देहाती सेक्सी बीएफ भेजो

छवि स्रोत,बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

नींबू चाटने राजा: देहाती सेक्सी बीएफ भेजो, [emailprotected]कहानी का अगला भाग:मैंने अपनी पतिव्रता बीवी को जवान लड़के से चुदवाया-2.

मीडियम सेक्सी बीएफ

फिर एक दिन मैंने उससे बोला कि क्या हम आगे नहीं बढ़ सकते?उसने कहा- उससे बच्चा होने का डर है और मेरी अभी सील भी नहीं टूटी है. बीएफ हिंदी मे सेक्सी व्हिडिओदीदी अपने हाथों को पीछे बिस्तर की तरफ ले जाकर बेड के सिरहाने को पकड़े हुए थी.

आहना बच्चे को स्तनपान करती रही और अपनी योनि को मेरे लिंग पे चलाती रही. बीएफ सेक्सी मराठी वीडियोवह बहुत धीरे-धीरे और बड़ी अदा से बात करती थी, आंखें हमेशा उनकी ऐसे रहती थी जैसे उन्होंने ड्रिंक किया हो.

मैं- मतलब?सासू माँ- मतलब ये कि हमारी जो भी प्रॉपर्टी और ज़ायदाद है और जो भी चल अचल से संपत्ति है, अब से उसमें तुम्हारा भी उतना ही हक़ है, जितना हितेश का है.देहाती सेक्सी बीएफ भेजो: और दोनों हाथों से उसकी गोल गांड को पकड़ा और लंड को दे दनादन उसकी चूत में पेलने लगा.

उसकी चिकनी गांड पर मेरे हाथ इस तरह से पड़ रहे थे, जैसे चाबुक की मार लग रही हो.मुझे लगा मैडम मजाक कर रही हैं, इसलिए मैंने मजाक में उनसे कहा कि कुछ मिलाने के लिए है, तो ले आओ.

मोटी मोटी औरतों का सेक्सी बीएफ - देहाती सेक्सी बीएफ भेजो

आप में से भी बहुत से लोगों ने हिन्दी फिल्मों की हिरोइन के किस सीन को देखकर ही मुट्ठ मार ली होगी.उस दिन तो मैं भाभी को ज्यादा समय तक चोद नहीं पाया था तो मुझे खुद पर गुस्सा आ रहा था.

मेरे साइज को जानकर आप भी अंदाजा लगा सकते हैं कि मेरे चूचे कितने बड़े होंगे. देहाती सेक्सी बीएफ भेजो अनुष्का की चूत से अब पानी टपकना शुरू हो गया था जिसका हर के एक कतरा मैं उसकी चूत से बाहर नहीं जाने देता था.

मैंने उसको दोबारा फिर से अपनी बांहों में कस कर टाइट तरीके से हग करते हुए फिर से किस कर दिया.

देहाती सेक्सी बीएफ भेजो?

कुछ देर में दीदी की कराहट भरी अवाजें आने लगीं, मुझे भी उलझन सी होने लगी। तब मैं चुपके से उठी और उस कमरे की तरफ दबे पांव चल पडी. मैं यूनिवर्सिटी जाने के लिए तैयार हो ही रहा था कि मेरे दरवाजे पर दस्तखत हुई. उसकी चूचियों को हाथ से मसला और उसकी दोनों टांगों को थोड़ा चौड़ा करके अपने लंड को हाथ से पकड़ कर उसकी चूत के छेद पर लगाया.

कोलेज के बाद हमारे संपर्क जैसे टूट ही गए थे, इतने महीनों बाद उसे मिला तो मेरा मन जैसे झूम ही उठा. मैंने उसे पतली डोरी वाली पैंटी दिलवाई क्योंकि उसके चूतड़ और जांघें बहुत अच्छे आकर में सुडौल थे. मैंने भी बेशर्म बनते हुए अपनी पेंट में हाथ डाल कर अपने लंड को एक दो बार मसला.

वो एकदम से बोली- ये क्या कर रहे हो आप?मैंने कहा- कुछ नहीं जान, तुझको चोदने के लिए गर्म कर रहा हूँ. मैंने कहा- ठीक है!और रात को अपने कमरे की तरफ से दरवाजा खुला छोड़ दिया ताकि वो जब चाहे खोल कर अंदर आ जाए. मुझे ज्यादा मस्ती छाने लगी थी, मैं उसकी पैन्ट की चैन खोल के उसके लंड को बाहर निकल कर हाथ से हिलाने लगी, जिससे वो और जोर जोर से मेरे चूचों को काटने लगा और चूसने लगा.

उनका सिर मेरे कन्धे पर आ गया, जिस वजह से उनके दोनों स्तन सामने की ओर उभर गए. यह कहानी मेरी खुद की ही आपबीती है जो मेरी गर्लफ्रेंड के साथ हुई थी.

अंकल का हाथ मेरे कंधे पर इस तरह रखा था कि उनका अंगूठा मेरे स्तनों के ऊपरी हिस्से को स्पर्श कर रहा था.

फिर मैंने देर ना करते हुए उसको दूसरी तरफ घुमाया और उसकी गांड को अपने पास में खींचा.

चाची ने अपनी एक फोटो भेजी, जिसमें वो लाल नेट वाली ब्रा और पेंटी में थीं. भाभी ने ऊपर-नीचे होना तेज़ कर दिया और कुछ ही देर में उनकी चूत ने दोबारा पानी छोड़ दिया और वह मुझसे लिपट गई. मैंने पूछा- चड्डी में अंदर तुमने कुछ पहना हुआ है क्या?वह बोली- मेरे पीरियड्स चल रहे हैं.

लेटने की वजह से तौलिया थोड़ा सा खुल गया था, तो मेरा हाथ उनके नंगे पेट को लग गया. उसने बोला- बंध्या, तेरी गांड तो आइटम बम है … क्या गजब की गांड है … तेरे कूल्हे मस्त हैं. अगले दिन बताये समय के अनुसार में उसी जगह पहुँच गया। वो मुझे लेने के लिए आई.

मैंने आहना को नीचे लेटा कर फिर से उसकी योनि में लिंग डालकर उसका मर्दन शुरू कर दिया.

मैडम ने वापसी को लेकर मेरे पीजी में कुछ नहीं कहा था, तो मैं भी बिना कुछ कहे निकल आया. पर एक बात बताओ काका, रात वाली बात आपको कैसे पता चली?रमेश- सुबह जब मैं यहां से गुजर रहा था, तो बाथरूम में से छोटी बहू की कामुक सिसकारियां सुनाई दीं और साथ ही आपकी भी. वो वेटर मुझे देख कर बहुत हँसता था और बाद में मैनेजर सर ने उसको कुछ पैसे दिए कि वो ये बात किसी से नहीं बताए.

मैंने गांड के छेद के ठीक पास में दोनों तरफ अपने दोनों अंगूठे लगाए और छेद को चौड़ा कर जीभ नुकीली कर अन्दर घुसा दी. मामी बता रही थी कि यहाँ पर आने के लिए पता नहीं क्या-क्या घूस देनी पड़ी है तेरे मामा को!ममता ने पूछ ही लिया- मामी ने भला क्या घूस दी यहाँ आने के लिए?सुधा बोली- अरे तू नहीं जानती लाडो! मामी बता रही थी कि यहाँ आने से पहले उन्होंने गांड मरवायी, बुर चुदवाई, मुंह को चुदवाया, दोनों चूचियों के बीच में फंसाकर चुदवाया. उसका साइज़ 34-28-36 होगा। उसको देख कर ही चोदने का मन करने लगा। मगर आज तो मेरा पहला ही दिन था.

मेरी कच्ची जवानी की कहानी के पहले भाग में आपने पढ़ा कि इंग्लिश के पेपर में नकल करते हुए पकड़े जाने पर मैं फंस गई.

अंकल बोले- क्यों?मैंने कहा- मैं अभी टीवी देखूंगा, उसके बाद यहीं सो जाऊंगा. ये सब देखकर मेरा शरीर काँपने लगा और कुंवारी नाजुक बुर में कुछ होने लगा.

देहाती सेक्सी बीएफ भेजो कई बार वहां कोई लड़की मिल जाती है, लेकिन ज्यादातर लड़कियों के नाम पे वहां सब लड़के ही होते हैं. अगले दिन बताये समय के अनुसार में उसी जगह पहुँच गया। वो मुझे लेने के लिए आई.

देहाती सेक्सी बीएफ भेजो फिर मैंने उसकी छाती पर हाथ रख दिया, उसने भी मेरी छाती पर हाथ रख दिए. उस समय मुझे रवि मामा और सभी लोग छोटा ही समझते थे, इसीलिये मेरी बातों को गम्भीरता से नहीं लेते थे.

धीरे धीरे हम दोनों में सीनियर जूनियर का फर्क खत्म हो गया और हम अच्छे दोस्त बन गए.

बिहार का ब्लू सेक्सी

उसके बाद मैंने एक हाथ को उसकी चूत पर लगाया और उसकी चूत को रगड़ना शुरू कर दिया. अब मैंने भाभी की टांगें खोलीं और उसकी चूत देखी, भाभी की चूत पर एक भी बाल नहीं था, शायद नहाने से थोड़ी देर पहले ही भाभी ने चूत शेव की थी. बुड्डे रमेश से रूपा के भरे हुए बदन को ठीक से संतुष्ट करना नहीं हो पाया, तो रूपा ने अपने आस पड़ोस के मजदूरों के साथ संबंध बना लिए थे.

वीकेंड से दो दिन पहले उसे मेरे लैपटॉप में कुछ काम करना था और मेरा फ्लैटमेट भी बाहर गया हुआ था. हम दोनों शादी से पहले भी बहुत बार चुदाई कर चुके थे, इसलिए हम लोगों में कोई शर्म नहीं थी. मैंने देखा कि मोनिका की चूत के आस पास का कपड़ा पूरा गीला हो चुका था.

मैंने उसे को पूछा कि क्या हुआ?पर वो शर्माए और मुझे कुछ बताये ना!मेरे बहुत पूछने पर वो शर्मा कर बोली- मम्मी, वो कुछ करते नहीं हैं.

तभी मुझको याद आया तो मैंने उससे पूछा- अमीषी तुम्हारे पापा? वो कहां रहेंगे?वो बोली- उनको होश ही नहीं रहता, वे दारू में टुन्न रहते हैं, उनकी कोई दिक्कत नहीं है. चूत चुसने से वो एकदम से कराहने लगी ‘उई उम्म्ह… अहह… हय… याह… उइच …’मैं भी पूरे मजे से उसकी चूत पी रहा था और उसके एक चुचे को दबा रहा था. मैं- तुम पीछे होकर मेरे लंड पे बैठ जाओ … मैं मेरा लंड तुम्हारी गांड के नीचे रखता हूँ.

फ्लैट के अन्दर जाकर शीनम ने दरवाजा अन्दर से लॉक कर दिया और हम उसके बेडरूम में चले गए. इससे चूत में बहुत खुजली शुरू हो गई और मैं उछल उछल कर उसके लंड को अंदर करवाना चाह रही थी. उसके लिंग का उभार अंडरवियर पर साफ़ नज़र आ रहा था, मानो मेरे योनि को चीरने के लिए तैयार हो.

उन्होंने कहा- प्लीज़ थोड़ा आयल लगा लो … मेरे हब्बी और ब्वॉयफ्रेंड का भी मिला कर इतना बड़ा नहीं है. रूम में जाते ही लड़के ने कोमल को पीछे से पकड़ कर उसकी टांगों में से हाथ डाल कर चूतड़ चौड़े करके गांड में अच्छे से उंगली पेल दी.

मैं देखने में काफी गोरा हूं और मेरी लम्बाई की वजह से मेरी पर्सनेलिटी भी अच्छी दिखाई देती है. लेकिन सुचेता से मेरी कोई बातचीत नहीं होती थी, उसका छोटा भाई मेरे पास आ जाता था और मेरा अच्छा दोस्त बन गया था। वो भी कभी कभी अपने भाई को बुलाने के लिए हमारे घर आती थी. मुझे पता था कि मुझे सोनू को चोदना है, तो दिन में ही मैं केमिस्ट से एक वाटर जैल ट्यूब ले आया था.

तो मैंने भी कहा- हाँ, पार्टी करने वाले हो तो मज़ा आएगा, मैं भी चलता हूँ.

जरा बच के रहना! जिस पर उसका दिल आ जाता है उसको वह पार के घाट उतार कर ही दम लेती है. उसकी गांड क्या मस्त थी … मेरा मन कर रहा था कि अभी अपना लंड उसकी गांड में डाल दूँ. अब वो भी खुल कर मेरा साथ दे रही थीं, पर उनकी आंखें अभी भी स्त्री लज़्ज़ावश बंद थीं.

मैंने उसको धक्का दिया और उसके ऊपर चढ़ कर उसकी छाती में किस करने लगी और अपनी चूत को उसके लंड पर रगड़ने लगी. अब मैं हर रोज़ जॉगिंग के बहाने उनके सोफे पर बैठ जाता और जैसे ही चाची नहाने जातीं, दरवाज़े की छोटी सी झिरी में से नंगी चाची नहाते हुए देखता रहता.

किसी में लड़का पहले हितेश की गांड मारता है, तो किसी में हितेश लड़के की, बाकी लंड तो दोनों एक दूसरे का चूसते ही हैं, किसी में बारी बारी से, तो किसी में एक साथ … और सब वीडियोज में एक लड़का हितेश होता है, बाकी दूसरा लड़का अलग होता है. मैं उसकी चूत को उंगली से सहलाने लगा, उसकी क्लिट को छेड़ने लगा, उसकी सिस्कारियां निकलने लगी और जल्दी ही उसने पानी छोड़ दिया. रूम में जाते ही लड़के ने कोमल को पीछे से पकड़ कर उसकी टांगों में से हाथ डाल कर चूतड़ चौड़े करके गांड में अच्छे से उंगली पेल दी.

काजल हीरोइन का सेक्सी फोटो

एक हफ्ते बाद लता भाभी के पति मिस्टर हरिदास 20-25 दिन के लिए दक्षिण भारत के टूर पर मार्केटिंग के सिलसिले में चले गए थे.

अब मैंने मम्मी जी का टांग खींचने के लिए कहा- मम्मी जी, क्या आप को भी फिर से उद्घाटन कराना है?सासू माँ- अरे कहां बेटा, मेरा तो हर जगह का कब का उद्घाटन हो चुका है … अब बचा ही क्या है उद्घाटन कराने को …मैं- फिर आपको किस तरह की तैयारी करना है?सासू माँ- बेटा, मुझे चैक करना है कि बंदा जेनुइन है या नहीं? बाद में ब्लैकमेल तो नहीं करेगा … तू टेंशन ना ले, मैं अपने तरीके से जांच पड़ताल कर लूँगी. मैंने देखा कि सीमा ने पजामे के नीचे से लाल रंग की चड्डी पहनी हुई थी. तभी मामी जी ने मेरी ओर करवट ली और उनके बड़े बड़े स्तन मेरे हाथों से टकराने लगे.

मगर कुछ बातें हम औरतें ऐसे पचा लेती हैं कि डकार भी न निकल पाए! मैंने बस दो-तीन बार ऊषा को पिन मारी कि सारा का सारा वाकया उसने मेरे सामने उगलते हुए अपने मुंह से उल्टी कर दी. मैंने अपनी एक टांग उठाई और उसकी मोटी जांघों से बीच में उसके लंड वाले एरिया पर रख दी जिससे मेरा घुटना उसके लंड से टच होने लगा. सेक्सी बीएफ बुर की चुदाई हिंदीउसका नाम है उसका बैड मैन … जी हाँ सही सुना आपने बैड मैन!खैर उसका सही नाम जान कर क्या करना है.

बाइक को साइड में खड़ी कर उन दोनों ने अपने कपड़े उतारे और आकर सीधा नंगी पड़ी रिया के ऊपर चढ़ गए. तभी अचानक सोनिया वहां आ गई और उसने बुआ से पूछा- क्या बात है, आप रो क्यों रही हो?तो बुआ ने उसे पूरी बात बता दी.

उसके बाद रीना ने मेरे लंड को आधी लंबाई तक अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगी. जब उसकी गांड का छेद बड़ा हो गया मैंने मेरा ज्यादा लंड उसकी गांड में डाल कर उसे मैंने दबोच लिया. उसने मेरी जांघों को पकड़ा और फिर एक उंगली से पैंटी एक तरफ खींच कर मेरी योनि को खोल दिया.

अब वो नीचे से पूरी नंगी थी, उसकी चूत पर छोटे-छोटे बाल थे और उसे देखकर तो जैसे मेरे बदन मे बिजली सी मचल गयी थी. मैं ऐसे ही उसके ऊपर ही लेटा हांफता रहा और वो मेरी कमर और मेरे बालों को सहलाती रही. मेरा लंड अभी आधी सोई हुई अवस्था में ही था मगर उसका साइज मेरी फ्रेंची में साफ-साफ पता चल रहा था.

वो मेरे साथ ऐसा बर्ताव कर रही थी कि जैसे हम बचपन से एक दूसरे को जानते हैं, पर बिछड़ गए थे और आज सालों बाद मिले हैं.

इस प्रकार हमारी जान पहचान शुरू हुई और उसी शाम सब्जी लेने बाहर निकली तो लौटते समय उससे दोबारा बातचीत हुई. अब आरती ने कहा- नहीं प्रसंग, आज का दिन मेरा नहीं है, आज पुन्नी का दिन है, उसे मस्त करो और यह चूत चटवाने की बहुत शौकीन है, ज़रा आज इस को अपनी ज़ुबान का करतब भी दिखा दो.

मेरी दोनों जांघों को चाटने के बाद सर ने मेरी चूत में अपनी दो उंगलियों को डाल दिया और मेरी चूत में अपनी उन दोनों उंगलियों को अन्दर बाहर करने लगे. थोड़ी देर बाद मैंने एक जोरदार धक्का और मारा तो मेरा लंड लगभग पूरा अंदर चला गया और वो तेज तेज चिल्लाने लगी. अब मैंने अपना हाथ उनकी पैंटी में डाला और उसकी गांड को फील करने लगा.

अगले दिन बताये समय के अनुसार में उसी जगह पहुँच गया। वो मुझे लेने के लिए आई. … सॉरी नीतू, गलती से वहां पर चला गया, तुम उठ जाओ अब, आज का कोर्स पूरा हो गया. मैं वहां जाके खड़ा हो गया, सामने से एक रेड कलर की कार आयी और उसका गेट खुला.

देहाती सेक्सी बीएफ भेजो तो जैसा कि आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपने दोस्त की बहन की चूत चोद दी थी और उसके बाद मेरा उसके साथ अफेयर शुरू हो गया. फिर बड़े ज़ोर ज़ोर से झटके लगा कर उसने अपना सारा माल मेरी गांड में ही छोड़ दिया.

खेसारीलाल

थोड़ी देर चूत में उंगली करने के बाद फिर मिसेज पाटिल ने मुझे फिर से बेड पर धक्का दे कर लिटा दिया. उसकी गोरी चिकनी बांहें, उसकी क्लीवेज और सफेद फूलवाली हॉट ब्रा मेरे सामने थी. मेरा मन आपको देखते ही बेकाबू हो गया है तुम तो मेरे दिल की मल्लिका हो.

ठीक है! चलो अब आप नीचे जाओ, इससे पहले की यह और कोई देखे मुझे हमारे कामलीला के सबूतों को मिटाना है. अंकल ने अपना एक हाथ मेरे पीठ पर लेकर आ गए और दूसरा हाथ मेरे सिर के पीछे ले आए. सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी चुदाईमेरी उत्तेजना और अधिक बढ़ने लगी और मैं पूरी तरह से उसका सहयोग देने लगी.

मैंने उसकी दोनों टांगें फैला के उसके घुटनों को उसकी चुचियों पे लगा दिया, तो उसकी छोटी सी बुर ने अपना छोटा सा मुँह खोल दिया.

मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागजीजा के साथ मेरा सुहागदिन-1में आपने में पढ़ा कि मैं दीदी के घर में जीजाजी के साथ अकेली थी और मेरी जवानी की प्यास, कामवासना उफान पर थी. हम कुछ देर बाद अलग हुए और बाथरूम से निकल कर अपने बेडरूम में चले गए.

और न ही आपके जैसे चूचे हैं उसके …भाभी- ये तो आपके भैया के झूठे हैं, कही और मुँह मारो. मैंने अपनी एक उंगली उसकी चूत की दरार में फिरायी तो मेरी बेटी के बदन में जैसे सिरहन सी हुयी. मैंने सोचा था कि पूरा चला गया मगर पहले शॉट पर केवल दो इंच ही गया था.

मीरा- ही ही ही ही ठीक है तो जल्दी आ … मुझे घर के बाहर आ के कॉल करियो … बाय बाय आई एम वेटिंग फॉर यू बेबी.

कुछ दिन रहने के बाद ननकू शहर चला गया पर मीना के दिल में भय सा बैठ गया. प्रिय अन्तर्वासना पाठकोजनवरी 2019 प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच बेस्ट सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …. उन्होंने भाभी के मम्मों को लाल कर दिया था और बुरी तरह से मम्मों को मसल रहे थे.

हिंदी सेक्सी फुल बीएफमेरा अंडरवियर गीला हो गया और उसका कुर्ता भी मेरे लंड के माल से गीला हो गया. मैंने उसके आंसू पौंछे, उसे प्यार किया, उसके कंधों पर हाथ रख कर कहा- मेरी जान, मैं तुम्हें छोड़ कर कहीं नहीं जा रहा.

సెక్స్ ఆడియో వీడియో

मैं बोला- भैया टुन्न हो कर सो गए हैं और मैंने छत का दरवाजा भी बंद कर दिया है. दस मिनट मुझे यूं ही हचक कर चोदने के बाद उसने मुझे घुमा दिया और फ्लश के पास टिका दिया. मैनेजर सर ने मुझसे बात करते करते मुझसे पूछा कि तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है?मैंने मैनेजर सर को बोला- नहीं सर मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है.

वह कहने लगी- राज! ऐसे तो बहुत मज़ा आ रहा है, तुमने यह सब कहां सीखा? प्रोफेसर साहब ने तो कभी कुछ किया ही नहीं. इसी बात का फ़ायदा उठा कर उसने मीना के मन में जगह बनाने की कोशिश शुरू कर दी. उसे लगा कि अगर ननकू गाँव में रहा तो उसके जिस्म को प्यासा रहना पड़ेगा.

भाभी के नाखून मेरी पीठ को आकर खरोंचने लगे तो मैंने तुरंत उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये. मैंने जाते ही भाभी के बिल्कुल पीछे खड़े हो कर अपना लंड उनकी गांड पर टच कर दिया. तो विजय ने पूछा कि माला तुम्हारा कोई ब्वॉयफ्रेंड है या नहीं?इस पर माला एकदम से हिल गयी कि ये कौन सा सवाल पूछ लिया.

जल्दी ही वो शर्ट लेकर आ गया और मेरे पास ही खड़ा होकर मुझे साड़ी खोलते हुए देखने लगा. तभी मेरा हाथ आहना के स्तन पे आ गया और मैं उसके स्तन उसके ब्लाउज के ऊपर से ही दबाने लग गया.

तब बृजेश आगे आ गया, अब प्रेम और बृजेश के लंड मेरे मुंह में जाने लगे.

उसके जुबान का स्पर्श पड़ते ही मेरी योनि की नशे कड़क होने लगीं और योनि की दीवारों से चिपचिपा पानी रिसना शुरू हो गया. इंग्लिश बीएफ वीडियो फुल एचडीमैंने भाभी के हाथ में अपने हाथ में पकड़ लिया और भाभी मुझे चोदने लगीं. इंग्लिश बीएफ सेक्सी ब्लू पिक्चरबूब्स एकदम सीधे खड़े थे। मैंने अपना एक हाथ पूनम के गले से अन्दर डाल दिया और एक बूब्स को पकड़ कर ज़ोर से दबाया तो मामी तड़प उठी।मैंने अपना हाथ बाहर निकाला तो मामी बोली- बस और नहीं देखने 34 इन्च के बूब्स?तो मैंने कहा- अभी नहीं।फिर मामी बोली- तुम उस समय मेरे सामने बिल्कुल नंगे खड़े थे, तुम्हारा लन्ड बहुत लम्बा है. अब मैंने अपना हाथ उनकी पैंटी में डाला और उसकी गांड को फील करने लगा.

मैंने कई बार अनुष्का की कामुक आवाजें वैन में सुनी थी मगर आज तो मैं खुद अपने मुंह से कामुक आवाजें निकालने पर मजबूर हो गया.

मैंने उससे पूछा- कैसा लगा?उसने कहा- मुझे बहुत अच्छा लगा, पर तुम्हारा दोस्त होता तो और मज़ा आता. मैंने उनसे कहा इसमें मुझे कोई दिक्कत नहीं है, यह कमरा आप अपना ही समझो और मुझे आप अपना छोटा भाई समझो. इसके अलावा वह खेतों में मेहनत करते तो इनके जिस्म और कपड़ों से मस्त महक आने लगती थी.

वो अपनी सफाई देना चाहते थे मगर इससे पहले कि वो कुछ बोल पाते मामी कह उठी- अरे मेहमान जी! ऊषा चीज ही ऐसी है. यानि उसने मेरे तने हुये लंड को अपनी फुद्दी के नीचे इस तरह से सेट किया कि वो उसकी दोनों जांघों की गहराई में बड़े अच्छे से फिट हो गया।मैंने उस से पूछा- तुम्हें पता है कि इस वक़्त किस चीज़ पर बैठी हो?उसने हाँ में सर हिलाया।मैंने पूछा- क्या है?वो धीरे से बड़ी मीठी सी आवाज़ में बोली- लंड।कितनी मिठास थी उसकी आवाज़ में। अब मुझे बड़ी तसल्ली सी हुई कि ये भी पूरी तरह से मन बना कर आई है. वो मुझे बताने लगे कि खेतों में भेड़ बकरियां चराने के लिए जो गड़रिये आते हैं, उनकी महिलाओं और लड़कियों की चूत भी उन्होंने कई बार ली है और उन्होंने मुझसे भी पूछा कि क्या मुझे चूत के दर्शन करने हैं, यदि हां तो वह मुझे भी जल्दी ही चूत दिखाने का जुगाड़ लगाएंगे.

सेक्सी बीपी सेक्सी भाभी

मैंने उसे फिर अंग्रेजी में लिखा कि हम दोस्त ही रहेंगे लेकिन मेरे लिए अपने आप को उसके सामने कण्ट्रोल करना बहुत मुश्किल होगा. तभी कल्पना अपने रूम से आईं और रत्ना से पूछा- घर का सारा काम हो गया या कुछ बाकी है?रत्ना- जी दीदी, सब हो गया है. भाभी कहने लगी- मुझे लगता है आज तुम मेरी जन्म-जन्म की प्यास बुझा दोगे.

अब मैंने अपनी जीभ से उनकी चूत के ऊपर की घुंडी को सहलाना शुरू किया, तो वह और ज़ोर-ज़ोर से गांड हिलाने लगी.

मैंने फिर से लंड डाला और थोड़ा जोर लगाया तो वो चीख उठी और बोली- आराम से … मेरे पति मेरी चुत के साथ ज्यादा कुछ कर नहीं पाये, इसलिए आराम से करो.

चूंकि मैं भी रात में कपड़े उतार कर ही लेटता हूँ, तो मेरी नंगी छाती भी उसे दिख रही थी. सलोनी को मैंने पीठ के बल सीट पर लिटा दिया और एक बार फिर चूत में लण्ड डाल कर धक्के लगाने शुरू कर दिए. पाकिस्तानी लड़की का सेक्सी बीएफमैं उधर से अपने साथ में पक्का रंग और पानी सब लेकर आया था … ताकि घर जाते ही भाभी को रंग लगा सकूं.

मैंने सोनू से पूछा- दर्द हो रहा है?सोनू ने कहा- दर्द तो नहीं हो रहा है लेकिन ऐसा लग रहा है जैसे मेरी चूत में कोई मोटा डंडा अड़ा हुआ है. मगर कुछ बातें हम औरतें ऐसे पचा लेती हैं कि डकार भी न निकल पाए! मैंने बस दो-तीन बार ऊषा को पिन मारी कि सारा का सारा वाकया उसने मेरे सामने उगलते हुए अपने मुंह से उल्टी कर दी. मेरी इस बात पर वो भी हंस दी और फ़ोन कट करके उसने मुझको एसएमएस किया कि रात को सोना नहीं, मैं कॉल करूंगी.

उसने भी लंड निकाल कर अपना रस मेरे पेट पर निकाला और वो मेरी चूत चाटने लगा. उनके नंगे बदन को देख कर रात की घटना अब मेरे दिमाग में आने लगी थी और मेरा ध्यान मामी जी की चिकनी चमकती हुई गुलाबी चूत पर केंद्रित हो गया.

वो चारों गाड़ी से उतरे, वे चारों ही पहवान किस्म के थे … जबकि उनके मुकाबले मैं एकदम दुबला पतला हूँ.

आशीष अब बिल्कुल हांफने लगा, मैं करीब दो-तीन मिनट तक उसका लंड चूसती रही. मगर फिलहाल मेरी चूत में इतनी गर्मी भरी हुई थी कि बस चाह रही थी कोई उसके अंदर लंड को डाल दे, चाहे लंड छोटा हो या बड़ा. देखने लगी, भाभी ऊपर अपने कमरे में चली गयी, मैं चाचा जी के साथ गप्पें लगाने के लिए गेस्ट रूम में रुक गयी। अक्सर हम बहुत देर तक गप्पें मारते रहते हैं।बात करते करते 11 बज गए, भाभी ने आवाज मुझे लगाई- कोमल, आज सोना नहीं है क्या?पर मेरा मन चाचा जी के साथ लगा हुआ था, मैंने उनको मना कर दिया कि मैं यहीं सो जाऊँगी.

सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी बीएफ चुदाई एक कज़िन से जो आरती का पति है, दूसरा मेरी पति और बाकी के चार जो आरती ने दिलवाए. अभी अभी मेरी बारहवीं के एग्जाम खत्म हो गए थे, मम्मी और पापा दोनों जॉब करते थे, इसलिए मैं दोपहर को घर में अकेली ही रह जाती थी.

मैंने अपनी दो उँगलियाँ उनकी गीली चूत में घुसा दीं, और अंदर बाहर करने लगा. भाभी- अच्छा प्रणय, तुमने अभी तक कोई जीएफ पटाई या नहीं?मैं- हां भाभी पटाई है न. उसके बाद जब भी टाइम मिलता, हम दोनों मैं और आशीष डेली फोन में हर दिन तीन चार घंटे कभी-कभी छह-सात घंटे तक आपस में बात करने लगे.

सुहागरात चुदाई सेक्सी

अरे नीतू बेटा सुनो तो, मुझे एक रिसर्च करना है, इसके लिए मुझे तुमसे एक किस चाहिए. चुदाई इतनी कामुक हो चली थी कि हम दोनों सेक्स करते करते तेज स्वर में चुदासी आवाजें निकालने लगे. गूं गूं गों गों करती ज़रीना दर्द से कराही।थोड़ी देर की बात है जानू, मेरा लंड तुम्हारी गाँड में घुस रहा है.

फिर वो लड़का पूरा लंड पेल कर रिया के ऊपर लेट गया और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. तो मुझे अगली बार उनकी तबीयत खराब होने तक इंतज़ार करना था उनके साथ असली चुदाई करने के लिए.

बस दूध ही पिलाई है बहन की लौड़ी। अभी तक चूत के दर्शन भी न कराये हैं.

वो कुछ देर मेरी चूची को चूसने के बाद उठे और उन्होंने मेरी सलवार निकाल दी. प्रिय अन्तर्वासना पाठकोजनवरी 2019 प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच बेस्ट सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …. उसके बाद मैंने और उसने 2 बार और चुदाई की और फिर हम साथ मिल के नहाये.

मैंने पूनम को बेड पर लेटाया और उसकी दोनों टांगों को पूरा आगे करके लंड को उसकी चूत में डाला और धीरे-धीरे धक्के देने लगा. अब मेरा लंड भी अकड़ रहा था और मैंने भी अपने लंड का रस उसके मुँह में गिरा दिया. संजय- पहला सवाल, कोमल क्या तुम्हें हम दोनों के साथ अच्छा लगता है?कोमल ने नशे की पिनक में कहा- हां अच्छा लगता है.

यह सोचकर मैं बहुत खुश हुआ कि इसी बहाने मामी जी के दर्शन भी हो जाएंगे.

देहाती सेक्सी बीएफ भेजो: एक हफ्ते तक दोनों की अच्छी बनी और मुझसे जितना हो सका, मैंने अपने अनुभवों से प्रीति का मार्गदर्शन किया. विनय ने मेरी दीदी की के चूचों को हाथ में ले लिया और उनको दबाने लगे.

बेड पे आते ही मैंने भाभी की पैंटी निकाल ली और अपने लंड पे कंडोम चढ़ाने लगा. उनके 34 इंच के तने हुए चुचे देखने में ऐसे लगते थे कि मानो दोनों ने तोतापरी आम लगा रखे हों. वो मेरा सिर अपने हाथों से इतना दबा रही थी, जैसे मुझे पूरा चुत में घुसा लेगी.

अब आगे:नींद सपना को भी नहीं आ रही थी; थोड़ी देर बाद उसने मेरी तरफ करवट ली और बोली- लगता है आपको नींद नहीं आ रही है … तभी तो मोबाइल में लगे पड़े है कितनी देर से!यार, तुम जैसी हसीन खूबसूरत लड़की अगर बराबर में लेटी हो तो जल्दी नींद कैसे आएगी?” मैंने मजाक करते हुए कहा।तो क्या चाहते हैं आप?”कुछ नहीं … बस मुझे तो लिपट के सोने की आदत है.

फिर उन्होंने अपनी टाँगों को फैला दिया और मेरे हाथ को पकड़कर अपनी चूत के छेद पर रख दिया. यह सोचकर मैं खिल गयी।पापा ने मुझे अपनी बांहों में उठाया और बेड पे लेजाकर मेरे कपड़े उतारने लगे. वो मेरे बालों को पकड़ कर अपने लंड को जबरदस्त तरीके से मेरी गांड में अन्दर बाहर करते हुए बोल रहा था- ले साली रंडी … माँ की लौड़ी छिनाल अब मुझसे ऐसे ही चुदने की आदत डाल ले कुतिया … आआहह … ले पूरा लंड अन्दर ले.