बिहार के सेक्सी बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,ओपन सेक्सी बीपी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़की कपड़े: बिहार के सेक्सी बीएफ फिल्म, फिर उसके कुछ मान-मनव्वल के बाद मैं लेस्बो के लिए मान गई और हम दोनों मेरे बेडरूम में आ गए.

सनी लियोन पोर्न फिल्म

मेरे भोले भैया ने अपनी बहन की चूत पर लंड रखा और एक ही धक्का मारा आधा लंड अन्दर चला गया. இந்திய செக்ஸ்उसने जैसे ही 69 की पोजीशन को बदला, लड़की झट से उसे खींच कर उसके लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

बहू क्यों डर रही है… चल आ मेरे पास!” दिनेश उसे बहलाने के लिए कहता।वो बाईं तरफ होती तो दिनेश दाईं तरफ से सामने आ जाता… आरुषि छत की सीढ़ियों की तरफ भागी, वो लॉबी के उत्तरी कोने से ऊपर जाती थीं… दिनेश उसके पीछे भागा… उसने अपने शिकार को पकड़ने के हाथ आगे किया. सेक्सी फिल्म चलाइएमेरे दोनों हाथ अंजलि के चुचों पर थे और मेरा मुँह अंजलि की गर्दन पर टिका था.

उस वक्त मौसी ने फ्रॉक टाइप की ड्रेस पहनी थी… और नीचे चड्डी नहीं पहनी थी.बिहार के सेक्सी बीएफ फिल्म: रमेश ने हँसते हुए कहा- और पहला हाथ मारा भी तो अपने घर में ही? अपनी ही सगी बहन पर?सुरेश रमेश के इस ताने से झेंप सा गया और हकलाने लग गया.

हैलो दोस्तो, मैं राहुल कुरुक्षेत्र से एक बार फिर आपकी सेवा में हाजिर हूँ.उसी समय मामी ने भी अपना रस छोड़ दिया।इधर मैंने भी अपने रस से नकली लंड को भिगो दिया.

सेक्स ब्लू फिल्म वीडियो - बिहार के सेक्सी बीएफ फिल्म

दोस्तो! हर आदमी जब भी अपना लंड किसी औरत की चूत में डालता है तो वह लंड को अपने हाथ से पकड़ कर ही डालता है, परंतु घोड़ा या दूसरे जानवर सीधा मादा के ऊपर चढ़ कर कई बार छेद पर आगे पीछे ट्राई करके डालते हैं.उस्मान माया के चूचों का दीवाना हो गया था और उन्हें पूरी तरह निचोड़ लेना चाहता था.

लगभग 15 मिनट तक ये वहशी मेरे मज़े लेते रहे और मैं दर्द से तड़पती रही. बिहार के सेक्सी बीएफ फिल्म तब मैंने बड़े प्यार से उस से पूछा- ये कंज़र कौन था? किस कंजर की बात कर रही हो?प्रीति जब 11वीं में थी, तब उसका एक बॉयफ्रेंड था.

मंजूर है!मेरी बेटी बोली- ठीक है पापा आज आप जो कहोगे, वह मैं करूँगी.

बिहार के सेक्सी बीएफ फिल्म?

पन्द्रह मिनट की चुदाई के बाद मैं झड़ने वाला था तो मैंने कहा- जान डिस्चार्ज कहाँ करूँ?वो बोली- अन्दर ही निकालो ना. उस ने मुझ से पूछा- क्यों? मुझ में ऐसी क्या खास बात है?मैंने कहा- तुम बहुत सेक्सी और सुंदर लड़की हो. लेकिन जब तक दीपक भैया अपना माल नहीं निकाल लेते, तब तक तो उसे लंड भुगतना ही था.

गुलशन- क्या सोच रही हो फ्लॉरा… मैं जानता हूँ तुम्हें भी ये अच्छा लगा. तो मैंने शिखा को सारा वृतांत सुना दिया तो शालू बोली- इसका मतलब तुम जीजू से चुदने आई हो?तो मैं एक दम से शांत हो गई. फ्लॉरा- हाँ पुरानी बात है मगर केस आज सुबह ही उसके खिलाफ दर्ज हुआ उन लड़कियों ने बताया कि कोई बहुत बड़े आदमी को जबरन चोदन केस में पुलिस ने पकड़ा तो उनकी हिम्मत जागी कि उनको भी इंसाफ़ मिल जाएगा.

डॉक्टर नहीं मिल पाने की वजह से और चिंता में कि मासूम मोनिका की जिंदगी मैंने बर्बाद कर दी. अब तक की इस हिंदी सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि सुमन ने फ्लॉरा और टीना के साथ लेस्बो का मजा लिया. पूजा को भी मजा आ रहा था, वो ज़्यादा देर ना रुक सकी और झड़ कर कहने लगी- अह… प्लीज निकाल लो.

ज़रा संभल के जाना, बहुत गुंडे रहते हैं वहाँ, खूब छेड़ते हैं लड़कियों और औरतों को… अपने रिक्शा से ही जाना ठीक था. मैंने उसकी फैमिली के बारे में जानना चाहा तो उसने बताया कि उसकी नई-नई शादी हुई है और उसका पति सिर्फ़ पैसा कमाने के पीछे भागता है.

मौसी ने तब तक मुझे पकड़ कर लंड को अपनी चुत पर आगे-पीछे करना नहीं छोड़ा, जब तक पापा के आने की आवाज़ ना आ गई.

पहली बार के दूध का स्वाद बड़ा अजीब लगा लेकिन इस वक़्त हवस हम सभी पर हावी थी, तो मैं जोश जोश में उनकी चुचियों को निचोड़ने लगा.

इस बार पार्ट्नर बदल गए थे, मगर चुदाई वैसे ही जोश में हुई और सबने इन तीनों की चुत और गांड को ऐसा ठोका कि बस पूछो मत. विजय दशमी के ठीक तीसरे हफ्ते मामी ने फोन कर के मुझे आने का बुलावा भेजा. मैंने काफी देर उस के चूतड़ों को सहलाया, उन पर किस किया और फिर चूस, काट कर आठ दस जगह नीले निशान बना दिए.

मैं पहली बार उनके सामने नंगी हुई थी।मैं अपनी सास के ऊपर चढ़ गई और फिर से किश करने लगी, वो भी मुझे किश करने लगी. उसके बाद मुझे थोड़ा मजा आने लगा और मैं भी कमर हिला हिला कर चुदने लगी. बरखा- इसस्स आह थैंक्स अतुल आह… तुमने बचा लिया वरना ये सब तो मेरी हालत बिगाड़ देते, उफ्फ.

ओह गॉड राजू… अभी तक गीला बैठा है?”वो मेरे सामने खड़ी होकर मेरा सर सुखाने लगी और मेरे तम्बू को देख रही थी।मैंने उसकी बाथरॉब की बेल्ट खोल दी, वो अंदर नंगी थी.

सुमन- आह… सस्स पापा इससे तो बहुत मजा आ रहा है… अब दर्द कम है… आह… करो और अन्दर तक घुसा दो ओफ्फ… आह…सुमन की उत्तेजना देख कर अब गुलशन जी ने दो उंगलियां एक साथ चुत में घुसा दीं और उसका अंजाम वही हुआ… सुमन के मुँह से दर्द भरी आवाज़ निकली, मगर वो सहन कर गई और वैसे ही पड़ी रही. वो जब चलती थी तो ऐसा लगता था कि उसको पीछे से कस के पकड़ लूँ और अपना पूरा 6 इंच का लंड भाभी की चूत और गांड के अन्दर घुसेड़ दूँ. उस समय रात की मूवी पर बहुत ज्यादा पाबंदी नहीं थी, चुम्मा चाटी वाले सीन काफी हुआ करते थे.

मैंने कहा- जी, मैंने पहचाना नहीं, कौन सुमन?उसने कहा- वही, कल ट्रेन वाली. बहन के सिर को मामी अपनी गोद में रखकर उसके दोनों मम्मों को सहलाने लगीं और मैंने मामी के बताए अनुसार थोड़ा फेश वाश लेकर बहन की बुर और अपने लंड पर लगा कर दोनों टांगों को ऊपर किया. उन्होंने मुझसे कहा- तुम्हें बहुत बुरा लग रहा होगा लेकिन अगर तुम हमारे साथ सहयोग करोगे तो हम तुम्हारी लाइफ बना देंगी.

करीब 12 बजे मेरी आंख खुली तो मैंने पहले मेरी बेटी को तैयार किया और मेरी सासू माँ के कमरे में जाकर उन्हें दे आई.

जिसके पापा केमिस्ट थे और उसे अनवांटेड-72 लाने को कहा। वो थोड़ी देर में गोली ले आई और कनिका ने वो खा ली।फिर उसने अपनी सहेली मनीषा को पूरी कहानी बताई। मनीषा की नजरें मेरे लौड़े पर थीं।कुछ समय बाद मैं अपने घर आ गया. अगले दिन जब सुबह सो कर उठा और छत पर गया तो देखा कि भाभी गीले कपड़े सुखा रही थीं.

बिहार के सेक्सी बीएफ फिल्म ये दोनों जब आईं तब तक सुमन ने कपड़े बदल लिए थे और बस उनके आने का इन्तजार कर रही थी. उसका पति मुंबई में जॉब करता था और महीने में मुश्किल से एक बार ही उससे मिलने आ पाता था.

बिहार के सेक्सी बीएफ फिल्म वो बोला- क्यों, अच्छा नहीं लग रहा है?मैंने कहा- बहुत अच्छा लग रहा है. मैं अभी तक हैरान था, बोला- ओके अब मेरी बारी, आपकी चूत का स्वाद लेने की.

शमशेर एक तरफ हट गया तो अब मोहन ने भी लंड चूत में डाला तो जैसे उसका लंड अन्दर गया तो चूत से एक सफेद पदार्थ की पिचकारी निकली क्योंकि शमशेर का वीर्य चूत से पूरी तरह निकला नहीं था.

औरत का सेक्स बीएफ

मेरा काम करेगा?मैं अभी कुछ समझ पाता कि उन्होंने मुझे किस करना शुरू कर दिया. उसने फट से वो मुद्रा बना ली, फिर मैंने अपने लंड को रेखा की कमसिन चूत में घुसा दिया. आपसे सम्बन्ध बनने के बाद जब मैं यहाँ आ गयी तो मुझे अपने पति के साथ सहवास में वो आनन्द और तृप्ति नहीं मिली जो आप के साथ मिलन में मिली थी.

लगभग 20 मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों पूरी तरह से पसीने में हो गए थे. मैं भूखे शेर की तरह अपनी बहन के मम्मों पर टूट पड़ा और उसकी चूचियों को दबाने और चूसने लगा. वो भी अपनी बहन की… उसकी सुहागरात को!अपना पेटीकोट उठाए हुए अपने जीजा से बुर चटवाती हुई… मस्ती में अपने होंठ काटती हुई.

डॉक्टर एक लेडी थी, तो माँ ने उसको बताया, डॉक्टर ने मुझे बुलाया और माँ से कहा- इसका पैन्ट उतारो.

लगभग आधे घंटे बाद लंड अनचाहे ही चूत में अन्दर बाहर होने लगा, उधर चूत भी प्रत्युत्तर देने लगी, हमारे होंठ एक दूसरे से लड़ने लगे. तो मैंने बोला- भाभी जान, क्या देख रही हो? क्या भैया नहीं दिखाते हैं. भाभी के पीछे मेरा 7 इंच का लंड भी अपने पूरे ताव में था और पीछे सुमन भाभी की गांड से भिड़ा हुआ था.

मुझे बहुत मजा आता है, जब तू ऊपर से सहलाते हुए चूत में उंगली करता है. इतना सुनते रागिनी एक बार मुझसे फिर लिपट कर चूमने लगी और धीमे-धीमे चूमते हुए मेरे लंड को पकड़ कर मुँह में ले कर सुपारे को चूसने लगी. इसका मतलब था कि उसकी माँ जिसे वो एक अच्छी औरत मानती थी वो तो कई मर्दों से अपना जिस्म मसलवा चुकी थी और उसने कितने ही लंड भी चूसे थे.

माँ ने कहा- मेरे कपड़े कौन उतारेगा?मैंने मॉम की साड़ी और ब्लाउज उतार दिए. मैं चुदाई के लिए बेचैन थी लेकिन छत पर चुदाई की कोई संभावना ही नहीं थी फिर भी मैं चली गई ऊपर छत पर… मैं जैसे ही छत पर गई और छत का दरवाजा खोला तो जीजू मेरे सामने मेरी घर की छत पर ही खड़े थे और हल्की हल्की बारिश के छीटे पड़ रहे थे.

तभी वो अपनी चुचियों को पेटीकोट से बाहर निकाल कर उन पर भी साबुन लगाने लगीं. बेबी अभी चुद रही थी तू ऐसे क्यों ढक रही है?”अनीता बोली- तेरी चुदाई के लिए ज़रूरी है. चाचाजी ने अपनी पेन्ट की जिप खोलकर अपने तने हुए लंड को बाहर निकाल कर मेरे हाथ में थमा दिया.

बर्तन धोने के बाद मैं फ्रेश होने बाथरूम चली गयी, मैंने अच्छे से अपनी चूत की सफाई की, उसके बाद किचन में मामा जी के लिए चाय नाश्ता बनाने लगी.

उसने तो मेरे दोनों कान पकड़ लिए थे और ज़ोर ज़ोर से एक के बाद एक झटके दिए जा रहा था. फ्लॉरा- थैंक्स अंकल, वैसे आपको देख कर भी नहीं लगता कि आपकी इतनी बड़ी बेटी होगी. लगभग दस मिनट के बाद वो वापस आई और उनके हाथ में वाइन की बॉटल थी और कुछ ड्राइफ्रूट्स थे.

इतना बड़ा लंड… देवर जी, अपनी भाभी पर रहम करो… मैं तुम्हारी सगी भाभी हूँ, कोई पराई नहीं!मैंने भाभी की बात सुनी पर मैंभाभी की चूत मेंबेरहमी से ठोकरें लगाता ही गया. मैंने उसके सारे कपड़े जल्दी से उतार दिए और उसे बिल्कुल नंगी कर दिया.

शुरू में उसको दर्द हुआ फिर जब उंगली चुत में एड्जस्ट हो गई तो उसको मजा आने लगा. मैं फटाफट रसोई में गया और कॉफ़ी के साथ कुछ खाने का भी लेकर के आ गया. पत्नी के रहने के इन 10 दिनों तक हमने बहुत बार चुदाई की, लेकिन साली ने कभी गांड नहीं मारने दी.

व्हिडिओ बीएफ चुदाई

अब दीदी मुझे बांहों में भर कर चुदवा रही थीं, मुझे बहुत मज़ा आ रहा था.

बैठने तक तो ठीक था लेकिन जब वो धपाधप मेरे लंड पर कूदने लगीं, तब बस इतना समझ लीजिये कि मेरी चटनी ही नहीं बनी. बोली- तुझे कितना भरोसा है मुझ पर?मैंने कहा- तेरे घर पर कोई नहीं दिख रहा है, सब कहाँ गए?वो बोली- पापा काम पर गए हैं, रात के नौ बजे आएंगे. उस वक्त मौसी ने फ्रॉक टाइप की ड्रेस पहनी थी… और नीचे चड्डी नहीं पहनी थी.

मैंने नाइट पैन्ट पहनी थी, उस वजह से मेरा 6″ का हथियार ऐंठ गया और उसको महसूस हो गया. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:जीजू की चचेरी बहन की बुर चोदन की कहानी-2. बुढ़िया की चूतऔर अगले ही पल उसने मुझे पलट दिया जिससे मैं छाती के बल जमीन पर दब गया.

उसने मेरे सर को टांगों में जकड़ लिया और जीवन में पहली बार चरम आनन्द को पाकर चीख चीख कर झड़ने लगी. आज फीलिंग्स कुछ अलग ही थी क्योंकि आज हमारा ऑफिशियल हनीमून था, जिसका इंतज़ार शायद हम दोनों को ही बेसब्री से था.

जब मैं बस में बैठा तो मेरे सीट के बाजू में कोई नहीं बैठा था, बस जैसे ही मुलुंड के बाद रुकी तो एक औरत 6 महीने के छोटे बच्चे के साथ मेरे बाजू में आ बैठी. अतुल ने तो सूप में अपना लंड डुबो कर फ्लॉरा को चुसाया और वीरू ने गाजर को बरखा की चुत में घुसा कर चुत रस से गाजर को सान कर खाया. उसमें चाकू से एक छोटा सा छेद बना दिया और इंतज़ार करने लगा।आंटी आईं और उन्होंने मुझे खाना दिया और खुद नहाने चली गईं।मैं भी थोड़े देर बाद पीछे पीछे चल दिया और दरवाजे से झाँकने लगा।वह नज़ारा आज भी नहीं भूल सकता हूँ.

मेरा मन तो जय से चुदवाने को कर रहा था लेकिन ये बात मैंने जाहिर नहीं होने दी. शीतल बड़ी जबर्दस्त चुदक्कड़ निकली, उस ने मेरे लंड को मानो निचोड़ लिया था. मैं उठी तो मेरी गांड पर मैंने हाथ फेरा, वो एकदम चिकनी और खुली सी लगी.

भीड़ में छेड़छाड़ करने का उसका कोई इरादा ना था, पर बार-बार पीछे के धक्कों से वो आगे वाली औरत यानि रूपा से टकरा जाता था.

मैं- चूसो ना इसे…जोशना- पहले साफ़ करना पड़ेगा!वो मुझे बाथरूम में लेकर गई और लंड को प्यार से धोने लगी. पापा- नहीं मेरी जान, तू सिर्फ़ चूस कर इसको गीला कर दे… बाकी आज इसको तो मैं तेरी चुत से ही ठंडा करूँगा.

अब दीदी रोज मुझसे चुदवाती हैं और मैं भी अपनी दीदी यानि मेरी पत्नी को ज़म कर चोदता हूँ. शीतल मेरे पास सरक कर आई और बोली- अभि क्या किसी लड़की को चाहते हो?मैंने कहा- नहीं. फ्लॉरा- यार, अब तक तो अंकल गहरी नींद में हो गए होंगे, चल ना हम उनका लंड देख कर आते हैं.

दीदी कहने लगीं- मॉम, देखो भाई का लंड 7 इंच का है और आपकी चूत में बहुत दिन हो गए है. मेरे गर्म गर्म वीर्य की पिचकारियां मुझे उसकी चूत की गहराइयों में जाती हुई साफ महसूस हो रही थीं. मैंने भी उसको घुमा कर अपने नीचे किया और 69 में आकर उसकी फुद्दी का सारा रस चाट गया.

बिहार के सेक्सी बीएफ फिल्म उसके चूतड़ों अपने दोनों हाथों से खोले और लंड उसकी चूत पर सैट करके एक ही झटके में पूरा अन्दर डाल दिया. थोड़ी देर बाद मैंने उसको अपना लंड चूसने को बोला तो उसने मेरे पास आकर मेरे को बिस्तर पर धक्का देकर गिरा दिया और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

इंडियन बीपी बीएफ

आज भी रात को मैंने सिर्फ लुंगी ही पहनी थी और आज तो मौसी ने बहुत ही सेक्सी छोटी सी फ्रॉक जैसी नाइटी निकाल कर पहनी थी. वो शादी शुदा था और उसकी बीवी सुरैया ख़ातून जो मेरी भाभी थी, वो भी एकदम मस्त माल थी. मैंने कहा- क्या मैं आपकी नुन्नू छू सकता हूं?चाची बोलीं- नहीं, मैंने कहा था ना कि सिर्फ दिखाऊँगी और कुछ नहीं.

अब तो फ्लॉरा को चूसने में और मजा आने लगा था… लंड जो पूरा तन गया था. खैर चाचा ने मम्मी से गलती माफ करने को कहा और खाना खाकर खेत पर चले गए क्योंकि वहां पर पानी चल रहा था. एक्स एक्स वीडियो चालूफिर वो क्रीम रेखा की बुर में लगाते हुए बोली- रेखा रंडी, ले आज तेरी बुर का भोसड़ा बनाने का समय आ गया.

बहूरानी की चूत बिल्कुल वैसा मज़ा दे रही थी जैसे किसीकुंवारी गर्लफ्रेंड की चूतदेती है.

तभी उस अजनबी ने शिशिर के पीछे आकर उसके चूतड़ को सहलाया और फ़िर एक उंगली शिशिर की गांड में पेल दी. सेक्स कहानी का पहला भाग :इश्क विश्क प्यार व्यार और लम्बा इन्तजार-1सेक्स कहानी का दूसरा भाग :इश्क विश्क प्यार व्यार और लम्बा इन्तजार-2जैसा कि आपने पिछली कहानी में पढ़ा था कि मैं मोनिका को होटल में ले गया और वहां हम दोनों ने मन भर कर चुदाई की, जिससे मोनिका की शिकायत मेरे लिए खत्म हो गई.

वैसे मेरा सीना कड़क है इसलिए तो तूने मुझे देखा ना…? रही बात मेरे बच्चों की तो पप्पू वो दोनों मेरे पति के ही बच्चे हैं. रहमत का लंड देख हम माँ बेटे दोनों दंग रह गए; इतना मोटा और बड़ा लंड सिर्फ अफ्रीकियों का सुना था. मैं ऐसे मौके पर अगर कोई डोर पे होता है तो ज़्यादातर खिड़की में से ही बात करता हूँ.

ह्हह…” की आवाज करने लगी। ममता जी भी अब अपने कूल्हों को उचका उचका कर मेरा पूरा साथ दे रही थी। मैं भी अब पूरे जोश में आ गया और अपने कमर से ऊपर के भाग को ऊपर उठा कर धक्के लगाने लगा जिससे ममता जी और भी जोर से अआआ.

मैं अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ था तब वो मेरा लंड लगभग रोज़ चूसती थी पर कभी मेरा माल नहीं निकाल पायी. धीरे-धीरे मैं समझ गया कि यह भाभी भी बहुत दिनों से चुदाई की प्यासी है. उसकी चूत चिकनी थी, इसलिए लंड बिना किसी मुश्किल के अन्दर घुस गया पर वो चिल्लाने लगी.

सनी लियोन सेक्स बीपी वीडियोआंटी मेरी तरफ घूम गईं और अब मैंने ब्रा सही करने के बहाने उनके मम्मों को सहलाने लगा. विवश होकर आप मेरे ऊपर चढ़ गए और मुझमें बलपूर्वक मेरी इस में समा गए जैसे ही आपका विशाल लिंग मेरी प्यासी योनि में घुसा था, मैं समझ गयी थी कि मैं छली जा चुकी हूँ, कि मेरे साथ मेरा पति नहीं कोई और ही है क्योंकि आपके बेटे का लिंग आपसे बहुत छोटा और पतला सा है.

बीएफ सेक्स वीडियो एचडी बीएफ

क्योंकि अंकल कुछ दिन बाद आए थे तो चुदाई तो पक्के में होनी थी।आंटी कैसे चुदेंगी. मेरे 7 इंच लम्बे और 2 इंच मोटे लंड को बहन ने चूस चूस कर गहरा लाल कर दिया था. मेरी उंगलियाँ रेखा की गांड के गोश्त के अन्दर घुसती हुई दिखाई दे रही थीं.

मैंने कहा- क्या हुआ?तो बोली- गुदगुदी हो रही है!मैंने फिर जीभ से उसकी चूत चाटने लगा, उसकी चूत से नमकीन पानी निकलने लगा, मैंने जीभ से चाट से साफ कर दिया, वो बोली- और चाटो जीजा जी, बहुत अच्छा लग रहा है, आई लव यू… जीजा जी, आप मुझे भी चोदना जैसे बड़े जीजा जी दीदी को चोदते हैं।मैंने कहा- क्यों नहीं, मैं भी तो यही चाहता हूँ. मेरी चुत गई पापा चोदो मुझे आह आह फास्ट करो पापा और फास्ट आ आह…सुमन की उत्तेजना अब चरम पर पहुँच गई थी. चाचाजी ने मेरे मम्मों के निप्पलों को मुँह में लेकर चूसना काटना शुरू कर दिया.

कहानी पढ़ने से पहले एक बात ध्यान करें कि मैं हर बात समय पर ही बताऊँगा. चोदो नाअब मैंने उसे ज़मीन पर लिटा दिया और उसने अपने पैर हवा में उठा दिया और बोली- आ घुस जा मेरे चोदू…मैंने भी एक झटके में अपना पूरा लंड अन्दर घुसेड़ दिया. मैंने विनीता के बगल में लेट कर ज्यों ही उसे छुआ वो तड़प कर मुझसे लिपट गई.

बर्तनों के खनकने की आवाज से भाभी उठ गई और अंदर के बर्तन न देख कर समझ गई कि चंदा ने सब कुछ देख लिया है। खैर, भाभी ने मेरे ऊपर चादर डाली और बाहर गई। फिर वे चंदा से बात करके आई। औरतें आपस में खुली होती हैं. अपनी कमर आगे पीछे करके रूपा पप्पू से चूत में उंगली करवाती हुई उसका लंड मसलते हुए बोली- देख पप्पू, तू गालियाँ दे या जो कुछ भी करे… मुझे कोई प्राब्लम नहीं, पर मार नहीं खाऊँगी.

मैंने उसको सीधा लिटा दिया और उसकी दायीं चूची का निप्पल मुँह में भरकर चूसने लगा और मेरे मुँह में अमृत जैसा दूध आने लगा, जिसके आगे आबे-ज़न्नत भी बेकार था.

आज मैं राज 40 साल का मर्द हूँ व भोपाल के पास एक छोटे से कस्बे में अकेला रहता हूँ. स्कूल की चुदाईजब कोई लड़का उस पर फिकरा कसता या भीड़ में कोई उसका बदन छूता तो उसे अच्छा लगता था. ক্সক্সক্স হিন্দিसाथ ही एक हाथ से उसकी चुत सहलाता और कभी उंगली को उसकी चुत में डाल देता. कुछ देर बाद एअरपोर्ट से बाहर निकल कर मैंने अर्पिता को कॉल किया और पूछा कि वो कहाँ है, तो बात करते-करते वो मेरे पीछे आ कर खड़ी हो गई.

रूपा अब कोई भी ऐतराज़ किये बिना पप्पू को अपने जिस्म को मसलने देते हुए बोली- हाय रब्बा, कितना बेशरम है तू, बाप रे कैसी गंदी बात करता है? हम पति पत्नी तो बच्चों के सोने के बाद ही करते हैं ये सब… अगर बहुत रात हो जाये तो ये खेल कई दिनों तक खेलते भी नहीं हैं.

शायद उसी समय उसके लंड ने उसका साथ छोड़ दिया, उसकी पिचकारी चल गयी, वो तेज़ी से अपना हाथ छुड़ा कर रूम से भाग गया. मैं बहूरानी के मम्में गूंथते हुए उसके गाल काट रहा था और बहूरानी मुझसे बचने के लिए अपना मुंह दायें बाएं हिला रही थी. अनुभव तो बहुत हैं जो आप लोगों से शेयर करना चाहता था लेकिन पहले हिंदी में टाइप करने में हमेशा दिक्कत होती थी, लेकिन अब तो दुनिया भर के तरीके आ चुके हैं, तो अब कब तक आप से छुपाउंगा.

फिर शुरू हुआ असली खेल… रहमत मेरी मां की चुत चोद रहा था और रहीम चाचा मेरी मां का मुंह चोद रहे थे। माँ भी एक ही मिनट में इस बात के लिए मान गई कि चलो कोई बात नहीं। चुदवाना तो है ही, जहां एक लंड, वह दूसरा भी सही।ऐसे ही दोनों ने मिल कर मेरी चुदासी मम्मी की जम कर चुदाई की. आवारा साले!वो मेरे बाल पकड़ते हुए नीचे मेरे कमरे में ले गईं और मेरी अलमारी में कुछ ढूंढने लगीं। मैं सर झुका कर बैठा था. उन फटे और गंदे कपड़ों में सहेली के घर जाती तो सहेली को पक्का शक हो जाता.

एक्स एक्स एक्स बीएफ हॉट बीएफ

अँधेरे में मैं देख तो नहीं पाया लेकिन इतना पता था कि अगर उनकी नंगी चुचियां किसी अप्सरा की चूची से कम नहीं रही होंगी. देख मैं तेरे बड़े भाई जैसा हूँ, तू बता मुझे दिल खोल कर वो क्या बोलते हैं तुझे, बिल्कुल शरमा मत मेरी नीता. वो बोला- क्यों, अच्छा नहीं लग रहा है?मैंने कहा- बहुत अच्छा लग रहा है.

खंडहर स्कूल वाली घटना हुई, तब से पापा ने मुझ से कभी बात तक नहीं की.

मैं तुम्हारी साँसों को पी लेना चाहता हूँ, आपके हर अंग को चूमना चाहता हूँ.

मैंने नाइट पैन्ट पहनी थी, उस वजह से मेरा 6″ का हथियार ऐंठ गया और उसको महसूस हो गया. यौन सम्बन्ध कैसे बना, ये आपको बताता हूं कि कैसे मेरी बांहों में रागिनी आकर अपनी कई सालों पहले की चुत की भूख मिटा लेती है. बफ सेक्सी पिक्चर हिंदीतू उसे अब खूब चोद और उसे भी जवानी का मज़ा दे!रूपा को नीचे बिठा कर अपना लंड उसके होंठों पे रख कर पप्पू बोला- तू अब उसकी चिंता मत कर मेरी रंडी, उसे तो खूब मस्ती से चोदूँगा मैं.

हम भैंसों को लेकर उनके लिए बनाए बरामदे में चले गए जहां रवि ने मुझे अपनी तरफ खींचकर मेरी निप्पलों को मसलना शुरु कर दिया और उसका लंड उसके ढीले कच्छे में से मेरी गांड से आकर सट गया. यहाँ की सभी सेक्स स्टोरी तो नहीं लेकिन जब भी समय मिलता है, अन्तर्वासना पर प्रकाशित मादक कहानियों का मजा जरूर लेता हूँ. मैंने भी इरफान को संभालते हुए उसकी पीठ में हाथ डाला, चाचाजी ने मेरा हाथ थाम लिया.

क्या बताऊँ!मैंने उसे लिटाया और फिर उसके पेट पर अपनी जीभ घुमाना चालू किया। उसको गुदगुदी होने लगी और उसके मुँह से सिसकारियां निकलने लगी थीं- अहह्ह ह्ह म्म्म म्म्म्म. दस मिनट लंड चुसाने के बाद मैंने भाभी को बेड पे सीधा लिटाया और उनके ऊपर लेट कर किस करते, उनके मम्मों को दबाते और चूसते हुए हौले से लंड को भाभी की चुत पे रखा कर धक्का लगा दिया.

बीच बीच में लंड बाहर निकाल कर वो कामुक सिसकारियां भी ले रही थी और उस्मान के टट्टों से खेल रही थी.

इसके बाद मैंने दीदी को मंगलसूत्र पहनाया और फिर आखिर में हमने फेरे लिया. दोस्तो, मेरा नाम किरण है(किरण लड़कों का नाम भी होता है), मैं पुणे महाराष्ट्र का रहने वाला कॉलब्वॉय हूँ, मैं दिखने में स्मार्ट हूँ, कद काठी भी ठीक ठाक है. उसने सेक्सी स्टाइल में मेरी टी-शर्ट निकाली, मेरी पैंट उतारी… मेरा अंडरवियर उतारते ही लंड देखते ही वो पीछे हट गई.

मां बेटे की सेक्सी वीडियो देसी लड़की सांवली थी, पर उसकी बुर क्षेत्र क्या मस्त था, पूरा छेद का मैदान करीने से साफ सुथरा किया हुआ था. वो भी मुझे अपनी बांहों में जोर जोर से खींच रही थी, उसे बहुत मज़ा आ रहा था.

इसके बाद मैं विनीता की चूत में लंड पेलने के पहले अन्तिम काम करने लगा. मैंने उनको एक दूसरे से गुंथते छोड़ कर कमरे से बाहर निकल कर बाहर से दरवाजा लॉक कर दिया. फिर उसने हमें लंड बाहर निकालने को कहा, तो हम दोनों ने अपने अपने लौड़े बाहर निकाले और नेहा को बिस्तर पे बिठा दिया.

बीएफ इंग्लिश सॉन्ग

समीर कभी मेरे होंठ चूमता तो कभी मेरे चूचे और कभी कभी मेरे लंड को भी सहलाता. मैंने फिर उनकी कमर पकड़ कर उनकी गांड के छेद पर अपना सुपारा रख कर एक ज़ोर का झटका मारा. ह्हहँ… उऊँऊँ ह्हहँ… उऊऊ… गुऊंन्न… गुण… उऊऊँ ह्हह… उऊँऊँ ह्हहँ…”फिर तभी ममता दीदी ने मुझे जोर से भींच लिया और शांत पड़ गई… उनकी चूत ने ढेर सारा पानी छोड़ दिया जो ममता ‌की जांघों के साथ साथ मेरे लंड व मेरी जांघों पर भी फ़ैल गया।ममता जी अब थोड़ी सी निढाल हो गई थी इसलिए उनकी पकड़ कुछ ढीली हो गयी मगर मैं अब भी अपनी उसी गति से उन्हें धक्के लगा रहा था.

थोड़ी देर के बाद फिर एक धक्का और लगा और मेरा लंड पूरा अन्दर चला गया. मैं भी मिलने की बहुत जल्दी में था क्योंकि एक एक दिन बड़ी बेसब्री से गुजार रहा था और जो लत मामी ने लगाई थी, उसकी खुराक भी उनके पास ही थी.

क्या साब यह तो बहुत छोटी सी है अभी आपकी बिटिया की जितनी!”बिटिया जैसी है, बिटिया नहीं है.

वैसे तो मेरा लंड अच्छा ख़ासा लम्बा मोटा है लेकिन इतनी आसानी से अन्दर चले जाने का कारण मुझे समझ आने लगा कि किस्से कहानियां सच होती हैं. फ्लॉरा- यार तेरे पापा रात के गए अभी तक नहीं आए, कहीं कोई गड़बड़ तो नहीं ना?सुमन- अरे नहीं नहीं, वो अक्सर ऐसे काम से जाते रहते हैं… आ जाएँगे. मैं- चूसो ना इसे…जोशना- पहले साफ़ करना पड़ेगा!वो मुझे बाथरूम में लेकर गई और लंड को प्यार से धोने लगी.

मैंने जींस के ऊपर से ही जोर जोर से उसके लंड को चाटना शुरू कर दिया और अपना चेहरा उसके लंड पर रगड़ने लगा. फिर मैं मजे से आगे-पीछे करने लगा और प्रीति आँखे बंद करके चुत चुदाई का मजा लेने लगी. तब चाचा बोले- फिर तुम बचे हुए दोनों भी देख लो!और गाड़ी के अंदर की लाइट जला दी, मेरा कुर्ता हटा दिया.

नयना भी कोई कम शैतान नहीं थी, वो भी अपने चचेरे भाई के साथ ऐसे ही सेक्सी किताबें पढ़ती थी और उसके साथ मस्ती करती थी.

बिहार के सेक्सी बीएफ फिल्म: धीरे धीरे तीर निशाने पर लगते देख मैंने कमरे में बैठ कर सेक्सी फिल्म देखने का आग्रह किया. मगर उन्होंने खुद को समझाया कि जल्दबाज़ी में काम बिगड़ सकता है और वैसे भी अभी सुमन ठंडी हुई है तो उसके पास जाने का फायद नहीं.

अपने हाथ से उसका पेट मसलते हुए, गर्म साँसें गर्दन पे छोड़ते हुए और गांड पे हल्के से लंड रगड़ते हुए वो बोला- कबीर मोहल्ला अब 20 मिनट में आएगा भाभी जी! आपका तो फिर भी ठीक है… मुझे तो रहमान नगर जाना है, आपके स्टाप से 30 मिनट आगे. जब उसे लगा गोपाल बहुत ज़्यादा गर्म हो गया है, तब उसने नीतू को आवाज़ लगाई थी. थोड़ी ही देर में मामी का फौव्वारा छूटा जो मेरे मुँह में पूरा भर गया.

मगर पापा जी का लंड पूरे उफान पर था और चुत को देख कर सलामी दिए जा रहा था.

एक बार फिर उस की चूत चाटी, इस बार तो कुछ ज़्यादा ही उछल रही थी और बोल रही थी- आह. फिर उसने जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया और वो जोर से कराहने लगी- ओह्ह. जहाँ पर मैं उसके होंठों पर बहुत देर तक किस करता रहता और उसे भी मजा आता.