सेक्सी बीएफ वीडियो भेजना

छवि स्रोत,जूही चावला बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

प्लंबर फिटिंग: सेक्सी बीएफ वीडियो भेजना, मेरा सात इंच से ज्यादा का लंड मेरे अंडरवियर से बाहर आने के लिए जैसे तड़प रहा था.

हिंदी बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ

मुझे उसके साथ बड़ा आनन्द आने लगा था … और मैं भी टांगें मोड़ कर एड़ियों पर जोर डाल कर बीच बीच में अपने चूतड़ों को उठाने लगी. दीपिका पादुकोण सेकसीमैंने भाभी की चूत को अपने हाथ से मसला तो उसकी चूत काफी गर्म लग रही थी.

मेरी ये आवाज और हरकत उसके लिए आग में बारूद का काम कर गयी और जब तक मैं ठंडी होती, उसने अपने शरीर की सारी ऊर्जा धक्कों में झोंक दी. हिंदी में सेक्सी बीएफ हिंदी मेंमेरी बीवी मौसी से बोली- ठीक है, पर मुझे अभी चुदवाओ … मैं न जाने कब से तड़प रही हूँ.

वो मेरी बात सुनकर पूरी तरह से झटका खा गईं और मुझसे पूछने लगीं- तुमको उसके बारे में कहां से पता लगा?मैंने उन्हें वो मैसेज और फोटो दिखा दीं, जो मैंने उनके फोन से ले ली थीं.सेक्सी बीएफ वीडियो भेजना: भाभी भी मस्ती में अपने चूतड़ों को उछाल कर मेरा पूरा लंड अपनी चूत में ले रही थी … साथ ही अपने मुँह से अम्म अम्म की आवाजें भी निकाल रही थी.

फिर कुछ देर के बाद मामा ने मेरी मामी के गालों को किस करने कोशिश की तो मामी ने मरे मन से उनको किस करने दिया.सरस्वती ने बहुत देर तक बात कर हमें परेशान किया और बार बार वीडियो कॉल करने की जिद करने लगी.

वीर्य की पिचकारी - सेक्सी बीएफ वीडियो भेजना

मैंने उसकी चड्डी के ऊपर से ही उसकी बुर पर हाथ फेरा, तो उसकी बुर गीली हो चुकी थी.मैंने पूछा- क्यों आपके पति आपकी गांड नहीं मारते?उन्होंने कहा- मेरे पति मेरी चूत में ही सिर्फ 2 मिनट में झड़ जाते हैं … गांड लायक उनका कड़क ही हो पाता.

अनिल मेरी मॉम के नजदीक चला गया और उसने तुरंत ही मॉम को पीछे से पकड़ लिया. सेक्सी बीएफ वीडियो भेजना दस मिनट चोदने के बाद मैं औंधा होकर लेट गया और चच्चा ने मेरे पैर कन्धे पर ले लिए.

मगर मैंने उसको ऐसे ही उसके हाल पर छोड़ रखा था क्योंकि अगर एडजस्ट करने की कोशिश करता तो हवस भी साथ में झलक जाती.

सेक्सी बीएफ वीडियो भेजना?

मैंने शांत होकर ऐसे ही अंडरवियर को ऊपर कर दिया और फिर मामी को गुड नाइट बोल कर सो गया. वो सिसकारियां ले रही थीं।अब मैं धीरे धीरे नीचे सरकते हुए उनकी चूत पे आ गया, भाभी की चूत एकदम चिकनी थी. उसकी ब्रा से उसके गोल-गोल स्तनों के नुकीले दूध साफ़ दिखाई दे रहे थे.

मैंने उसको इतना किनारे खींच लिया था कि उसकी गांड बेड के किनारे पर आ गई. वो भी मेरी नजर पर नजर रखे हुए थी और शायद कुछ जानबूझकर नीचे झुक रही थी ताकि मैं उसके चूचों के उभारों को देख कर उत्तेजित हो सकूं. जैसे तैसे करके हम लोग पालदा में कार्ड देने के बाद वापस आते हुए इंदौर पहुंच गये.

अब तो मैं बस उनकी चूत के छेद में उन्हीं की चूत से निकला लंड डालना चाहता था. सुरेश- अरे यार जो मर्ज़ी ले लेना, मना किया क्या कभी … तुम्हारी पसंद की साड़ी दिलवाई थी न तुम्हें पिछली बार. मेरे दोस्त आयुष ने मुझे धन्यवाद बोला और कहा कि अब इसमे सॉफ्टवेयर भी इनस्टॉल कर दे.

फिर मैं तपाक से बोला- यार दस्तूर, मैं मिस्त्री तो हूँ नहीं … लेकिन आपको आपके घर तक छोड़ सकता हूँ … इफ़ यू डोंट माइंड!दस्तूर बोली- यार, ये तो आपका एहसान होगा … पर कार का क्या होगा?मैंने उसे समझाया- ओके तुम परेशान मत हो … यहां पर आपकी कार सेफ है … फिर जब भी आपके भाई या पापा आएंगे, तो यहां पार्किंग से कार ले जाएंगे. तुम तो एकदम से बदल गए हो यार!उसको देख कर मैं हैरत में था कि वो सीधा सा दिखने वाला लड़का इतना ख़ूबसूरत और इतना गबरू जवान हो जाएगा कि जिसकी मैं कभी कल्पना भी नहीं कर सकता था.

मैं अब पूरी तरह संभोग के लिए तैयार हो चुकी थी और इधर सुरेश भी तैयार होकर लिंग से फुंफकार मार रहा था.

मैंने बेडरूम का दरवाजा बंद नहीं किया, यूं ही खुले में उनकी चुदाई का मूड बना लिया था.

फिर उसके गले को चूमते चूमते उसके कानों के पास अपना मुँह ले गया और धीरे से बोला- अन्दर लोगी न. उसकी चड्डी घुटनों में फंसी होने की वजह से उसकी टांगें फैल नहीं पा रही थीं. मैंने कहा- साली चूतचोदी … ये बता क्या तूने पहले अपनी गांड नहीं मरवाई है क्या?भाभी ने दर्द से कराहते हुए कहा- नहीं … ये पहली बार है.

फिर बोला- कब तक डाले रहोगे?मैंने कहा- जब तक तुम चालाकी करोगे! चुपचाप ढीली करके लेटो तो जल्दी निबट जाऊंगा, वरना डाले रहूंगा. क्योंकि मैंने सोचा भी नहीं था कि मैं उन तीनों को चोदने वाला हूं … और न ही तब मेरा कोई गलत इरादा था. उसी कार्यालय में काम कर रही एक अन्य लड़की, जो दिखने में बहुत ही सुन्दर थी.

जब इंजेक्शन लगवाना हो, तो मेरे घर आ जाया करो या मुझे बुला लिया करो, मैं दर्द सही कर दूंगा.

सुरेश- मैं जानता हूं तुम्हारा पति तुम्हें वो सुख नहीं दे पाता, तो क्या तुम अपने अधिकार से वंचित रहोगी. मैं उम्मीद करता हूं कि आपको मेरी चाची की चुत की कहानी पढ़ते हुए मजा आयेगा. फिर सोमेश भैया ने कुछ स्टेप बताते हुए दीदी को पीछे से कस कर पकड़ किया और बोले- अब आगे की तरफ ताकत लगाओ.

उसने दीदी के दोनों हाथों को पकड़ लिया और दीदी के ऊपर लेट कर पीछे से लंड डालने लगा. पहले तो दोनों ने ऐसा दिखाया, जैसे सोने से पहले कोई काम था, वो कर लिया हो. मैंने मज़ाक मज़ाक में उसको बोल दिया कि तुम मेरी गर्लफ़्रेंड बन जाओ … और मुझे प्रपोज़ कर दो.

मैंने सोचा कि मामा का लंड तो मामी की चूत की प्यास को बुझा नहीं पायेगा.

मैंने आंटी से कहा- आंटी मैं नीचे लेट जाता हूं … आप मेरे मुँह पर अपनी चूत रखकर चटवाओ मुझसे … जब तक आपका दिल न भर जाए, आप उठना मत. मैंने अपने लंड पर थोड़ा था थूक लगाया और पूर्वी ने लंड पकड़ कर अपनी चुत पर रखा.

सेक्सी बीएफ वीडियो भेजना मैं कई बार जल्दी में नहाने के टाइम पर अपनी ब्रा और पैंटी को बाथरूम में ही छोड़ देती थी. कुछ देर के बाद बहू को जब उन मुस्टंडों से परेशानी होने लगी तो उसने पीछे मुंह करके मेरे कान में फुसफुसा कर कहा- बापू जी, ये जो सामने खड़े हुए हैं, मुझे इनके पास खड़ा होना ठीक नहीं लग रहा है.

सेक्सी बीएफ वीडियो भेजना दूसरी तरफ सुनील था, जो मेरी सारी जरूरतें पूरी कर सकता था पर …उस पर भरोसा कैसे करूँ … कल कुछ हो गया तो? किसी को पता चल गया तो? मेरा घर उजड़ सकता है … नहीं नहीं, यह सही नहीं है. पेशाब करने के बाद कजरी एक उंगली चुत के अन्दर डाल कर चुत को ठंडा करने लगी.

” मुझे अपनी बांहों में दबोचते हुए उसने मेरे गाल पर जोर से किस किया.

स्कूल या लड़की सेक्सी वीडियो

जब मेरा हाथ मॉम की चिकनी चूत के पास गया, तो मॉम ने अपने दोनों पैरों को फैला लिया. हम दोनों के मुँह से लार गिर रही थी जो बता रही थी कि हम कितने प्यासे होंगे।मैंने उसे बिस्तर पे लिटाया और गर्दन पे दाँत गड़ा दिए … उसकी आहें मेरा तूफान बढ़ाने में सहायक हुई और मैंने उसकी ब्रा को अलग करते हुए उसके बेशक़ीमती चूचों को जमकर रगड़ा. इसी बीच बातों-बातों में पता चला कि उसकी केवल एक बेटी है, जो बाहर पढ़ रही और पत्नी का 2 साल पहले बीमारी की वजह से स्वर्गवास हो गया.

मुझसे ज्यादा देर बर्दाश्त नहीं हुआ, तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और बोला- मुँह में ले लो. उसके बाद मैंने बात को आगे बढ़ाने की कोशिश करते हुए मामी को आवाज दी. पर चाय खत्म होते होते उसने आखिर अपने दिल में छुपी बात कह दी कि वो मुझसे प्यार करता था.

रीता की चूत में जब मेरा लंड जाता, तो सोनम की चूत को चाटने का मजा भी उन दोनों को मिल जाता.

मैंने उसकी गर्दन को पकड़ लिया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर उनको चूसने लगा. शायद आपको इस वजह से लग रहा होगा।सर- अच्छा एक छोटा सा काम था तुमसे।मैं- जी कहिए।सर- अगर तुमको कोई एतराज ना हो तो मैडम को उनके मायके छोड़ दोगे?मैं- जी कब जाना है?सर- आज दोपहर को निकलना है उनको. मैं फेसबुक पर अपनी क्रॉसड्रेसिंग आईडी से काफी लोगों से बात करती थी.

वैसे तो हमारी सोसाइटी में सब कुछ पास ही था, पर कुछ जरूरत पड़ती थी, तो ही सुनील हमारे यहां आ जाता. लगभग 34 इंच के बूब, कमर 28 इंच की … और 34 इंच की तोप सी उठी गांड थी. मैंने मां के बारे में बताया तो चाची ने कहा कि ठीक है मैं फिर बाद में आऊंगी.

राजशेखर ने कहा- बिल्कुल मेरी जान, इसकी प्यारी गीली चुत खराब थोड़े करूंगा. जैसे ही भाभी ने मूतने के लिए अपनी साड़ी उठायी, तो उनकी गोरी गोरी गांड को देखकर मुँह से आह निकल गई.

मगर बाथरूम से पहले ही मैंने देखा कि दीदी मम्मी के कमरे में कुछ देख रही है और अपने हाथ से वो अपनी सलवार के अन्दर कुछ हिला भी रही है. मैंने वहां से एक चाय ली और चाय पीने के लिए वहीं पड़ी एक कुर्सी पर बैठ गया. ट्रेडमिल पर दौड़ते समय उसकी गांड हिलती, तो सभी लड़के मज़ा लिया करते थे.

तुम सब के लिए 15 दिन के बाद की बुकिंग हो सकती है … करना हो तो बोलो … रंडी तुम्हारी हो जाएगी.

वह एक साधारण, घरेलू, शादीशुदा औरत हैं। उसके पति सरकारी नौकरी करते हैं. अब मैं जन्मजात नंगा था। मैंने भाभी को सीधा लिटाया और खुद उनके पैरों के पास आ गया।मैंने भाभी के पैरों के तलवे चाटने शुरु किये. बाद में नौकरानी को पटाया, पैसे दिए बहुत खर्चा किया … पर उसके साथ भी केवल वही मिला … सिर्फ शरीर की भूख मिटी.

पहले तो दोनों ने ऐसा दिखाया, जैसे सोने से पहले कोई काम था, वो कर लिया हो. दो इंच लंड अन्दर जाते ही वो मस्त हो गयी और बोली- धीरे क्यों कर रहे हो … मैं कोई बच्ची हूँ क्या … एक बार में ही पेल दो ना!मैंने उसके आग्रह को स्वीकार करते हुए एक ही साँस में पूरा धक्का मार दिया उसकी दोनों आंखें उबल कर बाहर आने को हो गईं.

मैं उसे किस करने लगा, किस करते हुए मैंने एक जोरदार झटका मारा, तो मेरा लण्ड उसकी चूत को चीरता हुआ आधा अंदर चला गया. पायल को मैंने बेड पर गिरा लिया और उसकी टांगों को उठा लिया उसकी चूत में लंड को लगा दिया और उसके ऊपर दबाव बनाने लगा. मामी ने दो मिनट के अंदर ही मेरे सारे कपड़े उतार कर मुझे पूरा नंगा कर दिया.

आदिवासी सेक्सी नंगा

वो होटल ज्यादा अच्छा तो नहीं था मगर इस तरह के कामों के लिए बहुत उपयुक्त था.

मिहिर ने पहली रात को कहा था कि वो नाश्ते के समय पर पहुंच जायेगा और मेरे घर आकर ही नाश्ता करेगा. जैसे तैसे जोर लगा कर मामाजी ने मेरी गांड में डाला और मेरे ही ऊपर पसर गए. जब वो मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर सहला रही थी तो लगा कि जैसे मेरा वीर्य कुछ ही पल में निकल जायेगा.

दोस्तो, ये थी बहन भाई की चुदाई की कहानी … आपको कैसी लगी … आप लोग मेरी बहन औऱ भाभी पर अपने गंदे कमेन्ट कर सकते हैं. सुरेश का लिंग झड़ने के बाद सिकुड़ कर छोटा जरूर हो गया था, मगर सुपारा मेरी योनि में ही अटका रह गया था. राजस्थानीसेक्समैं अपनी सेक्स कहानी को लेकर हाजिर हूँमेरी पिछली सेक्स कहानीछत पर देवर भाभी सेक्स स्टोरीमें आपने पढ़ा था कि आखिरकार मैंने अपनी प्रिया भाभी को चोद ही दिया था.

उन्होंने बोला- नहीं नहीं बाहर नहीं रहते … वह दादा दादी के यहां पर गए हैं बच्चों को लेकर … बस 2 दिन बाद आ जाएंगे. जब दो मिनट बाद हम नार्मल हुए, तो उसने मेरी आंखों पर, मेरे गालों पर … मेरे माथे पर चुम्बनों की बौछार कर दी.

मैं भाभी के गोरे गोरे पैरों को देख रहा था … क्या गज़ब की टांगें लग रही थीं. अब मुझे चोदने के लिए हर दूसरे हफ्ते लड़की चाहिए होती है, इसीलिए मेरी कई जुगाड़ें हैं, जिन्हें मैं गाहे बगाहे चोदता रहता हूँ. उसने लिखा था- काश कोई मर्द उसके साथ दर्द और प्यारी सी तकलीफ देते हुए सेक्स करे … उसके जिस्म को कुचल डाले, मसल डाले बिना कोई दया दिखाए हुए! रौंद डाले उसके जिस्म को!सब दंग रह गई उसकी सेक्स फेंटेसी सुन कर!किरण ने लिखा- मेरा पति कभी मुझे मुखमैथुन का सुख नहीं देता.

जैसे ही मेरा हाथ उसकी चूत पर गया तो मानो उसको करंट लग गया हो, वह उछल गयी और मुझसे लिपट गई।मैंने देर न करते हुए उसकी पेन्टी भी उतार दी और उसकी चूत को अपने हाथ से रगड़ने लगा, वह मदहोश हुए जा रही थी।फिर मैंने अपने सारे कपड़े उतारे और आ गया उसके ऊपर!मैंने अपने लण्ड पर कंडोम चढ़ाया, उससे पूछा- डाल दूँ?तो वो कहने लगी- देर मत लगाओ … बस जल्दी से डाल दो. आंटी मेरे सामने नंगी लेटी थी और मैं आंटी की चूत में अपना लंड घुसाने के लिए तैयार था. कुछ ही मिनट बाद हम दोनों झड़ने लगे और हम दोनों का पानी एक साथ ही निकल गया.

मेरी उंगली जैसे ही अन्दर बाहर होती, वो ‘आह उईईईई मआ माँ सीईईईईई आह अमित धीरे करो.

मेरे अन्दर का जानवर जागने लगा था और मैं उसके मम्मों को जोर जोर से मसलने दबाने लगा था. मैंने कइयों से किनारा भी किया था, तो कुछ की मुझे गांड मारनी ही पड़ी थी.

इस फ्री हिंदी चुदाई कहानिया में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने पड़ोस की सेक्सी प्यासी भाभी की चूत को चाटा, मेरा लंड चूस कर मेरा रस पीया. मैंने भी लोअर ही पहनी हुई थी इसलिए लंड अलग से तना हुआ दिखने लगा था. मेरी बीवी के चूचों को दबाते हुए उसने अपने शरीर का भार सामने पड़ी मेरी नंगी बीवी के बदन पर डालते हुए उसकी योनि में मेरे दोस्त ने अपने लंड को प्रवेश करा दिया.

अगली कहानियों में मैं बताऊंगा कि मैंने किस-किस अंदाज में उसकी चूत को चोदा और उसके अलावा और किन-किन चूतों के मजे लिये. कोई 25 मिनट मोनिषा आंटी की खूब चुदाई करने के बाद मोनिषा आंटी की चूत ने दो बार रस छोड़ा, मैंने भी अपने लंड का रस मोनिषा आंटी की चूत में ही छोड़ दिया. उसकी बात खत्म हुई ही थी कि उसकी बीवी बोल पड़ी- आप यहीं रहिए ना साथ में … कहीं मत जाइए.

सेक्सी बीएफ वीडियो भेजना लेकिन जब उसने यह बताया और साबित भी किया के ये बोल नहीं सकता, और सब कुछ गोपनीय रहेगा तो सब रिलेक्स हुयी. मगर मामी को देख कर लग रहा था कि उनको जैसे पता ही नहीं लग रहा कि मामा ने उनकी चूत में लंड को डाला हुआ है.

सेक्सी दो सेक्सी सेक्सी दो सेक्सी

चुप कर … रांड … मादरचोद कितने का ले चुकी होगी और नखरे कर रही है … एक बार मुझे भी भोग लेने दे तेरी जवानी … वो ऐसा बोला. मैंने अपने लंड को पहले पूरी चुत पर से सहलाया, तो उसने गांड उठाते हुए कहा- भैया अब सब्र नहीं होता … जल्दी से अन्दर डाल दो … अब देर न करो … अपना लंड चुत के अन्दर पेलो. देवर भाभी की चुदाई की इस हिंदी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी भाभी ने मुझे उत्तेजित करके अपनी वासना शांत की.

दोस्तो, मुझे आंटी और भाभी के साथ सुहागरात (हनीमून) मनाना बहुत पसंद है क्योंकि उनकी बड़ी बड़ी चूचियां चूसने में बड़ा मज़ा आता है और उनके मटकते हुए बड़े बड़े चूतड़ों को मसलने में भी बड़ा मजा आता है. मेरी सच्ची क्सक्सक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे जिम में मेरी दोस्ती एक खूबसूरत लड़की से हुई. सेक्सी फिल्म बीएफ पिक्चर सेक्सीउसने बीस मिनट तक मेरी मॉम की गांड मारी और अपना पानी मॉम की गांड में ही गिरा दिया.

वो हमारे रूम पर रुकी थी और रात में मैं उसे पढ़ा रहा था कि …अन्तर्वासना के सभी मज़ेदार और चूत लंड के भूखे पाठकों को मेरा नमस्कार, सलाम.

भूसा लेने के लिए कभी मैं, तो कभी माँ उसकी दुकान के पीछे बने गोदाम से भूसा ले आते थे. मैं आते जाते वाहनों से इशारा करके उनको रुकने के लिए कहता, मगर मेरी मदद के लिए कोई रुक ही नहीं रहा था.

खुद उन्होंने अपने हाथों से मुझे पानी दिया पीने के लिए। फिर उन्होंने गुस्से से चिल्लाना शुरू कर दिया कि ये सब कुछ यहाँ नहीं चलेगा और यह आखरी बार है जब मैं आप को छोड़ दे रही हूँ। किंतु ध्यान रहे कि अबकी बार अगर कुछ उल्टा सीधा किया तो यहाँ आप कोई काम नहीं कर पाएँगे।मेरी आँखों में आँसू आ गए और मैं कुछ सोच समझ नहीं पा रहा था। मेरी हालात बहुत खराब हो गई. फिर मैंने आंटी की टांगें फैलायी और अपने लंड को प्रमिला आंटी की चुत पर रगड़ने लगा. कहानी पर अपनी राय देने के लिए नीचे दिये गये कमेंट बॉक्स का प्रयोग करें.

अंधेरे में जंगल में बेटे का लंड लेते हुए अलग ही रोमांच पैदा हो रहा था मेरे अंदर.

इस तरह कोई भी जगह या छेद खाली नहीं छोड़ा गया था,आखिरी में तो चाची की गांड चुत और उनके मुँह का कबाड़ा हो गया था. मेरा दोस्त मेरी बहन से सेक्स कर रहा था और वो जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी. पूरी ताकत से वो मेरी गांड में लंड पेल रहा था, मुझे मजा आ रहा था, वह पूरे दम से रगड़ रहा था, मुझे मजा आ रहा था.

ब्लू फिल्म दिखाओ फिल्मफिर अचानक रात को उन्हें दर्द होने लगा, तो मैंने उठकर फिर से हाथ से प्यार से सहलाने लगा और उन्हें सुलाने लगा. मैं जानता था कि मामी की चूत भी प्यासी है और मेरा लंड भी उतना ही प्यासा है.

द सेक्सी वीडियो

इसके बाद हम दोनों साथ में बेड पर आराम से बैठ गए, मैं पैर फैला कर बैठ गया और वो मेरे पास बैठ गई. उसने मेरी टांगों को फैला दिया और मेरी बालों वाली चूत पर अपने लंड का सुपारा रख दिया. निशा जी मुस्कुराती हुई बोली- नमस्ते रेयान जी!बातों बातों में एक घंटा बीत गया.

मैं उसकी बुर चूसने लगा, तो उसे तो जैसे करंट लग गया हो … वह जोर से सिसकारियां लेने लगी. बहुत रिक्वेस्ट करने के बाद सुलु भाभी ने मेरे लंड के टोपे को मुंह में लिया और चूसने लगी. मैंने भी मन ही मन सोचा कि बड़े भैया की नौकरी बाहर होने के कारण प्रिया भाभी को भैया का ज्यादा साथ नहीं मिल पाता था.

वहां की प्रिंसिपल को देख पहले दिन से ही मेरे मन में उसकी चुदाई के अरमान मचलने लगे थे. उसके नंगे चूचे एकदम तने हुए थे और वो प्रिंसीपल अब दीदी की पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को अपनी हथेली से रगड़ रहा था. मैंने उसको आते ही अपने आगोश में ले लिया और उसको होंठों पर किस करने लगा.

मेरा मन तो कर रहा था कि पीछे से साड़ी उठाकर अपना लंड उसकी चिकनी चूत में पेल दूँ. क्योंकि भैंस की वजह से मम्मी को सुबह जल्दी उठना पड़ता है और सारा दिन घर के काम रहते हैं, तो वो बहुत ही गहरी नींद में सोती हैं.

उसके बाद उसने मुझे छोड़ दिया, लेकिन आखरी दो दिन पूरे गैंग ने मेरी लगातार चुदाई की.

मैंने दिन में ही मोनिषा आंटी की दुल्हन की तरह तैयार होने को कह दिया था कि ऐसे सेक्सी तरीके से तैयार होना कि संजय आपको देखता ही रहे. नेपाल की सेक्सी वीडियो बीएफकुछ देर वहीं रुकने के बाद वह स्पर्श मेरे सलवार के नाड़े की तरफ बढ़ा और अगले ही पल मेरा नाड़ा खोल कर वह स्पर्श और नीचे मेरी चूत के पास महसूस होने लगा. पंजाबी आंटी चुदाईवो बोली- क्या कर रहे हो?मैंने कहा- तुम्हें प्यार करने का मन कर रहा है आज।वो बोली- कोई देख लेगा तो?मैंने कहा- देख लेने दो. जब सब औरतें खाना खा कर 30 मिनट बाद फिर से खेत में आईं, तो मेरा दिल कजरी के लिए बेचैन होने लगा और लंड महराज सलामी देने लगे.

आंटी एकदम ऐसे बोल रही थीं, जिससे संजय को लगा कि यार आंटी तो बड़ी चुदासी है.

मैं अपने होंठों को उनके निप्पलों में घुमा रहा था और वो गर्म सिसकारियां ले रही थीं. मैंने अब बेशर्म होते हुए कहा- तुम्हें पता है कि इसका नाम क्या है? मैंने अपने तने हुए लंड की तरफ इशारा करते हुए पूछा. वैसे मैंने कभी अपने दोस्त की माँ के बारे में ऐसे विचार नहीं सोचे थे … मगर एक दिन मैं अपने दोस्त के घर गया और मैंने घर पर मेरे दोस्त को आवाज दी.

फिर अपना लंड दस्तूर की चूत के छोटे से छेद पर रख कर एक ज़ोर सा झटका दे मारा. मैंने अपने एक हाथ से उसके दूध को पकड़ा हुआ था और उसकी जांघों को बड़ी मस्ती से चूम रहा था. हमारे बीच हंसी मजाक चलता रहा और मैं पैसे उसके हाथ में जबरदस्ती थमाने लगी.

2 सेक्सी गाना

वापस आकर लाला माँ से बोला- भाभीजी, आपकी आपकी भैंस तो बहुत ही प्यासी लगती थी, एकदम से चुपचाप खड़ी रही, बड़े आराम से भैंसा आया और अपना काम कर गया. उर्वशी की नजर की उत्सुकता मिहिर की शर्ट के खुलते हुए हर बटन के साथ बढ़ती जा रही थी. मेरा लंड किसी भी लड़की, भाभी या आंटी को चुदाई का पूरा मजा देने के काबिल है.

उसकी और मेरी लम्बाई में तीन-चार इंच का ही अंतर था इसलिए दोनों की सांसों का आदान-प्रदान एक दूसरे की नासिका के द्वारा होने लगा था.

ये बात सुनकर मैंने खुशी से भाभी की चूची जोर से दबा दी तो भाभी ने कहा- जाओ अपनी चालू मॉम शालिनी रंडी की चूची दबाना … उसके कुछ ज्यादा ही बड़े हैं.

निर्मला के कहते ही राजशेखर ने हल्के हल्के धक्के देना शुरू कर दिया और 4-5 धक्कों में ही उसका लिंग मेरी योनि की गहराई में जाने और आने लगा. कुछ देर बाद रीता मेरे ऊपर चढ़ गई … और मेरे होंठों को जोर जोर से चूसने में लग गई. अंग्रेजी सेक्स बीएफआप सबके मेल से और अच्छे फीडबैक से मुझे और भी ज्यादा प्रोत्साहन मिलता है.

मैंने कहा- हां मोनिषा आंटी …मोनिषा आंटी ने कहा- इतना लम्बा और मोटा लंड तो तुम्हारे अंकल का भी नहीं है. ये सभी हल्के फुल्के वयस्क गेम, अश्लील चुटकुले, ब्लू फिल्म्स देखना, थीम के नाम पर सेक्सी और बहुत छोटे कपड़े पहनना, एक दूसरे को आलिंगन में लेना, चुम्बन लेना यही किया करती थी. जैसे ही उसकी ब्रा खुली और गोरी चुचियां नंगी हुईं, वो मेरे सीने से लग गयी.

मंगल स्टॉपवॉच लेकर तैयार था और अच्छा ही हुआ कि पहला नंबर एकता का था. मुझे उसके साथ बड़ा आनन्द आने लगा था … और मैं भी टांगें मोड़ कर एड़ियों पर जोर डाल कर बीच बीच में अपने चूतड़ों को उठाने लगी.

बेडरूम में, किचन में, बाथरूम में, मतलब आंटी की चुदाई घर के हर कोने में की, हर जगह बहुत सारे आसनों में उनको चोदा.

साथ साथ मैं आहिस्ता आहिस्ता मोसी की चुदाई करने लगा।अब धीरे धीरे मोसी भी मेरा साथ देने लगी और मैंने मोसी की चुदाई की गति तेज़ कर दी और उनकी दमदार टाईट और रसीली चूत को जोर से चोदने लगा. इंशा बोली- फूफाजी आप!मैंने थोड़ा ओवरएक्टिंग करते हुए कहा- कौन फूफा, किसका फूफा …वो दोनों शर्मिंदा सी भी थीं, मगर हंस भी रही थीं. मैंने उस पूरी रात में उसकी 3 बार चुदाई की और सुबह बाथरूम में साथ नहाये भी.

सनी लियोन की हिंदी सेक्सी बीएफ मुझे आंटी की गांड मारने में बहुत मजा आ रहा था और मोनिषा आंटी को भी मजा आने लगा था. तभी मेरी उम्मीद से आगे वो एकदम से झुकी और उसने अपने मुँह में मेरा लंड भर लिया.

एक बार भाई एक महीने के लिए बाहर गए तो …दोस्तो, मेरा नाम मनीष है … और मैं इंदौर से हूं. मगर बाथरूम से पहले ही मैंने देखा कि दीदी मम्मी के कमरे में कुछ देख रही है और अपने हाथ से वो अपनी सलवार के अन्दर कुछ हिला भी रही है. बीस मिनट तक उन्होंने मेरी चूत को चोदा और जब लंड बाहर निकाला तो मैंने उठ कर देखा कि बेड पर खून गिरा हुआ था.

फुल सेक्सी यूट्यूब

इतनी हॉट लड़की को पास बैठा देखकर मेरा मन और लंड दोनों ही रोमान्टिक गाना गा-गा कर नाच रहे थे. इंटरवल के बाद पूजा मेरे कंधे पर सर रखकर बैठ गई, जबकि मेरे मन में चल रहा था कि अब आगे क्या करना चाहिए. उनको चुदाई का वो मजा दिया, जो उन्होंने अपनी जिंदगी में कभी नहीं लिया था.

उसने ऐसे ही लेटे लेटे मुझे ऊपर धकेलना शुरू किया और हम सरकते हुए बिस्तर पर पूरी तरह आ गए. उस वक्त मैं उठा और अपने लंड को हाथ से पकड़े हुए जल्दी से बाथरूम की ओर भागा, क्योंकि मुझे जोर से आई थी.

मौसी ने मुझसे कहा- चल तुझे दिखाती हूँ कि तेरी बीवी की चुदाई कैसे होगी.

फिर उन्होंने बात को घुमाते हुए कहा- अच्छा, ये नम्बर किसका है?मैंने कहा- मेरा ही है. उसने मुस्कुरा कर मुझे गले से लगा लिया और एक ज़ोर का चुम्बन मेरे होंठों पर कर दिया. पर जिया को सब पता था।उसने मेरी हेल्प की, उसकी मदद से मैंने रिया की मसाज करना शुरु किया.

इस अवस्था में प्यार का इजहार करना तो केवल एक ही ओर इशारा कर रहा था और वो इशारा शरीर की भूख की तरफ का था. इधर मामा ने कुछ देर तक चूचों को चूसा और फिर उसके निप्पलों को जीभ से चूसने लगे. वो आहें भरने लगीं- आ … मममम … अच्छे से चूसो … बहुत मजा आ रहा है … आह खा जाओ पूरा … मेरी चुत को चाट लो.

उसका जवाब सुन कर मेरे मन को तसल्ली हो गई कि अब बात हम दोनों के बीच में ही रहने वाली थी.

सेक्सी बीएफ वीडियो भेजना: जैसे ही सोनम की चुत का रस झड़ा, मैंने अपनी जीभ से सड़ाके मार मार कर उसकी चुत का सारा रस पी लिया. अपने बेटे के लंड को चूसने में मुझे इतना मजा आ रहा था जितना कभी पति के लंड को चूसने में भी नहीं आया.

फिर उसने मुझे राजी करके संभोग के लिए राजी कर लिया, क्योंकि मैं भी एक औरत हूँ और मेरी भी काम इच्छाएं थीं. आंटी कह रही थीं- आह जोर से चोदो … और जोर से चोदो … मजा आ गया … उम्म्ह … अहह … हय … ओह … ऐसे ही चोदते रहो. जाकर उसे लाइन दे … हो सकता है, घंटे भर बाद यहीं पर उसका लंड तेरी भोसड़ी में हो.

मैंने बहुत सोचा, विचार किया और पूजा को भी समझाया कि मैं इस रिश्ते को किसी अंजाम तक नहीं पहुंचा पाऊंगा, तो हमारा यूँ घूमने जाना और पांच रात, पांच दिन साथ गुजारना गलत है.

ये कहानी मेरे ताऊ के लड़के की बेटी श्वेता (बदला हुआ) की है … या यूँ कहो मेरी भतीजी की है. मोनिषा आंटी ने कहा- ठीक है … आज के बाद तुम्हें मुठ नहीं मारनी पड़ेगी. भाभी बोली- सूरज क्या हुआ … मुझे उठा कर थक गए क्या … कुछ पियोगे?मेरे मन में आया कि बोल दूँ हां आपके आमों का रस थोड़ा सा मिल जाता … तो मेरी थकान दूर हो जाती.