सेक्सी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,ज्योति सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

बिपी ऐप्स: सेक्सी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ, मैंने उसके फ़ोन से अपना नम्बर डायल किया और कॉल आते ही फ़ोन उसको दे दिया.

सैमसंग सादा सेट

एक दिन मैं अरुण को पढ़ाने से आधा घंटे पहले भाभी के पास बैठा हुआ बात कर रहा था. चाइना बीपी वीडियोवो लड़की व औरत मुझसे और भी बातें करतीं … मगर उस दिन भी बारिश का मौसम‌ बना हुआ था और कभी भी बारिश आ सकती थी.

वो बिना बोले मेरा लंड पकड़ने लगी, तो मैंने उसे 69 की पोज में आने को कहा. मां और बेटी काउस गर्म चूत का मजा मैंने कैसे लिया?अब आगे की चुदाई इंडियन हॉट चूत की:कुछ ही देर में गीतिका हाथ में एक गाउन और एक ट्रे में दूध का लोटा और कुछ ड्राई फ्रूट लेकर कमरे में आ गई.

[emailprotected]पब्लिक सेक्स कहानी का अगला भाग:अतृप्त भतीजी और उसकी मौसी सास की चुदाई- 3.सेक्सी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ: मुझे ये देख कर अब अच्छा लग रहा था क्योंकि मेरा प्लान कामयाब हो गया था.

एक दिन निशी ने भी पूछा- और बता, कैसी चल रही है तेरी सेक्स लाइफ?शुरू में तो मैंने ऐसे ही झूठ बोल दिया कि सब बहुत बढ़िया चल रहा है.अब बताती हूँ क्यों मुझे औरतों का बदन बहुत मदहोश करता है … खासकर तुम्हारे जैसी औरतों से मुझे बड़ा नशा मिलता है, जिनके बदन भरे-भरे हों.

शराब पीते समय क्या खाना चाहिए - सेक्सी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ

नेहा गीत को मेरी तरफ इशारा करके बोली- इधर को मुंह करके अपनी गांड मरवा इनसे.तो मैंने चुपचाप पैसे ले लिये और घर से बाहर निकल आया।लॉकडाऊन का पीरियड चल रहा था, ऑफिस बंद ही था और वर्क फ्राम होम का तमाशा चल रहा था। घर पड़े-पड़े बोर हो जाता तो दोस्तों के पास निकल जाता था और रात को ही वापस लौटता था।ठिकाना अभी भी लखनऊ के निशातगंज में वहीं था जहां पिछले ढाई साल से रह रहा था.

मैंने उन्हें हंस कर देखा, तो उन्होंने मुझसे बोला कि कल दोपहर 12 बजे तैयार रहना. सेक्सी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ नयी कालगर्ल आयी तो …हाय दोस्तो, मैं राकेश एक बार फिर से आपके लिए बाप बेटी रमेश और रिया की कहानी का अगला भाग लेकर आया हूं.

जोर से चोद मेरे चोदू … कुत्ते कमीने तूने मुझे पटा कर चोद दिया … तो अब रफ़्तार धीमे क्यों है ओह्ह यस … उफ़्फ़ … स्ससह हह हहह … ओह्ह गॉड … आह चोद … चोद … चोद … चोद हरामी जोर जोर से … मार ले मेरी चूत और गांड दोनों … बना दे मेरी चूत का भोसड़ा!इतना सुनते ही विजय के धक्कों की रफ्तार बढ़ गई.

सेक्सी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ?

उसकी सास का चेहरा देखकर मैं मन ही मन उसको कोसने लगा कि काश इसकी मोटी भैंस जैसी सास के पीछे गली के कुत्ते पड़ जायें. दीपिका ने एक लूज़ पाजामा तथा टीशर्ट पहन रखी थी जिसमें से उसके थरथराते चूतड़ और हिलती हुई बड़ी चूचियाँ मेरे लण्ड को भड़काने के लिए काफी थीं. क्रीम, थूक और लार की चिकनाई की वजह से सुपारा तो घुस गया … पर अब भी वो मुझे बहुत मोटा लग रहा था.

मेरी बालकॉनी के सामने पूरा खुला दृश्य होने के कारण पूरी प्राइवेसी भी थी. मैंने अपने मुंह की तरफ इशारा करके बताया कि मुंह तो बंद है मेमसाब की चड्डी से. बीच बीच में मेरी नजरें मौसी की आंखों से टकरा जातीं तो वो हंस देतीं.

हर 5-7 मिनट बाद जम्प करके चढ़ जाता था और झटके मार मार कर भैंस की बस कर देता था. अगली बार लॉकडाउन में मैंने मामी को किस तरह से रगड़ कर चोदा, वो सेक्स कहानी लिखूंगा. इस बात पर वो मेरा मज़ा लेते हुए बोला- अरे चलो चलो … रहने दो, ज्यादा अपने मुँह मियां मिट्ठू न बनो, पहले तो तुम चुड़ैल लगती थीं.

तभी बड़ी चाची मुझसे बोलीं- उस कैफे में रोज जाते हो … या आज मुझे देखने ही आए थे?उनकी बात सुनकर मैं तो सकपका गया और बिना कुछ जवाब दिए कमरे से बाहर चला आया. फिर वो अपनी चूत को आगे करके बोली- आ जाओ तुम दो ही ले आओ, मैं भी देखूं तुम्हारे दो दो के मज़े।संजय नेहा की चूची दबाते हुए बोला- साली दो दो का नाम नहीं है कोई क्या?गीत संजय के लंड को हाथ में लेती हुई बोली- मैं इस लंड की बात कर रही हूँ साले, ये जो छोटा हो गया है, इसे अब मैं ही टाइट करती हूँ.

बातों बातों में मेरे हाथ से गलती से एक ऐसा झटका लगा कि मौसी के हाथ से दाल की कटोरी उनकी साड़ी पर गिर गयी.

आपको जरा भी झिझक नहीं लगती इस गंदी जगह पर मुंह रखने से, हटो मेरे पास से!” वो किंचित रोष पूर्वक बोली.

मेघा- जब भी मैं किचन में काम कर रही होती हूं तो मेरे हस्बैंड पीछे से आकर मेरी पैंटी में हाथ डाल देते हैं. मैंने फिर से स्कूटी की स्पीड बढ़ा दी मगर थोड़ा सा चलते ही स्कूटी बन्द हो गयी. फिर वो मेरे साथ चैट करने लगा और वो भी मुझे बाहर मिलने के लिए बोलने लगा.

मैंने बूढ़े को वापिस रिप्लाई करते हुए लिखा- तस्वीर में क्या रखा है! देखनी है तो मेरी फुद्दी सीधे देखो. मेरे इन उन्नत चूचों को मसल दे … इनको अपने होंठों में ले कर खूब चूसे. अब मैं ऐसे ही ऊपर घुटनों तक ढेर सारा तेल डाल कर सलोनी भाभी की टांगों की मालिश करने लगा.

साथ ही ऊपर की तरफ मैं उसकी क्लीवेज चाट रहा था; मुझे पता था कि मेरी कोशिशों का असर जल्दी ही होगा और हुआ भी वैसा ही; उसका विरोध कमजोर पड़ने लगा.

अगर उसने बाहर जाकर बताना होता, तो पहले ही चुपचाप देख कर भाग जाती, मगर वो गई नहीं और वैसे भी मैंने उसे ज़्यादा पैसे देकर उसका ईमान खरीद लिया है. जैसा कि आप सभी जानते हैं कि किसी औरत को गर्म करना हो, तो उसके कानों के आसपास चूमने और चाटने से वो बहुत जल्दी गर्म हो जाती है. फिर मैं भी उनकी मदद करने लगा और मदद करने के बहाने मैं उनके मम्मों को देख रहा था.

भैया ने कहा- संजीव मैं मार्किट से मटन ले कर आता हूं, तुम थोड़ी देर रुको. वो बीच में जब भी थक जातीं, तो मैं उन्हें अपने सीने पर लेटने के लिए बोल देता, पर लंड चुत से नहीं निकालता. मैंने उसका हाथ पकड़कर लंड पर रख दिया।अब मेरा हाथ उसकी पैंटी के ऊपर आ गया।उसकी सिसकारियां निकलने लगी.

पर उसे ये नहीं पता था कि वो जिसका नम्बर दुकानदार से ले रही है, मैं वही हूँ.

वह कहने लगा- आप ऐसा करें, आप इन लड़का लड़की के साथ पार्क के बाहर तक आ जाओ, इन्हें इनके घर भेज देंगे और हम अपनी ड्यूटी पर चले जायेंगे. वो- क्यों?मैं- वो उस दिन के बाद से अब बस से जाने में मुझे डर सा लगता है और बस में सब सवारियां भी मुझे ही घूरती रहती हैं … इसलिए मैं पैदल ही आना‌ जाना करता हूँ.

सेक्सी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ मेरी रंडी सेक्स कहानी के पिछले भागएक सेक्सी रंडी की चुदाई का खेल-1में अब तक आपने पढ़ा था कि शाही सर और उनके पांच दोस्त मिल कर मुझे नंगा करके नौंच रहे थे. मैंने उसकी पीठ पर लदते हुए उसकी चूचियों को पकड़ लिया और चूचियों को मसलते हुए उसकी चुत का भोसड़ा बनाना शुरू कर दिया.

सेक्सी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ मैंने कहा- आप रात को सोने का कुछ सामान ठीक से सेट कर लीजिये, बाकी सुबह देख लेंगें. फिर मैं बोली- जीजू आप अपनी आदत से बाज नहीं आओगे ना … दीदी गयी नहीं और आप शुरू हो गए.

मैं भी कुछ देर तो उसके इंतजार में खड़ा रहा, फिर शायरा के आते ही हम दोनों घर से निकल गए.

बीएफ चुदाई जबरदस्ती

दरवाज़ा थोड़ा सा खुला हुआ था, मैंने देखा गीतिका ने अपनी नाइटी को ऊपर किया हुआ था और अपनी उंगली से कभी अपने क्लीटोरियस को मसल रही थी तो कभी चूत के अंदर उंगली डाल रही थी, और आ … आ … करते हुए बेड पर इधर उधर सिर मार रही थी. वैसे मुझे भी यह सब करते हुए अच्छा नहीं लग रहा, पर आपके लिए और बिजनेस के लिए मैं थॉमस से चुदने के लिए तैयार हूँ. तभी सुमित बोला- क्या करूं जानेमन, तेरी चूत देखकर मेरा लौड़ा फड़कने लगता है.

कोई 5 मिनट बाद सलोनी भाभी बाथरूम से एक छोटा सा तौलिया लपेटे हुए बाहर आईं. धीरू अंकल बोले- लंड खड़ा करना तो तेरे हाथ में है!मैंने यह सुनते ही उनके लंड को फिर से मुंह में ले लिया और उनके खुट्टे चाटने शुरू कर दिए. धीरू अंकल के किसी दोस्त ने मेरी तरफ इशारा करके धीरू अंकल से कुछ पूछना चाहा.

मैंने उसके कंधे पर हाथ रखते हुए कहा- कोई बात नहीं भाभी, मैं हूं न आपका ख्याल रखने के लिए!उसने मेरी ओर देखा और हल्के से मुस्करा दी.

बस लेटी रहो।उन्होंने अपना लंड छेद में लगाया और मेरे ऊपर लेट गए।अपने दोनों हाथ मेरे बगल से लाकर मेरे दूध को थाम लिया. उस इंडियन विलेज भाभी ने मुझे सब कुछ बताया- मेरे जेठ की शादी नहीं हुई थी. दो कमरे वाला सेट तो कोई था ही नहीं, इसलिए जिसको भी लेना होता था वह तीन कमरों का ही लेता था और 18-20 हज़ार रुपये देता था, चाहे उसे तीन कमरों की जरूरत हो या नहीं.

लेकिन इस बार मेरी गांड …हिन्दी फुल सेक्सी कहानी के पिछले भागजवानी की अधूरी प्यास- 2में आपने पढ़ा कि किस तरह मेरी और विक्रम जी के बीच जिस्मानी रिश्ता बन गया और किस तरह से मेरी पहली चुदाई हुई।अब आगे की हिन्दी फुल सेक्सी कहानी:पहली चुदाई के बाद हम दोनों काफी देर तक एक दूसरे से लिपटे रहे. जब भी मुझे ऐसा लगता कि लंड झड़ने को है, तो मैं चूत से लंड निकाल देता. जयपुर पहुंचने से पहले एक बार मेरी गोद में आ जाओ और मेरे लण्ड को चैन दे दो!मुझे भी पता था कि जयपुर पहुंचने के बाद काफी समय तक विजय का लण्ड नहीं मिल पाएगा.

देसी सेक्स आंटी स्टोरी में पढ़ें कि मैंने अपनी बड़ी चाची को एक लड़के के साथ एक रेस्तरां में देखा. मैंने उनसे रुकने का पूछा … तो उन्होंने कहा कि आप मेरे घर में ही रुक जाना, आपको कोई दिक्कत नहीं होगी.

अब वो अपनी कमर मेरी जीभ के साथ चलाने लगी और अपने मुँह से ‘उह्ह आह …’ की आवाजें भी कर रही थी. पौने पांच फिट की नाटे कद की गोल मटोल बॉडी, बेहद गोरी, आंखें किसी हिरणी की तरह थीं. तो भी मम्मी ने मना कर दिया क्योंकि यहाँ पर अब तक बहुत खर्चा हो चुका था.

अब हमारी रोज़ बात होने लगी और हमने एक दूसरे से वादा किया कि किसी को एक दूसरे के बारे में नहीं बताएंगे.

आपरेशन करा दो तो सही रहेगा।सबकी बातें सुनकर मेरा दिमाग खराब हो रहा था मेरी कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूँ।दोस्तो, आप लोग सोच रहे होंगे कि क्या वहाँ पर कोई नर्स महिला डाक्टर नहीं थी. मेरी पिछली कहानी थी: माँ को चोद कर बेटी की फैंटसी पूरी कीमाँ को चोद कर बेटी की फैंटसी पूरी की-1पेश है सच्ची घटना पर आधारित मेरी एक और नई बंगाली सेक्स कहानी. मैंने कहा- पसंद आया?गीतिका बोली- वंडरफुल, पहली बार देखा है, ऐसा लौड़ा.

मेरी गोरी नंगी जांघें भाईजान के सामने थीं और मुझे देखकर उनका मौसम बन रहा था. शायरा के कहने का मतलब मैं समझ रहा था … मगर फिर भी मैंने बात को बदल दिया.

जैसे पंछी पिंजरे से बाहर आने को फड़फड़ाता है … वैसे ही ब्रा में कैद शायरा के दोनों उभार भी ब्लाउज और ब्रा की कैद से निकल कर अपनी आज़ादी का पूरा मज़ा लेना चाहते थे. वो भी एक दूसरी के मम्मों से अपने मम्में जानबूझ कर आपस में रगड़ने लगीं, शायद ऐसा करने से उन दोनों को और मज़ा आ रहा था. अनीता बोली- फूफाजी, आपको क्या मालूम है कि इस समय घर में कोई नहीं है?मैंने कहा- तुमने सुबह जो बातें अपने पति से की थीं, वो मैंने सुन ली थीं.

बीएफ सेक्सी फुल एचडी में सेक्सी

मैं- अच्छा चूचियों को चूचियां और बुर को बुर नहीं तो क्या बोलना है!वो- तुम तो वाकयी आगे ही बढ़ते जा रहे हो.

आपको मेरी इंडियन विलेज भाभी सेक्स कहानी कैसी लगी … मुझे मेल जरूर करना. मैंने कहा- रोहन, तुम नीचे खड़े हो कर बिन्नी का इंतजार मत करना, अपने घर चले जाना, ऐसा न हो कि पुलिस वाले आस पास हों और तुम दोनों को फिर तंग करें. लेकिन एक लेडी बोले जा रही थी कि अब तो तुम दोनों को पुलिस को ही सौंपेंगे.

मेरा एहसान चुक जाएगा अपने आप।भाभी, अब तो मैं आपके बिना कहे ही जब भी मौका मिलेगा विजय का लण्ड खा जाऊंगी पूरा का पूरा … और आपको पता भी नहीं चलेगा. फिर मैंने धीरू अंकल को बुलाया और उनके लंड से कंडोम निकाल कर उनका लंड चूसना शुरू कर दिया. घोड़ा और लेडीस का सेक्सतो मैंने भी लैपटॉप एक तरफ रखा और कॉफ़ी पीते हुए उससे बात करना शुरू कर दी.

एक अलग खुशबू मेरी नाक और मुँह से होते हुआ मेरे फेफड़ों में जा रही थी. मैंने पूछा- आपकी चूत रानी भी तैयार हो तो … हो जाए एक और चुदाई का दौर?आँटी कहने लगी- नहीं, बस अब सो जाते हैं.

अब हमारा स्टाइल ये था कि मैं लेटा हुया था और मेरी तरफ पीठ करके गीत मेरे लौड़े से अपनी गांड मरवा रही थी. अब मेरा लंड उसके अंदर बच्चादानी में टकराने लगा।वो चीख पड़ी- ऊईई ईईई ऊईईईईई सीईईईईई मर गई बचाओ बचाओ मर गई।मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर आ कर चोदने लगा. कभी कभी उसकी चूत की दोनों फांकों को अपने दूसरे हाथ से अलग अलग करके उनकी साइड पर जीभ से चूस लेता तो कभी कभी मैं नेहा की चूत और गांड के बीच के भाग पर जीभ से चाट लेता.

शायरा ने अब आगे कुछ कहा तो नहीं, मगर उसके चेहरे पर मुस्कान सी फैल गयी थी. अब आगे इस तरह की चुदाई किस तरह कर पाऊंगी, ये सोच कर ही मुझे रोना आ गया. मैरिड गर्लफ्रेंड सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी एक दोस्त लड़की जो मुझे पसंद करती थी, मेरी वजह से उसकी शादी मेरे दोस्त से हो गयी.

तभी भाभी ने मुझे देखा, तो मुस्कुराने लगीं- प्लीज़ यार संजय … तुम अपनी आंखें बंद रखो … ऐसे मत देखो, मुझे शर्म आती है.

बाहर आते ही भाभी ने मेरे झुककर मेरे पैर छुए तो मैंने भाभी को उठाकर अपने गले से लगा लिया और उनके गालों को चूम लिया. मैंने बिन्दू से कहा- कोई बात नहीं, हम जब भी मिलेंगे तो इसी तरह ही थोड़ी प्यार मोहब्बत की बातें फटाफट कर लिया करेंगे.

अब तक भाभी ने कम्बल अलग कर दिया था और उनकी साड़ी अस्त व्यस्त हो गई थी. सभी ने जल्दी जल्दी कपड़े पहने और अनु ने दरवाजा खोल कर बच्चों को अन्दर ले लिया. कमल बोला- वो मौसी जी, आज फूफाजी पहली मेरे घर बार आए है ना … तो दिन में ले ली थी.

बहुत दिन बाद आज मैं एक और सेक्स कहानी लेकर आप लोगों के सामने आया हूँ. उसने कहा- सॉरी सर नहीं ला सकती।तो मैंने कहा- फिर पूछती क्यों हो?नेहा ने फिर सॉरी कहा।मैंने कहा- हर बात पे सॉरी ठीक नहीं लगता. मैंने भाभी के कमरे से जुड़े हुए स्नानघर में पानी के गिरने की आवाज़ सुनी, तो मैं उधर ही बैठ कर सलोनी भाभी का इंतज़ार करने लगा.

सेक्सी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ नंगी आंटी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे भाभी की मम्मी ने मुझे अपनी सेक्स कहानी सुनाने के बाद मेरा लंड पकड़ लिया. शायरा तो उसकी धक्का लगवाने की बात से शर्म पानी‌ पानी ही हो गयी थी … मगर इन सब बातों में मैं पक्का बेशर्म हूँ इसलिए मैं मजा लेता रहा.

सनी लियोन की बीएफ हिंदी वीडियो

मन में तो मेरे भी, बहुत बार आया कि कोशिश करूं, लेकिन कपिल से पक्की दोस्ती होने के कारण मैंने कभी ऐसा नहीं कर पाया. कविता ने कहा- काश कि ये वासना की भूख एक बार में मिट जाती … तो शायद तुम भी इतने सारे मर्दों से इतनी दूर दूर जाकर नहीं चुदतीं और न ही किसी औरत को अपने साथ खेलने देतीं. आदमी- नहीं, आप खड़े खड़े ही बताएं, देना है या नहीं?मैंने फिर कहा- सर आप अंदर तो आइए?आदमी- नहीं, पहले आप मकान दिखाओ.

एक दिन मैंने भाभी से कहा- भाभी, अब मुझे किसी दिन लंड का स्वाद चखना है. उसमें मैंने आप सब पाठकों द्वारा पूछे जाने वाले ज़्यादातर प्रश्नों के उत्तर दिए हैं. तमिल भाभी सेक्स वीडियोवो और तेजी से लंड पेलते रहे और 5 मिनट में ही अपना रस मेरी चुत में निकाल दिया.

बहुत मस्त चूची हैं यार।रमेश के हाथ रेहाना की सलवार को खोल कर उसकी पैंटी को खींचने लगे.

सारे परिवार ने डाइनिंग टेबल पर बैठकर खाना खाया और कुछ देर बातें करते रहे. एक दिन प्रिया भाभी का फोन आया कि तुम्हारे भैया आज चार दिन के लिए बाहर जा रहे हैं; ये चार दिन मैं तुम्हारे साथ बिताना चाहती हूं, इसलिए सूरज के जाने के बाद, मैं घर से अपने मायके का बहाना करके निकल जाऊंगी.

वो मुझे हटाने की कोशिश कर रही थीं, पर मैंने उन्हें पकड़ रखा था … इसलिए वो कुछ कर नहीं पाईं. वे बोली- राज, मेरा होने वाला है तुम भी अपना कर लो, इकट्ठे डिस्चार्ज होंगे. तभी वो लोग अपना समान लेकर आने लगे और मुझसे मदद के लिए पूछा तो मैंने भी उनका समान रखवा दिया।अब समस्या ये थी कि मेरे वाले केबिन में काफी समान हो गया था और लेटने में तकलीफ हो रही थी.

मैंने कहा- कहां जाने की तैयारी हो रही है?एकता बोली- सूरत जाना है सभी को ही.

इसी के साथ उसने अपने दूसरे हाथ से पैंट की चैन खोल कर हाथ अन्दर डाल दिया. फिर मैं उठकर उनके पास गयी और उनको गले से लगाकर कहा- आप टेंशन न लो भाईजान. धीरे धीरे करके उनका हाथ मेरे लंड पर चलने लगा और वो मेरे लंड को सहलाने लगीं.

प्यार में सेक्समैंने उनके नाम पूछे तो लड़के ने अपना नाम रोहन तथा लड़की का बिन्नी बताया. मैंने अन्दर जाते ही बोला- भाभी, आपको मैं पसंद नहीं हूँ क्या?तो उन्होंने मेरी तरफ देखते हुए जवाब दिया- नहीं, ऐसा नहीं है.

कुंवारी हिंदी बीएफ

खाना खाने के बाद मैंने शायरा को खाने के लिए थैंक्स कहा और वापस अपने कमरे में आकर सो गया. उसने बूब्स अपने हाथ से अन्दर को दबाए और मैं लौड़े को बूब्स के बीच में आगे पीछे करने लगा. मुझे कुछ नया मिला है।रिया रमेश की बात सुनकर उलझन में पड़ गयी और बोली- क्या?रमेश- यह तो सरप्राइज है.

अनु दीदी दोपहर से जानती थीं कि महंत का लंड बहुत मोटा और तगड़ा है इसलिए बड़ी उमंग से उन्होंने वर्जिन महंत को नंगा लिटाया. नेहा गीत को मेरी तरफ इशारा करके बोली- इधर को मुंह करके अपनी गांड मरवा इनसे. नेहा की बात सुन कर गीत फिर बोली- वाह मेरी जान, एक बार फिर बोल दे लंड की रानी! अरे मैं तो हूँ इनकी दीवानी … और रही बात गांड मरवाने की, वो तो इनकी विश पूरी की है मैंने, मैं तो आगे लेने की ही दीवानी हूँ.

उसको देख कर लग रहा था कि किसी फिल्म की हिरोइन सेक्स सीन करने के लिये तैयार होकर आई है. जब तक मैं संभल पाती, तब तक उसने एक जोर से धक्का लगा दिया और उसका लंड मेरी झिल्ली को फाड़ता हुआ सीधा बच्चेदानी से टकरा गया।मेरी तो जैसे साँस ही अटक गई थी. और अमन ने फ्लैट भी नहीं लिया रेंट पर! तो उसने नीरा को अपने पिता के साथ ही रखना पड़ा.

अपने दोनों हाथों से मैं अपने स्तनों को छुपाने की कोशिश कर रही थी।तभी डाक्टर ने मुझे बुलाया और मेरे दोनों स्तनों को हल्के से दबाते हुए चेकअप करने लगा. वो बात और है कि इतनी देर तक चुदाई करने से मेरा लंड बुरी तरह घायल हो जाएगा और अगले तीन दिनों तक मुझे मूतने में भी तकलीफ़ होगी.

फिर मेरी गर्दन पर चूमने लगे और फिर अपने हाथों से उन्होंने मेरी ब्रा का हुक खोल दिया और मेरे बूब्स को अपने मुंह में लेकर चूसने लगे.

तो देख रही थी कि किसका नंबर है?मैं- हम्म अच्छा … तो देख लिया!वो- अभी कहां!मैं- तो देखो कैसे देखना है?वो- तो दिखाओ. ब्रा दिखाओमुझे नहीं मालूम था कि वो कौन है, इससे पहले मैंने उसे कभी नहीं देखा था. 𝚊𝚞𝚗𝚝𝚢 𝚍𝚎𝚜𝚒 𝚌𝚑𝚞𝚝किसी ने सच ही कहा है कि बरसात में बहते हुए आंसुओं को कोई देख नहीं सकता … आज कुछ वैसा ही लग रहा था. एक गोरी चिकनी मस्त माल भाभी को भरी बस में चोदने में जो मजा आ रहा था उसकी व्याख्या के लिए शब्द नहीं है मेरे पास.

मैंने अन्दर जाते ही बोला- भाभी, आपको मैं पसंद नहीं हूँ क्या?तो उन्होंने मेरी तरफ देखते हुए जवाब दिया- नहीं, ऐसा नहीं है.

और हाँ, आगे से गालों पर ज्यादा निशान नहीं डालने हैं, दूसरे लोग भी तो देखते हैं. आज से तुम अपने लंड को समझा देना कि अपना पानी बाथरूम में ना बहाए, उसका जब मन करे मेरी चूत की नाली में छोड़ दे. मैंने कहा- ठीक है! अगर तुम फुद्दी के दर्शन ही करना चाहते हो तो बाथरूम में लाइट जला कर देख लो.

मैंने झट से उनके हाथ से वो टेबलेट ले ली और मुँह रख कर ऊपर से दूध का गिलास पीकर गोली खा ली. मुझे पता था कि लंड चूत में घुसेगा तो भाभी के मुंह से कुछ न कुछ आवाज तो जरूर होगी. पहले तो मुझे गोली खिला कर गर्म कर गया और अब मादरचोद जल्दी चोदने की बात कर रहा है भोसड़ी का.

बीएफ शब्द

मैंने भी खुद को उनके लंड की दिशा में एडजस्ट किया और फिर उनका मोटा टोपा मेरी चूत में घुस गया. मैंने उसकी दोनों बाहों को कस के पकड़ लिया और फिर उसका भी लावा मेरी चुत के अंदर ही छूटने लगा. कुछ देर में हम सबने इकठ्ठे डाइनिंग टेबल पर बैठ कर खाना खाया और कुछ देर गपशप की.

अब मेरा लंड उसके अंदर बच्चादानी में टकराने लगा।वो चीख पड़ी- ऊईई ईईई ऊईईईईई सीईईईईई मर गई बचाओ बचाओ मर गई।मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर आ कर चोदने लगा.

मैं आपको बता दूँ कि यदि लड़की के घुटनों के पीछे का भाग चौड़ा और मांसल है तो समझ लो कि वह बड़े से बड़ा लण्ड ले सकती है.

उसने खुद को सही किया मतलब अपना लंड अन्दर किया और तौलिया लेकर दरवाज़ा खटखटा कर मुझे तौलिया पकड़ा दिया. मेरा भी होने वाला था; हम दोनों एक साथ ही झड़े।इतनी मस्त चुदाई के बाद हम दोनों ही बहुत थक गए थे. सेक्सी एचडी चोदा चोदीहोटल पहुंचने के बाद ज़ीनिया ने कहा- आइए चलिए, थोड़ी देर कमरे में बैठते हैं.

अब आगे की कुकोल्ड सेक्स हॉट कहानी:अपनी भतीजी की चुत का रस पीने के कारण मुझे एक बार मुँह का स्वाद बदलने की इच्छा हो रही थी. फिर हम दोनों की आंखें मिल कर सिर्फ़ एक दूसरे की आंखों में देख रही थीं. नमस्कार दोस्तो, मैं विन चौधरी आज फिर से आपके लिए एकदम नयी और गरमागर्म स्टोरी लेकर हाजिर हूँ.

अब मैंने सलोनी भाभी की गांड पेर ढेर सारा तेल लगा कर हाथों को गोल गोल घुमाकर मालिश कर दी. स्तन में जो भी परेशानी होगी अल्ट्रासाउंड की रिपोर्ट में पता चल जायेगा.

इंजेक्शन लगवाने के बाद मैं बाथरूम में गया और अपना पानी ले जाकर मुँह धोकर आया.

उसकी बहू की मां विमला ने टिफिन निकाल कर अपने दामाद को उठाया और खुश होकर उसे खिलाने लगी. दबाव पड़ने के कारण उसकी चूचियां थोड़ी ऊपर को निकल आई थीं और उसकी चूचियों के वो उभार मुझे कुछ ज्यादा ही उत्तेजित करने लगे. जैक ने मुझे लंड चूसने का इशारा किया, तो मैंने जैक का लंड मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

नशा बंद दवा नहाने के बाद भूख से मेरी हालत खराब होने लगी।मैंने अपने बैग से कपड़े निकाले. मैंने कहा- कहां जाने की तैयारी हो रही है?एकता बोली- सूरत जाना है सभी को ही.

वहीं आंचल प्रतिभा और सुमन भी पास ही आ जा रही थीं, तो उन्होंने भी निगाहों ही निगाहों में मेरी तारीफ कर दी. दूसरी तरफ मुझे बहुत डर लग रहा था कि कहीं मेरी किसी गलत हरकत से भाभी बुरा ना मान जाएं क्योंकि उनका बुरा मानना मेरी ज़िंदगी बर्बाद कर सकता था. कुछ देर बाद मैं अपना काम करके बैंक से बाहर आ गया और उसको कॉल करके कहा- चलो कुछ खाते हैं … तुम्हारा नम्बर तो बैंक के लंच टाइम के बाद आएगा शायद.

बीएफ एचडी यूट्यूब चैनल डाउनलोड

बहुत मस्त तरीके से लंड चूसते हुए वो मेरे लौड़े की मुठ भी मार रही थी. वो- और वो क्यों चलेगा?इस बात पर एक बार को तो मैं भी थोड़ा सकपका सा गया कि क्या जवाब दूँ!पर जल्दी ही मैंने स्थिति को सम्भाल लिया- अरे … आपके हाथों का ये टेस्टी टेस्टी खाना खाने को जो मिल रहा है. उसी दिन स्कूल में मेरी दूसरी सहेली ने मुझे अन्तर्वासना साइट के बारे में बताया था, तो आज मुझे कुछ ज्यादा ही वासना और चुदास परेशान करने लगी थी.

आँटी बोली- बस राज, आज तो तुमने मुझे ऐसा चोद दिया है कि दिल करता है अब दो दिन तक चैन से सोती रहूँगी. इतने में सनी मेरे सामने आ गया और मेरे सर को पकड़ कर मेरे होंठों को चूसने लगा.

अब मुझे भी उसका इंटेरेस्ट बनाए रखना था, पर इसके लिए मुझे आराम से काम लेना होगा और धीरे धीरे स्टेप बाइ स्टेप आगे बढ़ना होगा.

भाभी बोली- थोड़ा सब्र करो, मेरी जान!मैं- भाभी, बच्चों को बेवकूफ बनाने के आपको तो बड़े पैतरे आते हैं. मैंने बोला- हां मेरी परमानेंट रंडी बन जाओ … मैं रोज इस पॉवर का मजा दूँगा. तो दोस्तो, आपको मेरा यह चुदाई का किस्सा, न्यू अन्तर्वासना कहानी कैसा लग रही है? मुझे ज़रूर बताना!मेरी मेल आइडी है[emailprotected]न्यू अन्तर्वासना कहानी का अगला भाग:हस्पताल में लगवाए दो दो टीके- 2.

मैं उसके मुँह से सारा रस चूस कर पी जाती, तो वो मेरे मुँह से दोबारा से सारा रस चूस लेती और पी जाती. इसलिए मैंने खाने की चीजों को जानने या उस विषय पर सोचने में समय नहीं गँवाया, बस स्टाल में खड़ी लड़की से पूछा- सादा खाना भी है या नहीं?तो उसने एक ओर इशारा किया. तो मैंने फिर कहा- डाक्टर साहब प्लीज हो सके तो देख लीजिये।तभी डाक्टर बोला- चलो अच्छा अब आ ही गयी हो तो ठीक है.

फिर चाची ने कहा- अच्छा अपनी आंखें बन्द करो, तुम्हें अब ही एक गिफ़्ट मिलेगा.

सेक्सी हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ: मैं उन पर चिल्लाया कि पीछे बहुत दचके लगते हैं, मैं नहीं बैठ पाऊंगा लेकिन मेरी बात का कोई असर नहीं हुआ उस पर. मैंने पूजा से कहा- रिया को अब छोड़ दो अब यह खुद आकर चुदेगी, देखती चलो.

मैंने बूढ़े को वापिस रिप्लाई करते हुए लिखा- तस्वीर में क्या रखा है! देखनी है तो मेरी फुद्दी सीधे देखो. आंटी फिर बोली- कुछ समझे भी हो?मैं बस आंटी के मुंह की तरफ ही देखता रहा. जैसे इन दो दिनों में तुमने मेरा जो पानी छुड़वाया है, ऐसा तो मेरा कभी हुआ ही नहीं.

मैं अपने पंजों के ऊपर बैठ गया और मैंने अपना लौड़ा हाथ से पकड़ कर फ़ूले सुपारे को गीतिका की प्यासी चूत पर रखा.

आगे भाग में इस सेक्स कहानी को पढ़ कर आपके लंड से पानी जरूर निकल आएगा. मैं समझ गया कि मेरे साले को कोरोना हो जाने के कारण यहां रुकने से भय बैठ गया था … या उसे कोई गलत सूचना दी गई थी. या यूं कहूं कि जीजू को मेरी तनी हुई चूचियां और उठी हुई गांड चोदने का निमंत्रण दे रही थी कि आपकी साली की चुत भोग लगवाने के लिए तैयार है.