बीएफ इंग्लिश हिंदी फिल्म

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्मों का फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

छोटी लड़की बीएफ एचडी: बीएफ इंग्लिश हिंदी फिल्म, वो ब्लैक ब्रा और पेंटी में मेरे सामने बिस्तर पर पड़ी थी और मैं रेड अंडरवियर में उसके सामने खड़ा था.

देसी किन्नर सेक्स वीडियो

हम दोनों एक दूसरे के बदन की गरमी को भोगना चाह रहे थे लेकिन मौक़ा नहीं मिल रहा था. चुदाइ कि कहानिमैंने हाथ बढ़ा कर टेबल लैम्प बंद कर के हल्की नीली लाइट वाली नाईट लैंप जला दी.

मैं चाहता था कि पहला सेक्स यादगार हो, बस इसीलिए मैं इंतज़ार कर रहा था कि कब मौका मिले और मैं मौके पे चौका मारूँ. न्यू बीएफ वीडियोदीदी की हंसी के साथ दीदी के चूचे भी ख़ुशी के मारे उछलने लगे… उफ़ मन कर रहा था स्क्रीन में से ही खा जाऊं.

जब भी कोई पूछे कि वन्द्या क्या हुआ तो मैं उसे बोलती कि बस से पांव फिसल गया और गिर गई तो थोड़ा चोट लग गई थी।और फिर 10 दिन बाद मेरा फिर अपने आप फिर से बहुत मन करने लगा और वही अंकल और जीजा ने जिस तरह से किया था बार-बार वही सब दिमाग में और ख्यालों में चलने लगा.बीएफ इंग्लिश हिंदी फिल्म: मैंने लंड को उसके बुर पर रख कर थोड़ा सा ज़ोर लगाया, तो वो दर्द से कराहते हुए बोली- आह नहीं भैया.

खैर कहानी की शुरूआत करने से पहले मैं आपको बताना चाहती हूँ कि मेरी कुंवारी चुत कैसे चुदी और फिर मैं कैसे चुदाई की शौकीन बन कर पूरी कॉलगर्ल बन गई.मैंने मॉम से बोला- आज एक बार तो चोद लेने दे, मॉम दुबारा नहीं करेंगे.

மலையாள செக்ஸ் வீடியோ ஓபன் - बीएफ इंग्लिश हिंदी फिल्म

मैंने बाहर की लाइट बंद की ताकि फ्लोर पर अंधेरा हो जाए और गेट खोल दिए.उसका भी दर्द कम हो गया। अब उसने रोना बंद कर दिया और मुझे जोरों से चूमने लगी। मैं समझ गया कि ताबड़तोड़ चुदाई का वक्त आ गया है।मैंने धीरे से धक्के लगाने शुरू किए। उसे मज़ा आने लगा तो वो मुझे और जोर से किस करने लगी और मेरे कमर की लय में अपने कमर को भी हिलाने लगी। अब मैंने बिना रहम किया जो चोदा.

मुझे बहुत तेज दर्द हुआ जैसे कि मेरी गांड फट गई हो… और मैं चीखने लगी।तभी अंकल ने मेरे होठों को अपने होठों से कस लिया और चूसने लगे, बोले- वन्द्या, बस थोड़ा रुक जा!और जोर से मेरी कमर पकड़कर अंकल ने बहुत जोर का धक्का मारा, अपना पूरा लन्ड मेरी चूत में घुसा दिया. बीएफ इंग्लिश हिंदी फिल्म तब मैं उससे बोला- यार तुम मेरी वाइफ को भी अच्छे लगे, वो मुझे बोल रही थी कि तुम बहुत अच्छे लगते हो.

मेरे पति मुझसे बहुत नाराज हुए, पर मेरी जिद के सामने किसी की नहीं चली और हम अलग हो गए.

बीएफ इंग्लिश हिंदी फिल्म?

”क्यों मैं सुंदर नहीं हूँ क्या आप लोगों ने तो तारीफ ही नहीं की!”अरे भाभी वो जिनेन्द्र को शायद अच्छा नहीं लगे इसलिए…”अरे चिंता मत करो, उनको बुरा नहीं लगेगा. तभी पता नहीं क्या हुआ कि वो फिर से झड़ने लगी और उसकी बुर से पानी निकलने लगा. शायद रात में दो लोग और कोई आने वाले हैं लेकिन अभी उनका कुछ कन्फर्म नहीं है.

तो मैं बोला- जब मेरे साथ मज़ा नहीं आता तो किसी और के साथ करने में क्या बुराई है?बीवी बोली- क्या ये आपको अच्छा लगेगा कि आपके सामने कोई और मुझे चोदेगा. उसका मूसल लौड़ा पूरा फ़ौज के सिपाही की तरह तैयार था अपने दुश्मन यानि मेरी चुत पर हमला करने को. दूर क्यों खड़ी हो?उसने जबरदस्ती मुझे एक गिलास दे दिया और मुँह में लगा कर पिला दिया.

शिवम बोला- बिल्कुल जैसा तुम बोलो आशीष, क्या मस्त माल पटाया है तुमने यार! उसके होंठ नाक और आंखें कितनी खूबसूरत है लगता है बहुत चुदासी है! मैंने वन्द्या से सेक्सी लड़की आज तक नहीं देखी, बहुत मजा आएगा।जब रूम में आ गई वन्द्या और मैं लिपट गया, वन्द्या के होंठ चूसने लगा, फिर बूब्स दबाने लगा तो वन्द्या गर्म होने लगी. मैं उसको सॉरी बोल कर वहां से निकल गया, लेकिन तभी वो फिर मुझे मेट्रो में मिल गई. हम दोनों ने एक दूसरे की आँखों में देखा और धक्का देने की सहमति हो गई.

छोड़ो ना… कल रात को इतनी जोर से बजाने के बाद भी तुम्हारा दिल नहीं भरा क्या??मैं- जान, तुम चीज़ ही ऐसी हो कि दिल नहीं भरता. मैं धीरे धीरे उंगली अन्दर करता गया, आधी उंगली उसकी चुत के अन्दर चली गई थी.

मैं- आप बाहर ब्वॉयफ्रेंड क्यों नहीं बना लेतीं… बस कंडोम यूज करो और मजा करो.

यकीन मानिए अगले कुछ पल मेरी जिन्दगी के वो पल थे, जिनका मैंने कभी सपने में भी गुमान नहीं किया था.

थोड़ी देर बाद उसको मज़ा आने लगा और वो अपनी गांड को हिला हिला के मेरे लंड को अन्दर बाहर लेने लगी. अब मेरा हाथ उनकी चूत को सहला रहा था और वो आंखें बंद किये पूरा मजा ले रही थी. तो उसको अपनी नानी याद आ गई। उसके सारे अंजर-पंजर ढीले होने लगे। वो मुझे छोड़ देने को गिड़गिड़ाने लगी।वो तब तक 3 बार झड़ चुकी थी.

मैंने हिम्मत करके उनके मम्मों को दबाना चालू किया और फिर धीरे धीरे पूरे शरीर पर हाथ फेरने लगा. मैंने उसके ऊपर हो कर उसके हाथों को पूरा टाइट करके पकड़ा हुआ था क्योंकि मेरे किस करते ही वो पलट कर सीधा होने की कोशिश कर रही थी. उसने मेरे पीछे से अपने हाथों को मेरे मम्मों पर रख दिया और उन्हें दबाने लगा.

मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे कोई जलती हुयी अंगीठी मेरे लिंग के पास पड़ी हो.

लेकिन कुछ देर बाद मैंने घर जाने की जिद की और ताई जी से घर की चबी मांगी, तो ताई मुझे चाबी देने के लिए मान गई पर शरारत न करने की सलाह देकर चाभी दे दी. मैंने सोचा मॉम अन्दर ना आ जाएं उस वजह से मैंने उसकी गांड में लंड घुसाए हुए उसको गोद में उठाया और अन्दर स्टोर रूम में ले गया. मैंने भी पूरा पूरा साथ दिया और अपने हाथों से उनके मम्मों को खूब दबाया और योनि पर हाथ भी रगड़ने लगा.

पर मैंने अंजलि को पीछे से अपनी दोनों बांहों में कस के जकड़ रखा था, मैं बोला- ऐ चोर लड़की… क्या कर रही थी? बता क्या चुरा रही थी?अंजलि- जी कुछ नहीं… मैंने कुछ नहीं चुराया यहाँ से!मैं- मैं पुलिस वाला हूँ, तुम चोरों को मैं अच्छी तरह जानता हूँ, हम पुलिस वालों को चोरों की जुबान खुलवाना आता है. मैंने भी उसके एक हाथ को अपनी चुचियों पर धरवा लिया और उसने मेरी चूचियों को आटे जैसा गूँथना शुरू कर दिया. सिर्फ दो मिनटों की चुदाई में ही मेरी नताशा किसी कुतिया की तरह चुद कर हांफने लगी थी!इसके बाद आर्थर ने उसे सचमुच की कुतिया बना कर उसके चौपायों पर खड़ा कर दिया और पीछे खड़े होकर उसकी नर्म-गुलाबी चूत में अपना झटके मर रहा निर्दयी लंड घुसेड़ना शुरू कर दिया.

जानवरों की भाषा में इसको आंचल कहते हैं और अंग्रेजी में इनको निप्पल कहते हैं.

दिल्ली में रोज सुन्दर सुन्दर लड़कियों को देखता और कैसे तो भी अपने आपको कंट्रोल करते रहता. मेरी चूत चुदाई की हिन्दी कहानी आपको कैसी लगी? मुझे मेल करें![emailprotected].

बीएफ इंग्लिश हिंदी फिल्म दस मिनट की चुदाई के बाद मैं उसकी चुत में झड़ गया और मैंने अपना लंड बाहर निकाल कर उसके मुँह में दे दिया. उसके मुँह से मादक सिसकारियां निकल रही थीं, जो वो भैया और भाभी के डर की वजह से निकलने से बचा रही थी.

बीएफ इंग्लिश हिंदी फिल्म विक्की और पिंकी की लड़ाई काफी होती थी और दोनों एक दूसरे से ढंग से बात नहीं करते थे. पर इन्होंने ही बातों में लगा लिया।वो मुस्कराने लगी।मुझे ऐसा लग रहा था.

कल जब मैंने इसको आपके लंड के बारे में बताया था तब से ही ये भी आपका लंड देखना चाहती है और उसे अपनी चूत में डलवाना चाहती है.

अंग्रेजी सेक्सी पिक्चर चोदा चोदी

आज अगर तुमने मुझे रोक लिया तो बहुत जल्दी तुम्हें आज के दिन के लिए रोना होगा, तब मैं तुम्हारे पास नहीं रहूँगा. इसी बीच सिंधु ने मुझे आश्चर्य में डालते हुए लंड के लिये छेद की जगह बदल दी। अब मेरा लंड उसकी गांड की छेद में था और वो भी बड़ी आसानी के साथ उसकी गांड के अन्दर जाकर गुम हो गया।थोड़ी देर तक सिन्धु स्थिर होकर ऐसे ही बैठी रही, और मेरे दानों को मसलती रही। मैं उसकी तरफ आश्चर्य से देखता रहा. फक मी आआहह मजा आ रहा है… यस यस ऑश यस…दस मिनट की चुदाई में वो झड़ गई.

ये सच है कि किसी लड़की की नंगी चूचियों को देखने से ज्यादा उसकी अधनंगी चूचियों को देख कर वासना जागती है. उसकी बॉडी की खुशबू मुझे गरम कर रही थी और ऊपर से वोड्का का नशा भी था. मैं तुरंत भाग कर खिड़की पर गया और अपनी मोबाइल का फ्रंट कैमरा चालू करके रख दिया ताकि दरवाज़ा और सामने की खिड़की मुझे दिखती रहे.

भैया ने शुरूआत तो अच्छी की, लेकिन उनका लंड भाभी की गांड में सैट नहीं हो रहा था.

मैं उसे देखने लगा, उसकी नज़र मेरे ऊपर पड़ी तो मैंने झट से अपनी नज़र को दूसरी तरफ किया, पर शायद उसको मालूम चल गया था कि मैं उसी को देख रहा था. फिर उसने अपना मुख खोल दिया और मेरा लंड स्वतः ही उसकी मुख गुहा में प्रवेष कर गया और फिर बहूरानी के होंठ और जीभ मेरे लंड पर क़यामत ढाने लगे. मैं अपने ससुराल पहुँचा और दरवाजे पर खड़े होकर मैं डोर बेल बजाने ही वाला था कि मेरी नजर घर के दरवाजे पर पड़ी जहां किसी मर्द के जूते पड़े थे.

!मैंने कहा- पहले माल तो दिखाओ मेरी जान, आगे का खेल तो बाद में होगा. मैंने जानबूझ कर पूछा- मां कहां जा रहीं हो?मां कोई दवा खाते हुए कहने लगीं- स्कूल का जरूरी काम है… मुझे जाना है और कुछ टाइम लग सकता है. मैं इन आनन्द के क्षणों को पूर्ण रूप से महसूस करना चाहता था इस लिए मैंने अपने लिंग को प्रिया की योनि में गहराई में लेजा कर अचानक वहीँ रोक दिया.

पहले जब मैं हस्तमैथुन करता था तो मैं हर बार बहुत जल्दी ही झड़ जाता था, पर पता नहीं आज क्या हो रहा था. मैंने सोचा कि जिस दिन मेरे पति घर नहीं होंगे तो उस दिन रानी को बुलाऊँगी और सेक्स करूंगी.

मैं आने वाले समय से अनजान था कि मेरा क्या होने वाला था!मेरी बीवी की चुदाई की रियल सेक्सी कहानी पर अपने विचार मुझे भेजें![emailprotected]आगे की कहानी :बीवी को उसके बॉस के कमरे में छोड़ा चुदाई के लिए. कुछ देर बाद परीक्षित ने अपने लंड को मेरी चूत में डाला और फिर चिंटू ने गांड में पेल दिया. मैंने अपनी आँखों से ही उसका फिगर नाप लिया था, लगभग 34-28-36 का रहा होगा.

उस सफेदी में थोड़ा ब्लड भी था, जिससे पता चला कि शायद चोदते चोदते उसकी बुर ज़ख्मी हो गई थी.

मैं उनके पास गया तो वो बोलीं- बेटा, जरा वो डिब्बा उतार देना, काफी ऊपर है. उसके बाद मेरी सौतेली मां का सगा बेटा किसी लड़की के साथ शादी करके कनाडा चला गया अपनी माँ को छोड़ कर!अब आगे. अगर थोड़ा बहुत अपना चेहरा आ भी गया तो कोई बात नहीं, हम किसी से एडिट करवा लेंगे.

अचानक प्रिया का तमाम शरीर अकड़ने लगा, प्रिया ने मेरे बाएं कंधे पर जोर से काटा और एक जोर से आ… आ… आ… आ… आ… ह… ह… ह. उस अधिकारी को तो पुलिस ने छोड़ दिया क्योंकि उसने किसी खास आदमी से फोन करवा दिया.

पल-भर के लिए मैं स्तब्ध रह गया- यह… यह क्या कर रही हो… प्रिया?कहते हुए मैंने प्रिया को दोनों कांधों से पकड़ कर उठाया।देखा तो काली कजरारी आँखों में आंसू बस गिरने की कगार तक भरे थे. पर वो नहीं मान रही थी तो मैंने उससे कहा- ठीक है तो मैं बीच में आ जाता हूँ. दो मिनट बाद उसका दर्द कम हुआ और वो चुप हो कर गांड चुदाई का मजा लेने लगी.

कविता जोशी की सेक्सी वीडियो

मैं उसका लंड देखने के लिए उसके पास से निकली और मैंने तौलिया खींच ली.

उस सफेदी में थोड़ा ब्लड भी था, जिससे पता चला कि शायद चोदते चोदते उसकी बुर ज़ख्मी हो गई थी. मैं अंजलि की गर्दन पर किस करने लगा और उसके कान को मुँह में लेकर हल्के हल्के काटने लगा. फिर धीरे से चूत पर सैट करके हल्का सा झटका दिया तो उसने अपने गांड को आगे सरका लिया.

उसके बड़े भाई ने एक दो बार देख लिया कि वो मुझसे बिल्कुल चिपक कर सोता है, लेकिन कुछ नहीं कहते थे. चुत चुदाई के बाद बाद उसने कहा- ज़रा बाथरूम में जाकर साफ़ सफाई कर आओ. हिंदी बीएफ बीएफ बीएफएक बार तो मुझे मेरी आँखों पर ही भरोसा नहीं हुआ यार, मैं जिसे ढूंढने के लिए पार्क में जाया करता था, वो तो मेरे पास ही रहती थी.

मुझे तुम्हारा लौड़ा देखना है, उसको मुँह में लेना है, तेरे लंड को अपने मम्मों पर घिसना है, लंड को अपनी चुत में और गांड में लेना है. मैंने उन्हें एकटक देखा ओर अपना मुँह मैंने ब्रा के ऊपर रख दिया जिससे उनकी सिसकारी निकल गई ‘ईश्श्शशहह.

फिर मैंने लाइन में देखा वह किसी अनजान आदमी से बात बड़ी मस्ती से बात कर रही थी. मैंने पीछे से ही उसके कान की लौ पर प्यार से किस किया, तो वो मचल गई और खड़ी होकर मुझे गले लगा लिया. हमें शाम को ट्रेन से जाना था तो हमने खाने का पूरा बंदोबस्त कर रखा था.

वैसे भाभी ने उस समय गाउन डाल रखा था तो मैंने उनके होंठों को चूमते हुए अपना हाथ उनके गाउन में हाथ डाल दिया. उन्होंने अपना सर पीछे झुका कर मेरे कंधे पे रख दिया और आंखें बंद कर लीं. मैं जब टोकता तो बोलती- एम डी सर थे, इसलिये देर हो गई!शुरू शुरू में मैंने ध्यान नहीं दिया, धीरे धीरे रात को जब मैं सेक्स करने चलता तो वो कहती आज बहुत थक गई हूँ, तुम मेरे पैरों में तेल लगा दो, कल करेंगे!एक दिन मैं जल्दी आ गया और मेड चली गई थी.

मैं बोली- कितने गन्दे हो, छी मुझे लेट्रिन करते देखा… थू!मैं उनके हाथ जोड़ने लगी, बोली- जीजा प्लीज मैं चिल्ला दूंगी!और मैं रोने का नाटक करने लगी, बोलने लगी- हाथ मत लगाओ मुझे जीजा, मुझे जाने दो। मैं ड्रेस नहीं लूंगी!और जैसे ही मैं चारपाई से उतरने लगी, जीजा ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और मुझे बिस्तर में फिर से पटक दिया। अब वे बोले- मजाक मत करो वन्द्या मेरी जान!और मेरे होठों के चुम्मा लेने लगे.

मेरी मॉम का कद 5 फुट दो इंच है, लेकिन वो काफ़ी भरे हुए शरीर की हैं. मेरी शादी 8 साल पहले हुई थी, मेरे पति इंजीनियर हैं और एक बड़ी कम्पनी में जॉब करते हैं.

दोस्तों के नाम पर केवल एक लड़का और मेरे घर में मेरे माता पिता के अलावा चाचा चाची की दो बच्चों की फैमिली भी थी. कुछ होगा तो नहीं!हालांकि वो आज अपने कमरे को फूलों से सजा हुआ देख कर बहुत खुश थी और अब उसका मूड एकदम खिला हुआ था. भाभी ने कहा- हां, मुझे लगता है कुछ दिन बाद मेरा पीरियड आने वाला है, मुझे मालूम हो जाएगा.

मेरी चुचियों को अपने हाथों में लेकर दबाने लगा और मेरे कान को चूसते हुए बोला- क्या मैं तुमसे कुछ मांग सकता हूँ?मैं- हाँ तुम कुछ भी मांग लो. अब मैं आपको सबके सामने माँ जैसा आदर दे भी दूँ मगर आपको अकेले में आपके नाम से ही बुलाऊंगी और आपको अपनी फ्रेंड मानूँगी ना की माँ. मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि मैं अपनी सेक्स स्टोरी आपके साथ शेयर करूँगा पर आज वो मौका मिल ही गया.

बीएफ इंग्लिश हिंदी फिल्म मैं कभी उसकी चुत को ज़ुबान से चोदता, तो कभी उसके क्लाइटॉरिस को दांतों से काट लेता. चूत गीली होने की वजह से उनका लंड मेरी चूत को चीरता हुआ अन्दर चला गया।मैं उछल गयी- आआह… रे…फाड़… ड़ी!वे फच्च फच्च… मुझे चोदने लगे, मैं रंडी की तरह उनके हर ढ़क्के का जवाब अपनी कमर से देने लगी- सस्स्स… पट…पट… हाआआ…चोदो कुत्ते अपनी कुतिया को!वो भी मुझे गाली देने लगे, बोले- ले रंडी… चुद ले… बहुत गर्म चूत है तेरी !कुछ देर में ही मैं एक बार और झड़ गयी। पर वो मुझे चोदे जा रहे थे.

सेक्सी वीडियो 15 साल लड़कियों की

पूरा दिन उससे बात करने में निकल जाता था और रात में भी काफी देर तक हम बात करते रहते थे. ऑटो चल पड़ी, वो लड़की अपने बैग में कुछ ढूँढ रही थी, अचानक से उसका बैग नीचे गिर गया और उस बैग का सारा सामान भी ऑटो के फर्श पर गिर गया. कुछ देर मम्मे चूसने के बाद मैंने उनको एक किस किया और सीधा उनकी चुत को हाथ से मसल दिया.

संदीप मॉम की कॉलेज की गाड़ी का ड्राइवर था, जो कि बाहर गाड़ी लेके खड़ा था. अब अंजलि को दर्द होने लगा था, वो कहने लगी- आराम से करो!लेकिन अब मैं कहाँ मानने वाला था क्योंकि मैं अब पूरे चरम पर था, अब मेरा भी निकलने वाला था, मेरी स्पीड और बढ़ गयी, 5 या 7 धक्कों के बाद मैं भी अंजलि की चूत में झड़ गया. सेक्स वीडियो कॉम बीएफमेरे प्यारे दोस्तो और अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज के प्रशंसको, मेरा नाम राहुल है.

जीतू ने मुझे गरम होता देखकर अपना लंड सहलाना चालू कर दिया और मुझे लिटा कर मेरी चुत के मुँह पर अपना लंड रख दिया.

बाथरूम में जाकर पहले अपनी चूत को अन्दर बाहर से साबुन से अच्छी तरह धो लो. मुझे लगा कि मैं उनसे कहूँ कि लंड चूसो, अभी मैं ये कहता कि उन्होंने अपने मुँह में लंड भर लिया और लंड चूसने लगीं.

मैं उसके होंठों को जब चूम रही थी तो उसकी गर्म सांसें मेरे नाक में आ रही थी और मुझे पागल बना रही थी. इस पर वो उछल कर बोली- क्यों कल देखा नहीं था उसने क्या दिया है?मैंने चुप रहना ही ठीक समझा और बोली- ठीक है. मुझे और जोश चढ़ा और मैं उसकी पूरी बुर को एक तरह से खाने लगा और पागलों की तरह उसकी बुर की सारी गंदगी को भी चाट गया.

वन्दना के पति का करीब 13 साल पहले देहांत हो चुका था और उसका छोटा लड़का मर चुका था.

एकदम परफेक्ट साइज़ के तने हुए मम्मे थे, जिन पर छोटे छोटे गुलाबी निप्पल तो क़यामत ही ढा रहे थे. रौनक की बीवी यानि मेरी भाभी का नाम रिया था, उनकी उम्र 30 साल की है और वे बहुत ही उम्दा जिस्म की मालकिन हैं. मालिश करते करते हमारा फिर मूड़ बन गया और हमने फिर सेक्स किया और फिर मैं आकर अपने कमरे में सो गया।सुबह मैं उठा तो डिम्पल मुझे देख कर खुश हो गई।मैंने रात के बारे में पूछा तो उसने कहा- बहुत मज़ा आया?तो दोस्तो, यह थी मेरी पहली कहानी… अगर कोई गलती हो गई हो तो माफ करना।आपको मेरीसेक्स कहानी हिन्दी मेंकैसी लगी, मुझे मेल जरूर करें![emailprotected].

घर में बाप बेटी की चुदाईपर जल्दी ही उसे एहसास हुआ कि हमारे पास टाइम नहीं है तो उसने जल्दी से मेरा मेकअप, फाउंडेशन, लिप ग्लॉस. वो भी मेरे ऊपर के होंठ को अपने दोनों होंठों के बीच रख कर चूसने लगी.

प्रियंका चोपड़ा की सेक्सी वीडियो दिखाओ

उधर वो लड़का मेरी साली की पेंटी में हाथ डालकर उसकी चूत को सहलाने लगा और एक हाथ से उसके दूध मसल रहा था. फिर वो नंगी बेड पर लेट गयी, मैं बोला- आप सो जाओ, मैं बाहर से लॉक करके जाता हूँ, फिर जल्दी से आता हूँ. मैं उसके होंठों को जब चूम रही थी तो उसकी गर्म सांसें मेरे नाक में आ रही थी और मुझे पागल बना रही थी.

वहीं दूसरी ओर मैं अपनी चूत में रोज़ नए नए किस्म के लंड, छोटे मोटे लम्बे मोटे पतले हर तरह के लंड डलवाती थी. क्या तुम्हारी माँ तुम्हारी इस सोच से वाकिफ हैं?मैं- मुझे नहीं मालूम. दोस्तो, मैं आपको ये बताना चाहूंगा कि इस कहानी की एक एक लाइन सच्ची है.

तभी पता नहीं क्या हुआ कि वो फिर से झड़ने लगी और उसकी बुर से पानी निकलने लगा. इस बार उसने मेरा सारा माल गटक लिया और कहा कि इसका स्वाद अलग है, लेकिन अच्छा है. मैंने उसमें से झाँक कर अन्दर देखा तो रमेश अंकल मां से कुछ कह रहे थे.

मूवी खत्म हुई और हम लोगों ने प्लान किया कि अगले सन्डे को फिर से मिलेंगे. !परीक्षित ने भी बिना कुछ बोले मुझे चिंटू की गोद से उनकी गोद में ले लिया और उनके लंड को मेरी चूत में डाल दिया.

मेरा कौशल्या है, मैं 38 साल की हूँ बलिया की रहने वाली हूँ जो हिन्दी स्टोरी मैं आप लोगों को बताने जा रही हूँ वो मेरे साथ हुई सच्ची घटना है।तो स्टोरी पर आती हूँ।मेरी एक बेटी उसका नाम चाँदनी है, वो 18 साल की है.

मैंने पूजा की साड़ी को ऊपर उठा कर लंड पूजा की चूत में डाल दिया और ब्लाउज के ऊपर से ही उसके दूध मसल दिए. દેશી ભાભી ની ચૂદાઈमगर मेरी बदकिस्मती थी कि अचानक मेरे पापा की तबियत खराब हो गई और मुझे उन्हें किसी नर्सिंग होम में ले जाना पड़ा. एक्स वीडियो चूत की चुदाईसर झड़ जाने के बाद मेरे ऊपर ही ढेर हो गए और मैंने भी उनको अपनी बांहों में समेट लिया. पर क्या करोगे पेंटी का?विनय- रोज तुम्हारी पेंटी को सूँघ कर अपने लंड को शांत कर लिया करूंगा.

मैंने स्पीड बढ़ाने की कोशिश की तो बुआ चिल्ला दीं और बोलीं- धीरे कर पागल.

उसकी आँखें बंद थीं, जैसे ही उसको उसकी बुर में मेरे होंठ के स्पर्श का अनुभव हुआ, वो तो जैसे उछल पड़ी और शरीर को खींचने लगी. मैंने कहा- आह चाची, बहुत अच्छा लग रहा है… थोड़ा तेज कीजिए ना… आह… थोड़ा तेज…अब वो तेज तेज अपना हाथ ऊपर नीचे करने लगीं, जिसको मैं सह नहीं सका और झड़ गया. क्या परेशानी है? क्या मैं आपके कुछ काम आ सकता हूँ?आंटी पहले तो गुमसुम रहीं.

अब आगे:मैंने ब्रा को बिना खोले ही ऊपर की ओर सरका दिया, हल्के भूरे रंग का घेराव और गुलाबी आभा लिए हुए चूचुक. मैंने धक्के मारने शुरू कर दिए और करीब आधा घंटा तक मॉम की चुत को चोदा. मैंने आंटी की साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया, जिससे उनके चुचों की लाइन साफ दिखने लगी.

सेक्सी वाला चोदी चोदा

मेरी कामुकता से भरपूर हिंदी चुत कहानी के पिछले भागबॉय से कॉलबॉय का सफर-3में अभी तक आपने पढ़ा. मैं मिलने की जगह सोचने लगा और बात तुगलकाबाद किले पर मिलने की तय हुई. चूंकि मैं एक लेखक भी हूँ तो मैंने इसमें कुछ मसालेदार शब्दों का प्रयोग किया है, जिससे आपको इसे पढ़ने में और भी मजा आएगा.

वो दस मिनट में मेरे पति की लुंगी बाँध कर बाहर आ गया उसका नंगा चौड़ा सीना देख कर मेरी चुत में कुलबुली होने लगी.

जैसे ही मैं उसकी चूत में धक्का मारता तो उसकी चुचियों में से दूध बाहर आ जाता.

उस फूल सी रस भरी जवानी में उसका हज्बेंड पानी नहीं लगा पा रहा था, जिस वजह से फूल फूलने की बजाए मुरझाने की कगार पर था. मेरा दिल भर आया, जैसे ही मैंने उसे खींच कर अपने गले से लगाया तो मानो कोई बाँध ही टूट गया. छत्तीसगढ़ी चोदी चोदा पिक्चरवो- ओह… क्या सोच रहे थे?मैं- जब मैं तुम्हें देखता हूँ तो लगता है तुझमें पूरा पागल होकर समा जाऊं.

फ़िर एक थप्पड़ जोर से उनकी चूत पर मारा, इस बार वो कुछ नहीं बोलीं, सिर्फ उनके मुँह से एक दर्द भरी आहह निकली. मेरी साली की जवान बेटी की कामुकता से भरपूर इस सेक्स स्टोरी के पिछले भागकहानी का प्रथम भाग:स्त्री-मन… एक पहेली-1स्त्री-मन… एक पहेली-5में आपने पढ़ा कि यौन पूर्व काम क्रीड़ा के चलते उसकी कामवासना पूरे चरम पर थी. मैंने तभी उनकी हाथ छोड़े और एक हाथ से अपने लंड को चाची की चुत पर रगड़ने लगा.

उसकी बात सुनकर मेरा लंड फनफना गया कि लौंडिया खुद चुदने के लिए कह रही और मैं उसको न चोदूँ, ये तो सरासर बेइंसाफी है. दोस्तो, क्या बताऊँ जब मैंने उसे देखा तो देखता ही रह गया, कितनी खूबसूरत थी वो, मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता.

वो चिल्लाने को हुई मगर मैंने पहले से ही उसके दोनों होंठों को अपने मुँह में भर लिया था.

लगता है अंकल से ये सब कहना ही पड़ेगा कि उनका घर एक रंडीखाना बन चुका है. मैं इतनी गर्म हो चुकी थी कि थोड़ी देर में ही झड़ गई, मेरे झड़ते ही चिंटू ने परीक्षित से जगह बदलने के लिए बोला. हर कोई मुझे अपनी गोदी में बैठाना चाहता था और रात को वो सब सच करवाना भी चाहता था, जो कोई भी अय्याश किसी लड़की के साथ करते हैं, मगर सुबह के उजाले में वो मेरी परछाई भी देखना पसंद नहीं करते थे.

एक्स एक्स भोजपुरी बीएफ वीडियो तुम्हें मैं कंपनी की पब्लिक रिलेशन ऑफिसर बनाता हूँ और तुम्हारा काम होगा कंपनी के लिए नए नए कॉन्ट्रैक्ट्स लाना, जिसके लिए तुम जो करती हो, बस वो ही करना पड़ेगा. सच कहता हूं दोस्तो, आज तक मुझे सेक्स करने में इतना मजा कभी नहीं आया था जो मजा उस दिन आ रहा था।अब मैं पारुल की नाभि को किस करने लगा तो पारुल तड़फ उठी और अपनी कमर को ऊपर नीचे करने लगी और लम्बी लम्बी सांसें लेने लगी.

मेरी नंगी, चिकनी चूचियां देख देखकर कानूनगो साहब अपनी आंखें सेंकने लगे. हम सब लोग बिंदु के कमरे में चले गए जिसमें दीवार पर कुछ सेक्सी पिक्चर भी टंगी हुई थीं, जिसमें लड़का और लड़की लंड को चुत में फँसा कर रखे हुए थे. वो तो जैसे जन्मों की भूखी निकली, उसने मेरी जीभ को चूसना शुरू कर दिया.

ब्लू फिल्म सेक्सी चुदाई कहानी

यहां आप लोगों को कहानी अच्छी लगी हो तो मुझको आप लोगों के जवाब का इन्तजार रहेगा. जब मेरा मन उनके बोबों से भर गया तो मैं अपना मुंह उनकी योनि पर ले गया और उनके तड़पते देखते हुए उनका पानी निकलवाया और बिना कुछ बोले बताए मैंने अपने लिंग को उनकी रिसती हुई योनि में डाल दिया जिससे उन्हें थोड़ी तकलीफ हुई. उसने भी मुझे अपने मुँह से काटा हुआ आधा केक का पीस खिलाया और क्रीम मेरे गालों पर लगा दी.

इस वक्त मां की चूत एकदम रसीली हो रही थी क्योंकि रमेश अंकल के दोस्त के लंड से चुदने के कारण मां की चूत ने मलाई छोड़ दी थी. इसके बाद 10-15 मिनट तक धक्के लगाने के बाद मैं झड़ा, इतनी देर में वो दो बार झड़ चुकी थी.

मैं भी पूरे ज़ोर ज़ोर से हिलने लगा और चाची की चुत का भुरता बनाता रहा, लगभग 15 मिनट बाद मैंने उन्हें डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और पीछे से लंड डाला.

आई लव यू माँ… आई एम क्रेज़ी अबाउट यू… एंड स्पेशली आपकी बॉडी का बहुत बड़ा फैन हूँ… जिसने मुझे पागल कर दिया है. काम्या का सेक्सी शो चालू था, वो एक एक करके बड़े कामुक अंदाज़ में अपने कपड़े उतारती जा रही थी. ये मेरी फर्स्ट सेक्स स्टोरी है, उम्मीद करता हूँ कि आप सबको बहुत पसंद आएगी.

अब वो मेरे ऊपर आ चुकी थी और मेरा लंड पूरे आराम से अपने मुँह में लेकर चूस रही थी. उन्होंने चित लेटते हुए मुझे अपने ऊपर आने के लिए अपने हाथों से मुझे इशारा सा दिया और मैं अपनी को चोदने के लिए उनके ऊपर चढ़ गया. उसका फिगर भी इतना कमाल का है कि इतनी उम्र की होने के बावजूद वो लगती 30 की ही थी.

बिंदु ये सुनकर बहुत डर गई और बोली- मैं अभी ही तेरे साथ चले चलती हूँ मगर पहले मेरे सामने उस पिक्चर को डिलीट करो और मुझे वो फोन दिखाओ कि मुझको फंसाने के लिए उसमें कुछ और तो नहीं है.

बीएफ इंग्लिश हिंदी फिल्म: उन्होंने मेरे हाथ छुड़ा लिए और पीछे हाथ लाकर मेरा लौड़ा अपनी गांड में से बाहर खींच लिया. वो भी कुछ नहीं बोली, शायद उसे भी नशे में मजा आने लगा था और अच्छा लग रहा था.

वो थोड़ी ही देर में ज़ोर ज़ोर से उम्म्म आअह्ह आअह्ह्ह की आवाजें निकलने लगी. मैंने उससे पूछा- सब लोग कहां गए?वह बोली- कोई खत्म हो गया है, सब वहां गए हैं. हर धक्के के साथ उसके चेहरे पर एक सुख और दर्द के भावों को देखता रहा.

आप इसे सच मानो या झूठ!सच कह रहा हूँ यह कहानी लिखते वक़्त भी वही सब नजारा सामने घूम रहा था.

तो मैंने भी देर न करते हुए भाभी की एक टाँग को उठा लिया और चुत के छेद पर अपना लंड टिकाया।भाभी की चुत से इतना पानी आ रहा था कि तेल की कोई जरूरत ही नहीं पड़ी और पहले ही धक्के में 3 इंच अंदर घुस गया और भाभी को हल्का सा दर्द होने लगा. क्या मेरा कर्ज़ा चुकता हो गया कि अभी भी कुछ बाकी है?वो मुझसे बोला- दुनिया की नज़रों में तुम चाहे कुछ भी हो मगर मेरी नज़रों में तुम मेरी बहन ही रहोगी. क्या गोरे थे उनके चूचे और काले रंग की ब्रा में आंटी बहुत सेक्सी लग रही थीं.