हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी हिंदी

छवि स्रोत,वीडियो बीएफ ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

मुंबई के रंडी खाना: हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी हिंदी, ”नीतू थोड़ी देर रुको, तुम्हारी चुत की गर्मी से वह पिघल जाएगी, तो मुझे तुम्हारी चुत की मिठास भी चखने को मिलेगी.

हिंदी बीएफ मूवी हिंदी बीएफ मूवी

कुछ देर तक मेरे लंड के साथ कामुक खेल खेलने के बाद साना ने मेरे लंड को पकड़ लिया और उसको मुंह में लेकर चूसने लगी. देवर भाभी का हॉट बीएफपेग सिप करते करते बोली- तुम बुड्ढों में इतनी ताकत कहाँ से आती है?मैं बोला- मेरे करने से तू तो खुश है ना?वो बोली- आपको अब छोड़ने का मन नहीं करता.

एक बार गांड मरवाने के बाद तो जैसे फिर रह पाना बहुत मुश्किल हो जाता है. सनी लियोन की सेक्सी बीएफ पिक्चरदस मिनट की चुदाई में मुझे उसके साथ चुदने में मजा आने लगा और मेरा दर्द जाता रहा था.

उधर मैं उसके आने की सोच में डूबी थी और इधर अभी हम दोनों चुदाई में मस्त थे और अभी तक हम दोनों का पानी सिर्फ दो बार ही निकला था.हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी हिंदी: वो फिर से तड़पने लगी और मेरे होंठों को चूसते हुए मेरे सोये हुए लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी.

अमन- नहीं यार विपुल, आज कॉलेज में वैसे भी बहुत लेट हो गया, मैं घर जा रहा हूँ.उसने मुझे अपनी बाँहों में लेकर बिस्तर पर पटक दिया और मेरे ऊपर आकर मेरी चूची को दबाने और मसलने लगा.

जनानी या मर्दाना गांड मारने वाला बीएफ - हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी हिंदी

उसने भी मेरी आँखों में आंखे डालते हुए हामी भरी और धीरे से मेरे कान के पास अपना मुंह लेकर धीरे से मेरे कान में कहा- शालू, तुम हो बड़ी चालू!सच कहूँ तो तुम्हें देखते ही तुम मुझे पसंद आई थी, जब तुम्हें पहली बार रोड पर कार में लाल सूट में देखा तो तुम्हें चोदने की इच्छा पैदा हो गई थी.उन्होंने मुझे किस करते करते मेरी सलवार और सूट को निकाल दिया और मैं ब्रा और पेंटी में रह गयी.

मेरे मामा के लड़के ने मुझे बहुत देर तक चोदा और उसके बाद हम दोनों का पानी निकल गया. हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी हिंदी जब तक तेरी जीभ का रस अच्छे न पी लूंगी और अपनी जीभ का रस पिला न दूंगी.

मैं जैसे ही सीढ़ी के पास गया, तो देखा कि चाँदनी भाभी भी उतर रही थीं.

हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी हिंदी?

तभी मेरे भाई के खांसने की आवाज हुई और मैं तपाक से उठ कर अपने बॉक्स पर पहुंच गया. वह बर्दाश्त कर गई और इस बात का फायदा उठाते हुए मैंने थोड़ा और जोर से उसकी चूचियों को गूथने लगा. तभी भार्गव ने कहा- यार आशना अगर तुम चाहो … तो बस एक बार मेरा लंड देख लो.

यहा अंधेरा होने से पहले लोग अपने घर आ जाते हैं … खास कर आजकल के मौसम में. मैं उसकी मित्र सूचि में सम्मिलित हो गया और जैसा कि वीणा की मित्र लिस्ट में काफी सारे लोग थे तो मुझे विश्वास था कि उसे यह भी याद नहीं रहेगा कि ये मेरा मित्र कब बना। मैंने वीणा को उसका फोन लौटा दिया।अगले दिन वीणा जब ऑनलाइन आई तो मैंने उसे मैसेज किया। फिर उसका मुझे जवाब आया. कुछ ही पलों बाद वो मेरा सिर अपनी बुर में ऐसे दबाए जा रही थी, जैसे सर को अन्दर डालना चाह रही हो.

लेकिन दिन का समय होने की वजह से वो छत की सीढ़ियों और मीरा की छत पर रखे प्लांट्स की ओर आ गए. फिर उसने मेरे कपड़े खोल कर मुझे भी नंगा कर दिया और खुद मेरे ऊपर आकर मेरी बॉडी पर किस करने लगी. अब बस बेडरूम में टंगी घड़ी की टिक टिक की स्पष्ट आवाज गूंज रही थी या मेरे नीचे लेटी निष्ठा की गहरी सांसों के उतार चढ़ाव से उनके स्तनों की उठान का दबाव मुझे महसूस हो रहा था.

इसी लिए दीपाली की चुत पर मुँह रख के बहुत जोर से चूसा और ढेर सारा थूक उसकी चुत पर मल दिया. 15 हजार?” मेरे मुंह से निकल पड़ा।देखिये इससे ज्यादा आपको सैलरी नही पाऊंगा.

ये बात सुन कर वो उठ कर आये और मेरी तरफ आते हुए अपने लंड को खुजलाने लगे.

उसने मेरी एक टांग को अपनी जांघों में रखा और दूसरे टांग मेरी कमर में फंसा कर अपना लंड चूत में घुसेड़ दिया.

बहुत ही मस्त स्वाद था उसकी चूत का नमकीन नमकीन सा!10 मिनट मैं उसकी चूत को चाटता रहा और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. वो नजदीक के शहर में कोई कोचिंग ले रही थी, जिस वजह से हम दोनों मिलने लगे थे. जब संतोष जी मेरी चूत चाट रहे थे … तो मैं तो मानो जैसे किसी और ही दुनिया में विचरने लगी थी.

मेरी नाक को पकड़ते हुए नम्रता बोली- आस मत छोड़ो, पता नहीं कब पूरी हो जाए. इसी दौरान मेरे एक बॉयफ्रेंड ने मुझको अन्तर्वासना पर सेक्स कहानी पढ़वाई. मैंने निहारिका से पूछा- तुम भिवानी कब आओगी?उसने कहा- जानू, मेरा बस चले तो अभी आ जाऊं.

नितिन का लंड खड़ा होने के बाद कम से कम आधा घंटे के पहले वीर्य नहीं छोड़ता था, ये उसकी खासियत थी.

यही बात मैंने अंकल जी को कही तो वो तुरंत मेरे ऊपर से हट गए और दूर जा बैठे. फ़िर धीरे धीरे हमारी मुलाकातें बढ़ने लगीं और फ़िर हमने अपनी फैमिली के बारे में भी एक दूसरे को बताया, तो पता चला हम दोनों ही शादीशुदा हैं. वैसे मैं सच बताऊं तो ट्रेन के अंदर उसके साथ ऐसा नहीं करना चाहता था लेकिन ट्रेन के अचानक ब्रेक लगने के कारण ऐसा हो गया.

मेरी गांड के उद्घाटन पर आपके लंड में कितनी जान आई … या चुत में क्या कुछ हुआ … प्लीज़ झड़ने से पहले मेरी इस गे एनल सेक्स स्टोरी के लिए मेल लिखना न भूलें. मीरा ने छाती को चाटते समय रितेश के निप्पलों को भी दाँत से काट लिया. कहानी के पिछले भागदो जवान बेटियों की मम्मी की अन्तर्वासनामें आपने पढ़ा कि मेरे घर के पास रहने वाली भाभी अपनी जोरदार चुदाई के बाद मुझे अपनी पहली चुदाई की कहानी बता रही थी.

योनिमार्ग के साथ मेरा दाना भी रगड़ खाने की वजह से मेरी चुत फुरफुराने लगी थी.

क्योंकि मुझे नौकरानी से डर लग रहा था कि वो दिन में ही आ गयी, तो सब जान लेगी. मैं दीदी के बूब्स के निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा और काटने लगा और एक हाथ से दूसरे बूब्स को दबाने लगा.

हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी हिंदी में परीक्षा के बाद एक इंटरव्यू दिया, जिसमें मेरा सिलेक्शन हो गया और मेरी नौकरी तय हो गई. उसके साथ के मजे तो मैं कभी भी लिख सकता हूँ, लेकिन आज मैं आपके सामने मेरी साले की पत्नी यानि की मेरी सहलज के साथ हुई रसीली घटना बताने जा रहा हूँ.

हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी हिंदी होली पर दिन में भाभी के साथ लंड चुसाई की मस्ती के बाद मुझे बस अब रात का इंतजार था. मैंने जीजा से सब झूठ ही कहा था क्योंकि उन्होंने मुझे मजबूर कर दिया था.

चूचियों को मुंह में लेते ही चाची के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं.

एक्स एक्स एक्स देहाती फिल्म

मैं मचल उठी और उसने मेरे शरीर पर अपना शरीर झुका कर मुझे एक लंबी किस की ‘उमाहम्म्ममम …’बस किस करते करते वो मेरी चूत के अन्दर धीरे धीरे धक्का देने लगा. ज्यादा उल्टियां आने पर सीमा ने नितिन से कहा- इसे लेकर डॉक्टर के यहाँ जाना पड़ेगा. निखिल साइन्स में ग्रॅजुयेशन का स्टूडेंट था और रीमा फिज़िक्स में मास्टर्स कर रही थी.

अब मैं भी पूरी ताकत के साथ धक्के मारने लगा और लगभग 2 मिनट बाद मेरा पानी निकलने को हुआ तो मुझे ऐसा लगा कि दुनिया में योनि के अंदर वीर्यपात करने से ज्यादा सुख किसी और क्रिया में नहीं है. वो मुझे हमेशा छेड़ते रहते थे और उन्होंने मुझे चोदने की कोशिश कई बार की थी. कुछ ही देर के बाद साना मेरे कमरे में आई और उसने अपने बदन पर लॉन्ज़री डाली हुई थी.

उसने मुझसे मजाक करते हुए कहा- हां हां … मुझे पता है क्या बात करोगे?मैंने रात में अमित से सब बात की.

”नहीं … नहीं आपको रोसोगुल्ले का यह एक पीस तो मेरे कहने पर लेना ही होगा. मेरा मन तो कर रहा था कि अभी भाभी की चुत में गोते लगा लूँ, पर भैया कभी भी आ सकते थे, तो मैंने मन मार कर भाभी को छोड़ दिया. कुछ ही पल के बाद भाभी ने मेरे कपड़े भी उतार दिये और मुझे भी पूरा नंगा कर दिया.

दूसरे दिन नीता से पिंकी ने बताया कि मैंने अपनी वर्जिनिटी समाप्त कर ली है. कल सब शादी में जायेंगे तब चोद लेना।यह कह कर चाची ने मुझे बाथरूम से बाहर जाने को कहा।मैं बाथरूम से बाहर आ गया लेकिन लंड का बुरा हाल हो गया. आह मुलायम-मुलायम, गोल-गोल मम्मों पर हाथ पड़ते ही हथेलियां उसको मसलने के लिए मचल उठे.

मलाई जैसे लेस की एक बड़ी बूंद टोपे के छेद से निकली जिसे उसने जीभ से उठाया और पी लिया. एक दिन अचानक एक झंझावात मेरी जिन्दगी में आया और मेरे पति की एक दुर्घटना में मृत्यु हो गई.

मेरी बात समझ कर हंसने लगी और बोली- मैंने नहीं वो लम्बे वाले बैंगन ने बचा ली. चूंकि मैं अपने आनंद की परम सीमा पर पहुंच चुका था इसलिए उसके सिर को पकड़ कर अपने लंड पर जोर से दबाते हुए उसके मुंह को चोदने लगा. उसके होंठों को चूसते हुए उसके चूचों को दबाया और अब असली गांड चुदाई शुरू होने वाली थी.

मजे की बात तो ये थी कि शादी के सिर्फ एक महीने बाद ही मैं बड़ोदा शिफ्ट हो गया और वहां पर सिर्फ हम दोनों अकेले रहेते थे.

अब तो आपको पता है कि यह सौरभ के साथ करती है फिर आपको पता ही नहीं होगा कि वह किसी को भी कहा देगी मुझे चोदो और अपने ऊपर चढ़ा लेगी. एक तो नशीले बदन की नशीली जांघें और ऊपर से उस पर लगी हुई नशीले अमृत की बूदें … आअह आआह बहनचोद क्या कहने !!!तभी बाली रानी कूद के मेरे पास नीचे आ गई और लिपट के मेरे मुंह पर चुम्मियों की झड़ी लगा दी. मैं ये महसूस करते हुए और जोर से चीखने लगी कि रोहन को महसूस हो जाए कि उसकी माल चुद रही है.

पर उनको कुछ फर्क नहीं पड़ा, वे मेरे दोनों हाथों को मेरे सर के ऊपर ले आये और अपने एक हाथ से पकड़ लिया, दूसरे हाथ से मेरा स्तन मसलते हुए हल्के हल्के धक्के देना शुरू कर दिया. वो किसी न किसी बहाने मुझसे लड़ती ही रहती थी।हलाँकि मेरे मामा और मामी बहुत अच्छे थे और शुभ्रा की बातों में आकर मुझे डाँटते नहीं थे, शायद इसी बात से वो और ज्यादा चिढ़ती थी। मैं भी उन्नीस साल का हो गया था और वो भी अठारह पार कर चुकी थी। वो मुझसे कुछ महीने छोटी थी.

अमन- क्या भाई विपुल … बड़ा खुश दिख रहा है … क्या भाभी से मिल कर आया?मैं- हां यार … क्या बोलूँ, जब भी भाभी को देखता हूँ … तो दिल खुश हो जाता है … क्या मस्त लगती हैं. भाभी से कभी कभार थोड़ी बहुत बात हो जाती थी लेकिन भाभी के बारे में मेरे मन में कभी चोदने के विचार नहीं थे. उसने तुरंत ही जूली के मुंह के साथ ही अपना मुंह भी सटा कर मेरे लंड के सुपाड़े की तरफ वीर्य की आस में लगा लिया.

सेक्सी मूवी भाभी की

मैं बार बार लंड को सहला कर उससे कहता कि सो जा यार, लगता है साला रो कर ही सोएगा.

पहले मैं उस चूत से आपका परिचय करवा देता हूँ जिसके बारे में यह कहानी मैं बता रहा हूँ. मैंने कहा- तो फिर इधर आइये!और सोफे पर बैठने का इशारा किया, वो बैठ गई तो मैं भी उसके बगल में बैठ गया और बोला- आपने कह तो कह तो दिया कि बेझिझक कह दूं लेकिन मैं कह नहीं पाऊँगा, बाकी आप खुद समझदार हैं. उसने लंड का सुपारा फंसते ही मेरी चूत में अपने लंड को डालते हुए एक करारा धक्का दे मारा, जिससे उसका आधा लंड मेरी चूत में चला गया.

मैंने अपने लंड को वहीं पर रोक कर पहले शलाका के दोनों चूचे कस कर दबाये. जगह बनाकर जैसे ही मैं फ्री हुआ, तुरंत मौसी से लिपट गया और मौसी को किस करने लगा, थोड़ी ही देर बाद मौसी मुझे दूर करते हुए कहने लगीं- इतना टाइम नहीं है, जो करना है जल्दी करो और अपनी जगह पर पहुँचो. पति और पत्नी का बीएफवहाँ मुझे प्लांट में पद भार मिल गया। थोड़े दिन के बाद जिन्दगी एक जैसी हो गयी थी.

मुस्कान बोली- इनकी फुदियों में लंड डाल दो, नहीं तो ये ऐसे ही बक बक करती रहेंगी दोनों!मोनू बोला- फुदियों में नहीं, फिर तो इनके मुंह में लौड़े देने पड़ेंगे. उसने अपना लंड मेरे मुँह में देना चाहा, लेकिन मैंने मना कर दिया तो उसने कोई जबरदस्ती भी नहीं की.

न! उसको तो आजतक कानोंकान भी खबर नहीं हुई कि कोई बर्बाद हुआ जा रहा है उसके पीछे. इसलिए मैंने एक चौथाई हिस्सा ही लंड का बुर में डाले रखा और उसको अंदर-बाहर करने लगा. लेकिन तभी राधिका ने जोर एक चपत मार दी, जिससे मेरे मुँह से भी गहरी आह की आवाज निकल गई.

मुझे देखते ही भाग कर आने का इशारा किया और मैं भी भागते हुए पहुंच गया. उसने ढेर सारा तेल मेरी कमर पर चूतड़ों के ठीक ऊपर डाला और कमर की अच्छे से मालिश करने लगा. इसी तरह से उन्होंने एक इंच एक इंच करके पूरा लौड़ा अन्दर कर दिया था और अब उसे अन्दर बाहर करना चालू कर दिया.

इसके लिए आजकल वे मेरी चूत में लंड पेलने के समय अपनी उंगली को थूक से गीला करके मेरी गांड में चलाते रहते हैं.

फिर हम फ्रेश हुए और खाना पीना खाकर सब लोग सोफे पर बैठकर बातें करने लगे. अंकल के घर के सामने खड़ी होकर मैंने डोर बेल बजायी, अंकल ने दरवाजा खोला, अंकल सिर्फ लुंगी और बनियान पहने थे.

मां बोलीं- हर्षद, तुम ये क्या बार बार घूर-घूर कर मुझे देख रहे थे? ऐसा मुझमें तुझे क्या नया दिख रहा है? तुम बहुत बदमाशी कर रहे हो. अगली सुबह मैं साढ़े चार पर ही उठ गई और फ्रेश होकर नहा भी ली और सलवार कुरता दुपट्टा डाल के मैं तैयार हो गई, ब्रा और पैंटी पहनने का मन ही नहीं हुआ. मैं भी मोटे लंड का स्वाद ले कर मस्त हो गई और उसके लंड को चूसने लगी.

इस कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपसे थोड़ी सी कुछ और बात भी साझा करती हूँ. फिर पांच मिनट बाद मैं उसके गेट के अन्दर घुस गया और दरवाजे को जैसे ही हल्के से थपकी देकर खटखटाया, सामने मेरी जान नग्न अवस्था में खड़ी बेहद खूबसूरत और चॉदनी रात की हूर लग रही थी. मैं तो कुछ धक्कों के बाद अकड़ कर अपना वीर्य त्यागने लगा, पर हीना की गति में कोई फर्क ना आया.

हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी हिंदी रात 9 बजे मैं उनके घर आ पहुंचा- भाभी दरवाजा खोलिए … बहुत ठण्ड लग रही है. दीदी बोली- मैं एक बात कहूं, तुम बुरा तो नहीं मानोगी ना!मैं बोली- अरे बोलो न … मैं भला बुरा क्यों मानूंगी.

सनी लियोन की जबर्दस्त

कुछ देर के बाद रितेश ने भी मीरा को बिस्तर पर पलटा और आइसक्रीम उसकी चुत की फांकों में भर के चूत को चूसने लगा. पहले तो उसने रोकने की कोशिश बहुत की लेकिन जब वह समझ गई कि कोई फायदा नहीं है तो वह भी मेरा साथ देने लगी. उन्होंने कहा- वाह … सचमुच ऐसा महसूस होता है कि किसी लंड से ही चुदाई हो रही हो।फिर चाची झड़ गई.

नमस्ते दोस्तो, कैसे हो आप लोग? मैं नक्श एक बार फिर से हाजिर हूं अपनी नयी कहानी के साथ. अंकल उसे देख रहे हैं ये देखकर मैं और भी शर्मा गयी- अंकल, ये क्या कर रहे हो … मेरी … पैं. पुरानी बीएफ पिक्चरवो वहां मुझे छोड़ने आया … और फिर मैंने तुषार को एक किस किया और एक्टिवा लेकर घर जाने को निकल गयी.

वो मेरी छाती पर अपने नाख़ून गड़ा रही थी, जिसका मुझे दर्द भी हो रहा था साथ में मज़ा भी आ रहा था.

उसको जकड़ कर मैंने अपने होंठ उसके निप्पल पर लगा उसके दूध को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा. वह जैसे ही जरा गाफिल हुई, मैंने तभी खींच कर एक जोरदार झटका दे दिया और अपना पूरा लंड मैंने उसकी चूत में उतार दिया.

कुछ ही देर में उसका लंड मेरी चुत में था और वो ढंग से मेरी चुदाई करने लगा. घोष के साथ तो मेरी जिन्दगी बर्बाद ही हो जाती।कुछ देर बाद मैंने उसे फिर से अपने ऊपर आने को कहा. जो भी रस उसकी उंगली में लगा था, वो सब मेरी जीभ पर उंगली चलाकर हटा रही थी.

कहानी पढ़ने से थोड़ा बहुत मुझे समझ में आ गया था कि लड़की को कैसे उत्तेजित किया जाता है.

बस फिर क्या था, शुभ्रा मामी से बोली- नहीं मम्मी, आप बैठो, मैं ले लेती हूं. पापा और चाचा बाहर काम पर गये हुए थे और माँ कहीं रिश्तेदारी में गयी हुई थी. मैंने उसका मेहनताना दो हजार रूपये पकड़ाये तो उसने पैसे वापस मेरे बूब्स के बीच में डाल दिये और बोला- कीमत मैंने रात में ही वसूल कर ली.

सेक्सी बीएफ जीजा साली कीओके बाय।जैसे ही फोन कटा, नील और मैं जोर से हंसने लगे।नील- बहनचोद! औरत कितना नाटक करती है। थोड़े से लालच में भले ही पांच लोगों से चुद जाये लेकिन नखरे ऐसे करेगी कि ऐसी पतिव्रता दुनिया में दूसरी नहीं है. मैंने कहा- वास्तव में भाभी मैं अब तक किसी को नहीं चोदा, बस अन्तर्वासना की सेक्स कहानी पढ़ कर और ब्लू-फिल्म देख कर ही जो सीखा था, वो किया.

सेल्फी राज का सेक्सी वीडियो

बस हम दोनों आज भी अपनी हवस मिटाने के लिए कहीं ना कहीं मिलते रहते हैं. मैं मेडिकल स्टोर में गया और जाकर एक पैकेट कंडोम ले लिया और एक डायरी मिल्क चाकलेट भी ले लिया. नवरात्रि की रात को गरबा खेलने के बाद जब रुमित, भार्गव, तुषार और मैं जब घर आने के लिए निकले.

पर गर्लफ्रेंड ने मना कर दिया कि वह यह नहीं करना चाहती।मैं उसे बोला- यार, तेरे लिए ही तो मैं गांव आया हूं. तभी उधर से आवाज आयी- मैं यहां से तुम्हारी गांड में लंड कैसे डाल सकता हूं. वो अक्सर टाइट टॉप और लैगी पहन आती थीं, जिससे उनका फिगर बिल्कुल साफ झलकता था.

मेरा ऑफिस वहां से बस कुछ दूर ही बचा था तो मैंने सोचा कि क्यों न मैं पैदल ही चली जाऊँ. इस सफर की शुरुआत उस वक्त हुई थी, वह सफर आज भी वैसे ही लगातार चल रहा है. मैं भी उसे तेज़ तेज़ चोदने लगा और अगले दस शॉट में मेरा भी काम खलास हो गया.

मेरी गलती थी कि यदि मैं नेहा की शरीर की जरूरतों का प्रबंध कर देती तो आज ये रोहित हमारे लिए मुसीबत नहीं बनता. करीब पांच मिनट तक लंड चुसाने के बाद मैं चरम पर पहुंच गया और भाभी के मुँह में ही झड़ गया.

हैलो फ्रेंड्स, ये भाभी की चुत की मेरी पहली कहानी है, जो कि बिल्कुल सच्ची है.

फिर हम दोनों ने कपड़े पहन के थोड़ी देर आराम किया और शाम होते ही दीपाली अपने घर लौट गयी. बीएफ हिंदी दिखाएंतभी मैंने अपनी जीभ उसकी चूत की दरार में डाल दी और उसकी चूत चाटने लगा. ऑनलाइन बीएफ दिखाओसाली जी भी मेरे धक्कों से ताल से ताल मिलाती हुईं अपनी चूत उठा उठा कर मुझे दे रहीं थीं. उसके बाद हम थका थका महसूस कर रहे थे तो बाथरूम में जाकर गर्म पानी से नहाये.

बिना ब्रा के मेरे स्तन आजाद होकर जैसे उछल कूद मचा रहे थे जिन्हें मैंने खेलने दिया और दुपट्टे से ठीक से ढक दिया और निकल ली.

सुमन यह सब बर्दाश्त नहीं कर पाई और झड़ गई। हरकेश का लंड उसके मुंह में था इसलिए उसकी आवाज नहीं निकल रही थी. जब तक नम्रता की बात खत्म होती, तब तक उसकी चूत साफ होकर ऐसे खिल उठी, जैसे कि कमल की एक-एक पंखुड़ी हो. बिन्दू झिझकते हुए बोली- आपने मेरी फ़ोटो खींची है?मैंने कहा- तुम वो सब क्या कर रही थी? तुम बहुत ही ग़लत काम कर रही थी.

मुझको ऐसे ही नंगी पड़ी छोड़ कर उसके सोने के बाद मैं खुद उंगली या कैंडल अपनी चूत में डाल कर अपने आपको शांत करती हूं. छत पर रितेश उसे चूमता हुआ एक हाथ उसके स्तनों को दबा रहा था, दूसरे हाथ से उसकी चुत को सहला रहा था. वो रो रही थी, बोल रही थी- ये तूने सही नहीं किया सुहानी, इसका बदला लूँगी मैं!मैंने कहा- क्या बदला लेगी? मैं तो पहले ही मरवा चुकी हूँ, तूने मुझे बेवकूफ बना के फिर से चुदवाया तो मैंने भी तेरी गांड मरवा दी!और हंसने लगी।अब मैंने हर्षिल से कहा- चल बे, अब मेरी बारी … और चूत में डालियो.

इंग्लिश चुदाई वीडियो

मैंने कहा- अगर आप मुझे भरोसे के लायक समझती हैं तो मुझे बता सकती हैँ. ”आपको क्या लगता है, मेरे पास एक ही पैंटी है?”अच्छा बाबा माफ करो, पर स्कर्ट और पैंटी उतारने दे रही हो या नहीं?”पर मेरी एक शर्त है, उन्हें उतारने पर मैं आंखें बंद कर लूंगी … मुझे शर्म आ रही है. थोड़ी देर बाद मैं वंश का लंड सहलाने लगी और मुँह में ले कर गीला किया.

” पवन मुझे चूमकर बोला।तुम्हारा लंड देखकर मेरी चूत पानी बहा रही है, अब फटाफट मेरी चुत में अपना लंड घुसा दो पवन!” मैं कामवासना से आतुर होती हुई बोली।पवन एकदम खड़ा हुआ, मेरी टीशर्ट को मेरी पेट के ऊपर तक सरका दिया और मेरी पेंटी को जोर से खींचकर फाड़ दिया।पेंटी खींचने से परी कमर पर रगड़ लगी और मेरी चीख निकल गयी पर मैं पवन के हाथ की ताकत की दीवानी हो गयी.

कुछ देर बाद मैंने फिर से छत पर जा के देखा कि मेरी पैंटी उधर नहीं थी.

मैंने धीरे से भाभी के ऊपर हाथ रखा पहले उनके होंठों पर, फिर मम्मों पर हाथ फेरा. आह … कितना मज़ा आ रहा था जब वो मेरी चूत मसल रहे थे, मेरी चूचियां दबा के मेरे होंठ चूस रहे थे और मेरी चूत से गंगा जमुना बह रही थी. सेक्सी बीएफ बढ़िया वाली सेक्सी बीएफबातों बातों में मैंने भाभी को बोला- भाभी बड़ा मन हो रहा है … क्या चाय मिल सकती है?वो बड़ी कामुक नज़रों से मुझे देख कर बोलीं कि सिर्फ चाय का मन है या कुछ और भी चाहिए.

एक पल संतोष जी के लंड को देख कर मैंने भी बोल दिया- हां चोद लेना … पर अभी नहीं … कल आ जाना!संतोष जी बोले- अच्छा ठीक है … आज कम से कम लंड तो चूस कर जा. जब वो मेरे बदन के साथ चिपक कर लगी हुई थी तो मेरे अंदर की हवस और ज्यादा जागने लगी थी. नितिन ने भोला बनते हुए कहा- मैंने कुछ नहीं देखा, तुम निश्चिन्त रहो, इस उम्र में सभी देखते हैं.

फिर नीचे की तरफ बढ़ी और पंजे के बल बैठते हुए उसने अपने दोनों हाथ मेरी जांघों पर गड़ा दिए. शर्मा सर ने मुझे कमोड पर बैठने को बोला, मैं विरोध करने की स्थिति में नहीं थी.

बहनचोद बेबी रानी के चूतड़ जकड़ के मैंने बिजली की रफ़्तार से दे धक्के पे धक्का दे धक्के पे धक्का जो ठोका तो गुड्डी रानी स्खलित हो गयी.

एक बार फिर लोगों की नजरों से बचते हुए मैं नम्रता के घर के अन्दर घुस गया. शादी के 5 दिन बाद ही उसका फ़ोन आया- यार जैसा तुम चोदते हो, ऐसा मेरा पति नहीं चोदता है. बहनचोद बेबी रानी के चूतड़ जकड़ के मैंने बिजली की रफ़्तार से दे धक्के पे धक्का दे धक्के पे धक्का जो ठोका तो गुड्डी रानी स्खलित हो गयी.

साड़ी वाली औरत की बीएफ सेक्सी फिर घर जाने के बाद भी उसके साथ किसी न किसी बहाने से बातें होने लगीं. उसने मीरा से कहा- काश हम हर रोज ऐसे ही जम के चुदाई कर पाते तो कितना मज़ा आता.

वो बोली- मैं भी बहुत दिन से बाहर नहीं गयी हूँ और कुछ समय मैं तुम्हारे साथ अकेले बिताना चाहती हूँ. प्रतिभा ने कहा- संदीप तुम्हारे अन्दर जादू है, तुम्हारे शब्द किसी मोहपाश की तरह लोगों को अपनी ओर खींच लेते हैं … दुनिया को देखने का तुम्हारा नजरिया भी बेहतरीन है और तुम्हारा व्यवहार भी शानदार है. मैं झड़ने ही वाला था, मैंने दीपाली से पूछा- कहां निकालूँ?दीपाली बोली- ये मेरा पहला सेक्स है, तू अपना माल मेरी चुत में ही निकाल कर भर दे मेरी चुत को.

एक्स एक्स ओपन व्हिडिओ

बेबी रानी लगता था कि नींद में भी चुदाई का स्वप्न देख रही थी क्यूंकि उसकी एक उंगली बार बार अपनी चूत पर चली जाती थी. उस शर्ट के सारे बटन टूट के अलग हो गए और शर्ट उसके बदन से अलग हो गयी. फिर मैंने अपने दांतों से उसके लंड को फ्रेंची के ऊपर से ही पकड़ा और हिलाने लगी.

घुटने के बल बेड पर खड़े हुए भैया मेरे मुंह को अपने लंड पर धकेलने लगे. उस वक्त मेरी उम्र 23 साल है और मेरे चाचा की लड़की, जिसका नाम मेनका है, उसकी उम्र 19 साल की थी.

मैंने तसल्ली के लिए भैया को हिलाया और कहा- भैया उठो न अभी तो और पीना है.

राधिका- धन्यवाद मेरी ननद रानी, चल राज, अब तुम्हारी बारी घोड़ी बनने की है. उसकी बात पर मैं हँस पड़ा और मैंने अपने आप को सूंघने की कोशिश की तो दीपिका ने अपना मुँह और नाक मेरी बालों से भरी छाती में लगा दिया और बोली- दिल करता है बस तुम्हारे यहाँ अपना मुँह रखे रहूँ. वो कसमसा कर मेरे अंडरवियर के ऊपर से मेरे लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी.

गिलास रखकर अब मैंने ज़ोर ज़ोर से चूत में शॉट लगाने शुरू किए और दीपिका के गालों, होंठों और मम्मों को खाने लगा. मैंने जीजा से सब झूठ ही कहा था क्योंकि उन्होंने मुझे मजबूर कर दिया था. सच में दोस्तो … जो मजा चूत चटाई में है वो किसी और चीज में नहीं।बीच-बीच में मैं उसकी चूत चटाई को छोड़ कर उसके चूत के दानों को हाथ से सहला रहा था और कभी कभी तो अपनी अंगुलियों को अन्दर बाहर कर रहा था.

नम्रता- हां मेरे राजा, बस ऐसे ही मेरी गांड चुदाई चालू रखो, बहुत मजा आ रहा है.

हिंदी फिल्म बीएफ सेक्सी हिंदी: उसने अपनी छाती और मुँह बेड पर टिका दिये और चुदते हुए तरह तरह की आवाजें करने लगी- आह … आह … उम्म्ह … आह … मार दिया जालिम … फाड़ दी मेरी चूत … एक ही दिन में सारी जिंदगी की कसर निकाल दी. उसके बाद वह सब्जी काटने के लिए मुझे दे कर चली गई और किचन में जाकर रोटी बनाने लगी.

वंश कार चला रहा था, मैं उसके साइड में बैठी, उसकी जांघों में हाथ फेर रही थी. अब मैं गिड़गिड़ाने की स्थिति में आ गया और बोला- जान अगले राउन्ड में जीभ वाला खेल खेल लेंगे, नहीं तो बिना चुदे मेरा लंड तुम्हारी चूत के अन्दर पानी छोड़ देगा. मेरी जांघों के कोनों को वो चाटते हुए अंडों को मुँह में भरने की कोशिश करने लगी.

मैं उसे ऐसे जाने तो नहीं देना चाहता … मगर आगे की सोच कर बोला- ठीक है जाओ … मगर ये आग जो लगाई हो, उसे कब बुझाओगी.

8-10 धक्के तेजी के साथ लगाकर कुत्ता पलट गया और उसका लंड कुतिया की चूत में ही फंस गया. भाभी के दोनों पैर ठीक दरवाजे के सामने थे, जिससे उनकी चूत में लंड साफ़ साफ आता जाता हुआ दिख रहा था. उसने झीनी सी नाइटी पहन रखी थी, जिसमें से उसका मादक बदन कयामत बरपा रहा था.