बीएफ मूवी हिंदी इंडियन

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो दिखाइए इंग्लिश में

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ चुदाई फिल्म बीएफ: बीएफ मूवी हिंदी इंडियन, विदेशों में किसी भी तरह की रोक टोक नहीं है इसलिए वहां पर सेक्स के लिए ज्यादा भटकना नहीं पड़ता.

mom सेक्सी वीडियो

रमा चिल्लाने लगी- नहीं जानू … जानू प्लीज … रुको न जानू आहहह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह्ह. इंडियन इंडियन सेक्स वीडियोमुझे पता नहीं क्या हो गया कि मैंने अपना मुँह अन्दर घुसा दिया और चूत के गुलाबी होंठों को चूसने लगा.

क्या चुदाई की … साली चूत सहला रही होगी।वह मुस्कराया।मैं चित लेटा था. हिदी सेकसी फिलममेरे ख्याल से अब तक रमा अनगिनत बार झड़ चुकी होगी … क्योंकि उसकी योनि के इर्द-गिर्द झाग सा बनना शुरू हो गया था.

फिर वो उठी और उसने मुझे पकड़ कर अपने ऊपर गिरा लिया और ताबड़तोड़ मेरे होंठों और गालों और गर्दन पर चुम्मियों की बरसात कर दी.बीएफ मूवी हिंदी इंडियन: मैं नहाकर बाहर निकला तो वो मेरे बेड पर बिल्कुल दुल्हन की तरह सजी हुई बैठी थी और घूँघट भी किए थी.

पर उसने मेरे हाथों को और जोर से दबाया और धीरे धीरे लिंग अन्दर बाहर करता हुआ बोला- दर्द में ही तो मजा है सारिका, अभी ये दर्द तुम्हें खुद मजेदार लगने लगेगा.मैंने आवाज देते हुए उससे कहा- सलमा देख लेना कि नजमी सो रही है ना … और एक बढ़िया बोतल दारू की ले आना.

फुल सेक्स मराठी - बीएफ मूवी हिंदी इंडियन

वो मेरी बूर में लण्ड डालने के लिए बहुत उतावले हो रहे थे लेकिन उनका लण्ड अब उतना टाइट नहीं था जैसा पहले था.इस दौरान मुझे लग रहा था कि मेरा इस टूर पर विवेक के बाद सनी के साथ चुदाई का नंबर लग सकता है.

सिर भाभी ने एक स्टॉल सा डाला हुआ था लेकिन वो भी पूरी तरह से ढका नहीं हुआ था. बीएफ मूवी हिंदी इंडियन मेरी इस हरकत से राजशेखर ने झटके मारने बंद कर दिए और उसकी जगह एक गति से तेजी के साथ धक्का मारना शुरू कर दिया.

वो दोनों बोले- सच में? दिलवा यार, अब देर किस बात की है?उनके अंदर चूत चुदाई की प्यास ऐेसी लगी थी कि वो आराम से दस हजार रूपये देने के लिए तैयार हो गये.

बीएफ मूवी हिंदी इंडियन?

जैसे ही मैं उसकी चूंचियों को काटता, डॉली की आवाज बदलकर ‘हूँउउउ हूँउउउ ऊँ ऊ सीई … की आवाज निकलने लगती थी. राहुल भी मेरे ऊपर कुछ झटके देने के बाद स्खलित हो गया और वह हांफने लगा. खैर … कुछ देर बाद उसने सारा काम खत्म कर दिया और मेरे लिए और अपने लिए भी चाय बना कर ले आयी.

सभी मर्द तैयार हो गए और इसमें हम महिलाएं उनका कोई साथ नहीं देने वाली थीं. यही हुआ, धीरे धीरे उसके धक्के बढ़ने लगे और संभोग की क्रिया भी आगे बढ़ने लगी. कॉलेज की पांच बिंदास सहेलियों ने अपनी शादीशुदा जिन्दगी से वक्त निकाल कर मुलाकात की और अपनी गुजरी जिन्दगी को याद करके उसे सभी पाठकों तक लाने का फैसला किया.

उस वक़्त काव्या मेरे सीने पर थी, उसकी चुचियां मेरे सीने पर दबी हुई थीं. तो उस दिन मैंने देखा कि वो एक बस स्टैंड पर खड़ी हुई शायद बस का इंतजार कर रही थी. अचानक से फोन का मैसेज बजा तो मैंने देखा कि फोन में मेरे पास दो मैसेज आये हुए हैं.

वो भी समझ गया कि मैं उसके लंड को बाहर निकाल कर हाथ में लेना चाह रही हूं. बस 10, 9, 8, 7, 6, 5, 4, 3, 2, 1 धूमम … म्म … की … आवाज आई और राजशेखर ने उस बोतल को खोल दिया.

उसके ऐसा करने से उसकी फ्रॉक तो ज़्यादा ऊपर नहीं हुई, लेकिन उसकी पैंटी मुझे सीधी दिखने लगी.

इसलिए उनकी सास ने मेरी माँ से कहा कि राकेश को कुछ दिनों के लिए रात को सोने को भेज देना क्योंकि घर में बहू अकेली रहेगी।रात को खाना खाने के बाद मैं उनके घर चला गया.

वैसे बता दूं कि मेरे कई ऐसे वयस्क मित्र हैं, जो जीवन में हर तरह से परिपूर्ण हैं और कामक्रीड़ा को एक अलग तरीके से आनन्द लेने में भरोसा रखते हैं. राकेश उठा और उसने काव्या के बालों को पकड़ कर उसको खींचते हुए मेरी गोद में लाकर बैठा दिया. उसने बोला- अन्दर ही निकाल दो, मुझे भी तुम्हारे माल की गर्मी अपनी चूत में महसूस करनी है.

मैंने सोचा कि यही मौका है उसको सांत्वना देने के बहाने उससे प्यार करने का!तभी मैंने उसको चूमना शुरू कर दिया और उसके होंठों को चूमने लगा. मेरा शक सही था, वो कोई और नहीं … मेरी सलहज विशाखा ही थी, पर ये बात मैंने अपनी बीवी को नहीं बताई. और फिर तुमने भी तो अपनी बीवी के साथ उसे सोने दिया था न … क्या फर्क पड़ता है … ऐसे छोटे मोटे लोगों से.

आज ट्यूशन टीचर को अकेला देख कर मेरे शरीर में अलग सी सनसनाहट आने लगी थी.

उसने मेरी तरफ देखा, तो मैंने उसके मम्मों को दबाकर बोला- जा कपड़े पहन ले. मैं थोड़ा शर्माती हुई आगे बढ़ी और मैंने निर्मला की ही तरह क्रीम चूसकर उसके लिंग को साफ कर दिया. मेरी सहेली मौलीश्री एकदम खुल कर बात करती थी और उसके साथ रहते रहते मैं भी खुल गयी थी.

मैंने लंड से धक्का मारा, तो मेरा सुपारा आंटी की चूत की फांकों में घुस गया. जब उसने अपनी भीगी हुई चूत को पौंछने के लिए एक पैर उठा कर चौकी पर रखा तो उसकी चूत के बालों के नीचे मुझे उसकी चूत की फांकें भी दिखाई दे गईं. इस तरह अब उसकी चूत की प्यास बुझने लगी और मुझे भी एक टाइट चूत का मजा मिलने लगा.

अब यहां रुके हैं, तो रिलेशनशिप में तो होंगे ही … ऐसे ही थोड़ी कोई आपस में …इतना बोलकर मैं रुकी ही थी कि उसकी आंखें चमक उठीं.

मुझे भी इस बारे में पता नहीं लगा कि मेरे अंदर सेक्स की एक आग नीचे ही नीचे दबी हुई रहने लगी है. जब चूत पूरी तरह गीली हो गई तो मैं बोला- आओ मेरी जान … अब हम दोनों एक हो जाएँ.

बीएफ मूवी हिंदी इंडियन भारत में तो सामान्य रिवाज है कि प्रसूति के चालीस दिन तक तो स्त्री को पूरा आराम दिया जाता है. मैं उधर के एक होटल में एक रूम बुक करने के बाद काजल को लेने निकल गया.

बीएफ मूवी हिंदी इंडियन उस समय लड़कियों के दिमाग में केवल एक ही सोच दिमाग में हावी होती है कि कैसे कितनी जल्दी ये लन्ड उखाड़ कर अपनी चूत में डाल लें. जब मैं सुसराल पहुंचा, तो मेरी आंखें अपनी प्यारी सलहज विशाखा को देखकर मन खुश हो गया.

[emailprotected]दोस्तो, आपको गर्म आंटी के साथ मेरी चुदाई स्टोरी कैसी लगी मेल जरूर करें.

बीएफ सेक्सी वीडियो चुदाई चुदाई

मुझे खुद पर बहुत शर्म आयी और जब वो मेरी तरफ आईं, तो मैं उनसे नज़र नहीं मिला पा रहा था. उन्होंने कचरे के चार बड़े बैग एक-एक करके लिफ्ट में रखना शुरू कर दिया. सारिका कंवल[emailprotected]कहानी का दूसरा भाग:खेल वही भूमिका नयी-2.

जब उससे धक्का लगाना असंभव सा होने लगा, तो वो ऊपर से लुढ़क कर बिस्तर पर गिर गई. वो हाथ में मेरा लंड महसूस करके बोलने लगी- या अल्लाह … कितना लंबा और मोटा है. उस कामवाली की सहेली की चूत चुदाई की कहानी मैं आपको अगली कड़ी में बताऊंगा.

रवि ने उसकी टांगें पकड़ कर अपने कंधों पर रख लीं और घुटनों पर आकर अपना मुँह रमा की योनि से लगा दिया.

मैं काजल की पूरी बॉडी को चूम रहा था ताकि उसे वो सेक्स के आनन्द से ऐसे भर सकूं, जो उसकी पूरी लाइफ में यादगार रहे … और वो चाहकर भी ना भूल सके. अपनी दीदी की प्यासी जवानी की कहानी सुन कर मैंने अपनी बहन के साथ सेक्स करने की ठान ली और उन्हें मना भी लिया. हम दोनों एक दूसरे से चिपक कर एक नए शादीशुदा जोड़े की तरह घूम रहे थे.

मेरे नीचे वाली सीट पर जो आंटी थी वो भी सो चुकी थीं और उनके खर्राटों की आवाज मेरे कानों में आ रही थी तो मैंने हेडफोन लगा लिये और मूवी देखने लगा. मेरी मम्मी भी गांड उठा उठा कर मेरा साथ दे रही थीं और बोल रही थीं कि आह चोद बेटा और जोर से चोद पेल दे अपना पूरा लंड … फाड़ दे मेरी चूत फाड़ दे बेटा … अपनी मम्मी की चूत. मैं उसके जोर के आगे कुछ समझ ही नहीं पाई और कमजोर महिला की भांति उसके अनुसार बिस्तर पर पेट के बल लेट गई.

और मैं ये भी जानती हूं कि तुम उस दिन टॉयलेट में मुठ मार रहे थे मेरे नाम की! सच कहूँ तो मैं भी उस दिन चुदना चाहती थी लेकिन मौका नहीं मिला. मैं कहने लगा कि मैं तुम लोगों के लिए एक जुगाड़ करवा सकता हूं लेकिन उसमें थोड़े पैसे लगेंगे.

यह घटना मेरी जिन्दगी में हुई मेरी चूत चुदाई की सबसे बुरी चुदाइयों में से एक है. ये किसी विदेशी अंग्रेज़ी फ़िल्म से कम दृश्य नहीं था, जिसमें लोग सामूहिक रूप से संभोग क्रिया में लिप्त थे. मां गेट की ओर गयी तो मैं चुपके से रूम से बाहर आ गया और मां को देखने लगा.

करीब तीन बजे के आस पास आंख खुली और उसने मुझे जगाया और फिर अपने कपड़े पहन कर चली गई.

तो क्या मैंने भाभी को चोदा?नमस्ते दोस्तो, मेरा नाम विशाल है, मैं पंजाब का रहने वाला हूं और चंडीगढ़ में रहता हूं. मैंने कहा- क्या मैं अभी आपको नाम से बोल सकता हूँ?अम्मा ने कहा- हां … क्यों नहीं … लेकिन मैं अम्मा ही सुनना पसंद करूंगी, तू ऐसा समझ मेरा नाम अम्मा ही है, तुम मुझे अम्मा ही बोला करो. उसने अपने घुटने को जांघों तक मोड़ लिया था और मैंने भी अपनी टांग उसकी जांघों पर चढ़ा दिया था.

कहानियों के साथ साथ लड़कियों की हर गुप्त से गुप्त बातों का भी आपको पता चलता रहेगा। कई लोगों को यह जिज्ञासा रहती है कि लड़की की सेक्स लाइफ कैसी होती होगी. चूंकि पढ़ाई पूरी होने के बाद मुझे कोई अच्छी नौकरी नहीं मिली थी तो मैं अपनी बुआ की बेटी के पास गुवाहाटी चला गया था.

भाबी बोली- निखिल, तुम्हारे मोटे और लंबे लंड की कीमत एक औरत ही जानती है. वो मेरे लंड की ऐसे प्यासी लग रही थी जैसे दस दिन के भूखे शेर के सामने किसी ने बकरी को रख दिया हो. जब शाम में मेरा साला वापिस अपने फ्रेंड के यहां से आया, तो उसने बताया कि मेरी जॉब यूपी में हो गई है.

उड़ीसा देसी बीएफ

मेरी योनि में ऐसा लग रहा था मानो कोई आग लगी हो, बराबर पानी रिस रहा था और अब या तब पानी छूट जाएगा ऐसा लग रहा था.

मेरी योनि अभी भी वीर्य से लबालब भरी थी, तो रवि ने जल्दी से एक कपड़े से मेरी योनि से टपकते वीर्य को साफ किया और अपनी हवस मिटाने को तैयार हो गया. उसकी टांगें मेरी पीठ पर आकर लिपट गईं और मेरी जीभ उसकी बुर के अंदर बाहर होने लगी. हम उस रात खूब सोये एक ही बिस्तर मैं एक ही रज़ाई में!खाना बाहर से आता!और हम दोनों सर्दियों की रात में राजी में ऐसे घुसे … ऐसे घुसे कि हम सिर्फ खाने और नहाने के लिए राजी से निकलते.

अपनी बुर पर उगंली रखने की मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी, कुछ करने की तो बात ही बहुत दूर की थी. सोनू अपना लंड पूरा बाहर निकाल कर ज़ोर से धकेलता था, जिससे अंतरा की चीख निकल जाती थी. मजेदार कहानियां सुनाओउषा- ये बात तो तूने सही कही … इसकी गांड और चूत चुदेगी, तो ये एक नंबर की माल बनेगी, ये कमाई भी बहुत करेगी.

राजशेखर ने रमा के ब्लाउज के ऊपर से उसके स्तनों को दबाना शुरू कर दिया था. जब दीदी के चूचों का स्पर्श मुझे मिला तो किसी तरह मैंने खुद को रोका.

मैंने उससे मजाक मजाक अचानक में कह दिया- क्यों ना हम पति की अदला-बदली कुछ दिन के लिए करके कुछ नए तरीके से मस्ती करें. अभी देखना कैसे तू अपने हाथ से लंड हिलाता रह जाएगा और मैं तेरे सामने तेरी बीवी को अपनी बीवी बना कर पेलूंगा. मैंने सोनू को उठा कर पलंग पर बैठाया उसके सिर को पकड़ा और उसके मुंह को चोदने लगा.

कुछ देर के बाद सब कुछ जब सामान्य हो गया तो हम लोग उठे और अपने अपने कपड़े पहनने लगे. वो तड़फ उठी मगर मैंने उसकी तड़फन को नजरअंदाज करते हुए उसकी चूत में एक और जोर का धक्का मारा. फिर मैंने सोनू को डॉगी स्टाइल में होने के लिए बोला तो वह बेड पर डॉगी स्टाइल में आ गयी.

नज़मा तड़फ कर बोली- चाटो न भाईजान … क्यों रोक दिया?मैं- साली रंडी, भाई मत बोल … और कुछ बोल ले … नाम ले ले या जान बोल ले.

फिर मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और आंटी की चूत को दस मिनट तक लगातार चोदने के बाद मेरा माल निकलने को हो गया. मेरी मदमस्त जवानी से लट्टू होकर कमलनाथ मेरे साथ सम्भोग करने लगा था.

मेरी बात सुन राजशेखर राजेश्वरी के ऊपर से उठ गया और बिना समय गंवाए हम दोनों संभोग की अवस्था में आ गए. उसने बोला- ऐसा क्यों?मैंने बोला- क्योंकि वो कमरा नजमी के कमरे से दूर है … और तुम्हारी अम्मी के कमरे से आवाज बाहर नहीं आती है. वो मेरी तरफ देख कर वो शर्म से पानी पानी हो रही थी और फिर वो चली गई.

अब तू मुझे बिना कंडोम के भी चोदेगा तो मैं प्रग्नेंट नहीं हो सकती हूं।ये सुनकर मैं बहुत खुश हो गया।मैंने दीदी को अपनी ओर खींचा और उसे अपनी बांहों में लेकर जल्दी से किस करना शुरू कर दिया. शादी के बाद जिन्दगी में सबकी ही कुछ बदलाव आते हैं इसलिए हमारी जिन्दगी में भी आए. तब के बाद से मैंने लड़कियों पर विश्वास करना छोड़ दिया और तबसे ही सिंगल हूँ.

बीएफ मूवी हिंदी इंडियन मम्मी ने शीमा की माँ को बोल दिया था कि आज का मेरा खाना वो ही बना दें. करीबन 7 इंच लंबा और मोटाई 3 इंच लिंग की वजह से जब उसने धक्का मारना शुरू किया, तो मस्ती मैं में कसमसाने लगी.

चित्र बीएफ

जैसे ही मैंने अपने लंड पर हाथ रखा, उसी वक्त उसने अचानक ही मेरी तरफ देखा और मुझसे कुछ कहने लगी. लेकिन मैंने कई बार आपको सिग्नल देने की कोशिश की लेकिन आप मेरे इशारों को समझ ही नहीं पाये. कुछ देर बाद प्रिया सोने के लिए छत पर आयी और मैं और चाचा का लड़का एक साथ सोये थे.

लेकिन तुम एक वायदा करो कि तुम किसी से नहीं बोलोगी और मुझसे नाराज़ नहीं होगी. जैसे जैसे संभोग बढ़ता जा रहा था, वैसे वैसे हम दोनों में जोश भी बढ़ता जा रहा था. अंग्रेजी सेक्सी पिक्चर अंग्रेजी सेक्सीगांड मारने के बाद में मॉम ने पूछा- तू मुझे अपने बच्चे की मॉम कब बनाएगा.

इसके आगे क्या हुआ, ये जानने के लिए इस सेक्स कहानी के अगले भाग का थोड़ा इंतज़ार कीजिए.

वो चुप नहीं हो रहा था इसलिए दीदी ने अपना कमीज उठा कर अपनी चूची को बाहर निकाल लिया और बच्चे के मुंह पर अपना निप्पल लगा दिया. वो मेरी मां के रूम में थी और मैं बाहर से उसको इशारे करने की कोशिश में था लेकिन वो मेरी ओर देख ही नहीं रही थी.

फिर उसने मुझे अपनी तरफ घुमाया और हम दोनों के होंठ एक दूसरे के होंठों से सट गये. उसने अपना लिंग जोर से एक बार आगे पीछे किया और फिर उसे मेरी योनि की छेद पर सटा कर आसन ले लिया. कांतिलाल ने भी उसके चूतड़ों में 3-4 जोरदार चांटे मारे और पहले से कहीं ज्यादा जोर से धक्के मारने लगा.

उसका सुपारा काफी मोटा था और उसका लंड मेरी चूत में पूरा फिट हो गया था.

यह मेरी रियल स्टोरी आपको कैसी लगी मुझे जरूर बताना। मैंने अपनी मेल आईडी नीचे दी हुई है. एक दिन दोपहर में लेटा हुआ मैं यही सोच रहा था कि चाची का नम्बर कैसे लिया जाये और उनको चोदा कैसे जाये?मेरे लन्ड में आग लगी थी चाची की चूत मारने की और उस दिन चमत्कार हो गया. मैंने उसको बोला कि तुम बहुत भाग्यशाली हो यार … जो तुम्हें ऐसी सेक्सी बीवी मिली है.

गर्ल्स नाम लिस्ट हिंदी 2020 hinduफिर मैंने देर ना करते हुए उसका लहंगा ऊपर कर दिया, जो उसने कमर पर पकड़ लिया. फिर सामने की ओर राजेश्वरी को कांतिलाल ने पूरी नंगी कर दिया था और उसे चूम रहा था.

भाभी एक्स एक्स एक्स बीएफ

उसके इस तरह के व्यवहार से मैं और उत्तेजित होती चली गई और अपनी कमर उसकी तरफ धकेलते हुए अपनी योनि का दबाव उसके होंठों पर बढ़ाती चली गई. वो भी समझ गयी और उसने मेरी तरफ देख कर हल्का सा स्माइल किया और मेरे कंधे पर अपना सिर रख दिया. अब वो कराह रही थी- आह जल्दी करो न … मुझे बहुत दर्द हो रहा है तुम्हारा लंड बहुत मस्त लम्बा और मोटा है … मुझे मज़ा भी आ रहा है … और दर्द भी हो रहा है.

क्योंकि मुझे पता चल चुका था कि राकेश को इस बात से कोई परेशानी नहीं है. मां की चिकनी हो चुकी चूत को पांच मिनट तक जम कर चोदा और फिर मेरा माल मां की चूत में ही निकल गया. आखिरकार मेरे लंड ने दम छोड़ दिया और मैंने पूरा का पूरा वीर्य उसकी चुत में छोड़ दिया.

आज भी मैं उसके बारे में सोचता हूं तो मेरा मुठ मारने को मन कर जाता है. लेकिन अब चूंकि लंड खड़ा होने लगा था, तो मेरी सोच और नज़रिया दोनों बदलने लगे. साथ ही उसने प्रिया दीदी की बहुत सेक्सी दिखने वाली पेंटी भी फाड़ दी.

मैंने देखा कि उसकी सील टूट चुकी थी, खून आ रहा था और उसके आँसू भी!लेकिन मैं नहीं रुका … मैं और तेजी से राउंड मारने लगा. दो मिनट के बाद ही उसकी चूत ने ढेर सारा पानी छोड़ दिया और वो झड़कर ढीली पड़ गयी.

शायद मुझे उन 3 औरतों की फिक्र थी, जिनसें मैं पहले कभी नहीं मिली थी.

मैं और मेरा बॉयफ्रेंड हम दोनों लोग नंगे थे और वो मुझे अपनी बाँहों में लेकर मेरी चूची को दबा रहा था. सेक्सी वीडियो दिखाइए अंग्रेजीमेरे मां और पापा उस दिन दूसरे गांव किसी काम से गये हुए थे और अगले दिन आने वाले थे. जानवर वाली सेक्सी जानवर वालीमेरे उस्ताद ने उसकी चूत को मेरी अनुमति के बिना ही चोदना शुरू कर दिया. और यह कहते हुए उसकी आँखों में आंसू आ गए।मैंने उसके माथे पर चूमते हुए उससे कहा- सोनम, तुम चिंता मत करो, तुम्हारी बदनामी मेरी बदनामी है.

लगभग 25-30 मिनट में मैंने साराह को इतना उत्तेजित कर दिया कि उसकी चूत पानी छोड़ चुकी थी.

मैंने थोड़ा झिझक कर रिप्लाई दे दिया- वीडियो चैट क्यों करनी है? हम दोनों की बात हो चुकी है, नम्बर भी मिल गये हैं फिर आपको वीडियो चैट क्यों करनी है?मेरी इस बात में उसे बेरुखी लगी और उसने रिप्लाई देना बंद कर दिया. मगर मां किसी को इस बारे में नहीं बताती थी क्योंकि वो घर की बात को घर में रखना चाह रही थी. इधर बाकी हम सब भी इतने उत्तेजित हो गए थे कि सबके चेहरे पर पसीना आने लगा था.

अब भाभी से जब रुका नहीं गया तो उसने पीछे हाथ लाकर मेरे चूतड़ों को अपने हाथों में पकड़ लिया और मेरी गांड को आगे की तरफ धकेलते हुए अपनी चूत के अन्दर मेरे लंड के धक्के मरवाने लगी. दस मिनट होते होते तो कमलनाथ चरम पर पहुंचने की स्थिति में आने लगा था. उसकी चूत में वीर्य को छोड़ कर जो आन्नद मुझे उस रात मिला वो मैं यहां पर बता नहीं सकता.

बीएफ तमिल बीएफ

गोद में बैठी हुई भाभी के चूचों को मुंह लगा कर ऐसे पीने लगा जैसे बहुत दिनों से किसी को पानी नसीब नहीं हुआ हो. मेरा काम में बिल्कुल भी मन नहीं लग रहा था इसलिए उस दिन मैं शाम को जल्दी घर आ गया. वो मेरे लंड पर हाथ चला रही थी और मेरे हाथ उसके गोल नर्म चूतड़ों पर चल रहे थे.

पर मुझे पता था कि लंड कैसे डालना है।मैंने कुछ देर और आधे लंड को अंदर बाहर किया और उसके बूब्स से खेलता रहा।जब मुझे लगा कि अब सोनम सामान्य हो चुकी है और दर्द सहने के लिये तैयार है.

पहले तो हम दोनों ने एक दूसरे की तरफ देखा और फिर एक दूसरे की चूमने लगे.

चुदाई के दौरान मर्द इनको मुंह में लेकर चूसता है और जब बच्चा पैदा होता है यहीं से दूध निकलता है. मैंने मेम से कह दिया कि मेम आपने सर को तो वो वाली बात नहीं बताई ना?मेम ने कहा- नहीं बताई है … लेकिन बताने वाली हूँ. सेक्स कॉम सेक्स कॉमउन्होंने मुझे अपने बेड पर धक्का दे दिया और मैं उनके बेड पर गिर गया.

मैंने दीदी की टांगों को दोनों तरफ करते हुए फैला दिया और अपना 6 इंच का लंड दीदी की चूत पर टिका दिया. दीदी बोली- मैं होटल में नहीं जाऊंगी, वहां सबको पता चल जाएगा कि मैं कॉलगर्ल हूँ, उसे तुम घर पर ही बुला लो. अब भाभी भी नीचे से अपनी गांड उठा उठा कर चुदवा रही थीं और बोल रही थीं- आह और जोर चोद मुझको … हां ऐसे ही … तेरा लंड मेरी चूत की पूरी खुदाई कर रहा है … आह.

ऐसे ही एक दिन मेरे एक रिश्तेदार ने मुझसे कहा कि मेरी नजर में एक लड़की है, काफी अच्छी है पर अभी बारहवीं का एग्जाम दे रही है. राकेश ने रिसेप्शन पर ही एक दारू के लिए बोल दिया, जो कि बहुत महंगी थी.

उस दिन शाम होने तक मैंने मैडम को चार बार चोदा और हर बार मैं अपना माल उनकी चूत के अन्दर डालता रहा.

उसको मैंने अपनी बातों में फंसाने की कोशिश करते हुए कहा कि अगर तुम मेरी शिकायत करोगी तो मैं भी मकान मालिक से तुम्हारी शिकायत कर दूंगा कि तुम घर में क्या क्या करती हो. नाइटी में चूचों के निप्पलों के ऊपर वाली जगह में एक स्टार जैसा कुछ चमकदार नग सा लगा था, जोकि उनके चूचों को और भी पूरा दिखाते हुए भी ढक रहा था. मुझे बार-बार अपने भाई का लंड अपनी आंखों के सामने खड़ा हुआ दिखाई दे रहा था.

अंग्रेजी में सेक्सी वीडियो में ब्लाउज थोड़ा कसा सा था, जिसकी वजह से मेरे स्तन उभर कर बाहर निकलने जैसे हो रहे थे. यह मेरी फर्स्ट टाइम सेक्स की ट्रू स्टोरी है, जिसके लिए आपके मेल का स्वागत रहेगा.

फिर मैं मन मार कर जाने लगा और भाभी को बोल दिया कि मैं अपने रूम पर जा रहा हूं. मैं उनका इशारा समझ गया और उनका पैर का अंगूठा चाटते हुए ऊपर की तरफ बढ़ने लगा. अब वो नीचे थी मैं ऊपर!मैंने उसके बाल खोले फिर उसकी टाई … मैंने उसे चूमना शुरू किया.

और बेटा का बीएफ

ऐसे ही एक दो दिन भाभी से बात करते हुए हो गया तो हम दोनों में काफी कुछ बातें होने लगीं. अगर घर पर कोई मेहमान आता था तो वह मेरे रूम में ही रुकता था क्योंकि दूसरा रूम तो मां और पापा के लिए था. मेरी सहेली के बताये होटल में जाने का हम दोनों ने एक दिन तय कर लिया.

मुझे बार-बार अपने भाई का लंड अपनी आंखों के सामने खड़ा हुआ दिखाई दे रहा था. लेकिन मैंने कभी इस बात को जाहिर नहीं होने दिया कि मैं उनकी हरकतों के पीछे के मतलब को समझ रही हूं कि वो मेरी कामवासना जगा कर मुझे चोदना चाह रहा है.

अब मैं हर धक्के के साथ हल्का दबाव बढ़ाता गया और हल्का दर्द देते हुए मैंने उसकी चूत में आधा लंड घुसा लिया.

मैं भी कोई आवाज नहीं कर रहा था क्योंकि साथ में ही बच्चे भी सो रहे थे. उसने पहले तो हाथ हटा लिया लेकिन मैंने दोबारा से उसका हाथ रखवाया तो फिर उसने नहीं हटाया. कभी कभी मैं दोनों चुचियों को एक साथ सटा कर चाटने की कोशिश भी करता था, लेकिन चूचों के बड़े साइज़ के चलते मैं पूरी तरह से ऐसा नहीं कर पा रहा था.

वो हल्के हल्के से अपने दांत मेरी पीठ पर गड़ाते हुए लिंग को थोड़ा बाहर निकालता और जोर से झटका मार देता. उन्होंने मेरे बाल पकड़ कर मेरा मुँह ब्रा के ऊपर से ही अपने चूचों में दबा दिया. और गुड नाईट कह कर सो गई।थोड़ी देर बाद मुझे भी नींद आ गई और मैं भी भाबी के मखमली जिस्म के बारे में सोचते हुए और उनकी ओर करवट लेकर सो गया।[emailprotected]भाबी की चुदाई की कहानी का अगला भाग:ज़िप में फंसा लंड-2.

हल्के हाथ से मैं बालों को रेजर से हटाता गया और चूत से बाल साफ होते गये.

बीएफ मूवी हिंदी इंडियन: ‘आह उई आई मर गई अम्मा … चोद दे मादरचोद … अपनी मॉम की चुत का सारा पानी पी ले … आह आई आई रे … मर गई मैं तो. मेरी उम्र 23 साल है और जहां तक मेरे साइज़ की बात है वो 32-30-36 है.

उसने अपनी टांगें कमलनाथ के चूतड़ों के इर्द गिर्द लपेट लीं और उसे खुद में समा लेने की चेष्टा करने लगी. फिर चूसने और चाटने के बाद उसने एक कॉन्डम उठाया और उसको खोल कर मेरे लंड पर चढ़ा दिया. मैंने नर्वस हो कर कहा- मेम आपका नाम क्या है?उन्होंने अपना नाम संगीता बताया.

मैंने अपने भाई के लंड को अपने हाथ से टटोलते हुए उसके लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया.

मैंने भी खुद को तैयार कर लिया कि उसके साथ मैं भी झड़ जाऊं … पर रवि तो पहले ही झटके खाने लगा था. वो लगातार ऐसे चूसे जा रहा था … जैसे कि उसमें से दूध निकलने वाला हो. हुआ यूं कि मेरा ब्वॉयफ्रेंड मेरे साथ सुहागरात मनाना चाहता था, मैं भी उसके साथ फर्स्ट टाइम सेक्स करने के लिए तैयार थी.