आर्केस्ट्रा सेक्सी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,सील कैसे टूटती है

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो को चोदा चोदी: आर्केस्ट्रा सेक्सी वीडियो बीएफ, मैंने देखा कविता और राजेश्वरी ने मैचिंग की ब्रा पैंटी पहनी थी और वो दोनों तो उसी में ज्यादा आकर्षक और कामुक दिख रही थीं.

कैटरीना कैफ सेक्सी पिक्चर

भाभी की गांड को छूते ही बल्लू का मोटा लंड तनना शुरू हो गया और भाभी की मोटी गांड के बीच में अपनी जगह तलाशने लगा. सेक्सी लंगासनी- तुम्हारे लिए ही तो रूका था मैं मेरी जान!मैं- हां दिख रहा है … कितनी जान हूँ तुम्हारी कि अभी तक दूर बैठे हो.

मेरा लंड राकेश के हाथ में देख कर वो बोली- ये क्या राकेश? तुम्हें भी चाहिए क्या निहाल का लंड?ये कह कर वो हंसने लगी. सनी देओल पिक्चरपर एक मर्द चाहे, तो अपने अनुभव और तरीके से इस पीड़ा को सुख में बदल सकता है.

चूंकि वो एक लड़की थी तो पुरुष के प्रजनन अंग के बारे में उसकी जिज्ञासा स्वाभाविक थी.आर्केस्ट्रा सेक्सी वीडियो बीएफ: आज तक मैंने अपने जन्मदिन या शादी की सालगिरह पर ऐसा कुछ नहीं किया था.

जब उन्होंने खुद ही अपना हाथ नहीं हटाया, तो मैंने भी उनके हाथ को हटाने का प्रयास नहीं किया.आज ट्यूशन टीचर को अकेला देख कर मेरे शरीर में अलग सी सनसनाहट आने लगी थी.

जेसीबी कैसे बनती है - आर्केस्ट्रा सेक्सी वीडियो बीएफ

मैं बिना कुछ कहे नीचे लेट गई और मेरे लेटते ही रवि मेरी जांघें चौड़ी करके मेरे बीच में आ गया.बाकी के मर्दों ने भी वैसे ही क्रीम लगा लगा कर मेरी और बाकी की औरतों के स्तनों से क्रीम खाया.

मैंने अपनी बीवी की पैंटी उठा ली और अपने लंड से पैंटी को लपेटकर हिलाने लग गया. आर्केस्ट्रा सेक्सी वीडियो बीएफ उसके छूते ही मैं कांप सी गई, पर उसने मेरी एक जांघ पर हाथ रख बिस्तर पर दबा दिया था.

अब मैंने तेजी के साथ उसकी चूत में लंड को चलाना शुरू किया और उसकी चूत की चुदाई करने लगा.

आर्केस्ट्रा सेक्सी वीडियो बीएफ?

लड़के ने उसे उल्टी तरफ घुमा कर उसे घुटनों के बल पर कर दिया, वो अंतरा को डॉगी स्टाइल में चोदना चाहता था. जैसे जैसे लिंग सामान्य अवस्था में आता गया, वीर्य टिप टिप कर मेरी योनि से टपकने लगा. मैंने मौके का फायदा उठाया और मैंने उसके मुंह को चोदना शुरू कर दिया.

वो बोली- रमेश, मैं तुमको पहले दिन से ही पसंद करने लगी थी लेकिन भाई की वजह से कभी मैंने तुमको यह बात नहीं बताई. उसने अपनी ब्रा और पैंटी को उतारा और अपने जिस्म में फंसा कर पहनने लगी. मैंने फिर अपनी जीभ को मौसी की चूत से निकाल लिया और मौसी से कहा कि जैसे मैंने चूत में किया है आप भी मेरे लंड को चूस लो.

प्रीति से अच्छी पहचान के वजह से कई बार मैं उसके घर भी जाया करता था और वो भी मुझे छोटा भाई कहकर अपने घर बुलाती थी. वो पागलों की तरह मेरे कानों को काटती हुई मेरे बालों में अपनी उंगलियां चलाने लगी और फिर एक जोर से आह भरते हुए अपनी कमर के नीचे जांघों के पास से मेरे हाथ को कस लिया और फिर 2 मिनट तक झड़ती रही. गीले होंठों को चूसते हुए मैंने अचानक से उनके मादक बोबे जोर से दबा दिए, जिससे उनकी चीख निकल गयी.

हमारी बातें अभी खत्म भी नहीं हुई थीं कि 4 मर्द कमरे में आ गए और हम चुप हो गए. कुछ देर बाद कांतिलाल उठा और अपना लिंग कविता के मुँह में देकर इसे चूसने को कहा.

मेरी साली मुझे खाना खिलाने के बाद पड़ोस में रह रहे अपने चाचा के घर में सोने चली जाती थी और सुबह जल्दी आकर मेरे लिए खाना बना देती थी.

उस चुदाई के बाद करीब एक महीने तक तो मुझे उस बड़ी उम्र की औरत को चोदने का मौका नहीं मिला.

मामी जी लेट गई और मामा जी मिशनरी पोजिशन में आकर उन्हें चोदने लगे और 7-8 धक्कों के बाद ही मामा जी का निकल गया और वह चुपचाप लेट गए. मैंने कहा- सर, मुझे नहीं मालूम था कि आप लोग पैसे लेकर ये सब काम करते हो. चूंकि वो लड़का रात को जॉब करने जाता है, इसलिए मैं उससे दोपहर में बात कर लेती हूँ.

मैं भी अपनी बेचैनी संभाले अगले पल के इंतज़ार में बिस्तर पर लेटी राह देखने लगी. मैं उसके पास जाके बैठा और उसका हाथ मेरे हाथ में लेकर उससे बोला- टीना मैं तुमको बहुत चाहता हूँ और मैं तुमसे हमबिस्तर होना चाहता हूँ. अब मैं काव्या की चूत और जांघों को चाट रहा था और काव्या मेरे लंड और अंडों से खेल रही थी.

आखिर रविवार को मेरी बड़ी बहन ने प्रीति के नोट्स वापस करने के लिए मुझे उसके घर भेजा.

अब गर्मी तो पहले से ही बहुत थी, तो मैंने बिना कोई और देरी किए, इंशा को घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी फुद्दी में अपना लौड़ा घुसेड़ दिया. इससे कांतिलाल इतना जोश में आ गया कि मेरी योनि ही चबाने की तरह चाटने लगा. मगर फिर उस दिन चाची के आने का टाइम हो गया था तो मैंने अपने कपड़े पहन लिये.

रात में मैंने युक्ता और शोभा की चूचियों और चूत के बारे में सोच कर मुट्ठ मारी. क्योंकि जब आप गोवा जैसी जगह जा रहे हों और आपका बॉयफ्रेंड साथ न हो तो गोवा सेक्स, मस्ती अधूरी रह जाएगी. उधर मेरे पति और रोशनी दोनों डॉगी स्टाइल में अभी भी जबरदस्त सेक्स कर रहे थे.

एक दिन दोपहर में लेटा हुआ मैं यही सोच रहा था कि चाची का नम्बर कैसे लिया जाये और उनको चोदा कैसे जाये?मेरे लन्ड में आग लगी थी चाची की चूत मारने की और उस दिन चमत्कार हो गया.

मैं उसकी चूत में लंड को डालने लगा तो मेरा मोटा लंड उसकी चूत में नहीं जा रहा था. इसी बीच डॉक्टर साहब के लण्ड ने पिचकारी छोड़ दी, उनका वीर्य मेरी बूर के प्रवेश मार्ग पर फैल गया.

आर्केस्ट्रा सेक्सी वीडियो बीएफ मैं पूरी ताकत लगा कर अपने चूतड़ों को आगे पीछे करते हुए अपनी योनि में उसके लिंग का घर्षण करती रही. उसने मेरी जांघें पकड़ीं और अपनी जुबान बाहर निकाल कर एक बार में ही सारी क्रीम चाट कर साफ कर दी.

आर्केस्ट्रा सेक्सी वीडियो बीएफ मैंने कहा- अच्छा यार, बात तो कर लिया कर फोन पर?वो बोली- मेरे घर में एक ही फोन है. तो मैंने जल्दी से कपड़े पहने और मैं बाहर देखने गया तो बाहर पोस्टमैन पोस्ट देने आया था.

अभी भी हमारी इच्छा होती है, पर हर किसी जोड़े या गैर मर्द पर से यकीन कर पाना मुश्किल है.

సెక్స్ ఫుల్ మూవీ

यहां तक कि मैं तो शोभा की चूचियों को चूसने के बारे में भी सोच रहा था. लेखक की पिछली कहानी: गोवा में माँ को चोदागोवा में माँ को चोदायह भेनचोद भाई की सेक्स कहानी मेरे एक दोस्त की है. मैंने उसकी दोनों टांगों को हाथ से पकड़ कर और ज्यादा फैला दिया और उसकी बुर में अपने लंड को घुसेड़ दिया.

क्या तुझे कुछ नहीं हो रहा था?मैंने कहा- हां मुझे भी नींद नहीं आई थी. मैं उसकी चूचियों को ब्लाउज के ऊपर से ही पी रहा था और मैंने उसका ब्लाउज गीला कर दिया था. तभी रवि ने बोला- रमा जब तुम जानती थी, तो इतना नाटक क्यों किया?रमा बोली- अरे यार थोड़ी बहुत मौज मस्ती और क्या … मैं सबको चौंकाना चाहती थी.

भैया एक निजी कंपनी में काम करते हैं जबकि भाभी परीक्षा की तैयारी कर रही थी उस समय.

पर जब मैंने गौर से अपने पेट को देखा, तो सच में बहुत लज्जा सा महसूस हुई कि मेरा पेट इतना बड़ा दिख रहा है और दूसरी के मेरी योनि उस लेगिंग में उभर कर दिख रही थी. उन दोनों न लड़कियों ने मेरी पैंटी निकाली तो नहीं थी, पर बालों को पैंटी की शक्ल दे दी थी. मैंने आंख खोली तो देखा कि वो मेरे साथ रजाई में थी वो भी बिना ब्रा और कपड़े के … उसने केवल नीचे के कपड़े पहने थे.

वो तो आपका लंड किसी के मुँह से चुसे न, तब आपको लंड चुसाई के मजे का अंदाजा हो सकता है. मैं उससे काफी देर तक विनती करती रही, मगर वो कुछ सुनने के मूड में नहीं था. मेरे ऐसा करते ही काव्या तड़पने लगी और उसने चादर को अपनी मुट्ठियों में दबा लिया.

उधर राजशेखर कविता की एक टांग उठा सोफे पर टिका कर सामने से खड़े खड़े ही धक्के दे रहा था. तीनों ने बहुत जोर लगाया, पर किसी के लिए ऐसी अवस्था में पेशाब करना संभव नहीं था.

फिर कुछ देर चूची चुस्वाने के बाद उन्होंने अपनी जीभ मेरे मुंह में डाल दी. मैं बिना कुछ कहे नीचे लेट गई और मेरे लेटते ही रवि मेरी जांघें चौड़ी करके मेरे बीच में आ गया. उनके वीर्य में ही कुछ कमी डॉक्टर ने बतायी है जो दवाइयों से भी ठीक नहीं हो सकती.

इस बात को मैं अपनी बीवी से करता तो वो भी खूब एन्जॉय करते हुए हंस देती.

हां यह बात अलग है कि हर कोई मुझे एक बार देखता है, तो देखता ही रहता है. मेरी चादर में एक छेद था, मैंने उस छेद से देखा, तो अम्मा मेरे सामने ही साड़ी बदल रही थीं. मैंने हिम्मत करके उसका फिगर पूछ लिया, तो उसने बताया कि उसकी बीवी का फिगर 36-30-38 का है.

मैंने पीछे से उनकी नाइटी उठाई और पेंटी नीचे करके उनकी चूत में लंड पेल दिया. तभी मकान मालिक की आवाज आई और अलग होकर अपने कपड़े पहनने लगी और वहां से जल्दी से बाहर निकल गई.

मैंने दो धक्के पूरे जोश में लगाये और पचर-पचर करते हुए लंड से वीर्य की पिचकारी उसकी चूत में गिरने लगी. मैंने फ़ौरन ही उसकी चुचियों को सहलाना शुरू किया और उसके होंठों को चूसने लगा. फिलहाल आप इस कॉलेज गर्ल स्टोरी के बारे में मुझे बतायें कि आपको मेरी यह कैसी लगी.

ट्विंकल खन्ना सेक्सी

जब मैं लड़कों के पास गया, तो दरवाजा अन्दर से बंद था, मुझे शक हुआ और मैं अन्दर झांकने की कोशिश करने लगा.

पहले तो मैं आसानी से बाहर घूम रहा था मगर बाद में घूमने पर प्रतिबन्ध लगने लगा। 22 मार्च को जनता कर्फ्यू हो गया। इसके चलते दीदी किसी जगह अपने बच्चे के साथ फंस गई।दीदी अपनी सहेलियों के साथ होटल में ही रही किंतु बाद में होटल भी बंद हो गया. सभी मर्दों ने मिलकर सोफे वहां से हटा दिए और जमीन पर काफी जगह बना ली. उसने मुझसे हटने को कहा, पर मैं उसके बोबे दबाता रहा और उसे चूमता रहा.

उसके बाद मैंने उसको सीधा लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ कर अपने लंड को उसकी चूत में डालने लगा. मैं समझ गयी थी कि आज पापा घर पर नहीं हैं तो अंकल अकेले ही पीकर आये हैं. ब्लू पिक्चर सेक्सी सेक्सी पिक्चरमैं इस तरह से उसकी मां के बारे में नहीं सोचना चाहता था क्योंकि इमरान मेरा दोस्त था लेकिन फिर भी उसकी मां के बदन में बहुत ही गजब का आकर्षण था जो बार-बार मुझे उसके बारे में सेक्स के लिए सोचने पर मजबूर कर रहा था.

यह बात काफी पुरानी है, उस वक़्त मैं अपने गाँव से दूर रांची में में अपने परिवार के साथ किराये के मकान में रहता था. ये कहते हुए मैंने अपनी सलवार के ऊपर से ही उसे अपना लंड पकड़ कर दिखाया.

वो हाथ में मेरा लंड महसूस करके बोलने लगी- या अल्लाह … कितना लंबा और मोटा है. मैं फिर से उनके चूचे चूसने लगा और इधर वो मेरे लंड को अपने हाथों में लेकर हिला रही थींआंटी मेरे लंड को हिलाते हुए कह रही थीं- आज बहुत दिनों बाद मजा आने वाला है. सेक्स की प्यास के बारे में कई बार मैंने अपने मां और पापा को बातें करते हुए अपने ही कानों से सुना हुआ था.

मैं अब बहुत जल्द झड़ने वाली थी और ऐसा लग रहा था मानो रवि भी किसी पल पिचकारी छोड़ देगा. वो बोली- तुम मुझे देखने में अच्छे लगते हो … इसलिए अभी तो दोस्ती तक ही बात सीमित रहेगी. उसने फुसफुसाते हुए कहा- मेरे पति आ गए हैं … अब हम अन्दर फंस चुके हैं.

उस समय मेरा कॉलेज शुरू होने वाला था और मैं घर पर उन दिनों फ्री ही रहता था.

मैंने दोबारा से कोशिश की और फिर से उसकी बुर पर हाथ फेरा तो मेरे हाथ पर उसकी बुर का स्पर्श हुआ. उन दोनों से मेरी दोस्ती की एक खास वजह ये भी थी कि जिस कॉलेज में मैं पढ़ता था उसी में अरशी भी पढ़ती थी.

अगर मम्मी मान जाती हैं, तो मेरे लिए स्वर्ग का दरवाजा खुल जाएगा … और अगर नहीं, तो ज्यादा से ज्यादा मुझे डांट ही तो पड़ेगी. लेकिन जब वो सिसकारियाँ ले रही थी तो पता नहीं क्यों मुझे अंदर से सुकून मिल रहा था. उसने हटने की कोशिश की तो मैं बोला- आज मत रोको, मैं प्यार का बहुत भूखा हूँ.

वो अपनी ताकत के हिसाब से पूरा जोर देकर कमर आगे पीछे करके लिंग मेरी योनि में अन्दर बाहर करते हुए संभोग करने लगा. कुछ ही पलों मैं उसके लिंग से मेरी योनि में हो रही रगड़ से प्यार करने लगी. नाम था डॉक्टर किरण लेकिन देखने में एकदम मस्त हिरोइन जैसी लग रही थी.

आर्केस्ट्रा सेक्सी वीडियो बीएफ मैंने आंटी के होंठों पर अपने होंठ रख दिए और थोड़ी देर तक किस करने लग गया. प्रिया ने मुझे देखकर वो छुपाई नहीं बल्कि शॉप वाले लड़के को और हॉट पेंटी ब्रा दिखाने को बोलना शुरू कर दिया.

বাংলা ব্লু ফিল্ম ব্লু ফিল্ম

एक दिन मैंने उनको देखा तो मेरा दिल आ गया उन पर … मैं उनसे प्यार करने लगा और सेक्स कमैंने अन्तर्वासना की कई कहानियां पढ़ी हैं, तो सोचा क्यों न अपनी कहानी भी शेयर की जाए. मैंने उससे कहा- अपूर्वा मैं तुम्हें बहुत पसंद करता हूं … तुम मुझे बहुत अच्छी बहुत हॉट और बहुत सेक्सी लगती हो … मैं तुम्हें चोदने के सपने देखता रहता हूँ. जिससे वो गर्म हो गई और तरह तरह उम्म्ह … अहह … हय … ओह … हह की आवाजें निकालने लगी.

जब मैंने आपके लौड़ा को देखा, तो उसी वक्त से अपनी भोस में उंगली कर रही थी. मेरे अगल बगल भी बाकी के लोग धीरे धीरे एक दूसरे के अंगों को सहलाते, चूसते, चाटते हुए एक दूसरे को संभोग के लिए तैयार करने लगे थे. वेलेंटाइन डे फोटोकुछ पोर्नसाइट्स और अंतर्वासना स्टोरीज पढ़कर मेरी कामोत्तेजना आज पूरी जवान है.

फिर मैंने डॉली की चूत की तरफ अपना हाथ बढ़ाया और उसकी चूत पर अपना हाथ रख दिया.

मां की चिकनी हो चुकी चूत को पांच मिनट तक जम कर चोदा और फिर मेरा माल मां की चूत में ही निकल गया. बीवी की चुत में उंगली डाली और बोला- इस बार के हफ्ते के बदले … ये दस दिन पोलिस स्टेशन रहेगी.

फिर खाना ख़ाकर मैं अपने दोस्तों के साथ बिज़ी हो गया और वो अपनी महफ़िल में व्यस्त हो गई. उस समय ही मैंने अपने ब्वॉयफ्रेंड के लंड को पहली बार मुँह में लिया था और उसका रस भी पिया था. अभी मैंने काव्या के ब्लाउज के सिर्फ़ दो ही बटन खोले थे कि तभी दरवाज़े की घंटी बजी.

वो बोली- सर, क्या आपको यहां छूने से बहुत मजा आता है? उसने मेरे लंड के टोपे को मसलते हुए कहा.

दोस्तो, शायद मेरी जवानी की भड़कती हुई वासना ने मुझे अंकल को हां करने के लिए तैयार कर दिया था। फिर उसके दो दिन के बाद मैंने एक कागज़ पर लिख कर उनको दे दिया।मेरा जवाब पढ़ कर वो बहुत खुश हुए और उन्होंने भी एक कागज पर लिख कर मुझे इसके लिए धन्यवाद दिया. मैंने अपने साले को कहा आप आराम से नौकरी खोजिए … मैं भी आपके लिए कुछ करता हूँ. इस पर भाभी ने बोला कि मुझमें ऐसा क्या ख़ास है?मैं बोला- भाभी सब कुछ तो ख़ास है आपमें … सच में भैया बहुत किस्मत वाले हैं, जो उनको आप जैसी वाइफ मिली है.

भारतीय नंगी फिल्मेंवंदना भाभी- सच्ची बल्लू, मेरे नॉटी बल्लू… गुन्डाराज … मैं भी तुम्हें और तुम्हारी गर्माहट को मिस जो कर रही हूंबल्लू- ओह भाभी, तुम भी ना… आज रात तुम्हारे घर पर आता हूं मैं. भाभी ने बताया कि भैया तो ऑफिस के काम से दस दिन के लिए टूर पर गए हैं, मैं अकेली ही घर में हूँ.

बूढ़ी औरत की

जब उसकी तरफ से कोई विरोध नहीं हुआ, तो मैं अब उसकी गांड भी कभी कभी छू देता था. कुछ तेल की बूंदें उन्होंने जहां पर खाल फंसी हुई थी, वहां पर डाल दी. जब मैं नाश्ता करने के लिए आया तो मुझे महसूस हुआ कि मौसी मुझे चोर नजरों से देख रही थी.

वो भी कई बार मेरी तरफ देख लेती थी क्योंकि हम दोनों आमने-सामने ही बैठे हुए थे. समझा?मेरी दीदी के पापा यानि मेरे फूफा जी शराब का ठेका चलाते हैं इसलिए दीदी को गाली देने की पुरानी आदत है क्योंकि उनके घर में यह सब चलता रहता है. इस बीच चार लड़कों का एक गैंग आया और उसमें से एक ने पूछा- ओए रंडी … कितना लेगी … बड़ा मस्त लग रही है.

उसने मेरी ब्रा फाड़ दी और मेरे बड़े बड़े मम्मों को अपने मजबूत हाथों से दबाने लगा. फिर मेरे पास आकर बैठ गयी और बोली- आप बड़े गंदे किस्म के इंसान हो … कहीं भी नज़र डाल देते हो. उसने अपनी मजबूरी मुझे बताई और कहा- जो नुकसान होगा वो भी मैं देने को तैयार हूं मगर आप जल्दी आ जाओ.

इसी बीच मैंने उस कमरे से दूसरे कमरे में खुलने वाली खिड़की को हल्का सा खोल दिया ताकि मेरी पत्नी भी हमारी चुदाई का आनन्द ले सके. उस जवान लड़की की नर्म जांघों पर हाथ रख कर मैं तो बिल्कुल लार टपकाने लगा था और मेरे लंड से भी लार निकलने लगी थी.

फिर मैंने उनको उनकी ननद की चुदाई के लिए बोला तो वो बोली- मैं उससे बात करूंगी.

जब नहा कर सिर्फ तेलिया लपेट कर बाथरूम से बाहर आई तो देखा कि विकास पहले से आये हुए थे. सुनीता की चुदाईमैं समझ गया कि अपूर्वा अब पूरी गर्म हो चुकी है, उसे चूत का मजा लेने का मन हो गया है. तोरई की सब्जी की रेसिपीमगर अनु ने मेरे माल को मुंह में ही रखा और फिर उठ कर उसको थूक कर आ गयी. जब वो पूरी तरह से शांत हो गयी तो मैंने धीरे से प्रिया बहन की चूत में धक्के लगाने शुरू किये.

मैं बोला- यार क्या करूं राकेश, तेरी बीवी है ही इतनी मस्त कि मुझसे बिल्कुल कंट्रोल भी नहीं हुआ.

उस पर से कंडोम हटाया और उसको सोफे पर लिटा कर उसके मुँह में अपना पूरा लंड डाल दिया. पहले वे बैंक की नौकरी करते थे। जब भी उनका मन होता है तो वह अक्सर मेरे पास आ जाते हैं. वहां से निकलने के बाद रमा मुझे एक कपड़े की दुकान पर ले गई और जोर जबरदस्ती करके मुझे मेरी नाप के नए कपड़े दिलवाए.

दोनों ने एक दूसरे का पानी पिया और अलग हो गये।मैंने उसे कहा- कोई आ सकता है इसलिए बाकी काम रात में करेंगे।तो वो मान गई और हम दोनों ने अपना मुँह धोकर कपड़े पहन लिए।दिन में जब वो किचन में खाना बना रही थी तो मैंने उसके गांड पे अपना लंड लगा दिया. मैंने उसकी जांघ पर अपने पैसे से सहलाना शुरू किया, तो वह मुझे देख कर मुस्कुराने लगी. मैंने भाई को ये अहसास नहीं होने दिया कि मैं नींद से जाग चुकी हूं और मैं उसकी हरकत को महसूस कर रही हूं.

मां ने अपने बेटे को

अपनी जीभ से उसकी जीभ को चूसने लगा, उसके मुँह में अपना मुँह डाल कर अपनी सांस उसके मुँह में छोड़ने लगा. मन कर रहा था अभी भाभी को नंगी करके चोद दूं लेकिन जैसे तैसे मैंने खुद को कंट्रोल करके रखा हुआ था. फिर एकदम से हम दोनों की नजर मिल गई और दोनों ही एक दूसरे को देखने लगे.

लड़के ने उसे उल्टी तरफ घुमा कर उसे घुटनों के बल पर कर दिया, वो अंतरा को डॉगी स्टाइल में चोदना चाहता था.

मेरा लंड पूरा का पूरा उसकी चूत के रस से भीगा हुआ था और काफी चिकना भी हो गया था.

फिर कुछ देर बाद मैं दोस्तों के साथ घूमने निकल गया और जब घर वापस आया, तो देखा वो मेरे घर आयी हुई थीं. फिलहाल आप इस कॉलेज गर्ल स्टोरी के बारे में मुझे बतायें कि आपको मेरी यह कैसी लगी. सेक्सी लड़कियों के मोबाइल नंबरमैं अक्सर सोचा करता था कि उनके पति शायद जॉब पर जाते होंगे इसलिए उनसे मुलाकात नहीं हो पाती है.

मैंने उसकी साड़ी को पीछे से उठा दिया और मैंने अपने लंड को उसके सीधा गांड में सैट करके धक्का मार दिया. फिर थोड़ी देर मैं आंटी के ऊपर ही लेटा रहा।मैं आंटी को किस करते हुए साइड में लेट गया और आंटी से बात करने लगा. दो गिलास पेप्सी मतलब दो पेग व्हिस्की अन्दर हो गई तो मैं नमिता को लेकर बेडरूम में आ गया.

उसने मेरे साथ किस किस तरह से सेक्स किया … वो मैं आप सबको अगली बार बताऊंगा. मैं हैरान था कि इतनी सुन्दर पत्नी के साथ भी इंसान खुश नहीं है तो उसे आखिर और क्या चाहिए?अंगिका जिसका अर्थ ही अंतःवस्त्र अर्थात अन्दर पहना हुआ वस्त्र, वो वस्त्र जो नारी के अंगों को और अधिक आकर्षक बनाता है.

मैंने इससे पहले किसी लड़की को इस तरह से बिल्कुल बिना कपड़ों के नहीं देखा था तो मेरे अंदर एक अलग ही नशा सा चढ़ गया था.

थोड़ी देर में वह बाथरूम में जाकर एक नीला सूट पहन आईं, जिससे मुझे उनके मोटे चूचे और भी साफ दिखने लग गए थे. मैंने भी उसे गले से लगा लिया और बोला- तुम भी बहुत प्यारी हो काव्या. कुछ देर जुबैदा की गांड मारने के बाद मुझे लगा कि मेरा लंड पानी छोड़ने वाला है.

ससुर ने की बहु की चुदाई बस फिर क्या था … मैं मामी पर टूट पड़ा, उनके चूचों को चूसने काटने लगा और मामी मेरे बालों में हाथ फिराने लगी. जब मैं वापस आया, तब तक काव्या भी गर्म हो गयी थी और राकेश उसे चोद रहा था.

मैंने नई जवानी में कदम रखा था लेकिन चूत गांड चुदाई के बारे में मुझे ज्यादा पता नहीं था. वो लगातार कामुक आवाजें करते हुए कह रही थी- आंह … उफ़ … और जोर से चूस लो …मैंने भी डॉली की चूचियों की चुसाई को तेज कर दिया. कमलनाथ ने मेरे चूतड़ों को पकड़ लिया और मुझे धक्के लगाने में सहायता करने लगा.

सेक्सी लडकियो के नंबर

अमन ने मेरी बीवी के बाल पकड़े और अपने हाथों से उसके गाल दबाते हुए उसका मुँह खोल दिया और अपना लंड उसके मुँह में डालने लगा. उसने मुझसे कहा- तुम बहुत दिनों के बाद मिली हो, इसलिए तुम्हारे लिए मैंने एक नई बात सोची है. मेरी भतीजी और उसकी सहेली की अश्लील बातें सुनकर मैं गर्म हुआ जा रहा था.

एक पल बाद उसका हाथ कुछ ढीला हुआ, तो मैंने उनसे धीरे से पूछा- आप घबरा गई थीं क्या?उन्होंने मेरी तरफ देखा और धीरे से उत्तर दिया- हां. मैं अपने बॉयफ्रेंड के साथ सेक्स करने के साथ सिसकारियाँ भी ले रही थी.

बरहराल हम सब के लिए एक अच्छी बात ये थी कि हम 4 के मुकाबले 5 औरतें थीं, तो इस वजह से किसी एक को थोड़ा विश्राम मिलने का मौका मिल जाता.

पहले तो ब्रा और कुर्ते के ऊपर से उसके दूध दबाए, फिर सलवार के अन्दर हाथ डाल कर बहन की चूत को मसलने लगा. एक दिन मैं रूपा के घर गया। रूपा रसोई में थी तो मैं सीधा रसोई में गया, अपने साथ लाये गर्मागर्म समोसे मैंने रूपा को दिये और मौका देख कर उसको पीछे से ही अच्छी तरह से अपनी बांहों में भर लिया. जैसे जैसे संभोग की क्रिया अपने चरम की ओर अग्रसर होती जा रही थी, वैसे वैसे हम दोनों को अब आनन्द की अनुभूति होने लगी थी.

मैंने आवाज देते हुए उससे कहा- सलमा देख लेना कि नजमी सो रही है ना … और एक बढ़िया बोतल दारू की ले आना. उसने ऐसा ब्लाउज पहन रखा था, उसमें से उसके आधे बूब्स तो बाहर ही झाँक रहे थे, वो बहुत सेक्सी लग रही थी. शायद मुझे उन 3 औरतों की फिक्र थी, जिनसें मैं पहले कभी नहीं मिली थी.

फिर उसने मेरा ब्लाउज के बटन खोल दिए और पेटीकोट का नाड़ा भी खींच दिया, जिससे पेटीकोट ढीला हो गया.

आर्केस्ट्रा सेक्सी वीडियो बीएफ: मैं उससे काफी देर तक विनती करती रही, मगर वो कुछ सुनने के मूड में नहीं था. बुआ मेरा सारा माल पी गयी।तबसे अब तक मैं कई बार बुआ की चुदाई कर चुका हूँ।अब बुआ की शादी हो गयी है।दोस्तो, आपको मेरी बुआ की चुदाई की हिन्दी सेक्स कहानी कैसी लगी मुझे इमेल करके बताना।[emailprotected].

वो मेरी गुलाम बन के रहेगी, मैं उसे किसी से भी चुदवाऊंगी, कितने भी कस्टमर चढ़वाऊंगी … तेरे को उससे कोई मतलब नहीं रहेगा. रवि इतना अधिक उत्तेजित था कि उस झटके के पल भर बाद ही वो तेज़ी से धक्के मारते हुए आगे बढ़ने लगा. मैंने दीदी की योनि पर लंड को लगाकर हल्का सा धक्का दिया तो लंड फिसल गया.

अन्तर्वासना डॉट कॉम स्टोरी में पढ़ें कि पड़ोस की एक आंटी और उनकी बड़ी बेटी को चोदने के बाद मेरी नजर आंटी की छोटी बेटी पर थी.

मैंने देखा तो अम्मा सोयी हुई तो थीं, लेकिन उन्होंने अपनी साड़ी ऊपर ली हुई थी और उनका हाथ उनकी चुत पर था. अब रमा मान गई और बोली कि खाना खाने के बाद सब अपने अपने कमरे में चले जाएंगे और वो आज राजशेखर के साथ सोएगी. उनके झड़ने के कुछ पल बाद मैंने भी अपने लंड का पूरा रस भाभी की चूत में ही भर दिया.