बीएफ पिक्चर दीजिए बीएफ

छवि स्रोत,एचडी में बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बहन भाई वीडियो: बीएफ पिक्चर दीजिए बीएफ, कुछ देर बाद मैं पलटा और मैंने अपनी गांड को उसके मुँह के पास कर दिया.

बीएफ सेक्सी चोदा चोदी फिल्म

चूंकि रात भर मैं सोया नहीं था इसलिए बहुत थकान हो रही थी और आंखें लाल हो गयी थीं. हिंदी सेक्सी आंटी वीडियोसुमन- आप चुप रहो मुखिया जी, हां तो कालू तुम क्या कह रहे थे?कालू- मैडम जी, ये तहखाना बहुत समय से बंद पड़ा है.

ग्रेजुएशन करने के बाद मैंने देश के एक प्रतिष्ठित महिला कॉलेज में एम. आर्केस्ट्रा सेक्सी बीएफ वीडियोमेरी चूत और मेरी गांड दोनों से ही खून और वीर्य का मिश्रण निकल रहा था.

सन्नो ने धीरे से लंड पर हाथ घुमाया और रणजीत को बातों में उलझाने लगी.बीएफ पिक्चर दीजिए बीएफ: एकदम से सफेद चूचियां जिनके निप्पल तनकर मटर के दाने के समान हो गये थे.

मैं डर गया, फिर भी हिम्मत करके उसके मुँह पर पानी के छींटे डाले, तो वो होश में आ गई.वो सब देख कर मेरा मन भी ललचाता कि नमन मुझे भी वैसे ही बलपूर्वक भोगें, मेरी योनि चाटें और मैं भी उनका लिंग अपने मुंह में भर कर चूसूं और चाटूं!पर अपनी लज्जावश मैंने अपनी कोई भी इच्छा कभी व्यक्त नहीं की.

बीएफ सेक्सी साड़ी वाला - बीएफ पिक्चर दीजिए बीएफ

चलती बस में सुमन भाभी के साथ मस्ती होते होते किस तरह से उनकी चुत चुदाई का मजा आएगा, मैं बस यही सोचे जा रहा था.जानू जल्दी से मेरी चूची को चाटो और काटो जानू अअअअ आआहहह मैं बस जाने वाली हूँ.

मुझे बड़ा मजा आ रहा था। मेरे मुंह से ऊह्ह … आह्ह … की आवाजें निकल रही थीं. बीएफ पिक्चर दीजिए बीएफ अगले पांच मिनट तक मैंने इसी स्पीड से उसको चोदा और वो एक बार फिर से झड़ गयी.

सच्ची तुझे भी एक बार चूस कर देखना चाहिए, लंड चूसने में बहुत मज़ा आता है.

बीएफ पिक्चर दीजिए बीएफ?

10 मिनट बाद वो अपनी चरम सीमा पर पहुंच गया और उसने मेरी चूत इतनी तेज दबायी कि मेरी आंखों से पानी बाहर आ गया।उसने अपना सारा पानी मेरे मुंह में छोड़ दिया।उसके लंड से निकले पानी से मेरा मुंह भर गया. आपको जानकर हैरानी होगी कि उस रात मैंने सर को धोखे से सेक्स की गोली खिला दी. मेरे उल्टे कामों में वो बहुत साथ देता है, लेकिन कल किसी बात पर वो नाराज़ हो गया.

मैं उसके बदन पर हाथ फेरते हुए बोला:अपना काला केला तेरे बुर में घुसा … कर रहा हूं चूतड़ों को ऊपर-नीचे,मेरे लन्ड से निकलता चिपचिपा रस … तेरी सूखी बुर को अच्छे से सींचे।मैं फिर अपने मोटे शेर के दम पर उसकी अंधेरी गुफा की खुदाई करने लगा. थोड़ी देर सुस्ताने के बाद भाभी बोलीं- कुणाल, तुमने मुझे आज बहुत मजा दिया. जब मैं भाभी की ओर एक नजर देखता हूँ, तो वो मेरी ओर अलग नजर से देखने लगीं.

मैंने एक बार फिर से नताशा को बेड पर पटका और जोर से उसके गुलाबी होंठों को चूसने लगा. फिर हमने सर को चाय पानी कराया और उसके बाद मैं खाना बनाने में व्यस्त हो गयी. सुरेश- आह बस रघु … अब मेरा निकलने वाला है … तू आ जा और मीनू की चुत को संभाल … मैं अपना रस इसके मुँह में निकाल दूंगा.

ये मेरा पहला अनुभव है और मैंने इससे पहले कभी कोई सेक्स कहानी लिखी ही नहीं है, तो हो सकता है कि मैं इसे ज्यादा चटपटी और मसालेदार नहीं बना सकूं. कभी मेरी बेटी को बिना दुपट्टा के घर के बाहर देखा है तूने? हां आज वो शहर में पढ़ाई कर रही है, वहां भी वो अपनी तमीज़ और तहज़ीब नहीं भूली है.

वो दूसरी तरफ मुँह करके सोई हुई थी, तो मैंने अपना हाथ उसकी गांड पर फेर दिया.

मैं दिल्ली का रहने वाला हूं। मेरी उम्र 32 साल है और मैं हल्का सेहतमंद हूं। मैं नोएडा में एक न्यूज चैनल में काम करता हूं और केवल अपने काम से ही मतलब रखता हूं.

इतना कहकर उसने मेरा लन्ड अपने हाथ में भर लिया और उसके ऊपर दूसरे हाथ से सहलाने लगा. सुमन से नज़र मिलते ही मुखिया ने जाने का इशारा किया, तो सुमन ने उसे दो मिनट रुकने को कहा और खुद सुरेश के ऊपर से अलग हट गई. मैं आंटी की चूचियों के निप्पलों को बारी बारी से चूस रहा था और बीच बीच में दांत से काट रहा था.

सुरेश- रघु, मैं जो बातें बताने जा रहा हूँ शायद तुमको अजीब लगे … मगर ये तुम दोनों के लिए जानना जरूरी है. मैंने मधु के मम्मों को हाथों से पकड़ के दबाना शुरू किया और उसे किस करने लगा. मन करता है कि बस आपके डंडे को बस इसमें घुसाए ही रखूं … उफ़फ्फ़ कितना मस्त चोदते हो!सुमन काफ़ी देर तक अपनी रात की चुदाई के ख्यालों में खोई रही.

ट्रेन में भाभी की चुदाई की ये स्टोरी आपको पसंद आई हो तो मुझे इसके बारे में जरूर लिखें.

मैंने एक बार फिर से नताशा को बेड पर पटका और जोर से उसके गुलाबी होंठों को चूसने लगा. आपको जानकर हैरानी होगी कि उस रात मैंने सर को धोखे से सेक्स की गोली खिला दी. मेरी माँ की चूत पूरी क्लीन थी और वो माँ की चूत में उंगली देकर उनकी फिंगरिंग करने लगा.

उन्होंने उस ब्रा को मेरे सामने ही चूचों से अलग कर दिया और मेरा मुंह खुला का खुला रह गया. सारा वीर्य गटकने के बाद सुमन ने मुखिया को इशारा किया कि मैं घोड़ी बन रही हूँ, पीछे से चुत में लंड घुसा दो और जल्दी से मेरी उत्तेजना शांत करो. जैसे कि उनका प्यार रस उनके होंठों में जमा हुआ था, जो कि अब वो पीने में व्यस्त थे.

इंडियन थ्रीसम सेक्स कहानी में पढ़ें कि अपने सीनियर की बीवी की चुदाई के बाद मैंने अपने दोस्त को बुला लिया.

फिर मैं उठकर उनके पैरों के पास गया और उनके पैर का अंगूठा मुँह में लेकर चूसने लगा. उसकी आह्ह … आह्ह … और लंड की फच्च … फच्च … की आवाज से पूरा कमरा गूंजने लगा। अब मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और ऊपर चढ़कर लंड घुसा दिया.

बीएफ पिक्चर दीजिए बीएफ मैंने सोचा इसी बहाने मुखिया जी के सारे मजदूर भी मुझे देखकर अपनी आंख सेंक लेंगे. अचानक मोनिषा को होश आया, तो मोनिषा ने धीरे से खिड़की बंद की और मेरे पास आकर सो गई.

बीएफ पिक्चर दीजिए बीएफ पर अब वक़्त था ये खेल आगे बढ़ाने का!अपने सुझाव आप मुझे जरूर मेल करें. मैंने तुरन्त उस नम्बर को अपने फ़ोन में फीड कर लिया और नंबर सेव करके उसका नंबर व्हाट्सएप पर चैक किया, तो वो ऑनलाइन दिख रही थीं.

मैंने पूछा- तो जब मैं आपके सामने मुठ मारता था तो आपको कुछ नहीं होता था?वो बोली- पहले तो मुझे अच्छा नहीं लगता था लेकिन बाद में फिर मजा आने लगा.

बीएफ एचडी में बीएफ बीएफ

मैं कुछ कह पाता, इसके पहले ही उसने मेरी गांड में दोबारा से लंड पेल दिया. सुरेश- ये क्या बकवास कर रहे हो … क्या होता है यहां … हां … बोलो!रवि मुस्कुराने लगा और खड़ा होकर सुरेश के पास जाकर उसके चेहरे को पकड़ लिया और खुद टेबल पर बैठ गया. भाभी ने मुझे भी बैठने के लिए इशारा किया, तो मैं भाभी के बराबर में बैठ गया.

मैं उनमें से केवल आदिल और राजीव को जानती थी। वहाँ एक 18-19 साल की लड़की भी थी जो विक्रम के यहां नौकरानी थी। उसकी बहन अन्दर पकौड़े बना रही थी।18-19 साल की उस लड़की का नाम सुनीता था।सुनीता ने एक सिंपल सा सूट पहना हुआ था. भाभी की चूचियों की बात ही कुछ अलग थी … उन्हें जितना भी दबाओ … मन ही नहीं भर रहा था. अगर तुम इसमें सफल हो गए, तो ही हम तुम्हें अपनी बेटी से विवाह करने देंगे.

उन्होंने बगल से एक तेल की शीशी उठा कर मुझे दी और मालिश करने को कही.

आंटी ने एक बार फिर से मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. घाघरी के नीचे मैंने जानबूझकर पैंटी नहीं पहनी ताकि सर के लंड को मेरी चूत में जाने में जरा भी देर न लगे. हम दोनों की सांसें तेजी से चलने लगी थीं और किस करते-करते दोनों हाँफने लगे थे.

अब आगे की देसी हिंदी कहानी लड़की का सेक्स की:मैंने अब उसके ब्लाउज को खोला और दोनों हाथों से उसके चूचों को दबाने लगा. राहुल रूचि को चूम कर उसके पेट पर कुछ इस तरह से बैठ गया कि उसका वजन रूचि के ऊपर न पड़े. मैंने अशोक से बोला- पकड़ के रख इसे, मैं इसकी चुत और गांड तेल से भर देता हूं.

मैडम जी ने किस करना छोड़कर मुझसे कहा- अब तुम मत करो, मैं ही करूंगी. मुझे घूमने में इंटरेस्ट नहीं था तो बोला- यार घूम तो बाद में लेंगे, पहले बोतल का इंतज़ाम करते हैं, घर भी जाना है.

पहले अपने ईमेल भेजी कर मुझे ये बताइएगा कि मेरी ये भाभी नंगी नंगी चूत की कहानी आपको कैसी लगी?आपका अपना दोस्त कुणाल[emailprotected]. मेरी सुहागरात की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी शादी से पहले मेरी मंगेतर ने कुछ शर्तें रख दी. फिर उन्होंने मुझे अपने से चिपटा लिया और झड़ने लगे साथ ही मेरी चूत ने भी रस की नदिया सी बहा दी.

मैंने हांफते हुए पूछा- वीर्य कहां निकालना है?उसने कुछ जवाब नहीं दिया बस केवल जोर जोर से मुझे चूमते हुए चुदती रही.

वो देख भी लेगा, तो मुझे ही कहेगा न!मुखिया- अरे मेरी रानी डर तो इसी बात का है कि वो तुझे कुछ ना कहे. मैं धक्के लगाने लगा और अब पूरे रूम में उसकी कामुक सिसकारियां ही सुनाई दे रही थीं. गिलास लड़ाकर हमने चियर्स किया और जैसे ही मैंने पहला घूँट मारा तो उल्काई हुई और सारा बियर मैंने मुंह से बाहर फेंक दिया.

मैं- आप अपने पति को बता देना कि जब तक वो यहां पर नहीं हैं, तब तक आप मेरी गर्लफ्रेंड हो … और मैं अपनी गर्लफ्रेंड के साथ कुछ भी कर सकता हूं. वो मस्ती में गर्म गर्म आवाजें निकालने लगा और मुझे ये आवाजें और ज्यादा गर्म कर रही थी.

मीता- यहीं दिखाऊं … कोई आ गया तो!सुरेश- हां सही है, ऐसा करो तुम अन्दर जाकर कपड़े निकालो, मैं उधर ही आता हूँ. मुखिया- अबे तो बता ना साला सारा काम चौपट होने के बाद बताएगा क्या!कालू- मालिक बुरा मत मानना … मगर ये आपको नहीं बता सकता, बस आप इजाज़त दो. कई बार मेरी चुदाई करते हुए वो थ्रीसम सेक्स के बारे में भी बात करते थे.

वाली लड़कियों का बीएफ

मैं वैसे ही आधी नींद में था और उस मस्त महक से मैं बाकी का भी सब कुछ भूल कर उन्हें पकड़े सोता रहा.

उसका लंड मेरे थूक से पूरा सना हुआ था और काफी चिकना था इसलिए फिसल कर अंदर जा धंसा. मगर मैं देख रहा था कि मेरी अम्मी को धीरज के 6 इंच के लंड से कोई असर ही नहीं हो रहा था. तेरे सामने वो दोनों कुछ नहीं करेंगे, तो तुझे उनके सामने घर जाना है और वैसे भी तू अगर घर नहीं गई, तो शायद तेरी मां यहां आ जाए.

मुखिया- कौन वो नारायण की बीवी गीता?कालू- नहीं मालिक, अपने बिरजू की बेटी गीता. रुक्मणी- तुम्हारे सामने कैसे?मैं- तो क्या हुआ? मैं दरवाजा बंद कर लेता हूँ और मुँह फेर लेता हूँ. এডেল ব্লু ফিল্ম ভিডিওफिर पांच मिनट के बाद उसने मुझे जोर से कसकर पकड़ लिया और वो जोर से आवाज करते हुए झड़ गयी.

मामी एकदम से सिसकार उठी- आह्ह … इस्सस … आअह … क्या कर रहा है पागल … मारेगा क्या?मैं बोला- हां मामी, पटक पटक कर मारूंगा. मेरा पूरा का पूरा लन्ड उनकी चूत की दीवारों को खोलता हुआ उनकी चूत की गहराई में उतर गया.

अब बात उस रात की जहां से मेरी जिंदगी ने नया मोड़ लिया और यह कहानी लिखने का आधार बनी. सन्नो- क्यों वहां क्या काम है इसका?बिरजू ने पूरी बात बताई, तो गीता वहां से निकल गई और दोनों बाप बेटे अपने काम से खेतों में चले गए. मैं बोली- मैंने कभी डांस किया ही नहीं है, मुझसे कैसे होगा?इकबाल बोला- सब सीख जाएगी.

चूंकि वो पहले से ही अपनी बुर में उंगली करती थी, तो उसे ज्यादा दिक्कत नहीं हुई. मैं पहले तो समझ नहीं पाया लेकिन आंटी हर बार मुझे देखकर ऐसे मुस्कराती थी जैसे कि मैं उनका बॉयफ्रेंड हूं. मैंने अचानक से अपनी पट्टी खोल दी और देख कर हैरानी जताने लगा, जैसे मुझे कुछ पता ही न हो.

जब मैंने अपनी आंखें बंद कीं तो उस सुन्दर स्त्री का चित्र मेरे चित्त में दिखाई पड़ा और मैं उसी को याद करते हुए अपने लन्ड को जोर-जोर से हिलाने लगा.

मैं उसकी प्यारी मीठी आवाज में खो सा गया और सिर्फ अंडरवियर में आकर पैरों के बीच के उभार पर गमछी लपेटने लगा और फिर लेट गया।वह मेरे पेट पर तेल लगा बड़े आराम से अपने हाथों को छाती से ढोरी तक ससारती जा रही थी. मेरी उंगलियां उनकी गीली मखमली चूत से टच हो गयीं और मेरे अंदर चुदाई की आग भड़क उठी.

फिर मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर लेटा दिया और उसका पेटीकोट और पैंटी एक साथ उतार दिया. कालू ने हरी को बांध दिया और मुँह पर भी टेप चिपका कर उसे बंद कर दिया. वो बोली- तुम कुछ देर पहले बाथरूम में गये थे क्या?मैं बोला- क्यूं, क्या हुआ मम्मी?वो बोली- जितना पूछ रही हूं, उतना जवाब दो.

मैं हुक क्या लगाता, उनके बाल पीठ से आगे करके उनकी चूची दबाते हुए पीठ चूमने लगा. जी कर रहा था कि सिसकार भरे इस चुदाई के खेल का ये कारवां ऐसे ही चलता रहे. अगली सेक्स कहानी में मैं बताऊंगा कि शबाना के साथ गांड चुदाई कैसे हुई.

बीएफ पिक्चर दीजिए बीएफ मुझे जाते देख कर दीदी ने फोन म्यूट करके बोला- राज, तुम्हारी आंखें बहुत नशीली हैं. सुरेश- रघु, मैं जो बातें बताने जा रहा हूँ शायद तुमको अजीब लगे … मगर ये तुम दोनों के लिए जानना जरूरी है.

सीमा बीएफ

दीदी- मैं तुमको कैसी लगती हूं?मैंने- बहुत अच्छी, आप ख्याल रखती हैं. [emailprotected]न्यूड भाभी देसी बूब कहानी का अगला भाग:मामी ने भाभी की चूत दिलवाई- 3. सुमन- अच्छा वो तो ठीक है, मगर एक बात बताओ तुमने अभी तक शादी की या नहीं?कालू- नहीं मैडम जी मुझे घर बसाने की कोई जरूरत नहीं.

मेरी गांड चुदाई की कहानी आपको पसंद आ रही है? तो अपने विचार मुझे बताते रहें. वो चुदाई भी वैसे ही करते हैं जैसे पोर्न फिल्म में सेक्स दिखाया जाता है. एक्स एक्स एक्स ब्लू हिंदी मेंमैंने काफी सालों तक अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ने के बाद सोचा कि क्यों न मैं भी अपना अनुभव आपको लिख कर सुनाऊं.

अब जब भी मौका मिलता है, तो मैं दोनों बहनें को साथ में चोद देता हूँ.

मेरी और सुजाता की बात बात पर अक्सर लड़ाई होती रहती थी। मैं हमेशा उसको ताने देता रहता था कि उसे खाना बनाना नहीं आता. मामी की ओर देखते हुए मैंने लंड को अंदर धकेल दिया और दोनों के ही मुंह से सिसकार फूट पड़ी.

छोटा लड़का भी शादी के दो महीने बाद अपने बड़े भाई के पीछे-पीछे दिल्ली चला गया लेकिन अपनी बीवी को अपने बुजुर्ग विधुर पिता की सेवा-सत्कार के लिए गांव में ही छोड़ दिया।मैं और चाचा बात ही कर रहे थे कि एक स्त्री आई और मेरे पैरों को छूकर आशीर्वाद लेने लगी. नाजिया आंटी हंसते हुए बोलीं- मतलब हम दोनों ही गर्म गर्म लंड के लिए तरसती माल हैं. चूचियां देखकर ही मैं पूरे जोश में आ गया और मन करने लगा कि इनको जोर से भींच भींच कर पी लूं.

गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 8में अब तक आपने पढ़ा था कि गाँव का एक सीधा साधा आदमी रघु अपनी बीवी मीनू की चुदाई एक गैर मर्द से करवाने के लिए उतावला हुआ जा रहा था.

फिर रात में हमने चार बार चुदाई की और अब हर रोज का हमारा यह काम शुरू हो गया. उधर सुरेश ने मीनू के मुँह में लंड घुसा दिया और एक दो झटकों में ही उसका पानी निकल गया. मैंने कहा- यार तुम्हारी बहन मेरी आधी घरवाली है, क्यों न तुम मुझे उसका स्वाद चख लेने दो.

गांव की सेक्सी वीडियो बीपीजी चाह रहा था उसके चूतड़ों के बिल में अपना काला मोटा लंड घुसेड़ दूं. आखिर इतनी आसानी से ऐसे कैसे मैं अपने बदन पर मौसा जी को कब्ज़ा कर लेने देती?उस बात के लिए सॉरी बेटा जी, अब तो तेरे बिना रातों को नींद भी नहीं आती.

बीएफ एचडी हिंदी मे

मैंने अपने लंड का सुपारा भाभी की चुत पर टिकाया और जोर से धक्का दे दिया. फिर किस तरह से सीमा मामी चूत चुदवाने के लिए बाड़े में चलने के लिए तैयार हुई। अब तक मैं उनकी चूत को अच्छी तरह से चाट चुका था और उनके बोबों को मसल मसल कर लाल कर चुका था. मैंने ठान लिया था कि आज मेरी ज़िंदगी का सबसे खतरनाक वाला सेक्स करूंगा और अपने सारे अरमान पूरी करूंगा.

वो बोली- तो फिर देर क्यों कर रहे हो, चोद दो ना मुझे!मैंने कहा- पहले मेरे लंड को भी मजा दे दो. मैं बोला- तो ठीक है भाभी, अब चुदाई के मजे लो और मेरे लंड के झूले में प्यार का झूला झूलो. लंड चूसने की कहानी में पढ़ें कि कि गाँव की लड़की ने अपने भी का लंड देखा तो उसे लंड चूसने का मन करने लगा.

अब उसकी चुत दर्द करने लगी थी क्योंकि मैं उसे भूखे शेर के जैसे उसको चोद रहा था. मैंने लंड को फिर से थोड़ा पीछे किया और फिर से एक जोरदार धक्का दे मारा. दीवानी जवानी की दहलीज को पार करते ही मेरे आशिकों की संख्या में हर दिन इजाफा होने लगा था.

मैंने उसको डॉगी की तरह किया और पीछे से अपने लंड को उसकी चूत के मुँह पर रख दिया. वो दो पैग बनाए और मुझे व्हिस्की का गिलास दिया, खुद वोदका का पैग लेकर बैठ गई.

मैंने भाभी से कहा- आप अपना पल्लू पीछे से डालिए और उसको आगे लाते हुए अपनी पहाड़ियों को ढक लीजिए.

अब उसकी उत्तेजना चरम पर आ गई- आह उह बाबूजी … मेरी चुत में कुछ हो रहा है आह … और ज़ोर से चाटो आ उउऊँह. एक्स वीडियो साउथ इंडियनदेसी आंटी के मुंह से निकला- आआ … आराम से!फिर मैं उतने ही लंड को आगे पीछे करने लगा. अरे ब्लू पिक्चर सेक्सीफिर कुछ देर बाद बुआ ने मुझसे कहा- तुम टीवी देखो, मैं नहा कर आती हूँ. मैं दौड़कर उसकी ओर लपका लेकिन वो तब तक फर्श पर थी और बैग उसके ऊपर था.

घर में कोई शोर शराबा नहीं है, चाचा-चाची कहां गये?मैंने बोला- गांव में एक रिश्तेदार की मौत हो गई है.

फिर क्या था, मैंने अपने दोनों हाथों से उसके पैरों को पकड़ कर उसकी चूत अपने मुँह पर खींच ली. अब उनको कैसे सब्र हो? उन्होंने फिर हरकत करना शुरू किया और धीरे-धीरे पेलने लगे. अगले दिन मैं भाभी के आने से पहले ही दोपहर में बाथरूम में नहाने गया। मैंने साबुन लाने के लिए सीमा मामी को आवाज़ लगाई तो पूजा भाभी बोली- वो तो यहां नहीं हैं।मैंने कहा- तो फिर आप ही साबुन ले आओ।जब वो साबुन लेकर मेरे पास आयी तो मुझे अंडरवियर में देखकर उनकी आंखें फैल गयीं.

इन बातों को चार-पांच महीने बीत गये थे लेकिन कोई चूत हाथ नहीं आ रही थी और न ही लंड ही मिल रहा था. मैंने उसे पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और उसके मम्मे पकड़ कर जोर से मसल दिए. मैंने अपना हाथ भाभी की चुत पर रख दिया और साड़ी के ऊपर से ही उनकी चुत को सहलाने लगा.

बीएफ सनी लियोन के एचडी

उस दिन जब भाई-भाभी घर पर नहीं थे, तब करण रिया को मेरे घर पर ले आया था और करण ने रात को मेरे फ्लैट के गेस्टरूम में मेरी मौजूदगी में रिया की चुदाई की थी. राजेश आँखें बंद करके जोर से सिसकारियां ले रहा था- आह्ह … हाय … ओह्ह … हम्म … आह्ह … मजा आ गया प्रेम।उसका मजा साफ पता लग रहा था. जब भी मेरा लंड उसकी चूत में अंदर की ओर घुसता था तो वो कसमसा जाती थी.

अचानक मेरी पकड़ ढीली होते ही पूजा भाभी खड़ी हो गई और मुझे धक्का देकर भागने की कोशिश करने लगी.

खैर … मैंने खुद पर कंट्रोल किया क्योंकि मेरा लंड भी टाइट हो गया था.

वो मेरे लंड को प्यार से सहलाती रही और एक मिनट में ही मेरा लौड़ा फिर से तन गया. मैं बोला- आप सोचिये कि मैं अभी आपके पास अकेला हूँ … हमारे पास कोई नहीं है. એક્સ વિડીયો એક્સ વિડીયો એક્સ વિડીયોमैं बोला- क्या आप एक बार फिर से चुदवाना चाहेंगीं?उन्होंने हां में सिर हिला दिया.

मैं अभी कुछ बोल पाती कि कासिब मुझे हाथ पकड़ कर अम्मी अब्बू के कमरे में ले गया. मैंने कहा- साली जी, सच बताओ मैं तुम्हें अपने तरीके से चोद लूं!वो कहने लगी- जीजू आपको जैसा करना कर लो, मुझे भी मजा आ रहा है. मैंने उसके गाल पर एक हल्का सा प्यारा सा किस किया और उसको आई लव यू कह दिया.

मुखिया जी ने बस हाल चाल पूछने भेजा है … और आपको कोई चीज की जरूरत हो … तो बता दो, मैं ला दूंगा. उसकी आह्ह … आह्ह … और लंड की फच्च … फच्च … की आवाज से पूरा कमरा गूंजने लगा। अब मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और ऊपर चढ़कर लंड घुसा दिया.

कुछ दिनों में मेरे दोस्त का कॉल आया और उसने कहा- भाई जल्दी आ जा, अब क्लास शुरू होने वाली हैं.

अब आगे मेरी पहली असली चुदाई:मेरा जवाब सुनते ही सार्थक ने लाइट ऑन कर दी. शाम को तय समय पर सुशी फिर से मौका देख कर घर से निकली और पीछे के रास्ते से मेरे मकान में आ गई. एक दो मिनट तक लंड को मम्मों में रगड़ा फिर मैंने दिव्या को सोफा से लग कर खड़ा किया और उसे घोड़ी बना कर पीछे से लंड पेल दिया.

कामसूत्र सेक्सी विडिओ मौसा जी … आह हां ऐसे ही … और जोर जोर से करिए न!” मैं अपनी कमर उचकाते हुए बोली. मैं तो साला बिना पिए कभी किसी को नहीं चोदता … मगर आज उस मैडम को तो ऐसे ही चोदूंगा.

भाभी जोर से चिल्लाई- उउउई … उउउई … अम्मी … मर गयी।मैं बोला- क्या हुआ भाभी? भैया से भी तो चुदवाती हो!वो बोली- उनका इतना लम्बा और मोटा नहीं है, वो तो आराम से डालते हैं, तूने तो जान ही निकाल दी मेरी।मैं बोला- कुछ नहीं भाभी, दो मिनट के अंदर आपको ऐसा मजा आने लगेगा कि आप खुद ही जोर से चोदने के लिए कहोगी. [emailprotected]न्यूड भाभी देसी बूब कहानी का अगला भाग:मामी ने भाभी की चूत दिलवाई- 3. इतना बोलकर मैं भाभी की जांघों पर लंड को चुभाने और उनकी चूचियों को जोर जोर से भींचने लगा.

बीएफ 2 फिल्म

कहानी को और उत्तेजक बनाने को आप अर्चना भाभी की कल्पना कीजिये, वो एक्ट्रेस लता सब्रवाल, जो टीवी पर भाभी का रोल करती हैं, से मिलती जुलती शक्ल सूरत की थीं. मेरा मतलब क्या तुम यहां पढ़ाई करने मेरे घर आ सकते हो?राहुल- हां ठीक है न, मैं कल सुबह आ जाऊंगा. देसी आंटी ने मुझे थैंक्स बोला और कहा- आज का सेक्स करके तो मुझे पहली बार इतना मजा मिला है.

फिर एक स्थिति ऐसी आई की मौसा जी का लंड मुरझा गया और उसे मेरी चूत ने सिकुड़ कर बाहर धकेल दिया. उसी शाम को मुझे भैया का फोन आया और उन्होंने कहा कि मैंने तेरी भाभी को बस में बिठा दिया है.

वो पानी लेकर आयी, तो पानी लेते समय मैंने उसके हाथ को जोर से दबा दिया.

मुनिया- धत्त भाबी … आप भी ना!सन्नो- क्यों मैं झूठ बोल रही हूँ क्या? खा मेरी कसम कि हम दोनों की चुदाई देख कर तेरी चुत में जलन नहीं हुई!मुनिया का चेहरा शर्म से लाल हो गया था. वो कुछ देर बाद इतनी मस्ती में चूसने लगी कि जैसे लंड उसके लिए कोई लॉलीपॉप हो. रंडी की चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी बेवा अम्मी को अपनी ही क्लास के एक लड़के से पैसे लेकर चुदती देखा.

अब जब दूसरे माली की कॉल आ ही गयी है … तो अगली बार मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने नीला को दूसरे लंड का सरप्राइज दिया. बात को जल्दी खत्म करने के लिए मैंने कहा- कोई नहीं, जो होगा देखा जायेगा. मुनिया- हां भाई, ऐसे घर में बैठने से अच्छा कोई काम कर लूं, तो दो पैसे भी घर में ज़्यादा आ जाएंगे.

उसके बाद मेरा जब भी मन करता, मैं उस फोरेनर गर्ल के कमरे पर चला जाता और उसकी चुदाई के मज़े ले लेता.

बीएफ पिक्चर दीजिए बीएफ: आपकी पिंकी सेन[emailprotected]सेक्स चुत चुदाई कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 2. और इस तरह से दो मिनट बाद ही मेरा लंड उसकीगांड को पेलनाशुरू कर चुका था.

इस शृंखला की पहली तीन कहानियां पढ़कर आपके लंड और चूतों ने आपको खूब परेशान किया होगा. मुझे तो हुक बंद करने के बहाने चाची की पीठ को छूने में मजा आ रहा था इसलिए भी मैं जानबूझकर पूरा प्रयास नहीं कर रहा था. कुछ दिनों में मेरे दोस्त का कॉल आया और उसने कहा- भाई जल्दी आ जा, अब क्लास शुरू होने वाली हैं.

अब हाल ये था कि धोती उसके लंड को छुपाए हुए थी, बस बाकी वो नीचे से पूरा नंगा हो चुका था और मुनिया से जांघों की मालिश करवा रहा था.

राहुल ने फिर पूछा- तुमने कुछ कहा नहीं?रूचि ने कहा- मैं तुम्हें बहुत पहले से ही पसंद करती हूँ. सुशी डर गई और बोली- अब मैं बाहर कैसे जाऊँगी?बाहर भीड़ इकठ्ठा होने लगी. अब मेरा लन्ड भी माल छोड़ने वाला था।मैं बोला- मामी, मेरा आने वाला है.