देहाती सेक्सी बीएफ ब्लू

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स पंजाबी बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

आलो सेक्स: देहाती सेक्सी बीएफ ब्लू, वो नंगी रांड नीचे फर्श पर बैठ गई और मैं उसके सर के ऊपर से पेशाब करने लगा.

बीएफ सेक्सी पिक्चर देख

चाची को दर्द तो हो रहा था लेकिन वो चाचा के उठ जाने के डर से ज्यादा जोर से नहीं आवाज कर रही थी. बीएफ लड़की चोदाउनके ये कहते ही मैं खुल गया और मैंने उनसे पूछा- मामी, क्या आपको मेरा लंड पसंद आया?मामी ने कहा- हां आकाश, मुझे तुम्हारा लंड बहुत पसंद आया है.

मैंने उसकी एक चूची को मुँह में दबा कर ताबड़तोड़ धक्के देना शुरू कर दिए थे. भोजपुरी बीएफ ओपन सेक्समैं हरजिंदर सिंह, रोपड़ पंजाब से, एक बार फिर आप सभी का अन्तर्वासना की फ्री सेक्स कहानी साईट पर स्वागत करता हूं.

सॉरी माफ करना, भाभी हो आप तो!उन्होंने हल्की सी मुस्कान दी और अपने कमरे में चली गई.देहाती सेक्सी बीएफ ब्लू: टी टी ने बीच में पड़ कर कहा- एक का चूस कर निकाल ले, बाकी दोनों का मुठ मार दे, मतलब हाथ से सहला कर निकाल दे.

यही सोच सोच कर लंड में ऐसा तनाव आ जाता था कि लंड पानी फेंक देता था.सामने से उसकी चूत मेरे लंड पर बैठी थी, तो ऐसा लगा कि कल्पना की कसी चूत मेरा लंड निगल रही हो.

कॉल बीएफ सेक्सी - देहाती सेक्सी बीएफ ब्लू

मैंने आवाज लगा कर आयुषी से पूछा- अवनी दीदी कहां चली गई हैं?वो बोली- उसको पथरी है … उसको स्टोन पेन हो रहा है.मैंने फिर लंड हाथ से उसकी गांड के गुलाबी छेद पर लगाया और झटका दिया.

मुझे उससे बात करना अच्छा लगता था क्योंकि मुझे उससे प्यार जो हो गया था. देहाती सेक्सी बीएफ ब्लू मेरे लंड की नसें उभर आई थीं … मुझे ऐसे लग रहा था जैसे लंड को किसी मोटी रस्सी से बांध दिया हो.

कुछ देर उसकी चूत को पेलने के बाद मैंने तनु की चूत से लंड को बाहर निकाल लिया और दीदी की गांड में पेल दिया.

देहाती सेक्सी बीएफ ब्लू?

मैं अभी कुछ संभल पाता कि उन्होंने जल्दी से मेरे पूरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. उसने जाते वक़्त कहा- मैं तुम्हें बाद में जरूर फ़ोन करूंगी … तुम बताना. मैंने देखा मेरा बेटा ब्रेकफास्ट करके जा रहा है मगर बहू नहीं दिखाई दी.

सीमा ने भी अपनी चूत के दरवाजे को खोल दिया और खड़े खड़े ही मेरे लंड को अपनी चूत के अन्दर समां लिया. दूसरे दिन घूम फिर कर रात को कमरे में आये तो मैंने व्हिस्की मिली पेप्सी सारिका को पिला दी. मैंने कहा- चल!फिर रूम में मैंने गेट लॉक किया और रानी को उठाके अपने रूम में ले गया उसे बैड पर लिटा दिया और खुद उसके पास बैठ गया.

वो मेरी मां के ऊपर झुके हुए थे और अपने चूतड़ों को जोर जोर से मां की चूत की ओर धकेल कर उनकी चुदाई कर रहे थे. मैं ज्यादा समय तक उसकी इस अदा पर नहीं टिक पाया और मेरे लंड ने सारा लावा उसके मुँह में ही उड़ेल दिया. चूंकि हम दोनों रोज देर तक बात करते थे, इसलिए हम दोनों एक दूसरे के बहुत करीब हो गए थे.

कुछ देर गांड चोदने के बाद मैंने लंड गांड से निकाला और एक ही झटके में आकांक्षा की चूत में डाल दिया. मैंने भी उसे गाली दी और कहा- साली कुतिया है तू … रंडी है मेरी … मैंने पैसे दिए है तुझे … आज तुझे चोद चोद कर अपनी रंडी बनाऊंगा, मुझे कुत्ता बोलती है मादरचोदी … ले और एक ले.

उसने कहा- क्या ख्याल है, एक बार फिर हो जाये?मैंने हाथ जोड़ कर कहा- मेरे दोनों छेद जल रहे हैं.

ये मेरी पहली गांड सेक्स कहानी है, कोई गलती हो जाए तो नजरअंदाज कर दीजिएगा.

और फिर मुझे पूरी तरह से उल्टा लेटा दिया और उसके बाद अपने दोनों हाथ मेरी कमर के नीचे डाल कर मेरे भारी-भरकम कूल्हों को थाम कर एकदम ऊंचा उठा दिया और मेरे घुटने नीचे मुड़कर मुझे उसी अवस्था में रहने दिया. मैंने कल्पना से कहा- अब मैं नीचे लेट जाता हूँ, तुम ऊपर आकर मेरे लंड पर बैठ जाओ. ये मुझे ऐसे मालूम हुआ था कि वो जब भी किसी काम के लिए झुक कर उठती थीं, तब उनकी नाइटी पीछे से उनकी गांड की दरार में घुस जाती थी.

धीरे धीरे हम तीनों आपस में बातें करने लगे और एक दूसरे से खुलने की कोशिश करने लगे. और बोली- लेकिन आप बुरी तरह करते हो! पूरा बदना और बदन के सारे जोड़ हिला कर रख दिए. उसके कसे लेकिन मुलायम मम्मों, जैसे गुब्बारों में पानी भरा हो; का क्या कहना।मैंने उसको घोड़ी बना दिया और पीछे आकर उसकी चुत को चूमना शुरू किया.

उसने मेरे दोनों मम्मों को पूरा बाहर निकाला और उनको बारी बारी से खूब चूसा और दबाया.

मैंने कहा- तुम यहां रोज आती हो क्या?वो बोली- हां, तो फिर रोज ही इस तरह बकरा और बकरी के मजे लेती हो देख कर?ये सुन कर उसका चेहरा शर्म से लाल हो गया और मेरा लंड मेरी पैंट में एकदम से सख्त हो गया. चूत का जुगाड़ करने के लिए मैंने कई सारी डेटिंग साइट पर ट्राई किया लेकिन बात नहीं बन पा रही थी. कुछ देर बाद मैं भी सो गया, जब मेरी आँख खुली तो मीनू का एक हाथ मेरे पैंट पर लंड वाली जगह था और उसकी सूरत बड़ी ही सुंदर लग रही थी.

तब उसने मां को घोड़ी बनने के लिए बोला और मेरी नंगी माँ मेरे दोस्त के सामने अपने चूतड़ उठा कर घोड़ी बन गई. मैं रचना का अपने दोनों हाथों से सिर पकड़े उसकी चूत पर अपने लौड़े से धमाकेदार वार किए जा रहा था. मैंने कहा- बेटू उठो … (मैं उसे प्यार से बेटू कहता हूं) चलो कहीं बाहर घूम कर आते हैं.

मैं चाची के घर गया और उनको बताने लगा कि स्कूल में क्या क्या हुआ था.

उन्हें मुठ मारते देखा, तो मैंने भी अपना लंड निकाल लिया और उन्हें देखते हुए मुठ मारने लगा. मैंने उसकी चूत में उंगली दे दी और तेजी के साथ उसकी चूत में उंगली करने लगा.

देहाती सेक्सी बीएफ ब्लू मामी से मैंने पूछा- मामी, लड़कियां भी अपनी चूत को अपने हाथ से मजा देती हैं क्या?वो बोली- तुम्हारी उम्र के सब लड़के-लड़कियां करते हैं. सिम्मी काफी शरमा रही थी, उसके गाल तो ऐसे लाल हो रहे थे जैसे कश्मीरी सेब, मैं भी काफी नर्वस फील कर रहा था। सोच रहा था कि कहीं सिम्मी का जवाब ना नहीं हो।मैंने इधर उधर की बात करना शुरु कर दी.

देहाती सेक्सी बीएफ ब्लू धीरे-धीरे मैं उसके बदन की तारीफ करने लगा।मैंने फिर कहा- मैं आपको किस करना चाहता हूँ. अब उसकी पूरी चूत गीली हो चुकी थी और मेरा लंड बार-बार बाहर निकल रहा था।तो मुझे थोड़ी सी मस्ती सूझी, मैंने धीरे धीरे धक्के लगाते हुए उसके चूत के रस से अपनी एक अंगुली को अच्छे से गीला किया और फिर उसे उसकी गांड के सुराख पर फिराते हुए अपनी अंगुली उसकी गांड के अंदर डाल दी.

वो जिम जाती हैं जिससे उनका जिस्म बड़ा ही कातिलाना है … मदमस्त स्माइल है और वो बड़ी ही मॉडर्न अंदाज में रहने वाली हैं.

आदिवासी सेक्सी फिल्म

अब मैं सीधा लेट गया। अब लड़की की बारी थी वह मेरे ऊपर आ गई और मुझे किस करने लगी. उसके बाद तुम जिसकी चूत चोदने की इच्छा करोगे मैं तुम्हारे लिए करने के लिए तैयार हूं. मैंने देखा कि उसकी गांड इतनी ज्यादा उभरी हुई थी कि मेरा मन कर रहा था कि इसकी गांड में लंड डाल दूँ.

और जैसे ही करोना की उँगलियाँ गलती से करोना की भगनासा से टकराई, अचानक उसके पूरे शरीर में तूफ़ान सा आ गया और उसका पूरा शरीर सूखे पत्ते की तरह कांपने लगा. लगभग मिनट के बाद रचना का दर्द कम हुआ तो रचना ने मेरे सीने पर हाथ रखा और कहा- अबन आराम से, जब तक मैं ना बोलूं तब तक तुम धीरे धीरे करो. मैंने फिर से उसकी चूत को सहलाना शुरू किया और अपने लंड को उसके हाथ में पकड़ा दिया वह भी धीरे-धीरे मेरे लंड को सहलाने लगी।हम दोनों सिसकारियां ले रहे थे.

मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों रख दिये और कुछ देर के लिए शांत होना ठीक समझा.

उसका रंग गोरा है, बूब्स बड़े बड़े हैं और उसकी गांड बहुत ही ज्यादा मस्त है. मैंने मीनू की टांगें चौड़ी की तो मुझे उसकी चूत से पानी निकलता नजर आया. उसने अपनी बीवी को नीचे लिटा लिया और मुझे उसके ऊपर आने के लिए इशारा किया.

तो मैंने कहा- बहू तुम्हारा नाश्ता कहाँ है?बहू बड़े रूखे मन से बोली- मुझे नहीं खाना है. मम्मी की चूत पर हाथ फेरते फेरते मैंने अपनी ऊंगली मम्मी की चूत में डाली तो मम्मी नजाकत से चिहुंक उठी. मैं अब भी उनसे रिक्वेस्ट कर रहा था कि वो ये बात डैड को ना बताएं कि मैं आपको वीडियो में देखकर लंड सहला रहा था.

आज बहुत अंतराल के बाद मैं फिर से हाज़िर हूँ और अपने पाठक पाठिकाओं के लिए कुछ हट के लिख रहा हूँ. वो मेरी दूर की बहन लगती है तो उसका मेरे परिवार में आना जाना रहता था.

इस बार कल्पना ने मेरे होंठों को काट लिया और भी जोर से चिल्ला दी- आह … हाय रे साले हरामी … मार डाला रे … आहा … आह कुत्ते तूने मेरी चूत की वाट लगा दी … साले आराम से नहीं चोद सकता क्या … आह हाय रे … मर गयी आह. इसी तरह से धीरे धीरे करके मैंने पूरा लंड बहन की गांड में ठांस दिया और रुक कर उसके मम्मों को मसलने लगा. बातों बातों में रचना भाभी ने मुझसे कहा- मेरी तबीयत ठीक नहीं है मुझे डॉक्टर के पास दिखाने जाना है.

इसी बीच मैं एक दिन उससे चैट कर रहा था, तो हमारी बातें सैक्स रिलेटेड होने लगीं.

फिर मैं उसके पेट को चूमते हुए उसकी चूत की ओर बढ़ा मैंने उसकी गर्म गर्म बुर पर अपने होंठ रखे तो उसके मुंह से आह्ह निकल गयी और वो जैसे सिमटते हुए सिहर सी गयी. जैसे ही वो पलटी, मुझे उसकी गांड देख कर मेरा लंड शॉर्ट्स के अन्दर से ही झटके मारने लगा. देखना फिर तू अपने आप मुझसे कहेगी कि ‘चिन्ना अंकल मुझे चोदो’ और अब ध्यान से सुन मेरी बात … अब शर्माना बंद कर दे और मेरी आँखों मेरी आँखों में आँखें डाल कर देख और पूरी रंडी बन कर अपने अंकल से चुद.

उसके बाद चिन्ना बेपरवाही के साथ मूतने लगा।करोना के कमरे में अँधेरा था और बाथरूम में लाइट जल रही थी। अपनी इस स्थिति की वजह से चिन्ना करोना को नहीं देख सकता था पर करोना चिन्ना तो साफ़ साफ़ देख सकती थी. चूंकि मैं और अजय तो काफी दिनों से एक दूसरे के साथ बातें कर रहे थे इसलिए एक दूसरे के बारे में काफी कुछ जानते थे और एक दूसरे के साथ काफी खुले भी हुए थे.

मैंने फिर लंड हाथ से उसकी गांड के गुलाबी छेद पर लगाया और झटका दिया. वो नीचे से अपनी गांड उठाने लगी और धीरे से बोली- यार अब धक्के लगाना शुरू करो, मजा आने लगा है. दोस्तो, मैं एक अतरंगी क्सक्सक्स कहानी सुनाने जा रहा हूं, जो मेरे जीवन में दूसरी बार घटी है.

रक्षाबंधन कब के हैं

मदमस्त हुई करोना को अपनी उसने गोदी में इस प्रकार बैठा लिया कि करोना की पीठ चिन्ना के पेट से सटी थी और चिन्ना की दोनों टाँगें करोना की दोनों टांगों के बीच में थी.

श्वेता मुझे नंगा देख कर बोली- भैया आज तौलिया भूल गए थे क्या?मैंने कहा- भूला कुछ नहीं … बस अब तो नंगे ही अच्छा लग रहा है. जब एक दो मिनट तक कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैंने दोबारा से ट्राई करने की सोची. उसकी चुदक्कड़ हरकतें रात में मेरे लंड को अक्सर परेशान कर दिया करती थीं और मैं मुठ मार कर सो जाता था.

मैंने रजाई के अन्दर ही अपना लोवर टी-शर्ट उतार दिया और उसने भी उतार दिया. लंड का सुपारा घुसवाते ही उसे हल्का दर्द हुआ, मैंने घी टपकाते हुए गांड की चिकनाई बढ़ा दी. गांव की भोजपुरी बीएफजैसे ही हम लोग कार में बैठे तो पहले की तरह ही मैंने चाची को गोद में बिठा लिया और कुदाने लगा.

जैसे कि योनि के ऊपरी हिस्से पर एक गुलाब बनाना कामुकता को कितना बढ़ा सकता है, आप स्वयं कल्पना करके इसका अंदाजा लगा सकती हैं. मोहन भाई शहर का एक बड़ा मशहूर लेडीज टेलर था, मगर वो जरा टेढ़े मिजाज का टेलर था.

मेरा लंड अबकी बार आधा घुस गया लेकिन नेहा को देख कर ऐसा लगा जैसे वो बेहोश हो जायेगी. दो दिन बाद सहेली की शादी थी, तो एक दिन पहले शाम को 6 बजे की ट्रेन में मेरी टिकट बुक हो गई थी. उसके हाथ पर मेरा गीला, खड़ा लंड लगा तो उसने एकदम से हाथ बाहर खींच लिया.

मैं 15 मिनट तक उसकी चूत चूसता रहा … और इधर मेरा लंड फिर से खड़ा हो चुका था … जो कि उसके हाथों की गर्मी महसूस कर रहा था. मैं उसे देखते ही समझ गया कि साली ने न तो चड्डी पहनी है और न ही दूध बांधने का कोई सरदर्द लिया है. मैंने जोर जोर से धक्के लगाते हुए दीदी की चूत में अपना माल गिरा दिया.

भाई की जीभ मेरे होंठों के बीच में घुस गयी और मैंने उसे चूसना शुरू कर दिया.

चिन्ना- नहीं मेरी प्यारी बिटिया, तुझे चोदने का प्रोग्राम तो मैंने उसी दिन बना लिया था जिस दिन तू पहली बार मुझ से मिलने मेरे ऑफिस में आई थी. कल्पना जोर जोर से कहने लगी- आंह साले चोदो मुझे … और जोर से चोदो … और मारो मेरी गांड को … बुझा दो मेरी प्यार मेरे राजा.

क्योंकि दोस्त ने नया कमरा उसी औरत के घर के ऊपर लिया था, जो हमें घूरा करती थी. मैंने भी नाटक करते हुए ससुर जी को धक्का दिया और कहा- यह क्या कह रहे हो पापा … मैं आपकी बहू हूं. मेरे ये कहने पर पता नहीं क्यों, इस बार वो थोड़ा सा शर्मा गयी और उसने हाथ पीछे कर लिया.

उनकी मोटी मोटी चूचियां एकदम से नंगी हो गयी और उभर कर मेरी आंखों के सामने आ गयी. थोड़ी देर बाद सैम ने मुझे ऊपर ले लिया और हम एक दूसरे को जोरों से मजे देने लगे. वे तीनों पूरी माल जैसी लड़कियां एक साथ आपस में चूमाचाटी के मजे ले रही थीं.

देहाती सेक्सी बीएफ ब्लू फिर अचानक उसने मेरे मुँह पर अपना पानी छोड़ दिया और एकदम निढाल हो गई. मम्मी ने निशा को देखते हुए कहा- बेटा निशा, गाड़ी थोड़ी संभाल कर चलाया करो.

देखने वाली सेक्सी फिल्म

सेजल बड़े प्यार से अपने ससुर के लंड की खाल को ऊपर नीचे कर रही थी और उन्हीं की अंडों के साथ खेल रही थी. तुम दोनों के मिलन से जन्मे बच्चों से मेरे नानी और दादी के दो रिश्ते हो जाएंगे. मैंने वहां हल्का सा हाथ लगाते हुए पूछा कि यहां?वो बोली कि हां यहीं है.

इस अचानक हमले से करोना की जोरदार सिसकारी निकल गई और जैसे उसकी नजरें चिन्ना से मिली चिन्ना ने तुरंत उसे आँख मार दी। करोना इस दोहरे हमले से बुरी तरह शरमा गई. वो मस्ती में चिल्लाने लगी- ओआह आह … और जोर से करो जीजू …मैं फुल स्पीड से उसकी चुदाई करने लगा. मीरा की सेक्सी बीएफमुझे जल्दी नींद नहीं आती, तो मैं अपने ईयरफ़ोन निकल कर गाने सुनने लगा.

और मुझे अभी और पढ़ना है।तभी उसने कहा- लेकिन आप को ये अचानक मेरी शादी की बात क्या सूझी?मैंने स्थिति को भांप कर बात को टाल दिया।फिर हम खाना खाकर सो गए।अगले दिन हम टाइम से उठ कर नहा धोकर सेण्टर की तरफ चले गए।पेपर 3 घंटे का था.

मुझे सिरहन सी हो रही थी और मेरा शरीर कांप रहा था … क्योंकि मेरे पापा मुझे पहली बार हाथ लगाने वाले थे. आज की रात मेरे लिए बहुत रंगीन होने वाली थी।उस दिन मेरा शाम को छुट्टी का टाइम आ ही नहीं रहा था … इंतजार की घड़ियां खत्म ही नहीं हो रही थी.

देखने से मालूम हुआ कि कोई प्रिया शर्मा (नाम बदला हुआ है) की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी. पहले तो उसने मना किया, फिर बोली- मेरे मना करने पर तुमको मानना है नहीं … तुमको जो करना है, कर लो. उसने अपने कोमल हाथ में जैसे ही मेरा लंड पकड़ा, मेरा लंड फुंफकारता हुआ टाइट हो गया.

मुझे देखकर तो लड़का भागने लगा तो मैंने उसे पकड़ लिया और 2 थप्पड़ लगाये.

उसकी चुत मेरे वीर्य से भर गई थी और मैं निढाल होकर निशा के ऊपर गिर गया. मैंने अपने दोस्तों से कहा कि कोई मस्त भाभी टाइप की काम वाली दिलवाओ. दूध के दब जाने से उसकी उई … की आवाज निकल गई और मैंने अगले ही पल उसके दूध को छोड़ दिया.

ई-मेल चुदाई बीएफमैंने जब रूम खोलके देखा तो बाहर भाभी सिर्फ ब्रा पैंटी में खड़ी थी और उनके सामने एक आदमी खड़ा था. एक दो चाल के बाद उसका हाथ फिर मेरी जाँघों पर था पर इस बार वो हल्का हल्का मेरी जाँघों को सहला रहा था.

कॉल गर्ल कोटा

और फिर मैंने उनकी गांड को पकड़ा अपने दोनों हाथों से और तेज तेज झटके मारने लगा। मैम की गांड के छेद गुलाबी था बिल्कुल … शायद उन्होंने अपने ऐस होल की ब्लीचिंग करवाई थी. उसने फोन किया और बोली- आ जा तू मेरे घर … वो लड़का यहीं है … वो तुझे संतुष्ट कर देगा. चिन्ना जैसा औरतखोर चाहे कितना भी नरमी से पेश आ रहा था पर उसने पिछले दो दिनों में देख लिया था कि इस सांड के लण्ड को हर रात चूत का पानी चखने की आदत है.

चाचा की तबियत काफी दिनों से खराब चल रही थी और वो बीमार होने से पहले भी चाची को अच्छे से नहीं चोद पाते थे. उसके बाद कोमल ने मुझे अपने ऊपर से हटाया और अपनी मैक्सी लेकर बाथरूम की ओर गयी. दो मिनट तक होंठों को रसपान करने के बाद उसने मेरी फ्रेंची को भी निकलवा दिया.

फिर मैंने कहा- दीदी मुझे भी डांस सिखा दो न, आपको तो बहुत अच्छा डांस आता है. मैं पटना का रहने वाला हूँ और मैं शुरू से ही अपनी मौसी के पास रहता आ रहा हूं. पहली बार मेरे सामने एक नंगी चूत इस तरह से रियल में दिखाई दे रही थी.

कुछ देर इधर उधर घूमने के बाद मुझे नींद गहराने लगी, तो मैंने मम्मी से कहा कि मुझे सोना है. मैंने निशा को गले लगाया और उसी तरह उससे बातें करने लगा- मैं तुमसे मोहब्बत करता हूँ … तुमसे कभी अलग नहीं होना चाहता.

यह कह कर कल्पना ने मेरे लंड को मुँह में भर लिया और मेरा लंड चूसने लगी.

ये सोचते हुए और दीदी की मस्त फूली सी चुत देखकर मैं पागल हुआ जा रहा था. बीएफ पीचरदीदी- अब जा अपने कमरे में सो जा!मैं- आज की रात यहां पर सो सकता हूं … प्लीज़ दीदी. 2021 का बीएफ फिल्मकुछ देर यूं ही चुदने के बाद जो पट्ठा मुझे अपना लंड चुसा रहा था, उसने मुझे अपने लंड पर बैठा लिया और मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मुझे चोदने लगा. मैंने कहा- क्यों क्या हुआ… तू भी तो जवान और समझदार है अब, और मुझे मालूम है एक बात.

रचना बोली- इस जीवन में मैंने अपना पूरा शरीर अबन … तुमको हमेशा के लिए सौंप दिया.

बेटा अपने दोस्तों के साथ और बहू अपनी कुछ फ्रेंड्स के साथ बिजी हो गयी. मैंने उसकीं चूचियों पर व्हिस्की डाली और चूचियों के निप्पल से ही दारु की धार का मजा लिया. मगर तुम्हें अभी पूरी तरह से औरत बनने के लिए कई बार बुर चुदवानी होगी.

भाभी मेरे नजदीक आईं और घुटनों के बल बैठते हुए मेरे लंड से खेलने लगीं. सोनाली का हाल ही में ब्रेकअप हुआ था और उसने मुझे बताया था कि उसके बॉयफ्रेंड के साथ उसने 5 या 6 बार सेक्स किया हुआ है। मेरी मिलने की बात सुनकर वह झट से मान गई। हम दोनों बातें करते करते अब धीरे-धीरे सेक्स चैट करने लगे थे।एक दिन मेरे घर वाले 2 हफ्ते के लिए बाहर जा रहे थे. व्हाट्सएप खोलते ही मेरी आँखें फटी रह गईं, रेखा आंटी मम्मी को न्यूड सेक्स क्लिप्स भेजती थीं और यह सिलसिला सालों से चल रहा था.

इंडियन व्हिडिओ सेक्स

कुछ देर तक टीवी देखने के बाद मैं बेडरूम में चला गया और सोने की कोशिश करने लगा, मम्मी रसोई समेट रही थीं. वहां एक बड़े गले की टीशर्ट, लोअर और उनके बीच में लिपटी हुई थी उसकी काले रंग की कच्छी और बैक स्ट्रिप वाली ब्रा जिसका साइज़ 34 था।उसके कपड़ों को देख कर मेरा लंड फिर खड़ा हो गया।तभी बाथरूम से मीनू की आवाज आई- भैया मेरे कपड़े बाहर ही रह गए हैं. वो कभी मेरे ऊपर के होंठों को चूस रही थीं … तो कभी नीचे वाले होंठ को काट रही थीं.

उसका जोश देख कर मेरा जोश और भी बढ़ गया और उसे किस करते हुए उसके होंठ को अपने दांतों से काट लिया.

उसने मिलने की जगह फिक्स कर दी और कहा- मेरा दोस्त नया है … उसने अभी तक कुछ भी नहीं किया है, तो उसे थोड़ा सिखा भी देना.

मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और मुझे बहुत ज्यादा मजा भी आ रहा था।राज आज बहुत मजा आ रहा है … हां रे …!” नीचे लेटे लेटे आंखें बंद करते हुए सिसकारियां लेते वो बोली।मेरे अंदर भी कुछ होने लगा था. मैंने उससे कहा- अभी मेरी प्यास नहीं बुझी मेरी जान … अभी मुझे तुम्हें और चोदना है. देसी बीएफ सेक्सी दिखाओयह कहानी मेरी एक कल्पना है जिसमें मैंने अपनी सेक्स इच्छा को उजागर किया है.

पहले तो नसरीन नाराज़ हो गयी और गुस्से से बोली- अम्मी आप ये क्या फालतू बात कर रही हो. भाभी- मैं भी कैसी पतिव्रता औरत हूँ जो अपने पति के ही बिस्तर पर गैर मर्द से चुदवा रही हूँ. ऐसे ही 1 दिन मैं उन्हें घर छोड़ने जा रहा था तो मैम ने कहा- आओ मिलकर चाय पीते हैं।मैं उनके घर गया जो कि एक 2 बी एच के फ्लैट था और मैं हॉल में बैठ गया और वो बोली- मैं 1 मिनट में चेंज करके चाय बनाती हूं.

ये सुनकर उसने मना कर दिया और बोलने लगी- भैया आप ऐसा क्यों कर रहे हैं?मैं बोला- देख … अब हम दोनों बड़े हो गए हैं … इसलिए अलग सोना ठीक रहेगा. वैसे तो मुझे कोई इस तरह देखे तो अच्छा नहीं लगता मगर मैं भी उसकी जानदार बॉडी को देख रही थी.

उनका कोमल हाथ मेरे लंड पर महसूस होते ही मेरे लंड ने फनफनाना शुरू कर दिया और वो एकदम कड़क होने लगा.

टी टी ने मोबाईल बंद कर दिया और मुझे बताया कि एक बाथरूम है बोगी में … वहां जा कर नहा ले, तब तक कपड़े मंगवा दूँगा. तभी रानी बोली- लगता है अभी मन नहीं भरा है इसका, तभी अपनी बहू की गांड घूर रहे हो. यह कहानी एक ऐसी लड़की की है जिसे अपने अब्बू की मौत के बाद अपनी दो बहनों का पेट पालने के लिए घरों में काम करना पड़ा.

बीएफ सेक्सी हीरोइन तनु बोली- कैसी शर्त?मैंने कहा- अगर तुम अपने घर की हर लड़की और औरत की चूत चुदवाने का वादा करो तो मैं तुम्हारे सामने ही अपनी मां की गांड चोद दूंगा. मैंने सिम्मी को समझते हुए कहा- कल से आप वहां स्विमिंग करने नहीं जाओगी.

उसने मुझे अन्दर बुलाया और वहीं ड्राइंगरूम में सोफे पर बिठाकर खुद भी मेरे सामने बैठ गई. यह सोच कर मैं मेरे घर से कुछ ही दूरी पर एक कॉलोनी थी, वहां गवर्नमेंट ऑफिसर्स रहते थे, जो बाहर से आकर इधर रहते थे. इसके बाद उन्होंने मेरे दोनों हाथ सिर के ऊपर रखवा दिए और मेरे पैरों को भी फैला दिया.

5 फुट 7 इंच में कितना सेंटीमीटर होता है

उस भाभी से कैसे मेरी सेटिंग हुई और कैसे मैंने रात में उसे ट्रेन में चोदा. ये सेक्सी स्टोरी मेरी मौसी की बेटी और मेरे बीच बने चुदाई सम्बन्धों की है. चूत से पानी निकलने के कारण जब चूत में लंड जा रहा था तो रूम में पच-पच की आवाज होने लगी.

तुम्हारे घर में भी तो फूफा रहता है, तुम क्यों उंगली से करती हो? चलो आओ बेड पर. उसने मुझे नीचे लेटने को बोला और अपनी गुलाबी चूत मेरे मुँह पर रख कर बैठ गई और झुक कर मेरे लंड को हाथ में लेकर सुपारे को जीभ से चाटने लगी.

मैंने देखा कि मेरा लंड नसरीन की चुत की सील टूटने की वजह से खून से सना हुआ था.

यह आपके अंतरंग सम्बंधों को एक मधुर शुरूआत देने में काफी मददगार साबित हो सकता है. उसको भी गैर मर्द का लंड मिला था इसलिए वो भी काफी उत्तेजना महसूस कर रही थी. और जैसे ही मैं उसकी चूत चाटने के लिए आगे बड़ा तो उसने मुझे रोक दिया।मैंने पूछा- क्या हुआ?तो वो बोली- मुझे ये सब पसंद नहीं; तुम बस चोद दो मुझे!मैंने भी देर ना की और अपना लंड उसकी चूत पर रख के रगड़ने लगा.

सारिका की चूत में लण्ड अन्दर बाहर करते करते मेरी नजर सारिका की गांड के छेद पर पड़ी, गुलाबी रंग की चुन्नटदार गांड देखकर मेरा ईमान डोल गया. उसकी बात सुन कर करोना शर्मा कर मुस्कुरा दी और डाइनिंग टेबल पर बैठ कर खाना सर्व करने लगी. भाभी से मुलाकात न केवल उनके घर में होती थी, बल्कि घर से बाहर कभी गली में, तो कभी तालाब पर वो मुझे मिलती रहती थीं.

मेरे लंड के टोपे पर जुबान फिराकर और पूरा मुँह में लेकर ऐसे चूस रही थी, जैसे लंड को नहीं, सोफ्टी आइसक्रीम को चूस रही हो.

देहाती सेक्सी बीएफ ब्लू: अंदर ही अंदर उसकी चूत से निकल रहे पानी की गर्म गर्म धार को मैं अपने लंड पर लगता हुआ महसूस भी कर सकता था. एक हफ्ते बाद जब मेरे दोस्त का चाभी के लिए कॉल आया, तो मैं उसे चाभी देने गया.

मैंने कहा- क्यों नहीं बहू! सच कहूँ तो मैं गाँव में इससे भी ज्यादा ओपन बातें करता हूँ. निशा ने मेरी और वासना भरी निगाहों से ऐसे देखा, जैसे कह रही हो कि अब मेरी बारी उसकी चुत को ही चूसने की थी. जैसे ही मेरा लावा उसकी बुर में गिरा, वो भी कंपकंपाते हुए अपना यौवन रस निकालने लगी.

मैंने रजाई के अन्दर ही अपना लोवर टी-शर्ट उतार दिया और उसने भी उतार दिया.

मैंने कहा- क्यों क्या हुआ… तू भी तो जवान और समझदार है अब, और मुझे मालूम है एक बात. यदि आप इस तरह के प्रयोग का मन बना चुकी हैं तो आप कुछ इस तरह से इसको आजमा सकती हैं-योनि पर कामोत्तेजक मेंहदी और योनि मसाज-योनि मसाज से सीधा तात्पर्य है कि आप अपनी स्त्रियोचित ऊर्जा को जगा रही हैं. मैं नीचे से अपने लंड को ऊपर की तरफ धकेल रहा था, वो और जोर जोर से ऊपर नीचे हो रही थी- यस बेबी कम ऑन फक मी … आंह फक मी.