सेक्सी बीएफ देहाती गांव का

छवि स्रोत,के बीएफ सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी सरकार: सेक्सी बीएफ देहाती गांव का, ननदोई जी के लंड से मेरी चूत की प्यास बुझ रही थी … उनका मोटा लंड मेरी चूत को पूरा मजा देकर अंदर तक चोद रहा था.

સની લીયોની બીપી

कुछ देर बाद मुझे दरवाजा खुलने की आवाज आई तो मैं जान गया कि मीनाक्षी घर में दाखिल हो चुकी है. लोकल हिंदी बफचूंकि मैं उसकी सबसे अच्छ सहेली हूँ, इसलिए वो मुझे पहले अपने घर बुला रही थी.

मैंने उनसे पूछा- मां, आप मुस्कुरा क्यों रही हैं?मां ने कुछ नहीं कहा. हिंदी बीएफ हॉट मूवीवो भी लंड को अपने हाथों से पकड़ कर आगे पीछे करने लगी।अब उसने मेरे कपड़े उतार दिए और मैं भी पूरा नंगा हो गया।मैं खड़ा था और वो घुटनों पर बैठकर मेरे लौड़े को मुंह में लेकर चूसने लगी.

इस बारे में ज्यादा कुछ न बोल कर वो फिर से लंड अन्दर लेकर जोर जोर से चूसने लगी.सेक्सी बीएफ देहाती गांव का: मैंने दायें हाथ से उसके बायें गाल को खींच दिया और दायें गाल पर किस कर दिया।मैं उसके स्तनों को सहलाने-दबाने लगा.

मैंने उनकी गांड पर अपना लंड लगाया और हल्का सा धक्का देकर अपना सुपारा अन्दर घुसा दिया.एक ही झटके में मेरा पूरा लंड अपनी दीदी की चिकनी चुत के घर में सड़ाक से घुस गया.

बीएफ जंगली वीडियो - सेक्सी बीएफ देहाती गांव का

उस रात मैंने तीन बार चाची की चूत चोदी और उनको सुबह तक सोने नहीं दिया.मॉम चिल्लाती रहीं मगर अंकल ने एक नहीं सुनी और वो मॉम की गांड मारते रहे.

मैंने बाइक को उनके घर से थोड़ा दूर खड़ी कर दी और उनके घर पर ऊपर वाले कमरे में चला गया. सेक्सी बीएफ देहाती गांव का उम्मीद करता हूं कि आप लोगों को मेरी यह देसी सेक्स स्टोरी पसंद आयेगी.

वो मादक सिसकारियां भरने लगीं- आंह आऊं ऊहम … चूसो … जी भरके चूसो … अब ये तुम्हारे ही हैं.

सेक्सी बीएफ देहाती गांव का?

मैं चूत में उंगली करने लगा तो मौसी सिसकारते हुए उठी और मेरे सिर को झुकाकर मुझे अपने ऊपर लिटाते हुए मेरे होंठों को चूसने लगी. अब गर्ल्स के लिए सबसे ज्यादा जरूर जानकारी मेरे लंड का साइज़ क्या है इसकी बात करते हैं. … तुम ऊपर आ जाओ!फिर मैं नंगी भाभी के ऊपर आ गया और भाभी बिस्तर पर लेटी थी.

वहीं फूफा जी जब भी आते, तो वो अलग कमरे में सोया करते थे, जो कि अम्मी के कमरे के पास में ही था. मुझे उसकी चिल्लपौं से कोई डर ही नहीं था क्योंकि मेरा ये कमरा सबसे अलग था और इस कमरे में होने वाली आवाजें बाहर नहीं जा सकती थीं. अब तो ऐसा लगता है कि मैं चाहे ज़िन्दगी भर यहां नाराज़ बैठी रहूँ, तब भी वो मुझे मनाने नहीं आएंगे.

उसने मेरे लंड को अच्छे से साफ किया और मैंने उसकी चुत को अच्छे से साफ किया. अचानक ही मेरा लिंगमुण्ड उसकी गुफा के अन्दर किसी गढ्डे में अटक गया था. शकील के टैक्सी चलाने की वजह से उनको अपने परिवार की ज्यादा फिक्र नहीं रहती थी.

धीरे धीरे करके मैंने अपना पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया और धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा. जब हम दोनों नीचे जा रहे थे, तब भाभी ने मुझसे कहा- मुझे अपने टीवी के डिश एंटीना को सैट करने के लिए एक मैकेनिक की जरूरत है.

पेटीकोट का नाड़ा खुला ही हुआ था और अब पेटीकोट आगे की तरफ से भी नीचे सरक गया था यानि कि मौसी की चूत अब लगभग उजागर होने की कगार पर थी.

भाभी ने वो सारा वीर्य पी लिया और मेरे लंड चाट कर एकदम शीशे सा चमका दिया.

वो मेरे अंकल आंटी यानि अपने चाचा के घर पर रहकर अपनी पढ़ाई कर रही थी. हम कॉलेज के तीन पक्के दोस्त थे- मैं, संदीप और अमित।हम दोस्तों में सबसे पहले मेरी शादी हुई थी. फिर जब वो हमारे पास आया तो उससे टिकट माँगा तो वो कहने लगी कि उसके पास टिकट नहीं है तो टी.

तो भाभी ने बोला- आराम से डालना।मैंने एक ही झटके में पूरा लंड उनकी चूत में उतार दिया. मैं उसकी चूचियों का काफी देर तक कस कस कर मर्दन करता रहा और वो दर्द और ठरक से तड़पती रही. उसके थोड़ी देर बाद मैं अपने काम से बाहर आया और एनर्जी टेबलेट और मेघा के लिए पेन किलर ले गया।मैं मेघा के पास गया.

पिता जी रोज की तरह दारू ले कर आए और मां से चखना और पानी देने के लिए कहने लगे.

शायद उल्फ़त को इसका अहसास होने लगा था लेकिन उसने कुछ भी ऐतराज नहीं किया और न ही वो आगे को सरकी. छोटी बुआ बोलीं- मयूर के सामने!तो बड़ी बुआ बोलीं- देख छोटी … जिंदगी में हमने आज तक किसी भी चीज का मजा नहीं लिया … कम से कम अच्छे से नहाने और तैरने का तो मजा ले लें. मैंने उसे चुदाई की पोजीशन में लिया और अपना लंड उसकी चूत में लगाकर अन्दर डालने लगा.

फिर मैं उसके बूब्स चूसने लगा।भाभी बोलने लगी- आहह आहह और तेज़ तेज़ चूसो राज आहह आहह!मैं जोश में आकर और तेज़ तेज़ चूसने लगा. इस पर सुनीता चौंक पड़ी, उसके मुंह से सीधा ही निकला- क्या वह तुम्हारी चुदाइयों के बारे में भी जानती है?शकील थोड़ा हंसने लगा और कहा- खुद मुझसे चुदती है. शांता के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … साब जी … आह्ह … होये … ओह्ह … इतने दिनों बाद चुद रही हूं.

मुझे असीम आंनद की प्राप्ति हो रही थी, मैं स्वर्ग में सैर कर रहा था मानो चोदने का बड़ा मजा आ रहा था और वो मुझे जबरदस्त किस कर रही थी।फिर मैंने उसके मुँह से मुँह हटाया और धक्के तेज तेज देने लगा.

मैं अब अपने आप से बात कर रहा था- कल रात मुझे शनाज़ की चूत की खुशबू भी अलग सी लगी थी. उसने भी ख़ुशी ख़ुशी मुझे पहले वो हिस्सा दिखाया, जिसमें उसका कॉमन रूम, किचन, बेटे का कमरा, गेस्ट का कमरा, डाइनिंग रूम और एक बड़ी से बालकनी थी.

सेक्सी बीएफ देहाती गांव का मैंने अपनी पूरी ताकत लगा दी और फट … फट … व पच … पच … की आवाज के साथ पूरी स्पीड में उसकी चूत को खोदने लगा. एक मिनट बाद अंकल ने अपनी एक उंगली मॉम की चूत में डाल दी और उसे आगे पीछे करने लगे.

सेक्सी बीएफ देहाती गांव का तब तक भाभी किचन में मिठाई रखने चली गईं और उनके पीछे पीछे मैं भी चला गया. फिर हम अंदर गए।अंकल ने मुझे बोला कि मैं तुम्हें तुम्हारा कमरा दिखा दूंगा मगर पहले तुम चाय नाश्ता ले लो.

तभी सलोनी भाभी मादक सिसकारियां भरने लगीं- आंह आऊं ऊहम … चूसो जी भर भर के चूसो … अब ये तुम्हारे ही संतरे हैं.

डायाफ्राम

वो मेरे कान में दर्द में कराहते हुए बोली- आराम से नहीं कर सकता है क्या? इतनी जोर से दबा दी. अपनी कुतिया बहन को मीठे दर्द से तड़पते हुए देख कर मुझे बहुत ठरक चढ़ रही थी. ऐसी पैंटी में कई बार पोर्न फिल्मों की हिरोइनों को मैंने देखा था।पास जाकर मैंने धीरे धीरे अपना हाथ आगे बढ़ाया और उनकी चूचियों को छूने की कोशिश की.

आज उसको मम्मी ने रोक लिया रात में अपने ही घर!तो मैं और मामी खुश हो गये. मॉम आगे की ओर भागने लगी लेकिन अंकल ने फिर से उनको पकड़ कर अपनी ओर कर लिया. मैं चुपचाप पड़ा रहा और वो भी मस्ती से सोती रही। उसकी गर्म सांसें मुझे मदहोश कर रही थी और उनकी ब्लाउज वाली मोटी छाती करीब से धड़कती हुई दिख रही थी।उनकी चूची 38 या उससे भी ज्यादा की होंगी शायद ऐसा लग रहा था। मैं तो उनकी इस तरह नजदीकी से पिघल गया और मेरा लंड खड़ा हो गया.

वो तो मेरे पैरों पड़ गया और माफी मांगने लगा नहीं तो मैंने पूरे कुनबे में उसकी बेइज्जती करवाने की सोच ली थी.

उसकी कमर माशाल्लाह … क्या तारीफ करूँ … देखते ही हाथ घुमाने का मन हो जाता है और गांड के बारे में तो सोच कर लंड फनफनाने लगता है. तेल की शीशी से तेल हाथ पर लेकर मैंने उसकी गांड में अच्छे से तेल लगाया और उसकी गांड को अंदर तक चिकनी कर दिया. अब बाबा ने लोटा नीचे फेंका और मेरे ऊपर झुक कर अपने लंड को मेरी गांड में घुसाने लगे.

फिर मैंने अपनी चड्डी से उसकी चूत को पौंछ दिया और चड्डी को उसकी गांड के नीचे रख दिया ताकि बेड पर दाग न हो. उसकी बहुत तेज चीख निकली- उई मां मार दिया बचाओ मुझे … मैं मर गई अअअआ मां मर गई!मगर मेरा आधा लंड उसकी कुंवारी चूत में घुस गया था. उनका गोरा गोरा जिस्म मेरे दिल को बहुत सुकून दे रहा था।फिर मैंने कहा- माँ, आप उल्टी होकर मेरे ऊपर आकर लण्ड चूसो।माँ ने कहा- ओह मतलब बेटा तुझे 69 करना है?हां माँ” मैंने कहा।और वो मेरे ऊपर आ गयी.

दस मिनट पेलने के बाद वो पूरी तेजी से कमर हिलाने लगे और ‘आह आह …’ करते हुए मेरी गांड में झड़ गए. सिसकारियां लेते हुए उसने बीच में ही टोकते हुए कहा- आह्ह … बस करो, अब मेरी चूत में लंड को डाल दो.

फिर उसने सीधे मुझे धक्का देकर बेड पर लिटाया और मेरे लौड़े को पकड़ कर अपना मुख की गर्मी देने लगी. मैं अब खेत में जाकर गाजर, मूली, बैंगन और खीरे जैसी चीजें अपनी गांड में लेने लगा और मुठ मारता. बाप बेटी, भाई बहन की चुदाई कहानी के पहले भागछोटी बहन को पापा से चुदवा दियामें अपने पढ़ा कि कैसे मेरी बहन के साथ मिल कर मैंने बाप बेटी की चुदाई करवायी और उसमें मैं भी शामिल था.

मेरे झड़ने के बाद मैंने उसको काफी मना किया कि अब मेरी चूत की चुदाई ना करे … लेकिन वह नहीं माना.

अंकल मेरे निपल्स सहलाने लगे और साथ ही साथ मेरे गले पर भी क़िस करने लगे. आखिर जैसे ही मामी की चूत का पानी छूटा, सागर ने एक ज़ोर के झटके में अपना पूरा लन्ड उनकी चूत में डाल दिया. चुदाई को चलते हुए कई मिनट हो गये थे और अब हमारे बदन पसीने से भीग गये थे.

कोई 30 मिनट तक नहाने के बाद मुझे तैरता देखकर छोटी बुआ बोलीं- मयूर, तूने बोला था कि तू हमें भी तैरना सिखाएगा. करीब 6-7 मिनट समझाने के बाद मैंने उसकी बात काटी और पूछा- वो ट्रेन वाला लड़का तुम्हारा बॉयफ्रैंड था क्या?उसने मुझे मना कर दिया।फिर मैंने उससे पूछा- कोई बॉयफ्रेंड है या नहीं?उसने कोई भी बॉयफ्रैंड नहीं होने का दावा किया।मैं बोला- इतनी सुंदर दिखती हो.

मुझे पता था चाचा तो अभी खाना खाकर दूकान पे गया है और बच्चे मामा के घर पर हैं. ननदोई ने दीदी की चूत पर लंड को रख दिया और चूत पर लंड को रखकर रगड़ने लगे. मेरे बगल में शनाज़ और शनाज़ की बगल में अम्मी ने जोहरा आपा को बैठने को कहा तो उन्होंने कहा कि उन्हें भूख नहीं है.

इंग्लैंड की सेक्सी वीडियो एचडी

मेरी परीक्षाएं नजदीक थीं, इसलिए मैं बहुत मेहनत से अपनी पढ़ाई में लगा हुआ था.

फिर वो बोली- अच्छा वो सब छोड़ो … मुझे यह बताओ कि कल रात को आपके सपनों में आपको मेरी चूत कैसी लगी?मैं बोला- एक अलग सी महक थी … अलग सा नशा था. [emailprotected]रियल सेक्स स्टोरी का अगला भाग:कजिन की कजिन को चोदा-2. मैंने उसके पैर फैलाये और मैंने चूत के मोटे होंठों को हटाया तब जाकर गुलाब की कली की तरह छोटी सी चूत नज़र आयी।उसकी चूत का साइज बहुत छोटा था।मैंने अपनी जीभ मेघा की चूत पर रखी और चाटने लगा। मुझे चूत चाटने में मजा आने लगा.

मैंने अवनीत की टांगें फैला दीं और जमीन पर बैठकर अवनीत की चूत और जांघें चाटने लगा. फिर एक बार उन्होंने मुझे पूछा- तुम तो कॉलेज जाते हो तो तुम्हारी कोई गर्लफ्रैंड तो होगी?मैंने बोला- है तो सही!वो भाभी पूछने लगी- कैसे चल रहा है उसके साथ?मैं बोला- चलता है ठीक ठीक!फिर एक बार ठंड का मौसम चल रहा था तो वो अपने बेटे के लिए स्कूल का स्वेटर लेने हमारी दूकान पर आयी. ગુજરાતીમાં સેક્સીअब वो ब्लाउज और चड्डी में थी। उसको शर्म आ रही थी तो मैंने उसे सहज किया.

उसके बाद मैंने अपनी आंखों से मेरी बुर चुदाई करने का इशारा किया तो वे अपना लंड मेरी चूत में डालने लगे. वो मना करने लगी, तो मैंने उसका पट्टा खींचा और उसके मुँह पर एक थप्पड़ मारा- चल साली कुतिया कर पेशाब!सुर्र सुर्र सुर्र.

चाची के मुंह से चीख निकलने ही वाली थी कि मैंने चाची के मुंह पर हाथ रख दिया. एक दिन शाम को जब मैं ऑफिस से आया, तो मुझे अपनी सीढ़ियों से प्रिया को उतरते देखा. वो बोले- जब चूस कर लंड खड़ा किया था … तब नहीं सोचा था कि बड़े लंड का क्या होगा.

एक शाम उसने बातें करते करते मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा तो मैंने कहा कि मुझे कुंवारी लड़कियों में कोई दिलचस्पी नहीं है. मैं उनको जगह जगह किस करने लगा और अपने हाथ पीछे ले जाकर उनकी ब्रा का हुक खोलने की कोशिश करने लगा लेकिन वो मुझसे खुल नहीं रहा था. अब मेरा लौड़ा पूरा अन्दर उसकी बच्चेदानी तक जाने लगा।उसने अपनी चूत को टाईट करना शुरू कर दिया और तेज़ तेज़ लंड के झटकों से उसकी सिसकारी निकल पड़ी और इसी दौरान उसके मुंह से सीत्कार फूटे- आह्ह … आह्ह … ओह्ह …ऐसे करके वो झड़ गई और उसकी चूत के पानी से मेरा लंड पूरा गीला हो गया.

मुझे मन मांगी मुराद मिल गई क्योंकि वहां पिंकी दीदी भी तो थी जिस पर मैं बहुत फिदा था.

उस दिन तो बस इतना ही हुआ और उसके बाद दो हफ्ते तक मैंने प्रिया को नहीं देखा. फिर वो मेरी बच्चेदानी के पास ही तेज पिचकारी के साथ झड़ गया। उस अहसास को मैं शब्दों में बयाँ नहीं कर सकती।इसी तरह से उस कॉलबॉय ने मेरी पूरी रात में 3 बार चूत और 1 बार गांड मारी।अगली सुबह मैंने, शनाया ने और वो कॉलबॉय ने साथ साथ बाथरूम में शावर लिया और लंड चूत का सहलाने का प्रोग्राम चला.

मैं भी उसका पूरा साथ दे रहा था।करीब 10 मिनट किस करते हुए हम एक-दूसरे के कपड़े उतार चुके थे. तभी मेरे मुँह से निकल गया- आप जैसी दोस्त मिल जाय तो गाँव भी पसंद आने लगेगा. शायद आज ही शेव किया होगा।माँ की चूत भी मेरी बहन की चूत की तरह ही चिकनी थी.

सागर मामी के चूत को भोसड़ा बना रहा था और मामी भी अपने पूरे जोश में सागर का लन्ड भकाभक अपने अंदर लिए जा रही थी।बिना झड़े सागर बोला- एक बार गांड की सील तोड़कर फिर चूत मारूंगा आपकी!इस पे मामी तैयार हो गयी. तुम लोग फ्री हो गईं?वो बोली- नहीं यार अभी कहां … वो तो मैं अकेली बोर हो रही थी, तो कॉल कर लिया. मैं उसे एक बार दुबारा देखना चाहता था, इसलिए कार से उतर कर अर्चना भाभी से इधर उधर की बातें करने लगा.

सेक्सी बीएफ देहाती गांव का इतने में ही समीर ने भी अपनी शर्ट उतार अजीम की ओर बढ़ाते हुए कहा- ये ले यार, मेरी शर्ट भी सुखा दे, वर्ना मैं बीमार हो जाऊंगा. उसने मुझे बाकी की कहानी सुनाई कि वह अपने पति के खिलाफ एक केस लड़ रही है और अपने पति से वह तलाक चाहती थी। मैंने उसकी पूरी बात सुनी और उसको सहजता से काम लेने की हिदायत दी.

सेक्सी मूवी स्टेसी

मैंने उसे हिलते हुए चूचे देख कर सोचा अगर ये पेलने को मिल जाए, तो मज़ा आ जाए. वो बोली- साहब मैं अकेली हूँ, बेसहारा हूँ, मैं क्या करूँ?अब ये सब सुनते-सुनते शाम हो गयी थी. मेरे पास दूसरा कोई चारा ही नहीं था।हम उसके घर पहुँचे तो वहां पर कोई नहीं था। उसने दरवाजा खोला और हम अंदर आ गए। उसने लाइट जलाई, गर्मी थी और पंखा ऑन किया।हम बेड पर बैठ गये और आराम करने लगे.

ऐसी सेक्सी भाभी की चूत को खुश रखने के लिए मर्द को बहुत सोच समझ कर और दिमाग से काम लेना पड़ता है और बिस्तर में उसकी पसंद नापसंद का खास खयाल रखना पड़ता है. तभी भाभी ने मुझे आवाज देते हुए कहा- तुम दो मिनट इधर आकर चाय देख लो … मैं वॉशरूम में होकर आती हूँ. सेक्स की जानकारी वीडियो”लेकिन मामू, कुछ गड़बड़ हो गई तो?”गड़बड़ क्या होगी? कल तो रोहित भी बिना कॉण्डोम के चोदेगा.

कुछ देर बाद भाभी की दोनों टांगें मेरे सीने से लग गई थीं, जिसकी वजह से मुझे स्प्रिंग जैसा लग रहा था.

उसकी चूचियों को देखकर मैंने भी भाभी से दूध पीने का कहा और उसने मेरा मुंह अपनी चूचियों पर लगा दिया. कुछ देर बाद मुझे दरवाजा खुलने की आवाज आई तो मैं जान गया कि मीनाक्षी घर में दाखिल हो चुकी है.

मैं- आह्ह … इतने मोटे बूब्स चाची?वो बोली- हां, इनको पीना चाहेगा?मैंने कहा- इनको तो निचोड़ लूंगा मैं!वो बोली- तो फिर आ ना … निचोड़ ले. सुमन भाभी की गांड चोदने लायक करने तक शोभा भाभी बेड पर नंगी लेट कर मुझे देखती रहीं. आंटी ने अपने गुलाबी होंठों से मेरे लंड को पूरा दबा लिया और अन्दर लेकर लंड चूसने की आवाज निकलने लगी.

एक दो दिन गुजरे … तभी अचानक एक दिन मेरे दोस्त का फ़ोन आया और कहा- अभी घर जाओ, तुम्हारी भाभी को फीवर आ गया है.

अभी 21 साल की जवान लड़की और मेरी गर्लफ्रैंड हो आप तो?सुधा- कितनी देर के लिए माना है?सागर- अभी तो पूरी रात पड़ी है. काश अगर मुझे तुम पहले मिल जाती तो मैं तुमसे ही शादी करता।चारू- अच्छा जी … जनाब को मैं सेक्सी लगती हूँ!! क्यों? हमारी अंशु भाभी आपको खुश नहीं रखती हैं क्या?मैं- यार ख्याल तो रखती है मगर मैं तो हर वक्त अब तुम्हारी इन नशीली आंखों में ही खोया रहता हूं. अब फट फट की तेज आवाज के साथ सागर मेरा माँ सुधा की गांड मारने लगा और उनकी गांड में बहुत चांटे भी मारे।सुधा अपनी उत्तेजना भरी सिसकारियाँ निकालकर सागर का इस चुदाई में साथ दे रही थी।सागर ने कुछ देर सुधा की गांड पेलने के बाद अपनी रफ्तार और बढ़ा दी जिसके एक मिनट बाद वो उनकी गांड में ही झड़ गया।इसी तरह उन दोनों ने रात भर चुदाई का मज़ा लिया.

बॉलीवुड हीरोइनों की बीएफये कह कर आंटी अपनी यादों में खो गईं और मैं उनके मुँह से निकले ‘लौंडे. तभी बगल वाले कम्पार्टमेंट से दो लड़के आकर बैठ गये और मेरे शौहर से बात करने लगे.

फिशर का इलाज

मेरी उम्र 23 साल है और मेरे लंड का साइज 7 इंच है, जो किसी भी लड़की को खुश करने के लिए काफी है. शांता के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह … साब जी … आह्ह … होये … ओह्ह … इतने दिनों बाद चुद रही हूं. मैंने अपने लंड को अंडरवियर से पौंछा और फिर मौसी के मुंह के सामने कर दिया.

इतना कह कर मेरे पास आकर अमित धीरे से मुझे किस करना शुरू किया पहले गले के पीछे!मेरे मुंह से आह आह आह की सिसकारियां निकलने लगी. और परीक्षा केन्द्र भी मेरे ससुराल वाले शहर यानि मेरी पत्नी के मायके में ही था। मेरी पत्नी की परीक्षा 15-16 दिन तक चलनी थी. मुझे ये देखकर और मजा आने लगा और मैं अधिक जोर से उसकी चूचियों को भींचने लगा.

जब कॉलेज की छुकरिया चूत मरा कर आती हैं गोली लेने के लिए तो उनको चोद कर मजा ले लेता हूं. मैंने उनसे बात करके संदीप और चारू के लिए उस घर को किराये के लिए उपलब्ध करा दिया।मेरे इस कार्य के लिए संदीप और चारू ने बहुत धन्यवाद दिया. शायद ननदोई जी को भी बहुत दिनों बाद एक टाईट चूत मिली थी तो वो बहुत जोर लगाकर मुझे चोद रहे थे.

तुम दोनों को मेरी बात माननी होगी, क्योंकि तुम्हारा पति होने के कारण मैं इस घर का मुखिया हूँ. तुम मेरी बाकी सहेलियों को भी जानती हो, उनका भी तुम्हारी तरह हाल है.

मुझे बेहद वासना चढ़ने लगी थी तो मैंने उसकी ड्रेस को ऊपर उठाते हुए निकालने की कोशिश की.

उस रात मैंने भाभी को पहले ही कह दिया कि रात को मेरे पास आ चुदने के लिए जाना. करवा चौथ स्पेशल ड्रेसतनिष्क- हाँ वो तो है … मैंने बहुत सी लड़कियों को चोदा, लेकिन जितना मज़ा आपको चोदने में आया … और किसी को नहीं आया. ब्ल्यू फिल्म ट्रिपल एक्सउस दिन सागर भी था हमारे घर पर!जब सब प्रोग्राम खत्म हो गया तो सागर भी जाने लगा. आपा ने जिसे फ़रिश्ता समझ कर पूरी रात अपनी कसी चूतचुदवाई थी … वो उनका छोटा भाई था?आपा ने मेरी तरफ झाँक कर देखा तो मेरा लंड ज़ोहरा की आंखों के सामने था.

चारू के मुख से मस्ती भरी आवाजें निकलने लगीं- आह्ह … सीसी … आह्ह … ऊऊऊ … ओह्ह … अनुराग … आह्ह … हाय … बस चूमते रहो मुझे … आह्ह … ऐसे ही चूमते रहो।अचानक उसने मेरे सिर को अपने दोनों हाथों से पकड़ कर ऊपर उठाया और मेरे चेहरे पर जहां-तहां उसके होंठ लगे वो बेतहाशा चुम्बनों की बारिश करने लगी.

फिर जैसे ही मैंने धक्का देकर अपनालंड चुत के अन्दरडाला, तो कुसुम उछल पड़ी और उसकी चीख निकल गई. मुझे चुदाई का तजुरबा तो था ही नहीं, साथ ही उसकी चूत भी बहुत टाइट थी. मगर 5 मिनट चुदाई करने के बाद पीछे से किसी ने आवाज दी कि यह क्या हो रहा है?आवाज सुनकर मेरी गांड फट गई.

… फ़क … डीप आहहह … यसस यू आर अमेज़िंग ओह्ह … गॉड … यस … यस …दस मिनट तक उसी पोजीशन में चोदने के बाद मैंने उसे दीवार के सहारे खड़ा किया और पीछे से लंड उसकी चुत में डाल कर उसे जोर जोर से चोदने लगा. हमारी क्लास में बहुत सी सुंदर लड़कियां थीं, उन्हीं में से एक कुसुम थी, जिसे मैं पसंद करता था … या यूं कहूं कि उसके साथ चुदाई करना चाहता था. कुछ देर चुत चाटने के बाद मैंने उसको लेटाया और उसका गर्म सरिया जैसा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

ಅಮೂಲ್ಯ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೋಸ್

मैं वापस से उन्हीं ख्यालों में खो गया, जिसका रिएक्शन सीधा मेरे लंड पर हुआ और मेरी पैंट आगे से उठने लगी. दूसरा जमीन में 4 फिट गहरा और 30 फिट लंबा और 15 फिट चौड़ा टैंक पानी के लिए था. उसकी बातों से मुझे लगा कि मेरी भांजी अवनीत को हनीमून पर अपने पति के छोटे लंड से चुदा कर कुछ भी मजा नहीं आया लेकिन उसने अपने मुँह से सीधे सीधे कुछ नहीं कहा.

सर ने मेरे पैरों को अपने कंधों पर रख कर अपने लंड का टोपा मेरी गांड के छेद पर रख दिया.

हम घर पहुंचे … और सोनल ने मुझसे कहा- पहले तुम काजल को चोदोगे … तब तक मैं बाहर बैठूंगी … क्योंकि काजल के सामने मुझे शर्म आती है.

उन्होंने कहा- विवाह के करीब सवा साल बाद इसको पुत्र होगा और उसके बाद दूसरी संतान लड़की होगी।सभी लोग पण्डित जी की बात सुन कर बहुत प्रसन्न हुए क्योंकि उन पण्डित जी की बतायी हुई सभी बातें हमने सदा सत्य सिद्ध होते देखी थी।शादी की तिथि डेढ़ माह बाद की निकाली गई।मेरा विवाह हो गया. तभी उसने खुद ही कह दिया- अपने कपड़े नहीं उतारोगे क्या?उसके कहते ही मैंने अपनी टीशर्ट और लोअर उतार दी. साऊथ हिंदी २०२१ मूवीइतनी फ्रेश और छोटी चूत अब तक नहीं मिली थी।जब जब मेरी जीभ अंदर जाती तो मेघा बीच बीच में कांपने लगती.

वो बोलीं- लेकिन तेरे साथ!मैं बोला- हां इसलिए तो मैंने आपको बोला था कि आपको दिक्कत हो जाएगी. मैंने सोचा कि जब गलती मैंने की है तो उसका परिणाम भुगतने के लिए भी मुझे तैयार रहना चाहिए. उसको पेन किलर खिलाकर मैंने उसको बांहों में भर लिया और अगले राउंड की तैयारी करने लगा.

इसके बाद मैंने उन्हें पेन किलर दी कि आप बहुत दिनों बाद चुदने वाली हो, तो इसे ले लो, इससे दर्द नहीं होगा. अगले चार दिनों तक क्रिकेट मैच चलते रहे और हम दोनों बस एक दूसरे को चूसने चाटने तक ही सीमित रह गए.

मेरा लंड मेरी पैंट की चेन के बाहर था और मैं तेजी से उस जवान लड़की की नंगी चूचियों को देख कर अपने लंड को हिलाने में लग गया.

लंड पर हाथ पहुंचते ही उसने पायजामे के ऊपर से ही मेरे लिंग को सख्त तरीके से पकड़ लिया और पायजामे के ऊपर से ही लिंग को ऊपर नीचे करने लगी. उसने अपने दोनों पैरों से मेरी कमर को जोर से पकड़ लिया और अपने होटों को जीभ से चाटने लगी और मुख से सेक्सी आवाज़ में आहें भरने लगी. पांच मिनट तक मैंने उसकी चूत को चाटा और फिर अपने लंड को उसके मुंह के करीब कर दिया.

बीएफ सेक्स चोदा चोदी वीडियो उस फौजी ने कहा- मैं भी झड़ने वाला हूँ सोनाक्षी!बस 5 मिनट की धकापेल चुदाई के बाद दीदी झड़ गईं और साथ ही वो भी झड़ गया. अब मुझे याद आया कि कल ही मेरे मोबाइल में मैंने सिम चेंज कर ली थी और रिंकी को नम्बर नहीं दिया था.

मैं तो अभी भी ख्यालों में ही था कि अचनाक से ऐसा लगा, जैसे किसी ने जन्नत के दरवाजे तक ले जाकर वापस कर दिया हो. मैंने भी उनकी टांगों को अपने शोल्डर पर रख कर बुर में लंड का सुपारा सैट किया और एक जोर से धक्का दे मारा. वो लड़का एक मँझा हुआ खिलाड़ी था जो मुझे जन्नत के दर्शन कराता हुआ मुझे तड़पा रहा था।वो जब अपनी जीभ को नुकीला करके मेरी चूत के दाने पर घिसता तो मेरी सिसकारी निकल जाती। इसी तरह से वो मुझे बहुत देर तक तक तड़पाता रहा.

सेक्सी वीडियो हद फुल मूवी

इधर मुझे पता चला कि ज़िन्दगी में पहली बार मुझे लड़कियों के साथ एक ही रूम में पढ़ना पड़ेगा. राजीव ने हंसते हुए कहा- साली साहिबा, आज बहुत दिनों बाद कोई टाईट चूत चोदने को मिली है. शकील ने सुनीता की तरफ आंख मारी और कहा- ज्यादा सर्दी है, तुम भी यहां आ जाओ.

अब तो ऐसा लगता है कि मैं चाहे ज़िन्दगी भर यहां नाराज़ बैठी रहूँ, तब भी वो मुझे मनाने नहीं आएंगे. मैम मुझसे दूर हुए जा रही थीं पर मैं उनको अपने बांहों में थामे उनके बेडरूम में लेकर चला गया.

मैंने एक बार मैम की आंखों में झांका, तो मुझे अपने लंड के नीचे एक चुदासी औरत नजर आई जो लंड लेने के लिए मरी जा रही थी.

मैं तो उसकी पारदर्शी नाइटी में उसकी चूचियों और उसकी मुनिया को देखते ही पनिया गया. उमेश सर ने कहा- ठीक है … अब मैं कुछ नहीं कर रहा हूँ … लेकिन बस ऐसे ही रहने दो. तो मैंने बोला- मैं आपके घर पर ही स्वेटर लेकर आ जाऊँगा थोड़ी देर बाद!उन्होंने बोला- ठीक है!फिर जब पापा जब मार्किट से आ गये तब पापा से उनके लड़के का स्वेटर ले कर उनके घर पर चला गया.

इशा- आंह … तो जान ही ले लोगे क्या?थोड़ी देर बाद यीशा को भी मजा आने लगा था. अम्मी ने कहा- तुम दोनों बैठ कर बात करो, मैं तुम्हारे लिए चाय बना कर लाती हूं. उन दोनों ने आस पास एक अच्छी सी कुर्सी देखी, अच्छी सी चेयर देख कर मुझे डॉगी स्टाइल में बिठा दिया। अज़ीम जिसका लंड काफी बड़ा था, वो मेरे पीछे आ गया.

कोई बाहर से आया है और उससे मिलकर आना है, तुम बैठो और चाय पीकर जाना।मैं मन ही मन प्रसन्न हुआ और सोचने लगा कि आज तो वास्तव में लॉटरी लग गयी है.

सेक्सी बीएफ देहाती गांव का: अब मैंने शांता को कुतिया बनाया।लण्ड पर और उसकी चूत पर मैंने थूक लगाया और फिर उसकी चूत पर लंड को सेट कर दिया. वो मस्ती में सिसकारने लगी और उसकी चूत से निकल रहे रस का स्वाद मुझे मेरे मुंह में आने लगा.

मैंने 3-4 बार ट्राय किया, पर नतीजा वही निकला, तो मैंने एक दिमाग लगाया और अपना लंड मॉम के मुँह के पास ले गया और उनको चाटने को बोला. ’अंकल जोर जोर से उंगली को मॉम की चूत में घुसा रहे थे और मॉम कामुक सिसकारियां ले रही थीं. हालांकि मेरी तरफ से इतना सब कुछ नहीं था लेकिन वो जैसे मुझ पर जान छिड़कता था.

अब उसका ब्लाउज उसके सीने से सरक गया और मौसी की मोटी मोटी चूचियां नंगी हो गयीं.

मैंने उसके दोनों पैर साइड में करके उसकी चूत को ध्यान से देखा और अपना लंड उसकी चूत पर सेट कर दिया. मुझे लगा कि वो नीता ही होगी क्योंकि वो ही मुझे ऐसे पकड़ सकती थी।मैंने अपने दोनों हाथ पीछे की ओर किए और उसे पीछे से ही पकड़ लिया. इतना सुनकर शनाज़ ने मेरे लंड को मुँह से निकला और रोने लगी- माफ कर दो मुझे … कल रात थकान की वज़ से मैं आपको खुश नहीं कर पायी … अब ताने मार मर कर मुझे और तंग मत करो.