सलवार सूट में बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू वीडियो में बीएफ: सलवार सूट में बीएफ, वो बोला- आप सही कह रही मेमसाब… हम तो पागल ही हैं, जो यह समझ ही नहीं सके.

बीएफ सेक्सी वीडियो आ जाए

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम दीपक है, मैं अभी 21 साल का अहमदनगर, महाराष्ट्र का रहने वाला हूँ. बीएफ फिल्म वीडियो में चलने वालाफिर भैया ने भाभी कि ब्लाउज की डोरी पकड़ कर खींच दी और ब्लाउज उतारकर अलग कर दिया, मेरी दुल्हन भाभी अब ब्रा में थी।दोस्तो, मैं आपको भाभी के बारे में बताना ही भूल गया.

तुम्हारी सीधी चुदाई बिना किसी दलाली के होगी तो तुमको पूरी रकम मिलेगी और किसी को पता भी नहीं लगेगा. किसका बीएफउसने मेरी टांगों को फैला दिया और मेरी चूत को अपनी जीभ से चाटने लगा.

मैंने कहा- क्या तुमको मजा नहीं आ रहा है?उसने भी बेआवाज हामी भरी और हम दोनों मेंचूमाचाटीअपने शिखर पर चढ़ने लगी.सलवार सूट में बीएफ: अब उसने मुझसे बोला कि तुम साफ़ सफाई कर लो और अपने पूरे कपड़े डाल लो, जो मैंने तुमको दिए थे.

मगर डॉक्टर को चैकअप करने के लिए अभी कुछ दिन तो निकालो वरना उसे भी क्या पता लगेगा कि तुम्हें बच्चा होने वाला है.अब दीदी भी मुझे गाली बकते हुए चुदाई का मजा लेने लगी-भैन के लंडसाले चोदने में दिमाग लगा.

कुमारी लड़की के बीएफ सेक्सी वीडियो - सलवार सूट में बीएफ

मैं दिल में भर कर तुम्हारी नंगी चूत को अपनी आँखों में बसा लेना चाहता हूँ.मैंने अब तक कई लड़कियों को चोदा है, पर जो मज़ा अपनी बहन के साथ आ रहा है, ऐसा अब तक किसी के साथ नहीं आया.

मैं कई दिनों से सोच रहा था कि अपनी एक सेक्स स्टोरी आप सभी दोस्तो को सुनाऊं. सलवार सूट में बीएफ जैसे ही वो दोबारा अकड़ने लगी तो फिर से बेड पर लिटा कर तेज झटके मारने शुरू कर दिए क्योंकि अब मेरा भी होने वाला था.

मैंने साथ में ये भो सोचा कि इससे फिलहाल बना कर रखने में ही भलाई है.

सलवार सूट में बीएफ?

चूँकि गीता को पैसे मिल चुके थे और उस पर पैसों की गर्मी भी उस पर चढ़ चुकी थी. फिर भाभी ने मुझे कॉफ़ी के लिए कहा कि चलो कॉफ़ी पीते पीते बात करते हैं. लड़का अपनी मुनिया लड़की की मुनिया में घुसा कर रगड़ता है, और फिर दोनों का सफेदा निकल पाता है, तब कहीं जा कर राहत मिलती है।”भक्क.

फिर मैं मसाज करते करते पेट से होते हुए चूत तक आया और चूत के आस-पास तेल लगाकर मसाज करने लगा. भोसड़ी वाली शोर करेगी तो पूरा कस्बा यहां इकट्ठा हो जाएगा और फिर सारे के सारे तुझे चोदेंगे. मैं आंटी के गालों को चूमने लगा मैंने कहा- नहीं आंटी, मत जाओ प्लीज़, मत जाओ! मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं, मैं आपको बहुत सारा प्यार करूंगा.

उसने सोचा और अपने आप से कहा कि उसने आज पद्मिनी को चोदने को सही निर्णय लिया है. फिर मैं आपा के पास गया और आपा को समझाने लगा, लेकिन वो नहीं मान रही थीं. तो उसने मुझे बताया कि वह ग्रेजुयेशन कर रही है और साथ ही सिविल सर्विसेज़ की तैयारी भी कर रही है.

फिर मैंने अपनी जीभ उनके मुँह में डाल दी और वह मेरी जीभ को चूसने लगी. वो बीच बीच में मुझसे चुदते समय कहा करती थी कि बॉस आपने जो एड्वान्स दिया है, उसके बदले मेरी चुत चोद लो.

उसकी गांड में लंड पेलने के साथ ही मैं उसकी चूत में भी उंगली कर रहा था, जिससे उसको डबल मजा आ रहा था.

मैंने उन्हें सलाम-वालेकुम कहा जोकि मैं अंकल-आंटी से तो कभी कभार तो करता था लेकिन शबनम भाभी से कभी नहीं.

मेरे प्यारे दोस्तो, मैं अन्तर्वासना की क़हानियां चार साल से पढ़ रहा हूँ. मैंने समझ लिया कि ये अब मुझसे कुछ चाहने लगी है लेकिन मैंने उसको और ज्यादा खुले का समय दिया. पद्मिनी को आँखों को खोलना पड़ा, जब उसने सुना कि उसका बापू कितना तड़प रहा है.

करीब 5 मिनट तक लंड चाटने के बाद जब लंड सीधा खड़ा हुआ तो पूरा साढ़े छह इंच का हो गया. इतने में सोनू नीचे बैठ गया और मेरी स्कर्ट के अंदर घुस के मेरी चूत अपनी जीभ से चाटने लगा. आधा घंटे तक हमने बातें की होंगी कि भाभी ने अब अपनी गांड में उंगली करते हुए मुझे गांड मारने का इशारा दिया.

मैंने कुछ देर प्यार से अपने भाई के लंड को देखा, फिर आगे झुककर उसे मुँह में ले लिया.

जैसे जैसे बुड्ढा उसके नंगे जिस्म को छूता, एक आग मेरे दिल में लग जाती. पद्मिनी आँख मूंदे अंगड़ाइयों के साथ कामुक सिसकारियां लेते हुए बापू को किस कर रही थी. मैंने निशाना लगाया, पर उनकी चूत छोटी होने की वजह से मेरा लंड फ़िसल गया.

तो उसने पूछा- कौन सा खेल है जो नया है?तब मैंने उसे कहा कि वो मेरी तरफ पीठ करके लेट जाए और मैं अपनी उंगली से उसकी पीठ पर कुछ लिखूंगा, उसे महसूस करके उसको बताना है कि मैंने उसकी पीठ पर क्या लिखा है।उसे भी ये कुछ नया लगा तो वो राजी हो गई और मेरी तरफ पीठ करके लेट गई. ने आपने पढ़ा कि पुलिस वाली दो सहेलियों ने मुझे अपने पास ही रख लिया था और मेरा इस्तेमाल चूत गांड चुदाई के लिए करती थी. फिर धीरे धीरे उनकी गांड में अपना लंड डालने की कोशिश करने लगा मगर उनकी गांड बहुत टाइट थी… तो मैंने एक ज़ोर से धक्का दिया, जिससे मेरा आधा लंड उनकी गांड में चला गया.

कौन तुम्हें कुछ कह रहा है?मैं चुप हो गया और कुछ सोचते हुए बोला- ये साड़ी का थान कैसे खुलेगा?मुझे क्या पता, ये तुम्हारा काम है तुम जानो.

हालाँकि मुझे उसके दर्द का एहसास उसकी सिसकारी से हो रहा था लेकिन फिर भी आरुषि ने मुझे अपनी गांड में उंगली करने से नहीं रोका. घर आया तो पता चला कि गांव में पापा के किसी ख़ास रिलेटिव की डेथ हो गई है.

सलवार सूट में बीएफ हम तीनों वहां गये और रूम के लिए पूछा लेकिन वहां एक भी रूम खाली नहीं था।फिर मैंने ताऊ जी को फोन किया तो ताऊ जी ने कहा- तुम जहाँ हो, वहां से 2 किलो मीटर पीछे एक छोटी लॉज है, शायद वहाँ कोई कमरा मिल जाये!तो हम बारिश में भीगते हुए 2 किलो मीटर वापस आ गये, वहां उस एक लॉज पर रुक गए लेकिन हमें एक ही रूम मिला, वो भी सिंगल बेड! मजबूरी में हमने वही कमरा ले लिया. फिर मैंने बड़ी चाची से कहा- अब तेरे ताले का नम्बर है कुतिया… बहुत आग है तेरे ताले में साली अभी बताता हूँ रंडी.

सलवार सूट में बीएफ दस मिनट बाद लंड निकाल के देखा तो उस पर खून के थोड़े से कतरे लगे हुए थे. दीदी की फिर से जोर से चीख निकल गयी और वो फिर से दर्द से तड़पते हुए रोने लगी- आह.

मेरे एक तरफ जीजा जी सोये हुये थे और दूसरी तरफ प्रिया और उसके बगल में दीदी सोई हुई थी.

गंदी वाली वीडियो

मैंने जैसे ही उसकी नजरों से नजरें मिलाईं, वो बोली- अब पास आये तो मैं पापा से सब कह दूँगी. अब नताशा को दर्द नहीं हो रहा था, जिसकी गवाही अब उसकी आवाज दे रही थी… अब वो कराह नहीं रही थी, बल्कि उसके मुंह से मस्ती भरी आहें निकल रही थीं. लेकिन मैंने सुना है कि इसका साइज़ बहुत बड़ा और मोटा है और ये बहुत देर तक चोदता भी है.

उस लड़के ने मेरी पूरी बात सुनकर हां में सर हिलाया और गीता को किसी गेस्ट हाउस में ले गया. जब वो चुदाई करता था तो बहुत आराम से शुरू करता था और करते करते पूरा जंगली हो जाता था. फिर धीरे धीरे उन्होंने बताया कि अब उनके पति ज़्यादा सेक्स नहीं करते, वे हमेशा काम में बिज़ी रहते हैं.

जैसा कि आपने पिछले भाग में पढ़ा था कि मेरे ड्राइवर को अपने जाल में फंसा कर चुदाई का मजा लेने की प्लानिंग की गई थी.

फिर मैंने भाभी को कहा- भाभी लेकिन मेरे पास तो कंडोम है ही नहीं, आपको दो मिनट रुकना पड़ेगा, मैं लेकर आता हूँ. मैं ठीक से चल भी नहीं पा रही थी।घर गयी तो बेटी ने पूछा- क्या हुआ?मैंने कहा- टाँग में दर्द है।अगली स्टोरी में बताऊँगी कि फिर क्या हुआ. आप जानते हैं कि यह अपराध होता है, अगर आपने अभी ज़रीन से माफी नहीं माँगी तो मैं आपके खिलाफ केस करूँगा.

फिर मैं बैठ गया और बहू के तलवे चाटने लगा और पांव की उंगलियाँ अंगूठा सब चूसने लगा. मैंने भी अपने लंड पर हाथ फेरते हुए कहा- हां, आपको इतना ख्याल तो रखना ही चाहिए, जो मैं कहूँ वो आप करो. नमस्कार दोस्तो,बहुत बहुत धन्यवाद सभी अन्तर्वासना के पाठकों को आप लोगों ने मेरी कहानीमौसी के साथ बिताई कुछ रातेंको पसंद किया.

एक बार मैंने अपने जन्मदिन की पार्टी रखी और प्रदीप को बुलाया और पूजा को साथ लेकर आना को भी मना लिया। बुलाया तो मैंने उसके छोटे भाई को भी था लेकिन वो पढ़ाई करने के कारण नहीं आया था. मैं उसके मम्मों को कपड़ों के ऊपर से ही दबाने में लग गया और साथ ही मैं उसके होंठों को चूम रहा था.

एक घण्टे में मैं उनके शहर पहुँच गयी।पहले तो मुझे लगा वो मुझे अपने घर ले जा रहे थे। मगर वो मुझे पहले अपनी दुकान ले गए उसके ऊपर एक कमरा था. उस वक्त उसने मुझसे पूछा कि ये झड़ना क्या होता है?फिर मैंने झड़ना भी बताया कि चूत से पानी निकल जाना और उसी वक्त शरीर शिथिल हो जाना ही झड़ना होता है. जीजा ने दीदी के दूध दबोचे और बोला- भैन की लौड़ी, अब तेरी चुत में एकाध दोस्त का लंड भी पिलवा दूंगा.

मैं जैसे ही आंगन में नहा कर आई, सुरेंद्र जीजा सामने आ गये और उस समय अगल बगल कोई नहीं था तो मुझे बोले- वन्द्या जी, तुम्हारा सब कुछ दिख रहा है, मेरी नियत मत खराब करो नहीं अच्छा नहीं होगा.

मैं उससे फ़ोन पर भी बात नहीं करती थी क्योंकि मेरे घर पर मम्मी पापा भी आ गए थे और मेरी मम्मी हमेशा मेरे साथ रहती थी तो मैं किसी से फ़ोन पर बात नहीं कर पाती हूँ. तो यह थी मेरे साथ हुई सच्ची घटना… आप लोगों को कैसी लगी, मेल जरूर कीजिएगा।[emailprotected]. अब मैंने प्लान बनाना शुरू कर दिया कि कैसे उसकी चूत का रस पियूँगा और अपना लंड उसके हाथ में दूंगा और मेरा लंड किस करेगी.

उन्होंने मुझे उठाया और खुद मेरे ऊपर आ गईं फिर नीचे बैठ कर मेरा लंड बड़ी कामुकता से चूसने लगीं. और क्या हाल है नताशा डार्लिंग?” मैंने नताशा से उसका आगे का प्रोग्राम जानने की गरज से पूछा.

मैं भी उसके मम्मों को मुँह में डाल कर उसका रस पीने लगा और एक हाथ से दूसरे चूचे को दबाता रहा. तैयार न होती तो यह न कहती कि कल की कल देखेंगेबल्कि साफ़ साफ़ मना कर देती. अगर मुझे पता होता कि वो भी मेरे लंड से चुदना चाहती हैं तो उसे तो कई बार चोद दिया होता.

राजसथानी सेकसी

सामान्य रंग, बड़ी बड़ी आँखें, नुकीली नाक, सीधे और लंबे बालों से उनकी आकर्षकता बहुत ज्यादा थी.

उसी समय वो झड़ गईं और फिर मेरे लंड ने भी जोर की पिचकारी मारी और मैंने भाभी की चूत को अपने रस से सराबोर कर दिया. फिर मैंने लंड उनकी चूत पर रख कर एक झटका मारा तो लंड का सुपारा अन्दर घुस गया. कुछ लोग फुसफुसा रहे थे कि ‘यही उस लड़की का पिता है, क्या माल है इसके घर में यार, मेरी वैसी बेटी होती तो मैं ही उसको चोद देता.

कभी वो अपनी शादी शुदा लाइफ के बारे में वो कुछ बोलती, मैं भी कुछ बताता. एकता अब स्पीड से ऊपर नीचे होने लगी थी और उसकी चुत से रस बहने लगा था, जो उसकी गांड तक और लंड पर पता चल रहा था. बीएफ चोदने वाली बीएफ चोदने वालीउसका एक रंग आ रहा था और दूसरा जा रहा था, वो बोली- नेहा प्लीज़ इसे डिलीट कर दो वरना मैं कहीं की नहीं रहूंगी.

फिर वो बोलने लगी- इतना मज़ा आज तक न तो मेरे बॉयफ्रेंड ने दिया है न ही मेरे पति ने. वो लंड मुँह में लेने से मना कर रही थी, लेकिन मैंने उसे किसी तरह से मनाया तो वो मान गई और मेरा लंड चूसने लगी.

इतने में मैं अपनी जगह से उछल पड़ा और जूठे हाथों से ही सुकन्या के गालों को पकड़ कर उसकी आँखों में देखकर बोला- रानी, आज तुम्हारी वो चुदाई होगी जैसा तुम पहले कभी नहीं चुदी होगी. वहाँ पर उसे कोई नई लड़की मिल गई थी, जिसके मां बाप कनाडा में रहते थे और उसको पढ़ने के लिए भारत में भेजा था. मैंने उससे पूछा- पूरा मजा लेना है या बाकी कल करें?उसने मुझे बाँहों में जकड़ लिया, वह दुबारा सेक्स से भर गई थी, उसने कहा- अबकी बार थोड़ा क्रीम लगा कर करो.

मैं आठ बजे कोमल भाभी के घर गया, बेल बजाई तो भाभी ने लाल रंग की साड़ी पहनी हुई थी. मेरी सहेली को पटा नहीं है कि मैं उसके भाई से चुदाई का मजा लेने लगी हूं. मैं उनके ऊपर चढ़ गया और चूमने लगा, कभी उनकी गर्दन को तो कभी कान को.

मैंने ध्यान से देखा कि वो अभी तुरंत नहा कर ही निकली थीं और उनके बाल भी खुले हुए थे.

मुझे ये स्थिति बहुत पसंद है जब झड़ी हुई योनि को पेलो तो!वो पहले तो चिल्लाएंगीं जिससे मेरा जोश बढ़ेगा. मैंने बेल बजायी, दरवाजा खुला और करीब 35 साल की एक गोरी लेडी ने दरवाजा खोला.

तो वो बोले- हम क्यों झूठ बोलेंगे, आप खुद देख लो और वो दोनों मेरे घर में आकर मेरी चुदाई की वीडियो दिखाने लगे. शायद उनको मेरी यह आदत बुरी लगी और अब वो मुझे खुद को दूर रखने लगीं क्योंकि इसके बाद से जब भी वो मुझे देखती थीं, तो चुपचाप से कमरे के अन्दर चली जातीं और मुझे इग्नोर करने लगीं. उन्होंने मेरी अंडरवियर को उतार दिया और मेरा लंड सहलाने लगीं और उसे मुँह में लेकर चूसने लगीं.

उसकी बेटी मुझे घर दिखाने लगी और बोली- तुम मॉम को पसंद हो, उनको खुश रखना, तुम्हारे मजे रहेंगे. तुम्हें मज़ा आया?उसने मेरे माथे को चूम कर कहा- मुझे भी बहुत मज़ा आया. करीब 15 मिनट किस करने के बाद मैंने उसको बेड पर धक्का देकर गिरा दिया और खुद भी उसके ऊपर चढ़ गया.

सलवार सूट में बीएफ चाची बड़े मजे से मेरे टट्टे चाटते हुए रंडी की तरह मुझे मजा दे रही थीं. मेरी गर्म कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि कैसे मेरे उसके निप्पल का कलर पूछने पर मेरे दोस्त की बीवी नाराज हो गयी थी, लेकिन रात के तीन बजे उसने व्हाट्सअप पर ‘ब्राउन’ के रूप में कलर लिख भेजा था।जिसे पढ़ कर मेरा स्ट्रेस जाता रहा था और नीचे मैंने बस इतना लिख दिया था कि ‘मुझे भी यही लगा था।’बहरहाल, यह पहली बाधा थी जो उसने सफलतापूर्वक पार कर ली थी और मैं आज के लिये इतने पर ही खुश था।दिन गुजर गया.

संगीत ओपन फोटो

उसने हां बोलने में एक मिनट भी नहीं लगाया, बोली- मैं रोज़ ही उसे तुम्हारे कमरे में भेज दूँगी यार. अंत में मुझे यही सही लगा कि अपनी बहू पूजा को मुझे खुद ही चोद कर उसे खुश करना चाहिये, नहीं तो घर की इज़्ज़त बाहर लुटेगी. सोनिया ने मेरे करीब बैठते हुए कहा- डॉक्टर साब… तो कर दो न मेरा इलाज.

लड़का अपनी मुनिया लड़की की मुनिया में घुसा कर रगड़ता है, और फिर दोनों का सफेदा निकल पाता है, तब कहीं जा कर राहत मिलती है।”भक्क. रेखा रानी ने लंड और गांड के बीच में जो मुलायम सा भाग होता है, उसे ज़ोर से दबा दिया. बीएफ सेक्सी एक्स वीडियोमेरे मोटे मोटे होंठ नीग्रो जैसे, काला रंग, खुरदुरा चेहरा… लोग मेरे मुँह को सुअर सुअर बोल कर मुझे चिढ़ाते थे.

इसमें क्या गंदा है?” राशिद ने अपना लिंग मेरे चेहरे के सामने कर दिया।एकदम साफ सुथरा कुकुरमुत्ते जैसा लिंग, आगे चिकनी चमकीली छतरी सी और उससे उठती अजीब सी महक, जो गंदी तो बिलकुल भी नहीं थी.

जब ये तूफान ख़त्म हुआ तो पता चला ब्लड निकल रहा है, भाभी के शरीर से भी और मेरी पीठ पर भी. साथ ही एक हाथ से उसका एक वक्ष पकड़ कर उसे दबाते हुए चुचुक को मुंह में रख कर चुभलाने लगा।भक.

क्योंकि मेरे अच्छे नंबर आए थे, इसलिए बिना किसी मुसीबत के मुझे कॉलेज में दाखिला भी मिल गया. मैं कुछ समझ पाता कि दीदी ने लंड को अपने मुँह में भर लिया और चूसने लगी. तो फिर लिया या नहीं चुत में?” रंजू ने पूछा।हाँ लिया ना… एक बार… बहुत मजा आया था…” चेतना सब याद करते हुए बोली।पर मैं शर्त लगाकर कहती हूं कि राजू का उससे भी बड़ा होगा.

तो वो रुक गईं, मैंने अपने कपड़े उतार कर रख दिए, मैं भी नंगा हो गया और कुर्सी पर बैठ गया.

अब मैं उसकी बातें सुनकर ख़तरनाक जोश में आ गया, मैंने पूरी ताकत के साथ एक और धक्का लगा दिया. अब वो चली गई, बाद में उसने फ़ोन किया और कहा कि उसे नीचे दर्द हो रहा है और चलने में दिक्कत हो रही है. उसके पास बैठ कर कुछ इधर उधर की बातें करने के बाद मनोरमा उससे बोली- यह हमारी नई चिड़िया है.

बीएफ गाना के साथहालांकि मेरे मन में कोई ऐसी गलत भावना नहीं थी, मैं केवल मसाज करता हूँ. एकदम गोल गोल नरम मुलायम, जैसे कि दो छोटे से सेब हों या ऐसा लगता था कि छोटे छोटे से बैलून हों, जिसमें थोड़ा पानी भर दिया गया हों.

कलर सेक्सी

मैं उसके पास गया और पहले उसके गाल से बालों को हटाया और उसकी चूचियों को ऊपर से दबाने लगा. मैं भी उसकी चूत और चुचियों को मसलता रहा और उसके होठों को चूसता रहा. मेरे दूध पी न!” अहाना ने कुछ झुंझलाते हुए मुझे अपने ऊपर खींच लिया।उस तरफ से ध्यान हटा कर मैं उसकी घुंडियों को चुसकने चुभलाने लगी।वह बआवाजे बुलंद सिसकारती रही।करीब दस मिनट बाद वह हट गया और अहाना की सिसकारियां थम गयीं। इससे पहले हम कुछ समझ पाते या मैं संभल पाती.

अपने बेटे के विवाह से मैं बहुत खुश था कि चलो घर में एक बेटे के साथ एक बेटी भी आ गयी. मैंने अभिलाषा से कहा- तो फिर आज मेरा क्या होगा? मेरा काम कैसे चलेगा?अभिलाषा कहने लगी- देखिए मिस्टर राज! जब कोई एम्प्लाई छुट्टी मांगता है तो, छुट्टी तो देनी ही पड़ती है. कुछ देर बाद उसने आँखें खोलीं और मुझसे बोली- तुम खिड़की वाली साइड आ जाओ.

अब मनोहर ने मेरे मुँह से अपना लंड निकाला, मुँह से लंड निकलते ही मैं चीखने लगी, रोने लगी, बोलने लगी कि चाचा छोड़ दो मुझे, मुझे नहीं करवाना बहुत दर्द हो रहा है, मैं मर जाऊंगी मुझसे दर्द बर्दाश्त नहीं हो रहा. तो मैंने कहा- एक दिन में एक ही कहा था मैंने!तो वो बोलीं- कम से कम कप्तान को तो इतनी रियायत होनी चाहिए!तो मैं बोला- ठीक है… लेकिन ये पहली और आखिरी बार होना चाहिए!और मैंने सुकून के साथ उसके और अपने कपड़े उतारे और हमने एक दूसरे को चूमना चाटना शुरू किया. फिर मैंने उससे, उसके माथे पर किस करने की अनुमति माँगी… और उसने आँखें बंद कर के सिर हाँ के इशारे में हिलाया.

इतना कह कर वो मेरे पास रखी कुर्सी पर बैठ गईं और हम दोनों हंसी मजाक करने लगे. अब वो इधर उधर की बातें कर रही थी, लेकिन आज वो चुत चटाई की बात नहीं कर रही थी.

थोड़ी ही देर में मेरी चूत के अंदर लंड समाने लगा और पूरा का पूरा अंदर घुस चुका था.

अब हम दोनों उसके यहाँ करीब 9 बजे पहुँचे, उसने मुझे अपनी सहेली का भाई बताया. जबरदस्त बीएफ वीडियो मेंउसके बाद याना अब तक कई बार अपनी माँ को बिना बताए गुरुग्राम आकर मुझे चुद कर गयी है. गांव की लड़की की बीएफ फिल्मचुदाई के बाद हम सबने अपने अपने कपड़े और जब मैं जब में अपने घर आने लगा तो भाभी की भाभी ने मुझे रोका ओर मेरे होंठों पर एक मस्त किस करके मुझे 2000 रुपए देकर कहा- अब से जब भी मैं तुम्हें बुलाऊं, तो तुम्हें मुझे चोदने आना पड़ेगा. वैसे मैं भी वहीं रहूंगी, अगर मौका मिला तो एक डुबकी मैं भी लगा लूँगी.

अब हॉस्पिटल में सब फॉर्मलिटीज पूरी करने और उस आदमी को एडमिट करने में जितना वक़्त गुज़रा, तब तक उसका सारा नशा उतर गया.

मेरा नाम मनप्रीत कौर है, मैं पंजाब के लुधियाना में एक गांव में रहती हूँ. रानी अच्छे से मस्ता गई थी, वो कुछ बोलना चाहती थी लेकिन मुंह से केवल आहें ही निकल रही थीं. जैसा कि आपने पिछले भाग में पढ़ा था कि मेरे ड्राइवर को अपने जाल में फंसा कर चुदाई का मजा लेने की प्लानिंग की गई थी.

उसकी चूत अब तक खूब रसीली हो उठी थी और लंड अब सटासट, निर्विघ्न चूत में अन्दर बाहर होने लगा था. दीदी- साले बहन के लौड़े सारा दिन लंड चूत में डालने के लिए ही घूमता है, अरे मैं कहां भागी जा रही हूँ. जूसी रानी ने नक़ली गुस्से से कहा- और बुड्ढे लोग देखते तो?मैंने हँसते हुए कहा- बहनचोद अगर बुड्ढे लोग देखते तो साले अफ़सोस करते कि क्यों ज़िन्दगी में अच्छे से प्यार नहीं किया… कसमें खाते कि अगले जनम में बेहिसाब प्यार करेंगे.

सेकशिविडियो

उसके बाद वो 20 दिन के बजाए एक महीने तक रही और मुझसे लगभग रोज ही दो-तीन बार चुदती रही. मुझे बहुत अजीब लग रहा था कि मुझे पहली बार दो के साथ सेक्स करना पड़ रहा है. रिया की लम्बाई 5’6″ की थी, उसकी उम्र 18 की थी और 32-24-32 का फिगर बड़े ही कमाल का था.

मेरे मोटे मोटे होंठ नीग्रो जैसे, काला रंग, खुरदुरा चेहरा… लोग मेरे मुँह को सुअर सुअर बोल कर मुझे चिढ़ाते थे.

मेरी बहन रीनू सिर्फ पारदर्शी नाईटी में थी उसमें से उसकी चूचियाँ साफ दिखाई दे रही थी, मोटे मोटे चूचों के ऊपर काले निप्पल और नीचे चूत भी… काफी कुछ दिखाई दे रही थी.

जैसा मैंने तुझे पहली बार देख कर सपना लिया था वैसा ही मज़ा आया बल्कि उससे भी ज़्यादा. मेरी बहन के मुख से आनन्द भरी एक चीख सी निकल गयी ‘ उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मुझे भी अपनी बहना की गीली चूत मेरे लंड के इर्द गिर्द लिपटी हुयी महसूस हो रही थी. ससुर और बहू की बीएफ वीडियोइतना कहकर पीयूष में मेरे दूधों को समीज के ऊपर से ही दबाने लगा और बोला- वन्द्या तुम आज मेरी बीवी हो, अभी मेरा दोस्त आ रहा है.

बहुत कम लड़कियाँ इतनी खुश किस्मत होती हैं, जिनको उनके भाई चोदते हैं. फिर 4-5 जोरदार घस्से मारकर मैंने उसकी चूत में ही अपना माल निकाल दिया और उसके ऊपर निढाल होकर गिर गया।उसने मुझे किस किया और बोली- आज बहुत दिनों के बाद मजा दिया है तुमने… कब से तरस रही थी, अब जब तक ये वापिस नहीं आ जाते तब तक मैं सिर्फ़ और सिर्फ़ तुम्हारी ही हूँ. अपनी दो जवान बहनों को इस अधनंगी हालत में देख कर मेरा सात इंच का लंड पत्थर से भी ज्यादा कड़क और टाइट हो गया, उसे मैंने अपने हाथ से नीचे दबा लिया ताकि वो कुछ गलत न समझे.

पीयूष ब्लाउज के बटन खोलने लगा और जैसे ही ब्लाउज की बटन खुले, अन्दर मैंने कुछ नहीं पहना था, तो दूध बिल्कुल नंगे हो सामने आ गए. उनको देख कर मेरा लंड भी हल्ला करने लगता था कि भाभी की चुत दिलाओ, भाभी की चुत दिलाओ.

इतने में एक ने जो दूसरी से थोड़ी बड़ी लग रही थी, मेरी तरफ देखा और बोली- कोई प्रॉब्लम है क्या, जो ऐसे हमको घूर रहे हो?मैंने भी कह दिया- घूर नहीं रहा हूँ.

मुझे तो तुम्हारी बात सुन कर ऐसा लग रहा है कि ये सब मेरी चुत के साथ हुआ है. मेरी हॉट स्टोरी के पहले भागसास विहीन घर की बहू की लघु आत्मकथा-1में आपने पढ़ा कि कैसे मेरी एक सहेली बनी, उसे मेरी कहनियों के बारे में पता चला और फिर उसने मुझे अपनी कहानी लिखने को कहा. उसने सोचा और अपने आप से कहा कि उसने आज पद्मिनी को चोदने को सही निर्णय लिया है.

बीएफ वीडियो में अंग्रेजी दो दिनों बाद वो अधिकारी आ गया और जिस होटल में रह रहा था, मैंने भी उसमें उसके साथ वाला रूम बुक करवा लिया अपने और बिंदु के नाम से. फिर वहाँ से निकल कर हम लक्ष्मणझूला आ गये, वहां संजू ने होटल बुक किया और मंजू को आराम करने को बोल कर हम दोनों फिर से शराब की तलाश में निकल गये!रास्ते में ही संजू को कोई फ़ोन आया उसने मुझे बताया कि उन्हें परसों सुबह ही निकलना पड़ेगा.

पहले तो वो कराहीं और जब जोश आया तो उनकी योनि अंदर से टाइट और गर्म हुई और ये मेरा पूरा साथ देने लगीं. वो अभी भी दर्द से चिल्ला रही थीं- साले कुत्ते फाड़ दी मेरी चूत…आठ दस धक्कों के बाद भाभी को भी मज़ा आने लगा. तब उन्होंने मुझसे कहा- आरव जी, मैं आज अपना सब कुछ तुम्हें दे रही हूँ, इसके बदले में मुझे एक चीज़ दे देना.

लड़की की सील तोड़ते हुए वीडियो

और यकीन मानो… एक बार भैया के साथ बिस्तर पे चुद गई तो कभी इन्हें छोड़ने का नाम नहीं लोगी!और बोली- देखो, हम सब भाई बहन है और इस रंडी प्रभा के बच्चे हैं. फिर बोली- तुम्हारे पास कितना टाइम है?मैं बोला- तुम्हारे लिए तो टाइम ही टाइम है. भाई की मेहरबानी से उसके दोस्त ने मेरा सिंगापुर का वीसा लगवा दिया और मुझे वहाँ पर काम भी दिलवा दिया.

घर आया तो पता चला कि गांव में पापा के किसी ख़ास रिलेटिव की डेथ हो गई है. ब्रेड में मक्खन की जगह उनका वीर्य लगा हुआ था जिसे मैंने बड़ी मुश्किल से खाया।नाश्ता करने के बाद मुझे बेडरूम में ले गए, मुझे नंगी कर डांस करने को कहा.

मैंने अपना लिंग भाभी के मुँह से बाहर निकाल लिया और उनको बोला- मुँह खुला रखना.

मैंने अपने लंड को थूक से गीला किया और उसकी चुत पर थूक मला, जिससे कि मेरा लंड उसकी चुत में आराम से चला जाए. मेरे देखते देखते सुरेंद्र जीजा का लन्ड बहुत बड़ा हो गया और वह हांफने लगे. जैसे ही मैं पहुंचा, भाबी ने दूर से ही मुझे देख कर इशारा करते हुए अन्दर बुला लिया.

अब मैं एक हाथ से ज्योति का बांयाँ बूब दबाने लगा और दूसरे बूब को मुँह में लेकर चूसने लगा. तभी एकदम से भाभी ने करवट ली और उनकी पीठ मेरी तरफ हो गयी तो मैं थोड़ी देर के लिए रुक गया. मेरी उम्र 20 साल है, मैं दिखने में गोरा और शरीर से जिम जाने के कारण हट्टा कट्टा हूँ.

पेशाब की आवाज़ सुनकर मम्मी जी दरवाज़े पे आ गयी और मुझे मूतते हुए देखने लगी.

सलवार सूट में बीएफ: मैं थोड़ी देर तक कुछ और धक्के मारता रहा फिर इसके बाद मैंने अपने लंड का पूरा वीर्य उसकी गांड में ही छोड़ दिया. मैं सिसकारियां ले रही थी- ओह्ह्ह उम्म्मम उम्म्ह… अहह… हय… याह… अह्ह्ह उम्म्म हह्ह्ह्ह …वो मेरी चूत को कुत्ते की तरह चाट रहा था.

और अचानक एक जोर का झटका लगाया और लंड का टोपा उसकी चूत में पेल दिया. दोस्तो मुझे लड़कियों की नाभि बहुत पसंद है, उसको देखने का भी अपना एक अलग मजा है. किसी शायर ने सच ही कहा है- सोचती है ज़्यादा, कम वो समझती है… दिल कुछ कहता है, कुछ और ही करती है.

मेरे दोस्त का तो पहले से सब सेट किया हुआ था, मैंने अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड को भी चोदा था और मेरे लिए लाने के लिए बोला था तो वो अपनी सहेली को ले आई थी.

मुझे समझ आ गया कि मतलब भाभी दो महीने से नहीं चुदी हैं, ये तो गलत बात है. भैया तभी हटे जब वो झड़ गये, फिर भैया ने भाभी की पैंटी से अपने लंड और भाभी की चूत को साफ़ किया और भाभी को अपनी बांहों में भर कर चूमने लगे. लेकिन मुझे यह सही नहीं लगा क्योंकि मेरा पुत्र ही शादी योग्य हो रहा है तो मैंने अपनी दूसरी शादी का विचार पहली बार में ही रद्द कर दिया और मैंने तय किया कि मैं अपने बेटे का विवाह करूंगा.