नहीं पूछा और कोई मेरी भावनाओं की इज्जत करेगा, मैंने सोचा भी नहीं था. एक दिन मुझे गर्मी लग रही थी तो मैं लुंगी में रह कर ही पढ़ाई और योगा खत्म करके छत पर खड़ा था.

अनुष्का बोली- तू ऊपर बैठ और बता क्या देखना है, आज मैं तुझे सब दिखा दूँगी. वो बहुत खुश थीं; उन्होंने मुझे मेरी फीस दी और फिर मैं अपने घर आ गया.

रिया का वो छोटा सा लंड खडा हो गया था और रिया की पैन्टी में साफ दिख रहा था मेरी सास और रिया दोनों नंगी हो गई थी.

उसने पहले मेरा टॉप उतारा, उसके बाद मेरी जीन्स को धीरे धीरे उतार कर एक तरफ कर दिया. लंड को मेरे टॉप से पोंछ कर बोला- आह इतना सुख दिव्या मादरचोद ने कभी रियल में करने में नहीं दिया जितना आज मिल गया है. मैं अपनी चचेरी बहन की चुदाई करना चाहता रहा था मगर कभी मौका नहीं मिला.

मोटा लंड वाला सेक्सी वीडियो मेरे चूत पर आने पर उसने मुझे पीछे धक्का दिया और टेबल से उतर कर मेरी शर्ट उतारी और पेंट भी उतार दी. कहानी यह है कि तुम इंडियन पत्नी हो ब्रायन तुम्हारा पड़ोसी है जो कि तुम्हारे घर आया है.

और मेरी तरफ मुँह करके बोली- कब तक जरूरत रहेगी लंड की?मैं बोली- सारी उम्र. ओहहह…” मैं पागल हो रही थी, मैं सिर्फ अभी 22 साल की कच्ची उम्र की लड़की हूं अब नहीं बर्दाश्त हो रहा था कि तभी भाभी के पापा बोले- आरती के एक एक अंग को अपनी जीभ से चाटो, अपनी अपनी साइड… मैं गर्दन के ऊपर चाटूंगा. मैंने उसके होठों पर अपने होंठ रख कर जोर जोर से किस करना शुरु किया और वापस से एक जोर का झटका दे दिया, इस बार मेरा लंड पूरा उसकी चूत में घुस गया था.

साइकिल गेम

वैसे तो उनकी सेक्स लाइफ शुरू से ही अच्छी थी, लेकिन पिछले 4-5 सालों में माया की वासना बढ़ने लगी थी. मॉम की बलखाती कमर के नीचे मोटे और बड़े से चूतड़ उसकी खूबसूरती को 100 गुना बढ़ा देते हैं. अगले ही पल मैंने भाभी की चुत में लंड डाल दिया और जोर जोर से चोदने लगा, लेकिन अति उत्तेजना की वजह से मैं 2 मिनट भी टिक नहीं पाया और भाभी की चुत में ही बह गया.

भाभी अब मुझे पकड़ कर नीचे करने लगीं, मैं समझ गया और नीचे भाभी का पेटीकोट उतार कर फेंक दिया. मेरी नज़रें बालकनी से बाहर सड़क पर कुत्ता कुतिया की घमासान चुदाई पर थी, सड़क के किनारे एक कुत्ता बुरी तरह से एक कुतिया को चोद रहा था और फिर थोड़ी देर बाद उसकी चूत में कुत्ते का लंड फँस गया था.

मैंने रिया के मम्मे हल्के से दबाए तो उसके मुंह से एक सेक्सी आह निकल गयी.

मैं भी हिम्मत न हार कर उनसे साफ साफ लहजे में बोलने लगा कि मैंने तो आपको पहले ही बोल दिया था कि मैं आपको प्यार करता हूँ. उसके बाद मैंने उसे सीधा किया और उसके ऊपर आ गया और उसके निप्पल को चूसने लगा. मैंने पूनम से कहा- मूवी देखने चलोगी क्या?पहले तो पूनम ने मना किया, मैंने कहा- पूनम अब आप मेरी वाइफ बनने जा रही हो, अब कोई प्राब्लम नहीं है और यहाँ कोई ऐसा है भी नहीं, जो हम को यहाँ देख कर पहचान जाए और आपके घर कोई बता दे.

थोड़ी देर बाद रवि ने अपना लंड मेरी चुत से निकाल लिया और जाकर सोफे पर बैठ गया. ठीक है मेरी जान, तू भी तो पचास की होने वाली है लेकिन तेरी ये मस्त चूत अभी भी वैसी ही जवान छोरी की तरह है जैसी तीस साल पहले थी” मैंने बीवी को मक्खन लगाया और उनकी चूत में फुर्ती से धक्के मारने लगा. मेरा पाठकों से आग्रह है कि आपको ये देसी कहानी कैसी लगी, कृपया मुझे बताएं.

मैंने उसे चूम कर पूछा- कैसा लग रहा है?उसने मुस्कुरा कर मुझको चूम लिया- बहुत अच्छा लग रहा है.

ब्लू बीएफ चुदाई वीडियो: उन्होंने मेरे लंड को हाथ से पकड़ा और अपनी गांड के छेद पर रखा, मगर छेद छोटा होने की वजह से मेरा लंड अन्दर नहीं गया. ये क्या कर दिया तुमने रवि, अब मैं आनन्द को क्या कहूंगी?”मैं- ज्यादा शानपट्टी मत करो, मैं भी उसी दिन ऐसे ही रो रहा था, पर तुम पर तो आनन्द का भूत ही सवार था.

मैंने ज़्यादा समय न गंवाते हुए उसके चूत पे अपना लण्ड रखा और अंदर डालने लगा. उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल नज़र आ रहे थे, जैसे उसने अभी कुछ दिन पहले ही चूत की झांटें साफ़ की हों. ये सेक्स स्टोरी मेरी एक फ़ेसबुक फ्रेंड सुमीना के साथ की है, जो विजयवाड़ा के पास की एक सिटी में रहती है.

” विक्रांत ने रिप्लाई किया।हा… हा… अच्छा यह बताओ तुम्हारी उम्र क्या है विक्की?”क्यों?”बस ऐसे ही पता तो चले कि कौन है जिसे मैं हॉट लगती हूँ.

मैंने पूछा- तुम यहाँ अकेले ही रहते हो?तो रवि ने कहा- हाँ भाभी जी, मैं यहाँ अकेले ही रहता हूँ. चार बजे है और ये वही ड्रेस है, जो तुमने दिया है दिव्या को मैंने इस ड्रेस के बारे में फोन पर बताया तो उसने कहा कि ‘तुम पहन कर देखो’ तो मैंने पहन ली. पता नहीं विनीत को क्या हुआ, उसने आरजू के कान में कुछ कहा और वो मुस्कुरा दी, ऐसा होने के बाद आरजू ने अपना फेस हमरी तरफ कर लिया और बात करने लगी, अब विनीत उसके पीछे आ गया और उसकी जीन्स को भी उतार दिया और उसकी चूत को किस करने लगा, जिससे आरजू की आवाज़ और ज्यादा आने लगी और वो रीनू से भी बात कर रही थी.