हिंदी बीएफ 2 साल की

छवि स्रोत,देसी भाभी की चुदाई खेत में

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी स्टोरी ऑफ़ आंटी: हिंदी बीएफ 2 साल की, जब हम वहां पहुंचे तो मैंने देखा कि वो होटल सच में ही बहुत अच्छा था.

इंग्लिश एक्स एक्स एक्स बीपी

मेरा नसीब देखो कि एक बड़ी लहर ने मुझे वापस लड़कियों के पीछे पटक दिया. ब्लू सेक्सी फुल वीडियोवे सज्जन मुस्कुरा कर बोले- आपके बोलने के अंदाज से लगता है कि वे मित्र कोई महिला मित्र हैं.

लोहा गर्म हो चुका था, उसके चूतड़ उठाकर मैंने एक तकिया रख दिया और एक धक्के में लण्ड का सुपारा उसकी बुर के अन्दर कर दिया. ब्लू सेक्स वीडियो सेक्स वीडियोफिर उसकी कमर पर हाथ रख कर उसको खींच कर रखा, साथ ही पीछे से उसकी चूत में लंड डालने लगा.

मैं भाभी को अभी कुछ देर और तड़पाना चाहता था, लेकिन ये मेरी पहली चुदाई थी … इसलिए मैं अपने आपको रोक ना सका.हिंदी बीएफ 2 साल की: वो पानी लाकर मेरे पास बैठ गई और बोली- आप सिखा दोगे न मुझे मसाज करना!मैंने कहा- जब आया हूँ … तो सिखाना क्या खुद ही कर दूंगा.

उसके बैगन जैसे लम्बे व छोटे आकार के चूचे मेरे हाथ में आराम से आ रहे थे.पांच मिनट तक उनकी चूत को जीभ से चोदने के बाद चाची से बर्दाश्त नहीं हुआ और उन्होंने मुझे पीछे धकेल दिया.

सेक्सी छवि - हिंदी बीएफ 2 साल की

जब मैं कंडोम पहन रहा था तो उसने आधा कंडोम लंड पर जाते ही मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरे होंठों को चूसने लगी.उनके जाने के बाद मम्मी ने मुझसे कहा कि अपनी दीदी को कमरे तक ले जाओ.

पर चाची को पूरा मजा अभी नहीं मिला था, उनका ओर्गास्म अभी नहीं हुआ था. हिंदी बीएफ 2 साल की बारिश में कार सेक्स करने का मजा मैंने अपनी प्रिंसीपल मैडम के साथ लिया.

आपको मेरी हिंदी गे सेक्स कहानी कैसी लगी ये बताइए मेरे ईमेल आईडी पर![emailprotected].

हिंदी बीएफ 2 साल की?

फिर थोड़ी देर बाद उसने जैसे तैसे अपने आपको छुड़ाया और वाइब्रेटर मुझसे लेकर मेरे लंड के टोपे पर लगा दिया. तुम मुझे प्यार करते हुए रंडी कहा करो, तुम मुझे बरखा रांड बुलाया करो. वैसे तो हम दोनों में काफी अच्छी दोस्ती थी मगर मुलाक़ात नहीं होती थी.

एक दिन मैंने उनकी फेसबुक स्टोरी को लाइक किया तो उसके थोड़ी देर बाद मुझे उनके भी लाइक का जवाब आया और तब मैंने उनको हाय बोला. उसकी बुर पूरी तरह से चिकनाहट युक्त गीली हो रही थी जिसका फायदा मैं और मेरा लौड़ा उठाना चाह रहा था. मोसी बिस्तर से उठ कर मेरे हाथ से चाय का कप लेने लगी तो मुझे मोसी की नाइटी में से उसके चूचे दिखाई दे गये.

वो बोला- साली रांड मुझसे चुदवा रही है, तब तेरा पति क्या तेरी आरती उतारेगा. मुझे अपनी गर्लफ्रेंड के मुंह में लंड देकर चुसवाने में बहुत मजा आता था. मैंने उसके दूध दबाते हुए कहा- इनको दबाने में मजा मिल रहा है?वो शर्मा गई और उसने अपने चेहरे पर मुस्कान बिखेर दी.

मैंने कहा- कोई ख़ास बात नहीं है भाभी, बस अज अचानक दिमाग में आ गया, सो आपसे यूँ ही पूछ लिया. मैंने उसकी कुंवारी बुर को कैसे खोला?रिश्तों में चुदाई की इस सेक्स कहानी के पिछले भागमेरी माँ और चाची को चोदा-2में आपने पढ़ा कि मैंने अनुजा को नंगी देखा तो मैं उसके कमरे में घुस गया.

उसने अपनी जुबान एकता की चूत पर फेरी, जिससे एकता की मदभरी सिसकारी निकल गयी.

मैं एक दमदार लंड का मालिक हूं और मेरे लंड के प्रदर्शन से मेरी पत्नी पहली ही रात में खुश हो गयी थी.

मैंने उसकी चूत को सहलाना शुरू कर दिया और वो भी सिसकारियां लेने लगी. जब सुबह उठा, तो देखा कि 11 बजने वाले थे और मेरी मीटिंग 10:30 बजे की थी. मैं कपड़े पहन कर खेत में नित्य क्रिया करने चला गया और 15 मिनट बाद आया, तो अर्पणा ने फिर से एक बार और चुदाई करने को कहा.

उसकी बात सुनकर वो दोनों बहनें, अब एक मेरी जांघ पर और दूसरी सैंडी की जांघ पर बैठ गई थीं. जिस किसी ने भी पढ़ाई में इस विषय का विस्तार से अध्य्यन किया है उनको पता होगा कि इस विषय में प्रजनन प्रकिया, प्रजनन अंगों और उनसे संबंधित सभी क्रियाओं की विस्तार से जानकारी दी जाती है. वो बोली- तुम टेंशन मत लो … बस देखो और मजा लो … तुमको तो सब मालूम है कि मैं, मैं हूँ … मैं आज तक कई लंड खा चुकी हूँ … ये साले मुझे क्या मसलेंगे.

थोड़ी देर बाद आंटी ने मेरे पास खड़े हो कर मुझे आवाज दी- मनीष, चाय पी लो!तो झट से मेरी नींद खुल गयी.

तभी मैं सीधा खड़ा हुआ, लम्बी सांस ली और मन में सोचा ‘अपनी मां चुदाए … जो होगा, देखा जाएगा. मेरी सौतेली दीदी बहुत खूबसूरत सेक्सी और हॉट है। वो मॉडलिंग करती है और बहुत लोगों से चुद चुकी है. अगले दिन राजेश की जेठानी मेरे कमरे में आयी और बोली- कैसी रही हमारे घर में पहली रात?मैंने कहा- बहुत अच्छी थी.

फिर मॉम बोली- हम लोग भी कौन सी बातें कर रहे हैं बेटा … इन कारणों से मेरे बूब्स लाल हो गए है और दबाने पर दर्द भी बहुत होता है. टाइट चूत होने की वजह से मेरा लंड उसकी चूत पर बार-बार फिसल जा रहा था. फिर दो मिनट के बाद उसने मेरा सर वहीं पर दबा दिया और गांड उछालने लगी और फिर अचानक शान्त पड़ गयी.

घुटने को छूने की नाकामयाब कोशिश करती, उसकी स्कर्ट उसकी गोरी जांघ पर लहर पैदा कर रही थी.

मैंने सीमा की बातों का रस लेते हुए उससे पूछा- फिर क्या हुआ?सीमा- भाभी जोर जोर से बोल रही थी कि चोदो राजा … जोर जोर से चोदो … फाड़ दो मेरी चूत, भोसड़ा बना दो, मेरी चूत का … इस तरह से भाभी आह्ह्ह उईईईई आह्ह्ह कर रही थी. चाची बोलीं- हां मैं चुदक्कड़ हूँ, लेकिन भोसड़ी के, तेरी मां से कम हूँ.

हिंदी बीएफ 2 साल की मैंने कहा- सो गयी क्या चाची?वो उठकर बैठते हुए बोली- नहीं तो, कुछ काम था क्या?मैंने कहा- नहीं, मैं तो बस ऐसे ही आपसे बात करने के लिए आ गया था. उसको हटाया और उसका अपर पीस हटते ही भाभी की चूचियां उसकी ब्रा में कैद मेरे सामने आ गयीं.

हिंदी बीएफ 2 साल की जब भी मेरा लंड उसकी बच्चेदानी से जाकर लगता मेरे अंदर की आग और भड़क जाती. खैर मैंने जैसे-तैसे करके प्रिया को पार्टी वाले दिन रूम पर ही रुकने के लिए मना लिया.

जब पूरा लंड अन्दर हो गया तो भाभी ने अपने दोनों पैर मेरी कमर में जकड़ दिए और हर धक्के में मेरा साथ देने लगी.

ஸ்ஸ்ஸ்த்தமிழ்

वो कहने लगी- उईल्ला … बड़ा दर्द हो रहा है … मुझे नहीं करना … बहुत दर्द हो रहा है. वो मैडम से सीधे भाभी पर आया और बोला- भाभी जी, आपके लिए तो सब रेट कम ही हैं. मैं उनकी चूचियों को जोर से दबाने लगा और वो आहिस्ता से सिसकारने लगी.

मुझे अपनी गर्लफ्रेंड के मुंह में लंड देकर चुसवाने में बहुत मजा आता था. उसने भी अपने लंड को मां की चुत में लगा महसूस किया तो मेरी चूची चूसते हुए चूत में लंड को जबरदस्त धक्का मारते हुए पेल दिया. क्या देखता हूँ कि एक हौंडा सिटी रुकी है और आशिमा उस कार से उतर रही थी.

यकीन हो रहा था कि दोनों औरतें पक्का पोस्टमार्टम करके रहेंगी … अगर जल्दी ही इन दोनों का ध्यान नहीं भटकाया तो मेरा काम तमाम हो जाएगा.

मैंने छिप कर कई बार दीदी की चुदाई डॉक्टर और उसके कम्पाउण्डर के साथ देखी. उसके थोड़ी देर बाद बरखा ने अपनी गांड मेरी तरफ कर दी, अपनी गांड उछाल उछाल कर मुझे कहने लगी- मेरी गांड को भी जोर जोर से अपने लंड से चोदो. मॉम बोलीं- हां यार, मेरी चूचियों को बहुत लोगों ने दुहा और दबाया है.

इस प्रेम यात्रा में हम दोनों ने एक दूसरे को कई बार तृप्त किया और इस प्यार का परिणाम एक जोड़े के रूप में बन जाना अभी प्रतीक्षित है. मैं हल्के रोते हुए बोला- मॉम, आपने तो बोला था कि जो मैं चाहूंगा, वो आप करोगी. वो पूरी गर्म हो चुकी थी।वो आदमी दीदी को चोदने लगा। हर झटके के साथ दीदी का पूरा शरीर हिल जाता।कुछ देर बाद वो दीदी को उल्टा कर दीदी के कूल्हे दबाने लगा और पीछे से चूत मारने के बाद वहीं दीदी के बगल में नंगा लेट गया।इस तरह मैं 5 दिनों तक उन लोगों के साथ दीदी सेक्स को देखता रहा। कभी दोनों चोदते तो कभी कोई एक ही चोदता.

मैंने कहा- ठीक है भाई … फिर कभी!फिर भाई ने मेरी कच्छी को एक तरफ सरका के अपना लंड मेरी चूत में डालने का प्रयास किया. घुप्प अंधेरे में मुझे कुछ दिखाई नहीं दे रहा था और मैं यूं ही टटोलते हुए हॉल में आगे बढ़ रही थी.

गर्मियों का मौसम था तो घर में सारे लोग दिन के समय में भी घर में ही रहते थे. इसलिए आपके विचार जानने के लिए मैं आपकी प्रतिक्रिया का इंतजार करूंगा. हम स्कूल बस से स्टेशन की ओर निकले और उधर से हमारी ट्रेन 6:30 बजे की थी.

इस कहानी के बारे में मुझे बतायें कि आपको मां-बेटे की चुदाई की ये कहानी कैसी लगी.

मेरे इस चुत चाटने के अंदाज से वो बिल्कुल मदहोश हो गई और अपनी गांड उचकाने लगी. उसने मुझे इशारों में लेटने के लिए कहा और खुद भी पलंग पर पीछे नहीं हुई. मॉम बोली- जब तक तेरे पापा नहीं आते, मैं इन टॉयज से काम चला लेती हूं.

मैं उसके मम्मों को चूसते हुए लंड को तेजी से चूत में अन्दर बाहर करने लगा. उनके कमरे में जाने के बाद वो बेड पर बैठ गयी और बोली- बताओ, तुम्हारी दोपहर वाली बात का मैं क्या करूं?मैंने मौसी से मिन्नत करते हुए कहा- मौसी वो बात किसी को मत बताना.

कुछ देर तक वे दोनों धींगा मस्ती करते रहे और एक दूसरे के शरीर से मजा लेते रहे. मेरी रीयल फॅमिली सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि नानी के घर मेरी कुंवारी मौसी ने मुझसे अपनी चूत चुदवायी. मैंने अपनी साड़ी को भी जांघों तक उठा दिया और सोने का नाटक करते हुए लेट गई.

जानवरों की सेक्सी हिंदी वीडियो

दोनों ने आकर पूछा- आपके पलंग पर ही धुले कपड़े रख सकती हूँ क्या?मैंने कहा- अरे पूरा घर आपका है … जहां चाहो वहां रख दो.

कोई तीन चार मिनट तक मैं भी उसकी चुत को चाटता रहा, जिससे वो फिर से गर्म और चुदासी हो गई. वो भी अपनी सौतेली मां को … पोर्न वीडियो से अच्छी थी मॉम की गान्ड! और चूत के ऊपर तो एक भी बाल नहीं दिख रहा था. एक दो मिनट तक उसने मेरे लंड को अपनी चूचियों के बीच में दबाये रखा और मैं लंड को रगड़ता रहा.

मैंने पूछा- कौन?तब वो बोली- मैं स्मिता … भूल गए क्या?मैंने उसकी आवाज पहली बार सुनी थी. दरवाजे पर जो बल्ब जल रहा था, वो उसने बन्द कर दिया था, जिससे मुझे कोई अन्दर आता न देख सके. നടിമാരുടെ xxxफिर मैंने बुआ की चूत को अपनी जुबान से फैलाया और उनके दाने को चूमने लगा.

मामी दर्द से कराहते हुए मेरे बदन पर नाखून गड़ाने लगीं … और चीखने लगीं. मैं उनकी बात सुनकर समझ गया था कि मामा जी ने मेरी मम्मी से बात करके मालूम कर लिया है कि मैं उनके शहर में आ गया हूँ.

शायद उसे मेरा खड़ा लंड अपनी गांड पर महसूस हो रहा था, पर वो कुछ नहीं बोल रही थी. मॉम की आवाज निकली- उम्म्ह… अहह… हय… याह…मेरा लन्ड पूरा मॉम की चूत घुस रहा था लेकिन मॉम की चूत एकदम वर्जिन जैसी टाईट थी. कल तो तेरे पापा से वीडियो कॉलिंग बात हुई थी, उस कॉलिंग से मैंने पानी निकाला.

मैंने पांच मिनट तक भैया के लंड को चूसा और उनका लंड मेरी लार में एकदम गीला और चिकना हो गया. इतना ही नहीं उन्होंने मेरी बीवी को एक सुझाव भी दे डाला जिसे सुनकर मैं खुद चौंक गया. ये सब मैंने इसलिए लिखा कि मुझे अपने मॉम पापा के सेक्स जीवन की कुछ बातें मालूम थीं.

फोन चैट करते हुए हम दोनों एक दूसरे के बारे में काफी कुछ जान गये थे.

मगर कुछ ही दिनों के बाद उसने मेरे खिलाफ झूठा केस कर दिया जिसमें उसने कहा कि उसके साथ बलात्कार किया गया है. मैंने उसको करवट के बल लेटा दिया और उसके बालों को हटा कर उसकी गर्दन को चूमता रहा.

उसके बाद हम हर रोज सुबह शाम बातें करने लगे और थोड़े ही दिन में हम दोनों ने अपने नंबर एक्सचेंज कर लिए थे. जैसे ही मैंने एक हाथ उसकी पीठ के नीचे से और दूसरा हाथ जांघ के पास से लिया. इस बात पर निशा उठी और मेरी गोदी में बैठ कर अपनी ब्रा उतार कर मेरे मुँह के पास देते हुए बोली- क्या अब भी कुछ और गुंजाइश नहीं बनेगी मेरी जान?मैंने निशा को बगल की कुर्सी पर बैठा कर उसके दूध दबाते हुए बोला- देखिए रवि जी, कंपनी के कुछ रूल्स होते हैं, हम भी उससे बंधे होते हैं.

मैंने बरखा से कहा- तुम अपने पति का लंड नहीं चूसती थी क्या?तो बरखा कहने लगी- उस साले का तो लंड ही खड़ा नहीं होता था. मैं आंटी के दूधों की क्लीवेज को घूरने लगा और आंटी भी इस बात पर ध्यान दे रही थी कि मेरी नजर कहां पर है. यहां घर पर बैठे-बैठे मेरा दिमाग खराब रहता था और जेब में पैसा भी नहीं रहता था.

हिंदी बीएफ 2 साल की मेरे सामने तो कभी भी मॉम इतने छोटे कपड़ों में नहीं दिखी, वो निकाली और एक छोटा सा टाईट लेडीज बनियान जो सिर्फ बूब्स को ढकता था, वो निकाला. इससे भाभी की वासना पूरी प्रज्ज्वलित हो गयी और उन्होंने जल्दी से मेरा अंडरवियर उतार दिया.

सेक्सी व्हिडिओ सेक्स मराठी

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मामा ने कुँवारी भांजी की सीलतोड़ चुदाई की-2. मॉम की हल्की चीख निकल रही थी ‘आह ओह उह आह आ …’ लेकिन मॉम मना नहीं कर रही थी. मैंने इसके आगे कोई बात नहीं की और उनकी चुचियों को मसलते हुए कहा- इसमें कौन सी बड़ी बात है.

टॉयलेट में हो रही चुदाई को लेकर मैं बड़ा उत्सुक था कि अन्दर सैंडी किस तरह से चुदाई का मजा ले रहा था. मैं उसके साथ हुए हर हंसी मजाक को फिर से अपने दिमाग में ध्यान करते हुए आकलन करने लगा. बीपी ओपन सेक्सी मराठीउसके कुछ पलों तक तो न जाने हम दोनों को क्या हो गया था कि हम दोनों का अलग होने का बिल्कुल मन नहीं कर रहा था.

उसके जाने के दस मिनट बाद ही सभी के लंड बैठ पाए होंगे, ऐसा मेरा अंदाज था.

मैंने पूछा- आपने क्या समझा है कि मैं आप में क्या देख रहा हूँ?वो बोली- आपने कहा था न कि आप मुझमें सन्नी लियॉन की फिल्म जैसा कुछ देख रहे हैं. फिर मैं बोला- मॉम कोई दर्द तो नहीं हो रहा है? चालू रखूं ना?मॉम बोली- हां, चालू रख … मज़ा आ रहा है.

अब मैंने नूर के पर्स से कोल्ड क्रीम निकाली, थोसी सी अपने लंड पे लगायी और थोड़ी सी नूर की गांड के छेद पर!तब मैंने लंड उसकी गांड के छेद पर रखा और जोर लगाने लगा. उसकी शादी को मात्र 8 महीने हुए थे मगर उसकी चूत एकदम से खुली हुई थी. उन्होंने मेरे दोनों टांगें उठा लीं और अपने लंड को मेरी चुत पर रख कर धक्का दे मारा.

इसी वजह से रात को हम दोनों भाई बहन के सोने के बाद मेरे मॉम पापा घर के हॉल में या रसोई में जाकर सेक्स किया करते थे.

आखरी रात को राजेश ने मेरी जमकर चुदाई की और फिर हम रेलगाड़ी से वापिस आ गए. दूसरी मंजिल, और हमारे वाली मंजिल पर सीढ़ियों की लाइट नहीं जल रही थी मगर उससे नीचे वाली मंजिल पर लाइट जल रही थी. पहले मैं आप सबको इस घटना से जुड़े हुए सभी लोगों से परिचित करवा देती हूँ.

पूनम भाभी की चुदाईमैंने कहा- आप घबराओ मत … मैं किसी को नहीं बताऊंगा … लेकिन दीदी एक शर्त है. कुछ दिनों के बाद मेरे दोस्त का दाखिला दूसरे शहर के एक कॉलेज में हो गया.

பிஎஃப் வீடியோ ஹெச்டி

सीमा दर्द से कराह उठी- उईईईईई माँ … मर गई मैं!मैंने एक पल रुक कर लंड को सैट होने दिया और इसके बाद उसको चोदना शुरू कर दिया. क्योंकि जब मैं चाची की चुची को दांत से काटता था, तो उनकी हल्की सी सिसकारी वाली चीख़ निकल जाती थी. अनिरुद्ध ने पैंट की जिप के बीच में से ही उसकी चूत में लंड को डाल दिया.

मैंने कहा- मम्मी, जब मैंने कभी किया ही नहीं तो मुझे कुछ पता कैसे हो सकता है. अक्सर बात करते करते वो हाथ पकड़ लेती, या हाथ की धौल मारकर बातें करती. उसकी चूत में लंड को पूरा उतार कर मैंने उसकी चूत को तेजी के साथ चोदना शुरू कर दिया.

वो दोनों आपस में बातें भी नहीं कर रहे थे और चूत चुदाई या लंड चुसाई जैसी कोई आवाज भी नहीं आ रही थी. मैंने कहा- फिर मुझको तुमने बुलाया किसलिए था?सीमा बोली- तुमसे मुझे कुछ दूसरा काम है … इसलिए बुलाया. तभी राजेश ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और बोले- सरदारनी, इतने नखरे क्यों दिखा रही है?मैंने कहा- घर पर कोई नहीं है.

मैंने आंखें उसकी तरफ की … और पूछा- क्या तेरी कोई गर्ल फ्रेंड नहीं है जिससे तुम अपनी बेचैनी मिटा लो. मैंने उसकी सेक्सी फिगर की तारीफ करना शुरू कर दी कि तुम इतनी सेक्सी दिखती हो, फिर उसने तुमको कैसे छोड़ दिया?वो नखरे करते हुए बोली- मुझे झाड़ पर मत चढ़ाओ … मैं इतनी भी सुन्दर नहीं हूँ.

आह … चोदो मुझे जोर से … मेरी चुत कब से लंड लेने के लिए मचल रही थी … आज इसकी प्यास बुझा दो … और मुझे कली से फूल बना दो.

वो बोली- अरे देखो … मेरी कहानी सुन कर तुम्हारा आइटम भी सो गया … लाओ मैं इसे चूस देती हूँ. ट्रिपल आरदोस्तो, मैं अपनी ग्रुप सेक्स कहानीगाँव की कुंवारी चुत की वासनाका दूसरा भाग आपके लिए पेश कर रहा हूँ. प्रिया की चुदाईएक झटका मैंने उसकी चूत की तरफ दिया तो उसके मुंह से हल्की सी चीख निकल गयी. हमने जल्दी से सारा दूध गटक लिया और भाभी को अपनी तरफ खींचने की कोशिश किये.

मैंने पूछा- कौन?तब वो बोली- मैं स्मिता … भूल गए क्या?मैंने उसकी आवाज पहली बार सुनी थी.

उधर हमारे बीच दोस्ती हो थी और हमने बस में एक दूसरे के जिस्म के साथ खेल लिया था. मैं- क्या दिखाऊं?मैं उसके मुँह से सुनना चाहता था … तो वो अपनी आंखों में वासना भरते हुए धीरे से बोली- अपना लंड निकालो. उसने अपनी गर्म सांसें मेरी सांसों से मिला दीं और हम दोनों अब एक दूसरे से सर्प की भांति लिपटे हुए थे.

मैंने धीरे धीरे उसकी चूत पर लंड को टिका कर अब दबाव देना शुरू कर दिया. फिर मॉम ने मुझे नंगा कर दिया और खुद भी अपने गाउन के आगे लगी डोरियों को खोल दीं, इस तरह से उनकी चूचियां नंगी हो गई थीं. मैंने उसके ब्लाउज को अलग करके ब्रा को खोल कर मम्मों को आज़ाद कर दिया और उसके चूचुकों पर अपनी जीभ फिराने लगा.

सेक्सी सेक्सी सेक्सी सेक्सी ब्लू सेक्सी

अभी मैं अपनी सांसें संयंत कर ही रहा था कि मेरी सासू ने ताली बजाते हुए खिड़की से मुझे शाबाशी देना शुरू कर दी. वहां शिफ्ट होने के बाद एक दिन की बात है जब मेरे घर में पानी के पाइप में लीकेज हो गई थी. मैंने फिर मोसी की चूत पर अपने होंठों को रख दिया और चूत को जीभ देकर चूसने लगा.

इसके बाद वो बोली- सर, क्या आपने ही कल फोन किया था?मैंने उसे ऑफिस के अन्दर चलने का इशारा करते हुए कहा- हां.

और एक पंप मशीन भी पड़ी थी जिससे औरतों को अपने स्तनों को दबाने में काम में लेती थी.

मैं चुत का रस चाटने के बाद भी काफी देर तक उसकी चुत को चाटता रहा था. कैब स्टार्ट हुई ही थी कि विपुल ने अपना हाथ मेरी कमर में डाल दिया और धीरे से और नीचे से टॉप के अंदर ले गया और पेट को मसलने लगा. डॉक्टर बीपी सेक्सीवो बोली कि मेरे घर के लोग 2 दिन के लिए बाहर जा रहे हैं, तो मैंने सोचा था कि यहीं मिंकी के साथ रुक जाऊंगी, पर अब मैं क्या करूं … मुझे समझ ही नहीं आ रहा है.

और मैंने बरखा से पूछा- तुम्हारी गांड का क्या साइज है?तो बरखा ने मुझे मुस्कुराते हुए कहा- मेरी गांड का साइज तुम खुद ही पता कर लेना. फिर मॉम ने मुझे नंगा कर दिया और खुद भी अपने गाउन के आगे लगी डोरियों को खोल दीं, इस तरह से उनकी चूचियां नंगी हो गई थीं. इस वक्त उनकी जवानी मुझे वासना के सागर में गोते लगाने को मजबूर कर रही थी.

अगले दिन उस लड़की ने मुझसे मिलने की इच्छा जतायी तो …दोस्तो, मैं साहिल श्रीवास्तव प्रयागराज उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ. मैंने शीनू से पूछा- क्या रीना ने कभी तुम्हें कुछ नहीं बताया?वो बोली- नहीं … पर मुझे कुछ शक तो था.

मॉम ने मस्त डिजाइनर सलवार कमीज़ पहन रखी थी। कमीज़ टाईट तो थी ही उसमे बूब्स बाहर निकले हुए थे.

मॉम ने टाइट टॉप और टाइट लेगीज पहनी हुई थी, उसके टॉप से दो बड़े खरबूजे (स्तन) बाहर निकल रहे थे. दरवाजे के पास आकर हमने पूछा कि बाहर कौन है?बाहर से अब्बू की आवाज आई. वैसे तो ये आजकल आम बात हो गई है कि शादी से पहले हर कोई सेक्स कर लेता है.

আদিবাসী ব্লু ফিল্ম मैंने उसको फ़्रेंड बनने के लिए बोला तो फ़ौरन मान गयी।धीरे धीरे उसे मुझसे प्यार होने लगा फिर मिलना शुरू हो गया।एक दिन हम फ़िल्म देखते हुए मैंने उसे किस कर दिया. एक बार अब्बू देर रात शराब के नशे और हवस में मेरी बाजी की चूत चोद दी.

तभी एक एग्जाम के लिए फॉर्म निकला हुआ था तो हम दोनों ने ही उस एग्जाम के लिए फॉर्म भरा. अब पापा शुरु हो गए।फिर पापा ने चाची की चूचियाँँ दबायी और उन्हें किस करने लगे. एक पल बाद भाभीजान की आवाज निकली- मार दिया कमीने मादरचोद निकाल बाहर … वरना मैं मर जाऊंगी कमीने … नहीं चुदना मुझे तुझसे … साले हरामी … अपनी माँ का भोसड़ा समझा है क्या … जो एकदम से घुसा दिया … आह रंडवे … निकाल जल्दी मेरी फट गई.

ब्लू पिक्चर सेक्सी हिंदी फोटो

वो अपनी चूत को चटवाने का मजा ले रही थी मगर प्रीति ने उसको बीच में ही छोड़ दिया. उसका दर्द और कम हुआ तो मैंने तेजी के साथ उसकी गांड में लंड को चलाना शुरू कर दिया. मेरा तो कंट्रोल ही नहीं हो रहा था, हल्का हल्का पानी मेरे लौड़े से आना शुरू हो गया था.

अब मैंने उसकी हरकत को नजरअंदाज करते हुए हल्का सा अपने लौड़े को पीछे कर एक सटीक और जोरदार धक्का लगाया, परिणाम ये हुआ कि लंड उसकी कमसिन चुत की दरार को चीरता हुआ जड़ तक उसकी कुंवारी चूत में समा गया. जैसे ही मैं उनको चाटने लगा, भाभी और तेजी से सांस भरने लगी और उनका पूरा शरीर गर्म हो गया.

लंड का टोपा बस अन्दर गया था कि वह चिल्लाने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से बंद किया और उसे किस करते हुए अपना लंड अन्दर डालने लगा.

तभी 20 मई 2017 को मेरे मामा जी का फोन आया और मामा जी ने बताया कि 27 मई को उनके पुत्र नीरज, जो कि मेरे बड़े भैया हैं, उनकी शादी फिक्स हो गयी है. शायद उसको भी इस बात का अंदाजा था कि आज नहीं तो कल ये सब होने ही वाला है. वो जोर से मेरे होंठों को पीने लगी थी जैसे मेरे होंठों को खा ही जायेगी.

मैंने बोला- यार पहली बार आवाज सुनी है और मेरे पास तुम्हारा नम्बर भी नहीं था. मन करता है कि तेरे मुंह में ही लंड को रखूं और तू सारा दिन इसको चूसती रहे. प्रीति बोली- क्या हुआ, मजा आ रहा था?आरिफ़ा का चेहरा प्रीति के सवाल पर शर्म से लाल हो गया.

अर्पणा लंड देखते ही बोली- ओह माई गॉड इतना मोटा … इतना मोटा तो मेरे पापा का भी नहीं है … तभी तो मेरी चूत फटी जा रही थी.

हिंदी बीएफ 2 साल की: रीमा ने मेरी दुकान में आकर मुझे एक कागज दिया और कहा- ये सब क्या है? तुमने हर्षी को लेटर कैसे दिया? मैं उसके पापा से तुम्हारी शिकायत करूंगी. उन भाभी की मेरी बहन से अच्छी दोस्ती थी, तो उनका मेरे घर पर आना जाना था.

सामने से फेस टू फेस इतनी बात नहीं हो पाती थी जितनी कि फोन पर चैट करते हुए हम खुल जाते थे. अपनी चुत पर मेरी जुबान का हमला पाते ही, वो मछली की तरह तड़पने लगी थी. बहन बोली- भैया, अब तो आप पापा को नहीं बताओगे ना मेरी चूत चुदाई के वीडियो के बारे में?मैंने कहा- नहीं पगली, जब तू खुद इतनी चुदक्कड़ है तो बताने का क्या फायदा.

उसके मुँह से आह … उन्ह की मादक आवाजें निकलने लगी थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उन्ह … और जोर से करो … आह जोर से …उसने अपनी गांड उठाते हुए मेरे सर को अपने हाथ से दबाते हुए अपनी चुत से दबा दिया था.

तब मैं जल्दी से चाची के रूम में जाकर सो गया। चाची भी आकर मेरी बगल में सो गई।दोस्तो, यह मेरी पहली स्टोरी है इस साइट पर! कोई गलती हुई हो तो उसके लिए क्षमा करना. मैं माँ के साथ शादी में गांव गया तो वहां मुझे अपनी छोटी चाची की जवानी भा गई और मैंने चाची को चोदा भी … मेरी माँ ने चाची की चुदाई में मदद कैसे की?दोस्तो, मैं अंकित हूँ. हम दोनों बचपन में साथ में ही स्कूल पढ़ने जाते रहे थे और बाद में साथ में ही कॉलेज भी जाते रहे थे.