बीएफ हिंदी चुदाई मूवी

छवि स्रोत,मोटी औरत का सेक्सी वीडियो दिखाएं

तस्वीर का शीर्षक ,

चूची बीएफ: बीएफ हिंदी चुदाई मूवी, यह उसी दिन की बात है जब आपने एक बार मुझसे पूछा था कि चूत के बाल क्यों साफ कर लिये और मैंने आपसे गर्मी लगने का बहाना कर दिया था.

सेक्सी भोजपुरी जबरदस्त

मैंने लण्ड को उनकी चूत में डाल दिया और धीरे धीरे उनकी चूत की गहराई नापने लगा. जानवर के साथ लड़की सेक्सीमैंने लाल रंग की लिपस्टिक लगाई, लम्बे ईयररिंग पहने, फिर पूरी नंगी हो गई, बालों का जूड़ा बनाया और एक क्लिप लगाया.

लड़का लड़की सेक्स कहानी पर कमेंट्स के जरिये या फिर मेरी ईमेल आईडी पर आप मुझे संपर्क कर सकते हैं. देहाती सेक्सी वीडियो आवाज वालीजब मैंने ड्राअर को खोला तो उसमें कई सारे कॉन्डम के पैकेट रखे हुए थे.

मैंने उन्हें लिखा- हैलो कैसी हैं आप … आपकी प्रोफाइल की फोटो बहुत सी हॉट है.बीएफ हिंदी चुदाई मूवी: मुझे उसका यह अंदाज बहुत पसंद आया और उसे थैंक यू बोला।अजय मेरे लिए कई घंटे का ट्रेन से सफ़र करके आ रहा था.

5 इंच का है?तब जिगर बोला- मैंने कभी नापा नहीं है … और नापने भी नहीं आया हूं … साली चूत मरावनी.मेरी रंडी बीवी ने लंड को चूत पर सैट कर लिया और बोली- चोद दीजिए अपनी रंडी बीवी को.

सेक्सी ब्लू बुर चुदाई - बीएफ हिंदी चुदाई मूवी

एक भारी आवाज ने कहा- मेरे लिए माल का इन्तजाम किया?एक आवाज आई- जनाब, माल बाथरूम में नहा धोकर तैयार है.एक तवायफ को जिस्माना खुशी तो मिलती है … पर दो पल की और उससे भी बढ़कर प्यार पाने की उम्मीद होती है, जो कभी पूरी नहीं होती.

पर ऐन टाईम पर मेरे दोनों दोस्त पहुंच गए और मुझे मजबूरी में अमिता को रात भर उनके साथ बांटना पड़ा. बीएफ हिंदी चुदाई मूवी सोनम उस दोस्त की बात सुनकर चुप रह गई और मैंने उससे सॉरी कह कर उसका साथ छोड़ दिया.

उनको सीडी दिखा कर पूछा तो वो बोले कि उनको इस बारे में कोई जानकारी नहीं है.

बीएफ हिंदी चुदाई मूवी?

रत्ना- हमने भी बहुत साल से होली नहीं खेली, आज मेरा भी होली खेलने का मन है. मुझे लग रहा था कि पल्लवी की चूत में मेरे लंड के नाम की खुजली मची है और हो सकता है मुझे कॉन्डॉम्स की जरूरत पड़े. हम दोनों बियर और सिगरेट का मजा लेते हुए आपस में सनी के साथ होने वाली चुदाई की बात करने लगे.

[emailprotected]गाँव की चुत चुदाई कहानी का अगला भाग:सरसों के खेत में मामी को चोदा- 2. मैसेज आने के बाद ही उनको मैंने ओके कहा और फिर दस मिनट बाद उनके पास पहुंचने का वादा किया. कांति को मैंने कार में ही छिपा रखा था। प्लान के मुताबिक वो अपने घर ये बोल कर आई थी कि वो किसी सहेली के यहाँ जा रही है और अगले दिन आएगी।ऑफिस खाली हो गया.

मेरा लण्ड लोअर से बाहर निकाल कर मौसी ने हिलाना शुरू किया तो मेरा लण्ड टनटनाने लगा. मुझसे जग उठा कर गिलास में जूस डालते नहीं बन रहा था, तो थोड़ा सा टेबल क्लाथ पर गिर गया. मेरा लंड उसकी चूत में जितना गया था मैंने उतना ही डाले रखा और मैं वहीं पर रुक गया.

वो कुछ नहीं बोलती थीं क्योंकि मैं पहले उन्हें चोद चुका था और उन्हें भी ये सब अच्छा लगता था. मैंने एक दो बार अपने पति से बात की, लेकिन उन्होंने साफ़ मना कर दिया.

फिर उसने होंठ छोड़े और मेरी तरफ देखते हुए लंड को बाहर खींचा … अगले ही पल उसका तेज प्रहार मेरी चूत को जड़ तक चीरता चला गया.

जिया- तुम सच में मेरी गांड मारना चाहते हो?मैं- अगर आपकी इच्छा नहीं है तो मैं नहीं मारुंगा.

फिर होली का त्यौहार आया और खबर आई कि मेरी बड़ी ननद रिया पांडे मायके आ रही हैं. वो दोनों चूंकि हमेशा ही घर पर आते रहते थे तो किसी को कोई शक नहीं हुआ. मैं उनके देवर का रियल नाम तो आपको नहीं बता सकती, तो मैंने उसे विशाल नाम से परिचय दे देती हूँ.

अमित ने उनसे कहा- आप मेरे दोस्तों के लंड से चुद लेती हो, तो मेरे लंड में कौन से कांटे लगे हैं?मगर उसकी मॉम ने मना कर दिया. उन्होंने ऐश्वर्या की चुत के सामने अपने लंड को हिलाया और स्माइल करके लंड को चुत की फांकों में फंसा दिया. मैंने एक हाई प्रोफाइल विश्व विख्यात लड़की को भारी भरकम राशि के बदले एक रात के लिए बुक किया है.

नवाब सिसकारने लगा- आह्ह … ऊह्ह … आहा … आह्हा … और चूस … हां … और मजे से।मैं बोली- हां, चूस चूसकर लाल कर दूंगी इसे.

आप सभी को इस ससुराल की फेमिली सेक्स स्टोरी में कितना मजा आया … प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं. फिर मैं एक हाथ से उसकी चूची को उसकी ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा और उसकी गर्दन चूसता रहा. उसके बाद मैंने कैसे उनको अपना लंड चुसवाया?दोस्तो, मेरी न्यू कामुकता कहानी फ्री के पिछले भागशादी में मिली प्यासी भाभी से प्यार और चुदाई- 1में आपने पढ़ा कि मैं एक शादी में मिली अनजान भाभी की चुत चाटने का मजा ले चुका था और उन्होंने मेरे मुँह पर पेशाब भी कर दी थी, जिसे मैं मजे से पी गया था.

दो मिनट के बाद ही मेरी बहन का हाथ मेरी जांघ से होता हुआ आया और उसने मेरे लंड पर अपना हाथ रख दिया. कभी कभी वो कपड़े सूखने डालने आती थीं तो उन्हें देख कर अपनी आंखें सेंक लेता था. गले से लेकर मैं उनके लिप्स को चूसता, गले को चूसता, कानों को चूमता और कभी उनके माथे को चूमता.

आपको मेरी यह टीनएज गर्ल सेक्स की कहानी पसंद आयी या नहीं? आप मुझे मुझे मेल कर सकते हैं मेरी आईडी पर![emailprotected].

मजा तो दूर मैं बस यही चाह रही थी कि बस ये मुझे छोड़ दे।मगर मोहित किसी तरह से रुकने का नाम नहीं ले रहा था और दनादन मेरी चुदाई किये जा रहा था। अभी भी उसने मेरे मुँह को दबा कर रखा हुआ था। कुछ देर बाद मेरा दर्द अपने आप ही कम होना शुरू हो गया. करीब 10 मिनट बाद उसने पूरा लंड मेरी बीवी की चूत में डाल कर तेजी से अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

बीएफ हिंदी चुदाई मूवी मैं नजमी की हरकतों को देखना चाह रहा थथोड़ी देर रुकने के बाद मैं चुपके से फिर उतरा. मैंने की-होल पर आंख लगाई, तो अन्दर देखा कि नाईट बल्ब जल रहा है और नजमी सो रही है.

बीएफ हिंदी चुदाई मूवी सनी- मेरी जान सॉरी बोला न … नेक्स्ट टाइम तुम्हारी चाय और तुम्हारे बूब्स दोनों पियूंगा. अंजलि चिल्लाने लगी तो मैंने अपने होंठों से अंजलि के होंठों को दबा दिया और किस करने लगा.

मैंने सनी को सीधे लिखा- अल्पना की चुत तुम्हारे लंड के लिए मचल रही है.

टॉयलेट करते हुए सेक्सी वीडियो

अब तो मेरे पसीने छूट गए।मुझे अब कुछ भी समझ नहीं आ रहा था। इतना ज्यादा गोरा शरीर! इतनी अच्छी फिगर! बड़े बड़े बूब्स! इतनी बड़ी गांड़ मैं अपनी लाइफ में पहली बार देख रहा था। उसने उस वक्त लाल रंग की ब्रा पहनी थी. एक अजीब सी कसक उसके और मेरे दिल में उठी, जब मैंने कमरे का दरवाजा बंद किया. सुभाष ने चादर खींच ली और कहा- और अब!दरबान ने अमिता को ऊपर से नीचे तक देखा और कहा- बहुत पटाखा है साहब.

और मैं भी यही चाहती थी कि कोई मर्द हो जिस पर मैं दिल से भरोसा कर सकूं. साथ ही बीच-बीच में पूरी जीभ बाहर निकालकर मेरी चूत को ऊपर से नीचे तक चाट रहा था। ऐसे ही दस मिनट से भी ज्यादा देर तक वो मेरी चूत को चाटता रहा. मैं- साली रंडी … उसमें तो लड़कियां बहुत लोगों का लंड चूसती हैं … तू भी चुसेगी दूसरों का लंड?मेरी रंडी बीवी ने मुस्कुराकर मुझे देखा और लंड को चाटना शुरू कर दिया.

ये सेक्स कहानी मेरी और मेरी खाला (मौसी) की बेटी की यानि मेरी बहेन की चुदायी कहानी है.

वो आंख मारता हुआ बोला- क्या बड़ा है?मैं समझ गई कि अब ये मस्ती के मूड में आ गया है. मगर उनका फिगर देख कर तो ऐसा लगता था जैसे कि वो केवल 25 साल की ही है. होंठों पर, गर्दन पर और उसकी कान की लौ को मैं मुँह में लेकर चूसने लगा.

चाय पीने के बाद मेरे और पीयूष के बीच काफी देर तक इधर उधर की बात होती रहीं. थोड़ी देर बाद उसने स्पीड बढ़ा दी और ज़ोर ज़ोर से मेरे लंड महाराज को चोदने लगी. जैसा कि मैंने आपको बताया था कि मैं 5 साल से जिम कर रहा हूं और मैंने एक दो कॉम्पिटिशन भी जीते हैं.

वो बोली- ये क्या है?मैंने बोला- सेक्स करने का सबसे बेहतरीन तरीका है. मैं उसके बूब्स को हाथ से दबाना चाह रहा था लेकिन मेरे हाथ तो बंधे हुए थे.

जब भी तेरी इच्छा हो तो आकर अपनी चाची की चूत चुदाई कर लिया कर।मैं बोला- मगर चाची, मधु भी तो है घर में!वो बोली- अरे मूरख, दिन में तो मैं अकेली ही रहती हूं न। दिन में आकर चोद लिया कर।उनकी बात पर मैंने पूछा- और अगर किसी दिन मधु ने हम दोनों को चुदाई करते हुए देख लिया तो?वो बोली- तू उस बात की चिंता मत कर, अगर कभी ऐसा हुआ भी तो उसका इलाज मैंने ढूंढ लिया है. उसके मम्मों को पकड़ कर उन्हें भंभोड़ रहा था, जिससे मीना कसमसाए जा रही थी. जैसे ही वो अन्दर आई, मैंने मेन दरवाजा बंद कर दिया और उसे हाथ से पकड़ कर कमरे में ले आया.

फिलहाल मेरी चूचियां उतनी छोटी तो रह नहीं गई थीं कि किसी को चूचियों से मस्ती न चढ़े.

तभी दीदी की निगाहें मेरी नजरों से मिलीं और वो मुस्कुराते हुए बोलीं- क्या हुआ? ऐसे क्या देख रहा है?मैं सकपका गया और बोला- क. प्रोजेक्ट के लिए फाइनल हुआ कि सब दोस्त मिल कर मेरे रूम पर ही क्लास के बाद प्रोजेक्ट बनाएंगे. फिर एक मिनट बाद मैं खड़ा हो गया और ऐश्वर्या के गाल पर किस करके उनको टिश्यु पेपर दे दिया … ताकि वो अपनी चुत को साफ कर सकें.

चुदाई के समय आंटी की दोनों चूचियां बड़ी तेजी से आगे पीछे हो रही थीं. अभी मैं अपने लंड की फ़रियाद सुन ही रहा था कि तभी नाज़नीन भी बोल उठी- साहब और मत तड़पाईए … मैं बहुत प्यासी हूँ … अब मुझसे सहन नहीं होता.

उसने धीरे से पूछा- क्या सच में तुम ये सब चाहती हो?मैंने नजरें नीचे करते हुए कहा- हां!उसने मुझे आगे बढ़ कर अपने सीने से लगा लिया और चूमने लगा. लोकेश को भेजकर रोहन ने दरवाज़ा बंद किया और मेरे पास आ गया। उसने मुझसे कहा कि अब कोई परेशान नहीं करेगा और लोकेश को भी आने में वक्त लगेगा।फिर मैंने उससे पूछा कि वो बैग जो लोकेश ने उसे दिया है उस बैग में क्या है तो उसने मुझे बैग खोल कर दिखाया. जब तक मैं उन दोनों के पहुंचा, तब तक शुभम नम्रता को नंगी कर चुका था और वह उसे किस कर रहा था.

फुल एचडी सेक्सी बीएफ हिंदी

रोजाना की रेगुलर चुदाई से मेरे चूतड़ भी लड़कियों जैसे भारी होना शुरू हो गए थे.

जैसे ही ब्रा अलग हुई, मैंने जल्दी से एक बूब को मुख में ले लिया।ये सब मेरी जिंदगी में पहली बार हो रहा था. फिर मेरे मुँह में माऊथ गैग लगा कर उसको कस कर बाँध दिया जिससे मेरी आवाज़ बंद हो गई. मेरी बनियान को खींच कर निकालते हुए मौसी ने मुझे ऊपर से नंगा कर दिया.

आखिरकार वो मेरी गांड में लंड अन्दर घुसाने में सफल हो गया और धक्के लगाने लगा. मैं एक पल के लिए तो सकपका गया, मगर अगले ही पल मैंने उसे अपनी बांहों में भर लिया. सेक्सी वीडियो चुदाई हिंदी में चुदाईमैं नजमी की हरकतों को देखना चाह रहा थथोड़ी देर रुकने के बाद मैं चुपके से फिर उतरा.

उसने ब्लू टॉप और ब्लैक जीन्स पहनी था। वो उस ड्रेस में बहुत हॉट लग रही थी। हमारा होटल पहाड़गंज में था और दिल्ली वालों को तो पता ही है कि वहाँ सिर्फ होटल ही होटल हैं।पहाड़गंज नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के बिल्कुल पास है। फिर हम होटल की तरफ चल पड़े। हमने होटल में जाकर चेक इन किया. वो खुश होते हुए बोला- वाह रंडी, मना लिया तूने! बहुत अच्छा!मैं बोली- कब आ रहे हो?वो बोला- कल आ रहा हूं.

हम लोकेश को भूल ही चुके थे। हम फिर एक-दूसरे को किस करने लगे। रोहन मेरे पूरे जिस्म को चूमने लगा।फिर मैं उठी और बाथरूम में जाकर फ्रेश हो गई. तभी मैंने धक्का लगा दिया, जिससे थोड़ा सा लंड चुत में घुस गया और ऐश्वर्या के मुँह से दर्द भरी आवाज़ निकल गई- उई मां मर गई … तुम्हारा बहुत मोटा है!मैं ऐश्वर्या की चिल्लपौं को अनसुना करते हुए आगे बढ़ गया और धक्के लगाने शुरू कर दिए. अब मैंने उसके नम्बर पर अपना व्हाट्सएप नम्बर से एक मैसेज भेजते हुए अपना नम्बर दे दिया.

वो कुछ नहीं बोलती थीं क्योंकि मैं पहले उन्हें चोद चुका था और उन्हें भी ये सब अच्छा लगता था. एक साल की कड़ी महेनत के बाद विदेश कंपनी के साथ हमारी डील हो गई जिसके लिए हमारी टीम एक साल से दिन-रात महेनत कर रही थी. 5 इंच का है?तब जिगर बोला- मैंने कभी नापा नहीं है … और नापने भी नहीं आया हूं … साली चूत मरावनी.

मगर दोस्तो, मामी ने एक बार मेरा लंड लेकर फिर मुझे ज्यादा भाव देना बंद कर दिया था.

मैं मेरी फ्री हिंदी सेक्स कथा पहली बार लिख रहा हूं, अगर कोई गलती हो जाए तो मुझे माफ कीजिएगा. जब वो तौलिया लेपट कर बाहर आयी तो मैंने एक बार फिर से उसकी चूत मारी.

मेरी चूत की सनसनी ने कुछ ऐसा कर दिया था जिसे वो महसूस नहीं कर रहा था. जुबैदा उस समय कुतिया बन कर लंड से चुत चुदवा रही थी और जोर जोर से गरम आवाजें लेते हुए मस्ती से चिल्ला रही थी. रत्ना- सुंदर तुमने बताया नहीं, तुमको आज मोना की याद नहीं आ रही क्या?सुंदर- हां, ये हमारी पहली ही होली थी शादी के बाद पर उसे बाहर जाना पड़ा.

मैं सिहर गयी और वो हाथ रख कर चूत को सहलाने लगा।पहले तो वो ऊपर-ही-ऊपर से मेरी चूत को सहलाता रहा. उन्होंने बोल दिया था कि जब भी उनकी जरूरत हो तो मैं उनको बुला लिया करूं. ऐसी ही बातें करते करते चाय तैयार हो गई और हम दोनों चाय लेकर बेडरूम में आ गयी.

बीएफ हिंदी चुदाई मूवी साथ ही मैं अपना एक हाथ की उंगलियों को उसकी चूत में डालकर अन्दर-बाहर करने लगा. ठंड ज्यादा होने के कारण मेरी बहन और मम्मी एक रजाई में थे और मैं और दिव्या एक रजाई में थे.

मोटी औरत की बीएफ

अमित मुझसे बहुत खुश है कि मैंने उसकी मॉम को खुल कर चुदना सिखा दिया है. अब हम दोनों पूरे नंगे थे।अब मैंने उसके पैरों से किस करना शुरू किया और किस करते हुए उसकी चूत तक पहुंच कर उसकी चूत पर भी एक चुम्बन दे दिया. तभी मैंने एकदम से उनको पलट दिया। अब मामी जी की भारीभरकम गांड मेरे सामने पड़ी थी और मेरा लन्ड मामी जी की गांड पर निशाना लगाए बैठा था।गजब नज़ारा था यारो, जो मामी थोड़ी दर पहले चूत देने के लिए तैयार नहीं हो रही थी, अब वो मेरे नीचे थी और मैं उस पर चढ़ा हुआ था.

मुझे एक बार लगा कि वो शायद अकेली है और अपने ब्वॉय फ्रेंड या हसबैंड के लिए शर्ट देख रही होगी. डैड पहले से ही काफी फिट थे और डैड को सेक्स की जरूरत मॉम नहीं दे सकती थीं. लल्ला लल्ला लोरी ज्यादा सेक्सी चोरीपूरे पन्द्रह मिनट बाद उसने मेरी चूत में पानी छोड़ दिया और दरवाजा खोल कर बाहर निकल गया.

अंकल मेरी चूत पर अपने लंड का टोपा घिसते जा रहे थे और मैं उस रगड़न का मजा अपनी आंखें बंद करके लिये जा रही थी.

उसने मेरी बेटी को बेड के नीचे घुटने बल बिठाया और खुद भी टांगें खोल कर उससे अपना लंड चुसवाना शुरू कर दिया. वो छटपटा रही थी मगर मैंने बिना कुछ सुने अपना पूरा लंड उसकी चुत में फंसाए रखा.

अपनेटीचर से सेक्सके उतावलेपन में मैंने जल्दी से बाथ लिया और सारा सामान एक एक करके पहन लिया. मैं फिर से दिव्या की चूत पर हाथ फेरने लगा और कुछ देर के बाद ही दिव्या ने भी मेरे लंड को पकड़ लिया और उसको सहलाने लगी. मैंने धीरे से उनके ऊपर आने की कोशिश की और उनकी चूत में एक उंगली कर दी.

उसको स्ट्रेच करते समय कई बार मेरे शरीर से उसके बूब्स और गांड टच हुए लेकिन उसने कुछ भी नहीं बोला था.

उसके मेरे रिश्ते के बारे में मैंने उसके पति को बताने की धमकी भी दी. क्रॉसड्रेसर ऐनल सेक्स का मजा मैंने अपने दो प्रेमियों को उनके साथ सुहागरात मना कर दिया. जिया मुझे पूरी तरह से मदहोश करने में तुली हुई थी और अभी केवल पांच मिनट ही गुजरे थे.

सेक्सी पिक्चर वीडियो में गंदीमैंने अल्पना और सनी से आपस में बात करने के लिए बोल दिया था, चूंकि वो दोनों एक दूसरे को चोदने के लिए मचल रहे थे, तो उन्हें खुला छोड़ देना ही इस चुदाई को अंजाम तक पहुंचा सकता था. अब आगे की फर्स्ट टाइम सेक्स हिंदी स्टोरी:खण्डहर पर पहुँच कर मैं और रूपा उन दोनों लड़कों से मिलीं। एक बार फिर से रूपा ने मेरा परिचय मोहित से करवाया। मोहित ने आज भी अपना चेहरा गमछे से ढक रखा था।उसका शरीर भी काफी मजबूत था और वो मुझसे दोगुने शरीर का लड़का था। कुछ समय तक हम चारों बातें करते रहे.

एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स भोजपुरी

मैंने एक झटके से सवाल पूछा- हम मतलब?वो बोला- पहले अंदर तो आईये, आप खुद समझ जाओगी. मैंने उनको फोन लगाया और उनसे बोला कि आंटी मुझे कुछ काम है तो दो-तीन दिन मैं आपके घर रुकूंगा. वो बोली- हां, सारी पोज आज ही ट्राई करनी हैं!मैं उठकर बैठ गया और उसको डॉगी पोजीशन में आने के लिए बोला.

सब लोग आकर आपकी रंडी बीवी की चूत मार लेंगे … आह्ह आअह्ह और जोर से फाड़िये मेरे भोसड़े को. मैं- अब क्या यूं ही बैठे रहोगे? या काम पूरा करोगे?वो हंस दिया और फिर से मेरे ऊपर आने लगा. मैंने भी उनके मुँह को चूमा, तो भाई ने मेरे होंठों पर अपने होंठ लगा दिया.

सेक्सी देसी आंटी स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी मामी को अपना लंड चुसवाया. फिर मैंने अपने हाथ की दो उंगलियों से उसके एक निप्पल को पकड़ा और मींजने लगा. मैंने धीरे धीरे अपनी बीवी का पल्लू नीचे कर दिया और उसकी गर्दन को चूमते हुए उसके गहने उतारने लगा.

दुनिया में बस औरतें ही तवायफ नहीं होती हैं, मर्द भी तवायफ होते हैं. उसकी कुछ देर बाद प्रीति ने भी मम्मी को फ़ोन कर बता दिया कि मैं चला गया हूँ.

निगार कैसे भी चक्कर चला कर नाजायज सम्बन्ध रख कर एक बच्चा पैदा कर ले.

जैसे ही मेरा लंड पैंट से उछल कर बाहर आया तो उसको तुरंत ही भाभी ने अपनी दोनों हथेलियों में कैद कर लिया. भाई बहन की सेक्सी हिंदी भाषा मेंलेकिन जो मजा किसी अपने के साथ आता है वो मजा कही और नहीं आ सकता।इस साइट पर मैं 1 साल से कहानियाँ पढ़ रहा हूँ। कुछ सच्ची मालूम होती हैं और कुछ काल्पनिक। लेकिन जो भी हो पढ़ कर मजा तो आ ही जाता है।दोस्तो, आप यकीन करें या न करें लेकिन ये मेरी टीनएज गर्ल सेक्स कहानी 100% सत्य है. छठ के वीडियो सेक्सीमैं हँसा और फिर उसे लिटा कर अपना लिंग उसकी चूत पर रगड़ने लगा।मेरा लंड उसको अपनी चूत पर बर्दाश्त नहीं हुआ. मैं- तो क्या अपने पापा को बता दिया है कि मैं आपको चोद चुका हूँ?मम्मी- नहीं.

मैं फिर से दिव्या की चूत पर हाथ फेरने लगा और कुछ देर के बाद ही दिव्या ने भी मेरे लंड को पकड़ लिया और उसको सहलाने लगी.

मेरी टांगें फैलाकर सलवार के ऊपर से खुद को घिसना … उसका हमेशा का काम था. उसकी चुदाई में कोई कमी नहीं थी लेकिन चुदाई के पहले और बाद के भाग में वो फिसड्डी था. उसने मुझसे सनी के लंड की तारीफ़ की तो मैं समझ गई थी कि इसको अपने बॉयफ्रेंड विवेक के लंड से कहीं ज्यादा मस्त लंड सनी का लगा है.

माँ बेटे की सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने माता पिता से मिलने के लिए गांव गया. जब घर में वे दोनों ही अकेले होते थे, तो आंटी बिना पैंटी के ही सिर्फ़ ब्लाउज पेटीकोट में घूमती रहती हैं … और जैसे ही अमित के लंड में गर्मी चढ़ती थी, वो अपनी मॉम का पेटीकोट उठा आकर उनको चोद देता था. उसके बाद वो शांत हो गया लेकिन पांच मिनट के बाद उसने मेरी गांड में उंगली करना शुरू कर दिया.

बीएफ इंडियन

उसके मुंह से अब मजे की आवाजें आ रही थी- आह्ह … आशू … करते रहो … उम्म … ओह्ह … आह्ह … बहुत मजा आ रहा है … आई लव यू आशू … मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं … आह्ह जान … चोदते रहो मुझे।मैंने भी धक्के लगाते हुए कहा- आई लव यू टू मेरी रानी … तू मेरी जान है … तुझे हर तरह का सुख दूंगा मैं … आह्हह … फक यू बेबी … आह्ह ओहह।इस तरह से हम दोनों चुदाई का मजा लेते रहे. मामी की गांड पर भी सरसों के पत्ते चिपके हुए थे और उसकी गांड अब सुगंधित हो चुकी थी. पहले ही दिन से आंटी को देख कर लगता नहीं था कि वो आंटी दो बच्चों की अम्मी हैं.

झाड़ी झकाड़ से भरी हुई जगह थी वो।पवन का दोस्त मोहित भी काफी हट्टे शरीर का था और किसी पहलवान की तरह ही लग रहा था। वो बार बार मुड़ कर मेरी तरफ देखता, मगर कुछ बोल नहीं रहा था।करीब आधे घंटे बाद रूपा जल्दी जल्दी चलते हुए आई.

फिर लगभग आधे घंटे बाद हम लोग घर आ जाते।ये सब एक हफ्ते से चल रहा था। फिर एक दिन शाम को मैं और रूपा पास के ही तालाब के पास टहलने गए कि पवन ने उसे लेटर भिजवाया। एक छोटे बच्चे ने वो लेटर ला कर दिया।रूपा जल्दी से उसे पढ़ने लगी और मैं जानती थी कि उसमें यही लिखा होगा कि आज मिलना है। मगर मैं गलत निकली.

मैं- अनीता, मेरी जान अब मैं लंड घुसा रहा हूं चूत में!अनीता भाभी- हां आह घुसा दो न जल्दी से … मेरा भोसड़ा लंड लेने के लिए तैयार है. इसकी डिटेल जानने के लिए इस इंडियन चुदाई कहानी का पिछला भागमैं चुद गई अंकल और उनके दोस्तों से- 1जरूर पढ़ें. सुहागरात सेक्सी व्हिडिओ मराठीशैली के होंठ चूसते चूसते मैंने उसकी टाँगें फैलाकर चौड़ी कर दीं और उसकी कमर पकड़कर झटके से अपनी ओर खींचा तो मेरे लण्ड के सुपारे ने शैली की चूत में जगह बना ली.

अब लता आंटी, मीना से बोलने लगीं- मीना सहन कर ले … थोड़ा सा दर्द होगा फिर मजा ही मजा आएगा. ये कहकर भाभी ने अपने फोन से एक नम्बर डायल किया और मेरा फोन वाइब्रेट होने लगा. मैंने अपने आधे लंड को उसकी गांड में डाल कर वहीं अन्दर बाहर करने लगा.

उसने बोला- क्या मैं रात को आपको फोन कर सकती हूँ?मैंने बोला- तुम्हें जब जरूरत लगे, फोन कर लेना. मैंने एक बार चूत चुदवा कर लंड का स्वाद चख लिया था और अब मैं अंकल की अगली पारी का इंतजार कर रही थी.

मैं उसे रोक ही नहीं पाई। मुझे किस करते हुए वो मेरी साड़ी के ऊपर से ही मेरी गांड दबाने लगा। फिर वो मेरे कपड़े उतारने लगा। पहले साड़ी, फिर ब्लाउज और पेटीकोट भी।मैं उसके सामने नीले रंग की ट्रांसपेरेंट ब्रा और पैंटी में रह गई जिनमें मेरे निप्पल और मेरी चूत दोनों ही साफ साफ दिख रही थी। वो मेरे जिस्म को सहलाने लगा.

मैं- तू सही बोल रही है … साली रंडी की तरह लग रही थी और कैसे उचक उचक कर लंड ले रही थी. उसके नीचे बैठते ही मुझे ऐसा लगने लगा, जैसे उसकी चुत की दीवारें धीरे धीरे मेरे लंड को इंच दर इंच कस रही हैं. तब तक मेरी नानी ने मां की चुत रवीन्द्रनाथ के अलावा भी कई लोगों से चुदवा दी थी.

सेक्सी vedos आह्ह चोदो दादाजी।तभी विजय बोला- रण्डी तो तू है आशा साली, अब ज़िन्दगी भर तू हमारी रखैल बन कर रहेगी. अंकल मेरे पास आए और हड़बड़ाते हुए मुझे उठाकर मुझे बाथरूम के पास ले गए.

उसकी आंखों पर काला चश्मा था और हाफ आस्तीन की टी-शर्ट पहने हुए वो एक फिल्म स्टार लग रहा था. करीब 10 मिनट तक मैं उनके होंठों को ही खाता रहा और वो मेरे होंठों को. करीब दस मिनट तक गांड चुसाई के बाद मेरे भाई ने माया दीदी को सीधा लिटा दिया और मेरी जिठानी माया दीदी की टांगों को फैलाते हुए उनकी चूत पर अपना लंड रख दिया.

बिहार का बफ वीडियो

मैंने पूछा- तो आप अपनी आग कैसे बुझाती थीं?आंटी ने बताया कि वो काफी समय से अपनी अनतरवासना के लिए चूत में गाजर मूली का यूज कर रही थीं. मैं भी मौसी की चूचियों को चूसते हुए उन्हें गाली देने लगी- ले साली लंड की भूखी रांड साली … लंड क्यों नहीं ढूंढ लेती कोई … आह बड़ी मस्ती चूचियां हैं. ऐसा करने में कई बार हमारी नजरें टकराईं और मेरा जवाब, एक हल्की सी मुस्कुराहट होती थी.

फिर शमशेर ने मेरी बेटी की टांगों के बीचे में आते हुए उसकी चूत पर अपना मोटा लंड सैट किया और बिना किसी रुकावट के उसे एकदम से एक जोर से घक्का दे दिया. मैंने उसके गले में हाथ डाल कर उसे अपनी तरफ खींचा और उसके होंठों पर किस करने लगा.

फिर मैंने आंटी को लिटाया और पैर ऊपर करके कंधों पर रखकर लंड डालकर चोदने लगा.

अब मेरी बीवी सिर्फ ब्रा में मेरी बांहों में थी और मैं उसके पीठ की सहलाते हुए उसके होंठों को चूस रहा था. इस बार तो मैंने आंटी की चुत भी चाटी और आंटी को कल से भी ज्यादा मज़ा दिया. हुआ यूं कि मेरी कहानी पढ़ कर मुझे राजस्थान से एक 24 साल के जवान लड़के अजय का ईमेल आया.

मैंने भी बिना संकोच किये अपने दोनों हाथ ऊपर उठा दिए जिससे उन्होंने मेरी कुर्ती अलग कर दी।कुर्ती उतार कर हरी ने वह पलंग के किनारे में रख दी। फिर उसने पीछे जा कर मेरे बालों के जूड़े में लगी क्लिप खोल दी. फिर मैं चूमते हुए उसके पेट पर आ गया और उसके पेट, नाभि को चूमता रहा, काटता रहा. थोड़े देर बाद मैं उठा और बैठकर उसकी आँखों में देखा तो वो शर्मा गयी.

अब वो लड़का मेरी बहन रानी की कुंवारी चुत धीरे धीरे लंड के धक्के लगाने लगा.

बीएफ हिंदी चुदाई मूवी: आपने मेरी पिछली हिंदी हॉट कहानीकॉलेज वाली टीचर की चुदाई की कहानीतो पढ़ी ही होगी. कभी उसकी गांड को भींच देता था और कभी उसको किसी कोने में खींच कर उसके होंठों को चूस लेता था.

तभी एक अनहोनी हुई, मेरे हज़्बेंड अपने लंड को हिलाते हुए आए और राज के ठीक पीछे आ गए. तो मैं पीछे मुड़ी और झुक गई। झुकते ही मेरे दोनों छेद देखकर रोहन बोला- यहां तो दो छेद हैं।तो मैं अपनी उंगली लगाकर उन्हें बताया कि नीचे वाली चूत है. वो बोली- जब मजा ही नहीं आएगा … तो क्या कहना बाकी रह जाएगा!मैंने कहा- एक बार मौका तो दो यार.

ये कहते हुए उसने लंड को हल्का सा धक्का दे दिया था, जिससे उसका एक इंच लंड चूत के अन्दर आ गया था.

उस वक्त तो मुझे कुछ समझ ही नहीं आया कि हुआ क्या है ऐसा जो मेरी सास अपनी बेटी को ऐसे जाने के लिए कह रही है. 3 घन्टे तक मैं एक एक करके कपड़े बदलती रही और मेरे कपड़े छोटे होते गये. इस कहानी पर अपनी राय देने के लिए आप कमेंट बॉक्स में अपने सुझाव और राय दे सकते हैं.