बीएफ चुदाई वीडियो दिखाओ

छवि स्रोत,सोती हुई भाभी की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

देशी रिचा सेकस: बीएफ चुदाई वीडियो दिखाओ, इतने में मैंने दीदी को छेड़ते हुए पूछा- ऐसा क्यों पूछ रही हो … क्या जीजू आपको खुश नहीं कर पाते हैं?इस पर दीदी बोली- तेरे जीजू तो मुझे बहुत ज्यादा खुश कर देते हैं … पर शायद अमित तुमसे खुश नहीं है.

ಹಿಂದಿ ವಿಡಿಯೋಗಳು

ब्लू फिल्म देखते हुए मैं बहुत ज्यादा एक्साइटेड हो गया था क्योंकि मैंने उस दिन पहली बार ब्लू फिल्म देखी थी. बाथरूम करती हुई लड़कीबेबी रानी ने कहा- राजे तू कपड़े पहन ले … अभी वो आता होगा न रूम सर्विस वाला … हम दोनों तो नंगी रहेंगी.

उन्होंने लंड को मेरे चूचों पर झटकते हुए कहा- कल रात तेरी चूत का भोग लगाऊंगा. देवर भौजाई की सेक्सीमेरे ऐसा करने से वो पागल सी होने लगी और जोर जोर से आवाजें करती हुई कामुक सिसकारियाँ लेने लगी- आह … करो … अब रुके क्यों हो … प्रिंस चोद दो मेरी चूत को … उफ्फ.

सुमन बहुत चीख रही थी तो हरकेश ने उसका मुंह अपने होठों से बंद कर दिया अब उसके मुंह से केवल मूऊऊऊ ऊऊऊऊऊ ही निकल रहा था।करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद हरकेश झड़ गया और उसे छोड़ कर बिस्तर पर लेट गया।मगर मैंने अभी भी उसे नहीं छोड़ा और लगातार दनादन उसके गांड में लंड उतारता रहा.बीएफ चुदाई वीडियो दिखाओ: फ़िर धीरे धीरे हमारी मुलाकातें बढ़ने लगीं और फ़िर हमने अपनी फैमिली के बारे में भी एक दूसरे को बताया, तो पता चला हम दोनों ही शादीशुदा हैं.

बाहर आ-जा नहीं सकते थे, सो खिड़की से खड़े होकर हम दोनों बाहर का नजारों का मजा ले रहे थे.मैंने अपने लंड पर ऊपर तक तेल चुपड़ लिया और उसकी बुर में भी जहां तक तेल जा सकता था, उतना तेल से तर कर लिया.

રાજસ્થાની સેક્સ વીડિયો - बीएफ चुदाई वीडियो दिखाओ

एक दिन वो मेरे साथ जा रही थी, तो वो मेरे हाथ में हाथ डाल कर बोली कि कल मम्मी दिन में घर पर नहीं रहेंगी और भाई भी स्कूल जाएगा.इसी दौरान मेरी कद काठी में एकदम से बदलाव हुआ और मैं एक पूरा गबरू मर्द दिखने लगा.

मैं भी उसे तेज़ तेज़ चोदने लगा और अगले दस शॉट में मेरा भी काम खलास हो गया. बीएफ चुदाई वीडियो दिखाओ हम दोनों लोग बिना एक दूसरे से कुछ बात किये एक दूसरे के कपड़े निकाल रहे थे.

लेकिन जैसे ही मैंने वसुन्धरा को पीछे घूम कर देखा तो पाया कि वसुन्धरा की चुनरी, वसुन्धरा की पीठ की ओर से लँहगे के अंदर फंसी हुई थी.

बीएफ चुदाई वीडियो दिखाओ?

मैंने उसकी कुर्ती को उसके गले तक उठाया तो उसकी चूचियां ब्रा में क़ैद नज़र आईं. मैंने मना किया और उसको उल्टा लेटा कर उसकी गांड में मेरा लंड पेल दिया. बस मेरे इतना कहते ही वो मेरे होंठों को चूसने लगी और अपनी जीभ मेरे मुँह के अन्दर घुसेड़ कर मेरे तालू में चलाते हुए मजा लेने और देने लगी.

किचन की स्लैब पर मीरा ने हाथों को टिका कर अपनी पूरी चूत रितेश के लिए खोल दी. मैं उसके मम्मे दबाने के साथ ही उसके कानों पर होंठों पर अपने दांत गड़ा देता था. यह बहुत गर्म हो चुकी है प्रिंस … इसको तुम ही शांत कर सकते हो अब!उसने मेरी लोअर के ऊपर से ही मेरे तने हुए लंड को किस करना शुरू कर दिया.

अगर किसी को ना पता हो तो मैं बता दूं कि वह हिस्सा क्लिट होता है … और वह औरतों का सबसे सम्वेदनशील यानि सेंसिटिव हिस्सा होता है. फिर नम्रता ने मुझे आंख मारी, मैं भी समझ गया और कंधा उचकाकर मैंने सहमति दी और पीछे आकर उसके कूल्हे को पकड़कर फैला कर नाक ले जाकर छेद पर टिका दी और एक लम्बी सांस ली. मैं रात भर सो नहीं पाती, पर किसके साथ करूं … मुझे ये समझ में नहीं आता.

वो जोर से चिल्लाने लगी और कहा- हरामखोर दासी बनी तो क्या मेरी गांड फाड़ेगा?मैंने कहा- थोड़ा धीरे … कोई ऊपर आ जायेगा।फिर मैं धीरे धीरे लंड को अंदर बाहर करने लगा. एक दिन जब मैं सोकर उठा तो देखा कि चांदनी भाभी मेरे घर में आई हुई है.

फिर धीरे से उन्होंने अपनी जीभ को मेरी गांड के छेद के नीचे रखा और उसे चाटना शुरू कर दिया.

चुदाई के बाद उसने मुझको दूध ये बोल कर ऑफर किया कि आज आपको बहुत मेहनत करनी है.

उसने मेरी जांघों पर बैठ कर अपनी चूत पर मेरे लंड को लगा लिया और धीरे धीरे दबाव बनाने लगी. इस आधे-पौने घंटे ने वसुन्धरा के व्यक्तित्व में आमूल-चूल परिवर्तन कर दिया था, एक स्त्री को स्त्री वाला अंतर्मन दे दिया था. आंखें बंद करने के बाद न चाहते हुए भी मुझे मां के कड़क और सेक्सी स्तन, गोल-मटोल हिलते हुए चूतड़ और उनके गर्म हाथों का स्पर्श बार बार गर्म कर रहा था.

दोस्तो, मैं विशाल, अपनी दीदी की मदमस्त चुदाई की कहानी का अगला भाग आपके सामने पेश कर रहा हूँ. मैं गाड़ी से उतरा और दूसरी तरफ गया। गेट खोल कर उसे बाहर निकाला।उसके उठते ही उसका गाउन सरक कर पैरों में आ गया। वो घबराई. ऊपर से तुम्हारा वो लम्बा तगड़ा हथियार, जो किसी तलवार से कम से नहीं है.

तो दोस्तो, मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी, आप सभी के मेल के इंतजार में आपका अपना शरद सक्सेना.

कई साल पहले मेरी एक हॉट सेक्स स्टोरी इन हिंदीरसीली चूत में मेरा लवड़ाअन्तर्वासना पर आई थी. उन दिनों मैं चाची की चूत को चूसने और उनकी चूत का रस चाटने के लिए बहुत पागल रहता था. उसकी ये बातें सुनकर मुझे भी कुछ कुछ होने लगा था … और मेरी चूत भी गीली होने लगी थी.

इससे पहले कि मैं अपनी नई कहानी शुरू करूँ मैं आप सबसे कहना चाहती हूं कि जो भी मैं यहाँ पर कहानियों के माध्यम से बताती हूँ वह सब मेरे साथ असल जिन्दगी में ही घटित हो चुका होता है. उसे कहूँगी मुझे चोदो!”डॉक्टर- चलो, ठीक है तुम बाहर बैठो और अपनी मम्मी को भेजो. वो एक कैंची लेके आयी और जांघों के पास से नीचे का पेटीकोट काट दिया।मम्मी सिर्फ ब्रा और एक छोटी सी स्कर्ट में थी। जांघें नंगी थीं और पीछे चूतड़ों पे पैंटी दिख रही थी।अब मस्त फ़ोटो आएगी.

वो प्यार भरे अंदाज से मेरी चूची को अपने बड़े-बड़े हाथों से सहलाने लगा.

मेरा लौड़ा उसकी गर्म चूत के अंदर झटके मार मार कर वीर्य की पिचकारी छोड़ रहा था जिसे दीपिका अपने अंदर तक महसूस कर रही थी. मैंने उसे बोला- बिल्कुल भाई तू चिन्ता मत कर, मैं सब सैट कर दूंगा, तू आराम से जा और बाकी मेरे ऊपर छोड़ दे.

बीएफ चुदाई वीडियो दिखाओ उसके साथ वाले घर में एक गुजराती परिवार रहता था, उसमें पूनम और उसकी फॅमिली रहती थी. फिर चूत से गांड की तरफ, फिर कूल्हों को मसलते हुए कूल्हों को फैला दिया.

बीएफ चुदाई वीडियो दिखाओ अब वो हफ्ते में 2 बार आने लगा, कभी कभी वो रात में भी भाभी के पास ही रुकने लगा था. अब भाभी ने भी अपने दोनों पैर खोल दिए और उनकी चूत रस से सराबोर हो गयी.

चूमते हुए ज्यों ही मैं चूत के मध्य में पहुंचा और अपने होंठ उसके ऊपर रखने ही जा रहा था कि शुभ्रा ने अपनी हथेली को मेरे मुंह और अपनी चूत के बीच में रख दिया.

न्यूड इंडियन गर्ल्स

मैंने अपनी नाक उसकी नाक पर धीरे से लगाना शुरू किया और अपने दोनों हाथ उसे उसकी कमर को पकड़ लिया. गर्लफ्रेंड की सहेली की चुदाई कहानी के अगले अंक में प्रतिभा की चुत का भोसड़ा बनाने की विधि का वर्णन करूंगा, तब आप मजे से अपने लंड चुत में जो भी करना हो, सो कर लेना. यह मेरा पहला हस्तमैथुन था। उस दिन के बाद मुझे आपको देखने का नजरिया बदल गया.

मैंने उसको ये इसलिए बताया था … क्योंकि ज्यादातर कुंवारी लड़कियां अपनी चुत के अन्दर लंड का पानी नहीं लेती हैं. भाभी बोली- क्या मैं आज रात को तुम्हारे कमरे में सो सकती हूँ? मुझे अपने रूम में बहुत डर लग रहा है. तब मुझे कहीं थोड़ी थकान महसूस हुई तो मैंने थोड़ा विश्राम लेने की और अनिता को थोड़ा और गर्म करने की सोची.

वो मेरा लन्ड चूसने में बिजी थी और मैं देख रहा था कि कहीं कोई आ तो नहीं रहा है ना!तकरीबन पांच मिनट तक लन्ड चूसने के बाद मैं उसके मुंह में ही झड़ गया और उसके सर को कस कर पकड़ लिया.

फिर मैंने उसकी चूत अच्छे से पानी से साफ की और वहीं पर अंगुली करने लगा. सच में जब माणिक मेरी जांघों को हल्का हल्का मसल रहा था, तब मुझे ये सब बहुत अच्छा लग रहा था. मैंने दोबारा ट्राई किया और इस बार मैं आधा लंड उसकी गांड में घुसाने में कामयाब हो गया.

इस तरह मैं उसकी एक चूची को चूस रहा था, दूसरी को ब्रा के ऊपर से ही दबा रहा था. उन्होंने अपनी दो उंगलियों से अपनी चुत को थोड़ा खोला और धीरे धीरे करके मेरे लंड पर अपनी चुत सटा दी और खुद ही अपने आप जोर देकर लंड चुत के अंदर लेने लगी और मुझसे कहा- थोड़ा धक्का तुम भी लगाओ. मैंने उससे पूछा कि हम कहां जा रहे हैं?उसने बताया कि वो मुझे अपने घर ले जा रही है.

मैं तो ये सोच-सोच कर हैरान हो रहा था कि मेरे पिताजी क्या कर रहे हैं. मैं तो ये सोच-सोच कर हैरान हो रहा था कि मेरे पिताजी क्या कर रहे हैं.

ऐसा करते करते चूत में लंड कब पूरा चला गया, न पिंकी को पता चला न नितिन को महसूस हुआ. उस वक्त तो मुझे बस उसकी चूत का स्वाद चखना था जो मेरा लंड उसकी चूत में जाकर मुझे उपलब्ध करवाने लगा था. थोड़ी देर बाद नम्रता अपने कपड़े सही करते हुए बोली- अपने घर बुला लिया है, दिखाओगे नहीं अपनी बीवी के लिए हुए सेक्सी कपड़े?मैं- ओह हां यार, तुम्हारा कामक्रीड़ा से युक्त मादक जिस्म मेरे सामने जब से आया है, मैं सब कुछ भूल जाता हूं.

मैंने उसकी टांगों के बीच में पहुंचकर लंड को हाथ में लेकर बहन की चूत के मुहाने में टिका दिया और हल्का सा धक्का लगाया.

मैं खुद अपने आपको कोसने लगा कि मैं अपनी मां के बारे में कितना गंदा सोचता हूँ. पर ये बात मेरे और तुम्हारे बीच रहेगी, सो तुम इस बात को लेकर हमेशा बेफिक्र रहना कि तुम्हारा राज हम दोनों का राज रहेगा. मैं दीदी के बूब्स के निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा और काटने लगा और एक हाथ से दूसरे बूब्स को दबाने लगा.

आज मैं अपने बेटे की बीवी बन गई थी और उसे उसकी बीवी जैसा ही सुख देने को लालायित थी. उसके ऊपर से थोड़ा सा कपड़ा हटा कर उसके बूब्स बाहर निकाल लिया और उसे चूसने लगा और दबाने लगा.

तभी संजना ने शीना की चूत पर अपनी उंगलियां रख दीं और वह उसकी चूत सहलाने लगी. चूंकि वो लोग किसी कारणवश मेरी शादी में नहीं आ पाए थे, इसलिए वो दोनों आने के लिए काफी जिद कर रहे थे. मुझे उसे अंधेरे में डर लग रहा था कि चुत के चक्कर में मैं कहीं किसी गलत जगह में न फंस जाऊं.

एचडी ब्लू पिक्चर

हाई सोसाइटी में उठने बैठने के कारण, मेरे पति ने मुझे अपने बिजनेस में खूब इस्तेमाल किया था.

मुझे कुछ समझ नहीं आया, तो मैंने उसकी कमर में हाथ डाल कर उसे अपने पास खींचा और उसकी सलवार में हाथ डाल कर उसकी गीली चुत को मसलते हुए सहलाने लगा. लंड तो खुशी से और बढ़ा हो गया था, जो इस उम्र में भी कमसिन कुंवारी बुर फाड़ रहा था. वह मेरे होंठों को चूसने लगी और फिर मेरा लंड दोबारा से तनाव में आने लगा.

मैंने नम्रता को कपड़े पहनने से मना किया और थोड़ा सा दूर खड़े होने के लिए कहा. आंखें मूंद कर कुछ पल इंतजार करने के लिए शाबासी और उपहार स्वरूप मुझे होंठों पर एक गहरा और मादक चुंबन मिला. स्कूल गर्ल एक्स एक्स एक्स वीडियोजो तुम चाहते हो!”नताशा … वैसे तो मधुर मुझे प्रेम सम्बन्ध के समय पूरा सहयोग करती है पर उसे पता नहीं क्यों एक काम बिल्कुल अच्छा नहीं लगता.

वो हांफती हुई एक तरफ लेट गई और उसके चूचे उसकी छाती पर ऊपर नीचे हो रहे थे. जब वो चलती थी, तो सलवार में उसके गोल गोल चूतड़ बड़े दिलकश अंदाज में मटकते थे.

हाँ इस बार हमने पूरे होश में सब किया, तो हमारी शर्म भी खत्म हो गयी. लगभग दस मिनट चूसने के बाद थॉमस का शरीर अकड़ने लगा और जिसका मुझे इंतज़ार था, वही हुआ. उस अफ्रीकी के मोटे काले लंड से मेरी चूत कैसे खुली?नमस्कार फ्रेंड्स.

वो भी मस्तानी आवाज में बोलीं- सच में बहुत दिन बाद कोई इतना बड़ा चोदू मिला है. रात के 10-11 बजे के करीब मुझे नींद आने ही लगी थी कि जीजा जी मेरे बिस्तर आकर मेरे ऊपर लेटते हुए मुझे अपनी बांहों में भरने लगे. तो मैंने उससे पूछा- तुझे क्या हुआ … इतना मुँह लटकाए क्यों बैठी है … क्या बॉयफ्रेंड की याद आ रही है?इस पर वो बोली- कुछ नहीं यार … बस परेशान हूँ.

उन्होंने कहा- थोड़ी देर सो जाओ!तो मैं ऐसे ही नंगा लेट गया और वो कपड़े पहनने लगी.

उसी समय मैंने गांड को कुछ और खोलने की कोशिश की और छेद की कसमसाहट से वो समझ गए कि मुझे क्या चाहिए. ‘ये चमड़े का इंजेक्शन नहीं लगा, तो तेरी जान चली जाएगी … अन्दर भी दवाई लगाना जरूरी है … तू जल्दी से घूम जा.

तो सीमा बोली- उई आह्ह्ह … क्या कर रहे हो?मैंने कहा- साली, तेरी गांड मार रहा हूँ उंगली से, कैसा लग रहा है?वो बोली- आह … मज़ेदार … चोदो ऐसे ही आह!मैंने फिर कहा- बोल तेरी गांड में भी लंड डलवा दूँ क्या साली फक्ड गर्ल?वो बोली- नहीं अभी नहीं! ओह्ह बस चोद दो अब तो मुझे!मैंने भी जोर जोर से उसकी चूत को चोदना शुरू कर दिया. ”कहने को तो मैं आप को ‘तू’ कह कर भी बुला सकता हूँ वसुन्धरा जी! लेकिन अभी आपने मुझे ऐसा अधिकार दिया नहीं है. आज मैं अपनी कार सेक्स पोर्न स्टोरी वहीं से शुरू करती हूँ जहां मैंने अपनी पिछली सेक्स कहानी ख़त्म की थी.

देखते ही देखते उसके लंड से निकला हल्के पीले रंग का मूत गिलास में भर गया. जब मेरे एग्जाम खत्म हुए, तब फिर से मेरी यौन कुंठा ने मेरे लंड पर दस्तक दी. लेकिन मैंने फिर से अपना लंड बेटी के मुंह में डाला और इस बार उसने मेरा लंड लोलीपोप के जैसे चूसना शुरू कर दिया.

बीएफ चुदाई वीडियो दिखाओ उसके बाद उसने अपने मुँह में पानी को भरा और लंड में पानी को उड़ेल दिया और सुपाड़े को वो दांत से काटने लगी. उसके बाद उसने गैस स्टोव को भी बंद कर दिया और सही पोज में मेरे सामने झुक गई.

जबरदस्त चुदाई

बाहर खिड़की से अंदर आ रही चांद की हल्की सी रोशनी में ज्यादा कुछ नहीं दिखाई दे रहा था मगर इतना जरूर पता लग रहा था कि बेड पर वो सोई हुई है. ई … ई … ई … ई … ई!!!!” वसुन्धरा के मुंह से एक तीखी सिसकारी निकल गयी और अपनी उंगलियां मेरे मुंह से निकालने की कोशिश करने लगी. उसने मेरी आंखों में देखकर आंखों में ही पूछा- क्या?मैंने फिर कहा- रश्मि.

मंजू ने आगे बताया- एक दिन तभी मुझे भनक लगी कि वे लोग मुझे किसी कोठे वाली को बेचने वाले थे. मैंने भाभी की चूत को देखा, वाह क्या गोरी चूत थी, एकदम मस्त पकौड़ा सी फूली हुई गोरी बुर मेरे सामने खुली पड़ी थी. हिंदी सेक्सी फिल्म दिखाईयेफिर उन्होंने मुझे अपने से अलग किया और करवट लेकर मुझे चिपकाते हुए बोले- नम्रता, तुम्हारा रस तो बहुत ही स्वादिष्ट था.

मैंने उसके सामने देखा … और हम दोनों एक दूसरे के सामने मुस्कुरा दिए.

फिर क्या था … पहली ही बार में अपनी सुधा की सहेली को ताबड़तोड़ चोदने लगा. उसने बोला- मैं तो शादीशुदा हूँ यार … तुम जाओ मेरे लिए तो पति हैं मेरे!अब हम दोनों मूवी देखने पहुंचे.

मैंने सीधे ही उसके उभारों पर अपने हाथ रख कर सहलाते हुए कहा- चिकन थोड़ा तीखा बनाना क्योंकि मुझे तीखा ही पसंद है बिल्कुल तुम्हारी तीखी जवानी के जैसा. यही मैं भी महसूस कर रही थी उस वक्त!मैं राज के साथ बिस्तर में पूरा आनंद उठा रही थी. और तुम सिर्फ होटल में बैठी थीं … कुछ और तो नहीं करने गई थी ना!मीता- नहीं, मैं उससे सिर्फ बात करने गई थी … थैंक्स.

जब उठ कर बाहर आया तो माँ ने कहा कि मुझे चांदनी भाभी के साथ उनके घर जाना है कुछ सामान लाने के लिए, माँ ने मुझे जल्दी तैयार होने के लिए कह दिया.

इतने में मां मेरे कमरे का दरवाजा खोल कर अन्दर आ गयी और बोलीं- हर्षद ठंड ज्यादा है ना … तो मैं तुझे ये कम्बल देने आयी थी. मैंने मौका देखकर पूनम को अपने दिल की बात कह दी और उसने कहा- मैं शाम को बताऊँगी. अचानक दरवाजे पे आवाज हुई, मैं बोली- जी सर?बाहर बॉस थे, वो बोले- अंदर एक फाइल है, वो चाहिए.

भाई की चूत की चुदाईफिर दिशा ने अपना टास्क सोनल को दिया- सोनल, तुम राधिका दीदी की चुत को चाटो. मेरा भी होने वाला था, इसलिए मैंने भी दो चार जोर के धक्के लगाए और लंड को अंदर तक दबा कर उसकी चूत को अपने पानी से भर दिया।कुछ देर सुस्ताने के बाद हम दोनों ने बाथरूम में जाकर अपने आप को साफ किया.

सेक्सी पिक्चर दिखाओ ब्लू

वाह! क्या अहसास था वह … वो काफी देर तक मेरे लंड को मजे लेकर चूसती रही और मुझे भी मजे देती रही. उनकी चूत एकदम गीली हो चुकी थी और चूत के पानी की वजह से झांटें भी भीग चुकी थीं. बहनचोद ब्लू फिल्मे देख कर के रंडी के दिमाग में ऊटपटांग चुदाई के स्टाइल आ रहे थे.

फिर राज हमारे मम्मे दबाएगा, फिर पीठ सहलाएगा, इसके बाद गांड सहलाएगा और आखिर में हम सब राज का लंड चूसेंगे. तो आते हैं दर्द भरी चुदाई की कहानी पर!थोड़ी देर पार्क में बैठने के बाद मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने हाथ के ऊपर रख दिया और उसे धीरे-धीरे रगड़ने लगा. नील- हां, सही कह रहे हो आप।राजवीर- तो हमें यह करना चाहिए कि तुम अपनी बीवी रकुल को अभी फोन करो और कहो कि होटल में तुम्हें किसी रईस ने देखा है और देखते ही वो तुम पर लट्टू हो गया है।उसे झांसा देते हुए कहो कि वो तुम्हें एक रात के लिये चोदना चाहता है और इसके लिए वो कुछ भी कीमत अदा करने को तैयार है.

चूत और लण्ड के डिस्चार्ज होने से मेरे बेड की चादर जगह जगह से गीली हो गई थी. उसमें से काजल की चूत की बहुत ही प्यारी खुशबू आ रही थी, जो मुझे पागल कर रही थी. उसने अपना मूसल लंड मेरी लपलपाती चूत में सैट किया और वाह … मेरे लाल एक ही बार में पूरा लौड़ा चूत के अन्दर डाल दिया.

मैंने देखा कि दी किचन में चाय बना रही हैं तो मैं झट से उनके पीछे जाकर उनके बूब्स दबाने लगा और अपना लंड उनकी गांड पे रगड़ने लगा. रमेश ने फिर अपना लण्ड रिया की गांड पर रखा और पूछा- क्यों रे रंडी की बच्ची, लण्ड चाहिए?रिया- हहम्म, हां चाहिए मुझे डैडी.

हीना जितने लंड को अपने मुँह में गले तक ले सकी, वो उतने से ही अपने काम में तल्लीनता से लग गई.

तो मीरा ने पलट कर रितेश को उठाया और ज़ोर का चूमा लेकर उसके होंठों को काटते हुए कहा- अभी नहीं, आज रात का इन्तजार करो, आज पूरा मजा मिलेगा. लंड और चूत का खेलमैं भी उसके पीछे पीछे बाथरूम में हो लिया।शुभ्रा वॉश बेसिन में झुकी हुई थी और मेरी बहन की गोल-गोल गांड का उभार मेरी तरफ था और उसकी गांड मुझे आकर्षित कर रही थी। मेरे हाथ बिना किसी देरी के शुभ्रा के कूल्हों को मसलने लगे. हिंदी पोर्न मूवीसमेरी दोनों बेगमें पूरी गर्म हो गयी, दोनों की चूत पूरी गीली हो गयी, दोनों ने अपना चूत रस मेरे लण्ड पर लगा कर उसे चिकना कर दिया. मैंने भी कहा- चलो जो हुआ, अच्छा हुआ! तुम को भी एक अलग अनुभव मिला और मुझे भी!वह मुस्कुराती हुई बोली- अनुभव तो ठीक है.

मैंने अब लंड पर उछलना चालू किया … भैया मेरी गांड को पकड़ कर ऊपर नीचे करने में लग गए.

उसकी चूत के आस-पास से धार बाहर निकल रही थी, तब तक आधी कुप्पी खाली हो चुकी थी. चांदनी भाभी वैसे देखने में इतनी सुंदर नहीं है मगर मैंने कभी किसी की चूत की चुदाई नहीं की थी इसलिए मुझे तो चांदनी भाभी भी सुंदर लगती थी. कभी कभी तो भैया इतनी जोर से मुंह को धकेल देते थे कि उनका लंड मेरे गले में जाकर फंस जाता था.

पूरा लंड जाते ही मैंने उसको गोद में उठा लिया और उसने अपनी दोनों टांगें मेरी कमर पर लपेट लीं. उस दिन मैं जालंधर से चला और चंडीगढ़ के सेक्टर 43 के बस स्टैंड पर उसके बताए हुए समय से पहले ही पहुंच गया. पिछले भाग में अब तक आपने पढ़ा कि मेरे साथ एक स्कूल में पढ़ाने वाली हॉट एंड सेक्सी टीचर मुझ जैसी ही ठरकी और चुदक्कड़ निकली जोकि मेरी तरह ही सेक्स करने में बिंदास थी.

लड़की की चूत वीडियो

उसको इस बात का अहसास हो गया कि उसका लंड खड़ा होने लगा था, तो वो मुझसे छूटने की कोशिश करने लगा, लेकिन मैंने उसको और जोर से अपनी छाती से लगा लिया. पर जैसे ही भाई आता है, सीढ़ियों का गेट लगाता है और मुझको मेरे रूम से अपनी गोद में उठा कर अपने रूम में ले आता है. मुझे मंजूर है सर!” मैं खुश होकर बोली क्यूंकि 15 हजार रूपये मेरे लिए सही थे.

उसके बाद तो जब भी भाभी मुझे किसी भी प्रोग्राम, त्यौहार पर मिलीं, हम दोनों में हमेशा चुदाई तो हुई ही.

मुझे तो बहुत मजा आ रहा था और उन्हें भी आनन्द आ रहा था ऐसा मुझे लगा.

मैंने गाड़ी साइड में लगाई और कार में से अपना सूटकेस निकला और वसुन्धरा के पीछे-पीछे अंदर चला गया. फिर मैंने उसकी चूत में उंगली की, तो उसने दर्द के मारे ‘ऊईईइई उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई. मल्लू आंटी सेक्सी वीडियो”तभी मेरी मम्मी ने आवाज़ लगाई- विपुल, तेरा फोन बज रहा है … देख कौन से दोस्त ने फ़ोन किया है.

स्थिति ऐसी हो गई कि एक दिन सुबह दूध लेने के लिए निकला तो गुप्ताइन अपनी किचन में खड़ी दिख गई. मेरी इस पागल सहेली ने अपनी सबसे प्यारी चीज मुझे दे दी … तो क्या मैं उसकी एक ख्वाहिश पूरी नहीं कर सकती थी. सोच कर मैंने लंड को आधा ही बाहर निकाला था कि चाची ने मुझे फिर से अपने ऊपर खींच लिया और मेरे लंड से वीर्य छूट पड़ा.

उसने लंड का सुपारा फंसते ही मेरी चूत में अपने लंड को डालते हुए एक करारा धक्का दे मारा, जिससे उसका आधा लंड मेरी चूत में चला गया. वो बार बार अपने मुंह को आगे पीछे करके मेरा लंड चूस रही थी पर मैं 3-4 मिनट में झड़ गया उनके मुंह में बिना उन्हें बताए.

मैंने उसको ये इसलिए बताया था … क्योंकि ज्यादातर कुंवारी लड़कियां अपनी चुत के अन्दर लंड का पानी नहीं लेती हैं.

उस समय शाम के साढ़े सात ही बजे थे और मैंने जल्दबाजी में ये सब कर दिया था. मैं बयां नहीं कर सकता उस वक्त चाची के होंठों का रस पीने में कितना मजा आ रहा था. करीब पंद्रह मिनट बाद क्यारा ने मुझे आवाज़ दी और अपने पास आने को कहा.

સેક્સ દેશી दूसरे दिन पिंकी की सहेली नीता आई और उसने नितिन को छत पर अंडरवियर में कसरत करते देखा, तो उसे देखती ही रह गई. वह शायद पहले से जानती थी कि मैं अगर उसके साथ बिस्तर पर हूँ तो जरूर कुछ न कुछ करूंगा ही इसलिए उसने अपने एक हाथ को आगे ले जाकर अपनी चूचियों को हाथ के नीचे छिपा लिया.

कहते हुए मैं और तेज-तेज मुठ मारने लगा।तभी मेरी छोटी बहन ने मेरा हाथ पकड़ लिया. बेचारी मेरी माँ गांव की अनपढ़ हैं, उनको क्या पता कि उनके बेटा बेटी पिछले 3 साल से बेटा और बहू बन चुके हैं. मेरे इन प्रयासों से कुछ देर में जूली फिर गर्म हो गयी और सारा को एक तरफ हटा कर मेरे ऊपर आ गयी.

आंटी की सेक्सी फोटो

मैं भी समझ रहा था कि मौसी क्या चाहती हैं, पर मुझे मौसी की चुत चाटना था इसलिए मैं अपने घुटनों पर बैठ गया. उसके बाद मैंने अनिता को कस के पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और उसे चूमने लगा और उसकी चूचियों को कस-कस के दबाने लगा. क्योंकि इस खुशबू को चाटते हुए वंश मेरी चूत के अन्दर तक जीभ डाल रहा था जिससे इस दवा का असर मुझे भी होना था.

तो उन्होंने मेरा लंड पकड़ा और अपनी चूत पर सैट किया और बोलीं- धक्का दो. तो मैंने उससे पूछा- तुझे क्या हुआ … इतना मुँह लटकाए क्यों बैठी है … क्या बॉयफ्रेंड की याद आ रही है?इस पर वो बोली- कुछ नहीं यार … बस परेशान हूँ.

तो मैंने उसे बताया कि जब से मैं यहाँ आया था, तब से!वो मेरी तरफ देखकर फिर से हंसने लगी.

फिर उसके घर वाले चले गए तब उसके घर में पूनम, उसकी भाभी और 5 साल का भतीजा रह गए थे. कुछ दिन तो सब कुछ ठीक रहा लेकिन थोड़े दिन बाद मेरी नीचे वाली मुनिया यानि मेरी चूत मेरे पति की याद में आँसू बहाने लगी और मेरे दिल को बेचैन करने लगी. चुदाई के बाद उसने मुझको दूध ये बोल कर ऑफर किया कि आज आपको बहुत मेहनत करनी है.

अंकल ने मेरी आंखों में देखते हुए मेरे कामरस से सनी उंगली अपने मुँह में डाल ली. उस वक्त हरकेश बिस्तर पर लेटा हुआ था और सुमन उसके लंड पर कूद रही थी. तो परसों तुम मेरे घर चलोगी, वहीं पर एक-दो राउन्ड चुदाई का चलेगा और फिर मैं तुम्हें मेरी बीवी की अलमारी दिखाउंगा.

वो कामोत्तेजक अवस्था में आकर बड़बड़ाने लगी, हांफने लगी- ओहहह सर आपने आज मुझे जन्नत दिखा दी … थैंक्यू सर … आह आई लव यू सर … आहहह.

बीएफ चुदाई वीडियो दिखाओ: इस तरह से मैंने अपनी खूबसूरत साना भाभी की कुंवारी चूत को चोद कर उसको मजा दिया और खुद भी उसकी चूत के मजे लिये. उसने अपने दांतों के बीच मेरे सुपाड़े को इस तरह फंसाये हुए थे कि वीर्य रस सीधे उसके कंठ से ही टकराता.

मैं उनके मुड़े हुए घुटनों पर टंगा हुआ था और पंजों पर सर को एक तरफ करके लेट गया था. पांच सात मिनट बाद बोली- आप का तो हुआ ही नहीं?मैं बोला- अब तेरा मुंह किस काम आएगा? आज से पहले किसी का पानी पिया है?मंजू बोली- मुझे इसका स्वाद अच्छा नहीं लगता. पर खुशी सिर्फ दिखावे के लिए बिंदास है, असल में खुशी भावुक और संस्कारी लड़की है.

थोड़ा सा गाण्ड में भी कर देते तो मज़ा आ जाता।रमेश- तेरी चूत से कौन सी कोल्ड ड्रिंक बाहर आई है साली कुतिया? वो भी गर्म ही थी और तेरी गाण्ड में सूसू करने वाली इच्छा भी दोबारा मैं पूरी कर दूँगा।वो बोली- डैड आपकी पूरी जाँघें और पेट सूसू से सन गया है.

उसके पास जाते ही मैंने उसे चूमना शुरू कर दिया, वो भी मेरा साथ दे रही थी. उसके बाद मैंने अपनी छोटी भाभी को भी चोदा, उसकी कहानी अगली बार बताऊंगा. उन्होंने देर ना करते हुए मुझे धक्का मारकर लेटा दिया और वो अपने पैर चौड़े करके मेरे ऊपर बैठने लगी.