हिंदी बीएफ बीएफ बीएफ हिंदी

छवि स्रोत,जबरदस्त सेक्सी वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

दुल्हे राजा पिक्चर: हिंदी बीएफ बीएफ बीएफ हिंदी, लेकिन उसके दूध और बुर को देखकर मेरे से रहा नहीं गया और हम दोनों ने अहमदाबाद में मिलने का प्रोग्राम बना ही लिया.

क्ष्क्ष्क्ष्च्क्ष

मैंने उंगलियों के इशारे से चुत की चमक की तारीफ़ की तो दीदी ने शर्माते हुए कहा- आज सुबह ही सफाई की है. बीएफ पिक्चर साड़ी वालीउमैय्या पलट कर नीचे बैठ गयी और बिना हिचक के मेरे लंड को अपने मुँह में डाल लिया.

कुछ ही देर में भाभी एकदम बिंदास हो गई थीं और मेरा हाथ अपने हाथ में लेकर बात करने लगी थीं. सेक्सी बीएफ हिंदी देसीकिज़ारा काफी माडर्न सोच की लड़की है और जिम जाने की वजह से उसका फिगर भी एकदम कातिलाना है.

मैंने वहीं पर खड़े होकर भाभी की मदमस्त जवानी और उनकी बेताबी को देखते हुए मुठ मारना शुरू कर दी.हिंदी बीएफ बीएफ बीएफ हिंदी: फरीना ने एक टांग मेरे कंधे पर रख कर अपनी चुत को और खोल दी और मेरे लंड को आगे जाने का रास्ता दे दिया.

मुस्कान की टी-शर्ट के ऊपर से उसकी चूचियों के निप्पल साफ़ झलक रहे थे.हमारे एरिया में वैसे तो दो सुलभ शौचालय हैं लेकिन हम घर के पास वाले में ही जाते थे.

बीएफ हिंदी बीएफ सेक्स - हिंदी बीएफ बीएफ बीएफ हिंदी

फिर ‘आहह अःह हआह हह आई ईईई मम्मी …’ करती हुई मेरे मुंह को चूत के अपने गर्मागर्म लावे में भिगो दिया.मैं- तो फिर क्या हुआ, हम लोग घर पर ही तो हैं … और मैं हूँ ना साथ में.

मैंने उससे पूछा कि तुम्हें मुझसे क्या काम था?उसने कहा- अरे यार मैं सोच रहा था कि आज शनिवार है. हिंदी बीएफ बीएफ बीएफ हिंदी चुत की फांकों को मैंने खोल कर देखा तो अन्दर की लालिमा एकदम मस्त थी.

मैं भी इंसान था … तो मैंने बिना सोचे समझे मेघा से कहा- मैं तुम्हें चोदना चाहता हूँ.

हिंदी बीएफ बीएफ बीएफ हिंदी?

अब आगे बेस्ट ओरल सेक्स कहानी:उसके बाद मैंने ससुर जी के साथ पेग लगाए. मैंने एक आखिरी धक्का लगाया और मेरा पूरा लंड उसकी चुत की जड़ में ठेल दिया. मैं भी जोश में आ गई और उसका साथ देने लगी।हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे.

मैंने पुलिस वालों के साथ भी मुँह से ही किया था, लेकिन वो साले सब दो मिनट में झड़ कर चले गए थे. कुछ पल बाद जब लंड ने चुत की गहराई में जाकर खुद को समायोजित कर लिया, तब मैडम की जान में जान आई. मैंने एक बार फिर से उसे प्रपोज करने की सोची और अभी उससे कुछ कहता कि उस दिन उसने खुद ही मुझे प्रपोज कर दिया.

कुछ देर बाद नफीसा आंटी लंड पर तेज़ तेज़ उछलने लगीं और मैं ‘आह हहह उम्महह …’ की आवाज निकालने लगा. भाभी ने मेरा सर जोर से अपनी भीगी चूत पर दबा लिया और मैं उस रसीली चूत को जोर जोर से चाटने लगा. भाभी बोल रही थीं- आह जोर और जोर फाड़ दो … मेरी चूत का भोसड़ा बना दो आज आह आह.

दीदी के पैर हवा में थे और उसी समय राजेश जी ने मेरी दीदी की चुत में एक झटका दे मारा. यह सब बकरी बनने के समय लगाया जाता था। अब मैं बकरी बनता, मोहिनी मेरा दूध निकालती.

अगले ही पल निप्पल मेरे हाथ लग गया तो मैं उसको अपने अंगूठे और उंगली से मसलने लगा.

मैं आपको क्या बताऊं … मेरी मॉम की चुत को देखकर तो मेरा भी लंड खड़ा होने लगा था.

फिर मन नहीं माना तो मैंने थोड़ी हिम्मत करके उसके पेट पर अपना हाथ रख दिया. मैंने उससे पूछा कि कितने समय में ठीक हो जाएगा?उस सेंटर के इंजीनियर ने कहा- कम से कम तीन घंटे लग जाएंगे. इससे मेरा हिम्मत बढ़ने लगी और मैं आंटी कभी-कभी छू लेता, तो आंटी कुछ नहीं बोलती थीं.

कुछ देर में गांड ढीली पड़ गई और अब मॉम को भी गांड मराने में मजा आने लगा था. कुछ पल बाद मैंने फिर से एक एक छोटा सा टुकड़ा उसको खिलाते खिलाते नीचे गिरा दिया. मगर मेरा काम अभी हुआ नहीं था, इसलिए मुझे उसको चोदने में बड़ा मजा रहा था.

विकी मेरी मॉम को देखकर बहुत खुश हो गया और उठ कर मेरी मॉम से जोर से गले लग गया.

मैं बोला- प्रीति मेरी जान, चुदाई में जितनी गन्दी लैंग्वेज यूज़ करो, उतना ज्यादा मजा आता है. ट्रेवल सेक्स के बाद मैं थक गयी थी तो मुझे सीट पर बैठ के बहुत आराम मिला. इसके अलावा मुझे ये भी लगता था कि यदि मैंने किसी लड़की के साथ बात की … तो कहीं वो मुझे डांट कर मेरी इज्जत का फालूदा न बना दे.

भाभी थोड़ा हंसी और उठकर फिर किचन में कुछ काम से गई।कुछ देर बाद वो वापस आई और फिर मेरी बाजू में आकर बैठ गई।एसी चालू होने की वजह से बाहर की गर्मी तो नहीं लग रही थी, मगर भाभी के बाजू में बैठने से मेरे पसीने छूट रहे थे. मेरी बात सुनकर भाभी ज़ोर से हंसने लगीं और एकदम से मेरे बिल्कुल पास आकर बैठ गईं. वीडियो चालू हुआ तो मॉम भिखारी से बोलीं- इस वीडियो में जैसे आदमी कर रहा है, वैसे ही तुमको भी करना है.

इधर वो मुझसे आईडी पर खुलने लगी थी और हम दोनों सेक्स पर भी खुल कर बात करने लगे थे.

वो बोली- मम्मी ने अर्जेंट घर पर बुलाया है, तो आप दोनों मुझे मेरे घर छोड़ दो और उधर से ही दोनों घूमने निकल जाना. पीछे हाथ ले जाकर मैंने उसके टॉप की चैन खोल दी और उसने उसी वक्त अपने हाथ ऊपर कर दिए.

हिंदी बीएफ बीएफ बीएफ हिंदी मैंने आंटी की गांड में उंगली डाल कर तेल से मालिश की और गांड के छेद को लंड लेने लायक बनाया. वहां पहुंच कर मेरे मन में यही बात बार बार आ रही थी कि शैंकी का लंड न जाने कितना बड़ा होगा.

हिंदी बीएफ बीएफ बीएफ हिंदी मैं उसके पास गया और उसके दोनों हाथों को पकड़ कर उठाया और उसे बांहों में भर लिया. अब दीदी मद्धिम स्वर में बोलने लगीं- वीरा आज जो हुआ, वो किसी से नहीं कहना.

फिर काशिफ ने मुझे बेड पर सीधा लेटा दिया और मेरी टांगों को चूमने लगा.

ब्लू फिल्म वीडियो ब्लू फिल्म वीडियो में

थोड़ी देर बाद आंटी शांत हुई तो मैंने अपना हाथ आंटी के मुंह से हटा लिया और बहुत धीरे-धीरे धक्के मारने लगा. ऊपर से साली की गांड से लौड़े के टट्टे टकराने से थप थप की आवाज हो रही थी. दोस्तो, हमारा रिश्ता 2020 तक चला, फिर भाभी को कोरोना हो गया … जिसकी वजह से उनकी जान चली गयी.

तब मैंने प्रीति को व्हाट्सएप किया- बोलो जानेमन क्या कहना है?प्रीति- हाय जीजू, मेरे नीचे कुछ कुछ हो रहा है!मैं- नीचे कहाँ, सीधे सीधे बोलो ना कि चूत में कुछ हो रहा है. मैं- मैंने दो लोगों के एडवांस पैसे दे दिए है बेबी … अब वापस नहीं मिलेंगे, करवा लो न बेबी … प्लीज़ मान जाओ. अगली रात को मैं फिर से जल्दी सोने का नाटक करके सो गया और इंतजार करने लगा कि कब उनकी चुदाई का प्रोग्राम शुरू होगा.

मैंने उनको बहुत जिद करके उनके होंठ एकदम लाल करवा दिए ताकि जगप्रीत मेरी अम्मी को देखते ही पागल हो जाए और वो मेरी अम्मी को वो सुख दे दे, जिसकी वह हक़दार हैं.

मैं एक अल्ट्रासाउंड के लिए भी लिख रहा हूँ, वो करवा के उसकी रिपोर्ट ले आओ ताकि बीमारी का सही से पता लग सके. शिवानी- रहने दे ना यार अन्दर मत डालो … इतना सब कुछ कर लिया तुमने, वही बहुत है. दीदी चूत की रगड़ाई करती हुई एक बार झड़ चुकी थीं और हाथ से चूत की पंखुड़ियों को सहला रही थीं.

थोड़ी देर बाद जब मैंने लंड को चूत से बाहर निकाला … तो चूत का रस और लंड का रस मिक्स होकर मेघा की जांघों में बहने लगा. उस लड़की ने देर ना करते हुए फिर से मेरे हाथ को अपनी चूत पर रखा और कस कसके मेरे हाथ को चूत पर रगड़ने लगी. एक बार पानी निकालने के बाद उसकी चूत दोबारा रस बहाना शुरू कर चुकी थी.

आप लोगों ने मेरी पहली देसी सेक्स कहानीपड़ोसन भाभी को मदमस्त चोदाको खूब प्यार दिया है. उनको शारीरिक भूख सताने लगी थी … पर शर्म व संकोच के कारण दीदी किसी दूसरे के साथ संबंध नहीं बना पा रही थीं.

और मैं उस समय कुछ बोल भी नहीं सका था क्योंकि मैं उससे सच्चा प्यार करता था. मैं उसके हाथ पकड़ के हाथों को चूमने लगा और उसके हाथ को गर्म करने लगा. मेरी अन्तर्वासना की कहानी में पढ़ें कि मेरी रिश्ते की दीदी के साथ सेक्स की शुरुआत कैसे हुई.

उन्होंने हंस कर कहा- जो दिखाया था, उसमें कुछ फर्क तो नहीं निकला साहब!मैं हंस पड़ा.

फिर धीरे धीरे वो मेरे लंड को अपने मुंह में लेने लगी और बाहर निकलने लगी. मैंने कमरे की तारीफ़ की, तो उसने कहा- सुधीर, ये मैंने ख़ास तुम्हारे लिए ही सजाया है. यह हॉट गर्लफ्रेंड की फर्स्ट सेक्स कहानी मार्च 2017 की है, उस वक्त मैं 21 साल का था और कॉलेज के फाइनल ईयर में था.

बात उस समय की है, जब मेरा चयन दिल्ली की एक प्राइवेट कंपनी में एक अच्छी पोस्ट पर हो गया था. मैं भी गहरे गले का टॉप, बिना ब्रा के उसके सामने पढ़ने बैठ जाती … और वो मेरे टॉप में अन्दर हाथ डालकर मेरे दूध मसल कर मजे लेता रहता.

उसके बाद ऐसा हमने कई बार किया।एक बार मैंने रंडी का रूप लिया। सुनील ने मुझे रुपये दे दिए. फिर ख्याल आया कि मेरी बहन फ़ेसबुक चलाती है, तो क्यों न फर्जी आइडी बनाकर इससे कुछ पता करूं जिससे मुझे पता भी चल जाएगा और बहन को शक भी नहीं होगा. तो नरेश बोला कि इसने बोला है कि तुम इसको अपनी चुत दिखा दो और इसके लंड को एक बार मुँह में लेकर इसको लंड झड़वा दो … तो फिर ये पैसे नहीं मांगेगा.

बिग बूब्स सेक्सी

मैंने भाभी के फ्लैट की तरफ देखा और मन ही मन हल्के से मुस्कुरा दिया.

मेरी पिछली सेक्स कहानीलॉकडाउन में दीदी को खूब चोदाको आप सभी बहुत सराहा इसके लिए आप सभी का दिल से धन्यवाद. उन्होंने होंठों को दांत से चबाया और मेरे लंड को हाथ में लेकर हिलाने लगीं. बाकी के चार दिन की चुदाई में और मजे आए … कैसे मैंने किज़ारा कीसहेली के साथ भी चुदाईकी और कैसे हमने थ्रीसम सेक्स का मजा लिया.

मैं थोड़ा उतावला हो रहा था, क्योंकि मेरे साथ किसी के साथ ऐसा पहली बार हो रहा था. वो आकर मेरे बगल वाले सोफे पर बैठ गई और अपना हाथ मेरी तरफ बढ़ा कर बोली- लो ये मैं तुम्हारे लिए लाई हूँ, लेकिन क्या मिलता है इन्हें खाकर?मैं- कुछ नहीं बस हल्का सा कसैलापन और मीठेपन का मिक्स वाला टेस्ट आता है. एकस एकस एकस सेक्सी वीडियोउसकी चूची पीते पीते मैंने उसकी पजामी के नाड़े को खोल दिया और वो नीचे गिर गई.

मेरी चड्डी पूरी वीर्य से सन गई थी और लोअर भी ऊपर की तरफ थोड़ा गीला हो गया था. मौसी ने झुक कर अपने मम्मे दिखाए और बोलीं- क्यों कोई पसंद नहीं आई या किसी एक के साथ बंध कर नहीं रहना चाहता?मैं समझ गया कि मौसी की चुत कसमसा रही है.

शादी से पहले जब आपने मुझसे मेरे वर्जिन होने की बात पूछी थी, तब मैं बड़ी खुश थी कि मुझे ऐसे लड़के से शादी करना मिल रही है … जो इस बात को बड़ी खुल कर स्वीकार कर रहा है. प्रिय पाठको, आपको यह प्यासी भाभी की चुदाई कहानी पढ़ कर मजा तो आया होगा ना?मुझे आपके फीडबैक का इतंजार रहेगा ताकि मैं अपनी आगे की सेक्स कहानी को लिख सकूँ. वो भी मेरे साथ चुदकर खुश हो जाती थी और जितनी बार मैं उससे चुदाई के लिए कहता, वो झट से राजी हो जाती.

लंड उनके गले तक जाने लगा था, जिससे ‘फच फच … गों गों …’ की आवाज निकल रही थी. अब सावी भाभी की दोनों टांगें चौड़ी करके उनकी चुत पर अपने लौड़े को घिसने लगा. शिवानी- ओह आई ईईई ओह आह … प्लीज धीरे धीरे दबाओ ना!मैं- आज मुझे मत रोको शिवानी.

दीदी नीचे जाते वक़्त बोलीं- एक बार पूरा करके जाओ, मुझे प्यासी ना छोड़ो … बहुत आग लगी है.

अब मैं उसे सिर्फ चोदना चाहता था क्योंकि कुतिया ने मुझ पर आरोप लगाए थे और मां की लौड़ी अपना रंडीपना दिखा रही थी. मैं उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकता था, परन्तु तब भी मैं तुरंत उसके पास गया.

उसके बाद ऐसा हमने कई बार किया।एक बार मैंने रंडी का रूप लिया। सुनील ने मुझे रुपये दे दिए. क्या मस्त माल थी, साली की चूत तो ऐसे मस्त चिकनी थी कि लंड खुश हो गया. भाभी ने फोन पर बात की तो भैया ने कहा- मुझे आज तीन बजे की ट्रेन से वाराणसी जाना है … मैं एक घंटे में घर आ जाऊंगा.

खुद को रोकने की नाकाम कोशिश करने के बाद भाभी मेरी ओर भूखी शेरनी की तरह झपटी और मेरे होंठों को चूसने लगी. उसने आवाज दी- कहां हो तुम?उसकी आवाज सुनकर मेरी मॉम कमरे से बाहर आईं और उससे बोलीं- मेरे पीछे आ जाओ. आंटी तो किसी नयी दुल्हन की तरह कसमसाने लगीं- आह्ह आह्ह आह्ह आह्ह ऋषि … मुझे प्यार करो!उनके मुँह से कामुक सिसकारियां निकलने लगी थीं.

हिंदी बीएफ बीएफ बीएफ हिंदी भाभी अब बाथरूम में चली गईं, मैंने एक पैग और खींचा और सिगरेट सुलगा ली. मादक सिसकारियां तेज स्वर में निकलने लगीं- आहहह नफीसा मेरी जान … आई लव यू …मेरे मालिक मेरे सरताज आह.

देहाती औरत को चोदा

मैंने नफीसा आंटी को बिस्तर पर बैठा दिया और उनके होंठों को चूमने लगा. कुछ देर बाद साई का लौड़ा थोड़ा सा ढीला पड़ गया था फिर भी वो मेरे मुँह में लौड़ा पेले जा रहा था. वो अपने हाथ से लंड पकड़ कर बोलीं- अभी भी एकदम रेडी है … क्या चीज है यार … थकता ही नहीं है.

मैं अपने एक हाथ से उसके मम्मों को दबाने लगा और मेघा अपने हाथ से मेरा लंड प्यार से सहलाने लगी. जैसे-जैसे हम आगे बढ़ रहे थे … वैसे वैसे ही बारिश और तेज होती जा रही थी. छोटी लड़की की बीएफ सेक्सीसच कहूं तो ये बात मालूम होते ही मेरी तो गांड ही सुलग गई … मुझे निक्की से घिन आने लगी थी.

फिर उसने दूसरी चड्डी उठाई और उसको पहनने के लिए जैसे ही एक पैर उठाया मुझे उसकी चुत के दर्शन हो गए.

’ बोलती हुई कोमल, बांग्ला में पता नहीं क्या क्या बोलती हुई अपनी गांड उठाने लगी. मैं भी लंड की तलाश में थी तो मुझे भी ससुर जी का लंड लेना सबसे उत्तम लगा.

उनके बूब्स बहुत बड़े बड़े हैं और उनके चुस्त कपड़ों में ऐसे दिखते हैं, जैसे बाहर आने को तड़प रहे हों. उसकी चूत गीली हो चुकी थी और वो अपनी दोनों टांगें हवा में उठा कर धीमी आवाज में कामुक सिसकारियां भर रही थी. उसको आम भारती बीवियों की तरह मनाना नहीं पड़ता था कि लंड चूसो न बेबी … और उधर से जवाब मिलता कि नो वे … मैं लंड नहीं चूस सकती.

जब वो लंड चूस रही थी तो इतना अधिक मजा आया था कि ऐसा लग रहा था मानो मैं सातवें आसमान पर उड़ रहा हूँ.

आंटी काफी गर्म हो गई थीं, वो अपनी टांगें हवा में उठा कर बोलीं- राज, आज सलीम की अम्मी की सुहागरात है. अभी तक मैंने उसकी बुर वीडियो में ही देखी थी; आज वो मेरे सामने नंगी खुली पड़ी थी. [emailprotected]इंडियन विलेज़ सेक्स कहानी का अगला भाग:मामी की मदद से देसी बुर की सील तोड़ी- 2.

नंगी वीडियो वीडियोफिर एक दिन जब दुकानों के खुलने का फरमान जारी हुआ, तो मैं अपने गांव से घूमने के लिए शहर निकल गया. कुछ देर इसी तरह से प्यार करते हुए मैंने प्रीति को वहीं सोफे पर लिटा दिया.

सेक्सी वीडियो नंगा वीडियो

सुनील ने मुझे कुर्सी पर बैठाया और सिखाने लगा।सिखाने के बहाने वह कभी मेरा गाल, तो कभी स्तन छूने लगा. मैंने धीरे धीरे उसका लंड अपने मुँह में ले लिया और उसके पोते सहलाते हुए लंड चूसना चालू कर दिया. उस टाइम तुम घर पर अकेली रहोगी और तुम दोनों को मजे लेने का पूरा मौका मिल जाएगा.

अपने बेटे से शर्म कैसी … अगर हम लोगों को वह नंगा देख भी लेगा और चुदाई करते देख भी लेगा, तो क्या हो जाएगा. मैं- ये हुई ना बात, अच्छा यार एक बार आकर मेरा लन्ड ही चूस दो!प्रीति- आप पागल हो? सब सो रहे हैं. कुछ देर बाद वो झड़ गई और उठ कर मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

मैंने उसे बताया कि मैं अपनी सास के साथ होटल रूपा में रूकी हुई हूं।उसने बोला कि मैं भी आ रहा हूं. कशिश ने खाना खत्म करके मुझसे कहा- मैं सोने जा रही हूँ, तू भी टीवी बंद करके आ जाना. नेता मोतीलाल और इब्राहिम मुझे देख कर एक साथ बोले- वाह रे काशिफ … ये तो मस्त बढ़िया माल है.

अब बता दो आपको कौन सा ब्रांड का कंडोम चाहिए!अब मेरी शर्म साइड में चली गई और बोला– मा##@ ट्रिपल जे एक्सट्रा डॉटेड. ऑफिस से निकल कर मैं एक मॉल में गया और अपने लिए एक इंडो वेस्टर्न ड्रेस खरीदी और एक सोने की अंगूठी ले ली.

मैं- हां, वो तो दिख रहा है मामीजी, लेकिन उसको चोदना भी तो ज़रूरी है नहीं तो मेरा लंड चुप नहीं बैठेगा.

कभी कभी भाभी की निगाहें मुझसे मिल जातीं तो वो मुझे अनदेखा करके निकल जातीं. डॉक्टर सेकसफिर राजेश सर मुझसे बोले- रोहन तू जरा मार्किट से केक ले आ!मैं- जी सर. न्यू लड़की की बीएफमैंने गाड़ी रोक दी और दीवार से झांक कर देखा तो वो दरवाजे की घंटी बजा रहा था. मुझे ध्यान ही नहीं रहा था कि कुछ दिन पहले एकलड़की के साथ किसिंगकरते ये हुआ था.

मेरा कमरा ऊपर था और ऊपर कई सारे कमरे बने थे, जो किराए पर लग चुके थे.

मैम- अच्छा कभी देखा तो नहीं क्लास में तुम्हें!मैं- मैं क्लास कम करता हूँ न मैम इसलिए …मैम- अच्छा … ऐसा क्यों?मैं- मैम … आप कौन सा विषय पढ़ाती हैं?मैम- तुम्हारी क्लास में मेरा दूसरा लेक्चर साइकोलॉजी का होता है. मैडम मेरे पास आईं और बोलीं- क्या सच में अगर मैं नहीं कहूँ … तो तुम मेरे साथ सेक्स नहीं करोगे?मैंने कहा- जी हां मेम साब!मेरी इस अदा पर मैडम खिलखिला कर हंस दीं और मेरे गले से लग गईं. मैं सामने ड्रेसिंग टेबल पर रखा सरसों का तेल ले आया और उसकी गांड में डाल दिया.

मैंने खाना खाया और राहुल के घर चला गया।जब मैंने राहुल के घर की घंटी बजाई तो आंटी ने दरवाजा खोला. दस मिनट तक हचक कर चोदने के बाद में दीदी की चूत में ही स्खलित हो गया. फिर उन्होंने अपने बारे में भी बताया कि उनके पति की एक रोड एक्सीडेंट में डेथ हो गई थी और उनका एक 13 साल का बेटा है, जो बोर्डिंग स्कूल में पढ़ता है.

ब्लू फिल्म नंगी फोटो

मुझसे भी रहा नहीं गया और उनकी पीठ सहलाते हुए उन्हें शांत कराने लगा. जब भी वो अपनी गांड मटका कर चलती है तो उसके मटकते हुए चूतड़ों को देखकर किसी भी मर्द के लंड का पानी छूट जाए. घर आते ही वो खाना आदि खाकर सो जाते थे और कल्पना भाभी को समय समय से चोद नहीं पाते थे.

मैंने अपने ब्रांड के लिए कहा- पर मैडम वो ही एक ऐसा कंडोम है, जो मुझे पूरा फिट आता है.

मैंने बाद में भाभी से इस बारे में पूछा था कि ये सब मां ने कैसे सैट किया था कि उन्होंने आपको चोदने के लिए मुझे फिट कर दिया.

सुनील ने उसकी गांड बहुत बार मारी थी।सुनील ने पूछा- रतन अब तुम बताओ।मैंने नशे में बता दिया- स्कूल के दिनों में अपने छोटे से लंड से मेरे दोस्त ने मेरी गांड मारी थी. मेरी गोद में मेरी सगी बहन बैठी थीं, पर इस मादरचोद लंड को कौन समझाए कि ये दीदी की गांड है. एक्स एक्स हरियाणवीमेरी मॉम- क्या तुम अब मेरी गांड मारने वाले हो?विकी- हां सुनीता … तुम्हारी गांड तो मैं तू जबसे आयी है, तभी से मारना चाहता था.

माधवी की भरी हुई चूचियां भिड़े के सीने से रगड़ने लगी थीं और भिड़े का लंड टनटनाने लगा था. मैम की आंखें अब तक नम हो चुकी थीं लेकिन मैं वैसे ही धक्के दे रहा था. हम दोनों एक-दूसरे को पागलों की तरह चूसने लगे।जल्दी ही आंटी ने लंड को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

क्योंकि कल्पना भाभी जब भी चलती थीं, तो वह अपनी गांड मटका कर चलती थीं. देसी सेक्स कहानी की इस सबसे मस्त साईट के सभी दोस्तों को नमस्कार और भाभियों, आंटियों और लड़कियों की गर्म चुतों को मेरे खड़े लंड का सलाम.

दोस्तो, मुठ मारना, गंदी फ़िल्में देखना … मुझे बड़ा अच्छा लगता था लेकिन आज तक मैंने कभी किसी लड़की की चूत नहीं चोदी थी.

अभी मैंने उसका लोअर जांघों तक ही उतारा था तो मैंने देखा उसकी चूत पानी छोड़ चुकी थी जिससे उसकी आसमानी रंग की कच्छी गीली हो चुकी थी. पहले भागसिनेमा हाल में गर्लफ्रेंड को लण्ड पर बैठायामें अब तक आपने पढ़ा था कि हम दोनों बारिश में भीग गए थे. हिंदी हॉट कहानी दो दोस्तों की है जो अदल बदल कर एक दूसरे की बीवियां पटाने की कोशिश कर रहे हैं.

दिल्ली की बीएफ दिल्ली की बीएफ तब मैंने अपना लंड उसकी पानी से लबालब चूत पर डाला जोरदार धक्के से अपना लंड जड़ तक चूत में उतार दिया जो जाकर बच्चेदानी पर हमला करके आया. अपना लंड मैंने मेघना के मुँह से निकाला और मेघना की चुत में पेल दिया.

बात ही बात में मामी ने बताया कि मुझे बड़ा बुरा लग रहा था कि तेरे मामा जी आज जा रहे हैं. तब मैंने फोन रख दिया और खाना खत्म करके मैं मोबाइल में गेम खेलने लगा. मैं भी तो देखूं कि तुम्हारी कैसी चॉइस है!यह सुनकर प्रीति हंस कर दुकान में चली गयी.

ઇન્ડિયન પોર્ન વીડિયો

उस लड़की ने कहा- हाय मेरे राजा … आ जाओ और अपनी प्यारी रानी सुमोना को चोद चोद कर मसल दो. मैंने अपने लंड साफ़ करके उस पर घी लगाया और मामी के मुँह में डाल दिया. [emailprotected]मेरी अन्तर्वासना की कहानी का अगला भाग:दूर की रिश्तेदारी में दीदी की चुत चुदाई- 2.

उस समय मुझे तो लग रहा था कि आज तो इनमें से किसी एक का वज़न कम होकर ही रह जाएगा. घर लौटने पर मेरे मन में मेघना को घूरती लोगों की कामुक निगाहें ही दिमाग में थीं.

अम्मी भी उसका हाथ लेकर अपने सामने अपनी चूचियों के बीच में रख कर बात करने लगीं.

गर्लफ्रेंड से बातें कर रहे हो क्या?मैं- नहीं तो ऐसी कोई बात नहीं है. मैंने दोबारा ऊपर उसकी ओर देखा तो वो वासना से मेरी तरफ़ ही देख रही थी. अब मैं और राखी मैडम काफी क्लोज आ गए थे, रोज छत पर हम दोनों घंटों बात किया करते थे.

अब 12 बज चुके थे और अम्मी ने मेरे रूम का दरवाजा लॉक कर दिया था ताकि मैं बाहर ना आ पाऊं. इस बार उसको कुछ ज्यादा दर्द हुआ लेकिन मेरा लंड पूरा अन्दर चला गया था. सपना छोटी थी, वो स्कूल में दसवीं में पढ़ती थी और नरेश अभी काफी छोटा था.

जैसे ही मेघा ने मेरी तरफ मुँह किया तो मैंने देखा कि उसने अपनी चूत बिल्कुल साफ कर रखी थी.

हिंदी बीएफ बीएफ बीएफ हिंदी: पापा मम्मी से कह रहे थे- आज हम दोनों को अपने बेटे को इसी कमरे में सोने देना चाहिए. जब मैं वापस आया तब तक भाभी जी घर वापस आ चुकी थीं और मैं उनसे फोन नम्बर नहीं ले पाया.

राजेश जी ने अब मेरी दीदी के दोनों मम्मों को मसल मसल कर चूसना शुरू कर दिया. कुछ पल बाद मैंने अपनी उंगलियों को गांड से बाहर निकाला और अपने लौड़े को उसकी गांड में डाल दिया. एक बार मेरे दोस्त ने मुझे अपने घर बुलाया तो उसकी अम्मी संग तीनों घूमने गए.

उनकी नजर मेरे फूलते लौड़े पर गई तो मुस्करा कर बोलीं- मैं क्या करूं राज … मुझे किसी लंड ही नहीं मिलता.

इस वक्त मेरा लौड़ा नफीसा आंटी की गांड को ऐसे चोद रहा था, जैसे कोई पिस्टन सिस्टम को सैट करके छोड़ दिया हो. मैंने कहा- तो बताओ कब लेना है और मुझसे ही क्यों लेना है … साफ़ साफ़ कहो!शाजिया ने अब खुल कर कहा- सुधीर, मुझे तुम पसंद आ गए हो और मुझे तुम्हारा लंड अपनी चुत में लेना है. थोड़ी देर बाद भैया-भाभी दोनों बेड पर लेट गए थे और भाभी उनसे बात कर रही थीं कि अब तो आप अगले हफ्ते से सात दिन के बाद ही वापस घर लौटोगे, तो मैं अपनी प्यास का क्या करूंगी.