देहाती बीएफ बीएफ बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी इंग्लिश ब्लू सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू देखना चाहते हैं: देहाती बीएफ बीएफ बीएफ, मैंने लंड को तब तक घुसाये ही रखा जब तक उसके पेट में अंदर मेरा सारा माल चला न गया.

बीएफ भेजो हिंदी में बीएफ

कुछ देर लंड चूसने के बाद सर ने अचानक तेजी पकड़ ली और एकदम से मेरे बालों को पकड़ कर मेरे मुँह में काफी अन्दर तक अपने लंड में घुसा दिया. देहाती बीएफ व्हिडीओउसने लंड चूसते हुए मेरी गोलियों को दबाया और लंड को चुंबन देकर वहां से उठ गई.

भाभी की चूत इतनी साफ और सुंदर थी कि कुंवारी लड़कियों की तरह से चमक रही थी. नंगा सेक्सी वीडियो देसीतो क्या तुम एक बार फिर से ऐसा ही गर्म सेक्स चैट सेशन करने के लिए तैयार हो?वानी- आप उसकी फिक्र न करें डार्लिंग.

प्रीति भाभी मेरे आगे और मैं उसके पीछे बैठ गया लेकिन जैसे ही नीचे बैठा हुआ ऊँट उठने लगा तो प्रीति घबरा कर मुझसे चिपक गयी और गलती से उसका एक हाथ फिसल कर मेरे लंड पर जा लगा.देहाती बीएफ बीएफ बीएफ: जो उसकी 32-28-32 की अद्भुत देसी काया रचने में बड़ी मस्ती से उठे हए थे.

गाजर के मोटे वाले छोर को वो अपनी चूत में अंदर बाहर करने में लगी हुई थी.दोस्तो, मैं फिर से एक बार आपके सामने इंडियन भाभीस चुदाई कहानी लेकर हाजिर हूँ.

चुत विडिओ - देहाती बीएफ बीएफ बीएफ

परंतु जब मैं ध्यान से देख रही थी कि भैंसा का लंड अंदर गया या नहीं भाभी ने मेरी एक चूची को पकड़कर दबा दिया और मैं आनंद से सिसकारी ले कर बोली- आई … क्या कर रही हो भाभी?भाभी मुस्कुरा दी और बोली- यह भैंसा तो बिल्कुल निकम्मा हो चुका है और बेचारी भैंस को तरसा रहा है.हम दोनों इतने गोपनीय तरीके से मिलते थे या बात करते थे कि आज तक उसके किसी दोस्त को या मेरे परिवार को पता ही नहीं चला.

इतने सुनील ने अपना कच्छा उतार दिया।मैंने देखा कि उसका लंड खड़ा होना शुरू हो गया है. देहाती बीएफ बीएफ बीएफ दोस्तो, अपनी पिछली कहानीनजर थी मां पर, बेटी चुद गयीमें मैंने आपको बताया था कि मेरे पड़ोस में रहने वाले एक पंजाबी परिवार की लेडी मनजीत पर मेरी नजर थी, मैं उसे चोदना चाहता था.

” ये कहते कहते मैंने पूरा लण्ड मनजीत की गांड में उतार दिया और धीरे धीरे से अन्दर बाहर करने लगा.

देहाती बीएफ बीएफ बीएफ?

थोड़ी देर में भाभी ऊपर छत पर आईं, तब मुझे पता चला कि वो हर रोज धूप के लिए ऊपर आ जाती थीं … क्योंकि छत का दरवाजा खुला ही रहता था. जब मैंने उनको सॉरी बोला तो वो बोले- ठीक है आपको आज आना पड़ेगा वरना कल आपका नाम कट जाएगा. वो बोली- मुझे तुम्हारी हर शर्त मंजूर है, जैसा तुम कहोगे, वैसा मुझे स्वीकार है.

शालिनी एकदम से बोली- आप कहो तो दोनों साथ में ही परेशानी को ठीक कर दें!मुझे तो मानो मुँह मांगी मुराद मिल गई थी. और फिर आगे चलकर फ्रीज भी दिखाई और साथ ही कहा- सर यहाँ ड्रिंक या स्मोकिंग करनी हो तो मुझे कॉल कीजिएगा. उसने एक लम्बा, गुलाबी रंग का डिल्डो उसके स्टैंड से उठा लिया और अपनी गांड में उसको घुसाने लगी.

ये सुनते ही हम दोनों के चेहरे की मुस्कान बढ़ गई और आज रात मां की चुदाई का मस्त खेल होना तय हो गया. कोई दो तीन मिनट बाद सर मेरे होंठों से होते हुए मेरे चेहरे, फिर मेरे गले और फिर मेरी छाती को चूमने लगे और अपने हाथों से मेरे मम्मों को दबाने लगे. दोनों ही एक दूसरे को छोड़ना नहीं चाह रहे थे … जब तक सांसें सामान्य होतीं, हम दोनों ही थक कर नींद के आगोश में चले गए.

तभी पायल ने बीच में ही कहा- कैसा लेखन करते हैं संदीप जी? जरा हमें भी तो कुछ पढ़वाइएगा!तो प्रतिभा ने बात संभाल ली- वो बाद में तुम संदीप से अकेले में पूछ लेना, सोशल सब्जेक्ट पर ये काफी अच्छा लिखते हैं. मैंने उसे पहले दिन से ही नोटिस करना शुरू कर दिया था और वो शुरू से ही मुझे घूर कर देखा करता था.

उसने मुझे देखा और मुस्कुराकर लंड हाथ में लेकर अपनी चुत पर रगड़ने लगी.

मुझे मेल करके बताएं कि मेरी गांडू सेक्स कहानी कैसी लग रही है?आपका आजाद गांडूकहानी जारी है.

एक बार तो रमेश का लंड अपनी चूत पर लगता हुआ पाकर रिया भी बहकने सी लगी. मैंने बैठे हुए शशि भाभी को अपने गले लगा लिया और वो भी बड़े आराम से मेरी गोद में लेट सी गईं. मुझे यह सब देखने में इतना आनंद आ रहा था कि मैं सोच रही थी कि किसी तरह एक लंड मेरी चूत में घुस जाए तो आनंद आ जाए.

फिर मैंने जोर से धक्का दे दिया, तो मेरा आधा लंड मम्मी की चुत में घुसता चला गया था. मैं उसके कान के पास मुँह ले जाकर बोला- अभी इस बियर मजा लो, उसके बाद व्हिस्की भी पिला दूंगा. मुझे पता था कि आज ब्यूटी और स्मार्टनैस की अघोषित प्रतिस्पर्धा होने वाली है.

वो मुझे अपने ड्राइंग रूम में ले गयी और सोफे पर बैठने का कह कर शालिनी पानी लाने किचन में चली गयी.

यहां तक कि हर धक्के पर बेड अपनी जगह से सरकने लगा था और चूत घर्षण से इतनी गर्म हो चुकी थी कि अचानक नेहा की चूत की दीवारों ने फव्वारे छोड़ दिये और उसी वक्त मेरे लंड ने भी अपना फव्वारा खोल दिया. गीत ने जीन्स के साथ येलो कलर का टॉप पहना था और नेहा ने पिंक पजामे के साथ पजामे से मैचिंग करता पिंक और काला कुर्ता पहना हुआ था. मैंने देखा मेरा लंड पूरा कसा हुआ था।मैं उठ कर पेशाब करने के लिए बाथरूम में गया.

अगले दिन मेरी पत्नी मेरी बेटी को लेकर उसके मायके चली गयी ताकि वह इस घटना को भुला सके. इतना कह कर वे दोनों उनके बैडरूम में चली गयीं और पिंकी मुझे दूसरे बैडरूम में ले गयी. पर ऐसा करने का नताशा ने मौक़ा ही नहीं दिया था।अब हालत यह थी कि जैसे ही मेरा लंड दाने पर रगड़ खाता उसकी एक हल्की सीत्कार निकल जाती।उसका पूरा शरीर ही जैसे लरजने लगा था और अब तो वह अपने पैर भी पटकने लगी थी। मुझे लगता है वह अपनी उत्तेजना को संभाल नहीं पा रही है। और फिर जैसे अक्सर ऐसा होता है उसकी चूत ने हार मान ली और उसका एक बार फिर से स्खलन हो गया।आईईईइ … मैं मर जाऊंगी … प … प्रेम.

हम लोग एयरपोर्ट आए थे इधर से दो मेहमान प्रतिभा और सुमन को ले जाना था.

मैंने भी तुरंत उसे अपनी बांहों में भर लिया और उसके सिर पर थपकी देता हुआ उसे किसी छोटे बच्चे की तरह पुचकारने लगा. क्योंकि दीपक ने भाभी की चूत का सत्यानाश कर रखा था।हम लोग चारों थोड़ी देर सोने की तैयारी कर रहे थे.

देहाती बीएफ बीएफ बीएफ भाभी अपना दाहिना हाथ नीचे ले कर गई और जैसे ही मैंने चोदने के लिए लण्ड को थोड़ा ऊपर खींचा तो भाभी ने लण्ड को अपनी मुट्ठी में भींच लिया. पाठकों आपको मेरी वैरी सेक्सी गर्ल हॉट स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल या हैंगआउट करें.

देहाती बीएफ बीएफ बीएफ तभी मेरा फोन बजने लगा और मैंने बीवी से कहा कि मुझे दोस्त का फोन आया है और मुझे काम से दूसरे गांव जाना है. … अब मैं क्या करूं?रुमित धीरे से मुस्कुराते बोला- बस इतनी सी बात … हम ऐसा करते हैं … घर ही नहीं जाते हैं.

” कहकर मैं स्टडी रूम में रखा मोबाइल ले आया और उसे सानिया पकड़ा दिया।लो भई सानिया मैडम … अब तुम जी भर कर इसमें विडियो और जो मन करे देखा करो.

दिखा सेक्सी बीएफ

कुछ देर बाद भाभी जी की ‘आ आआह निकलने लगी और वो ज़ोर से और कांपने लगीं. धीरे धीरे मुझे महसूस हुआ कि मेरे पैर नीरजा के पैरों के बीच में आ गए हैं बिल्कुल उसकी बुर से टच होते हुए. मैं सोच रहा था कि इतना उम्दा आनन्द तो सुहागरात में भी नहीं मिला था … जो मीता ने दिया था.

उसने भी मुझे देख लिया और खुश होते हुए मेरे पास आकर मुझे अपने गले से लगा लिया. कभी मेरा भाई मेरे होंठों को चूसता, मेरे गालों को काटता, तो कभी राजीव मेरी चूचियों को काटता, तो कभी गर्दन पर दांत चुभो देता. ‘आह … आह राज पी जाओ सारा दूध … मेरा सब कुछ तुम्हारा है … मैं तुम्हारी रंडी हूं आह … चूसो और चूसो इस रंडी का दूध पी जाओ … आह सारा दूध निचोड़ दो आ…ह…’वो कामुक आवाजें करते हुए उछलने लगी और अपनी चूत को रगड़ने लगी.

वो मुझसे पूछने लगी- फिर भैंस और भैंसा की कितनी चुदाई देखी?मैंने कहा- भाभी, इस भैंसा ने तो भैंस की लगभग तीन चार घंटे में बीसियों बार चुदाई की और फिर भी उन दोनों का दिल नहीं भरा था.

”अब तो तुम खुश हो ना?”हओ!” सानिया पता नहीं किन सुनहरे सपनों में खो सी गई थी।सानूजान … मैंने तुम्हें इतनी अच्छी खुशखबरी सुनाई और तुमने तो कुछ बोला ही नहीं?”ओह … हाँ थैंक यू सल!” सानूजान तो कहते हुए अब शर्मा भी गई थी।सानू अब दर्द तो नहीं हो रहा ना?”किच्च …”सानू … बस एक बार थोड़ा सा दर्द और होगा फिर देखना तुम्हें बहुत अच्छा लगने लगेगा. वो एक दम से बोली- हाय दैया! मुझे शराब पिलाओगे? मतलब कितना और बिगाड़ोगे मुझे?मैंने उसे बांहों में जकड़ लिया और उसे छेड़ते हुए कहा- मज़ा तो बिगड़ने में ही है मेरी जान … और फिर तुम ही तो कह रही थी कुछ नया करने के लिए!इस पर वो थोड़ा झुंझलाते हुए बोली- नहीं ये नहीं, नये का मतलब ये नहीं था कि तुम शराब पिला दोगे! मैं शराब नहीं पी सकती. रुमित बोला- ईशिता मुझे पसंद करती होगी … पर मुझे तो तुम ही पसंद हो जान … आओ ना मेरे पास डार्लिंग.

इस बात पर काफी सोच विचार के बाद इस बात पर सहमति बनी कि दोस्त तो सभी छह के छह ही होंगे, मगर औरत एक ही होगी. शांति का हाथ पकड़ कर मैं उसे बेडरूम में ले आया, शांति का पेटीकोट और ब्लाउज मैंने उतार दिया. मेरा अण्डरवियर नीचे खिसका कर शांति ने मेरा लण्ड निकाल लिया और सहलाने लगी.

सारी बात समझ कर मैंने भी करवट ली और भाभी की नंगी कमर में हाथ डालकर उनको अपनी ओर खींच लिया. मेरे पास वेबकैम नहीं था इसलिए मैंने मोबाइल फोन पर दिल्ली सेक्स चैट वेबसाइट खोली जो बहुत ही आसान था.

फिर मैंने अपने लंड के टोपे पर सौतेली मम्मी की चुत का रस लगाकर उसे चिकना कर दिया और उनकी फूली हुई गुलाबी चुत की फांकों में लंड रखकर अपने हाथों से लंड को दबाते हुए टोपा अन्दर डाल दिया. फिर उसने मेरी गांड के छेद में थूक लगाकर गीला कर दिया और अपने लंड को मेरी गांड में डालने लगा. मैं वहीं गांव के दूसरे रास्ते पर चला गया और कुछ देर बाद गुंजन का फोन आया कि वो लोग मेला देखने के लिए निकल गये हैं.

अब यहाँ तो ये संभव नहीं है, और वैसे भी अब शादी के लिए ड्यू है तो रिस्क नहीं लेता.

मेरी चूत के होंठ मेरे झड़ने और विक्की द्वारा चाटने के कारण बिल्कुल चमक रहे थे. कुछ देर वो ऐसे ही आधे लंड से खुद को चोदती रही, फिर मैंने उसकी कमर को पकड़ा और नीचे से धक्के मार कर पूरा लंड उसकी चुत में धांस दिया. ” मेरे मुंह से निकला और मैंने उसके दोनों दूध कुर्ते के ऊपर से पकड़ कर जोर से दबाते हुए उसके गालों को चूम चूम कर उसका निचला होंठ चूसने लगा.

थोड़ी देर में दरवाजा खुला।देखा तो जरीना के बालों से पानी झर रहा था। लग रहा था कि नहाकर आई है. मैं दीवान पर बैठ गया और लड़कियों का वहां से जाने का इंतजार करने लगा.

ननद इसके लिए तैयार नहीं थी, वो लंड लेते ही उचक गयी और बोली- आह साले … चूत की चुदाई कर … इसकी मां मत चोद. भाभी अपनी चूत में उंगली कर रही थीं … और ननद के चुचों को मैं अपने हाथों से मसल रहा था. मेरा लंड उसकी गांड में घुसने लगा और फिर …आप सबने मेरी Xxx कहानी भाभी की चूत की के पिछले भागजैसलमेर के रेत के टीले- 1https://www.

कुंवारी लड़कियों का बीएफ सेक्सी

वो नशे में बोली- जल्दी करो, तड़पाओ मत।मैंने पूछा- क्या करूं?वो पहली बार एकदम बिंदास अंदाज में बोली- चोद दो मुझे … स्स्स.

कभी वो लंड के सुपारे पर अपनी गीली जीभ गोल गोल घुमाने लगती, तो कभी पूरा लंड मुँह में भर कर अन्दर ही रख कर जीभ से पूरा लंड चाट जाती. मैंने समझ लिया कि इनकी चूत को कोई लंड नहीं मिला है, इसलिए ये चूत उठाए उठाए घूम रही थीं. और यह कह कर उसकी नाइटी को पीछे से उठाया और झट से लोअर में से लण्ड निकाल कर उसकी चिकनी गांड के ऊपर रख दिया.

मैंने भाभी के ब्लाउज के हुक खोल दिये तो भाभी जल्दी से बाथरूम में घुस गयी. उन्होंने दूसरा धक्का दिया, तो पूरा लौड़ा सरसराता हुआ अन्दर घुसता चला गया. पंजाबी सेक्स बीपी वीडियोवैभव- तो क्या इसका पति नामर्द था?इस बारे सुरेश से पहले अनीता बोल पड़ी- तुमको मेरे से मजे लेना है या शादी बनानी है?इतनी पूछताछ तो रेड में पकड़ने पर पुलिस भी नहीं करती.

वैसे भी हमारे खानदान में तीज त्यौहार पर महिलाएं शराब आदि पिया करती हैं. मैंने पूरा लंड रस उसकी चुत में ही खाली कर दिया और हांफते हुए उसी पर लेट गया.

उसका जब भी दिल करता, वो मुझे छेड़ देता और मैं भी उसका साथ बराबर दे रही थी. रिंकी ने मुझे एक सेक्स डॉल दिखाई जिसके अंदर कुछ ऐसा मेटीरियल भरा गया था कि वो अन्य सेक्स डॉल के मुकाबले ज्यादा अच्छी लग रही थी. दादी बोली- जब भैंस का चुदने का दिल करता है तो उसको गर्मी में आना बोलते हैं.

उसी टेबल पर मेरी ब्रा और पैंटी भी पड़ी थी, तो उसको उसने अपने हाथों से उठा कर देखा और मुस्कुराते हुए साइड में रख दिया. उधर से मुकेश का फोन आया- मांजी को अस्पताल में भर्ती कर दिया है … लेकिन मांजी भाभी को बुला रही हैं. मैंने उसे जोर देकर कहा- जाते हुए तुम जो बोल कर गये थे उसका क्या मतलब था?वो बोला- मैं अपनी मैडम की इज्जत करता हूं और मुझे यह जताना था कि मैं उसके हर हुक्म का पालन करने के लिए तैयार हूं.

मैं तुरंत बोला- तो शोऑफ करो न, बेबी आज का ज़माना शोऑफ करने का है!गीत बोली- चाय पी लो, फिर देखते हैं.

इसलिए उसने अनिल से कहा कि वो अगर अब और ना पिए तो वो एक बहुत सेक्सी ड्रेस पहनेगी. करीब पन्द्रह मिनट बाद हम दोनों एक दूसरे को साबुन लगा कर शॉवर के नीचे नहाते रहे.

हालांकि मेरा दिल भी कई बार किया कि चलो एक बार और निष्ठा को चोद लेते हैं पर मैंने हर बार यह सोच कर खुद पर काबू पाया कि अगर किसी को हमारे संबंधों की भनक भी लग गयी और और कोई ऊँच नीच हुई तो निष्ठा का हँसता खेलता जीवन नरक बन जाएगा और कालिख तो मुझे भी लगेगी ही. उसने भी मुझसे वादा किया कि वो अगले सेक्स चैट सेशन में मुझे इससे भी अधिक मजा देगी. फिर कोमल ने जिया की चुत को टिश्यू पेपर से साफ किया और उसको खड़ा करके बाथरूम में ले गई.

थोड़ी देर में भाभी की सिसकारियां और आवाजें बेतहाशा बढ़ गई- आई … आई … आ … आ … ईई … ओ … ईई. फिर अपने कपड़े उतारो फटाफट … करते हैं।उसने अपनी शर्ट के बटन खोलने शुरू किया और मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए. मुकेश भौंचक्का सा हम दोनों को देखते हुए मां को लेकर वापस मेरे घर के लिए रवाना हो गया.

देहाती बीएफ बीएफ बीएफ जिया ने मुझे अपनी बांहों में ले लिया तो मैं उसके होंठों को चूमने लगा. मैं हल्का सा मुस्कुराई और उसकी टाँगों के बीच मुंह लेजाकर उसके लंड को हाथ से ऊपर से नीचे तक सहलाया और धीरे धीरे किस करने लगे।सुनील ने हल्की सी आह … भरी और बोला- पूरा चूसो ना।मैंने अब बिना देर किये ऊपर से उसका लंड अपने मुंह में लिया और हलक तक अंदर लेती चली गयी। मैंने अब ज़ोर ज़ोर से लंड को ऊपर नीचे चूसना शुरू कर दिया.

बीएफ सेक्सी फिल्म सुहागरात

मैं भी अब शांत हो रही थी … लेकिन मेरा भाई तो अभी भी मेरी चुत फाड़ने में लगा हुआ था. कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है इसलिए काम भी ज्यादा हो गया है. खैर मैंने अपने एक और दोस्त से एक्टिवा लेकर मुकेश के चलाने को दी, पहले मुकेश की मां मेरे साथ बाइक में बैठने की कोशिश कर रही थीं, जब उन्हें बैठते नहीं बना, तो अंकिता भाभी मेरे साथ बाइक में बैठ गईं और मुकेश अपनी मां के साथ धीरे धीरे एक्टिवा से पीछे आने लगा.

मैंने पूछा कि क्या तुम दोनों में सब कुछ खुला है?पम्मी बोली- हां हम दोनों लेस्बो हैं और एक दूसरे की चुत पर इस अल्कोहल मिक्स वाली लिक्विड जैली को लगा कर मजा लेते हैं. जिया मेडिकल की पढ़ाई कर रही है … और जिया, यह राज मेरा एक्स-बॉयफ्रेंड है, जो फिलहाल कॉलेज के आखिरी साल में है और मुंबई में रहता है. बीएफ सेक्सी हिंदी फिल्म दिखाओमैंने 10 बजे के करीब अपनी बाई को फोन करके पूछा कि वो क्यों नहीं आई, तो वो बोली कि उसको कोई काम है, आज वो नहीं आएगी.

भाभी के अच्छे गोल चूतड़ और सुंदर मोटी फांकों में पीछे की तरफ चूत को मैंने उंगली और अंगूठे से खोला और छेद के ऊपर लण्ड का सुपारा लगाया और धीरे धीरे लण्ड अंदर किया.

आज उनको देखकर मेरे मन में ख्याल आया कि अगर मैं भाभी पर लाइन मारूं, तो क्या वो पट जाएंगी. मैंने कहा- भाभी, मेरा लंड चूस दो न एक बार?वो तैयार हो गयी और उसने उठ कर मेरे लंड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी.

मैं आपकी आशना … मेरी पिछली कहानीटीचर से सेक्स मार्क्स के चक्कर मेंआपने पढ़ी और पसंद की थी. मैंने जिद की तो भाभी जी बोलीं- पहले तुम मेरी चुत चाटो … तभी मैं चूसूंगी. तो भाभी जी ने हंस कर पूछा- नम्बर किस लिए चाहिए?मैंने कहा- आपसे बात करनी है.

फिर धीरे से पैंटी को निकालते हुए मैंने भाभी की चूत को आजाद कर दिया.

उन्होंने मुस्कुरा कर वादा किया कि वो न तो नाराज होंगी, न ही किसी को कुछ बताएंगी. मैंने भाभी से पूछा- भाभी आप हर रोज चुदाती हो क्या?भाभी- शादी के शुरू शुरू में तो हर रात दो बार और दिन में एक बार मेरी चुदाई होती थी लेकिन फिर धीरे धीरे कम हो गया और बच्चा होने के बाद तो लगभग महीने दो महीने में और अब तो छः छः महीने हो जाते हैं, जबकि मेरा तो अभी भी हर रोज दिल करता है. जब मैं नहा कर आया तो भाभी मुझे चिढ़ाने लगी और मजाक करते हुए बोली- देवर जी, अंडरवियर बहुत खराब करते हो? आपकी शादी करानी पड़ेगी.

वाली सेक्सी बीएफभाभी ने पहले मेरी चूत में उंगली चलाना शुरु किया और काफी सारी वेसलीन अपनी उंगली से मेरी चूत के अंदर तक लगा दी. वहाँ कोई नहीं होता।फिर उसने बोला- सुहानी, एक आखरी बार और चुदवा लो प्लीज।मैंने कहा- दिमाग खराब है? टाइम देख रहे हो?उसने कहा- आज संडे है, कोई जल्दी नहीं उठेगा.

हिंदी बीएफ सेक्सी बढ़िया-बढ़िया

हाउस मेड सेक्स कहानी का अगला और अंतिम भाग:लॉकडाउन में चरमसुख की प्राप्ति- 3. वो बराबर जोर जोर से सिसकारियां ले रही थी और बराबर कुछ न कुछ बड़बड़ा रही थी. अरे बरसात का मौसम है तो बादल भी गरजेंगे और बिजली भी चमकेगी; फिर मैं हूं न तेरे साथ! मैंने उससे कहा और उसकी कमर में हाथ डाल कर उसे अपने बदन से चिपका लिया.

बेबी रानी फिर बोली- सुन गुड्डी, देखा अपनी चूत फटने का नज़ारा? ले अपनी चूत का लहू का स्वाद चख. फिर से चूत चाटने की वजह से प्रीति बहुत जल्द ही गर्म हो गयी थी और मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत पर सेट करने लगी. मैंने फोन उठाया और अनजान नम्बर देख कर पूछा- कौन?उसने कहा- मैं पम्मी.

वो गहने भी पहने हुए थी।उसको लेटाकर मैंने उसके गहने निकाले और उसके पास लेट गया। मैं उसको किस करने लगा. धीरे से साड़ी उठाकर पेंटी के किनारे से ही उनकी चिकनी चुत को चूसने लगा. कुछ देर चूत चाटने के बाद वो फिर से तड़पने लगी और बोली- बस … अब डाल दो शुभम, अब मैं लंड के बिना नहीं रह सकती हूं.

भाभी जी बोलीं कि मेरे मुँह में मत निकलना … तुम मेरी चुत में ही पानी निकालना. मैं- अपनी मालकिन के छेद की सैर करने के लिए तैयार हो?मैंने उसकी गोटियों को भींचते हुए पूछा और उसके मुंह से अंदर ही अंदर कपड़े में से आवाज गूंजी.

थैंक्स मुझे जिताने के लिए … सारी मेहनत वसूल कर लो मुझे चोद चोद के।सुनील भी बोल रहा था- आहह … आहह … सुहानी … आहह.

फिर भी नेहा ने खुद को संयत किया और पलट कर मेरी बलिष्ठ और बालों भरी छाती में सर छुपाते हुए कहा- ऐसे में तो तुम नहा ही नहीं पाओगे. बियफ सेकसएक बार तो मैंने माथा पटका मगर फिर अगले ही पल सोचा कि अगर अंजू को बुरा लगा होता तो वो ऐसे नहीं मुस्कराती. हिंदी में एक्स एक्स एक्स एक्स वीडियोप्रीति जोर से सिसकार उठी- आआहह … ऊऊऊ … यस … अजय … उम्म्ह … अहह … हय … याह … सक माय पुसी … और ज़ोर से चाटो … आह्ह अजय … आई लव यू जान।मैंने अपनी जीभ को और जोर जोर से चूत के अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया. उन दोनों मर्दों ने बेरहमी से चोदा है मेरी चूत को, ओह्ह डियर आराम से … आह्ह।उसकी उछलती मोटी गांड को देख कर मैंने अपने लंड को जोर से मुठ मारना शुरू कर दिया.

वो बीच बीच में मेरे चूतड़ों पर थप्पड़ भी मार रहा था जिससे मुझे मज़ा आ रहा था.

मैंने उसके कंधे पर सर रख दिया और रोना शुरू कर दिया और रोते हुए उसे सारी झूठी कहानी बता दी. प्रीति है ना?”कौन प्रीति?”ओहो … आपको बताया तो था? वो मेरी भाभी की छोटी बहन है ना?” उसने मेरे इस भुलक्कड़ और अनाड़ीपन पर थोड़ा चेहरा सा बनाते हुए कहा।ओह … हाँ तुमने बताया था जिसके सके कई सारे बॉयफ्रेंड हैं? … वही ना?” मैंने बॉय फ्रेंड वाली बात पर ज्यादा ही जोर दिया था।हओ. उसने अपने हाथ में साबुन लिया और उसको अपनी चूचियों से शुरू कर अपने पूरे बदन पर मलना चालू कर दिया.

उसके मामा के लड़के की शादी थी लेकिन उसने एग्जाम होने के कारण जाने से मना कर दिया। उसकी अम्मी ने मेरी मम्मी को उसका ध्यान रखने के लिए बोल दिया।शाम का खाना देने के लिए मम्मी ने मुझे उसके घर भेज दिया।जब मैं उसके घर पहुंचा तो घंटी बजा कर खड़ा रहा. उसने तुरंत रीना से बात की और ये तय हुआ कि मैं और रीना कल सुबह निकल जाएंगे. अंतर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार। आशा करता हूं कि आप सबकोक्रिया की गांड चुदाई की कहानीपसंद आयी होगी।इस कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि मैंने अपनी गर्लफ्रेंड क्रिया की सहेली जरीना की देसी बुर की चुदाई कैसे की.

बीएफ बीएफ सेक्सी वीडियो एचडी में

कहानी अगले भाग में जारी है। आप कहानी पर कमेंट करके बतायें कि कहानी आपको कैसी लगी? आप मुझे मैसेज करने के लिए नीचे दी गई मेल आईडी का प्रयोग कर सकते हैं।[emailprotected]कहानी का अगला भाग:रिश्तेदार की लड़की को प्यार में फंसा कर चोदा-2. वैसे तो उन्होंने मुझे पहचान लिया था, फिर भी मैंने अपना परिचय दिया- मैं संदीप … संदीप साहू. देखो मेरा लंड, तुम्हारे सामने आते ही ये कैसे बेकाबू हो रहा है! (कहते हुए मैंने मेघा को आंख मार दी)कातिल सी स्माइल के साथ मेघा ने अपने नीचे वाले गहरे लाल होंठ को अपने दांतों से दबाते हुए कहा- आह्ह … तुम्हारा (लंड) तो बहुत मस्त है.

वो मुझे लेकर अन्दर जाने को मुड़ी तो मेरी निगाह उसकी ठुमकती गांड पर जा टिकी.

रूम में पहुंचते ही वो लोग मेरे पर फिर से टूट पड़े और हम लोगों ने फिर से थ्री-सम सेक्स किया और पता नहीं कब सो गए.

तुम्हें कभी शिकायत नहीं होने दूँगा और जैसे मैंने कहा था कि रजत भैया के होने पर मैं ना ही मैसेज करूंगा, ना ही मिलूंगा. जब मुझसे भी रहा ना गया और मैंने उस बांहों में भर लिया, तब उसके कपड़ों से पता लगा कि वो भावना थी, जो काम-पिपासा के चलते कॉलेज लाइफ में ही धंधे पर आ गई थी. एक्स पिक्चर दाखवाकुछ पल के बाद उन्होंने मेरी शर्ट उतार कर किनारे रख दी और ब्रा के ऊपर से ही मेरी चुचियों को दबाने और चाटने लगे.

थोड़ी देर बाद उसने खुद को अलग किया और अपना चूत देखने लगी। जहाँ अभी मेरा वीर्य लगा गया था उसके साथ खून भी था।वो चूत देखने के बाद मेरी ओर देखकर मुस्कुराने लगी और बाथरूम चली गयी. धूमधड़ाके के साथ बारात का स्वागत किया गया, कुछ रस्म मुझे समझ में आईं … कुछ नहीं आईं. आज दिन भर प्लानिंग करती रही कि हम कैसे आराम से मिल सकते हैं, फिर मुझे यही समझ आया कि तुम्हें किरायेदार रख लूं.

दादी ने आगे बताया कि भैंसा जब भैंस के ऊपर चढ़ता है तो भैंस गर्भधारण कर लेती है. असल जिन्दगी में सेक्स और चुदाई की प्यासी किसी महिला या लड़की को ढूंढना बहुत ही मुश्किल होता है.

मैंने दायीं तरफ घूमते हुए पलटी खायी और जो सामने चूची आयी उसको ज़ोर से जकड़ लिया.

अब राजेश को लगा कि वो निकलने वाला है तो उसने लंड बाहर निकालने की कोशिश की. तुम्हारी वाइफ निशा के भी स्कूल स्टार्ट हो जाएंगे, फिर ये चली जाएगी. सरोज की मम्मी बोली- मैं तो समझी थी तुम कोई बच्चे जैसे होंगे? तुम तो पूरे नौजवान हो, बिल्कुल खिलाड़ियों जैसा बदन है तुम्हारा, जिम जाते हो क्या?मैं- नहीं आँटी, बस मेरा शरीर ही ऐसा है, जब भी मौका मिलता है तो कभी स्टेडियम में थोड़ी एक्सरसाइज या रेस वगैरह लगा लेता हूँ.

बीएफ ससुर बहु का सलहज ने फुर्ती से लंड को अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से लंड चूसने लगी. मैं घबरा गया और मैंने एकदम से अपने हाथों से अपने लौड़े को छुपा लिया.

उन्होंने मुझे फोन किया और बोला कि बेटा उनको बता देना कि हम पहुंच गए हैं. और उसकी सलवार में से झांकता उसकी पैंटी का आकार और मांसल जांघों का उभार मुझे फिर से बेचैन करने लगा था. मैंने भाभी को उनके चूतड़ों से पकड़ कर अपनी ओर खींचते हुए लण्ड को भाभी की चूत में ठोक दिया.

बीएफ सेक्सी नया बीएफ

तो ले मेरी बुलबुल अब देख इस लंड का कमाल!” मैंने कहा और फिर निष्ठा की गांड में बलपूर्वक स्पीड से धक्के मारने लगा. मैंने पीछे हाथ ले जाकर भाभी की चूत में उंगली से कुरेदना शुरू कर दिया. ” मैं चारों पंजों पर उठी और ड्रेसर से पर्स उठाकर उसके हाथ में एक कॉन्डम थमा दिया.

मुझसे भी रहा नहीं गया, तो मैंने उन्हें अपनी बांहों में कसकर पकड़ा और उनके गाल, होंठ और गर्दन पर चूमने लगा. मैं मम्मी से बोला- अब तैयार हो गई तुम?मम्मी मेरे लंड को जोर से दबाकर बोलीं- हां हर्षद … अब इसका इलाज करना ही पड़ेगा ना!रात के एक बज चुके थे.

जावेद- तो फिर उतारो अपना अंडरवियर!मैंने अपना अंडरवियर फौरन उतार कर पलंग के सिरहाने रख दिया और सलीम भाई के बगल में नंगा लेट गया.

फिर भाभी से पूछा- भाभी डिस्चार्ज कहाँ करना है?भाभी- अंदर चूत में ही करो, क्योंकि गर्म गर्म वीर्य बहुत अच्छा लगता है, कल में आई पिल खा लूँगी, तुम केमिस्ट से ला देना. तुम्हारे साथ बिताए हर पल के बारे में बताया मुझे … अपने बहुत निजी पलों में तुम्हारे साथ शामिल कर लिया. तो भैया बोले- जान, दोस्तों ने जबरदस्ती पिला दी थी।फिर विदाई हो गई और सारे बाराती बस में बैठ गये.

जितनी बार मेरा भाई अपने लंड को आगे पीछे करता, उतनी बार मेरे बदन में आग सी लग रही थी. ऐसे भी किसी खूबसूरत बगीचे में किसी एक फूल की प्रशंसा अच्छी बात नहीं, सारे फूलों की महक एक साथ मिलकर ही वादियों मदहोश कर रही है. गीत मेरी तरफ देखती हुई बोली- कैसे लगा हमारा अंदाज़?मैंने भी गीत को हाथ से इशारा करते हुए कहा- सुपर डार्लिंग.

मैंने दिल्ली सेक्स चैट वेबसाइट लिंक पर क्लिक किया और अगले ही पल मेरे सामने हॉट देसी इंडियन गर्ल्स की बहुत सारी प्रोफाइल खुल गयीं.

देहाती बीएफ बीएफ बीएफ: आधी रात हो चुकी थी इसलिए गली भी सुनसान थी और मुझे डिस्टर्ब करने वाला कोई नहीं था. तभी मुझे मालूम चला कि आज दोपहर मालकिन और साहब ड्राइवर के साथ कहीं बाहर जा रहे हैं और ये लोग दो दिन बाद आएँगे.

मैं धीरे धीरे भाभी के मम्मों को उनके गाउन के ऊपर से मसलने लगा और उनके गालों पर किस करने लगा. मैंने उनके व्हाट्सैप नम्बर पर एक ब्लू फिल्म की क्लिप भेज दी और उन्हें उत्तेजित कर दिया. और दुबारा चुदाई का वादा कर अपने घर चली गई।अगली चुदाई फिर कभी!नमस्कार.

अब तो आप समझ ही गए होंगे कि वक्ष नोकदार ही था और नितम्ब भी काफी उभरा हुआ था.

थोड़ी देर के घर्षण के बाद सरोज ने अपना एक हाथ नीचे किया और लंड के चिकने हुए सुपारे को अपने हाथों की उंगलियों से चूत के छेद पर दबा लिया, पक की आवाज के साथ सुपारा चूत के अंदर चला गया. मेरी सौतेली बेटी के बूब्स हमेशा ही मुझे बहुत ज्यादा उत्तेजित करते थे. ऐसा करना तुम्हारे लंड के पानी को ज्यादा समय तक रोकने में मदद करेगा.