सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी देहाती

छवि स्रोत,సెక్స్ రొమాన్స్

तस्वीर का शीर्षक ,

फिल्म के बीएफ सेक्सी: सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी देहाती, मेरी भाभी के साथ सेक्स की कहानी के पहले भागहोली पर देसी भाभी की रंगीन चुदाई-1अब तक आपने पढ़ा था धर्मेन्द्र भैया की पत्नी भावना भाभी ने कल रात मेरे लंड को चूसा था, जिससे मुझे आज भाभी की पूरी चुदाई की सम्भावना दिखने लगी थी.

एक्स एक्स एक्स इंडियन वीडियो सेक्सी

कौन सा तरीका है? क्या बताया आपकी दोस्त ने?चांदनी- अगर मैं किसी और पुरूष के साथ संबंध बना लूँ तो मुझे बच्चा हो सकता है. इंडियन देसी सेक्सी वीडियो हिंदीये कहते हुए उसने मेरे हाथ से मोबाइल ले लिया और उसे आगे की सीट पर मोबाइल चार्जिंग के लिए लगा कर रख दिया.

धीरे धीरे मेरी आर्थिक मदद से उसे दो कमरों का मकान बस्ती से दूर एकांत में दिला दिया. हिंदी में सेक्सी ब्लू फिल्म वीडियो मेंइसलिए मैंने और मेरे पति ने तय किया कि हम लोग कुछ दिनों के लिए मुम्बई में ही रहेंगे.

उस दिन उसे मेरा सारा हेयरस्टाइल खराब कर दिया था, लेकिन मैंने स्टाइल बनाया भी तो उसी के लिए था.सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी देहाती: जैसे ही मेरा लंड अन्दर गया कि रेखा ने तुरन्त ही अपनी कमर को उचकाना शुरू कर दिया.

मौसी मेरी तरफ देखकर फिर से मुस्कुराईं और मेरे कान की तरफ अपना मुँह करते हुए धीरे से बोलीं- अभी मेरे जाने के 10 मिनट बाद पीछे वाले कमरे में जहां कबाड़ रखते हैं.भैया घर में अकेले थे तो मैं वापस अपने घर आने लगी तो भैया मुझसे बोले कि तुम अकेले में मुझसे बात नहीं करोगी क्या?उनकी यह बात सुनकर मैं भैया के घर रुक गयी और हम दोनों बात करने लगे.

ब्लूटूथ नंगी सेक्सी - सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी देहाती

जूली बोली- इसको समझने के लिए मुझे ये पूरी चुदाई देखनी पड़ेगी, क्या तुम सब दुबारा कर सकोगे?मैं बोला- अभी तो दर्द हो रहा है, दर्द कम होगा तो सब दिखा दूंगा.मैं उनके पीछे पीछे … वो आगे आगे … भागते भागते कभी रूम में, कभी हॉल में … फाइनली भाभी अपने रूम का दरवाजा बन्द ही कर रही थीं कि मैंने उन्हें धकेल कर पकड़ लिया.

मेरे काम का समय दस से नौ का होने के कारण मैं यहां कोई गर्लफ्रेंड नहीं बना पाया था. सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी देहाती वो ज़ोर ज़ोर से बड़बड़ा रही थी- ‘आहह उह ऊहह उम्म्ह… अहह… हय… याह… चाटो आअहाहह … मज़ा आ रहा है.

मुझे भी काफी आग लगी थी, उसकी चूत के चिकने पानी से मेरा लंड बड़ी तेजी अन्दर बाहर होने लगा था.

सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी देहाती?

थोड़ी देर बाद जब होश आया, तो अंकल नैपकिन गर्म पानी में गर्म कर कर के मेरी चुत की सिकाई कर रहे थे. हैलो फ्रेंड्स, कैसे हो? आप सबको मनु वैभव के खड़े लंड का नमस्कार! लड़कियों और भाभियों एवं चाचियों की बुर में गुदगुदी मचाने को एक बार फिर से मैं तैयार हूँ. पहले पहले मैंने अपनी बेटी को एकदम स्लो स्लो चोदा क्योंकि उसकी पहली बार चुदाई हो रही थी.

करीब पांच मिनट तक लंड चुसाने के बाद मैं चरम पर पहुंच गया और भाभी के मुँह में ही झड़ गया. ”तू साली कुतिया बन जा, मैं कुत्ता बन के तुझे कैसे चोदता हूँ देख तू. वो मेरे एकदम पास आकर झाड़ू लगा रही थी और स्तनों के दर्शन करवा रही थी.

उसकी चूत के लबों को फैला कर मैंने वहां अपना लण्ड रगड़ना शुरू किया तो बोली- अब देर न करो, मुन्ने को मुन्नी के घर जाने दो. मैंने झट से अपने लिंग को पैंट से बाहर निकाल लिया और शिखा के मुंह में दे दिया. मैं भी थक चुका था, तब भी मैंने दारू की बोटल मुँह से लगा कर नीट खींची और भाभी की चूत पर पिल पड़ा.

नेहा मुझसे बोली- मैंने सुबह इशारा किया था, पता नहीं तुम समझे या नहीं?मैंने कहा- मैं इशारा समझ गया था. मैं उसकी जांघों पर बैठा और अपना लंड अमीषी की गांड की दरार में रख कर ऊपर नीचे करने लगा.

हम तीनों बाहर आ गए और एक दूसरे के भीगे हुए बदनों को चाट-चाट कर सुखाने लगे.

इसी लिए दीपाली की चुत पर मुँह रख के बहुत जोर से चूसा और ढेर सारा थूक उसकी चुत पर मल दिया.

!”मैं शर्म से पानी पानी हो रही थी, पहली बार कोई मेरी चुत को नंगी देख रहा था, वो भी इतने करीब से. इसमें मेरी जवानी निखर कर आने लगी और मैं अब 25 साल की मस्त लौंडिया सी दिखने लगी. मेरे इतना बोलते ही उसने कहा- यू वान्ट टू सक्? (क्या तुम इनको चूसना चाहते हो)मैंने कहा- जरूर … आपके बूब्स बहुत मस्त हैं।मैं उसके पास जाकर उसको किस करने लग गया.

वो बोला- तुम बीच में कहां गायब हो जाती हो?मैंने कहा- तुमने मेरी ऐसी हालत कर दी है कि मुझसे अब बोला नहीं जाएगा. उसकी चूत ने रस छोड़ना शुरू कर दिया था, जिससे उसका वो इलाका गीला होने लगा था. मैं उठ कर किचन में जाने लगा तो वो बोली- रुको … मैं भी आती हूँ तुम्हारी मदद के लिए.

अन्तर्वासना पर मन की बात शेयर करने से मन का बोझ हल्का हो जाता है इसलिए मैं कहानियाँ लिखती रहती हूँ.

वो दोनों काफी दिनों बाद मिली थीं, तो उस रात को दोनों ननद-भाभी रूम में बैठ कर बात कर रही थीं और जोर से हंस रही थीं. चाची ने खुद ही अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चूत पर लगाया और अपनी चूत को मेरे लौड़े पर सेट करके बैठने के लिए तैयार हो गयी. क्या उसका भी पहली बार है?मीता- हांमैं- उसने कभी किस करते हुए तुम्हारी चूची दबाई है और तुमने उसका लंड पकड़ा है?मैंने जानबूझ कर एक कदम आगे जाकर लंड चूची जैसे शब्द बोले.

बिमारी की गंभीरता को देखते हुए उनको हॉस्पिटल में भर्ती करवाना पड़ा. फिर उसी रात को चैट पर बात करते समय उसने पूछ लिया- आपको मैं कितनी हॉट लगती हूं?एक बार तो मन किया कि सीधा बोल दूं- लण्ड खड़ा हो जाता है तुम्हें देख कर। फिर सोचा इतनी जल्दी नहीं करनी चाहिए. थैंक्यू अंकल जी, पर इत्ती भी सुन्दर नहीं हूं मैं … जो आप इतनी तारीफ़ कर रहे हो.

जब मैं काफी गर्म हो गया तो अब मुझे उसकी चूत में लंड डालने का मन हो गया.

वो ऐसा ही करती है, शादी नहीं हुई उसकी अभी इसके लिए उसका भाई ही अब पति है. मेरी दोनों बेगमें पूरी गर्म हो गयी, दोनों की चूत पूरी गीली हो गयी, दोनों ने अपना चूत रस मेरे लण्ड पर लगा कर उसे चिकना कर दिया.

सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी देहाती काजल बोली- क्या है पैकेट में?तो मेरी वाइफ बोली- खुद ही खोल कर देख लो. उनके गर्म मुख का स्पर्श पाते ही मैं अपने आपको रोक नहीं पाया और उनके मुँह में ही अपना पानी निकाल दिया.

सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी देहाती आप लोग तो जानते ही हो कि अगर सरकारी काम कहीं भी करवाने जाओ तो बिना रिश्वत के तो कोई काम होने से रहा. नम्रता- देखो डायनिंग टेबल पर … मैं पहले से ही मेरी झांटों को तुमसे शेव कराने के लिये सामान रख चुकी हूं और साथ में तुम्हारी लायी हुई बियर भी है, अब तुम जो पहले करना चाहो.

उसने मुझे शादी की मुबारकबाद दी और पूछा- अब सारा को क्या कर दिया? थोड़ा आराम से सेक्स किया करो.

मध्य प्रदेश सेक्सी वीडियो

और मेरे रूम से दरवाजा खोलने पर पूनम के घर का आँगन बिल्कुल साफ़ दिखाई देता था. वह सोफे पर लेटी हुई थी और मैं जमीन पर अपने घुटने के बल बैठ के उसे किस कर रहा था. अंकल मेरे नितम्ब मसलने में व्यस्त थे, वो बड़ी बेहरहमी से मेरे नितम्ब मसले जा रहे थे.

पर यह सब सुनने के बाद शीना इतनी गुस्से में आ गई कि सीधे खड़ी होकर मेरा गला पकड़ कर बोलने लगी- साले कमीने … मैं तब से अपनी चूत और गांड की बारी का इंतजार कर रही हूँ … मेरी बारी कब आएगी. और फिर दिलिया ने अपनी बोलने की स्पीड बढ़ा दी और हम उसी स्पीड से चुदाई में लग गए. रिया के मुंह से चीख निकली मगर रमेश को कोई फर्क नहीं पड़ा। रिया के बाल पकड़े हुए उसने लण्ड को घुसाना चालू रखा। रिया एक हाथ से अपने बाएं चूतड़ को पकड़े हुए थी।उसकी गांड के अंदर मौजूद खीर लण्ड के दबाव की वजह से और अंदर तक घुस रही थी.

पर ये गलत था … सरासर गलत! जिंदगी में … हादसे हो जाते हैं लेकिन इस का ये मतलब तो हर्गिज़ नहीं है कि कोई जीना ही बंद कर दे? मेरे लिए … मेरे कारण वसुन्धरा ने खुद को फ़ना के धारे तक पहुंचा लिया था.

अब आगे:मैं चुत चूसने का बहुत ही शौकीन हूँ, तो मैं अब उनकी चुत चूसने लगा. पी से थी लेकिन वहाँ अपनी सहेलियों के साथ किराये पर रहती थी।बीच बीच में मैंने स्वाति से कई बार बात करने की कोशिश की लेकिन वो अभी तक मुझसे नाराज थी और मुझसे ढंग से बातें भी ना करती।एक दिन ऐसे ही बातों में अंशिका ने मुझे बताया कि स्वाति किसी और लड़के से बात करती है. वो लगातार सिसकारने लगी- आ … आ … आ … येस … ज़ोर्डन … कमॉन।मैं कभी उसके निप्पल काट रहा था तो कभी उसकी गर्दन के पास काट रहा था। हम दोनों पागल हो रहे थे.

जब तक पूरा लंड बूंद बूंद करके निचोड़ न दिया तब तक मैंने अपने लंड को चाची के मुंह से बाहर नहीं निकाला और चाची के सिर को अपने लौड़े पर दबाये रखा. आप ऐसे अचानक आ गए?वो बोला- अच्छा हुआ साली रंडी तूने सूसू नहीं किया. जब 11 बजे टीवी बन्द हुआ, तो मम्मी आईं और सब की खाट तैयार करने लगीं.

कुछ देर में जब मेरी गांड ने कसमसाना बंद किया और दर्द होने लगा, तो भैया ने अपना लंड हिलाना चालू कर दिया. चाची बोलीं- मुझसे गलती हो गई आज मुझे अपनी बुर के बाल साफ़ करके ही आना था.

मैंने अपना सुपारा मीना की यौवन की घाटी के मुहाने पर रखा और आदतन पूरी ताक़त से ज़ोरदार धक्का लगा दिया. ये कहकर वो पलंग पर लेट गए और मैं उनकी टांगों के बीच घोड़ी पोजिशन में आकर उनके लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. उन्होंने मुझे किस करते करते मेरी सलवार और सूट को निकाल दिया और मैं ब्रा और पेंटी में रह गयी.

तभी भार्गव ने धीरे से अपना हाथ मेरी जांघ पर रखा और बोला- यार आशना … एक बात कहूँ … आज तुम्हारे उछलते हुए मम्मों को देखकर और तुम्हारी पतली और लचीली कमर को देखकर मेरा भी मन कर रहा है कि मैं तुम्हें मेरे लंड का स्वाद चखाऊं.

ऐसा करते-करते उसने अपनी एक उंगली मेरी गांड के अन्दर पूरी डाल दी और अपनी उंगली से मेरी गांड चोदने लगी. कहकर मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये और दोनों एक दूसरे के आगोश में खोने लगे. उधर पिंकी और नितिन की फटी पड़ी थी, उनको पता था कि ये उन दोनों कि गलती का नतीजा है.

इस तरह एक जवानी दहलीज पर कदम रखती कमसिन लौंडिया मेरे हाथ से निकल गयी, पर जाने से पहले वो मुझे मेरी जिंदगी के सारे मजे करा गयी. दो चार मिनट ऐसा ही चलता रहा, फिर मैंने ही अंकल को जोर से पीछे धकेला और खांसने लगी.

संगीता चाची बोलीं- अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा … रहा ही नहीं जा रहा मुझसे … तू जल्दी से चोद दे मुझे. पर जो एक दूसरे का मूत पीना पसंद करते हैं, उन्हें इस सुख की अनुभूति हो रही होगी. मैंने उसकी लंड चुसाई से आनंद में आकर अपनी आंखों को बंद कर लिया और उसके सिर को अपने लंड की तरफ धकेलने लगा.

x वीडियो इंडियन

जब दूध बिल्कुल खत्म हो गया, तो मैंने उसकी चूत और जांघ को अच्छे से चाटकर साफ किया और उसके पैरों के बीच से हटकर उसके बगल में बैठ गया.

मौसी ने अपनी आंखें बंद की हुई थीं और वे सांसों को कंट्रोल करने की कोशिश कर रही थीं. कहते हुए मैं और तेज-तेज मुठ मारने लगा।तभी मेरी छोटी बहन ने मेरा हाथ पकड़ लिया. सुधा की वजह से मेरी क्लास में पढ़ने वाली दो लड़कियों की चूत चोदने मिली है.

मैं जैसे ही सीढ़ी के पास गया, तो देखा कि चाँदनी भाभी भी उतर रही थीं. हम्म … ठीक है अंकल जी!”सोनम बेटा, अगर तेरे पास टाइम हो तो कभी आना मुझसे मिलने!”जी अंकल जी, आ तो जाऊँगी मैं … पर डर भी बहुत लगता है, कोई देख लेगा तो?” मैंने हिचकिचाते हुए कहा. मां बेटे का सेक्सी वीडियो दिखाओमैं उस दिन ऑफिस नहीं गयी थी क्योंकि मेरे घर वाले कहीं बाहर जा रहे थे.

जब घोष की रात की ड्यूटी होती थी तो 15 दिन तक हर रोज रात को मैं दिल लगाकर दीपिका को चोदता था और जब उसके पति की दिन की ड्यूटी होती थी तो मेरी शनिवार और इतवार की छुट्टी होती थी, जबकि शनिवार और इतवार को घोष की ड्यूटी होती थी. फिर काफी प्रशंसकों की रिक्वेस्ट पर मैं अपनी ये पुरानी चुदाई की कहानी पोस्ट कर रही हूँ.

मैंने वंश बोला कि बेटा मैं सच में तेरी गर्लफ्रेंड बनके चलूँ ना या मम्मी?तो वंश हंस कर बोला- मम्मी बन के तो हमेशा घूमी हो आप … अब आप जो मन में आए वैसे चलो. मैंने कहा- आपने जवाब नहीं दिया?तो बोली- मैं क्या कहूँ?मैंने कहा- शरमाइये नहीं. घर आकर हम सभी ने थोड़ी देर बात की और अपने अपने कमरे में सोने के लिए चले गए.

नम्रता मेरी तरफ देखकर मुस्कुराई और बोली- तुमने मेरे मन की बात छीन ली, मैं भी एक राउन्ड और चाहती थी और कभी भी इनका फोन आ सकता है. मैंने भाभी की गांड पर अच्छे से थूक लगा दिया और अपने लंड को चांदनी भाभी की गांड के छेद पर सेट कर दिया. इस काम में नम्रता भी मेरी मदद करने लगी, इस तरह से उसकी गांड काफी फैल गयी और छेद नजर आने लगा.

”अंकल बहुत ही नॉटी बातें कर रहे थे और अब तो मेरी तरफ से भी उन्हें ग्रीन सिग्नल मिला था.

उस कामवाली के साथ खूब नग्नअवस्था में कई फोटो अपने मोबाइल से खींच लिए. मैंने अपना मोबाइल देखा वह तो खामोश था।ओह … यह तो मेज पर पड़ा कोई दूसरा मोबाइल बज रहा था? लगता है सुहाना अपना मोबाइल यहीं भूल गई है।मैंने फ़ोन को उठाया तो उधर से सुहाना की आवाज आई- सॉरी सर … मैं सुहाना बोल रही हूँ।ओह … हाँ … बोलो डिअर?”सर … वो मेरा मोबाइल …?”अरे हाँ … तुम अपना मोबाइल यही भूल गई लगती हो?”सॉरी सर! आप रख लेना.

वो मेरे पैर छूने नीचे झुका, तो मैंने उसको गले से लगा लिया और उसका माथा चूमा. हम दोनों ही लोग पूरे नंगे हो कर चुदाई के पहले के फोरप्ले में लगे थे. इतनी देर में उसके मोबाइल पर मीरा का संदेश आ गया कि आ जाओ निखिल सो गया है.

तो उसने बोला- सर आप भी साथ में चलिए न?मैंने बताया- नहीं आप जाइए, मैं आज टिफिन नहीं लाया. पहली बार किसी लड़की पर मेरी नजर इस तरह से पड़ी थी कि मैं उसको देखता ही रह गया. मैंने पूछा- आपकी कौन सी सहेली है मेरे ऑफिस के पास? मुझे भी बताइये न, मैं भी उनसे मिल लूंगा.

सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी देहाती मैं उनकी बगल में डरती हुई बैठ गई और फाइल को अपनी गोद में रख के उनको सब बताने लगी. थोड़ी देर में मीना अपनी पिछवाड़ा ऊपर की तरफ उछालने लगी और एक ज़ोरदार प्यार की जंग उस कमरे में छिड़ गयी.

इंडियन ब्लू सेक्सी

मैंने उसकी लंड चुसाई से आनंद में आकर अपनी आंखों को बंद कर लिया और उसके सिर को अपने लंड की तरफ धकेलने लगा. कैसी लड़की हो? कुछ देर रुक जाती कहीं!मुझे भी समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूँँ? यहाँ तो कोई कपड़े भी नहीं थे मेरे पास. पर खुशी सिर्फ दिखावे के लिए बिंदास है, असल में खुशी भावुक और संस्कारी लड़की है.

इस बार मैंने ब्रा पहनी और जोर से अपने मम्मों को कुछ इस तरह से फुलाते हुए अंगड़ाई ली कि ब्रा पर जरूरत से ज्यादा जोर पड़ गया. तो नम्रता बोली- क्या हुआ, अच्छा नहीं लग रहा है क्या?मैं- नहीं… ऐसी कोई बात नहीं है, एक बार तुम मेरे मुँह पर बैठ जाओ. एक्स एक्स सेक्सी पिक्चर राजस्थानीउसने भी मेरे बूब्स पर नजर गड़ाई और उनको ऊपर नीचे होते हुए देखने लगा और वो बोला- शालिनी जी, मैं दरवाजा और खिड़कियां बंद कर देता हूं.

वो मेरी चूत को चोद रहा था और मैं भी अपनी गांड उठा कर उसके लंड से चुदाई का मजा ले रही थी.

मुझे उसकी गांड चाटने में आसानी हो, इसलिए वो थोड़ा झुकी और अच्छे से गांड का उठान मेरी तरफ कर दिया. मूवी खत्म होने से थोड़ी देर पहले मैंने अपने आपको ठीक किया और हम घर निकल गए.

और मैं बाहर निकल गया।जब मैं कमरे में वापस आया तो वहां का नजारा ही बदला हुआ था. आपको कुछ बुरा लगा हो तो माफी!आगे क्या हुआ कुकोल्ड सेक्स स्टोरीज इन हिन्दी के अगले भाग में!तब तक के लिए धन्यवाद. उसकी चूत ने जल्दी ही मेरे लंड को पूर्ण रूप से आत्मसात कर लिया और अब मेरा लंड बड़े आराम से सरपट अन्दर बाहर होने लगा था.

शुभ्रा भी मुझे इस तरह से गिरता हुए देखकर अपनी तरफ से मुझे सम्भालने की कोशिश करने लगी।मैं वापस पलंग पर आ गया और शुभ्रा के बगल में लेटते हुए बोला- यार, मूवी में तो लंड बुर के अन्दर बड़ी आसानी से चला जाता है और यहां पर तो बार-बार लंड फिसल जा रहा है। चल कोई बात नहीं, हम लोग पहली बार कर रहे हैं शायद इसीलिए नहीं जा रहा.

मैंने कहा- ठीक है।अगले दिन मैं ब्लैक पैंट और नेवी ब्लू कलर की शर्ट पहन कर गया. क्योंकि औरतों के अंदर आज भी पति के साथ सेक्स करते वक्त थोड़ी शर्म रहती है. सूजा हुआ लण्ड देख सारा और दिलिया घबरा गयी और बोली- हय अल्ला … ये क्या हो गया तुम्हारे लण्ड को?मैंने दिलिया से कहा- थोड़ा गर्म पानी ले आओ, सिकाई करूंगा तो ठीक हो जाएगा.

मराठी ऑंटी चे सेक्सी व्हिडिओअपना पल्लू सही करो!!” रवि कहने लगा।ओह्ह!” मेरे मुंह से निकल गया, जब मैंने अपने दूध की तरफ देखा।करीब 15 मिनट से रवि बॉस मेरे गोल-गोल बड़े-बड़े कबूतर ताड़ रहा था. खाना खाने के बाद मैंने पूछा- क्या हुआ क्यों इतना मुँह फुला कर बैठी हो?वो बोली- जैसे कि आपको कुछ पता ही नहीं है.

बीपी पिक्चर चाहिए बीपी

आपको मेरी हॉट सेक्स स्टोरी इन हिंदी कैसी लगी, मुझे आपकी मेल का इंतज़ार रहेगा. फिर अचानक बोली- शरद तुम भी घोड़े के स्टाईल से घुटने के बल होकर अपनी गांड उठा लो. दीदी- फिर मुझे होश आया और मैंने अपने आपको जैसे तैसे अमित से अलग किया.

सिर्फ तन से नहीं मन से भी और रूह से भी!मैंने कहा- तुम्हारी चाहत लाजिमी है. अपना लंड चुत के जड़ तक घुसाकर अंकल एक के बाद एक वीर्य की पिचकारी मेरी चुत में छोड़ने लगे. मैंने उसकी एक टांग को उठाया और साइड में लेटे लेटे लंड को चूत के अंदर घुसा कर उसे अपनी जफ्फी में ले लिया.

वो किचन में खड़ी होकर आटा गूंध रही थी, बोली- सुबह सुबह कहां निकल पड़े?मैंने कहा- तुम्हें चोदने. उसके शरीर पर चढ़ने से उसके शरीर से जो गर्मी निकलती थी, उसमें काफी आनन्द आ रहा था. वो हंस कर बोला- तो एक काम करते हैं, मैं आपको गर्लफ्रेंड समझ लेता हूँ और शिमला ले चलता हूँ.

आखिरी झटका बड़ा तेज लग गया था, जिससे उसकी चीख निकल पड़ी और दर्द से रो दी. उसकी इस बात से मैंने उसका मन समझ लिया और मैंने उसे गाल पर एक किस करके कहा- ठीक है … तू मेरा इंट्रो किसी से भी मम्मी बता कर नहीं करना.

फिर मैं फ्रेश हुई और एक शॉर्ट गाउन निकाल कर उससे बोली- वंश मैं ये पहन लूँ?वंश बोला- मम्मी, आप तो लेडी की जगह गर्ल बन के रहने लगी हो.

वो मेरे सफ़ेद गले, चूची, क्लीवेज, मेरे गाल सब जगह पर चुम्मा ले रहा था. सेक्सी वीडियो 16 साल की लड़कियों कीमैं तो सच में खुशी से पागल होता जा रहा था क्योंकि अब इतनी खूबसूरत लड़की को चोदने का मौका मिलने वाला था. सेक्सी विथ यूसीमा ने मेरी बात सुन कर अपनी चूत को जोर से मेरे लंड पर मारा और उन्हें बोली- साली प्रियंका को अपनी गांड फड़वाने से डर लगता है, अब मुस्कान की गांड फड़वाएगी. हम दोनों लोग पड़ोसी हैं लेकिन हम दोनों के बीच में एक परिवार की तरह प्यार है.

ठंडी सीट का स्पर्श बदन पर होने से मेरा कंट्रोल छूट गया और चुल्ल … की आवाज करते हुए मैं सुसु करने लगी.

चूत में लंड उतरते ही मेरी कमर ने ऊपर नीचे होते हुए खुद ही उसकी गर्म चूत की चुदाई शुरू कर दी. तब जाकर हम रायपुर तक पहुँच पाये।मैं रास्ते में काफी परेशान हो गया था इसलिये रायपुर पहुँच कर सबसे पहले तो मैंने अपने वापस जाने के लिए रिजर्वेशन करवाया ताकि मुझे वापस जाने में दिक्कत न हो. बस फिर क्या था, धक्के लगने शुरू हो गए, मैं थक जाता, तो नम्रता ऊपर आ जाती.

मैं- हां दर्द तो होता है … पर सेक्स को आराम से किया जाए, तो दर्द बहुत कम होता है. भावावेश में मैंने वसुन्धरा के हाथों से अपना हाथ छुड़ा कर उसको अपने आलिंगन में ले लिया और वसुन्धरा भी बेल की तरह मुझमें सिमट गयी. मैं खुश तो हूं लेकिन समझ नहीं आ रहा है कि दिल इतना जोर से क्यों धड़क रहा है!उसके मन की दशा को भांपते हुए रणविजय ने कहा- तुम्हारा दिल जोर से धड़क रहा है इसकी वजह तो मैं जानता हूं.

सेक्सी फिल्म दिखाएं ब्लू

मगर दोस्तो, जो मजा एक मोटा 6 इंच लम्बा लंड देता है जो भला उंगली कैसी दे सकती है. मेरा बेटा डर के उठा और बोला- क्या हुआ मम्मी?मैं अपने शरीर को छिपाने का असफल प्रयास करते हुए बोली- छिपकली है वहां वंश. मैंने मौका देखकर पूनम को अपने दिल की बात कह दी और उसने कहा- मैं शाम को बताऊँगी.

”हां हां ठीक है, चली जाना, चल पहले चाय नाश्ता कर ले, कब से तेरा इंतज़ार कर रही हूं.

मंजू जब घर से फरार हुई थी तो उस घटना का मैंने गोपनीय रूप से पता लगाया था.

मैंने उसके कूल्हे को दबाते हुए कहा- इस बार तुम मुझे प्यार करो, मैं कुछ नहीं करूँगा. डॉक्टर ने पूछा- बेटी, सेक्स करने के बाद तुम्हें कैसा फील होता है?मैं- सर, काफी हल्का और रिलैक्स फील करती हूँ. मां ने बेटे का लैंड ले लियाउसने मुझे अपने मुँह में दूध का घूंट भर के मुझे अपने मुँह से ही दूध पिलाया.

इस बार उसका पूरा लंड मेरी चूत में चला गया और वो अपना लंड मेरी चूत डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा. वह बात करके तो आ गया मगर उसने आकर मुझे कुछ भी नहीं बताया कि आखिर डॉक्टर से उसकी क्या बात हुई. जैसे ही मैं वसुन्धरा के बाएं कंधे की ढलान तक पहुंचा, मैंने वसुन्धरा के बाएं हाथ की उंगलियां अपने दाएं हाथ की उँगलियों में कस ली और अपने बाएं हाथ से वसुन्धरा को अपने आग़ोश में ज़ोर से कसा और अपने दोनों होंठ वसुन्धरा की ऊपरी पीठ पर जहां सिर के बाल ख़त्म होतें हैं, वहां जमा कर धीरे-धीरे अपने दोनों होंठों के बीच आयी वसुन्धरा की त्वचा को चुमलाने लगा.

पता नहीं अब वो किस से चुदवाती होगी क्योंकि मैंने उसे ऐसा चस्का लगा दिया था कि वो बिना चुदे रह ही नहीं सकती थी. पता नहीं कब मेरी आंख लग गयी और मैं सो गयी।लेकिन दिमाग में तो ‘जागना जागना’ चल रहा था तो करीब एक बजे हड़बड़ा कर मेरी आंख खुली और मैं उठी.

इस सेक्स कहानी में पढ़ें कि पड़ोसन भाभी कैसे पहली बार अपने कजिन भाई से चुदी थी.

”अंकल ने मेरे चेहरे पर हल्के दर्द के भाव को देखकर बोला, सच में उनको मेरी कितनी फिक्र थी. लेकिन अब मैं केवल राज से प्यार करती हूं और मेरे मन में तुम्हारे प्रति कोई गलत विचार नहीं है।इस पर मैंने भाभी को बोला कि आप जैसी ईमानदार लड़की को भाभी के रूप में पाकर मुझे खुशी हुई। जितना हमारे बीच होटल के कमरे में हुआ था कोई उसके बाद भी संभल जाए ये बड़ी बात है।आज के बाद हम भाभी-देवर की तरह ही रहेंगे और बाकी हमारे बीच पुराना जो भी था उसे भूल जाएंगे. मेरा लंड नम्रता की चूत को काफी घिस चुका था और खुद भी काफी रगड़ चुका था, सो अब रस बाहर निकलने के लिए बेकरार हो रहा था.

डॉट डॉट सेक्सी मैं दीदी से मिल चुकी थी और उनकी सास से दीदी के घर रुकने की बात भी हो चुकी थी. अब आगे:मैं चुत चूसने का बहुत ही शौकीन हूँ, तो मैं अब उनकी चुत चूसने लगा.

मैंने नीचे ही नीचे शलाका की तरफ देखा तो उसके चेहरे पर शर्म के भाव थे. मैं जानता था कि जब तक मानसी मामा के लड़के राज का लंड अपनी चूत में नहीं लेगी वो हेतल को यहां से नहीं जाने देगी. इनके जिस्म पर पड़ती हुई अकड़न संकेत देने लगे थे कि कभी भी उनका लंड उल्टी कर सकता है.

हिंदी xxc

जब मुझे लगा कि वो फुल गर्म हो गयी है तो मैंने उसको किचन की टेबल पर बैठाया और उसके सामने खड़ा होकर अपना लंड उसकी चूत पर सेट कर दिया. अब दी ने अपना मोबाइल उठाया और मुझसे कहा- मोबाइल में काम कैसे करते हैं, मुझे सिखाओ. उसकी चूत के रस चूसने के मजे लेने के साथ-साथ उसकी चूत से निकलती हुई महक का भी मैं मजे ले रहा था.

मेरा पूरा बदन रोमांचित हो गया था और मैंने अपनी आंखें बंद कर दी थीं. सिर्फ तीन ही चीजें पहनी थीं उसने जिन पर लिखा था ‘प्रॉपर्टी ऑफ़ विशाल’ उसके हाथ पीछे बंधे हुए थे.

कुछ देर तक तो मौसी ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी और मैं उनके चूचों पर लगा रहा और बारी बारी से दोनों चूचों को और जोर से दबाने और मसलने लगा.

उसने बताया उसका पति एक अखाड़े का पहलवान है, उसका लंड बहुत बड़ा और मोटा है. उसकी चूत का द्वार मेरी पहुंच के बहुत करीब था जिसको मैं हर हाल में पाना चाहता था इसलिए मैंने अपने लंड को उसकी चूत के मुहाने पर हल्का सा घिसा और फिर अन्दर की तरफ धकेलने लगा तो मेरे लंड का सुपाड़ा उसकी चूत में घुसते समय कहीं जैसे अटक सा गया. इन्टर पास करने के बाद मेरी इच्छा ग्रेजुएशन करने की और उसके बाद कम्पटीशन की तैयारी कर बैंक जॉब या अन्य कोई जॉब हासिल करने की थी.

एक गैर मर्द के नीचे लेट उसके लिंग का भोग जो कर रही थी मैं!राज मुझे बिस्तर पर मसल रहा था. उनके चूचे वैसे ही 32 साइज़ के हैं और उन्होंने अन्दर ब्रा भी नहीं पहन रखी थी. वो तुझे हो गया … चल अब तुझे थोड़ी दवाई लगा देता हूँ … ताकि सब ठीक हो जाए.

भाभी ने कुछ ही मिनटों में मेरे लंड का वीर्य अपने मुंह में निकलवा दिया.

सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी देहाती: फिर बेड पर धुली हुई बेडशीट बिछा दी और तकियों के गिलाफ बदल दिए और साली जी को आराम से बिस्तर पर लिटा दिया और चादर उढ़ा दी. नम्रता मेरी पीठ और कूल्हे को सहला रही थी और मैं उसकी पीठ और कूल्हे को सहला रहा था.

एक बार फिर बेड पर कुतिया की तरह करके इस बार गांड के ऊपर लण्ड को रख कर सुपारे के ऊपर तेल लगा कर उस की गांड में डालता हुआ बोला- साली, आराम से करवाती तो दर्द नहीं होता!करीब करीब पूरा लंड मैंने एक ही धक्के से पेल दिया. मेरे पहुंचते ही मौसी ने मुझे अन्दर जाने का इशारा किया और खुद इधर उधर देखकर चैक करने लगीं कि किसी ने हमें देखा तो नहीं है. अंकल ने अपना हाथ मेरी पैंटी पर रखा, यह एक तूफान की शुरूवात थी, जो मेरे अन्दर पैदा होने वाला था.

मैंने चाची को अपनी गोद में उठा कर बेड पर पटक दिया और उनके ऊपर चढ़ कर उन्हें किस करने लगा.

अगर आपको मेरी कहानी पसंद आई हो तो मैं साना भाभी के साथ उसकी गांड की चुदाई भी जल्दी ही लिखूंगा. अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था, तो मैं हीना को पकड़ने की कोशिश करने लगा. मैं 6:15 फीट का इंसान और वह कुछ 5:15 फीट की एक नाजुक सी औरत … वो मेरे शरीर के नीचे धीरे-धीरे दब रही थी.