इंडियन बीएफ इंग्लिश पिक्चर

छवि स्रोत,जानवर फुल सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्राउज़र को चोदा: इंडियन बीएफ इंग्लिश पिक्चर, कहीं तो चुदती ही होगी मगर वो गांव के लड़कों के झांसे में नहीं आती थी.

इंडियन कपल सेक्स

अभी दो चार कदम ही चला होऊंगा कि अरुणिमा के बगल में गुरबचन जी की गाड़ी आकर रुकी. राजस्थानी व्हिडिओ सेक्सफिर मैंने मोबाइल बंद करके रख दिया और भाभी को देखने बगल वाले रूम में गया.

रविवार को सुबह सुबह किसी के इस तरह से घंटी बजाने से मुझे बड़ी भुनभुनी आ रही थी. छक्का की सेक्सीसुलेमान पूछ रहा था कि मुझे बच्चा क्यों नहीं हुआ? हज़्बेंड मीहांक कैसे हैं?मैं पूछ रही थी कि उसकी बीवी में क्या कमियां हैं.

कुछ देर बाद काफी काम करने के बाद मैं कुछ थक सा गया था तो एक पेनकिलर दवा लेकर सो गया.इंडियन बीएफ इंग्लिश पिक्चर: तभी आसिफा ने कहा- अम्मी की सहेली एक घंटा से पहले नहीं जाएगी, चलो हम दोनों बेड पर ही चलते हैं.

करीब 2 बजे मेरी आंख खुली तो मैं नंगा ही भाभी के बिस्तर पर था और मेरे ऊपर एक पतली चादर थी.पापा की मौत के बाद मेरी मॉम का 2-3 मर्दों के साथ चक्कर चल गया था क्योंकि उनसे अपनी जवानी संभल नहीं रही थी लंड के बिना.

कहानी अच्छी वाली कहानी - इंडियन बीएफ इंग्लिश पिक्चर

वह भी नयी नवेली दुल्हन की तरह शर्माने लगी और होंठों को चूसने में पूरा सहयोग करने लगी.हम दोनों पहले से ही नंगे थे रो अंग से अंग रगड़ कर वासना भड़का रहे थे.

मैंने घर में मां से पूछा, तो मां ने बताया कि जया दो बार से लगातार बारहवीं की परीक्षा में फेल हो रही है, जिस वजह से उसकी शादी करने में दिक्कत आ रही है. इंडियन बीएफ इंग्लिश पिक्चर मैंने उससे कहा कि ये तुमने ऐसा क्यों किया?उसने इठला कर कहा- मैंने बदला लिया है.

दोस्तो, आप सभी ने मेरी अब तक की सभी कहानी पसंद की हैं और उम्मीद है आगे भी करोगे.

इंडियन बीएफ इंग्लिश पिक्चर?

चौधरी जी मेरा ज्यादा ही ख्याल रखते हैं, मैं उनकी एकमात्र कानूनी बीवी हूँ, बाक़ी लोगों की असली बीवी उनके गांव में रहती है. अब मेरा निकलने वाला था तो मैं वैसे ही बड़बड़ाने लगा और भाभी के चूतड़ पकड़कर लेजी से लंड आगे पीछे करने लगा. मेरी चूत अब ये सब संभाल नहीं पा रही थी।मैं सुबह से ही गीली थी, इन दोनों के छूने से अब पानी कच्छी से बाहर बहने लगा।इससे पहले की दीपक जान पाते, मैं थोड़ा हिली.

कुछ देर में वो लड़का दीवार कूद कर अन्दर आ गया और दोनों कमरे में चले गए और दरवाजा लॉक कर लिया. मैंने कहा- सब ऐसे ही बोलती हैं, जिससे चुदती हैं, उसका ही मोटा बताने लगती हैं. हम दोनों को ही बहुत मज़ा आया दोस्त!ऐसे बातें करते हुए हम ने फ़ोन चुदाई का खूब मज़ा लिया.

वो भी शायद झड़ गई थी क्योंकि 5 मिनट पहले उसने मुझे रोका था कि अब निकाल लो लेकिन मैं माना नहीं था. धीरज भी मुझे नए नए होटल में ले जाते और वहां अपनी रातें मेरे साथ रंगीन करते।कई बार दीपक और धीरज ने चाहा जो बस में हुआ वो बार बार हो. चूंकि मैंने अपनी एक गोटी अभी पाले के बाहर ही रखी थी तो उसे मैं जाने नहीं देना चाहता था.

मॉम के बूब्स उछलने लगे थे और मैं उनको देख देख कर लंड अन्दर बाहर करने में लगा था. मेरे मुंह में थोड़ा सा आयेशा का मूत भरा हुआ था तो वो मैंने उसके मुंह में डाल दिया जिसे हम दोनों ने पी लिया.

संजना ने नीले रंग की साड़ी पहनी हुई थी, हाथों में मेहंदी भी लगी थी और उसने अपनी कलाईयों में चूड़ियां पहनी हुई थीं.

पिंकी भाभी जब मेरे टोपे पर जीभ से धीरे से सहलातीं तो मुझे बहुत अच्छा लगता.

नेहा और विकास एक दूसरे में ऐसे चिपक गए, जहां पर हवा जाने की कोई जगह नहीं हो. मैंने उसकी बड़ी गांड को पूरी रात तसल्ली से चोदा था जिसके कारण उसको सुबह चलने में भी थोड़ी परेशानी हो रही थी. मेरी चूचियों को भैया ने भी अपने सीने में महसूस किया और वो पीछे को झुक कर मुझे अपने सीने पर लगभग लिटा कर मुझे महसूस करने लगा.

चल … आज मेरे ऊपर चढ़ जा और चोद दे मुझे!यह सुनकर मैं चाची की चूचियों को चूसने लगा और वो हल्की आवाज में कामुक सिसकिरियां भरने लगीं. दोस्तो, मैं शालिनी आपको अपनी चूत गांड की चुदाई की कहानी में अगले भाग में मिलूंगी. पर शायद उसको सच में ज्यादा दर्द हो रहा था, उसकी आंखों से पानी निकल आया था.

मैंने अपनी बहन को लंड पर चॉकलेट लगा कर मुँह मीठा करवाने का मन बना लिया.

लेकिन मैं जल्दबाज़ी भी नहीं करना चाहता था इसलिए मैंने रुकना ही सही समझा. सागर, जिसकी शादी थी उसकी मां हमारे पास आयी और मुझसे बोली- बेटा मेरा एक काम कर दे. अब हम दोनों बहुत थक गए थे और सुबह जल्दी निकलना भी था तो अब ऐसे ही एक दूसरे को हग करके सो गए.

फिर मैंने बायां हाथ उनकी कमर पर से सरकाते हुए उनकी गांड के उठान पर रखा. मैं होटल में अकेली बैठे बैठे बोर हो गई थी तो मैं वहीं आस पास बाहर पैदल घूमने निकल गई. वो थोड़ा विरोध कर रही थीं मगर मुझे पता था कि वो भी चुदना चाहती हैं इसलिए मैं लगा रहा.

मैंने भी अपनी शर्ट निकाल दी और अपने सीने से कसके बांहों में जकड़ लिया.

मेरा मोटा लंड एकदम कड़क हो गया था वो मॉम की गीली चुत की फांकों में चला गया. दोनों बुरी तरह से थक चुके थे इसलिए सुबह 11 बजे तक हम दोनों सोते ही रहे.

इंडियन बीएफ इंग्लिश पिक्चर मैंने भी एक हाथ से उसकी पैंटी उतार दी, जिसमें उसने भी ऐसे सहयोग किया मानो उसको चुदवाने की ज्यादा जल्दी थी. विक्रम- रंडी, अब मेरी तरफ पीठ करके मेरे लंड पर बैठ, हम तुम्हारी गांड में दो लंड एक साथ डालेंगे.

इंडियन बीएफ इंग्लिश पिक्चर प्रिया उस वक्त बिल्कुल भी होश में नहीं थी और पूरी मस्ती में मेरे साथ झूम रही थी. अब मुझसे रुका नहीं जा रहा था, मैंने लंड चूत में लगाया और अन्दर डालने लगा.

जब मैंने रूम की सफाई की तो मैंने गिन गिन कर इस्तेमाल किए हुए 43 कंडोम पालीथिन में भर कर कचरा गाड़ी में डाले थे.

चोदा चोदा बीएफ

फिर मैंने पांव हटा दिया और थोड़ी देर दूर सोने के बाद मैं फिर से उनकी तरफ हो गया. उन्होंने मुस्कुरा कर मुझे रात को खाना खाने के लिए बुलाया क्योंकि वो घर पर अकेली थीं. मैंने बेख़ौफ़ अपना हाथ उनकी जांघ पर रख दिया और धीरे से अपने हाथ को उनकी चुत तक सरका दिया.

मगर उसके लंड के प्रहार होते ही मैं एकदम से चिल्ला उठी- आआह मर गई … सुलेमान … आआह सुलेमान मर गई मैं … आह धीरे!वो रुका ही नहीं, बस मेरी चूत को चीरता चला गया. भाभी भी हमेशा सज-धज कर रहतीं, जब भी मैं जाता, तो मुझे वो आकर्षक लगने लगी थीं. रिया ने कहा कि अच्छा चल तो बता तूने अब तक अपनी चूत में कितने लंड लिए हैं?ये सुनकर सब लोग हैरानी से मेरी तरफ देखने लगे, जैसे सब मेरे जवाब का बेसब्री से इन्तजार कर रहे थे.

अपने बॉल जैसे बड़े बड़े चूचों को ढकने के लिए टाइट लोकट वाला ब्लाउज पहनती हैं जिसमें से उनके आधे से अधिक दूध झलकते रहते हैं.

अरुणिमा का सर गले के पास से टेबल से थोड़ा नीचे लटका हुआ था, सो तीसरा आदमी उसके मुँह में अपना लंड डाल कर उसका मुँह चोद रहा था. उसे बहुत दर्द हुआ और उसके मुँह से आवाज निकल गई- आह्हह उम्मम्म आई … मर गई मम्मी. मेरे पहुंचते साथ ही उन सबने एक साथ अरुणिमा के तीनों छेदों को चोदना चालू कर दिया था.

मैंने इसी बीच अपना एक हाथ उनके ब्लाउज में डाल दिया और उनकी एक चूची के निप्पल पर उंगली फेरने लगा. भाभी को नंगी करके मैं उनके चूचों पर टूट पड़ा और उनकी चूत को सहलाने लगा. मोहित ने कहा- मतलब?मैंने कहा- तुम सबकी गांड मारने को तो मैंने ऐसे ही मजाक में कहा था.

मुझे डर थोड़ा कम लग रहा था क्योंकि मेरे और साक्षी के बीच काफी खुली खुली बातें हो चुकी थीं तो ये तो तय था कि साक्षी शोर नहीं मचाएगी. धीरे धीरे मेरा लंड खड़ा हो गया और उन्होंने मेरी पैंट की फूली हुई पहाड़ी को देख लिया.

वो जोर जोर से सांसें लेने लगी और शिथिल होकर मुझे आराम से चूमने लगी. पढ़ाई के बीच, मैं उसके शरीर को किसी न किसी बहाने से छूने की कोशिश करता. मैं उसे उसके घर छोड़ने जा रहा था तो रास्ते में ही उसने मेरा लंड चूत में ले लिया.

मामी ने कहा- एक नंबर का हरामी है तू!मैंने कहा- तू चाहे तो मादरचोद भी कह ले, आख़िर मामी मां समान होती है.

उसके स्तन से खेलने में मजा आ रहा था, मुलायम स्तनों को दबाने से मेरा लंड और कड़क हो गया था. उसने पहले लंड पर हाथ लगाया और शैम्पू डाल कर कहने लगी- अब चोदो, मेरी चूत साफ हो जाएगी. प्रिया मुस्कुराती हुई बोली- कैसा?मैं- मुझे तुम्हारे साथ आयल सेक्स करना है.

वो हंस दी और मुझे चूमती हुई बोली- सच में राजा, मेरी प्यास बुझा दी तूने!इसके बाद क्या हुआ, मैं अगली सेक्स कहानी में लिखूँगा. विश्वेश्वर जी बोले- भड़वे तुझे चोदना है … तो घर में चोद लेना, हमारे लंड को क्यों इंतज़ार करवा रहा.

इधर हैरी ने मुझे गर्म करके छोड़ दिया था और उधर मेरे पति ने मुझे चूत चुदवाने की आजादी दे दी थी. उस रात आयेशा और मैंने एक जोरदार लेस्बियन सेक्स किया और ऐसे ही नंगी दोनों एक दूसरे से चिपट कर सो गईं. वो अपना एक दूध मेरे मुँह में देने लगी और मादकता से मेरे मुँह में दबे निप्पल को अपनी दो उंगलियों से ऐसे दबाने लगी, जैसे वो किसी बेबी को दूध पिला रही हो.

ससुर और बहू की बीएफ हिंदी

थोड़ी देर तक वो ऐसे ही लेटी हुई मेरी चूत का रस अपने बॉयफ्रेंड के लंड को पिलाती रही.

फिर जैसे ही मैंने उसकी चूत पर जीभ लगाई, एकदम से उसके मूत की धार मेरे मुंह में आ गयी. भाभी ने कहा- तुम अपने कमरे में जाओ, अभी थोड़ी देर बाद मैं वहीं आ जाऊंगी. वह चुदते समय बहुत चिल्ला रही थी क्योंकि मेरा लंड उसकी टाइट चूत में फंसता सा आ जा रहा था.

अपनी बारी चल कर मैं अपने हाथ उसकी नंगी जांघों पर रख लेता था और उसके खेल के साथ उसके मांस को सहलाता, मसलता, कभी कभी भींच भी देता था. इस समय मैं उससे बिल्कुल सटकर बैठा हुआ था, जिससे मेरी छाती उसकी पीठ से लगभग जुड़ी हुई थी. योनि कितनी गहरी होती हैदूसरे दिन रात की 9 बजे की बस से जाना था, जो हमको 6 बजे सुबह उज्जैन पहुंचा देगी.

जब मैंने रूम की सफाई की तो मैंने गिन गिन कर इस्तेमाल किए हुए 43 कंडोम पालीथिन में भर कर कचरा गाड़ी में डाले थे. वापस आने के बाद उसके गांड के छेद में इंफेक्शन हो गया, जिसकी दवाई मैंने उसे लाकर दी.

मॉम के बूब्स उछलने लगे थे और मैं उनको देख देख कर लंड अन्दर बाहर करने में लगा था. उसके शरीर की बनावट ही ऐसी मस्त थी कि कोई फिल्म की हीरोइन भी उसके आगे कुछ नहीं थी. मैं भी उससे चुदने के लिए रेडी थी, बस कौन पहल करे, इसका इंतजार हो रहा था.

अब चूंकि मेरी बारी कपड़ा उतारने की थी, तो मैंने ‘ठीक है …’ कहते हुए शुरूआत की. मेरी पिछली कहानीमेरी बीवी की चूत गांड चुदाई हवालात मेंमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी अति चुदक्कड़ बन चुकी बीवी की चुदाई घर पर तीन मर्द कर रहे थे. एक झटके में उसने पूरा लंड मेरी चूत में पेल दिया और जोर जोर से धक्के लगाते हुए मुझे चोदने लगा.

मैंने कहा- कोई बात नहीं, इस बार अच्छे से मेहनत करना, तो पास हो जाओगी.

दीपक आकर बोले- हम आपको ढाबे पे ढूंढ रहे थे गिनती करने के लिए, आपका फोन भी नहीं लग रहा था. वो मेरे सुपारे पर अपनी जीभ भी चला रही थी जिससे मेरा मजा दुगना हो गया.

सुनील- सजनी कैसा लगा?मैं- मैं तृप्त हो गयी, बहुत मजा आया और आपको?सुनील- मुझे जिंदगी में इतना मजा कभी नहीं आया. अपनी चाल चल कर मैंने अपना हाथ उसकी जांघ से कुछ ऊपर पैंटी के करीब रखा और उंगली से उसकी चूत को सहलाया. उसने रिया की टांगें अपने कंधों पर रखी हुई थीं और रिया के बूब्स दबाते हुए उसे चोद रहा था.

उसने चेहरा मेरी ओर किया पर इससे पहले कुछ होता, मैंने उसके हाथ पीठ से हटा दिए. मेरी कमीनी सहेली अनुष्का, मेरी एक चूची के दाने को अपने हाथ से सहला रही थी और एक चूची के दाने को मुँह में लेकर मेरी चूची के रस को पिए जा रही थी. यूँ ही खेलते हुए मैंने अपने होंठ उसके कंधे पर रखे, जिससे बीच बीच में मैं उसे चूमता और कभी कभी दांत से काट भी ले रहा था.

इंडियन बीएफ इंग्लिश पिक्चर पुलिस सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी को बाजार से ही थानेदार जी थाणे में ले गए. वो मेरे लिए महीने में वो अपनी चूत से काफी कमा रही थी, तो थोड़ा बहुत कहीं मुँह मार लेती होगी, इस बात से मुझे कोई एतराज नहीं था.

सेक्सी बीएफ ब्लू देहाती

इस बार मैंने उसको होंठों को दबाकर रखा था इसलिए वो कुछ कह नहीं पायी. भाभी भी हमेशा सज-धज कर रहतीं, जब भी मैं जाता, तो मुझे वो आकर्षक लगने लगी थीं. ये दीपक ने भी देखा, अब वो मचल रहे थे मेरे चूचे भींचने के लिए!पर संकोच कर रहे थे.

खेल खेलते हुए मैं उसे बार बार नंगे बदन से छू रहा था या उन्हें आपस में रगड़ रहा था. कुछ देर बाद हम दोनों बुआ भतीजी एक दूसरे से चिपटकर सेक्स का मजा लेने लगी थीं. सेक्स वीडियो ओड़ियाशैम्पू की चिकनाई के कारण मेरे लंड का मुंड, जिसे हम लिंगमुंड कहते हैं, संजना की गांड में घुस गया.

यदि मेरी इस जवान सेक्स से भरी आत्मकथा आपको अच्छी लगी हो, तो जरूर मेल करें.

इस बार फिर हम दोनों ने बाथरूम में काफी देर तक खूब जम कर चुदाई की और मैंने चाची के तीनों छेद को अच्छे से पेला. गेट खुलते ही सारे लड़के आयेशा को ब्रा पैंटी में देखकर उसे घूरने लगे.

मैंने कहा- मॉम कुछ नहीं होता, अभी तो हम अपने शहर से बाहर हैं और यहां हमको कौन जानता है. तकरीबन बीस मिनट बाद उनका पूरा बदन ऐंठने लगा और हम दोनों एक साथ ही झड़ गए. अब वहां की क्या परिस्थिति है, इस बात का अवलोकन और अनुमान लगाने के लिए मैंने ड्राइवर से पूछताछ करने का निर्णय लिया.

ज्योति कह रही थी- बस भी करो, कुछ नहीं होगा, मैं थकी हुई हूँ और जाकर सोना है मैंने तो! आप दोनों आपस में करते रहना जो भी करना है.

उस दिन को याद करता हूँ तो आज भी मैं वो नमकीन और कसैला स्वाद अपनी जीभ पर महसूस करता हूँ. अब कौन उनको समझाए कि रांड की शादी नहीं दल्ले होते हैं।मेरे फोन की बैटरी खत्म ना हो इसीलिए मैंने फोन एयरप्लेन मोड पे कर दिया और बैग में रख दिया।अब मैं लोगों की बातें सुनने लगी. उससे मिलते ही मैंने एक टाइट हग कर लिया और हम दोनों होटल की तरफ चल पड़े.

सेक्सी व्हिडिओ इंडियावो मेरे बूब के ऊपर हाथ फेरने लगी क्योंकि वो और मैं एक सहेली की तरह रहती थीं. मैं फिर से अपनी बालकनी में गया और सीधा मेनगेट की तरफ़ देखा तो प्रिया और वही लड़का खड़े होकर बात कर रहे थे.

साउथ की एक्स एक्स वीडियो

अब ऐसे ही पढ़ाते पढ़ाते दो दिन बाद एक घटना घटी जिससे मुझे उसको सीधे साधे चूतिया लड़के को बिस्तर तक लाने में मदद मिली. एक दिन रात में मैंने गलती से एक पोर्न वीडियो उसको व्हाट्सएप पर फॉरवर्ड कर दिया. ढीला पोला माल है, या कुछ मजेदार भी है?अम्मी ने ऊपर से जरा सी अपनी कुर्ती के बटन खोले और उन दोनों को अपने मम्मे ऐसे दिखाए, जैसे वो एक पेशेवर रंडी हो.

एक बार का आवेश सोच कर मैंने आप सबके कहने पर उसे अहसास करवाया कि मेरी मर्जी शामिल थी. अंकल को भी आंटी के सामने मुझसे अडल्ट जोक सुनाने में बड़ा मजा आता था. उसके चेहरे पर आई मुस्कान से साफ पता चल रहा था कि वो ये कह रही है कि मुझसे झूठ मत कहो.

मेरी सेटिंग इन दोनों से इस तरह से है कि हम तीनों मिल कर यौन क्रियाओं का आनन्द लेते हैं. उसने मुझे सब खुलकर बताया कि उसके बॉयफ्रेंड ने केवल एक बार ही उसके साथ ये सब किया था लेकिन वो भी बिल्कुल नाम मात्र का ही क्योंकि उसके बॉयफ्रेंड का तो मुझको नंगी देखकर ही निकल गया था और उसके बाद जब दुबारा उसने किया तो 2 मिनट भी नहीं टिक पाया. अगले दिन फिर से मैंने गुड मॉर्निंग का मैसेज भेजा, दिल वाली, किस वाली इमोजी के साथ.

मैं कभी जोर से अपने पेट को पकड़ती, कभी मोनू को रोकने की कोशिश करती मगर उसकी ताकत के सामने मेरी ताकत कुछ भी नहीं थी. अपने दोनों हाथों से उसकी गांड को थाम कर अपना लंड पूरा अन्दर तक पेलने लगा.

मैं अपने हाथ को उसकी ब्रा पर ले गया और धीरे धीरे सोनल के मम्मों ऊपर फिराने लगा.

नेहा बात भी तो सही कह रही है अगर कहीं दूसरी लड़की पटा लूंगा तो चुदाई करने के लिए जगह की दिक्कत होगी. डॉगी और लड़की का सेक्सी वीडियोउसके बाद भाभी को भी चार दिन बाद अपने मायके जाना था और उसका पति दिल्ली से लौट कर नहीं आया था. आदिवासी सेक्सी दे दोये कह कर आंटी ने मेरे लंड को अपनी चूत के छेद पर सैट किया और बोलीं- धक्का मार!मैं भी उनकी आज्ञा का पालन करता जा रहा था. मॉम- आह जान … आ आह … आह अहह ऊऊहह मां … और तेज चोद दे बेटा आंह और जोर से.

वो एक हाथ से नहीं खोल पाया तो मैंने खुद ही अपनी पैंटी उतार दी और कोने में फैंक दी.

उसके गुलाबी गाल इतने गोरे और मुलायम लग रहे थे कि अगर कोई उंगली भी मार दे, तो गाल लाल हो जाएं. मामा के घर पहुंच नमस्ते आदि हुआ और मैं मामा के लड़के के कमरे में चला गया. बीच बीच में एक बात की चर्चा होती है कि यदि किसी बड़ी बीमारी के कारण से मुझे हस्पताल में भर्ती होना पड़ा, वहां मैं लड़का हूँ, यह मालूम होने का खतरा है.

उसकी हाफ पैंट बहुत ज्यादा ही टाइट थी और उसके बदन पर बिल्कुल चिपकी हुई थी. उन्होंने अपने होंठ दबा कर कहा- तुम सिम लाकर तो दो, मैं तुम्हें अपनी सबसे कीमती चीज दूंगी. थोड़ी देर बाद वो अरुणिमा को बाहर निकल कर बीच वाली सीट पर लेटने को बोला.

पत्नी से प्यार

अंकल के जाने दो दिन बाद ऐसे ही आंटी ने मुझे ऊपर बुलाया और सामान लाने को कहा. मगर मैं उसके साथ जोर जबरदस्ती कभी नहीं करता, जब वो तैयार होती … तब ही मैं ऐसा सब करता. अब मुझे मीनू की चिंता हो रही थी क्योंकि वो इतनी ज्यादा पी चुकी थी कि चल भी नहीं पा रही थी.

मेरा लंड आधा अन्दर चला गया था, उसकी चूत की सील टूट गई थी और खून की लकीर मेरे लंड को लाल करने लगी थी.

उसने मेरे सीने पर अपना सीना रखते हुए मुझे दबा लिया और दनादन मेरी चुदाई चालू कर दी.

मैं बराबर उसकी छाती को अपने हाथ से धकेलने की कोशिश कर रही थी और कराह रही थी. फिर मोहन ने मुझे घोड़ी बनाकर पलंग के किनारे खड़ा किया, खुद जमीन पर खड़े होकर मेरी गांड का बैंड बजाने लगे. सेक्सी वीडियो अंग्रेजों कीमैंने अपने आपको काफी संयम में रखा था लेकिन उसने अपना हाथ मेरे लंड के ऊपर रख दिया.

मैंने उनकी चूत का पानी पिया तो वो आइसक्रीम में मिल कर बहुत टेस्टी हो गया था. ” वह बोली।ओ हाँ! बाँध लो।” मैं बोला।वह अपने साथ एक कपड़ा लायी थी, उस कपड़े से उसने मेरी आँखें बाँध दी।मैं तुम्हारा यह अहसान जिंदगी भर नहीं भूलूँगा. अनुष्का ने मेरी चूत को कच्छी के ऊपर से ही हल्का हल्का सहलाना शुरू किया जिससे मेरी चूत में एक करंट सा दौड़ने लगा.

मेरे चुम्बन के बाद उन्होंने कोई रिस्पांस नहीं दिया लेकिन मैं किस करते करते गाउन के ऊपर से ही अम्मी के निप्पलों को बारी बारी से चूसने लगा. फिर मैंने सोनल की नाजुक सी कमर पर अपने हाथ फेरे और अब मैं उसकी गांड में उंगली करने लगा.

तो उसने ही वीडियो का रिप्लाई देते हुए कहा कि वह वीडियो उसने पहले ही देख लिया था और वह उसका बहुत पसंदीदा पोर्न स्टार है.

ये बच्चे हम लोगों का, विशेषकर मेरे और चौधरी जी के बुढ़ापे का सहारा बनाने वाले हैं. इस वक्त सेक्स की चाहत में मुझे पता ही नहीं चला कि लंड जो मेरी चूत में घुस गया है, वो ज्यादा मोटा भी था. उसने आहें भरनी शुरू कर दीं- उम्म म मम …मैंने उसकी चुत के दाने के ऊपर सहलाना शुरू किया.

मारवाड़ी सेक्स वीडियो देखने वाला मैं आंखें खोल कर बैठ गया और वो झुक झुक कर अपने मम्मे दिखाती हुई मेरे गालों पर अपने हाथ फेरती रही. वो कुछ ध्यान करती हुई बोली- मेरे पर्स में थी … मगर पर्स तो ऑफिस में छूट गया है.

लेकिन इस चूमाचाटी में भी उसका चुदाई में धक्का देना लगातार चालू रहता. मैंने कहा- तुम्हारे घर पर कौन कौन है?उसने कहा- अभी घर पर कोई नहीं होगा. फिर मोहित ने मेरे मम्मों पर कब्ज़ा जमा लिया और मेरे बूब्स चूसने लगा.

बाथरूम मनाते हुए

अपना एक हाथ उसके कंधे पर रखते हुए उसे अपनी ओर खींचा और उसके गालों पर चूमते हुए बोला- तुम तैयार हो न?प्रिया ने भी मुस्कुराते हुए अपना सर हां में हिला दियामैंने उसे उठाया और अपनी जांघों पर बैठा लिया. शराब के दो तीन दौर के बाद विश्वेश्वर जी ने और शराब परोसने से मना कर दिया और अरुणिमा अन्दर चली गई. अब मैंने भाभी की एक टांग पकड़ कर अपने कंधे पर रखी और उसकी कमर पकड़ कर उसे चोदना शुरू कर दिया.

मदन जी ने भी नहाकर, नया कुर्ता पाजामा पहना और वो अपनी शादी के लिए दूल्हा बन गए. तो मैंने नेहा को बोला- इन सबके लंड देख यार … कैसे बाहर आने को तैयार बैठे हैं!नेहा ने कहा- आज तो बहुत मज़ा आएगा.

मस्त अंदाज़ में बैठी गोरी चिट्टी ज्योति ऐश्वर्या से कम नहीं लग रही थी।ज्योति के पास रोहित भी नाईट ड्रेस मैं बैठे थे.

मैंने साली से कहा- क्यों चिल्ला रही है … क्या कभी इतने बड़े लंड से नहीं चुदी?वो बोली- जीजू अब बस 3 बार ही सेक्स किया है. तभी मेरे घर से फोन आया तो मैंने उनसे झूठ बोल दिया कि मैं एक दोस्त के घर पर हूँ और बारिश रुकते ही आ जाऊंगा. प्रिया ने चौंक कर मेरी तरफ़ देखा और बोली- ये आप क्या बोल रहे हैं, मैं ऐसा कैसे कर सकती हूं?मैं- क्यों नहीं कर सकती, तुम चाहो तो जरूर कर सकती हो.

उसे चोदते हुए इतनी ज्यादा फिसलन हो रही थी कि मैं उसकी चिकनी कमर को मुश्किल से पकड़ पा रहा था और तेल लगने के कारण मेरा लंड फचाफच उसकी चूत में जा रहा था. मैं राजी नहीं हुई क्योंकि 6 लोगों के एक साथ चुदाई से मुझे डर लगता था और चौधरी जी का इतना बड़ा और मोटा लंड देखकर बाक़ी पांच पतियों को कुंठा भी हो सकती थी. शायद ही कोई लड़का इतने मजे लेता होगा, जितना मैं साक्षी की चुदाई का मजा ले रहा था.

मेरी हाईट 6 फीट है, मैं ज्यादा हैंडसम भी नहीं हूं पर मेरे लंड का साइज़ 7 इंच लम्बा और ढाई इंच मोटा है.

इंडियन बीएफ इंग्लिश पिक्चर: वो धीरे धीरे बेचैनी में मेरे बाल पकड़ कर खींच रही थीं मगर बहुत ज़्यादा जोर से नहीं. एग्जाम के बाद छुट्टियां हुईं तो मैंने अपनी मम्मी से कहा कि मैं मौसी के यहां जाना चाहता हूं.

हम लोग तो ऊपर वाले से दुआ करती हैं कि कभी ऐसा मौका मिले, जब रात में कोई मेरा बॉयफ्रेंड मुझे पूरा मसल कर चोद दे. कभी कभी मैं थोड़ा ऊंचा होकर उसके कंधे के पास से मोबाइल को देखता, जिससे मेरी छाती उसकी पीठ से रगड़ खाती. तुझे वो सब देखना करना अच्छा लगता है क्या?ये कह कर मैं एकदम शांत हो गया.

मैं तब कुछ समझ नहीं पाया, मुझे लगा कि वो भाभी के लड़के को लल्ला बोल रही होंगी.

मैं उनके गदराए हुए बदन पर मांस और चर्बी से भरे उनके दोनों उभारों पर अपनी वासना भरी नजरें टिकाए रहा. जैसे ही मेरी निगाह भाभी की जांघों पर पड़ी तो मेरी तो सिट्टी पिट्टी गुम हो गई. तो वो बता रही थी कि उसे बहुत ही ज़्यादा मज़ा आया, रात की चुदाई को वो भूल नहीं सकती उसे ऐसा मज़ा आया.