कॉलेज की लड़कियों की बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,સેકસી વિડીયૉ

तस्वीर का शीर्षक ,

छोटू दादा राखी वाला: कॉलेज की लड़कियों की बीएफ सेक्सी, उसने अपना मुंह जोर से मेरे लंड पर कस लिया और मेरे लंड से चूस चूस कर एक एक बूंद को निचोड़ने लगी.

सेक्सी पिक्चर नंगी दिखाइए

जैसे ही मेरा लंड पैंट से उछल कर बाहर आया तो उसको तुरंत ही भाभी ने अपनी दोनों हथेलियों में कैद कर लिया. सेक्स बीएफ चालूअपने लण्ड पर क्रीम मलकर मैंने अपनी ऊँगली पर ढेर सी क्रीम लेकर शैली की चूत के अन्दर उंगली फेर दी.

मां ने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा और अपनी चूत के मुंह पर लगा दिया. देवर और भाभी की बीएफ वीडियोअब आगे की सेक्स विद BF स्टोरी प्रिया की जुबानी सुनिये:मैं प्रिया हूं और आगे क्या हुआ वो मैं खुद आपको बताना चाहती हूं.

ये कहते हुए मैंने मौसी की चूची को हल्के से दबाया तो आभास हुआ कि उसने अंदर से ब्रा भी नहीं पहनी हुई थी.कॉलेज की लड़कियों की बीएफ सेक्सी: शिप्रा मेरी नजरों से नजरें मिलाते हुए बोली कि मैं तो मॉल वाले दिन से ही आपको पसंद करने लगी थी और इसीलिए मैंने जिम भी ज्वॉइन कर लिया था.

कुछ ही देर में रवीन्द्रनाथ पर वासना सवार हो गई और उन्होंने मेरी मां को पूरी नंगी कर दिया.मौसी ने फिर मेरी जांघों पर चूमना शुरू किया और जांघों से चूमते हुए वे मेरी चूत पर आ गईं.

पाकिस्तानी भाभी का सेक्स - कॉलेज की लड़कियों की बीएफ सेक्सी

तभी रिया दी चिल्लाईं- देखो तो बहनचोद को … तुम दोनों के लंड का टेस्ट इतना अच्छा लगा कि लंड ने पानी छोड़ दिया.आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी, मुझे ज़रूर बताएं। सेक्सी देसी आंटी स्टोरी पर कमेंट्स में अपने विचार बतायें या फिर मुझे मेरी ईमेल पर मैसेज करें.

लेकिन घर की इज्जत को ध्यान में रखकर मैंने बात आगे बढ़ाना उचित नहीं समझा।मनीष मेरे पीछे काफी पड़ा लेकिन मैं अपने आपको बचाती रही।हाँ … जब जिस्म में आग बहुत ज्यादा लग जाती और कोई रास्ता नहीं बचता तो अपनी उंगली से अपनी चूत की क्षुधा शांत कर लेती।कभी किसी लड़के का जानबूझकर मेरे से टकराकर मेरी चूचियों पर हाथ फेर देता. कॉलेज की लड़कियों की बीएफ सेक्सी अब मेरे पास कोई रास्ता नहीं था क्योंकि वो आदमी बार बार बोल रहा था कि निकलो बाहर वर्ना अन्दर घुस जाऊंगा.

मैंने उसे अपनी बांहों में समेट लिया और दोनों ओर से बेतहाशा चुम्बनों की झड़ी लग गई.

कॉलेज की लड़कियों की बीएफ सेक्सी?

चूंकि एक अनजान लड़की मुझे अपने घर में रात रोकने के नजरिये से रोके हुए थी, तो मेरे मन में उसके पार्टी वासना भरती जा रही थी. मैं उसके नीचे दबी हुई अपनी चूत की धज्जियां उड़वाती रही, चीखती रही और उसके लंड का मजा लेती रही. मैंने उसको पीछे के रास्ते से घर में एंट्री करवायी ताकि किसी को शक न हो.

मुझे ये भी पता चल गया था कि जितने लड़के मेरे आगे पीछे घूमते हैं, मुझे हमेशा प्रपोज करते हैं, ये कहते हैं कि मुझसे शादी करना चाहते हैं. जब मेरी मां ने उन दोनों से कहा कि मेरी मां को मालूम पड़ेगा कि मैं क्यों सही से नहीं चल पा रही हूँ, तो क्या होगा?वे बोले- तेरी मां इस समय घर पर होगी ही नहीं. हुआ भी यही … मैंने पूरी रात में चार बार आंटी की चूत चुदाई की और दो बार गांड मारी.

सेल्फी में मां का सेक्सी फिगर और उसके स्तनों की घाटी साफ साफ दिख रही थी. कभी वो मेरे ऊपर तो कभी आजू-बाजू लेट कर चुदाई करते हुए हमें काफ़ी देर हो चुकी थी. मेरी जीभ तब तक उसकी चुत पर फिरती रही, जब तक उसकी चूत बिल्कुल सूख नहीं गई.

मैं एकदम से खाने पर टूट पड़ा और हम तीनों चुपचाप ब्रेकफास्ट करने लगे. अब वो मेरे गालों पर, गले पर, बांहों में और पीठ पर चुम्बनों की बरसात करने लगे.

भाभी ने बोला- आज घर पर कोई नहीं है … और तुम एक घंटे बाद आज ही आ जाओ.

पता नहीं वो कौन सा पल था, कौन सी शै ने जादू कर दिया था मुझ पर कि मैं बस उसे देखता ही रहा.

अंजलि के मुँह से तेज़ आवाजें निकल रही थीं और हम दोनों एक साथ ही झड़ गए। हमने बाथरूम में जाकर खुद को साफ किया और फिर चादर भी धोयी. कोई दस मिनट तक माया दीदी ने लंड की सवारी गांठी और लंड से उतर एक तरफ लेट गईं. उससे कैसे मेरा टांका फिट हो गया?मेरा नाम विक्की है। मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ.

मोतीझील के किनारे घूमते हुए मैंने सोनम से किस करने को कहा, तो उसने मना कर दिया. ये सुनकर जेठानी जी बोलीं- ओके, रानी तुम आज भाग की ठंडाई बनाओ और भजिए पकौड़ा बना कर उनमें भी भांग डालो. इतने में उसने धीरे से लंड का टोपा अपने मुँह में ले लिया और ऐसे चाटने लगी जैसे आइसक्रीम चाट रही हो.

मैं बोली- आज कोई नहीं है क्या सर?वो बोले- नहीं, मैंने सबको घर भेज दिया और मैडम को स्कूल, आज मैं हम दोनों के बीच किसी को नहीं आने दूंगा.

आधे घंटे तक उन्होंने मेरी गांड की पिटाई की और बदन का कोई कोना बिना दर्द किये नहीं छोड़ा. सर बोले- देखो, तुम उस दिन जिस बारे में बात कर रहे थे वह इच्छा तुम्हारी पूरी हो सकती है. मगर इस समय जितेन्द्र या अशोक को अन्दर बुला कर चुदना कुछ गलत हो सकता था.

भाभी समझ गईं और बोलीं- मुझे तो सिर्फ आइसक्रीम खानी है … कुल्फी नहीं खानी है. मैंने उसे अपनी बांहों में लेकर एक बार चूमा और पलंग पर ले जाते हुए लिटा दिया. फिर तुम मेरी मलाई चाट लेना!कहकर वो मेरे पैरों की तरफ आया और उस गीली जगह पर अपनी जीभ लगा दी।मैं सनसना गयी, मेरा जिस्म अकड़ गया- क्या कर रहे हो रोहित?मेरी कांपती हुयी आवाज से शब्द निकल रहे थे.

भाभी बोलीं- सब तैयारी कर ली है जान … एकदम सफाचट पिच है … बस लंड की बैटिंग की जरूरत है.

अब चूंकि मुझे भी अपने जिस्म की आग सताने लगी थी और मैं अब किसी से भी अपने जिस्म को हाथ टच नहीं करने देती थी. लंड मोटा था तो उसकी कसी हुई चुत में दर्द होने लगा और उसकी तेज आवाज निकल गई.

कॉलेज की लड़कियों की बीएफ सेक्सी जिया मेम- तुमने कंपनी के लिए इतना कुछ किया है अब हमें भी तुम्हारे लिए कुछ तो करना पड़ेगा. जवान मर्द उर्फ जवांई बाबू उर्फ सुंदर एक तरफ रखे पैकेटों के पास आ गया.

कॉलेज की लड़कियों की बीएफ सेक्सी कुछ पन्द्रह मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना पूरा वीर्य आंटी की चुत में डाल दिया. मैंने उसे बांहों में खींच कर उसके होंठों को जोर से चूस डाला और उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसकी चूची मसल दी.

करीबन 10 मिनट तक मैंने भाभी की चूत को चाटा और वो तेज तेज हांफते हुए झड़ गयी.

raja सेक्सी फिल्म

वो सब क्या और कैसे हुआ था, मैं इस सेक्स कहानी में आपको सब बताती हूँ. सुषमा जी और मेरे पापा का राज मुझे बाद में मालूम हुआ था कि वे दोनों पहले ही मेरे जेठ, जेठानी और पति महोदय से चुदाई का खेल खेल चुके थे. कुछ देर तक उनकी दर्द भरी आहें और कराहें निकलीं … फिर वो शांत हो गईं.

दिल तो कर रहा था कि चूतड़ों को खा जाऊं। चूतड़ों का बहुत अच्छे से मज़ा लेने के बाद मैंने मामी जी की गोरी चिकनी पीठ को एक बार फिर से चाटा और फिर मामी जी को पलट दिया।मामी जी को पलटते ही मामी जी अब वापस मेरे सामने आ चुकी थी। अब मामी जी के बाल खुल चुके थे। अब मुझसे सब्र नहीं हो पा रहा था. मीना मजा लेते हुए बोली- हितेश, आह तुमने आज मुझे लड़की से औरत बना दिया है … आंह … शादी के इतने दिनों के बाद आज पहली बार ऐसी चुदाई का मजा आया है. अलमारी से क्रीम की शीशी और कॉण्डोम का पैकेट निकाल कर मैं भी बेड पर आ गया.

फिर माया दीदी मेरे भाई का लंड चूसते हुए ऊपर आ गईं और वो राज के निप्पल चूसने लगीं.

जाह्नवी- मैं तेरे साथ चुदाई करूंगी लेकिन तुझे मेरे से शादी करनी होगी और अपनी पहली बीवी को तलाक देना होगा. उसके हाथ का स्पर्श इस समय मुझे बड़ा ही उत्तेजित करने जैसा लग रहा था. अब हम दोनों बिस्तर पर नंगे ही लेट गए और एक दूसरे के नंगे जिस्म को सहलाने लगे.

ऐसे में मैं आप लोगों से पूछना चाहती हूं कि मैं भला अपने आपको कब तक रोक कर रखती और कब तक अपने आप को शांत रख पाती?मैंने अपनी चूत की प्यास बुझाने के लिए बहुत दिमाग दौड़ाया. हमारे प्लान के हिसाब से रात को जब अमित शिखा की चूत चाट रहा होगा, तब मुझे उसके रूम में जाना था. उसकी स्थिति पर मुझे दया आती थी इसलिए मैं उसके साथ अच्छे से बात करता था.

जब मां ने अशोक को देखा और उसकी बात सुनी, तो वह समझ गईं कि मैं इसके लंड से पेली जाऊंगी. वो कुछ नहीं बोलती थीं क्योंकि मैं पहले उन्हें चोद चुका था और उन्हें भी ये सब अच्छा लगता था.

सुभाष ने कुछ नहीं कहा, तो मैंने धीरे से पूछा- पिछले महीने जब वो पांच दिन के लिये यहां थी, तो कितने लोगों ने उसके बदन से खेला था. अब उससे और बर्दाश्त नहीं हुआ और उसने अपना लंड निकाल कर मेरे मुंह में दिया। मैं लॉलीपॉप की तरह गपाक से उसका लंड मुंह में लेकर चूसने लगा. मैंने दीदी से कहा- ये लो आपका सामान तैयार है, इसको अब आप ही संभालो.

उन दिनों हमारे घर पर मामाजी और उनकी बेटी अंजलि (बदला हुआ नाम) आए हुए थे.

मैं बोला- साली रंडी, अभी भी तुझे चाचा की पड़ी है? इधर आ, मैं तेरी गांड की प्यास मिटाता हूं. मैंने पूछी- कैसे!वो बताने लगी कि लाइट ऑफ हो जाने के बाद कुछ नहीं दिखता है. यह कुवारी लड़की का सेक्स कहानी मेरे और मेरी मौसी की लड़की के बीच की है.

फिर होली का त्यौहार आया और खबर आई कि मेरी बड़ी ननद रिया पांडे मायके आ रही हैं. अगर सच कहूं तो मैंने एक बार जिया मेम को याद करके मुठ भी मारी थी जो कुछ दिन पहले की ही बात है.

फिर मैंने मौसी को अपने से दूर किया और उनकी पैंटी उतार कर उसे सूंघने लगी. अगर मेरे पति के हाथ में कोई मूवी लग गई तो?उन्होने कहा- हम इस बात का ख्याल रखेंगे कि ये फिल्में इस शहर में न बेची जायें. फिर मैंने अंजलि को अपनी बांहों में खींचा, तो उसने बिल्कुल भी विरोध नहीं किया.

हिंदी में ब्लू फिल्म भेजो सेक्सी

उधर मम्मी अपनी जान पहचान वाली औरतों से बातें करने लगीं और मैं बोर होने लगा कि कहां फंस गया.

अपना हाथ मौसी की चूची पर रखते हुए मैंने कहा- तुमने कई बार कहा कि तुमको मुझमें पापा की छवि दिखती है, लो आज महसूस भी कर लो. फिर एक ने अपना लंड निकाल कर नानी की गांड में पेल दिया और नानी की गान मारने लगा. 15 मिनट तक मां की चूत में तेज तेज धक्के लगाने के बाद वो उसकी चूत में ही माल गिराकर मां के ऊपर लेट गये.

मैंने अल्पना की जींस के बटन खोल दिए और पैंटी के साथ नीचे खींचते हुए उसे पूरी नंगी कर दिया. मैंने उसकी पीठ को सहलाते हुए अपने लंड पर उसके गरम पानी को महसूस करने लगा. सेक्सी आंटी के फोटोउसने भी मेरे पूरे कपड़े निकाल दिए और वो कामातुर होकर मेरे पूरे शरीर पर चुंबन करने लगी.

फिर वो मुझे घर छोड़ गया और कहा कि अगले दिन वो मुझे फैक्ट्री ले जाएगा।अगले दिन नौ बजे वो मुझे लेने आ गया और मैं उसके साथ फैक्ट्री के लिए निकल गई। हम फैक्ट्री पहुँच गए। काफी बड़ी फैक्ट्री थी। उसने मुझे फैक्ट्री में घुमाया. मामी के जिस्म की गर्मी लगातार बढ़ रही थी और उसके हाथ मेरे लंड को ढूंढने लगे थे.

मां की गांड मरने के बाद अशोक बोला- शालिनी भाभी मेरी जान … तुम्हारी चौड़ी गांड मुझे बहुत पसंद आ गई है. मामी की चूत से चू रहा पानी इस बात का सबूत था कि उनको अपनी चूचियों को दबवाने में कितना आनंद आ रहा है. मैं अपने आप को समझा नहीं पा रही थी कि मैं आखिर ये किस राह पर आ गयी हूं.

अब तक दो बज गए थे … तो एक एक बियर और सिगरेट पी कर हम दोनों अलग अलग हो गए. जेठानी जी तो बेशर्म हो कर अपने की (घुटनों) पर आ गईं और अपने फेस को ननदोई (दीपक) के लंड के पास ले जाकर बोलीं- इसको तो मैं कच्चा ही चबा जाऊंगी. कसम से दिखने में अनु बहुत सुंदर थी और उसका बदन भी मस्त था। उसके चूचे बड़े मस्त थे.

इस बार तो मोहित अंकल ने कंडोम भी नहीं लगाया था और बीस मिनट तक मेरी गांड मारने के बाद अपना सारा माल मेरी गांड में डाल दिया.

कुछ सोचकर डर भी लगता है, लेकिन जो होना होता है … वह मेरी ज़िंदगी में अचानक ही हो जाता है. और आपको चोदकर किनारे हो जाते हैं।हाँ तो? इससे ज्यादा और क्या चाहिये?” मैंने बनते हुए कहा.

फिर ये घटना होने के बाद में उसने मुझे कई दिन बाद बताया भी था कि उसको सच में पहली रात को कितना मजा आ रहा था. उसने अपने हाथ से वो मुठ उठा कर मुझे चटवाया।वो बोला- मेरा लन्ड साफ कर।मैं उसको साफ करने लगा। पूरा अच्छे से साफ किया मैंने उसका लंड।जब मैंने साफ कर दिया तो वो बोला- अब लंड को मुंह में लेकर चूस. वो बोली- कहां मिलोगे?मैंने कहा- आप ही बताओ?वो बोली- वर्ल्ड ट्रेड पार्क में मिलेंगे.

मम्मी- आह … चोद दे मादरचोद अपनी मां को चोद दे … बड़ी खुजली थी न … चोद भोसड़ी के … जिस चुत से निकले हो … उसी चुत को चोद मादरचोद. कुछ देर में मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया और वो किसी रंडी की तरह पूरा पानी पी गयी. अंजलि चिल्लाने लगी तो मैंने अपने होंठों से अंजलि के होंठों को दबा दिया और किस करने लगा.

कॉलेज की लड़कियों की बीएफ सेक्सी मेरी चूत को अपने वीर्य से भर दे मेरे लाल।मौसी की बातें इतनी कामुक थीं कि मैं उसके बाद पल भर भी अपने वीर्य के वेग को रोक नहीं पाया और मैंने मौसी की चूचियों को जोर से भींच कर उनके ऊपर लेटते हुए अपने लंड को उसकी चूत में पूरा ठूंस दिया. मैसेज आने के बाद ही उनको मैंने ओके कहा और फिर दस मिनट बाद उनके पास पहुंचने का वादा किया.

इंग्लिश भाषा में सेक्सी वीडियो

वो मुझे वीडियो कॉल पर नंगी होकर अपनी चुत दिखाती और मैं उसे अपने लंड से ठंडा करने की कोशिश करता रहता. अब तुझे भी चुदाई का मजा आएगा।फिर मैंने अपनी चूत साफ की और फिर हम दोनों सो गए।सुबह उठने पर देखा तो मेरी चूत किसी गोलगप्पे की तरह सूज गई थी और बहुत तेज दर्द हो रहा था। चलने में भी बहुत दर्द हो रहा था।रूपा चोरी छिपे मेरे लिए गर्म पानी लाई और मैंने अपनी चूत की सिकाई की। शाम तक मेरा दर्द और सूजन खत्म हो गया था। उस रात हम दोनों पवन और मोहित से मिलने नहीं गए. वो जोर जोर से सिसकारने लगी- आह्हह … विजय, मेरी चूत … आह्ह … चोद दे इसको बेटा … आह्ह ये चूत बहुत प्यासी है.

वर्जिन Xxx कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने पड़ोस की एक जवान लड़की की बुर में उंगली करती की वीडियो बना ली. इधर मैं आपको बता दूं कि हमारी लाइब्रेरी में ज्यादातर समय कोई नहीं रहता है. गुरु फिल्म सेक्सीउसने पूरा सर्कस देखा और हैरानी से बोला- ये सब क्या हो रहा है?रवि को अभी भी भांग का फुल नशा था, तो रिया दी बोलीं- भाई तू देख, मेरे पति और इन दोनों रंडी भाभियों ने तेरी बहन स्नेहा की इज़्ज़त लूट ली है.

अचानक उसने कहा- हां हां … मार बहनचोद और मार मेरी।बस अब तो मेरे ऊपर एक जुनून सवार हो गया था और मैंने बहुत सख्त धक्के मारने शुरू कर दिए। ये खेल करीब 15 मिनट तक चला और फिर वही हुआ.

उसने अपने लंड को चूत पर सैट करके एक झटका मारा, तो रानी की चीख निकल गई. मैंने कहा- किनको? हाथ से बताओ न!उसने मेरी आंखों में आंखें डालीं और बोली- हाथ की जगह मैं सीधे मुँह से पूछ लेती हूँ कि तुम मेरे बूब्स को ऐसे क्यों देख रहे हो?मुझे उसकी आंखों में वासना दिखाई दी और मैंने साफ़ साफ़ कह दिया- यार तेरे बूब्स सच में बहुत मस्त हैं.

मेरी न्यू सेक्स कहानी हिंदी पढ़ा कर मजा आया आपको?[emailprotected]न्यू सेक्स कहानी हिंदी में अगला भाग:कोरोना बाबा का प्रसाद- 3. एक सुबह उसका फोन आया कि आज मेरे परिवार के सभी लोग गाँव में किसी की डेथ होने के कारण गांव जा रहे हैं तो क्या तुम आज मेरे घर आ सकते हो?जवाब में तो मैं सिर्फ उसको ओके ही कह पाया. एक दिन मैंने देखा कि जब मैं बाइक पर बैठा हुआ था तो वो मुझे देख रही थी.

फिर जब हम शांत हुए तो मैंने पूछा कि मिलने के लिए कब आना है?उसने मिलने से मना कर दिया.

वो भाभी के सामने हाथ जोड़ते हुए बोली- सॉरी भाभी, किसी से कहना मत, आज बहुत मन कर रहा था इसलिए मैंने साधना को अपने घर बुला लिया था. उसने मेरी बेटी को सीधा लेटा दिया और मेरी बेटी की गांड में थूक लगाने लगा. मैं और आकाश सर आपस में एक दूसरे के साथ बातें कर रहे थे कि इतने में ही जिया मेम भी बाहर आ गयीं.

भाषा में बीएफउसने एक पीले रंग की जालीदार साड़ी पहनी हुई थी जिसका ब्लाउज काफी डीप गले का था. इस इंडियन चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैं अपने बॉयफ्रेंड से चूत चुदवाने के बाद भी प्यासी थी.

सेक्सी व्हिडीओ एचडी सेक्स

मैं- हां साली रंडी तुझे नंगी करके रोड पर सबके सामने चोदूंगा साली मादरचोद भोसड़ी वाली. मेरे चूचों के निप्पलों को उंगली से सहला रहा था।मैंने अब लंड को बाहर से चाटना छोड़ कर मुँह में भर लिया और ज़ोर-ज़ोर से उसके लंड से अपने मुंह को खुद ही चुदवाने लगी. ऐश्वर्या- डैड क्या हुआ?ससुर- उस रात हम दोनों के बीच जो हुआ था ऐश्वर्या, उसको भुलाना मुश्किल है.

एक दिन वो मेरे घर आयी और मुझसे बोली- अंजलि, तेरी बेटी जारा करती क्या है … इतने सेक्सी कपड़े और खूब पैसे वाली कैसे हो गई?तब मैं गर्व से बोली- अरे वो जॉब करने लगी है. मगर वो शायद मुझसे कुछ आकर्षित थी इसलिए मुझे दिखाने के लिए वो अपने मोबाइल लेने नीचे चली गयी. ये आवाज बगल के कमरे में सो रही उसकी परिवार और चाची तक ना पहुंच पाए, इसलिए मैंने उसके मुँह को जोर से दबा दिया और लंड हिलाने लगा.

कोई आधे घंटे तक गांड मारने के बाद मैंने अपना सारा वीर्य उसकी गांड में डाल दिया. मैं- साली मादरचोद रंडी … सिर्फ लंड को चुसेगी या इससे चुदेगी भी सुहागरात में?नेहा- आपकी रंडी बीवी तैयार है चुदवाने के लिए. अब जिगर ने बेड पर मेरी बेटी को सीधा लेटा दिया और चूत में लंड सैट करके उसे चोदने लगा.

मुझे मेरी असली मां का तो याद नहीं क्योंकि मैं उस वक्त बहुत ही ज्यादा छोटा था. उसने बोला- वो कैसे?मैंने बोला- इनको मसलने से, चूसने से और गांड मरवाने से सबके दूध बड़े हो जाते हैं.

मेरे पति भी ऐसी जॉब करते हैं कि कई बार तो 15 दिन तक भी बाहर ही रहते हैं.

मगर अभी भी लंड जब अंदर तक जाता तो मेरी जान निकल जाती।अब कुछ कुछ मुझे अच्छा लगने लगा और मैं अपने बदन को ढीला छोड़ने लगी थी. सेक्स बीएफ व्हिडिओ मराठीमैंने उसकी टांगों को अपने मुँह की तरफ खींचा और तकिया लगा कर अधलेटा सा हो गया. बीएफ सेक्सी बीएफ फिल्मउसने पहले तो मना कर दिया, मगर फिर उसने मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसना चालू कर दिया।कुछ देर लंड चूसने के बाद वो बोली- बस करो … मेरी जलती हुई भट्टी के बारे में भी तो सोचो. मेरी बेटी की गांड में कुछ समय पहले ही शमशेर का मोटा लंड घुस चुका था इसलिए उसकी गांड का मुँह खुला हुआ था.

मेरी नजरों में दीदी की चिकनी कमर के बाद उनके तने हुए मम्मे ही घूम रहे थे.

मेरे चाचू भी पूरे नंगे थे और मां की टांगों को दोनों तरफ फैला कर उनकी चूत को चाट रहे थे. आज वो बोलीं- तुम मुझे परेशान क्यों कर रहे हो?मैं- मुझे बस आप चोदने दो. वो भी उसकी सास की मदद से! मैंने अपने दोस्त की बीवी को कैसे चोदा?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम हितेश है और मैं गुजरात से हूँ.

मैंने धीरे से भाभी के हाथ को अपने तने हुए लंड पर टच करवा दिया तो भाभी के होंठ खुल गये. मैंने माया दीदी से पूछा, तो वो बोलीं- रिया बहुत नकचड़ी है … और चुदाई में खुली नहीं है. फिर बोली- आज तो होली है, आज तो देर मत करो?इतना सुनते ही चाचा ने मां की गांड में लंड को रगड़ना शुरू कर दिया.

भीनमाल की सेक्सी

कुछ देर बाद जब वह नार्मल हुई, तो सुनीता भाभी ने अपनी गांड उठाकर मुझे जवाब दिया. कुछ देर बाद जीतेन्द्र ने मां को चोदकर अपना पानी उनकी ही बुर में गिरा दिया. उधर मम्मी अपनी जान पहचान वाली औरतों से बातें करने लगीं और मैं बोर होने लगा कि कहां फंस गया.

उसके बाद मैंने चाय तैयार की और हम दोनों बेड पर बैठ कर चाय पीने लगे.

किताबों में बहुत लौड़े देखे थे लेकिन असल जिन्दगी में ये पहला मौका था जब लंड को मैं नंगा अपनी आंखों के सामने देखने वाली थी.

सनी ने अब अल्पना की टांगें खोलीं और उसकी चुत की फांकों पर लंड घिसना शुरू कर दिया. कभी उसकी गांड को भींच देता था और कभी उसको किसी कोने में खींच कर उसके होंठों को चूस लेता था. बीएफ एचडी वीडियो सेक्सी हिंदी मेंशुरू से ही इसे मेरी वासना कहें या इच्छा कि मुझे स्टूडेंट लाइफ से ही बड़ी उम्र की औरतें काफी आकर्षक लगती रही हैं.

अब इतने लम्बे चौड़े हब्शी से चुदवाने के लिए दारू का सहारा तो जरूरी था ही. वैसे भी अब तक उनकी चुत में कई लंड जा चुके थे तो उन्हें लंड लेने की आदत हो चुकी थी. फिर जेठ जी ने माया दीदी के सिर को राज के लंड पर दबाते हुए बोला- बहुत अच्छा … लंड मस्त चूसती हो यार.

कुछ देर तक उनमें फिर से किसिंग हुई … फिर दोनों ने कपड़े पहनना चालू कर दिए. नशे में पता नहीं चला कि कब मेरी कमर झटके देने लगी।कविता की हरकतों से लग रहा था मुझे … कि उसने पहले भी कुछ किया हुआ है।उसने मुझे ऊपर से हटने का इशारा किया.

इस बार मुझे डिल्डो से दर्द हो रहा था और दर्द के कारण साथ ही मुझे मोहित अंकल के लंड चूसे जाने के कारण भी अजीब लग रहा था.

आप मुझे पहले क्यूं नहीं मिली?तो मैंने चूत का रस लगे उसके होंठों को अपने होंठों से लगा दिए और उसको किस करने लगी. कमरे में आकर हम दोनों ने कपड़ों को निकाल दिया और उसने मुझे एक गिलास दूध पकड़ा दिया. मैंने बनते हुए भाभी से पूछा- भाभी जी, ये दोनों लड़कियाँ कौन हैं?भाभी ने बताया- ये मेरी बुआ सास की लड़की पारुल है और यह पारुल की सहेली साधना है.

बीएफ सटका मटका उसकी गांड भी इतनी मस्त उठी हुई थी कि बस ये लगता था कि इसको औंधा करके गांड में लंड पेल दिया जाए. उसके बाद मैंने कैसे उनको अपना लंड चुसवाया?दोस्तो, मेरी न्यू कामुकता कहानी फ्री के पिछले भागशादी में मिली प्यासी भाभी से प्यार और चुदाई- 1में आपने पढ़ा कि मैं एक शादी में मिली अनजान भाभी की चुत चाटने का मजा ले चुका था और उन्होंने मेरे मुँह पर पेशाब भी कर दी थी, जिसे मैं मजे से पी गया था.

रात को किसी वक्त दीदी ने मुझे जगा कर बिस्तर पर सो जाने के लिए कहा और वो अपने कमरे में चली गईं. फिर मैंने उसको कुतिया बना दिया और उसकी चूत में अपने लंड को डालने लगा. मगर शर्म के मारे मैं अंकल से कुछ बोल नहीं पा रही थी।दोस्तो, मेरी चूत की पहली चुदाई की आंतरवासना सेक्स कहानी का अंतिम भाग अभी बाकी है.

सेक्सी पिक्चर दिखाईये वीडियो

फिर मैं अपना लंड उसकी चूत के छेद पर रख कर धीरे-धीरे अपने लंड को उसकी चूत में डालने की कोशिश करने लगा. कोई पांच मिनट तक एक दूसरे की चुत चुसाई का मजा लेने के बाद अल्पना सीत्कार भरने लगी. 10 मिनट बाद मैंने पूछा- अब मै जाऊं?एक ने मुझे देखा और कहा- इतनी जल्दी! दिमाग खराब है क्या तेरा? अभी तो कार्यक्रम चालू हुआ है, अभी हम लोग एक राउंड और मारेंगे.

दस मिनट बाद जैसे ही मैंने लंड बाहर निकाला, भाभी ने जोर से पाद दिया. मुझे पूरा नंगा कर दिया और मेरे 7 इंची हथियार को हाथ में भर कर फील करने लगी.

तभी उन्होंने अपनी चूत का रस मेरे मुँह में भर दिया, जिसे मैं पूरा पी गया.

उजमा ने मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया और मैंने उसकी रस से भर चुकी चूत को चूसना चालू कर दिया. एक मिनट से भी कम समय में उसके मुँह से आंह उन्ह … की आवाज आने लगी और वो हल्के हल्के से बोलने लगी- आंह मेरी जान आदी … चाट लो मेरे राजा … अच्छे से चाट लो … आह शांत कर दे इस बुर को … साली बहुत तड़पाती है … आज मेरी इस कुंवारी बुर को अपने लंड का मज़ा दे दो जानू. मैं उसकी एक चूची को चूस ही रहा था, तभी उसने इशारे से मुझे दूसरी वाली चूची को चूसने के लिए बोला.

मैंने पूछा- ये चाय का कप किसके लिए?दीदी ने कहा- बाहर मेरे देवर के लिए. लोकेश अब चुपचाप चला गया। फिर कुछ देर बाद मैं भी वहाँ से अपनी सहेली के घर चली गई और रात को भी वहीं रुकी। उस दिन के बाद लोकेश कभी मेरे रास्ते में नहीं आया और ना ही मुझसे नज़र मिलाई।दोस्तो, ये थी मेरी एक और स्टोरी जो मेरे साथ उस वक्त हुई थी जब मुझे लड़कों की ओर बहुत ज्यादा आकर्षण था. ऐश्वर्या- मॉम को पता चल गया तो प्रॉब्लम हो जाएगी डैड!ससुर- डोन्ट वरी … उसको मैंने नींद की गोली दी है.

भाभी समझ गईं और बोलीं- मुझे तो सिर्फ आइसक्रीम खानी है … कुल्फी नहीं खानी है.

कॉलेज की लड़कियों की बीएफ सेक्सी: मैंने अपनी जींस और शर्ट को निकाला और उसके मम्मों को चूसना शुरू कर दिया. कितने सालों के बाद ससुर सेक्स का मजा ले रहे थे, लेकिन सात मिनट में ही वो अपनी बहू की चुत में झड़ गए.

रात को उसे पेशाब लगी तो वो बोला कि दीदी मेरे साथ चलो बाथरूम तक।मैं उसको बाथरूम तक लेकर गयी. मैं बोला- ओके रानी तुम तैयार रहो … आज तीनों छेदों का रास्ता साफ कर दूँगा. इस बार मुझे डिल्डो से दर्द हो रहा था और दर्द के कारण साथ ही मुझे मोहित अंकल के लंड चूसे जाने के कारण भी अजीब लग रहा था.

फेमिली सेक्स स्टोरी हिंदी में पढ़ें कि दो भाभी, दो ननद, तीन भाई, साला सहेली, सहेली का भाई, समधी, समधन ने मिल कर होली वाले दिन क्या सेक्स भरा हुड़दंग मचाया.

अपने लंड पर कॉन्डोम लगाकर मैंने लंड को उसकी चूत पर रख दिया और धीरे से दबाव डाला. बनावट में खासकर मैं अपने स्तनों का जिक्र करूंगी क्योंकि सबसे पहले पुरूषों की नजर मेरे स्तनों पर ही जाती है. अगली बार शायद मैं खुद ही ये कोशिश करूंगी कि उन लोगों के साथ एक साथ दो लंड का मजा लेते हुए सैंडविच सेक्स भी करवा लूं.