बंगाली सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,देवर भौजाई की सेक्सी फिल्म हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

लडकी का सेक्सी बीपी: बंगाली सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ, सुमेर और पारो हमारे पास आये तो सुमेर मुझसे बोला- भाई, तेरे में गजब का स्टैमिना है, सारी रात तुम गुलाबो को चोदते रहे और लगा ही नहीं कि यह तुम्हारी पहली चुदाई है.

सेक्सी नेतृत्व के कार्य

अमर पूरी तरह से पिंकी के ऊपर चढ़ गया और अपने लंड को अपने हाथ से पकड़ कर उसने पिंकी की चुत में सैट कर दिया. हिंदी सेक्सी चंडीगढ़मेरी मम्मी नींद में ही थोड़ा खिसकते हुए बोलीं- यही बीच में तू भी सो जा.

अब की बार जो विलियम ने मेरी नंगी चूत पर अपनी उंगलियां रखी तो मैं उस उछल पड़ी. गर्ल सेक्सी वीडियो चुदाईउसकी चुत के छोटे-छोटे होंठों को मैं अपने होंठों में लेकर खींचने लगा.

मैं आशीष को बोली- आशीष तुमने यह क्या किया … और यह कैसे हुआ … तू जादूगर है क्या … मुझे बहुत दर्द हो रहा था, पर अब जरा भी दर्द नहीं बचा.बंगाली सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ: मैंने बाथरूम का दरवाजा बंद कर दिया था और उन्हें अपनी बांहों में भर लिया.

मेरे 12वीं के पेपर खत्म हुए, तो गर्मी में अपने मामा के घर घूमने गया था.ऐसे में मैं ज्यादा देर टिक नहीं पाई और मेरा पानी निकल गया, उसको भी वह पूरा चाट गया.

होली की सेक्सी कहानियां - बंगाली सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ

हर बार मेरा लिंग-मुण्ड वसुन्धरा की योनि में गर्भाशय के मुंह पर हल्की सी चोट करता और उधर वसुन्धरा के मुंह से ‘आह … ह … उफ़्फ़्फ़ … उम्म्ह… अहह… हय… याह… हाय … सी … इ … ई … ई’ की ऊँची-ऊँची सीत्कारें निकल रही थी.वैसे तो मेरा उनके घर पर अक्सर आना-जाना लगा ही रहता था लेकिन मेरी ज्यादा बातें रवि के साथ ही होती थीं.

उनकी सिसकारियों के बदले अब कामुक सीत्कारें आने लगीं- आह … आह … सी … आह …यहां मैं आप लोगों को बताना चाहूंगा कि अपनी स्टोरी बताने के दौरान कल्पना ने मुझे ये भी बताया था कि वो अपने कॉलेज के टाइम से ही पोर्न फिल्में देखती आ रही हैं और उन्होंने एक दो बार अपनी चूत में गाजर मूली या बैगन भी डालने की कोशिश की थी, पर एक या डेढ़ इंच से ज्यादा कभी डाल नहीं पायी थीं. बंगाली सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ भाभी बोलीं- क्यों … तुमको कैसी लड़की चाहिए?मैंने कहा- बस वो आपकी जैसी सुंदर हो तो ही मुझे पसंद आएगी.

मैं उस दर्द में भी आनन्द महसूस करते हुए और जोर से चिहुँक उठी और नाखून और चुभा दिया.

बंगाली सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ?

इस तरह हमलोग काफी देर तक और भी स्कूल की बातें, अमृता के बारे में बातें करते रहे फिर मैं घर लौट आई. लंड घुसने के कारण ढेर सारे पिच्च करके छलके रस ने हम दोनों की झांटें भिगो डालीं. उसके निकलते ही मैंने आरती को फोन किया- आज अपनी चूत का ध्यान रखना, धीरज का लंड बौखलाया हुआ है तुमको चोदने के लिए.

मैं उठी और विपिन पर बिगड़ते हुए बोली- चलिये मेरी चूत ने आपको माफ किया. ये देख कर लंड तो मेरा भी खड़ा हो गया लेकिन क्या करता, मैं बस वो सब देख कर ही खुश होना चाहता था. वैसे तो कॉलेज जाने के लिए मेरे पास स्कूटी है, लेकिन चलानी नहीं आती है.

पर डर भी बहुत लग रहा है, कुछ हो गया तो?मैं- अरे कुछ नहीं होगा, तुम आंख बंद करो और अपनी चूत रगड़ाई का मजा लो. कमीज निकलते ही काली ब्रा में कैद दो 34 डी साइज़ के कबूतर फड़फड़ारते से दिखे, जो ब्रा की कैद से बाहर आने को बेताब थे. यह स्थिति आग में घी का काम करती है कुछ ऐसा ही हाल था!मैंने धीरे से मीना का हुड और टीशर्ट उतार दी.

उसने अपनी साड़ी और पेटीकोट को उठाकर अपनी पीठ पर रख लिया था, चड्डी को निकालकर बाजू में रख दिया था. ननद के घर पहुंचने के बाद पिंकी ने अमर के लिए, हॉस्पिटल में ले जाने के लिए अमर की मां और अपनी ननद के लिए खाना बनाया.

अभी मैं लौट ही रहा था कि नवाज भाई बोले- आप पता बता दें, मैं दे आंऊगा.

मैं उठी और विपिन पर बिगड़ते हुए बोली- चलिये मेरी चूत ने आपको माफ किया.

पहले तो थोड़ी देर मैंने उनके चूतड़ों को हाथ से मसला, फिर अपने मुँह से उनके चूतड़ों को चूमने लगा. शाम को मैं उसके घर पर पहुंच गया और उसने दरवाजा खोला तो मेरी नजर उससे हट ही नहीं पाई. मैं तो बस इंतजार कर रही थी कि कब तू हिम्मत करेगा और कब मेरे लिए मेरा नया बॉय फ्रेंड और हजबैंड बनेगा.

अभी अमर कुछ समझ पाता कि पिंकी ने अमर के होंठों पर अपने होंठ रख दिए. तभी मैंने श्वेता को लिटा दिया और उसकी स्कर्ट ऊपर करके पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर किस करने लगा. करीब 12-13 मिनट की बेदम चुदाई करने के बाद आशीष बोला- अब मुझे कुछ हो रहा है बंध्या … क्या बताऊं मेरे अन्दर खलबली मची हुई है.

अंकल का रंग एकदम गोरा, मोटा सा शरीर, बड़ी बड़ी काली मूछें, चेहरा बिल्कुल फूला हुआ और चमकदार था और वो बहुत प्यारे लग रहे थे.

मेरी यह सच्ची दास्तान आपको कैसी लगी, मुझे इस पर अपनी राय और अपने कमेंट मेरी मेल आईडी पर जरूर दें. उसके बूब्स हमेशा तने हुए रहते थे और उसकी गांड बाहर की तरफ निकली हुई रहती थी. मैंने नफीस चाचा से पूछा- तो कब आऊं?नफीस चाचा- बोले तीन दिन बाद, आजकल काम बहुत है.

एक दिन मैं ऐसे ही स्पा सेंटर पर अकेला था, तो मुझे एक कस्टमर की कॉल आयी और मसाज के लिए घर आने का आर्डर दिया गया. जब मैंने उसकी गांड को देखा तो मेरा मन कर रहा था कि आज इसकी गांड में भी लंड को डाल दूँ. मेरे तनकर खड़े लंड पर धीरे धीरे दिलिया अपनी चूत दबाकर लंड को अंदर घुसा रही थी। और मैं आपको बता नहीं सकता कि मुझे उस समय कितना मज़ा आ रहा था। वो मेरे लंड पर धीरे से उठती और फिर नीचे बैठ जाती जिसकी वजह से लंड अंदर बाहर हो रहा था और मेरी नयी ब्याहता बहुत मज़े कर रही थी।सच कहूँ तो मेरी दिलिया बहुत मादक लग रही थी, उनके रेशमी सुनहरी बाल चारों तरफ फ़ैल गए थे.

फिर अचानक…तीनों ने लौड़े बाहर निकाले और हमारी छातियों के बीच में दबाए, हमने अपनी चुचियां के बीच में दबा लिए.

तो मेरे पास उसके पास बैठ कर बात करने का एक बहाना ये था कि कुलीन ने कहा था कि तुम बस आने वाली हो, इसलिए थोड़ी देर बैठ कर इन्तजार कर लो. वो दोनों आगे के दरवाजे से टॉयलेट के अन्दर चले गए और अन्दर दरवाजे को बंद कर दिया.

बंगाली सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ बहुत देर तक लंड चूसने के बाद मुझे ऐसा लगा कि मैं झड़ने वाला हूँ, तो मैंने अंकल को अलग किया और उनके दूध पीने लगा. ज्यादा देर न करते हुए मैंने उसकी चूत के ऊपर अपना लंड रखा, तो वह लंड के आगे अपना दबाव बनाने लगी.

बंगाली सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ पहली बार वो अपनी मांसल गांड के छेद पर मेरे लंड के स्पर्श का अनुभव कर रही थी. वो दोनों आगे के दरवाजे से टॉयलेट के अन्दर चले गए और अन्दर दरवाजे को बंद कर दिया.

अगर वह दोबारा मिली ही नहीं तो फिर उसकी गांड मारना तो दूर मैं तो उसकी चूत के दर्शन भी नहीं कर सकता था.

सेक्सी फिल्म दिखाओ पुरानी

रूम में घुसते ही मैंने उसे गले से लगा लिया और उसको काफी देर तक महसूस करता रहा. दिन में मैं कभी उसे बाथरूम में नंगी नहाती देखता, तो कभी किचन में उसकी हिलती गांड देख कर लंड सहला लेता. इसके बाद मैंने अपनी गांड को हिलाया, तो मेरे पति ने अपना लंड मेरे चुत से बाहर निकाल दिया.

मेरा लंड उनकी चूत की दीवार को चीरता हुआ पूरा चूत में समा गया और उनकी बच्चेदानी से टकरा गया. उसके बाद मैं अपने घर वापस आ गया और घर आने के करीब डेढ़ महीने बाद मुझे पता चला कि मोनी पेट से है! यह बात सुनते ही मेरे चेहरे पर एक मुस्कान फैल गई और मेरा मन खुशी से फूला नहीं समा रहा था. अभी तक ये मेरा पहला मौका था इसलिए मैं कोई जल्दबाजी और रिस्क लेना नहीं चाह रहा था.

दोस्तो, यहां मैं आप लोगों को बताना चाहूंगा कि ये सब उनके साथ पहली बार हो रहा था, इससे पहले किसी भी दूसरे इंसान ने उनकी चूत को छुआ तक नहीं था, सिवाय उनके खुद के.

अमर कभी पिंकी के गालों पर, कभी नाक, कभी माथे पर तो कभी गर्दन पर किस करने लगा था. लंड का पानी झड़ जाने के बाद मुझे राहत मिली और मैं वापस अपने बेड पर आ गया. कुछ सेकेंड बाद उन्होंने फिर से आंखें खोल कर मेरी तरफ ऐसे देखा जैसे पूछ रही हों कि क्या हुआ रुक क्यों गए?अब आगे:उनका चेहरा देख कर मुझे हंसी आ गयी और मेरी हंसी देख कर उन्हें भी हंसी आ गयी.

जीजू- चलो तुम्हारी बात ही मान लेते हैं शिवांगी लेकिन बाकी सब करने से तुम मुझे नहीं रोकोगी. सरिता मेरी पीठ और गांड को सहलाती हुई अपनी गांड आगे पीछे करके अपनी चूत और गांड के छेद को मेरे लंड पर रगड़ने लगी थी. ठंड अधिक होने के कारण मैं तो अपने पैरों को मोड़कर लेटा हुआ था और जैसा आप सभी लोगों को पता है कि बिहार झारखंड के रोड के बारे में वहां की सभी बसें रोड बहुत ज्यादा खराब होने की वजह से बहुत हिलती हैं.

मेरे कांख वाली त्वचा, एकदम कोमल है, वहां पर हाथ लगते ही मुझे गुदगुदी होने लगती थी. मैंने मौक़े की नज़ाकत को देखते हुए वसुन्धरा के बाएं निप्पल को अपने मुंह में लिया और चुमलाने लगा.

उस दिन के बाद पता नहीं क्या हुआ कि पम्मी आंटी का मुझे देखने का थोड़ा नजरिया से बदला बदला लगने लगा. तब मैं उसे खींचकर चारपाई पर ले आया और उसकी सलवार के नाड़े को खोल दिया. हालांकि आज मीरा बहुत खुश थी कि उसे उसकी प्यास बुझाने वाला मिल गया था.

तो मैंने जीजू के सर को अपनी चूत पर से हटाया और जीजू को खड़े होने के लिए कहा.

लेकिन कुछ भी हो, मीना एक स्त्री है उसका सम्मान हर हाल में होना चाहिए, उसकी इच्छा के विरुद्ध उसके साथ संभोग करना उचित नहीं था. इसके बाद उसने बोला- अंश, अब मुझसे रुका नहीं जाता, तुम मेरी चूत में अपना लंड डालकर मुझे चोद दो. उसकी चुत एकदम गीली हो गई थी और वो अब खुद की जीभ मेरे मुँह में घुसा कर मेरे किस का जवाब देने लगी थी.

भाभी कुछ नहीं बोलीं, बस यूं ही अपने मम्मे हिला हिला कर मेरे लंड में आग लगाती रहीं. कहानी का पिछला भाग:तलाकशुदा माँ की अगन-3अगली सुबह जब मैं उठा तब मम्मी घर के काम कर रही थी और मैंने भी अपनी सामान्य दिनचर्या की और एक शॉवर लिया और कपड़े पहनकर लिविंग रूम में आ गया.

डॉक्टर ने रिया को उल्टा सोने को कहा और कहा कि अपनी टी-शर्ट ऊपर कर दो. सर भी मम्मी के ब्लाउज से दिखते उनके गोरे मम्मों पर नजर गड़ाए हुए थे. मेरे बीवी ने मेरा दायां हाथ लेकर अपने बांये मम्मे पर रखकर मम्मे को दबाने का इशारा किया.

यूपी चुदाई सेक्सी वीडियो

मैं उम्मीद करता हूं कि आप लोगों को हॉट गर्लफ्रेंड सेक्स स्टोरी पसंद आएगी.

वो मेरे नितंबों को पकड़कर अपने मुँह में लौड़े को धकेलने लगी और खूब बढ़िया से लौड़े को चूसने लगी. अब आगे देसी गर्ल Xxx कहानी:फिर घर वापस आया, खाना खाकर जब सब सोने चले गए तो अब मैं भी निशा के रूम में चला गया और फिर से वैसे ही लेट गया. फिर जैसे ही वो बेसिन में मुँह धोने के लिए पलटी, मैंने पीछे से आकर आगे हाथ बढ़ा कर उसके दोनों छोटे छोटे दूध पकड़ लिए और जोर जोर से मसलने लगा.

मेरा नाम रेहाना है, दोस्तो! मैं एक गोरी चिट्टी, बड़े बड़े बूब्स वाली खूबसूरत और हॉट लड़की हूँ।मैं पढ़ी लिखी हूँ सेक्सी हूँ, और एक बड़े पद पर काम करती हूँ।मैं आपको एक अंकल Xxx कहानी बता रही हूँ. मैं तुम्हें कुछ गोलियां देता हूँ, वो उसे हर रात दूध में डालकर आठ दिन खिलाती रहना. दीपावली का सेक्सीऔर वैसे भी ये 2-4 झटके में ही तो गोल हो जायेगा।इस बात पर सन्जू बोली- इसीलिए तो … ये तो डाल कर ही झड़ जायेगा।लेकिन फिर काफी मनाने पर वो मान गई और पीठ के बल लेट गई और मेरी आंखों के सामने पहले बार किसी दूसरे का लंड अपने चूत में ले रही थी।रोहित ने अपना लंड, जो कि काफी टाईट था, को सन्जू की चूत में टिकाया और घुसाने लगा.

जिसके बारे में सोच कर बहुत लोग उसके नाम के मुठ मारते हैं और उन्हें चोदना चाहते होंगे. मैंने अपने गांव में एक क्लिनिक खोल लिया था जो बहुत अच्छे से चल रहा है.

लेकिन उसने जानबूझ कर दर्द में होने का नाटक किया क्योंकि वो ये मौका खोना नहीं चाहती थी. मैं समझ गया कि मेरी बहन की जवान बेटी भी वही चाहती है, जो मैं चाहता हूँ. मैं भी मस्त होकर अपनी दोनों जांघें एक दूसरे पर रगड़ कर चुत के होंठों को एक दूसरे पर रगड़ने लगी.

लेकिन तब सामाजिक बंधन इतने मजबूत हुआ करते थे कि पड़ोसन की लड़की को बहन ही मान लेना पड़ता था. हमने कई बार मोहल्ले की आंटियों के बारे में सोच सोच कर साथ में मुठ भी मारी है. फिर कुछ देर में मैं अपने लंड को हिलाने लगा और ट्रेन की तरह अपनी स्पीड को बढ़ाने लगा.

उसके कंधे मैंने अपने हाथों से पकड़े हुए थे, क्योंकि मुझको पता था कि क्या होने वाला था.

शीतल ने अपने सारे कपड़े निकाल दिए और मेरे मुँह पर अपनी चूत रख कर बैठ गई. जैसे ही मैंने अपना हाथ उसके लंड पर रखा, मुझे अहसास हो गया कि इसका लंड भी धीरज से कम नहीं है.

हालांकि मैं फील कर सकता था कि अपनी मम्मा सौम्या का मन मेरे साथ सेक्स करने का था लेकिन मैं रुक गया. तीन-चार बार ऐसा होने के बाद परी ने मुझे बेड पर लिटा दिया और खुद मेरे ऊपर आ गई. मेरे बेटों का बीज, तुम्हारी मम्मी की चूत का पानी, मेरे जन्मदिन का केक सब है, जांघों और चूतड़ों के बीच में ले.

होंठ चूसे, अपने होंठों का रस पिलाया और फिर जांघें चौड़ी करके खड़े लंड को निशाने पे लगाया. मैंने देखा दीदी ने खाना एक टेबल पर लगा रखा है और मेरा एक रात का जीजू सोफे पर बैठा है. वो अपने दोस्त को बोला- अबे पकड़ ठीक से इसके दोनों हाथ … बस कस के पकड़ … फिर बताता हूं साली को, सबको बांटती है और हमसे नाटक दिखा रही है.

बंगाली सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ फिर उसने मुझे सीधा लेटा दिया और फिर अपना बड़ा लंड मेरी चुत में डाल के चोदने लगा. अगर थोड़ी सी भी टाइमिंग की गड़बड़ हो जाती तो कोई भी पकड़ लेता कि दूसरे गेट से कोई अंदर दाखिल हुआ है.

चाची की सेक्सी ब्लू फिल्म

थोड़ी देर के बाद उसकी बॉडी अकड़ने लगी और उसकी फ़ुद्दी ने नमकीन पानी छोड़ दिया और वो बोली- भाई, अब मत तड़पाओ, डाल दो मेरे अन्दर!मैंने उसे अपना लंड चूसने को बोला, पर उसने मना कर दिया. बाकी दोनों नीग्रो लड़के ज्यादातर बाहर ही अपने देश के दूसरे लड़कों के साथ उनके रूम पे रहते थे और लेट नाईट हॉस्टल में आते थे. चूत में पानी भर जाने से मेरे पति का लंड मेरी नाजुक कोमल गुलाबी चुत में आसानी से अन्दर बाहर होने लगा था.

मैं कम्प्यूटर की पढ़ाई कर रहा हूँ … और तुम?रिया- मैं भी कंप्यूटर की पढ़ाई कर रही हूँ … पर अभी मुझे नया कॉलेज ढूंढना पड़ेगा. मैं मम्मी से बोला- जब आपको मेरी जरूरत पड़ेगी, तो आप ही मेरे पास मुझसे चुदने आओगी. रेश्मा सेक्सी व्हिडीओएक दिन किसी काम के चलते मैंने उससे उसका मोबाइल नंबर मागा, उसने तुरंत अपना नंबर मुझे दे दिया.

मैं उनकी पीठ पर लगभग लटक ही गयी थी उनके धक्के मुझे बाथरूम के फर्श से हर बार उठाते और फिर धम्म से नीचे पटक देते.

मैं भी थक गया था इसलिए हम दोनों नंगे ही सो गए!रात के करीब दो बजे नींद खुली तो राशि मुझ से चिपक कर सो रही थी, उसके मस्त गोरे चूचे और गोल-गोल गांड को देख कर लंड फिर खड़ा हो गया. हां शुरू में बस थोड़ा सा दर्द हुआ मगर वो दर्द उनके प्यार के आगे कुछ भी नहीं था.

एक दिन मैंने उसे अकेले में मिलने बुलाया क्योंकि कुछ दिन बाद मुझे काम से बाहर दूसरे शहर जाना था. मुझे सोनू ने बताया भी था कि नीरजा का जीजा उसे बहुत दिन से चोदता है, जो नीरजा ने सोनू से खुद कहा था. मेरा पूरा बदन भीगा हुआ था और मेरी भीगी हुई ब्रा और पैंटी जैसे पारदर्शी होकर मेरे चूचे और चूत के दर्शन रोहन के दोनों दोस्तों को करवा रही थी.

थोड़ा सा उचकते ही मेरी चूत का छेद ठीक लंड के टोपे के ऊपर सेट हो गया.

रितेश के चादर उठाते ही उसके सामने औंधी लेटी मीरा की पतली पैन्टी में लिपटे उसके मोटे और गदराए हुए चूतड़ दिखे. एक दिन आंटी ने मुझे घर पे बुलाया और कहा- मुझे तुझसे कुछ बात करनी है. मैं भी यह समझ रही थी मगर मैं चाहती थी कि वो खुद ही अपने मुँह से कुछ कहे.

ब्लू सेक्सी पिक्चर हिंदी में सेक्सीकरीब 25 दिन बाद मम्मी पापा को छोटे भाई की पढ़ाई के लिए पुणे छोड़ने जाना था. मैंने सारा के मांसल गोरे चूतड़ों की जम कर जीभ से चटाई की और दांत से हल्के हल्के काटा भी.

राजस्थान की आदिवासी सेक्सी

अब मुझे भी चूत चुदवाने में मजा आने लगा था तो मैंने जीजू को इशारा किया और कहा- जीजू, अपनी रफ्तार बढ़ाओ ना थोड़ी … अब दर्द कम है!जीजू- अब कैसा लग रहा है शिवांगी? मजा आ रहा है ना चूत चुदवाने में?मैं- हां जीजू, अब बहुत मजा आ रहा है, बस आप ऐसे ही अपनी साली को चोदते रहो. जैसे मौसी कब नहाने जाती हैं, कब बाथरूम जाती हैं और कब कपड़े चेंज करने जाती हैं. शीतल भाभी ने झट से मेरे पूरे कपड़े खोल कर मेरा 7 इंच का लंड बाहर निकाल दिया.

तब उसने कहा कि उसका शौहर इज़्ज़त जाने के डर से किसी के सामने इस बात को खुलासा नहीं करना चाहता. फिर लंड को बाहर निकाल कर पूरी दम से निशा की चूत में धक्का मार दिया. बात करते करते मैं श्वेता को किस करने लगा और शर्ट के ऊपर से उसकी चूचियाँ दबाने लगा जिसे देखकर शुभी हंसने लगी और बोली- तुम लोग बेशर्म हो.

ओह डार्लिंग आओ … जल्दी आओ, तुम्हारे लंड में खुजली हो रही होगी … मैं भी तैयार हूँ. मैंने कहा- अब मेरा छूटने वाला है शिखा … आह्ह … ओह्ह …वह बोली- पंकज मेरा भी होने वाला है. गांव में रिवाज है किसी की मृत्यु हो जाती है, तो 12 दिन तक नीचे ही सोते हैं.

हुआ यूं कि मेरे नाना जी की देहांत की खबर मुझे मिली, तो मैंने पापा को फ़ोन किया और बोला कि मम्मी को मत बताना. मैं कम्प्यूटर की पढ़ाई कर रहा हूँ … और तुम?रिया- मैं भी कंप्यूटर की पढ़ाई कर रही हूँ … पर अभी मुझे नया कॉलेज ढूंढना पड़ेगा.

एक दो जगह से चूची को काट भी लिया जिसका निशान अभी भी पड़ा हुआ है मेरी चूची पर.

मैंने आंटी से पूछा- मेरी मम्मी कल घर जाने को क्यों बोल रही थीं?आंटी ने जो बताया, वो सुन कर मैं भौचक्का रह गया कि मम्मी का दिमाग कितना चलने लगा. हिंदी सेक्सी चोरीबाद में दोस्तों से जानकारी हुई कि गांव में भी सेक्स का खेल चलता है और वो शौच के बहाने खुले में जाकर लड़कियां अपने जानम से मिलती हैं और उनके बीच खेतों में सेक्स हो जाता है. मैक्सी में सेक्सी वीडियोक्योंकि धीरज मेरी चूत में ही अपने लंड का पानी निकाला करता था और कहता था कि पूरा मज़ा चुदाई का लेना है तो चुदाई के समय कोई सावधानी ना करो. रंगे सियार तो मुझे सख्त नापसंद हैं, रंगे सियार से मतलब जो लोग अपने बाल, और दाढ़ी मूंछ को काली डाई से रंग करके जवान दिखने का बेहूदा प्रयास करते हैं न वो; अब सफेदी तो झलक ही जाती है चाहे आप कितना भी जतन कर लो.

मम्मा 4 घंटे ट्रेनिंग करतीं और बाकी 6-7 घंटे हम दोनों चुदाई करते रहते.

उन तीनों के अंदर आने के बाद मैंने उनसे कहा कि मैं कपड़े बदल कर वापस आती हूँ. तभी वो मुझे तेजी में चोदने लगा और कुछ ही शॉट्स में उसके लंड से पानी निकल गया. अपनी हवस को अलग करके मैं प्यार से मिनी के पूरे चेहरे को किस करने लगा.

मैंने उससे पूछा- क्या पूरा दिन आरती की चूत चोद कर तुम्हारा दिल नहीं भरा?वो बोला- नहीं यार, यह लंड साला चुदाई के बाद भी खड़ा रहता है. पहली बार वो अपनी मांसल गांड के छेद पर मेरे लंड के स्पर्श का अनुभव कर रही थी. तभी मुझे थोड़ी देर में अहसास हुआ कि वो जागी हुई हैं और मेरे इस लंड के काम को एंजाय कर रही हैं.

चाइनीस सेक्सी वीडियो सेक्सी

यह सोचते ही मेरी धड़कन और सांसें तेज हो जा रही थीं और नीचे मेरी पैंटी बार-बार गीली हो जाती. धीरे-धीरे मेरी मेहनत रंग लाने लगी और अब जूली अपनी कमर भी उचकाने लगी. अब हम व्हाट्सैप पर हाय हैलो गुड मॉर्निंग और पढ़ाई की बातें करने लगे थे.

जरूरत से ज्यादा चुदाई करने के कारण मेरा लंड और भी ज्यादा मोटा और लंबा हो गया था.

उसमें इतनी प्यास दिखी कि न जाने किस बात ने मुझे मजबूर कर दिया कि उसके लाल होते काले गालों में चुंबन ले लिया और धीरे से बोला- तुम में बहुत कशिश है, एक आकर्षण है जो मुझे तुम्हारे पास आने को मजबूर कर रहा है।सलोनी सिहर सी गई, उसकी आँखें बंद सी हो गईं, उसके हाथ ने भी मुझे जोर से पकड़ लिया, उसकी खामोशी मुझे सता सी गई, मैंने भी उसको छोड़ दिया और बोला मुझे माफ़ कर दो.

एक बार आशीष मुझसे बोला- तुम सोनम से बोलो कि हमें मिला दे, जब घर में मामी या कोई भी ना हो. मैं शाम को तैयार हो कर उनके बताए हुए पते पर पहुँचा, तो उनका घर तो देखने में किसी महल के जैसा दिख रहा था. देसी औरत की सेक्सी फोटोवैसे तो मेरा लंड ज्यादा बड़ा नहीं था लेकिन मेरी यह पहली चुदाई थी तो मैं पूरे जोश में था.

मुझे उसका लिंग बहुत सुखदायी लग रहा था और मुझे भीतर से लग रहा था कि उसे अपनी योनि से कस के जकड़ लूँ. तभी शीतल भाभी ने भी झट से कह दिया- हां, वो तो तुम्हारी जीन्स को देख कर लग ही रहा है. लंड पर हाथ जाते ही मेरी आंखों के सामने भावना के बड़े-बड़े चूचे उछलने लगे.

मेरा मन तो ऐसा कर रहा था कि मैं भी जाकर उनकी गांड ठोकने में लग जाऊं. नितिन ने मेरी चुत पर एक गहरा चुम्बन किया, फिर अपनी जीभ का कमाल दिखाते हुए दो मिनट में ही मुझे झड़ा दिया.

इसका असर हमेशा हमारे मंथली बजट पर पड़ता, इसलिए नितिन हमेशा कमाई बढ़ाने के लिए प्रयास करता रहता था.

और मेरी निगोड़ी कमर बेशर्मी से खुद ब खुद ऊपर उठ उठ कर चूत उनके मुंह में देने लगी. कपिल भी उसकी जीभ को, होंठों को चूमते हुए उसके निचले भाग की तरफ़ बढ़ने लगा. जब मुट्ठ ही दो बार मार दी थी तो फिर चुदाई एक बार खत्म हो जाती तो मेरे लंड और पूजा दीदी की चूत के साथ बड़ी ही नाइंसाफी हो जाती.

राजस्थान देसी मारवाड़ी सेक्सी वीडियो वो मुझे अपनी बांहों में भरे हुई थी और अपने हाथ मेरे बालों में फिरा रही थी. चुदाई खत्म होने के बाद रोहन तो सो गया लेकिन मुझे नींद नहीं आ रही थी.

आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी, इसके बारे प्लीज कमेंट करके जरूर बतायें और अगर आप मुझसे मैसेज पर बात करना चाहते हैं तो मेल करें. जागृति मेम ने अपने दांत भींच कर अपनी चीख रोकी और कुछ धक्कों के बाद उन्होंने लंड का मजा लेना शुरू कर दिया. उसने सारे रास्ते अपनी बाइक को ब्रेक मार मार कर पिंकी को अपनी पीठ से चिपकाने का कोई मौक़ा नहीं छोड़ा था.

सेक्सी देवर भाभी की ब्लू फिल्म

मेरा ध्यान अब भी उसकी चूचियों पे था और वो इस बात को भली भांति समझ रही थी, पर बोल कुछ नहीं रही थी. मेरी बाइक स्पोर्ट बाइक होने की वजह से उसकी पिछली सीट ऊपर को उठी थी, जिससे रिया मुझ पर झुक कर बैठी थी. तो आप ही बताएं … क्या करें?” इसके आगे बहस बंद थी क्योंकि इस बात का कोई जवाब था ही नहीं.

मगर मैंने अगले ही पल उनसे माफ़ी मांगते हुए कहा- हां भाभी, मुझसे गलती हो गई. उनके स्वेटर के सारे बटन खुले हुए थे, उन्होंने बालों को भी खुला रखा था.

मीरा ने अपनी गांड फैला ली थी और रितेश के हाथ की गर्माहट का मजा लेने लगी थी.

वसुन्धरा ने तत्काल अपनी दोनों टांगें हवा में उठा कर मेरे लिंग का अपनी योनि के मुख पर स्वागत किया. वो चिल्लाने को हुई तो मैंने झट से उसको होंठों को चूसना शुरू कर दिया. मैंने कहा- मेरी सुंदर भाभी के नसीब में उनका ये प्यारा सा देवर तो है.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… ये देख कर दीपक अंकल ने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दी. सुबह से लोग मुझे विश किए जा रहे थे, पर नम्रता का कहीं अता पता ही नहीं था. इसी के साथ मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और जोर जोर से चूसने लगा.

मैंने अपना चेहरा ठीक उनके चेहरे के सामने करके और अपना हाथ उनके मम्मे से हटा कर उनकी चूत पर रखते हुए कहा.

बंगाली सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ: उसने बैठकर चूत को देखना शुरु किया, बेड की चादर पर वीर्य टपक रहा था. उसकी चुदाई करते समय मुझको ऐसा लग रहा था कि गेट के पास कोई आवाजें सुन रहा है.

मैंने हंस कर इसका कारण पूछा, तो उसने मुझसे कहा कि हम दोनों लगभग एक ही उम्र के हैं और जब तुम मुझे मेम कहते हो तो मुझे लगता है कि मैं बहुत उम्रदराज हो गई हूँ. तो रोज़ी ने डबल मीनिंग जवाब दिया- क्या फायदा ऐसे लंड को छूने का, जो अंदर न जाये।चारों हंस पड़े।आगे एक गली पूरी मसाज पार्लर्स की थी।बाहर ही लड़कियां बैठी थीं, उनके रेट लिखे थे।डेविड ने सनी से मज़ाक किया- यार, तेरे तो बहुत पैसे बच जाते हैं. मतलब मैं सही बताऊं, तो उस समय मैं बहुत ज्यादा इमोशनल हो गया था और भूल गया था कि मैं यहां किस लिए आया हूं.

मैंने झट से उसके हाथ हटा के उसके होंठों को अपने होंठों में जकड़ लिया और चूसने लगा.

लेकिन इस धींगा-मुश्ती में वसुन्धरा का जिस्म करवट लिए होने की बजाये बिस्तर पर सीधा हो गया और मैं अभी भी दायीं करवट ही था. इ … ई … ई!वसुन्धरा काम-उत्तेजना के शिखर-बिंदु से ज्यादा दूर नहीं थी अब. मैं बोला: यहां दरवाजे पर खड़ा होकर नहीं कर सकता, इंपोर्टेंट बात है.