बीएफ हिंदी अंग्रेजी

छवि स्रोत,घड़ी सेक्सी फिल्म्स

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ कोरोना: बीएफ हिंदी अंग्रेजी, इस पर राजू चाचा ने चौंकते हुए कहा- क्या कब, कहां, कैसे?संध्या चाची अपनी जीभ की नोक से लंड के छेद को कुरेद कर बोलीं- हम पक्की वाली सहेलियां जो हैं, हर बात एक दूसरे से शेयर करते हैं.

सेक्सी ऑडियो डाउनलोड

भाभी ने सेक्सी सी ब्रा और पैंटी निकालकर पहनी और उसके बाद एक पारदर्शी हल्के लाल रंग की नाइटी पहनकर मेरे साथ लेट गयी. ब्लू पिक्चर सेक्सी भारतीयमेरी पिछली कहानी थी:गलतफहमी में चुदाई का मजाअभी मैं अपनी एक अलग किस्म की सेक्स कहानी, जो शायद मेरी तरह आपको भी पसंद आएगी, लिख रहा हूँ.

मैंने लंड से चुदाई की की रफ्तार बढ़ा दी और टाइट चूत के अंदर-बाहर करने लगा. एन एक्स एक्स सेक्सी वीडियोफिर उसकी एक टांग अपने कंधे में ले ली और दूसरी फर्श पर लटका कर उसकी फुद्दी में लंड डाल कर चोदने लगा.

मैं रसोई में गया और सायरा को पीछे से कसकर पकड़ लिया और उसके गालों पर, गर्दन पर चुम्बन की बौछार करने लगा.बीएफ हिंदी अंग्रेजी: फिर फोन नम्बर एक्सचेंज हुए … तो हंसी ठिठोली से बातें शुरू होकर मुहब्बत की शायरियों तक मामला आ गया था.

फिर उसने पूछ लिया- अभी करना है या पहले खाना खा लें?मैं एकदम से चुप हो गया और फिर सोचने लगा कि जब गांड चुदाई करवानी ही है तो पहले ही चुदवा लो, खाने के बाद क्या होगा.मैंने बिन्नी की स्कर्ट को पीछे से उठाकर अपने लण्ड को उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी भरी हुई गाँड में फिट कर दिया.

पालतू कुत्ता और लड़की का सेक्सी वीडियो - बीएफ हिंदी अंग्रेजी

क्या तुम मुझे ये सुख नहीं दोगी?मामी बोलीं- आज नहीं … फिर कभी ट्राइ करूंगी.मेरी कुंवारी बुर की पहली चुदाई कैसे हुई- 3अब तक आपने जाना था कि चाचा जी मुझे एक बार चोद चुके थे और अब मेरा मन दुबारा चुदने का हो गया था.

मुझे ब्रा में अपनी पति के सामने खड़ी रहना काफी उत्तेजित कर रहा था।उन्होंने मुझे अपनी तरफ घुमाया और मेरी चूचियों की घाटी को हवस भरी निगाहों से घूरा और उनके खुले होंठों से एक ही शब्द निकला- आह्ह!उनके इस एक शब्द के पीछे के बाकी शब्द भी मैं जानती थी- आह्ह … क्या बूब्स हैं।उन्होंने कहा तो नहीं लेकिन कहने में कोई कसर भी नहीं छोड़ी।मैं जानती थी कि मेरी चूचियां कितनी आकर्षक हैं. बीएफ हिंदी अंग्रेजी तकरीबन 15 मिनट बाद मेरे शरीर में ऐंठन सी होने लगी और मेरी सारी गर्मी चुत से लावा बनकर निकलने लगी.

असल में जोर से करने में बहुत से लौंडे मेरे लंड घुसते ही चिल्लाने लगते हैं.

बीएफ हिंदी अंग्रेजी?

संजना ने अपने होंठों पर हल्की गुलाबी लिपिस्टिक लगाई थी और कानों में बड़े से ईयरिंग पहनी हुई थी. उधर कमली रेशमा को बाथरूम में ले गयी और उसको बोली- चुत पर गर्म पानी डाल कर उसे धो लो. मेरी कमर के पीछे किसी ने अपनी छाती सटा दी और अपने बाएं हाथ से मेरी छाती से मुझे दबोच लिया.

उसने अपने लिए नयी सेक्सी ब्रा और पैंटी, हाई हील सैंडल, नयी ड्रेस वगैरह आदि की खूब खरीदारी की थी. कुछ ही देर में सूरज भी आ गया और उसने वैसलीन ला कर बेड के पास रख दी. प्रियंका- साली तू भी तो चुदना चाहती है ना … तो शर्म कैसी! खुल कर चुद न!वो भी उसके निप्पल मसल कर मजा लेने लगी.

अनामिका बोली- अरे मतलब यही ना कि मैं जीजू से रगड़ कर चुदने वाली हूँ. मासी गनगना उठीं और गर्म सिसकारियां भरने लगीं- आह जोर जोर से चूस ले … अह अह अभय … चुत की मां चोद दी तूने. दोस्तो, आज इतना ही, कल मैं अपनी सेक्सी इंडियन वाइफ स्टोरी में आगे लिखूंगा.

उसने कमरे में मेरे साथ थ्रीसम सेक्स के लिए एक अतिरिक्त दीवान की बात के लिए भी अपनी मकान मालकिन आंटी से बात करने के लिए हामी भर दी थी. मैंने पूरी बात समझी तो मालूम हुआ कि उस लड़के ने मासी की कुछ फोटो हासिल कर ली थीं और उनको फोटोशॉप से अश्लील बना कर वो मासी को चुदाई के लिए ब्लैमेलिंग करने लगा था.

वो जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी- आहा ऊऊओ ययाआ और जोर से चोद मादरचोद!मैं उसे और जोर से चोदने लगा.

ये फ्लैट तो मैंने आप जैसी खूबसूरत और जरूरतमंद औरतों को रात भर प्यार करने के लिया है.

रोज रात को ड्राइंग रूम में बड़ी एलईडी पर पोर्न मूवी चलती और फिर जमकर सेक्स होता. मासी मादक सिसकारियां लेने लगीं- अह अह … अभय चूसो … आह मैं बहुत प्यासी हूँ. मैं बोला- क्या मसला है पिद्दू आदमी? मैंने सोचा कि कम से कम तुम ये हल्का दर्द तो सहन कर ही लोगे.

मैं- नहीं … मैं कैसे कर सकता हूँ?वो- नहीं … नहीं … मार ही लो, मुझे भी तो याद रहेगा कि मैंने गलती की थी. और मैं तुम्हें ऐसे देवदासी की तरह नहीं देख सकता इसलिए मैं तुमसे प्यार करता रहूंगा … और हमेशा तुम्हारे साथ रहूंगा. तो मैंने अपने दोस्त को बोला कि साला चूतिया एप है … अक्खा दिन खोटी हुआ और कोई मैच नहीं मिला.

मैंने पूछा- ऐसे ही करते हो क्या?वो एक बार तो नजर हटाने लगी लेकिन फिर उसकी नजर मेरे लंड पर गयी.

उनके जाते ही स्वाति भाभी मेरे पास आईं और अपने हाथ से मुझे पिज्जा खिलाने लगीं. मैं उसके उरोजों और निप्पलों को मींजते हुए उसकी पीठ पर अपनी जीभ फिरा रहा था. मेरे दोनों हाथ मामी की पीठ को सहला रहे थे और मामी मेरे सिर मेरे पीठ को सहला रही थीं.

मैं- मतलब तुम्हें अच्छा लगा जब उन्होंने मुझे तुम्हारा हज़्बेंड बोला?वो- तुम भी ना … कुछ भी मतलब निकाल लेते हो!मैं- तो बताओ बात क्या है, दोस्त मदद करने को होते हैं. मैं झट से उसके लंड के ऊपर चुत फंसा कर चढ़ गई और अपनी गांड उठा उठा कर उसका लंड अब अपने अन्दर तक लेने लगी. मैंने अपने बैग से एक मोटी जैकेट निकाल कर पहन ली और फ्रेश होने के लिए बाथरूम में चली गयी.

वो- और वो कैसे?मैं- देखो, पिछले दो दिन में तुम हर पल हंसती आ रही हो कि नहीं?वो- हां ये तो है, मैं तो हंसना भूल ही गयी थी … मगर जब से तुमसे दोस्ती की है … तो फिर से हंसना सीख गयी.

उस पर फिर उसका लंड इतना दमदार था कि मेरी चूत पांच-सात मिनट से ज्यादा टिक नहीं पाती थी. थोड़ी देर में ट्विंकल का दर्द कुछ कम हुआ … तो वो खुद ही अपनी कमर उचकाने लगी.

बीएफ हिंदी अंग्रेजी इसी सोच के साथ मैं उठ कर पड़ोसन भाभी के दरवाजे को ठोकने के लिए चल पड़ा. क्योंकि कल रात भर तो वो मेरे साथ मेरे कमरे में मेरी ले रहा था, तो कैसे होटल में दिखता.

बीएफ हिंदी अंग्रेजी जिस तरह मोहित संध्या को चोद रहा था, उस तरह डॉक्टर ने कुछ भी नहीं किया था. मैं- कसम से सच कह रहा हूँ अगर तुम्हारी शादी ना हुई होती … तो मैं तुमसे शादी कर लेता और रोज तुम्हारे खाने की तारीफ करता और रोज मुझे टेस्टी खाना खाने को मिलता.

शायरा का दर्द तो अब कुछ कम‌ हो गया था … मगर अभी तक ना तो मैंने अपना पूरा लंड अन्दर डाला था … और ना ही खुलकर धक्के लगा रहा था.

बीएफ xxx हिंदी में

मैं भी उनकी कमर और उनके बालों में आनंद के मारे हाथ फिराने लगी।मेरी पैंटी पर उनका लिंग मुझे टक्कर मारता हुआ साफ महसूस हो रहा था. वो- तो क्या हुआ? जब उसके साथ इतना‌ कुछ हो गया था, तो शादी भी कर लेते. मैं बोला- अच्छा कल्पना … ये बताओ आज तक पहले ऐसा मज़ा मिला था!मामी- सच बोल रही हूँ … आज तक मैंने कभी बिना चुदे हुए कभी मेरा पानी नहीं निकाला था … लेकिन राहुल तुमने ऐसा मज़ा दिया है कि मत पूछो.

इसी वजह से बस में भीड़ कम थी।ज़्यादातर मैं बैठने के लिए विंडो सीट ही पसंद करता हूँ. मैंने अपनी उत्तेजना और ख़ुशी को छिपाते हुए पूछा- अब क्या करना है … बुला लूँ पंकज को?सुमन ने निर्लज्ज तरीक़े से पूरी रंडियों वाली मुद्रा में जवाब दिया- और क्या … इसीलिए तो आयी हूँ. तो अन्तर्वासना के प्रिय पाठको, वो सवाल और उसका जवाब और मां की चुदाई का आगे का हाल क्या और कैसे हुआ, उन सबके जवाब मैं मादरचोद सेक्स कहानी के अगले अंक में लिखूंगा.

मानवेन्द्र भी इशारा समझ गया और अपना चश्मा हटाते हुए भूखे शेर की तरह मेरी तरफ देखा.

संजू पूरी मस्त होकर जोर जोर से सीत्कार भरने लगी, जिसे विक्रम सुन रहा था. मैंने होंठों की बजाए गालों पर ही किया था, फिर भी शायरा का चेहरा देखने लायक था. कुछ देर शायरा के होंठों को चूसने के बाद मैंने अपने लंड को अब धीरे से एक बार फिर से अन्दर किया और शायरा के होंठों को चूसते हुए लंड को धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा.

नई लौंडिया को पाने की कामुकता में मैंने जल्दी से उसकी टी-शर्ट के अन्दर अपने हाथ घुसेड़ दिए. मन कर रहा था कि आज खुद ही आगे बढ़कर उसको बेड पर लिटा लूं और उसको नंगी करके चोद दूं. हॉट लड़की की वासना की कहानी में आपको कितना मजा आया? मुझे कमेंट्स में बताएं.

मैं उठकर कपड़े पहन ही रहा था कि बाहर का मौसम देखा जो खराब हो चुका था. मेरी आंखों के सामने वही नजारा बार-बार घूम रहा था कि कैसे वो मेरे दोनों निप्पलों को अपनी उंगलियों से मसल रहा था, कैसे उसने मेरे गांड में उंगली डाल दी थी, कैसे वो मेरी चूत की फांकों को रगड़ रहा था.

उसने मेरे लंड को पहले चूमा और फिर अपने मुँह में लेकर आगे पीछे करने लगी. मैं सायरा को अपने से अलग करके वाशरूम की तरफ जाने लगा, पर मुझे कुछ याद आया, तो मैं रूक गया और पलट कर सायरा को देखने लगा. मैंने मां को किस करते हुए उनके होंठों को दबा लिया ताकि उनकी तेज स्वर की मादक आवाजें बाहर ना जा सकें.

वो- अब तुम्हें कैसे बताऊं, तुम पीछे पड़ गए, तो वो मैंने ऐसे ही बोल दिया था.

मगर एक डर भी लग रहा था कि कहीं कोई जाग न जाए और खामखां में रायता फ़ैल जाए. वहीं पास में पनवाड़ी की दुकान थी तो अजय ने लड़कियों से पूछा कि क्या मैं सिगरेट ले लूं. राजू चाचा- संगीता मेरी प्यारी भाभी, आज अपने इस देवर से एक बार चुदवा कर तो देखो … मैं आपको खुश कर दूंगा.

शायरा भी मेरे साथ साथ अपने कूल्हों को ऊपर उचका उचका कर मेरा साथ दे रही थी. वो- श्श्श्श्शस … क्या कर रहा है? चिल्लाकर अब सबको बताना है क्या?मैं- ओह … सॉरी सॉरी … पर मैं क्या करूं … मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा, लग रहा खुशी से मैं पागल हो जाऊंगा.

धान की कटाई के लिए मामा ने 4 औरतें 2 लड़कियां और 3 आदमियों को लगा रखा था. मेरी हॉट लंड सेक्स स्टोरी के पिछले भागगर्लफ्रेंड की सहेलियों संग रासलीला- 3अब तक आपने पढ़ा था कि अनामिका और प्रियंका ने एक दूसरे को चोद कर अपनी अपनी चुत से पानी निकाल दिया था. वो मुझे पूरी रफ्तार से चोदने लगा और मैं भी उससे पूरी उत्तेजना में चुद रही थी.

बीएफ पिक्चर राजस्थान की

फिर मैं पूजाबुआ की चूत की चुदाईउनके घर में करके अपने गांव आ गया था.

वो आगे बोला- जितना तुम्हारे बारे में राजेश ने बताया था, तुम उससे दो कदम आगे हो. प्रिया ने उसको जकड़ लिया और फिर दोनों हॉट चुदाई के समुंदर में गोते लगाने लगे. करीब 15 मिनट से हम दोनों लगातार संघर्ष किए जा रही थीं और अब अपने भीतर उफ़ान मार रही ज्वाला को उगल देना चाह रही थीं.

उसने अपना दूसरा हाथ मेरी चूची पर पूरी तरह से रख दिया और हल्के हल्के से दबाने और सहलाने लगा. वो- तुम्हें कैसे पता कि दिन में मकान मालकिन खाना दिया था … जो मैंने‌ खाया नहीं?मैं- आज दिन में तुम्हारे दरवाजे के पास ये खाने का डिब्बा मैं ही रख कर गया था जो वैसे का वैसे ही रखा हुआ है. बाबा की सेक्सी चुदाईमासी ने ख़ुशी से मेरे चुम्बन का जवाब चुम्बन से दिया और जोर से मेरे होंठों को अपने होंठों में दबा लिया.

मैंने एक स्पेशल जैली लगे वाले कंडोम का प्रयोग किया था, इसलिए उसे लंड की रगड़ाई से चुत में होने वाला दर्द कुछ कम होने वाला था. रियल मासी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी सगी मासी के घर रह कर जॉब कर रहा था.

फिर मां ने वरुण के लंड से उतर कर लंड को मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. सुबह होते-होते मैंने इतना तय कर लिया कि जब तक मैं जिन्दा हूं, सायरा के जिस्म को इस तरह से परेशान नहीं होने दूंगा. शायद उसका बॉयफ्रेंड भी रंगीला रहा होगा जिसने उसको लंड के साथ खेलना अच्छे से सिखा रखा था.

तो मैंने आफ़िया भाभी को देखते हुए काफ़ील को बोला- आपको मालूम होगा कि मैं शराब का नशा नहीं करता हूँ. मुझे ब्रा में अपनी पति के सामने खड़ी रहना काफी उत्तेजित कर रहा था।उन्होंने मुझे अपनी तरफ घुमाया और मेरी चूचियों की घाटी को हवस भरी निगाहों से घूरा और उनके खुले होंठों से एक ही शब्द निकला- आह्ह!उनके इस एक शब्द के पीछे के बाकी शब्द भी मैं जानती थी- आह्ह … क्या बूब्स हैं।उन्होंने कहा तो नहीं लेकिन कहने में कोई कसर भी नहीं छोड़ी।मैं जानती थी कि मेरी चूचियां कितनी आकर्षक हैं. उसकी चूचियों को दबाते हुए मैं चोदता रहा और वो मेरे लंड पर उछलती रही.

मैं आंखें बंद करके इस पल का आनन्द लेते हुए सोफ़े में ऊपर नीचे होने लगी.

अब उसके दो बच्चे भी हैं लेकिन जब भी वो आती है तो हम मिलते जरूर हैं. डॉक्टर ही क्यों, जैसा आज डॉक्टर ने मेरे साथ किया था, मोहित भी तो कर सकता है.

हम दोनों ने ज्यादा बात नहीं की लेकिन नीरव ने एक बार फिर से मेरी गांड चोद दी. मैं आज से सिर्फ तेरी हूं, ऐसे चोद दे मुझे कि मुझे किसी की जरूरत ही ना पड़े. मैं उसके निप्पल पर जीभ से चाट रहा था और बीच बीच में काट भी लेता था.

इस दौरान मैं भी उनके खुले बालों को पकड़ कर उनके मुंह को ऊपर नीचे करने लगा. यह न्यू स्टोरी ऑफ़ सेक्स तब की है जब मैं 18 साल से कुछ महीने ऊपर का हो गया था. बड़े दमदार हो यार तुम!मैंने उसके बाद एक रोमांटिक गाना लगाया ‘भीगे होंठ तेरे … प्यासा दिल मेरा.

बीएफ हिंदी अंग्रेजी वो- ऐसे?मैं- तो क्या करता? तुम्हारे बिना ये मान ही नहीं रहा था … इसलिए मैं इसे हाथ से ही तुम्हारा प्यार दे रहा था. कुछ पल तक हमारे हाथ एक दूसरे के अंगों पर चलते रहे और फिर होंठ मिले तो ऐसे मिले कि एक दूसरे को निचोड़ने लगे.

सी वीडियो बीएफ ब्लू पिक्चर

वहां क्या कैसे हुआ?हैलो फ्रेंड्स, मैं शिवराज एक बार फिर से आपके बीच ग्रुप सेक्स कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ. मैं बोला- ठीक है, तावली बताना … ना तो मुठ मारनी पडेगी रोज!चाची बोली- बेशर्म है ठीक है मैं इब जाऊ हूँ।और चाची भैस लेकर चली गई. संध्या- राजू डार्लिंग, एक बात बताओ आपको चुदाई के लिए मैच्योर औरत ही क्यों पसंद आती है, जबकि उनकी चूतें तो चुद चुद के ढीली हो जाती हैं और जवान लड़कियों की एकदम टाईट रहती हैं?राजू चाचा ने चाची की गीली चूत को सहलाते हुए कहा- एक तो मुझे उनकी बड़ी गांड अच्छी लगती है, दूसरे उनको चुदवा चुदवा कर अच्छा खासा एक्सपीरिएंस हो जाता है कि कब कैसे क्या और क्यों करना है … उन्हें वो सब पता होता है.

मैं- क्या? तुम अपने भाई को अपनी गांड का स्वाद चखाये बिना ऐसे ही तड़पता छोड़ देतीं?रोजी- ओह्ह. उस टेडी बियर पर एक पट्टी के माध्यम से डिल्डो (बनावटी लंड) बांधा गया था. सेक्सी सेक्सी वीडियो भाभी कीअस्मिता चुदने के बाद बोली- वाह अमित तू तो पूरा रंडीबाज निकला, जितना मैंने सोचा था तू तो उससे ज्यादा मजे देने वाला निकला.

बीस मिनट की लगातार की चुदाई में मौसी ने दो बार स्खलित होकर अलग होने की चेष्टा की, पर मेरी पकड़ मजबूत होने के कारण वो मुझसे छूट ही नहीं पाई.

मगर जैसे ही लिंग का अन्दर भीतर होना शुरू हुआ, मैं सिसक सिसक कर दर्द से ‘हाय हाय. अगर किसी दिन ज्यादा मन किया, तो रवि भाई से हफ्ते में दो दिन के लिए आपको मांग कर ले आया करूंगा.

मुझे ये देखकर अत्यधिक उत्तेजना हो रही थी और मैं खुद को रोक नहीं पा रहा था. मैं- किससे? तुमसे, तुम तो दोस्त हो मेरी!वो- तो दोस्त हूँ, तो कुछ भी बकते रहोगे!मैं- बक कहां रहा हूँ. आप सबको भी पता होगा कि औरत कितनी बुरी तरह से काटती है, ये हमारा गुप्त हथियार होता है.

मुझे अभी तुम्हारी बहुत जरूरत है, क्योंकि शायद मैं तुमसे प्यार करने लगी हूँ और ये मुझे मालूम है कि मैंने गलत किया है.

जैसे ही उसको आभास हुआ कि ये मर्द के हाथ हैं तो वो बोली- कौन है?इतना कहते ही मैंने उसके मुंह में लंड दे दिया और धक्के देने लगा. मैं- देखो अब तुम्हारी दोस्ती के चक्कर में क्या क्या करना पड़ रहा है, अगर प्रेमी होता … तो तुम्हें कहीं बाहर लेकर जाता और हम किसी अच्छे से होटल में कैण्डल लाईट डिनर कर रहे होते. आज काफी दिनों बाद आप सभी भाई बंधुओं, सभी कमसिन कलियों भाभियों और आंटियों का अपनी नई कहानी में स्वागत करता हूँ.

सेक्सी कुंवारी लड़की सेक्सीअब असली खेल शुरू होने वाला था मतलब मेरा लंड उसकी चूत का खाता खोलने वाला था. मैं- हां या ना में जवाब दो?वो- मैंने कहा ना, मुझे नहीं पता!मैं- तुम क्यों खुद से लड़ रही हो, जो दिल में है … उसे ज़ुबान पर क्यों नहीं लातीं?वो- मैं एक औरत हूँ.

घोड़ा घोड़ी के बीएफ सेक्सी

अब तक हम 40 मिनट तक बिना झड़े चूत चुदाई कर चुके थे, पर अब वियाग्रा का असर थोड़ा कम हो चुका था. किस करते हुए ही उसने एक कंडोम निकाला और मुझे नीचे लिटाया- चॉकलेट चलेगा?मेरे हां कहते ही उसने मेरे गालों को पिचकाया और कंडोम को मेरे होंठों पर रख दिया. दोस्तो, अब आगे की सेक्स कहानी नंदिनी की जुबानी ही सुनकर मजा लीजिएगा.

लगभग 15 मिनट के बाद मैंने उससे पूछा- मेरा रस निकलने वाला है … कहां डालूं बेबी?वो बोली- मेरे मुँह में. वे मुझसे कहने लगे- हम अब पति पत्नी हैं, हम दोनों को एक दूसरे का साथ देना है. वहां पर हमने शराब तो नहीं पी लेकिन रात का खाना खा लिया और कुछ मॉकटेल का मजा लिया.

मेरी पिछली सेक्स कहानीसाले के दामाद ने कोरी चुत चुदवाईमें आपने पढ़ा था कि मेरे साले के दामाद कमल ने मुझे अपनी दुकान के पास की एक कमसिन लौंडिया की कोरी चुत चुदवाई थी. उस समय इत्तेफाक से मैं अपनी सहेलियों के साथ वॉशरूम की तरफ फ्रेश होने के लिए गयी थी. मैं उसकी चिकनी जांघों पर हाथ फेरते हुए बोला- जान आज मुझे तुम्हारी गांड भी चोदनी है.

मैं- ठीक है … ठीक है … नहीं कुछ कहता बस … पर अब नाश्ता तो करवा दो!वो- हां तो ऐसे बोल ना कि नाश्ता चाहिये. संध्या चाची ने राजू चाचा का लंड मुँह से बाहर निकाल कर कहा- सच यार, ऐसी ग्रुप चुदाई महीने में एक बार जरूर होनी चाहिये … कितना मजा आता है.

उसने एक उंगली अपने मुँह में डाली और उसे पूरा थूक में भिगो कर उसे मेरी गांड में डाल दिया.

अब चाची से रहा न गया तो उसने अपनी पैंटी उतार दी और अपनी चूत मेरे सामने नंगी कर दी. हिंदी सेक्सी वीडियो लखनऊमैंने कपड़ा लगाने वाली बात जानबूझकर फिर से कही, जिससे शायरा फिर से शर्मा गयी और मेरी पीठ पर मुक्का मारते हुए बोली- तुम … तुम ना, बस अब चुप करो. जंगली सेक्सी पिक्चर हिंदी मेंभाभी- हैलो सुनो, ज़रा मेरा एक छोटा सा काम है … आप वो करके ला सकते हो क्या?मैंने अपने बरमूडे की जेब में घर की चाभियों को रखते हुए बिना कुछ बोले मुँह हिला कर हां बोल दिया. वो- है कौन वो … तेरी गर्लफ्रेंड?मैं- नहीं गर्लफ्रेंड नहीं है, वैसे तुम‌ शायद उसे जानती होगी.

मैंने उनको पहली बार नहीं देखा था … लेकिन उस दिन जिस प्रकार से उन्होंने झीनी साड़ी और गहरे गले के ब्लाउज पहने थे, उससे वो दोनों अपने पूरे यौवन का दर्शन करा रही थीं.

इसी तरह नाचते हुए किसी ने मेरे होंठों को चूमने की शर्त रखी, फिर किसी ने मेरे चूचों को पीने की बात कही. 18 साल की कच्ची कली को फूल बनाने की दिशा में आगे बढ़ते हुए मैंने सलोनी की कमर पकड़कर नीचे की ओर दबाना शुरू किया तो आधा लण्ड सलोनी की बुर में समा गया. मैं अब उसके आगे की एक नयी सेक्स कहानी लिख रहा हूँ, उम्मीद है कि ये सेक्स कहानी भी आपको‌ पसन्द आएगी.

अभी मैं अपने कमरे के गेट पर खड़ी थी, तभी सामने कमरे से एक 21 या 22 साल का चिकना लौंडा अपने कमरे से निकला. भाभी के मस्त गोल गोल चूतड़ों में मैं अपना लन्ड रगड़ने लगा और उनकी चूचियों को दबाने लगा. फिर एक बार की बात है कि अपनी बंदी से मिलने के बाद मैं वापस अपने रूम पर जा रहा था।मैंने राजीव चौक से मैट्रो पकड़ी।शाम का वक्त होने के कारण मैट्रो में बहुत ज्यादा भीड़ थी। जैसे तैसे मैं अंदर घुसा और दरवाजे से हटकर बीच में खड़ा हो गया।मेरे पीछे एक बूढ़ी औरत खड़ी थी और मेरे आगे एक महिला मेरी तरफ अपनी पीठ करके खड़ी थी जिसकी उम्र लगभग 30-32 साल होगी.

लड़कियों के सेक्सी बीएफ वीडियो

मुझे पता था कि शायरा को दर्द हो रहा है, पर फिर भी शायरा ने ही मुझसे अपने लंड को बाहर निकालने को कहा और ना ही उसे और अन्दर डालने को कहा. जैक ने अपने लंड का टोपा निशि के गुलाबी गांड के छेद पर रखा और धीरे धीरे अपने लंड को उसकी गांड में डालने लगा. जैसे ही दोबारा मैं भाभी की चुदाई करूंगा तो वह कहानी भी जरूर लिखूंगा.

भाभी मेरे लंड को पकड़ कर चूसने लगीं और ट्विंकल से बोलीं- मेरी जान ऐसे मजा ले … साली क्या हिला रही है.

फिर मैं धीरे-धीरे उसकी बुर में शॉट पर शॉट लगाने लगा और वह भी मादक सिसकारियों के साथ मजे लेने लगी.

जिस पर उसने बोला- अरे दारू पीने का मज़ा अकेले थोड़ी न आता है … और हम लोगों को भी आपका साथ मिल जाएगा मेरे साथ चार दोस्त और भी हैं. अब राजू चाचा ने संध्या चाची को अपने ऊपर खींच कर कहा- आज तू मुझे चोद. सेक्सी ब्लू पिक्चर हिंदी में चलने वालीअनिल मेरी हिचक को समझ गए और उन्होंने मेरा हाथ पकड़कर पंकज के लंड पर रख दिया.

मुझे याद आया कि खुराना की वैडिंग में मैंने एक जाट से अपनी सेवा करवाई थी. भाभी को अपनी सेक्स जरूरत को पूरा करने के लिए एक नहीं दो लंड की जरूरत थी, इसलिए उसने हम दोनों को एक साथ ही बुक कर लिया था. अब बस कोई खेल होने वाला बाकी था, वो क्या होना था, ये भविष्य के गर्त में छिपा था.

उसने स्पीकर पर आवाज़ देकर पूछा कि अब अगर आपको मेरे ऊपर विश्वास हो गया हो, तो हम अपना सेक्स प्लान कर सकते हैं?मैंने उससे पूछा कि आपको सिंगल या ग्रुप सर्विस में से क्या लेना पसंद है?उसने बिना कुछ सोचे पहली बार में ही ग्रुप सेक्स में चुदने की अपनी कामना बताई. उसके कपड़े इतने टाइट थे कि उसके शरीर पर होने वाली कोई भी हरकत वो आसानी से महसूस कर सकती थी.

उसके सामने टांगें खोलकर मैंने दो उठक बैठक लगाई ताकि उसको मैं चूत का नजारा दिखाकर तड़पा सकूं.

तीखे नैन नक्श … गुलाबी होंठ, उभरी हुई छाती, एक दम परफेक्ट फिगर वाली लड़की थी वो!उसको देखते ही किसी को भी उससे प्यार हो जाये।पहली बार मुझे कोई लड़की प्यार के लिए पसंद आई थी और सोचता था कि काश ये लड़की मेरी ज़िंदगी में आ जाये।शायद खुदा को भी यही मंजूर था. कई बार खुद पर गर्व भी होता था कि मैं भंवरों का ध्यान खींचने वाले एक फूल की तरह हूं. चुत में एक साथ तीन उंगलियां घुस जाने से प्रियंका की मादक आह निकल गई.

सेक्सी व्हिडिओ झवाझवी दाखवा ब्यूटीफुल वाइफ सेक्स कहानी शुरू करने से पहले मैं आप सभी को एक बार फिर से हमारे बारे में परिचित करवा देता हूँ. हम तीनों को वाइन पीते हुए काफी समय हो गया था और रात के 12 बज रहे थे।मैं अब वह से जाना चाहती थी.

तो मैं मां से बोला- मां आप ही कुछ करो न!फिर मां ने मेरा लंड अपने कोमल हाथों में ले लिया और बोलीं- यह बात किसी को नहीं बताना. मैंने फिर पूछा- क्या तुम रोहन की दोस्ती से खुश हो? क्या रोहन तुम्हें वह सब कुछ दे पाता है जो तुम्हें चाहिए … मुझे नहीं लगता कि वह तुम जैसी हसीन और जवान लड़की को संभाल पाता होगा?बिन्नी बार बार मेरी तरफ नजरें उठा उठा कर देखती रही और मेरी बातें सुनती रही. मुझे उसके घर के नजदीक जाने में डर भी बहुत लग रहा था, पर हिम्मत करके उधर आ ही गया.

गोंडा बीएफ

हालांकि कंडोम चिकनाई युक्त था अपर तब भी मैंने उसके ऊपर थोड़ा सा थूक और लगा लिया. आखिरकार करीब और आधे घन्टे तक मेरे बदन से खेलने के बाद कविता ढीली पड़ने लगी. तो मैंने बिना सोचे समझे कहा- आहह … अरे चाचा जी, आप जो चाहे चोद लो आज तो … आहह … स्सी … चाचा जी और ज़ोर से चोदो … आहह …चाचा जी ने सूरज से बोला कि जा सूरज बाहर से वैसलीन क्रीम ले आ.

कुछ देर बाद वो उठा और मूतने के बाद वो मेरे ही सोफे पर आकर मेरे बगल में कुछ दूर पर बैठ गया. मैंने भी घर वालों को कहा कि मैं अभी अपनी पढ़ाई करूंगी और कुछ समय बाद शादी करूंगी.

कुछ देर बाद एक फैमिली आयी, जिसमें एक आदमी और उसकी बीवी और एक 19-20 साल का लड़का भी था.

फिर मैंने संजू का एक बेहद खूबसूरत फोटो अपने दोस्त के व्हाट्सअप पर सैंड कर दिया. प्रियंका- हां जीजू … इसके आम और मेरे खरबूजे दोनों ही आपको रस पिलाने को बेताब हैं … और हां, आपकी आम वाली साली की ऑइलिंग हो गयी है. चूंकि वो गेम पीरियड में ही होना था, तो मेरे क्लास से सिर्फ मैं ही जाने को राजी हुई … क्योंकि बाकी लड़कियां इस पीरियड में बकचोदी करती थीं.

इसी बीच मेरे लन्ड ने भी सिग्नल देना शुरू कर दिया कि वो दूसरे राउंड के लिए तैयार है. मैं बोली- तुम्हें सवाल करने का हक नहीं दिया है मैंने मेरे कुत्ते! जैसा मैं कह रही हूं बस वैसा करो. ’डॉक्टर की बात से मैं संतुष्ट होकर वापिस घर आ गयी और शीशे के सामने खड़े होकर डॉक्टर के एक-एक स्पर्श का अनुभव करने लगी.

मैं- हम‌ दोस्त हैं और दोस्ती में क्या लड़का … और क्या लड़की! दोस्त तो सब एक जैसे ही होते हैं.

बीएफ हिंदी अंग्रेजी: मेरी चूचियां एकदम से तन चुकी थीं और अब चूत को भी अलग ही मजा दे रहा था वो चूसकर. मेरे हाथों की पकड़ बहुत तेज थी और उसकी चूचियां एकदम से लाल हो गयी थीं.

चाची ने मेरा लंड छोड़ा और सर पर हाथ फेरने लगी।वो गर्म होने लगी सांस तेज चलने लगी. मैंने भी अपने हाथ मासी की गांड पर रख दिए और उन्हें पकड़ कर चुदाई में उनकी मदद करने लगा. मैंने दोनों को थोड़ा और खुशी देने के लिए अपने ऊपर कंट्रोल किया और सायरा की चूचियों को दबा-दबाकर और निप्पल को मुँह में भरकर उसके अन्दर से दूध निकालने की पूरी कोशिश कर रहा था.

अभी मैं ये सब सोच ही रही थी कि उसने फिर मुझसे बोला- हैलो मैडम … कहां खो गईं … चलो ना!ये बोल कर वो ज़िद करने लगा.

एक बार वो घर में अकेली थी तो …मेरा नाम राम है, मैं अपनी ग्रेजुएशन के फर्स्ट ईयर में हूं और मैं कोटा के पास एक गांव से हूं. वो- क्याआआ?शायरा कॉकरोच के नाम से डर गयी, पर उसके उछलने से पहले मैंने कॉकरोच को पकड़ लिया और उसे शायरा को दिखाते हए बोला. उसने वही किया और बोला- मैम, प्लीज मेरे लंड के तनाव का कुछ इलाज कर दो.