देवर भाभी का बीएफ व्हिडिओ

छवि स्रोत,बीपी सेक्सी वीडियो बीपी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी सेक्सी व्हिडीओ देसी: देवर भाभी का बीएफ व्हिडिओ, हॉट कॉलेज गर्ल सेक्स स्टोरी मेरी बहन की सहेली की चूत और गांड मारने की है.

बीएफ सेक्सी बीपी बीएफ

उसके मन में भी हरीश के लिए प्यार उमड़ रहा था मगर वो कुछ हिचकिचा रही थी. हिंदी बीएफ सेक्सी जंगल कीमैं अंकल से बहुत कुछ चाहती थी इसलिए मैं उनसे सवाल किया- आप मेरे साथ क्या क्या करोगे?वो बोले- मैं तुम्हें लिटाकर तुम्हारे पर चढ़ जाऊंगा.

उसने मेरी एक चूची को मसलते हुए कहा- इतनी भी क्या जल्दी है भाभी जी! आज तो हमारे पास पूरी रात है. ब्लू पिक्चर फिल्म भेजिएइस सेक्सी बदन के साथ साथ गुलशा दीदी बहुत गोरी भी हैं और उनका फेस कट भी बहुत खूबसूरत है.

बहूरानी की चूचियां उनकी नाइटी के भीतर से झांक रहीं थीं; मैंने बहूरानी की कमर में हाथ डाल कर उन्हें अपने और करीब कर लिया और मैं धीरे धीरे उनकी चिकनी जांघ सहलाने लगा.देवर भाभी का बीएफ व्हिडिओ: तभी शन्नो की चूत कसने लगी और मैंने अपने लौड़े की और ज्यादा रफ्तार बढ़ा दी.

राजकुमारी पूजा की कुंवारी चूत और तरणताल के पानी की वजह से कुछ दिक्कत हुई लेकिन मैंने हार नहीं मानी.एक दिन मुझे मौक़ा मिल गया और मैंने उसकी बुक पर अपना फोन नंबर लिख दिया.

सेक्स बिलू - देवर भाभी का बीएफ व्हिडिओ

तभी मीरा ने सोने का बहाना करते हुए कहा कि मैं सोने जा रही हूँ, रीमा तुम भी टीवी देखने के बाद मेरे कमरे में आकर सो जाना.फिर एक लड़के ने मुझे एक गिलास दिया और कहा- कि भाभी जी इसे पी लीजिए, इससे आपमें नई ऊर्जा आ जाएगी.

कुछ ही देर कि मस्ती भरी चुदाई के बाद मैं भी अपनी आखिरी दौर में आ गया था और झड़ने के करीब था. देवर भाभी का बीएफ व्हिडिओ अब तो उसका लंड भी मुझपे रगड़ मार रहा था।मेरे मन में ख्याल आ रहा था कि ये चोद के ही मानेगा.

इसका तो बस एक ही उपाय था कि मैं सनी से ना चुदूं … जो कि मुमकिन बात नहीं थी.

देवर भाभी का बीएफ व्हिडिओ?

मेरे हस्बैंड को भी चुदाई में सबसे ज्यादा मजा, किसी तीसरे की उपस्थिति की कल्पना करने में आता था. रास्ते में मैंने एक दवा की दुकान से कुछ दवाई खरीदी। सिर दर्द का बहाना करके लोलिशा के यहाँ रुक गया।अपने ड्राइवर देव को मैंने काम से भेज दिया. मेरे मुँह से इतना सुनते ही भाभी ने मुझे किस कर दिया और मुझे नीचे घुटने का बल बैठने का बोलकर खुद ऊपर कुर्सी पर बैठ गईं.

कुछ देर बाद उसने मेरे लंड को अपने मुँह से बाहर निकाल दिया और मुझसे कहने लगी कि अब बस अब ‘वो …’ करो. शीना- हां अंकल, मैं भी चाहती हूँ हर पोज़ ट्राय करना, पर डरती हूँ कि दर्द बहुत होगा. चूंकि चाची साड़ी पहनती थीं तो मम्मे बड़े होने के कारण उनका पल्लू ज़्यादा देर तक ऊपर नहीं रह पाता था.

मुझे यामिना की ये बात पसन्द आई और उसके जाते ही मैंने अपना एक हाथ पैंट में उभरे लण्ड पर रख लिया. मैंने ब्लूफिल्म में देखा था कि विदेशी लड़कियां किस तरह से लंड चूसने की कला दिखाती हैं. पर भाभी जी मेरे खड़े लंड को चुत में घुसाने का प्रयास करते देख कर समझ गई थीं कि मैं नींद का नाटक कर रहा हूँ.

अब वो अपनी गोटी लेकर मेरी गोटी के पीछे आया, तो मैं बोली- नहीं राजू, मेरी मत मारना. मेरी तमाम कोशिश के बाद भी जब लण्ड अन्दर नहीं जा पाया तो मैं समझ गया कि इसकी सील नहीं टूटी है.

धकापेल चुदाई होने लगी और अब उसकी सिसकारियां और थपाथप की आवाज़ से पूरा कमरा गूँज रहा था.

” बहूरानी ने दायें बाएं देखा और मेरा लंड पैंट के ऊपर से ही सहला दिया फिर मेरे हाथ को दबा कर उसे अपनी जांघ पर से हटा दिया.

मेरे पूछने पर कि क्या हो गया?उसने पैथोलॉजी की रिपोर्ट मेरे हाथ में थमा दी कि मैं तुम्हारे बच्चे की माँ बनने वाली हूँ. मां ये सब देख बहुत परेशान हो रही थीं, फिर थोड़ी देर बाद वो भी ये सब भूल कर सेक्स वीडियो देखने लगीं. मैंने उसे ऐसे ही बिस्तर पर डाल दिया और बॉडी आयल की शीशी लेकर उसके सफेद गोरे जिस्म की मालिश करने लगा.

राजेश ने मुझे गुडमॉर्निंग कहा, तो मैंने भी शर्माते हुए राजेश को गुड मॉर्निंग की. इसलिए वो मुझसे किंजल वाली बात नहीं कह पा रही थी और मुझे अपने जाल में नहीं फंसा पा रही थी. विवेक ने तो राहुल को एक थप्पड़ भी मार दिया और उससे बोला- तेरे जैसे दस को तो मैं ही चोद दूँ भोसड़ी के.

ममता- बाप रे इतने बड़े चोदू हैं हमारे पिताजी, पर उनके पास तो ऑल रेडी एक चूत तो है.

नाज़ करूं भी क्यों न … आखिर कई सालों बाद मैंने एक बीस साल की कुंवारी कमसिन लड़की को कली से फूल जो बना दिया था!मैं फिर से कुछ देर के लिए रुक गया और लन्ड को बुर में ही रहने दिया. वो कुछ नहीं बोला तो मैंने उसे ताना मारते हुए कहा- ला मुझे दे मोबाइल … मैं पढ़ती हूँ. पापा जी, आप चाय तो पियोगे न?” बहूरानी पानी का गिलास उठाते हुए कोमल स्वर में बोली.

रविवार को दिन में दोपहर एक बजे मैं और आयुषी मेरे दूसरे फ्लैट पर चले गए. मेरा एक हाथ दीदी की चूचियों पर चल रहा था और दूसरा हाथ उनकी चुत को टटोल रहा था. उन्होंने मेरा मोबाईल नंबर अपने मोबाइल में ‘स्नेहा तेरा दूध अमृत …’ के नाम से सेव किया हुआ था.

मुझे आशा है कि मेरी इस सेक्सी गर्ल Xxx कहानी को पढ़ने वालों के लंड से पानी निकल जाएगा और लड़कियों व भाभियों की चुत गीली हो जाएगी.

लगभग 20 मिनट तक चूत और लंड में पेलम-पाली चली, फिर मैं उसकी चूत में ही झड़ गया. अब आगे :चाची मेरी तरफ देखती हुई बोलीं- उठ बेटा केदार, कब तक सोता रहेगा?मैं- ओह चाची … मैं कल देर से सोया था और …चाची- और क्या!मैं- मुझे सपना आ रहा था चाची.

देवर भाभी का बीएफ व्हिडिओ फिर करीब 10:00 बजे हमारी आंख खुली तो मैंने भाभी से घर चलने के लिए कहा. कुछ देर बाद वो बोले- लगता है तुम्हारी स्कर्ट मोटी है … इसी लिए तुमको चोट नहीं लग रही है.

देवर भाभी का बीएफ व्हिडिओ पर अब तो मुझे नए दोस्त बनाने का बहुत शौक हो गया है और उनके साथ मस्ती करने का भी. मेरे कम्बल में घुसते हुए सर बोले- अब तुम्हारी थकावट का इलाज कर दें.

मेरे इस सवाल पर वो मुझे देख कर हंसने लगीं और मुझसे कहने लगीं- तुम भी ना यार बहुत भोली हो.

सेक्स क्यों किया जाता है

साथ ही अपने होंठों को दांतों में भींच कर अपनी गांड को ऊपर की तरफ उछाल कर अपनी चूत को मेरे लंड पटकने लगीं. मैं कुछ कहता कि अचानक से उसने पूछा- तेरी नजर में कोई लड़का है, जो एक औरत को खुश कर सके?तो मैंने तपाक से बोला- मैं तो हूँ भाई … नेकी और पूछ पूछ, मैं कब काम आऊंगा!उसने मुझे कहा- हां तेरा लंड तो मैंने देखा है … सही है चल तू ही आ जा. फिर एक रात को जब मुकेश पूरे नशे में मुझसे लिपटने लगा तो मैंने अपनी अदाओं से उसको खूब रिझा लिया और उसके सीने पर हाथ फेरती हुई बोली- जान, ऊपर के पोर्शन का काम कितना बढ़िया हुआ है.

तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी हैदराबाद सेक्स की दास्तान … मुझे आपके जवाब का इंतजार रहेगा. पर मुझे दर्द होने लगा था तो मैं उसे स्सी … स्सी … करते हुए रोकने लगी।अजय बोला- यार, थोड़ा दर्द तो बर्दाश्त करना पड़ेगा, वरना आगे का मजा कैसे आयेगा।मैंने उसकी बात समझते हुए थोड़ा स्थिर रहने का निश्चय किया और कहा- ठीक है, अब नहीं हिलूंगी. थोड़ी देर बाद उसने हुर्रेम को खड़ा किया और उसे टेबल पर टिका कर कुतिया की पोजीशन में कर दिया.

वो अपनी बहन की चूची चूसने लगा और उतने में ही अपना लंड आगे पीछे करने लगा.

ये ही चिल्लाते हुए पूजा अपने पैरों से मुझे दबोचने लगी और फिर से झड़ गई. उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे अन्दर बॉथरूम में ले जाकर बहुत जोर से चोदा. चल अगर तू अपनी बहन को चोदकर भैनचोद बनना ही चाहता है … तो तू आज चोद ही ले अपनी जवान बड़ी बहन की चुत को.

मगर मैं बाहर की बदनामी से डरती थी और मेरे दिल में गुलाब का ही लंड बस गया था. मेरे लिए वहां का माहौल बिल्कुल ही नया था और इससे पहले मैं कभी बहनों के साथ नहीं रहा था. फिर मैं भी उसकी चूत में ही झड़ गया। इस बीच वो भी तीन बार झड़ चुकी थी।फिर हम दोनों एक दूसरे के साथ सोये रहे.

डॉक्टर को दिखाने जाने से पहले मैंने अपनी चूत पर अच्छी सी परफ्यूम का स्प्रे मारा और एक स्टायलिश ब्रा पैंटी पहन ली. शन्नो ने मेरे लंड को अपने हाथों में लेकर सहलाना शुरू कर दिया और मैं उसके मम्मों को चूसने काटने लगा.

अब आगे पढ़ें कि कैसे मैंने उसकी गांड मारी:मैंने कुछ सोचा और सादिका को बेड के किनारे से लगा कर फिर से घोड़ी बना दिया और उसकी चुत चोदने लगा. मां कुछ नहीं बोलीं, बस उन्होंने पूरा लंड चुत के अन्दर लेने के लिए अपनी गांड को थोड़ा पीछे सरका दिया. मैं उस पर झपटा तो उसने मुझे नंगा ही रूम से बाहर कर दिया और कुछ देर रुक कर वापस कमरे में आने को कहा.

अब दोनों एक-दूसरे के शरीर पर हाथ फेरने लगा और किस करने लगे।थोड़ी देर बाद कामिनी मेरे लंड को ऊपर से ही सहलाने लगी और उसने मेरी कमीज़ और बनियान उतार दी.

चुदाई के बाद दवा न लेने की वजह से मुझे डर हो गया था कि सनी जिस तरह से मुझे चोद रहा था, उस हिसाब से मेरे गर्भ में सनी का ही बच्चा रुकना पक्का था. कुछ देर बाद हरीश ने सुम्मी को अपने लौड़े से उठाया और उसे अपने नीचे लिटा कर फिर से चुदाई करने लगा. उसका नाम गुलाब चंद था। घर में बात होती थी कि कश्मीरी है, बहुत ज़बरदस्त कारीगर है.

मां के दूध उनके ब्लाउज से आधे बाहर को झलक रहे थे, उनकी पूरी पीठ नंगी थी और ट्रांसपेरेंट साड़ी से उनकी कमर और नाभि भी साफ दिख रही थी. मिहिका अपने एक हाथ से लंड को मुठियाने लगी और मैं उसकी चुचियों को दबाते हुए गालों को चूम रहा था.

निखिल ने मीरा की इशारे से अन्दर बुलाया और मीरा भी योजना अनुसार अपना नाइट गाउन अपने कमरे से ले आयी और उसे पहन कर जोर से दरवाजा बजाते हुए खोल दिया. मैंने कहा- शमा तुम सच में खुदा का नूर हो … वास्तव में तुम फेसबुक की फोटो से दस गुना ज्यादा हॉट हो. मैं आह आह करती हुई उसके कुंवारे लंड से अपनी चुत चुदाई का मज़ा लेती हुई बोली- तो बहुत किस्मत वाला है अफ़रोज़.

बच्चों को दांत निकलने की दवा

ये सुन कर मैं बोला- कोई बात नहीं मां … मैं आपको अपनी बांहों में उठा कर ले जाता हूँ.

मैं- पर भाभी दूध कहां से लाओगी आप! मुझे तो स्तनों को चूस कर ताजा दूध पीना पसंद है. देखते ही देखते मेरे बदन पर कोई कपड़ा नहीं था।सुन्दर मेरे निप्पल चूसते हुए बोला- ओह्ह जान … कितनी कामुक रंडी हो तुम!!मैं भी सिसकारी- उफ … कमीनो, मुझे मसल डालो. रितेश के गैरहाजिर रहने की खबर सुनकर मीरा भी आज रात की तैयारी में लग गयी.

रमेश ने चार पांच फोटो ले लीं, उसने फोटो खींचने के बाद कहा- अब घूम जाओ. उसके बाद मैंने दोनों बच्चों को सुला दिया और एक गहरे गले का लाल रंग का नाईट गाउन पहन लिया जो मेरे घुटनों तक आता था. ब्लू फिल्म बीएफ नंगीसुधीर अक्सर देर से लौटते हैं, ड्रिंक करके, डिनर करके आते हैं और आते ही सो जाते हैं.

मैंने उसका खूबसूरत चेहरा अपने हाथों में लिया, तो मेरे हाथ थोड़े कांप रहे थे … पर वो मुस्कुरा रही थी. कुछ देर बाद नीतू मेरे पास आई तो मैंने उससे कहा- तुमने मुझे बाथरूम से निकलते देख लिया था.

आपा मैं तो यह भी सोच रहा हूँ कि यह कैसे चुदाई हुई कि मैंने आपको पूरी तरह से चोद लिया … लेकिन आपकी चुत देखी भी नहीं. इशारा मिलते ही मैं धीरे धीरे पूरे लंड को चुत में अन्दर बाहर करने लगा. दस मिनट की धकापेल चुदाई के बाद वो झड़ गईं और उन्होंने मुझे कस कर पकड़ लिया.

मैं- अच्छा … क्या सिर्फ मेरा ही मन कर रहा था … तुम्हारा भी तो कर रहा है ना?प्रभा- हां बाबा … मेरा भी कर रहा है अब तो बहुत ही जोरों से कर रहा है. बहुत दुख रही है जेठ जी।वे बोले- अरे मादरचोद रांड, अभी मेरा मन नहीं भरा है बहनचोद. दीदी ने अपनी समीज के पीछे से खुलने वाली चैन को खोल दिया और बोलीं- रमेश, मेरे करीब आओ और मेरी समीज के अन्दर हाथ डालो.

मैंने उनका एक पैर उठा कर अपनी गोद में रख लिया और उसे प्यार से सहलाने लगा, पंजे से लेकर पिंडली जांघ और चूत तक मेरे हाथ फिरने लगे.

अफ़रोज़- लेकिन आपा ख़्यालों में लेने से क्या होता है?मैंने कहा- तो इसका मतलब है कि तू उसकी असल में लेना चाहता है. ये शायद मेरी हवस भरी नजरें थीं या वाकयी में मां थोड़ी अलग लग रही थीं, ये मुझे भी नहीं पता था.

भाभी कुछ शांत हुईं, तो मैंने धीरे धीरे उनकी चुत में लंड पेलना चालू कर दिया. हमने जम के चुदाई के मज़े लिए। घर का ऐसा कोई कोना नहीं बचा जहाँ उसने मुझे ना चोदा हो।2 दिन बाद जब वो गया तो बुरा तो बहुत लगा … पर शायद यही ज़िन्दगी है।उस दिन के बाद सागर और मैं अक्सर बात करने लगे।आज भी हम इतना है करीब हैं जितना 3 साल पहले थे।दोस्तो, आशा करती हूं कि आपको मेरी यह हॉट फॅमिली सेक्स कहानी पसंद आई होगी।अगर इस सेक्स कहानी पर कोई अपनी राय मुझे भेजना चाहता है, तो जरूर भेज सकता है. विवेक का लंड भी पूरी मस्ती से जोया के मुँह के अन्दर बाहर हो रहा था.

लंड अभी 2 इंच ही घुसा था पर मामी बहुत चीख रही थीं और मुझे हटने को बोल रही थीं. अरे सच! तेरी तो क्या बात है बेटा; दिल खुश कर दिया तूने तो!” मैं बोला. महारानी मीना जोर से चिल्लाते हुए मजा लेने लगी थी- आह … पेलो मुझे स्वामी … उम्म्मह … और जोर से पेलो अपनी छोटी रानी को … आह ….

देवर भाभी का बीएफ व्हिडिओ अबकी बार मुझे कुछ अलग ही फीलिंग्स आ रही थी पर मैंने इग्नोर करते हुए उर्वशी को अपने ऊपर ले लिया और उसकी चूत पर अपना लंड सैट करते हुए उसे अपने लंड पर बिठा दिया. मां ने रात 10 बजे टीवी बंद की और बोलीं- बेटा, आज तो बहुत गर्मी लग रही है.

एक्स एक्स एक्स स्टोरी

मैंने उनकी नंगी जवानी देख कर झट से अपने पूरे कपड़े उतार दिए और नंगा हो गया. वो उठी और बड़े प्यार से मुझे सहलाती हुई एक लात मार कर बोली- गंदे कुत्ते … चल नहा कर आ पहले. मुझे पता था कि अगर बुआ ने लंड को पूरा निगला, तो ये उनके गले में जाकर टक्कर मारेगा और उनको ठसका भी लगेगा.

यहां कोई किसी को किसी से कोई मतलब नहीं रहता है, सब अपनी जिंदगी में मस्त रहते हैं. हॉट कॉलेज गर्ल सेक्स स्टोरी मेरी बहन की सहेली की चूत और गांड मारने की है. हिंदी सेक्स देहाती बीएफहाय फ्रेंड्स, सेक्स स्टोरी पढ़ने वाली गर्म चूत वालियो को मेरे लंड का सलाम और खड़े लौड़ों के लिए चुत मिलने की कामना.

मैंने नाश्ता किया, दूध पिया … पर मेरी नजर उसके चेहरे से हट ही नहीं रही थी.

शहजाद ने सबा का हाथ पकड़ कर उसे अपनी गोद में खींच लिया और उसके लब चूमते हुए कहा- तो इसमें धमकी देने की क्या बात है मेरी सब्बो रानी. कुछ देर बाद मैंने उससे पूछा- क्यों मज़ा आया मेरे भैनचोद भाई को, अपनी बहन की चुत चोदने में?उसका लंड अभी भी मेरी चुत में ही था.

मैंने अपनी Xxx मामी की चूत चोदी बहुत जोरदार तरीके से … उनकी चूचियां बहुत बड़ी बड़ी थी. मैं उनसे बोली- भाभी मेरी मन में एक इच्छा और है … जैसे उस रात आप तीनों के साथ ही साथ सेक्स कर रही थीं. इस बार मेरा पूरा 7 इंच का लंड मीना की छोटी सी चूत को चीरते हुए बच्चेदानी के अन्दर तक पहुंच चुका था.

आप मेल करके बताएं कि मेरी ओर सोनिया भाभी की सेक्स कहानी आपको कैसी लगी.

उसने कहा- मैं आपकी गर्लफ्रेंड बनना चाहती हूँ … क्या आप बनाएंगे?मैंने कहा- नहीं. इतना बोल कर ममता ने अपनी मां का हाथ पकड़ कर घुमा कर पीछे से बांहों में भर लिया और उनके गाल पर एक पप्पी दे दी- भैया इज द बेस्ट. अब अगर तुमने हमें चुदाई नहीं करने दी या कुछ भी हरकत की, तो हम सबको ये चुदाई की वीडियो दिखा देंगे.

ऑंटी सेक्स व्हिडीओ ऑंटी सेक्स व्हिडीओलण्ड को अन्दर बाहर करने के दौरान मैंने जोर से ठोकर मारी तो उसकी चूत की झिल्ली फट गई. मुझे लगा कि ये फिर चंदा मांगेंगेतभी एक ने कहा- भाभी आपने चंदा नहीं दिया तो क्या हुआ, आपको पूजा में तो आना चाहिए था.

राणी सेक्सी

अब जो भी हो, जो हुआ सो हुआ, ऐसे सोच कर मैंने अपने मन को समझाया और अपना सामान पैक कर बैग रेडी करके निकलने के लिए अदिति की प्रतीक्षा करने लगा. मैंने समझ गया और अपना लंड सहला कर भाभी की चुत की फांकों में सैट करक डालने लगा. सर के कहने पर मैंने उनके ऑफिस में भी झाड़ू पौंछा करने का काम ले लिया था.

उर्वशी बात करने लगी पर उसे दर्द होने की वजह से अच्छे से नहीं बोल पा रही थी. मैंने उससे उसके बॉयफ्रेंड के बारे में पूछा, तो वो बोली- मैं तो अपने बॉयफ्रेंड चेंज करती रहती हूँ. उसके जाते ही शहज़ाद ने मेरे सारे कपड़े फाड़ कर मुझे पूरे घर में दौड़ा दौड़ा कर बहुत ज़बरदस्त तरीके से चोदा.

ये कहते हुए डॉक्टर रोहित ने मेरी स्कर्ट उठा दी और मेरी गोरी गोरी गद्देदार गांड नंगी हो गयी. वह अपने को और नहीं रोक सका और फिर से मेरी चूची को मुँह में लेकर चूसने लगा. सबसे पहली शर्त तो ये है कि आज से राजेश और तेरे पति का तुझ पर कोई हक़ नहीं रहेगा.

रेड कलर की पैंटी … रेड कलर की ब्रा और उसके ऊपर छोटी सी रेड कलर की ही बेबी डॉल पहनी हुई थी. राजू आया और बोला- लूडो खेलोगी?मैं बोली- नहीं यार, आप बस मारने में लगे रहते हो.

तो मेरा सुपारा सट्ट से उसकी गीली चूत में निर्विघ्न प्रवेश कर गया और उसके मुख से एक आनंदभरी आह निकल गई.

मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर लेट गया, उसकी चूत में जोर से धक्का लगाया. हिंदी सेक्सी बीएफ फिल्म दिखाओभाभी ने उसकी डिब्बी से एक सिगरेट सुलगा कर मुझे दे दी और मैं धुंआ उड़ाने लगी. बियफ videoमैरिज गार्डन से निकल कर यहां आते आते मुझे पसीना आने लगा था; ऐ सी की ठण्डी ठण्डी हवा और साथ में सट कर बैठी बहूरनी के जिस्म की आंच एक अजीब सा सुखद अनुभव दे रही थी. अभी इस झटके से सम्भली भी नहीं थी कि उन्होंने एक झटका और देकर पूरा लंड अंदर डाल दिया.

मम्मी बोलीं- लेट कर पेलेगा या कैसे करेगा?उसने मम्मी को कुतिया बनने को कहा.

मैंने उसके नर्म नर्म होंठों को किस करना शुरू किया और वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी. अचानक से उसने कहा कि मैं अभी सेक्स नहीं कर सकती हूँ, ये सब ग़लत है, ये सब शादी के बाद करते हैं. फिर अभय ने एक जगह गाड़ी रोक दी ओर ममता की तरफ अपनी छोटी उंगली दिखा कर कहा- मैं अभी आया.

भाभी को लगा कि अब मेरी जीभ गांड के छेद को चाटेगी … लेकिन मैं वहां ना जाकर नीचे पैरों के तलवे पर आ गया. अभी जो पेपर पर आपसे साइन करवाए हैं ना, वो स्कूल के नहीं थे … बल्कि मेरे दोस्त के पड़ोसी रोहन अंकल ने दिए थे. रमेश ने दीदी के दो-चार फोटो लेने के बाद उनसे कहा- अब तुम अपने पजामे का नाड़ा भी खोल दो.

गंदी गंदी लड़कियां

उनके बूब्स बहुत ही कठोर हो गए थेफिर उन्होंने मुझे कहा- देवर जी, जल्दी से लंड डाल दो मेरी चूत में! अब मुझसे रहा नहीं जा रहा!मैंने अपना लंड भाभी की चूत में डाल दिया. कुछ देर बाद उसने एकदम से बेड पर शहज़ाद के ऊपर गिर कर उसका लौड़ा बेसब्री से चूसने लगी. मैं- मतलब शादी अभी के अभी करनी पड़ेगी?मामी मुस्कुरा दीं और बोलीं- यदि मजा लेना है तो अभी करनी ही पड़ेगी.

उसने एक तरफ इशारा किया तो मैंने पलट कर देखा तो वहां एक लड़के को मोबाईल से रिकार्डिंग करते पाया.

उन्हें तो हम उनकी चुदाई की क्लिप दिखा कर रोक भी सकते थे, मगर हम तीनों को खुद भी वापस जाने की जल्दी थी क्योंकि हमें निकले हुए काफी देर हो चुकी थी.

फिर नगमा को दीवार के सहारे से खड़ा कर दिया और मैं उसकी गांड को खोल कर चाटने लगा. एक दोनों ने एक दूसरे को कस कर पकड़ लिया और दोनों की सिसकारियां तेज़ हो गईं और सांसें भरने लगीं. बीएफ सेक्स वीडियो हिंदी देहातीअगले ही पल हरीश ने सुम्मी के होंठों पर अपने होंठ लगा दिए और चुम्बन करने लगा.

मां के देहाती कपड़े देख कर मैंने मां से कहा- मां आज से आप ये देहाती कपड़े नहीं पहनोगी. वो अपने भाई के हाथ को महसूस करके गर्मा उठी और उसकी चूत लगातार पानी छोड़े जा रही थी जिससे अभय का हाथ गीला होने लगा. वो भी अपनी कमर को जुम्बिश देने लगी और इससे बुर और लंड दोनों जोर के धक्के से टकराते, तो वो जोर जोर से सिसकारियां लेती.

बाद में शीला आंटी और मेरी मम्मी ने मिल कर खाना परोसा और उन तीनों ने खाना खाया. कुछ देर बाद जब मैं उठा और बाजू में लेट गया तो मेरे बदन का तेल मां के बदन पर भी लग चुका था.

आपके जाने के बाद मेरा फिर से खड़ा हो गया था, पर आपके हाथ में जो बात थी, वो कहां से आती.

इस समय लंड भी पूरा गीला था तो मैंने फुर्ती से चुत से लंड निकाला और उसकी गांड में पेल दिया. सादिका का मेरी बीवी के मामा जी के घर वालों से रिश्ता अच्छा था, तो वो लोग उसे भी वहीं बुला रहे थे. अब दीदी ने भी मुझे और अपनी तरफ खींच लिया और अपने होंठों से मेरे होंठों को खींचने लगीं.

पोरन कहानी भाभी तड़पने लगीं और मादकता में सिसकने लगीं- आह मेरे राजा … आज अपनी रानी की प्यास बुझा दो. फिर जब मैंने आंखें खोलीं, तो पाया मां अपनी गांड को मेरी तरफ सो रही हैं.

निखिल ने कमरे में आते ही रीमा को पकड़ लिया और उसका पजामा निकाल कर उसकी चुत सहलाते हुए उसके होंठ चूमने लगा. फिर आंटी की दोनों टांगें फैलाकर अपना लंड चुत पर घिसने लगा और एक ही झटके में आंटी की चुत में लंड पेल दिया. आप सबको मेरी ये हॉट कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी कैसी लगी?ये आप मुझे मेल पर बता सकते हैं.

देवर भाभी की सेक्सी राजस्थानी

अहमद तो ज्यादा होली खेलते नहीं हैं और वैसे भी उस दिन उनकी जरूरी मीटिंग थी, सो वो चले गए. मेरे भाई की एक टेलीकॉम की दुकान है, जिस पर कभी-कभी मैं भी भाई के अनुपस्थिति में दुकान पर रहता था. फिर उसने मुझे इशारा किया तो मैंने घूंट भर कर उसी तरह से अमित को अपने मुँह से शराब पिला दी.

नीतू बहुत देर तक झड़ती रही और मैं उसी तरह उसका रस कई घूंट गटकता गया।थोड़ी देर बाद नीतू पूरी तरह झड़ कर बेसुध हो गई।मैंने भी उसकी जांघों के बीच से अपना सर निकाला और उसकी चूत के पास सर रख कर लेट गया।अब आगे देसी आंटी सेक्स कहानी:वैसे ही लेट कर मैं अपनी सांसों को काबू करने लगा।फिर मैंने उसकी चूत को देखा तो उसमें से कुछ रस की कुछ बूंदें उसकी चूत के बाहर आकर रुक गई थी. कुछ देर बाद मैंने उससे पूछा- क्यों मज़ा आया मेरे भैनचोद भाई को, अपनी बहन की चुत चोदने में?उसका लंड अभी भी मेरी चुत में ही था.

दूसरे दिन मैं सुबह घर से ये कह कर जल्दी निकल गया कि मुझे जरा काम है, मैं उधर से ही ऑफिस निकल जाऊंगा.

काफ़ी देर तक यूं ही एक दूसरे को मजे देने के बाद मैंने दीदी से कहा- अब मुझसे रहा नहीं जा रहा दी, मुझे चुत चोदनी है. मैं ये लंड चूसने वाला काम नहीं करने वाली!प्रभा आगे बोली- और न ही तुम्हें मैं अपनी बुर चूसने को बोलूंगी. जया ने मेरी तरफ देखा और बेड से उतर कर मेरे पास आकर बोली- जीजू, आप मेरे लिए भगवान की तरह हैं, अगर आपकी कृपा से मेरी गोद भर गई तो मैं जीवन भर आपकी पूजा करूँगी.

चाची ने मेरे बदन को जकड़ लिया और मेरे होंठों को चूमते हुए बोलीं- प्लीज सोहेल चुदाई शुरू करो. मैं धीरे धीरे भाभी के पास आ गया और उन्हें बिस्तर से उठा कर खड़ा करके अपने सीने से लगा लिया और उनके होंठों पर अपने होंठ मिला कर चूमने चूसने लगा. मैंने उसी समय होंठों पर बहुत हल्की सी स्माइल ला दी तो वो डॉक्टर नाटक करते हुए मान गया.

अफ़रोज़- सच आपा?मैं- हां … अच्छा एक बात बताऊं, तू इस बात का अफ़सोस ना कर कि तेरे पास सिर्फ़ एक ही बहन है.

देवर भाभी का बीएफ व्हिडिओ: मैंने उसी क्षण बड़ी तेजी से एक्शन लिया, चुत से लंड निकाला और गांड में डाल दिया. तो वो समझ गया कि मैं झड़ने लगी हूँ।उसके झटके भी रुक गए और वो पूरा लंड अंदर डाल के निकाल के मेरी चूत में ही झड गया।फिर हम दोनों एक दूसरे से अलग हो गए और हाँफने लगे।मेरी चूत से उसका वीर्य बह के मेरी जांघ से नीचे गिरने लगा।जब सांस में सांस आई तो मैंने कहा- अब अंदर चलना चाहिए.

जब जब वो अपने मजबूत चूतड़ों के दबाव से मेरी चूत में धक्के मार रहे थे, तो मेरी बच्चेदानी सहम कर रह जाती थी. मैं बहुत खुश था पर मेरी बीवी मुझसे मिलने में कुछ ज्यादा ही शर्मा रही थी. उस दिन उन्होंने बोला- आज आप बाहर काउंटर पर बैठो … क्योंकि वो बाहर वाली लड़की आज छुट्टी पर है.

नेहा- इसका मतलब तू चुदवा चुकी है?ममता- हां, वो सब बाद में पहले जो कर रहे हैं वो कर … तेरी 4 साल की प्यास बुझा लेने दे.

मैंने सीधी बात करने के लिए कहा- कभी उसकी लेने का मन करता है!अफ़रोज़- आपा आप कैसी बात करती हैं!वह शर्मा गया था तो मैं बोली- इसमें शर्माने की क्या बात है. बहुत ज़बर्दस्त मौका था। एक डर भी था कि पता नहीं सुनील कितनी जल्दी डॉक्टर को दिखा लौट आएगा।गुलाब बोला- जी मोहतरमा, मैं काम करने लगा हूँ ज़रूरत हो तो बुला लेना।मैं बोली- जी ठीक है।वो बोला- थोड़ा पानी पिला दीजिये. ’ की आवाज़ निकाली तो उसने मेरी कमर पकड़ी और मुझे जोर से ऊपर नीचे करने लगा.