बीएफ हिंदी सेक्सी फुल

छवि स्रोत,मैं एकदम चुदासी हो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ वीडियो मुंबई: बीएफ हिंदी सेक्सी फुल, राजीव ने शबनम को अपनी बाँहों में चिपटा लिया और दोनों हसीं सपनों में खो गए.

तब्बू के सेक्सी बीएफ

थोड़ी देर बाद हम दोनों ने एक साथ नहाया और फिर मैंने कपड़े पहन कर अंकल से विदा ली. भोजपुरी सेक्सी नंगी फोटोहल्के-हल्के उसका लंड मुझे अपनी गांड पर बड़ा होता हुआ महसूस हो रहा था। मुझे उसका लंड बहुत ज्यादा बड़ा लग रहा था.

मैंने चुत पर खुशबूदार तेल लगाया और वेस्टर्न ब्रा पेंटी पहनी, जिससे कुछ भी नहीं ढक पा रहा था. बीएफ सेक्स भोजपुरीजब उनका लंड मेरी चूत पर पटका खा रहा था तो चट-चट की आवाज हो रही थी और मेरी चूत की खुजली बढ़ती ही जा रही थी.

उसकी आंखें ऐसी कि किसी को भी नशा हो जाए और उसकी गांड बड़ी, कसी हुई एवं गोल है.बीएफ हिंदी सेक्सी फुल: उसके चुचे ज्यादा बड़े तो नहीं हैं, पर हाथ में आ जाएं, ऐसे मुलायम हैं, जैसे मक्खन हों.

हम रोज रात नंगे बदन एक दूसरे की बांहों में लिपट कर प्यार की बातें किया करते थे.बात करते करते मैंने ऐसा फील किया कि उनकी लाइफ में कुछ गड़बड़ चल रही है.

सेक्सी बीएफ एचडी में दिखाओ - बीएफ हिंदी सेक्सी फुल

उन्होंने मेरे लंड को प्यासी नजरों से देखा और हाथ बढ़ा कर उसे टटोलते हुए कहा- ओके, अभी इसे अन्दर करो, रात में मेरे पास आने की कुछ तरकीब लगाना.पंकज के मन में क्या था … उसने हंस कर सारिका को अपने और राहुल के बीच बिठा लिया.

अगले दिन जब फेसबुक को खोला, तो उसने रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ली थी और ऑनलाइन थी. बीएफ हिंदी सेक्सी फुल लेकिन वो कहने लगा कि कुछ देर पहले तो तुम्हारा फोन आया था मेरे पास लेकिन तुमने कुछ बात ही नहीं की.

मैं अत्यंत आनन्द में आ चुका था, उनका गरम लंड मेरी गांड की गर्मी और बढ़ा रहा था.

बीएफ हिंदी सेक्सी फुल?

मैं अपने बिस्तर पर लेटा हुआ अंकल के बारे में ही सोच रहा था कि तभी मेरे रूम के दरवाज़े पर खटखट की आवाज़ होने लगी. बॉस अब मुझे हर शनिवार को कहीं ले जाने लगा था और मेरी खूब चुदाई करता था. भाभी भैया के लंड की छोटी साइज़ का इशारा करते हुए बोलीं- उस समय मुझे इसकी कुछ जानकारी ही नहीं थी.

चाची- हाँ वही … तेरे लिए रानी लेकिन अगर किसी को पता चल गया, तो सबको रंडी ही दिखूंगी. फिर मैं मॉम की चुचियों को ऐसे चूसने लगा जैसे कोई छोटा बच्चा दूध पीता है. भाभी ने लंड का स्पर्श अपनी चूत की फांकों पर महसूस किया, तो उन्होंने अपनी टांगें फैलाते हुए हवा में उठा दीं.

‘आह वरुण … चोद दो मुझे … आज फाड़ दो मेरी चूत को … ओह वरुण … और जोर से आह आ आ आह ओह … यस कम ऑन वरुण … और जोर से. हाइवे के पास पहुंच कर एक कच्चा रास्ता हाइवे की तलहटी की ओर जा रहा था. मगर मैं तो आज ही चाची की गांड मारना चाह रहा था तो मैंने चाची को कहा कि एक बार कर लेने दो तो चाची मान गयी.

मेरी जीभ जब दीदी की चूत पर लगी तो वो बड़ी मुश्किल से अपनी आवाज को दबा पा रही थी. मम्मी ने मुझे बुलाया और कहा- आज तुम भाभी के यहाँ जाकर सो जाओ, वो अकेली हैं … और उनकी तबीयत भी ठीक नहीं है.

मैं उसकी पैंटी साइड में करके उसकी चुत चाटना चाहता था, परन्तु उसकी चूत पर बड़ी बड़ी सुनहरी झांटें उगी थीं, जिस वजह से मैं ठीक से चूत नहीं चाट पाया और वापिस उसके चुचे चूसने लगा.

हां आप ठीक समझे … भाभी की प्यारी सी चुत की मालिश करने बारी आ गई थी.

मैंने भी कुछ नहीं सोचा और सीधे उसके होंठों के ऊपर अपने होंठों को रख दिया. थोड़ी ही देर में मेरा सारा वीर्य उनके मुँह में निकल गया और वो उसे पी गए. किसी औरत को सच्चा दोस्त चाहिए होता है, किसी गे को साथी की जरूरत होती है, या फिर किसी को लड़की की आईडी बना कर लड़कों के साथ मजाक करना पसंद आता है.

रात में मैंने उसे सॉरी का मैसेज किया, लेकिन उसने कोई जवाब नही दिया. लेकिन फिर अब जब हम दोनों के बीच में ये सब शुरू हो ही चुका था तो वो दिन भी कहां दूर था. मैंने अपनी जीभ को जल्दी जल्दी चलाना शुरू किया और चूत के ऊपर वाले हिस्से पर थोड़ी रगड़ दी.

मैं अपनी बीवी को आंखों के इशारों से कह रहा था कि आज रात में हम बहुत मस्ती करेंगे.

उसी पल मैंने उसको अपनी तरफ दोबारा से खींच लिया और उसको फिर से अपने पास में ही बेड पर बिठा लिया. मैं अपनी पहली बार की चुदाई की कहानी आपको इस सीरीज खत्म होने के बाद बता दूंगा. मैंने भी अपने करियर पर फोकस करना शुरू कर दिया और उसके बाद मेरी कभी काजल से बात नहीं हुई। न ही उसने कभी मुझसे बात करने की कोशिश की। फिर मैंने अपने पड़ोस में एक नयी लड़की पटा ली और उसके साथ चुदाई का खेल खेलना लगा.

उसके तने हुए मम्मे मानो मुझसे कह रहे थे कि हमको आजाद कर दो … मगर मैं उसकी ब्रा के ऊपर से ही अपने दांतों से उनको काट रहा था. फोटोज विदेशी दौरों, पहाड़ों और समुद्री तटों की थी और सभी फोटोज में वो बहुत उत्तेजक कामुक लग रही थी. आंटी ने अपनी दोनों टांगें फैलायीं और मेरे दोनों तरफ करके मेरी जांघों पर बैठ गई.

शिवानी की बात से मुझे तसल्ली हो गई कि यह नालायक उसको फुसला नहीं सकी.

हमने दरवाजा बंद कर लिया और दरवाजा बंद होते ही मेरे पति ने मेरी मैक्सी उतार फेंकी. मैंने एक ही झटके में अपना पूरा लंड मेरी नंगी भाभी की चुत की गहराई में ठोक दिया.

बीएफ हिंदी सेक्सी फुल तभी राजनाथ भी बोलने लगा कि वो उन्हें बहुत प्यार करता है और उन्हें हर तरह का सुख देगा. मैं- तो फिर आप ही सोच लो कि क्या हुआ होगा … इस रंडी ने भी तो मुझे चाबुक से मारा था, मेरा बदन पूरा काट दिया था.

बीएफ हिंदी सेक्सी फुल वो बोलीं- मैं कब से चुदाई के लिए तैयार थी, लेकिन रिश्तों के लिहाज से चुप बैठी थी. फिर सुहानी पलंग से उठी और अपने कपड़े पहनने लगी मगर अपनी पैंटी और ब्रा नहीं पहनी।और बाहर चली गयी।मैं नंगा पलंग पर ही लेटा रहा थोड़ी देर!फिर सुहानी आयी। उसने अपनी कमर पर तौलिया बाँधा हुआ था। उसने अपना तौलिया उतारकर मेरी तरफ फेंका और मुझे बाथरूम जाकर साफ होने को बोला।तब मैं उठा और सुहानी के गालों और होंठ को किस किया और बाहर जाकर बाथरूम जाने लगा.

भला मैं कब पीछे रहने वाला था, मैं तो खुद कब से इस ताक में था कि ये भाभी कब मेरे हाथों का निचोड़ पाएं.

सेक्सी भेजो राजस्थानी

” महेश ने भी बेड पर चढ़ते हुए कहा।पिता जी, देख तो लिया अब बाकी क्या रहा है?” नीलम ने परेशान होते हुए कहा।अरे बेटी, अभी कहाँ देखा है … तुम अपने बाज़ू को ऊपर करके सीधी लेट जाओ। मैं तुम्हें सर से लेकर पाँव तक नज़दीक से देखूँगा. यार … क्या माल लग रही थीं वो … काले रंग का गहरे गले का सूट पहन कर वो माधुरी दीक्षित से कम नहीं लग रही थीं. कहीं ऐसा न हो कि मैं आपके गंदे कमेंट्स के कारण आगे कहानी लिख ही न पाऊं.

फिर मैंने थोड़ा सीरियस होकर कहा- आपको बुरा लगा क्या मेरी बात का?वो बोली- नहीं, बुरा तो नहीं लगा लेकिन थोड़ा अजीब लगा क्योंकि मेरे साथ किसी ने ऐसा मजाक किया नहीं था इससे पहले. इस कामुक कहानी में आप लोग पढ़ेंगे कि किस तरह मैंने अपनी कुंवारी भांजी की सील तोड़ चुदाई की. आंटी ने अपनी दोनों टांगें फैलायीं और मेरे दोनों तरफ करके मेरी जांघों पर बैठ गई.

उनके मुंह से जोर की चीखें निकल रही थीं- और करो चोद दो मेरी चुत को, फाड़ डालो इसको, भर दो अपने वीर्य से इसको उम्म्ह… अहह… हय… याह…आंटी ने मुझे और जोर से चुदाई करने के लिए उकसा दिया.

उसके मम्मों को दबा दबा कर मुँह मारने लग़ता है और उसकी टाँगें चौड़ी करके उसकी चुत के ऊपर लंड को रख कर धक्का मारने लगा. मैंने हंस कर बोला- तू उसकी फिक्र ना कर कमीनी … उनको पता है कि हम दोनों हॉस्टल में लेस्बियन सेक्स कर चुके हैं, यदि उसने मेरी चूत को देख कर कुछ बोला, तो मैं बोल दूंगी कि तुमने अपना डिल्डो मुझे दे दिया था, तो उसे टेस्ट करने के चक्कर में ये हो गया. फिर कुछ देर तक उसकी पीठ को सहलाने के बाद मेरा हाथ उसकी ब्रा की पट्टी पर लगने लगा.

उस समय तो बात टल गयी, पर मुझे कुछ शक हो गया कि ये कहना क्या चाहती है. मॉम मेरे सर पर हाथ फेर रही थीं और अपने चूची की ओर मेरे सर को दबा रही थीं. मां बोली- ठीक है, तो फिर मैं विनय को बोल देती हूं कि हमारे जाने के बाद वो भी तेरे साथ आकर पढ़ाई कर लेगा ताकि तुम्हें अकेली न रहना पड़े.

वो मेरी पिंडलियों से शुरू हुआ और मेरे पेटीकोट को हल्के हल्के ऊपर करने लगा. करीब दस मिनट बाद मेरे और उसके कपड़े उतर ही गए और हम सिर्फ एक एक कपड़े में रह गए थे.

मगर मेरा यह भी वायदा है कि अगर मैं कामयाब हो गई, तो तुझको बता दूँगी मगर तुम इस बात का ज़िक्र कभी भी सागर से नहीं करोगी. साली बहुत प्यासी लग रही थी मेरे लंड की।मैंने तीन-चार मस्ती भरे धक्के लगाए और उसकी चूत में वीर्य की पिचकारी छोड़नी शुरू कर दी. मैं उन दोनों को मजे से पढ़ाने लगा जिससे वो मेरी तरफ आकर्षित हो जाएं.

मैंने कहा- क्यूं? इसको देखने में क्या बुराई है? सीधे सादे लोग मजा नहीं ले सकते क्या?वो मेरी बात सुन कर कुछ नहीं बोली और बस नजर को नीचे झुका कर बैठी रही.

मैं और सोनिका आज भी बहुत अच्छी सहेलियां हैं और एक दूसरे के आज भी बहुत करीब हैं. मैंने उनकी चूत चाटने के बाद अपना लंड चूसने के लिए इशारा किया, जिस पर उन्होंने झट से मेरा लंड मुँह में ले लिया और अच्छे से चूसने लगीं. एक-एक टुकड़ा उठाते हुए मैं उसके कोमल गोरे बदन से अपनी आंखें सेक रहा था.

मंगलसूत्र की काली डोरी के नीचे उसके गोरे चूचों का उठाव मुझे कामुकता से भरे जा रहा था. एक बात और भी है, चूंकि पार्टनर्स बदले जायेंगे तो सभी अपने नए पार्टनर की भावना का ख्याल रखेंगे.

उसने फिर कहा- ये क्या कर रहे हो?मैं डर की वजह उससे कुछ नहीं बोला और करवट लेकर लेट गया. आख़िर पूरा लंड चुत में घुसा कर ही मैंने दम लिया … मुझे बेहद दर्द हुआ, हल्का खून भी निकला, पर इतने दिनों से डिल्डो से खेलते रहने से मुझे इसकी आदत सी हो गई थी और इससे होने वाला डर अब मजे में बदलने लगा था. हमारे बदन इतने गर्म हो चुके थे कि मानो दोनों के बदन से जैसे अंगारे निकल रहे हों.

बीपी सेक्सी वीडियो देवासी

फिर उसने अपने लंड को मेरे मुंह से निकाल दिया और अपने गीले लंड को दीदी की चूत में घुसेड़ दिया.

कुछ दूर चलते ही एक लड़की ने झटके से इशिता को रेलिंग के सहारे झुका दिया. लड़कों को अभी पन्द्रह मिनट बाद जाना था ताकि इस बीच में उनकी दुल्हन सुहागरात की तैयारी कर ले. थोड़ी देर इसी पोजीशन में रुकने के बाद चाची ने नीचे से धक्के लगाना चालू कर दिया तो मैं भी जोश में आकर धक्के लगाने लगा.

मैंने एक जोर से धक्का मारा और वीना आंटी की चूत में मेरा आधा लंड चला गया. मैंने पैंट की तरफ देखा तो मेरे लंड ने मेरी सफेद पैंट पर कामरस का एक बड़ा सा धब्बा बना दिया था. बीएफ हिंदी जबरदस्तअब मुझे लगता है कि मुझे भी यहां कहानियां पोस्ट करनी चाहिए।मैं आपको अपना परिचय देता हूँ। मेरा नाम रघु पाठक उर्फ गांडू गरिमा है। गांडू गरिमा इसलिए क्योंकि मुझे पता नहीं कैसे गांड देने का शौक लग गया.

मैं उसका सर अपनी चूत में दबाने लगी और वो मेरी चूत को कुत्ते की तरह चाट रहा था. मैंने आंटी से कहा- जरा आराम से चूसो, नहीं तो मेरा माल आपके मुंह में निकल जायेगा.

हर बार जीजा का फोन लेकर चुपके-चुपके आशीष से बात करती थी आधे घण्टा, एक घण्टा!फिर जब ऐसा मैंने दो तीन बार कर लिया तो जीजा ने पूछा- किसको लगाती हो फोन बंध्या?मैं कहा- सहेली है जीजा, उससे बात करती हूं. बहुत से लोग बोलते हैं कि ऐसा सिर्फ कहानियों में होता है लेकिन दोस्तो मेरे साथ ये सब रियल में हुआ और हमने खूब मस्ती की. वो मुझे लंड निकालने के लिए कहने लगी लेकिन मैंने उसकी चूत में धक्के लगाने बंद नहीं किये.

” उसने अपना गला साफ करते हुए बड़ी मुश्किल से मरियल सी आवाज़ में कहा- तोफी पीने से सु-सु में जलन होने लगती है. क्या बना रही हो?” पास जाकर मैंने सुमिना से पूछा।राजमा-चावल” उसने जवाब दिया. मैंने वापस मुड़ कर देखा तो उसकी छाती पर से उसका दुपट्टा उतर चुका था और केवल एक ही कंधे पर लटक रहा था.

”शराब शुरू हो गयी, हल्की फुल्की बातें चलती रही।सबको थोड़ा नशा हो गया तो अंशु बोली- उपिंदर, अब आगे क्या प्रोग्राम है?प्रोग्राम क्या, हम दोनों के पास बीवी भी है, साली भी है, मज़े लेंगे.

भाभी के 34 साइज़ के मम्मों का उभार देखकर मेरे मुँह से दबी हुई आवाज निकल गई- वाऊ … क्या मस्त फिगर है. पांच-सात मिनट तक नंगी चूचियों और चूतों को मन ही मन सिसकारियां भरते हुए देखने के बाद आखिरकार मैंने अपने अंडकोषों में हवस की गर्मी से उबल रहे वीर्य पर नियंत्रण खो दिया और मेरे तने हुए लंड ने अपना सारा उबाल वीर्य के रूप में अंडरवियर में ही उड़ेल दिया.

तभी ममता बोली- सविता तू तो पूरी गीली हो रही है … तू कहे, तो अंकल को बुला लूं?मैंने कहा- क्या अभी ऐसा हो सकता है. इतने में आंटी मुझे देखकर हाथ हिलाने लगीं- जीशान, तुम कब आए?मैं- अभी अभी आया आंटी. मैंने चूत पर लंड को लगा कर धक्का लगाया लेकिन मेरा लंड चाची की चिकनी चूत पर फिसल जा रहा था.

मुझे भी गुस्सा आ गया और मैं बोली- साले जो करना है कर ले, मुझे क्यों सिखा रहा है. उन्होंने अपनी जांघों को थोड़ी सी और फैला दिया था और मुझे अब आंटी की मैक्सी के अंदर चूत की घाटी काफी साफ नजर आने लगी थी. फिर चाची ने मुझे ज़ोर से जकड़ लिया और एक लंबी चीख मारते हुए झड़ गईं- आआहह … आआह … मैं गई.

बीएफ हिंदी सेक्सी फुल फिर उसने अपना मुँह मेरी चूत पर लगा दिया और अपनी जीभ से मेरी चूत को चोदने लगा. परवीन- अरे जीशान बेटा … कब आए तुम? काफी बड़े हो गए हो … कैसे हो?हिना- और पढ़ाई कैसी चल रही है?मैं- सब ठीक चल रही है आंटी … और आप सब कैसे हैं?परवीन- हां हम सब ठीक हैं.

सेक्सी फिल्म गाना हिंदी

दोस्तो, मेरे सामने एकदम गोरी गोरी और भारी-भरकम गांड आज खुद चुदने को तैयार थी. टाइम देखा, रात का एक बज चुका था, वो बाहर जाकर गेट का ताला खोल आई और मैं अपने घर आकर सो गया. अब मैं भी अपना माल जल्दी निकालना चाहता था … क्योंकि मेरा शरीर एक चरम सीमा जैसी भावना से पूरे जोश में आ गया था.

इसी बात का फायदा उठा कर मैंने फिर से रजू के चूचों में हाथ डाल दिया. दोस्तो, वो समय जन्नत का नज़ारा था, मेरे को भी लग रहा था कि मेरा माल जल्दी निकल जाए. हिंदी बीएफ सेक्सी व्हिडिओहम जब भी मिलते थे तो वो ऋतु को ऐसे देखता था जैसे कि मेरी बीवी उसके सामने बिना कपड़ों के ही खड़ी है.

वो कराह उठी लेकिन मैंने उसी वक्त अपने होंठ उसके होंठों पर सटा दिये.

मसलन कि हम दोनों कैसे मिले, शादी को कितने साल हो गये हैं और ऋतु मॉडलिंग में कब से है … वगैरह-वगैरह।फिर उसने ऋतु की मॉडलिंग वाली फोटो देखने की इच्छा जाहिर की. मैं ये तो नहीं जानता था कि काजल की तरफ मेरा ये झुकाव प्यार था या महज आकर्षण के पीछे छिपी हुई वासना! मगर जो भी था, बड़ा ही बेचैन करने वाला अहसास था जो हर दिन प्रबल होता जा रहा था.

उसके मूसल लंड को लेते हुए मेरा हाल बेहाल होने लगा लेकिन मजा भी बहुत आ रहा था. एक बार फिर से मैं आप लोगों के लिए अपनी बीवी की चुदाई की कहानी लेकर आया हूं. मुझसे तो रहा नहीं गया और बड़े ही प्यार से मैं बारी-बारी दोनों ही निप्पलों को चूसने लगा.

गाना खत्म हुआ तो अगला गाना था:हुस्न के लाखों रंग कौन सा रंग देखोगे,आग है यह बदन कौन सा अंग देखोगे.

फिर मेरी गांड पर लंड को रगड़ते हुए झुक कर मेरे कान में बोले- रात को जमकर चोदूंगा मेरी जान!मैं मुस्कराती हुई उठी और जल्दी से अपनी मैक्सी पहन ली. मैंने भाभी को अपनी बांहों में भर लिया और उनको फिर से गर्म करने लगा. ” महेश ने अपने मुँह को नीलम के गालों से उसके होंठों की तरफ कर दिया। नीलम को अपने ससुर की साँसें अपने मुँह से टकराती हुई महसूस हो रही थी, महेश नीलम को छू तो नहीं रहा था मगर उसकी यह हरकत नीलम को गर्म करने के लिए काफी थी।आहहह… बेटी कितनी गोरी और नर्म हैं तुम्हारी दोनों चूचियां … ओह्ह्हह इसके दाने तो देखो, इन्हें देखकर ही अपने मुँह में भरने का मन करता है.

हिंदी सेक्स बीएफ एचडीदो दिन बाद भाभी को घर की पूजा आदि से फुर्सत मिली और मुझे उनसे बात करने का मौका मिला. मैंने पूछा- आप डैड को छोड़ क्यों नहीं देतीं?वो बोलीं- तुम्हारे कारण.

कोविशील्ड सेक्सी

खूब खाना-पीना होता था और अंताक्षरी वैगरह खेलते रहते थे देर रात तक। वो हमारे साथ में ही सो भी जाती थी. मैंने भी देर न करते हुए अपना 6 इंच का लंड उनकी चुत के ऊपर रगड़ना शुरू कर दिया. कारण पूछने पर बताया कि पति को इस बात का भरोसा दिलाना पड़ेगा कि मैंने शिवा से बच्चा पा लिया है.

अब शर्म के मारे मैं किसी से कुछ बोल भी नहीं सकती थी क्योंकि अपनी ही कही हुई बात से मुड़ना पड़ता था. मैं जैसे ही उसके घर के बाहर पहुंचा, उसने मुझे अन्दर करके दरवाजा बन्द कर दिया. मैंने पूछा- क्यों?उसने कहा- जिसने तुमको खुश किया है, उसे भी तो खुश करना है … समझी तुम?मैं यह सुनकर एकदम से हैरान रह गई.

मैंने फिर चुटकी ली- भाभी जान, ऐसे ही बाहर आओगी क्या?उन्होंने कुछ जवाब नहीं दिया और कहा- प्लीज जल्दी दे दो, ठंड लग रही है।मैंने भी ज्यादा देर न करते हुए उन्हें ब्रा पैंटी और गाऊन दे दिया। मेरे मन से डर निकल चुका था, जब कपड़े दे रहा था तो मैं अंदर झांकने की कोशिश भी कर रहा था।भाभी दरवाजे के पीछे सिमटी हुई थी पर उनकी पीठ, गांड और सीने के उभार थोड़ा दिख रहा था।मैं गरम हो रहा था।भाभी दो मिनट बाद बाहर आई. वो मेरी चूची को मसलने के बाद अपना लंड मेरी चूत में डालने लगे और कुछ देर के बाद वो अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को चोदने लगे. वो जग रहा था पर उसने एक बार भी मुझे नहीं रोका।उस समय के लिये वह रात बहुत भयावह थी पर आज जब सोचता हूं तो लगता है कि काश आज फिर मेरे साथ ऐसा होता!तो भाइयो, जल्द ही अपनी अगली सच्ची कहानी लेकर हाजिर हूँगा और उसमें आपका परिचय अपने घर के सदस्यों से भी करवाऊँगा।उम्मीद है कि मेरे भाइयों को यह कहानी पसन्द आयेगी.

फिर वो बोले- पहले तू दारू भी नहीं पीती थी लेकिन अब मेरे साथ पीती है. पहले तो वो थोड़ा ना नुकर कर रही थीं, पर पर थोड़ी देर बाद वो भी मेरा साथ देने लगीं.

मेरे पति से मैं बिल्कुल भी खुश नहीं थी, लेकिन मेरी माँ अकेली थी, पापा नहीं थे, तो मैं जैसे भी करके निभा रही थी.

फिर मैं आस-पास की औरतों और लड़कियों को नहाते हुए देखने की जुगत में लगा रहता, लेकिन ढंग से कभी भी किसी लड़की को ढंग से नंगी नहीं देख पाया. सेक्स बीएफ हिंदी”वह इस लड़के की मासूमियत पर मरी जा रही थी। इतने सालों बाद वह अपने पेट में तितलियों को महसूस कर रही थी. एक्स वीडियो चोदा चोदी बीएफकुछ देर के बाद उसके कराहने की आवाज आने लगी तो मैं उठ कर उसके कमरे में गया. फिर एकदम से उसने मेरे पजामे के अंदर हाथ डाल कर मेरे लंड को पकड़ लिया.

मैंने फिर से देखा तो अब वो लड़की फिर से लडके के लंड को मुँह में लेने लगी थी.

उसकी आंखें ऐसी कि किसी को भी नशा हो जाए और उसकी गांड बड़ी, कसी हुई एवं गोल है. उसने मेरे विरोध को दरकिनार करते हुए मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगी. आंटी अभी दो महीने पहले ही हमारे घर में आई थीं और उनको देखते ही मैंने उन्हें चोदने का प्लान बना लिया था.

मैं कई बार चाची की गांड और चूचों के बारे में सोच कर मुठ मार चुका था. मैंने लंड रीना के चुचों के ऊपर लगाया ही था कि रीना ने अपने दोनों चुचों के बीच लंड को दबा लिया. उसी के साथ वो बहुत तेज़ चीख उठी- ऊईई ईईई म्मम्मम्म माँ आ … मरर र र गईई ईई … प्लीज बाआआ हरर निकालो ओ ओ ओ इसे। साहिल अब नहीं रहा जा रहा … मर्र र्र र्र जाऊँगी … ज़ ज़ छो ओ ओ ड़ दो बा आ बूउउ.

घोडे की सेक्सी फिल्म

उसने झड़ते हुए कहा- कुछ देर हम आराम करते हैं … और फिर तुम्हारी चुदाई शुरू करेंगे. फिर वो बोले- पहले तू दारू भी नहीं पीती थी लेकिन अब मेरे साथ पीती है. वो क्या करती है … कहां जाती है … बॉयफ्रेंड एंड फ्रेंड सबके बारे में जानकारी करना होगी.

चाची ने बताया कि आज से पहले उन्होंने कभी अपनी गांड में लंड नहीं डलवाया था.

मैंने उसके पीछे आकर अपने लंड को पकड़ कर पीछे से उसकी चूत में डाल दिया.

कभी मेरी जीभ उसके मुँह में, कभी उसकी जीभ मेरे मुँह में मजा लेने लगती. लेकिन मैंने उसकी बात नहीं सुनी और उसकी गांड को अपने हाथों से पकड़ कर उसको थोड़ी अपनी तरफ खींचा और तेजी के साथ उसकी चूत में फिर से लंड को घुसाने लगा. ब्लू वीडियो में दिखाओमेरे ऊपर आने के बाद वो शरमाने लगी और मुझसे नजरें बचाती हुई नजरें झुकाने लगी.

मेरी बुरी तरह चीख निकल गई, मैं उनकी पीठ को सहलाने लगी और वो धीरे धीरे मेरी चूत में झटके लगाते रहे. फिर उसने अपनी टांगों को मेरी गांड पर लपेट लिया जिससे मेरे लंड का जड़ तक का भाग उसकी चूत से जाकर सटने लगा. उसके बाद बाथरूम में गांड साफ करने वाला प्रेशर वाटर जेट लेकर मेरी वाइफ की चूत में पानी की तेज़ धार डाली गई और वह डॉक्टर दोस्त मेरी बीवी की चूत में अंदर तक दो उंगलियाँ डालकर रेत का एक-एक कण बाहर निकाल रहा था.

मैं- अगर चाची आ जाएंगी, तो पहले दरवाजे की घंटी बजेगी … उन्हें देख लेंगे. हिना- आह छोड़ दे मुझे … आज मेरी सब हसरतें पूरी हो गईं, अब मुझे छोड़ दे … कोई बचाओ ये मुझे मार ही देगा.

वैसे तो मैं उसकी काफी इज्जत करता था लेकिन जब कभी उसके चूचों की दरार दिख जाती थी तो मन बहकने लगता था.

अपनी चूत चिकनी करने में सीमा ने औरों से ज्यादा मेहनत की थी … उसकी चूत बिल्कुल रेशम जैसी और निरी गुलाबी थी. दो मिनट तक मैंने खूब मस्ती से चाची के मुंह में लंड देकर चुसवाते हुए मजा लिया. करण को देख कर राहुल ने उसको हैल्लो किया और पास आकर वो दोनों बातें करने लगे.

बीएफ एचडी हिंदी में वीडियो बहू की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे ससुर ने अपने प्यार का वास्ता देकर अपनी बहू को अपने सामने नंगी कर लिया था. नीता लड़कियों की सरदार थी, उसने चिप्स कि पांच प्लेट हर एक के पास सरका दीं.

मैंने उनसे कहा कि शायद अंकल आप को अच्छे से वो सुख नहीं दे पा रहे हैं. ” ज्योति ने अपनी नाइटी उतारने में अपने भैया की मदद करते हुए कहा।बहन आप बेहद ख़ूबसूरत हो. मैंने आंखें बंद कर लीं और लेट कर लंड के टोपे को हाथ में दबोचे हुए आगे-पीछे करते हुए लंड की उस उत्तेजना का आनंद लेते हुए धीरे-धीरे मुट्ठ का आनंद लेने लगा.

नौकर नौकरानी सेक्सी वीडियो

मेरे सामने आकर वो झुकी तो उसके सूट के अंदर उसकी सफेद ब्रा की पट्टी मुझे दिख गई. वैसे तो मुझे वही लड़का पसंद था लेकिन उसके दोस्त भी मुझ पर लाइन मारने की पूरी कोशिश करते थे और अभी भी करते रहते हैं. अर्पित ने मुझे इशारा किया तो मैंने खुद के जिस्म की नुमाइश करना शुरू कर दी.

दिलावर ने चूत चाटते हुए कहा- जान अब उसका घर है, तुम भी कौन सा पहली बार चुद रही हो. फिर उसने अपने लंड को मेरे मुंह से निकाल दिया और अपने गीले लंड को दीदी की चूत में घुसेड़ दिया.

आज उसके साथ चुदाई करने से पहले ही मैंने लिक्विड चॉकलेट और केक का ऑर्डर दे दिया था.

इसलिए बेटी के जन्म दिन की तैयारी के लिए भी मैंने अपने चोदू यारों को ही इस्तेमाल किया था. साथ ही ऐसी कामुक परिस्थितियों में जब महिला गर्म हो जाती है, तो मैं उसके मन की भी नहीं होने देता हूँ. बस 5 मिनट में एक पैकेट कंडोम ले कर वापिस उसके पीजी के नीचे आकर उसे फोन किया- आ जाओ, मैं नीचे हूँ.

फिर मैंने उठ कर एक दम अपना लंड बाहर निकाला और उसके मुंह पर लंड को रगड़ने लगा. तो मैंने आंटी से पूछा- वीना, तुम दारू पियोगी?वो मुझे नाम लेते हुए सुनकर फिर से मुस्कुरा दीं और बोलीं- हां … ले लो. तभी मैंने चारू के कान में धीरे से बोला- बेबी आइस क्रीम खानी है क्या?उसने एकदम से मेरी तरफ देखा.

अब आशा ने सुमिना की चूत से उंगली निकाल ली और वो सुमिना के सिर की तरफ आकर अपनी चूत खोल कर बैठ गई.

बीएफ हिंदी सेक्सी फुल: मज़ाक करते करते मैं आदतनुसार उनको गुदगुदी करने लगा, जिससे उनके हाथ की एक उंगली जल गयी. मेरी परीक्षाएं आने वाली थीं, इसीलिए मम्मी मुझे अकेले छोड़ कर जा रही थीं.

https://thumb-v9.xhcdn.com/a/mhRFtmDuvwamcHNU8rUdqg/013/218/099/526x298.t.webm. ” मैंने हँसते हुए कहा।उसने कुछ कहा तो नहीं लेकिन मैं उसके मन में चल रही उथल-पुथल का अनुमान अच्छी तरह लगा सकता था।अरे भई मैंने कहा ना डरो मत … कुछ नहीं होगा. पंकज तुरंत ही नीचे हुआ और अपना लंड सारिका की चिकनी चूत में घुसेड़ दिया.

” नीलम ने गुस्से में सीधे अपने पति को बताते हुए कहा।नीलम तुम्हें क्या हो गया है? पहले तो तुम ऐसी नहीं थी.

शिवानी ने कहा- सागर तेरे लंड ने मेरी चूत के साथ क्या किया … या क्या करेगा, आज वो सिवा तुम्हारे और मेरे किसी को नहीं पता लगेगा. सोचने लगा कि चुदाई का मौका मिलना तो मुश्किल है लेकिन मुठ मारे बिना ये लौड़ा मुझे सोने नहीं देगा. जिसने मेरी चूमने की ताक़त को दुगना कर दिया और मैं उसके होंठों पर ऐसे टूट पड़ा, जैसे भूखा भेड़िया अपने शिकार पर टूटता है.