बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ

छवि स्रोत,अंग्रेजी पिक्चर वीडियो सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

रेणुका सेक्सी: बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ, बातों बातों में अंजू बोली- मामा आपकी गर्लफ्रेंड की कोई बात बताओ ना?मैंने कहा- अरे … मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं.

गद्दा सेक्स वीडियो

उसने बताया कि वो इसी मार्केट से थोड़ी सी दूरी पे रहती है अकेली एक रूम लेकर।फिर उसने विदा ली और चलने लगी. गर्ल सेक्सी मूवीसेक्स का ऐसा जोश चढ़ा हुआ था कि पांच मिनट से कम समय में ही मेरा वीर्य छूटने को हो गया.

नॉनवेज स्टोरी में पढ़ें कि कैसे एक ससुर अपनी जवान और हसीन बहू को अपनी कामवासना का शिकार बनाना चाह रहा है. अफ्रीका सेक्सी वीडियो फिल्ममैंने उन्हें बता दिया, तो उन्होंने इशारा किया कि माल मेरे मम्मों पर डालो.

वह बहुत ज्यादा गुस्से में था।क्या हुआ भैया?” ज्योति ने अपने भाई को आज ऐसे आते ही बेड पर लेटते देखकर हैरान होते हुए उसके क़रीब बैठकर कहा।बहन मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा है। नीलम हर रोज़ ज्यादा ही बदलती जा रही है.बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ: अगर शबनम अपनी बाहें ऊपर उठती तो शायद उसके मम्मे नीचे से हवा ले जाते.

क्योंकि उसके घर वालों को उसने नींद की गोली दी हुई थी और किसी का कोई डर नहीं था.मैंने पूछा- तो तुमने क्या कहा फोन पर?आशीष बोला- मैंने तो फोन पर यही बोला था कि बंध्या मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं.

करवा चौथ में सुबह क्या खाना चाहिए - बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ

कुछ देर तक उसकी चूत को चोदने के बाद अनिल ने अपना लंड बाहर निकल लिया और फिर मैंने अपनी बीवी की चूत में अपना लंड डाल दिया.आने से पहले वो बहुत सा मसाला मेरे अन्दर छोड़ कर आता है, जिससे मेरी फांकों में से कोई लड़का या लड़की कुछ महीनों बाद बाहर निकल आता है.

वो मेरे पास आ गया और मेरे बालों को पकड़ कर खींचते हुए बोला- लगता है दोनों जंगली बिल्लियां हैं. बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ कभी ये वाली, कभी वो वाली, मैंने उसकी दोनों चूचियां चूस चूस कर लाल कर दीं.

वो भी जोर शोर से मेरा साथ दे रही थी- अआहअ … आह …चुदाई की मस्ती बढ़ने लगी.

बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ?

अब मेरे मुँह से मादक आवाजें निकलने लगी थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई … आहह …इसके बाद मेरे बॉस ने मुझे छोड़ दिया और मुझे घोड़ी बना दिया. तभी महेश ने एक झटका मारा और नीलम की चूत में पूरा लंड समा गया क्योंकि नीलम की चूत एकदम गीली थी इसलिए लंड फच्च से अंदर चला गया. ‌वो बोली- मूवी देख रहे हो या मुझे! जब से आयी हूँ, मुझे ही देखे जा रहे हो.

मगर मेरे मुंह में नौकर का लंड था इसलिए मेरी आवाज बाहर नहीं आ पा रही थी. शिवानी का डिल्डो अभी भी मेरे पास था, जो मैंने उसे अभी तक वापिस नहीं किया था. पहले काम तो सागर ने नहीं किया … क्योंकि वहां पर कोई ऐसे काम करने की जगह नहीं थी.

परवीन- अरे जीशान बेटा … कब आए तुम? काफी बड़े हो गए हो … कैसे हो?हिना- और पढ़ाई कैसी चल रही है?मैं- सब ठीक चल रही है आंटी … और आप सब कैसे हैं?परवीन- हां हम सब ठीक हैं. जब वो डॉक्टर साब आए, तो उन्होंने उससे बोला कि उसकी सील टूटी है कि नहीं, ये चैक करना है. उसने लंड हाथ में पकड़ा और उसमें अपनी चूत फंसा कर लंड के ऊपर बैठ गयी.

मैं दर्द के मारे छटपटाने लगी लेकिन सोनू ने लंड को तीसरे धक्के में पूरा का पूरा मेरी चूत में घुसा दिया. मैंने देखा दोनों लड़कियां धीरे से हाथ पीछे ले आईं और इशिता के चूतड़ों पर हाथ फेरने लगीं.

वो बोली- एक दिन मुझे भी ऐसे ही किसी बड़े लंड से चुदने के मौका दिला देना.

मैंने स्कूली शिक्षा पास कर ली थी, लेकिन मैंने अब तक चूत तो क्या, किसी के चूचे तक नहीं देखे थे.

परीशा ने पापा का लंड और बॉल्स चाट चाट कर साफ कर दिए।अब मुकुल राय बोले- परीशा मेरी जान, अब तू कुतिया बन जा। अपने इन जानलेवा चूतड़ों के दर्शन भी तो करा दे. ”व्हाट?”(क्या)हर सैटरडे (शनिवार) वो वहीं जाती है, जाओ मिल लो अपनी इशिता से. मैंने सोचा कि अब उसके घर आ ही गया हूं तो उसके माता-पिता का हाल ही पूछता चलूं.

लगभग 15 मिनट बाद मैंने अपना सारा माल उनकी गांड में भर दिया और निढाल होकर अंकल के ऊपर ही गिर गया. दोस्तो, मेरी पहेली सेक्स स्टोरीचंडीगढ़ में मेल एस्कॉर्ट जॉबको पसंद करने के लिए आप लोगों का बहुत धन्यवाद. वो बोली- आप भी न! पता नहीं क्या-क्या बोलते रहते हो!मैंने कहा- क्यूं, मैंने कुछ गलत कह दिया क्या?मेरी बात पर वो थोड़ी गम्भीर होते हुए कहने लगी- अरे आपके साढू साहब को इतनी फुरसत कहां है!इतना कहते-कहते वो उठ कर किचन की ओर जाने लगी.

आप सभी को मालूम ही होगा कि आमतौर पर परीक्षा से पहले स्कूल में इंटरनल मार्क्स दिए जाते हैं … जो हमारे बोर्ड परीक्षा में भी गिने जाते हैं.

इस तरह से सागर को फुसला कर उसने उसको पूरी रात अपने घर पर रखा और पूरी रात उससे तीन बार चुदाई करवाई. चूत पर मेरे होंठों का चुम्बन पाते ही वो पागल सी हो गई और अपनी चुत को मेरे मुँह पर पैर खोल कर रख दिया. कुछ ही देर में मेरे लंड ने अपना हाहाकारी रूप दीदी को दिखा कर उनको व्याकुल कर दिया.

” महेश का लंड भी अपनी बहू की बातों से और ज़्यादा कठोर होता जा रहा था। जिसे वह अपनी बहू की चूत पर रख कर 2-3 धक्के मारते हुआ बोला।महेश का लंड फिर से नीलम की चूत में 6 इंच तक अंदर घुस चुका था जिसे महसूस करके उसके मुंह से मज़े से सीत्कार निकल रहे थे. उसने मेरे पेटीकोट को ऊपर उठाया और मेरी पेंटी उतार कर पेटिकोट कमर के ऊपर कर दिया. फिर उन्होंने मुझे खुलकर कहा कि तुमने शादी से पहले किसी के साथ सेक्स किया था?मैंने ना बोला, तो अंकल ने बोला- फिर फर्स्ट नाइट में तुम्हें मज़ा कैसे आया होगा?मैंने बोला- फर्स्ट नाइट को वो अन्दर डाल ही नहीं पाए थे.

दरवाजे के बाहर से ही झुकते हुए मैंने उसके अंडरवियर को सूँघने की कोशिश की.

चाची ने बताया कि आज से पहले उन्होंने कभी अपनी गांड में लंड नहीं डलवाया था. मेरा लन्ड मेरी पैन्ट में तन गया था और उसकी साड़ी के ऊपर उसकी जांघों के बीच में टकरा रहा था.

बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ वो नहीं चाहती थी कि अंकित को लगे कि जैसे वो उसके लिए तैयार ही बैठी थी. मेरी क्लास में 10-15 लड़कियां थीं, लेकिन मैं किसी से बात नहीं करता था, क्योंकि लड़कियों से बात करने में मेरी गांड फटती थी.

बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ मैंने पूछा- ये कहां से लाईं?वो बोली- हॉस्पिटल से आते टाइम हॉस्पिटल के मेडिकल स्टोर से ले लिया था. उसके बाद भाई ने मेरे दोनों हाथों को रस्सी से बिस्तर पर पीछे बांध दिया और मेरी टांगों को फैला कर दोनों तरफ बांध दिया.

उन्हें नंगी अवस्था में देख कर मुझे ऐसा लग रहा था मानो कोई जन्नत की परी मेरे सामने लेटी हो.

ब्लू सेक्सी भेजना

लोगों ने इस बात को लेकर ज्यादा कुछ नहीं सोचा … क्योंकि वो रिश्ते में बहन लगती थी. मेरे दूध उसके सामने नंगे हो गये और वो दोनों हाथों से उनको दबाते हुए मजे लेने लगा. पर मेरा ध्यान तो कहीं और ही था, जैसे तैसे मैं उनसे बात करता रहा। यह डिनर पार्टी केवल अपने कुछ क्लोज फैमिलीज़ के लिए ही दी थी तो मैं सबको पहचानता ही था।मेरे दोस्तों में से मैंने केवल अखिल और प्रिया को ही बुलाया था और वो दोनों अब तक नहीं पहुंचे थे।सभी लोग अपनी अपनी गप्पों में लगे हुए थे कि मेरी नजर कमरे से निकलती हुई मामी पर पड़ी.

मैंने पति का सोया हुआ लंड देखा और उसको बेड पर आकर अपने हाथ में लेकर सहलाने लगी. साथ ही मैं अपने हाथ की कलाई को उनकी गांड के छेद के ऊपर मल रहा था, जिससे वो तड़प उठीं. मैंने कहा- ठीक है, अब से हर शनिवार को ही आऊंगी और अगर कभी मौका मिला, तो किसी और दिन भी ऑफिस से छुट्टी करके आ जाया करूँगी.

ये मौका अच्छा था, इसलिए मैंने बिंदु को फ़ोन करके बोला- तुम अपना सामान पैक कर लो, मैं आ रहा हूँ.

राजीव जब भी इधर उधर हाथ लगाने की कोशिश करता, वो हँसते हुए ‘ना बाबा ना’ कह देती. उन्होंने बहुत ज़ोर लगाया, तो मैंने बोल दिया- अगर गांड में डालने दो, तो वहां जल्दी निकल जाएगा. 00 बजे यशिमा ऑफिस से आई और हम तीनों बाहर गए, एक होटल में खाना खाया और आइसक्रीम लेकर हम घर आ गए.

” समीर ने अपनी बहन को बेड पर बिठाते हुए कहा।भैया आपने यह क्या कह दिया, अपनी कसम क्यों दे दी मुझे?” ज्योति ने अपने भाई की कसम को सुनकर उसके होंठों पर अपना हाथ रखते हुए कहा और फिर सारी बात समीर को बता दी।ज्योति इसी बात से तो मैं भी परेशान हूँ मैंने ऑफिस से लौटते हुए अपनी बीवी और बापू को एक दूसरे के साथ नंगा सोते हुए देखा था. फिर मैंने उसको पूरी बात बताई कि कैसे रवि ने मेरी मजबूरी का फायदा उठा कर मेरी बीवी को मेरी ही आंखों के सामने चोद दिया था. मैंने उसे उसके घर, मेरे ऑफिस में, होटल में, खेत में … हर जगह चोदा था.

मैं उसके रूम में गयी, तो ममता मोबाइल में किसी से वीडियो कॉल कर रही थी. मैं रात 11:20 पर घर पहुंचा, फ्रेश होकर बेड पर लेट कर ज्योति के साथ बिताए हुए समय के बारे में सोच रहा था.

शाम को सात बजे मैं घर से निकला, कुछ सामान खरीदा और टहलते हुए वापस चल पड़ा. कुछ देर चूत चूसने के बाद दिलावर ने उठकर लंड मेरे मुँह में डाल दिया औऱ प्रिंस ने पहले लंड मेरी चूत पर रख कर रगड़ा. वह मेरे सर पकड़ कर अपनी प्यासी बुर में दबा रही थीं और बोल रही थीं- खा जा इसे …मैं भी जोश में आकर जोर जोर से चुत चाट रहा था.

उनके कटाव बहुत आकर्षक लग रहे थे … तो मैंने उनके पल्लू से साड़ी खींचकर वहीं उनको किस करते हुए बाकी की साड़ी निकालनी चालू कर दी.

वो मुझे चिल्लाते हुए देख कर बोला- शट अप … यू बिच … (चुप कर कुतिया!)वो मुझे अपने लंड पर ऊपर नीचे करने लगा. दीदी जाग जायेगी इस ख्याल से मैं लंड को हाथ में पकड़ कर चुपचाप सोता रहा।इतने में दीदी ने करवट बदली और सीधी लेट कर सोने लगी। इससे उनकी चूत का गुब्बारा बिल्कुल मेरी आंखों के सामने आ गया. माँ ने हर्ष से पूछा- इस टाइम क्या काम है बेटा?तो हर्ष बोला- दीदी एक्टिवा सीखने के लिए कह रही थी.

पंकज ने पूछा- ये क्या कर रही हो?तो सारिका हंस कर बोली- तुम्हारे पास तो मैं हूँ आग बुझाने को … पर राहुल की आग कौन बुझाएगा? इसीलिए आग पर पानी छिड़क कर उसे बढ़ने से रोक रही हूँ. मैं पेशे से इन्जीनियर हूं। मेरी बहन का नाम जियरा है और वो कॉलेज खत्म करके फिलहाल घर पर ही रहती थी और खेत के काम में मम्मी का हाथ बंटाती थी। जियरा मुझसे चार साल बड़ी है और उसके बड़े-बड़े स्तन और भारी चूतड़ किसी का भी पानी छुड़वा देते हैं.

मैं बोला- हां दर्द तो होगा लेकिन थोड़ा सा … उसके बाद अच्छा लगेगा तुम खुद ही देखना।ऐसा बोलते हुए मैं अपना लंड उसके मुंह के पास ले गया और बोला- अब इसे अपने मुंह में लेकर चूसो. फिर वो बोलीं- क्या मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड हूं?मैं हंस कर बोला- गर्लफ्रेंड नहीं हो, तो क्या हुआ … दोस्त तो हम बन ही गए हैं … चलो अब देर हो रही है. मैंने अपने हाथ उसकी कमर पर रखा, तो उसके मुँह से एक सिसकारी निकल गयी.

हिंदी देसी बीएफ

अब कुछ भी कहने का कोई फ़ायदा नहीं था क्योंकि उसके लंड के लिए चूत तो मेरी भी तड़प रही थी.

स्कर्ट के नीचे एकदम छोटी सी पेंटी पहनी हुई थी, जो बस इतनी सी थी कि उसकी चुत छुपा सके. लेकिन मैं उसके मन की बात जानता था क्योंकि उसकी मां यानि कि मेरी सास ने तो पहले ही मुझे इजाजत दे दी थी. मेरी नॉनवेज स्टोरी पर अपने विचार आप नीचे दी गई मेल आईडी पर मैसेज करें.

उसके बाद मैंने लंड से कंडोम उतार दिया और मीनू की चूत की चुदाई करने लगा. हिना- निकाला क्यों? दो मिनट और कर दे ऐसे ही प्लीज … मैं झड़ने वाली हूँ. मराठी हॉट सेक्सी व्हिडिओगीले अंडरवियर को दोनों हाथों से खींच कर घुटने मोड़ते हुए टखनों से निकाल कर एक तरफ डाल दिया.

अब राहुल को भी हंसी आ गयी और उसने सारिका से कहा- आपकी लिपस्टिक फैल गयी है, उसे ठीक कर लें. ”अच्छा रोटी जलने की चिंता है तुझे साली और जो तेरी इस कसी हुई चूत में मेरा लन्ड जल रहा है उसका क्या?” महेश ने उसकी गांड पर हल्के हाथों से मारते हुए कहा।नीलम- पिताजी निकालो न अपना लंड, देखो देर हो रही है … कोई आ जायेगा।महेश ने टाइम देखा तो बारह बज चुके थे.

बटन खोल कर उन्होंने मेरे वहां किस किया और मेरी तरफ़ नशीली आंखों से देखा. मैंने उसके पेट पर गुदगुदी कर दी और जैसे ही वो उचकी उसकी जांघें खुल गईं और मेरा लंड एकदम से अंदर चला गया. मैं उसकी टी-शर्ट के नीचे से हाथ डाल कर उसके नंगे मम्मों को दबाने लगा और किस करने लगा.

कहीं ऐसा न हो कि मैं आपके गंदे कमेंट्स के कारण आगे कहानी लिख ही न पाऊं. तो मेरे प्यारे दोस्तो, और भाभियों मेरी ये सच्ची हिंदी पोर्न स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल जरूर करना. वो तो इस तरह से माल खाने लगीं, मानो एक भी बूंद छोड़ने वाली नहीं थीं.

चेहरे पर काली घनी दाढ़ी थी जिसको उसने स्टाइल में मेंटेन किया हुआ था.

उसका आइडिया मुझे अच्छा नहीं लगा और मैं मना करके वापस जाने लगी लेकिन तभी उसने मुझे पकड़ कर मेरे बूब्स दबाते हुए मुझे किस करना शुरू कर दिया. मैंने कहा- क्या हुआ भैया, आपकी तबियत ठीक नहीं है, आपको कुछ हेल्प चाहिए क्या?वो बोला- मुझे तुम भैया मत कहो.

मैंने उसकी पैंटी को उतार दिया, तो उसकी चिकनी चूत मेरे सामने खिल उठी थी. तो वो बोले- हां थी … मगर शादी के बाद कोई भी नहीं रही … बस ब्वॉयफ्रेंड रहे. हम दोनों सोफे से उतर कर फर्श पर आ गए और बिछड़े प्रेमियों की तरह लिपट कर किस करने लगे.

रीना ने गर्दन ऊपर की … और मेरी आंखों में आंखें डाल कर लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी. तो सीमा ने हंस कर कहा- रीमा, उतार दे सूट, कम से कम फ्लोटिंग तो सीख लेगी. संजना की चूत से जो रस निकला था उसको मैंने उसी के होंठों पर लगा दिया.

बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ ” उसने अपना गला साफ करते हुए बड़ी मुश्किल से मरियल सी आवाज़ में कहा- तोफी पीने से सु-सु में जलन होने लगती है. ”अच्छा?” उसकी आँखों की चमक तो ऐसे थी जैसे किसी अंधे को आँखें मिलने वाली हो।तुमने आज नाश्ते में क्या खाया?”कुछ नहीं.

বাংলা বিএফ এক্স এক্স এক্স

रास्ते में मैंने सागर से कहा- आज तो तुमने मेरी चूत को अपनी पूरी मर्दानगी दिखा दी. लगभग दस मिनट तक चूत चटवाने के बाद मेरा मुँह अपनी चूत में दबाकर गांड उठाते हुए वो झड़ गयी. मैंने आंटी की गांड को अपने हाथों से पकड़ लिया और जोर से अपने लंड पर पटकने लगा.

फिर वो कहने लगी कि उसे कुछ रोज़ की जरूरतों का सामान चाहिए है इसलिए हम लोगों ने बाजार जाने का प्लान किया. इस धकापेल में कब राहुल के हाथ सारिका के मम्मों की गोलाई नाप गये पता ही नहीं चला. दे से नाम लिस्ट ladkiफिर मैंने कहा- आंटी अगर मुझे आप जैसी बीवी मिल जाए, तो मेरी तो मौज हो जाए.

पंकज सारिका के होंठों से जुड़ गया और एक हाथ से उसके निप्पल दबाने लगा.

वो मुझे अपने ऊपर से हटाने के लिए एक तरफ धकेलने की कोशिश कर रही थी लेकिन मैं उससे हिल भी नहीं पा रहा था. कुछ ही पलों बाद मेरा लंड फ्रंटियर मेल की तरह आंटी की चूत का बजा बजाने में लग गया.

उनकी साड़ी और पेटीकोट ब्लाउज वहीं दरवाज़े के पास बिखरे पड़े थे और वो एक अप्सरा की भाँति मेरे सामने चमक रही थीं. मैं भी अपने खड़े लंड के साथ उसके पीछे ही किचन में हाथ धोने चला गया. उसने झट से वो नाइटी भी उतार कर फैंक दी और पूरी तरह से नंगी हो कर वहीं बैठ गई … जैसे उससे उठा नहीं जा रहा हो.

वह उठी और मेरे लंड पर थप्पड़ मारते हुए बोली- बस इतना ही दम था इसमें?मुझे बड़ी शर्म सी महसूस हुई, परन्तु बात सँभालते हुए बोला- इतनी भी क्या जल्दी है … रात अपनी है.

जीजा ने भोला से बताते हुए कहा- तुम खुद ही देख लो भाई साहब, जब मैं नौकर के साथ नीचे गया तो कितनी जल्दी ये तुम्हारा लंड लेने के लिए भी तैयार हो गई. कुतिया तेरा पति तेरी चूत देखते ही समझ जाएगा कि खड्डा गहरा हो गया है. मैंने कहा- मेरे से ऐसी बात कभी भी ना करना कि मैं किसी और के लंड की तरफ देखूं.

सेक्सी वीडियो आदिवासी एचडीवैसे तो दीदी के बूब्स का साइज भी 32 ही था लेकिन उनके बूब्स की शेप बहुत गोल थी. मेरी फ्रेंची और लोअर मेरे टट्टों के नीचे जा अटकी और लंड निकल कर बाहर आ गया.

मालिक और नौकरानी की सेक्स वीडियो

सीमा ने दरवाजा बंद कर के कहा- देखो माहौल पूरा गर्म है, कुछ भी हो सकता है. एक मेरी वाली लगभग नंगी पड़ी थी सेक्स के लिए तैयार!डॉक्टर ने कहा- तो फिर सेक्स तो सेक्स के तरीके से ही होगा मैडम!और यह बोलते हुए उसने अपनी वाइफ को इशारा किया और उसकी वाइफ ने मेरी वाइफ की नाइटी पूरी की पूरी उतार कर उसे पूर्णतया नग्न कर दिया और फिर मुझे बोला- मैडम को बेडरूम में ले चलते हैं. ”हम सब हँस पड़े।अंशु ने शैली की चुचियाँ पकड़ीं और ज़ोर से मसली- तू पहले से उपिंदर का लेती है?अंशु, उपिंदर तो तबसे मेरा जीजा है जब दीदी उसकी गर्लफ्रेंड थी, और जीजा के साथ तो आपको पता ही है.

मैं समझ गया था कि मेरीबीवी की गांडदेख कर अनिल को सेक्स चढ़ने लगा है. पता है मैंने कल बड़ी मुस्किल से सारे दिन नेट पर इस दूसरे नुस्खे के बारे में पता किया है. उसमें हमने एक बाइक को खाई में फेंक दिया और घरवालों को लगा कि हम भी खाई में गिर कर ऊपर पहुंच गये.

तभी भाभी ने झुक कर अपने मम्मों को दिखाते हुए कहा- मेरा एक काम करोगे?मैंने कहा- हाँ क्या काम है बताओ?भाभी ने कहा- ये लो ट्यूब … इससे मेरे बदन की मालिश कर दो. उनके निप्पल खड़े हो गए थे … क्योंकि मुझे उनके निप्पल महसूस हो रहे थे. जब मैं नहा कर बाहर आई तो पति का लंड सो चुका था और उनकी आंख लग गई थी.

एक बेडरूम में मेरी सास, बीवी और साली सोते थे और दूसरे में मेरे सोने का इंतजाम किया गया था. कुछ देर बाद डॉली बोली- हमेशा आप मुझे घोड़ी बनाते हो, आज मैं आपको घोड़ा बनाऊंगी.

उन्होंने अपने हाथ से ही खुद ही मेरे चूतड़ों को फैला दिया और दबाव बढ़ाने लगे.

ये सुनकर मैंने कहा- हां क्यों नहीं, आप लेट जाओ, मैं अभी आपकी मालिश कर दूँगा. भोजपुरी शायरी लवमेरी दीदी की तीन बेटियां हैं, उनमें से दो की शादी हो चुकी है और एक अभी कुंवारी है, जो घर पर ही रहती है. अनीता का अर्थमैं सोच ही रहा था कि बाहर से खाना लेकर आऊं या बाहर ही जाकर खा आऊं कि तभी वीना आंटी बाहर से कहीं जा रही थीं. अर्पित ने मुझे इशारा किया तो मैंने खुद के जिस्म की नुमाइश करना शुरू कर दी.

अगर एक दो घंटे के लिए डॉली को भेज दीजिये तो मैं बोलता जाऊंगा वो लैपटॉप पर फीड करती जायेगी.

मेरा लंड पूरी तरह उसकी चूत में जा चुका था और हम दोनों आनन्द के सागर में गोते लगा रहे थे. … आप सबने मेरी पिछली सेक्स कहानीगांव की देसी भाभी की मालिश और चुदाईएक बार फिर मैं अपनी सच्ची कहानी आप सब लोगों के सामने पर लेकर आया हूँ. मैं- ओके, हम दोनों लव फ्रेंड बन सकते हैं यानि प्यार की बातें कर सकते हैं बस.

अगले दिन घूमने का प्रोग्राम था इसलिए मैंने सफ़र की थकान दूर करने के लिए आराम करना उचित समझा. जब हज़्बेंड जॉब पे गया, तो मैंने अंकल को कॉल करके बोला- अंकल आप बाप बनने वाले हो. उसी पल मैंने उसको अपनी तरफ दोबारा से खींच लिया और उसको फिर से अपने पास में ही बेड पर बिठा लिया.

बीपी सेक्सी इंडियन बीपी सेक्सी इंडियन

जब हम घूमने के लिए निकले तो रास्ते में उसके चाचा की लड़की मीनू के यहां पर रुक गये. उसकी इस तरह की बोली पर मैं भी खुश हो गया और मैंने जल्दी ही आने को बोला- ओके अभी आता हूँ. तभी अखिल बोला- कुछ खाने को तो बोल दे! साला पार्टी के चक्कर में दिन से खाना नहीं खाया।मैं हंसते हुए बाहर आया तो नीचे मामी दिखी जो किसी को छोड़ने गेट तक आयी थी.

उसकी चुत चूसते हुए, कभी मैं उसकी चुत के दाने को सहला देता, कभी पूरी जीभ उसकी चुत में डाल देता, जिससे वो देर तक काबू न कर सकी और झड़ गई.

अनीता ने मुझे कस कर अपनी बांहों में भींचते हुए मेरा मुंह अपने चूचों में दबाना शुरू कर दिया.

आज तो नज़रें डगमगा रही थीं जनाब की …” सुमिना ने एक थाली मेरी तरफ बढ़ाते हुए कहा. जिस रात का मैंने वर्षों इंतज़ार किया था, वो मेरी चाची सास आज मेरा लंड खाएगी … वो रात आ ही गयी. क्रीम मशीन की कीमतमैं पास बैठी यशिमा के होंठों पर किस करने लगा और उसके मम्मों को दबाने लगा.

मैंने उससे कहा कि मेरा हुक्का पीने का मन कर रहा है लेकिन मैं यहां पर अकेला हूँ तो यहां किसके साथ पिऊंगा, कुछ मजा नहीं आयेगा ऐसे अकेले में ही हुक्का पीने में. उसकी चूत में जीभ देकर तेजी के साथ अन्दर बाहर करने लगा तो वह एकदम से तड़प उठी. मैंने पहले उससे बोला था कि तू घर से बाहर आ जाना बाकी का मैं देख लूंगा.

मैंने गेट खोला, तो सामने अंकल खड़े थे मैंने पूछा- आप इस समय पर?तो वे बोले- मुझे तुमसे बात करनी है. उसने मेरी सलवार को निकाल दिया और मेरी पैंटी के ऊपर से हाथ फिराते हुए मुझे गर्म करने लगा.

किसिंग करते हुए मैंने भाभी की साड़ी खींचते हुए उतार दी और उनके ब्लाउज के ऊपर से भाभी के तने हुए चुचों पे अपने दोनों हाथ टिका दिए.

अगर कहानी में मुझसे कोई गलती हो गई हो तो भी नजर अंदाज कर देना क्योंकि यह मेरी पहली कहानी है. वो अपने होंठों को मेरे होंठों पर सटा कर पूरे जोर से मुझे चूसने लगे. अगले हफ्ते जब मैं ससुराल गया, तब मैं फिर से मेरी बीवी को चुदाई के लिए मना रहा था.

गुजराती सेक्स इमेज मेरी उम्र जवान हो चुकी थी, इसलिए मेरी सेक्स की लालसा भी शुरू हो गई थी, लेकिन कोई लड़की पट नहीं पा रही थी. सारिका पंकज के बेडरूम में एक बड़ा सा टीवी लगा था जिस पर सारिका ने बेबाकी से बताया कि पंकज को बेड पर लेट कर उलटी सीधी क्लिपिंग्स देखने का बहुत शौक है.

फिर एकदम से उसने मेरे पजामे के अंदर हाथ डाल कर मेरे लंड को पकड़ लिया. लेकिन चाची ने मेरे पानी छोड़ रहे लंड पर रहम नहीं किया और उन्होनों लंड को मुंह में नहीं लिया. पंकज ने जाते समय उससे वायदा लिया कि इसका जिक्र कहीं नहीं होगा और वो लोग जब मन करेगा तब ऐसी पार्टी करेंगे.

बहन की चदाई

मुझे आप सभी के बहुत सारे ईमेल मिले और इन सभी ईमेल में सबका एक ही सवाल था कि ‘मेल एस्कॉर्ट कैसे बना जाए. मैंने स्मायरा से कहा- मेरा जोधपुर में दो दिन का ही काम है, मैं परसों जयपुर निकलूंगा, मैं परसों कॉल कर लूँगा और आपको लेने आ जाऊंगा. उस फिल्म में एक लड़का दूसरे लड़के का लंड अपने मुँह में लेकर चूस रहा था.

ये कह कर उसने एक लार्ज पैग बना दिया और उसे कोल्ड ड्रिंक से भर दिया. इतने में उसने एक और जोरदार झटका मारा और पूरा लंड मेरी चूत की जड़ तक घुसा दिया.

मैं जैसे तैसे बुआ के घर पहुंचा, तो वहां आंधी की वजह से लाइट भी जा चुकी थी.

कहानी के पिछले भाग में बहू ने अपने ससुर को अपनी चूत चुदाई से मना कर दिया तो वह सीधा अपनी बेटी कमरे में चला गया. बातों ही बातों में उसने मुझसे कंप्यूटर सिखाने के लिए कहा तो मैं भी तुरंत मान गया. मैं उठा और उठ कर उसके मुँह में अपना लंड डाल दिया, जिसे वो तुरंत चूसने लगी.

भतीजी की गांड जब देखता था मेरे मन में वासना की लहर सी उठ जाती थी और मेरा प्यासा लंड तुरंत ही उछल जाता था. मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं किसी लड़की के साथ इस तरह से लेस्बियन वाला मजा लूंगी. मेरी गांड की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी, मुझे जरूर बताना ताकि मैं आपको अपनी दूसरी सेक्स कहानी बता सकूँ.

वे दोनों बिहार से थे, रेल्वे में जॉब करते थे और रूम पर ही खाना वगैरह बना कर खाते थे.

बीएफ एक्स एक्स एक्स बीएफ बीएफ: वह मेरी तरफ करवट किए मेरे से चिपका था, उसकी जांघें मेरे ऊपर मेरी जांघ पर रखी थी. मैं- चाची कैसे लगा?चाची- बहुत मस्त लगा जीशान … मुझे इतना मज़ा कभी नहीं मिला.

न चाहते हुए भी हाथ अंदर अंडरवियर में घुस गया और लंड के टोपे को पूरा पीछे खींच कर फिर से आगे ढकने की क्रिया को बार-बार दोहराने लगा. उनकी ये बात सुनकर मुझे समझ आया कि ये किस प्रोग्राम की बात कर रहे थे. उसका आधा लंड मेरी चूत में चला गया और मैं कुछ दर्द और कुछ आनन्द से चीखने लगी.

फिर मैंने उससे पूछा- तुम क्या खाओगी?उसने बताया और मैंने खाने का आर्डर दे दिया.

कुछ देर उसके मम्मों को दबाने और चूसने के बाद मैंने उसको सीधा लेटाया और उसकी गांड के नीचे एक तकिया लगा दिया. फिर उस रात हमने बिना रोक टोक तीन बार एक दूसरे को प्यार किया और यह सिलसिला उसकी शादी हो जाने तक चलता रहा. तुमने मुझे पहली बार देखा है क्या? अभी आधे घंटे पहले तक तो तू मेरी बेटी जैसी थी.