बीएफ पिक्चर वीडियो पर

छवि स्रोत,ओवन क्या है

तस्वीर का शीर्षक ,

सील पैक हिंदी में: बीएफ पिक्चर वीडियो पर, सोफे पर बैठने के लिए मुझसे कहती हुई खुद सामने बिछे हुए सिंगल दीवान पर बैठ गई.

सेक्स देखने वाला

जब मेरा लंड पूरा का पूरा आंटी के मुंह में तन कर भर गया तो आंटी ने थूक से चिकने हो चुके मेरे लंड को बाहर निकाल दिया. सेक्सी छोटे वालाउसके साथ एक सफ़ेद ब्रा भी थी और एक जी स्ट्रिंग स्टाइल की चड्डी भी थी.

क्या गोल गोल गोलाइयां थीं उसकी!नीता ने तो आगे आकर उसके निप्पल चूम लिए. मद्रासी फिल्म सेक्सीमेरा लंड मोटा और लंबा है, जो किसी भी औरत को खुश करने के लिए काफी है.

फिर जब चुदास बढ़ी और खुल कर खेल होने लगा, तो हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए.बीएफ पिक्चर वीडियो पर: मैंने पैंटी को सूंघते हुए मुठ मारी और अपना वीर्य उसकी ब्रा के कप में गिरा दिया.

एक बार तो शबनम ने संकोच से मुश्ताक को ढूंढना चाहा पर वो बस इतना ही समझ पायी कि मुश्ताक और नायरा भी चिपटे हुए थिरक रहे हैं.जब मैंने लंड के टोपे को अपने हाथ से ऊपर नीचे करना शुरू किया तो मेरी आंखें स्वत: ही बंद होने लगीं.

सेक्सी वीडियो अच्छी - बीएफ पिक्चर वीडियो पर

फिर मैंने जोर के झटकों के साथ ही अपना रस उसकी चूत में ही डाल दिया उसी वक्त उसने भी एक बार फिर से अपना पानी छोड़ दिया.”फिर मैंने उससे वन टाइम पासवर्ड लिया और गाड़ी शुरू कर दी, गाड़ी की ए सी में वह थोड़ा रिलैक्स हो गया।कहां पर जाना है आपको?”जी मुझे स्टेशन पर जाना है.

मेरी शादी को क़रीब सात साल हो गए, तब से मेरी सेक्स लाइफ़ बड़ी मस्त है. बीएफ पिक्चर वीडियो पर जब तक मैं वहां पर रहा उन्होंने मेरे लंड की और अपनी चूत की प्यास को मजे से शांत करवाया.

हम तीनों में बहुत गहरी दोस्ती है और सब कुछ एक-दूसरे के साथ शेयर कर लेते हैं.

बीएफ पिक्चर वीडियो पर?

मैं भी मोहिनी को कंधे से पकड़ कर ढांढस बंधाने लगा- कोई बात नहीं मम्मी जी, हम समझते हैं, मैं भी जवान हूँ … आप भी काफी समय से प्यासी हो … अंजाने में ऐसी ग़लतियां हो जाया करती हैं. कुछ देर बाद मेरा फिर से हो गया और मेरी चुत में भी दर्द होने लगा था. करीब 20 मिनट तक चली इस घमासान चुदाई में मेरी गर्लफ्रेंड दो बार झड़ गई थी.

उसने कहा- कुछ नहीं, छोड़ो।इतने में ही राहुल बाइक लेकर आ गया और हम घर वापस आ गये. लेकिन मम्मी के होते हुए?”मैंने कहा- आंटी सो गई है और मैंने पहले ही उनके रूम का दरवाजा लॉक कर दिया है. वो मुझे मेरे घर पर आने के लिए रिक्वेस्ट करने लगी तो मैं तुरंत मान गया क्योंकि बीवी के झगड़े से मैं भी बहुत तंग था और रुचि के आ जाने से काम करने की परेशानी भी दूर हो जाती इस वजह से मैंने उसको तुरंत ही हां कर दी.

फिर मैं उसकी चुत के पास नीचे बैठ गया और उसकी गीली हो चुकी चुत को चाटने लगा. सीमा की टांगों को पीछे से पकड़ कर राहुल ने ऊपर साधा और सीमा ने वाल पकड़ कर पैर चलने शुरू किये. उसने पूछा- तुम ये बात कैसे कह सकते हो??अब मैंने उसको समझाया कि देखो लड़कियों के चूतड़ इसलिए बड़े होते हैं, ताकि उनको दोनों तरफ से बजाया जा सके.

उसने तुरंत मेरी टी-शर्ट को उतार दिया और मेरे चूचों को नंगे कर दिया. जब तूफान ठहरा तब उसने कहा- तुम तो ऐसे मुझे चोद रहे थे जैसे मेरी जान ही निकाल दोगे।मैंने कहा- क्या करूँ … अपनी पत्नी को चोद रहा हूँ किसी और को नहीं!हम दोनों ही हंसने लगे और फिर उसके हम बाथरूम चल दिये फ्रेश होने!वहाँ भी फिर एक बार तूफान आया और फिर हम फ्रेश हो कर निकले.

लेकिन उन्होंने कहा- यह बहुत नाजुक हिस्सा है आगे प्रॉब्लम हो सकती है.

फिर जीजा ने कहा- मेरी चुदक्कड़ बेटी, तेरी गांड में अब लंड डालने का टाइम आ गया है.

जब दीदी से कंट्रोल नहीं हुआ तो उसने अपनी चूत से मेरा मुंह हटा दिया और खड़ी हो गई. आंटी की मस्त सिसकारियां निकल रही थीं- आहह … अहहा … अहह … अहह … उम्म्म्म … उफफ्फ़ … और चूस और चूस उम्म्म्म … आह आह. राजीव ने शबनम को गोदी में उठा कर बेड पर लिटा दिया और फिर धीरे से उससे चिपक गया.

उसी के फोन में अपनी और उसकी कुछ फोटोज भी निकाली ताकि उसको ये न लगे कि मैं उसकी नंगी तस्वीरों का कहीं पर दुरूपयोग कर लूंगा. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:छोटे भाई की बीवी के साथ सुहागरात-2. स्प्रे करने के बाद मैंने आंटी को उठने के लिए कहा क्योंकि गर्म खून में उठना आसान होता है.

इस वक्त चारू अपनी आंखें बंद किये हुए मेरे पानी को जैसे तैसे निगलने की कोशिश कर रही थी और उसकी सांसें भी तेज तेज चल रही थीं.

फिर शीना ने बताया कि उसके ससुर आये हैं तो वो थोड़ी देर के बाद बात करेगी और कहकर उसने फोन रख दिया. वो मेरे लंड को पकड़ कर सहलाने लगी और मुझे अपने साथ 69 की पोजीशन में लेटा लिया. वो अपना पूरा मूत पी गयी और बोली- यार एक बात बताऊं प्रकाश … मुझे ये सब बहुत पसंद है.

पापा बोले- मजा आ रहा है न बेटी?मैंने कहा- हां पापा, बहुत मजा आ रहा है. वह उठी और मेरे लंड पर थप्पड़ मारते हुए बोली- बस इतना ही दम था इसमें?मुझे बड़ी शर्म सी महसूस हुई, परन्तु बात सँभालते हुए बोला- इतनी भी क्या जल्दी है … रात अपनी है. अगले हफ्ते पांचों इंजिनियर फ्लाइट से चेन्नई चले गए … पीछे लड़कियों को सख्त हिदायत थी कि शाम होते ही मेन गेट बंद कर लें.

पूरा लंड उसकी गांड में ठोकने के बाद थोड़ी देर तक मैं यूं ही रुका रहा और उसके मुँह से हाथ हटा कर उसे किस करने लगा.

मैंने बारी बारी से प्रीति के मम्मों को क़रीब आधे घंटे तक चूसा, उसकी बग़लों को भी चाटा. थोड़ी देर ऐसे ही चुदाई करने के बाद मेरी रफ़्तार बढ़ने लगी और लंड अकड़ने लगा.

बीएफ पिक्चर वीडियो पर वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुराते हुए मेरे करीब आ गईं और मेरे होंठों से होंठ मिला दिए. पर अब दोनों को लग रहा था कि बाकी जोड़े चोरी छिपे उन्हीं घूर रहे हैं.

बीएफ पिक्चर वीडियो पर अब हमें चेहरे दिखाई नहीं दे रहे थे एक-दूसरे के!फिर ऋतु तीसरा ड्रिंक बनाने के लिए गई तो मैंने अनिल से पूछा- क्या दिखा रही थी ये?वो बोला कि तुम्हारी वाइफ ने बहुत सेक्सी शूट किया है. मैं हड़बड़ा गया लेकिन खुद को संभालते हुए मैंने हाथ को बाहर खींचने की कोशिश की मगर प्रिया ने फिर मेरी तरफ ही करवट ले ली.

मैंने वीना आंटी से बोला- मेरा निकलने वाला है … कहां लोगी?आंटी बोलीं- मुझे तुम्हारा ये अमृत पीना है … इसे मेरे मुँह में निकाल दो.

दादाजी और पोती

वीना आंटी मेरा खड़ा लंड देखते हुए मुझसे बोलीं- अब तुम खड़े हो जाओ … पहले मुझे तुम्हारे लंड की दारू पीनी है. मुझे दर्द होने लगा था लेकिन मुझे लगा कि अब मेरी लंड की प्यास अच्छे से मिट जायेगी. पर शायद उसका छेद बहुत छोटा था इसलिए मेरा लंड फिसल कर किनारे हो गया.

तेरे पापा ने तेरी माँ को एक-दो बार किसी और से चुदवाते हुए रंगे हाथ पकड़ा है. मेरे बूब्स और मेरी गांड को देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जायेगा क्योंकि मेरे बूब्स और मेरी गांड दोनों बहुत बड़े बड़े हैं. आंटी सिसयाने लगीं- वरुण आराम से करो … बहुत दिन से नहीं लिया … और तुम्हारा तो मेरे पति से भी बहुत मोटा है.

मैंने कहा- मम्मी जी, आप हुक्म तो करो, आपकी बेटी और आपका दामाद हमेशा दोनों आपकी खिदमत में पेश रहेंगे.

उसकी आखिरी की थोड़ी सी पेशाब को मैंने वैसे ही अपने मुँह में रखे रखा और उसे पास बुलाकर उसके मुँह में डाल दिया. हालांकि उसकी गांड एकदम कसी हुई थी, लेकिन फिर भी मेरे लंड से निकली चिकनाई की वजह से लंड धीरे धीरे आसानी से अन्दर बाहर होना शुरू हो गया. अब मैं जब भी लड़कों के करीब से निकलती, तो सर झुकाने के बजाए क़ातिल नज़रों से उन्हें देख मुस्कुरा कर गांड मटकाती निकल जाती.

उसने आगे कहा- डिनर पर तुम एक माल लग रही थी, तभी मैंने तुमको चोदने का प्लान बना लिया था. तभी उसकी कमर में हरकत हुई और मैं समझ गया कि मेरी माल अब चुदने के लिए तैयार है। अब देरी ना करते हुए मैंने धीरे धीरे अपने लंड को गति दी, मैं उसे पहले बहुत धीरे धीरे चोद रहा था. उनको हैंडल करना थोड़ा मुश्किल होता है जबकि बड़ी उम्र की औरतें तो खुद ही लंड पकड़ लेती हैं और मुंह में भी आराम से ले लेती हैं इसलिए मुझे उनके साथ सेक्स करना बहुत पसंद है.

तभी वो मज़ाक में बोले- तो ब्वॉयफ्रेंड है क्या?मैंने भी हंस कर कह दिया- अरे नहीं अंकल … वो भी नहीं है. शायद भाभी को मेरे मोटे लंड के कारण दर्द हो रहा था … पर मैंने उन पर ध्यान न देते हुए धक्के मारने चालू कर दिए.

5 इंच का है और 3 इंच मोटा है।मेरा लंड देख कर बोली- भाई, ये तो बहुत मोटा और बड़ा है।मैंने मजा लेने के लिये कहा- क्या बड़ा है मेरी जान?ये आपका लंड।”हाँ है तो बड़ा, पर तुम्हारी चूत के लिये तो शायद छोटा ही पड़े।” मैंने हवस भरे अंदाज में कहा. मैंने उन्हें अपनी गोद में उठाया और उन्हें कमरे में ले जाकर बेड पे पटक दिया. गाउन के अंदर लटक रहे नर्म और गद्देदार चूचे दबाते हुए मैं उसकी गांड पर अपने लंड की रगड़ दे रहा था.

मन तो कर रहा था कि साली को पूरा जोर लगा कर ठोक डालूं लेकिन अभी ज्यादा तेजी दिखाना ठीक नहीं था.

तब तक के लिए आंटियों, भाभियों और हवसी लड़कियों को कहना चाहूंगा कि सेटिंग करती रहो और अपनी चूत चुदवाती रहो। मेरे जैसे चोदू लड़कों को मजा देती रहो. वो भी मुझे शादी करने के लिए तैयार थीं, लेकिन किसी वजह से उसकी फैमिली नहीं मानी और हमें अलग होना पड़ा. मैं, चाची जो सामान लायी थीं … हनी चॉकलेट सीरप वगैरह और हिना आंटी के सामान डिल्डो, हैंड कैप्स ब्लाइंड फोल्ड … वो सब एक बैग में डालकर हाथ में पकड़े आ रहा था.

अंदर बेडरूम में ले जाने के बाद मैंने आंटी को धीरे से बेड पर बैठा दिया. कुछ देर तक उसके पाइप को अपनी गांड मरवाने के बाद मुझे कुछ राहत सी मिलने लगी थी.

करीब दोपहर एक बजे वो मेरे उस घर पर पहुंच गई और सीधे अन्दर आके दरवाजा बंद कर दिया. प्रिया मुझे देख रही थी और मेरे गुस्से को भांप गयी। वो उठकर मेरे पास आ कर खड़ी हो गयी और मेरी बांह पकड़ कर अपना सर मेरे कंधे पर रख लिया. मैंने भी अपने करियर पर फोकस करना शुरू कर दिया और उसके बाद मेरी कभी काजल से बात नहीं हुई। न ही उसने कभी मुझसे बात करने की कोशिश की। फिर मैंने अपने पड़ोस में एक नयी लड़की पटा ली और उसके साथ चुदाई का खेल खेलना लगा.

घोड़ा वाली सेक्सी वीडियो

कभी वो मेरे एक मम्मे को अपने मुँह में लेकर चूसता तो कभी मेरे निप्पल को अपनी दो उंगलियों से जोर से उमेठ कर रगड़ देता.

उसने तेल को मेरे मम्मों के बीच में डाला और मेरे मम्मों को मालिश करने लगा. मेरी छोटी सी कोमल गांड का भोसड़ा बना दिया मेरे पति के मोटे लौड़े ने। लेकिन मुझे बहुत मजा आ रहा था और पति के मुंह से भी कामुक सिसकारियां निकल रही थीं. मैंने मजाक में स्मायरा से कहा- आपको मेरे साथ डर तो नहीं लग रहा?वो बोली- मुझे आप मत बोला करो.

जब अंकल का होने वाला था, तो उन्होंने तुरंत लंड निकाल लिया और मेरे मम्मों और पेट पर अपना सारा माल निकाल दिया. एकदम से चाची ने मेरा लंड हाथ में लेकर कहा- तुम्हारा लंड तो चाचा से भी बड़ा है. नवजात शिशु की मालिशअब आगे:उस दिन समीर ऑफिस में था और ज्योति बैंक के किसी काम से बाहर गई हुई थी.

ममता कंडोम लेकर आयी और मैंने अंकल का लंड चूस कर उस पर कंडोम चढ़ा दिया. फिर मैं अन्दर से एक पुरानी ब्रा और एक पेटीकोट पहन कर उसके सामने आ गयी.

डॉक्टर ने एक नजर अपनी बीवी की तरफ डाली, उसकी बीवी भी शरारत से बोली- हां हां कर सकते हो! तुम चूत चूसने में बड़े उस्ताद हो, मुझे पता है. अन्दर जाकर उसने मुझे फोन किया और कहा- जनाब क्या अपने घर नहीं जाना है … या बाहर ही खड़े रहोगे?यह सुन कर जैसे मुझे होश आया. हम कभी दिल्ली घूमने के लिए चले जाया करते थे तो कभी नोएडा में घूमने के लिए निकल जाया करते थे.

जल्दी से अपना यह लौड़ा मेरी गांड में उतार दो और मुझे अपनी छिनाल बना दो. हम दोनों एक बार चीख उठे- आआह ऊऊह … बहुत मज़ा आया …परवीन- कैसा मस्त लंड पकड़ा है तूने रेशमा … थैंक्यू जीशान. ये सब कैसे मालूम हुआ, ये सब आपको भी मालूम है कि किस तरह से ये सारी बातें सामने आ ही जाती हैं.

इसके बाद हम सभी का पहले से तय कार्यक्रम मेरे फार्म हाउस पर चुदाई का मेला लगाने का था.

मैं भाभी की चुदाई जीभ से कर रहा था, तभी भाभी ने मेरा मुँह चूत पर दबाया और गांड उठाते हुए उनकी चूत ने फव्वारा छोड़ दिया. दोस्तो, मेरी यह सेक्स कहानी एकदम सच है, मैंने जो अनुभव किया था, वो जस का तस आपके सामने लिख दिया है.

मैं बोली- हां, जहां तक सागर के लंड की बात है … तो मैं उसको कुछ नहीं कह सकती. तभी अंकल ने बोला- क्यों नहीं … मगर आपके हस्बैंड ने अगर देख लिया, तो वो बुरा तो नहीं मानेंगे. भाभी ने जोर देकर पूछा तो मैंने ऐसे ही बता दिया कि आधा घरवाला होता है.

मेरी गांड को दबा-दबा कर चोदा और दस मिनट के बाद फिर से अपना वीर्य मेरी गांड में निकाल दिया. इससे पहले मैं इतने दिनों तक कभी अपने पति से दूर नहीं रही थी इसलिए मैं उनकी प्यास को समझते हुए उनका साथ देने की पूरी कोशिश कर रही थी. हालाँकि हर्ष काफी लंबा और हट्टा कट्टा था पर फिर भी उसके दोनों हाथों में मेरी गांड नहीं आ रही थी.

बीएफ पिक्चर वीडियो पर मुझे पहले तो बहुत गुस्सा आया लेकिन इसकी बातें इतनी मस्त होती थीं कि मैं सब कुछ भूल जाता था. मैंने हैरान होते हुए कहा- सच में? एक महीने से आप लोग कैसे रुके हुए हो?वो बोली- मतलब?मैंने कहा- मतलब ये कि आपका मन तो मचलता ही होगा तो फिर बिना किये कैसे रह लेते हो?मेरी इस बात पर वो बुरी तरह से शरमा गयी और कहने लगी- मेरे बारे में तो सब कुछ पूछ लिया और अपने बारे में कुछ नहीं बता रहे.

सेक्सी डॉग लड़की

मैं भी इन सब मामलों में कोई दिलचस्पी नहीं रखता था, अक्सर बाहर ही आवारगार्दी करता रहता. फिर शिवानी ने अपने दोस्त से कहा- अब निकालो अपना लंड और दिखाओ सबको कि मेरी पसंद कैसी है. पर सभी के मन में था कि अब दो मिनट बाद पता नहीं कौन उनका पार्टनर होगा.

” सरिता ने महेश को अपने ऊपर से हटाते हुए कहा।क्या हुआ जानेमन?” महेश ने सरिता के ऊपर से हटते हुए कहा।कुछ तो अपनी उम्र की शर्म करो, मुझसे अब यह सब नहीं होता. ऐसे ही एक दिन की बात है, मेरी मॉम कुछ काम के लिए घर के बाहर जाना पड़ा. नई वीडियो सेक्सीआंटी कहने लगीं- हमारे जैसी का क्या करोगे, हम तो इतनी सुंदर भी नहीं हैं.

तभी भाभी ने कहा- क्या सोच रहे हो … बाइक इतनी धीरे क्यों चला रहे हो?मैंने कहा- भाभी मैं सोच रहा था कि आप बहुत सुंदर हो.

सीमा ने एक टॉपलेस फ्रॉक सा कुछ पहना था जो उसके मम्मों को बमुश्किल ढकता हुआ नीचे हिप्स तक ही आ रहा था. एक पल के लिए तो मैं सकपका गया, लेकिन फिर सोच कर बोला- सिर्फ सास-दामाद का रिश्ता नहीं है, बल्कि उसके अलावा भी एक रिश्ता है.

मैंने कहा- इससे तो अच्छा, मैं वहां गाड़ी रोक कर करवा रहा था, तो आप भाव खा रही थीं. क्योंकि उसके घर वालों को उसने नींद की गोली दी हुई थी और किसी का कोई डर नहीं था. इसलिए मैं और तेजी के साथ धक्के मारने लगा और एकाएक मेरे आंडों से मुझे महसूस हुआ कि मेरा वीर्य निकलने के कगार पर है.

उसने मेरा लंड दबाया, तो मैंने मजाकिया स्टाइल में कहा- क्या कर रहा है कमीने … अभी लंड खड़ा हो जाएगा, तो कौन संभालेगा.

सारिका के बैठते ही पंकज ने उसे किस किया तो सारिका बोली- क्या कर रहे हो?पंकज बोला- राहुल तो हमें कई बार ऐसे देख चुका है. अभी भी जब आप ब्लू साड़ी पहन कर बाहर निकलती हो, तो दुनिया में कोई देखे ना देखे, मगर मेरी नज़र तो आप पर से हटती ही नहीं है. ” महेश ने अपनी बहू की तरफ हवस भरी नजरों से देखा क्योंकि उसका लंड पहले से ही तनतना रहा था और ज़ोर से उछल रहा था।पिता जी आप अपना मुँह उस तरफ कर लो, मुझे आपके सामने कपड़े उतारने में शर्म आती है।”अरे बेटी जब मैं तुम्हें नंगी देख चुका हूं और फिर से नंगी देखने वाला हूं तो फिर तुम ऐसे क्यों शरमा रही हो?”पिता जी शायद आप ठीक कह रहे हैं.

टैटू बनाने वालातभी अंकल ने मुझे कुतिया बना दिया और मेरी चूत में लंड लगा कर मुझे रगड़ने लगा. शाम को जैसे ही उन्होंने मुझे देखा, वो एकदम मचल गए और घर में घुसते ही मुझे जोर से बांहों में कस लिया.

नेट वाला फाइल

मैंने देखा कि अंकल अभी सिर्फ़ बरमूदा में थे, उन्होंने ऊपर कुछ नहीं पहना था. मैंने बिना कुछ बोले अपना पानी दीदी की चूत में छोड़ दिया और साथ में दीदी भी झड़ गयी। अपनी दीदी की चूत के गर्म पानी का लंड पर जो अहसास मुझे उस समय मिल रहा था वो तो मेरे जैसा बहनचोद ही समझ सकता था. विवान भैया मेरी चूत चाट रहे थे तो मैं और भी ज्यादा कामुक हो रही थी.

क्यों?” उसने सवाल पर सवाल दाग दिया।मैं चाहता हूँ कि हम दोनों प्यार का भरपूर मज़ा लें कहीं!”कैसे?” उसने पूछा. इससे पहले कि वो अंदर जाती … मैंने उनका हाथ पकड़ कर खींचा और सीढ़ी के नीचे ले गया और उनको वहीं दिवार पर टिका कर उनकी गर्दन पर चुम्बन करने लगा। उन्होंने गुर्राते हुए मुझे डांटा … पर मैं नहीं माना और उनके बूब्स जोर से दबाने लग गया।उन्होंने अपनी पूरी ताक़त से मुझे धकेला और ‘तुझे समझ में नहीं आता बेशर्म … और अगर फिर से ऐसी कोई भी हरकत करी तो तेरे घर वालों के सामने ही तेरा सारा भूत उतार दूंगी. उसने 2 उंगलियां मेरी चूत में डालीं और हल्के हल्के उन्हें मोड़कर अन्दर घुमाने लगा.

यहां आज से मेरा नया बाप आज से मेरी मॉम के साथ सोने वाला था और उन्हें चोदने वाला था. सुबह जब उसकी भाभी आवाजें लगा रही थी ‘स्मायरा स्मायरा …’तब उनकी आवाज सुनकर मेरी एकदम से आंख खुली. उसे संकोच हो रहा था पर सीमा को कोई ऐतराज नहीं था, वो तो बस पैर चलाने में मस्त थी.

मैं भी अब जोर से रीना के मुँह को चोदने लगा और रीना के मुँह में ही झड़ गया. उसने मेरी चुत पर हाथ लगा कर एक दबाव दे दिया, इससे उसका लंड चीरते हुआ और अन्दर घुस गया.

मैंने कहा- आप खुल कर बताओ ना … उस दिन क्या किया था … मुझे पूरा किस्सा सुनाओ न?पहले उन्होंने ना में सर हिलाया, फिर मेरे जोर देने पर वो पहले मुझसे लिपट गयीं.

मैंने एक जोर से धक्का मारा और वीना आंटी की चूत में मेरा आधा लंड चला गया. रक्षा बंधन राखीमेरे प्रिय दोस्तो, मेरा नाम रितिका सैनी है यह मेरी तीसरी कहानी है अगर आपने मेरी पिछली कहानीस्कूल में पहला सेक्स किया हैंडसम लड़के को पटाकरहैंडसम लड़का पटाकर चूत चुदाई के बाद गांड मरवायीनहीं पढ़ी तो जरूर पढ़ लें. जानवर के सेक्सी फिल्मचूंकि ये सब अचानक ही हो रहा था तो कंडोम इस्तेमाल करने का तो कोई सवाल ही नहीं था. जब 10-15 बार चूत इस तरह से चुदेगी, तभी चूत को असली चुदाई का पता लगेगा, फिर वो हमेशा ही कहा करेगी ‘ज़रा और तेज धक्के मार साले.

अंकित ने उसकी तरफ असमंजस में देखा और मुस्कराते हुए चुम्बन का जवाब देने के लिए उसकी तरफ बढ़ा.

पिंकी राजीव के साथ, सीमा धीरज के साथ, नायरा मुश्ताक के साथ और शबनम राहुल के साथ हाथ में हाथ लेकर खड़ी हो गयी. नेहा भी धीरे से हम दोनों के पास आ गई और आंटी ने नेहा की शर्ट के बटन खोलने चालू कर दिये. मैंने उन्हें बीच में ही रोक दिया और कहा- बस कुछ नहीं, ये बात हम दो के अलावा किसी तीसरे तक नहीं जाएगी, बस अब और कुछ नहीं कहिए … और रहा सवाल सही गलत का, तो अपनी खुशी तलाशने में कुछ भी गलत नहीं होता है.

करीब दोपहर एक बजे वो मेरे उस घर पर पहुंच गई और सीधे अन्दर आके दरवाजा बंद कर दिया. ऐसा करके उनकी गांड में नारियल का तेल डाल कर उंगली अंदर बाहर करनी शुरू कर दी. मैंने देखा दोनों लड़कियां धीरे से हाथ पीछे ले आईं और इशिता के चूतड़ों पर हाथ फेरने लगीं.

हीरोइन के सेक्सी पिक्चर

शबनम ने तो आते ही सिगरेट जला ली, तो शबनम ने भी उसका साथ देते हुए सिगरेट जला ली और आज उसने सब मर्दों के सामने ही नायरा और सीमा से भी सुट्टे लगवा लिए. जैसे ही सर ने दरवाजा बंद किया, तो मैं रूम में एक पुतले की तरह वहां खड़ी रह गई. ऐसे करते करते दिन निकले और चार दिन बाद हम लोग अमृतसर के एक कॉलेज में गए.

कुछ ही देर हम दोनों नंगे हो गये और विनय मेरे मुंह में लंड देकर चुसवाने लगा.

फिर जब हम दोनों कॉलेज में गये तो पता लगा वो भी उसी कॉलेज में पढ़ रहा है.

जब उसने हम दोनों को देखा, तो पूछा कि क्या हुआ?तो कल्पना बोली- कुछ नहीं … तू बाहर देख … मेरे चिल्लाने पर ध्यान मत दे. बहुत मजा आ रहा था उन दोनों कपल्स को मेरी बीवी के नंगे जिस्म के ऊपर रेत डालते हुए. हिंदी सेक्स फिल्म देखने वालीहम लोगों ने अभी थोड़ी देर पहले ही पानी निकाला था, तो हम दोनों जल्दी झड़ने वाले भी नहीं थे.

मुझे अपनी कोमल नर्म जांघों पर उसके हाथों की छुअन अच्छी लग रही थी और मजा आने लगा था. फिर उन्होंने लंड पर दोबारा से थूका और फिर से दबाव बढ़ाया तो लंड थोड़ा अंदर सरकने लगा. वेरोनिका ने मुझे रोका और बोला- वेयर यू आर गोइंग? (तुम किधर जा रहे हो?)हमारी सारी बातें अंग्रेजी में ही हो रही थीं.

उसने हल्के से मेरी चूत पर एक किस जड़ा तो मेरा रोम रोम मचल गया।आह … भाभी … कितनी सेक्सी हो आप …” अमित मेरे पैरों को अपनी बाँहों में जकड़ते हुए बोला।अमित का शरीर भी कसरती था, उसके सीने पर और पीठ पर घने काले बाल थे।मैं उन दोनों नंगे पुरुषों के बीच में नंगी खड़ी थी. वो गांड उठाते हुए कह रही थी- आह … और जोर से चाटो … खा जाओ इसे आज … साली बहुत दिनों से तड़प रही थी.

अब उन्होंने मुझे अपने नीचे लिटा दिया, मेरे ऊपर चढ़ गईं और मुझे मज़ा देने लगीं.

अंजू बोली- अब अपना लंड मेरी चूत में डालो यार … अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है. कुछ देर तक मेरी चूत को चोदने के बाद दीदी ने डिल्डो को पूरा अंदर डाल दिया और तेजी से उसको मेरी चूत में चलाने लगी. महेश ने नीलम की कमर को पकड़ लिया और उसकी चूत में अपने मूसल लंड के धक्के देने शुरू कर दिये.

सेक्सी दिखाइए फिल्म घर ढूँढने में मेरे पिताजी के सहकर्मी की बीवी ने हमारी सहायता की और उनके बाजू वाली बिल्डिंग में ही हमें एक घर मिल गया. मेरी पिछली कहानी थीशादीशुदा लड़की का कुंवारी सहेली से प्यारआज की मेरी कहानी देहरादून में बन रहे पॉवर प्रोजेक्ट के इंजीनियरों की है.

परीशा बेपरवाह अपनी जीभ लंड की जड़ से लेकर सिरे तक घुमा रही थी।मुकुल राय के लिए तो यह एक जबरदस्त मज़ा था, इस मज़े से उसकी हालत खराब होती जा रही थी. इस पर वो गम्भीर स्वर में बोलीं- हम दोस्त बाद में हैं, पहले तुम मेरे दामाद हो. कुछ देर चूत चूसने के बाद दिलावर ने उठकर लंड मेरे मुँह में डाल दिया औऱ प्रिंस ने पहले लंड मेरी चूत पर रख कर रगड़ा.

एक्टर नेम

परन्तु यहां मुझे अपनी सभी सेवाएं वेरोनिका के साथ बांटनी थीं क्योंकि वो भी यहां एक एस्कॉर्ट थी. मेरे घर वालों ने चाची के पहले से बोल दिया था कि मैं भी घर पर ही रहने वाला था. जैसे-जैसे वह खुद से लड़ने की कोशिश कर रही थी, उसके पूरे शरीर में एक सनसनी दौड़ रही थी.

मैंने आंटी से बोला- अब तो छोड़ दो यार … पहले खाना खा लेते हैं मेरी जान, फिर तो मैं आपका ही हूँ. ”वो त्या चीज होती है?” गौरी ने अधीरता से पूछा।ओह… कैसे समझाऊं?”त्या हुआ बताओ ना?”ओह… यार मुझे शर्म भी आ रही है और झिझक सी भी हो रही है.

और वो थी वहाँ!मैंने जैसे ही उसका प्रोफ़ाइल देखा, एक मैसेज भेज दिया हैलो का।तुरंत ही उसका जवाब आया और उसने कहा कि वो मेरे ही मैसेज का इंतज़ार कर रही थी.

महीने में 2-3 बार ही सेक्स करता है और जल्दी झड़ कर पलट कर सो जाता है. अब मैंने जैसे ही लंड को चूत की फांकों में रखा, वो घबरा कर पीछे को चली गई. मैं उसका सर अपनी चूत में दबाने लगी और वो मेरी चूत को कुत्ते की तरह चाट रहा था.

लेकिन अब उसमें पहले जितना मजा नहीं आता इसलिए मुझे नए लंड की तलाश जारी है. ये सब बातें सुन कर मैं धीरे-धीरे उनसे और चिपक गया, जिस कारण उनके चुचे मेरे सीने से टच होने लगे. तो अगर अभी हम जैसे सोफे पर बैठे थे दूसरे पार्टनर के साथ चाहे तो वैसे बैठ लें या चाहे बदल लें.

मैं पैंटी को सूंघते हुए चूत में उंगली कर रही थी और साथ में अपनी पैंटी को चाट भी रही थी.

बीएफ पिक्चर वीडियो पर: उपासना तड़पने लगी और अपने आप को मुझसे छुड़ाने की नाकाम कोशिश करने लगी. मैंने धीरे से लंड को अपने मुँह में ले लिया … और लंड को अपने मुँह से ही हिलाने लगी.

मैं थोड़ा थूक लेकर भाभी की नाभि पर रगड़ने लगा और जोर जोर से धक्के लगाने लगा. मैं उससे बोला- मैडम आप जबान संभालकर बात करो … मैं कभी भी किसी लेडी को गलत निगाह से नहीं देखता हूँ … हर औरत को मैं रिस्पेक्टफुल्ली देखता हूँ. मैं बहादुरगढ़ से मैट्रो में बैठ गया और शाम को ठीक 8 बजे मैं दिलशाद गार्डन पहुंच गया.

मैं आज भी रीतिका को वैसे ही चोदता हूँ, जैसे उसे पहली रात को चोदा था.

मैंने कहा- तो तुम ही मुझे बताओ कि मुझे क्या करना चाहिए?उसने कहा- इंटरनल मार्क्स क्लास टीचर के हाथ में होते हैं … बराबर. तब तक मेरी चूत का पकोड़ा बन चुका था। पर उसका लन्ड फिर भी अच्छा लग रहा था। रॉकी ने चुदाई पूरी करके लन्ड बाहर निकाला. परवीन- मेरी सांस रुक गयी … इतनी भी देर कोई लिप टू लिप करता है … आआह.