एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी देसी

छवि स्रोत,हिंदी में बोलने वाली बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी ठोका: एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी देसी, मैं जहां रहता था, वो विस्तार एकदम साफ सुथरा एवं अच्छे लोगों वाला था.

बीएफ एक्सएक्सएक्ससी

मुझे उससे चुदवाने में बहुत अच्छा महसूस हो रहा था और वो मुझे बहुत अच्छे से चोद रहा था. बीएफ सेक्सी मोनालिसाइससे वो एकदम से गरमा गई और गाली देते हुए बोली- मादरचोद, क्यों सता रहा है … छेद पर भी कर ना.

मैं पीछे जाकर खड़ी हुई तो वहां लेडीज के पीछे फिर जेन्टस और लड़के खड़े थे. चंडीगढ़ के सेक्सी बीएफवो बोला- हमारे घर में मैं मेरी बीवी, दो बेटी और उसका पति हर संडे को हम सब मिलकर ग्रुप सेक्स एन्जॉय करते हैं.

इन्हीं सब सवालों की उधेड़बुन और ऑफिस के कामों में मैं लगा रहा … और शाम को काम खत्म करने के बाद घर आ गया.एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी देसी: आंटी भी हाथ में दूधों को पकड़ कर मुझे पिलाने लगी, कहने लगी- पी जा सौरभ.

मैंने दरवाजा अंदर से बंद किया और अपने पूरे कपड़े खोलकर उसकी ब्रा और पैंटी से मूठ मारने लगा और थोड़े देर में अपना सारा लंड का माल उसकी पैंटी पर ही निकल दिया.उसके बाद तो बस लाइफ बिताया जाता है … तो जब तक जवानी है तब तक जी अपनी लाइफ … और जवानी के बाद जिसके पास पैसा है.

गांड मारने वाली बीएफ फिल्म - एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी देसी

फिर मैंने धीरे से उनके चूचे पर हाथ रखा, जब उन्होंने कोई ऐतराज नहीं किया तो मैं उनकी एक चूची को सहलाने लगा.इतने में रमीज ने मेरे दूधों को चूसने के लिए मेरे दूध को पकड़कर जोर से दबाया और फिर पहले निप्पल पर अपनी जीभ चलाने लगा, जिससे मुझे थोड़ी राहत मिली और अच्छा लगा.

जैसे चूत से कोई बहुत गर्म गर्म पिचकारी से निकलने को हो और मुझे इसका अहसास भी हुआ. एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी देसी बस कभी कभी मन होता था कि चली जाऊं उनके पास और बिछ जाऊं उनके सामने, वो मुझे बेरहमी से अपने आगोश में लें, मेरी योनि को अपने लिंग से भेदें, अपने मर्दाना हाथों से मेरे नितंबों को मसल दें, मेरे कूल्हों को बेरहमी से निचोड़ दें, मुझे अलग अलग आसनों अच्छे में पूरी बेरहमी से चोदें और मैं बस सिसकारियां लेती रहूं, आहें भरती रहूं और झड़ जाऊं.

मैंने उसके बाद भाभी की पेंटी से हाथ निकाल लिया और उनके ब्लाउज को खोलना शुरू कर दिया.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी देसी?

ऐसे में उसका लंड भी मेरी चुदक्कड़ बीवी नीना के हाथों का खिलौना बन चुका था. निहाल नया लड़का था, तो उसका लौड़ा बहुत बड़ा और कड़क महसूस हो रहा था. उसने भी अपना लंड मुझे पकड़ा दिया और बोला- तुम दोनों लंड को मुट्ठी में पकड़ पकड़ के रगड़ो.

लखनऊ जाने एक बुरा नतीजा ये रहा कि मोहल्ले वाले और जानकारों ने जीना बदहाल कर दिया, ताने, दुनिया भर के सवाल और ना जाने क्या क्या. तभी चाचा और पापा उधर आ गए और मैंने उनको कह दिया कि हम दोनों आपसे सेक्स करने को राजी हैं. वो मुझे इस अवस्था में चोदते चोदते मेरी कमर को पकड़ कर मेरी चूत में लंड घुसा कर बड़े आराम से चोद रहा था.

अरे वाह मास्टर जी, मैं हमेशा से सेक्स की गोली खा कर चुदना चाहती थी, पर मेरे पति बहुत बोरिंग किस्म के इंसान हैं. राहुल ने मुझे इशारा किया और मैंने एक बार चूत को चाटा और फिर संध्या से लण्ड चुसवा कर दोनों टांगों को कंधों पर रख कर मैंने अपने आपको संध्या के उपर सेट करके अपना लौड़ा उसकी चूत पर सेट करके ज़ोर का धक्का दे दिया. बल्कि मेरे घर पर ही चुदाई करेंगे क्योंकि मेरे बच्चे दोपहर 12 से 8 बजे तक स्कूल और टयुशन में होते हैं.

भाभी की तबीयत ठीक ना होने के कारण मैंने ही दूध गर्म किया और भाभी और मैं साथ में दूध पीकर सो गए. मुझे तो लगा था कि मेरे सच्चे प्यार का अंत हो गया, पर नहीं मेरी जिंदगी में एक नया मोड़ आया और शायद भगवान भी यही चाहता था.

उफ्फ़ … अहह … हाँ … और चोदो, अपनी भाभी की चूत … अंदर तक घुसेड़ दो राहुल … अपने लण्ड को … उफ्फ … अह्ह … आह … चोदो.

तुम हमारे साथ ही चाय पी लो!मैंने दीदी की बात मानकर बाहर जाने का विचार कैंसल कर दिया और वहीं बैठकर टीवी देखने लगा.

मैं आप से कुछ पूछना चाहती हूँ और ख़ास इसीलिए आज मैं आपके पास आई हूँ. मैं उनको देख ही रहा था कि उन्होंने कहा- कहां खो गए हो अमित?मैंने कहा- कहीं नहीं!फिर उन्होंने मुझे बैठने के लिए कहा और पूछा- क्या लोगे?मैंने कहा- जो आप खिलाएंगी और पिलाएंगी वही ठीक है मेरे लिए. खुद को बचाना, कहीं कोई कंट्रोल ना कर पाया तो तुझे लेने के देने पड़ जाएंगे.

फिर उस दिन के बाद से हम दोनों में भाई बहन का नहीं, मियां बीवी का रिश्ता बन गया. वे पापा को समझा रही थीं- आप गुस्सा ना हो, आजकल के लड़कों में तमीज नहीं होती … आप हल्ला मत करो, हमारी ही मोहल्ले में इज्जत चली जाएगी. उसके बाद आंटी ने कहा- जब से तू आया है मैं इसी मौके की तलाश में थी और आज मुझे ये मौका मिला है.

उसने कुर्ता और समीज के अन्दर से हाथ डालकर मेरे दूध पर अपने हाथ रख दिया और उन्हें जोर से दबाया कि मेरी हल्की सी चीख निकल गई.

इस बीच हम दोनों भी अपने बेडरूम में आ चुके थे, मगर नीना के दिमाग में प्रशांत के लौड़े का नशा छा गया, जो साइज में मेरे लंड का करीब डेढ़ गुना रहा होगा. ड्रिंक ले कर मैं जब पलटा तो डॉली ने मुझे अपने पास बुला लिया और फिर अपनी जान पहचान वालों से मिलवाने लगी. उनका वो धक्का बहुत ज्यादा तेज था।राहुल ने धीरे से अपने लंड को बाहर निकाला और फिर जोरदार धक्के के साथ अपना लंड मेरी चूत में पेल दिया.

संध्या की चूत का चुम्बन लेते ही वह सिहर उठी, उसने मेरा सिर पकड़ा और अपनी चूत पर दबा दिया; उसने चुदास भरी आवाज़ में कहा- मेरी चूत की मालिश कर दो. पूछने पर उन्होंने बताया कि फूफा बस जल्दी जल्दी में चोदकर सो जाते हैं, गांड को तो हाथ भी नहीं लगाया कभी. जाने से पहले उसने मुझसे कहा- आप बहुत अच्छी हैं, आपने इतने दिन मेरे ख्याल रखा, उसके लिये धन्यवाद.

उस लड़के ने बहुत तेजी से चाट चाट के चूत को गीली कर दिया और एक ने पीछे मेरी गांड में लंड डाला था.

वो मेरी गांड में मुँह घुसाने लगी थी और एकता के रस को चाट चाट के साफ कर रही थी. और अगर तुझे कोई परेशानी न हो तो तेरे नीचे के कपड़े भी मैं ही उतारूंगा.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी देसी और फिर कभी न कभी तो उसे चुदना ही था, तो क्यों ना मैं ही आज चोद दूँ?यह सोच कर मैं मीशा के नंगे बदन के ऊपर आया, उसकी जांघों को फैलाया, खुद को उसकी नंगी टांगों के बीच में अवस्थित किया और अपने लंड को पकड़ कर उसकी चूत की दरार में रगडा. इस तरह से पहली बार जब से मैं मौसी के यहां से चली थी, तब से पहली बार मेरी चूत को सेटिस्फेक्शन मिला था.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी देसी इस तरह से पहली बार जब से मैं मौसी के यहां से चली थी, तब से पहली बार मेरी चूत को सेटिस्फेक्शन मिला था. मैं उसके मुंह पर अपनी योनि रगड़ूं, वह जीभ से खुरच दे मेरे दाने को, खींच डाले मेरी कलिकाओं को और मैं उसके मुंह पर स्क्वर्ट करूँ.

आशीष अपने हाथ से मेरे पैंटी के ऊपर अपनी उंगली से जहां चुत का छेद था, उस जगह पर अपनी उंगली घुसाने लगा.

कंडोम को कैसे यूज करते हैं

आज से पहले मर्दों की मैंने सुनी थी और आज पहली बार कोई मर्द मेरी सुन रहा था. वो बोली- कुछ बोलोगे नहीं?मैंने कहा- मुझे जॉब मिली है और आप मेरी मालकिन हैं. जिस दूध को उसने पूरा मुँह में डाल लिया था, उसको वो जबरदस्त चूस रहा था और दूसरे को अपने हाथ से भर भर के दबाने लगा.

उनकी पत्नी यानि मेरे पति की भाभी यानि मेरी जेठानी मुझसे बोली- रेशमा, संजय तो तीन महीने बाद आएगा और तेरे जेठ जी भी शायद एक महीने बाद आएंगे, तब तक तुम क्या करोगी?मैंने कहा- मैं क्या कर सकती हूँ?भाभी बोली- ठीक है मैं ही कुछ करती हूँ. सेक्स स्टोरी पढ़ कर मुझे लगा कि मुझे भी अपना एक्सपीरियेन्स शेयर करना चाहिए. 5 सेमी मोटा लंड था। फिर उसने मुझसे कहा कि आप अपनी आँखें बंद कर लो। आंखें बंद करके मुझे बताना कि आपको कहां पर क्या महसूस होता है।मेरी जांघों पर हाथ फेरते हुए उसने मुझसे पूछा- आपको कहाँ पर ठंडा लगता है।मैंने ऐसा ही किया, मैंने अपनी आंखें बंद कर लीं.

उसके 2 बच्चे भी हैं मेरे साले को शराब पीने की बहुत ज्यादा आदत है, जिस कारण घर में क्लेश होता है.

करीब 15 मिनट तक उसने मेरी चुदाई की और बाद में वो मेरी गांड में ही झड़ गया. एक अजीब सी मदहोश करने वाली महक आ रही थी उनके जिस्म से, जो मेरी उत्तेजना और बढ़ा रही थी. शुरू शुरू मैं उसने थोड़ा विरोध किया, लेकिन बाद में वो मेरा साथ देने लगी.

रात को करीब 12 बजे मेरी नींद खुली, तो मैंने अपने मुँह को शीला की चुचियों के बीच पाया. मेरा बॉयफ्रेंड मुझे बेतहाशा चूम रहा था और मेरे बूब्स को दबा रहा था. उसने खुद को ढीला छोड़ दिया और अपने मम्मों को मसलवाने का मजा लेने लगी.

मैंने धीरे से हाथ नीचे ले जा कर उसके ब्लाउज़ के सारे हुक खोल दिये और उसकी चुचियो को मसलते हुए उसके निप्पलों को खींचने लगा. कुछ ही देर में मुझे ऐसा लगने लगा कि वो मेरे होंठों को चूसते हुए मेरी चूत को भोसड़ा बनाने के नजरिये से चोदे जा रहा था.

थोड़ा हटा, तो देखा कि पद्मा जागी हुई है और मेरे सोये लंड को चूस रही है. कुछ देर बाद मैंने धीरे धीरे उसके कंधे पर हाथ रखा और कहा कि कुछ दिन में मैं यहाँ से जाने वाला हूँ. भाभी उस धक्के के लिए तैयार नहीं थी और जैसे ही पूरा लंड चूत के अंदर फंसा, भाभी की एकदम चीख निकल गई, बोली- राज! मुझे मार ही दिया, इतना मोटा लंड है तुम्हारा.

झा- वो सब तो ठीक है … आप रात में घर कितने बजे आये?इस पर मैंने भी सरलता से झूठा जवाब दे दिया.

मैं मौसी की बेटी, जिसकी शादी थी और उसकी दो सहेलियां हमको मेकअप कराने ब्यूटी पार्लर बाहर जाना था. )इसके बाद जब भी हमारी चुदाई के दरमियान वह पहले झड़ जाती, तो मैं उसकी गांड मारता. मेरी चूत काम्या जितनी टाइट तो नहीं है, पर मैं उससे कहीं ज्यादा मज़ा दे दूंगी, चाहो तो मेरी गांड भी मार लो, पर मना मत करना.

मेरा लंड फटने वाला था, मैंने कहा- तुम जवान हो और क्या तुमने भाई बहन के सेक्स की कहानियां नहीं पढ़ीं हैं?बोली- हां मगर!मैं कहा- बस कुछ नहीं बोलो … मैं तुमको बहुत पसंद करता हूँ. फिर संध्या ने मेरी किसिंग चालू कर दी और मेरे लौड़े को सहलाना चालू कर दिया.

उसका 36-28-34 का सेक्सी फिगर स्किन फिट सिल्क गाउन में साफ़ दिख रहा था. भाभी ने मेरे लोअर में खड़े लंड को सहलाना शुरु कर दिया और मेरी टी-शर्ट निकालने लगी. और अगर तुम्हें या तुम्हारे पति को न जमे, तो जैसे ही तुम्हारी भाभी के घर वाले चले जाएंगे, तो जग को वापस भेज देना.

नाटी अमेरिका

मैं उसकी तरफ देखती रही, तो उसने अपने लंड को सहलाते हुए पूछा- तुम्हारा नाम क्या है?मैं अचकचा कर बोली- निशा … और तुम्हारा?तो उसने बोला- मेरा नाम डेविड है और मैं नामित का बॉस हूँ.

हम दोनों भी बिना किसी की परवाह किये एक दूसरे में खो जाने को बेताब थे. मैंने कहा- अब पार्टी है तो ड्रिंक तो बनती है … और ज्यादा भी कर ली, तो सर्वेंट हैं, उन्हें ले आएंगे, आप कुछ देर तो बैठिएगा. कमरे में जाकर एसी का हीटर ऑन किया और कपड़े निकाल कर अपने आपको तौलिये से पौंछ कर अपने कपड़े लेने अलमारी खोल कर देखा, तो याद आया कि आज सुबह ही सारे कपड़े धोबी को दे दिए थे, सिर्फ एक जोड़ी बची थी, उसे पहनकर मैली करने का मन नहीं हुआ.

मैं मुंबई में अपने घर में जहां रहता हूँ, वहां हम सात साल पहले आए थे. जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने एक और ज़ोरदार धक्का मारा जिससे कि मेरा पूरा लण्ड उसकी चूत में घुस गया। वो दर्द के मारे कराह रही थी। फिर मैं कुछ देर तक रुका रहा, जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैं अपना लण्ड अंदर-बाहर करने लगा. देसी लड़की का बीएफ वीडियोमैंने एक बड़ा घूंट भरा और उसे किस करने लगा और साथ में अपने मुँह से उसे बियर पिलाने लगा और दूसरे हाथ से उसके चूचे दबाने लगा.

मुझे और मत तड़पाओ राहुल … प्लीज अपना लंड मेरी चूत में डालो!अब राहुल ने अपने हाथ में थोड़ा थूक लगा कर अपने लंड के सुपारे में लगाया और मेरी चूत पर रख कर थोड़ा रगड़ा। मैं सिहर गई। फ़िर राहुल मेरी दोनों टांगों को पकड़कर ऊपर उठाने लगे और उन्होंने मेरी दोनों टांगों को मेरे सिर के इधर-उधर गद्दे से लगा दिया. मेरी चूत गरम थी और मेरी चूत में उसका लंड सटासट आ जा रहा था, तो हम दोनों लोग को चुदाई का मजा आ रहा था.

लेकिन हम दोनों इस पोजीशन में ज्यादा देर तक चुदाई नहीं कर सकते थे, तो मैंने वाणी को ऊपर खींचा और अपनी गोद में बैठा लिया. पटेल जैसे ही मेरी एक टांग को पकड़कर कर फैलाने लगा कि जहां बारात आयी थी, उधर से तीन चार लोग बातें करते उधर को आने लगे. मैंने उसके दूधिया गोरे स्तन और उनके उभरे हुए भूरे निप्पलों को देखा और पागल हो गया। मैंने उनके बायें आम को निचोड़ लिया.

उतने में अंकल का कॉल आया-आज मत आना … आज बहुत पानी बरस रहा है, सब रास्ते बन्द हैं. मैंने जैसे-तैसे करके अपने खड़े हो चुके लंड या यूं कहें कि अपने बुरे तरीके से तनाव में आ चुके लंड से पेशाब किया और अपने अंडरवियर में अपने खड़े लंड को ऊपर की तरफ सेट करके सीधा कर लिया ताकि वह उन दोनों को खड़ा हुआ दिखाई न दे. बहुत दिनों तक मैंने पंकज के लंड से अपनी चूत की चुदाई करवाई और मेरी चूत की प्यास हर दिन बढ़ती ही चली गई.

ये भी बताया कि उसकी शादी एक साल पहले हो चुकी थी, पर बच्चा इसलिए नहीं है क्योंकि अभी कोई प्लानिंग नहीं की है.

सारा काम छोड़कर उसने मेरा लंड अपने मुँह में भर लिया और वो लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसते हुए अप-डाउन करने लगी. आप भले ही मुझे छह महीने बाद मिलो, पर मैं अपने गम भूल के अब खुश रहने की कोशिश करूँगी.

फिर मैंने उससे पूछा- आपका भी मन कर रहा है ना?वो थूक गुटकते हुए बोला- न. अब मैंने भी सोच लिया था कि आज कैसे भी सही, कुछ न कुछ तो इसके साथ करना ही है. तो एक 22 साल की लड़की मिली और उसके साथ जब मज़े करके हम बात कर रहे थे, तो वो बोली कि अभी एक और सरप्राइज़ है आपके लिये!और इतना कह कर वो वहां से चली गयी.

दस मिनट बाद वो आया और बोला- अन्दर आने को नहीं बोलोगे?मैंने कहा- हां हां आओ यार, तुम्हें पूछने की कोई जरूरत नहीं है. इस कारण अधिक भीड़ भी नहीं थी। फिर रेखा ने दोनों साइड पैर करके बैठ गई और दोनों हाथ आगे करके सोनू को पकड़ लिया।फिर मैं बाइक स्टार्ट करके आगे निकला. थोड़ी ही देर बाद मेरी आंखों में देख कर वो बोली- दीदी आपने तो कहा था आपके और किशोर के बीच अब कुछ नहीं रहा?मैं चुपचाप पड़ी रही … वर्षा से आंखें नहीं मिला पा रही थी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी देसी वो मेरे लंड को सहलाने लगी और मेरी गोटियों को अपनी ज़ुबान की नोक से बिल्कुल नीचे से ऊपर तक मेरे लंड के सुराख तक चाटती हुई ऊपर आई. मैंने उसे चूमते हुए कहा- हां मेरी जानू … मैं तुम्हें छोड़ कर कहीं नहीं जाऊंगा, चलो अब पहले मैं तुम्हारी चुत चाटता हूँ.

सेक्सी सनी लियोन वीडियो

उन्होंने मेरी गोद में सिमटे रह कर बताया कि भैया से मैं बिल्कुल भी खुश नहीं हूँ. करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उनकी चूत के अन्दर छोड़ दिया और उनके ऊपर ही लेट गया. तो वो बोले- क्या चाहती है वन्द्या?मैं बोली- कुछ नहीं जल्दी कुछ करिए … मैं बहुत प्यासी हूं.

मैंने उससे पूछा कि उसको मेरी सर्विस कहां पर चाहिए तो उसने बताया कि वह दिल्ली में ही मिलना चाहती है. मेरे जैसे चोदू लड़के का लंड तो उन सभी की मादक सुगंध से ही खड़ा हो गया. सेक्सी बीएफ भाभी देवर कीमैंने उससे कहा कि बहन सोने का टाइम हो रहा है तो ऐसा कर कि मेरा लोअर पहन ले, तुझे थोड़ा आराम मिलेगा.

मैं उसे देखकर सहम गई क्योंकि वह बहुत ही दिखने में हृष्ट पुष्ट था, जैसे पहलवान होते हैं.

यहां पर एक तरफ ऐसी बिल्डिंग खड़ी हुई दिखाई देती हैं कि लगता है कहीं विदेश में घूम रहे हैं और दूसरी तरफ बीच-बीच में छोटे-छोटे पुराने गांव बसे हैं जो केवल नाम के ही गांव रह गए हैं. बड़े बड़े गोल गोल बूब्स, गुलाब की पंखुड़ी जैसे होंठ, चिकनी गर्दन, सुडौल नितंब चलते चलते बारी बारी से दोनों हिलते थे.

तब दीदी मुझसे बोली- अरे तुझे क्या हुआ … ऐसा लगता है कि जैसे कोई ने अन्दर डाल दिया हो?मैं बोली- हां दीदी, ऐसा ही समझ लो. भाभी बोली- जब स्कूटर पर बैठा कर जान-बूझकर झटके मारते हो, तब तो नहीं शरमाते. तभी जितने भी मर्दों ने अब तक मेरे साथ सम्भोग का मजा लिया, उनमें से अधिकांश मेरे ऐसे ही रूप के दीवाने थे.

फिर कुछ दिन बाद वो आंटी मुझे दिल्ली से आते हुए ट्रेन में मिलीं, तो मैंने उन्हें नमस्ते किया.

मैं अपने कमरे में ऊपर की तरफ सीढ़ियों पर जा ही रहा था कि कोमल दीदी मुझसे इंटरव्यू के बारे में पूछने लगी. वो मुझे दीवानों की तरह छाती पे किस कर रही थी और मेरे निप्पल से खेल रही थी. पड़ोसी का लड़का पढ़ाई में कैसा है, बगल वाले की बेटी रात में किसके साथ आती है, ऊपर वाले फ्लोर पर रहने वाली आंटी का चक्कर किसके साथ चल रहा है.

देसी बीएफ एक्सजल्दी से गीता ने बेल्ट खोली और पहन कर वाणी के ऊपर चढ़ गयी और इतनी तूफ़ानी रफ्तार से धक्के लगाने लगी कि मेरी तो जान ही बाहर निकलने को हो गयी. मैं कामुक सिसकारियां लेने लगी- आह्ह्ह … ओह्ह्ह … उम्म्म … आह्हहा … ओह्ह …मेरी चुदाई करने के बाद वह बोला- जान… लंड का वीर्य कहां छोड़ूँ?मैंने कहा- मेरी चूत में ही छोड़ दो.

पापा से चुदी

अब तक हम दोनों बहुत गर्म हो चुके थे और एक दूसरे को चूमने और चूसने में लग गए थे. फिर मैंने अपना लंड निकाला और उसकी गांड पे टिका दिया, वो थोड़ी डर गयी. धारा- धत … मेरे जैसी पसंद कैसे हो सकती है तुम्हारी?मैं- क्यों नहीं हो सकती भला, क्या कमी है तुम में? किसी अप्सरा से कम थोड़ी ना दिखती हो.

चूंकि मैं कुर्सी पर बैठा था इसलिए सोनू आराम से मेरे लंड के उभार के ऊपर बैठ गई. सोनू सामने वाले घर में रहती है और वह तुम्हारा और लता का चक्कर समझ गई है. मैं उनके पीछे जाकर खड़ा हो गया और उनकी कमर में हाथ डालकर खड़ा हो गया.

इधर पीछे पुनीत भी रगड़ के मेरी पीठ पकड़ कर मेरी गांड के अन्दर तेजी से लंड चलाने लगा और तीन चार मिनट बाद ही वो भी छूटने को हो गया. अब उसने मेरी पैंटी को नीचे किया और मेरी गीली योनि पर अपने गर्मा-गर्म होंठ रख दिये. मैंने अपना सर उसकी छातियों के बीच अड़ा दिया था और एक हाथ से एक मम्मे को मसलता हुआ, दूसरे के निप्पल को चूसने में लगा हुआ था.

मुझे कंडोम की रिंग के कारण दर्द हो रहा था, लेकिन दोनों की मेहनत से कंडोम लंड पर चढ़ गया. उसने बातों ही बातों में ये भी बताया कि हर बार जब वो ये काम करती है, तो उसे लगता है कि उसका बलात्कार हो रहा है.

मैंने अपना एक हाथ उसके ब्लाउज़ में डाला और दूसरा साड़ी के अन्दर डाला और एक साथ चुचे की घुंडी और चुत का दाना मसल दिया.

उसकी इन गर्म बातों को सुनकर मैं अपनी सहेली से बोली- मुझे भी किसी से चुदवाने का मन करता है. भोजपुरी में बीएफ फिल्म सेक्सीऐसा कहकर उन्होंने अपने लंड को आहिस्ता आहिस्ता मेरी चूत में पेलना शुरू किया. बीएफ हिंदी में चोदी चोदामेरी बिंदास दोस्त के साथ सेक्स की कहानी कैसी लगी आपको? आप लोग मुझे जरूर मेल करना. लंडखोरी चूतों को मस्त लंड मिल रहे थे इसलिए सब खुश थे और लंड भी कभी इस चूत में तो कभी उस चूत में लंड डाल डाल कर मज़े कर रहे थे.

जब भी कभी मैं मेरे भाई-भाभी को साथ में हंसते हुए देखती हूँ … तो मुझे भी किसी की ज़रूरत महसूस होती है.

इसके बाद जो प्रीति ने किया, मेरे तो रोंगटे खड़े हो गये जब प्रीति ने उस डिल्डो में वाईब्रेशन शुरू कर दिया. मैंने उसको बोल दिया कि मैं बस कुछ ही देर में मैट्रो स्टेशन पर पहुंच जाऊंगा. वो अपनी पत्नी को बहुत मारता पीटता है और उसे खर्चे के लिए पैसे भी नहीं देता.

वो अपने बॉयफ्रेंड से चुदवाने के बाद बाहर आई और उसका बॉयफ्रेंड भी कुछ देर के बाद अपने घर चला गया. ’राजिंदर के धक्के तेज़ हो गए और फिर उसने मेरी गांड अपने मर्द जल से भर दी. अगर ये मदद कर दे तो … मैंने सोचा और उसकी तरफ मुड़कर बोली- कैसी तैयारी है संदीप?ठीक है … तुम्हारी?” उसने शराफ़त से जवाब देकर पूछा.

आयशा टाकियाxxx

बस यही सोच रहा था कि अनामिका का क्या हुआ होगा क्योंकि उसने फोन भी नहीं किया मुझे।अगले दिन अनामिका का फ़ोन आया. उसने मुझे देख लिया और बोली- जी आप कौन?मैं हिचकिचाते हुए बोला- मैं राज … और आप कौन?तो उसने बोला- मैं बिरजू की साली हूँ. अब्दुल- यार कौन सी जल्दी है … आज पूरी रात रुकना है … इसको पूरी रात के लिए बुक किया है.

मैं एक हाथ से उनके मम्में दबा रहा था, वो बहुत गर्म हो गयी थी, मेरा हाथ पकड़ कर ज़ोर से दबा रही थी.

तो मेरे मुँह से बेइख़्तियार सिसकारी निकल गई- उम्म्ह… अहह… हय… याह… सीईईईई आह …क्या बताऊं दोस्तो आपको … साली पूरी खिलाड़िन थी.

मैंने उत्तेजना में इतनी जोर का झटका दिया कि सारा लंड एक बार में अन्दर चला गया और भाभी चिल्ला उठीं. भाभी बोली- कोई बात नहीं, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता, बस तुम अपना लंड मेरी चूत में डाल दो. हिंदी बीएफ देहात कीये दृश्य ऐसा था कि कुतिया एक से सम्भोग को तैयार थी, मगर दूसरा जबरदस्ती पर लगा था.

मैं लड़कों से भी खुलकर बात कर लेती हूँ और इस वजह से मेरी सभी तरह के लड़कों से अच्छी दोस्ती हो जाती हूँ. मैं एकदम शेर की तरह सारा पर लपका और उसकी टांगों पर हाथ फेरकर होंठों पर चुम्बन लेने आगे हुआ. उसने अपनी बेल्ट खोलकर जिप खोला, तो उसका फूला हुआ हिस्सा मुझे दिखने लगा.

एक दिन उसने मुझसे पूछा- तुम्हारी कोई गर्ल फ़्रेंड नहीं है क्या?तो मैंने भी बोल दिया कि आज तक मुझे पसंद आ जाए, वैसी कोई मिली नहीं है. मैंने टांगें खोलीं तो अगले ही लम्हे में मेरा पूरा जिस्म मज़े से कंपकंपा उठा.

बॉस मेरी बीवी के ऊपर झुककर मेरी बीवी के होंठ चूसने लगा और उसके दोनों संतरे दबाने लगा.

उसका नाम प्रदीप है और ये बात सच है कि मेरी क्लोज फ्रेंड नीलू से उसका चक्कर है. मैंने भाभी की कमर पर और उनके बालों पर हाथ फिराया और थोड़ा आगे हाथ करके उनके चूचों को अपने दोनों हाथों से पकड़ा और धीरे-धीरे लण्ड को पूरा-पूरा बाहर निकाल कर भाभी को पीछे से चोदने लगा. मैंने कहा- मगर बताओ तो सही क्या है ये?उसने कहा- तुमको मुझ पर भरोसा नहीं है क्या?उसकी ये बात सुनकर मैंने उसके बाद उससे कोई सवाल नहीं किया और चुपचाप उसके हाथ से गोली लेकर खा ली.

बंगाली लड़की का बीएफ वीडियो आज से पहले मर्दों की मैंने सुनी थी और आज पहली बार कोई मर्द मेरी सुन रहा था. मेरे अचानक से आने से वो हड़बड़ा गयी और जल्दी से नाइटी पहनकर मेरी ओर घूमकर पूछा- तुम यहाँ कैसे?मैं बोला- मेरे कपड़े रिंकी की बैग में पड़े हैं, उन्हें ही लेने आया हूँ.

दो मिनट तक मुँह में लंड अन्दर बाहर करने के बाद उसने अपना सारा माल ऋतु के चेहरे पर डिसचार्ज कर दिया. उम्र में वो काफी बड़े थे लेकिन उनके साथ सेक्स करने में जो मजा आ रहा था वो मैंने कभी सोचा भी नहीं था. काफी देर चूमने के बाद मैंने चूचों का रस पिया, जिससे भाभी ज्यादा गर्म हो गयी थीं.

गंड मारणे

कुछ देर बाद मैंने देखा कि पापा ने बहुत जोर से मम्मी को चोदना शुरू किया और लंड को जोर-जोर से अंदर घुसा कर मम्मी से चिपक गए. मैंने पास में पड़ी वैसलीन की शीशी उठाई और अपने लंड के टोपे पर क्रीम लगा ली. उस टेस्ट में उन्होंने न केवल मुझे पास कर दिया था, बल्कि अपना फ़ेवरेट चोदू भी बना लिया था.

रमीज मुझसे बोला- वन्द्या, मैं लौड़ा घुसा दूं तेरी गांड में?मैं बोली- हां रमीज डाल दो. दोस्तो, और क्या कहूं? जानता हूं आप लोग की हालत सिर्फ कल्पना करके ही खराब हो गयी होगी, तो सोचो उस समय मेरी क्या हालत हुई होगी?सच में हर मर्द के ख्वाबों वाली कल्पना थी कल्पना जी.

मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि इस महिला से बात करूँ या नहीं? अगर उस वक़्त उस महिला के बारे में कुछ भी पता होता, तो शायद बात करने की हिम्मत दिखा पाता.

मैं पढ़ने जाती, तो टीचर या लड़के और खासतौर से बड़ी उम्र के आदमी मुझे देखते, उनकी प्यासी नजरें मुझे अलग ही दिखने लगती थीं. मगर उसने मेरा वीर्य अपने मुंह से बाहर निकाल दिया और मेरा वीर्य उसके होंठों से बहता हुआ नीचे उसके चूचों पर गिरने लगा. इस वक्त मेरी झड़ी हुई चुत में दूसरे लंड के धक्के मुझे अब घायल कर रहे थे.

जब पैंट को नीचे करने के बाद वह दोबारा मेरे ऊपर लेटा तो उसके लिंग का दबाव मुझे मेरी योनि पर यहाँ-वहाँ छूता हुआ महसूस होने लगा. मैंने भी पानी से उसकी चूत को साफ़ किया और बड़े से बाथटब में उसको लिटा कर उसकी चूत को चाटना चालू कर दिया. मेरा लंड अपने पूरे आकार में आ चुका था और 7 इंच लम्बा हो चुका था जिसे आंटी पूरा का पूरा अपने गले में उतार रही थी.

सारा के बाद जरीना की सील तोड़ने का मदमस्त चुदाई का खेल आपकी खिदमत में अगले भाग में पेश करूँगा.

एक्स एक्स एक्स बीएफ मूवी देसी: उसने भी उत्तर दिया- वाओ क्या लौड़ा है यार तेरा … उममुआआह … मैं चूस लूँ इसे. लेकिन मैं उसकी गांड पर लंड टिका कर शॉट मारने ही वाला था कि वो आगे से हट गई और खड़ी हो गई.

एक दिन मैं ऐसे ही घर पर था और मेरी माँ किसी से फोन पर बात कर रही थी. कौशल्या कौशल्या आई लव यू मेरी रानी, तुम कमाल की हो … काश मेरे जीवन में तुम पहले आती, तुम्हें जिंदगी की हर ख़ुशी देता … ओह आह्ह मेरी जानू उम्ह्ह्ह उम्ह्ह्ह …”आई लव यू टू मेरे स्वामी … मेरे राजा आह्ह ह्ह्ह मास्टर ओ मास्टर आमार दुस्टो रोजा एक्टू धीरे धीरे ओरे बाबा मोरे जेबो आह्ह उम्ह्ह …”की होलो कौशल्या आमार मिष्टी दोही, भालो लगछे हम्म …”मैंने चुदाई जारी रखी. नमस्कार मैं सारिका, आप सभी पाठकों का मेल मिले और मैं आप सबका हृदय से धन्यवाद करना चाहती हूँ कि आप सभी ने मेरी कहानी को बहुत सराहा.

मेरी इच्छा को भड़काने के नजरिये से मेरी सहेली कभी कभी तो मेरे सामने ही अपने बॉयफ्रेंड से गंदी बातें करने लगती थी.

वो सिसकी- ओह आमिर!मैं भी सिसका- ओह ज़रीना!वो नशीली आवाज में बोली- आमिर मुझे एक बार और किस करो ना!मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये और उसके होंठों को चूसने लगा. मैं उधर बिजली जाने की वजह से चलते समय फिसल कर गिर गई थी, तो चोट भी लग गई. लेकिन वो मेरी ममेरी बहन थी, जिस वजह से मैं उसको चोदने का नजरिया बना ही नहीं पा रहा था.