ट्रिपल स्टार बीएफ

छवि स्रोत,नेपालन की सेक्सी ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ चोदी चोदा चोदी: ट्रिपल स्टार बीएफ, हमको बोल दिया गया था कि अच्छे से पढ़ाई करने के बाद सभी बच्चे उसी एक ही कमरे में सो जायें.

भोजपुरी सुपर सेक्सी

मैं दोनों पांव चेयर पर ही रख कर ऐसे बैठा था कि मेरे लंड का नजारा भाभी को हो जाए. हरियाणवी statusफिर उसने बोला- आप कल शादी में नहीं जाओगी?मैं बोली- जाना तो चाहती हूँ … लेकिन मैं अपनी परेशानी तो आपको बता चुकी हूँ.

चूंकि पहली बार मैंने सपना की चूत में लंड दिया था इसलिए मैं ज्यादा देर खुद को रोक नहीं पाया. चाइना सेक्सी सेक्सी सेक्सीअगले दिन शाम को मेरे व्ट्सऐप पर मैसेज आया कि उसने एम्बेसी से बात की है.

बल्कि काफी एक्साइटेड भी था क्योंकि सुमन के साथ वक्त बिताने के बहाना जो मिल गया था मुझे।उस दिन को मैंने सुमन से भी इस बारे में बात कर ली थी.ट्रिपल स्टार बीएफ: खैर वो सेक्स कहानी मैं बाद में लिखूंगा, मगर अभी उसकी शुरुआत की चुदाई की कहानी लिख रहा हूँ.

घप्प घप्प लण्ड जाता मामी की चूत में जाता तो मामी बोल रही थी- अह्ह्ह्ह साहिल … मेरे प्यारे भांजे … कितना मस्त तुम पेलते हो, पूरा मज़ा देते हो.जब उसको बाथरूम के अंदर से चिल्लाते हुए सुना तो मेरी गांड फट गयी और मैं भाग कर वापस अपनी छत पर चला गया.

शिमला सेक्सी - ट्रिपल स्टार बीएफ

उसकी चुत में पानी का गड्डा सा बन गया था, जो मुझे अपने लंड पर महसूस होने लगा था.उसने बोला- आह तुम अपने मुँह में लंड पूरा अन्दर क्यों नहीं ले रही हो?इस पर उसने कोई जबाव न देते हुए चुत की तरफ उंगली करके इशारा किया कि अब चुत चुदाई करो.

तो दोस्तो, यह थीसेक्स स्टोरीआप लोगों को कैसे लगी? मुझे ईमेल करके बताएं. ट्रिपल स्टार बीएफ आओ अब खाना खा लें, फिर दूसरा राउण्ड होगा और इस बार तुम नीचे लेटोगे और मैं तुम्हें चोदूंगी.

इसलिए उन्हें जल्दी ही नशा चढ़ गया … और वे लार्ज दो पैग लगाने के बाद वहीं बेड पर पसर गईं.

ट्रिपल स्टार बीएफ?

थोड़ी देर बाद हम दोनों ने कपड़े पहने और उसने मुझे अपना नंबर दिया और घर का पता दिया. थोड़ी देर ऐसी ही बातें करते करते हम दुकान तक पहुंच गए और कुछ ही देर में उन्होंने सामान ले लिया. पर मेरे ज्यादा जोर देने पर वो मेरे साथ वो वीडियो देखने के लिए मान गईं.

मैंने उसके लंड को देखा। उसका लंड मेरे लण्ड से बड़ा और मोटा था और आकर्षक दिख रहा था. मैंने देखा कि चाचा एकदम से नंगे होकर मेरी नंगी चाची के ऊपर चढ़े हुए थे. हम दोनों बेस्ट फ्रेंड थी तो एक दूसरे के घर जाना और रात को एक दूसरे के घर रुकना, हमारे लिए आम बात थी.

यह सब बोल कर मैं रूम से बाहर चली गयी और ड्राइंग रूम में नंगी ही बैठ गयी. ऐसे ही एक दिन मैं जब वहां पर पहुंचा तो रिसेप्शन पर एक लड़का बैठा हुआ था. उसने झट से चुत के ऊपर का खून साफ़ किया और लेगिंग्स ऊपर करके रानी को अपनी गोद में लेकर रूम में चला गया.

मैं अपनी चूचियों को आपस में मसलने लगी और जांघों और पेट को भी सहलाने लगी।मैं एकदम गर्म हो चुकी थी क्योंकि मेरे पति भी डेढ़ साल से विदेश में ही थे और कितने दिन हो गए थे मैं चुदी भी नहीं थी. मैंने मना करते हुए कहा- अरे नहीं मैडम, दो दिन में मेरा फोन ठीक हो जायेगा.

नशे में टुन्न होने से रानी को कुछ पता ही नहीं चला कि ये किसका हाथ उसकी चुत पर है.

जब तक शादी का दिन नहीं आ गया, तब तक सुबह से शाम तक उससे दो तीन बार इस तरह का मजाक न हो जाए, तब तक न मुझे चैन पड़ता और न उसका मुझे छेड़े बिना मन लगता.

साले दो दो इंच के लण्ड ले कर घूमते हैं और छोकरिया भी उसी में खुश हो जाती हैं. थोड़ी देर बाद उसका मैसेज आया- क्या ये सही होता है?मैंने अपने मन की ख़ुशी दबाते हुए कहा- हां ये सही भी है … और सेफ भी रहता है. इतना सुनकर मैंने भाभी की चूत पर लंड को रख दिया और उसकी चूत में लंड को एकदम से धकेल दिया तो भाभी के मुंह से चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’भाभी की चूत काफी टाइट थी इसलिए लंड एकदम से उसकी चूत में फंस सा गया था.

हम सब सुबह सात बजे ग्राउंड पर पहुंच गए और हाथ पैरों की अकड़न को हटाने के लिए वार्मअप होने लगे. उसने मुझसे कहा- याद है मैंने तुम्हें उस दिन बुद्धू क्यों कहा था?मैंने कहा- नहीं, क्यों कहा था बताओ?उसने मेरे लंड को एक बार चूमा और कहा- मुझे ये वाली डेयरीमिल्क चाहिए थी. अमीषा ने कहा- यहां जंगल क्यों उगाया हुआ है?मैंने कहा- मुझे थोड़ी पता था कि ये तुम्हारे गुफा की सैर करेगा.

वो लोग थोड़ी सी दूरी पर थे लेकिन मुझे दिखाई भी दे रहा था और उनकी आवाज भी सुनाई दे रही थी.

चुदाई में भी इतना मजा नहीं आता जितना चूत में लंड लेकर आराम से लेटने में मुझे मिल रहा था. मेरी दर्द भरी आवाज कमरे में गूंज गयी- आह अमरीश … मर गयी … ओह … मा … निकाल लो यार इसे मेरे पीछे से. अपने कूल्हों को उठा उठा कर कसमसाती हुई मुझे अपने ऊपर आने का निमंत्रण देने लगी.

मेरे मुँह से निकल गया दिन में ये बच्चा परेशान करता है और शाम को बच्चे के पापा. उसने गुर्रा कर पूछा कि क्यों निकाला … कुत्ते?मैंने उसकी चूचियों को पकड़ते ही घुमाया और कहा- साली, अपने कुत्ते की कुतिया तो बन जा. मैंने धक्का मारा तो पहले धक्के में आधा और दूसरे धक्के में पूरा लण्ड हनीप्रीत की गुफा में समा गया.

मैंने अपनी सास को बताया कि माधो और मैं भी इस बारे में बात कर चुके हैं.

वो बोली- लो मैं आ गयी … आगे क्या सोचा है?मैंने बोला- वो कब आ रहा है?उसने बोला- कल ही आ जाएगा. तो चाची ने अपनी बेटी को दूसरी तरफ लिटा दिया और मैं चाची के साथ सो गया.

ट्रिपल स्टार बीएफ चुम्मा देते देते ही मां के हाथ अपने आप ही अजय अंकल के लण्ड की तरफ बढ़ गए. मैंने उसकी ब्लाउज की ओर देखा तो उसकी चूचियां एकदम दो बड़े बड़े पहाड़ों की तरह ऊपर निकली हुई थीं.

ट्रिपल स्टार बीएफ मॉम ने मुझसे पूछा- तुझे कैसे पता है? मैंने बिंदास कह दिया कि मैंने आपको एक बार उस मरियल से आदमी से चुदते हुए देखा था. जा जाकर नाश्ता कर ले और फ्रेश हो जा।मैंने एक आंख खोल कर बुआ की तरफ देखा तो बुआ मेरे खड़े लंड को घूर रही थी.

प्रशांत मम्मी को पकड़े पकड़े बोला- सॉरी मम्मी, मैं आपको सरप्राइज देना चाहता था.

बीपी फिल्म चाहिए

अब उसको चोदने के खयाल से ही मेरे लंड में इतना तनाव आ गया था कि मैं खुद को रोक नहीं पा रहा था. मैं नीचे बैठा और उसकी टांगों में किस करता हुआ उसकी जांघों को चूमने लगा. मैंने अपनी बहन की चूत की दीवारों को उंगली से पकड़ कर चूत के दाने पर जीभ लगाई तो सोनल मचल उठी- आआह … आंह प्रेम … उम्म ओह … मजा आ रहा है … आह … करते रहो.

अन्दर कमरे में वे दोनों स्वतंत्रता पूर्वक यौन क्रिया का आनंद लेने लगे. वो जब किसी काम से झुकती तो मैं मामी की गांड देखता और अपने लंड को मसल देता जिसे उन्होंने देख लिया था. सच कह रहा हूँ दोस्तो, मुझे उसको अपनी बांहों में लेते ही इतना सुकून मिला कि मानो मुझे जन्नत मिल गई हो.

उसी पल मैंने आगे देखा, तो कैब ड्राइवर अपने रियर व्यू मिरर में से मज़े ले रहा था.

फिर पीहू को गोद में उठा कर खाट पर लिटा दिया।अपनी पैंट निकाल कर मैं पीहू के ऊपर चढ़ गया। मैं पीहू के चेहरे को चूमने लगा. जब हम दोनों की वासना मिलन के चरम पर पहुंच गईं, तो हम लोग मिलने का मौका देखने लगे. फिर पापाजी ने एक रसगुल्ला मेरे होंठों पर रखा, एक मेरी बूब्स के बीच में रखा, एक मेरी नाभि में रखा और थोड़ा रस मेरी चूत पर भी डाल दिया.

नहीं मैं सोचने लगा कि क्या कर रही होगी नीचे?तभी वह आयी और मैं उसे देखता ही रह गया. मगर उस दिन पापा जी की चुदाई की कल्पना करने से ही मेरी चूत पानी पानी हो गयी थी. मेरी भाई बहन सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि शादी के बाद जब मेरे पति मुझे सेक्स का पूरा मजा नहीं दे पाए तो मैंने अपने भाई को पटाने का सोचा.

मेरे पूछने पर हेड कांस्टेबल ने मुझे बताया कि इन दोनों लड़कियों का पासपोर्ट गुम हो गया है, इनकी मदद कर दो और इनसे पैसे ले लेना. रानी बोली- मेरे राजा, मेरी चूत का सुराख अभी पूरी तरह से नहीं खुला है.

वो गांड मटकाते हुए कमरे में चली गयी और उसने जाते हुए कहा- जब मैं आवाज दूँ, तो बेडरूम में आ जाना. जब मैंने उससे चलने के लिए कहा, तो उसने कुछ ऐसा दिखाया जैसे उससे कोई फ़ालतू का काम करने के लिए कह दिया गया हो. मैंने उससे धीरे से कहा- मेरी जान, मैं तो तुम्हारा दीवाना हो गया हूं.

जब मैंने उसको जागते देखा तो पूछ ही लिया- कोई परेशानी है क्या?सुमन बोली- राजू मेरा सिर और बदन बहुत दर्द कर रहा है.

मगर मैं वो सेक्स कहानी तब ही लिखूँगा, जब आपके मेल मुझे इस बात के लिए प्रोत्साहित करेंगे. कुछ देर में मेरा दर्द कम हुआ तो वह धीरे धीरे अपनी कमर चलाने लगा।कुछ देर में उसका दर्द कम हो गया और उसकी स्पीड भी बढ़ गयी। उसके प्री-कम की चिकनाहट से लण्ड आराम से मेरी गांड के अंदर बाहर जा रहा था. लेकिन सिर्फ एक ही लड़का था जिसके साथ सोनू की फोटो वगैरा थी।मैं समझ गया कि वही अभिनव है.

मैं भी समझ सकता था कि ऐसी औरत को अगर लंड न मिले तो वो ज्यादा दिन तक खुद को रोक नहीं सकती है. उनकी बात सुनकर मैंने भी उनकी चूचियां दबाते हुए कह दिया- इतनी ही आग लगी थी भाभी … तो ब्लू फिल्म दिखाने की जगह सीधे चुत ही दिखा देतीं.

मैं मम्मी के सारे चैट और कॉल रिकॉर्डिंग सुन रहा था पर उसमें मुझे कुछ भी हाथ नहीं लगा. कुछ देर डॉगी स्टाइल में चोदने के बाद पापा जी ने मुझे फिर से सीधा लिटा दिया और अपना लंड फिर से डाल दिया. धीरे धीरे लंड को चुत के अन्दर बाहर करते हुए अंकल एक स्पीड से मुझे चोदने लगे.

सेक्स पोर्न

कुछ दिनों बाद मैंने महसूस किया कि वो फिर से मेरे सामने बिंदास बर्ताव करने लगी थी.

मैंने उसके मन की इच्छा को भांपते हुए जिस्मों के मिलन की घड़ी को करीब लाते हुए उसकी चूत में अपने चिकने लंड का सुपारा गच से घुसा दिया. लेकिन मेरा यह मानना है की जब इतनी मस्त साइट पर जब कोई आता है तो दिलो दिमाग़ में चुदाई की चूं चूं और लन्ड की लपलप को लेकर ही आता है. फिर पापाजी जाने लगे; उन्हें लगा मेरा पानी निकल गया था तो शायद अब मैं सेक्स न करूं.

कुछ ही देर में लंड आसानी से अन्दर बाहर होने लग गया और छप छप की चुदाई की मस्त आवाजें कमरे में गूंजने लगीं. तभी वो बोली कि यदि मैं आपकी पीठ पर चढ़ जाऊं, तो डिप्स लगा लोगे?मैंने हां कर दी. सेक्सी इंग्लिश मूवी दिखाओमैंने कहा- साली कुतिया, तुझे मां बना कर मुझे बदले में क्या मिलेगा?वो बोली- मेरे राजा, अगर तुमने मेरी ये चाहत पूरी कर दी तो मैं तुम्हारे लिये और भी नयी चूतों का इंतजाम कर दूंगी.

इसलिए उसने मुझे अपने ऊपर कर लिया और मेरे होंठों को पीते हुए मेरे लंड पर चूत को रगड़ने लगी. वो एकदम से मस्त हो गई और मेरा मुँह अपनी चूत पर दबाते हुए अपनी गांड उठाने लगी.

यह घटना आज से 7 साल पहले की है जो मेरी और मेरे मामा की लड़की यानि कुंवारी ममेरी बहन के साथ पहले सेक्स की है. पूजा भाभी से मेरी नार्मल बातें होती थीं, उनके हस्बैंड कोई सीमेंट फैक्ट्री में काम करते हैं. रात में जब सो जाते तो दोनों दूध का ग्लास लेकर आतीं और हमलोग जम कर चुदायी का आनन्द उठाते.

इसके लिए आपको पहले मुझे मेल करनी होगी, मुझे बताना होगा कि आपको मेरी हिंदी सेक्सी स्टोरी कैसी लगी? … फिर देखूँगी. पर दूसरी चुदाई में मैंने लंड खूब चूसा था … और अब तो मुझे लंड एक कुल्फी लगने लगा था. तभी दिशा ने दरवाजा खोला।दिशा को देखा तो मैं एकदम से उसे देखता ही रह गया। उसने पीले रंग की टीशर्ट और शोर्ट पहनी थी। वह इस समय बहुत ज्यादा हॉट लग रही थी।दिशा- अब घूरते ही रहोगे या अंदर भी आओगे?मैं- दिशा, आज तुम बहुत ज्यादा सुंदर लग रही हो।दिशा- तारीफ के लिए थेक्स.

मेरी मामी एकदम गर्म हो गई, चुदने के लिए तड़पने लगी, उनकी चूत पानी छोड़ने लगी।वो उठी और बाहर का दरवाजा बंद कर के आई ताकि कोई आ न सके.

चूंकि हम दोनों लगभग तीन साल से एक ही ग्रुप में रह रहे थे, तो बातचीत कुछ ज्यादा होना लाजिमी था. मैं उसकी चूचियों को पीते हुए उसकी चूत में पैंटी के ऊपर से ही अपने लंड के धक्के देने लगा.

मैं भी उसे रोकता नहीं हूँ, मैं वक्त बे वक्त किसी न किसी को सैट करके चुदाई करता रहता हूँ. उस वाहन के पास आने पर मैंने देखा कि ड्राइविंग सीट पर ब्रून ही बैठा था. आकाश के मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं और वो राजश्री के मुंह में पूरा लंड घुसाने की कोशिश कर रहा था.

पापाजी का लंड मैं बार बार थूक लगाकर गीला कर देती और अपने मुँह से निकल देती ताकि मेरे पति उसे देख सकें. मैंने एक पल की भी देर नहीं लगाई और उनके मम्मों को दोनों हाथों में भर कर खूब मसलने चालू कर दिए. मुझे चुदाई के टाइम पर गालियां बहुत पसंद हैं … मैं भी तुझे गाली दूंगी जान.

ट्रिपल स्टार बीएफ फिर वो खुद आगे पीछे होने लगी, तो मैंने उसकी कमर पकड़ कर फिर से उसे चोदना शुरू कर दिया. वो सेक्स चैट में इतनी गर्म हो जाती थी कि वो खुद भी रोक नहीं पाती थी.

हिंदी बीपी एक्स

आपको मेरी टीचर मैम कीमस्त चुदाई की कहानीकैसी लग रही है …प्लीज़ मुझे मेल जरूर करें. बंगलोर में बस में सफ़र करने पर लड़कियों की सीट अगले हिस्से में होती है और लड़कों पीछे बैठना होता है. ’ कहते हुए मेरे लंड से खेलने लगी और लंड की खुशबू से पागल होकर सुपारे को चाटने लगी.

जब भी मेरा लंड किसी चुत के अन्दर जाता है, तो चुत वाली की कराहें निकल जाती हैं. अब मेरी बिना बालों की चूत उनके सामने थी जो पहले से बहुत गीली हो गयी थी. सेक्सी वीडियो फिल्म हिंदी में दिखाइएदोनों तरह के आदमियों को अपने काम की जगह, हॉल में आना मुफीद नहीं लगता था.

ससुर का लंड मुझे बहुत मज़ा दे रहा था और मेरी चूत उनके लंड पर रगड़ मार रही थी.

चौथे दिन मैंने अपनी एक टांग चाची के ऊपर रखी और एक पल सांस रोके पड़ा रहा. मैंने नीचे से चाची की चूत में धक्के देना शुरू किया तो चाची से बर्दाश्त नहीं हुआ.

अगर बीच में कपड़े का पर्दा न होता तो सुमन की चूत में मेरा लंड कब का अंदर जा चुका होता. मैं बोला- अज़रा जी, आज की दुनिया में कोई अकेला नहीं होता। भगवान साथ होते हैं सबके।फिर मैंने उन्हें चुप करवाया और चलने के लिये बोला. चूंकि यह घटना मेरे परिवार से जुड़ी है इसलिए मैं पात्रों के नाम बदल कर लिख रहा हूं.

कोमल मुझसे नॉर्मल ही बात कर रही थी मतलब अमीषा ने उसे कुछ नहीं बताया था.

अपने फोन पर पोर्न फिल्में देखना और दोस्तों के साथ मस्ती मजाक तो बहुत होता था लेकिन कभी स्पर्म डोनेट करने के बारे में सपने में भी नहीं सोचा था. एक बार तो उसने छुड़ाने की कोशिश की लेकिन मैंने उसको अपने बदन से चिपका लिया. कुछ दिन पहले ही आप लोगों ने हम शौहर-बीवी की कहानीबीवी की चुदाई वीडियो काल पर दिखायीफ्री सेक्स कहानी साईट पर पढ़ी होगी.

सेक्सी पिक्चर औरंगाबादआह … हम्म … हां … हां!फिर उसने मेरे पीछे आकर अपने लन्ड को मेरी भूरी गांड पर लगाया. थोड़ी देर बाद जब एक बार फिर से हाथ डाल कर निकाला, तभी उसने मेरी उंगली अपने मुँह में ली और उसे चाट कर साफ़ कर दी.

बीफ विडिओ हिंदी

उनको देख कर ही मेरा लौड़ा खड़ा हो गया। मैं उनको चोदना चाहता था, पर उस दिन नहीं चोद सका. फिर उसने मेरे लंड को देखा और बोली- इतना मोटा लंड! मुझे डर लग रहा है इसको देखकर. लेकिन तुमने हमें नंगी देखा है, तो अब तुम्हें भी पूरे कपड़े उतारने होंगे.

उस वाहन के पास आने पर मैंने देखा कि ड्राइविंग सीट पर ब्रून ही बैठा था. इसलिए मैंने अपनी एक लेग्गिंग को अपनी चूत के पास से पूरा फाड़ दिया और उसके ऊपर एक टी शर्ट पहन ली. चाची की चूत में जैसे ही लंड घुसा उनके मुंह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल गयी.

थोड़ी ही देर में भाभी ने गांड को उठा कर चूत में लंड को लेना शुरू कर दिया. सामान सैट होते ही हम लोग जाने को हुए, तो मैम ने बोला- अरे … तुम लोग चाय तो पीते जाओ. एक बार तो उसने गूं… गूं … की मगर दो पल के बाद ही उसने मेरे सिर को पकड़ लिया और मेरे बालों में हाथ फिराते हुए मेरे होंठों को चूसने लगी.

मुझे आपके काम के बारे में मालूम है कि आपका मालिश का काम बड़ा संतोषजनक होता है. मैंने उसकी बुर और गांड चूसनी अथवा चाटनी जारी रखी जिसके चलते वो एक बार फिर से गर्म हो गयी और इस बार उठकर मेरा लौड़ा अपने प्यारे प्यारे हाथों से सहलाने लगी.

आकाश ने उसकी स्कर्ट को उठा दिया और राजश्री को हल्का सा झुकने के लिए कहा.

मेरी नजर नीचे गयी तो बाबा की जांघों के बीच में उनके घने काले, बड़े-बड़े झांटों के बीच में काला सा लिंग अपना फन उठाये फुफकार रहा था. गुजराती सेक्सी कॉमेडीमेरी हैंडराइटिंग भी काफी सुंदर है इसलिए चार्ट देख कर मैं फूला नहीं समा रहा था. आज की ताजा सेक्सी पिक्चरमैं उनके लिप्स पर काटता तो कभी उनके गालों पर!इतने में शोभा भी सिसकारियाँ लेने लगी. कुछ देर बाद उसने पानी छोड़ दिया और मुझसे बोली- भैया बस करो!तो मैंने कहा- बस थोड़ी देर और!मैं जोर से धक्के लगा कर उसको चोदने लगा।कुछ देर बाद मेरा शरीर अकड़ने लगा, मैं पीहू के ऊपर लेट कर और जोर से धक्के लगाकर उसे चोदने लगा.

थोड़ी देर बाद उसको पूरा मज़ा आने लगा और बहुत ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां लेकर कहने लगी- आह चाचू … और तेज़ करो … अब मजा आने लगा है … आंह और तेज़ और तेज़ … चाचू चोद दो मुझे … आंह मेरी चुत का बैंड बजा दो … आह चाचू प्लीज़ मुझे अपनी रंडी बना लो … अहांआ ओह ओह उफ्फ़ मैं मरी … मैं चुद गई अपने चाचू से … अहह ओह और चोदो.

नजरें मिलते ही एक पल रुकते और अगले पल हम दोनों फिर से चूमाचाटी शुरू कर देते. मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सबको मेरी ये कामुकता से भरपूर सेक्स कहानी पसंद आई होगी. एक अच्छे दोस्त की तरह मैंने उससे पार्टी की मांग की, तो उसने बताया कि इस साल वो जन्मदिन नहीं मनाने वाली है.

मुझे उसकी तरफ से इसका कोई संकेत नहीं मिल रहा था, इसलिए मैंने उस मुलाकात में कोई हरकत नहीं की. मैंने कहा- हां पापाजी … और खासकर चुदाई करने वाला आप जैसा हो तो क्या बात है!पापाजी बोले- बहू, अब तो हर दिन रात तुम्हारी चुदाई पक्की है. मैंने कहा- पहले तुम्हारी जांच होगी उसके बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचा जा सकता है कि आगे क्या करना है.

सेक्स सेक्स वीडियो चुदाई

लेकिन काफी देर तक जब उसका कोई विरोध नहीं हुआ, तो मैंने धीरे धीरे उसकी चूचियों को दबाना शुरू किया. घुटनों तक पैंटी करके मैं उनकी जांघों पर चाटने लगा, इससे वो एकदम मचलने लगीं और अपनी टांगें हवा में उठाने लगीं और चादर को और भी जोर से दबोचने लगीं. नेहा प्रिया की ओर देखते हुए बोली- सब्जी लेने फरीदाबाद गयी थी क्या?प्रिया अन्दर आ चुकी थी और वो बेहद खूबसूरत लग रही थी.

मेरे प्रिय पाठको, आपको मेरी कहानी कैसी इसके बारे में अपनी राय मुझे जरूर भेजें.

क्योंकि जिस एरिया में हम दोनों आए थे, उसकी पहचान के बहुत सारे लोग उस एरिया में रहते थे.

मैंने उनके एक मम्मे को अपने मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया और उन्हें काटना भी शुरू कर दिया. बस 5 मिनट किस करने के बाद मैंने उनके ब्लाउज को ऊपर सरकाया, ब्रा ऊपर की और उनकी दोनों चूचियों को चूसने लगा. सेक्सी फिल्म हॉलीवुड में सेक्सीमुझे सेक्स करने का बड़ा शौक है मैं अब तक बहुत लोगों से चुद चुकी हूँ और मैं चुदने के नए नए लंड ढूंढती रहती हूँ.

तभी हमारी और ब्रून आ गया उसने हम लोगों से आज के प्रोग्राम के लिए पूछा. इसे आप गूगल पर सर्च करना या आप मेरे इन्सटाग्राम अकाउंट पर देख सकते हैं।मैं मामी की उम्र बताना भूल गया. एकदम से लंड में से वीर्य निकलने लगा और पिचकारी दर पिचकारी मैंने शीशी में वीर्य भर दिया.

मैंने उनके होंठों को दबाया नहीं … क्योंकि मैं उनकी चीख सुनना चाहता था. अंकल ने खुद को मां के ऊपर लिटाया और उनको धक्का देने लगे और धीमे धीमे अंकल का 4 या 5 इंच लंड मां की चूत के अंदर तक समा गया.

पापाजी ने अपना लंड बाहर निकाल लिया और फिर से उसे थूक लगा कर मेरी चूत में घुसा दिया.

थोड़ी देर में छोटी नीमा उठी और अपनी बड़ी बहन प्रेमा की चूत चूसने लगी. आपको मेरी यह सेक्सी कहानी कैसी लगी इसके बारे में अपने विचार जरूर मुझे बतायें. मैं हमेशा पढ़ाई में ही लगा रहता था तो मुझे लड़की पटाने का कोई अनुभव नहीं था.

सेक्सी वीडियो एचडी हिंदी ऑडियो सोने से पहले उधर जब मैं अपनी गर्लफ्रेंड से फोन पर सेक्स चैट कर रहा था, तो उसकी गर्म बातों से मेरा हाथ मेरे लंड को बाहर निकाल कर सहला रहा था. मैं अंतर्वासना का नियमित पाठक हूं और मेरी कहानी करीबन आज से 5 साल पहले की है.

तो वो मुस्कुराती हुई बोली- रख लीजिए।उसके बाद हम दोनो ने कपड़े पहन लिए और मैं पीहू को लेकर घर आ गया।दोस्तो, आपको मेरी यह दोस्त की बहन की चूत की चुदाई कहानी कैसी लगी?आप मुझे[emailprotected]पर बताना न भूलें. पहले उनके लिए मेरे मन में कुछ गलत तो नहीं था, पर उनकी इस बात से मुझे बड़ा अच्छा सा लगा. वो दर्द से ज़ोर ज़ोर से रोने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… चाचू मर गई मैं … उई चाचू … दर्द हो रहा है … प्लीज मत करो … मैं मर गयी … प्लीज़ मेरी चुत फट गयी है … इसे निकाल लो.

জঙ্গলে সেক্স

मैं मामी की गांड पर चांटा मारता, मामी की चुचियों को रगड़ता, उनके होंठों को पागलों की तरह चूसता. चूंकि मैं हड़बड़ी में थी तो सामने से आती हुई बाइक दिखाई नहीं दी और मैंने बाइक वाले को ठोक दिया और वो लड़खड़ाकर गिर गया. मैं अपना माल गिरा कर मामी के बदन पर लेट गया।इस दौरान मामी कई बार झड़ गई थी.

मैंने कहा- अब मुझे भी जन्नत का आनन्द लेने दो और मैंने धकाधक अपनी साली की चूत को पेलना शुरू किया. मैंने उसको बिस्तर पर चित लिटा दिया और उसकी रसीली चूत पर अपने होंठ धर दिए.

फिर मैंने पूछा- अच्छा, ठीक है, तो फिर क्या लेना पसंद करोगी?वो बोली- जो आपको सही लगे.

मैं कुछ समझा नहीं तो मैंने सुमन से पूछा- मेरी वजह से क्यों, मैंने तो ऐसा कुछ भी नहीं किया है. उसने तुरंत फुर्ती दिखाते हुए भूखी शेरनी की तरह मेरे होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और चूसने लगी. बस 5 मिनट किस करने के बाद मैंने उनके ब्लाउज को ऊपर सरकाया, ब्रा ऊपर की और उनकी दोनों चूचियों को चूसने लगा.

मैंने कहा- फिर देर किस बात की पापाजी? अब घुसा दो ये मोटा मूसल लंड मेरे चूत में!फिर पापाजी ने अपना लंड मेरी चूत घुसा दिया और हल्के हल्के धक्के लगाने लगे. फिर यश ने मुझे उठा कर ऑफिस टेबल बिठाया और मुझे धक्का देकर मेरी जीन्स खोलने लगा. वो अपनी चूत में मेरे लंड के माल को महसूस करने लगी और आनंदित होने लगी.

मैंने कहा- आप इस तरह के शौक भी रखती हो क्या?वो बोली- मनोज ने ही मुझे इसकी आदत लगाई है.

ट्रिपल स्टार बीएफ: मामी ने कहा- अपने घर पर ही जब भी समय मिले तो सुमन को पढ़ा दिया करो. आगे दूसरी बार में अंजलि की चुदाई की कहानी फिर से बताऊंगा … जिसमें उसकी गांड का छेद भी खुलेगा.

उसकी चुदास बढ़ाने के लिए मैंने आज उसी के सामने में अपने रात में पहनने वाले कपड़े बदलना शुरू कर दिए. दस मिनट तक किस करने के बाद में मैंने उसकी टांगों को खोला और उसकी चुत के छेद में अपना लंड सैट करके एक जोरदार झटका दे मारा, उसकी एकदम से चीख निकल गई. अब मैं लंड तेजी से अन्दर डालता और दुगनी रफ़्तार से लंड को बाहर खींच लेता.

मैंने सोचा कि मेरी गर्लफ्रेंड तो नहीं आई है, इसलिए इसकी चूत की चुदाई का सीन ही देख लेता हूं.

तीसरी बार लंड लेने पर अभी मेरी चुत पूरी तरह से लंड लेने की अभ्यस्त नहीं हुई थी. हर धक्के पर उसके मुंह से आह्ह… ऊह्ह… आह्ह… की मस्ती भरी आवाजें निकल रही थीं. मुझे सेक्स करने का बड़ा शौक है मैं अब तक बहुत लोगों से चुद चुकी हूँ और मैं चुदने के नए नए लंड ढूंढती रहती हूँ.