जीबी रोड सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,गांव की बूढ़ी औरत की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म पिक्चर सेक्सी: जीबी रोड सेक्सी बीएफ, मैंने मौसी के से कहा- मौसी ये काम तो बड़ा मज़ेदार है, मुझे बहुत अच्छा लग रहा है.

सेक्सी फिल्म दिखाना हिंदी

रानी भी मेरी पीठ सहलाये जा रही थी, कभी कभी अपने नाखून भी गड़ा देती और मुझे कसकर भींच लेती. 7 साल लड़की की सेक्सी वीडियोबरखा ने भी कुछ नहीं कहा और टीना के साथ सामने के कमरे में चली गई और दरवाजा बंद कर लिया.

सो गए।फिर सुबह उठ कर अपने रुटीन के कामों में लग गए। शाम को सुकांत और मैं फिर दस बजे रात तक मिले, वह मेरे बेड पर आकर लेट गया।सुकांत बोला- सर आपने कल मजा बांध दिया. सेक्सी बाप और बेटी कीफिर कुछ देर ऐसे ही बैठने के बाद मैंने रिया से कहा- और बता, कुछ ख्वाहिश रह तो नहीं गयी तेरी यहाँ? अभी बता, पूरा दिन पड़ा है.

‘अरे नहीं भाबी जी, मेरा ऐसा कोई इरादा नहीं था कि आप हर्ट हो जायें, बस मैं भी आपको इस खड़े लंड का दर्द सुना रहा था.जीबी रोड सेक्सी बीएफ: ऊपर वाले की कृपा और एजेंट की मदद से वो भी पूरी हो गई, उसने मुझे घर दिखाया बहुत सुन्दर घर था, पर उससे सुन्दर थी उस घर की मालकिन जिसका नाम था ऋतु!ऋतु नाम से ही आप अंदाजा लगा सकते हैं कितनी खूबसूरत रही होगी उम्र से 32 किन्तु शरीर से 23 की कमसिन कली थी ऋतु!मैंने तुरन्त ही रूम में शिफ्ट कर लिया.

मैं उसको सांत्वना देते हुए बोला- किसी भी हाल में अपनी दोस्ती यूँ ही बनी रहेगी जैसी है, पर शायद मैं ही कुछ ज्यादा उम्मीद लगा बैठा.मुझे परेशान होता देख भाभी ने कहा- जब मजा लिया है तो अब सजा भी मिलेगी.

सेक्सी दिखाएं इंडियन - जीबी रोड सेक्सी बीएफ

मैं ठहरा मर्द जात… उसी चिकनी टाँगें देख कर फिसल गया, मेरे हाथ उसकी जांघों में घूमने लगे.सुमन ने कुछ बोला नहीं और गांड को थोड़ा और पीछे कर दिया और आटा गूँथने लगी, जैसे वो हिलती, उसकी गांड ऊपर-नीचे होती, जिससे लंड की अच्छी- ख़ासी घिसाई होने लगी.

वैसे भी ये चुदाई इतनी मजेदार थी कि मैंने ध्यान ही नहीं दिया और अपनी पत्नी के ऊपर ऐसे ही सो गया. जीबी रोड सेक्सी बीएफ मैंने पैंटी के ऊपर से भाभी की चुत पर हाथ फेरते ही महसूस कर लिया था कि भाभी की चुत सफाचट है.

मैं आँख खोल कर उसे देखना चाहती थी, पर उसे समझ नहीं आना चाहिए था कि मैं जाग रही हूँ.

जीबी रोड सेक्सी बीएफ?

नमस्कार दोस्तो,मेरी होम सेक्स कहानी की पिछली कड़ी में आपने पढ़ा कि मेरे काफी कहने के बाद चाची अपनी चूत दिखाने को राजी हो गईं. उससे अंदाज़ा होता है कि ना जाने कितने दिनों से वो बाहर निकालने के लिए अन्दर उबल रहा था. मैंने रूक कर उसे पूछा- तुम खाना क्यों नहीं खाओगी?वो बोली- तू मेरी वजह से भूखा रहे तो मैं कैसे खाना खा लूँ?मैं कुछ बोलता उस से पूर्व वो मुझे अपने हाथ से खाना खिलाने लगी.

कुछ देर शहर में घूमेंगे और फिर शाम को मूवी देखने के बाद डिनर बाहर करेंगे. मैंने उनके मुँह में अपनी जीभ को डाल दिया और उनके चूचे टॉप के ऊपर से दबाने लगा. इसके बाद चन्दन के होंठ फिसलते हुए संगीता के एक चूचुक पर आकर रुके और वो चूचुक को अपने मुँह में लेकर जोर-जोर से चूसने लगा.

फिर मैंने सब कुछ बता दिया कि आपने जो आज वीडियो दी थी, वो देख कर मैंने भी अपनी चूत की सील तोड़ ली है और हम लोग के पास आज और कल की दो रात हैं इसलिए आज रात धीरे से चुदाई कीजिए और जब आज मेरी चूत पूरी तरह से खुल जाएगी, तो कल रात अच्छे से चुदाई कर लीजिएगा. इसके बाद मैंने भाभी के मम्मों से चुसाई शुरू की और धीरे-धीरे भाभी के दूध पर हर तरफ चूसता चला गया, जिधर डेरीमिल्क लगाई हुई थी. सीधे कहूँ तो दोनों तरफ आग बराबर लगी थी या शायद उसमें मेरी सोच से भी बहुत ज्यादा लगी थी.

मैं इस फ्लोर के पूरे 30 कमरों में घूम लिया था लेकिन यहाँ पर कोई भी नहीं मिला लेकिन मैंने हार नहीं मानी थी आभी मैं सीढ़ियों से होते हुए छत पर पहुँच गया. उस रात रिया ने मुझे सोने नहीं दिया, बदल बदल कर हमने अपने सारे छेदों की चुदाई रात भर की.

मैंने और रिया ने एक दूसरी की तरफ देखा और दोनों एक दूसरी को देख कर मुस्कुरा उठी.

तू भी तो उस दिन उससे चुदने को मरी जा रही थी और कैसे उन पाँचों के लंड तूने सारे छेदों में लिए हुए थे.

बाकी अगले भाग में!मेरी सेक्सी कहानी पर अपने विचार[emailprotected]पर भेजें!और वो चली गई- भाग 2. जब मैं छोटा था, तब से किसी लड़की के साथ सेक्स करने का सपने देखा करता था. घर वालों ने उसे किसी को साथ ले जाने के लिए कहा पर उसने मना कर दिया.

तभी मॉन्टी ने रिया के चूतड़ों पे जोर से चपत मारी और कहा- रांड, ये मत सोच कि तुझे बख्श दिया, चल आकर मेरा लंड चूस दे…और इसके साथ रिया का गैंगबैंग चालू हुआ. उनकी जांघों को हल्के मसाज़ देते हुए उनकी पाव जैसी फूली हुई चूत को को पैंटी के ऊपर से ही चूमने लगा. सुमन कमरे में आ गई और बिस्तर पर बैठ कर बड़बड़ाने लगी- मुझे पता था माँ, आपका जबाव ऐसा ही होगा, इसी लिए मैंने रात को ही फैसला कर लिया था कि मैं पापा को उनके हिस्से की ख़ुशी ज़रूर दूँगी, चाहे उसके लिए मुझे कुछ भी करना पड़े.

थोड़ी देर बाद रिया ने कहा- निकी, ये दिन मैं कभी भूल नहीं पाऊंगी। तुम्हारी वजह से मेरे नसीब मेरा यहाँ आना हुआ है.

उसका लंड इतना मस्त था कि मैं सारी रात उसके नीचे चुदने के लिये तैयार था. मैंने ऋतु की तरफ देखा तो वो बड़े ही कामुक स्टाइल से मेरी ही तरफ देख रही थी. अब मैंने धक्के तेज कर दिए और अब पूजा भी मेरा साथ देने के लिए अपनी जांघें ऊंची करके मेरा लंड चूत में डलवा रही थी.

फिर जय मुझे मॉल में ले गया और वहां से मुझे कुछ कपड़ों की शॉपिंग करवाई. अब हम दोनों ही अपनी पार्टनर की चूचियों को तेजी से मसलने लगे, जिससे वो और भी मस्त होकर अमरीकन लंड को अपने अन्दर लेने लगी और स्वान संग हमारे लंड चूसते-2 उसने दांतों से हल्का-2 काटते हुए, स्वान के लंड को ऊपर को उठा दिया और लटकते हुए अण्डों को अपनी गुलाबी जीभ से चाटने लगी. मैं हर वक़्त मौका देखता जब माँ आस पास न होती तो मैं झट से भाग कर जाता और मौसी के साथ लिपट जाता, कभी उसको होंठों पे चूमता, उसके बोबे दबाता, उस से गंदी गंदी बातें करता.

उन्होंने दूसरे हाथ को मेरे चूतड़ के नीचे ले जाकर मुझे तेज तेज झटके मारने में सहारा दिया.

यह एक सेक्सी कविता है, कोई स्कूल/ कॉलेज गर्ल अपनी सहेलियों को अपनी मस्ती भारी आवाज में सुना रही है. जिस दिन इंसान को ये समझ आएगा कि सेक्स एक जिस्मानी जरूरत है, तो सारी दुनिया कितनी सुन्दर हो जाएगी!आप दोनों ने जिस तरह यहाँ तीन दिन बिताए, उससे तो यहाँ का स्टाफ भी आप से प्यार करने लगा है.

जीबी रोड सेक्सी बीएफ सासू माँ ने जमाई बेटे के लंड को पकड़ लिया और अपनी चूत पर रगड़ने लगीं. इसलिए अब तक जितने भी लोगों से दोस्ती की है और जिनसे रिलेशन बने, वो हमेशा मेरी रिस्पेक्ट करते है और मैं उनकी.

जीबी रोड सेक्सी बीएफ मैं जानती हूँ कि मर्दों में मॉर्निंग में चुदाई की सबसे ज्यादा इच्छा होती है, इसलिए मुझे लगा कि शायद मामा नींद खुलते ही मेरी चुदाई करना चाहेंगे, इसलिए मैंने उठने के साथ ही नहाकर पूरे कपड़े पहन लिए. अगले दिन जब वो टयूशन आई तो मैंने उसको नहीं पढ़ाया और उसको सीधे बेडरूम में ले गया और किस करने लगा.

मैं चौथी मंजिल पर पहुँचा लेकिन वहाँ भी मुझे सफलता नहीं मिली क्योंकि वहाँ पर डॉक्टर्स, नर्स, वार्ड बॉय के आराम करने और कपड़े बदलने के कमरे बने थे जिसमें कोई नहीं था, बस एक कमरे मैं एक आदमी डॉक्टर के सफेद वाले कपड़ों पर प्रेस कर रहा था और दूसरा सफेद चादरों को तह कर रहा था.

सेक्सी बीएफ भोजपुरी सॉन्ग

फिर मैंने रेज़र में नया ब्लेड लगा कर धीरे धीरे चूत को अच्छे से शेव कर दिया और टिशू पेपर से चूत अच्छे से पौंछ दी. तब मैंने थोड़ा ऊँचा होकर संसर्ग शुरू किया और अपने लिंग के मुंड को उसकी योनि के अंदर ही रखते हुए बाकी का हिस्सा बाहर निकाल कर फिर अंदर धकेलने लगा. मैंने अपनी लंड की महक रुमाल में ली और फिर बाहर आकर वो रुमाल भाभी को दे दिया.

उनकी नंगी गुदाज चूचियों को मैं अपने हाथों से दबाते हुए उनके होंठों से अपने होंठों को अलग किया. चंगेज़ का चिकना, नंगे टोपे वाला मोटा लंड फचाफच की आवाज के साथ अन्दर-बाहर होने लगा, तभी रुस्लान ने भी पीछे से आकर अपना और भी मोटा लंड मेरी पत्नी की रस भरी गांड में ठूंस दिया. आज शाम को जल्दी जाना है एक अर्जेंट काम है, उसके बाद जॉब पे भी जाना है.

मेघा के होंठों पर काटने का निशान था तो मैं समझ गया कि वो मस्ती कर के आये हैं.

ऋतु ऊपर थी और पूजा नीचे!मैंने एक हाथ बढाकर ऋतु की चूत को पूजा के मुँह से हटा दिया और अपना लंड लेटी हुई पूजा के खुले हुए मुंह में डाल दिया. रात के दस बजे खाना खाने के बाद चन्दन अपने कमरे में चला गया और संगीता देवी भी अपने बिस्तर पर चली गईं. कॉलेज के बाद सब अपने अपने घर की तरफ़ निकल लिए मगर आज सुमन और टीना के साथ फ्लॉरा भी आ गई और ये तीनों टीना के घर में आ गईं.

मेरी पड़ोसन गर्लफ्रेंड की चुदाई स्टोरी कैसी लग रही है?पड़ोसन गर्लफ्रेंड की चुदाई स्टोरी का अगला भाग:माँ को चोद कर बेटी की फैंटसी पूरी की-2. उसके बाद टीना और फ्लॉरा चली गईं और सुमन के ज़िद करने पर गुलशन जी उसको अनिता के पास ले जाने को तैयार हो गए और दोनों घर से अनिता के घर की ओर निकल गए. नीतू ने पहले तो नानुकुर की, मगर बाद में वो नंगी हो गई और मोना तो पहले ही पूरे कपड़े निकाल चुकी थी.

अभी आई बस।टीना ने उसको वॉशरूम बता दिया, फिर वो जल्दी से सबके पास गई और शॉर्ट में पूरी बात बता दी।विक्की- ये क्या यार, तू अकेला मज़ा करेगा. ये सब बताते हुए सविता भाभी पुरानी यादों में खोकर बताने लगींबाद में शाम को सविता भाभी ने डिनर की सब तैयारी की.

मेरा लंड भाभी की चुत के अन्दर-बाहर हो रहा था और वो सीत्कार करे जा रही थीं. ऋतु के होंठ लगते ही उत्तेजित होकर एक मिनट में ही मैंने एक के बाद एक कई पिचकारी उसके मुंह में उतार डाली. मगर मोटे लंड से सुमन भाभी को घबराहट होने लगी और सांस लेने में दिक्कत होने लगी, तो मैंने वापस अपना लंड उनके मुँह से निकाल लिया.

पूजा पहले तो चौंक गई पर फिर उसने मेरा लंड जोर शोर से चूसना शुरू कर दिया.

हो सकता है कि ये सच होती हों।बात तब की है, जब मैं 12वीं के एग्जाम के रिज़ल्ट का वेट कर रहा था और मुझे इसके लिए अपना 10 वीं का डिप्लोमा लेने के लिए अपने पुराने स्कूल जाना पड़ा। मैं डिप्लोमा लेने के लिए वहाँ गया। मैंने प्रिंसीपल से डिप्लोमा लेने के लिए बात की और प्रिंसीपल ने बोला कि कल आना।फिर मैं स्कूल के साथ प्रिंसीपल के कमरे से बाहर चला गया. वो लंड के सुपारे के करीब अपने होंठ लाईं और लंड को ऐसे चूसने लगीं, जैसे भूखी कुतिया को हड्डी मिल गई हो. मैंने लंड उसके मुख में दे दिया, वो चूसते हुए पूरा पानी पी गई, उसके चेहरे पर तृप्ति साफ़ दिख रही थी.

तेरी एज में लड़कियां शादी कर लेती हैं और चुत कितनी भी छोटी हो लंड आराम से ले लेती है. मेरा लंड एक ही झटके में ही सरसराता हुआ अन्दर चला गया, क्योंकि लंड गीला था.

फिर उन्होंने मुझे सेक्सी बुक्स पढ़वाई और कुछ वीडियो हम सभी ने वीसीआर पे देखे. उसके बाद मैं अंकिता के मम्मों को दबाने लगा और वो भी मादक सिसकारियाँ भरने लगी ‘आह. पति के लंड के सुख से वंचित सविता भाभी अपने पुराने चोदू के सामने अपनी चुत को कैसे खोल बैठीं.

सोनाक्षी सिन्हा बीएफ सेक्सी

उसे एक दोपहर को रीना का फोन आया कि विनय शाम को तीन-चार दिन के लिए टूर पर जा रहा है तो कविता उसके घर पर ही तीन चार दिन रुके, वहीं से बैंक जाए.

कुछ पल में ही हम दोनों का कामरस बह गया और हम थककर एक दूसरे के ऊपर नीचे ही लेटे रहे. तो मैंने उससे बात नहीं की, क्योंकि मैं नहीं चाहता कि मेरी वजह से उसे कोई तकलीफ हो. ऐसे होता है…ऐसे ही जैसे सीधा लिटा के भी डालो ना अंदर तो वो ऊपर नाभ की तरफ आ जाता है.

देखना आज तो कॉलेज में तेरा ये रूप देख कर एक-दो लड़के बेहोश हो जाएँगे. तो मैंने उसका लंड अपने हाथों में ले लिया और पैन्ट के ऊपर से ही हिलाने लगी. जानवर और लेडीस का सेक्सी फिल्मजीजाजी शातिर थे… मम्मी जितना पल्लू ढीला करती, उतना ही वह अंदर खिंच जाता.

फाइनली उसकी ब्रा मैंने निकाल दी और मुझे आज तक याद है वो दुनिया के सबसे पर्फेक्ट ब्रेस्ट्स थे. उंगली अन्दर-बाहर करने लगा। मेरी उंगली उसकी चुत में इतनी तेज़ स्पीड से जा रही थी कि रूम में सटासट सटासट की आवाज़ गूँज रही थी। फिंगर फकिंग का मज़ा उसकी आँखों में भी दिख रहा था.

अब संजय उसके मखमली होंठों को चूसने लगा और एक हाथ से उसके मम्मों को दबाने लगा. जल्दी में उसने चूत को साफ़ नहीं किया और मेरे लंड का माल उसकी चूत से नीचे बहने लगा. मैंने- हैलो, दरअसल वो मेरी मॉम ने ये कुछ प्रसाद भेजा था, हमारे घर आज पूजा थी तो.

और उसने मेरे सीने को अपनी मुठ्ठियों में भींच लिया और मैंने सबीना की चूत को मुँह में दबा लिया तो सबीना की भी चीख निकल गई और जमीला मेरे ऊपर ही गिर गई. उसका शरीर काफी भरा हुआ था और उसने हाफ बाजू की शर्ट पहन रखी थी, नीचे खाकी पैंट और पैरों में काले चमड़े के जूते… उसकी जांघें काफी मोटी और मांसल थी… और टांगें फैला कर लगभग पूरी सीट पर उसी का कब्जा बना हुआ था लेकिन फिर भी मैं एडजस्ट होकर उसके साथ बची हुई जगह में बैठ गया. इस कहानी में रूबी ने हमारी एक बंगालन पड़ोसन की बात की थी जिसका पति फिसड्डी था और वो किसी स्पर्म बैंक से कृत्रिम गर्भाधान करवाने की सोच रही थी.

भगवान खुद यही चाहता है कि आज तुम खुलकर जी लो ताकि फिर कभी पछतावा ना हो कि ग्रुप सेक्स का मौका मिला था मगर मैंने गंवा दिया.

मैंने इसी बीच कमर को जोर से दबा कर उनके ऊपर चढ़ गया, मेरा लंड जड़ तक फिसलते हुए घुस गया. पर मैं तो नंबर एक का कमीना, मैं कहाँ रूकने वाला था, उसको पटाने की तरकीब सोचने लगा.

बस ये बात सुमन के दिमाग़ में नहीं आई वो तो वासना की आग में सब कुछ भूल गई थी. फिर चाची ने अपने हाथ बेड की चादर से पोंछ कर मुझे चुप रहने का इशारा किया और हाथ मेरे मुँह से हटा लिया. जमाई का हाथ धीरे-धीरे सरकता हुआ जब सास की चुत के ऊपर पहुँचा तो उनका चुपचाप पड़े रहना मुश्किल हो गया.

वैसे गोआ में सब ऐसे ही पीते है क्या?फ्लॉरा- हाँ, ज़्यादातर पीते हैं, वहां की बेस्ट फैनी वर्ल्ड फेमस है. अब तक चार लड़के झर चुके थे, सिर्फ राहुल ही था जो मेरी गांड अभी तक चोदे जा रहा था, वो छूटने का नाम ही नहीं ले रहा था, वो धकापेल मेरी गांड को चोदे जा रहा था. मेरी एक कहानी प्रकाशित हुई थीशिकारा किश्ती में मादक चुदाईजिसमें मैंने मेरे और मेरी पहली मोहब्बत के बीच हुए एक सेक्स सम्बन्ध के बारे में बताया था.

जीबी रोड सेक्सी बीएफ मैं और रॉबर्ट रूम के लिविंग एरिया में सोफे पर बैठ गए और डील की बातें करने लगे. उसकी वो बड़ी बड़ी आँखें भी बड़ी लाजवाब थी जिनको देख कर लग रहा था कि मानो को हुस्न की परी उतर आई हो.

सेक्स सेक्सी मूवी बीएफ

टीना और बरखा यही दिखाने की कोशिश कर रही थीं जैसे उनको कुछ पता नहीं, मगर अतुल की इस हालत का मज़ा वो भी ले रही थीं. रात के दस बजे खाना खाने के बाद चन्दन अपने कमरे में चला गया और संगीता देवी भी अपने बिस्तर पर चली गईं. नताशा मेरे और स्वान के बीच अपनी दाईं करवट लेट गई और बायाँ पैर थोड़ा सा फैला दिया जिससे कि मुझे उसकी चूत में धक्के लगाने में आसानी हो.

उनकी दोनों टाँगों को साइड में करके मैंने अपने लंड को सुमन भाभी की चूत पे रखा. संजय- बहुत अच्छा किया मगर किसी को पता नहीं लगा कि वो सूसू है या कुछ और?पूजा- छोटे बच्चों को तो सूसू ही लगा. कॉलिंग सेक्सी वीडियोयह देख उसको हंसी आ गई, मैंने साहस करके दुबारा से उसके चेहरे को अपने हाथों में लिया और सहलाना शुरू कर दिया.

मोहन- हेलो जमीला डार्लिंग, कैसी हो और खूब चुदवा रही हो दो दिनों से राजेश से?जमीला- क्या बताऊँ यार, ये राजेश का लौड़ा बड़ा मस्त है और चोदता भी मस्त है.

कोमल- जमीला को दिखाओ ना?तो मैंने जमीला को दिखाया जो मेरा लण्ड चूसने लग गई थी. मुझे इसकी बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी पर जब मैंने ऋतु का तृप्ति भरा चेहरा देखा तब उसकी बंद आँखें और हलकी मुस्कराहट से भरा चेहरा देखा तो मुझे एक सुखद अहसास हुआ और मैं भी पूरे जोश के साथ अपने लंड को उसकी चूत में अन्दर बाहर करने लगा.

पसंद आया शेर…?!?एक बात और दोस्तो, कभी अपनी फैमिली मेम्बर जैसे बहन, मौसी, माँ, चाची, पड़ोसन आदि को चोद कर देखना, बहुत मजा आएगा. पांच मंजिल के इतने बड़े अस्पताल मैं मुझे एक जवान मर्द नहीं मिल पाया था जो मुझे अपने लंड का कामरस पिला सके. अब नीतू ने उसकी आग को और भड़का दिया था, मगर वो चुत नहीं चाटने वाली थी.

अब क्यों चुप बैठी है क्या हो गया तुझे?संजय की आवाज़ सुनकर टीना का ध्यान टूटा ही नहीं, वो तो उसी कमरे में पहुँच गई थी.

मोना तो ये सुनकर सोच में पड़ गई कि इतने करीब के रिश्ते में भी ये सब होता है क्या?मीना- अब देख तू गाँव जाए ना. दाईं तरफ मैं, बाईं तरफ स्वान अपने लंड सफ़ेद गुड़िया के होठों से लगा कर खड़े हो गए, जबकि एंड्रयू ने उसको अपनी छाती पर लिटा कर नीचे से उसकी नर्म गुलाबी चूत को चोदना शुरू कर दिया. अब मैंने चांस मारा, दीदी की साड़ी को उनके सीने से हल्का सा हटाया तो उनके मम्मों की लाइन दिखने लगी.

सेक्सी नंगी नंगी बीपीजब उसका कोई ऐतराज नहीं हुआ तो मैं उसके गाल पर, गले पर किस करने लगा. उस दिन के बाद हम रोज़ ही फ़ोन पर बातें करने लगे और अगली बार कहाँ मिला जाए, ये प्लान बनाने लगे.

भोजपुरी बीएफ सेक्सी चुदाई

उन्होंने झुक कर मुझे पानी दिया तो में उनके बड़े चूचे देख कर हैरान रह गया. (फुसफुसाते हुए) वैसे मैंने उसकी और उसकी ननद दोनों की चूत सुजा दी पर तुम जमीला को बताना मत. उनके बड़े चूचे साफ दिख रहे थे और उन पर काले निपल्स एकदम उठे हुए थे.

अगली सुबह जब मैं उसे उठाने गई तो वो पहले से ही जगा हुआ था और मेरा वेट कर रहा था. अनीता ने तिवारी की तरफ एक सीरियस लुक देते हुए और अपने होंठ गोल करते हुए पूछा- क्या दिक्कत है तिवारी जी?‘दरअसल बात यूं है कि जब विभूति जी रात को हमारे यहाँ ठहरेंगे और आप जब अपनी लेस्बियन फ्रेंड प्रिया के साथ यहा कामुक सुख का आनन्द ले रही होंगी, उस वक़्त हम भी तो अंगूरी के साथ प्यार कर रहे होंगे न? तो फिर भभूतिजी कोई दखल करेंगे तो?’ तिवारी ने अपनी मुश्किल जताई. वो भी थोड़ी शरमाई और मेरा खड़ा लंड पकड़ कर बोली- तू भी तो इस मलिका का आशिक लग रहा है.

हम सेक्स का पूरा आनन्द लेते हैं, बात करते हैं और पर-पुरुष, पर-स्त्री की कल्पना भी करते हैं. पहले दिन जब वो घर में आई थी तो तब से ही उसकी नजर मेरी पैंट की जिप पर रहती थी. अब बातों बातों में अचानक ममता की तबीयत खराब हो गई तो अनिता उसको अपने साथ अपने घर ले गई ताकि थोड़ा आराम करेगी तो ठीक हो जाएगी.

कुछ पल रुक कर अपने आपको ठंडा करने के लिए मैंने फव्वारा स्टार्ट किया. मैं और अदिति बहूरानी अकेले एक ही घर में, और तीसरा कोई नहीं; वो भी पूरे दस दिन और दस रातें!” ऐसा सोचते हुए मेरे दिल की धड़कन असामान्य रूप से बढ़ गई.

फ्लॉरा ने जॉन को हटाने की बहुत कोशिश की, मगर जॉन अपने काम में लगा रहा और थोड़ी ही देर में फ्लॉरा भी उत्तेजित हो गई.

तभी राहुल मेरे पास आकर मेरे लंड को देख कर बोला- वाह, लंड तो बहुत अच्छा है तुम्हारा, तुम डर क्यूँ रहे हो? करो जो कर रहे थे. सोई हुई औरत का सेक्सी वीडियोयों तो जब से उसके मुंह से लीला बीच के बारे में सुना था तब से मेरी चुत गीली हो गयी थी, जाने की इच्छा मुझ में भी थी, मैं बस मेरी प्यारी रिया को सता रही थी. डॉगी लेडी सेक्सी वीडियोसुमन भाभी की चुत का रस मेरे पूरे मुँह में भर गया और मैं उनका रस चाट गया. मेरी शानदार पत्नी ने उनके लौड़ों को अपने हाथों में पकड़ कर चूसना शुरू कर दिया.

एक बार भाभी की चूचियां देख लीं तो मेरे दिमाग में 24 घंटे एक ही ख्याल आने लगा कि कैसे भाभी को पटाऊं और कब उन्हें चोद दूं?खैर फिर रोज सुबह उसी टाइम पर मैं कमरे से बाहर आता और उन्हें देखता रहता.

मुझे लास्ट मोमेंट पे धोखा दे देता था, तो मैंने उससे ब्रेकअप कर लिया। तब से आज तक कोई मिला नहीं जो पसंद आए।उधर सबके सब चोर नज़रों से इन दोनों को देख रहे थे और समझने की कोशिश कर रहे थे कि क्या बातें हो रही हैं।अजय- उफ़ यार, साली बैठी कैसे है. मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और 20-25 जोर दार धक्के लगाने के बाद उसकी चूत में मेरा लंड पिचकारियाँ मारने लगा. दोस्तो! काफी लम्बे अंतराल के बाद सेक्सी निकी फिर से आपके सामने हाजिर है.

फ़िर संगीता ने अपनी जीभ चन्दन के होंठों से बीच में सरका कर अन्दर मुँह में डाल दी. कभी कहता ‘गांड दे दे’ कभी कहता ‘मौसी तुम्हारे बोबे बड़े मस्त हैं’ कभी निकर उठा कर उसको अपना लुल्ला निकाल कर दिखाता और कहता ‘आजा ले ले इसे’. अब मेरी भी रफ्तार बढ़ रही थी, मैं भी अपने चरम की तरफ पहुंच रहा था, पूरा केबिन हमारी चुदाई के शोर से गूंज रहा था, शोर इतना था कि सोता हुआ आदमी भी जाग जाता.

बीएफ एचडी में सेक्सी बीएफ

और वैसे भी शायद तुम्हें याद नहीं लेकिन तुमने कहा था कि ये लंड मेरा है और मैं जब चाहूँ इसे प्यार कर सकती हूँ. मगर वो मर्यादा में रहकर सब करना चाहती थी यानि सब कुछ हो भी जाए और गुलशन जी की नज़र में वो सीधी भी बनी रहे. भाभी ज़ोर से चिल्ला पड़ीं- आआह… अह… नहींइ… बहुत दर्द हो रहा है… निकालो.

अब तो बैठ जा।फिर उसको ख्याल आया कि घर वाले कभी भी आ सकते हैं तो उसने टी-शर्ट पर लगा अपना वीर्य साफ किया, उस जगह को पानी से अच्छी तरह साफ करके प्रेस से उसको सुखा दिया, तब तक पूजा भी बाहर आ गई थी।पूजा- ओह मामू आप कितने अच्छे हो अपने टी-शर्ट को सुखा दिया।संजय- चल जल्दी से तू इसको पहन ले।पूजा ने टी-शर्ट पहन ली.

ऐसे ही शादी का दिन आ गया, हम सब नाचते हुए मंडप में पहुँचे तो दूल्हे के स्वागत के लिए दुल्हन की पूरी फॅमिली बाहर खड़ी थी जिसमें दुल्हन की सिस्टर भी थी जो बहुत प्यारी लग रही थी.

भाभी- अच्छा? मुझे तो पता ही नहीं था कि आप मुझे बाद में भी देखते हो!मैं- सच बताना भाभी, अगर ऐसा था तो आप बच्चों के बहाने मुझसे बात क्यों करती थीं?भाभी- क्योंकि आप बहुत स्मार्ट हो. और बताओ रफीक कहाँ है? यार आप लोग ही आ जाओ कभी, हम अभी नहीं आ पाएंगे, बहुत बीजी हैं. एकदम खुल्लम खुल्ला सेक्सी वीडियोथोड़ी देर मैं वहीं पर उसके निप्पल चूसते हुए लेटा रहा, फिर मैं और वो खड़े हुए.

मैंने धीरे से अपनी कमर उठाई और उनका लिंग पकड़कर अपनी योनि के मुंह पर सेट किया और धीरे धीरे उस पर बैठने लगी. रात को जब भैया चले गये तो मैं भाभी के पास गया और उनसे बातें करने लगा. उनकी जाँघें काँपने लगी और वो सिसकारते हुए बोली- ओह बेटे, क्या कर रहे हो? आआआः हह बेटे बहुत अच्छा कर रहे हो… ओह सही जा रहे हो… ऐसे ही अपनी जीभ मेरी चूत पर फिराते रहो और चूसो मेरी चूत को…फिर मैंने पनियाई हुई माँ की चूत के छेद में अपनी जीभ को नुकीला करके पेल दिया और तेज़ी के साथ अपनी जीभ को नचाने लगा.

15 दिन से मैं आउट ऑफ़ टाउन हूँ तो कोई भाभी तो मिली नहीं सोचा एक पुरानी कहानी आप के साथ शेयर करूं. वहीं एक दुकान थी, हम दोनों वहाँ चाय लेने चले गए, मैं ठीक उनके पीछे खड़ा था और कुछ दुकान वाले से बात करने के बहाने मैंने अपना शरीर उनके शरीर में छुआ दिया.

तभी मैंने माँ के हाथ को पकड़ कर अलग किया और अपने चेहरे को उनकी कांख में घुसेड़ दिया.

क्यों सुमन तू बता ना?सुमन- हाँ मॉंटी, तू नींद में बहुत परेशान हो रहा था मैं इसी लिए तो आई थी. विकास बिना वक़्त गंवाए पूजा की चूत को चाटने लगा और अपनी लम्बी जीभ से उसे कुरेदने लगा. मैंने उन्हें धक्का दिया और उनकी पेंटी उतार कर फिर से उनकी चुत को उंगली से रगड़ने लगा.

ब्लू सेक्सी वीडियो पिक्चर हिंदी में थोड़ी देर बाद मैं चुपचाप टायलेट से निकला और अपने कमरे में दौड़ गया. एकदम भरा बदन… उसके बोबे मानो कमीज़ फाड़ कर बाहर निकलने को आतुर हों.

शायद अब उसे इतना दर्द नहीं हो रहा था तो उसने भी मुझे नहीं रोका और हमारी चुदाई अब स्पीड में चलने लगी. साली मेरे रस की भूखी!और मेरे लंड ने अपना रस उबाल कर बाहर उड़ेलना शुरू कर दिया. उसने भी गुलशन जी को बहुत सुनाई और फ्लॉरा ने भी सुमन को बता दिया कि उस दिन ये मेरी मॉम के बारे में बहुत पूछ रहे थे.

बीएफ हॉट बीएफ हॉट

वो कहने लगी- राज क्या कर रहे हो? हटो यहाँ से, छोड़ो मुझे!और अपनी मेक्सी नीचे कर दी. थोड़ी देर बाद जब लौड़ा अच्छी तरह गांड में अड्जस्ट हो गया तो फ्लॉरा का दर्द भी मज़े में बदल गया. मैंने पहले तो भाभी के झांकते स्तनों को जी भर के चाटा और फिर ब्रा को बिना खोले ही अन्दर हाथ डालकर बाहर निकाल लिया.

उन्होंने एक बड़ी ही कातिल मुस्कान से देखा मुझे और फिर अगले ही पल उनके नीचे वाले होंठ को मैंने अपने होंठ में ले लिया और गुलाब की पंखुड़ियों से रस चूसने का कम शुरू किया. वैसे आपका लंड भी तो मेरी चुत की तरह फड़क रहा होगा, उसे तो मैं ही अपने मुँह से चूस-चूस कर ठंडा करूँगी.

मगर आज मैं अपने ब्राजील की नहीं, अपनी मामी के घर में हुई की चुदाई बताने जा रही हूँ.

मैंने भी देर ना करते हुए अपना लंड उसकी कुंवारी चूत पर रखा और झटका लगा दिया. मगर क्या करती जो था वही था।टीना- तब तो तू आज बहुत ज़्यादा एंजाय करेगी यार. मामा जी ने झट से मेरे सारे कपड़े उतार दिए, अब मैं पूरी तरह से नंगी हो गयी थी, मामा जी खुद बेड पर पैर लटका कर बैठ गये और मुझे नीचे घुटने के बल बैठा दिया, एक हाथ से मामा अपने लंड को ऊपर से नीचे की ओर तान रहे थे और दूसरी हाथ से मेरी सर पकड़ कर अपना लंड मेरी मुँह में घुसा दिया.

तो मैंने दूसरी चाल चली, मैंने कहा- चाची आप जाकर सो जाओ, मैं फिल्म देखूंगा. उसकी सांसों से बहुत ही मधुर सुगंध आ रही थी… वह कामदेव की पत्नी रति लग रही थी. वो इसने अन्दर कुछ नहीं पहना हुआ है, मेरा हाथ इसके व्ववो उससे टच हुआ.

मैंने अपना लंड चाची के पेटीकोट से साफ किया, फिर अपने कपड़े पहनने लगा.

जीबी रोड सेक्सी बीएफ: ‘अबे आधा घंटा से ऊपर हो गया है, सर बोल रहे हैं कि कितनी देर और लगेगी?’‘जब ये मुझे छोड़ देगा?’फिर मेरी तरफ देखते हुए बोला- यार, जल्दी निपटा इस रंडी को!मैं चोदे जा रहा था, अब रोहिणी थकने लगी थी और मेरा निकलने का नाम ही नहीं ले रहा था, मुझे इतना अहसास जरूर हो रहा था कि कुछ फंसा सा हुआ है. जैसा कि मैंने बताया कि गर्मी के दिन चल रहे थे और दीदी ने सलवार नहीं पहनी हुई थी.

जब वो पानी साफ़ करने के लिए झुकीं तो उनकी नाइटी में से उनकी रेड ब्रा एकदम साफ़ दिखने लगी थी. फ्लॉरा- क्या 4 घंटे लगातार आप चुदाई करोगे हा हा हा इतना पावर है आप में?गुलशन- मेरी रानी ये तो बहुत कम टाइम है. बताओ?मैं- सब कुछ करके दिखाऊंगा।मैंने उसको मेरी ओर उसका हाथ पकड़ कर खींच कर हग कर लिया।उसने मुझसे इठलाते हुए बोला- इतनी छोटी सी बात समझने के लिए तुमको इतने दिन लग गए विजय?मैं उसकी इस बात को सुनते ही पूरा उत्तेजित हो गया और उसको किस करने लगा। मैंने उसके नर्म होंठों पर पूरे ज़ोर से किस किया.

वो भी मस्ती भरे अन्दाज में उत्तेजित कर रही थी, वह कभी मुझे बाबू कहती तो कभी राजा… कभी जानम कहती… तो कभी प्रियतम… उसके बोल मुझमें जोश भर रहे थे और मैं अपनी हरकतों से उसके बदन की गर्मी बढ़ा रहा था.

मुझे अपनीअपनी बीवी को दूसरे से चुदते देखने में ख़ुशी मिलती है, देखने में मजा आता है. उसकी 20 मिनट की लंड चुसाई की मेहनत के बाद मैं उसके मुँह में ही झड़ गया. मैं इससे पहले कहीं गया नहीं था इतनी रात को तो थोड़ा फट भी रही थी लेकिन फिर सोचा कि अगर आज नहीं गया तो पता नहीं कब मौका मिलेगा.