लोकल हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,देवर भाभी की सेक्सी साड़ी वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी जोरदार: लोकल हिंदी बीएफ, बेड पर आने के बाद मिनी मेरे बगल में लेट गई और मेरे हाथ को अपनी चुत पर रख दिया.

सेक्सी ओपन एचडी वीडियो

तो मेरी बहन बोली- मेरे भाई को मेरी याद आती है या नहीं?मैंने कहा- बहना … बहुत याद आती है तेरी … रोज आती है याद!तभी मैंने दीदी को कहा- घर कब आयेंगी आप?तो वो बोली- मैं तो कल दोपहर में ही आने वाली हूं. সিস্টার ব্রাদার সেক্স ভিডিওकुछ देर बाद जब अदिति को थोड़ा आराम हुआ तो मैंने लंड को पीछे खींचकर एक जोर का झटका मारा.

मैं और भी जोश में भरके उसके मम्मों को पागलों की तरह चूसने लगा, दबाने लगा, बड़ी बेरहमी से मसलने लगा. चाइनीस सेक्सी वीडियो मूवीमैं बोला- सॉरी शिल्पा मुझे पता नहीं था कि तुम यहां हो!शिल्पा बोली- सॉरी क्यों बोल रहे हो, कोई बात नहीं.

मम्मी ने भी भैया को बता दिया था कि वो किसी दूसरी जवान चुत चोदने के मूड में हैं.लोकल हिंदी बीएफ: ये सेक्स कहानी मेरी और मेरी प्यारी मौसी की चूत की चुदाई की कहानी है.

लोगों की तकलीफ़ को महसूस करता हूं … और उनको यथासंभव सहारा भी देता हूं.जैसे उसका नाम, शहर का नाम।कुछ बातें मुझे वास्तव में पता नहीं हैं जैसे उसे सहवास के दौरान चरमसुख की प्राप्ति हुई या नहीं, उसका फिगर और उमर!यह मेरे प्रथम सहवास की सत्य कथा थी।आपको कैसी लगी देसी हाउस मेड सेक्स कहानी? मुझे जरूर बताएं!आपके संदेश की प्रतीक्षा में देवेश[emailprotected].

भाभी सेक्सी वीडियो पिक्चर - लोकल हिंदी बीएफ

मैं सौम्या बीच बीच में आराम देने के लिए उसकी पीठ, गर्दन और उसके गालों पर किस करता रहता.गांड में उंगली लेकर उसे मजा तो आया पर भी मेरा लंड गांड में लेने को नहीं मानी.

वो मेरी तरफ गुस्से से देखने लगी और कहने लगी- तुझे हंसी सूझ रही है, इधर मेरी हालत खराब हुई जा रही है. लोकल हिंदी बीएफ फिर मैंने मॉम से पूछा- मॉम मैंने अपना लंड आपको जानबूझ कर दिखाया था, क्या वो आपको अच्छा नहीं लगा था?मॉम बोली- अच्छा तो था, इसी लिए तो तुम मुझे आज चोद पाए.

चुम्बन में हमारी जीभ ऐसे लड़ रही थी जैसे न जाने क्या जादू हो गया हो.

लोकल हिंदी बीएफ?

मेरी सोसाइटी में बहुत सेक्सी सेक्सी भाभियां और 18-20 साल की हॉट लड़कियां रहती हैं. बहुत गर्म माहौल हो गया था, पूरे कमरे में फच फच फच फच की आवाज़ आ रही थी. फिर उसने एक हाथ से मेरे ब्लाउज को पकड़कर खींचा, जिससे मेरे ब्लाउज के सारे बटन खुल गए.

वो मेरे गाल को किस करती हुई बोली- हर्षद, तुम्हारे इस लंड ने मुझे और मेरी चूत को बहुत खुश किया है. मैंने मैडम को उसी समय बता दिया कि मैंने आपको मुठ मारते हुए खिड़की से देख लिया था. वो इस बात से बड़ी खुश थी कि मैं उसके जिस्म की तारीफ़ करते नहीं थकता हूँ.

देवर और भाभी की चुदाई के बाद हम दोनों नंगे ऐसे ही बेड पर एक दूसरे के पास लेटे रहे. जाते ही उसने मुझे हॉल मैं बैठने को कहा और वो खुद चाय बनाने किचन में चली गयी. ये बात मैंने मम्मी को पन्द्रह दिन बाद तब बताई, जब वो पूरी तरह से ठीक हो गयी थीं.

फिर क्या था … मैंने भी उसको सताने के लिए अपना हाथ वापस ले लिया और करवट लेकर सोने की एक्टिंग करने लगा. वो हंस दी और उसी वक्त मैंने अपना एक हाथ ले जाकर उसकी बुर पर रख दिया और वो अपनी बुर पर एक मर्द का हाथ पाकर कांपने लगी.

उसका फिगर 32-28-32 था।उसके साथ मैं सेक्स चैट करने लगा।बातों ही बातों में मैंने कह दिया कि अगर मैं तुम्हारे पास होता तो कस कर चोदता।इस पर उसने जवाब दिया कि अगर तुम्हारा मन है तो आ जाओ.

उसने मुझे लेटा दिया और अपना लंड मेरी चुत पर सैट करके मेरी चुत के दाने को अपने लंड से सुपारे से रगड़ने लगा.

मैं भी अपने लंड को सहला रहा था, जिससे लंड अपनी मस्ती में झूम रहा था. पूरे कमरे में ‘फच्चर फचर आआह उम्मम्म अहा आआह उफ्फ्फ …’ के साथ गालियों की आवाज़ गूंजने लगी. वे मेरे बूब्स को चूसने लगे और दोनों बारी बारी से चूत को अंगुली से चोद भी रहे थे.

मैंने झट से उनके मुँह को दबाया और फिर से जल्दी जल्दी चुत चाटने लगा. हालांकि उसका लंड कड़क हो गया था, फिर भी इतना छोटा सा था कि मुझे हंसी सी आ रही थी. वो बोले- अभी कुछ ज्यादा नहीं करूंगा, पांच दस मिनट तक कोई नहीं आएगा.

मैंने कहा- साली साहिबा अभी प्यार करने का मौका मिला है, तो जी भरके प्यार कर लो.

उसने बताया कि मैं एक दिन गूगल पर कुछ सर्च कर रही थी, तो एक लिंक पर क्लिक हो गया और यही सब खुल गया. मेरा मन तो कर रहा था कि अभी दरवाजा खोल कर रानी को चोद दूँ, पर जल्दबाजी में काम उल्टा न पड़ जाए … इसलिए मैंने उसे कपड़े थमा दिए. वो बोला- लौड़ा तो तूने बहुत ही अच्छे से ऐसे पकड़ा है, जैसे मेरा लौड़ा कहीं भाग ही जाएगा.

लॉकडाउन में बेवा आशिया की मदमस्त हिन्दी चुत चुदाई मैं अगले भाग में लिखूँगा. Xxx ऑफिस सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको अपने बारे मैं बता देता हूँ. न्यूड गर्ल फन स्टोरी दो लड़कियों की है जिन्हें सेक्स से भरपूर कारनामे करने का शौक है.

जब वो औंधी लेटी तो मैंने ड्रावर से वो तेल निकाला, जो मैंने मॉल से ख़रीदा था.

‘काहे का मजा … सुहागरात हुई ही नहीं तो क्या बताऊं, पता नहीं यार, कब सुहागरात होगी. मुझे लगा कि टीना की गांड और नव्या भाभी की चूत दोनों हाथ से निकल गईं.

लोकल हिंदी बीएफ वो बोली- वाह तुम्हारे लंड का अमृत क्या खुशबूदार और टेस्टी है हर्षद!इतना कहकर उसने मेरा पूरा लंड चाटकर साफ कर दिया. मैं भी एक हाथ से उसका लंड हिला रहा था और दूसरे हाथ से उसकी गांड को दबा रहा था.

लोकल हिंदी बीएफ लेकिन बेटा जब किसी को हमारे बारे में पता चलेगा, तो बहुत बेइज्जती होगी. उस समय मई मम्मी के पास ही बैठा था, तो मम्मी ने मुझसे पूछा कि तू मौसी के पास चला जाएगा?मैंने भी हामी भर दी.

पहली सेक्स कहानीमैं अपने भैया की रंडी बन गयीमें मैंने लिखा था कि मैं अपने भैया की रंडी बन गयी थी.

सेक्सी फिल्म अंग्रेज वाली वीडियो

भाभी जब बाथरूम से बाहर निकल कर आईं तो मेरा खड़ा लंड देख कर बोलीं- ये तो फिर से खड़ा हो गया है … अभी तो झड़ कर निकला था. चाचा की जब शादी हुई, तब से मैं चाची के काफी नजदीक रहा, मतलब बिल्कुल एक बेस्ट फ्रेंड की तरह. लेकिन लंड अभी भी थोड़ा सा कड़क था और पैंट के ऊपर से उसका उभार दिख रहा था.

मैंने उसकी टांगें फैला दीं और उसकी चिकनी चुत को अपनी जीभ से चाटने लगा. पम्मी आंटी भी अब थोड़ा खुल कर सिसकारियां भरने लगी थीं और उनके हाथ मेरे सर को पकड़ने के लिए आगे बढ़ने लगे थे. उन्होंने ऊपर बैठ कर लंड को चूत में डाला और गांड हिलाती हुई चुत चुदवाने लगीं.

सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा कि दीदी और नीरजा ने कैसे मेरे लंड से एक साथ चुदने का मजा लिया.

उसने लाल रंग की नाइटी पहन रखी थी जिसमें वह इतनी ज्यादा सेक्सी लग रही थी कि लंड फुदकने लगा था. मैंने उसकी टांगें फैला दीं और उसकी चिकनी चुत को अपनी जीभ से चाटने लगा. मैंने उसके रसीले आम को अपने मुँह में भर लिया और दबाते हुए चूसने लगा.

मैंने कहा- यदि तुम मुझे इतना ही प्यार करती हो तो मुझे कुछ और भी पिला दो. पहली सेक्स कहानीमैं अपने भैया की रंडी बन गयीमें मैंने लिखा था कि मैं अपने भैया की रंडी बन गयी थी. दो मिनट में ही भाभी की चुत ने पानी छोड़ दिया, मैं सारा पानी पी गया.

मैं भाभी की चुत से टपकते रस को चाटने लगा और उनकी चुत को चाट चूस कर साफ़ कर दिया. कुछ टाइम तक ऐसे ही रहने के बाद मैं मॉम को किस करते हुए अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा.

और जैसे ही मैं आने लगी तो उन्होंने फिर से मुझे एलिस्टेयर से एग्रीमेंट कैंसिल करने की बात बोली।मैंने भी हाँ में सर हिलाया और वापस आ गई. वो जोर जोर से चुदवाने के लिए चिल्लाने लगी- आह साले पेल दे … मजा आ रहा है … और चोद साले भड़वे चोद दे आज मुझे. कुछ टाइम तक ऐसे ही रहने के बाद मैं मॉम को किस करते हुए अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने कहा- इतनी सुंदर हो और हॉट भी लगती हो, तो ये बताओ तुमको अभी तक कितने तो कितने लड़कों ने फ्रेंडशिप का ऑफर दिया?शिल्पा हल्के से हंस दी और बोली- तारीफ़ के लिए शुक्रिया.

वो रिसेप्शन वाली लड़की की चूत मैंने कैसे ली, ये अगली कहानी में लिखूंगा. थोड़ी देर में खाला आईं, उन्होंने कमरे का गेट लगा दिया और कूलर चालू कर दिया, जिससे चुदाई की आवाज़ें बाहर ना जा पाएं. इतने में ही चाची ने मेरे लंड को पकड़ लिया और उसकी मुठ मारते हुए सिसकार कर बोलीं- आह्ह … चोद दे ना युग … जल्दी से चोद दे मुझे … मेरी प्यास मिटा दे … इतना बड़ा लंड है तेरा … मैं तो रोक नहीं पा रही हूं खुद को … तेरे चाचा के जाने के बाद से तड़प रही हूँ.

धीरे धीरे उसके जीभ चूत की गहराई में जाने लगी थी और शनाया की चूत हवा में उठ कर उसकी जीभ से चूस जाने का मजा ले रही थी. निशा हंसने लगी और बोली- तुम जगे हुए थे, तो नाटक क्यों कर रहे थे?मैंने कहा- अब तो मुझे तुम्हारी आदत सी हो गई है.

कई बार मैं जानबूझ कर भी ब्रेक लगा दिया करता था लेकिन वो मुझसे कुछ बोलती नहीं थी. मुझे मेल जरूर करें कि आपको यह देसी आंटी Xxx कहानी कैसी लगी? कमेंट्स भी करें. शनाया मोटे लंड से गांड मारे जाने को सहन नहीं कर पाई; वो तेज दर्द से चीख उठी, उसकी गांड में से थोड़ा सा खून भी आ गया.

चूत चुदाई की सेक्सी कहानियां

लगभग और दस मिनट की चुदाई के बाद जब मेरा पानी निकालने वाला था तो मैंने आंटी से पूछा- पानी अन्दर ही निकाल दूं … या बाहर?आंटी ने कहा- नहीं नहीं अन्दर नहीं … बाहर निकालना!मैंने कहा- ठीक है, मैं आपके मुँह में निकालूंगा.

हालांकि मुझे भी कोरोना का इन्फेक्शन हो चुका था लेकिन बहुत हल्का था, मैं ठीक हो गया था. आपको मेरी ये देसी चाची की चुदाई हिंदी कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे बताना न भूलें. अब आगे अम्मा सेक्स कहानी:खाला ने कहा- मुझे तो बताओ यार, मुझसे क्या शर्माना … बोलो?उसने धीरे से कह दिया कि हां कभी कभी मन करता है.

उन्होंने कहा- अभी तक किसे किसे चोदा?मैंने कहा- आज मेरे लंड का उद्घाटन समारोह है. हमारी जिंदगी में और भी बहुत सारे वाकिए हुए, जब हमने खूब मजेदार सेक्स किया और अपनी लाइफ को एंजॉय किया. सेक्सी एचडी वीडियो 2021जैसे ही मेरी उंगली ने उसके बुरदाने को ढूँढा, मैंने उसे चुटकी में भर कर बुरी तरह मसल दिया.

मैं अभी ये सब सोच ही रहा था कि उसने कहा- मेरी चूड़ियां कैसी हैं, कल ही मार्केट से खरीदी हैं. फिर जैसे ही मैंने मुश्किल से उसकी चूत के दाने को उंगली से पल भर के लिए छुआ होगा … तो उसकी चुत का पानी मेरी हथेली पर आना शुरू हो गया.

आशिया की चुत के भगनासा को छेड़ने के साथ साथ मैं अपनी जीभ को भी चलाने लगा. बस उसी दिन से मेरे दिमाग और मेरे लंड ने चाची की चुत के बारे में सोचना चालू कर दिया था. फिर वो पीछे अपने हाथ ले गया और मेरी दोनों आस्तीनों से मेरे ब्लाउज को निकाल कर अलग कर दिया.

उसने ब्लैक कलर का सैट पहना हुआ था, जिसमें एक पोर्नस्टार की तरह दिख रही थी. मैंने कहा- हां सिमरन, आज मैं तेरी चुत को अपने 7 इंच लम्बे लंड से हचक कर चोदूंगा. हम दोनों कितने समय एक दूसरे के बाहुपाश में पड़े रहे थे, पता ही नहीं चला.

जिस प्रकार से वो मुझे छेड़ता और किसी को कुछ पता भी नहीं चलता, ये मुझे अन्दर तक खुश कर देता था.

इतना सुनते ही मेरे लंड के रोंगटे खड़े हो गए कि ये सही मिली है, बेटा यहां पर काम बन सकता है. उसका लंड मेरी गांड में आधे से ज्यादा जा चुका था और उसके पहले ही झटके में मेरी आंखों से आंसू तक निकल आए थे.

दूसरी ओर हमारे एरिया का एक मवाली लड़का मुकेश, मुझे दिखने में काफी अच्छा लगता था. मेरी हिम्मत और बढ़ी तो मैंने अपना एक हाथ उससे मम्मों पर रख दिया और सूट के ऊपर से उन्हें सहलाने लगा. वह लगातार ‘सी … इ … आह … उम्म … इस्स … की मादक आवाजें निकाल रही थी.

साथियो, मैं आपका साथी यश हॉटशॉट एक बार फिर से आपके सामने शिल्पा की चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूँ. चाची ने मेरी ओर देखा और अपने दोनों हाथों को दोनों चूचियों पर रखकर अपना ब्लाउज उठा दिया. विलास की गांड मेरे लंड को अन्दर खींच रही थी और वो मेरा लंडरस अपनी गांड में महसूस कर रहा था.

लोकल हिंदी बीएफ मैंने समझ लिया कि भाभी अपनी चुचियों के निप्पल को किशमिश कर रही हैं. उन्हें शराब की आदत कॉलेज के दिनों से लग गई थी लेकिन उनकी इस आदत ने शादी के 3-4 साल बाद मेरे शौहर को पूरा बर्बाद कर दिया था.

செக்ஸ் படம் பிட்டு படம்

पहले मुझे लगा था कि वो अब मुझसे गांड नहीं मरवाएगी पर उसने ऐसा नहीं किया. थोड़ी ही देर में शिल्पा चाय लेकर आई और बोली- लो यश चाय पी लो, दीदी ने बनाई थी. मैं उसकी चूत चौड़ी करके जीभ अन्दर डालकर चूसता रहा और एक उंगली चूत में डालने लगा.

फिर हम दोनों ने एक होटल में खाना खाया और मैं उसको घर छोड़ने जाने लगा. उसने माचिस से तीली निकाली और मोमबत्ती, जो उसके हाथ में थी, उसको जलाने के लिए तीली जलाई. हिंदी सेक्सी देहाती वीडियो मेंलेकिन मैंने सौम्या के होंठ अपने होंठों के अन्दर दबा लिए और सौम्या की चूचियों को दबाने लगा.

सौम्या को गुदगुदी हो रही थी तो वो हंसती हुई बोली- क्या कर रहे हो अंकित … मुझे गुदगुदी हो रही है.

कुछ पल उसने मुझे थोड़ा आराम करने का अवसर दिया … फिर उसने वापस अपना लंड मेरी चुत के और अन्दर धकेल दिया. उसे बहुत दर्द हो रहा था तो मैं ऐसे ही रुक गया और उसे किस करने लगा, उसके मम्मों को दबाने लगा.

मैंने उनसे कहा- ठीक है, आप अपना काम खत्म कर लीजिए और जब आप फ्री हो जाओ, तब आ जाना. सच में मन तो करता था कि अभी कहूँ कि साथ चलो, मुझे तुम्हें चोदना है. वो बोली- अब अपने इस मूसल को मेरी चुत में पेलो औरमुझे जल्दी से चोद दो.

मैं पूरी तरह से खुद के आपे से बाहर हो गई थी और उसके नियंत्रण में चली गई थी.

पूरे दिन मुँह फुलाए घूमने के बाद जब शाम को मैंने भाई से कहा- आप मुझे कुछ सिखाने वाले थे. उन्होंने मुझसे कहा- कुछ दिन के लिए अमित हमारे घर पर रहने के लिए आ रहा है, तो तुम इस बात का ध्यान रखना कि जब तक वो हमारे पास रहे, उसे किसी चीज की कमी महसूस ना हो. मौके की नज़ाकत समझते हुए मैंने भी पम्मी आंटी का एक पैर पकड़ा और आंटी को नॉन स्टॉप ज़ोर से चोदने लगा.

ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ಇಂಗ್ಲಿಷ್मैं टैक्सी के बाहर निकला तो देखा कि पास की एक छोटी सी गली में एक बुरका पहनी औरत घर में घुस रही थी. मैंने अपने एक हाथ से लंड पकड़कर उसकी चूत के मुँह पर सुपारा रख दिया और दूसरे हाथ से उसे मेरी ओर खींच लिया.

सीमा की सेक्सी मूवी

सौम्या मुस्करा कर बोली- तुम कितने कमीने हो … अपने बाप की सुहागरात में अपनी मम्मा को चोदने आए हो और अपनी मम्मा के मुँह में लंड दे दिया. मैं उठकर खड़ा हो गया और मैं अपने बैग से गोलियों की शीशी उसे दी और कहा- इसे सम्भाल कर रखना और मैंने जैसा बताया है, वैसे विलास को दे देना. मौसी कसमसाने लगीं- आह अरुण, ये क्या कर रहा है … भला चूत भी कोई चाटता है क्या?मैं- मौसी आपने कभी चूत नहीं चटवाई क्या?मौसी- भला इतनी गंदी चीज़ को भी कोई चाटता है?मैं- मौसी बस आप आराम से लेटी रहो, मुझे अपना काम करने दो.

जब वो आई तब मैं सो रहा था।रसोई में बर्तनों की खटपट से मेरी नींद खुली. वो मेरा लंड लॉलीपॉप की तरह चूस रही थी; मेरे लंड को पूरा मुँह में लेना चाहती थी पर मेरा आधा ही लंड उसके मुँह में जा पा रहा था. कमरे में घुसते ही मैंने गेट पर लॉक लगा लिया और पागलों की तरह उस पर झटप पड़ा.

मैं फुल स्पीड में उसकी चुत की धज्जियां उड़ाने लगा- ले मादरचोद छिनाल साली रंडी ले तेरी बहन को चोदूँ साली हरामिन. वो फिर से कुछ बोलती, उससे पहले मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिए. मम्मी बोलीं- खाना बनाना पड़ेगी बेटी, तुम लोग बातें करो, मैं खाना बना देती हूँ.

तो सोनाली ने पूछा- क्या हुआ हर्षद?मैंने कहा- नीचे उतरो और आगे की सीट पर बैठो. उसे पीने के बाद मैंने भाई को किचन में बुलाकर पूछा- मेरी लोअर फट गयी है, तो मैंने ये स्कर्ट पहन ली है.

वो खड़ी थी तो मैंने मैक्सी के अन्दर हाथ डालकर ब्रा उठा दी और उसके दोनों मम्मों को धीरे धीरे मसलने लगा.

वो समझ गया और बोला- अच्छा मतलब उसे टाइम पास आइटम समझती हो?मैं हंस दी और उससे बोली- हां तुमने सही समझा है. सेक्सी स्टोरी हॉटकुछ मिनट बाद मैंने उसकी चुत से लंड निकाल लिया और उसके बाजू में लेट गया. 14 वाला सेक्सी वीडियोइस तरह हम दोनों ने अगले पूरे दिन और पूरी रात जमकर चुदाई का खेल खेला. कैसे मैं उससे चुद सकी, ये मैं आपको लेडी हॉर्नी सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगी.

मई का महीना होने के कारण गर्मी बहुत थी और जहां खुले में वो टैंट लगा रहे थे, वहां वैसे भी एक ही दरख़्त था, जिसकी छाँव बहुत कम थी.

उसने मेरी आंखों में देखा और कहा- अब ये ही चूसते रहोगे क्या?मैं तुरंत बोला- मैं इतना भी लुल्ल नहीं हूँ मेरी जान … मुझे मालूम है कि जन्नत का सुख किधर से मिलेगा. एक दिन की बात है, मैं जिम जाने में थोड़ा लेट हो गया था और बाइक तेजी से चला रहा था, मगर ट्रैफिक के कारण मुझे दिक्कत हो रही थी. टीवी पर कोरोना की खबरें आ रही थीं तो मैं बोर हो गया और मैंने एक मूवी लगा दी.

घर आकर उसने मेरे साथ जबरदस्ती की तो मैं उसका विरोध तो करूंगी लेकिन फिर भी उससे चुद जाऊंगी. जब भी मम्मा को कुछ करना होता है और कोई किसी भी वजह से उसे रोकने की कोशिश भी करता है तो वो इसी रूप में आ जाती हैं. मैंने तब टालने के लिए बोल दिया- हां हां जानू … मैं तुमसे जरूर शादी करूंगा.

ससुर बहू का सेक्सी हिंदी में

रेखा के मुँह से मादक आवाजें निकल रही थीं, इससे मैं जोश में आकर उसके कूल्हे जोर जोर से मसलने लगा तो मेरे लंड का दबाव उसकी चूत पर बढ़ने लगा. मैं जीजा जी को अन्दर बिस्तर पर लिटा कर वापस जाने लगा तो माया दीदी को मुझ पर भी कुछ शक हुआ. सौम्या पहले तो ना नुकुर करती रही लेकिन बाद में वो भी मेरे होंठों का रस चूसने लगी.

मैंने दोनों हाथों से उसके नंगे चूचों को पकड़ किया और जैसे ही उनको दबाना शुरू किया, शिल्पा की ‘आह मर गई यश …’ की मादक सिसकारियां निकलने लगीं,फिर मैंने एक हाथ उसकी पैंटी में डाला और चूत के दाने को सहलाना शुरू किया तो शिल्पा की गांड पीछे होने लगी और उसकी आवाजें और भी मीठी होने लगीं.

उसने मुझे फिर से पकड़ लिया और मूवी दुबारा से शुरू करके मुझे किस करने लगा.

दो दिन बाद चाची का मैसेज आया- कहां हो, आज कल घर क्यों नहीं आते?चाची और मैं अलग-अलग मकान में रहते हैं. मैंने भी मौके की नज़ाकत को याद किया और उससे कहा- जान अब तुम मेरे लंड को चूसो. सेक्सी जानवर दिखाओइसी तरह धीरे धीरे पास्ट के 8 साल बीत गए और मुझे वर्तमान में वापिस आना पड़ा.

’‘आह धीरे बेबी …’‘चुप मर्दखोर साली छिनाल लंड ले अब तू … साली मेरी रंडी है तू. इस वक़्त मेरा एक हाथ उसकी कनपटी पर था, मैं होंठ से होंठ चूस रहा था और हल्के हाथ से उसकी चूत को उसकी लैंगिंग्स के ऊपर से सहला रहा था. मैंने वीना से पूछा- क्या हुआ?वीना- कुछ नहीं चाचा, बस थोड़ी चोट लग गयी है … और बहुत दर्द है.

इतने में रेखा ने मेरा लंड छोड़कर अपने हाथों से मेरा सर अपनी चूत पर दबा लिया और झड़ने लगी, ढेर सारा गर्म चूतरस बहने लगा. मैं उनका हाथ छुड़ाने की कोशिश करने लगी पर उन्होंने कस के अपनी ओर खींचा.

मैं- कौन से कपड़े?रानी खिलखिला कर बोली- अरे भैया, वही कपड़े … जो आपकी गर्लफ्रैंड कपड़ों के अन्दर पहनती है.

मगर मैंने अचानक ही समझ लिया कि ये साली अब चिल्लाने वाली है तो मैंने अपने होंठ उसके मुँह पर लगा दिए. चूचियां सहलाते सहलाते उसकी पीठ पर सभी जगह अपने होंठों से चूमने लगा. जैसा कि मुझे अंदाजा था, थोड़ी ही देर में सौम्या डार्लिंग मेरा पूरा साथ देने लगी थी.

सेक्सी बफ वीडियो वीडियो लंड पेलते हुए धीरू बोले- तेरी गांड किसी छोरी से कम नहीं है, तू यदि किसी कोठे पर लग जाए तो लोग रंडियां छोड़ कर तेरे पीछे हो जाएं. मुझे एक बात याद आ गई कि ‘पुरुष अक्सर संभोग के दौरान वीर्यपात होने पर अलग हो जाते हैं और स्त्री को लगता है कि वह छली गई है।’मैंने उसकी आंखों में देखने का प्रयास किया पर कुछ जान नहीं पाया.

मैंने कहा- तेरी कौन सी परफोर्मेंस होनी बाकी है?वो बोला- इकसठ बासठ वाली परफोर्मेंस. उसने मुझे झट से अपनी गोद में उठा लिया और मुझे दीवार से सटा दिया गोद में उठाए हुए ही!हम लगातार एक दूसरे को चूमे जा रहे थे. क्योंकि मेरे लंड से मेरे दोस्त का लंड एक इंच बड़ा था और काफी मोटा भी था.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी हिंदी चुदाई

शुरू में मुझे राहुल की बात पर ज्यादा यकीन नहीं हुआ क्योंकि राहुल एक फट्टू किस्म का लौंडा है, उस साले की किसी से बात करने में भी गांड फटती है, तो उसने ऐसा कैसे किया होगा, मुझे जरा कम समझ आ रहा था. दीदी मेरे एक बगल में बैठी थीं और नीरजा दूसरी बगल में!हम दोनों टीवी देख रहे थे. मैं सोचता ही रहता था कि आखिर कब इस जिस्म का सुख ले पाऊंगा और अचानक वो दिन आ गया.

मैंने नाटक करते हुए जय से कहा- यह क्या कर रहे हो तुम?जय मेरी आवाज़ सुनकर डर गया और झट से अपना लन्ड पैन्ट के अंदर कर लिया. लंड लेते ही भाभी की सांस अटक गयी वो कुछ बोलतीं, इससे पहले मैंने अपना पूरा लंड उनकी चूत में पेल दिया.

विलियम का पूरा चेहरा और सीना मेरे मूत से भीग चुका था और चादर भी पूरी भीग चुकी थी.

मेरी खिलती जवानी को चूसने के लिए मेरे इर्द-गिर्द भूखी निगाहें मुझे आगाह करती हैं कि मुझे खुद को सलामत रखने के लिए एक ऐसे मर्द की जरूरत है, जो मेरी रक्षा करे. कुछ देर की चुसाई के बाद उसने जोर से मेरा मुँह अपनी बुर पर लगा दिया और बहकने लगी- आह भ…आई और तेज … आह्ह … मम्मीई ईईईई …इन चीखों के साथ ही उसके मधुरस की बरसात मेरे मुखमंडल पर आने लगी. दीदी ने अपनी जीभ मेरे मुँह में दे दी थी … इससे लंड एकदम से खौल उठा और मुझे चुदाई की इस विधि से भरपूर मजा आने लगा.

उसने मेरे लंड को नीचे खींचकर अपने मुलायम और गुलाबी होंठों पर ले लिया. उसने मुझसे कहा- अभी जाओ यार … मम्मी एक दो मिनट में ही घर आने वाली हैं. मैंने अपने दोनों हाथों से उसकी कमर पकड़कर एक जोरका धक्का मारा तो आधे से ज्यादा लंड चूत में घुस चुका था.

उसने चाची से पूछा- चाचा तो वहीं ड्यूटी पर होंगे?इस पर चाची बोलीं- हां 10 बजे गए थे … अब रात 11 बजे ही आएंगे और तुझे तो पता ही है कि मेरा बेटा नीरज अपनी स्कूल की छुट्टियों के कारण अपने मामा के घर गया हुआ है.

लोकल हिंदी बीएफ: दो चार दिन ऐसे ही फ़ेसबुक पर हमारी बात होती रही, तो अपने अपने पुराने प्यार-क्रश की सारी बातें हमने एक दूसरे को बताईं. कोई दस मिनट बाद पुलकित ने मेरे लंड को हाथ से पकड़ लिया और मुठ मारने लगा.

हम ठहरे तो नौसिखिए ही, पहली चुदाई में कौन सा आसन सही होता है, ये हम दोनों में से किसी को पता नहीं था. अब रात को मुझे दूसरे कमरे में सोना पड़ा, रात को मैं यही प्लान बनाता रहा कि अपनी सौम्या डार्लिंग को पटाऊंगा कैसे … उसे चुदने के लिए राजी कैसे करूंगा. मां ने उठकर सोहम को सरिता से लिया और मेरे पास देकर बोलीं- हर्षद, सोहम को सम्हालो … मैं किचन में जाती हूँ.

फिर जैसे ही मैंने अपने होंठ आंटी की जांघों पर लगाए, मानो आंटी को करंट सा लगा.

हार्दिक ने अब अपना हाथ शनाया की चूत पर रख दिया और वो चूत रगड़ने लगा. विशाल अपने घुटनों के बल बैठकर अपना लंड रवि की गांड की छेद में घिसने लगे. उसने मेरे लंड पर रबड़ी लगा कर खूब चूसा और उसकी चूत में रबड़ी वाला लंड डाला, तो उसने उसका भी स्वाद अपनी जुबान से चखा.