हिंदी बीएफ दिखाइए वीडियो में

छवि स्रोत,वीडियो चुदाई वाली सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

भोजपुरी देसी चुदाई: हिंदी बीएफ दिखाइए वीडियो में, मैंने खाना मित्रों के साथ खा लिया था इसलिए डिनर के लिए मना करके सीधा मामी के रूम में लेटकर टी.

चाची की चुदाई की सेक्सी वीडियो

पिंकी- लंड खड़ा हो गया है तो क्या आप मुझे अभी ही चोदने की सोच रहे हैं?देखेंगे डार्लिंग. बाप और बेटी की जबरदस्ती सेक्सी वीडियोबेटी इसे जवानी का खेल बोलते हैं, हम जैसे मर्द तेरी जैसी गर्म सैक्सी मस्त लड़की के साथ यह खेल खेल कर सिखाते हैं.

मैं उठा और अपने फनफनाते लंड को भाभी के मुँह पर ले गया और उन्हें लंड चूसने को कहा, तो भाभी ने मना कर दिया कि ऐसा उन्होंने पहले कभी नहीं किया. फतेहपुर सेक्सी वीडियोअरे, मैं इन सब बातों के बीच आपकी इस कहानी के एक जरुरी पात्र से परिचय करवाना ही भूल गया- मोहन लाल.

अर्पिता की चूत एकदम साफ़ थी जैसे उसके एक-दो घंटे पहले ही बाल साफ किये हों!मैंने दो उंगली चूत में डाल के फिंगरिंग करनी शुरू कर दी.हिंदी बीएफ दिखाइए वीडियो में: वह ही बुआ के कमरे में सो गया और मुझसे कहा कि बेटा तुम हमारे साथ सो जाओ.

क्यूंकि वो मेरा पहला टाइम था तो मैंने बिना सोचे बोल दिया- आप कितना दे पाएंगी?वो बोली- दो दिन का बीस हजार दे सकूंगी.उसकी 34 इंच की उठी हुई गठीली चूचियां और उनके ऊपर काले-काले चूचक हल्का स्लोप लिए हुए पेट में गहरी नाभि, आज साली लाल पैंटी में गजब सुंदर लग रही थी.

गांड में पहले वाला सेक्सी - हिंदी बीएफ दिखाइए वीडियो में

अंकल मुझे उन लड़कों में से कोई भी पसंद नहीं, वैसे उन लड़कों के साथ यह करने का मन कैसे हो? उन गुंडे मवालियों से क्या मुँह लगना? हाँ भीड़ का फायदा ले कर लड़के कभी कभी मेरा जिस्म सहलाते हैं, मेरा सीना और पिछवाड़ा दबाते हैं और पिछवाड़े पे रगड़ते हैं… बस उतना ही लड़कों से संबंध हुआ है और कुछ नहीं.उसकी इस तरह की कामुक बातों से अब कहीं ना कहीं मैं भी उसकी बातों में खोने लगी क्योंकि मुझे भी पता था कि मैं क्या हूँ और लोग मुझे कैसे देखकर आहें भरते हैं.

क्यों नहीं, हम भी देखें तुम में वो कौन है जो हमें कुतिया जैसा महसूस कराएगा. हिंदी बीएफ दिखाइए वीडियो में जनवरी से पहले दिसंबर में मैंने 12 वीं की परीक्षा ओपन बोर्ड से की थी तो एग्जाम देकर मैं फ्री हो गया था.

मैंने हाथों से उसकी जाँघें चौड़ाईं और उसकी चुत को हाथों से खोल कर उसके गुलाबी चूत पर अपनी जीभ रखी.

हिंदी बीएफ दिखाइए वीडियो में?

इसके बाद में मैंने लंड को गांड के छेद पर रखा और एक करारा झटका दे मारा. तो बहन बोली- भाई शरमा मत, तू अपना मजा पूरा कर ले!पूरी कहानी आप खुद नयना की जुबानी सुन कर मजा लें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिए सबसे अच्छाब्राउज़र क्रोम Chrome है. सबके हाथ में बियर थी कोई डाइरेक्ट बोतल से पी रहा था तो कोई गिलास में डालकर ड्रिंक कर रहे थे और उनके बीच अब कोई शर्म नहीं बची थी.

एकाएक मेरी गुलाब जामुन ने धक्का मार कर मुझे गिरा दिया, अपनी चूचियों को निकाल कर मेरे मुँह में घुसेड़ दिया. सारिका मेम ने फ़ोन काट दिया और फिर जब मैं सुबह कोचिंग सेंटर गया तो क्लास अटेंड की. तो दोस्तो, इस तरह मैंने प्ले बॉय बन कर मस्त चूत को चोदा और पैसे भी कमाए.

खैर, वो उठकर दोबारा रसोई में गया और एक बड़ी सी थाली लेकर वापस आ गया. अब तो मैं अपनी बहन की चुदाई के सपने को किसी ना किसी तरह पूरा करने की कोशिश करने लगा. फिर उसने अपना डिल्डो रूपी लंड मेरे मुँह में दे दिया और कहा- चूस इसे कुत्ते.

उधर बाहर साधु ने गोपाल को समझाया कि आगे क्या करना है और उनके जाने के बाद मोना का कैसे ख्याल रखना है. एक दिन मम्मी ने मुझे एक पैकिट दिया और कहा कि बेटा इसे अपने कचरे के ढेर में फेंक आओ, तो मैं उसे लेकर गया लेकिन मेरा शैतान दिमाग कुछ और ही कह रहा था तो मैंने उसे खेला तो देखा कि उसमें कुछ बालों का गुच्छा सा था जो कम से कम मम्मी के सिर के तो नहीं थे.

मैंने पूछा- ये ले सकोगी?वो बोली- हाँ… क्यों नहीं… जल्दी से डालो पापा.

इसलिए जैसे तैसे करके अपने आपको आराम देने की कोशिश करते हुए वो बोली- कबीर मोहल्ला और कितनी दूर है पता नहीं, ये बस भी कैसे धीरे चल रही है.

आप भी कहते हो कि प्यार में पहले दर्द तो होता ही है और बाद में मजा आता है. इधर उस्मान अपनी गांड उछाल उछाल कर माया को चोद रहा था, लेकिन वो जानता था कि उसे क्या करना है. जैसे ही नीता का स्नान पूरा हुआ और उसने अपने सेक्सी जिस्म पर टावल लपेट लिया तो पप्पू आ कर सोफ़े पर बैठ गया.

फिर धीरे धीरे उसकोपूरी नंगी कर दिया, वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी लेटी हुई अपनी चुत को छुपा रही थी. एक घंटे बाद बाहर हल्की आवाज़ हुई, बुआ ने झट से दरवाजे पर पहुँचकर झिर्री से बाहर झाँका और दरवाजा खोल दिया… जीजा जी बाथरूम जा रहे थे. टीना- चलो रे आ जाओ तुम लोग भी, ये अतुल का लंड चूस कर हमारी चुत भी गीली हो गई है.

दस मिनट ऐसे ही करने के बाद मैंने अचानक उसका मुँह बंद किया और एक जोरदार धक्का दे मारा.

दो मिनट में ही कविता के दोनों निप्पल किशमिश से अंगूर हो गए यानि उसके निप्पल काफ़ी टाइट और खड़े खड़े हो गये थे. कुछ देर बाद एअरपोर्ट से बाहर निकल कर मैंने अर्पिता को कॉल किया और पूछा कि वो कहाँ है, तो बात करते-करते वो मेरे पीछे आ कर खड़ी हो गई. नहीं नहीं मरवाओगे क्या मुझे!अतुल- अरे चुदाई तो सिर्फ़ ये दोनों ही करेंगे.

मैंने पूछा- कहीं बच्चा ठहर गया तो?गुलाबो बोली- दिदिया का माला-डी चुरा कर खा रही हूँ. माया अब बस ये चाहती थी कि ये सब जल्द से जल्द लंड पेल दें और उसकी चूत की आग को बुझा दें. और ये बात भी सच थी कि उस हादसे के बाद जब इरफान के साथ मैंने सेक्स किया था तो उसमें मैं पूरी तरह सेटीस्फाइड नहीं हुई थी और चाचाजी को देखते ही मेरी चुत ने अपने आपको खुद ही सेटीस्फाइड कर लिया था.

मैंने पूछा- यहाँ फिर किसी का वेट कर रही हो क्या?वह बोली- जी नहीं… मैं अपनी तन्हाई दूर करने आई हूँ.

मैंने नेहा के चूचों को जोर से पकड़ा हुआ था और नेहा की चूत मनोज के सामने फूली हुई थी. लंड कभी उस के पेट के नीचे जांघों के बीच में चला जाता तो कभी उस की गांड के छेद पर रगड़ खाता.

हिंदी बीएफ दिखाइए वीडियो में उसके लंड का सुपारा मेरी बच्चेदानी के मुँह का चुम्बन लेते हुए उसे पीछे की तरफ़ धकेल रहा था. कुछ देर बाद मैंने उसे टेबल के सहारे झुका दिया और उसकी चूत चोदने लगा.

हिंदी बीएफ दिखाइए वीडियो में उसे अंदाज भी नहीं था कि वो कितनी बार झड़ चुकी है और उसके अन्दर का ज्वालामुखी फिर से फटने वाला था. मैंने उन्हें देख कर कहा- ये क्या? आप आप अंडरवियर में ही… कपड़े कहाँ है आपके?तो वो बोले- आज मैं कपड़े घर पर ही उतार कर आया हूँ.

इधर कोमल भाभी की भी साड़ी खुल कर नीचे पड़ी थी, उनके ब्लाऊज के सारे बटन टूट चुके थे और पीछे वाला आदमी खड़े खड़े उनकी ब्रा ऊपर कर उनकी चूचियों को बेरहमी से मसल रहा था.

सेक्सी फोटो एकदम सेक्सी

हम दोनों 10 मिनट तक एक दूसरे का लंड चूसते रहे और फिर हमने एक दूसरे की मुठ मार दी. उस दिन पापा घर पर ही थे, वे काम पर नहीं गए थे क्योंकि चाचा 15-20 दिनों के लिए बाहर गए थे. तब मुझे वहाँ मीना की परछाई दिखी तो मैं समझ गई कि मीना बेडरूम के दरवाजे के पास खड़ी है और हमारी बातें सुन रही है.

मैंने जानबूझ कर ऐसा नाटक किया कि वो आलिंगनबद्ध हो गई, मैं उसके कंधे पर सर रखते हुए कहा कि सर में बहुत दर्द हो रहा है, बाम लगा दो. ससुर ने उनकी ब्रा को भी उतार दिया और उनकी बड़ी चूचियां एकदम से बाहर आ गईं. मैंने तगड़े धक्के मारते हुए दीदी की चुत के अन्दर ही लंड का पानी झाड़ दिया.

मैं जब भी मुंबई आऊंगी तो तुझे फोन करूंगी और तू जब भी नागपुर आएगा तो मुझे फोन करना.

मेरी बात का जवाब दे बेटी, तुझे ऐसे देख कर घर का यह मर्द अपने आप पे काबू कैसे रख सकता है? ऐसा कसा हुआ गोरा जिस्म इतने कम कपड़ों में देख कर मेरी तो हालत मस्त हो रही है बेटी. तभी उनकी वीर्य की गरम गरम जोर से पिचकारी छूटी जो मेरी चूत की दीवारों से टकराई. फिर मैंने अपने लंड पर भी बहुत सारी कोल्ड क्रीम लगाई और लंड को उस की गांड पर फेरने लगा.

आपका बेटा तो ऐसे संभल संभल कर करता है कि कहीं चूत को चोट न लग जाए, उसे पता ही नहीं कि चूत को जितना बेरहमी से ‘मारो’ वो उतनी ही खुश होती है. वो दिन तो ऐसे ही बीत गया था और हम दोनों दोस्त वापिस आ गए,एक सप्ताह बाद फिर मैं उधर किसी काम से गया तो मैंने मन में सोचा कि क्यों ना आंटी से मिलता चलूँ, शायद कुछ नजारा देखने को मिल जाए!मैंने जैसे ही डोरबेल बजाई, आंटी ने दरवाजा खोला, आंटी मुझे देख कर बहुत खुश हो गईं, उन्होंने मुझे अन्दर बुलाया, अन्दर अंकल को न देख कर मैंने पूछा- अंकल कहाँ पर हैं?उन्होंने बताया कि अंकल काम पर गए हैं. मैंने यहाँ पे एक बढ़िया सा फ़्लैट ले रखा है जिसमें सारी सुख सुविधाएं है.

अपने बारे में बताते हुए वो कहती है कि वैसे तो उसका रंग रूप साधारण ही है लेकिन उसके बदन में लड़कों को पसंद आने वाली चीजें काफी सेक्सी हैं. सुमन तो इतनी ज़्यादा उत्तेजित थी कि वो सब भूल गई कि उसके पापा कैसे उसका फायदा उठा रहे हैं.

अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज के प्यारे पाठको,आप जानते हैं कि आपकी मनपसंद साईट अन्तर्वासना पर ऑडियो सेक्स स्टोरीज भी प्रस्तुत की जा रही हैं. दूसरी बात ये भी थी कि जबसे मैं सप्लाई करने लगा तबसे उसके स्टेशनरी के खर्च में काफी कमी आ गई हालाँकि मैं बिल उसके कहे अनुसार ही देता और इससे उसकी अपनी कमाई में बढ़ोत्तरी हो गई. जब सुमन एकदम शांत हो गई तो नीचे उतर कर लेट गई मगर गुलशन जी का लंड अभी भी तना हुआ था, उनका पानी अन्दर उफान मार रहा था.

अब मैंने जीजू के लंड को अपने मुँह से निकाल दिया और उन्हें बोली- जीजू, अब मुझे थोड़ा राज से भी चुदने के मजे लेने दो.

मैंने भी उसकी टांगें खोल के लंड को बहु की चूत पर रखा और धीरे से घकेल दिया भीतर. पिछली रात में ही मैंने उसकी कुँवारी चूत को मस्त तरीके से चोदा कर खोल दिया था. मुझे तो जैसे जन्नत ही मिल गई थी क्योंकि नेहा दी का फिगर क्या बताऊँ… वो एकदम गोरी थी, उनका मांसल शरीर एकदम लचीला था, जब वो ठुमक कर चलती थीं, तो उनकी चुचियां और गांड ऐसे हिलते हैं कि कलेजा मुँह में आ जाता है.

पप्पू का लंड नंगी नीता को देख कर और गर्म हो गया जिसे रूपा मस्ती से चूस रही थी. रोज की तरह सुबह गोपाल आया तो मोना ने उसको बताया कि आज साधु बाबा आने वाले हैं और उसकी नीतू को चोदने की मुराद पूरी होने वाली है.

आज मैं ये सोचता हूँ कि मौसी अगर इतनी गर्म हो चुकी थीं, तो मौसी ने मुझसे चुदवाया क्यों नहीं? मुझे ये लगता है शायद मौसी रिश्ते में बेटा होने की वजह से खुद को रोक लेती थीं. वो बोली- तुझे पता नहीं तेरी ये चूत अब सिर्फ पेशाब करने का छेद नहीं है. मैं समझ गया कि वो झड़ने वाली है, तो मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और तेज़ी से शॉट मारने लगा.

सेक्सी शॉट सुहागरात

कोई गर्लफ्रेंड बनाई है या नहीं?”मैंने कहा- नहीं आंटी! ऐसा कुछ नहीं है!वो किचन में चली गईं और खाना बनाने लगीं.

जीजू बोले- रोमा ये राज है, मेरा दोस्त… मेरे साथ मेरे ही ऑफिस में काम करता है. मेरी लम्बी जीभ मजे से उसकी साफ चिकनी चूत को चाट, सहला और पी रही थी. वो बोला- क्यों, हाथों में गोबर लगा हुआ है क्या?मैं फिर हँस पड़ा।उसने कहा- दांत मत दिखा, जल्दी बाहर जाकर वॉशबेसिन में हाथ धो ले और आकर रोटी खा ले.

इसलिए मैं हर दूसरे तीसरे दिन मुट्ठ मारता रहता था। मुझे एक चीज़ बहुत परेशान करती थी. मौसी ने हाथ जोड़ कर कहा- नहीं बेटा मुझ पर दया करो, मैंने आज तक कभी गांड नहीं मरवाई है और तुम्हारा लंड भी बहुत लम्बा है. चीनी चीनी सेक्सी वीडियोजैसे ही उसका हाथ अपनी गर्दन से हटाया वो जाग गयी- ऊंऊं… कहाँ जा रहे हो पापा?उसने मुझे फिर से लिपटा लिया.

लंड को चुत की फांकों ने जकड़ लिया था और मोटे लंड के कारण घर्षण कुछ ज्यादा ही होने लगा था. मैं उसकी दोनों टांगों के बीच में जा कर बैठ गया और झट से उसकी चूत को चूम लिया.

उसके बाद अतुल और बरखा कमरे में चले गए और टीना ने उनको कोल्ड ड्रिंक भी दी. उसके बाद जीजू और मैं एक दूसरे को किस करने लगे और नंगे एक दूसरे से गले मिलने लगे. पप्पू रूपा के हाथ को पकड़ के बोला- अब तेरी जैसी गरम माल मिले तो रहा नहीं जाता, इसलिए तेरा ब्लाउज खोलने लगा था.

इधर हमारे पास ही मनोज ने सोनिया को घोड़ी बना लिया था और उसके ऊपर से उसकी चूत में अपना लंड डाल रहा था. मेरी अगली नयी कहानी के लिए मैं ऐसी लड़कियों से मित्रता करना करना चाहता हूँ जो मेरे साथ सेक्स चेट्स करते हुए मेरी कुछ जिज्ञासाओं का समाधान कर सकें. आह्ह्ह् ऊऊह्हह…” उसके मुँह से ऐसी आवाज आ रही थी और अगले ही पल वो अपने हाथों से मुझे दूर कर रही थी, पर मैंने उसे मजबूती से पकड़ रखा था और उसके होंठों को चूसे जा रहा था.

मैंने अंजान बनते हुए पूछा- कहां जा रहे हो इतनी रात को??इरफान- बस यहीं आस पास जरा टहल कर आते हैं.

लगभग 5 मिनट की चुत चुसाई के बाद मैं उसे चोदने की पोज़िशन में आ गया. इस केबिन में केवल 4 बर्थ थीं, जिसमें से तीन हमारी थीं और एक किसी और की थी.

क्या आप मुझे एक हाथ से उठा सकते हैं?मैंने कहा- क्यों नहीं, अभी दिखाता हूँ. दोपहर को दीदी और उनकी सास को कहीं बाहर जाना था, जाने से पहले दीदी मेरे पास आईं और बोलीं- संचू डार्लिंग, मैं अपनी सास के साथ कहीं जा रही हूँ, रात तक वापिस आएंगे, कुछ चाहिए हो तो अंजलि से ले लेना. पर एक दिन दोपहर लंच के बाद मामी को मेरा लंड चूसते हुए अचानक मामी की बेटी अर्चना ने हम लोगों को रंगे हाथ पकड़ लिया था.

भोला ने अपना मोटा लंड मम्मी की चूत पर रख कर कमर का एक जोरदार झटका मारा तो वो फिर से चिल्लाईं- अइरेर. फिर रेखा कुछ इस तरह बैठकर मेरा लंड चूसने लगी कि उसे शीशे में लंड चुसाई का सीन साफ़ साफ़ दिखे. दोस्तो, मेरी इन्सेस्ट स्टोरी यानि रिश्तों में चुदाई के सोलहवें भाग में आपने पढ़ा कि कैसे मेरे चाचू ने अपनी कमसिन बेटी की चूत चुदाई की.

हिंदी बीएफ दिखाइए वीडियो में गोपाल- अच्छा ये बात है, मगर तुम्हें ये कुछ ज्यादा छोटी नहीं लगती?मोना- अरे मैं कौन सा इससे ज़्यादा काम करवाया करूँगी. मैं भी हड़बड़ी में दर्द भूलकर अपनी पैंट ऊपर करता हुआ उठ गया और खुद को संभालते हुए नॉर्मल किया और उसके पीछे चला.

जैसलमेर जिले की सेक्सी वीडियो

वो धीरे से मुझे चुम्बन करने लगी और अपने होंठों को मेरे होंठों के साथ सटा कर उसने एक लम्बा चुम्बन किया. उनकी बातें मुझे और उत्तेज़ित कर रही थीं, अब मुझसे रहा नहीं गया तो मैं बोल पड़ी- कमीनों जो करना है कर लो और ये पट्टी नहीं चाहिए मुझे. तभी सलमा ने अपनी एक चुची को उसके मुँह पर रखकर दबाया तो वह अजनबी उसके ब्राउन कलर के निप्पल को दबा दबाकर चूसने लगा.

तो दोस्तो, इस तरह मैंने प्ले बॉय बन कर मस्त चूत को चोदा और पैसे भी कमाए. ममता जी ने भी अब मुझे ज्यादा कुछ नहीं कहा और मेरी बाँहो में बाँहे डाल कर चुपचाप सो गयी।मैंने भी अब ममता जी के साथ कुछ किया नहीं, बस ऐसे ही उन्हें अपनी बाँहो में भर कर लेट गया और फिर पता नहीं कब मुझे नींद आ गयी।इसके बाद तो हमारी रोजाना ही रात को चोदा चोदी होने लगी।मेरी एडल्ट स्टोरी पर अपने विचार मुझे मेल करें![emailprotected]. मद्रासी सेक्सी फिल्म हिंदी मेंआगे बढ़ कर मामी ने उसकी समीज के नीचे से हाथ ले जाकर उसकी चूचियाँ दाबना शुरू कर दीं.

तुम्हारी जवान बीवी अब तुम्हारी नहीं रही, वो अब पराये मर्द के लंड से ही संतुष्ट होती है.

उसके कहने का मतलब है कि उसकी फिगर शानदार है 36 इंच की उसकी चूचियां, 38 इंच के उसके चूतड़ जोरदार हैं जो सभी मर्दों की नजर अपनी तरफ खींच लेते हैं. मैं तो देखता ही रह गया, उसने मुझे हिलाया और बोली- कहाँ खो गए?फिर हम बस में चढ़ गए.

सलमा मेरी चुचियों को मजा दे रही थी और मैं उसकी चुत पर लगे चुदाई के रस को उंगली में ले लेकर चाटने लगी. फिर उसने जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया और वो जोर से कराहने लगी- ओह्ह. यह कहते हुए चाचाजी खड़े से होते हुए अपनी सीट पर बैठ गए, जो आगे चाची ने भी देखा.

मैंने यश की पेंट निकाल दी, यश अब अंडरवियर में था और उसका लंड उन्द्र्वीय्र फाड़ कर बाहर निकलने को था.

वो मुझे बोली- आपको नींद नहीं आ रही?मैंने कह दिया- हाँ आ तो रही है लेकिन आपकी बांहों में सोने का मन कर रहा है. मुझे ऊपर मम्मों को मसलने और नीचे रेनू आंटी की चूत से रगड़ खाता मेरा लंड बहुत मजा दे रहा था. मैं तुम्हारी चुत में पूरा का पूरा लंड घुसाते हुए तुम्हें बहुत ही बुरी तरह से चोदूँगा.

देहाती सेक्सी वीडियो में हिंदीजोशना अपने चूचे को मेरे मुँह पे दबाती हुई बोली- आह मेरा दूध पसंद आया?रिक्की ने चूचे को मुँह में रखकर कहा- उम्म… मजेदार है. इसलिए जब पप्पू ने उसकी नाभि में उंगली डाली तो उसने सहारे का हाथ निकाल कर अपना पल्लू पूरा सीने पे ओढ़ते हुए कहा- ओह थैंक यू.

सेक्सी वीडियो पूरा खुला

जंगल है तो ट्रैफिक कम ही होता था और शाम के वक्त यहाँ कोई नहीं आता जाता है. घर पहुँचते ही शॉपिंग बैग्स वहीं सोफे पर फेंक के मैंने बहूरानी को दबोच लिया. उसकी उम्र 32 साल है और उसको 2 लड़के हैं, एक 5 साल का और दूसरा 3 साल का.

वो दोनों मेरी स्टूडेंट थीं, जिन्हें मैं चौक स्थित कंप्यूटर सेंटर में पढ़ाता था. मैंने अब जोर जोर से सोनिया को चोदना शुरू कर दिया था, सोनिया की चूत पानी की पिचकारियाँ छोड़ रही थी, उसकी जवानी का गर्म पानी मेरे लौड़े पे गिर रहा था. दोस्तो, आप जानते ही हैं कि जब हम सेकंड टाइम चुदाई करते हैं तो जल्दी झड़ते नहीं, यही मेरे साथ भी हुआ.

अचानक ही उसने अपने कड़क मर्दाना मज़बूत हाथ से मेरी कलाई पकड़ी और एक जवान हसीन देसी हस्बेंड की तरह मुझे खींच कर उसी खंडहर के अन्दर बने एक कमरे में ले गया. फिर उसने मुझे बेड पर गिरा दिया और मुझे इस तरह दबा लिया, जिससे मैं हिल भी न पाऊं. ”मैं अपने पापा के साथ जो चाहे करूँ तुम्हें क्यों खुजली हो रही है? तू भी ले ले मजे.

उस की चूत के ऊपरी मांस में केवल एक पतली सी गुलाबी झिरी दिखाई दे रही थी. फिर डॉक्टर मैडम आई, उसने टेबलेट्स दीं, उसको रात को यूज़ करने के लिए और बोला- कल और आना है बस.

मैंने अपनी आंखें खोलीं, चाचाजी ने मुझे कामुक नजरों से घूरते हुए मेरी चुत पे चिकोटी काटी.

मैं समझ गया था कि रीना एक ठंडी लड़की है जो देर से सेक्स में संतुष्ट होती है इसलिए उसको ड्राइव करने के लिए लंड पर सवार कर लिया. ओपेरा सेक्सी वीडियो’मैंने भाभी का पेटीकोट भी निकाल दिया अब वो मेरून ब्रा और ब्लैक पेंटी में थीं. हरियाणवी भाभी सेक्सी वीडियोहम दोनों प्रेमी के मुँह से ऊँ ऊँ का स्वर आज ऐसा लग रहा था कि मेरी गुलाबो मेरा पति हो और मैं उसकी पत्नी होऊं. मैंने पूछा- क्या वो तुमको चोदता नहीं है?उसने कहा कि मेरा पति मुश्किल से पांच मिनट चोद पाता है.

अचानक उसने कहा- क्या देख रहे हो?मैंने कहा- यही सोच रहा था कि तुमने मेरा हाथ क्यों दबाया था.

बुआ ने आते ही दरवाजा बंद किया और चित लेट गयी, फिर उन्होंने अपने घुटने मोड़ कर अपनी साड़ी और पेटीकोट नीचे खिसकाई. मैंने बाथरूम में जाके चूत धोई अच्छी तरह से झुक कर नलके से चुत लगाई और नलका चालू किया. मैं उस को उठा कर बेडरूम में लाया और पलंग पर पटक कर झट से भाभी के ऊपर टूट पड़ा.

मैंने अपनी नजरें घुमा कर देखा तो सब तरफ शांति थी, कोई भी दिख नहीं रहा था. वो हमारी ही टेबल पे आके रुक गई और रिजवाना, फरीदा से हाय हैलो के बाद मेरी तरफ देखने लगी. मेरी हिंदी चोदाई स्टोरी की इस कड़ी में इतना ही, आगे की कड़ी में बताउंगा कैसे मैंने चाची को दिन में जागते हुए चोदा.

फूलन देवी का सेक्सी पिक्चर

बाद में मैं उठा और कपड़े पहन कर उनके लिए मेडिकल स्टोर से आई पिल ले आया. एक दिन जब मौसी की लड़की पिंकी कॉलेज गई हुई थी और मैं छत पर था तब मौसी आँगन में नहा रही थीं. किसी लड़की का यूँ छूना महेश के लिए पहली बार था, उसके बदन में एक करंट सा दौड़ गया, दोनों ने एक दूसरे को देखा और देखते रह गए.

अब मामी इतनी गर्म हो रही थीं कि उन्होंने मेरे लंड को तुरंत अपने मुँह में ले लिया.

उस दिन दोनों का जवान पानी में भीगा जिस्म देखकर मेरा लंड पानी में खड़ा होने लगा और मेरी आंखें फटी की फटी रह गईं.

मैं उसके कूल्हों को हाथ से सहला रहा था और मेरा हाथ उसकी गांड की दरार पर लग गया था, मैं उसके चूतड़ों को दबाने लगा. मैंने धीरे से ज़िप खोली, अंडरवियर नीचे की और अपना लंड बाहर निकाल लिया. शारदा कपूर की सेक्सीमेरी बहन की चूचियां एकदम गोरी थी, चिकनी दिख रही थी, एक निप्पल भी दिख रहा था, निप्पल मटर के दाने जितना गुलाबी रंग का था.

ये मैं अपनी तारीफ नहीं कर रहा हूँ, अक्सर सभी मेरे लिए ऐसा कहते हैं, इसलिए कहा है. ऐसा भेदभाव क्यों?इसी सवाल को लेकर मैं काफी दिनों तक ऊहापोह की स्थिति में रहा. मैंने अपनी एक उंगली चूत के अंदर घुसा दी तो वो कांप उठी और सिसकारियां भरने लगी.

उसने अपने बाल संवारे और उसका पप्पू को दबाने का जोश कुछ ठंडा पड़ गया. मैं बुझे मन से मामी के घर के अन्दर गया तो पता लगा कि मेरे ममेरे तीनों भाई बहन कोलकाता पूजा घूमने गए हैं और अगली सुबह तक ही वापस आएंगे.

अच्छा, मैं तो मंदिर जा रही हूँ, तो मुझे वापिस आने में 30 से 45 मिनट लग जाएंगे.

अपनी गोरी जाँघों पे खुद हाथ घुमाते हुए वो बोली- नहीं ऐसा नहीं अंकल, मैं नहीं बोल सकती. अब तो फ्लॉरा को चूसने में और मजा आने लगा था… लंड जो पूरा तन गया था. जैसे ही मेरे हाथ मम्मों तक पहुँचे, उसने अपने दोनों हाथों से मेरे हाथ पकड़ लिए.

पेटीकोट सेक्सी वीडियो शिशिर की उम्र 21 साल की है और कद 5 फुट 10 इंच का है वो एक बड़ा ही हैंडसम लड़का है. उसने कहा- नहीं, ये मुझसे नहीं होगा जी…मैंने भी ज्यादा जोर नहीं दिया.

उसकी गांड का सुराख पूरी तरह से खुला हुआ था और उसके नीचे मेरा मोटा सख़्त लंड मेरी बेटी की चूत में जड़ तक फँसा हुआ था. मैं जैसे ही अन्दर आया तो उसने मेरे गले में बाँहें डालकर एक गहरा चुम्बन लिया और मेरे बालों में हाथ फिराने लगी. मम्मों को नीचे से ऊपर दबाते हुए पप्पू रूपा का सीना चाटते हुए बोला- वैसे जान…! माना कि बस में ऐतराज़ करती तो तेरी बे-इज़्ज़ती होती… पर ये सच बता कि क्या तुझे ऐतराज़ करना था जब मैं बस में तेरे जिस्म से खेल रहा था?पप्पू साड़ी निकालने लगा तो रूपा उसे थोड़ा दूर करके अपने साड़ी पकड़ती हुई बोली- अरे इतनी जल्दी क्या है जो वीराने में तू सीधे पेटीकोट पे आ गया? पहले अच्छे से गरम तो कर.

जानवर लड़कियों की सेक्सी वीडियो

वो मेरे एक निप्पल को उंगली से मींज रहा था, जिससे मुझे जन्नत का सा मजा मिल रहा था. आपको मेरी ये सच्ची देसी सेक्स स्टोरी अच्छी लगी या नहीं, मुझे मेल कीजिए. और ऐसा कहते हुए रमेश ने भी अपना पैंट ऊपर से आधा खोल दिया, उसका फनफनाता हुआ लंड बाहर निकल गया.

मैं रूम में वापिस आया, मेरी बीवी बेड पे लेटी मोबाइल चला रही थी, हमारी बेबी सो चुकी थी. मगर सुन कुत्ते तुझे वो नहीं मिलेगी, उसके लिए तो ये चारों ही लंड तोड़ लड़ाई लड़ेंगे.

दिखने मैं अच्छा खासा में आज भी हूँ और तब तो मुझ पर नई नई जवानी का सरूर चढ़ा हुआ था.

मामी ने मेरे कान में बोला- इनका मजा लेना है तो अपनी बड़ी मामी के पास जा. और मैंने सुन भी ली, लेकिन अब दोबारा ऐसी वाहियात बात मत करना!उसके इस रूप को देखकर मैं हैरान हो गया, मैंने उससे पूछा- यार तुम्हारे शरीर को जो कोई सुख नहीं दे सकता, उससे जुड़े रहने का क्या तुक?उसने मेरे गालों पर चुम्मी लेकर कहा- ये वो आदमी है, जिसने मुझे अपनी शान्ति के लिए किसी दूसरे से जुड़ने की आज्ञा दी. फिर उसने अलमारी से 20 हजार रुपये निकाल कर मुझे दिए और बोली- प्लीज़ ना मत करना.

जब वो सिर्फ ब्रा-पैंटी में रह गई तो मैं उसके पीछे आ कर उसकी ब्रा के हुक खोलने लगा, फिर ब्रा को उसके बदन से हटा कर पीछे से उसकी दोनों चुचियों को पकड़ कर दबाने लगा और उसकी गर्दन पे किस करने लगा. मैं- नहीं चाचाजी, वो बात नहीं है, पर मैं इरफान से बहुत प्यार करती हूँ और वो मुझ पर बहुत भरोसा करते हैं. मेरे लंड के मुँह से चिकना चिकना लेसदार पानी निकाल कर रेखा के पेट पर लग रहा था.

मेरा ध्यान उसकी तरफ मुड़ गया, मुझे लगा कि वो भी अपनी सहेली की तरह मजा लेना चाहती है, उसकी आँखों में मुझे समर्पण का भाव दिखा.

हिंदी बीएफ दिखाइए वीडियो में: मैंने उन्हें देख कर कहा- ये क्या? आप आप अंडरवियर में ही… कपड़े कहाँ है आपके?तो वो बोले- आज मैं कपड़े घर पर ही उतार कर आया हूँ. फिर उसने जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया और वो जोर से कराहने लगी- ओह्ह.

इधर मैं अर्चना की कमसिन और स्वादिष्ट चुत चाट कर मन ही मन उसको चोदने की सोच रहा था और उधर मामी मुझे खींचकर दुबारा से अपनी चुत की आग ठंडी करने में लग गई थीं. ठीक है पापा जी, पहले मॉल में चलेंगे मुझे शॉपिंग करवा देना, आप फिर वहीं पर किसी अच्छे रेस्तरां में डिनर भी करवा देना. कुछ देर बाद दीदी झड़ गईं और उनकी चुत का नमकीन रस मेरे मुँह का मस्त जायका बना गया.

अब मामी तेज रफ्तार के कारण उन दोनों की पकड़ से छूटने के लिए छटपटा रही थीं, पर दोनों किसी मंजे हुए खिलाड़ी की तरह हर बार पहले से ज्यादा मजबूत वार कर रहे थे.

दुविधा में फंसी नीता बोली- हुम्म जाने दो ना अंकल… आज सुबह से आपको कोई मिला नहीं? ऐसे कपड़े पहन कर क्या कोई लड़की बाहर जायेगी? यह तो आज माँ बाहर गई है… इसलिए मैंने घर में यह कपड़े पहने हैं. ऐसे ही कुछ देर हमने खूब मजा लूटा, फिर बैठे के चुदाई का प्लान बनाने लग गये. उसने मुझे अपना लंड सहलाते हुए देखा तो बोला- लगता है कि आज चुदवाने का इरादा है.