कुश्ती वाली बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो जंगल में चोदा चोदी

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी सेक्सी बीएफ एचडी: कुश्ती वाली बीएफ, ऐसी वासना का अंत हमेशा पछतावा होता है और मैं पछताना तो हर्गिज़ नहीं चाहता था.

नई नवेली दुल्हन की सेक्सी चुदाई

वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। आँखें बंद करके होंठ चुसाई का मजा ले रही थी। वो इतने उत्तेजक तरीके से मेरा होंठ चूस रही थी कि मैं रोमांचित हो गया था. डॉक्टरों के सेक्सी वीडियोफिर उन्होंने मुझसे मेरी पिक मांगी और मेरी नंगी गांड देखने की इच्छा जाहिर की.

मैं कोई भी जल्दबाजी करने के मूड में नहीं था इसलिए ना मैंने उनका मोबाइल नंबर मांगा, ना ही कोई सोशल आईडी मांगी. नहाती हुई भाभी की सेक्सी वीडियोउसी पल अमर ने एक ही झटके में पिंकी भाभी की चुत में लंड जड़ तक ठांस दिया.

मैंने भी उनका इशारा समझ कर उन्हें इशारों से ही बता दिया कि अब आगे वैसा कुछ नहीं करूँगा.कुश्ती वाली बीएफ: जब भी लंड बाहर निकालता, उनके मुँह से सिसकारी निकलती और जब झटके से अन्दर डालता, तब उनकी आह बाहर आ जाती.

ये मुझे इसलिए मालूम हो गया था क्योंकि मुझे कई बार बाथरूम में मूली और गाजर मिलती थी.पर वहां मैं और राजिंदर भी होंगे, शैली भी रहेगी, तो ज्यादा ठीक होगा.

ఆఫ్రికన్ సెక్స్ - कुश्ती वाली बीएफ

वह जैसे ही अंदर आने लगी उसके सैंडल की हील्स मुड़ गयी और खुद को संभालने के चक्कर में उसका पल्लू गिर गया.मैंने उसको इम्प्रेस करने के लिये उसके सब्जेक्ट्स में अपना इंटरेस्ट दिखाया और बस बड़ी मेहनत से उसके सब्जेक्ट का अध्यन करने लगा.

यह सोचते हुए उन्होंने कहा- ठीक है शिवांगी, अगर तुम नहीं चुदवाना चाहती हो तो जबरदस्ती नहीं करूंगा लेकिन ऊपर ऊपर से तो प्यार करने दो आखिरकर इतना हक तो बनता है मेरा!मैं- ऊपर ऊपर से मतलब?जीजू- मतलब मुझे अपने बूब्स चूसने दो, अपनी चूत चाटने दो और तुम मेरे लंड को किस करो और चूसो. कुश्ती वाली बीएफ सर ने मम्मी की चूत को चाटना नहीं छोड़ा, तो मम्मी ने सर से कहा- अब चोद भी डाल साले.

ऊपर के भाग को अच्छे से साफ करने के बाद मौसी ने अंततः अपने दोनों पैरों को अलग कर दिया.

कुश्ती वाली बीएफ?

उसने मेरे परिवार के बारे में जानकारी ली और मेरे परिवार की हैसियत जानकर वो मुझसे प्रभावित हो गई, लेकिन तब भी उसने मुझसे मेरे डैड से बना कर चलने की सलाह दी. फिर मैंने ठान लिया कि गर्लफ्रेंड तो इसको ही बनाऊंगा, चाहे जो भी हो जाए. उसके बाद 5-6 धक्के जोर से लगाने के बाद मैंने भी उसकी चूत में अपना माल गिरा दिया.

मैं थोड़ा सा आगे होकर बिस्तर पर बैठ गया और उसके हाथ पर अपना हाथ रख दिया. मैं धीमे से बोला- यार मेरी गर्लफ्रेंड नहीं है न … तो इसलिए अपने हाथ से ही मुठ मारके काम चला लेता हूँ. वो पहले जैसे ही मेरे पास खड़ी रही, लेकिन इस बार वो अपनी टांगें फैलाकर ऐसी खड़ी थी कि मेरा हाथ सीधा चुत पर रगड़ जाए.

पहले तुम बताओ, तुमने अब तक कितनी लड़कियों की ली है?मैंने बताया- चार की. आशीष के प्यार मैं खोकर मैं अंधी हो गई और इसके बाद मैंने अपनी पढ़ाई से नाता लगभग तोड़ लिया था. जब मैंने लंड लगाया था, तब शायद उसको लगा था कि मैं धीरे से लंड डालूँगा.

मुझे उनकी हवस देख कर समझ आ गया कि ये खेली खाई हैं और इस वक्त मेम को अपनी चुत में मेरा लंड चाहिए. मैं डर गया कि मम्मी को कुछ हो ना जाए इसलिए कुछ टाइम तक वैसे ही रुक गया.

एकाएक मैंने उन्हें कमर से पकड़ कर घुमा दिया और उसे पेट के बल लिटा दिया.

हर 4-6 दिन में एक विशेष घटनाक्रम से मैं जुड़ती गई … और यह समझ लीजिए कि उसमें मेरी सहमति, मेरी मर्जी और मेरी फैंटेसी, मेरी चाह भी सम्मिलित रहती थी.

अब मेरा एक हाथ उसके मम्मों पर जम चुका था और दूसरा उसकी चुत को रगड़ रहा था. अब मेरे हाथ उनकी मस्त जगह पर लग गया, मतलब कि मेरी हथेली चाची की चूत पर थी. मैंने उसे हाथ में ले लिया और उनकी आंखों में देख कर कामुक इशारा कर दिया.

एक दो पल मैंने अपनी बहन की चुत को निहारा और जब न रहा गया तो मैंने अपना हाथ उसकी जांघ पर रख दिया. फिर उसने शीशे देखते हुए अपनी ब्रा को उतार दिया और वो अपने तने हुए मम्मों को खुद ही प्यार से देखने लगी. मैं अपने होंठों से सरिता की गर्दन पर किस करने लगा और अपने दांतों से हल्का सा काट भी देने लगा था.

वो उठ कर मेरे उपर बैठ गई और अपनी दोनों टांगों को मेरी कमर पर लपेट लिया.

हुआ ये कि मैं अक्सर मैं कोई ना कोई बनाना ढूंढता रहता था ताकि मैं उनको देख सकूँ. आह्ह … क्या गुलाबी चूत थी साली की!मैंने उसकी टांगों को थोड़ी सी खोल कर देखा तो उसकी चूत का मुंह खुल गया जिसमें से गीला पदार्थ बाहर आ रहा था. वो कुछ कोचिंग सेंटर में पार्ट टाइम पढ़ाया भी करती है जिससे अपना खर्चा खुद निकाल सके.

मैं- रुक … फिर तुझे और मजा देता हूं … तू बिस्तर पर टांगें फैला कर लेट जा. फिर मैं चाय नाश्ता करने के बाद जाने लगा, तो वो रोने लगी और मुझे जोर से किस किया. नीचे मेरी चूत में जीभ का मजा आ रहा था और ऊपर मेरे मुंह में दो लंड आ फंसे थे.

मेरी तो जैसे मन की मुराद पूरी होने वाली थी तो मैं अंकल जी के पीछे पीछे बिन डोर से बंधी खिंची उनके पीछे पीछे चली गयी.

सारा के पहले शौहर इमरान की बहन दिलिया को देख मेरा मन अब फिर बेईमान हो गया था. आप मुझको जानते है … मैं शरीर से हट्टा कट्टा हूँ और 5 फुट 10 इंच का जवान लड़का हूँ.

कुश्ती वाली बीएफ मैंने उसके होंठों पर एक नर्म सा चुम्बन लिया और जूली के चेहरे को अपने हाथों में लेकर गाल पर किस किया. बाकी लंड की जरूरत होने पर वो अपने हस्बैंड से बस ढीलापोला सेक्स कर लेती थी.

कुश्ती वाली बीएफ उन्होंने मेरी नाक को बंद कर दिया था, तो उनका वीर्य सीधा मेरे पेट में चला गया. उसके बाद मैं उठा और उनके दोनों पैर अपनी गोद में रख कर बैठ गया और दबाने लगा.

मैंने सोनू के कान में पूछा- मजा आ रहा है?उसने कहा- हां, बहुत मजा आ रहा है, करते रहो.

आंध्र सेक्स बीएफ

भैंस भैंसे से चुद कर फारिग हो गई तो मैं भाभी के पास से अपने घर आ गया. प्राची रूम से चली गई क्योंकि उसके दोस्त पार्टी में उसका इंतजार कर रहे हैं. पहले तो वह अलग होने लगी लेकिन मैंने उसको बांहों में ले लिया और उसको किस करने लगा.

उन दस दिनों में ऐसी कोई रात नहीं थी, जब मैंने और माया ने चुदाई ना की हो. वो अपना लंड मेरी चूत में डालने के लिए पोजीशन बदलने ही लगे थे कि मैंने अपने पैरों को सिकोड़ लिया. इस कहानी को मैं अपने पाठक की जुबानी ही आप सबके साथ साझा कर रहा हूं.

वह कभी आधी कभी पूरी उठा कर अपनी गांड पर हाथ फेरती और जीभ निकाल कर होंठों पर फेरने लगती.

मैंने कहा- मेरा पहली बार है, इसलिए मैं तुमसे बिल्कुल अकेले में मिलना चाह रहा हूँ. वह बोली- क्या सोच रहे हो मेरे राजा?मैंने कहा- कुछ नहीं मेरी जान, तुम्हारी चूत को चोदने का मजा ले रहा हूँ. मैंने सोनू को अपनी छाती से लगा लिया और उसकी टांगें चौड़ी करके अपने हैवी लंड को उसकी चूत के नीचे लगाया.

इस कोर्स में ज्यादातर स्टूडेंट्स लोकल या आसपास के ही रहने वाले थे, तो हॉस्टल में बहुत कम लड़के लड़कियां रहते थे. मैं उसे उसके कमरे में लिटाकर उसके लिए दर्द कम होने की दवा और आईपिल लेने मार्केट निकल गया. पूजा के गोरे गोरे चूतड़ … वो सफाचट चुत … आ … हा … मदमस्त नजारा देखते ही मेरा लंड विशाल रूप लेने लगा.

गीली चूत पर मैंने अपने लंड को थोड़ा सा दबाया तो वह उसकी चूत में थोड़ा अंदर चला गया. पर उसके चार दिन बाद उन्होंने मुझे अपनी बालकनी से देखा तो मुझे आवाज़ लगा कर कहा- गौरव अगर खाली है तो थोड़ा घर साइड आना.

थोड़ी देर में उसका शरीर अकड़ने लगा और वो झड़ गयी और उसने मुझे अपने से अलग कर दिया. आंटी ने एक स्टूल किचन की स्लैब के पास रखा और कहा- गौरव इसके ऊपर चढ़ कर ऊपर सेल्फ से अचार की बर्नियां उतार दो. मैं ऑफिस जाने के लिए घर से निकला तो मुझे जानकारी हुई कि स्कूटी की ब्रेक काम नहीं कर रहे हैं.

मैं अपनी जायदाद में भी उसे हिस्सा देकर जाऊँगा जिससे मेरे रहते हुए किसी को यह ना पता लगे कि वो मेरा बेटा है.

मेरी चुत से पानी बहकर मेरे नाभि की तरफ बाहर आकर, जहां चुत की दरार खत्म होती है, वहां पर बूंद बूंद टपकने लगा था. फिर मैंने पाण्डे जी से बोला कि उससे किसी तरह से सेटिंग कराओ क्योंकि वो मुझे बहुत अच्छी लगती है. मुझे लड़कियों के जी-स्पॉट के बारे में काफी पता था तो मैं शीतल की चूत में थोड़ा अन्दर घुमा घुमा कर उंगली पेलने लगा.

मैंने 5 फ्रेंड को भी कॉल किया, लेकिन मुझे 6000 रूपए देने कोई आगे नहीं आया. मैंने पूजा को अपनी तरफ खींच कर उसके होंठ अपने होंठों में दबा लिए और चूसने लगा.

मैंने भी उससे बात करने के लिए घरवालों से छुपकर एक फोन ले लिया और हम देर रात तक मैसेज में चैट करते रहते. कोई एक घंटे बाद फिर से आयी और बोली- आ जाओ घर पे, ब्रेकफास्ट वहीं कर लेते हैं. आखिरकार मुझे उस अन्जान लड़की के बारे में सोचकर मुट्ठ मारनी पड़ी और तब जाकर मुझे नींद आई.

वीडियो बीएफ हिंदी सेक्सी वीडियो

मेरे गांव के बाजू वाले शहर में एक पति पत्नी दोनों ही स्किन स्पेशलिस्ट डाक्टर हैं.

करन समझ गया कि मैं झड़ने के करीब पहुँच चुकी हूँ। उसने अपनी बची हुयी पूरी ताकत से धक्के मारने शुरू कर दिया और कुछ ही पल बाद फच्च्ह की आवाज के साथ आआहह हह हहहह… के साथ झड़ गयी और उसे अपने से दूर धकेल दिया और वहीं नीचे बैठ गयी और तेज़ तेज़ सांस लेने लगी।उसने बोला- बस मुझे और झड़ जाने दो प्लीज!मैंने हम्म कहा और खड़ी हो गयी. उसकी बड़ी बड़ी आंखें थीं, पूरे 6 फिट लंबाई और मजबूत कसरती शरीर का सांड जैसा लगता था. उसने बोला- मैं तुम्हारा लंड चूसकर शांत कर देती हूं।मैं भी कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था.

बस फिर मैंने अपने हाथ उसके मम्मों पे रखकर थोड़ा सा धक्का मारा, तो मेरे लंड का टोपा उसकी चुत में घुस गया था. आंटी रखवाने वाला सामान लेने दूसरे कमरे में गईं तो मैंने अपने लंड को बैठाने की कोशिश की. सपना चौधरी सेक्सी एचडी” यह कहकर बाली रानी ने अपनी उंगलियां, जो उसने चूत में लगा कर रस से गीली कर ली थीं, मेरे मुंह से चिपका दीं.

आह्ह … उईई … माँ … आह्ह … आहह … ओह्ह!दर्द के साथ-साथ मैं तीनों लंड एक साथ लेने का अहसास भी कर रही थी जो मुझे मजा भी दे रहा था. उसके हाव भाव से पता लग रहा था कि उससे बात करते हुए वो बहुत चहक रही थी.

मैं बोली- हां मेरे आशीष, सच में मैं बहुत चुदक्कड़ हूं … मेरा अपने आप बेहद चुदवाने का मन करता रहता है. आप सभी का दिल से आभार प्रकट करते हुए एक नयी कहानी आपके समक्ष प्रस्तुत करता हूं. मैंने मम्मी से कहा कि आपकी आंखों की पट्टी हटा दूँ?वो बोलीं- हां ठीक है.

हो गया सर, जाने दो हमें …”सर गुर्राते हुए बोले- अच्छा, पेपर हो गया तो जाने दो? हमें नहीं करना पेपर … वाह! मैं क्या चूतिया हूँ जो इतना बड़ा रिस्क ले रहा हूँ!”जैसे ही मैं खड़ी हुई सर ने मेरी कमर को पकड़ कर मुझे अपनी गोद में बैठा लिया. मेरा मोटा, गोरा और लंबा लंड डाक्टर के सामने था और वो अपनी आंखें फाड़कर लंड देख रही थी. मतलब की राखी उसके लंड पर बँधी होती थी और मेरी चूत राखी बँधे लंड से चुदा करती थी.

मैं टेबल पर पड़ी मैगज़ीन पढ़ने लगी, थोड़ी देर बाद अंकल मेरे पास आ गए, उनसे आफ्टर शेव लोशन की सुगंध आ रही थी.

जब सिकाई करने के लिए मैंने उनकी दोनों टांगों को अलग किया तो उनकी बुर की हालत देख कर मुझे दया सी आ गयी … और खुद पर थोड़ा गर्व भी महसूस हुआ. अन्दर जाते ही वो मेरे घर का इंटीरियर देख कर चकित हो गई और बोल उठी- वाह क्या घर है.

जब उसकी तरफ से कुछ भी प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मेरा साहस बढ़ गया और मैंने उसकी नमकीन बुर पर हाथ रख दिया. उसकी पीठ एकदम गर्म हो गयी थी।उत्तेजित होने के कारण मेरी सांसें बहुत तेज गति के साथ चल रही थीं. यह तो डबल सुरूर था, एक तो रानी की बहती हुई चूत का रस और दूसरी उसकी उंगलियां.

रिश्ते में भले ही वह मेरी बहन लगती थी लेकिन उसके शरीर को देखकर मैं उसकी चुदाई करना चाह रहा था. इसी तरह पूरा महीना निकल गया, मैं उसकी चूत पर अपना लंड रगड़ कर ही पानी निकाल पा रहा था या कभी उसके मुँह में लंड डालकर पानी छुड़ा देता था. इसलिए मैंने उससे बातों ही बातों में पूछा- क्या तुमने कभी अपने पीछे वाले छेद में भी लंड लिया है?वह बोली- नहीं, मेरा पति तो आगे वाले छेद को ही शांत नहीं कर पाता.

कुश्ती वाली बीएफ अपने हाथ से लंड को पैंट के ऊपर से ही सहलाया और पैंट को खोलकर पीछे की तरफ टांग दिया. वह ज्यादातर लव रोमांस की बातें ही कर रहा था कि कॉलेज में इसका उसका चक्कर चल रहा है, फलाना किस लड़की के साथ क्या बात करता है.

सेक्सी बीएफ हिंदी मां बेटे की

मेरी शादी को 2 महीने हो गये थे, अब मेरा लंड फड़फड़ा रहा था किसी नयी लड़की की बुर की सील तोड़ने के लिये!संयोग से मेरी साली जो 19 वर्ष की थी, जिसका नाम ऋतु था, वो एग्जाम देने मेरे घर आयी. इस बार जब निशा ने अपनी गांड पीछे की, तब तक मेरा लंड खड़ा हो चुका था और टाइट भी हो चुका था. सहलाते समय उसका सेक्सी बदन भी हिल रहा था तो मेरा हाथ अब सीधे उसकी चुत पर लग रहा था, जिसे मैं हटा नहीं रहा था और वो भी मना नहीं कर रही थी.

फिर कोई भी सभ्य पुरुष ऐसी लड़की की तरफ आकर्षित कभी नहीं होगा जो इस तरह की प्रवृत्ति वाली हो. साथ ही साथ मैं उसकी चूत की फलकों को भी अपने होंठों से चूम लेता तो कभी दांतों से काट लेता था. साड़ी पहनने के डिजाइनसात से आठ मिनट के जबरदस्त धक्कों के बाद मैं भाभी की चूत में ही झड़ गया और मेरे लंड ने सारा वीर्य भाभी की चूत में उगल दिया.

मैंने उसे बेड पे धक्का देते हुए और उसके ऊपर आते हुए कहा- रांड आज तेरा भोसड़ा ना सूज गया मेरे लन्ड की चुदाई से तो मेरा नाम बदल देना।यह कहते हुए मैंने फिर से उसके बूब्स को मसलना और मारना शुरू कर दिया.

दीदी अपनी टांगें पूरी खोल कर मेरी जीभ से चूत चटाई का मजा ले रही थी. गांड के छेद पर उंगली का स्पर्श पाते ही नीरजा इस डर से घोड़ी बनी हुई ही आगे को भाग गई कि मैं उसकी गांड में लंड डालूँगा.

पिंकी कसमसा उठी- सर … प्लीज़!”करो ना … तुम आराम से पेपर करो … मैं तुम्हारे लिए ही तो बैठा हूँ यहाँ … चिंता की कोई बात नहीं!” सर ने उसको याद दिलाने की कोशिश की कि वो हम पर कितना ‘बड़ा’ अहसान कर रहे हैं. जब मैं उससे बहुत ज्यादा क्लोज हो गई, तो मालूम हुआ कि उसके भी बहुत ब्वॉयफ्रेंड थे. फिर एक दिन रात को उसका फोन आया और वह बोली- आज आपके लिए कुछ खास तोहफा है.

मैंने उसके जी-पॉइंट यानि चुत के दाने को हल्के से काटा, तो वो उछल पड़ी.

ऐसी लड़की पत्नी के रूप में किसी भाग्य वाले को ही मिलेगी जो कि इतनी आगे बढ़ कर भी अपने यौवन को भंग होने से बचा ले।उसके बाद मैंने रीनल से माफी मांगने की काफी कोशिशें कीं किंतु रीनल ने मुझे कभी भाव नहीं दिया. फिर मैंने उसको दोनों हाथों से एक घेरा बना कर उस से चिपक गई और अपने दोनों हाथ इस तरह से रखा कि वो उसके लंड के आस पास ही रहें. वो मेरे हाथ से कटोरा लेती हुयी बोली- लगता है चुदाई के मामले आप बहुत दिमाग रखते हो?फिर नम्रता कुर्सी से उठी और वाशरूम की तरफ घूमी, लेकिन फिर अचानक मेरी तरफ घूमते हुए बोली- शरद मुझे भी तुम्हारी मलाई चाहिये.

सेक्सी वीडियो नागा नागाजब उसके द्वारा बताए गए पते पर पहुंचा तो मैंने वहाँ पहुंच कर दरवाजे की बेल बजाई और एक 21-22 साल की लड़की ने दरवाजा खोला. उसके 2 या 3 दिनों के बाद रात को लगभग 9:00 बजे के पास सुमन का फोन मेरे फोन पर आया और उसने ऐसे ही धीमी धीमी आवाज में बात करना शुरू कर दी.

अक्षरा सिंह की सेक्सी बीएफ

जैसे ही वो अपने सूट को उतारने को हुई, वैसे ही दरवाजा खटखटाने की आवाज़ आयी. अमर ने कहा- भाभी तुम्हारा हब्बी तुमको कितनी देर तक चोदता है?पिंकी- वो तो बस 3-4 मिनट में ही ढेर हो जाता है और वो भी स्लो स्पीड में. इसके बाद राधिका मेरे लंड पर किस करने लगी, साथ ही उसने मेरे लंड के सुपारे पर अपनी जीभ फिराई और लंड के स्वाद का चटखारा लेकर वापस बैठ गई.

थोड़ी देर बाद मैंने बोला कि मैंने दूध पी लिया और अब मैं सोने जा रहा हूं. जब भाभी पूरी तरह से गर्म हो गई तो वह खुद ही मेरा लंड लेने के लिए मचलने लगी. अब देर मत करो, मैं अब गर्म हो गई हूँ, अब जल्दी से अपनी इस छिनाल बहन को चोद दो और प्यास बुझा लो.

सारा की हालत बुरी थी, मेरे साथ चुदने में वो भी दो बार झड़ गई थी और आज उसे चुदाई का अलग ही आनंद और संतोष मिला था. वो मुस्करा कर कहने लगी कि उस वक्त मैं अपनी छोटी बहन को अपनी मदद को बुला लूंगी. इससे आपको इतना ज्यादा सुख और आनन्द मिलेगा कि आप बयान नहीं कर पाएंगी.

साथ ही काफी दिनों से स्कूटी न चलाने के कारण उसकी सर्विस भी नहीं हुई थी. अबकी बार वो मुझे सीधे बेडरूम में ले गए और पहले मुझे कोल्ड ड्रिंक पीने को दी फिर मुझे बांहों में भर लिया और चूमा चाटी करने लगे.

मैंने भी उसे बोला- तुम सच बताओ कि तुम्हारा दिल कर रहा है सेक्स करने को या नहीं?वो बोली- मेरा दिल नहीं कर रहा अभी … लेकिन अगर तुम चाहो तो तुम्हारा हर तरह से साथ दूंगी.

मैंने कहा- जीजू, यह क्या कर रहे हो आप? यह गंदी है प्लीज, यह मत करो!लेकिन जीजू कहां रुकने वाले थे, उन्होंने तो मेरी चूत पर झड़ी लगा दी, कभी जीजू मेरी चूत की फांकें चूम रहे थे तो कभी चूत के दाने चूम रहे थे. देसी सेक्सी मंसआज भी बातों के चलते उसने मुझे बताया कि वो अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ डेट पर जा रही है, इसलिए मैं उसको स्कूटी से छोड़ दूँ. कोरिया सेक्सी व्हिडीओमैंने भी थोड़ा अच्छे तरीके से धक्का लगाया और अबकी बार मेरा लंड उसकी चूत में आधा घुस गया. मैं उससे कस कर चिपक गया और उसकी चूत में ही झड़ गया। हम लोग काफी देर तक इसी अवस्था में पड़े रहे.

थोड़ी देर बाद आंटी जी चाय बना कर ले आई और बोलीं- निशा, मैं पड़ोस में जा रही हूँ थोड़ी देर बाद आ जाउंगी, कुछ चाहिए तो फ़ोन कर देना.

मैं सोच में पड़ गयी कि यह लड़का आखिर गया तो गया कहाँ?हमारे घर की बगल में चाचा की छत जुड़ी हुई थी. रूम में आकर प्राची की सहेली ने अपना स्कार्फ और काला चश्मा हटाया तो मुझे वो देखी देखी सी लगी. हॉट बॉलीवुड सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने एक नई अभिनेत्री को डायरेक्टर के साथ उसका लंड चूसते देख लिया.

देखने में वो लेडी भले घर की लग रही थी, लेकिन पैसे न होने की बात से मैं भी चकरा गया. उसके बाद मैंने श्वेता को शुभी के ऊपर पेट के बल लेटा दिया और श्वेता की चूत मेरे लंड की तरफ आ गई. राशि आगे बताने लगी:फिर भैया ने आशा भाभी को कुतिया बनाया और अपना लंड उसकी चूत में पेलते हुए मस्त चुदाई शुरू कर दी.

सेक्स सेक्स एचडी बीएफ

अब मैंने स्नेहा को किस किया और उसके सारे कपड़े उतार कर उसे पलंग के नीचे उतार लिया, उसे फर्श पर लिटा कर मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसे किस करने लगा. इसीलिए मैंने अपनी मम्मा सौम्या को किस करना और हग करना बन्द कर दिया ताकि दोनों को ही सुविधा रहे. मैंने झट से अपने पैर ऊपर उठा कर मोड़ लिये और चूत पर हाथ रखकर उसे पूरी तरह खोल दिया.

मैंने कहा- क्या पूछ रहे थे?रोहन- वो बोले, यार अगर तेरी बीवी के साथ एक बार सेक्स करने को मिल जाए तो मजा आ जायेगा!मैं रोहन की तरफ देख रही थी.

वो खुद अपने बूब्स मसल रही थीं और अपनी उंगली चूत में डाल के मज़े ले रही थीं.

ई … ई … ई … ई … ई … ई!!” अनजाने में ही मेरे मुंह से एक तीख़ी सिसकारी निकल गयी. होटल चुदाई कहानी में पढ़ें कि एक रिसोर्ट में दो कपल में बीवियों ने आपस में तय कर लिया कि वे आपस में अपने पति बदल कर चुदाई का मजा लेंगी. নাঙ্গী ফটোतो वह बोली- क्यों?मैं बोला- मैं आपको एक बार जी भर कर देखना चाहता हूं.

ह्हाई … आऐ … ईईइ … स्स्स … इसी प्रकार से अपनी बहन की गरमाई हुई बुर को चाटते रहो चूसते रहो. मैंने गुलदस्ते से एक गुलाब का फूल उठा कर उसके हाथों पर हल्के से स्पर्श किया और वह कांप कर सिमटने लगी. एक दिन मैंने उसे अकेले में मिलने बुलाया क्योंकि कुछ दिन बाद मुझे काम से बाहर दूसरे शहर जाना था.

मेरे पापा का लंड दीपक के लंड की तुलना में मोटा भी अधिक था जो मेरे मुंह में भी ठीक ढंग से नहीं आ पा रहा था. मैं जान-बूझ कर छोटी ब्रा पहनती हूँ जैसा कि मैंने आप लोगों को पहले भी बताया है.

चूत चाटने की वजह से और पानी छोड़ने की वजह से उनकी चूत पूरी गीली थी और इसी वजह से मेरा लंड आराम से उनकी चूत में घुस गया.

सेक्स ना होने की वजह से तुम्हारे शरीर में गर्मी बढ़ गयी है, इसलिए कभी कभी ऐसा हो जाता है. जब वो ऊपर से साफ़ करती तो लंड को नीचे कर देतीं … और जब नीचे से साफ़ करतीं, तो लंड को ऊपर कर देतीं. इतना सुनते ही उसने मुझे पकड़ कर अपने बेड पर बिठा लिया और मेरे होंठों पर होंठ रख कर किस करने लगी.

सेक्सी मूवी फिल्म चाहिए हां इतना पता चला कि उसका आदमी अब वो मजा नहीं देता था, जो कभी दिया करता था. लेकिन मैंने उसकी चीखों पर कोई ध्यान नहीं दिया, बस उसके दूध मसलता रहा.

जैसा तय किया था, उस तरह से किस करने के बजाए अपने आप पर से आपा खोने लगे थे. फिर मैंने दांतों से पकड़ कर उसकी पैंटी को निकाल दिया और उसकी चिकनी मुनिया को देखने लगा. जीजू- शिवांगी, तुम लंड तो मस्त चूसती हो, पहले कभी किसी का चूसा है?मैं- जीजू आप बहुत शरारती हो, पहली बार मैंने किसी का लंड देखा है तो कैसे चूस सकती हूँ फिर?जीजू- फिर तो तुम्हारी किसी ने चूत भी नहीं चूसी होगी, चलो आज मैं अपनी प्यारी साली की गोरी गुलाबी चूत को चाटने का शुभारंभ करता हूं.

लंदन वाला बीएफ

फिर 5-10 मिनट बाद जब हम भाई बहन होश में आए, तो टाइम देखा 3 बज रहे थे. उस दिन हम मौसम का आनन्द लेते रहे और अपना पूरा ट्यूशन का समय वहीं पर बिताया. वह बोली- क्या सोच रहे हो मेरे राजा?मैंने कहा- कुछ नहीं मेरी जान, तुम्हारी चूत को चोदने का मजा ले रहा हूँ.

1 मिनट तक ऐसे ही वो पड़ी रही, फिर मुझे गाली देते हुए बोली- मादरचोद भोसड़ी के … रुक क्यों गया? चोद न कुत्ते मुझे … कमर चला!उसके मुख से गाली सुन के मैं पागल से हो गया। मैंने भी उसके मुँह में अपनी उंगलियों को घुसेड़ दिया. उस रात की चुदाई के बाद माया मुझे जानू बोलने लगी, लेकिन सबके सामने जानू नहीं बोल सकती थी, तो उसने मेरा नाम जॉन रख दिया.

वो झट से मेरे ऊपर आ गया और मेरे गांड में लंड टिका कर अपने पैरों से मेरे पैरों को फैला दिया और मेरे ऊपर लेट कर मुझे कस के जकड़ लिया.

मैंने उसकी टांगों के बीच में आकर अपने लंड को चूत की फांकों में ऊपर से नीचे तक फेरा, तो वो गनगना उठी और जल्दी लंड लेने को उतावली सी होने लगी. जानकारी हुई, तो मालूम हुआ कि वो मेरे घर से पास ही में रहते थे, तो मिलना आसान था. अब रूपा बोली- भैया, क्यों ना आप मुझको ही अपनी गर्लफ्रेंड नहीं बना लो.

मैं उसके होंठों पर किस करने लगा और उसके दर्द को कम करने की कोशिश करने लगा. उनकी पारखी नजरों को समय नहीं लगा यह जांचने में कि हमारी नजरें क्या कर रही हैं. कोई 15-20 मिनट चुम्मा चाटी और स्मूचिंग करने के बाद मैंने उनको लंड मुँह में लेने को बोला क्योंकि मैं उनको किसी भी सुख से वंचित नहीं रखना चाहता था.

मैंने उसको अच्छी तरह से नहीं पकड़ा हुआ था, इसलिये वह जैसे ही हिली, मेरा लंड चूत से बाहर निकल आया.

कुश्ती वाली बीएफ: वह बोली- क्या?मैंने कहा- हाँ, जैसे मैंने तुम्हारी चूत को चाटा है वैसे तुम भी तो मुझे मुंह में लेकर मजा दो. और फिर कुछ देर के बाद मैंने उसकी बगलों को चाटा, वह पागल हो गयी और मुझे कस कर पकड़ लिया.

उसके चेहरे पर संतुष्टि का भाव था।यह कहानी तीसरे भाग में जारी रहेगी। आशा करता हूँ कि मेरी बहन के साथ आपको मेरी यह कामुक कहानी पसंद आ रही होगी. मैं पूजा के पीछे आकर दोनों पैरों के बीच घुटनों पर खड़ा हो गया और हाथ में अपना लंड पकड़कर पूजा की गांड में डाल दिया. मैंने पक्क से झटका मारा तो लौड़ा उसकी चूत में एक तिहाई अन्दर चला गया.

वह बोली- अभी भी खून आ रहा है क्या?मैंने कहा- पहली बार में ऐसा होता है.

मैंने न जाने किस तरह से उनसे पूछ लिया कि यहां कोई आपका आने वाला है?इस पर भाभी बहुत उदास होकर गहरी सांस लेती हुई बोलीं- मेरे साथ आने वाला कोई है ही नहीं, आप ही बैठ जाओ यहां. मैंने सही मौका देख कर उससे कहा- रूपाली मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूँ. फिर एक दिन उन्होंने मुझे ऐसा कुछ ऐसा बताया कि मेरे पैरों तले से जमीन निकल गयी.