वीडियो बीएफ mp4

छवि स्रोत,ब्लू फिल्म चूत चुदाई वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ जिसमें: वीडियो बीएफ mp4, फिर मैं उसके बूब्स पर हाथ से मसलने लगा और उसकी उफनती जवानी को और तड़पा रहा था.

हिंदी सेक्सी वीडियो चुदाई वाली

तभी बालू बोले- वन्द्या मेरी रानी, तुम्हें मेरी कसम… प्लीज पूरा वीडियो देखिए मेरे साथ!मैं कसम कैसे तोड़ती, आंखें खोल दीं मैंने और देखने लगी, तब लड़की की उसxxx वीडियोमें वो नीग्रो उसकी टांगें फैला कर चूत चाटने लगे और लड़की दो नीग्रो जो बचे थे उनके लन्ड अपने मुंह में बारी बारी से चाटने लगी. छक्कों की चुदाईवो काफी अन्दर तक मेरे लंड को लेने की कोशिश कर रही थी, पर ले नहीं पा रही थी.

वो देख कर तो जैसे मेरे दिमाग़ में एक शरारत सूझी और मैं उनकी पैंटी पर बने हुए हर एक होंठ को अपने होंठों से चूमने लगा. एक्स एक्स एक्स ब्लू सेक्सी फिल्ममुझे समझ आ गया था, मैंने भी मेरी पेंटी मुँह से निकलने में उसकी मदद की.

तभी सामने वाली भाभी के फोन से दिशा का फोन आ गया तो नंगा ही चल के मैंने फोन उठाया.वीडियो बीएफ mp4: मैं उत्तर प्रदेश के आगरा में रहता हूँ। मैंने इस अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज साइट के बारे में अपने कई दोस्तों से सुन रखा था। तो मैंने भी इस साईट पर सेक्सी कहानी पढ़नी शुरू कर दी थी.

मेरा हाथ सीधा मेरी चुत पे चला गया और मैंने अपनी चुत में उंगली शुरू कर दी.जैसे ही उन्होंने मेरा खड़ा लंड देखा, वो देखकर उसको हाथ में लेकर सहलाते हुए बोलने लगीं- आज 3 साल बाद इतने बड़े लंड से चुदाई का मज़ा ही कुछ और होगा.

हिनदि सेकस - वीडियो बीएफ mp4

”मैं चुप रही तो जंपर उतारने के बाद भाई ने शमीज़ भी उतार दी, जिससे मेरी दोनों गोरी-गोरी चूचियाँ नंगी हो गईं, जिसे देख मेरा भाई खुश हो गया और मुझे सीट पर लिटा झुककर एक को मुँह से चूसते हुए दूसरी को दबाने लगा.जैसे मुक्का मारते हैं, वैसे ही समीर मेरे लंड को धीरे धीरे ठोकता रहता था.

और इधर खाली खेत में डरने का नाटक कर रही है रंडी… यहां मेरे अलावा तुझे चोदने कोई भी नहीं आएगा साली. वीडियो बीएफ mp4 दोस्तो, मैं अन्तर्वासना का एक नियमित पाठक हूँ और कई दिनों से अन्तर्वासना पर अपनी कहानी लिखने की सोच रहा था.

और दोनों शादी से पहले ही एक दूसरे के साथ ढेर सारी चुदाई कर चुके थे.

वीडियो बीएफ mp4?

अनामिका- जानू, आज बहुत मजा आ गया।मैं- वो तो हमेशा आता है डार्लिंग… तुम्हारी चुत में इतना मजा है कि जितना मिले उतना कम ही होता है. हम दोनों ने कभी हफ्ते 15 दिनों में उसे बुला कर ऐश करना शुरू कर दिया. उसकी भूख बढ़ गयी थी, वो किसी भी कीमत में चुदने को राजी थी, लिहाजा मेरे आगे उसने हार मान ली और बोल पड़ी- विलियम, फ़क मी… चोदो मुझे… फाड़ दो इस चुत को!मैं एक बार फिर से संजू से विलियम बन कर उसे चोदने लगा.

मैंने उसको दीवार के सहारे झुकाया और उसकी टांगों के बीच से लंड चूत में पेल दिया. और यही मेरी क्वालिटी है कि मैं नाम भले ही भूल जाऊं पर चेहरा कभी नहीं भूलता. इसलड़की का सेक्सपूरा निकाल दे आज!उसे लगा जब पूरी तरह से चुद गई तो बूढ़ा बोला- अब मैडम जी जाने से पहले मेरे लंड को भी चूस लो.

दस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई में मैं थोड़ा थक सा गया था तो मैंने उसे अपने ऊपर आने को कहा. मैं- भाभी मेरे से क्या छुपाना… मैं कोई परायी थोड़ी ना हूं… जो सब को बता दूंगी. यहाँ पर तुम एक ना एक दिन सूली पर चढ़ जाओगी, मेरा मतलब है कि तुमको चुदवा कंपनी के किसी काम से किस क्लाइंट से दिया जाएगा.

इस बार के सेक्स में हमें लगभग 15 मिनट का समय लगा और उस चरम आनन्द की भी प्राप्ति हुई. अब मैंने मेडिकल स्टोर से विटामिन की गोलियां लीं और कुछ सिरप भी ले लिए.

तभी चाचा ने दूसरी बात करते हुए चाची से कहा कि वे खेत के किसी जरूरी काम से शहर जा रहे हैं.

इसके बाद तो वो जैसे ही मौका मिलता, वो हमारे घर आ जाती, मेरी तरफ देखती रहती और मैं भी उसकी तरफ देखता रहता.

जैसे ही उसने बैठ कर अपनी बांहों को पसीना सुखाने के लिए ऊपर को किया. अब आगे:वैसे मन तो एकदम से कसैला हो गया था पर मन की बात शरीर नहीं सुन रहा था, उसे तो बस लंड चाहिये था। राय साहब तब तक मेरे दोनों पैरों के बीच में आकर लंड को फांक में रगड़ने लगे थे चूत का कामरस लंड को पूरे तरीके से भिगो दिया था। सर ने लंड को बुर के गुफाद्वार पर रखा और अंदर ठेल दिया लेकिन उसी समय मैंने अपनी बुर को सिकोड़ लिया और लंड लहराता हुआ बाहर ही फिसल गया. मेरे दोस्तों ने यह बात भांप ली थी और मुझे उसके ठीक आगे वाली सीट पर भेज दिया था.

उसकी गुलाबी जाँघों को देख कर यह अंदाजा लगाना कतई मुश्किल नहीं थाकि बुर की फांक भी जरूर मोटी मोटी और गुलाबी रंग की ही होगी. भाभी के बारे में अभी तक कुछ समझ नहीं आ रहा था क्योंकि उनकी हरक़तों को समझना बहुत मुश्किल था. अब तक आपने पढ़ा था कि कुसुम ने मुझे रंडी बनने की ट्रेनिंग देना शुरू कर दी.

शाम को जब वो पार्क में खेलने जाती तो उसकी चिकनी जांघें देख कर ऐसे लगता मानो संगमरमर के दो तराशे हुए बुलंद स्तम्भ हों.

2-3 मेट्रो स्टेशन ही पार हुए होंगे कि मेट्रो अचानक से झटका खाकर रूक गई और मैं स्लिप होकर भाभी की साइड झुक गया और खुद को सँभालते हुए गलती से भाभी की कमर पर हाथ रख दिया और भाभी ने भी खुद को सँभालते हुए मेरे उस हाथ के ऊपर अपना हाथ रख दिया. मॉम- गांव जाने के लिए बहुत खुश है तू??नवीन- नहीं ऐसी बात नहीं है मालकिन. दीदी अन्दर वाले कमरे में आकर मेरे सामने घुटने के बल बैठ गईं, उन्होंने मेरे पजामे को खिसका कर मेरा लंड बाहर निकाल लिया और उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं.

मैंने दीदी से कहा- दीदी, क्या प्रोग्राम है?दीदी ने कहा- भाई आज की रात को यादगार बनाया जाए, आज हमारी सुहागरात होगी. मैं बता नहीं सकता सिर से लेकर पैरों तक बिल्कुल भीग गयी थी, उसकी ब्रा बिल्कुल साफ़ साफ़ दिख रही थी और मम्मे तो जैसे बाइक पे लग रही झटकों के साथ उछल रहे थे. दीदी बेशर्मी से बोलीं- अभी तक 8 से सेक्स किया है और तुम नौंवे हो जिसके साथ चुदाई करूंगी.

जब मेरा पानी निकालने को हुआ तो मैंने झटके मार मार कर भाभी का मुख चोदन करने लगा.

मैं खुश होती बोली- भाईजान, मेरी सहेली जरीना के भाई ने भी अपनी बहन की जवानी को इसी तरह से चैक किया था, फिर उसकी शादी की थी. सुबह भाबी ने एक टाइट सा टॉप निकाला और मुझे पहनने को दिया, मैंने पहन लिया… ये टॉप पूरा टाइट फिटिंग का था.

वीडियो बीएफ mp4 यहाँ तक कि मुझे ये भी नहीं पता चला कि मेरा हाथ भाभी के मम्मों को कब से टच करने लगा था. मेरी गांड भी फट रही थी कि कहीं अगर वो जाग गई और किसी को कुछ बोल दिया तो मेरा क्या होगा.

वीडियो बीएफ mp4 उससे थोड़ा ताकत के साथ मैं छूटकर हटी, तो वो उतनी ही तेजी से उठा और उसने मुझे गाड़ी से सटा दिया. ये कह कर मॉम नवीन को किस करने लगीं और दूसरी तरफ नवीन के लंड को हिला हिला कर खड़ा कर रही थीं.

लगभग 10-15 मिनट लंड चूसने के बाद वो बोली- तुम लोगों की चुदाई देख कर मेरी चूत में भी बहुत खुजली हो रही है… प्लीज़ जल्दी से मेरी चूत की खुजली को मिटा दो!और नेहा से बोली- तुम डरो नहीं, मैं समझ सकती हूँ तुम्हारा प्राब्लम, तुम चिंता नहीं करो!फिर मैंने अपने लंड से नेहा की सास की जबरदस्त चुदाई की.

बीएफ फिल्म हिंदी में पिक्चर

तो ये थी कहानी मेरी सहेली की!मेरी शादी के बाद क्या हुआ ये तो आपको मैंने लिखा ही था. माल निकलने के बाद मुझे बहुत थकान महसूस हुई और मेरी आंख कब लग गई, पता ही नहीं चला. तभी भाभी मुझसे बोली- वीशु जी, कल मैं और ये राजकोट शादी में जायेंगे तो दिशा घर में अकेली रह जायेगी, इसलिये कल आप सुबह और शाम को समय से खाना खा जाना! ओ के?मैंने हाँ में अपना सिर हिला दिया.

आज मैं भी एक कहानी आप लोगों के सामने बताने जा रहा हूँ जो मेरे जीवन की ही है, उम्मीद करता हूँ कि आप लोगों को मेरी ये कहानी जरूर पसंद आएगी और आप लोग अपना प्यार मुझे ज़रूर देंगे. अब तक मुझे भी मज़ा मिलने लगा था, इसलिए मैं खुद ही भाईजान से मज़ा लेने को बेकरार हो गई. इसके साथ ही मैंने अपने हाथ को नीचे ले जाकर उसकी सलवार को नाड़ा खोलना चाहा.

तब मैंने कहा- शीतल अब अपनी चूत लेकर इसके मुख पे बैठ जा… अपनी चूत चुसवा साली को! तब तक मैं इस माँ की चूत चोदता हूँ।शीतल ने बाल पकड़े मम्मी के और चूत माँ के मुह पे टिका दी और अपनी चूत चुसवाने लगी और मैं मम्मी की चूत में जीभ डाल कर चाट रहा था। शीतल की जवानी पूरी उछाल मार रही थी.

दीदी ने मुँह खोल कर लंड मुँह में ले लिया और गर्दन हिलाकर चूसने लगीं. उन्होंने अपने दोनों हाथों से मेरे गर्दन को मजबूती से पकड़ी हुई थी और मैंने उनकी कमर को।प्रियंका मेरे गाल को अपनी दांतों से पकड़ती हुई तेजी से स्खलित हो गई, उनकी गरमा गर्म चूत के रस का अहसास मेरे लिंग पर हो रहा था. मैं कुछ नहीं बोला तो वो एक पेटीकोट देते हुए बोली- इसी से पौंछ लो… या ये भी मुझसे ही करवाओगे?मैं बोला- आप ही पौंछ दो न!तब मैं बिछावन से नीचे उतरा और मेरी पैंट नीचे सरका दी और भाभी मुझे मजाक में ताने मारते हुए पौंछने लगी.

इसी बीच नवीन ने अपने हाथ बढ़ा कर मॉम के चूचों को पकड़ने की कोशिश कर रहा था. अब मोहन सीधा मेरे ऊपर चढ़ गया और उसने अपना लंबा लंड मेरे मुँह में ठोक दिया. अगर उसको भी चोदना चाहते हो?उसने कहा- जब उसकी बेटी सामने होगी तो वो नहीं आएगी.

हमारे बिहार में छठ पूजा का त्यौहार बहुत अच्छे से मनाया जाता है और बुआ के यहां भी ये पूजा होती है. फिर उसने धीरे से ज़िप खोल दी और अपने दोनों हाथ मेरी कमर के साइड में ले जाकर पेंट को पकड़ कर धीरे धीरे नीचे करने लगी.

हम सभी हक्के-बक्के रह गए!तभी मुझे याद आया कि अंतिम बार मैंने किचन के टीवी पर अपनी पेन ड्राइव लगा कर नताशा को रिया सन की शानदार पोर्न फिल्म दिखाई थी. जैसा मैंने पहले बताया मैंने सत्य नारायण को अक्सर बाहर दूसरे शहर में भेजना शुरू कर रखा था. आज उन्होंने रेड कलर का डीप नेक का सेक्सी सा गाउन पहना हुआ था, जो कमर तक एकदम फिट था और कमर के नीचे थोड़ा सा ढीला सा, बहुत ही ज्यादा सेक्सी लग रहा था.

तभी सामने से एक ट्रक वाला तेज़ी से निकल गया, जिसके कारण उस लड़की का बैलेन्स बिगड़ गया और वो सड़क के किनारे जा गिरी.

अन्नू और डॉली ने मुझे घर में शार्ट पहनने से मना किया हुआ था, तो मैं जॉन अब्राहिम वाली चड्डी में ही घर में रहता था. कहते है जितना गहरा मेहँदी का रंग उतना गहरा प्यार!मैं- पर हमारा प्यार तो सिर्फ कुछ इंच गहराई तक पहुँच सकता है!इतना बोल कर उसके चूत में उंगली डाल दी और वो उचक कर मेरे गले लग गयी. इसके बाद भाभी ने हैंडबैग से छोटी तौलिया निकाली और हम दोनों ने साफ होकर अपने कपड़े पहन लिए.

भाभी का हाथ मेरे लंड पर लगते ही लंड ने मानो लोहे की रॉड का रूप धर लिया था. आपकी भेजी हुई मेल्स से ही मुझे पता चलेगा कि कि आपको मेरी चूत की पहली चुदाई की स्टोरी कैस लग रही है.

मुझे ऐसा लग रहा था जैसे आज ही मेरा जन्म हुआ हो और मैं इस घर की अन्दर की दुनिया को समझने की कोशिश कर रहा हूँ. आप क्या वो यहां पर नौकरी करती हो?उसने बताया कि वो डिस्को की मालकिन है और फिर पूछा कि मैं पहले कहां जाता था. ये देख कर ऋतु की आह निकल गई, क्योंकि मेरा लंड छोटा है करीब पांच इंच लम्बा!फिर वो ऋतु के पास गया और उसके मम्मों को पागल शिकारी की तरह चूसने लगा.

छोटी छोटी लड़कियों की बीएफ पिक्चर

उसके मुंह से ऊँऊँऊँऊँऊँ… ऊँऊँऊँऊँ की ध्वनि निकली- ‘क्या करते हैं… प्लीज़ तंग न करिये ना.

आआहह… आआह… क्या पल था यार… सविता भाबी के मुँह से सिर्फ मादक सिस्कारियां निकल रही थीं. मैंने ऊपर जाकर दादाजी को बताया कि मैं आज अपनी चाची के साथ ही सोऊंगा. जैसे ही पायल भाभी पलंग से उठीं, उसकी नज़र मेरे फूले हुए लोवर पर टिक गई.

पुलिस का नाम सुन के उन लोगों की फटने लगी… उनमें से जो ज्यादा ऐंठ रहा था, वो बोला- हाँ अभी तो जा रहा हूँ, पर किसी दिन तेरी चूत चखने जरूर आऊंगा. मुझे लगा कि बात बन गयी, मैं उस दिन आफिस से जल्दी निकल गया और रात 8 बजे की तैयारी करने लगा, रात 8:30 को बांद्रा में उसके फ्लैट में पहुँच गया।जिया अपने घर में अपनी मेड के साथ अकेली ही रहती थी, उसके पापा पेरिस आते जाते रहते हैं बिजनेस के सिलसिले में तो जिया को पैसे की कोई कमी नहीं थी, वो तो बस मजे के लिए जॉब कर रही थी।मैं उसके फ़्लैट की बिल्डिंग के पास पहुंचा ही थी कि मेरा फोन बज उठा. সানি লিওন এক্স এক্স এক্স এক্স ভিডিওफिर चंदर बोला- मेरी जान बिंदु, जाओ अपनी चुत को साबुन से धोकर ही मेरे सामने आओ और इस पर कोई सेंट भी लगा लेना, जो आपको पसंद हो.

वो बातों में लगी थी, उसका दर्द भी कम हो चला था, तो मैंने मौका देख एक जोरदार धक्का लगा दिया और पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया. वो कोई कीमती दारू की बॉटल फ्रिज से निकाल कर लाया और बोला- अब टांगें चौड़ी कर लो, जैसे डॉक्टर ने किया था.

उसने मेरे अंडर आर्म को चूसना शुरू किया, जो बिना बालों के साफ़ किए हुए थे. फिर उन्होंने अपने धक्कों की रफ़्तार तेज कर दी और अपना पानी मेरी चूत में छोड़ दिया. मेरी पहली कहानीमैं कॉल गर्ल कैसे बन गईलिखी गई थी, जिसे आप सभी ने बहुत पसंद किया था.

मैंने उससे पूछा- ये क्या हो गया तुम्हारे कपड़ों के साथ?वो बोली- जब मैं कोल्ड ड्रिंक डालने के लिए गिलास धो रही थी तो पानी की टोंटी ऊपर से निकल गई. उससे थोड़ा ताकत के साथ मैं छूटकर हटी, तो वो उतनी ही तेजी से उठा और उसने मुझे गाड़ी से सटा दिया. नमस्कार दोस्तो! मैं मिथुन आनंद आप सभी के साथ अपने जीवन की एक अनोखी स्मृति बांट रहा हूँ, इससे पहले मैं बता दूँ कि मैं बिहार प्रान्त का रहने वाला हूँ, मेरी उम्र अभी 22 साल की है, और अभी मेरी शादी नहीं हुई है.

मैं भी चाची के हाथ का नर्म स्पर्श पा कर एकदम से उत्तेजित सा हो गया और मैंने खुद उनके हाथ में अपने हाथ को जब तक बना रहने दिया तब तक चाची ने खुद ही मेरे हाथ को नहीं छोड़ दिया.

उधर भाभी भी अपने को शांत कर चुकी थीं और वे दोनों आपस में लिपट कर सो गए. मैंने पैंटी के ऊपर से ही सेजल भाभी की चुत को चूमा, नमकीन चिपचिपा सा पानी मेरे होंठों पे लग गया.

मगर अबकी बार आंटी होंठों पर किस करने लगीं और मेरा मुँह को दबाकर मेरी जीभ को चूसने लगी, जिससे मुझे भी मस्ती आने लगी. पापा को भी एक चूत की ज़रूरत थी क्योंकि उनकी पत्नी (मेरी माँ) भी संसार छोड़ कर जा चुकी थीं. बड़ी बेरहमी से एक बार फिर मेरी गांड के छोटे से छेद में उसने अपना मोटा लंड पेल दिया.

उस वक़्त मेरी रजामन्दी न देखते हुए वो हट गया और हम लोग वहां से अपने अपने घर आ गए. इसलिए वो मेरे दूसरी ओर रहने वाली औरत से बात कर रही थी कि आजकल जनाब मकान में ही पड़े रहते हैं, निकलते ही नहीं. अब वो एक दिन उन लड़कियों से पूछने लगी कि चुदाई में कितनी तकलीफ़ होगी और फिर कितने पैसे मिलेंगे?इस पर उनमें से एक ने कहा- तेरी चुत तो अभी चुदी भी नहीं है, इसलिए अगर तू कहे तो तेरे लिए में कोई ऐसे लंड खोज देती हूँ, जो तुमको 20000 दे देगा मगर उसके साथ तुमको पूरी रात भर चुदाना पड़ेगा.

वीडियो बीएफ mp4 मैं जाता हम लोग पढ़ाई करते, कुछ हंसी मजाक होता और मैं घर वापस आ जाता, लेकिन कभी उसके साथ कुछ करने की हिम्मत नहीं हुआ. गिरने से लगी चोट को भुला के वो मुझे अपने आलिंगन में समेटे जा रहा था.

रंडी खाना सेक्सी बीएफ

मैं दीदी की गांड चोदने लगा और दीदी भी अपनी मोटी गांड को गोल गोल घुमा कर लंड का मज़ा लेने लगीं. ”आआह… कोमल कितना अच्छा चूसती हो आहह… बॉल्स को चूसने में तो तेरा कोई जवाब ही नहीं… आआहह…”मेरी चूत पानी पानी हो गई… अब अन्दर डालो न. उसके मस्त मक्खन मम्मों को मसलने से मेरी हालत और भी खराब होने लगी थी.

पिछली कुछ मुलाकातों जहाँ बड़े-बड़े लंड वाले लड़कों ने नताशा की गांड की ठुकाई की थी, को याद कर मेरा रोम-रोम ख़ुशी से सिहर उठा और मुझे लगने लगा कि आज की चुदाई भी उसी दिशा में जा रही थी!हाँआआआ… तुझे इसी की जरूरत है! और ऐसे ही चोदूंगा मैं तुझे! लेकिन चिंता मत कर मेरी जान, तेरी गांड इतनी आसानी से नहीं फटने वाली…” आर्थर कुटिल मुस्कान के साथ बोला. मगर तब तक चंदर का लंड फिर से खड़ा हो चुका था और उसने भी बिना टाइम गंवाए मेरी चुत पर हमला कर दिया. एक्सएक्सएक्स वएक दिन मैंने उसे अपनी प्रॉब्लम बताई तो पहले तो वह हँसा और कहने लगा कि मेरे पास तेरे लिए काम है.

मैंने कहा- वो तो गलती से हो गया, अब आप मेरे साथ ये गन्दा काम ना करें, नहीं तो मैं सबको बता दूँगा.

डांस करते हुए रश्मि ने अपनी ब्रा भी धीरे धीरे थोड़े थोड़े मम्मे दिखाते हुए उतार कर फैंक दी और अपनी दोनों बड़ी बड़ी खड़ी चूचियों को अपने हाथों से हिलाने लगी. ? मैं भी बताती हूँ तेरी माँ को और तू भी जा बता दे, मैं भी तेरे सर के साथ तेरे चक्कर का बता दूंगी.

मैंने उसकी ब्रा भी निकाल दी और उसकी चूचियां देख कर मैं हेरान रह गया कि मेरे लड़के को इतनी मस्त लड़की मिली फिर भी चूतिया साला लोंडेबाज़ है. उस दिन मुझे गालियां क्यों बक रहा था?नवीन- हम आपको गालियां नहीं देना चाहते थे. लेकिन इस बार मेरा मुँह उसके मुँह पर जमा हुआ था जिससे वो चीख नहीं पाई.

मैंने दीदी से कहा कि दीदी अभी आप जाओ, फिर कभी आ जाना क्योंकि अभी मुझे ज्योति के पापा ने बुलाया है.

मुझे बाद में पता चला कि उससे दो तीन औरतों ने उससे पैसे ले कर अपनी चूत चुदवा थी और उसको अच्छी तरह से चुदाई सिखा दी. कुछ देर बाद उसकी माँ मेरे कंधे पर सर रख कर सोने लगी, पर कुछ पल ही बीते थे कि फिर पैंट के ऊपर से मेरा लंड को सहलाना शुरू हो गया. फिर उसको पता नहीं क्या सूझी, उसने कवर के साथ ही मेरे चूचकों को काटना शुरू कर दिया.

नंगे सीन दिखाओपरंतु मैंने उसके कंधे पकड़ कर पूरा 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड अन्दर जड़ तक ठोक दिया. बहुत बड़ा मिरर लगा रखा था, जिसमें अपने आप को नंगा नहाते देख सकते हों.

जवान लड़की का बीएफ वीडियो

तब से लेकर मैं और मौसी लगातार फोन पर सम्पर्क बनाए रहे, मौसी ने डेढ़ महीने बाद ही मुझे बता दिया था कि वे पेट से हैं. मैंने कहा- ये क्या कर रही हैं आंटी?आंटी कामुकता से बोली- तू सीधी तरह से मानेगा नहीं, इसलिए आज मैं तेरे साथ जबरदस्ती करूँगी और तुझे पूरा खा जाऊंगी!मैंने कहा- आंटी ऐसा मत करो छोड़ दो. आज भी पायल भाभी का कॉल आता है और मैं उनकी चूत मसाज़ और सेक्स सैटिस्फाइड करता हूँ.

मैंने उनमें से एक बंदी से पूछा- कामिनी नहीं है ऑफिस में?वो बोली- सर उनका प्रमोशन हो गया है, वो तो अब विवेक सर की पर्सनल सेक्रेटरी हो गई हैं. मेरे पापा मुझे बैठाने के बाद मेरे लिए फल, नमकीन, बिस्कुट और पानी खरीद कर के लाये, मुझे देने के बाद वहाँ से चले गए. लेकिन यदि तुम कहोगी कि तुम्हें अच्छा नहीं लगा तो मैं तुम्हें और परेशान नहीं करूँगा!” आर्थर ने अपना जाम ख़त्म करते हुए कहा.

बातों बातों में उन्होंने बताया कि उनकी एक सहेली भी एन्जॉय करना चाह रही है… क्या उनके साथ भी एंजाय करना चाहोगे?मैंने कहा- कोई बात नहीं आप उनको भी बुला लो. बीच बीच में मैं अपनी चुदाई की गति धीमी कर देता ताकि देर तक टिक सकूँ. उस दिन मैं शाम को ऑफिस से घर आया और अपना गेट खोल रहा था कि मैंने देखा पायल अपने गेट के दरवाजे पर चेयर लगा कर बैठी थी.

जब रात का खाना हो रहा था तो चंदर ने मुझे आंख मार कर धीरे से कहा- याद है ना वो…मैंने भी आँख मार कर कहा- हां सब याद है. उधर भाभी भी अपने को शांत कर चुकी थीं और वे दोनों आपस में लिपट कर सो गए.

मैं आगे कुर्सी में बैठ गई और भाभी को चुदते हुए अपनी आंखों के सामने देख रही थी.

इधर जैसे ही दिशा की चूत के दाने पर दीक्षा की जीभ लगी, दिशा ने मेरे लंड के सुपारे की खाल को हटा दिया और मेरे लंड पर अपनी जीभ से चाटने लगी तो मैं भी जन्नत की सैर करने लगा और 10 मिनट बाद मेरे सब्र का बाँध टूट गया. बीपी नंगाअब आगे हमारी मस्तियों को कहानी मेरी जुबानी!मैं और अर्पिता एक दूसरे से बहुत करीब आ गए, रोज़ फ़ोन पे बात होना और विडियो कॉल पर सेक्स करना हमारा प्रिय शगल बन गया था. देवर भाभी की सेक्सी वीडियोफिर मैं धीरे धीरे काटता चूमता हुआ उसकी नाभि पर आ पहुंचा और उसकी नाभि में जीभ डाल कर कुरेदने लगा. कुछ देर बाद उसने अपना हाथ पीछे कर मेरे लंड को पकड़ा और अपनी गांड को हिलाने लगी.

उस रात मैंने उस गर्म भाभी को 3 बार चोदा और मैंने उनका मोबाइल नंबर भी ले लिया.

इसलिए वो मेरे दूसरी ओर रहने वाली औरत से बात कर रही थी कि आजकल जनाब मकान में ही पड़े रहते हैं, निकलते ही नहीं. ’वो झटके से उठीं और जाने लगीं और थोड़ी देर मैं वो रम की बोटल के साथ वापस आईं, मुझे देख कर मुस्कुरा कर बोलीं- नशे को थोड़ा और बढ़ाया जाए मेरे राजा. वो अपने हाथ से अपना ब्लाउज उतार कर बोलीं- हाय, रंग लगाना ही है तो आराम से रंग लगाओ ना.

लगभग 10-15 मिनट लंड चूसने के बाद वो बोली- तुम लोगों की चुदाई देख कर मेरी चूत में भी बहुत खुजली हो रही है… प्लीज़ जल्दी से मेरी चूत की खुजली को मिटा दो!और नेहा से बोली- तुम डरो नहीं, मैं समझ सकती हूँ तुम्हारा प्राब्लम, तुम चिंता नहीं करो!फिर मैंने अपने लंड से नेहा की सास की जबरदस्त चुदाई की. मरीयम मैडम ने रोहित से पूछा- आज कैसे रास्ता भूल गए जो हमारे घर पहुंच गए? और ये किस मेहमान को साथ लेकर आए हो, जिसका लंड मुझे देखते ही बेकाबू हो गया है. अब मंजू एकदम मेरे काबू में थी मानो उससे जो बोलो करवा लो!मैंने मंजू से कहा- जान, तुम उस आदमी से कुछ नहीं बोलोगी क्या?मंजू- फ़क मी… चोदो मुझे… आज बहुत मज़ा आ रहा है! और करो… आह हहहहह ऊऊऊईईई ईईईई!करते करते मंजू मुझे कसती चली गयी और मैंने पूरी गति से उसको चोदना चालू कर दिया.

ब्लू फिल्म सेक्स बीएफ

उसका बस इतना कहना था और उसने मेरी सौतेली मां के सगे बेटे आशीष को बोला- यार, तुम आज बिंदु को सम्भालो, मैं आज इस रंडी को चुदाई का असली पाठ पढ़ा दूं ताकि फिर कभी किसी लंड को चॅलेंज ना कर पाए. दोपहर को वैशाली भाभी मुझको बुलाने हमारे घर पर आईं और हम वहां से मार्केट चले गए. दूसरी बात वहां सिर्फ प्रेमी-प्रेमिका और पति-पत्नी को जाने की अनुमति होती है, भाई-बहन को नहीं.

उसने कहा- अरे क्या कर रहा है? गेट लगा यार… और तू गान्ड में क्यूं नहीं लेगा… तुझे तो बड़ी तलब लगी थी ना लंड की… क्या हुआ… अब ये बम्बू तूने खड़ा किया हे तो इसको शान्त कौन करेगा… चुदाई तो चाहिये अब इसको… बहुत दिन का प्यासा है ये!मैं उसे साफ़ मना करते हुए बाथरूम के गेट के बाहर आ गया.

मुझे भी अच्छा लगा, उसे 69 पोजीशन में ला कर उसकी चूत को चाट कर साफ़ किया.

मैंने चाची को बताया तो बोली- कर दे अंदर ही… बच्चा ठहर गया तो भी खून तो घर का ही रहेगा!मैं थोड़े झटके मार कर चाची की चूत में झड़ गया. उसके पापा एक बड़ी कंपनी में जनरल मैनेजर थे, इसलिए ये सब उनके लिए सामान्य था. एक्सएक्सएनएनएनग़ज़ब की सुन्दर लड़की और वो भी अचानक सामने आए, वो भी नंगी, तो बंदा कितना सहन कर पाएगा?मैं सिग्गी लेने के लिए बाहर निकल गया, सिग्गी पीते वक़्त उनका फोन आया, मैंने नहीं उठाया.

दूसरी अपना प्रोमिस याद रखना, एक बार पूरा डाल कर निकाल लेना!मैं- जी भाभी!मैंने धीरे से धक्का लगाया, भाभी की चूत बहुत टाइट थी, सुपारा अंदर गया, भाभी को थोड़ी दिक्कत हुई,भाभी- देवर जी, आपका बहुत मोटा है!मैं- मैंने बोला था न कि नहीं जाएगा. उनके मुँह से एक लंबी सिसकारी निकली- सईईई… ईईई…फ़िर थोड़ी देर उनके पैर का अंगूठा चूसने के बाद मैं उठा और उनकी ड्रेस को पकड़ कर दोनों टांगों के बीच से काटना शुरू किया. कोमल को पूरा यकीन है कि वो बेटी मेरी ही है हमारे सच्चे प्यार की निशानी!हालांकि अभी तक मैंने अपनी बेटी को देखा नहीं है फिर भी मुझे उम्मीद है कि वो कुछ तो मेरे जैसी दिखती होगी.

मैं- देखो, आज किसी ने तुम्हें मेरे साथ पकड़ लिया तो मैं तुमसे शादी कर लूँगा और नहीं पकड़ा तो ऐसे ही छुप छुप कर हम दोनों चुदाई का मजा लेते रहेंगे. मैंने उसे ऊपर उठाया, उसके होंठों से अभी भी काफी सारा माल बाहर आ रहा था.

मैंने पहले तो उसकी योनि पर धीरे से अपना हाथ रखा और फिर धीरे धीरे अपना पूरा पंजा खोलकर उसकी छोटी सी योनि को अपनी हथेली में भर लिया जिससे उसके बदन ने झुरझुरी सी ली.

मगर मुझे याद आया कि मैं वो सफ़ेद झाग साफ करना भूल गया, कहीं आंटी ने देख लिया तो और घर पर बोल दिया तो खूब बेइज्जती होगी, मगर क्या करूँ… मुझे समझ नहीं आ रहा था. मैं एक खिलौने की तरह से वो सब कर रही थी, जो जो मेरे बेटे का दोस्त मुझे कह रहा था. मैंने एक बार रजाई में से अपना मुँह निकाल कर उसे देखने की कोशिश की, कमरे में बिल्कुल घुप अन्धेरा था इसलिये साफ तो दिखाई नहीं दे रहा था मगर उसका साया नजरा आ रहा था, जो ठण्ड कारण दोहरी हो रही थी। मैं सोचने लगा कि क्यों ना मैं इसे अपनी ही रजाई ओढ़ा दूँ मगर मुझे डर भी था कि कहीं यह मुझे ही गलत ना समझ ले.

জাপানের সেক্স ভিডিও मैं उनको देखता ही रह गया, वो बिल्कुल नंगी थीं, उनका गोरा बदन, गोल गोल चुचियाँ, दायीं चुचि पे काला तिल, कामुक करने वाली पतली कमर और उनकी पानी की वजह से हुई गीली चुत, ये सब देख कर मैं हक्का बक्का रह गया. और मैंने भी धीरे धीरे करके ही लगभग 2 मिनट में पूरी तरह मेरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया.

मैंने ज्योति की चुदास को समझते हुए उससे पूछा- क्या तुम्हारा कोई ब्वॉयफ्रेंड है या नहीं?ज्योति ने ना में जवाब दिया तो मैंने कहा कि कोई ब्वॉयफ्रेंड ढूँढ लो और उसका लंड डलवा लो. मैंने पैंटी के ऊपर से ही सेजल भाभी की चुत को चूमा, नमकीन चिपचिपा सा पानी मेरे होंठों पे लग गया. अब वो ना तो अपने लंड को दबा सकता था और ना ही उसे खड़ा होने से रोक पा रहा था.

बीएफ वीडयो

मेरी किस्मत भी क्या है, जिसके लिए यह सब किया, वो ही मुझे आज चोद रहा है. मैंने कहा- क्यों न कहूँ तुम्हारे कुंवारे होने का सबूत कहां है? अगर तुमने उससे चुदवाया है तो मुझे बताना ही पड़ेगा क्योंकि कल को किसी को पता चला और सब जानेंगे कि मैंने सब कुछ जानते हुए भी नहीं बताया तो मैं तो यूं ही फंस जाऊंगा ना!वो बोली- पर जीजू मैंने कुछ नहीं किया है. मेरी चूत और गांड को छोड़ के वो हर तरह से मेरे शरीर के जरिये अपने लंड को वो तसल्ली दे लेना चाहता था.

फ़िर पता नहीं उनको क्या हुआ, उन्होंने धक्का देकर मुझे बेड पे गिरा दिया. उसके पति सत्येन को कस्टमर सर्विस के नाम पर बार बार दूसरे शहरों में भेजना शुरू किया दो से पांच दिनों के लिए.

यह खेल प्रशांत का ट्रांसफर होने के बाद ही रूका।प्रशांत और नीना चुदाई के बाद की कहानी मैं कभी शेयर करूँगा।इसी तरह जब मैंने नीना के साथ मिलकर थ्रीसम में अपने बचपन के दोस्त अमित का 8” का मस्त लंड शेयर किया तो नीना की बल्ले-बल्ले हो गई.

हम दोनों ही सीधे शावर के नीचे चल दिए और गर्म भाम्प वाला शावर बाथ लेकर ही बाहर आए. दोपहर को वैशाली भाभी मुझको बुलाने हमारे घर पर आईं और हम वहां से मार्केट चले गए. करीब ढाई-तीन घंटे बाद मैं वापस आया तो हॉस्पिटल में बिलकुल सुनसान माहौल था.

मैंने धीरे से अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा और उसका हाथ हटा दिया, क्योंकि मैं अपने घुटनों पर था, हालांकि मैंने एक तकिया अपने घुटनों के नीचे रखा था ताकि हाईट सैट हो जाए और घुटनों को भी दर्द न हो. फिर इसी तरह की कुछ और डबल मीनिंग बातें हुई; मैंने उस की प्रोबलम सॉल्व की और वो चली गई. कमरे में फच्च्च्च्च फच्च…” के साथ साथ आहहह… आहहह…” की आवाजें भरने लगीं.

मैंने पूछा- अन्दर पेंटी नहीं पहनती हो क्या?वो बोली- पहनती हूँ, पर आपने जब दरवाजा खटखटाया तो जल्दबाजी में पहनने का वक्त नहीं था.

वीडियो बीएफ mp4: मैंने कहा- भाभी नसीब देखने के लिए क्या दिक्कत है… क्या मैं कोई मदद कर सकता हूँ?भाभी बोलीं- तुम ही मेरे नसीब को दिखा सकते हो. उसने लंड मुँह में ले लिया, पर अगले ही पल बाहर निकाल दिया और उल्टी करने जैसा करने लगी.

मैंने कहा- भाभी, मैं आपको उस हालत में देख कर वो चीज़ नहीं भूला पाऊंगा और ना मैं वो भूलना चाहता हूँ. मंजू ने अपना एक हाथ नीचे किया और मेरे लन्ड को अपनी चुत में फंसा दिया और कमर हिलाने लगी. पापा ने कहा- वो लड़का अभी यूएस में है कुछ दिनों बाद आ जाएगा, फिर प्रोग्राम बनाता हूँ.

जैसे ही गाड़ी पोर्च में पहुंची, मैंने आगे बढ़कर फाटक खोला तो उसमें से 56-57 साल का आदमी जिसके सर पर केवल गिनने को ही बाल बचे थे, काले रंग का सूट पहने नीचे उतरा और दूसरी ओर से बाहर आई एक कयामत जो 30-32 साल की अप्सरा, बेहद खूबसूरत 5 फुट 7 इंच लंबी गदराए बदन की मालकिन काले रंग का लॉन्ग गाउन जो उसके गोरे बदन से लेमिनेशन की तरह चिपका हुआ था.

मैंने कहा- ये बात आप मुझे पहले बता देतीं, मैं कबसे आपको चोदना चाहता था. अब वो मुझे घोड़ी बना कर किचन में चोदने लगा और मेरी चूचियों को मसलते हुए मुझे मजा देने लगा. मैं शाम को ऑफिस से निकलने के बाद सीधा कामिनी के ऑफिस गया और अपनी बाइक खड़ी करके ऑफिस के रिसेप्शन पे गया.