हिंदी बीएफ चाहिए वीडियो में

छवि स्रोत,ब्लू सेक्सी पिक्चर डाउनलोड

तस्वीर का शीर्षक ,

राजस्थानी कॉमेडी सेक्सी: हिंदी बीएफ चाहिए वीडियो में, [emailprotected]हिंदी Sexxy Story का अगला भाग:लेडीज टेलर ने चोद दिया- 2.

महाराज का सेक्सी वीडियो

गर्लफ्रेंड की चुदाई हिन्दी में पढ़ें कि कैसे मेरे पुराने यार ने मुझे अपने लंड के लिए तरसाया, तड़पाया. छोटी लड़की की सेक्सी फिल्म वीडियोइंडियन वाइफ सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी बीवी निहायती खूबसूरत और सेक्सी है.

फिर वो मेरे मम्मों को चूसते हुए बोले कि टीना मैं तुम्हें पाने के लिए न जाने कब से तड़प रहा था. प्रेम चोपड़ा का सेक्सी वीडियोकाफी देर तक इस मुद्रा में चुदवाने के बाद मनीषा ने कहा- मेरी टाँगें दर्द कर रही हैं.

अब दस मिनट के आराम के बाद रवीना फिर से मेरे लंड को चूसने लगी और मैं नगमा के बूब्स को पीने लगा.हिंदी बीएफ चाहिए वीडियो में: गीता- वो एक बड़ी उम्र का आदमी है और मुझसे उसका बड़ा नुकसान हो गया था.

उसके होंठ गुलाब जैसे ऐसे रसीले कि पूरी रात चूसता रहूँ, तब भी और ज़्यादा चूसने की तलब लगी रहे.वो दर्द की वजह से मुँह को खोल कर और आंखें बड़ी करके मेरी तरफ़ देख रही थी। अंजू के हाथ मेरी छाती पर थे जो मुझे पीछे धकेल रहे थे.

ओसामा सेक्सी - हिंदी बीएफ चाहिए वीडियो में

मैंने उनसे पूछा- आपको मेरे साथ मजा तो आया ना!उन्होंने मेरे लंड की तारीफ करते हुए कहा- तुम्हारा लंड बहुत अच्छा है.मैं उसके सामने घुटनों पर बैठ गया और उसकी पैंटी को जीभ से चाटने लगा.

मुझे पता था कि प्यार व्यार तो इसे करना नहीं है कम से कम इसकी चूत को चोदने का मजा तो ले लूं. हिंदी बीएफ चाहिए वीडियो में मैं बोला- लेकिन तुम्हारे घर में किसी ने हमें देख लिया और हम चुदाई करते हुए पकड़े गये तो?वो बोली- नहीं पकड़े जायेंगे.

जब मुझे लगा कि बाथरूम से कोई बाहर आ रहा है, तो मैं वहां से तुरंत हट गया और बाहर आकर खड़ा हो गया.

हिंदी बीएफ चाहिए वीडियो में?

उन्होंने कहा- ठीक है, फिर फिल्म बंद ही समझो, और मैं तो बर्बाद ही हो गया हूं, वैसे फ्रस्ट्रेट हो कर मैं सुसाइड भी कर सकता हूं. जैसा कि आपको मैंने शुरुआत में ही बताया था कि मेरी बीवी पारिज़ा दिखने में एकदम साउथ की हीरोइन काजल अग्रवाल की कार्बन कॉपी थी, इसलिए इस समय मुझे ऐसा लग रहा था कि काजल अग्रवाल मेरे गोद में बैठकर अपनी चुत पेलवा रही है. मैं एक पैर पर हाथ फेर कर, उनकी दूसरी जांघ को किस करने लगा, चाटने लगा और बीच बीच में उसे काटने भी लगा, जिसके कारण सुनयना भाभी के मुँह से कामुक सिसकारियां निकलने लगी थीं.

मैं भी नशे में था और मुझे भी पारिज़ा की चूत याद आ रही थी तो मैंने अपने लैपटॉप पर सनी लियोनी एक ब्लू फिल्म लगा दी और लंड सहलाने लगा. मैंने सबसे पहले ब्रा को बेतहाशा चूमना शुरू कर दिया और हवस में वशीभूत मैं सीढ़ियों से उतर रहा था. मैंने उसे रोकना चाहा तो वो मुझे अंदर की ओर जाने का इशारा करने लगी और मैं अंदर की ओर हो लिया.

मगर वो कहते हैं कि भगवान के घर देर है, अंधेर नहीं। एक दिन उसने बताया कि वो किसी काम से अमीनाबाद जाएगी तो रास्ते में कुछ जुगाड़ हो सकता है। जब मुझे ये पता चला तो उस रात में मारे खुशी के मुझे नींद नहीं आई।हम लोगों का गाँव रेलवे स्टेशन के नजदीक पड़ता है तो हम लोगों का आवागमन ट्रेन से ही होता है. हमने खाना खाया और फिर वो जाने के लिए कहने लगी तो मैंने थोड़ा सा उदास चेहरा बना लिया. मेरा लंड इतना बुरी तरह से खड़ा होकर पत्थर बन गया था कि मुझे उसमें दर्द होना शुरू हो गया था.

सच में दोस्तो, एक अलग ही आनंद की अनुभूति हुई मुझे मिकी की चुदाई करके. दो बार ऐसा करने के बाद जब वो तीसरी बार मुझे नीचे करने लगा, तो मेरी चुत उसके लंड के ऊपर ही टिकी हुई था.

अपने चूचे मैंने अपने ब्लाउज से बाहर ही कर दिये थे ताकि पंकज उनको दबाता रहे.

तो वो हंस पड़ी और बोली कि क्या तारीफ़ के लिए शब्द नहीं थे!मैंने समझ लिया कि ये मुझसे कुछ मस्त सी तारीफ़ सुनना चाहती है.

उसकी सांसों से आ रही वो शराब की महक मुझे अच्छी नहीं लग रही थी मगर फिर धीरे धीरे जैसे मुझे भी उसका नशा सा होने लगा. मैंने उसकी ब्रा और पेंटी को उसके जिस्म से अलग करने में देर नहीं लगाई. उस सहेली के साथ वो सब कुछ शेयर कर लेती है इसलिए ये सब उसको बता रही थी.

मैंने पहले भी कई बार उसका स्टेटस देखा था मगर उससे कभी बात नहीं की थी. मेरा बेटा वासु है न … वासु सामान रखवाने में मदद कर देगा।जब आंटी चले गई तो मैंने मम्मी से कहा- मेरा नाम लेना जरूरी था क्या आपको?मम्मी बोली- तू थोड़ा सा सामान रखवा देगा तो घिस नहीं जायेगा! वैसे भी पड़ोसियों की मदद करनी चाहिए. फिर मैंने धीरे से लंड पर दबाव दिया और मेरा लंड पक् … करके मेरी मां की चूत के अंदर चला गया.

सुरेश- आपके हालत ठीक नहीं है, तो आप कैसे घर को चला पाती हो?सुलक्खी- बाबूजी अब क्या बताऊं, बस मर मरके जी रहे हैं.

मेरे समझाने के बाद भी वो नहीं मान रही थी।अब अंजू ग़ुस्से से बोली- जो करना है कर लो. लगभग आधे घंटे तक हम लोगों ने एक दूसरे के शरीर से खेला और नहाने के बाद बाहर आ गए. तुम एक काम करो, कल सुबह 6 बजे अपने भैया के साथ जाकर ये कार्ड बाँट देना.

दुबारा से मैंने लौड़े को वापस उनकी चूत पर रखा और इस बार पहले से भी तेज गति से चूत में धक्का दे मारा. मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और मैं जोर जोर उसकी चूत में धक्के देने लगा. उनके हटने के बाद मेरी जान में जान आयी और हम तीनों एक एक पैग लेकर साथ में सो गए.

मैं लपक कर उसके पास पहुंचा और हैप्पी बर्थडे बोलते हुए उसे विश किया।वो मुस्कराकर मेरी ओर देखने लगी और बोली- अरे अंकल आप अभी तक नीचे ही हैं? ऊपर चलिए ना, सब लोग ऊपर ही हैं।मैंने कहा- बस मैं भी ऊपर ही जा रहा हूं। तुम चलो.

मैं दो बार झड़ चुकी थी मगर वो किसी पहलवान की तरह मेरी चुत को चोदता तरहा. अपने हाथों से वो मेरे चूचे बड़ी ही संवेदनशीलता के साथ सहला रहा था और मैं दोनों हाथों से उसके लन्ड और गोलियों को सहला कर उसकी आग भड़काने की पूरी कोशिश कर रही थी।तभी उसने मुझे धक्का मार कर पलंग पर गिरा दिया और झट से मेरे ऊपर आ गया। ऐसा करने से उसका लौड़ा मेरी चूत के सामने टांगों के बीच फंस गया और उसने मुझे कस कर अपनी बांहों में दबा लिया.

हिंदी बीएफ चाहिए वीडियो में मैं देखने के लिए अन्दर घुस गया, तो सुषमा मैडम भी नीचे की ओर झुक गईं. मुझे एक बात अच्छी नहीं लगी कि मैं अपनी बीवी को गर्म करता, उसको चुदने के लिए तैयार करता और अंकल आकर पारिज़ा को चोद जाते थे.

हिंदी बीएफ चाहिए वीडियो में सुबह जब मैं उठा तो देखा कि सुबह के 4 बज रहे हैं तो मैंने भाभी को जगाया कि वो अपना दरवाजा बंद कर लें क्योंकि मैं अपने घर जा रहा हूँ. मैं उसे देखता ही रह गया। वो बहुत ही सुन्दर लग रही थी।उसने एक टाईट जेगिंग्स और एक टाईट टॉप पहना हुआ था। मैं बस उसे ही देख रहा था और कुछ नहीं कर रहा था। उसने मुझे हैलो कहा तब भी मैं कुछ नहीं बोला.

महक बोली कि तुम्हारे इस लंड के लिए कोई और स्पेशल दिन होगा, जब उसे मेरी चूत का स्वाद चखने को मिलेगा.

सेक्सी चूची

फिर उसका हाथ मेरी ब्रा की ओर बढ़ने लगा तो मैंने सोचा कि अब मेरी भी चोरी पकड़ी जा सकती है, इसलिए मैंने नींद में नाटक करते हुए उसका हाथ पकड़ कर हटा दिया और दूसरी तरफ करवट लेकर सो गयी. सुमन की साड़ी भी नेट की थी यानि ऐसी जालीदार साड़ी, जिसमें से उसका गोरा बदन स्पष्ट झांक रहा था. वो बिल्कुल मुझसे क्लोज़ होकर मजे से सो रही थीं और मैं अपनी ज़िंदगी में किसी औरत का पहला स्पर्श पाकर निहाल हुए जा रहा था.

मैंने धीरे-धीरे भाभी को चूमना शुरू कर दिया और उनके गाल, नाक, कान सबको चाटने लगा. इससे उसकी चूचियों बाहर निकलने को हो रही थीं और उसकी गांड भी बाहर को निकली हुई थी. मगर वो लोग मेरे इंतजार में रुके हुए थे क्योंकि लड़की को देख कर आखिरी फैसले में मेरी सहमति भी जरूरी थी.

उसने लाल रंग की साड़ी पहनी हुई थी, जिसे देख कर मैं समझ गया कि ये मां की साड़ी थी, जिसे पापा ने अब तक संभाल कर रखा था.

मैंने फिर से उसकी गांड पर हाथ फेरा और इस बार उसके चूतड़ों को दबाने लगा. भाभी अपना हाथ छुड़ाने की कोशिश करने लगीं, पर मैंने उनका हाथ कस कर पकड़ा हुआ था. वो बिना कुछ बोले मेरा साथ देने लगी क्योंकि पारिज़ा की प्यास अभी बुझी नहीं थी.

आखिर में उसने एक बहुत तेज धक्का लगाया और अपना सारा वीर्य मेरी चूत में छोड़ दिया। झड़ता हुआ वो फिर ऐसे ही मेरे ऊपर लेट गया। तब जाकर मेरी कुछ जान में जान आई। फिर रोहित थक कर एक तरफ लेट गया।उस पूरे दिन और रात को मिलाकर उसने मुझे 7-8 बार चोदा था. लगभग एक महीने बीते थे कि श्वेता का फ़ोन आया कि पापा को हार्ट अटैक आया है. जब मर्द मेरी उभरी हुई चूचियों को लालच भरी निगाहों से देखते हैं, तो मेरा रोम रोम प्रफुल्लित हो उठता है।खैर आती हूं वापस कहानी पर!मैंने उसे देखा, और अचानक से मेरे हृदय मेंकाम की ज्वालाजग गई.

चूंकि मैं भी चिकन की दीवानी हूं तो मैंने उससे कहा- तो मुझे कब खिलाओगे?वो बोला- जब तुम बोलो. फिर थोड़ा संभल कर हम उठे और मैंने देखा कि उसके लंड पर खून लग गया था.

फिर अंकल ने धीमे धीमे से धक्का लगाना शुरू कर दिया और पारिज़ा सीत्कार करते हुए बेडशीट पकड़ कर चुदने लगी. मेरी गर्लफ्रेंड की सेक्स चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं एक लड़की को पसंद करता था. एक और झटका मुझे लगा कि कल नंगी फोटो सेशन के लिए बात हुई है मगर यहां तो कहानी ही कुछ और है.

मैं पसीने से चिपचिपा हुआ पडा था तो मैं नहाने के लिए बाथरूम में चला गया.

मेरा एक पैर अपने कंधे पर रख कर और दूसरा नीचे करके मुझे जोर जोर से चोदने लगा. वो मेरे बदन पर हाथ फिराते हुए और मुझे सहलाते हुए मस्ती में चुदने लगी थी. बी कॉम प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण करने के बाद मैंने एक विख्यात कॉलेज से फाइनेंस में एम.

कभी कभी सोचती थी कि काश यही मेरा हस्बेंड होता!मगर ऐसा तो हो नहीं सकता था. पहले तो पतिदेव ने दो गिलास में ही ड्रिंक बनाई, लेकिन रोहन कहने लगा कि भाभी आप भी साथ दो.

बहू ने सर उठा आकर मुझे किस किया और बोली- ससुर जी, थोड़ा प्यार से बेटी समझ कर पेलना. बहुत भीड़ थी, फिर हमने स्लीपर बस में जाने का प्रोग्राम बनाया। स्लीपर बस दिल्ली आईएसबीटी से मिल जाती है. वो कैसे, मैं आपको इसी रोड सेक्स कहानी के माध्यम से बताने जा रही हूं.

राजस्थानी सेक्सी सेक्स

कुछ देर के बाद मैं खड़ा हो गया और पारिज़ा के सामने मैंने अपना लोवर और निक्कर निकाल दिया.

वो बोली- छोटी बहन और भाई के स्कूल से आने का समय हो गया है।मैं बोला- अगर अभी आ भी गए तब तुम कोई किताब निकाल लेना और कह देना कि ये प्रश्न सॉल्व नहीं हो रहे थे तो अंकल उसे सॉल्व करवा रहे थे. सुबह मोनिषा मुझसे पहले उठकर उसने अपने कपड़े ठीक किए और नहा धोकर कॉलेज चली गई. उसकी टांगों के बीच में आकर मैं उसके ऊपर लेट गया और उसकी चूचियों को पीते हुए उसकी चूत को जोर जोर से हाथ मसलने लगा.

सुबह ग्यारह बजे उठे तो हम दोनों के बदन पर हम दोनों के कामरस की सूख कर पपड़ी बन गयी थी, जिसे देख कर हम दोनों मुस्कुरा दिए और एक दूसरे को चूमने लगे. मगर ये क्या? मालिनी ने खुद से ही मुझे अपने ऊपर खींचते हुए एक झटके में ही मेरा पूरा लंड अपनी चूत के अंदर कर लिया. सेक्सी मूवी एक्स एक्स एक्स फुल एचडीजैसे ही अंकल अन्दर आए, उन्होंने हमें मस्ती करते हुए देख लिया और वो हल्के से खांस कर अपनी उपस्थिति दर्ज कराने लगे.

अब वो तेज़ तेज़ सिसकारी ले रही थीं- आआहह उनंह उम्म्म्म उफ्फ मुझे मज़ा आ रहा है ज़ाकिर … आहल्ला मुझे ऐसे ही प्यार करो ज़ाकिर … आअहह मुझे और ज़ोर से चोदो आहह!मैंने भी अनवरी चाची को चोदने की स्पीड बढ़ा दी. मैंने भाभी को गले लगाया हुआ था, तो मैंने हल्के से अपने होंठ भाभी की गर्दन पर रख दिए, इस कारण भाभी ने मुझे और जोर से कसते हुए जकड़ लिया.

तेरा बर्थडे भी तो मनाना है आज रात में।फिर मैंने अपनी पैंट की जिप लगाई और पैंट ठीक करते हुए बाहर आ गया. एहतियात के तौर पर मनीषा को बिल्कुल अलग कमरे में रखिये, उस कमरे में और कोई न जाये ताकि अगर कोरोना है तो घर के बाकी लोग संक्रमित न हों. मैं- क्यों रिया, खुश है अब? सब कुछ अब तेरी मर्ज़ी का पहन सकती है तू?रिया- हां भैया, बहुत खुश हूं.

सोचा आज अपनी देसी इरोटिक स्टोरी भी आप लोगों को बताऊं।कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देता हूं. फिर वो बोली- तो तुम्हारे इस शेर ने अब तक कितने शिकार किए है?मैंने उसके चूचे देखते हुए कहा- इसने तो ढेरों शिकार किए हैं. मेरा वीर्यपात करीब ही था और तभी कुछ देर बाद मेरे लंड ने कई जबरदस्त पिचकारियाँ छोड़ीं जो भाभी के हलक में जाकर गिरीं.

फिर मैं दीदी के घर चला गया और मैंने आँटी, अंकल, भैया, भाभी और दीदी के पैर छुए और प्रेरणा भाभी से उनकी तबियत के बारे में पूछा कि आप अब कैसा फील कर रही हो?उसके बाद अंकल से बुलाने का कारण पूछा.

थोड़े ही धक्कों के बाद विभा भाभी फ़िर से झड़ गईं और उनके दो मिनट के बाद मैंने भी विभा भाभी की चूत में अपना माल छोड़ दिया. मैंने उसी पल अपनी नज़रें नीचे कर लीं, पर ये बात मैं अपने दिल और लंड को कैसे समझाता.

मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने तपते लौड़े पर रखवा दिया और उसने मेरे लंड को हाथ में भर लिया उसके बाद वो मेरे लंड पर ऊपर नीचे हाथ मारती हुई उसको सहलाने लगी. बातचीत से पता लगा कि वो मैडम नेपाल से आ रही हैं और बहुत थकी हुई हैं. वो- हां मैं तेरी रंडी हूँ कुतिया हूँ … जब चाहे तब लंड डाल कर चोद लेना मुझे … आह … चोद!कुछ ही पलों में चुदाई का मजा आना शुरू हो गया.

करीब 11 बजे साइड वाले अंकल नीचे चले गये और घोष भाई साहब को मैंने अंदर भेजा. मैंने भी पहले उसे रोने दिया, जब वो थोड़ी ठीक हुई, तो मैंने पूछा- आखिर बात क्या है बेटी तुम क्यों रो रही हो?वो बोली- पापा मैं तो आज भी लंड को तरसती ही हूँ. बस फिर क्या था… मैं चाची की चूचियों के दीदार पाने के लिए लगा रहता था.

हिंदी बीएफ चाहिए वीडियो में हम दोनों लगातार एक दूसरे को किस करते हुए दोनों के जिस्म से खेल रहे थे. बाकी सब तो आपस में बिजी हैं … और मैं तुम्हें इस हालत में नहीं देख सकती.

देसी भाभी सेक्स वीडियो हिंदी

मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected]सेक्सी औरत की चुदाई स्टोरी का अगला भाग:साठ साल की लेडी की वासना- 2. मैंने भी अपनी आंखें बंद कर लीं।फिर धीरे-धीरे करके वह मेरे कपड़े उतारने लगा। मेरे हस्बैंड एक अलग कुर्सी पर बैठे यह सब देख रहे थे।कुछ देर के बाद रोहित ने मुझे पूरी नंगी कर दिया. लगभग यही दो-तीन मिनट तक चुत चाटने के बाद मैं भाभी के होंठों को चाटने लगा.

मैंने भाभी का साथ देते हुए अपने लंड को चुत के छेद में में लगाकर एक नीचे से एक जोर का झटका दे दिया. अब मैंने उसके गले में बांहें डाल लीं और वो मेरी चूचियों का मर्दन करता रहा. सेक्सी फोटो देसी फोटोमुझे आप लोगों की प्रतिक्रियाओं का बेसब्री से इंतजार है इसलिए अपने सुझाव मुझे जरूर भेजें.

मैंने भी मोनिषा की चूत पर पहले हाथ फेरना शुरू किया और धीरे से मोनिषा की टांगों के बीच में जाकर बैठ गया.

तब मैंने बोला- पहली बार है इसलिए कंडोम से आसानी से लंड अन्दर फिसल कर जाएगा. मैं तो अपनी किस्मत पर गर्व कर रहा था कि मौसी इतनी जल्दी पट गयी मुझसे!उसके बाद मौसी ने मेरे पूरे कपड़े उतार दिये.

सविता- मैं सौतन बन कर ही रहूंगी … अभी मयंक बोल रहे थे कि सोनम को जब से चोदना स्टार्ट किया है … उनको तो जन्नत मिल गई है. मैं तो महक के ख्यालों में खोया हुआ था और इस आवाज से मेरा ध्यान तोड़ दिया. मगर क्या हम इसमें सफल हो पाये? ये सब आपको देसी गांड सेक्स कहानी के आने वाले भाग में पता लगेगा.

अब आगे पढ़ें कि कैसे मैंने भाभी की बहन को चोदा:फराह- निकालो यार प्लीज … मेरा बुरा हाल हो रहा है.

तभी पता चला कि सुनील जी की मँझली बेटी मनीषा एक हफ्ते के लिए आ रही है. अब मैंने फिर से उसके होंठों को अपने होंठों से मिला दिया और हम दोनों किस करने लगे. मैंने थोड़ी देर तक भाभी के मम्मों को दबाया और उनकी गांड फैलाने लगा.

हॉट देसी सेक्सी वीडियो एचडीमैं लगातार चाची को पेलता ही रहा और अब तो चाची की चीखें भी बढ़ गयी थीं. तू एक दिन में लंड से गांड नहीं मरा पाएगी, पहले तेरी गांड के छेद को लंड लेने लायक बड़ा करना होगा.

બીપી પિક્ચર સેક્સ વીડિયો

ये सब करने के बाद मुझे लगा कि मैं ये क्या कर रही हूं? अपना बदन किन्हीं अन्जानों से नुचवाने जा रही हूं और तैयार ऐसे हो रही हूं जैसे अपने पति या प्रेमी से मिलने जा रही हूं!मैंने नाश्ता किया और अच्छी सी महंगी साड़ी पहन ली. मैंने तेल टपकाया और हनी को गिरा कर उनके चुचों को मसलना शुरू कर दिया. कुछ देर लंड चुसवाने के बाद मैंने उसकी पैंटी उतार दी और उसे चित लिटा दिया.

सभी लोग खाना खाकर अपना अपना गिफ्ट रोज़ी को सौंपने लगे। सबसे अंत में मैं उठा और अपना पैकेट मैंने रोज़ी की तरफ बढ़ा दिया। उसने मुस्कराते हुए मेरे हाथों से पैकेट ले लिया और उसे अपनी गोद में रख लिया।अब रोज़ी अक्सर मुझसे बात करने लगी थी. मैंने अंडरवियर नीचे किया और अपने खड़ा लंड उसके मुंह के पास लाकर उसको लंड चूसने के लिए बोला. जाते वक्त तुमने जो पीछे मुड़कर एक स्माइल दी थी ना … आज भी वो चेहरा मेरे सपनो में आता है.

फिर देखता हूं कौन है तू!” मौसा जी बोले और उन्होंने अपने कपड़े पहिन लिये और लाइट का स्विच टटोल कर ऑन कर दिया. ऐसे ही एक बार उनके एक सीनियर ने उनसे नशे में पूछ लिया था- मिस्टर मिस्त्री … आपका प्रमोशन हुए कितना टाईम हो गया है?मेरे पति बोले कि बहुत टाईम हो गया सर. मैं सिर्फ पेटीकोट में थी और ऊपर सिर्फ वो डोरी वाला अधखुला ब्लाउज था.

जब पता चला कि वो भाभी की बड़ी बहन है तो इस नाते मैं आते जाते उनसे मुँह से मजाक भी कर लेता था. वो तीसरी बार झड़ने की कगार पर थी और जोर से ‘अहह … ओह्ह … उफ्फ … अहह.

अब तक की सेक्स कहानीविधवा चाची की अन्तर्वासना जगायी- 1में आपने जाना था कि किचन में चाची ने मुझसे मेरे लंड को देख लेने की बात कर दी थी.

मैं मॉम की गांड की दरार में हाथ से मसाज करता हुआ हॉट सेक्सी मॉम के चूतड़ों को साफ कर रहा था और मेरा लौड़ा फटने को हो रहा था. सेक्सी वीडियो दूध पिलाते हुएजैसे ही मेरी नज़र प्रेरणा भाभी से मिली तभी उन्होंने अपनी एक आँख दबा दी. मुंबई ना सेक्सी वीडियोसुरेश के देखते देखते ही गधे ने अपना काम निपटा दिया और जब वो नीचे उतरा, तो उसके बड़े लंड से वीर्य टपक रहा था. धीरे धीरे मैं उनकी कमर पर आ गया और मॉम के मोटे मोटे चूतड़ मेरे सामने थे.

पहले में निप्पल को जीभ से कुरेदता हुआ उससे खेल रहा था, फिर उसे चूसने लगा.

मैंने बोला कि प्लीज़ संजू मेरा लंड चूसो न!उसने कुछ बोले सीधा अपने मुँह में लंड ले लिया और आइसक्रीम की तरह चूसने लगी. उसे दर्द होने लगा तो वो भी छटपटाने लगी और बोली- कितनी देर और लगाइयेगा?मैंने कहा- बस हो गया थोड़ा और …इतना बोलकर मैं फिर तेज़ तेज़ झटके मारने लगा. हालांकि उनके बूब्स में दूध नहीं था मगर फिर भी मीठा सा फील हो रहा था.

मैं भी जीभ अंदर घुसा घुसा कर मौसी की चूत को गर्म करने में लगा हुआ था. अमित हर शनिवार को बंगाली भाईसाहब के साथ दारू पीता था और अक्सर वो सुबह आता था लौटकर।मैं भी समझ गया कि मामला कुछ गड़बड़ है तो मैंने उससे पूछ ही लिया क्या बात है, लगता है भाभी के साथ मजे करके आया है?पहले तो उसने बताने में आना कानी की. मैं दो बार झड़ चुकी थी मगर वो किसी पहलवान की तरह मेरी चुत को चोदता तरहा.

एक्स एक्स एक्स बीपी मूवी

फिर एक रात तुली ने मुझे बताया कि पापा अब आज की रात हमारी आखिरी रात है. पहला साल पूरा होते ही अंजू का फोन आया और उसने बताया कि उसने भी जम्मू में ही जेबीटी में दाखिला लिया है. मगर मैं अबकी बार लम्बी पारी खेलना चाहता था इसलिए धीरे धीरे चोदते हुए डटा रहा.

मगर जब धीरे धीरे लंड ने अपना जादू चलाना शुरू किया तो मेरा दर्द मजे में बदल गया.

मैं भी उनके पीछे-पीछे किचन में पहुंच गया और उनकी गांड पर हाथ फेरने लगा.

एक तो पहली बार सेक्स करने का जोश था और दूसरी ओर उसका हल्का विरोध तोड़ने के लिए उसके साथ जोरा जोरी करने में भी बहुत मजा आ रहा था. मैं अपनी उंगली से एक एक बूंद उनके होंठ, उनकी गर्दन, शोल्डर पर टपकाता चला गया. सेक्सी एचडी वीडियो इंग्लिश सेक्सीकुछ देर तक उसकी मीडियम चूचियों को ब्रा के ऊपर से दबाने और सहलाने के बाद मैंने उसकी ब्रा को खोल दिया.

जैसे ही टोपा उसकी चूत में घुसा तो उसके मुंह से चीख के रूप में एक जोर की ऊंह्ह … निकली जो कि मेरे होंठ लगे होने की वजह से पैदा हुई आवाज थी. फिर मुझसे रुका न गया और मैंने एक स्टूल लेकर वहीं दरवाजे के बाहर लगा लिया. कुछ ही देर में फिर से मूड बन गया तो मैंने भी तुरन्त ही चाची को अपने ऊपर कर लिया.

करीब दस मिनट के बाद मम्मी भी झड़ गईं और मैं अपने कमरे में आकर सो गया. चाची ने आज अपनी चूचियों तक पेटीकोट कर रखा था, वो भी गीला था, इससे उनकी चूचियां दिखने की पोजीशन में थीं.

दो दिन तक सामान्य क्लास चलती रही और सर की तरफ से मुझे कोई संकेत नहीं मिला, तो मुझे लगा सर कुछ नाराज हो गए हैं शायद.

वो जोर जोर से गाली देने लगी- साले कमीने … भोसड़ी वाले … तूने मेरी देसी बुर को फाड़ कर रख दिया. और उसने मुझसे बोला- रुकिए!आह … आवाज़ और मिठास का अद्भुत संगम … मैं तो जैसे रुक ही गया और बस ठगा सा खड़ा रह गया. ‘सही कहा आपने … लेकिन आपने उस दिन मुझे सॉरी बोलने का मौका भी नहीं दिया.

सेक्सी वाली गाड़ी ड्रिंक के साथ उन दोनों की नंगी फोटोज देख कर मेरे निप्पल खड़े हो गए. सारा दिन अपने काम में व्यस्त होने के बावजूद भी मुझे अपना खालीपन बहुत खलता था.

उस बस में मुझे सीट भी आगे वाली मिली, जहां पहले से एक मैडम बैठी थीं, जो हिसार ही जा रही थीं. मैंने भी उनकी चुत के पानी को उंगली से लेकर जीभ से लगाया और टेस्ट किया. मगर फिर मैंने सोचा कि जब ये लड़कियां यहां पर दो साल से रह रही हैं तो इनकी चूत तो पूरी की पूरी खुली हुई होगी.

सुहागरात कैसे बनता है

महक तो इस दुनिया में ही नहीं थीं … वो आंखें बंद करके इस चूत चुसाई का मजा ले रही थी. कहते है न कि किसी औरत की जिद के सामने आप कभी टिक नहीं सकते, तो मैं भी पायल भाभी के सामने टिक नहीं पाया. उसने बिना ना नुकुर किये मेरे लंड को अपने मुंह में दबा लिया और उसकी चुसाई करने लगी.

एकाएक मालिनी ने फिर अपना पानी छोड़ा जो कि इस बार सीधा अंगिका के मुंह में गया. अन्तिम क्षणों में मैंने उसके मुंह में लंड पूरा घुसा दिया और इतनी जोर से उसके सिर को दबाया कि उसके गले में लंड फंस गया.

वह अक्सर घर पर आता रहता था। उसकी फाइनेंशियल स्थिति बहुत अच्छी थी।उसके गले में सोने की चेन, हाथ में सोने की घड़ी, नीचे कार और हर तरह का आराम.

वो मेरे गाल पर चूमते हुए बोली- आपसे हो पाएगा इस उम्र में?इस पर मैंने भी उसके मम्मे हाथ में भरकर कहा- एक बार मौका तो दो बहू. मुखिया सुमन की हिलती हुई चूचियों को देख कर लार टपकाता हुआ बोला- अरे ऐसा कोई बड़ा काम नहीं था. मैंने जैसे ही गर्दन को ऊपर किया, तो मुझे सबसे पहले उसके पैर दिखाई दिए.

क्या बताऊं दोस्तो, उस दिन निशु क्या बनकर आई थी! उसने ब्लैक कलर का टाइट पंजाबी सूट पहना था. मैं पागल होने लगी और फिर उसने मेरे मुंह में लंड दे दिया और चुसवाने लगा. आज मैं आपको एक ऐसी मस्त डॉटर फादर रोल प्ले सेक्स स्टोरी बताता हूं, जिसे पढ़ कर आप भी मुँह में उंगली डाल दोगे.

मैं आपसे मुहब्बत करने लगा हूँ … आप बेफिक्र रहिए, दानिश को कुछ भी पता नहीं चलेगा.

हिंदी बीएफ चाहिए वीडियो में: मैंने मुकेश सर के लंड को पकड़ अपनी चुत में डाल कर बैठ गयी, तो मुकेश सर ने मुझे खींच कर अपनी बांहों में ऐसे भरा कि मेरी गांड उठ गयी. उसकी चूत पर लंड लगाकर मैंने अपना सारा भार उसके ऊपर डाल दिया और मेरा लंड उसकी चूत में उतरता चला गया.

जब तुम चूत में माल गिराते हो तो मुझे बहुत मजा आता है और अच्छा लगता है. फिर मैंने डॉक्टर से पूछा कि क्या मैं भाभी को घर ले जा सकता हूं?तो डॉक्टर ने कहा कि ले जाइये. अब मैंने अपने ब्लाउज के सारे हुक खोल दिए और काली ब्रा में मेरे बूब्स उछलने लगे.

मैंने मां को वहीं पर फर्श पर गिरा लिया और उसकी चूचियों के ऊपर टूट पड़ा.

मैं तुम्हारे ख्यालों में खोया रहता हूँ, तुम्हारा साथ जब भी मिलता है ना … मानो बहुत किस्मतवाला महसूस करता हूँ मैं. उसने ब्रांडी की बोतल से मुँह लगाया और गट गट करके करीब सौ एमएल दारू हलक के नीचे उतार ली. (ये लंड लगने वाली बात उसी ने मुझे बाद में बताई थी)उसके बाद हम दोनों वहां से आ गये.