बीएफ सील टूटने वाली

छवि स्रोत,महाराष्ट्र सेक्सी वीडियो एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

चोदने वाली बीएफ हिंदी: बीएफ सील टूटने वाली, कुछ देर ऐसे ही रहा, फिर वो मेरे कंधे पर चूमने लगा, कंधे से चूमता हुआ वो गले पर आ पहुंचा.

रक्षाबंधन को इंग्लिश में क्या कहते हैं

कभी मर्द अर्धमहिला के गुप्तांग में अपना लिंग डालता तो कभी अर्धमहिला मर्द के गुप्तांग में. रक्षा बंधन राखीये सब सोचने के बाद मेरे दिल में ख्याल आया और मैंने बोतल को जानबूझ कर नीचे फेंक दी.

’ कहकर पूजा मुझसे लिपट पड़ी और अपनी चूत से लंड को भींच लिया और फिर से मेरे लंड पर धीरे धीरे अपनी चूत को ऊपर नीचे करने लगी. सलवार सूट वालीतब राज अंकल बोले- बाजार शाम को ही पूरा खुलता है … और रात में दस बजे तक वहां मार्केट ओपन रहता है.

पढ़ाई के बाद मुझे शहर में ही नौकरी मिल गयी और मैंने काल सेंटर ज्वाइन कर लिया था.बीएफ सील टूटने वाली: जब वो उठीं, तो उनकी चूत से ढेर सारा रस निकलने लगा, जिसे मैंने पास पड़े तौलिये से साफ किया.

फिर उसने मेरे लंड पे कॅडबरी लगाई … और थोड़ी गांड पे भी लगाई और जोर जोर चूसने लगी.मैंने उसे गाली देते सुना तो मैं भी गाली देते हुए बोली- अभी तो बनी ही हूं तेरी बीवी … भोसड़ी के चोद जितना दम हो … मादरचोद भोसड़ीवाले कुत्ते … फाड़ दे मेरी गांड … और जोर से धक्का लगा अपने लंड का … और तेजी से घुसा कमीने.

सेक्सी दिखाइए इंग्लिश में - बीएफ सील टूटने वाली

” की एक मीठी सीत्कार भरकर दोनों हाथों से मेरे सिर को जोरों से अपनी चुत पर दबा लिया.मैंने भी धीरे धीरे उनकी चूचियों की घाटी को अपनी जीभ निकालकर चाटना शुरू कर दिया जिससे सुलेखा भाभी अपनी आंखें बंद करके जोरों से सिसकारियां सी भरने लगीं.

मैंने अपने हाथ की उंगलियों को उसकी जांघों के जोड़ पर रख लिया और धीरे से उसकी जांघों को टटोलते हुए उसे जांघों को खोलने का इशारा सा किया. बीएफ सील टूटने वाली मैंने भी उसके अन्दर ही माल छोड़ दिया और मैं निढाल उसके ऊपर गिर गया.

इसलिए मैं अब जल्दी से प्रिया को अपनी गोद में लिए लिए ही आगे की तरफ गिर गया.

बीएफ सील टूटने वाली?

मैं भी जीजू के टट्टे दबाते हुए पागलों की तरह जीजू का लौड़ा चूसने लगी. नेहा अब शर्माना छोड़कर खुलने लगी थी, इसलिए मैंने भी अब उसकी चुत को ऊपर से नीचे तक चाटना शुरू कर दिया. लेकिन तुम्हारी चिकनी जाँघों के बीच और घनी काली झांटों के पीछे छुपी तुम्हारी चूत बहुत ही रसीली और प्यारी है.

ये सब चूमना चाटना चल ही रहा था, तीनों हसीनाएं भी एक दूसरे को चाट रही थीं. अब तक की इस मस्ती भरी सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैंने सुलेखा भाभी के गालों को‌ चूमते हुए उन्हें अपनी बांहों में कस लिया था … जिससे उनके गाल तो क्या अब तो पूरा का पूरा चेहरा ही शर्म से सिन्दूरी सा हो गया. मीता की चूत भी मैदान छोड़ने को तैयार नहीं थी और हमारे लन्ड महाराज भी सटासट अपना पिस्टन अंदर बाहर किये जा रहे थे.

मैंने उठाया तो सामने से आवाज आई कि आपके बाजू में जागृति मेम रहती हैं उन्हें बुला दीजिए।तो मैंने कहा- आप फोन पर रहें, मैं बुलाता हूँ।मैं उसे बुलाने गया तो घर का दरवाजा खाली उड़का हुआ था. चलो लंड की सुविधा नहीं थी लेकिन क्या हस्तमैथुन से भी परहेज था?”क्लिटरिस हुड को रगड़ के मजा ले लेती थी. उसके बाद पूजा मुझे फिर से जकड़कर पकड़ते हुए अपनी पतली कमर उठा उठाकर मुझे चोदने लगी.

आपसे बातों बातों में मैं तो उसका ज़िक्र करना ही भूल गया, उसकी वास्तविक उम्र लगभग 20 वर्ष रही होगी और फिगर 34-30-36 की थी, जो एक आकर्षक बदन के लिए पर्याप्त है. फिर उसने मेरी ब्रा और पैंटी को भी खोल दिया और मेरे बूब्स को पूरी तरह मसलने लगा.

मैंने देखा कि जो दूसरा वाला था, वह करीब 23-24 साल का बहुत यंग लड़का था.

फिर उसने तौलिए को गरम पानी में भिगाकर पहले पूरे बदन को पौंछा और फिर मेरे लंड को रगड़ रगड़कर गरम पानी से भीगा हुए तौलिए फेरा.

जब भाभी ने चूत में लंड लेने की इच्छा जताई तो मैंने उनसे कहा कि भाभी मैं लेट जाता हूँ और आप मेरे ऊपर चढ़ कर सवारी करो. मैं लेटा हुआ लंड चुसाई करवाता हुआ सोनाली और ख़ुशी का लेस्बियन सेक्स देख रहा था. यह बहुत शानदार, आगे से पतला, पीछे से भयंकर मोटे व्यास वाला काला लेटेक्स डिल्डो था, जिसे हमने अलेक्सेव्स्काया सेक्स शॉप में ख़रीदा था.

करीब तीन चार मिनट बाद मेरी गांड का दर्द भी कम होने लगा और अब मैं खुल के सेक्स को एन्जॉय करने लगी. वैसे मैं बता दूँ कि पूरा उत्तेजित होने पर माइक का लिंग लगभग 9 इंच का हो गया था. मुझसे नए जुड़ने वाले साथियों के लिए बताना चाहता हूँ कि मेरा नाम रिक्की (बदला हुआ नाम) है.

देख कर बोले- वन्द्या तुमने अपने लिए ले लिया?मैं बोली- हां ले लिया … पर अभी मेरा मूड नहीं है.

उसने मुझसे पूछा कि इतनी रात में यहां क्या कर रहे हो?मैंने उसे बताया कि मुझे दवाई चाहिये, पर कोई दुकान नहीं खुली हुई है. जैसे जैसे मेरी जीभ अपना काम करती, उनके मुँह से सिसकारी निकल जाती और उनके हाथ मेरी पीठ पर बहुत जोर से मुट्ठी भर लेते. क्यों नहीं… लेकिन हमारे लंड इतने भी छोटे नहीं हैं, कि तुम आराम से उन्हें अपने छोटे छेद में जगह दे सको! बेहतर होगा कि पहले हम ब्लैक डिल्डो से तुम्हारे प्यारे से, नन्हे छेद को थोड़ा फैला दे!- मैंने सही राय देना उचित समझा.

शीतल- अब अगर मुझे इजाजत हो तो मैं अपना स्नान पूरा कर लूँ?रजत- हाँ बिल्कुल… पर उसके पहले तुम्हें मेरा लंड चूसना पड़ेगा. अब्दुल उधर से जो भी बोले हों, सुनील ने उत्तर में बोला- अरे फोटो भेजने की जरूरत नहीं अब्दुल भाई … आज तक अपन ने जितने भी आइटम बुलवाए हैं … उनमें से सबसे टॉप की है. चिराग ने पहले भी अपनी गर्लफ्रेंड के साथ सेक्स किया था और मैं भी अपने ब्वॉयफ्रेंड से चुदी थी.

पूर्वी- मैंने भी अभी तक कुछ बनाया नहीं है अपने लिए तो मैं एक काम करती हूँ आपके लिए और खुद के लिए खाना बाहर से ही ऑर्डर कर देती हूँ.

दस दिनों तक तो सब कुछ ऐसे ही चलता रहा, मौका नहीं मिल पाया उसके दस दिन बाद मैं अपने बॉस के साथ किसी काम से दिल्ली से बाहर गया हुआ था. ये कहकर मैं अपने कमरे में आ गया और लगभग आधे घंटे बाद रेवती भी कोई बहाना बना कर मेरे कमरे में आ गई.

बीएफ सील टूटने वाली अब तो वो चीखने लगी थीं- आह्ह्ह अह्ह … मुझे दर्द हो रहा है नहीं नहीं अह्ह्ह … धीरे करोऊओ … नहीं अह्हह्ह आआअहह … शशि धीरे प्लीज़ मेरी जान!मगर मैं नहीं रुका. मुनीर ने माइक के लिंग के सुपारे को तारा की योनि में प्रवेश करा दिया.

बीएफ सील टूटने वाली इस बात लेकर अगर उसकी माँ को ब्लैकमेल किया जाये तो आसानी से हम दोनों को चोद लेंगे।दीपक- उसकी माँ तो बेटी से भी सुन्दर दिखती है।मैं- और बेटी कितने से चुदी है मालूम नहीं!दीपक- तू कुछ इन्तजाम कर!मैं- चिंता मत कर, अगर रिपोर्ट में उसकी गर्भवती की बात दिखे तो रेपोर्ट लेकर कल सुबह अप्सरा होटल में 69 रूम में आ जाना!दीपक- ठीक है. कुछ देर बाद मैंने रेवती से कहा- मैं अपने कमरे में जा रहा हूं, तुम आ जाना.

मैंने झपट्टे से अपना मुँह माइक के मुँह से चिपका लिया और अपनी जुबान बाहर निकाल दी.

बिहार के रंडी सेक्सी वीडियो

उसने मुस्कुराते हुए कहा- तेरा लण्ड बहुत गरम और बड़ा है।फिर वो घुटनों के बल बैठ कर लण्ड को हिलाने लगी। जैसे ही उसने मेरे लण्ड को चुम्बन किया. फिर उसने मेरे लंड पे कॅडबरी लगाई … और थोड़ी गांड पे भी लगाई और जोर जोर चूसने लगी. उसका नाम मीनल था, वो हमारी बायोलॉजी टीचर के साथ ही वो ही हमारी क्लास टीचर भी थी.

मैंने जल्दी स्कर्ट टॉप पहने और दोनों अंकल ने भी अपने कपड़े पहने, राज अंकल तुरंत मेरा हाथ पकड़े और बोले- चुपचाप चले चलो सोनू जल्दी करो. मैं रात को कभी कभी उठकर उसके पास जाकर उसकी चूत पर हाथ रख देता था और उसकी चूत पर हाथ से सहलाता था, फिर मैं उसकी चूत की भीनी-भीनी खुशबू को मजे से सूँघता था। मुझे सच में बहुत मजा आता था और जब वो कुछ हरकत करती तो मैं एकदम कमरे से भाग जाता था. उसने अपना खीरे जैसा मोटे लंड को नेहा की चूत पर रख कर उसे चोदना शुरू कर दिया.

यह सुनने के बाद मैं मजबूर होकर सोने की कोशिश करने लगा लेकिन नींद नहीं आ रही थी.

कुछ पलों के बाद दोनों अलग हुई और मुनीर बिस्तर पर खड़ी होकर दीवार से पीठ के बल लग गयी. अन्दर चाचा चाची की गांड देख कर चाचा बोले- क्या गांड है तेरी … काश … कुछ और बड़ी गांड होती तेरी … तो और कितना मजा आता चोदने में!चाची- अब और कितनी बड़ी गांड चाहिए आपको … मेरी गांड भी तो बड़ी है. फिर मैं अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा और फिर छेद का निशाना लगा कर अन्दर घुसेड़ दिया।उसे दर्द हुआ और वो चिल्ला पड़ी बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आराम से कर!उसकी आँखों में आँसू आ गए थे।मैंने उसे सॉरी कहा, फिर मैं धीरे धीरे अपना लंड उसकी चूत के अंदर सरकाने लगा लेकिन उसे अभी भी दर्द हो रहा था और उसकी चूत में से खून भी निकल रहा था.

जब पूजा की सांस कुछ ठीक हुई तो वो मेरे लंड के ऊपर से उठ गयी और मुझसे बोली- वाह मेरे राजा, तुमने तो आज मुझे पूरा का पूरा स्वर्ग का आनन्द दिया. उसके हाथ मेरे बदन पर चलने लगे और मेरे चूचों पर आके रुक गए और वो उनको ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा. दीदी की सहेली मेरा लंड चूसती रही … जिससे पूरे कमरे में लंड चुसाई की मधुर आवाजें छप छप छप … गूंज रही थीं.

हालांकि वो चुदी हुई थी इसलिए वह दर्द को बर्दाश्त भी कर रही थी, उसे ज्यादा दर्द हो भी नहीं रहा था. जब तेरे मामा आते थे तो उनका लंड लेने से पहले भी मैं उनकी गांड के साथ खेलती थी.

तभी बेल बजी और वो मुझसे छूट कर देखा कि कौन है, फिर ऋषि को लेने चली गईं. मम्मी मुझे देखकर एकदम से चौंक गयी और किसी तरह अपने स्तनों और चूत को हाथ से ढकने लगी मगर उनकी चूत में फंसा हुआ बैंगन थोड़ा बाहर निकला हुआ था. मेरा हाथ पकड़ सर ने मुझे बाहर निकाला और मुझे बांहों में उठा एक कमरे में ले गए.

यह सुनकर मेरा भी मुंह उतर गया क्योंकि मैं भी चाहता था कि पापा कुछ दिन और यहाँ रुकें.

फिर उसने कहा- चूत के अन्दर ऐसे ही डाल दूँ?मैंने अपने सर हां में हिला कर उसे हरी झंडी दिखा दी. अंकित बोला- हाँ अंकल, तपा वाली मौसी की बेटी है, लालजी की सगी मौसी है इसकी मम्मी!तब वो अंकल बोले- लालजी नहीं आया क्या? लालजी भी तो मुझसे इसके बारे में बता रहा था कि मौसी की लड़की सोनू बहुत मस्त है और बहुत हॉट है. मेरी सांसें मानो रुक गईं … दिल किया कि चीख मारूँ, पर वो खेला हुआ खिलाड़ी था.

पहले उसने शर्ट उतारी, फिर अपनी जीन्स और फिर ब्रा पैंटी में मदमस्त होकर झूमने लगी. फिर मेरे जोर देने पर उसने बोतल ले ली और हम एक दूसरे के बदन से खेलते हुए बियर पीने लगे.

उनकी गांड इतनी मख़मली थी कि मेरा लंड उनकी गांड को देख कर फनफना जाता था. मजाक धीरे-धीरे सेक्स की ओर बढ़ती जा रही थी और मुझे भी माहौल अच्छा लगने लगा. मैंने थोड़ी सांस ली और सिर उठा कर माइक को देखा उसने तुरंत अपना लिंग बाहर खींच लिया और पास में पड़े चिकनाई वाली डिब्बी उठा ली.

भाई-बहन की पिक्चर सेक्सी

भाभी की बुर पर छोटे छोटे बाल थे, जिनको देख कर मुझसे रहा नहीं गया और मैंने भाभी को लिटा दिया और उनकी बुर को पागलों की तरह चाटने लगा.

इसके बाद अंकल ने अपने चूतड़ों उठा उठा कर मेरी टाइट बुर में ताबड़तोड़ धक्के मारना चालू कर दिया. मानसी क्या करे, वो सोच नहीं पा रही थी और धीरे धीरे कामुकता से उसने सिसकारियां छोड़ना शुरु कर दी. उन्होंने भी मेरा अंडरवियर उतार दिया और मेरे लम्बे लंड को देख कर पहले तो हैरान रह गईं, फिर लगभग झपटते हुए भाभी मेरा लंड चूसने लगीं.

इसी बीच मेरी पत्नी बोली- अब आप दोनों ही मजा लोगे या मुझको भी शांत करोगे? मैं भी तो बीच में ही रह गई थी. शायद मेरी ही गलती थी कि मैंने उसे जगह दे दी थी, जिससे उसे मेरे भीतर पूरी तरह से आने का मौका मिल गया. दिसावर का सट्टा किंग आज काअगर कोई मुझे चोदने के पैसे दे देता है तो वो तो सोने पे सुहागा हो जाता है.

वो सब फिर कभी कर लेना, अभी मुझे कुछ सामान ला दो, मैं तुम्हें लिस्ट भेज रही हूँ. उस दिन जब मैं स्कूल से लौट कर घर आया तो पता चला कि मेरी दूर के रिश्ते की मौसी आई हुई हैं.

आज घर पर बोल दो कि ऑफिस से लेट आओगी, मैं तुमको किसी से मिलवा दूँगी. भाभी की बात खत्म होते ही मैंने तुरंत उनको गोद में उठाया और उनके बेडरूम में ले गया. जीजू मेरी जांघों को दबाने लगे और उसके बाद वो अपना लंड मेरी चूत में डालने लगे.

मैंने उनके पास जाकर जाना तो मालूम हुआ कि उनकी कोई पैसे की दिक्कत थी. वो बोले- कौन सा रंग पसंद है मैडम … जो आप बोलेंगी … हम अभी पहना भी देंगे. इधर मेरे पजामे में मेरा लंड तन गया था और उसकी जांघों में घुसने के लिए जिद कर रहा था.

कुछ देर लंड चुसवाने के बाद मैंने उसकी सलवार को खोल दिया और उसे नीचे कर दिया.

बस एक दूसरे की आंखों में देख रहे थे, हम दोनों के दिलों की धड़कन भड़क रही थी. मानसी की तो हालत बहुत बुरी हो चुकी थी, लग रहा था कि उसमें जान ही नहीं है.

शीतल- तो क्या हुआ… आज ऐसे ही चुदाई होगी मेरी! मैं अपने बेटे से पहली बार चुदने जा रही हूँ, कुछ तो अलग होना ही चाहिए. थोड़ी देर में उसके मुँह से अस्स अस्स की आवाज़ निकली, बोली- मैं गयी!इधर मैं भी चरम पे था और आह करते हुए उसके अंदर ही अपना वीर्य छोड़ दिया और नीता के ऊपर ही गिर गया।5 मिनट बाद जब थोड़ा होश आया तो मैंने उसके माथे पे चूमा और उसके ऊपर से उठ के साइड में आया. मैं यह सोच कर अन्दर ही अन्दर खुश हो गया था कि बड़ी चाची चुदाई देख कर शायद मेरी ओर आकर्षित हो जाएं.

मैंने भी उसके हाथों को छोड़ दिया और अपने दोनों‌ हाथों से उसकी जांघों को खोलने‌ की कोशिश करने लगा. बस एक दूसरे की आंखों में देख रहे थे, हम दोनों के दिलों की धड़कन भड़क रही थी. तब मेरे लिए आसानी होगी!यह सुनते ही नीरू टांगें चौड़ी करके बेड पर लेट गई और मुझको बोली- आओ जीजू, मेरी चूत पर अपना लंड सेट करो!और सविता से बोली- देख तू मेरी चूत में जीजू का लंड जाता हुआ … देख किस तरह लंड अंदर घुसेगा!यह सुनते ही सविता ने अपनी आंखें नीरू की चूत पर गड़ा दी जिस पर मैंने अपना लंड लगाया हुआ था.

बीएफ सील टूटने वाली मैंने पिछले 4 महीने से संभोग नहीं किया था और ये सब देख मुझसे रहा नहीं गया. अच्छा तो दवाई चाहिये तुम्हें? देती हूँ … अभी देती हूँ दवाई …” कहते हुए पहले तो सुलेखा भाभी ने अपने ब्लाउज के सारे हुकों को खोल दिया और फिर दोनों हाथों से अपनी ब्रा को पकड़कर एक ही झटके में ऊपर तक खींच कर अपनी चूचियों को बाहर निकाल लिया.

सेक्सी सील टूट

पूर्वी एक कमरे की तरफ इशारा करती हुई- आप उस बेडरूम में जाकर बैठो, मैं पार्सल लेकर आती हूँ. जब यह कन्फर्म कर लिया तो मैं सीट पर बैठ कर सबा के चूचे मसलने लगा चूस भी रहा था. कुछ पल बाद मैं उठ कर बाथरूम में गयी और अपनी चूत को पानी से साफ़ किया.

लेकिन जब सब कुछ जान लिया तो समझ आने लगा था कि वो दरअसल क्या करते थे. तो मैंने उसे हल्का सा धक्का मारा और उसे स्टाल पर गिरा कर उसकी चुचियों को दबाने लगा. पाकिस्तानी पिक्चर सेक्सीतभी उसने अपना लंड निकाल दिया और मुझे पलट कर मेरे ऊपर मिशनरी पोज में चढ़ गया.

मैंने नीरू को बोला- अरे नीरू, यह क्या कर रही है?नीरू बोली- जीजू आप घबराओ मत, कल रात मैंने इसको ब्लू फिल्म दिखाई थी मोबाइल पर! उसको देखकर यह सब कुछ सीख गई है.

कुछ देर बाद हम दोनों ने अपने कपड़े पहन कर ठीक किये और घर को लौट आया. सिम चालू हो चुकी थी तो मैंने कम्मो के पुराने फोन से उसके कॉन्टेक्ट्स भी सेव कर दिए और फोन को डायल करना, कॉल रिसीव करना वगैरह सब सिखा दिया.

मैं उसकी बचकानी बात पर हंसने लगी और बोली- ठीक है पी ले जैसी तेरी इच्छा।मेरे हां कहते ही आशू ने मेरे निप्पल चूसना शुरू कर दिया और बारी बारी से वह एक दुधमुंहे की तरह मेरे चूचियों को चूसता रहा, चूची चूसते चूसते कब उसे और मुझे नींद आ गयी, पता ही नहीं चला।अब यही प्रक्रिया लगभग रोज होने लगी, अब आशू को बगैर मेरी चूची चूसे नींद ही नहीं आती थी. यही सब सोचते हुए मैं बेबी के पास गया, जहां वो कुछ लड़कियों के साथ बातें कर रही थी. सोनाली और ख़ुशी मेरे निप्पलों को चूस रही थीं और वे हाथ से मेरे लंड को भी हिला रही थीं.

तो दोस्तो, कैसी लगी आपको ये हॉट कहानी … मुझे मेल से बताएं या मेरे लिए कोई सुझाव या परामर्श हो, तो जरूर भेजें.

मैंने उसे बेड पर लिटा कर उसकी ब्रा को उतारने की बजाए फाड़ दिया … जिससे वो थोड़ी ग़ुस्सा सी हो गयी. मैंने उसकी चूत में लंड को अंदर बाहर करना शुरू कर दिया और उसकी जाटनी चूत को चोदते हुए उसके होठों को भी साथ ही चूसने लगा. मयूरी की चूत गीली हो चुकी थी… उसने अपने होंठ और जीभ से मयूरी के चूत का स्वाद लेना शुरू कर दिया.

सेक्सी घोड़े वालीमैंने मीना से इशारे में कहा कि तुम दोनों श्रीमती जी से कहो कि अभी आधा घंटे तक आँखें मत खोलना, नहीं तो तेल के कारण दिक्कत हो जाएगी. मैंने भाभी से सॉरी बोला तो भाभी पूछने लगीं- आज कल आते भी नहीं हो, कोई गर्लफ्रेंड पटा ली क्या?तो मैं बोला- भाभी, मेरी इतनी अच्छी किस्मत कहां कि मुझसे कोई लड़की पट सके.

सेक्सी वीडियो देहाती फिल्में

शायद मेरी ही गलती थी कि मैंने उसे जगह दे दी थी, जिससे उसे मेरे भीतर पूरी तरह से आने का मौका मिल गया. करीब चार-पांच मिनट तक उसने मुझे इतनी स्पीड से चोदा कि मैं बिल्कुल हांफने लगी. तुम कोई ऐसी वैसी बात ना कर देना क्योंकि वो वही ऑफीसर है जिससे मैं कई बार चुदती हूँ, वो ही है, जिसने तुम्हारी रिपोर्ट भी बनाई है.

पूरे 20 मिनट चुदाई के बाद भाभी की चुत में अपना पानी निकाल कर उनको किस करने लगा और एक फुक्क की आवाज के साथ अपना लंड उनकी चुत से बाहर निकाला और भाभी के बगल में सो गया. मेरा उठने का दिल‌ तो नहीं कर रहा था मगर सुलेखा भाभी के डर के कारण मैं भी अब उठकर अपने‌ कपड़े पहनने‌ लगा‌ और प्रिया‌ कमरे से बाहर चली गयी. यह सुनते ही जीजू ने मुझे पटक कर सीधा किया और मैंने टांगें उठा उनके हब्शी लौड़े का स्वागत किया.

तभी हमारे पास एक कंडक्टर आया, उसने कहा- बस अभी खराब है, नहीं जायेगी. और जैसे ही मैंने वहाँ पर अपनी जीभ फेरी, तो मंजरी भाभी के मुँह से एक लम्बी सिसकारी निकल पड़ी और उन्होंने भी मुझे कस कर भींच लिया. मम्मी मेरी तरफ हैरानी से देख रही थी फिर कुछ सोचकर बोली कि इस बात का पता किसी को नहीं चलना चाहिए.

उसके चूतड़ों की ये थिरकन देख कर लौंडों के लंड हिनहिना कर खड़े हो जाते थे. जैसे ही जगत अंकल ने मेरी चूत में पूरा लंड रस डाल दिया, मैं भी जोश में आकर आएं बाएँ बकने लगी.

मैंने भी अब अपने हाथों को उनकी साड़ी व पेटीकोट के अन्दर घुसा दिया और अन्दर से ही उनकी चिकनी जांघों को सहलाता हुआ, फिर से ऊपर की तरफ बढ़ने लगा.

धर्मेन्द्र- ओके, बताओ क्या चाहती हो?मैं- आपको पूरा नंगा देखना चाहती हूँ. राजस्थान मारवाड़ी सेक्सी वीडियो ओपनफिर वापस आकर बेडरूम में आ गया। मैं बिस्तर पर बैठा और उसके पैर को छुआ। मेरा लण्ड खड़ा होने लगा।फिर मैं धीरे-धीरे उसकी नाईटी उठाते हुए ऊपर की तरफ जाने लगा। मैंने उसकी कोमल और भरी हुई जांघों को छुआ. ब्यूटी पार्लर कैमराउसने मुझे सीधे कह डाला- मैं आज औरत बनना चाहती हूँ, क्या तुम मुझे औरत बना सकते हो. मैं उसकी पैंट को पूरी तरह से उतारने की कोशिश कर रही थी लेकिन वह मुझसे हिलाया नहीं जा रहा था.

तूने मेरा फोन चैक करा था?मैं- अरे आप मुझसे मांग लेतीं, मेरे पास तो खजाना भरा पड़ा है.

मगर साथ ही अपने मुँह को भी हल्का सा खोल दिया, जिससे मेरे लंड का सुपारा उसके मुँह में थोड़ा सा घुस गया. क्या हुआ? मम्मी कह रही हैं कि ज्यादा तबियत खराब है तो डॉक्टर से दवा ले आओ!” प्रिया ने मेरी तरफ देखते हुए कहा. मैंने सविता की चूत में अपने लंड की स्पीड और तेज कर दी और मेरा भी होने वाला था, मैं और सविता दोनों एक साथ झड़ गए और मैंने अपना सारा माल सविता की चूत में डाल दिया.

बस एक बार करके देखती हूँ, ऐसा मैंने सोचा और आँखों को खुला छोड़ दिया. करीब 8-10 मिनट तक एक दूसरे को चूमने चाटने के बाद मैंने भाभी को बेड पर सीधा लिटा दिया. अगले दिन श्यामा ने मुझसे कहा- कल घर पर बोल कर आना कि तुम्हें बाहर काम से जाना है, तुमको सारी रात मेरे घर पर रहना है.

सेक्सी विदु

शीतल- देखो… मैंने कुछ ऐसा इंतजाम किया है कि अगर तुम्हारे पापा को हमारे चुदाई के बारे में पता चल भी गया या हम लोगों को आपस में सेक्स करते हुए देख भी लिया तो वो कुछ बोल नहीं पाएंगे. नहीं पास हो पायी तो सोचूंगी कुछ और!दिन में घर पर अकेली ही रहती हूँ. मैं वापस कमरे में आया और शहद की बोतल खोल कर उसके चुचे पे थोड़ा शहद डाल कर उसकी चूची चूसने लगा.

तभी मुझ से किसी ने कहा- असली चुदाई का मजा तो अब आएगा साली … ले इस नए मूसल का स्वाद चख.

मैंने जब नेहा से पूछा कि मुझे उठाया क्यों नहीं तो उसने बताया कि वो प्रिया ने मम्मी को बोल‌ ये दिया था कि तुम्हारी तबियत खराब है इसलिए!इतना कहकर नेहा अब फिर से मेरे गालों को चूमने लगी.

लेकिन मैंने अपने लन्ड को कोई गति न देने का फैसला किया और मीता की पतली कमर के खमों को हाथों से सहलाता हुआ उसके कूल्हों को अपने दोनों हाथों से सहलाया और अपने होंठों को बारी बारी से दोनों यौवनकलशों को चूमने और चाटने लगा. आंखों में गहरा काजल डाल रखा था उसने!अगर शोर्ट में कहूं तो कम्मो हरियाणवी डांसर सपना चौधरी की छोटी बहन जैसी लग रही थी; बिल्कुल वैसी ही कद काठी, वैसा ही जानलेवा जोबन, वैसा ही सलवार कुर्ता, वैसी ही सुन्दर और यौवन के जोश से लबालब. गर्भाशय आकारओह … अब मैं समझी … तुम‌ पहचान ना जाओ, इसीलिये ही दीदी ने वो चेन मुझसे वापस ले ली.

नहीं चाची! पर सुना है कि ये लोग काफी खतरनाक होते हैं। किसी के पीछे पड़ जाते है तो उसे जान से मार देते हैं. फोन कट करके उसी मोबाइल से जल्दी से दो-तीन फोटो क्लिक की, वह भी मेरी चूत में उंगली डाले हुए … मैं तो पागल हो रही थी. उसके गोरे गोरे चुचे जो रूम की कम रोशनी में भी चमक रहे थे … माहौल में सुनामी लाने पर उतारू थे.

महेश ने बोला- इसकी पेंटी उतार लेते हैं अपन इसके लिए दूसरी ला देंगे. उसने हाथ आगे किया तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और उठी, पर मैंने पांव नीचे नहीं लगाया.

मैंने अपने जीजू से बात करना कम कर दी, तो जीजू मुझसे और भी बात करने लगे और मुझे बात करने के लिए मनाने लगे.

मैंने भी अपनी आदत के अनुसार कह दिया कि ये तो मेरा नसीब है कि मुझे आपकी सेवा करने का मौका मिला. उसके चूसने की आवाज से सुशीला की नीन्द खुल गयी और वो आँखें फाड़ कर देखने लगी. तब भी मैंने और जीजू ने रात को छत पर जाकर एक दूसरे को खूब किस किये और उसके बाद मैं अपने कमरे में जाकर सो गयी.

मोटू पतलू की कहानी मोटू पतलू की कहानी मुझे उनकी बातों से पता चल गया कि वो थोड़ी नर्वस थी शायद इसीलिए उन्होंने फोन जल्दी कट कर दिया. आह क्या बताऊं दोस्तो … जब उनकी गांड पर मेरा पैर रखा हुआ था तो मुझे कितना मज़ा आया था.

कम्मो की वो दोनों ब्रा पैंटी तो मैंने अपने पास पैंट में छुपा रखीं थीं. जीजू अगले दिन चले गए और उसके बाद हम दोनों लोग आज तक संपर्क में हैं. चाची- किस किस को चोदेगा रे तू … अपनी बीवी को चोदता है, मुझे चोदता है और दीदी को चोदने के लिए पागल हो गया है.

गांव की सेक्सी वीडियो खेत वाली

मैं काफी बार सोचता रहता था कि क्यों ना मैं सुलेखा भाभी और किशोर भैया की उम्र के इस अन्तर के तार को छेड़ कर सुलेखा भाभी के साथ अपने प्यार की पींग बढ़ाने की कोशिश कर ली‌ जाए. अब मैं भी इन दोनों की तरह से पूरी चुदक्कड़ बन चुकी थी, जो डिल्डो को चूत में डाल कर चूत को ठंडा करती थी और शुक्रवार और रविवार को असली लंड का पूरा मज़ा लेती थी. हालांकि लेटे रहने के मन होने के बावजूद मैं उठा और फ्रेश होने चला गया.

शायद मेरे साथ ये सब करते हुए वो शर्मा रही थी इसलिए मैंने अब खुद ही अपनी कमर को खिसका कर अपने लंड को उसके होंठों से लगा दिया. फिर अचानक से ही वे मेरे दोनों मम्मों को पकड़ के दबाने और मसलने लगे.

मैंने नीरू को बोला- अरे नीरू, यह क्या कर रही है?नीरू बोली- जीजू आप घबराओ मत, कल रात मैंने इसको ब्लू फिल्म दिखाई थी मोबाइल पर! उसको देखकर यह सब कुछ सीख गई है.

आधे घंटे बाद हम दोनों ने चिप्स और नमकीन खाये और आधी आधी बियर पी और फिर से दूसरे राउंड की चुदाई चालू कर दी. उसने मेरी नई पैंटी को नीचे करके उतार दिया और पीछे सीट की तरफ फेंक दी. वो मुझसे बात करने लगी और मैं उसकी बड़ी बहन के चक्कर में उससे बात करने लगा.

फिर उसने एक डीवीडी पर लेस्बियन पिक्चर चला दी और बोली- अच्छी तरह से देख लो, हमें यही सब करना है. हम दोनों बहुत थक चुके थे … तो ऐसे ही नंगे एक दूसरे की बांहों में बांहें डाल कर सो गए. दूध वाले ने रवि के जाने के बाद मुझसे कहा- भैया, नेहा मेमसाब की चूत मुझे फिर से चोदने का मन है.

इस कहानी को लिखते वक़्त ना जाने कितनी ही बार रेवती के हुस्न की यादों ने मेरे लंड को खड़ा किया है.

बीएफ सील टूटने वाली: मैं हमेशा ख्वाब में किरण चाची को चोदा करता हूँ … और जब भी चाची के यहां आता हूँ … तो छुप छुप कर चाचा चाची की चुदाई देख कर मुठ्ठ मार लेता हूँ. जैसे ही शाम को काम खत्म हुआ, तो मैं तो दिल्ली आने वाली बस में बैठ गया और बॉस अपने काम से बाहर चले गए.

मैंने उसे और उकसाते हुए कहा- तुमको भी अच्छा लग रहा था, तुम्हारी उत्तेजना देख कर वे लोग भी उत्तेजित हो रहे थे. फिर कुछ दिनों तक मेरी उनसे बात नहीं हुई व मुझे अपने अरमानों पर पानी फिरता हुआ दिखा. फिर हम एक मॉल में मिले जहाँ उसने पूछा- कैसे क्या होगा … और किसी को पता नहीं लगे! मैंने अपने हस्बैंड से बात कर ली है.

माइक के ऐसे बर्ताव से मैं भी पिघल सी गयी और मैंने खुद ही लिंग को सही रास्ता दिखाने लगी.

मैंने सोचा कि ऐसा मौका कब मिलेगा, तो मैंने टीवी चालू किया और सोफे पे बैठ गया. खैर मुझमें अब थोड़ा साहस आ गया था इसलिये मैंने प्रिया से पहले तो कल के लिये माफी मांगी और मेरी शिकायत ना करने के लिये उसे धन्यवाद भी कहा. हम दोनों ही इस चुदाई से इतना अधिक थक चुके थे कि हमें होश ही नहीं रहा कि हम दोनों आपस में नंगे चिपके हुए ही कब सो गए.