भाभी का सेक्स वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,न्यूड डांस वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी सेक्सी मारवाडी: भाभी का सेक्स वीडियो बीएफ, कामुकता हम पर सवार हो चुकी थी, अगले कुछ ही पलों में हम दोनों बिल्कुल नंगे हो गए.

सेक्स करने वाला गोली

पूरा कमरा मेरी मम्मी की चुदाई की सेक्सी सेक्सी आवाजों से गूंजने लगा. गॅंग रेप सेक्स व्हिडिओमैं खड़ा होकर बेड से उतरा और साइड में खड़ा होकर उदास सा मुँह करके उसे देखने लगा.

इस बार मेरे लंड का सिर्फ टोपा अन्दर गया था, फ़िर भी वो काफी जोर से चिल्ला उठीं. इंग्लिश शॉट ओपनउनका जवाब आया- सरप्राइज़ है तो सब्र तो करना ही पड़ेगा और हाँ खाना मत खाना… यहीं आकर खाना…मैंने भी सोचा कि सब्र का फल मीठा ही होता है तो कुछ घंटे और सही… तब तक मैं अपना प्लान बना लेता हूँ.

अब बर्दाश्त करना मुश्किल था तो मैं भाभी की चूचियों को मुँह में भर कर चुभलाने लगा और ममता भाभी का हाथ पकड़ कर अपनी पेंट के अन्दर घुसा दिया.भाभी का सेक्स वीडियो बीएफ: मैं दीदी के पास जाकर बैठ गया, दीदी ने मुझे अपनी बाँहों में ले लिया.

हमारा मन एक दूसरे को छोड़ कर जाने का नहीं हो रहा था लेकिन हम मजबूर थे.चूत के चारों तरफ जंगल की भांति काली घास उनकी गोरी चूत की अनुपम छटा में चार चाँद लगा रही थी.

ब्लू पिक्चर इंग्लिश वीडियो - भाभी का सेक्स वीडियो बीएफ

फिर उन लड़कों से मेरी हाथापाई वाली लड़ाई हो गई और मेरे हाथ में से भी खून आने लगा था.इसके बाद मैंने रुबीना से कल मिलने के लिए वादा ले लिया और कॉफी के बाद उसको उसके घर छोड़ दिया.

मैंने उसको बेड पे लेटा दिया, तो वो फटाक से बैठी होकर बोलीं- जान, हम शुरू करें उससे पहले एक गेम खेलते हैं. भाभी का सेक्स वीडियो बीएफ लेकिन मैं नहीं चाहती थी कि यह बात किसी को पता चले कि मैं और चाचा हम दोनों लोग एक दूसरे से प्यार करते थे.

दीपक की बहन चिंघाड़ चिंघाड़ कर झड़ती रही और दीपक भैया अपनी बहन की बूंद बूंद योनिरस चाटते हुए बुरी तरह हांफ रहे थे.

भाभी का सेक्स वीडियो बीएफ?

मैं- ठीक है दीदी, मत करना लेकिन लंड तो चूसो ना!मैंने दीदी के सर को पकड़ कर अपनी तरफ किया और लंड पर झुका दिया; दीदी ने भी लंड को मुँह में लिया और आधे लंड पर सर को ऊपर नीचे करते हुए चूसने लगी. उसके बड़े बड़े चूचे मानो कपड़े फाड़ कर बाहर आने की कोशिश कर रहे थे. कुछ देर तक वो देखती रही फिर पलट कर जाने को हुई तो मैंने लपक कर उसको पकड़ लिया और उसे खींच कर बेड पर बैठा लिया.

फसल नहीं आई?तो भाभी समझ गईं और हंस कर बोलीं- भैया तो आते हैं, खाना खाते हैं. इस वजह से उसकी चूत में चिकनाई बढ़ गई और सुरेश का बड़ा लंड आराम से अन्दर बाहर आने-जाने लगा. लेकिन अब करीब पन्द्रह दिन हो गए थे मैंने उन दोनों से चुदाई नहीं करवाई थी क्योंकि मैं अपने बॉयफ्रेंड से चुदवा कर बहुत थक जाती थी.

मैं- मामी, क्या मैं आपके उनको छू सकता हूँ?मामी- वो वो क्या करते हो. अचानक से उन्होंने मुझे अपने से चिपका लिया और अपना एक हाथ अपने चूत पर रगड़ने लगीं. फिर उसने धक्के मारना शुरू कर दिया, मैं जोर जोर से आहें भर रही थी और फिर मैं थोड़ी ही देर बाद झड़ गयी।पर वो अभी नहीं झड़ा था, वो लगातार धक्के मार रहा था.

हम दोनों वहां से कार में निकले, एक होटल में गए, वहां कुछ खाना खाया क्योंकि अवी की इस पार्टी में मैं भूखी रह गई थी. अचानक उसका लंड चूत से बाहर निकल कर फिसल गया और गांड मारते ओमार के लंड से जा टकराया, तो उसने अपने दाएं हाथ से पोजीशन ठीक कर दोबारा उसे चूत रानी से मिलवा दिया.

कमल के चूत चाटने के अंदाज के इस अनुभव को में पहली बार महसूस कर रही थी.

मैं फिर किसिंग करने वाला था कि उसने कहा- इसके लिए भी कुछ नया तरीका निकालो ना!मैं उठा कुछ सोचते सोचते बाहर गया.

आगे वाला मेरे निप्पल को काट खा रहा था तो पीछे वाला मेरी पीठ पे अपने दांत गाड़ रहा था. जब मैं बुआ के घर जाता या जब वो मेरे घर आतीं, तो हम दोनों खूब धमाल मचाते थे. एक हाथ से उनके चुचियों को मसलने लगा दूसरे हाथ से उनकी चुत को सहलाने लगा.

उसके सूरजमुखी ने अपने आप मेरे लंड को उसकी ओर खींचना शुरू किया, जैसे कि कोई चुम्बक हो. मैंने विशाल की तड़प को और ज्यादा बढ़ाते हुए अपना स्मार्ट फोन निकाल कर उसे उस जुगाड़ की तस्वीर भी दिखा ड़ी जिसमें वह बेहद सेक्सी और खूबसूरत लग रही थी। मेरी जुगाड़ की फोटो देख कर उत्तेजना के मारे उसका गला सूखने लगा इसलिए विशाल ने उसे घर पर बुलाकर मिलने की इच्छा जाहिर की. मैं दीदी को वो टच फील करने लगा, फिर मैं भी दीदी की जांघ पे हाथ फिराने लगा.

कुछ देर उंगली करने के बाद चुत पे किस किया और इस बार भाभी ने मेरा सर पकड़ कर चुत पर दबा दिया.

क्योंकि वो कामुक सिसकारियाँ लेने लगी थी।मैंने अपनी उंगली गोल गोल घुमानी शुरू कर दी और अब तो वो मचलने लगी और जोर जोर से आवाजें निकाल कर कह रही थी- और जोर से करो. शाम को जब 8 बजे वो वापस आए तो उनके साथ एक लड़का आया, जो करीब 24 साल का था. अन्तर्वासना पर हिंदी में गंदी सेक्स कहानी का मजा लेने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मैं एक और चुदाई स्टोरी के साथ आपके सामने आया हूं.

थोड़ी देर में मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी चुत में ले धकापेल चालू हो गया. फिर बॉस ने अपने कपड़े ठीक किए और मैं अपने कपड़े ठीक करके जल्दी से वहां से चली गई. उसने आगे जारी रखते हुए कहा- अगर ये बात घर में पता चल जाए ना, तो मम्मी पापा तुझे मार मार के घर से निकाल देंगे.

मैं वापस उसकी बुर को चूसने लगा और मैंने इतनी ज़ोर से चूसा कि इस बार उसकी मुठ का सफेद पानी नहीं.

मैं उसे पूरी तरह उत्तेजित करना चाहता था ताकि मधुर मिलन का पूरा मजा आए. कुछ देर बाद फूफा जी हाँफने लगे और आआह की आवाज के साथ झड़ गए और मम्मी के बगल में लेट गए.

भाभी का सेक्स वीडियो बीएफ मैंने उसके रोने कारण पूछा तो उसने बताया कि उसकी मम्मी पापा की लड़ाई हो गई है, घर में बहुत तनाव है. कुछ देर बाद मैंने उसको अपने ऊपर ले लिया और अब मैं नीचे और वो मेरे ऊपर थी.

भाभी का सेक्स वीडियो बीएफ कुछ देर बाद मैंने उसको अपने ऊपर ले लिया और अब मैं नीचे और वो मेरे ऊपर थी. पुलकित को यह भय था कि अगर मंजरी का भाई और मम्मी घर आ गए तो कहीं उसे यह मौका भी न गंवाना पड़े, तो पहले एक बार मंजरी कंजरी को ठोक लो, चुदाई कर लो, प्यार बाद में करते रहेंगे.

मुझे उसके हाथों के बगल वाले काले काले घने बाल दिख रहे थे, जो उसने कभी साफ़ नहीं किए थे.

नौकर के बीएफ

उसने मेरा नाम पूछा, मैंने शुभम बताया और उसे कहा- अगर हम दोबारा कभी मिले तो मेरा नसीब अच्छा होगा. मैंने उसे रुकने के लिए तो हां कर दी लेकिन उसे कुछ भी करने देने से मना कर दिया. क्या मस्त सीन था, ऐसा आज तक मैंने सिर्फ कंडोम के एड में ही लड़की को लंड के लिए इस तरह तड़पते हुए देखा था.

लंड के अहसास से ही मेरी चूत में गुदगुदी होने लगी मगर मुझे थोड़ा नाटक करना पड़ा. मुझे अन्तर्वासना की चुदाई की वो कहानियां अच्छी लगीं, जिसमें किसी के साथ सेक्स करने की सिचुयेशन अंजाने में बन गई और सेक्स का मजा ले लिया गया. जान बूझ कर कभी मैं अपनी चूचियों का सिनेमा दिखा देती, तो कभी चूत की एक झलक दे देती.

एक दिन भैया मेरे रूम में आए और मुझसे बात करने लगे- सत्या कैसे हो?मैंने कहा- ठीक हूँ भैया आप कैसे हैं?वो बोले- क्या तुम बिज़ी हो?मैंने कहा- नहीं भैया.

आज बड़ा सॉलिड मौक़ा था, मैं भाभी को चोद सकता था लेकिन मेरी बहन के चलते मैं उस रात कुछ कर नहीं पाया. तभी आनन्द ने उसे कमरे में रखे सोफे पर बिठाया और वो घुटनों के बल नीचे बैठ गया. मैंने अपनी आँखें मूंद ली और खुद को पूरा का पूरा उसके हवाले कर दिया। सिराज नाप तोल कर धक्के लगा रहा था.

अब रहा तो मुझसे भी नहीं जा रहा था लेकिन क्या करूँ, मुझको तो आदत है तड़पा तड़पा कर चूत चोदने की. अचानक उनका पेटीकोट उनकी चुचियों पर से पूरा सरक गया तो उनका पेटिकोट नीचे गिर गया. वे बार बार मेरी पीठ पर हाथ फेर रहे थे, पर वे कुछ कह नहीं पा रहे थे.

कमर 28 की और कूल्हे 36 के थे।उसको देखते ही मेरा लण्ड खड़ा हो गया उसका नाम रोशनी था। बातों ही बातों में हमारी अच्छी दोस्ती हो गई। वो शाम मेरी अमेरिका में बिताई सबसे अच्छी शाम थी। रात के दो बजे जब नाईट क्लब बंद हुआ. मैं आपको अपने जीवन की सच्ची घटना बताने जा रहा हूँ जो कि आज से 5 साल पहले की है.

पैंटी में होने की वजह से उसको अपनी बहू की गांड इतनी कामुक लग रही थी कि अब तक उसके पायजामे के नीचे से उसका लंड टेंट बना चुका था. इतना सुनना ही था कि मैंने अपने होंठ चाची के होंठों से जोड़ दिए और उनके होंठों का रस पीने लगा. तो मेरा रक्तचाप बढ़ गया। उसने अपने मिनी शॉर्ट्स को पकड़ा और अपनी चिकनी टांगों से नीचे खींच दिया।नजारा देख कर मानो मेरा कलेजा हलक में आ गया। उसने शॉर्ट्स के नीचे पैंटी नहीं पहनी हुई थी। एकदम नंगी मधु मेरे सामने पीठ किए हुए खड़ी थी और मेरा लवड़ा फटा जा रहा था।तभी उसने अपनी गाण्ड को खुजाया और फिर सर झटकाते हुए बाथरूम में चली गई।मैं बेसुध सा खड़ा था.

मेरे रोंगटे खड़े हो गए। मैंने अपना मुँह तकिया में दबा लिया और चादर को कस कर पकड़ लिया।उसने और ज़ोर लगाया.

दीदी ने अपने सर को दूसरी तरफ घुमा लिया, वो मुझे नंगा नहीं देखना चाहती थी. जब मैं उस कार के पास पहुँची तो उस आदमी ने फिर से कहा- मैडम आपको मैं आगे तक छोड़ देता हूँ. फिर उसने अपना काम करना शुरू किया पहले उसने मेरे सीने पर किस किया फिर पेट पर और फिर मेरे लंड की जड़ के पास किस करने लगी.

उसने एक होटल में 201 नंबर का कमरा बुक करवाया है और वो ऑफिस काम से आए हैं इसलिए व्यस्त रहेंगे. ये एक सच्ची घटना है जो मेरी सग़ी चुत चुदाई की प्यासी चाची के साथ हुई.

मैंने पहली बार दीदी को सोचकर मुठ मारी और सारा मुठ उनकी ब्रा और पैन्टी पे गिरा कर सोने चला गया. फिर मैं उनकी चूत पे आ गया और मैं भी चूत को कस कस के काटने और चूसने लगा. एक बार तो वो चुदाई के लिए मां गयी थी लेकिन अगले ही दिन बदल गई थी और मुझे मना करने लगी थी.

नंगी सीन बीएफ हिंदी में

इसी बीच इत्तफाक से मैंने ग्रुप सेक्स की कुछ फ़िल्में भी देखी थीं जिससे मेरी चूत ने लंड की मांग करना शुरू कर दी थी.

उसके बड़े और मोटे लंड के सुपारे के घुसते ही मेरे मुँह से कराह निकल गई- आउच. उधर चार पांच लड़के आपके बराबर में सो भी रहे थे, यदि मैं चिल्लाता तो वे सब सुन लेते तो मुझे सबसे गांड मराना पड़ती. परन्तु यश पर कोई असर नहीं पड़ा। मुझे बहुत गुस्सा और रोना आ रहा था। मैंने यश को अपने ऊपर से धकेला.

कुछ देर बाद उसने पूछा- लग तो नहीं रही?दो तीन धक्के के बाद लंड डाले रूक हुआ था. पूजा ने गोलू के सर को उसके बालों से कसकर पकड़ा और एक जोरदार सुसु का फुव्वारा उसके मुँह पर छोड़ दिया. पहली बार सेक्स करनामैंने एक बार फिर उसके पूरे जिस्म को मसल दिया और शावर के नीचे उसकी चूत लेने का सपना पूरा किया.

वो पुराने मॉडल का एक आई फोन मंजरी के लिए लाया और यह कह कि उसने नया फोन ले लिया है तो यह पुराना फोन मंजरी को दे दिया. मैं तो जैसे सातवें आसमान पर थी, इतना मजा आ रहा था कि मैं शब्दों में बता नहीं सकती.

आप सभी के उत्तर देने का भरसक प्रयास करता हूँ पर खेद है कि मैं सभी के उत्तर नहीं दे सका. राज डोगी पोज में झुका हुआ था और करण उसकी गांड खोल कर मस्ती में चाट रहा था, उसका चेहरा राज की गांड में था. मेरी ओर से भी सॉरी मेरे लौड़े क़ि मैंने अपने भैया के लंड को खाली मुठ मारने पर मजबूर किया.

उनका बंगला भी काफी बड़ा था, वहाँ जाने के बाद वो भी मुझे देख कर काफी खुश हुईं. थोड़ी देर बाद जब सोनू सो गया तो उसे मेरे पास सुला कर बोलीं कि वो नहाने जा रही हैं और तब तक मैं सोनू का का ध्यान रखूँ. काफी देर तक चूमाचाटी करने के बाद वो मेरे कपड़े निकालने लगीं और खुद के कपड़े तो उन्होंने फाड़ ही डाले.

मैंने भाभी की चुत का सारा पानी पी लिया और चुत को तौलिया से पोंछ दिया.

फिर गुरप्रीत बोला- मैं जाने वाला हूँ, कहां डालूँ?ताई- अन्दर ही डाल दो ना. मैंने उससे बोला- मैं शनिवार और रविवार को तुझसे मिलने आया करूँगी, तेरा खाने पीने का सामान रख जाया करूँगी.

जैसे ही लंड खड़ा हुआ, वो मेरे ऊपर आ गई और लंड को अपनी चूत में डालने लगी. और जैसे ही सोफा एक जगह से दूसरी जगह तक रखा, भाभी का पल्लू पूरा नीचे गिर गया था. रोशनी बोली- नहीं राहुल, मैं बहुत तेज चिल्लाऊंगी अगर तुमने विक्की का लंड मेरी गांड में फंसाया तो.

फिर हम दोनों स्टेशन जाने के लिए तैयार हुए, जाने से पहले स्वाति ने अपने बैग में से एक गिफ्ट पैक निकाला और मेरी तरफ बढ़ा दिया. मगर अब मुझे उस दिन की बात पे पछतावा होने लगा था, जो हुआ उसमें सिर्फ़ महेश का कसूर नहीं था. मुझे अन्दर बैठा कर वो मेरे लिए पानी लाईं ओर मेरा हाल चाल पूछने लगीं.

भाभी का सेक्स वीडियो बीएफ करीब 2 मिनट के किसिंग के बाद मैंने कहा- बस बस, कोई आ जाएगा, छोड़ो मुझे प्लीज़. खुद से घृणा हुई, वो बेचारी मर जाती तो!मेरी किस्मत में किसी को सुधारना तो नहीं लिखा, अब मैं उसे मेरी तरह बिगाड़ूँगी नहीं, नहीं तो सचमुच वो भी मेरी तरह लंड की अधीन हो जायेगी और लंड के लिये तड़पेगी, और कभी ना कभी बेचारी बदनाम हो जायेगी, इसलिये मैं अब मैं उसे किसी भी तरह ने नहीं उकसाती.

नंगी पिक्चर सेक्सी वाली

इसके बाद वो थोड़ी सी रिलॅक्स हुई और उसने मुझे बहुत प्यार से मुझे देखा. अब भाभी को पलटा कर उनके तने हुए चूचों को देखा तो मेरा लंड और अकड़ कर खड़ा हो गया. वो इतनी अधिक चुदासी थीं कि मैंने अपने फ्रेंड्स और सीनियर्स को भीप्यासी भाभीकी चुत दिलवाई.

फिर भाभी ने मेरी तरफ देखा तो मैंने इशारे में एक बार और करने को कहा. आओ अन्दर बैठो, अच्छी लग रही हो यार…अवी मस्त लग रहा था, मैंने भी कहा- तुम भी अच्छे लग रहे हो. नेपाली x वीडियोमैं उसको बोला- ममता भाभी मैं सिर्फ आपकी चूत को देखूंगा और हाथों से ही सहलाऊँगा, लंड अन्दर नहीं डालूँगा.

मंजरी ने बहुत बार पुलकित के लंड को अपने हाथ में पकड़ कर देखा था, एक दो बार पुलकित के कहने पर अपने मुंह में लेकर चूसा भी था.

फिर मैंने ज्यादा समय न लगाते हुए सीधा अपने होंठों को उसके होंठों पर रख उन्हें चूसने लगा. मैंने उसकी पैंटी को नीची करके पैड को हटाया और वहां पे अपनी उंगली को थूक से गीला करके उसको सहलाने लगा.

शायद हमारे माँ बेटे के रिश्ते की शर्म के कारण! इसी कारण मैं भी ज्यादा खुल नहीं पा रही थी. अचानक भाभी ने मुझे अपने ऊपर खींच कर लिटा लिया और मुझे किस करने लगीं. विवेक ने उसकी टांगें फैला कर अपने लंड को उसकी खुली चुत में घुसा दिया और झटके पे झटका देने लगा.

मेरे साथ साथ अंजलि ने भी परम आनन्द को प्राप्त कर लिया था जो उसके चूतड़ उछालने और उसकी सिसकारियों, किलकारियों से स्पष्ट दिखाई दे रहा था.

उसने मेरा हाथ अपने लंड पर अचानक से रखवा दिया और मैंने तुरंत ही अपना हाथ हटा लिया. मैंने लंड पूरा बाहर निकाला तो चुत में से ढेर सारा पानी भी बाहर आ गया. इसी के साथ उसका छोटा सा मुंह भी अब अधिक खुलना शुरू हो गया, जिसके फलस्वरूप जमैका अपने काले सर्प को उसके गले तक अन्दर घुसेड़ना चालू हो गया था.

आगरा वीडियो सेक्सचूत रस पिघल पिघल कर चूत के चारों तरफ फैल कर चूत को तैयार कर रहा था. अब मुझे वो आदमी काफ़ी भला और शरीफ लगा, तो मैंने कहा- मैं बहुत थक चुकी हूँ, मुझे आप आगे किसी भी ऐसे स्टैंड पर छोड़ दीजिएगा, जहां से मैं पब्लिक ट्रांसपोर्ट ले सकूं.

देसी लड़की का सेक्सी बीएफ

थोड़ी देर बाद कमल मुझसे दूर हट गया, पर मेरा मन तो आज कुछ और करने को था. अब मैं खुद को रोक नहीं पाया और मैंने बिना कोई जवाब दिए उसे अपने ऊपर झुका लिया और हमारे होंठ स्वतः ही जुड़ गये. मैं नहा कर बाहर आया तो सिर्फ़ टॉवल लपेटी हुई थी और नीचे कुछ भी नहीं पहना था.

मंगलवार की दोपहर में जैसा मैंने कहा था अमित ने कॉल किया- हैलो मिनी, उस दिन के लिए आई ऍम सो सॉरी. लेकिन वास्तव में तो आज का दिन सफ़ेद पत्नी के मुंह में दो मोटे लंडों का दिन था!थोड़ा विश्राम कर चुकने के बाद दोनों मर्द अपने स्थान बदल चुके थे और जमैका ने मेरी पत्नी को अपने लंड पर गांड रखते हुए बैठा दिया. ओके पूजा तुम कल 11 बजे मेरी छत वाले रूम में आ जाना, हम सब वहीं पढ़ते हैं.

कुछ रशियन लड़कियाँ छोटी-छोटी बिकनियों में पानी से अठखेलियाँ कर रही थीं. हमें चूसो, खा जाओ!मैं उसकी ब्रा के ऊपर से उसके बूब्स चाटने लग गया और उसने मेरी शर्ट निकाली और मेरे नंगे बदन को चाटने लग गई. लेकिन शायद मोना जोया की चूत देखना चाहती थी, इसलिए उसने बिना देर किए उसकी पेंटी भी नीचे खींच दी.

यार इस ड्रेस में मैं अवी से मिलूंगी तो क्या होगा और इसे पहनना क्या ठीक रहेगा या नहीं? वैसे ड्रेस अच्छी थी पर फिर भी ब्रा और पैंटी की क्या जरूरत थी. घुटनों तक मेहंदी लगी थी। हर एक पल मेरी पायल और चूड़ियाँ छन-छन कर रही थीं।मेरे गोरी टांगों पर कुछ बाल भी थे और बगलों पर भी.

इसी तरह की बात करते हुए वो जब रोटी बनाने लगी, तब मैं उसके पीछे जाकर खड़ा हो गया और उसकी पीठ को अपने हाथों से सहलाने लगा, मैं कभी इधर कभी उधर.

दीदी- ना बाबा ना, चूत में इतना बड़ा मूसल घुसा कर मेरी चूत का भोसड़ा बना दिया तूने और मेरी गान्ड की तो सील भी नहीं खुली अभी तक, गान्ड में तेरा मूसल लेके मरना है क्या मुझको!मैं- सच में दीदी? आपकी गान्ड ने अभी तक किसी लंड का स्वाद नहीं चखा है क्या?दीदी- नहीं सन्नी… अभी तक मेरी गान्ड में लंड क्या उंगली भी नहीं घुसी है किसी की. सो क्यूट का मतलबफिर ऐसे ही वीडियो देखते वक्त उनके शादी की वीडियो आई, तो मैं उनसे पूछने लगा- आपकी शादी कब हुई और आपके बच्चे किधर हैं?इस सवाल से मधुरा का थोड़ा मूड खराब हुआ और वो बोलने लगीं कि उनके पति मुझसे प्यार नहीं करते, वो बस अपने जॉब और पैसों से प्यार करते हैं. सेक्सी दे सेक्सी दे सेक्सीयश समझ गया और मेरे ऊपर लेटकर कन्धे पकड़कर उसने एक झटका मारा। मेरे मुँह से हल्की सी चीख निकल गई। परन्तु मैंने होंठों को भींच लिया। लण्ड दो इन्च अन्दर चला गया था। मेरा दर्द देखकर यश रुक गया परन्तु दर्द होते हुए भी मैंने नीचे से गाण्ड हिला कर यश को चोदने के लिए इशारा किया। यश ने लण्ड थोड़ा बाहर खींचा और फिर धकेल दिया। मुझे फिर दर्द हुआ. मैं अपने रास्ते पर ही था कि अचानक से एक कार मेरे बिल्कुल पास से आगे निकली, जिसमें मेरी दीदी आगे बैठे हुई थीं, मैंने दीदी को पहचान लिया था.

चाची तो झड़ गईं, पर मेरा अभी नहीं हुआ था, उनकी चुत का गरम माल मुझे मेरे लंड पे महसूस हो रहा था.

सुबह सात बजे दूध वाला आया तो मेरी नींद खुली, देखा क्या… कि दीक्षा बिस्तर पर नहीं थी. ऐसे आनन्द ने उसे 10 मिनट तक चोदा और उसने मोना के पेट पर अपने गर्म वीर्य की पिचकारी दे मारी. फिर अचानक मेरे लंड ने जैसे विद्रोह कर दिया और मेरे बदन ने रिफ्लेक्स एक्शन किया और अनचाहे ही मेरे जिस्म में हरकत हुई और मैंने बहूरानी के जिस्म को अपने आगोश में भर लिया.

वहां ज्यादातर इंडियन ही थे।वहां मैंने अपने कपड़े उतार दिए और ब्रा पैंटी में आ गयी. लेकिन मैं आज आपको थैंक्यू कहने आई हूँ, क्योंकि आपने मेरी चूत फाड़ दी और आज मुझे अपनी मटर की लुल्ली दिख रही है. मुझे पटा था कि मैं फर्स्ट क्लास का माल हूँ चोदने के लिए!चाचा और मैं, हम दोनों धीरे धीरे एक दूसरे के करीब आने लगे थे.

नंगी पिक्चर दिखाएं वीडियो

”अंकल की बात से मैं रोमांचित हो उठी, मेरे जिस्म में स्टीव के सहलाये जाने के कारण सिरहन सी हो रही थी. ओके नाराज़ मत हो मुझसे।वो खुश हो गया और मेरे होंठों पर किस कर दी, मेरी थोड़ी सी लिपस्टिक उसके होंठों पर लग गई।वो- चाची, आपको बहुत दर्द होगा क्या?मैं- कोई बात नहीं तुम कर लो. अमित- सुनो और फुल मेकअप करके जाना और जो मिनी स्कर्ट और बारीक वाला टॉप अवी ने दिया था वो पहन लेना और उसी की ब्रा पैंटी, सैंडल घड़ी जो भी है, पहन लेना.

मैंने उसे अपनी बांहों में भरा और किस करने लगा, कभी उसके होंठों पे तो कभी उसके गालों पे, कभी कान की लौ पे, तो कभी गर्दन पे.

कार शहर के बाहर निकल गई और करीब बीस मिनट के बाद एक सुनसान फार्म हाउस के सामने आकर रुकी.

पूजा तुम्हारा आज का काम ये है कि तुम्हें गोलू का लंड दस मिनट तक कंटिन्यू खड़ा करके दिखाना है. अब भाभी वापस मचलने लगीं, तो मैंने उनकी मम्मे मसलते हुए कहा- साली उठ और घोड़ी बन. सेक्स पावर सेक्सयह कहानी मेरी और मेरी सेक्सी चाची की है, जो दिखने में बहुत मस्त हैं.

इसके बाद तो रोज का नियम सा बन गया था कि मैं दीदी की सेवा करता और वे मुझे तरह तरह से प्रताड़ित करते हुए मुझे अपनी चूत की चुदाई करवा लेतीं. ऐसा लग रहा था मानो मैं उसकी नाजुक फूल की कली की एक एक पंखुड़ी खोलता जा रहा हूँ. भाभी ज़ोर से चीख पड़ीं- आह… उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊऊईई… ऊओह… आआ… मर गई… बेदर्दी ने मेरी फाड़ दी… आह…मैंने तुरंत उनके होंठों पर होंठ रख दिए क्योंकि सोया हुआ बेबी जाग सकता था.

वहां पर चुदाई की सही जगह न होने के कारण मैं उसे अपनी बाहों में भर कर उसके स्तनों को चूसते हुए अपने पलंग पर ले आया और रजाई ओढ़ कर उसके स्तनों को पीये जा रहा था. वो तीनों हमारी इतनी तारीफ कर रहे थे कि हमें ही शर्म आने लग गई।तभी रानी ने केक काटने के लिये बोला जो चिंटू और परीक्षित लेकर आये थे।केक काटकर रानी ने सबसे पहले मुझे खिलाया और उसके बाद तीनों को, फिर मैं बेशर्मी दिखाते हुए उसे हैप्पी बर्थडे” बोलते ही उसके होंठों पर किस करने लगी। हमें इस तरह किस करता देखकर उन तीनों ने भी रानी के होठों पर किस दी उसके बाद हमने खाना खाया.

चूँकि मुझे उसके दर्द का मालूम था, सो पता नहीं क्यों, मुझे उस पर दया भी आने लगी थी.

मैं- बोलो दीदी, क्या बोलती हो, मेरा लंड भी अपने नर्म और पिंक लिप्स में ले के चूसोगी या मैं ये वीडियो करण को दे दूं?दीदी- सन्नी, मैं तेरी बहन जैसी हूँ; तू मेरे साथ ऐसी हरकत करना चाहता है?मैंने सोचा कि अब इसको क्या बताऊँ कि मैं तो अपनी बहन को भी चोदना चाहता हूँ- दीदी फालतू की बात मत कर बोलो, यस और नो?वो चुप रही कुछ देर!मैं- दीदी जल्दी बोलो, वर्ना मैं चलता हूँ, कॉलेज और सबको ये वीडियो दिखाता हूँ. थोड़ी देर मैं ऐसे ही उसके ऊपर पड़ा रहा और उसके पूरे जिस्म को सहलाता सहलाता, उसके होंठों पर किस करने लगा. हमारे बीच हंसी मजाक होने लगा, कभी कभी हम दोनों डबल मीनिंग बातें भी कर लेते थे.

25 साल की लड़की थोड़ी देर में मैंने अपना सारा वीर्य सुकुमारी भौजी के मुख में उड़ेल दिया और दूसरी ओर हो गया. ये मिनी स्कर्ट की तरह थी लेकिन इसमें पेट खुला या पीठ का कुछ भी खुला नहीं था.

चचा मुझसे पूछने लगे- कैसा लगा पिंकी?मैंने कहा- चाचा, अच्छा लगा पर बहुत दर्द हुआ. मैं हमेशा उसके जिस्म को याद करके गरम हो जाता था और ना चाहते हुए भी उसको चोदने का विचार मुझे हमेशा से आता रहता था. ईईई…”ममता जी बुदबाते हुए मुझे पकड़ने की कोशिश करने लगी मगर मैं थोड़ी सी जबरदस्ती करके उनकी रजाई में घुस गया और उनके मखमली नंगे बदन से चिपक गया…मेरे नंगे बदन का अपने नंगे बदन से स्पर्श होते ही ममता जी सिहर सी गयी… न.

आपकी सेक्सी

मैंने बहुत बारीक लाइन वाली पैंटी पहनी थी जिसमें सिर्फ पुसी की लाइन छुपे, तो मेरे पुसी के बाल थोड़ा बड़े थे, वो भी दिख रहे थे।मैं बाहर निकलने में शरमा रही थी तो भाभी ने बोला- चलता है आरती, यहां कोई नहीं, सिर्फ लेडीज़ हैं और पापा लोग!जैसे ही मैं बाहर निकली और कपड़े जहां रखे थे, वहां पहुंची तो वहां कपड़े वाला बैग नहीं था।मैंने भाभी को आवाज लगा दी- भाभी कपड़ों का बैग नहीं है. मेरे मन में तो ये सोच कर ही लड्डू फूट रहे थे कि जब कोई मालिश के लिए कहे तो उसका क्या मतलब होता है. फिर मुझे मजा आया तो चूत पर पूरा मुँह लगा दिया और चूत को अपने मुँह में भर के चूसने लगा.

कुछ देर उसने अपनी उंगलियों से मेरी चुदाई की तो मेरा संयम ख़त्म हुआ और मैं भरभरा कर झड़ गयी. मेनका- अतुल, क्या मैं तुझे अच्छी नहीं लगती?मैं- लेकिन दीदी, आप मेरी दीदी हो!दीदी ने एक किस और की और कहा- भाई, प्यार रिश्ते नाते देख के नहीं होता, बस हो जाता है.

जब वो फ़िर से नॉर्मल हुईं तो मैंने फ़िर से धक्का दिया, इस बार मेरा लंड काफी अन्दर घुस गया था.

मगर कम्बख्त दोनों इतना शिद्दत से मुझे ठोक रहे थे कि पूछो मत!कुछ ही समय में मेरे सामने एक और लंड आ खड़ा हुआ. जब मैंने अन्तर्वासना पर इतनी सारी कहानियाँ पढ़ीं, तो मेरा भी मन किया कि मैं भी कुछ इन सब कहानियों से अनुभव लेकर अपनी कहानी भी लिखूँ. मैं दूध का पैकेट लेने चला गया, क्योंकि मैं अकेला रहता हूँ और चाय के लिए दूध चाहिए था.

इस चुदक्कड़ परिवार की सेक्स स्टोरी की रसधार का अगले अंक में फिर से मजा लीजिएगा. मैं- अच्छा ठीक है फिर मैं तैयार हो लूँ?अमित- सुपर सेक्सी बन कर जाना ओके बाय. लण्ड चूसते चूसते चिंटू ने मेरी स्कर्ट निकाल ली और मुझे पूरी नंगी कर दिया.

वैसे तो गांव की देसी लड़कियां मेकअप नहीं करतीं मगर कुदरत का करिश्मा होती हैं.

भाभी का सेक्स वीडियो बीएफ: फिर मैंने अपने लंड को उसकी बुर पर थोड़ा सा रगड़ा और साँस खींच कर एक बार में ही अपना सुपारा उसकी बुर में फंसा दिया. फिर जब वो काम करके वापस जाने लगी तो मेरे पास मेरे कमरे में आई और बोलने लगी कि क्या हुआ है, अब तो आप बात भी नहीं करते?मैं चुप ही रहा तो वो फिर से बोली- देखिए मैं ऐसी औरत नहीं हूँ.

लगभग बाहरवीं कक्षा तक तो उसकी कोई गर्लफ्रैंड तक नहीं थी।बाहरवीं क्लास में उसकी चचेरी भाभी अंजना उनके घर कुछ दिनों के लिये आई उसे फुद्दू से चोदू बना गयी।अंजना की उम्र 38 साल के आसपास थी. लिफाफा वहां से कुछ दूर मेज पर था मैं उठ कर उसे लेने के लिए गई और ले कर वापस आकर बैठ गई. लगभग 5 मिनट के किस के बाद मैंने देखा कि मोना मुझे खाने की नजर से देख रही है.

फिर मैं बेड पर ही खड़ा हुआ और अपनी जीन्स एंव अंडरवियर को निकाल दिया और मेरा 6 इंच का खड़ा लंड उसकी आँखों के सामने आ गया, उसने शर्म से अपनी आंखें नीचे कर ली.

अब ब्रायन ने कहा- तू मेरे ऊपर से आ जा!मम्मी ब्रायन के ऊपर आकर हाथ में लंड पकड़ कर अपनी चूत में घुसाने लगीं और एक झटके में नीचे लंड पर बैठ कर एकदम से चिल्लाने लगीं. ”पर अब तक तो दिनेश ने अपना सुपारा उसकी चूत के दाने पर रगड़ना शुरू कर दिया था जिसके कारण वो और गर्म होती जा रही थी और उसकी सिसकारियाँ निकलनी शुरू हो चुकी थी- आह… उम्म… नन नहीं अहह!क्या न करूँ?” दिनेश ने आरुषि की आंखों में आँखें डाल के पूछा।आह… आह… मत रगड़ो… मैं आपकी बहू हूँ. मुझे उम्मीद ही नहीं थी कि इतने कम समय में जान पहचान में ही उन्होंने मुझे टाइटली हग कर लिया.