बीएफ कैसे डाउनलोड करें

छवि स्रोत,গুদে আঙুল

तस्वीर का शीर्षक ,

बिलू मूबी: बीएफ कैसे डाउनलोड करें, !दोस्तो, मेरी मॉम नींद में किसी राहुल का नाम ले रही थीं जबकि मेरे डैड का नाम तो रमेश है.

सेक्स बीएफ चोदी चोदा

मुझे ये जानकर बहुत अच्छा लगा क्योंकि आज चाची की चूत में लंड डालने का बहुत अच्छा मौका था. कॉलेज वाली बीपीवो अपनी मां से बोला कि इस बेड पर मैं सोऊंगा और आप चाचू के साथ उस बिस्तर पर सो जाना.

कहानी में मैं आगे भाभी की मम्मी को मीना नाम से संबोधित करूंगा आसानी के लिए. सेक्सी बीएफ चोदी चोदा बीएफमुझे भी आभास हो गया था कि भैया ने मुझे देख लिया था, मैं उससे नजरें नहीं मिला पाती थी.

मेरे आंसू देखकर वो मुझे प्यार से सहलाने लगा और मेरे गाल पर, माथे पर, होंठों पर किस करने लगा.बीएफ कैसे डाउनलोड करें: उसी टाइम मैंने देखा कि मेरी बहन की चूत से भी कुछ निकल रहा था और उसकी हाफ पैंट गीली होने लगी थी.

मीना के मुँह में मैं अपना लंड देख कर असीम आनन्द का अनुभव कर रहा था.मैंने उससे नीचे बेचैनी होने का कारण पूछा तो वो बोली- जैसे ही आप मुझे छूते हो, मुझे बहुत तेज उत्तेजना होती है.

भारतीय सेक्सी ब्लू फिल्में - बीएफ कैसे डाउनलोड करें

मैं फ्रेश होकर निकली और रोहित के कमरे के तरफ गई तो मंजू की आह आह आह ओह ओह की आवाज आ रही थी.काकी के उठे हुए दूध और तनी हुई गांड का ध्यान तो मेरी निगाह में आज ही घूमा था.

फिर दूसरे दिन रोज़ की तरह सुबह 8 बजे उठा और नहा धोकर बाइक पर जॉब पर चल गया. बीएफ कैसे डाउनलोड करें अब मेरा लंड फनफनाता हुआ चूत में अन्दर बुआ की बच्चेदानी तक जाने लगा था.

उसकी और मेरी जीभ का मिलन हो रहा था।मैं उसकी गांड को थोड़ा सा उठा के अपने लंड से उसकी चुदाई करने लगा।मेरी चुदाई से वो एकदम पगला गयी और मेरे होंठ पर काट लिया.

बीएफ कैसे डाउनलोड करें?

वो मेरे एक निप्पल को उँगलियों से दबाने लगे और दूसरे निप्पल को बच्चों की तरह चूसने लगे और बोले- अगर इनमें दूध भरा होता तो आज मजा आ जाता. जैसे ही मैंने कोमल की फुद्दी से लौड़ा बाहर निकाला, वो खून से सना पड़ा था. Xxx एस सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मैंने एक भाभी को माँ बनाया तो उसने गांड मरवाने का वायदा किया था.

अब जलालुद्दीन धीरे धीरे मेरी गांड में अपना लण्ड गोल गोल घुमाने लगे. साक्षी की सांसें बढ़ गयी थीं और धीरे धीरे से वो अपनी गांड मेरी पकड़ से आगे को ले लेती क्योंकि वो थोड़ा सा डर रही थी. मेरे बिस्तर पर लेटने के मुश्किल से 5 मिनट के अन्दर वो उठी और उसने चादर से अपनी चूत से बहता हुआ वीर्य साफ़ किया.

मैंने बुआ से पूछा- आप लाई हो क्या?वो बोली- नहीं यार, कंडोम का पैकेट तो मैं घर में ही छोड़ आई. साली की चूत का भोसड़ा बना कर छोडूंगा, साले भड़वे, तेरे लंड का सारा रस चूस डालूंगी,साली लंड खोर छिनाल, साला बेटी चोद भड़वा, माँ का दल्ला, तेरे गड्ढे में अपना बीज डालूंगा रंडी, भर दे मेरी चूत अपने गर्मा गर्म माल से, मुझे पेट से कर दे रंडी के बच्चे. मैं मीनू को चोदते हुआ बोला- यार, तुम्हारा पति दस दिन नहीं आने वाला है, तुम भी यहीं रुक जाओ ना.

कुछ पल बाद भैया खड़ा हो गया और उसने अपना लोवर और चड्डी एक साथ निकाल कर दूर फेंक दिया. बीच बीच में मैं उसके होंठों को काट भी लेता, जिससे उसके मुँह से ‘आह इस्स्स…’ की कराह निकल जाती.

चाची ने मुझसे कहा- मुझे ये काम रोज़ रात को, सुबह-शाम और जब भी समय मिल जाए, तब चाहिए है.

उसी समय दूसरे ग्रुप के कुछ लड़के लड़कियां आए और उन्होंने मुझसे पूछा-अर्पण हम लोग रिफ्रेशमेंट के लिए बाहर जा रहे है, तू चल रहा है क्या?उन्होंने मुझसे ज्वाइन करने के लिए पूछा तो हार्दिक वाली लड़की ने हां बोल दिया.

उसके ब्लाउज़ में से 36 साइज के सफेद रंग के बूब्स ऐसे लग रहे थे कि जैसे अभी ब्लाउज़ को फाड़ के बाहर आ जाएंगे. नीना बोली- रवि और सोनी तुम लोगों के बारे में तापोश से इतना सुना है कि लगता है तुम लोगों को बरसों से जानती हूँ. हारून ने आगे आकर अपना लंड मेरे होंठों पर रख दिया और सलीम ने मेरी सलवार का नाड़ा खोलकर मेरी सलवार थोड़ी नीचे सरका दी.

तभी एक तेज पिचकारी से मेरे लंड ने चाची की गांड को वीर्य से भर दिया. अब मैं खुद नीचे लेट गया और उसको मेरे ऊपर आने को बोला।वो झट से मेरे ऊपर आ गयी, उसने ही मेरे लंड को अपने चूत में सेट किया और मेरे लंड को अपनी चूत में ले लिया।वो अपनी चूत को थोड़ा ऊपर उठाती और वापस मेरे लंड पे चूत गिरा देती।अब मैंने उसे अपनी ओर खींच लिया और उसके होंठों पर अपने होंठ लगा दिये. मैं अभी उन्हें देख ही रहा था कि आंटी मेरे पास आईं और बोलीं- आप यहीं रहते हैं?मैंने कहा- हां.

बहन काम से वापस आई तो अम्मी अब्बू ने उसे बताया कि उन दोनों को शादी में पुणे जाना है.

अब उसको मज़ा आने लगा और वो भी चूतड़ों उठा उठा कर पूरे ज़ोर से चुद रही थी. मैंने थोड़ी हिम्मत बढ़ाई और ब्लाउज के ऊपर से उनके मम्मों को हल्का हल्का दबाना शुरू कर दिया. बुआ कमर उठा उठा कर चुदाई का मज़ा लेने लगीं और मैं झटके पर झटके लगाने लगा.

कुछ देर बाद मैं महसूस कर सकता था कि उसका बायां हाथ मेरे लंड की तरफ बढ़ रहा है. कुछ देर बाद चाची कामुक आवाज़ करने लगीं- आह … उइ मां आह और करो … मस्ती से करो आज तो पूरी रात चोदना … आह मजा आ गया. दस मिनट बाद वो अलग वाली दोनों औरतें उठीं और गोबर बीनने के लिए आगे चल दीं.

अब जलालुद्दीन के हिजड़े भी मुझे देख कर कहने लगे थे- नगमा बीबी, तुम जब आई तो तो कच्ची कली थीं लेकिन जलालुद्दीन की दुआओं से अब तो तुम जवान लड़की लगने लगी हो.

थोड़ी देर बाद चाची का दर्द थोड़ा शांत हुआ तो वो फिर बोलीं कि सागर थोड़ा और अन्दर डालो. यह कहानी एक शादीशुदा महिला की है जो अपनी प्यास बुझाने के लिए मेरे साथ सेक्स करती है.

बीएफ कैसे डाउनलोड करें उधर से छुट्टी मिलते ही चाची गांड उचका कर मेरे पीछे बाईक पर बैठ गईं. कोमल माथे पर, आईब्रो पर चुम्बन करता हुआ मैं उसकी पलकों से होता हुआ निचे आता गया.

बीएफ कैसे डाउनलोड करें आंटी ने बोला- चल अच्छा मैं तेरी मम्मी के कपड़े पहन लेती हूं, तब तक तू मेरे कपड़े मशीन में डालकर सुखा दे. सोनी अपनी बात सुनाता रहा:बीस साल तक हमारा सेक्स जीवन ठीक ही रहा, कुछ चीजें बीवी को सेक्स में पसन्द नहीं थी.

जब मैं चौथा पैग पी रहा था, तभी मेरी बीवी सोनू (बदला हुआ नाम) ऊपर के कमरे में आ गयी.

योनी फोटो

वो बेहद कामातुर हो उठी थी और मेरे मुँह को अपने मम्मों से मींजने लगी थी. कुछ मिनट के बाद माधुरी भी मादक आवाजों में चिल्लाने लगी- आह राजा … मजा आ गया … और जोर से चोदो मेरे राजा … और अन्दर तक पेलो … आह … हम्म … हां हां … ऐसे ही पेलो. अगर मैं उसका नाम बता दूंगी, तो तुम लोगों की दोस्ती की माँ चुद जाएगी.

मैंने उससे माफी मांगी- सॉरी वो मेरा इस पर ध्यान नहीं गया, आप गलत मत समझिए. अब तो ये नजारा मेरे लिए आम हो गया बीवी से बचते हुए कई बार मैंने उसे नंगी नहाते हुए देखा. चाचा जी थक कर वापस आते थे और दारू पीकर आते थे, तो बस खाना खाया और सो जाते थे.

मैंने कहा- अब एक बार शाही नवाबी शौक पाल लिया है न, तो तेरी गांड आए दिन लंड के लिए मचलेगी.

मैंने जल्दी से नाश्ता किया और मैं अपनी छोटी बहन के साथ टीवी देखने लगा. मैं भी आंखें मूंदे चाची को चोदता जा रहा था, तो चाची दो बार झड़ गई थीं. मैं अब उसकी सफेद ब्रा में छिपे उसके स्तन को ऊपर-नीचे होते हुए देख सकता था और उत्तेजना के कारण वह जोर-जोर से सांस ले रही थी.

वो जोर जोर से हंस कर कहने लगी- हां, मगर मैं भी मुर्गा पूरी तरह से पका कर खाना चाहती थी. अब हम दोनों को झटके आने शुरू हुए, वो चिल्लाए- ले रंडी, भर ले अपनी चूत में मेरा माल. मैंने मेनगेट को बाहर से लॉक कर दिया और पीछे के रास्ते से अन्दर आ गया ताकि कोई हमें बाहर वाला डिस्टर्ब न करे.

मैंने पहले से ही स्टोर रूम में अदीबा की चुदाई की व्यवस्था कर रखी थी. मुझे तो आज अभी ही उसकी गांड मारनी थी तो मैंने मन पक्का कर लिया था कि आज चाहे जो हो जाए, मैं इसकी गांड तो मार कर ही रहूंगा.

हमारी गांड भी मारी उसने!दोस्तो, मैं शालिनी एक बार फिर से आपकी सेवा में अपनी चूत चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ. उन्हें मैंने कैसे चोदा?हैलो जी, ये सेक्स कहानी तब की है, जब मैं एक हॉस्पिटल में इंटर्नशिप कर रहा था. नमस्कार दोस्तो, रिश्तों में चुदाई हिंदी सेक्स कहानी के मादक पटल पर आपका राज शर्मा पुन: हाजिर है.

फिर मैं चाहता था कि वो मुझसे मेरा मोबाइल नंबर मांगे लेकिन उसने सिर्फ मुझे मेरा चार्जर वापस दिया और थैंक्यू बोल कर स्माइल देती वापस अपनी शॉप पर चली गयी.

इस बार मैंने उनकी चिल्लपौं को नजरअंदाज किया और हल्के हल्के धक्के देना शुरू कर दिया. उसके आगे 2 औरतें और थीं और चरवाहे वाले लोग भी थे तो मैं कुछ नहीं कर पा रहा था. आपका शहर कितना भी सुरक्षित हो, पर रात में सुनसान रास्तों पर जब आप अकेले होते हो तो मन में संदेह के और डर के विचार तो आते ही हैं.

एक बार चाचा चाची मूवी देखने गए और वो अपने साथ बच्चे को भी ले गए थे. तब मैंने कारण पूछा तो साक्षी ने बताया कि उसकी गांड का छेद दर्द कर रहा है.

वो बोली- तुम्हें बात क्या करनी थी?मैं- कुछ ख़ास नहीं, बस तुम्हारी याद आ रही थी. उस दिन से मैंने महसूस किया कि वो मेरा कुछ ज्यादा ही ख्याल रखने लगी थी. मैंने कहा- हां भाभी अपने पति को बुला लो हम दोनों एक साथ एक ही लंड से चुदवा कर मजा ले लेंगे.

सत्कार मटका

हम लोग शाम 7:30 बजे स्टेशन पहुंच गए और ट्रेन के आने का इंतजार करने लगे.

जलालुद्दीन के लण्ड ने सात आठ झटके बहुत तेज तेज मेरे मुंह के अंदर मारे और अपनी पिचकारियां छोड़ दीं. उसके जिन सुंदर मम्मों की मैंने बहुत दिनों से कल्पना की थी, वे अब पूरी शान से मेरे सामने थे, निप्पल खड़े थे. सोनी ने नीना के पांव अपने कंधे पर रखे और अपना लंड नीना की गीली चूत में डालकर चोदने लगा.

हॉट सेक्सी भाभी कोमल ने एक मीठे दर्द का अहसास करते हुए मुझे कसके पकड़ लिया और वो मेरे सीने से और ज्यादा चिपक गई. वो मेरे सिर को पकड़ कर अपने चूत पर दबा रही थी और जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी. सेक्सी दिखा सेक्सी वीडियोथोड़ी बाद जब कोमल शांत हो गई तो मैं कोमल आंखों से निकलते हुए आंसुओं को अपने होंठों से चूसने लगा.

तब मैंने देखा कि चूत में से पानी निकलने लगा तो मैंने चूत चाटना शुरू कर दिया. सोनी आया तो हम दोनों ने एक एक पैग व्हिस्की का लगाया, सिगरेट सुलगाकर आराम से बैठ गए.

देसी गर्ल बर्थडे सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं किराए के कमरे में रहता था. मेरा दिमाग एकदम से हिल गया क्यूंकि आज तक मैंने पूनम आंटी को ना इस रूप में देखा था और ना ही उनके लिए ऐसा कोई ख्याल‌ मन में आया था. अगले दिन एग्जाम देने के बाद जब मैं घर पर आया, तब दोपहर के 3 बजे थे.

मैं बचपन से ही शमीला और चुप चुप सा रहने वाला लड़का था इसलिए कभी सेक्स करने का मौका ही नहीं मिला. ये कह कर मैं एक पल के लिए रुका और इस आशंका से माधुरी की आवाज सुनने की प्रतीक्षा करने लगा कि वो अब चिल्लाई तब चिल्लाई. उनका रंग बिल्कुल साफ़ था और उनके प्यारे गुलाबी होंठों के ऊपर एक छोटा सा तिल था, जो मुझे बहुत ही प्यारा लगता था.

मैंने उनसे उनके लंड की फोटो मांगी तो भैया ने मुझसे भी मेरी चूत और चूचों की फोटो मांग ली.

फिर मैंने थोड़ा साहस दिखाते हुए और मुस्कुराते हुए जवाब दिया- थोड़ी? अरे आंटी आप तो बहुत सुन्दर हो. हिना और समीर से मिलने के बाद 15 दिन बाद मुझे हिना का कॉल आया कि कल समीर का बर्थडे है, इसलिए वो तुझसे एक बार मिलना चाहता है.

ऐसा सोचते हुए मैं माधुरी की सेक्सी काया को अपने दिमाग में सोचते हुए बिस्तर पर लेटे लेटे कब सो गया, पता ही नहीं चला. उस औरत ने मुझे तिरछी निगाहों से देखा तो मुझे ऐसा लगा कि उस औरत को भी लंड की प्यास है. साथ ही मैडम मम्मी को किस भी कर रही थी।मम्मी की आवाज़ से लग रहा था कि वे मैडम का विरोध कर रही है।अब मैं लगातार उनकी तरफ देख रहा था.

वो कभी मेरा लंड चूसती तो कभी मेरी बॉल्स को अपने मुँह में लेकर चूसने लगती. उसने मेरे दूध पीने शुरू कर दिए और अपने लंड को मेरी चूत के ऊपर रगड़ने लगा. मैंने जैसे ही उसको क्रॉस किया, मेरा लंड उसकी चूत पर लग गया और एक सेकंड के लिए मुझे ऐसा महसूस हुआ कि में जन्नत में हूँ.

बीएफ कैसे डाउनलोड करें जिन्दगी में पहली बार गांड में लंड लिया था तो मेरी आंखों में आंसू आ गए. मेरे अन्दर गिरता हुआ उसका वीर्य मुझे हारून की बीवी होने अहसास दिला रहा था.

देसी+सेक्सी

मैंने अपना लंड नीना के मुँह में डाल दिया और नीना का मुँह चोदने लगा. तो नेहा ने कहा- हां तो मेरी जान, हम भी तो तुम सबको उस मज़े का अहसास करवा रहे हैं. मैंने उनसे पूछा- तो क्या फिर आप सेक्स भी नहीं करती?उन्होंने मुझे बताया- हां … 6 महीने में एक या दो बार ये आते हैं, तभी हो पाता है.

उस समय हमारे एक रिश्तेदार के घर के शादी थी, वो हम दोनों के करीबी रिश्तेदार थे और गांव में ही रहते थे. वो खामोश थी तो मैं अपने हाथ को धीरे धीरे उसकी पीठ से लेकर उसके मुलायम चूतड़ों तक घुमा रहा था. एक्स एक्स एक्स भोजपुरी सेक्सी वीडियोमीनू कपड़े डाल ही रही थी कि मैंने उससे कहा कि आज तुम दोनों मेरे पास ही रुक जाओ, रात को मजे करेंगे.

फिर मैं लाल रंग की ब्रा पैंटी निकालकर पहनने लगी और अपने होने वाले पति के बारे में उनकी दुल्हन बनने के ख्वाब में सोच सोचकर रोमांचित होने लगी.

पर मेरे दिमाग़ में एक खुराफाती आइडिया आया और मैंने सोचा कि चलो इनकी ब्राउज़र हिस्टरी देखी जाए. तो भाभी ने बोला कि अभी तो 8:30 ही बज रहे हैं, अभी से कमरे में जाकर क्या करोगे?मैंने भी सोचा कि हां बात तो सही है.

फिर मैंने उससे पूछा- तुम कहां से आई हो? मैंने तुमको यहां कभी नहीं देखा है. फिर माधुरी ने कहा- तुम यहीं अन्दर रुको अभी … बाद में जब मैं कहूँ तब निकलना. छोटे लड़कों को कई बार देखा था और यह जानती थी कि उनके पास एक छोटी सी लुल्ली होती है लेकिन इधर तो बड़ी सी बन्दूक थी.

मेरा थूक पीते पीते वो बोले- तुम्हारा थूक कितना लाजवाब है, जी करता है कि अब से पानी की जगह तुम्हारे थूक से ही अपनी प्यास बुझाऊँ.

मैंने तभी सोच लिया था कि मैं तेरे इस लंबे मोटे जवान लंड को अपनी चूत फाड़ने का मौक़ा जरूर दूँगी. भाभी ज़रा बहुत विरोध तो कर रही थी लेकिन अगले क्षण मैं नंगा ही नीचे उतरा और भाभी की टांगों को फैला कर चूत चूसने लगा. तभी आंटी ने एकदम से मुझे उनके‌ दूध देखते हुए देखा और उन्होंने ये भी देखा कि बिना‌ ब्रा के उनके निप्पल ऊपर से ही दिख रहे हैं.

हिंदी में बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी मेंआखिर में चाची की चूत ने धार छोड़ दी, पानी लंड के साथ बाहर बहने लगा. फिर उन्होंने अपने कपड़े भी एक एक करके उतार दिए और मेरे सामने नंगे हो गए.

तेरी पेंदी

मैंने इसी साल अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई खत्म की है और फिलहाल मैं घर में रह कर नौकरी के लिए तैयारी कर रहा हूँ. उसने कुछ सोचा, पर उससे पहले ही मैंने उसे अपनी तरफ घुमा लिया, उसके होंठों पर किस कर दिया. तब उन्होंने मुझे बताया कि वो और हारून दोनों साथ ही रहते हैं और उन्हें एक ऐसी हीबीवी की जरूरतथी, जो उन्हें हर रोज खुश कर सके.

किस करते करते एक दूसरे के जिस्म पर हर जगह चुम्मियां करते चलते चले गए और कब दोनों गर्म हो गए, कुछ पता ही नहीं चला. हमने एक फ्लैट किराए पर लिया हुआ था जिसमें मैं, वो और एक अन्य लड़की साथ में रहती थी. मैं कोमल के होंठों से को अपने होंठों से स्मूच करते हुए एक पल को अलग हुआ और अगले ही पल मैंने उसके कान में अपनी जीभ को डाल दिया.

उनके निप्पलों से हल्का हल्का दूध मेरे मुँह में आ गया, जैसे रसमलाई में अलग से मलाई डाल दी हो. माधुरी ने मेरे पास आ कर मुझे गले लगा कर कहा- अरे मेरे राजा, अभी नहीं कहा है, पर बाद मैं तो दूंगी ही न. चाची मेरे सामने एकदम नंगी खड़ी थीं, उन्होंने एक हाथ से मेरा लंड पकड़ रखा था और एक हाथ से अपने छोटे छोटे चूचे दबा रही थीं.

मैंने कुछ देर वहां अपना हाथ रखा और फिर आगे बढ़ने का मन बनाते हुए थोड़ा दबाया. मैं किस कर रहा था … मुझे उसके रसीले होंठ चूसने में बहुत मज़ा आ रहा था.

मैंने उसकी स्कर्ट के अन्दर से ही एक हाथ, जो उसके चूतड़ों को मसल रहा था, उसकी एक उंगली से उसकी चूत को स्पर्श किया.

वो बोले- आज तक कई सौ लड़कियों को चोद चुका हूँ लेकिन जो मजा तेरे साथ आया वो किसी और के साथ नहीं आया. बीएफ सेक्सी ब्लू चुदाईउसे भी जब अच्छा लगने लगा तो उसने भी उसकी गांड को थोड़ा ऊपर उठा दिया जिससे मेरा पूरा लंड अन्दर जा सके. देसी सेक्सी वीडियो प्लेयरघोड़ी बने बने मेरे घुटने भी छिल गए थे तो मैं भी बिस्तर पर सीधे लेट गई. उसकी चीख पंप हाउस में गूंज गई- उई मम्मी रे मर गई रे मेरी फट फट गई … आं मुझे नहीं चुदवाना … आह बाहर निकालो.

मैंने कहा- कहां … यहां?उसने कहा- हां यहीं, क्यों तुम्हें कोई ऐतराज है?मैंने कहा कि नहीं, कोई देख लेगा तो?माधुरी ने कहा कि अभी इस वक़्त दोपहर को दुकान में कोई नहीं आता और मेरे पति दुकान का माल लेने मुंबई गए हैं तो वो नहीं आ सकते.

कोमल माथे पर, आईब्रो पर चुम्बन करता हुआ मैं उसकी पलकों से होता हुआ निचे आता गया. वाइफ सिस्टर सेक्स कहानी के नायक प्रिंस की उम्र 33 साल और नायिका साली मिष्टी 28 साल की है. उस समय मेरी शादी नई नई हुई थी और मैं अपनी पत्नी के साथ बहुत मजे से रह रहा था.

कुछ देर बाद मैंने उसकी टांगें फैला दीं और चूत के दाने से खेलने लगा. फिर कुछ समय बाद मैं अपना चेहरा छिपाकर अपने बदन के अंग उनको दिखाने लगी. एक में अम्मी अब्बू सोते हैं और दूसरे में मैं और मेरी आपा, हम दोनों साथ में सोते हैं.

सेक्सी वीडियो फुल एचडी

मैं देख रहा था कि मेरा लंड धीरे धीरे साक्षी की गांड से निकल रहा है और साथ ही साथ गांड से मेरे लंड का पानी कुछ ज्यादा ही निकलने लगा. खैर … उसकी चिकनी चूत में सटासट लंड चलने से वो झड़ कर निढाल होने लगी थी. मेरी नज़र नीचे गयी तो मैंने देखा कि उसके पेट का वो हिस्सा जो कमर के नीचे होता है, मुझे दिखने लगा.

रानी भी मस्ती से ‘आआ … उम्म्म्म … और चोद साले … आह जल्दी करो …’ की आवाज़ कर रही थी.

दोस्तो, कोमल की मदमस्त जवानी को किस तरह से मैंने तड़फा तड़फा कर रौंदा, ये मैं हॉट सेक्सी भाभी न्यूड स्टोरी के अगले भाग में लिखूंगा.

मैं- बीवी के हरदम कुढ़े रहने से, उसको सन्धिवात और दिल की बीमारी हो गयी. थोड़ी देर में एक मोटी सी उंगली घुसी, ऐसा लगा कि ये वाली रोहित की थी. सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ’तभी मैंने उंगलियों से उसकी चूत की फांकों को फैलाया और लंड को टिकाकर अग्र भाग अन्दर डाला.

मीनू मेरा लौड़ा बड़े मजे से चूस रही थी और मैं कोमल की दोनों चूचियों को बारी बारी से चूस रहा था. काफी देर तक यह क्रिया करने के बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत में पेलने के लिए झटका दे दिया. जब मैं उनके कपड़े छूता था तो लगता था जैसे मैं उनके गोरे गोरे मखमली बदन को स्पर्श कर रहा हूं।मैं उनकी ब्रा और पेंटी को सूंघता और मुठ मारता, मैं मेरा सारा पानी उसी में गिरा देता था.

मैं उनके पीछे से जाकर उनके साइड में खड़ा हो गया और उनसे बातें करने लगा. भाभी- तूने क्या खो दिया है, पता भी है तुझे?अगले पल शबाना ने भाभी को पकड़ कर बेड पर गिरा दिया और मुझसे बोली- इनको कंट्रोल करो, नहीं तो दिक्कत हो जाएगी.

मैंने अपना ध्यान टीवी पर वापस कर दिया और जवाब दिया- तुम्हें मजा आया था?उसने हां में जवाब दिया और मेरा हाथ पकड़कर मुझसे पूछा कि क्या तुम्हें नींद आ रही है?मैंने हां में जवाब दिया.

चाची और मामी हम दोनों को नीचे आता देख कर एक साथ बोलीं- कहां चले गए थे दोनों?मैंने कहा- कुछ नहीं जरा छत पर टहल रहे थे. मेरी नज़र नीचे गयी तो मैंने देखा कि उसके पेट का वो हिस्सा जो कमर के नीचे होता है, मुझे दिखने लगा. फिर अचानक से वो खड़े हो गए और अपना लंड आगे करके मेरे मुँह में देने लगे.

हिंदी ब्लू फिल्म चुदाई वीडियो मैं सब पाठकों को पृथक उत्तर नहीं दे सकती तो इसके लिए माफी मांगती हूँ. मैं बिस्तर पर लुंगी पहने लेटा हुआ था और कविता मेरे पैरों के पास बैठकर लुंगी को मेरे घुटनों के ऊपर तक हटा दी और घुटनों पर तेल लगाने लगी.

मुझे चाची पर थोड़ी दया आ गई और मैंने धीरे धीरे करके लंड के टोपे को गांड में डालने की कोशिश की. मेरी चूत से पानी छूट जाने के कारण चुदाई में फचाक फचाक की आवाजें आने लगी थीं और जीजू का लंड और भी आसानी से अंदर बाहर हो रहा था. जैसे जैसे जीजू का लंड आगे पीछे होता था वैसे ही मेरी गांड भी आगे पीछे होने लगी.

सेक्सी फिल्म चाहिए सेक्सी वीडियो

फिर मैं नाइटी के ऊपर से अपने दोनों हाथों से उनकी कमर की गलियां नापने लगा. वो बिस्तर पर इतना मस्त खेलने लगी थी कि कभी कभी तो मुझे खुद भी लगने लगता था कि ये साली मुझे पूरा खा जाएगी. उसने फिर से माफी मांगी और कहा- आगे से ऐसा नहीं हो … मैं इस बात का ध्यान रखूंगी.

आपको मेरी देसी न्यूड गर्ल चुदाई कहानी कैसे लगी? मुझे कमेंट्स में बताएं. उसकी चूत लगातार बह रही थी और लंड के अन्दर बाहर होने से फच फच की आवाज आने लगी थी.

सामने रखे सोफे पर मैं बैठ गया और बुआ मेरी तरफ अपना मुँह करके लंड पर बैठ गईं.

एक दिन शाम को जब मैं ऑफिस से निकला तो मैंने देखा कि माधुरी के पति ने पूरी शॉप खाली कर दी थी और सारा सामान एक गाड़ी में रख कर दूसरी जगह जा रहा था. मैं- उस पर मेरा ध्यान ही नहीं गया था यार!डिंपी- मतलब इतनी हॉट लड़की पटाई हुई है तुमने!मैं- अरे नहीं, मैं तो सिंगल हूं और वैसे भी हॉट लड़कियां तो सिंगल ही रहती हैं. उनमें से एक बोला- लंड घुसने से कोई नहीं मरता, बस पहली बार में थोड़ा दर्द होता है, चुपचाप चुद ले, ज्यादा चिल्लाएगी तो जलालुद्दीन और मजे ले ले कर चोदेंगे.

थोड़ी देर बाद उसका पानी निकल गया तो मैंने अपना मुंह उसकी चूत में लगाया और अपनी जीभ से उसकी चूत की गहराई को टटोलने लगा. उसने मुझे चड्डी के अलावा पूरा नंगा कर दिया और मेरे होंठों को किस करने लगा. आपको मेरी Xxx गाँव पोर्न स्टोरी कैसी लगी, प्लीज़ मेल और कमेंट्स से बताएं.

चाची गिरने से बचने के लिए मुझे पकड़ने लगीं और उनका हाथ एकदम से मेरे मोटे लंबे टाईट खड़े लंड पर आ लगा.

बीएफ कैसे डाउनलोड करें: फिर एक बार मेरे जिस्म ने चार-पांच तेज तेज झटके लिए, मेरी गुच्छी से फिर एक बार रस की फुहार निकली और मैं शांत हो गई. मुझे चोद दो, मुझे अपनी रखैल तो बना लो और अपने होंठों से मेरी चूची को पी जाओ.

मेरे उछलने पर मेरे मम्मे भी उछलते थे, मैं पूरा ऊपर उठ कर धप्प से लण्ड पर बैठ जाती थी तो जलालुद्दीन साहब को भी बहुत मजा आता था. भाई बहन सेक्स कहानी को पढ़ कर मैं अपने ही घर में अपनी ही मौसी की लड़की पर गलत निग़ाह डालने लगा था. फिर मैं चाहता था कि वो मुझसे मेरा मोबाइल नंबर मांगे लेकिन उसने सिर्फ मुझे मेरा चार्जर वापस दिया और थैंक्यू बोल कर स्माइल देती वापस अपनी शॉप पर चली गयी.

मेरा लंड तो पहले ही फड़फड़ा रहा था; ऊपर से उसके हाथ मेरे लंड के काफी पास आ चुके थे.

उसने मुझसे पूछा- आप क्या करना चाह रहे हो?मैंने कहा- आज मैं तुम्हें वह मजा दूंगा, जो आज तक तुम्हें किसी ने नहीं दिया होगा … और ना कभी कोई दे पाएगा. तभी मेरी आपा ने मेरी तरफ देखा तो मैं घबरा कर सीढ़ी खड़ी हो गई और मेरी आहें बंद हो गईं. एक तरफ उसकी चूत में मेरा मोटा लंड मजा दे रहा था और दूसरी तरफ मैं उसकी चूची चूसकर उसके आनन्द को चौगुना कर रहा था.