भाभी की बीएफ हिंदी में

छवि स्रोत,छोटी छोटी लड़की सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

कॉलेज देसी सेक्सी: भाभी की बीएफ हिंदी में, हमारी बात ऐसे ही चलती रही और वो अपने हस्बैंड से ज्यादा टाइम मुझे देने लगी.

घोड़ा घोड़ी वाला सेक्सी बीएफ

ऐसे करते हुए काफी देर हो गई थी लेकिन शिल्पा कमरे में थी, तो मैं पूरा खुल कर नहीं कर पा रहा था. बीएफ फिल्म दे दो हिंदी मेंमैं तो हैरान और परेशान!बहाना तो पूजा दीदी ने अच्छा बनाया था मगर मैं भी कोई कच्चा खिलाड़ी नहीं था.

अब मेरे सामने तीनों लौंडियां बिना कुरता के बैठी थीं, जिसमें राधिका ने लाल रंग की ब्रा, दिशा ने प्रिन्टेड ब्लू कलर की ब्रा और सोनल ने एक जालीदार ब्लैक कलर की ब्रा पहनी हुई थी. हप्सी की बीएफ फिल्मथोड़ी देर के बाद नफीसा भाभी ने अपना पानी निकाल दिया और मैं अपने खड़े लंड को पेंट में सैट कर के वहाँ से नीचे आ गया.

इस बार वो मुझे अपनी बांहों में भरके हल्की हल्की आवाजें निकाल रही थीं और बीच बीच में बोल रही थीं कि पेट में नाभि के पास दर्द कर रहा है थोड़ा आराम से पेलो.भाभी की बीएफ हिंदी में: बिना बात किये सिर्फ इशारे पर चुदाई करना और रतिक्रीड़ा करना एक अलग ही अहसास देता है.

ऐसे ही 15 मिनट चोदने के बाद वो नीचे लेट गए और अब उनके लौड़े को मजा देने की मेरी बारी आ गई थी.एक दो जगह से चूची को काट भी लिया जिसका निशान अभी भी पड़ा हुआ है मेरी चूची पर.

साउथ की हीरोइनों की सेक्सी बीएफ - भाभी की बीएफ हिंदी में

आप मुझे आपको हर रोज नहाते हुए देखते हैं, फिर मेरी पैन्टी में न जाने आप क्या कर देते हो.बस एक दूसरे से जोर से लिपट गए और एक दूसरे की धड़कनों को महसूस करने लगे.

जैसे ही वीणा ने अंदर रीना को इस तरह बिना कपड़ों के नंगी पड़े हुए देखा तो उसकी धीरे से हंसी छूट गई।इस पर मैंने उसे आंखें दिखा कर डांटा और इशारे से कहा कि वह चुप रहे।जब विक्रम को देखा तो मैंने पाया कि विक्रम तो बड़े ही ध्यान से रीना को घूर रहा है। उसका हाथ अनायास ही उसके लंड पर चला गया और वह अपने लंड को अपनी पैंट के ऊपर से ही सहलाने लगा. भाभी की बीएफ हिंदी में इस कहानी को मैं अपने पाठक की जुबानी ही आप सबके साथ साझा कर रहा हूं.

मेरे घर के पास ही खुला मैदान है उसके आगे जंगल शुरू हो जाता है तो मोर्निंग वाक् पर जाने वाले लोग मेरे दरवाजे के सामने से ही होकर गुजरते हैं.

भाभी की बीएफ हिंदी में?

उसे उठाने के लिये मैंने उसकी साड़ी को पकड़ा तो वह भी खुल गयी और वह सिर्फ पेटीकोट में ही रह गयी. फिर थोड़ी देर बाद रोहन ने अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया और एलेक्स का लंड फिर से मेरे हाथ में आ गया था!काफी देर तक चुसाई होने के बाद एलेक्स ने मुझे घोड़ी बना दिया और अपना लंड मेरी चूत में डालने लगा. मैं स्पीड से उसे चोदता रहा और सारे रूम में फच फच फच की आवाजें गूंजती रहीं.

वो तो मैं अपने अंडरगारमेंट्स पर तेरे स्पर्म के निशानों से ही समझ गई थी … और बाकी तूने दो तीन बार मुझसे शादी की बात खुद बोल भी दी थी. अभी 5-10 धक्के उसने और मारे कि उस झनझनाहट की लहर मेरी नाभि से उतरता हुआ योनि तक चला गया. फिर मैंने वापस अपने रूम पर आकर छोटू उठाया और उससे कहा- भाई उठ जा और कुछ पढ़ ले.

मतलब अगर आपके नजरिए से बोलूं, तो उनमें हॉट जैसा कुछ नहीं था, परंतु मुझे तो अपना काम करना था. उस दिन हम दोनों ने काफी देर तक बात की और उसी बीच अंजलि ने मुझे खाना खाने का कहा. कुंवारी भाभी की कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा था कि मुझे अपने ऊपर झुका देख कर मेरी इस हरकत का एहसास तो भाभी को भी हो गया था, पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं थी, तो मैंने भी मौके का फायदा उठाकर अपना एक हाथ उनके उभरे हुए वक्ष पर रख दिया.

इस बीच धीरे-धीरे दूर होने के कारण हमारे बीच दूरियां बढ़ती गईं और वो वहीं लोकल में और किसी लड़के के साथ सैट हो गई, जिसका मुझे बाद में पता चला. देसी सेक्सी गर्ल चुदाई कहानी मेरे घर के सामने आयी एक लड़की से दोस्ती करके उसके साथ सेक्स की है.

मैंने लंड को चुत के मुँह पर लगाया और पूरा लंड एक बार में ही चुत के अन्दर कर दिया और धक्के लगाने लगा.

अब मैं धीरे धीरे धक्के मारते हुए लंड चुत में अन्दर बाहर करने लगा और दोनों हाथों से दोनों मम्मों को दबाने लगा, मसलने लगा.

मैं बाजुओं के सहारे झूले पर बैठ गया और उसका निचला होंठ चूसने लगा, दुल्हन की चुत ढीली होने लगी. रितेश ने मीरा से पूछा- अब आपकी तबीयत कैसी है?मीरा ने जानबूझ कर कहा कि वो कपड़े बदलने के लिए उठी थी, लेकिन दर्द की वजह से लड़खड़ा कर गिर गयी थी. मैंने कहा- शिल्पा ने देख लिया तो?निशा बोली- उसकी फिक्र मत करो और मुझे प्यार करो, जितना कर सकते हो.

अबकी बार वो पहले से ज़्यादा ज़ोर से चीखी पर मेरा मुँह होने के कारण उसकी चीख दबी रह गई. जब हम दोनों ने अपने कपड़े पहन लिये तो हमने एक दूसरे को फिर से बांहों में भर लिया और एक लंबा चुम्बन एक दूसरे के होंठों पर किया. फिर भी मैं बेचैन ही हो रहा था तो सौम्या ने बोला- अंकित, चल नीचे आ जा, दोनों यहां नीचे चादर बिछा कर सो जाएंगे.

मैं यहीं हूँ … कहीं भागी नहीं जा रही, तेरी ही रंडी हूँ साले … आज तेरा जितना मन करे, चोद लेना.

कुछ देर के बाद सुषी नॉर्मल हो गई और उसने मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरे अंडरवियर पर किस करने लगी. इतना कहकर उसने अपनी कुर्सी मेज से और सटायी और अपनी साड़ी को ऊपर करके अपनी उंगली चूत में डाली और निकालकर मेरे मुँह में डाल दी. हम दोनों ने इस पूरी चुदाई के दौरान पोजीशन बदल-बदल कर सेक्स का मजा लिया था.

तभी मुझे अचानक से किसी के आने की आहट हुई तो मैं उधर से हट गया और बाहर आ गया. एक बार फिर मौसी ने मेरा हाथ और पैर अपने पर से हटा दिया, लेकिन इस बार मौसी ने पहली बार के जैसे झटका नहीं. लेकिन मम्मा ने मुझे प्यार से झिड़कते हुए कहा- अच्छा बेटा, अपनी मम्मा को मक्खन लगा रहा है.

उन्होंने मुझे उस पलंग पर नंगी लिटा दिया, जिस पर पापा मम्मी सोते थे.

वसुन्धरा की जिद, वसुन्धरा का मान, वसुन्धरा का नारीत्व, वसुन्धरा का प्यार … ये सब पूर्णता को प्राप्त होने को थे और वसुन्धरा चौदह साल के जमे हुए काल-खण्ड की क़ैद से से बस … बाहर निकलने को ही थी. मैं अपने शौहर के साथ सही से बात नहीं करती क्योंकि उसने मुझे कभी ऐसा एहसास ही नहीं दिया.

भाभी की बीएफ हिंदी में मैंने कस कस के झटके दिए और मेरे लंड का एक एक बूंद वीर्य मैंने दिलिया की चूत के अन्दर भर दिया. चुदाई के सुहाने सफर की सच्ची घटना आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज़ डॉट कॉम पर पढ रहे हैं.

भाभी की बीएफ हिंदी में शारदा चाची – मैं गई … गई … गईई राजा … ओह बुर चोदू … देख मेरी बुर … पी मेरे पानी को, हाय पी जा इसे! ओह पी जा मेरी बुर से निकले रस को … सीईईई … भाई मेरे. आज भी मैंने अपने लंड की मुट्ठ मारनी पड़ी और सो गया। फिर जब तक 2-3 दिन वह घर पर रही तो यही सब चलता रहा पर इससे आगे कुछ नहीं हो पाया.

आज तक मेरी गांड में लंड नहीं गया था, मेरी गांड अभी तक कुंवारी ही थी इसलिए मेरा दर्द और ज्यादा हो गया.

बिहारी सेक्सी वीडियो बीएफ सेक्सी

दस मिनट की लगातार चुदाई के बाद मैं उसकी चुत से हट गया और अब स्नेहा को चुदाई के तैयार किया. मेरी योनि से मुझे लगा कुछ तेज़ पिचकारी सी छूटने को है और मेरा बदन मेरे बस में नहीं रहा. उसकी चूत का पूरा आकार बनावट पैंटी के ऊपर से ही साफ़ नजर आ रही थी क्योंकि पैंटी चूत से चिपकी पड़ी थी.

दूसरा हाथ उसके सर पर रखा और उसके चेहरे को अपने चेहरे के पास ले आया. नम्रता- यार, जिस तरह बी एफ मूवी में या अन्तर्वासना कहानी में मर्द-औरत करते हैं … वैसे ही मैं भी चाहती हूँ. वैसे तो पापा शराब नहीं पीते थे मगर उनके दिमाग को शांत करने के लिए वह आज पी रहे थे.

क्यों अपने आपको तकलीफ़ दे रही हो?मेरा लंड मसलते हुए नफीसा कह रही थी कि जुल्फी मैं यह नहीं कर सकती.

मैंने ऐसा थोड़ी ही देर ही किया था कि कल्पना भाभी अपना सर इधर उधर झटकने लगीं. पेट पर रखने के बाद भी उसने कोई हलचल नहीं की तो मैंने अपना हाथ धीरे-धीरे उसके फिगर पर ले जाकर हल्के-हल्के से उसके बदन को दबाने लगा. मैंने उसकी तरफ देखा तो मेरे हाथ में नई घड़ी देख कर बोली- बहुत अच्छा गिफ्ट है, तू बहुत लकी है बंध्या.

इस बार जब मैं गांव आया था, तो मुझे पूरे 4 साल बाद गांव आने का मौका मिला था. मैं भी तैयार हो गया और फिर हम मम्मी को लिविंगरूम में छोड़कर बाथरूम में आ गए।हम दोनों बिल्कुल नंगे खड़े होकर शॉवर के नीचे नहा रहे थे और मम्मी की पैंटी को सूंघ और अपने लण्ड पर रगड़ रहे थे।मेरी कहानी आप लोगों को पसंद आई या नहीं … मुझे जरूर बतायें, उसी के बाद आगे की कहानी को जारी करूँगा। मुझे मेल करने के लिए और इंस्टाग्राम पर जोड़ने के लिए बिल्कुल भी संकोच ना करें।[emailprotected]Insta/weekendlust_tales. मैंने सोनम को थैंक्स कहा और उस पल से इतनी खुश हो गई कि मेरी रात करवट बदलते सपनों में खोए हुए गुजर गईं.

थोड़ा दर्द तो हुआ मगर बढ़ते हुए धक्कों के साथ जल्दी ही मजा भी आने लगा. मैं पिंकी को घर भेजकर सारा पेपर अकेले में करना चाहती थी लेकिन तभी सर ने मुझे मेरी सहेली पिंकी के साथ देख लिया और सर की परमिशन के बाद मैंने पिंकी को भी पेपर पूरा करने के लिए मना लिया.

अगर उसको मेरी गांड चाटने का दिल भी करता था तो मैं कभी पीछे नहीं हटता था. पिंकी फिर से गर्मा गई थी और वो अपनी मदभरी आवाजों के अलावा और कोई आवाज ही नहीं निकाल रही थी- आहहा अहहाहा आआह चोदो … जीजू ज़ोर से चोद दो!उन दोनों की चुदाई को 35 मिनट हो चुके थे, अब अमर झड़ने को आ गया था. नितिन और नीतू, तुम दोनों पहली बार मेरे घर आए हो, मैं बहुत खुश हूं और उतना ही दुखी भी.

हालांकि रिम्पी इस बात से अनजान थी कि मैं उसके भाई कुलीन से बात करती हूँ.

बस आज थोड़ा दर्द होगा फिर तुम इसे छोड़ोगी नहीं!मैंने अपने हाथों से गुलाबो का मुंह खोला और अपना लंड गुलाबो के मुंह में दे दिया. मैं भी तो कब से बेकरार हूँ आपको अपनी बांहों में लेकर आपके जिस्म के एक-एक अंग का रस चूसने के लिये, आपके जिस्म के अन्दर समा जाने के लिये. अगले दिन हमारी आंखें मिलीं तो इस बार इन आंखों में एक अलग सा ही अहसास था.

ये सीन देखकर वो दोनों ही एकदम से गर्म हो रही थीं और मैं भी अपना होश खो रहा था. मेरा ब्वॉयफ्रेंड आजकल बाहर चला गया है, वर्ना मुझे तो उसके साथ ही मजा मिलता रहता था.

कुछ मिनट तक मैंने जागृति मेम की चुत को रगड़ा और साथ में उन्हें किस भी करता रहा. अभी तुझे तो बंध्या पटका ही था और सिर्फ चढ़ा था … कुछ कर नहीं पाया और मेरे तो अन्दर डाल के थोड़ी देर अन्दर बाहर भी किया, पर कोई बात नहीं … हो गया चलता है ये सब. ऊषा के साथ हुई घटना को केंद्र बनाकर मैंने अपने पति को मामी के सामने नंगा करवा दिया और मामी ने भी इसमें मेरा पूरा साथ दिया.

बीएफ सेक्सी करीना

अगले दिन मैं फिर मैंने जैसे ही अंकल जी को आते देखा और मैं अपने घर के सामने सिर झुका कर किसी अपराधी की भांति समर्पण की मुद्रा में खड़ी हो गयी और अपना दुपट्टा अपनी उँगलियों में लपेटने लगी.

उसने अपने हाथ से लंड को चूत पर सैट किया और मुझे आंखों से इशारा किया. इस पर सारा ने कहा- क्यों मेरे रहते तुम्हारा लंड खड़ा नहीं होगा क्या? दो-दो को देख़ कर गांड फ़ट गई, या दोनों को एक साथ झेलने की हिम्मत नहीं है?मैंने कहा- मेरा लंड तो कमरे में घुसने से पहले ही खड़ा हो गया था, परन्तु क्या तुम्हारे सामने तुम्हारी बहन का मन कुछ करने को करेगा? और रही बात दोनों को झेलने की, तो रात भर दोनों को इतना चोदूँगा कि दोनों की दोनों सुबह उठने लायक नहीं रहोगी. जबसे मैंने उसकी गांड का उद्घाटन किया है, तब से तो उसे अपनी गांड मेरे लंड से चुदवाना भी बहुत पसंद हो गया है.

इसके साथ साथ जो पाठक हैं उन्हें खुद ब खुद आभास हो जाता है कि कहानी सच है या झूठ. मेरे सामने अंजलि अपनी टांगें खोल कर ऐसे पड़ी थी जैसे उसे मेरे लंड का इंतजार हो. एक्स एन एक्स एक्स बीएफ मूवीभाईदूज वाले दिन लंड के सुपारे पर तिलक करवा कर वो मेरी चूत पेलता था और कहा करता था- देख ले साला यह लंड पूरा बहनचोद है.

अबकी बार मैं अपनी गांड को ऊपर उठाकर उसका पूरा लण्ड अंदर लेने के लिए तैयार बैठी थी. शाम 4 बजे हम निकले 8 बजे तक हम दोनों ने बहुत मजे से यात्रा का आनन्द लिया.

मैंने अपनी शर्ट उतारी और भाभी को अपने ऊपर खींच कर होंठों से होंठ लगा दिए. मैंने भी एक बार में अपना लंड बिना कंडोम के, उसकी गीली चुत में धकेल दिया. कुछ पल बाद मैं फिर से जोर जोर से उसकी चूत में उंगली करने लगा था, साथ ही मैंने एक हाथ से उसके मुँह को दबाया हुआ था.

मैंने अपने लंड को करीब आधा बाहर खींचकर अब एक जोर का धक्का और लगा दिया और अपने लंड को उसकी मखमली गहराई में जड़ तक ही उतार दिया जिससे मोनी जोरों के साथ चिहुंक गयी और अपने दोनों हाथों से उसने मेरी कमर को कस कर पकड़ लिया. वो पजामी मम्मा के शरीर के निचले हिस्से यानि उनकी गांड, उनकी जांघों और आगे उनकी चूत पर भी चिपकी हुई थी. तभी मैंने पूछा- शुभी बोर हो रही हो क्या?उसने कहा- जीजू आप तो लगे हुए थे.

उस कहानी में मैंने जरा सा झूठ लिखा है कि कमलेश सर पहले मर्द है, जिन्होंने मुझे छुआ था, जबकि सच यह है कि कमलेश सर से पहले मुझे सोनम की दीदी की शादी में झाड़ी के पीछे दो लड़कों ने जबरदस्ती छुआ, फिर उसी रात जहां मवेशी बंधते हैं, वहां वो सोनम के मामा जी छू चुके थे.

कुछ ही देर में उसके चेहरे पर कुछ अजीब से भाव आए और एकदम से वो ढीली पड़ने लगी. एक बार फिर मौसी ने मेरा हाथ और पैर अपने पर से हटा दिया, लेकिन इस बार मौसी ने पहली बार के जैसे झटका नहीं.

कई बार वो भी रंग और चहरे पर नहीं जा कर वो सिर्फ दिल को सुनते और देखते हैं. उसकी चूत एकदम चिकनी हो गई थी और लंड आराम से उसकी चूत में अन्दर बाहर हो रहा था. तो उसने मना कर दिया कि हट पगली इससे कुछ नहीं होता, फालतू हमारी ही बदनामी होगी … सब लोग हम दोनों पर हंसेंगे और घर से बाहर निकलना मुश्किल हो जाएगा.

उसकी चुत एकदम गीली हो गई थी और वो अब खुद की जीभ मेरे मुँह में घुसा कर मेरे किस का जवाब देने लगी थी. साथ ही अमर ने हाथ नीचे किया और पिंकी के पेटीकोट के नाड़े को खींच दिया. उसने कहा- हाँ, मेरी चूत का इलाज कर दो प्लीज!मैंने शिखा को सीधा लेटा दिया और उसकी गांड के नीचे तकिया लगा दिया.

भाभी की बीएफ हिंदी में कोई 15-20 मिनट चुम्मा चाटी और स्मूचिंग करने के बाद मैंने उनको लंड मुँह में लेने को बोला क्योंकि मैं उनको किसी भी सुख से वंचित नहीं रखना चाहता था. आह-आह करते हुए मैं खलास हो गया और नंगा ही मैंने दरवाजा खोल दिया और अपनी चड्डी पकड़ाते हुए कहा- लो जान ये मेरा माल तुम्हारे लिये है.

चीन बीएफ एचडी

फिर मैंने भाभी को उनके हाथ पकड़ कर बैठा दिया और अपने दोनों पैर उनकी कमर के दोनों तरफ करके बैठ गया. मेरे दिमाग में सबसे पहले चाचा का ही ख्याल आया कि वह रोहित को ढूंढने में मदद कर सकते हैं. वो मुस्करा कर कहने लगी कि उस वक्त मैं अपनी छोटी बहन को अपनी मदद को बुला लूंगी.

उस दिन रविवार था तो मेरी छुट्टी थी इसलिए मैं घर पर था और अकेले बोर हो रहा था. मैंने उसे चार सौ रूपए दे दिए और उसने मेरे हाथ में दवाइयों की पर्ची देते हुए कहा- मेडिकल स्टोर से ये दवाइयां ले लेना. मोटे लंड से चुदाई बीएफथोड़ी देर बाद वो मुझसे गले लगकर रोने लग गईं और उनको समझाते हुए मेरा भी गला भर आया.

फिर मैंने उसके होंठों को अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगा.

बहुत देर कर दी आज? मैं कब से इंतजार कर रही थी!” राशि ने नाटकीय गुस्से के साथ सवाल फेंका. जागृति मेम ने मुझे आकांक्षा के बारे में कुछ बातें बताईं और उससे दूर रहने का सलाह दी.

लगभग 5 मिनट तक एक दूसरे को चूसते रहने के बाद जब दोनों की सांसें चढ़ने लगीं, तब हम अलग हुए. कितना प्यार नाम है, तुम्हारी ही तरह प्यारा और खूबसूरत!” अंकल जी ने मेरी तारीफ़ की तो मैं गदगद हो गई. साथ ही अमर ने हाथ नीचे किया और पिंकी के पेटीकोट के नाड़े को खींच दिया.

कितना सुहावना मौसम था, हम दोनों भाग कर एक पेड़ के नीचे खड़े हो गए और मैंने वहां उसे गुलाब का फूल निकालकर प्रपोज कर दिया.

इससे पिंकी भाभी ने ‘आयह अहा आहाहाहा …’ करती हुई बेड की चादर को अपनी मुट्ठी में भर लिया और अपनी आंखें बंद करके चुदाई का मजा लेने लगी. मेरी छोटी बहन का नाम स्नेहा है वो 19 वर्ष की है, स्नेहा मुझसे दो साल छोटी है. उस दिन के बाद जब भी परी मेरे सामने आती तो मैं उसके चूचों के साथ-साथ उसके पूरे बदन को घूरने लगता.

सेक्स बीएफ एचडी फुलवलीमे की रात मैंने दोनों की गांड मारी और गांड चुदाई के बाद दोनों बीवियों की हालत ऐसी बिगड़ी कि सुबह उनको डॉक्टर के यहाँ दिखाना पड़ा और डॉक्टर ने 3 दिन चुदाई बंद का हुक्म सुना दिया. थोड़ी देर बाद जॉन झड़ गया और फिर एलेक्स वापस मेरी गांड की चुदाई करने के लिए आ गया और धक्के लगाने लगा.

कुत्ता जानवर की बीएफ

फिर उसने मुझे सीधा लेटा दिया और फिर अपना बड़ा लंड मेरी चुत में डाल के चोदने लगा. मैंने उसके कानों को भी चूमना शुरू कर दिया तो कुछ देर के बाद वो फिर से गर्म हो गई।मेरा लंड तो मेरी दुल्हन की चूत में पहले से ही था, फिर मैंने धीरे-धीरे धक्के लगाना शुरू किया तो पहले तो वो चिल्लाई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’लेकिन फिर कुछ देर के बाद मैंने पूछा- मज़ा आ रहा है?वो बोली- हाँ बहुत मज़ा आआआआ रहा है … हाईईईई … म्म्म्मम।मैं उसको चूमता रहा और उसके बूब्स सहलाता रहा. मैं- फिर से नीचे कहा?इस बार मैंने थोड़ा गुस्से का नाटक करते हुए अपना हाथ उनकी चूत से हटा लिया.

वैसे तो मैं पढ़ाई में भी बहुत अच्छा हूँ पर सेक्स के बारे में भी सब कुछ जानता हूँ. मैंने कहा- तो आज तुम दोनों का मन अपने भैया का प्यार पाने का है?स्नेहा मुझसे लिपट कर बोली- मैं तो कल ही आपका प्यार पाने कि बेचैन थी मगर आपने लिफ्ट ही नहीं दी. मैंने कहा- शिल्पा ने देख लिया तो?निशा बोली- उसकी फिक्र मत करो और मुझे प्यार करो, जितना कर सकते हो.

मैं ऐसे ही बिना कुछ करे कुछ पल के लिए रुक गया ताकि निशा शांत हो जाए. मैंने उसकी जांघों पर किस करते हुए उसकी क्लीन चूत को जैसे ही हाथ से मसला तो वो और जोर से सिसकारियां लेने लगी।मैं धीरे से उसकी चूत के दोनों फलकों को अलग करके अपनी जीभ को अंदर डाल कर उसकी चूत को जोर से चूसने लगा। मैं उसकी पूरी गीली हो चुकी चूत के रस को चाट रहा था. कुछ ने सुधार करने के लिए भी कहा जिसका मैं उन सभी मित्रों का हृदय से आभारी हूं.

फिर धीरे धीरे मैं अपने हाथ ऊपर लाने लगा और उनके ब्लाउज में हाथ डालकर उनकी दोनों नंगी चूचियां पकड़ कर मसलने लगा. वो मुझे इस नाम से इसलिए बुलाती थी कि सब अपरिचितों के सामने जान कहकर नहीं बुला सकती थी, तो उसने जॉन नाम रख दिया.

उसने सुबह 4:00 बजे मुझको फोन किया, तो मैं गुस्से से उससे नाराज हो गया.

जाहिर सी बात है कि प्रीति अनगिनत लंड अपनी चूत में ले चुकी थी।पर फिर भी प्रीति ने अपने को मेंटेन कर रखा था।उसकी चूत पूरी मखमली थी और मम्मों का कसाव बरकरार था।प्रीति के पैर के नाखून भी कुछ लंबे और अच्छे से तराशे हुए थे।उसके जिस्म पर बाल का एक रोयाँ नहीं था और त्वचा बिल्कुल चिकनी रेशम जैसी थी. बाप बेटी सेक्सी वीडियो बीएफअब जब मैं खुद को शीशे में देखती तो मुझे अपने मम्मे भी नज़र आने लगे जो दिन दूनी रात चोगुणी तरक्की कर रहे थे. बीएफ सेक्सी हिंदी सेक्सी हिंदी सेक्सीशारदा चाची- और जोर से कपिल, और जोर से … शादी में बहुत थक गयी हूं, तू पूरी थकान उतार दे मेरी आज. मैंने कहा- क्यों तुमको अपनी चूत पर चुम्मी नहीं करवानी है?दिशा बोली- मुझे तो आपका लंड चूसना है.

खुद पर कंट्रोल नहीं हो रहा था, तो मैं पंद्रह मिनट पहले ही उनके रूम के पास गई और दरवाजा खटखटाया.

कहानी पर कमेंट्स और अपनी राय के लिए नीचे दिए गए मेल आई-डी पर मेल करें. उसकी बात मान कर मैंने अपने लंड पर थोड़ा थूक लगाया और फिर से उसकी चूत पर लंड को सेट कर दिया. मैंने उनका लंड पकड़ कर कहा- खबरदार जो किसी और की चूत की तरफ लंड उठाकर देखने की कोशिश भी की तो! मुझे पता था कि अगली बार सप्ताहों तक लंड महाराज और चूत का मिलन न हो पायेगा इसलिए मैं उनके लंड को अपने दोनों चूतड़ों के बीच में फंसा कर सो गयी.

मुझे तो नींद आने की गुंजाइश ही नहीं थी क्योंकि एक तो मेरी बांहों में मेरी ड्रीम गर्ल थी और ऊपर से मैं पूरी तरह से उत्तेजित था. मिनी ने नज़रें झुका कर बहुत ही मासूमियत से कहा- वैसे तो मुझे दो साल हो गए सेक्स किए हुए. सलोनी बोली- आप पहले इंसान हैं जिसने मेरी तारीफ की है वरना कोई लड़का तो मेरे पास ही नहीं आना चाहता है.

रंडी बीएफ सेक्स

वो लगातार बोले जा रही थी- सर एक दो मूवी और साइन करवा दो, पूरी जिन्दगी आपकी रंडी बन कर रहूंगी. रानी ने मेरा सर पकड़ के चूत के पास मेरा मुंह लगा दिया और मुंह खोलने को बोला. मैंने अपने अंडरवियर को निकाल दिया और मेरा काला ‘लाल’ मेरी जांघों के बीच में लटकर झुलता हुआ बाहर आकर चैन की सांस लेने लगा.

फिर मैंने मौसी की लड़की भावना के होंठों को जोर से चूसना शुरू कर दिया.

काफी देर की घमासान चुदाई के बाद मेरे लंड ने उसकी चूत में अपने वीर्य की गरम पिचकारी मारनी शुरू की.

तब मुझे होश आया और मैं बहुत डर गया कि ये बात भाभी भैया को या मेरे घर पर ना बता दें. चुदाई के सुहाने सफर की सच्ची घटना आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज़ डॉट कॉम पर पढ रहे हैं. 12 साल की लड़की की सेक्सी बीएफमन कर रहा था कि बस पूजा आ जाये और उसकी चूत, गांड, मुंह सब के अंदर अपने प्यासे लंड को डालकर अपना पानी उसकी चूत के सूखे खेत में डाल दूँ.

फिर जब तक वो हमारे घर रही, मैंने उसे जहाँ भी मौका मिला और वहां चोदा. भाभी बोली- तो फिर वादा कर कि जो मैं बताऊंगी तुम वह बात किसी को नहीं बताओगे. उसके बाद शॉप से बाहर आकर हमने लंच किया और फिर हम शाम को घर आ गए। रूम में आकर मैंने अपनी मिनी उतार दी और रोहन को ब्रा पैंटी पहन कर दिखाई.

मुझे बहुत डर लगा रहा था कि अब क्या होगा? मेरे मन में बहुत ही अजीब अजीब ख्याल आ रहे थे कि कहीं वो अपने पापा को ये सब ना बता दे … या फिर किसी से मेरी कुटाई पिटाई न करवा दे. कल्पना- आज तो मेरी सच में सुहागरात हो गयी … तुमने तो आज मुझे अपना दीवाना बना दिया … क्या क्या और कैसे कैसे करते हो तुम ये सब?मैं- कल्पना जी, यही तो मेरा काम है, अगर बाकी मर्दों जैसा हम भी करने लगें, कि बस आए, डाले, हिलाये अपना पानी निकल गया बस … सामने वाला पूरी तरह से सैटिस्फाइड हुआ या नहीं … इससे मतलब नहीं रखेंगे, तो हमे पूछेगा ही कौन.

उसकी बॉडी बिल्कुल चमक रही थी वो मुझसे इतना लम्बा था कि मैं केवल उसके पेट के थोड़ा ऊपर तक ही आ रही थी.

उसने कहा- हाँ, मेरी चूत का इलाज कर दो प्लीज!मैंने शिखा को सीधा लेटा दिया और उसकी गांड के नीचे तकिया लगा दिया. उसने मीरा के घुटने चादर से बाहर निकाल कर उसके घुटनों पर क्रीम को मलते हुए लगा दिया. मेरी चाची ने सारे कपड़े उतारे हुए थे और वह मेरे भाई के लिंग से खेल रही थी.

कम उम्र की सेक्सी बीएफ वसुन्धरा का गर्म-गर्म ऱज़ मेरे लिंग के साथ-साथ योनि से बाहर टपकने लगा. मैं उसके ऊपर 69 की स्थिति में लेट गया और उसकी चुत को चूसना शुरू कर दिया.

मैंने झट से अपने पैर ऊपर उठा कर मोड़ लिये और चूत पर हाथ रखकर उसे पूरी तरह खोल दिया. मेरी ये हॉट एंड सेक्सी देसी चूत चुदाई की कहानी पर आपके मेल का स्वागत है. तभी मेरी सहेली रिम्पी ने मुझे फ़ोन किया कि मैं उसको कुछ देर के बाद होटल में लेने आ जाऊं.

बीएफ सेक्स बीएफ सेक्सी मूवी

वैसे तो इससे पहले भी मैंने चूतों के दर्शन किये थे मगर मोनी की चूत देखने की चाहत मेरे दिल में जगी ही रहती थी. जीजू के मुंह से आहे निकलने लग गई, जीजू बोल रहे थे- शिवांगी, तुम कितनी अच्छी हो … प्लीज करो ना … और करो शिवांगी … प्लीज साली जी, लंड चूसो ना अपने जीजू का!कहते हुए जीजू ने अपना लंड मेरे मुंह के अंदर कर दिया, फिर मैं जीजू के लंड को करीब 5 मिनट तक चूसती रही. राशि की कमर पर चुम्बन किया और फिर उसकी गर्दन पर अपने होंठों को रख कर उसके बालों की खुशबू लेते हुए उसकी गांड के छेद पर लंड लगाकर उसको पीछे से बांहों में भर लिया.

!उसकी इस तरह की बातों के बाद क्या हुआ, वो मैं अगले भाग में लिखूंगी. ” रानी लौड़ा चूत में लिए बिल्कुल बिना हिले डुले मुझे हिदायतें दे रही थी.

तुमने जब से फ़ोन पर मुझे किस करने के लिए बोला तब से मैं तेरे साथ सेक्स करना चाहती हूँ।भावना मुझसे फोन पर तो खुल कर बात कर लेती थी लेकिन आज मुझे उसकी बात पर यकीन ही नहीं हो रहा था.

हम दोनों कराह रहे थे ‘आआह … बहुत मजा आ रहा है!’और वो फिर घूमी और दोनों पैर बायीं और कर दिए फिर उसने मुँह मेरे सामने कर लिया. फिर भी कहानी का किरदार पूरा करने के लिए मैं उसका नाम प्रीति रख देता हूँ. मेरी गांड में मुझे बाल पसंद नहीं हैं, तो मैं अपनी गांड एकदम चिकनी रखता हूँ.

मेरे मामा के बेटे ने मुझे उस रात तीन बार चोदा और पूरी चुदक्कड़ और लंड की प्यासी बना दिया. आज मेरा प्यार मेरे जिस्म से खेल रहा था, मुझे बड़ा ही मादक लग रहा था. मैं- फिर से नीचे कहा?इस बार मैंने थोड़ा गुस्से का नाटक करते हुए अपना हाथ उनकी चूत से हटा लिया.

फिर जब भी मैं छुट्टी पर आता, तो भाभी की देसी चुदाई करने को मिल ही जाती थी.

भाभी की बीएफ हिंदी में: मेम ने मुझे कंडोम पकड़ाते हुए जल्दी से चुदाई करने को बोला और अपना पजामा खोल दिया. हम लोग सो चुके थे, तभी अचानक बाहर से कुछ अजीब सी आवाज सुनाई पड़ी तो हम लोग आवाज सुन कर बाहर आ गए.

उसकी कसी हुई चूचियां मेरे सीने पर रगड़ रही थीं, उसके निपल्स मेरे सीने में चुभ रहे थे. अब तो मैं अक्सर उसके रूम पे जाती रहती थी और कभी उसका रूम साफ करने में मदद करती. मगर एक बात है कोई भी लड़की शादी के बाद अपने पति को किसी दूसरी से चुदाई करते हुए नहीं देख सकती और यही बात आरती में भी है.

चूचों की मिंजाई से दिशा मोन करने लगी और उसने अपनी आंखें बंद कर लीं.

लेकिन जीजू आपकी स्पीड भी मस्त थी यार … मेरी चुत का तो एक बार में ही भोसड़ा बन गया. मैंने इधर-उधर देखते हुए चुपचाप उसके होंठ पर उंगली रखी और फिर उंगली उसके मुँह में डालकर इधर-उधर घुमाया और फिर अपने मुँह में वही उंगली डाल कर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगा. मैंने शर्म छोड़कर कह दिया कि डाक्टर साहब दो-तीन दिन से नीचे खुजली हो रही है.