बिहारी लड़की के बीएफ

छवि स्रोत,देसी भाभी मोटा जांघ न्यूड

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स बीएफ चालू: बिहारी लड़की के बीएफ, वो मेरे लंड को देखने लगी तो मैंने उसे घुटनों पर बिठा दिया और अपना 7 इंच लम्बा और 2 इंच मोटा लंड उसके मुँह में डाल दिया.

आदिवासी ओपन सेक्सी वीडियो

दीदी अपनी टांगें पूरी खोल कर मेरी जीभ से चूत चटाई का मजा ले रही थी. र्पोन विडियोतभी राधिका आगे बोली- अब हम चारों को पता ही चल गया है कि आगे क्या होने वाला है, तो क्यों ना हम डायरेक्टर फ़ाइनल टास्क वाला गेम खेलते हैं.

मेरा इस बार का प्रयास कैसा लगा, आप नीचे दिये गए मेल आई-डी पर जरूर बतायें. केक कैसे बनाते हैं केकउस पर सफेद बेडशीट, बेडशीट के बीचों बीच गुलाब के फूलों से दिल बना हुआ था.

टी आ गया क्या? फिर बातों ही बातों में पता चला कि उसको भी भुवनेश्वर जाना है कोई एग्जाम देने, दोस्तो बहुत काली थी वो, पर उसमें एक नशा था.बिहारी लड़की के बीएफ: उसकी शादी के बाद, ना उसने मुझको याद किया, ना मैंने उसकी शादीशुदा जिंदगी में आग लगाने की सोची.

मम्मा ने थोड़ी देर बाद थोड़ी हरकत की और थोड़ा सा आगे खिसक कर लेट गईं लेकिन वो मुझसे कुछ नहीं बोलीं.मेरी मम्मा- अच्छा चल शादी करनी थी … तो ऐसे शादी होती है क्या? ना मांग भरी, ना फेरे किए, ना कुछ और सीधे सुहागरात?मैं समझ नहीं पाया कि मम्मा ने ऐसा क्यों कहा लेकिन जब मैंने मम्मा के चेहरे पर एक कनिंग स्माइल देखी तो मैं समझ गया कि मम्मा भी मुझसे चुदवाना चाहती हैं.

देसी बाथ वीडियो - बिहारी लड़की के बीएफ

मेरे सभी पुरुष और महिला पाठक, आप महसूस कीजिये कि जब आपने पहली बार ये सब किया होगा या किसी महिला पुरुष के साथ इस स्थिति में रहे होंगे कि वो पुरुष आपके होंठों को चूम रहा है और उसका हाथ आपके स्तनों पर आ गया है तो क्या स्थिति होती है.एक बार तो मैंने ध्यान से उनकी चूत को देखा, फिर कपड़े के ऊपर से उनकी चूत पर अपना मुँह रख दिया.

आज मैं आपके लिए एक और गर्म सेक्स कहानी लेकर आया हूँ, जो अभी चार महीने पहले मेरे साथ घटी थी. बिहारी लड़की के बीएफ उन्होंने सलवार और चड्ढी नीचे सरकाई और कहा- लगा मुँह और ले मेरी चूत का प्रसाद.

लगभग 15-20 धक्कों के बाद अपना वीर्य माया की चूत में ही छोड़ दिया और माया भाभी के ऊपर लेटकर हांफने लगा.

बिहारी लड़की के बीएफ?

उसने तुरंत अपने एक हाथ को बढ़ाकर मेरी सलवार के ऊपर से ही मेरे चूत अपने हाथों में भींच दिया. नीतू … आहहहह … क्या मस्त खुशबू आ रही है, कौन सा परफ्यूम लगाती हो?”मैं बोली- कुछ खास नहीं, पर नहाने के बाद डीओ लगती हूँ. अभी तक मैंने अपनी उंगली से वसुन्धरा की योनि को हल्का सा भी कुरेदा नहीं था.

अन्तर्वासना की कहानियां और सेक्सी मैगज़ीन्स पढ़ कर दिमाग में चुत का कीड़ा कुलबुली मचा रहा था. मेरे तीव्र आवेश के कारण वसुन्धरा के मुंह से निकलने वाली ऊँची-ऊँची काम-कराहों से सारा कमरा गुंजायमान था. हम दोनों ने सुषी को चुप कराने की बहुत कोशिश की लेकिन वह भी चुप नहीं हुई और आंटी भी चुप नहीं हो रही थी.

दरवाजा खुलवा दो, मुझे जाना है” पिंकी ने कहा।तब तक मेरा भी पेपर पूरा ही हो गया था. मैं हमेशा से ही सलोनी मौसी को चोदना चाहता था और कई बार सपने में चोदा भी, पर हकीकत में कभी उनसे ऐसा कुछ कहने की हिम्मत ही नहीं हुई. जिसे देख अच्छी से अच्छी चुदक्कड़ लौंडियों की चुत, गांड में पानी आ जाए.

पाँच बार के बाद सबका नंबर जोड़ा जाएगा और जिसका नम्बर सबसे ज्यादा होगा वह सबसे कम नम्बर वाले को कुछ करने के लिए कहेगा जो कम नम्बर वाले को करना ही पड़ेगा. वो न तो दिन में कभी मेरे करीब आने की कोशिश करती थी और न ही रात को लाइट जला कर मुझे उसके बदन को देखने का मौका देती थी.

थोड़ी देर लंड चूसने के बाद वो नीचे लेट गयी और चुदाई की पोजीशन आ गयी.

वो इस बात से परेशान थी कि बन्दा कुछ कहता भी नहीं, बस देखता रहता है.

जब मैंने भाभी की चुत को चाटने के लिए मुँह नीचे लगाया, तो भाभी ने मना कर दिया. ये सीन देखकर वो दोनों ही एकदम से गर्म हो रही थीं और मैं भी अपना होश खो रहा था. वह मुझको बिल्कुल चिपक के पकड़ने लगा और मुझे बहुत गंदी गालियां देने लगा.

किसी लड़की की सबसे बड़ी कमजोरी को उसका सबसे अच्छा बता देना लड़की को भावनात्मक रूप से आपसे जोड़ देता है और हर लड़की अपनी तारीफ सुनना पसंद करती है. मैंने भाभी के मुँह से उसके पति के लिए गाली सुनी तो हंस दिया- इतना गुस्सा क्यों करती हो … तेरा परमानेंट ठोकू तो ये ही है. इस कोर्स की पढ़ाइ शुरू हुई तो प्रेक्टिकल के लिए 3-3 स्टूडेंट्स के ग्रुप बनाये गए थे.

बीच में मैं था और मेरी दोनों बगलों में एक तरफ श्वेता थी तो दूसरी तरफ शुभी थी.

वैसे भी जवानी के वो दिन ऐसे होते हैं कि दिन में अगर सौ काम करो तो नब्बे काम लौड़े को शांत करने के लिए लिए होते हैं. वो भी कहीं से तेल की शीशी उठा कर ले आयी और मेरी चूत की मालिश करने में जुट गयी. फिर एक दिन रात को उसका फोन आया और वह बोली- आज आपके लिए कुछ खास तोहफा है.

मेरे चूतड़ पीछे से पूरी तरह से उठ जाने की वजह से उसका लिंग अब हर धक्के पे मेरे गर्भाशय तक जाने लगा. मैं 2 साल लगातार नौवीं कक्षा में फेल हुई, उसके बाद कक्षा 10 वीं में पहुंची, पर फिर कक्षा 10 पास ही नहीं कर पाई. फिर हम दोनों ने प्लान बनाया और प्रिया ने अपने किसी कम्पटीशन की कह कर मामा मामी से मेरे साथ जाने की अनुमति ले ली.

मौसी का चेहरा ठीक दरवाजे की तरफ था और इस वजह से मुझे उनके शरीर के आगे का भाग पूरा दिख रहा था, सिवाय उनकी चूत के.

उसका आधा लण्ड मेरी चूत में उतर गया और मेरा मुँह पहले के मुकाबले और ज्यादा और पूरा खुल गया. वो बोली- अगर पैसे ही खर्च करने हैं, तो अपने आप अपनी पसंद से ले आना … मैं ले लूँगी.

बिहारी लड़की के बीएफ भाभी बाथरूम वाले कमरे में चली गईं और जाते जाते अपने लैपटॉप का पासवर्ड भी बता गईं. अमर ने पिंकी को गोद में उठाया और बेड पर ले जाकर पेट के बल उल्टा लिटा दिया.

बिहारी लड़की के बीएफ शीतल भाभी ने मुझसे पूछा कि तुमने मुझसे तो मेरे बारे में सब पूछ लिया, पर अपने बारे में कुछ नहीं बताया. काफ़ी देर की चुदाई के बाद मेरा छूटने वाला था, मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और फिर अपना सारा माल उसकी फ़ुद्दी में गिरा दिया.

मैंने सही मौका देख कर उससे कहा- रूपाली मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूँ.

ஷகீலா செஸ் விதேஒஸ்

दोस्तो, अगर गर्लफ्रेंड पोर्न कहानी पढ़ने के बाद आप पानी गिराते हो, तो प्लीज मुझे कमेंट्स और मेल करके अपना एक्सपीरियंस जरूर बताना. उसके मुख से एक आह निकली- आई ईईई … मादरचोद, बिल्कुल रांड समझ कर ठोक दिया अपना हथियार. तो उसने हम दोनों से पूछा कि कुछ दिक्कत है क्या?मिनी ने ही उसे समझाया कि कोई दिक्कत नहीं है, बस हम लोग एक दूसरे को समझ रहे हैं.

उसके पास बाइक थी और मैं उसके पीछे लड़कों की तरह से बैठ गई और हर झटके पर जानबूझ कर अपने मम्मों हो उसकी पीठ पर दबा देती. मैं भी उसे गटक गयी और लण्ड का टोपा चाटने लगी।तब वहां से चली।बस इसी में थोड़ा देर हो गयी।अम्मी बोली- ठीक है रेहाना … पर ये तो बता कि उसका लण्ड कितना बड़ा है?मैंने कहा- लण्ड तो बड़ा मोटा तगड़ा है. मैंने सरिता से पूछा- विलास सो गया क्या? अगर वो जाग गया तो बहुत मुसीबत हो जाएगी.

इधर हमें ये सब करते काफी समय हो चुका था, पर वक़्त की परवाह किसे थी.

तुम्हें तो कोई काम नहीं है ना?मैं बोला- नहीं यार, मैं तो यहाँ अकेला ही रहता हूँ. इससे पहले मैं कुछ कह पाता वह बोली- मैं तुम्हारे दोस्त से प्यार करती हूँ. सरिता कामुक आवाज में बोली- प्लीज हर्षद अब कुछ करो ना!मेरा लंड भी जोश में आकर सरिता की चूत से टकरा रहा था.

उसके बाद छाती से चलकर मेरे हाथ पेट पर मलते हुए नीचे लंड की तरफ बढ़ गये. मैं ये चुदाई कभी नहीं भूलूंगी … मेरी जान निकल गयी थी लेकिन अब बहुत अच्छा लग रहा है. मैंने कॉल करके उनको अपनी सहमति दे दी और रात को मिलने के लिए बोल दिया.

[emailprotected]चीटिंग वाइफ Xxx कहानी का अगला भाग:साजिश और सेक्स की कॉकटेल- 4. वो मुझे अपना सिर हिला के बोल रही थी- रॉकी इसे बाहर निकालो, बहुत दर्द हो रहा है.

मैंने हिम्मत करते हुए अपने सारे कपड़े उतारे और सिर्फ चड्डी में होकर बाथरूम में घुस गया. फिर मैंने दूसरे चूचे को भी सहलाना शुरू कर दिया और उसके निप्पल को जैसे ही दो उंगलियों के बीच में लेकर मसलना शुरू किया, निशा मानो तड़पने लगी थी. मैंने सोचा क्यों न कोशिश की जाए, मिल गयी तो ठीक, वरना अपना हाथ जगन्नाथ.

यहाँ पर मेरे सिवा कोई नहीं रहता क्योंकि पापा गांव की मार्केट में दुकान पर रहते हैं और पापा के साथ सब वहीं पर रहते हैं.

उसने अपने हाथ से लंड को चूत पर सैट किया और मुझे आंखों से इशारा किया. मैंने उसे आंखें बंद करने को कहा और धीरे से उसके पास जाकर उसकी सांसों को महसूस करते हुए उसके लबों पर अपने होंठ रख दिए. बहुत रोकने की कोशिश की मगर भाभी की ब्रा और पैंटी बहुत ही ज्यादा मस्त थी.

फिर मैंने उनकी चूत को और देर तक चाटा, जिससे वो फिर से चुदासी हो गईं. प्रेक्टिकल्स में वो ही सब टेस्ट वगैरह करता था, तो मुझे ज्यादा टेंशन नहीं होती थी.

वह लंड मुख से निकाल कर बोली- जब मुँह में इतनी मुश्किल से जा रहा है तो चूत में कैसे जाएगा?गुलाबो को काफी डर लग रहा था क्योंकि मेरा लंड काफी लम्बा और मोटा है. अंकल ने ब्रा के कप पर अपना मुँह रखा, मेरे स्तनों पर उनके मुँह का दबाव महसूस हुआ. मैं उन आंसुओं को पी गया, बोला- मेरी रानी, बस इस बार बर्दाश्त कर लो, आगे मजा ही मजा है.

बीपी सेक्सी वीडियो देखना है

उनसे बात करके पता चला कि वो एक 29 साल के मर्द थे और मुझसे बहुत ही अच्छे से बातें कर रहे थे.

मैंने अपना लिंग थोड़ा सा वापिस बाहर खींचा तो वसुन्धरा के चेहरे पर राहत के भाव आये. मैं अपने दोनों हाथ सुखबीर के सीने पर रख घुटने बिस्तर पर टिका लिंग के ऊपर बैठने लगी. इस पर अमर भी उसका साथ ठीक उसी तरह से देने लगा, जैसे पिंकी उसको चूस रही थी.

आख़िर में मैंने भी लास्ट झटके मार के नफीसा की चुत में माल निकाल दिया. क्योंकि मेरी बहन अब सीधी होकर सो रही थी, इससे उसकी बुर साफ़ दिख रही थी. सेक्सी पिक्चर वीडियो में गानातभी राधिका आगे बोली- अब हम चारों को पता ही चल गया है कि आगे क्या होने वाला है, तो क्यों ना हम डायरेक्टर फ़ाइनल टास्क वाला गेम खेलते हैं.

मैंने देखा वो ऊपर से नीचे तक पसीने पसीने था, यहाँ तक कि उसकी पगड़ी सिर के पास पूरी भीग चुकी थी. मुझे अब क्या करना चाहिए और क्या नहीं … यही सब सोचते सोचते मैं देर तक जागती रहती.

मजा आ गया मेरी जान … उम्म्हाह … तुमने तो बिना चोदे ही मजा दे दिया यार. मैं आपका रवि खन्ना, फिर से अपने जीवन की सच्ची घटना, नीरजा के बाद अमीषी की पलंग तोड़ चुदाई का किस्सा लेकर हाजिर हूँ. फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी, जिससे उन्हें भी जोश चढ़ गया और हम दोनों में चुदाई का घमासान होने लगा.

फिर मैंने एक और झटका मारा और अपना पूरा लंड उसकी चूत में अन्दर तक डाल दिया. रास्ते में भाभी ने पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?मैंने कहा- नहीं भाभी. मेरी चूत ने भी पानी छोड़ना शुरू कर दिया था।तो यह थी मेरी और मेरे जीजू के बीच की पहली चुदाई की सत्य घटना!उस रात जीजू ने मुझे तीन बार और चोदा और पिछले 3 बरस से लगातार चोद रहे हैं।आपको मेरी कहानी कैसी लगी जरूर लिखना.

घर पहुंचने के बाद मैं बाहर जाकर एक रेज़र लाया, क्योंकि मेरे लंड पर झांटों का एक बहुत बड़ा जंगल उगा हुआ था और कल की घटना के बाद मैं चाची को साफ़ सुथरा लंड दिखाना चाहता था.

फिर मैंने नीचे बैठ कर एलेक्स की पैंट को खोल दिया और जैसे ही मैंने पैंट को खोल कर उसे नीचे उतारा अंडरवियर में उसका लंड तना हुआ झटके दे उठा. मगर अचानक ही अंदर से फिर आवाज आनी शुरू हो गई और मेरा ध्यान फिर से उनकी चुदाई पर चला गया.

अभी तो आपको बताया था कि वो पटाखा वाला सीन मेरी जिन्दगी में है ही नहीं. उसने मुझे अपनी बांहों में ले लिया और मुझसे बोला कि आज तो घर में कोई नहीं है. वो ‘ह्हाआ ह्ह्ह ऊओह्ह ह्ह आअह ह्ह्ह्ह …’ की मादक आवाजें निकाली जा रही थी.

उस समय उन्होंने अपना भयंकर लंड थूक लगा कर मेरी छोटे छेद वाली चिकनी गांड में पेल दिया. तो मैंने भी अपना सर हिला कर उसकी हां में हां मिलाया और मुस्कुराने लगी. उसके बाद आगे क्या हुआ और उन आठ सालों में हम दोनों ने कौन-कौन से नए पोज में चुदाई का मजा लिया.

बिहारी लड़की के बीएफ मेम ने मुझे कंडोम पकड़ाते हुए जल्दी से चुदाई करने को बोला और अपना पजामा खोल दिया. मेरा ध्यान उस कमरे की तरफ गया तो मैंने देखा कि उस पर कोई दरवाजा नहीं लगा हुआ था.

தமிழ் செஸ் மொவயே தமிழ் செஸ் மொவயே

दूजे! यह मौका ही ठीक नहीं था, प्यार सहज़ भाव से किया जाता है और जल्दी-जल्दी योनि-भेदन कर स्खलित होना तो निरी पशुता है. रूपा ने इस पहली चुदाई में अब तक तीन बार पानी छोड़ दिया और मेरा भी पानी निकलने वाला हो गया था. इसके बाद आशीष ने मेरी पिछवाड़े में हाथ लगाकर मुझे सीधे लिटा दिया और अब अपने हाथों से आशीष मेरे दोनों टांगों को चौड़ा किया.

मम्मा ने मेरे लिए दो जोड़ी कपड़े, एक जोड़ी जूते और एसेसरीज भी दिलाई. उसकी गांड को मैंने कैसे चोदा उसके बारे में मैं अपनी अगली कहानी में बताऊंगा. जेसीबी कंडोममैं अपने मुंह से अपनी तारीफ बिल्कुल नहीं करना चाहता मगर जो भी सच है वही बता रहा हूँ.

मैं- तो जीजू आपने बताया क्यों नहीं कि मुझे आप मुझे कितना चाहते हो और मुझे चोदना चाहते हो, मैं तो कब का अपने प्यारे जीजू को अपनी चूत सौंप चुकी होती!जीजू- साली जी, भगवान के घर देर है अंधेर नहीं … और सब्र का फल मीठा होता है तभी तो आज मैं तुमको चोद पा रहा हूं.

अब आगे हॉट भाभी Xxx चुदाई कहानी:सरिता मेरे पास आकर मेरे गले में अपने हाथ डालकर और अपने दोनों पांव फैलाकर मेरी जांघों पर बैठ गयी. बस इतने से ही मेरा पूरा बदन उत्तेजना से थरथरा गया, मेरी गर्दन के पीछे पता नहीं ऐसा क्या था कि वहां उनके होंठ लगते ही मैं आनन्द के सागर में डूबने उतराने लगी.

उसकी शादी के बाद, ना उसने मुझको याद किया, ना मैंने उसकी शादीशुदा जिंदगी में आग लगाने की सोची. वह अपनी उंगलियों से मेरी चूत को ऊपर नीचे करके रब करने लगा और अपनी एक उंगली से मेरी चूत के अंदर तक कुरेदने लगा. हम पलंग पर लेट गए और गांव की पुरानी बातें करते रहे, दोस्तों को याद करते रहे.

कहानी आगे जारी रहेगीआपका आमिरदोस्तों, आप अपने विचार मेरी ईमेल[emailprotected]पर दें.

भाभी बोली- तेरे भैया पंद्रह दिन के लिए बाहर जा रहे थे इसलिए जाते टाइम हम दोनों एक दूसरे के साथ सेक्स का मजा ले रहे थे. कुछ ही देर में उसकी चुत पानी छोड़ने वाली थी, मैंने अन्दर तक जीभ पेली तो चुत ने रस छोड़ दिया. हम दोनों इतने बेसब्र हो गए थे कि बिना देर किए, फिर से एक दूसरे को चूमने चाटने लगे.

पेट का ऑपरेशनवह मुझे पन्नीलाल चौक ले गया, वहां पर उसने एक स्टोर से 12 सौ रुपए की व्हाइट कलर की बहुत अच्छी सी लॉन्ग फ्रॉक दिलवाई, मैं बहुत खुश हो गई मुझे आज तक किसी ने इतना महंगा ड्रेस नहीं खरीद कर दिया था. क्या पुट्ठे बनाये … कसरत करते हो क्या?मेरे सीने पर हाथ फेरते रहे, फिर करवट बदल कर मेरे से चिपक गए.

बबीता सेक्सी व्हिडिओ

शीतल भाभी ने मुझसे पूछा कि तुमने मुझसे तो मेरे बारे में सब पूछ लिया, पर अपने बारे में कुछ नहीं बताया. हमारी जीभें एक दूसरे के मुँह में एक दूसरे के रस का मजा लेने लगी थीं. मैंने उसको सहज करने के लिए उसके होंठों को फिर से चूसना शुरू कर दिया.

वो खुद ही अपने सारे कपड़े उतार कर नंगी ही मेरे बिस्तर पर बैठ जाती थी और मेरे लंड को मजे ले ले कर चूसती थी. मैं उन्हें किस और स्मूच करता रहा और उनकी नंगी पीठ कमर पर अपने हाथ चलाता रहा. फिर मैंने पाण्डे जी से बोला कि उससे किसी तरह से सेटिंग कराओ क्योंकि वो मुझे बहुत अच्छी लगती है.

उसका मस्त गोरा बदन पूरा लाल हो चुका था, चुत पूरी सूज गई थी, मम्मों पर मेरे उंगली और दांत के निशान दिख रहे थे. वो मेरे डर से अपनी मन की नहीं कर पा रहा था, वरना मर्दों के जोश के आगे तो हर औरत झुक जाती है. मैं उनको अभी कुछ और देर चोदना चाहता था लेकिन मम्मा की चूत झड़ने से बहुत ज्यादा गीली हो गई थी जिससे मज़ा खराब हो गया.

मेरे होंठों को चूसती हुई बोली- हर्षद, आज मैं तुमसे कुछ मांगने वाली हूँ. लेकिन लाजवश मैं उनसे ऐसा कहा नहीं सकती थी और मैं दिखावे के लिए उनका विरोध कर रही थी.

वो कहने लगी- क्या कर रहे हो रोहन … मुझे रहा नहीं जाता प्लीज़!मैंने उसकी बातों पर ध्यान नहीं दिया और उंगली में चूतरस लगाकर उसके मुँह में अपनी उंगली डालकर उसे चखाया.

मैंने पूछा- क्या हुआ बाबू?उसकी नजर मेरे लंड पर रुक गई थी और आंखें फाड़ कर उसे देखे जा रही थी. खेल की परिभाषा दीजिएवसुंधरा से प्यार करने जैसी भावना तो अभी तक मेरे मन में थी नहीं और रही बात शारीरिक भूख की … तो मैं शादीशुदा आदमी इस लानत से कोसों परे था लेकिन वसुंधरा के कुंदन से दमकते जिस्म की शोख़ कशिश … वक़्ती तौर पर इतनी प्रबल थी कि मेरे सारे असूल एक ही झटके में तिनकों की तरह छिन्न-भिन्न हो रहे थे. आज का सेक्सवो अपना सर इधर उधर झटकने लगीं, साथ ही उनकी तेज सिसकारियां भी निकलने लगीं. अब जागृति मेम से रहा नहीं गया तो उन्होंने मेरा हाथ पैंटी के अन्दर डाल दिया.

मुझे ऐसा लग रहा था कि किसी भट्टी में लंड पेला हो!अगला झटका मारते ही मेरा लंड चूत की गहराई में जैसे किसी दीवार से टकराया। श्रद्धा अभी कसमसा रही थी। मैं उसकी चूत में अपना लंड अंदर बाहर कर धीरे धीरे चोद रहा था।जब वो दोबारा गर्म हुई तो कमर चूतड़ हिला-हिला कर मेरा साथ देने लगी। मैं पूरा दम लगाकर उसे चोदने लगा.

बातों बातों में उसने बताया कि अगले दिन मेरा जन्मदिन है, पर मैं किसके साथ मनाऊंगी … हस्बैंड तो ड्यूटी पे है. कुछ देर तक उसकी चूत को चाटने के बाद मैंने उसकी कमर के नीचे एक तकिया लगा दिया. मैं समझ गयी कि इसे आज ये मौका मिला है, अपनी दिल की इच्छा पूरी कर के रहेगा.

मुझे मालूम था अगर मेरी बीवी रात में बिना चुदाई किए सो गई है, तो सुबह हमारी चुदाई जरूर होगी. वे बोलीं- मैं भी देखूं क्या पढ़ता है तू?मम्मी ने नाइटी के ऊपर स्वेटर पहना हुआ था. मैं ठीक हो जाऊंगा ना?मेरे सवाल पर उसने कहा- घबराने की कोई जरूरत नहीं है.

তেলুগু ভিডিও সেক্স

आंटी ने हंस कर कहा- आज कैसे दरवाज़ा खटखटा रहे हो, उस दिन तो सीधे अन्दर आ गए थे?उनकी ये बात सुनकर मुझे थोड़ी शर्मिंदगी सी महसूस हुई, मैंने उन्हें सॉरी कहा. मैं पहले तो बोलने वाला था कि दोनों स्टोर की तरफ गये हैं फिर कुछ सोच कर बोला- नहीं, मुझे तो नहीं पता!रमा- पता नहीं कहां गये दोनों, कल भी तो ऐसे ही गायब हो गये थे. मीनाक्षी की पर्सनैलिटी को देख कर उसकी नौकरी सीबीआई में लग गई थी लेकिन उसके पति ने शादी के बाद उसकी नौकरी छुड़वा दी थी.

देखने में स्वस्थ मर्द हूँ और लड़कियों के मामले में बहुत खुशकिस्मत हूँ.

उसने एकदम से मेरा लंड बाहर निकाला तो दो-तीन पिचकारी उसके होंठों और उसके चूचों पर भी जा लगी.

भाभी बोलीं- आज मेरे ऊपर बड़ी दया दिखा रहे हो देवर जी … क्या बात है कुछ चाहिए है क्या?मैं- ऐसा कुछ नहीं भाभी, बस मैंने सोचा कि आपकी मदद कर दूँ. आशीष ने अपना हाथ समीज के अन्दर से सीधे मेरी नाभि से होते हुए मेरे सीने में मेरे मम्मों पर रख दिया और मेरे मम्मों को दबाने लगा. ई-मेल चोदा चोदीवो मस्त हो गई और बोली- बस रवि जो करना है … जल्दी करो … मुझसे रहा नहीं जाता.

मैं धीमे से बोला- यार मेरी गर्लफ्रेंड नहीं है न … तो इसलिए अपने हाथ से ही मुठ मारके काम चला लेता हूँ. प्रिया- अपनी बहन को कोई ऐसे प्यार करता है!मैं- तुम तो दूर की बहन हो. कहते हुए वह अपनी चूत के अंदर उंगली डाल कर मेरे माल को अपनी चूत से बाहर करने लगी.

उसे अच्छा लगने लगा। मेरे लबों का स्पर्श पाते ही वो फिर गर्म होने लगी। उसने एक हाथ पीछे लाकर मेरे चेहरे को महसूस करने की कोशिश की. मायरा चाय ले आई तो मैंने चाय पी और कहा- वाह बहना क्या अच्छी चाय बनाई है, मजा आ गया.

नम्रता- मौका भी तो नहीं मिल रहा है, जो तुम्हारी बांहों में समाने के लिये मचल जाऊं.

ये कहानी मेरी नहीं है, बल्कि मेरे एक पाठक की कहानी है, जिसे मैं अपने शब्दों के के साथ आप सब तब पहुँचा रहा हूँ. मेरे एक स्तन को मुँह में लेकर चूसते, तो दूसरा स्तन हाथ में पकड़कर गेंद की तरह दबाते. वो बोली- इस दवा से तुम्हारे इस लंड पूरा साफ करके इसमें मलहम लगा दूंगी तो तुम्हें आराम मिलेगा हर्षद.

जेन यूट्यूब डाउनलोड फोटो मैं देख रहा था कि लड़के तेरे को कैसे स्कूल में और अभी यहां भी लाइन मार रहे थे. हमेशा लोगों की नजर हमारे यहां दूसरे तरह की रही … और उससे मुझे और भी बल मिला.

मैंने उसके बूब्स पर हल्के हल्के होंठ फिराने शुरू किए और उसके निप्पल को दांतों में लेकर काटने लगा. जब मैं टाईट कपड़े पहन कर चलती हूं, तो लड़कों, शादीशुदा मर्दों और बुड्डों के लंड खड़े हो जाते हैं. भैया भी मज़े से चूचियां चूसते रहे और कुछ 20 मिनट बाद भाभी को रसोई की स्लैब पर बैठा कर चूत चाटने लगे.

सनी सेक्सी एचडी वीडियो

मैं- फिर कहां दर्द कर रहा है?कल्पना ने झल्लाते हुए कहा- अभी थोड़ी देर पहले जहां आप मुँह मार रहे थे. उस टाइम पम्मी आंटी अपने कपड़े बदल रही थीं और वो इंडियन आंटी न्यूड थीं. मैंने सोनू को बेड पर लिटाया उसकी चूत को अपनी जीभ और होंठों से पांच मिनट तक चाटा, उसके बाद मैंने उसी जैल का सोनू की चूत और अपने लंड पर लेप किया.

मैंने पहली बार किसी लड़की की चूची ऐसे अपनी आंखों के सामने नंगी देखी थी. अंकल आंटी बहुत ही अच्छे और हंसमुख स्वाभाव के थे, इसलिए मैं उनकी बहुत ज़्यादा इज्जत करता था.

इस पर वो मना करने लगी, तो मैंने उसे कस कर पकड़ लिया औऱ होंठ चूमते हुए उसकी चूचियां मसलने लगा.

अब श्वेता ने शुभी की चूत को चाटना शुरू कर दिया और मैं उसकी चूचियां दबा रहा था. मैंने अपने मम्मों को ढकने की भी नाकाम कोशिश की, पर अंकल को पता चल गया था कि मेरी क्या इच्छा है. मैंने पूछा- क्या हुआ?सोनू कहने लगी- आज जिंदगी में ऐसा पहली बार हुआ है.

होंठ चूसे, अपने होंठों का रस पिलाया और फिर जांघें चौड़ी करके खड़े लंड को निशाने पे लगाया. पर इन सबके बीच मैं ये भूल गया था कि मेरा लंड तना हुआ मेरे बॉक्सर के अन्दर खड़ा है. यह स्थिति आग में घी का काम करती है कुछ ऐसा ही हाल था!मैंने धीरे से मीना का हुड और टीशर्ट उतार दी.

उसने बात खत्म करते ही जोर से धक्का मारा और लिंग मेरी योनि की दीवार फैलता हुआ भीतर चला गया.

बिहारी लड़की के बीएफ: रात की चुदाई के बाद लंड में हल्की सी सूजन थी और बाकी दिनों की अपेक्षा थोड़ा मोटा भी लग रहा था. बातों बातों में उसने बताया कि अगले दिन मेरा जन्मदिन है, पर मैं किसके साथ मनाऊंगी … हस्बैंड तो ड्यूटी पे है.

शादी के बाद से ही मेरी नजर तुम्हें चोदने में थी और आज तुम हाथ लगी हो. मायरा चाय ले आई तो मैंने चाय पी और कहा- वाह बहना क्या अच्छी चाय बनाई है, मजा आ गया. मैंने अपनी चैन खोलकर अंडरवियर से अपना लंड बाहर निकाला और उसको दिखाने लगा.

मैंने कहा- ओह … अंकल कैसे?तो अंकल ने कहा- बहुत लम्बी कहानी है बेटा … तुमको बताने बैठ गया, तो बहुत समय लग जाएगा और तुमको इतना समय नहीं होगा.

भाभी बाथरूम वाले कमरे में चली गईं और जाते जाते अपने लैपटॉप का पासवर्ड भी बता गईं. वे जाने की कहने लगे तो मैंने कहा- आपके साथ कौन रहता है, कहां रहते हैं?वे बोले- अकेला रहता हूं. कुछ देर बाद मेरा भी जब माल निकलने वाला था, तो मैंने उससे पूछा- मैं तुम्हारे मुँह में माल डालना चाहता हूँ.