बीएफ सेक्सी बीएफ दिखाइए

छवि स्रोत,ब्लू फिल्म बीएफ हिंदी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म इंग्लिश वाला: बीएफ सेक्सी बीएफ दिखाइए, मैंने कहा- हां मेरी जान, मैं भी झड़ने वाला हूँ … जल्दी बोलो … किधर निकलूँ?वो बोली- अन्दर ही आ जाओ.

लड़का लड़की की बीएफ फिल्म

अनीशा ने हरे रंग का टॉप और नीली जींस पहनी थी और काले रंग के बूट पहने हुए थे. एक्स एक्स एक्स बीएफ जबरदस्ती वीडियोसब पूछने लगे- कौन किसको चोदेगा?मैंने कहा- चिट डाल लेते है, जिसमें जिसका नाम आया, वो अपना पार्ट्नर चुन लेगा.

मैंने भाभी की बात मान ली और उनकी चूत को चुदाई की पोजीशन में सैट करके लौड़ा चांप दिया. बीएफ सेक्सी चुटकुलाभगवान ने औरतों को इतना खूबसूरत और हॉट बनाया ही है कि इन्हें देख कर लंड बहनचोद अपने आप खड़े हो जाते हैं.

मैंने विलास से कहा- कितने बजे बर्थ-डे सेलिब्रेट करने का है?वो बोला- सात बजे तक करेंगे.बीएफ सेक्सी बीएफ दिखाइए: मैंने उसका टॉप और ब्रॉ को उतार दिया और उसके अनछुए मम्मों पर टूट पड़ा.

मैं उसकी चुत का पानी उसकी गांड में मलने लगा, तो वो डर गयी कि अब उसकी गांड की बारी है.पहले ये लोग गांव के अन्दर रहते थे, अभी 2 साल पहले ही यहां घर बनाया है.

हिंदी में सेक्स बीएफ चुदाई - बीएफ सेक्सी बीएफ दिखाइए

मुझे तो उस कोमल हाथ को छोड़ने का जरा भी मन नहीं कर रहा था पर तभी उसकी अम्मी ने उसको आवाज देते हुए पूछा- अकेले अकेले किससे बात कर रही है सब्बू?अपनी अम्मी की आवाज से चौंकते हुए उसने अपना हाथ मेरे हाथ से छुड़ाया और बोली- जी, भाईजान के दोस्त आए हैं अम्मी.मैं- कुछ बोलोगी, या मुझे ऐसे ही देखते रहोगी?साबिरा- जाओ, भाईजान ऊपर अपने कमरे में हैं.

उस रात मैं दीदी को सुबह तक चोदता रहा दूसरे दिन दीदी ठीक से चल भी नहीं पा रही थी और हम दोनों रोज ऐसे ही सेक्स करते रहे. बीएफ सेक्सी बीएफ दिखाइए उसके पेट पर अपनी उंगलियां से कामुकता भरी छुअन से नाभि के चारों तरफ पर गुदगुदी भरी चींटी चलाते हुए हल्के से उसकी नाभि पर स्मूच कर रहा हूँ, जीभ गोल गोल उसकी नाभि पर घुमाते हुए, उसकी नाभि को अपने होंठों में भरकर चूसा और अपने दांतों से पकड़कर नाभि के छेद को अपनी जुबान से खोदते हुए उसके दोनों कूल्हों पर अपना हाथ फिराने लगा.

तभी भाभी बोलीं- क्या मैं इसको टच करके देख लूं?तो मैं उनके पति की तरफ देखने लगा.

बीएफ सेक्सी बीएफ दिखाइए?

अब मैंने भी नीचे से अपनी गति बढ़ा दी, तो रेखा की मुँह से गर्म सिसकारियां निकलने लगीं जो मुझे मदहोश करने लगी थीं. तब मैंने कालू को मुझे सुम्मी ही कह कर पुकारने को कहा और बोली- आज मैं तुम्हारी हूँ राजा, मुझे जन्नत की सैर करा दो. भाई ने मुझे भी इसी वादे पर पूरी बात बताई कि घर पर किसी को मत बोलना.

तब मैंने कालू को मुझे सुम्मी ही कह कर पुकारने को कहा और बोली- आज मैं तुम्हारी हूँ राजा, मुझे जन्नत की सैर करा दो. अब तक हम दोनों काफी देर हो गई थी लेकिन पता नहीं उसका लंड झड़ने का नाम ही नहीं ले रहा था. मैंने कोशिश की कि मैं अपने शौहर को इशारा कर सकूं या उन्हें जरा सा भी देख सकूं.

मैं पानी पीकर रसोई में गया और रेखा से कहा- चाय मत बनाओ मुझे देर हो जाएगी. मैंने थोड़ी देर में ही फोन किया तो मिहिका ने फोन उठाया और बोली- हैलो, कौन बोल रहे हो!मैं बोला- राज. उसके होंठ कभी मेरे नीचे के होंठ को, कभी ऊपर के होंठ को हल्के दबाव के साथ चूस रहे थे.

उसके पति विदेश में बिजनेस करते थे और उनका साल भर में कभी कभी ही भारत आना होता था. उस हिजड़े की लुल्ली चूसते चूसते तुझे पता ही नहीं है कि लौड़े को चूसना किसे कहते हैं.

यह कहते हुए सोनाली मेरे ऊपर चढ़ गयी और मेरे होंठों को चूमती हुई बोली- हर्षद जब से तुम्हारे इस मोटे लंड का स्पर्श हुआ है, तभी से मेरी चूत बार बार गीली होने लगी है.

वह बोला- सुम्मी, तुम चिंता मत करो … आज तुम्हें ज़बरदस्त मजा आने वाला है.

फ़लक की मादक सिसकारियां निकलने लगीं- ओह बेबी … ये क्या कर रहे हो … आह मुझे बेहद मजा आ रहा है आह चाट लो आंह …कुछ देर बाद मैंने केक को लेकर पूरे मम्मों पर अच्छे से फैला दिया और उन्हें बारी बारी से चाट चाट कर फ़लक को मस्ती देने लगा. इसके बाद फकीर ने मेरी बीवी के हाथों को छूना चालू कर दिया और बोला कि तुम्हारे हाथ तो बहुत खूबसूरत हैं. फिर जैसे ही मैंने लंड को उसकी चूत में डालना शुरू किया तो लंड फिसल जा रहा था.

प्लीज क्या तुम भाभी के साथ एयरपोर्ट जा सकते हो?मैंने मोबाइल कान से हटा कर टाइम देखा तो 6:30 बज रहे थे. मैं तुम्हारे भैया को कोई धोखा नहीं देना चाहती हूँ, लेकिन मुझे तुमसे अपना प्यार जताना था. डॉक्टर का लन्ड मुखिया जी के लन्ड से छोटा था पर उसने माँ को बहुत बेरहमी से चोदा.

मुझे जरूर बताइएगा ताकि मैं आप लोगों के साथ अपनी ज़िंदगी की और कहानियां शेयर कर सकूं … धन्यवाद.

मैंने अपने देवर के सामने अपनी हरकतें फिर से शुरू कर दीं, लेकिन मेरी किसी भी हरकत का उस पर कोई असर नहीं पड़ रहा था. सेक्स विद फ्रेंड वाइफ की इच्छा उसे देखते ही हो गयी थी मेरी! मैंने उसे लाइन देना शुरू किया तो उसकी प्रतिक्रिया ने मेरी वासना को और भड़का दिया. उसने फ़ोन पिक किया और उधर दूसरी तरफ की कुछ बात सुनी, फिर बोली- ठीक है.

फिर मैंने थोड़ी हिम्मत की और दीदी से कहा- दीदी मुझे आप बहुत अच्छी लगती हो. मैंने कहा- हां यार विलास, मेरा भी मन कर रहा है तेरी गांड में अपना लंड डालने का, लेकिन ये कैसे होगा? भाभी तो तेरे पास ही सोएगी. मैंने कहा- वाह यार … तुमने तो मजा बांध दिया, खिलाड़ी हो, मजे हुए कलाकार हो.

दूसरे दिन मैं ऑफिस जाने के लिए निकलने वाला था तभी मुझे किसी के बहुत तेज गिरने की आवाज़ आयी.

उस दिन मैंने उसको अन्दर जाते समय देखा था तो सच में यार राखी के क्या चूतड़ थे … उफ्फ … मेरे लंड को तो मार ही डाला था जालिम ने!पहली ही नजर में मुझको लगने लगा था कि अभी के अभी इसको पटक कर चोद दूँ. कुछ देर बाद मैंने उसे सीधा खड़ा किया और उसकी टांग उठा कर उसकी चुदाई करने लगा.

बीएफ सेक्सी बीएफ दिखाइए उसको पूरी तरह से नंगी करने के बाद मैंने भी अपना अंडरवियर उतारकर फैंक दिया और हम दोनों पूरी तरह नंगे एक दूसरे से लिपट गए. वो मादक सिसकारियां लेकर ‘आह स्ह स्ह ऊं ऊं …’ करने लगी- ओह हर्षद, आज पहली बार एक मर्द मेरी चूचियां चूस रहा है.

बीएफ सेक्सी बीएफ दिखाइए मेरे एक हाथ ने घूमते घूमते कब उन पहाड़ों पर अपना कब्ज़ा कर लिया, पता ही नहीं चला. दस मिनट बाद मैंने तेज तेज शॉट मारे और भाभी से कहा- मेरा रस आने वाला है.

पापा सोनम के सीने पर हाथ फेरते हुए बोले- सुधीर ने कुछ किया ही नहीं क्या … बहू आज भी तुम अनछुई सी लग रही हो.

पागल का फुल फॉर्म

देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी के पिछले भागकामवाली जवान लड़की को पटाकर नंगी कियामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने अनुषा की चुत चाट कर और उससे अपना लंड चुसवा कर छोड़ दिया था. उन्होंने मेरी चूत को देखा और मेरे दोनों पैरो को एक साथ झटके से फैला दिया और अपना मुँह चूत पर लगाकर चाटने लगे. मैंने कहा- मैंने अपनी बीवी और अपनी गर्ल फ्रेंड को छोड़ कर किसी और के साथ सेक्स नहीं किया है.

अर्चना दीदी की पीठ पर झुक कर मैंने उनकी दोनों चूचियों को लगाम की तरह खींच लिया और गुदाज गांड का गुड़गांव बनाने लगा. उस वक्त तक मेरे मन में ऐसा कुछ नहीं आया था कि ये मेरे साथ सैट हो सकती है या हो रही है, पर उसके चूमने से मेरे अन्दर फिर से उसके लिए प्यार उमड़ने लगा था. फिर ये बात उस समय की है, जब मेरे और मेरी गर्लफ़्रेंड शनाया के रिलेशन को पांच साल पूरे होने वाले थे और मेरी गर्लफ़्रेंड ने मुझे सरप्राइज़ देने का प्लान किया था.

इधर लोग अपनी अन्दर की दबी बातों को सबके सामने बेझिझक रसीले अंदाज में पेश करते हैं.

मैंने भाभी से कहा- खुद तो रात में सोती नहीं हो, हमको तो सो जाने दिया करो. मैं जैसे तैसे अपना होश सम्भालती हुई बोली- छी … ये क्या कर रहे हैं आप?उसने मुझे छेड़ते हुए कहा- गर्मी बहुत बढ़ गयी है ना मेमसाब. सोनाली बोली- मेरी शादी के बाद अभी तक मेरी चूत से जितना चुतरस मेरे पति ने नहीं निकाला, उतना तो तुमने कल रात और अभी इतना सारा चुतरस निकाला है हर्षद.

फिर उनके मम्मों को उनकी ब्रा पर से ही चूसने लगा और वो आह उह्ह की आवाज निकालने लगीं. हां जीजा-साली देवर-भाभी, के रिश्ते की तो सदियों से सुनते आ रहे हैं. फिर उसकी दोनों गोलियों को मैंने बारी बारी से चूसा।मैंने दोबारा लंड को मुँह में लिया और सिर्फ टोपा ही चूस रही थी क्योंकि आज से पहले मैंने कभी लंड नहीं चूसा था।तभी अमन ने अपने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़ा और धक्का लगाकर मेरे मुंह में अपना आधा लंड डाल दिया।मेरे मुख से गु गु की आवाज आ रही थी।उसने एक और धक्का मारा और अपना सारा लंड मेरे मुंह में डाल दिया.

पापा- आह मजा आ गया जान!मम्मी भी अपने होंठों से अपने दांतों को दबाती हुई हल्के हल्के ऊपर नीचे होने लगीं. अपने हाथ को मेरी गर्दन पर ले जाकर उसने मुझे अपनी ओर खींच लिया और अपने होंठों से मेरे होंठों को पकड़ कर स्मूच करने लगी.

मेरे साथ भी ऐसा ही हुआ और मेरी गंदी निगाह मेरे देवर की तरफ जाने लगी. फिर मेरी ओर इशारा करके बोले- आपने परमीशन दे दी थी कि अब डाल दिया है तो काम कर लें. शाम को मैंने अपने आपको हर तरह से एकदम क्लीन किया और एक सेक्सी सा गाउन पहनकर तैयार हो गयी.

आधे घंटे की घनघोर चुदाई के बाद ही मेरा वीर्य उसकी बुर की गहराई में बरस गया.

मेरी पूरी पैंटी गीली हो गयी थी, इसलिए मैं वहां से वाशरूम जाने के बहाने निकल गयी थी. मैं एक हाथ उसकी गोटियों को मसलता हुआ और दूसरे हाथ से उसकी छाती की घुंडी को मींज कर उसे मजा देने लगा. अञ्जलि मेरी नज़र और भावनाओं को समझ गई थी या शायद उसे भी मेरी जरूरत थी.

मैं अचानक चौंक गया क्योंकि मेरा लंड एकदम सीधा उनकी चूत के छेद के उपर आ गया. भाभी- मतलब!मैं- मेरा मतलब है कि आप घर का काम … जैसे झाड़ू पौंछा, खाना, कपड़े धोना आदि कर देना.

इसके बाद वो सम्पूर्ण नंगी बेड पर चढ़ गयी और आहिस्ता से उसने मेरी लुंगी हटा कर मेरे बदन से अलग कर दी. मेरी चूत गीली थी, मैं बहुत चुदासी हो गयी थी, बस लंड जल्दी से जल्दी पेलवाना चाहती थी. बात तो उसने बहुत ही सही बोली थी मगर ज़िन्दगी में पहली बार इतना मोटा और बड़ा लंड मेरी चूत में जा रहा था.

सनी देओल पिक्चर

फिर मुखिया जी ने माँ को अपनी मजबूत बांहों में जकड़ लिया और उनके होंठों को चूमने लगा.

अब मेरे लिए तुम ही सब कुछ हो!वो फूट फूटकर रोने लगी, तो मैं अपने हाथों से उसका सर सहलाने लगा और कहा- अरे रोती क्यों हो नीता … मैं हूँ ना … अब तुम्हारी सब इच्छाएं मैं पूरी कर दूंगा. वीरेन्द्र सर- वह तो अच्छा रहा मैंने देखा, कोई और देख लेता तो बवाल हो जाता. मैंने जब देखा कि वीरेन्द्र जी ऑफिस के चेम्बर में जावेद को डांट रहे थे.

वो मेरी गांड में पीछे से ज़ोर ज़ोर से फट फट की आवाज़ से मेरी गांड मारने लगे. क्या पता तकदीर लिखने वाले ने उसके नसीब में क्या लिखा है?”नीता बोली- हां हर्षद, ये सच है नसीब के आगे हम क्या कर सकते हैं. घोड़ा और औरत का बीएफनीता ने अपनी गांड मेरे लोहे जैसे लंड पर रगड़ा और बोली- वो तो मैंने जब तुम्हें पहली बार देखा, तब से ही पति मान लिया था तभी तो ये सब कुछ कर रही हूँ हर्षद.

वो मादक सिसकारियां लेकर ‘आह स्ह स्ह ऊं ऊं …’ करने लगी- ओह हर्षद, आज पहली बार एक मर्द मेरी चूचियां चूस रहा है. साक्षी के यहां से निकलकर मैं अपने दोस्त के घर पहुंचा तो वहां पर सिर्फ उसका भाई गौरव ही मिला.

भाभी एकदम ऐसे चीख पड़ीं, जैसे उनकी चूत में गर्म सरिया दाखिल कर दिया गया हो. अब मुझसे और रहा नहीं जा रहा था, बस ऐसा लग रहा था कि वह मेरी चूत में अपना लंड घुसेड़ दे. मैंने अपना एक पैर बाजू में फैलाया और अंडगोटियां सहलाने को जगह बना दी.

जब अपने हाथ में लंड लेकर वो नापतौल करने लगी, तो हैरान होकर बोली- ये क्या माजरा है … इतना बड़ा. जिस पर मैं बोली- नहीं, मैं शाकाहारी हूँ और मैंने आज तक मांस नहीं खाया है और न ही मेरे घर बना या आया है. मैंने सुमैत्री को अपनी बांहों में भर लिया और उसकी पीठ को सहलाने लगा.

साबिरा की तरफ देखते हुए उसने पूछा-अरे पागल लड़की जा, पानी तो लेकर आ.

जब से वो दुबई आई है, रियान ही उसका सहारा है … और रियान ने ही उसे मॉडलिंग का आईडिया दिया था. फिर मास्टर ने भाभी के दोनों पांव अपने दोनों कंधे पर रखे और वो भाभी को चोदने लगा.

मगर तू इतनी बड़ी छिनाल है, तुझमें इतनी हवस है ये तो मैंने सोचा ही नहीं था. चुदी तो ठीक, नहीं तो कोई और सही सोचने वाला मैं, आज नम आंखों से उसको सॉरी लिख रहा था. जैसे ही निप्पल को होंठों में लिया, उसके मुख से ‘आह … ईश्श …’ की मादक सिसकारी निकलने लगी.

उसने बोला- ये शायद फ़्रेश ड्रेसिंग खोली है मैंने?मैं बोला- जी बिल्कुल सही बोला आपने. करीब पन्द्रह मिनट की गांड चुदाई के बाद सुमैत्री ने हार माल ली और बोली- प्लीज, अब गांड से लंड निकालो और मेरी चूत को चोदो, मुझसे सहन नहीं हो रहा. आपको भी स्वीटी मैडम की खूबसूरत फिगर को जान लेना चाहिए ताकि आप भी अपना लंड हिला कर सेक्स कहानी का मजा ले सकें.

बीएफ सेक्सी बीएफ दिखाइए स्नेहा का रंग एकदम झक सफेद दूध जैसा … और गालों की लाली जैसे दूध में केसर डाला हो. मैंने उन्हें किचन की पट्टी पर लेटाकर उनकी चूत में अपनी उंगली डाल दी और उन्हें फिर से उत्तेजित करने लगा.

पोर्न photo

यहां पर सिर्फ फ़ोरप्ले करेंगे … चुम्मी करेंगे, चुसाई करेंगे; बाकी चूत चढ़ाई पलंग के रणक्षेत्र पर करेंगे और कवच के साथ. जगह बदल कर मैंने अपने अकड़ रहे लंड को सुमंत के मुँह में चूसने-चाटने के लिए डाल दिया और मैं नीचे अर्चना के टांगों में आ गया. लेकिन मेरा पति शराबी था और वो अब नहीं रहा, इसलिए मैं सभी सुख से वंचित थी.

मैं चाची की जांघों को देखने लगा तो चाची ने बड़ी अदा से अपनी जांघ खुजला कर मुझे गर्म करना शुरू कर दिया. पर गले में हाथ डाले ही कोई दोस्त शरारत से बात करते करते अकसर गाल चूम लेता और मुस्कराने लगता. ईश्वर की बीएफइतना ही नहीं हम दोनों 2019 अमेरिका गए थे, जहां मैंने श्रेया के सामने एक मशहूरपोर्नस्टार को चोदाथा.

दोस्तो, स्वीटी के साथ चुदाई की कहानी का पूरा रस मैं अगले भाग में लिखूंगा.

मैंने कुछ देर बाद फिर से उसे चोदा और इस बार उसने मेरे लंड का पानी गटक लिया. दूसरे दूध को अपने एक हाथ में थाम कर हल्के हल्के सहलाने लगा और पहले वाले दूध के निप्पल को अपने मुँह में डालकर जैसे ही चूसा, उसकी मादक आवाज निकली- ससीई ईई … ममम्मी.

उधर मेरे लंड का अहसास करते ही वो एकदम से बोली- उई माँ, ये तो तुम्हारा कितना बड़ा है. आज फिर से भाभी ने पूछा कि तुम्हारी कोई जीफ बनी है या अभी भी ऐसे ही काम चल रहा है. मैंने लंड का सुपारा चूत की दरार में रखकर अपने मुँह से ढेर सारा थूक लंड पर छोड़ दिया.

मैंने उन्हें किचन की पट्टी पर लेटाकर उनकी चूत में अपनी उंगली डाल दी और उन्हें फिर से उत्तेजित करने लगा.

एक हाथ से चूत की पंखुड़ियां खोलते हुए मैंने अपनी जीभ उसकी चूत के दाने पर फ़िराना चालू कर दिया. मैंने कोई आपत्ति नहीं दिखाई और मैं उसे बिना कंडोम के लेडी फक़ को तैयार हो गया. मैंने उन्हें ये कह कर वापिस भेज दिया- आप कागज पूरे कीजिए, मुझे सरकार इतनी सैलरी देती है कि मैं अपनी जिंदगी ऐश से जी सकता हूँ.

हिंदी पिक्चर बीएफ देखने वालीमैं मादरचोद बन गया अपनी मम्मी और चाची की चूत और गांड चोद कर! मैंने अपनी विधवा मम्मी को चचा से चुदाई करवाते देखा. जब मैं पानी पीकर आ रहा था कि मुझे मम्मी के कमरे से हल्की हल्की हल्की आवाज़ सुनाई दी.

हिंदी चोदा चोदी

अर्चना दर्द के मारे चीख मार कर छूटने के लिए तड़पने लगी पर महंत कहां बिना चोदे छोड़ने वाला था. मेरे मन में उसकी चुदाई देखने की इच्छा थी। तो मैंने बहन की चुदाई की प्लानिंग की। मैंने उसे कैसे चुदवाया?दोस्तो, मेरा नाम रोहित है। मैं उदयपुर, राजस्थान का रहने वाला हूं।यह कहानी मेरी बहन की चुदाई की है कि कैसे उसके हॉस्टल वार्डन ने उसकी चूत मारी।कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपनी बहन के बारे में बता देता हूं।उसका नाम मानसी है और वो 19 साल की है।मेरी बहन बहुत सेक्सी है. रेखा ने दोनों कप भर दिए और मुझे एक देकर कहा- चलो सोफे पर बैठकर पीते हैं.

रूना को तो पूरी तरह से मैंने नंगी कर दिया था लेकिन मैं अभी भी नीचे निक्कर पहने हुए था. रेशमा तब तक सोफे के सामने आकर घुटनों पर बैठ कर मेरा इंतजार कर रही थी. मैं उसकी दोनों टांगों के बीच खड़ा हो गया और उसके ऊपर झुककर उसके होंठों को चूमने लगा.

तब तक दूसरे बाबा ने मुझे अपने पास बुला कर मुझे अपनी गोद पर बिठा लिया. तभी फकीर को पता नहीं क्या सूझी, उसने मेरी बीवी का हाथ पकड़ा और सीधे लंड के ऊपर रख दिया. एक दो कश मार कर मैंने उसे सिगरेट वापिस की और उसे पीते हुए देखने लगा.

बारी बारी से पांच मिनट तक मैंने उसकी दोनों गोरी गोरी चूचियां लाल कर दीं. बस यहीं से शुरू होती है उस मस्त भाभी की चूत की मलाई खाने की शुरूवात.

काश तुम मेरे पति होते होते तो अब तक मैं तीन चार बच्चों की मां बन जाती.

मुझे उन दोनों बाबाओं के बारे में शुरू से पता था कि ये साले ढोंगी है और ये सारा राग मेरी फुद्दी लेने के लिए अलाप रहे हैं. सेक्स बीएफ 18 सालएक दिन हम दोनों ने मिलने का तय किया और हम अपने शहर के पेसिफिक मॉल में मिलने के लिए आ गए. jio service बीएफमैंने विलास की गांड को दोनों हाथों से पकड़ कर अपने लंड पर दबाव बनाए रखा था. मैं पहली बार ये सब अनुभव कर रही हूँ … और वो भी तुम्हारे जैसे हैंडसम मर्द से.

हमारी ये बातचीत चलने लगी और हम दोनों वीडियो चैट करते हुए एक दूसरे को अपने जिस्म दिखाने लगे.

अब मेरा लंड भी उसकी चूत में साँप की तरह फुंफकार रहा था और किसी भी पल अपना जहर छोड़ सकता था. अब आगे हॉट स्टूडेंट पोर्न स्टोरी:हम दोनों ने हल्दी वाला दूध पीना शुरू कर दिया. मित्रो, मैं भोगु पुन: आपकी सेवा में अपनी सेक्स कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ.

इन्हीं कुछ सेकेण्ड्स में वीरू का सारा माल कमोड में गिर गया और उसने फिर से खिड़की से बाहर देखा।शब्बो ने अपना सीना ढक लिया था।ये देख कर वीरू का मन उदास हो गया और वो नहाने चला गया।इस घटना के बाद शबाना ने अब वीरू के मन की बात समझ ली।अब वो जानबूझकर वीरू के सामने अपने चूचे दिखाने का प्रयास करती. कुछ साल पहले उसे एक दुर्घटना में चोट लग गई थी तो मुझे अपनी बच्चेदानी निकलवाना पड़ गई थी. मैं बोली- राज तू हम दोनों की गांड मारेगा क्या? यदि ना तो मैं किसी और से मरवा लूं.

सोनम कपूर का नंगा फोटो

अब वो भी अपनी गांड आगे पीछे करके मस्ती से चुदाई में भरपूर साथ देने लगी थीं. ऐसा मन हो रहा था, जैसे आज खा ही जाऊं उसे!फिर मैंने उसको सीधा लेटाया और उसकी टांगें खोलकर उनके बीच में अपना सर लगा दिया. घर पहुंच कर डाइनिंग टेबल पर पीने की व्यवस्था करके हम तीनों पीने को बैठ गए.

मैं भाभी के होंठों को काटने लगा और लंड को झटके से पूरा अन्दर तक पेलने लगा.

मेरी कहानियाँ मेरे जीवन की सच्ची घटना है, यह कोई कल्पित घटना नहीं है।दोस्तो, यह हॉट फॅमिली Xxx कहानी मेरी मासी का लड़का, मेरी ममा और मेरी है।मैं मेरी ममा के साथ रहती हूँ और सब कुछ शेयर करती हूँ।मेरी ममा की चूचियाँ 36″ कमर 32″ और चूतड़ 38″ आकार के हैं।पापा राजधानी में रहते हैं तो यहाँ ममा का एक दोस्त है.

मैंने चूत की फांकों में लंड का सुपारा घिसा और एक जोरदार धक्का दे मारा; मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुसता चला गया. हमारे इसी जोश के कारण हमें हमेशा ही हॉट वाइफ फ़क का उतना मज़ा या उससे ज्यादा मज़ा आता है, जितना पहली बार आया था. बीएफ भेजो सेक्सी सेक्सी सेक्सीअब उन दोनों ने मिलकर मुझे बाजू में किया और मोनिका को बीच में लेकर किस करने लगे और उसकी गांड पर थप्पड़ मारने लगे.

ऐसे ही चूमते चूसते उन्होंने मम्मी को सोफे पर बैठा दिया और उनकी एक टांग फैला कर सोफे के हैंडल पर रख दी और एक नीचे जमीन पर. लौड़ा चूसते चूसते शिराज कह रहा था- आह हम्म्म शुक्रिया मेरे मालिक, क्या खूब चोदी अपने मेरी गांड … बड़ा मस्त स्वाद है आपके लौड़े का मेरे मालिक. लौड़ा चूसते चूसते शिराज कह रहा था- आह हम्म्म शुक्रिया मेरे मालिक, क्या खूब चोदी अपने मेरी गांड … बड़ा मस्त स्वाद है आपके लौड़े का मेरे मालिक.

पिछले भागबस स्टॉप पर मिली भाभी ने घर बुलायामें अब तक आपने पढ़ा था कि स्वीटी ने मुझे रात को अपने घर डिनर के लिए बुलाया था. उसने हमें रूम नम्बर 401 दिया और पूछने लगा- सर आपको कुछ चाहिए हो, तो मुझे रूम सर्विस पर कॉल कर देना.

मेरे इस तरह से हाथ फेरने से भाभी को भी कुछ मजा आया और वो समझ भी गईं.

जो लोग गांव के होंगे वो इस बात को जानते ही होंगे कि नई नई बहू को गांव में जल्दी निकलने नहीं देते हैं. जब भी ससुर जी घर पर नहीं होते तो मैं उसके सामने बार बार जाती और किसी न किसी बहाने से अपना अंग प्रदर्शन करती. मैं अमन के लंड के ऊपर बैठी और लंड चूत में डाल कर सेट किया और अपने हाथ अमन के निप्पल पर रख कर अपनी कमर हिलाने लगी।थोड़ी देर बाद अमन ने भी अपनी कमर उठा कर मेरा साथ देना शुरू कर दिया.

बीएफ वाली चुदाई वाली मैंने सोचा कि क्यों ना मैं जिस लड़की को चोदूं, उसका बॉयफ्रेंड या भाई कोई भी शनाया की मर्ज़ी का हो, वो शनाया को चोद ले. जैसे मैंने उसकी चुत में उंगली डाली, वो एकदम गर्म थी और पूरी तरह से गीली हो चुकी थी.

उसने मेरे चेहरे को अपनी तरफ किया और पूछा- डू यू लव मी?मैंने कहा- हां जान … आज तक मुझे तुमसे अच्छा कोई नहीं मिला. मां कसम उसकी इस बात से मैं इतना उत्तेजित हो गया था कि पूरी रात मैं सो नहीं पाया और उसके सपने देखता रहा. मैं उसके चूचों को कसके दबाने लगा और एक को दबाते हुए दूसरी चूची को चाटने लगा और उसका निप्पल मुँह में लेकर दूध पीने लगा.

सेक्सी जोक्स

बहुत दिनों से अपने मन की बात लिखना चाहता था … मगर आज बहुत कोशिश करने बाद लिख पाया हूँ. मुझे अन्दर से हंसी आ गई मगर मैंने उससे आने के लिए हामी भरते हुए ओके बोल दिया. पर मैं कहां मानने वाला था … मैंने उसे समझाया कि मैं धीरे धीरे करूंगा, ज्यादा दर्द नहीं होगा.

पानी का गिलास लेते हुए मैंने जानबूझ कर अपनी उंगलियाँ उसके हाथ की उंगलियों पर घुमाईं और उसको धन्यवाद दिया. मैं वापस उर्वशी के रूम की तरफ बढ़ा ही था कि तभी कान पर फ़ोन लगाए, उसी लड़की ने दरवाजा खोला.

अब मैंने ललिता भाभी को बिस्तर पर लिटा दिया और उनके होंठों को चूसने लगा.

एक दिन मैंने दारू के नशे में टुन्न होकर मां से कहा- आपने तो भाई को अपना बना लिया है मगर मेरे लिए अपने लंड को नहीं सैट करवा रही हो. मैं बोली- मोनिका, अगर मैं राज को ही पटा लूं तो?वो बोली- नहीं भाभी अगर उसने मेरे पति को बता दिया तो?मैं बोली- चल देखती हूँ. मैं उसके नशीले जिस्म की याद करके आह भर लेता था और जब कभी ज्यादा ही याद आने लगती तो मुझे मुठ मारकर अपने मन और लंड को शांत करना पड़ता था.

फिर भी अपने घर जाते जाते महंत को छोड़कर, सुमंत और मुझसे आज़ सुबह भी एक राउंड चुदाई करवा गई थीं. ऐसा भी नहीं था कि मेरे मन में उनके लिए कभी कोई गलत ख्याल नहीं आया था. रेशमा को लगा कि मैं उसकी गांड का छेद भी आज ही खोलने जा रहा हूँ, इसलिए उसने दया के भाव अपनी आंखों में लाते हुए मेरी तरफ ऐसे देखा, जैसे गुजारिश कर रही हो कि गांड चुदवाने से उसको परहेज है.

उसका पति आकर बेड पर बैठा और सीमा से पूछा- ये सब क्या है?थोड़ी देर तक तो सीमा शांत रही.

बीएफ सेक्सी बीएफ दिखाइए: खाना खाने के बाद मैं साफ सफाई करने लगी और फुर्सत होकर अपने कमरे में जाने लगी. जोर जोर के झटकों से और प्रिंसीपल मैडम की मादक सिसकारियों से पूरा कमरा गूंज रहा था.

फिर भाभी आप कोई और काम करोगी क्या?भाभी- भैया मैं पढ़ी लिखी तो ज्यादा हूँ नहीं … तो कौन मुझे काम देगा?मैं- मैं दूंगा आपको काम!भाभी- आप मुझे कौन सा काम दोगे?मैं उसकी उभरी हुई चुचियां देख कर बोला- अरे भाभी, आप तो सभी काम करने लायक हो. यह सेक्सी फॅमिली की चुदाई कहानी मेरी बड़ी बहन अरुणिमा और मेरी मम्मी के ऊपर है. मैं थोड़ा सा रुक गया और उसका हाथ दबाते हुए दुबारा से होंठ उसके पास कर दिए.

मैंने कहा- गलती मेरी है, मुझे कुंडी लगानी चाहिए थी, लेकिन मुझे लगा कि यहां तो मैं अकेला ही तो हूँ, इसलिए नहीं लगाई कुंडी.

आज हम दोनों की शादी को तीन साल हो गए हैं और इन तीन सालों में मैं श्रेया के अलावा कई लड़कियों को चोद चुका हूँ. मुझे इतना मज़ा आया कि मैं दूसरे दिन रात होने का बड़ी बेकरारी से इंतज़ार करने लगी. पेशे से मैं एक कॉल बॉय हूँ, मैं कॉलेज गर्ल, हाउस वाइफ, भाभियों और आंटियों के जिस्म की प्यास बुझाने का काम करता हूँ.